बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी

छवि स्रोत,हिंदी एक्स एन एक्स एक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी फोटो सेक्सी वीडियो: बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी, मैंने आंखें खोलीं और अंधेरे में अंदाजा लगाया कि ये मेरा बड़ा भाई है.

हिंदी में नंगी सीन

श्यामली पगला गयी और गाली बकने लगी और बोली- जल्दी कर गांडू, अब और बर्दाश्त नहीं हो रहा है. ভিডিও সেক্স ডট কমकुछ माह पहले इन साहब की पोस्टिंग हुयी और होटल में खाते तबियत खराब होने लगी.

लंड मस्त चूसा जा रहा था और अंगूठा बेबी रानी की रसीली चूत में फंसे होने कि मस्ती लूट रहा था. നഗ്നയായ പെണ്കുട്ടിशीला जब मेहमान के कमरे में जाने लगी तो उसने खिड़की से मेमसाब के कमरे में झाँका तो देखा साब और मेमसाब पूरे नंगे हैं और साब नीचे लेटा है.

मेरी गर्म चूत की कहानी के पिछले भागतलाकशुदा मौसी की चूत कैसे मिली-2में अब तक आपने पढ़ा था कि रात को मौसी की धमाकेदार चुदाई के बाद जब रात को उनसे सामना हुआ, तो उनकी प्रतिक्रिया एकदम अनजान जैसी थी.बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी: जीजू बोले- क्या बात है मेरी रानी … तूने आज पहली बार मेरे से कुछ मांगा है.

ये सब सुन के मेरा दिमाग ख़राब हो गया और मुझे लगा लड़की अब नहीं आएगी हाथ में और मेरी उम्मीद अब खत्म हो चुकी थी।अगले दिन पता चला कि मेरी काम वाली की तबियत सही नहीं है तो उसकी बहन काम करने आएगी.बहुत दिन से मैंने कोई चुदाई नहीं की थी तो मैं चुत के लिए बावला हुआ जा रहा था.

સેક્સી ઇન્ડિયન - बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी

रूम में अंधेरा था, पर उसमें तैरती हल्की हल्की खुशबू ने बाबू का मूड अच्छा कर दिया था.मैंने पूछा- आप अकेले ही आये हो क्या?उसने कहा- नहीं, मेरा भाई भी साथ में है.

आलिया जब चुदते समय कामुक आवाजें करती है, तब मेरा जोश और ज्यादा बढ़ जाता है. बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी मैंने अपने लण्ड पर थोड़ा थूक लगाया और उनके पीछे पहले की तरह लेट गया। लण्ड को उनकी चूत के मुहाने पर थोड़ी देर घिसा, उन्होंने भी अपनी कमर पीछे को करके लण्ड का स्वागत किया.

उसने हैरानी से मेरी ओर देखा और फिर कहा- अच्छा ठीक है, लेकिन जल्दी आना.

बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी?

जो भी हम दोनों को देख रहा था वो यही सोच रहा था कि हम दोनों पति पत्नी हैं. कोमल इतनी खूबसूरत और हॉट थी कि उसके मुँह से गाली सुनने से मुझे जोश आ गया. आज मैं आपको अपनी ज़िंदगी की एक बिल्कुल सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ.

थोड़ी देर में जब मोहित झड़ने को हुआ तो उसने अपना लन्ड पूजा की बुर से बाहर निकाला और उसे नीचे बिठाकर अपना लन्ड हिलाने लगा और अपने लन्ड का पानी पूजा के मुख में डाल दिया। जिसे पूजा ने पी लिया और मोहित का लन्ड चाट कर साफ कर दिया. मैं कसम से कहती हूं कि तब तक मैं किसी और को हाथ तक नहीं लगाऊंगी।इसी तरह की प्यार भरी बातें करके हमने एक दूसरे को चुम्बन करके विदा ली. फिर मैंने ड्रेसिंग टेबल से जैतून के तेल की शीशी से कुछ बूंदें तेल लेकर अपने सुपारे पर चुपड़ लिया और फोरस्किन को तीन चार बार आगे पीछे करके अच्छे से चिकना कर लिया.

मेमरानी ने बाद नाज़ ओ अंदाज़ से इठला कर कहा- हाँ मेरी जान, ज़रूर होगी लेकिन एक बार मैं और चुद लूँ फिर तुम दोनों … ओके ना?गुड्डी रानी को यह बात ज़रा भी पसंद नहीं आयी और उसने नाक भौं सिकोड़ के ये दर्शा भी दिया. ”अलमारी से उसका गाउन निकाल कर दिया तो बोली- रहने दो यार, ऐसे ही ठीक है, ऐसे ही सोने दो. वैसे तुम किस के साथ सोना पंसद करोगे, मेरी बीवी के साथ … या मेरी प्यारी बहना के साथ?आकाश- चित्रा के साथ.

फिर जीजू ने आकाश से पूछा- वैसे आकाश तुम्हें सबसे ज्यादा किस के साथ चुदाई करने में मजा आया. ” उसने जानलेवा तीखी मुस्कान के साथ कहा।अब तो मैं बहुत कुछ सोचे जा रहा था। एक बात का थोड़ा डर सा भी जरूर था कि कहीं मोहल्ले की औरतें मुझे उसके घर आते जाते ना देख लेंगी तो हो सकता है कुछ और सोचने लग जाए।वैसे यह मधुर की तरह यह लैला भी मोहल्ले वालों से मिलने-जुलने में परहेज ही बरतती है इसलिए ज्यादा चिंता वाली बात भी नहीं है।आप कहें तो बाहर किसी अच्छे रेस्तरां … में … डिनर कर लेते हैं.

मैंने हंस कर कहा- मैं तेरा पक्का चोदू हूँ … जल्दी से चुत धो पौंछ कर आ जाओ … अभी फिर से चुदाई करूंगा.

साथ ही मैंने उसकी योनि से खून निकलता हुआ देखा और अपने लिंग पर लगा हुआ खून देखा, तो मैं एकदम डर गया.

और वो?वो हंसने लगी- पहले सब सही था, पर पता नहीं क्या हो गया … फैल गए हैं, तब से कभी कभी ही हो पाता है. मगर वह दोपहर का वक़्त था और मेरी बीवी मुझे नीचे से आवाज भी देने लगी थी. गाने के बीच में दो बार नायिका, नायक की बांहों में आएगी, नायक उसके कमर में हाथ रखकर सपोर्ट करेगा और नायिका पीछे की ओर लगभग पूरी तरह झुक जाएगी.

मैंने पूछा- कैसी लगी बाबूजी, तुम्हारी भाभी की चूत?वो हवस भरे अंदाज में बोला- कयामत है जी, एकदम से कयामत।यह कह कर उसने सोनम की चूत पर एक प्यारी सी किस कर ली. मैं भी अन्तर्वासना पर माँ बेटे की चुदाई कहानियां पढ़ना पसंद करता हूँ. मैंने भी उसका लंड पैंट के ऊपर से पकड़ लिया और उसे जोर जोर से दबाने लगी.

उसकी चूचियों की नोकें इतनी शानदार थीं कि मेरे लंड में आग लगी जा रही थी.

साला मेरे तरफ देखता तक नहीं, जबकि मैं आधी साड़ी पेटीकोट उठा कर कमर में खौंस कर काम करती हूँ, तब भी उसका मन नहीं होता. ’ये कहकर उन्होंने मुझे उल्टा लिटाया और खुद मेरे ऊपर लेट कर मेरी गर्दन को, कानों को, पीठ पर चाटने और चूमने लगे. दिल कह रहा था कि आगे बढ़ कर चूत की खुजली मिटा लूं और दिमाग कह रहा था कि रिश्ते की मर्यादा बनी रहने दूं.

लेकिन ये तो होना ही होना था साथ ही मुझे पता था कि अभी दो तीन मिनिट में ही सब ठीक होने वाला था, प्रकृति का यही नियम है. मैंने दोनों टांगों से उसकी पीठ को जकड़ा हुआ था और अपने शरीर से चिपकाया हुआ था. ज्ञान ने कुछ पल तक मेरी नंगी चूत को निहारा और फिर मेरी आंखों की ओर देखा तो मैंने पलकें नीचें कर लीं.

चाची की चुत से मूत्र और प्रीकम की मिली-जुली सुगंध आ रही थी, जो मुझे मदहोश कर रही थी.

लेकिन आज उसके सीने के मुलायम स्पर्श से मेरे दिल में हलचल सी मची हुई थी. मैं मादक आहें भर रही थी ‘आह साले सुहास … भोसड़ी के क्या मस्त चाटते हो … आह मेरी जान सुहास … बेबी आह.

बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी फिर उसका पेट और धीरे धीरे मैं उसकी चूत पे आ गया। चूत पर जीभ रखते ही वो पागल सी हो गयी वो गीली होने लगी।मैंने उसकी चूत को दो उंगली से खोला और फिर एक उंगली से उसको अंदर बाहर करने लगा।वो मचल रही थी। उससे भी चुदास सहन नहीं हो पा रही थी. एक बार जब हनी मायके आई तो मेरी पत्नी की सलाह पर मेरी सास हनी को लेकर डॉक्टर के यहां भी गई और कुछ इलाज भी हुआ.

बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी भाई बोला- आज से तू मेरा भाई नहीं मेरी बीवी है … मैं जो भी कहूँगा, तुम करोगे. मैंने कुछ ही देर में स्पीड पकड़ ली और ज़ोर ज़ोर से सुधा को चोदने लगा.

मेरी चालू बीवी की कहानी के पिछला भागबीवी की मेरे दोस्त से चुदने की चाहत-1में आपने पढ़ा कि मेरी बीवी को गैर मर्द से चुदने का मन करने लगा था.

chudai विडियो

शीला को घिन तो बहुत आई पर उसकी सोच में था कि जो बड़े लोग करते हैं वो आज सब करुँगी. मुझे इधर लेखकों की आपबीती पढ़ कर लगता है कि ये एक ऐसा पटल है, जिसमें हर कोई अपनी बात को खुल कर रख सकता है. मैंने अपने लिंग पर तेल लगाया और उसकी योनि में एक ही प्रहार में अपना लिंग डाल दिया.

”अब मैं तेरी कमर पर उंगलियां घुमा रहा हूँ और नाभि में भी उंगलियां डाल के सहला रहा हूँ. वो सिसकारते हुए मिन्नतें करने लगी- ओह्ह … राज … प्लीज … मुझे अपने हथियार से चोदो न, प्लीज … डार्लिंग। मैं तुम्हारे लंड का स्वाद चखने के लिए मरी जा रही हूं. नाइटी की बंधी हुई पट्टी खोलते ही उसकी बड़ी बड़ी चूचियां मेरे सामने नंगी हो गयीं.

मैं मादक आहें भर रही थी ‘आह साले सुहास … भोसड़ी के क्या मस्त चाटते हो … आह मेरी जान सुहास … बेबी आह.

कोमल इतनी खूबसूरत और हॉट थी कि उसके मुँह से गाली सुनने से मुझे जोश आ गया. वो बोली- जिसने मेरी चूत में आग लगाई है, मैं अब उस आग को उसी के लंड से ही शांत करवाऊंगी. मैंने सोचा कि तुम्हारी थोड़ी सी एक्सरसाइज और करवा दूं ताकि तुम अच्छे से खाना खाकर ऑफिस जाओ और सारा दिन तसल्ली से काम में ध्यान लगाओ.

दस मिनट तक मेरी गांड को बुरी तरह से रगड़ने के बाद उस्ताद मेरी गांड में ही झड़ गये. हम दोनों सिर्फ अच्छे सहपाठी थे और अक्सर पढ़ाई के बारे में बातें किया करते थे. मैं भाभी को तसल्ली से चोदने के नजरिये से एक बार बाहर जाकर देख कर आया था कि हस्पताल की नर्स वगैरह की क्या पोजीशन है.

वो विशाल से छूटना चाह रही थी तो विशाल ने उसे सुनील और रिंकी की ओर दिखाया. प्रकृति और पुरुष का संगम इस समस्त सृष्टि का एक गूढ़तम रहस्य है जिस में इस सृष्टि के सब नर-नारी अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार तो जरूर उतरते हैं.

आपने मेरी अन्तर्वासना भाभी की चुदाई हिन्दी में सेक्स कहानी के पहले भागभाभी का सेक्स करने का मन था-1में अब तक पढ़ा कि भाभी की मस्ती ने मुझे उन्हें चोदने के लिए पागल कर दिया था. उसने सोनम की पैंटी को धीरे धीरे करके उतार दिया और मेरी बीवी की क्लीन चूत शेव नंगी हो गयी. अब वो मास्टर जी हमारे शहर के सबसे बढ़िया पैंट सिलने वाले व सूट स्पेशलिस्ट बन चुके थे.

उसके मुंह से रंडी सुनकर मुझे अच्छा नहीं लगा तो मैंने उसे मुझे रंडी बोलने को मना किया.

दो फ़रवरी को शादी के बाद सात फ़रवरी को वसुंधरा अपने पति के साथ के जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड को उड़ जायेगी. मैं दस दिन से उसे मना रहा था लेकिन अब जाकर कोमल ने मुझे दिल्ली बुलावा दे दिया था. अब आगे:मैं काफी खुश था और स्वीटी आंटी के तैयार होकर आने का इंतजार कर रहा था.

और उसके बाद हम एक दूसरे की बांहों में आ गए और किस करने लगे।थोड़ी ही देर में दूसरे राउण्ड की चुदाई के लिए हम दोनों फिर से तैयार थे। इस बार उसने खुद मुझे अपने ऊपर खींच लिया तो मैंने उसके पैर फैलाकर उसकी चूत में एक बार में ही पूरा लण्ड घुसा दिया. तभी रीना बोली- ओह … ये धीरज तो काम करके पड़ गया, पर मेरा तो और करने का मन था.

उससे बात होने का यह मौका इसलिए खास था क्योंकि हम दोनों डेढ़ दशक बाद एक दूसरे से बात कर रहे थे. तू इतनी हिम्मत कर सकती है?यह सुनकर आशा की आँखें फटी रह गईं और कुछ देर तक सोचने के बाद बोली- अगर मैं हिम्मत कर भी लूँ तो क्या भइया ऐसा कर पायेंगे? हम दोनों एक दूसरे का सामना कैसे कर पायेंगे?नीरा ने उससे कहा- अब अगर तू हिम्मत कर रही है तो मैं कुछ न कुछ करती हूँ ताकि तेरा काम हो जाये. मेरे पीछे नताशा खड़ी थी, जिसका मुझे डर था कि क्योंकि कल रात मैंने उसकी गांड को अच्छे से पेला था.

बीएफ हिंदी मस्त

फिर मैं थोड़ा रुका … क्योंकि मुझे ये डर भी था कि कहीं कोई सिस्टर रूम में ना आ जाए.

उससे जो प्रीकम निकल रहा था उसने मेरे अंडरवियर को भिगोने के बाद मेरे पजामे पर भी अपनी छाप छोड़नी शुरू कर दी थी. बड़ी दर्दनाक कहानी है तुम्हारे चाचा जी की, इतना बदनसीब मैंने तो कभी नहीं देखा. उसने चूत के ऊपर थूक दिया और उस पर खूब मल दिया। उसने करीब 5 – 6 बार थूका। फिर चूत की चुसाई में लग गया।उसने जीभ से चूत की लंबी चिराई को सहलाना शुरू किया और अपने दायें हाथ की मध्य उंगली उसकी चूत में घुसा दी।रिया चिहुंक उठी- ऊफ़्फ़ … आआहह.

ऊपर से वो रिया के अंगूर समान निप्पल को मुंह में रखकर चूसने लगा।रिया को अपनी चूचियों को चुसवाने में बड़ा मजा आ रहा था। वो अपनी चूची को उठा उठाकर अपने डैड के मुंह में देने लगी।रमेश उसकी चूचियों को पूरे आनंद से चूस रहा था।रिया सिसकारने लगी- आआआ … आआहह … डैड … चूस … स्सो. कोमल- जब से तुम मुझसे चैटिंग कर रहे हो, तब ही से मुझे पता चल गया था कि यह सब तुम मुझे चोदने के लिए कर रहे हो … लेकिन मुझे यह नहीं पता था कि तुम्हारी डिमांड भी बढ़ जाएगी. सरिता भाभी सेक्सी वीडियोजिया- इस बार मैं तो भाई से नहीं कहूंगी, लेकिन जब भाई को पता चलेगा तब?कोमल- अब ऐसी गलती दोबारा कभी नहीं होगी.

कुछ देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद मैं घूम गया और उसके मुंह के करीब लंड को ले गया. फिर मैंने उसे पास ले आया और उसके कान के पास दांतों से टच किया वो डर गई और मुझे और कस के पकड़ लिया।मैंने इस बार उसकी गर्दन पर किस किया और वो पीछे होके मुझे देखने लगी। मैं उसके पास गया तो वो घूम गयी.

वो- अच्छा फिर क्या?मैं- फिर क्या … सलवार को उतार कर तुम्हारी दोनों टांगों के बीच में बैठ जाऊंगा और …इतना बोल कर मैं चुप हो गया. अपने पास बुला कर अमनप्रीत मुझसे बोला- मेरा लंड तू ही अपने हाथ से इसकी चूत में डालेगा. मैं भी उसकी गर्मी को सहन नहीं कर पाया और उससे बोला- आह मेरी रंडी कुतिया … मेरा रस निकलने वाला है … आजा भैन की लौड़ी मुँह खोल दे.

मेरी रीढ़ की हड्डी में एक बिजली का करंट ने दौड़ लगायी और ऐसा लगा एक कुछ मोटी सी चीज़ रीढ़ की हड्डी में ऊपर से भागती हुई नीचे लंड में समा गयी. अब आगे:ये साहब गोल मटोल कैसा मोटा है? साले का लंड तो पहली नजर में दिख ही नहीं रहा था. अगर मैं चाहता, तो शादी में एक दो लड़कियां या भाभियों को और पटा सकता था, पर अति सर्वत्र वर्जयेत …मैं हौले कदमों से आगे बढ़ रहा था.

वो जानबूझ कर पेंटी पहन कर नहीं आयी थीं, सो उनका साफ सुथरा छेद मेरे सामने था.

प्रकृति और पुरुष का संगम इस समस्त सृष्टि का एक गूढ़तम रहस्य है जिस में इस सृष्टि के सब नर-नारी अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार तो जरूर उतरते हैं. मैंने पूछा- क्या अपने हस्बैंड का नापा है?तो उसने एक फोटो दिखाया जिसमें एक मरियल सा काला लण्ड 4.

स्कूल से वापस आने के बाद मुझे अक्सर कपड़े फैलाने के लिए छत पर जाना होता था. जिस दिन उन दोनों को मिलना होता था तो वो मेरे बेडरूम में एक दूसरे के साथ चिपक कर पड़े रहते थे और बातें करते रहते थे. क्या लाजवाब शरीर था, मक्खन जैसा!मैंने उसके पैरों से उसे चूमना चालू किया और मस्ती में चूर होता हुआ धीरे धीरे उसकी रेशमी टांगों को चाटता हुआ उसकी चूत तक जा पहुंचा.

इस बीच मैं मेरी गर्लफ्रेंड के नंगे बदन पर हाथ फिरा फिरा कर उसे गर्म करता रहा. उसका मुंह एक चूची पर लगा हुआ था और दूसरे हाथ से वो दूसरी चूची को दबा रहा था. कोई 20 मिनट की चुदाई के बाद उन्होंने अपना लंड निकाल कर मेरी चूत में पेल दिया और हुंकार भरते हुए सारा लंडरस मेरी चूत में छोड़ दिया.

बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी वो एकदम से अपने बदन को ऐंठते हुए झड़ गई और उसी की गर्मी में मैं भी झड़ने लगा. इस बार मेरा लंड उसकी बुर की सील को तोड़ता हुआ हुआ चूत में जड़ तक घुस गया और मेरी झांटें उसकी झांटों से जा मिलीं.

सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी पिक्चर

फिर जल्दी से बाबूजी के कमरे की तरफ गयी, वहां माँ बेसुध पड़ी थी और उनके खर्राटों की आवाज आ रही थी पर बाबूजी नदारद थे. फिर मैंने सुमन को पकड़ा और वहीं मुझे प्राची भाभी भी नजर आईं, तो मैंने मौका नहीं गंवाते हुए उन्हें भी जम कर हल्दी लगाई और इसी बहाने उसके गोरे नाजूक बदन को अच्छे से सहलाया. कुछ देर बाद अब्बू ने अपना लण्ड अम्मी की गांड के छेद पर रख कर अन्दर करने की कोशिश की लेकिन बात बनी नहीं तो मैंने अब्बू से कहा- अपने अंगूठे में तेल लगा कर अम्मी की गांड में चला दीजिये.

मैंने कहा- सच्ची … मजाक तो नहीं कर रही हो ना!उसने सर उठा कर कहा- नहीं. मैं तुमसे भी यही चाहूंगा कि तुम भी मेरे साथ सेक्स करते टाइम बिल्कुल खुल जाओ … और बिल्कुल भी मत शर्माओ. बीपी सेक्सी हॉट वीडियोफिर मैंने भी अपनी टी-शर्ट और बनियान उतार कर अपने पेट और सीने को उसकी नंगी पीठ पर सटा कर पूरी तरह से खुद को आंटी से चिपका लिया.

मेरी चूत गीली हो चुकी थी, मैं शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से चुदवाने के लिए बेकरार हो रही थी.

पांच मिनट में ही सोनम की चूत मेरे दोस्त मयंक के लंड को पूरा का पूरा अंदर लेने लगी. मैंने कहा- वो क्या है जी!उन्होंने कहा- आज के बाद तू मुझे कभी चाची नहीं बोलेगा.

थोड़ी देर बाद अम्मी ने अपनी टांगें फैलाईं और बोलीं- मेरी मुनिया का स्वाद चखेगा ज़रा!मैंने भी अम्मी के चुत में मुँह घुसेड़ दिया और उनकी चुत चाटने लगा. फिर मैं थोड़ा रुका … क्योंकि मुझे ये डर भी था कि कहीं कोई सिस्टर रूम में ना आ जाए. हम तीनों दरवाजा खटखटाने लगे, लेकिन उन तीनों में से कोई ने जवाब नहीं दिया.

मैं भी उसका साथ दे रहा था और राहुल का लंड तन कर मेरी बॉडी पर यहां वहां टच होने लगा था.

उसने सॉरी बोलकर कहा- अब से मैं तुझे रंडी नहीं बोलूंगी।फिर हम दोनों कपड़े पहनकर बाहर आ गयी और अपना काम करने लगी. इधर मैं भी झट से बेडरूम वाले खिड़की पर जाने लगा, तो एकाएक मेरी नजर कमरे के मेन गेट के बगल में स्थित डस्टबिन पर पड़ी. एक तेज आवाज के साथ ही जीजू ने मेरी चुत में वीर्य की नदी बहा दी और मेरे ऊपर ही ढेर हो गए.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी दिखाइएफिर चुचियों के नग्न भाग को चूमते हुए मैंने उनके हाथ को उठा कर उनकी कांख चाट ली. मुठ मारते मारते मेरे चेहरे के भाव देखकर उन्होंने रूमाल उठाया और मेरे लिंग के पास में कर दिया.

विदेश की बीएफ

इस दौरान मुझे प्रतिभा की कमर पकड़नी थी, जिसमें मैंने संकोच की जगह बेशर्मी दिखाई. मैंने उससे पूछा- कौन बात कर रहा है?तो दूसरी तरफ से एक लेडी की आवाज आ रही थी. रुस्तम नाम कैसा लगा तुझे?”मेम रानी, तूने नाम रखा तो ख़राब कैसे हो सकता है … मस्त नाम है … मज़ा आया ये नाम सुन के.

मेरे मुंह से दर्द भरी आवाज निकली और भाभी के मुंह से भी हलकी सी चीख निकल गयी!कविता भाभी मेरे लंड पर कूदते हुए मुझसे कह रही थी- हां सचिन, कब से मैं तुझसे चोदना चाहती थी। आज आया है तू मेरी चूत के नीचे. इस तरह से हम दोनों की इस रासलीला की, चूत चोदने की कहानी की शुरूआत हुई. इससे पहले कि मैं कुछ समझता या पूछता, उससे पहले ही उसने कह दिया- जय, तुम मुझसे ऐसे नाराज मत हुआ करो.

मुझे लगा कि बस बहुत हुआ, अभी ही आंटी का कुर्ता फाड़ कर और कर ब्रा खोल कर फेंक देता हूं … और इनकी चुत चोद देता हूं. तीन घण्टे बाद बाद जब मुझे महसूस हुआ कि मेरे लन्ड पर कुछ हलचल हो रही है तो मैं जागा. मुझे बहुत शर्म आ रही थी कि ये ऐसे किसी को अपने कपड़े उतारने कैसे दे सकती है.

दोनों ने मेरे हाथ छोड़ दिए और मैंने अपने स्तनों को दोनों हाथ से छुपा लिया. रमेश ने कभी करवट लेते हुए उसकी फोटो निकाली तो कभी पेट के बल लेटा कर उसकी नंगी गांड को कैमरे में कैद किया.

उसके लिये सरप्राइज ये होना चाहिये ये सब।इधर श्लोक ने सीमा से कह दिया कि हमें मालदीव घूमने के लिए चलना है.

फिर भी मैंने हीना को पल भर रोका और कहा- हीना, अगर ये तुम्हारी मर्जी से हो रहा है तो ठीक है. मेरी भाभी की चुदाईये काम मैंने ऐसे किया, मानों मैं जो खोजना चाहती हूँ, वो कपड़ों के अन्दर हो. चुदाने वाली सेक्सीमुझे ये तो मालूम था कि चाची मेरे पास आ सकती हैं, मगर ये नहीं मालूम था कि वो कब अपनी चुत लेकर मेरे पास आ जाएं. एक खलासी ने मुझे अपनी गोद में बिठाया और एक खलासी मेरे सामने बैठ गया, दोनों मेरे बदन से खेलने लगे.

मेरा लंड लीलते ही अम्मी की एक तेज आवाज़ निकल गई- आआह … मर गई … कितनी अन्दर तक चला गया.

क्योंकि वो गहरे गले वाले लाल ब्लाउज और नाभि से नीचे बंधे पेटीकोट में थीं. धीरे धीरे मैंने गिन्नी को पूरी नंगी कर दिया और उसके एक एक अंग को चूमने, चाटने, सहलाने लगा. करीब बीस मिनट बाद मैं हांफते हुए झड़ गया … जिससे नताशा को बड़ा सुकून मिला … मुझे भी उसकी चूत चुदाई में मजा आ गया था.

करीब दो-तीन मिनट इस पोज चोदने के बाद रोहित बोला- भाभी अब आप बेड पर ही डॉगी बन जाओ ना. शर्म की मारे मैंने अपनी दोनों जांघों को आपस में चिपका लिया और खुद फिर से जेठजी से चिपक गयी. मैंने शीना की तरफ ऐसी निगाहों से देखा कि जैसे मैं उसको अब काट ही डालूंगा.

ગુજરાતીમાં સેક્સી

सीमा के जाते ही मैंने करवट ली और हनी को बाहों में लेकर ‘सीमा मेरी जान’ कहते हुए उसकी नाइटी ऊपर खिसकाकर हनी की चूत पर हाथ रख दिया. लगातार चपत लगने से कोमल के चूतड़ लाल हो चुके थे और उसके कातिलाना चूचे हवा में झूल रहे थे. उसके बाद उसने खुद से कमर उठाकर धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए तो मैं समझ गया कि क्रिया तैयार है.

सुनील ने उसे रात को अपने पास ही सुलाया और सुबह उठते ही एक बार फिर उसकी चूत मारी.

उसे अपनी बेटी की चूत में लण्ड घुसाने में स्वर्ग सा आनंद लग रहा था। चूत अंदर से गर्म थी जैसे लण्ड के स्वागत के लिए चूत ने तैयारी कर रखी हो।चूत को लण्ड का पूरा पूरा अहसास हो रहा था.

खाना समाप्त करने के बाद हमने कुछ देर आराम करके फिर हॉल में ही मिलने की बात कही. फिर पायल ने पास आकर कुछ देर कुछ बातें समझाईं, म्यूजिक को चलाया, रूकवाया और कब क्या करना है … ये सब कुछ स्पष्ट करने के बाद मुझे स्टेज पर चलकर रिहर्सल करने का न्यौता दिया. देसी आंटी का सेक्सअब तक इस हिंदी सेक्स स्टोरी के पिछले भागएक्स-गर्लफ्रेंड की कुंवारी ननद की चुदाईमें आपने पढ़ा था कि मैं जिया को चोदने के बाद अपने कमरे में चला गया था और इन्हीं सब कामुक बातों के साथ मेरी एक्स गर्लफ्रेंड अपनी ननद के साथ मेरे लंड से चुदने की बात का मजा ले रही थीं.

इस बंगालन भाभी Xxx स्टोरी पर अपनी राय देने के लिए आप मुझे कमेंट्स करना भी न भूलें. अंदर ही अंदर उसके मन में वासना जा गयी मगर मेरे सामने नाटक करते हुए कहने लगी- नहीं, ये सही नहीं है. यदि आप भी आगे की कहानी जानने के लिए उत्सुक हैं तो थोड़ा सा इंतजार कीजिये.

तो मम्मी ने मुझे भेज दिया।मैं नज़मा के पास आ गई और उसके काम में हाथ बंटाने लगी। कुछ देर में हमने काम खत्म कर लिया और टीवी देखने लग गयी।अब तो बस 10 बजे का इंतजार कर रही थी. कई बार जब वो मुझे छेड़ती थी तो मेरे लंड से प्रीकम अपने आप निकलना शुरू हो जाता था.

धीरे धीरे जैसे जैसे वो बड़ी होती गई, मेरे साथ बहुत रिजर्व होती गई, बस मतलब की बात करती और एक दूरी बना कर रखती.

अंदर जाने के बाद उन्होंने गेट बंद कर दिया और अपना ब्लाउज खोले बिना मेरा सर पकड़ कर अपनी चूची के ऊपर रख कर मेरे बाल सहलाने लगी।मैं भी उनकी दोनों बड़ी बड़ी चूची को हाथों से मसलने लगा।तभी मैंने आंटी के निप्पल में थोड़े दाँत गड़ाये तो उनकी चीख निकली, बोली- दर्द होता है।और ब्लाउज को खोज दिया, बोली- आराम से पियो जितना पीना है. अपनी पांचवी कोशिश में कुछ पाठको को पेश करने लायक दाल-दलिया किया है. संजू ने रोहित के आंड को तक अपने मुँह में भर लिए थे और मस्ती से चूसने लगी थी.

देसी सेकसी विडीयो संगीता के फ्लैट के नीचे पहुंचते ही मैंने उसको कॉल किया कि मैं आ गया हूं. मैं बोला- आपको कैसे पता?कविता भाभी- जो लड़की पहली बार सेक्स करती है.

मैंने अपने लंड पर तेल को चुपड़ लिया और फिर शीशी लेकर वापस बाहर आ गया. आज वो पराये मर्द से चुदी है … या यूं कहूँ कि मैंने आज किसी और की बीवी की चुदाई की है. आशा के गाउन के बटन खोलकर उसके शरीर से अलग किया तो आशा पूरी तरह से नंगी हो गई, उसने ब्रा और पैन्टी नहीं पहनी थी.

ब्लू हिंदी में वीडियो

अब तो वे दोनों औरतें मेरे लौड़े को अपने हाथ में पकड़ कर खींच रही थीं. ’सांग प्ले करके आते हुए मौसी ने अपनी लैदर जैकेट निकाल फैंकी और स्टाइल से कमर लचकाते हुए मेरे पास आ गईं. पर भीड़-भाड़ वाली जगह पर आप किसी एक पर ध्यान केन्द्रित कर सको, ऐसा कहां संभव है.

उन्हें ऐसा लग रहा था कि उनमें सच में दूध भरा हुआ है और वो लोग सच में दूध पी रहे हैं. आह ओअह आह उफ्फ म्म आह …उसने पूरी जीभ से मेरी चुत को गीली कर दिया और मुझे सम्भलने का मौका दिए बिना ही मेरे ऊपर चढ़ गया.

उनकी ये बात सुनकर मैंने सोची कि लोग सही कहते हैं, मर्द जात कुत्ता होता है.

अर्जुन- सुनो चाहत! तुम ऊपर वो जिम देख रही हो?उसने ऊपर जिम की बालकनी की तरफ इशारा किया जैसे कि मुझे कुछ पता ही ना हो. मैं समझ गई कि तुम बाथरूम में हो, करीब गई तो देखा कि बाथरूम का दरवाजा अधखुला था और तूम मुठ मार रहे थे. मुझे भाभी का यह सुझाव बहुत अच्छा लगा पर ख्याल आया कि सुबह क्या होगा?मैंने भाभी से ये बात बताई तो उन्होंने कहा- अरे सुबह की सुबह देखना.

मैंने सुधा को गर्म कर दिया और खुली छत पर ही फटाफट से उसके कपड़े निकाल दिए. मैं प्यार व्यार के चक्कर में कभी नहीं पड़ी, पर जब एक हैन्डसम से लड़के मुझे प्रपोज किया, तो मैं मना नहीं कर पाई. उफ़फ्फ़ क्या फिगर था उनका … मैंने एक गहरी निगाह उन पर ऊपर से नीचे तक फेंकी, तो उनका मस्त जिस्म मेरी आंखों में अपना नाप देने लगा.

करीब दो-तीन मिनट इस पोज चोदने के बाद रोहित बोला- भाभी अब आप बेड पर ही डॉगी बन जाओ ना.

बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदी: खाना खाकर रात को सब अपने अपने कमरे में सोने चले गए, मेरी दोनों भाई बहन आयेशा और साहिल वो मेरे साथ मेरे कमरे में ही सोते थे. मैंने भी घुटनों पर बैठ कर पीछे से उसकी रिसती हुई चूत में लंड घुसा दिया.

पहले केवल मर्द लोग ही घर का बना कुछ ले आते, पर धीरे धीरे औरतें भी आकर दे जातीं. यह देखकर शीना ने भी अपना मुँह मेरे लौड़े के सामने कर दिया, जिससे मेरी तेज धार निकल कर उसके बदन और उसके मुँह पर गिरने लगी. फिर जीजा उठे और मैंने जीजा के लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

दोनों हाथों से गिन्नी की कमर पकड़कर धक्का मारा तो टप्प की आवाज से मेरे लण्ड का सुपारा अंदर हो गया, एक झटके में आधा और दूसरे झटके में पूरा लण्ड गिन्नी की चूत के अंदर हो गया.

मैं (राजवीर)- सरप्राइज़ तो तुझे अब मिलेगा बेटा। हम सबको पता है कि हमने अपने मजे के लिए अपनी बीवियों की अदला बदली की है लेकिन सब एक दूसरे से नहीं मिले इसलिए हम 10 के 10 यहां चुदाई का घमासान करने के लिये इकट्ठा हुए हैं।इससे भी ज्यादा मजे की बात तो ये है कि हमारी बीवियों को घंटा भी नहीं पता कि उनके साथ आज रात में क्या होने वाला है?विक्रम- क. फिर मैंने अपने हाथ से भाभी के पेट को थोड़ा सा दबाया और फिर भाभी से बोला- अब अपनी गांड को खुला छोड़ दो. मैंने उसके नर्म नर्म चूतड़ों पर हाथ से दबाते हुए उसकी गांड के छेद को सहलाना शुरू किया तो वो ‘न.