चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,नंगी सेक्सी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो सेक्सी भोजपुरी: चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ, उसने जैसे ही वीडियो चालू किया, तो मैंने देखा कि वीडियो मस्त सेक्स वाली हिंदी की थी.

இங்கிலீஷ் செக்ஸ் ப்ளூ ஃபிலிம்

हम दोनों होटल से आते थे और एक लड़की नई शादीशुदा थी तो वो अपने हस्बैंड के साथ दूसरे होटल में रहती थी. ब्लू पिक्चर फिल्म सेक्सी ब्लू पिक्चरअगर तुम इस राज़ को राज़ ही रखना चाहते हो, तो मैं जैसा कहूं … वैसा करना पड़ेगा.

कार्तिकेय ने मेरी बात मान ली और वो मेरी चुत चोदने ले लिए कमरे की तलाश में लग गया. बंगाली बीपी सेक्सी फिल्मशादी के समय से ही मेरे जेठ जी मुझ पर फिदा हो गए थे, क्योंकि शादी की रिसेप्शन पार्टी के समय से वो मेरे आगे पीछे कुछ ज्यादा ही मंडरा रहे थे.

बस कुछ ही पलों में मेरी कमर ने उठ उठ कर लंड को सलामी देनी शुरू कर दी थी और धकापेल चुदाई का मंजर बिस्तर की चादर को लाल रंग से भिगोते हुए अपनी छाप छोड़ने लगा था.चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ: मैं आंटी के दोनों पिंक निप्पलों को बारी बारी से एक प्यासे प्रेमी की तरह चूसने लगा.

बहुत सारी बातें करने के बाद उसने पूछा- तुम्हारी गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं.मैंने रघु से पूछा- उस लड़के की क्या कहानी है … जिसने केवल एक बार चोदा था!रघु ने कहा- श्रेया का बॉयफ्रेंड एक नंबर का हरामी था.

रश्मिका मंदांना सेक्सी व्हिडिओ - चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ

ऐसा कहते ही मैंने उसके दोनों चूचों को कसके अपने हाथों में जकड़ लिया.पापा ने कहा- मैं कल तुम्हारे अंकल को फ़ोन करके बोल दूँगा कि तुम जॉब के लिए इंदौर आ रहे हो.

उधर से उन्होंने अपने घर में फोन कर दिया कि मेरी ट्रेन छूट गई थी और मैं अब बाद में आऊंगी. चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ उस रात मैं घर आकर सो गया लेकिन अगले सुबह जब उठा तो मेरे फ़ोन के नॉटिफिकेशन में उसका फॉलो को लेकर नोटिफिकेशन आया था.

सुहागरात की देहाती चुदाई कहानी में पढ़ें कि एक लड़के ने अपनी विधवा माँ को चाचा से चुदाई करवाते देखा.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ?

”जब बकरा बकरी करते हैं तो दिल नहीं मचलता?”ऐसा मचलता है कि बकरी को हटाकर खुद बकरे के नीचे हो जाऊँ. वो तो अब इतना बिंदास हो गया था कि भरी क्लास में सबके सामने मेरी चूचियां दबा देता और मेरे गाल काट लेता. मैम की पैंटी से उनकी उभरी हुई मोटी चूत की दोनों फांकें भली भांति समझ आ रही थीं.

उनके मुँह से ‘उहम्मम अअ ह्ह्ह इस्स …’ मार डाला रे आइ … और तेज और तेज कर. चूंकि हम दोनों का पानी एक एक बार झड़ चुका था … तो मैं जल्दी निकलने वाला नहीं था. मेरा गुलाबी सुपारा अपने मुंड पर चमकती हुई बूंदों के साथ उसके मुँह की गर्मी पाने को आतुर हो गया था.

वो दोनों यूनिवर्सिटी में एम कॉम की पढ़ाई कर रहे थे और साथ ही में अपना खर्चा चलाने के लिए पार्ट टाइम जॉब भी करते थे. आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी में हुए एक सच्चे अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ. कुछ देर बाद उसने मुझे उठाया और मेरी ड्रेस उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया.

मैं जानता था कि इधर विक्की ने भी कुछ प्लान बनाया होगा तो मैं दीदी से दूर ही था. मुझे लगा कि मॉम मुझसे गुस्सा होंगी लेकिन मुझे कुछ और ही देखने को मिला मॉम पूरी नंगी मेरे सामने आ गई.

कभी-कभी अमित मेरे सामने गंदी गंदी बातें करते हुए मेरे शरीर को भी टच करता था.

पूरी तरह से दुल्हन जैसी सजने के बाद मैंने अपने आपको शीशे में देखा तो वाकयी मैं किसी हूर से कम नहीं लग रही थी.

इसलिए उसकी आंखों में शरारत आई और उसने मुझे ‘हैलो भैया कैसे हो आप …’ कह कर एकदम से होश में ला दिया. कुछ ही देर में दो पटियाला पैग पी लेने से दारू ने निशा पर अपना रंग चढ़ाना शुरू कर दिया था और मुझे भी हल्का सा सुरूर होना शुरू हो गया था. मैं बोली- जान … आज की मेरी मुँह दिखाई कहां है?इस पर वो बोले- कुछ देर में वो भी तुम्हें दे दूंगा, जो कि तुम्हें जीवन भर याद रहेगा.

चूंकि वो एक बड़ी सिटी में रहती थी, तो हो सकता है कि उसे इधर की आधुनिकता की हवा लग गई हो और ब्वॉयफ्रेंड पाल रखा हो. उसका दिल्ली में ही अपना मकान है और शादी के बाद से हम दोनों उसी घर में रहते हैं. उस 31 दिसंबर की रात के लगभग ग्यारह बजे पार्टी अपनी जवानी पर आ गयी थी.

अब अर्शिया मेरे घर पर ही थी और हम सब बातें करते हुए मस्ती कर रहे थे.

जब मैं उनकी तरफ मुड़ी, तो वो मुझे अपनी गोद में खींच कर किस करने लगे. मौसी ने अपनी टांगों को फैला दिया और उनकी रस उगलती चुत मेरे मुँह में नमकीन मलाई छोड़ने लगी. फिर मुठ मारते हुए मैंने वहीं दीवार पर माल झाड़ दिया और शांत हो गया.

अब दोस्तो, जब मेरी दोस्ती अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड से टूट गई, तो मैंने एक और लड़की पटा ली. जितना हो सका उसने उतना मूत पी लिया बाकी मूत को अपने बदन से मलने लगी. तो मैंने उन्हें टहोका- हां फिर!भाभी- फिर वो सब होने लगा जो आज तक चल रहा था.

दो साल पहले जब रमजान चचा का इन्तकाल हुआ तो बकरी का काम शबाना ने सम्भाल लिया.

वो मुझे हमारी क्लास के ऊपर वाले माले पर ले गया जो हमेशा बंद रहता था. फिर मैं अपनी टॉवल लेकर आया और बाथरूम में घुसा ही था कि पीछे से स्नेहा भी आ गयी.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ मेरी पिछली कहानी थी:जुम्मन की बीवी और बेटियाँअशफाक़ नर्सरी से मेरा सहपाठी था. जेबा आंटी ने सलमा से मेरा परिचय कराया और मुझसे बोलीं- विजय, बेडरूम का एसी ऑन करो और वहीं बैठो, मैं चाय लेकर आती हूँ.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ पर कहते हैं न कि अगर कोई पूरी शिद्दत से इस कायनात से कुछ मांगे, तो उसको मिल ही जाता है. मैंने रघु से पूछा कि तो तुम उसकी लाइफ में दूसरे आदमी हो!तब रघु बोला- ये तेरी दूर की बहन बहुत बड़ी वाली है.

उसने लंड को अपने मुँह में अन्दर तक घुसा लिया और चूस चूस कर गीला कर दिया.

कार्टून वाला सेक्सी वीडियो

मेरी बहन स्वाति, मम्मी का हाथ बंटा रही थी और मेरा छोटा वाला भाई बाहर अपने दोस्तो के साथ कुछ गेम खेल रहा था. मैंने देखा कि अंकल की वाइफ बहुत ही सेक्सी थीं … उन्होंने स्लीव लैस ब्लाउस पहना हुआ था. इसके बाद हम दोनों ने उसी होटल में रुक कर करीबन 10 दिन तक लगातार चुदाई की.

मैंने एक पल उसे देखा और हल्की सी स्माइल करके कहा- ओके … मुझे न जाने कब से इसी बात का इंतजार था. ये मुझे बाद में पता चला था … जब ज़ीनिया को चोदने के बाद उसी की मदद से मैंने उसकी मां को भी चोदा था. पहले मैं आप सभी को मेरी फैमिली और अपनी चुदककड़ बहन से परिचित करवा देता हूं.

मैं अनजान बनी कोई प्रतिक्रिया नहीं देती, सिर्फ उसकी तरफ देख कर नजर हटा लेती.

उसने एकदम से पलट कर मुझे देखा तो उसने पाया कि उसकी चुत की चुदाई हो रही है. मौसी घुटनों के बल बैठ गईं और मेरे लंड को हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगीं. अब उन्होंने मेरे सारे गहने वहीं उतारना चालू कर दिए और एक एक गहने को उतार कर उस जगह को किस करते.

फिर उसके बाद फिर से यह देखने के लिए करेंगे कि चौकी में ज्यादा मजा आया या मेरे रूम में. मैंने उनसे बात करना शुरू कर दिया, तो वो केवल हां या ना में ही जवाब दे रही थीं. थोड़ी देर बाद मुझे महसूस हुआ कि पहले तो नील की गांड में धंसे हुए लंड को धीरे धीरे लहक लहक कर कसती और छोड़ती थी … लेकिन अभी भी नील धीरे धीरे ‘आह्ह अअह …’ करते हुए लगातार अपनी गांड को कसते और ढीला करते हुए सिसकारियां लेने लगा था.

कैसे? और उसके बाद आंटी की बहन उनके घर आयी तो उसे भी मैंने लंड का मजा दिया. मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह चूत चोदने मिलेगी इतनी जल्दी!अब मैंने उसकी ब्रा के हुक को खोलकर उसके गोल गोल गेंदों जैसे बूब्स को आजाद किया और हाथों से मसलना चालू किया.

मुझे इतना मजा आ रहा था कि मेरी आंखें बंद हो गईं और मैं बस ऊपर देख रहा था. मैं अपना एक हाथ उसकी बुर पर ले गया और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी बुर पर हाथ फेरने लगा. चूंकि आज हम दोनों दिन भर बहुत घूमे थे और नहाने के समय काफी मस्ती की थी, तो काफी थक गए थे.

जब वो तैयार होकर आयी तो मैं देखता ही रह गया … सच में क्या क़यामत लग रही थी वो!उसने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और स्लीवलैस ब्लाउज था.

अब मैंने इशारे से उन्हें लंड चूसने को बोला तो उन्होंने मेरा लंड चूसना चालू कर दिया. फिर वो सक्सेना साहब से बोला- साहब यह अंजलि है … आपके लिए नयी सेक्रेटरी. नील के नर्म होंठों से निकलने वाली गर्म सांसों ने मुझे भी गर्म कर दिया.

उसने भी अब मुझे अपनी बांहों में भर लिया और नीचे से अपनी गांड को ऊपर उठाकर लौड़े का साथ देने लगी थी. उनकी कमर पकड़ते ही मुझे कुछ अजीब सा लगा और उनकी बॉडी की मर्दाना सुगंध से मैं मदहोश सी हो गई.

फिर हम लोग खाना खाकर रूम में आ गए और पूरे 4 दिन चुदाई के बाद घर आ गये. मैंने आंखों से उनको झूठा गुस्सा दिखाया पर उन्होंने मुस्कुराते हुए मुझे अपनी ओर खींच लिया. चूंकि वो एक दारोगा थे, तो उनकी बॉडी काफ़ी मजबूत थी और उनकी हाईट भी 6 फिट से कुछ ज्यादा ही थी.

राजस्थानी सेक्सी पिक्चर दिखाएं

उसने मेरे मम्मों को देखते हुए कहा- मैं नवीन हूँ, बैंक एजेंट हूँ और आपके पापा ने मुझे किसी काम से बुलाया था … उन्हें मुझसे कुछ बैंक का काम था.

इससे मुझे लग रहा था कि शायद आज दीदी आशीष ने मिलने वाली हैं, इसी लिए घर खाली कराने में लगी हैं. तभी मेरे नज़र अपने कमरे के दरवाजे पर जा पड़ी … जहां मैंने देखा हमारी काम वाली बाई दीवार से सटी अपने एक हाथ को अपनी दोनों जांघों के बीच की जगह को बार बार कुदेरने की कोशिश कर रही थी. उस रात मैंने चुपके से दीदी का मोबाइल उठा लिया और देखा तो मेरी आंख फटी की फटी रह गईं.

वो एकदम से सिहर गई और उसकी टांगें चुत को ढकने के लिए आपस में मिलने को हुईं. चलती बस में मेरी ढलती उम्र में इस बस सेक्स के खेल में आगे क्या हुआ, वो मैं बस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी. பாபி செஸ்फिर मुझे लगा कि अब मेरा होने वाला है … तो मैंने उनसे कहा कि मौसी मेरा होने वाला है.

चीटिंग गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी उस लड़की की चुदाई की है जिसे मैं प्यार करता था मगर उसने मुझसे सेक्स नही किया, धोखा दिया. संजना ने मुझे सोफे पर बैठने को कहा और मेरे लिए पानी लाने अन्दर चली गयी.

फिर अलग हुए तो हम दोनों ने बाथरूम में जाकर शॉवर लिया और एक दूसरे को साबुन से रगड़ रगड़ कर पूरा साफ़ कर दिया. और सुमन चिल्लाने लगी- ऊईई ईईई ऊई मम्मी बचाओ मर गई बचाओ!मैंने लंड को ढीला छोड़ दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. मेरी पिछली कहानी थी:लॉकडाउन में अनजान आंटी की चुत चुदाईसबसे पहले आपको मैं अपने बारे में बता देता हूँ.

मैं तो तुझे पहले दिन से ही चोदना चाहता था लेकिन सक्सेना की वजह से नहीं कर सकता था. मैं एकदम से गर्म होने लगी थी क्योंकि मुझे उसका तना हुआ लंड इस समय बड़ी लज्जत दे रहा था. सरोज ने अन्दर से दरवाजा बंद किया, उसने जल्दी से अपने कपड़े उतार कर फेंक दिए और बिस्तर पर आ गई.

भाई ने अलग-अलग सेक्स साईट से गांड मारने की पोजीशन देख देख कर मुझे चोदा था.

”मैंने मुमताज को बेड पर लिटा दिया और उसके बगल में लेटकर उसकी चूची चूसने लगा, दूसरी चूची के निप्पल्स से खेलते हुए मैंने उसकी चूचियां और निप्पल्स कड़क कर दिये. वहां उन्होंने गौरी को पीछे से दबोच लिया, लगे उसकी गर्दन और कानों को चूमने।उन्होंने उसके मम्मे जकड़ लिए।गौरी बोली- ऐसे तो बन गया नाश्ता!अनिल कुमार का खड़ा हो गया था। उनकी इच्छा थी की वहीं रसोई में एक दौर हो जाये।उन्होंने गौरी को नीचे झुक कर घोड़ी बनने को कहा।गौरी वहीं स्लैब पर झुक गयी।अनिल कुमार ने उसके पिछवाड़े से एंट्री करनी चाही.

रोज़ सुबह उठाने आती थी, तो चादर के अन्दर से तुम्हारा डिक खड़ा रहता था. उसने कहा कि विवेक कह रहा था अभी कॉल पर कि कल वापिस आ जाऊंगा नाईट तक!तभी मैंने वाइन खोल कर अमिता को पास बुलाया. मैंने पीहू के सर पर थोड़ा दबाव और दिया तो पीहू ने मुँह खोल कर लंड को अन्दर ले लिया.

उसमें से एक कंडोम खोल कर वो मेरे लण्ड पर चढ़ाने लगी और दोनों हाथों की मदद से चढ़ा भी दिया. अब मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके सामने पूरा नग्न हो गया. मैंने पीहू को उठाया और मुँह के बल झुका कर डॉगी बना दिया और उसकी साड़ी ऊपर कर दी.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ अब मेरी मॉम की सिसकारियां निकालने लगी, आ आह उफ़ अहा जैसी आवाज़ मेरा जोश बढ़ाने लगीं मैं और जोर से चाटने लगा. कुछ ही देर में सरोज थक चुकी थी, तो मैंने भी उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और ऊपर आकर चोदने लगा.

ब्लूटूथ ओपन सेक्सी पिक्चर

ये कुछ सेकंड की छुअन मेरे 44 साल के जीवन में पहला अनुभव था जिसमें सिर्फ छुअन से मेरे बदन के तार झनझना गए थे. मतलब फोन पर दोनों बहनें अपनी बड़ी बहन की चुदाई के लिए मुझे उकसा रही थीं. मैंने थोड़ा सोचा और घर पर बोल दिया कि मेरे प्रोजेक्ट का काम है और मैं चार दिन कॉलेज के हॉस्टल में रहूंगा.

मेरी मेरी सेक्सी चुत चुदाई कहानी के पिछले भागलंड चूसने में माहिर लौंडियामें आपने पढ़ा था कि कार्तिकेय ने मुझे अपने प्यार में इस हद तक डुबो दिया था कि मुझे और उसे बस अब किसी भी तरह चुदाई की आग बुझाना थी. आप लोग भी बताइएगा कि अपना लंड तो नहीं चुसवाना है अपनी जया रानी से अपनी लंड की रानी से. செஸ் வீடியோ பிரீदोस्तो, मैं उस देसी चूत चुदाई का मजा को शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता.

मैंने मेज़ पर रखा तेल उठा लिया और हाथ पर लगा कर उसकी चुत में मलने लगा.

मेरी बीवी ने आज घुटनों के थोड़ा ऊपर तक आने वाली और डीप नेक वाला एक वन पीस पहना हुआ था. मैंने उसे लंड चूसने को कहा, तो वो बैठ गई और लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

एक दिन मुझे खबर लगी कि उसके लिए एक विदेश में नौकरी कर रहे लड़के का रिश्ता आया है. वह मेरे नीचे लडकियों के तरह लेट कर अपने होंठों को मेरे होंठों से चुसवा रहा था. मैंने एक दिन हिम्मत करके अशी से उसके और गमन के बारे में पूछ ही लिया.

लगभग 5 मिनट तक लंड चूसने के बाद मेरा लंड दुबारा खड़ा हो गया और इस बार वो पहले से भी ज्यादा अकड़ा हुआ था.

भाभी थोड़ी देर चुपचाप बैठी रही तो मैंने भाभी को बोला- भाभी कुछ तो बोलिये?तब भाभी मेरे चेहरे को देखने लगी और बोली- देखो, तुमने जो कहा वो सब ठीक है. मैं बैठ गया और उनकी रिटर्न गिफ्ट वाली बात को सुनने समझने कि कोशिश करने लगा. दोस्तो, आप मुझे मेरी चूत में उंगली सेक्स कहानी पर अपने मेल करना न भूलें.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बिहारीउसकी रूममेट प्रियंका ने मुझे ये भी बताया था कि अशी गमन के कमरे में भी बहुत बार गयी है … और कई रातों को वो उसके कमरे में भी रही है. तभी अचानक से मुझे याद आया कि मैंने एक नॉनवेज पिक्चर देखी थी, उसमें भी लड़की शुरूआत में मेरी ही तरह रहती थी.

गांव का ओपन सेक्स

पानी की बूंदें उसके बालों से गिरते हुए उसके मम्मों की दरार में जा रही थी. मैं शादीशुदा हूँ लेकिन मैं लगती एकदम लड़की की तरह हूँ क्योंकि मैं अपने आपको बहुत फिट रखती हूँ. विक्की बोला- हम तो बेशर्म हैं भाभी आज आपको पेले बिना छोड़ेंगे नहीं … भैया को बताओगी, तो तुम्हारी भी उसमें बेइज्जती होगी.

लौड़े की मुँह से मालिश मतलब चुसाई करने के बाद आशीष में मुझे खींच कर गोद में बिठा लिया. उन्होंने किस तरह से मेरी गांड फाड़ी, इसका खुलासा मैं गांडू लड़का इस गे सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. मैडम ने मेरी नजरों न जाने कभी ताड़ा या नहीं, मगर मैं छुपी नजरों से उनकी फूली चूचियों को देख कर खूब उत्तेजित हो जाता था और मेरा लंड मेरे लोअर में फूलने लगता था.

मैंने जाते ही मोटो पर चुम्मियों की बौछार कर दी और उनके गले पर अपने दांत गड़ाने लगा. उस रात हमने डेढ़ बजे तक चैट की और उससे एक किस लेने का वादा करके एक सप्ताह बाद साथ जाने का प्लान बना लिया. [emailprotected]गाँव की लड़की की चुदाई की कहानी का अगला भाग:सेक्स की चाहत में पैसे का तड़का- 3.

बीच बीच में वो मेरे चेहरे को, तो कभी बालों को, तो कभी मेरे मम्मों पर हाथ फेर देते और मैं अदा के साथ उनके सामने शर्मा जाती. मुझे बहुत प्यास लगी है भाई … उठो न!फिर मैं उठकर दीदी के लिए पानी लाया और खुद भी पिया.

तो उन्होंने कहा- क्या हम दोनों काफी नहीं हैं!उनकी इस बात से मुझे हरी झंडी की झलक सी मिल गई थी पर अभी भी मुझे संयम बरतना जरूरी लगा.

मैले कुचैले साधारण से घाघरा चोली में बला की खूबसूरत लग रही थी, अगर वो कहती कि मैं नाज की बड़ी बहन हूँ तो मैं मान लेता. सेक्सी फोटो भाईमेरे पास लंड की कमी नहीं थी लेकिन मुझे कार्तिकेय की याद बड़ी सताती थी. नीग्रो वाला सेक्सी वीडियोमेरा घोड़ा जब मंजिल पर पहुंचा तो आंटी किचन टॉप पर लुढ़क गईं और मैं आंटी पर. दीदी की मस्त चिकनी गांड देख कर विक्की ने झट से दीदी की पैंटी को भी नीचे कर दिया.

मुंतज़िर- गुड मॉर्निंग फरमान कैसे हो!वो मुझे विश करके बातें करने लगीं.

तुमने अपना वर्क कर लिया?निशा ने भी एकदम से अपना हाथ अपनी चूत से बाहर निकाला और इसी चक्कर में उसका स्कर्ट उसकी जांघों तक ऊपर हो गया. मैंने लंड डाले डाले उसके पैर पीछे करके उसे आगे झुका दिया और एक कुतिया की पोजीशन में लेकर चोदने लगा. मैं उनके साथ बाइक पर जा रही थी, तभी उन्होंने मुझे अपनी कमर पकड़ने को बोला.

हम दोनों अब इतने सहज हो गए थे कि एक दूसरे के रूम में भी आ-जा सकते थे. तभी उसने अपनी जीभ से मेरी चूत की दरार को चाटा … आह मेरी सिसकारी निकल गई- आह नरेंद्र … उई मां … क्या कर रहे हो … आह मर गई मैं!मैं जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी. मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी के पहले भागपापा के दोस्त और मेरी मां के सेक्स सम्बन्धमें अब तक आपने पढ़ा था कि पापा के दोस्त राजेश अंकल ने मेरी मां को अकेली पाकर चोद दिया था और दुबारा चोदने की बात कह कर चले गए थे.

मराठी सेकसी

चुत में लंड अन्दर जाते ही मैंने शरद की क़मर को कसके पकड़ लिया और उसके जोरदार झटकों का मज़ा लेने लगी. करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद उसने अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया. रोज तो वो मेरे होंठों को चूसते थे … परंतु आज उन्होंने ऐसा नहीं किया.

जब अंकल थोड़े शान्त हुए … तो वो दोनों एक दूसरे को बांहों में भर कर चूमने लगे.

उसकी बात पर मैं कुछ कह पाता कि वो उठ कर अपने घरवालों के साथ चला गया.

ये मेल पढ़ने के बाद मैंने उस मेल का रिप्लाई देते हुए लिखा कि मेरा नाम रियांश सिंह है. फिर परेश एक और लड़की के तरफ हाथ दिखाता हुआ बोला- ये सोनल, मेरी बहन है. அனுஷ்கா செஸ் விதேஒஸ்मैं भी गेट खोलकर बाहर देखने लगा ताकि वो अपने रूम में जा सके और उसे जाते हुए कोई और न देख सके.

जब रानी ने पेशाब कर ली, तो वापस मैंने उसी तरह से उसकी चड्डी को ऊपर कर दिया और चुपचाप उसको वापस बांहों में उठाकर बाहर ले आया. मजाक मजाक में ही उससे पूछ लिया- तुम तो दिल्ली में रहती हो, तुम्हारा तो ब्वायफ्रेंड होगा ही!इस पर उसने इठलाते हुए कहा- अभी तक तो नहीं था … लेकिन अब बन जाएगा. मैं तेरी बहुत शुक्रगुजार हूँ क्योंकि तुमने मुझे जिन्दगी का सबसे बड़ा सुख दिया है.

मैं सोच रहा था अब या तो दीदी मुझसे नाराज हो जाएंगी या कुछ इशारा देंगी. वो बदस्तूर अपनी मौसी की ओर देखते हुए बोली- आपसे ये उम्मीद नहीं था मौसी … क्योंकि मैं आपको अपने दुख सुख का साथी समझती थी.

पापा ने कहा- मुझे क्या प्रॉब्लम होगी और वैसे भी तू है ना वहां उसका ध्यान रखने के लिए … तो मुझे क्या टेंशन!ऐसा कहकर पापा ने मेरे पीठ पर हाथ ठोक दिया और कहा- कल तुम दोनों चले जाओ.

हालांकि मैं थोड़ा शर्मीला हूँ तो सुबह से उसने ही बात करने की पहल की. उसके कड़क हो चुके निप्पलों को भी अपनी उंगलियों में भर कर मींजने लगा. वो मेरे सीने से चिपक कर सुबकने लगी थी और मुझसे बार बार माफ़ी मांग रही थी.

नई नवेली दुल्हन की चुदाई सेक्सी वीडियो मैंने उससे बोला- आज स्कूटी लेकर तू आशीष के साथ चली जा, मेरी कुछ तबीयत ठीक नहीं है. जब रघु ने श्रेया को ये सब बताया, तो श्रेया बोली- मतलब वो सेक्स करेगा, तभी रोल देगा.

मुझे पता नहीं क्यों ये लग रहा था कि ये तो मेरी लुगाई बनने के चक्कर में दिख रही है. जब मैं एक हफ्ते बाद लौटा तो देखा कि श्रेया और रघु दोनों थोड़े बदले बदले लग रहे थे. रात को खाने के बाद हम दोनों जब साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे तो वह मुझसे बोला- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ.

न्यू भूतनाथ

मुझे यही मौका ठीक लगा और मैंने उनके पास जाकर कहा- क्या मैं आपको कहीं छोड़ दूँ?उन्होंने मेरी तरफ ज़रा गुस्से में देखा … फिर शांत होते हुए कहा- आप चले जाओ … मैं चली जाऊंगी. आंटी अन्दर से सिसिया रही थीं- आह रॉकी प्लीज़ … और जोर से … यस बड़ी आग लगी है … आह जल्दी से अन्दर तक चाटो प्लीज़ अपनी आंटी की चुत चाट लो. वो धीरे धीरे गांड चलाने लगी तो मैंने भी अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और अन्दर-बाहर करने लगा.

उसकी नमकीन जवानी को देखते ही 60 साल के बूढ़ा भी उसे चोदने को आतुर हो जाए. लण्ड की ठोकर खाते समय मुमताज की आहें और सिसकारियां नया जोश भर रही थीं.

एक दिन तीनों बकरियां एक साथ चोदने की इच्छा है, अगर ऐसा हो सका तो आप लोगों के साथ शेयर करूंगा.

बस में सीट खाली नहीं थी तो एक लड़की मेरे पास में ही खड़ी हुई थी, पर कोई ज्यादा हॉट टाइप नहीं थी. मैम ने अब मेरी शर्ट उतारनी शुरू कर दी थी और मेरी गर्दन पर अपने होंठ रख दिए थे. कोमल को मैंने पीठ के बल लेटा दिया और पहले उसके होंठों को चूमने लगा.

वो ब्रेड को अपने हाथ से उठाने के बजाए उसे अपने मुँह में दबा कर मेरे मुँह में डाल रही थी. मैं दिल का बहुत अच्छा और मासूम लड़का था, जिस वजह से लड़कियां मुझसे जल्दी दोस्ती कर लेती थीं. दोनों चूचियां चूसने के बाद मैंने उसके घाघरे का नाड़ा ढीला किया तो घाघरा नीचे गिर गया.

मैंने दूसरी आंख से उन्हें देखा तो वो मेरी तरफ अपनी साड़ी का पल्लू लेकर आने को हो रही थीं.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ: और उसका फिगर तो मानो कोई बेली डांसर हो!वो हमेशा जीन्स पहन कर आती थी जिससे उसका पिछवाड़ा साफ साफ दिखता था. अब आगे सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी:इसके बाद हम दोनों एक बार फिर नहा कर वापस नंगे ही बाहर आ गए.

मैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था. मैं उनकी कामुक भरी नजरों को समझ गया था पर मैं अपनी तरफ से कोई पहल नहीं करना चाहता था. मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आपके कोई सुझाव हों, तो मेरी मेल आईडी पर मेल कर सकते हैं.

कुछ ही पलों में मेरी उत्तेजना इतनी अधिक बढ़ गई थी कि मेरे लिंग से वीर्य निकल आया और सारा रस उसके मुँह में आ गया.

मैं सब समझ गया था लेकिन अपने घर पर क्या बोलता कि मैं चार दिन के लिए कहां जा रहा हूँ … ये बड़ी प्रॉब्लम थी. फिर उसने अंडरवियर से मेरे लंड को निकालते हुए कहा- आहह यार … कितना बड़ा लंड है. अगले दिन जब मैं सुबह उठा तो वो तैयार होकर किचन में नाश्ता बनाने में लगी थी.