बीपी बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,తమిళ్ సెక్స్ వీడియోస్

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लिश सेक्सी पिक्चर नई: बीपी बीएफ हिंदी में, दो-तीन मिनट के बाद आंटी वरूण के लंड की तरफ अपनी चूत को फेंकने लगी और देखते ही देखते उसकी चूत ने पचर-पचर पानी छोड़ दिया.

செக்ஸ் மலையாள செக்ஸ்

रानी का ऐसा ही आदेश था कि धक्के बहुत धीरे धीरे से शुरू करके बाद में तेज़ी दिखानी है. सेक्सी वीडियो गाना डीजेफिर मैंने प्रिया से कहा- अगर तुम परीक्षा में अच्छे नम्बर लाना चाहती हो तो मेरे पास तुम्हारे लिए एक अच्छा उपाय है.

पर मैं जानती थी कि नंबर बाई नंबर सलवार पैंटी कुर्ती ब्रा सब को ही उतरना ही था. सेक्सी उघडामैंने भी कहा- आज मैंने अपनी लाइफ की पहली चुदाई अपने ही भाई से करवा ली.

फिर मैं उठा और उसकी टांगों को फैला कर अपने लंड पूरे झटके से उसके चूत में उतार दिया और उसी पल उसके बड़े बड़े चुचों को ज़ोर से दबा दिया.बीपी बीएफ हिंदी में: याराना के अगले भाग में वह सिलसिला शुरू होने वाला है जिसमें मेरी पत्नी रीना को हम तीनों मिलकर अपने जाल में फंसाएंगे.

एक ओर मुझे ऐसा लग रहा था कि ये सब ग़लत है और एक तरफ लग रहा था कि अब पूरे मज़े कर ही लूँ.बीस मिनट के बाद वो दोनों मेरी गांड और मुंह में बारी-बारी से झड़ गये.

सेक्सी विडोय - बीपी बीएफ हिंदी में

उनके अभी तक अंडरवियर में लंड तने हुए देख कर मुझे भी बेशर्मी करने का मन हो रहा था.इसके बाद अचानक से भाबी नीचे बैठ गईं और केला की तरह पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं.

उसने भी मेरी जिप खोल कर मेर लंड पर कब्ज़ा कर लिया और उसे नापने की कोशिश करने लगी. बीपी बीएफ हिंदी में पूरे कमरे में फट फक की आवाज़ गूंज रही थी और मैं भी मदहोशी में चिल्ला रही थी.

मेरे चूतड़ (नितंब) थोड़े उभरे हुए है, जिन्हें जींस में मटकता देखकर लड़कों की सिसकारियां निकल जाती हैं.

बीपी बीएफ हिंदी में?

मैंने उसको इशारा किया तो वो समझ गया और मुझे सबसे कोने वाले केबिन में जाने का इशारा कर दिया. सारा को चोदने के बाद कैसे मैंने अपनी दूसरी बीबी ज़रीना को चोदा,वलीमे की रात मैंने दोनों की गांड मारी और सुबह डॉक्टर को दिखाना पड़ा और डॉक्टर ने तीन दिन चुदाई बंद का हुकुम सुना दिया. सोनल के हाथ में सिगरेट फंसी थी, जिसे वो बड़े मजे से पीते हुए राधिका के मम्मों पर फूंक रही थी.

उसके बाद मैंने उसके मुँह पर से सभी फूल हटा दिए और अपने होंठ दिलिया के होंठों पर रख दिए और उन्हें चूसने लगा। वह भी मेरा साथ देने लगी. अंकल जी तो मेरा ही इंतज़ार कर रहे थे तो उन्होंने झट से मुझे घर के भीतर कर लिया और मेरी साइकिल भी अन्दर रख दी. क्या मस्त फिगर था भाभी जी का … मेरा लंड तो उनकी भरपूर जवानी को देख कर एकदम से खड़ा हो गया.

मैंने धीरे से अपने लंड का टोपा उसकी चूत के मुंह पर रखा और फिर अपने होंठों में उसके होंठों को भर कर ऐसा झटका मारा कि आधा लंड उसकी चूत में उतर गया. फिर नाभि में जीभ चलाता और फिर उसकी उजली जांघों में जीभ चलाते हुए पैंटी से ढंकी हुई चूत पर भी जीभ चला देता. धीरे धीरे उनके झटके तेज़ होते जा रहे थे, अब मेरा दर्द कुछ मजे में बदल रहा था.

फिर धीरे धीरे करके मैंने अपनी पूरी जबान को चूत के छेद में डाल दी और अपनी एक उंगली के ऊपर थूक लगा के मैंने उसकी गांड के छेद में पिरो डाली. दीदी बोली- तुमने मेरे सारे कपड़े उतार दिये लेकिन अपने कपड़े नहीं उतारे.

वो झड़ने लगी और उसका लावा फटता देख कर मेरा लावा भी मेरे लंड से फटने को हो गया.

दोनों हाथों की आठों उंगलियां वक्षों के उभार जहां से शुरू होते हैं, वहां जमी थी और दोनों अंगूठे दोनों उरोजों के मध्य दरार में एक-दूजे से सटे हुए थे.

दो मिनट तक दीदी के होंठों को चूसने के बाद उसने मुझे अपने से अलग कर दिया. थोड़ी देर में नग्न दृश्य और फिर जब सनी लियोन के सम्भोग दृश्य शुरू हुए तो कसमसाने लगी. अगले दिन सुबह मैं और दोस्त निकलने लगे, तो मैंने देखा अलका की आंखों में आंसू थे.

जो कमीज मैंने पहनी हुई थी उसमें मेरी चूची का आकर बिल्कुल साफ़ पता लग रहा था. मैं अपने कपड़े पहनकर रूम से बाहर आ गया, जहां डाइनिंग टेबल पर नाश्ता तैयार था. मैंने उसकी तरफ सवालिया निगाह से देखा तो उसने मेरे से बोला- तुझे एक नहीं दो लौड़ों से एक साथ चुदाई करनी होगी.

बीवी ने पूछा- क्या बात है, महेश जी ने क्या खिला कर भेजा है?मैंने हंसते हुए कहा- महेश की बीवी ने बहुत अच्छे से स्पेशल खाना खिलाया है.

मुश्किल से 20-25 धक्के हुए होंगे, उतने में मौसी ने मुझे कस कर पकड़ लिया और मुझसे चिपक गईं. मगर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरे मुंह में जीभ डाल कर मेरी लार को पीने लगी. आंटी- अरे कुछ तो शर्म किया करो … उस्मान आपके बच्चे की उम्र का है और आप उसे ये सब सिखा रहे हो?अंकल- तू इसे बच्चा कह रही है.

उसने दो-तीन बार अपने लंड से चूत को रगड़ा और फिर सुमिना की गांड को पकड़ कर एक जोर के धक्के के साथ पीछे से सुमिना की चूत में लंड को पेल दिया. जीजा जी ने मुझे गोद में उठाकर पलंग पर लेटा दिया और मेरे पैरों को ऊपर उठाकर जीभ से मेरी फुद्दी को गीला करने लगे. दो तीन दिन क्रेन का काम चलता रहा और हम लोगों का एक दूसरे को देखने का अपना खेल चालू रहा.

वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ धीरे प्लीज़ धीरे मैं मर गयीई … आरव प्लीज़ मुझे छोड़ दो … लंड निकालो बाहर.

राधिका मस्ती में मोन करने लगी- आह ओह अह मेरी गांड मारो … और चोदो मेरे राजा … अह अ ओह आह!हम दोनों को देखकर वो दोनों भी उत्तेजित होने लगी थीं. बड़ी कयामत लग रही थी उसका ये सूट बहुत फिटिंग का था, इसलिए उसकी चूचियों का उभार मस्त दिख रहा था.

बीपी बीएफ हिंदी में एक बार फिर से अपने अफ़साने के सच्चा-झूठा होने का फैसला मैंने अपने पाठकों के विवेक पर छोड़ दिया है, अगर आप का मन इस को सच मानता है तो इसे सच जानें, अगर आपका मन इसको काल्पनिक मानता है तो इसे काल्पनिक ही मानें. मोनी की उत्तेजना मुझसे भी ज्यादा तेज थी जो उससे बर्दाश्त नहीं हो रही थी इसलिये वह एक तरफ मुड़ कर मेरे चंगुल से छूटने का प्रयास करने लगी थी.

बीपी बीएफ हिंदी में कंजूस गुप्ता जी के मुकाबले मेरा राजसी खर्च देखकर डॉली खुश भी थी और प्रभावित भी. रानी आनंद में ऐसी मस्त थी जैसे पूरी बोतल तेज़ दारू पीकर नशे में धुत्त हो.

उसके बाद आई होली, होली का दिन मेरी लाइफ का सबसे अच्छा दिन रहा या ये कहूँ कि उसकी लाइफ का सबसे बुरा दिन रहा.

डॉक्टर सेक्सी वीडियो दिखाइए

मैंने भी अपना लंड अपने हाथों में लिया लेकिन तभी मुझे याद आया कि मैं कंडोम लाना भूल गया था. ये सब मेरी ही आउट डोर फैंटेसी थी। जो मैंने उसे पहले बता रखा था।फ्लोर की बात याद आते ही मेरा ध्यान टूटा. इस बार मैं लंड पेलने के बाद उसे धीमे धीमे चोद रहा था, जिससे वो मजा ले ले कर सीत्कार करने लगी- आह आह अह ओह भाई चोद आह चोद डाल … अपनी बहन की चुत … आई लव यू भाई!उसकी मीठी कराहें सुनकर मैंने भी अपनी रफ्तार बढ़ा दी और सोनल भी मेरे साथ गांड उठा कर चुदाई का मजा लेने लगी.

पर तुम अपने पड़ोसी और रिश्तेदारों से कैसे छुपाओगे मुझे?कुछ देर सोचने के बाद एक जोरदार सा आइडिया मेरे दिमाग में आया और मैंने कहा- मैं सब संभाल लूंगा, तुम बस आ जाओ. मौसी के लेटने की वजह से उनकी कमर भी थोड़ी पीछे की ओर सरक गयी, जिस वजह से मेरे लंड और उनकी चूत के बीच में मेज़ का किनारा आने लगा. वो मुझसे कहती रही- नहीं, रुको … मत करो … आह्ह … मत करो … ओह्ह … मत … करो … फिर थोड़ी ही देर में उसके मुंह से काम वासना फूट कर बाहर आने लगी.

रानी ने अपने हाथ उरोजों की जड़ पर जमा के दबाया तो चूचे थोड़े ऊपर को उठ गए.

जब नम्रता ने पाया कि अभी भी मेरा रिएक्शन ढीला है, तो वो मेरे मुँह से अपनी चूत रगड़ने लगी. जब बाथरूम से मैं सिर्फ एक टॉवल में बाहर आई, तो देखा कि दोनों सिर्फ अंडरवियर में हैं और टॉवल से अपना बदन पौंछ रहे थे. मगर उसकी चूत मारना इतना आसान काम थोड़े ही था! उसके लिए तो पहले मुझे इस चुड़ैल का पता लगा कर उसको अपने काबू में करना था.

अपने लंड को अपने हाथ में लेकर ताऊ जी ने बुआ को हिला कर दिखाया तो बुआ मुस्कुराने लगी और बोली- बहुत दिनों बाद आज इस औजार से मुझे प्यास बुझाने का मौका मिला है. आज मैं फिर से अपनी एक नई देवर भाभी सेक्स स्टोरी लेकर हाजिर हुआ हूँ. फिर पास ही पड़ी मेज पर उसको लेटा लिया और उसकी एक टांग से सलवार को निकाल कर अपने हाथ में उसकी टांग को उठाकर फैला दिया.

मैं दर्द से चिल्ला उठी- भोसड़ी के मार डाला मुझे, निकाल बाहर अपना लंड … मुझे नहीं चुदवाना है. मैंने उसे डांटा तो दिलिया बोली- देखने दो ना … इनसे क्या शर्म?सारा बोली- दिलिया देख … अब इसी लंड से तेरी भी चूत फटेगी.

मैं ऐसी फैमिली से हूँ, जिधर से बिना बुरके के बाहर जाने की इजाजत तक नहीं है. उसके बाद मैंने भी उसको अपनी बांहों में भर लिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को वहीं खड़े होकर चूसने लगे. उसको पता था कि मैं कितनी चालाक हूँ, बाहर ध्यान दे सकती हूँ, इसलिए वो मेरे जिस्म के उभार के मजे ले रहा था.

उसने मुझसे बोला- तू भी अपना हिला ले न …उसके कहने के बाद मैंने भी बिना शर्म के अपना लंड निकाला और हिलाने लगा.

वैसे भी औरत की चूत जवानी में इतनी ज्यादा टाइट होती है कि चुदाई के बाद किसी मर्द को पता नहीं लग पाता कि वह पहले भी चुदी हुई है. अब अनिल ने मेरे मुँह से लंड निकाल दिया और बोला- लंड का मजा आ रहा है. कुछ देर इस पोज़ में चोदने के बाद जीजा जी ने आसन बदला और दीदी को खड़ी कर दिया.

वैसे इंटरनेट पर आजकल ऑनलाइन डिल्डो या वाइब्रेटर मंगवा कर भी आप योनि को सन्तुष्ट कर सकती हैं. मुंबई के आस पास के इलाके में दिन भर की थकान के बाद शराब का मजा लेने वालों में लेडीज और जेंट्स दोनों ही होते हैं.

मैं भी अपनी गांड उठाते हुए बोली- हां साले लंड के … आज से मैं तेरी रखैल हूँ चोद दे भाई अपनी रंडी को … और जोर से धक्के लगा. इसीलिये वह अपनी चूत की प्यास मेरे लंड से बुझाने के लिए इतनी जल्दी तैयार हो गयी. कुछ दोस्त मुझसे सेक्स करने की चाहत रखते हैं, तो कुछ ने लड़की के नाम से मेल आईडी बना कर हेल्प के लिए मुझसे सम्पर्क किया.

सपना चौधरी न्यू सॉन्ग

फिर ऊपर छत पे 2 रूम हैं, जो पहले किराये पे दिये थे, पर अभी खाली हैं.

एक अठारह साल की लड़की मुझे नहीं हरा सकती थी, इसलिए मेरा नींद का नाटक जारी था. इसलिए मैंने फिर से उसका लंड मेरे मुँह में लिया और बहुत ही शांति से लंड को चूसने लगी. मैंने मैगज़ीन तो फर्श से उठाकर वापिस टेबल पर रख दी लेकिन दुबारा से आँखें हरी करने का विचार टाल दिया.

पहले तो मैं थोड़ा घबरा रहा था क्योंकि मैं इससे पहले कभी किसी शादीशुदा औरत से नहीं मिला था. हर औरत को पहली पहली बार दर्द तो होता ही है और उसे उस दर्द को बर्दाश्त करना पड़ता है. वीडियो पे वीडियो सेक्सीरात साढ़े दस बजे के आस-पास डिनर-टेबल पर वसुन्धरा के पापा ने बताया कि वसुन्धरा की मां ने अभी-अभी वसुन्धरा को फोन लगा कर आपके यहां होने की खबर दी तो वसुन्धरा ने कहा है कि वो कल सवेरे 12 बजे तक यहां पहुँच जायेगी.

मैंने उसकी गांड की तेजी के साथ धक्के देते हुए चुदाई चालू कर दी और उसको चोदते हुए धीरे-धीरे हॉल की तरफ चलाने लगा. मां के जाने के बाद मैं, वरूण और ज्योति आंटी फार्म हाउस के अंदर चले गये.

मगर बालों के साथ ही नीचे जो लुंगी पहनी हुई थी वह भी बार-बार हवा में उड़ रही थी. फिर मैं धीरे से उसके कमरे में आया और एकदम से उसके रूम की लाइट जला दी. मेरा पूरा लंड भाबी के मुँह में जाते ही मुझ पर न जाने कौन सा शैतान सवार हो गया, मैंने अपना लंड एकदम से भाबी के गले तक ठांस दिया.

अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियों के सभी पाठक पाठिकाओं, लेखक, लेखिकाओं को देव कुमार का नमस्कार. मगर उसकी चूत मारना इतना आसान काम थोड़े ही था! उसके लिए तो पहले मुझे इस चुड़ैल का पता लगा कर उसको अपने काबू में करना था. भाबी की चुत एकदम क्लीन थी … और उसमें कोई मस्त सुगंध लगाईं हुई थी, जिस वजह से मैं भाबी की चुत को अच्छी तरह चाटने लगा.

मैंने भी अपनी दो उंगलियां उसकी चुत में झटके से अन्दर डालीं और उसके मम्मों को दबाने लगा.

मुझे बिल्कुल यक़ीन नहीं हो रहा था कि मैं किसी नए इंसान से बात कर रहा हूँ. रफ्तार बढ़ी, आनन्द बढ़ा, लण्ड फूलकर और मोटा होने लगा, धकाधक दौड़ते दौड़ते मंजिल आ गई और लण्ड ने पानी छोड़ दिया.

मैं उसे ढूंढता हुआ घर के पीछे एक अलग सा गोदाम था जो सुनसान रहता था, उसमें गया. जैसे खलहड़ से हल्दी पीसते हैं ठीक उसी तरह वो मेरी बुर की पिसाई करने लगा. मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ उंगलियों को चलाना शुरू कर दिया और उसके मुंह से स्स्स… आह्ह … अम्म… ओह्ह जैसी मधुर आवाजें निकलने लगीं.

मेरी नजर उसके चूचों से फिसल कर उसकी चूत पर चली जाती थी और फिर ऊपर आ जाती थी. मैं सोच रही थी कि दिन में कहाँ किसी को मौका मिलता है? अभी मैं जीजा जी के कामुक व्यवहार से इतनी परिचित नहीं थी और सोच रही थी कि जीजा जी को मेरे साथ सुहाग दिन मनाने का मौका शायद ही मिल पायेगा क्योंकि वह तभी मिल सकता था जब मैं दीदी के घर जाऊं और हम दोनों को अकेले में रहने का मौका मिले. मैंने उससे गिलास और बर्फ मांगी, तो वो किचन से दो गिलास और नमकीन के साथ बर्फ आदि ले आई.

बीपी बीएफ हिंदी में ”मतलब, मालिनी के कपड़े उतर चुके हैं?”तू पागल है। अरे जब से आयी है, तब से नंगी ही है। अब इसकी गांड मारूंगा। रात ये मेरे पास ही रहेगी, सुबह डॉक्टर के पास जाएगी और अपना गर्भ गिरा के तुम्हारे पास आएगी. सुधा तो इन लोगों से पहले भी एक-आध बार मिल चुकी थी लेकिन मैं इन सबको पहली बार ही मिल रहा था.

नाइट की सेक्सी

आप मुझे मेल कीजिए कि आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी ताकि मैं और कहानी लिख सकूं. फिर मामी बहुत जोर से बोलीं- तुमने बहुत उंगली की और तुम मेरी एक झांट तक टेढ़ी नहीं कर सके, अब मेरा कमाल देखो. आपको बता दूँ कि वो दोनों इतनी हॉट हैं कि कोई भी उनको एक बार देखकर चोदने का जरूर सोचेगा.

मैंने उससे इस दूसरे वार के साथ बोला- से … वन्स मोर मास्टर … एंड बेग फॉर इट. मैंने भाभी को बताया, तो वो अपने बेड के गद्दे के नीचे से एक कंडोम निकाल कर मेरे लंड पर लगाने लगी. देसी भाभी की देसी सेक्सी वीडियोउसका प्यारा सा चेहरा, उन पे बिखरे हुए बाल … आह … उसे देखते हुए मैं सोच रहा था.

बाहर चारों तरफ अँधेरा था। बस हमारे फ्लैट से हल्की रोशनी आ रही थी।मैं वर्तमान में आयी। चारों तरफ अँधेरा … चिर सन्नाटा। अंतिम आवाज मैंने अपने फ्लैट का गेट बन्द होने की सुनी थी। मेरे हाथ ऊपर मेरे ही ब्रा से बंधे हुए थे। मैं दीवार से अपनी नंगी पीठ और चूतड़ सटाये खड़ी थी.

फिर भी जबर्दस्ती से मेरे शौहर ने दे दिए, तो फिर उसने वो पैसे मेरी सास को दे दिए और कहा कि बेटा कभी माँ से पैसे नहीं लेता. मैं वहीं पर खड़ा होकर उस लड़के का चेहरा देखने की कोशिश करने लगा लेकिन उसकी पीठ दरवाजे की तरफ थी.

मैं- रुको न मौसी, इतना क्या जल्दी कर रही हो आप?मौसी ने खीजते हुए कहा- तू समझ नहीं रहा है, अगर कोई आ गया तो बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो जाएगी, इसलिए जल्दी कर रही हूं, बाद में फिर कभी आराम से करना. ये देखते ही उसने और जोर से धक्के लगा के अपना पूरा दस इंच मेरी कुंवारी चुत में पेल दिया. ताऊ जी ने अपने लंड को हिलाना शुरू किया और तेजी से लंड की मुट्ठ मारने लगे.

कुछ ही देर में रवि बॉस की उंगलियां तेजी से मेरी गांड में अंदर-बाहर होने लगीं.

उसने मुझ पर लाइन मारने की बहुत कोशिश की लेकिन मैं उसको इग्नोर कर देता था. नसीब की बात कहें या मजबूरी कहूँ कि एक बार मुझे एक ही जगह पर दो साल हो गए थे. सो मैं नम्रता के जांघों के बीच आ गया और लंड को चूत के मुहाने पर टिकाकर एक झटका दिया.

ఫారెస్ట్ సెక్స్ వీడియోస్हमने कई बार साथ कई सेल्फियां लीं, जिसमें किसी में वो मुझे पीछे से बांहों में लिए था, तो किसी में मैं उसकी नंगी पीठ पर हथेलियां घुमाती रहती थी. सच कहूँ तो मेरी भी हालत खराब थी, मैं भी जल्दी से मौसी को चोदना चाहता था, पर चोदने से पहले मैं मौसी को इतना तड़पाना चाहता था कि मौसी खुद बोल उठें कि चोद मुझे और आगे भी मेरा लंड लेने के लिए तैयार रहे.

डॉग और लड़की का सेक्सी

इसको इसके सेन्टर पर ड्राप कर दूंगा और अपना काम निपटा कर वापसी में से इसको ले लूंगा. करीब बीस मिनट की दमदार चुदाई के बाद अनुषी ने मुझे पूरे जोर से जकड़ लिया और वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी. वह किसका लंड था और मैंने उस लंड को कैसे तैयार किया वो सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी.

आंटी- आह आह ऊह … सी सी, साले भड़वे, मादरचोद, कुत्ते इनको उखाड़ेगा क्या … मुझ रंडी पर नहीं, तो मेरे इन मम्मों पर तो रहम कर … बहन के लौड़े थोड़ा प्यार से दबा इनको … चूस इनका दूध. मैं आगे की तरफ जाकर आंटी के चूचों को दबाने लगा और वरूण ने आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी. वह मेरी नकल करने की कोशिश कर रही थी चूंकि उसका तो यह पहला अनुभव था.

अब अंकल आधे लंड को ही अन्दर बाहर करते रहे और कोई पांच मिनट बाद मुझे भी अच्छा लगने लगा. अब तक आप लोगों ने पढ़ा था कि कैसे मैंने अपनी बहन को सिनेमा हॉल में नीचे से नंगी कर दिया. हम लोग जब तक बाजार नहीं पहुंचे, तब तक वो मेरी चूची को दबाता रहा और उसने मेरे हाथ को उठा कर अपने लंड पर रखवा लिया.

मैंने भी उससे आई लव यू टू बोला और एक बार और करने को पूछा, तो उसने भी हां बोल कर मेरा साथ दिया. मैं बाथरूम में पहुंचकर देखना चाहा कि कहीं वो पानी का लोटा लाकर मेरे ऊपर डालने वाली तो नहीं है.

मैं आंटी के नाम से कई बार बाथरूम में और मेरे रूम में मुठ मारा करता था.

मैंने मैडम की एक टांग को उठा कर सोफे पर रखा और उसकी चूत पर लंड को लगा दिया. मराठी सेक्सी साड्यावाल्याऔर दिलिया की चीख निकल गयी- आईई आहाह आआआआ आईईईई स्स्सस!मगर गजब की हिम्मत थी उसमें … अपने हाठों में मेरा चेहरा लेकर चूमते हुए बोली- गज़ब किला फ़तेह किया तुमने आमिर … आई लव यू! बहुत दर्द हुआ लेकिन मुझे गर्व है कि मेरी चूत को तुमने एक ही धक्के में ही फाड़ दिया. पेनिस बड़ा करने के तरीकेनहीं रानी सोया नहीं बस थोड़ा सुस्ता रहा था … हो सकता है हल्की सी झपकी लग भी गयी हो. वो लुंगी के अन्दर चड्डी भी नहीं पहने थे, जिससे उनका 7″ इंच का खड़ा लंड फनफनाते हुए बाहर आ गया.

मैं आगे हाथ बढ़ा कर उनके 36 इंच के चुचों को अपने दोनों हाथों से दबाए जा रहा था.

अन्तर्वासना पर मैं बहुत टाइम से लिखना चाहता था, पहलेपहल काफी संकोच हुआ कि कहीं मेरी गोपनीयता भंग न हो जाए. फिर मैंने बोला- मिलवा दे यार इन दोनों से … मुझे तो बस चूत का कचूमर निकलवाना है इनके लौड़ों से. जब से मैंने अपनी माँ के चूचों को पहली बार देखा था उसके बाद से ही मैं उसके चूचों को दबाने और चूसने के लिए बेताब हो उठा था.

दो तीन दिन क्रेन का काम चलता रहा और हम लोगों का एक दूसरे को देखने का अपना खेल चालू रहा. जब सुमन गर्म होने लगी तो उसने मुझे अपनी बांहों में अच्छी तरह पकड़ लिया. अब आगे:मैंने भोला से कहा- इस तरह आप लोगों के साथ मेरा यह तीसरा वाकया है जब मैं एक से ज्यादा मर्दों के साथ चुदी हूं.

सेक्सी मूवी पंजाबी वीडियो

बस फिर क्या था, पहले दिन से ही स्वीटी को पटाने की कोशिशें शुरू हो गईं. हां, मगर ये भी सत्य है कि एक पुरुष एक साथ दो औरतों के साथ आराम से सेक्स कर सकता है किंतु वह एक ही समय पर दोनों को एक साथ सन्तुष्ट कर पाये ये जरूरी नहीं है. उसने मुझे खींच कर अपने करीब किया और अपने होंठ मेरे होंठ पर रख कर किस करने लगी.

तीसरे फ्लोर को 2 परिवारों को किराये पर दिया हुआ है … जिसमें दो बहुत ही खूबसूरत भाभियां रहती हैं.

बाप रे बाप! किस चक्रव्यूह में धकेल रहे थे बड़े मियाँ!” लेकिन अब तो न कहने की या पीछे हटने की स्टेज गुज़र चुकी थी तो मैंने एक कोशिश करने की हामी भर दी.

मैं उस दिन एक बहुत ही टाइट सूट में आई थी और मैं बहुत सेक्सी लग रही थी. जीवन में पचासों लड़कियों औरतों को चोदा था लेकिन इतनी टाइट और छोटी चूत पहली बार देखी थी. राजस्थानी देसी सेक्सी वीडियो डॉट कॉमफिर भी दिल में जोश था लेकिन लंड कहीं मेरे अंडरवियर में छिपने की जगह ढूंढ रहा था.

मैंने वैसा ही किया और उसने मेरे पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे और अपने लंड पर थूका और मेरी गांड के छेद पर लगाया. सेलिना आकर मेरे पेट पर बैठ गई और उसकी गांड मेरे लंड से टच होने लगी. मेरे पापा ने कहा- तुम यहां घर पर रह कर पढ़ाई तो करती नहीं हो, इससे अच्छा है कि तुम अपने मामा के घर जा कर पढ़ो.

‌उसकी साड़ी व पेटीकोट शायद कुछ ज्यादा ही दबे हुए थे इसलिये अब जैसे ही मैंने उन्हे हाथ से खींचने की कोशिश की तो मोनी पहले तो हल्का सा कसमसाई फिर एकदम से उसके बदन का तापमान बढ़ गया‌।शायद मोनी की‌ नींद खुल‌ गयी थी इसलिये मेरा हाथ अब जहाँ था वहीं का‌ वहीं रुक गया और पहले की तरह ही मैं आज फिर से सोने‌ का‌ नाटक करने‌ लगा।मेरी तरफ से कोई हरकत नहीं हो रही थी. उसने मुझे किस करने के बाद मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और मैं पेंटी में रह गयी.

तय कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को सुबह सात बजे मैं और डॉली लखनऊ के लिए निकल पड़े, रास्ते में चाय नाश्ता करने के बाद लगभग नौ बजे डॉली के सेन्टर पहुंच गये.

उसको भी ये पता चल गया था कि ये मेरे साथ कुछ नहीं करेगा, तो वो भी एकदम शांत होकर मसाज कराने लगी. मैं अपने टीवी की तार निकाल देती हूँ और उसको टीवी देखने के बहाने भेजती हूँ. जैसा रानी ने आदेश किया था, वैसे मैंने लंड बाहर निकाला तो, कितना खींचना है उसका अंदाज़ा सही न होने के कारण, वो पूरा का पूरा सड़प्प की आवाज़ से रानी की बुर से बाहर हो गया.

मराठी सेक्सी व्हिडीओ क्लिपा यही ज़न्नत थी और मेरे होंठ इस जन्नत का लुत्फ़ लेने से एक-डेढ़ इंच ही दूर थे. मैंने पूनम से पूछा- ये सब कैसे हुआ और तुझे कैसा लगा?पूनम भी मेरी तरह अपनी चूत चुदवा कर खुश थी.

आह्ह … जब पूरा लंड चला गया तो बुआ के मुंह से एक आवाज निकली ‘स्सस … आआ …’पूरा लंड चूत में लेकर बुआ ने ताऊ के लंड पर उछलना शुरू कर दिया. पढ़ते पढ़ते मेरी चूत गीली हो गयी और मैं अपनी चूत में उंगली घुसाने लगी. मैं- तो क्या आप मेरा ये काम करोगे?अंकल- हां बेटा, मैं जरूर करूंगा, मगर मेरी तुम्हारी अम्मी से ज्यादा बात कभी नहीं हुई है.

पाकिस्तानी सेक्सी वीडियो चुदाई

मेरी लाइफ की यह पहली स्टोरी थी जिसमें मैंने एक कुंवारी गांव की चूत को पहली बार चोदा था. घबरा कर मेरी गांड फट गयी कि ये कहीं किसी से कुछ कह न दे! मगर शुक्र रहा कि उसने किसी से कुछ नहीं कहा और कुछ दवाइयां लेकर वह वापस अपने घर चली गई. जिन पाठकों को मेरे बारे में नहीं पता है, पहले उनको मैं अपने बारे में बता देती हूँ.

लेकिन फिर एक दिन जब सौरव मुझे चोद कर मेरे घर के पीछे छोड़ने आया, तो मेरे पापा ने मुझे सौरव के साथ देख लिया. मैंने उसकी चूत पर मुंह लगा लिया और उसकी चूत के कुंए से निकल रहे नमकीन पानी को मैं चाटने लगी.

उनको अंडरवियर में देखते ही मैं बहुत चुदासी हो गई और मन ही मन सोचने लगी कि आज ये दोनों मिलकर मेरी चूत को पूरा बजा डालेंगे.

मगर एक दो बार उसकी गांड को चोदने के बाद माँ को भी पीछे लेने में मजा आने लगा. कैसे भी करके मिलो न!रीना- आप पागल हो गए हो? शादी के पहले तक तो बिल्कुल नहीं. उसके कोमल हाथों में जाकर बात मेरे लौड़े के काबू से बाहर हो गयी और मैंने उसकी सलवार को खोलकर नीचे गिरा दिया, घुटनों के बल मैं मनमीता की टांगों के बीच में बैठ गया.

वो मस्त रांड थी … साली हम दोनों के लंड एक साथ और बारी बारी से चूसने लगी. जीजा जी मुझे मजा दे रहे थे और मजे में मैं यह नहीं जान सकी कि लिंग को ज्यादा जोर से नहीं मसलना चाहिए. अब ऐसे ही दिन निकल गया और रात हो गयी। अब रात को खाना खाने के बाद पहले की तरह ही मैं टीवी चालू करके बैठा हुआ था और मोनी बर्तन आदि साफ कर रही थी। अभी तक मोनी ने‌ ना तो मुझसे कुछ कहा था और ना ही कोई बात की थी.

ऐसा लग रहा था कि जैसे ताऊ जी के हाथ के छूने से उनको बहुत ज्यादा मजा आ रहा है.

बीपी बीएफ हिंदी में: मैंने जैसे ही ये महसूस किया कि वो मेरे मोबाइल की तरफ देख रहा है, तो मैंने उसकी तरफ निगाह की. हमें देख कर पारो बोली- आप थोड़ी देर रुको, मैं गुलाबो को लेकर आती हूँ.

अगर मेरी बहन ने भी कुणाल को अपनी चूत चोदने की इजाजत दे दी तो फिर मैं इसमें कुणाल की क्या गलती कहूं!मैं यही सब सोच रहा था कि कुछ देर बाद कुणाल मेरे घर से बाहर निकलता हुआ दिख गया मुझे. मैंने कहा- क्या कर रही हो?तो वो बचपन की तरह ‘मेरे चाचू कितने प्यारे हैं, कितना अच्छा गाते हैं. साली, तू इतनी गजब माल है कि तुझे चोद कर इतना मजा आयेगा मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

मुझे समझ आ रहा था कि वो अब झड़ने के कगार पर है, इसलिए ऐसा अकड़ रही है.

मुझे भी इतना मजा मिल रहा था कि मैं अपनी गांड उठा के उसका साथ दे रही थी. मैंने उसकी टांग को उठवा कर अपना लंड फिर से साइड में से ही उसकी चूत में धकेल दिया. मुझे डर लग रहा था कि कहीं कोई परेशानी न खड़ी हो जाए क्योंकि यह जगह सही नहीं लग रही थी.