ट्रिपल सी बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी दे

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती सेक्सी बीएफ चाहिए: ट्रिपल सी बीएफ, मैंने कहा- अरे नहीं सर, बस मैं रोज थोड़ी एक्सरसाइज कर लेता हूं इसलिए मेहनत करने की आदत सी हो गयी है.

सेक्सी वीडियो मालिश

मैं भी आवाज करके उसकी चूत चाटने लगा और उसके पैरों को अपनी पीठ पर करके उसे हवा में उठा कर उसकी चूत चूसने लगा. सोनी एचडीउसे मैं चुदाई की बातों से पूरी तरह गर्म कर देता था।वैसे तो हम एक ही घर में रहते थे पर डर की वजह से उससे मिल नहीं पाता.

मैं कल चौबीस दिन के लिए बाहर जा रहा हूं … तुम अपनी आंटी का थोड़ा ध्यान रखना. ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋಗಳುएक रात को मेरी बेटी भूखी ही सो गयी और उस दिन मेरे सब्र का बांध टूट गया.

मेरे बूब्स पीने के बाद अमन अब धीरे-धीरे मेरे बूब्स से नीचे बड़े प्यार से किस करते-करते मेरी नाभि तक आया और फिर उसने मेरी पैंटी को अपने दांतों से पकड़ कर नीचे खींच लिया और एक झटके में अमन ने मेरी पैंटी को मेरे बदन से अलग कर दिया.ट्रिपल सी बीएफ: कुछ देर बाद मैं स्टेज पर अपने दोस्त के साथ बैठा हुआ बातें कर रहा था.

मैंने साइड से झुक कर अपना मुंह उसके लंड के पास करके उसके लंड को मुंह में ले लिया और तेजी से चूसने लगी.मैं बोला- साली रंडी, बाप का लंड मिला तो उसके बेटे को ही भूल गयी?मैंने लवली को नीचे पटक लिया और अपने कपड़े उतार फेंके.

एक्स एक्स एक्स हिंदी में एक्स एक्स एक्स - ट्रिपल सी बीएफ

मैंने लवली से कहा- अगर मैं तुम्हारी मां को चोदना चाहूं तो वो मुझे करने देगी?लवली बोली- उसके लिये थोड़ा नाटक करना पड़ेगा.उसके बाद मैं कुछ बोलता, तब तक वो उठी और अपनी टांगें फैला कर स्कर्ट ऊपर करके उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दी.

प्रिया की आवाज सुनकर प्रीति अचानक से हड़बड़ा गयी और वो मेरे ऊपर से हट गई. ट्रिपल सी बीएफ तभी उसने झटके से अपना लंड अम्मी की गांड से बाहर निकाला और सुनीता को झुका कर उसके गले में उतार दिया.

मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा। मेरा ईमेल आईडी मैंने नीचे दिया हुआ है.

ट्रिपल सी बीएफ?

मैं जिंदगी से ज्यादा कुछ नहीं चाहता था क्योंकि बस दारू और अपने बिज़नेस को छोड़कर मेरे पास ज्यादा कुछ बचा भी नहीं था. झड़ने के बाद मैंने सलोनी को पकड़ कर कुछ इस तरह पलटा कि मैं नीचे और सलोनी मेरे ऊपर आ गयी. उसके बाद प्रीति ने अपना गाउन नीचे गिरा दिया और मेरे हाथ पकड़ कर अपनी चूचियों पर रख दिए.

दो बार ठोकर मारने के बाद भी मैं नाकाम रहा तो ललिता ने कहा- तेल या क्रीम लगा लो. वो मेरे कान के पास आकर धीरे से बोलो- आज कुछ ज्यादा ही माल था … मेरा तो पेट भर गया, मुझसे कुछ ना खाया जाएगा. कभी कभी हम किसी सुनसान जगह पर गाड़ी में ही चुदाई का खेल खेलने लगते हैं.

उधर जीभ के स्पर्श से एक बार को तो मामी ने भी हलचल सी की, लेकिन मैं अपने काम में लगा रहा. फिर वो नॉर्मल सी हुई और बोली- देखो बुआ जी को इस बारे में कुछ मत बोलना. वे दोनों कहने लगे- कोई बात नहीं यार … हम प्रीति भाभी को समझा देंगे.

फिर दीदी ने बाहर आकर दरवाजे को धीरे से चिपका दिया।उसके बाद वो घर के पिछवाड़े की तरफ की गली में जाने लगी. दो किलोमीटर तक पैदल चलने के बाद मैं कहीं पंक्चर की दुकान पर पहुंचा.

फिर जबसे हम दोनों कॉलेज में आए, हम एक-दूसरे के साथ और भी ज्यादा समय बिताने लगे थे.

जीजू आगे बोले- मैं तुम्हारी दीदी को वो खुशी नहीं दे पा रहा हूँ … वरना तुम्हारी दीदी को भरपूर खुशी देता.

मैंने उनको वहीं डाइनिंग टेबल पर ही चोदा। वो बहुत खुश हो गई और खुद से बोली- आज मामी की गांड चुदाई नहीं करनी क्या?उनकी बात पर मैं मुस्करा दिया और उनको गोद में उठा कर फिर से बेडरूम में ले गया. फिर मैंने अपने लंड को उनकी चूत पर सेट कर दिया और धक्का देने ही वाला था कि लवली आ गयी. उसके लंड से मेरी चूत की खुशबू भी आ रही थी जो मेरे अंदर और ज्यादा उत्तेजना भर रही थी.

अंतिम सोच यही निकली कि मैं अपनी चूत मौसा के सिवाय किसी को नहीं दूंगी. उसने नीले रंग की साड़ी पहनी थी और ये नाभि से नीचे बंधी थी जिससे वो और भी ज्यादा कामुक लग रही थी. मेरे लौड़े पर कसी हुई चूत का भारी दबाव पड़ रहा था, तो भी मैं जल्दी निकल नहीं पा रहा था.

मैं जल्दी से अंदर वाले केबिन में घुस गया और फटाक से दरवाजा बंद कर लिया और एक लम्बी गहरी सांस ली.

बुआ ने भी चुत खोल दी और लंड को अपने हाथ से अपनी चुत के मुँह में सैट कर दिया. मैं बोला- क्यों भाभी?वो बोली- तेरा ये हथियार तो कभी नीचे ही नहीं रहता. फिर अंजना ने बैग से दो क्लिप्स निकाल लीं और मेरे दोनों निप्पलों पर लगा दीं.

इस तरह मस्ती करके आ गए शाम को फिर से घर पर वापस। आज प्लान करके आये थे कि दो चार दिन यहां फिजूल की कोशिश दिखा देंगे. फिर मैंने अपने लंड को तीन चार झटके दिए और लंड का पूरा माल उनके मुँह में निकाल दिया. ताई ने मुझे हैरानी से देखा और फिर गुस्से में आकर मुझे एक जोर का थप्पड़ मार दिया और वहां से गुस्सा होकर चली गयी.

तब तक हम दोनों सहज हो जाते हैं व एक मित्र की भांति एक दूसरे से घुलने मिलने का प्रयास करते हैं.

मैंने देखा कि मुझे इस रूप में देख कर रवि का लंड उसकी लोअर में ही अलग से दिखने लगा था. फिर दीदी ने बाहर आकर दरवाजे को धीरे से चिपका दिया।उसके बाद वो घर के पिछवाड़े की तरफ की गली में जाने लगी.

ट्रिपल सी बीएफ मैंने उससे सवालिया नजरों से पूछा कि ये क्या है?तो पिंकी बोली- अमन साहब, दूध पी लो … ताकत आ जाएगी. इस कहानी के माध्यम से मैंने आपको यही बताना चाहा है कि जिन्दगी का असली मजा सेक्स में ही है.

ट्रिपल सी बीएफ ये सब मैं अपनी इंडियन रंडी की चुदाई कहानी के अगले भाग में बताऊंगी।आप मुझे मेल करके जरूर बताएँ कि आपको मेरी चुदाई कहानी कैसी लग रही है, आप[emailprotected]पर मेल कर सकते हैं।इंडियन रंडी की चुदाई कहानी का अगला भाग:दुनिया ने रंडी बना दिया- 5. फिर मैंने अपने लंड को तीन चार झटके दिए और लंड का पूरा माल उनके मुँह में निकाल दिया.

जैसे ही हमने एक दूसरे के मुँह में अपनी जीभ डालने की कोशिश की, उनके शरीर से एक अलग सी सिहरन हुई.

एक्स एक्स एक्स हिंदी में सेक्सी पिक्चर

इतने में मामी उठ कर मौसा जी को धक्का देकर उनके मुँह के ऊपर बैठ गईं और मौसा जी हंसते हुए मामी की चूत चाटने लगे. वो अपनी गांड उठा कर लंड को चूत के अन्दर डालने की कोशिश कर रही थी और जोर जोर से ‘फ़क मीईई ईई ओह्ह्ह प्लीजज फ़क मीईईईइ हार्ड!’ चिल्लाने लगी. अब आगे:हम दोनों बस से उतरे, तो सामने एक जीप खड़ी थी और सुभाष उसमें बैठ गया.

हाथ में पूजा की थाली थी, वो मंदिर से आई थी।जैसे ही वह हमारे सामने आई मैं देखता ही रह गया। बहुत ही सुंदर और मुख पर बड़ी शांति थी। बातों में जादूगरी ऐसा लग रहा था जैसे मुझे ऐसी ही लड़की जीवन साथी की जरूरत थी और वैसी ही मिल गई।उसने अपनी एक सहेली को भी बुला रखा था। बारी बारी से दोनों सवाल पे सवाल कर रही थी।सारे सवाल जवाब होने के बाद अब समय हो चला था निकलने का. मैंने अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए उसकी चूत में लंड चलाना शुरू किया. मैंने गेट खोला तो वो दूसरी लड़की अपना गेट लगा चुकी थी लेकिन ऊपर वाला गेट हल्का सा खुला हुआ था.

पापा बोले- पहले चुदाई का मजा तो ले लो हमारे साथ में! बाजार में बाद में चले जाना.

या तुम्हें ही चुदाई की जल्दी हो रही है?नीरव की बात सुनकर मैं भी हंसने लगी और उसकी दुकान में रुक गई।अब नीरव ने मुझसे धीरे से कहा- तुम्हारे लिए मैंने एक गिफ्ट भी लिया है। चलो दिखाता हूं।यह बोलकर उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे दुकान के पीछे की तरफ बने हुए हिस्से में ले गया।वहां मैंने देखा कि उसका एक छोटा सा पर्सनल कमरा भी है और एक सोफा कम बेड भी है. अब हम दोनों की रफ्तार तेज हो रही थी और फिर हम दोनों एक साथ ही अंत तक आ गए. मैंने तुरंत मौसी की चूत में उंगली दे दी और तेजी से मौसी की चूत में उंगली चलानी शुरू कर दी.

वो देखने में अच्छा था लेकिन बहुत ही ठरकी किस्म का इन्सान लग रहा था. हरि और राज मेरे बूब्स चूसने लगे और विशाल ने मेरी गांड पर काटना और चूमना शुरू कर दिया. दीदी ने कहा- हां शिव, शुरू करो ना!मैंने कोमल दीदी को कमर से पकड़ कर उठाया और टेबल पर बैठा दिया.

वो बोला- कहां जा रही हो मैडम?मैंने कहा- मेरा नाम मैडम नहीं सिमरन है. मुझे होटल में काम करते हुए 2 साल भर से ऊपर हो गया है और उस सीनियर रांड की वजह से मुझे 7 माह में प्रमोशन मिल गया.

मौसी का एक बेटा भी था … यानि मेरा भाई … जो कि विशाखापत्तनम में बीटेक कर रहा था … वो वहीं रहता है. मैं उठ कर अंदर गयी और अपने बैग से सिगरेट की डिब्बी और लाइटर लेकर आ गयी. लेकिन आज पहली बार किसी मर्द के साथ प्यार करने का दिल है।ऐसा बोलकर उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए। वह मेरा गहरा चुम्बन ले रही थी और मैं एक मीठे आनंद की लहर पर सवार हो गया था। तभी उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने चूचे पर रख दिया।मैं थोड़ा होश में आया तो रुक गया।उसे कुछ समझ नहीं आया.

मैं उसकी चूत के दाने को जोर जोर से चाटने लगा और बीच बीच में दांत से हल्के से काट भी लिया.

उसके बाद उसने क्या प्लान किया और मैं अपनी मॉम की चुदाई कैसे कर पाया? ये सब बातें मैं आपको अपनी अगली कहानी में बताऊंगा. उनको मजा आने लगा और वो अब खुद ही लंड को अंदर डालने के लिए कहने लगी. मैंने कहा- मैंने तुम्हें ख्वाब में देखा कि तुमने मेरे लंड को पकड़ कर निचोड़ दिया है.

जब मैं उनको देख रहा था, तो वो गांड मटकाते हुए आईं और मेरे पास में बैठ गईं. ऐसी करारी पकड़ का अहसास पाकर रोहित के लंड का उबाल भी उसके काबू के बाहर हो गया और वो मेरी चूत में ही झड़ने लगा.

मोबाइल फोन में इंग्लिश मूवी देखते हुए हम दोनों गर्म हो गये और उसने वहीं काउंटर पर ही मेरी चूत और गांड दोनों ही बजा डाली. तभी उसने कहा- अभी नहीं!मैं समझ गया कि गांड के बाद चूत की खुजली बढ़ गयी है इसकी. साथ ही उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी यह सिम्पल सी सेक्स स्टोरी पढ़ कर मजा आया होगा.

ജപ്പാൻ സെക്സ് വീഡിയോ

उसने कहा- अब और सहा नहीं जाता, डाल दो अपना लंड मेरी चुत के अन्दर और मेरी प्यास बुझा दो.

कुछ ही देर बाद उसके बमपिलाट धक्के मेरी नंगी चुत के चिथड़े उड़ाने लगे. थोड़ा और रेडी हो जाऊँ इसलिए मैंने सेक्स की गोली ले ली जो मैं अपनी जेब में रखता हूँ. मोहित सिंह मुझसे मुखातिब हुए- मादरचोद तू कौन है … जो मेरी बेटी से अपना लंड चुसवा रहा है?मैं- म.

मैं उसकी हर फ़ोटो को बारीक से देख रहा था ज़ूम करके! मैं उसके पैर से देखना शुरू करता, उसके घुटने, जांघ, पैंटी के बीच का गैप, उसका नेवेल, उसके बूब्स की नाली, उसकी गर्दन फिर उसके सेक्सी होंठ, गाल, आंख और बाल! वो ब्लैक बिकनी और पैंटी में कामदेवी लग रही थी. लण्ड के पैन्ट से बाहर आते ही ललिता पंजों के बल उचक कर अपनी चूत मेरे लण्ड के करीब लाने की कोशिश करने लगी लेकिन नाटे कद की वजह से उसकी चूत मेरे लण्ड को छू नहीं पाई. हिंदी सेक्सी हँड विडिओलग तो वो सेक्सी रही थी, पर मैंने सोचा कि आज तो इसकी पुंगी कोई और बजाएगा.

फिर आप उनके पास बैठ कर बातें करना और कहना कि इन सब में मुझे क्या मिला, मुझे तो केवल एक ही चूत मिली पूरी जिन्दगी भर के लिए और वह भी किसी और के लंड की झूठी. 10 मिनट में ही मेरी चूत को उनके लंड ने अपने धक्कों की ताकत से झड़ने पर मजबूर कर दिया.

अब वो ये भी जान चुकी है हम दोनों उनको चुदते हुए देख कर बेशर्म हो चुके हैं. फिर अंजना मेरे लंड को लंड चूसने लगी और मेरा लंड की जोर-जोर से मुठ मारने लगी. एक दिन आंटी कपड़े फैलाने के बाद मेरे रूम में आई तो मैं रजाई में नंगा लेटा हुआ था.

उसने कहा- प्लीज़ एक बार और चूसो न!मैं झट से उठी और उसके मुर्दा लंड को चूसने लगी. तो हुआ यूं कि मेरे घर के सामने एक आंटी रहती हैं, वो दिखने में बहुत अच्छी लगती हैं. मैंने लंड निकाला, तो अगले ही पल वो घोड़ी बन गईं और पीछे से चुदाई करने का इशारा करने लगीं.

सारे ही लड़के शादीशुदा महिलाओं को ही ज्यादा पसंद करते हैं।मेरा लंड पूरा तना हुआ था.

मैंने उसका मुँह अब अपनी तरफ घुमाया और उसकी गालों की चुम्मियाँ लीं और कहा- देख आज की रात तेरी प्यास मैं बुझाऊंगा. कोशिश मैंने पूरी की है कि आपको सारी फीलिंग्स का मजा मिला हो लेकिन फिर भी रियल में करने में बहुत अंतर होता है.

मैंने अपने एक साथी को ये कह कर मैडम के पास भेज दिया कि प्रिंसीपल सर ने आपको अपने ऑफिस में बुलाया है, उन्हें आपसे कुछ जरूरी काम है. ताई की चूत बहुत गर्म थी ऐसा लग रहा था जैसे उनकी चूत से गर्म गर्म भांप निकल रही हों. मौसी की चूत चुदाई शुरू हुईमां और नानी के जाते ही मौसी ने दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया.

तभी उसने कहा- मेरा नम्बर कब आएगा?ये कह कर वो भी मेरी गोद में आकर बैठ गई. फिर नीचे झुक कर उसकी चूत में मुँह लगा दिया और उसकी लंड के लिए लपलपाती चुत चाटने लगा. यह प्लान सुनकर उसने थोड़ी आनाकानी तो की लेकिन फिर बाद में सहमत हो गयी.

ट्रिपल सी बीएफ मनोज ने गाड़ी आगे जाकर एक सुनसान जगह पर लगा दी जिसके आसपास काफी पेड़ और झाड़ियां थी. मौसा के साथ सुहागरात मनाते हुए मेरी चुदाई में मेरी चूत की सील टूट गयी.

हिंदी तमिल सेक्सी वीडियो

सुबह हुई तो मैंने पूछा- अब चैन मिला क्या तुझे? अब तो शांति होगी न चूत में?वो कुछ नहीं बोली।फिर मैंने प्यार से उसका ब्लाउज उठा कर उसकी पीठ पर हाथ फेरा और फिर से पूछा. तभी एक मस्ती के साथ मुझे झुरझुरी सी आई और मेरे लंड से वीर्य निकल गया. हम भी यही चाह रहे थे कि हमें घर में अकेले रहने का मौका मिले और मौसी की चूत चुदाई हो सके.

जो भी पाठिकाएं मेरी इस सेक्स कहानी को पढ़ रही होंगी, उन सभी को तो ये बात समझने की जरूरत ही नहीं है कि चुत चटवाने में कितना मज़ा आता है. इस तरह सलोनी ने अपने प्रोजेक्ट की तैयारी की और मैंने ज़िन्दगी की पहली कुंवारी लड़की की चुदाई कर ली. सैक्स विडियोकुछ पल का विराम देकर मैंने उसके मुंह पर हाथ रखे हुए उसकी चूत में उंगली को चलाना चालू रखा.

मैंने उसकी चूत में लंड घुसा दिया और उसके मुंह दर्द और आनंद भरी आह्हह … निकल गयी.

मैं बुरी तरीके से हांफ रहा था और निशा की सांसें भी सामान्य नहीं हो पाई थी. मैंने अपने मुँह के अंदर उसकी फुद्दी लेकर जीभ अंदर डाल दी क्योंकि ऐसा मौका फिर नहीं मिलने वाला था.

मैंने दूसरा झटका दिया तो उसके मुंह से आह्ह निकल गयी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया. मैंने लंड पेलते हुए कहा- हां चाची कभी नहीं जाऊंगा …मैं जोर जोर से चूत में लंड के धक्के देता रहा. मैंने अपने मोबाइल पर लेस्बियन पॉर्न खोल कर पॉज़ कर दिया था और स्क्रीन का लॉक खुला छोड़ दिया था.

आंटी की जांघें अपने हाथ से फैला कर मैंने लंड का सुपारा आंटी की चूत पर टिका दिया और एक जोर का धक्का दे दिया.

ओहो क्या नजारा था यार वो!फिर आंटी मुझे बेडरूम में ले गईं और सुहागसेज पर मुझे बिठाकर किचन में चली गईं. फिर कुछ देर मेरे लंड को हाथ में लेने का मजा लेने के बाद उसने मेरे अंडरवियर को खींच दिया और मैं अब बिल्कुल नंगा हो गया. थोड़ी देर में मौसा जी का रस गिर गया और मामी जी झड़े लंड के ऊपर बैठ कर हिलती रहीं.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी मूवी इंग्लिश मेंमैं मेडीकल की दुकान से कुछ दर्द की दवाएं और उनके कहने पर कुछ नींद की दवा भी लेकर आया. उसकी आवाजें निकल रही थी- आहहहह चोदो … और तेज!अब न वो झड़ रही थी न मैं …कुछ देर बाद बाद मुझे उसकी चूत ज्यादा गीली सी लगी.

नंगी सेक्सी पिक्चर चुदाई

मैंने उसको पास में पड़े सोफ़े पर लिटा दिया और उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर चूत को चाटना शुरू कर दिया. तभी मैं बोला- थोड़ी सी देर बस!मैं लौड़े को आगे पीछे करने लगा और आधे से ज्यादा लन्ड मोसी के मुंह में डाल दिया. वरना जूनियर वापस डेस्क पर आ जाएंगे।मैंने उसे लेटी हुई हालात में ही उसकी चूत पर लंड रखा और एक झटके से आधा अंदर डाल दिया.

फिर मैंने उसको थाम कर उसकी चूत में एक धक्का दे मारा और मेरा लंड उसकी चूत पर फिसल गया. इधर मैंने अपना लंड मामी की चूत में घुसा दिया और उनको चोदना चालू कर दिया. मैं जानबूझ कर अंतर्वस्त्रों को अधिक सूंघने लगा व स्वयं ही उत्तेजित होता रहा.

कहानी पर कमेंट्स करें और यदि संदेश भेजना चाहते हैं तो नीचे दी गई ईमेल आईडी का प्रयोग करें. पहले गाल, फिर होंठ, गला उसके बाद वो मेरे शर्ट के बटन खोलने लगी, उसने मेरी शर्ट उतार दी।मैं अब ऊपर से नंगा था और वो मेरे सीने को चूमे जा रही थी. आह्ह और चोद मुझे।कुछ देर की इस गांड फाड़ चुदाई के बाद उसने मेरी गांड के छेद में ही अपना माल भर दिया.

कॉलेज की सेक्सी चुदासी लड़की को लंड के लिए ऐसे तड़पते देख कर मुझे इतना मजा मिल रहा था कि मैं क्या बताऊं. उसका लंड मेरे मुँह में फंसा हुआ था और उसने मेरे सर को दबाया हुआ था.

चूदाई का भरपूर मजा लेने के लिए मैंने रेखा के चूतड़ों के नीचे एक तकिया रखा.

वो बोला- चलो भी डिम्पल, हम इतने दिन से ब्वॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड हैं, अब कैसी शर्म?मैंने कहा- नहीं, तुम लाइट बंद कर लो फिर. क्सक्सक्सक्स सेक्स वीडियोहोटल पहुंच कर मैंने अपनी चूत को शीशे में देखा तो चूत सूज गयी थी और बूब्स एकदम से लाल हुए पड़े थे. बुलु सेकसी फोटोकई बार मैंने अपनी बेटी को बोला कि तू बॉलीवुड में किसी डायरेक्टर को पटा कर उसको अपनी टाइट चूत के दर्शन करवा दे. हम भी यही चाह रहे थे कि हमें घर में अकेले रहने का मौका मिले और मौसी की चूत चुदाई हो सके.

मैंने तुरंत अपना पैंट उतारकर टांग दिया और अंडरवियर के अन्दर उनकी पैंटी पहन ली.

प्रिया ने पहले ही रूम में बेड और बाकी फर्नीचर, टीवी और ज़रूरत का सब सामान होटल की तरफ से मौजूद करवा दिया था. फिर नजमा आंटी ने मुझे उनकी सहेली की चुदाई का मौक़ा देते हुए हम दोनों को एन्जॉय करने का कह कर हमारे घर पर चली गईं. मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और दोनों हाथों से दोनों चूचियों को दबाने लगा.

रेखा की चूत के होंठ फैला कर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रखा और पूरा लण्ड एक ही बार में पेल दिया. क्या बताऊं दोस्तो … भाभी की गांड साड़ी के ऊपर से ही बहुत सॉफ्ट लग रही थी. उन्होंने मेरी आंखों में झांकते हुए कहा- रुक क्यों जाता है … पूरा बोल ना … क्या बोलना चाहता है?मैंने कहा- आप बुरा मान जाओगी.

செஸ் விள்ளகே

बहुत दर्द होता है।मैंने उसे डोगी स्टाइल में उसके बाल पकड़ कर उसे उठाया और उसे धक्के देने लगा. 3 साल से हम दोनों रात में एक दूसरे के साथ नंगे ही सो रहे थे इसलिए भी उसको माँ के पास नींद नहीं आती थी।एक दिन वो पूछने लगी- इसके बारे में मां को कब बताना है?तो मैंने कहा- उनको कैसे बातायेंगे?वो बोली- कैसे भी बताओ, लेकिन अब मैं ऐसे बहन बन कर नहीं रह सकती. मैंने कहा- ऐसा क्यों हो रहा है? क्या भाई और आप में वो सब नहीं होता?तो भाभी बोलीं- तुम मुझसे ये बात मत करो.

मैंने कहा- कैसे पता चल जाएगा?वो बोली- मकान मालिक यहीं सामने रहता है और मेरे रूम पर कौन आता-जाता है सब साफ नजर आता है।मैं- तो फिर एक काम करो कि तुम ही मेरे घर आ जाओ।सीमा- मगर तुम्हारे घर में तो तुम्हारी फैमिली भी होगी.

हाथ में पूजा की थाली थी, वो मंदिर से आई थी।जैसे ही वह हमारे सामने आई मैं देखता ही रह गया। बहुत ही सुंदर और मुख पर बड़ी शांति थी। बातों में जादूगरी ऐसा लग रहा था जैसे मुझे ऐसी ही लड़की जीवन साथी की जरूरत थी और वैसी ही मिल गई।उसने अपनी एक सहेली को भी बुला रखा था। बारी बारी से दोनों सवाल पे सवाल कर रही थी।सारे सवाल जवाब होने के बाद अब समय हो चला था निकलने का.

फिर बात पलटते हुए मैंने पूछा- पहले ये बताओ, मेरे हाथों से बने स्केच कैसे लगे?सीमा- स्केच तो अच्छे हैं लेकिन ये सब तू मुझे क्यों भेज रहा है? साफ-साफ बता कहीं तू मुझसे प्यार तो नहीं करता है?मैं- अगर मैं कहूं कि हां करता हूं, फिर?वो बोली- देख यार, मेरे बहुत सपने हैं जो मुझे पूरे करने हैं, वैसे भी मैं अपने पेरेंट्स का भरोसा नहीं तोड़ सकती. मैंने सोचा कि ये दीवार कहां से आ गयी? मैंने देखा तो सामने एक 35-40 साल का बाऊंसर था. ब्लू फिल्म सेक्सी नंगी वीडियोबलविंदर ने मुझे कहा- अपने गंदे वस्त्र उस टोकरी में रख देना व पहनने के लिए घर पर तो जांघिया ही पर्याप्त है.

ये कहते हुए पूजा आंटी ने मेरे गांड के छेद पर प्रेशर बढ़ाया और धीरे धीरे करके पूरा डिल्डो मेरी नंगी गांड में घुसेड़ दिया. मैं अपनी ब्रा और पैंटी को मुट्ठी में दबा कर अंदर वार्ड में रखे अपने बैग में डाल कर आ गयी. दोस्तो, ये मेरी दूसरी अन्तर्वासना स्टोरी है सहेली की चुदाई की … कैसी लगी आपको? मुझे मेल करके बताएं.

मकान मालिक अपनी बीवी को हस्पताल लेकर गए थे और वे दोनों लौंडियां कालेज गई थीं. कोई दो मिनट के दर्द के बाद अब उन्हें भी गांड मराने में मजा आने लगा.

जैसे ही मामी अन्दर आईं, मैंने उन्हें बांहों में जकड़ लिया और किस करना शुरू कर दिया.

नीचे वाली डबल सीट मेरे पति और मेरे बेटे की थी जबकि ऊपर वाली सीट मेरी थी. भाभी पूरी मदहोश होने लगीं और बोलने लगीं- ये सब क्या कर रहे हो … मैंने ये सब कभी नहीं किया. उनको डिस्टर्ब ना हो इसलिए हम वहां पर योगा प्रैक्टिस नहीं कर सकते थे.

मराठी झवा झवी फिर मैंने बोला- जरूर पिंकी मैं समझ सकता हूं, तुम्हारा पति तुम्हें छोड़ कर जा चुका है और तुम्हें भी मर्द की जरूरत होती होगी. मैं बुदबुदाया कि कितना बड़ा चुतिया है, जो इतनी सुंदर बीवी का ख्याल नहीं रखता.

घर आते ही पापा का एक ही सवाल होता था- डिनर किया?मैं भी हां या ना में जवाब दे देता था. मैं मामी से बोला- पर क्या मामी … बताओ ना, मेरी जान!मामी बोलीं- किसी से कहोगे तो नहीं!मैंने कहा- मैं क्यों कहूंगा. उनको भी ये अहसास दिलाना है कि घर में चुदाई का कोई समय और कोई रिश्ता नहीं होता है.

హిందీ సెక్స్ స్టోరీ

मैं आज की रात अपनी वो हवस पूरी करना चाहता था जिसके लिए मैं पिछले छह महीने से परेशान था. गलती से ये बात मैंने पिंटू (वो प्यार से प्रदीप को पिंटू कहती थी) की बीवी को बता दी. मैंने कहा- कल तो स्कूल में जाना है मोनिका!मोनिका बोली- हां स्कूल के बाद करते हैं.

वो सब कैसे हुआ, उसका पूरा मजा आपको मेरी इस मस्त चुदाई की कहानी में मिलेगा. मेरे पति को गांड मारने का इतना शौक है कि उसने अपने ऑफिस की कई महिलाओं की गांड चुदाई कर रखी है.

इस बार पारुल का मुँह साधना के मुँह पर न होने के कारण उसकी एक जोरदार चीख कमरे में गूँज गई.

दोस्तो, अन्तर्वासना के मंच पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, जो मैं आप सभी के साथ साझा करने जा रहा हूँ. तुम बहुत सेक्सी भी हो और हॉट भी और सुंदर तो हो ही … मिनट भर भी नहीं लगेगा. मैंने उसके लंड को ऊपर से ही किस किया … तो वो एकदम से पागल हो गया और मेरे गालों को सहलाने लगा.

उन्होंने जिया के बदन पर बचा हुआ आखिरी कपड़ा भी हटा दिया और उसको पूरी नंगी कर दिया. कोई आधा घंटे बाद जब मैं अपने घर आने लगा, तो उसने कहा- गौरव रुक जाओ … हम दोनों बैठ कर चाय पीते हैं. [emailprotected]फैमिली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मेरी चालू बीवी लंड की प्यासी-3.

जो मुझे पसंद आये और उनमें से कई के साथ सेक्स भी कर चुकी हूँ।अब तक मैं सेक्स के काफ़ी अनुभव कर चुकी हूँ.

ट्रिपल सी बीएफ: फिर उसके तलवे और एड़ियों को चूमने लगा।उसके बाद दीदी के घुटनों को चूमते हुए उसकी बुर के पास आकर एक किस किया। अब दीदी के पैरों को फैलाकर मैं घुटनों के बल बैठ गया और मैंने ऐसे बैठ कर अपने लन्ड को दीदी की बुर पर सेट किया. यदि घर पर भी मौका मिलता है तो हम भाई बहन का सेक्स का अवसर नहीं छोड़ते हैं.

मगर मैंने उसकी चीख की परवाह न करते हुए उसे धकापेल चोदना शुरू कर दिया. मौसी के कहने पर मैं आहिस्ता से वहां से उठा और अपनी वाली जगह पर आकर लेट गया. मैं तो सोच कर ही परेशान हो जाता हूं कि मुझे ऐसी चालू और चुदक्कड़ लड़कियां क्यों नहीं मिल पाती हैं? काश मेरे साथ भी ऐसी ही कोई घटना हो जाये और मुझे भी नयी चूत चोदने का मौका मिल जाये.

अगर आपने ये कर दिया तो मैं आपके लिए एक और चूत का जुगाड़ करवा दूंगा.

उस आदमी ने कहा- जब पार्टी में शामिल किया है तो इनको भी पूरी पार्टी दिखाएंगे. लेकिन शायद वो आ कर जा चुका था और मेरे बेहोशी की वजह से वो अंदर नहीं आ पाया।ये सब सुन कर मुझे बहुत अच्छा लग रहा था कि शायद किस्मत मुझे ये मौका देना चाहती है।मैंने कहा- मैम मैं आपकी क्या मदद करूं?उसने कहा- तुम क्या करोगे?मैंने कहा- मैम आप जो कहें?उसने कहा- अच्छा. वो मेरी तरफ मुड़ी और मेरे होंठों को अपने होंठों में भर कर चूसने लगी.