पुरानी वाली बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ मराठी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

कॉलेज बीएफ मूवी: पुरानी वाली बीएफ, उसने लंड फांकों को फैला बुर के ऊपर टिका दिया और बोला- पूजा रानी, ले तैयार हो जा … अंदर जाने लगा है मेरा शेर!काका ने मुझे मेरे दोनों कंधों को पकड़ लिया और पूरी पकड़ बनाकर एक झटका दिया।मेरी दर्द से चीख निकल जाती पर उसने हाथ से मेरा मुँह दबा दिया।पानी मेरी आंखों से निकलने लगा … मैं छूटने की नाकाम कोशिश करने लगी.

बीएफ फिल्म वीडियो देसी

मैं बारी बारी से उसके दोनों चूचों को ब्रा के ऊपर से ही चूसने लगा और काटने लगा. www.epfindia.gov.in परमैं मन में ये सोच रहा था कि मैंने देखा आपा ने भी मुझे इशारा करके वही बैठने को कहा जैसे वो चाहती थी कि मैं उनकी चुदाई के वक़्त उनके साथ रहूँ.

करीब 40 मिनट जोर जोर से चोदने के बाद उसने अपने लंड का पूरा माल मेरी चूत में ही निकाल दिया और मेरे ऊपर ही गिर गया. सेक्स वीडियो चोदी चोदा वालाकुछ ही पलों में उसकी चड्डी उसकी टांगों से निकल कर जमीन पर आ गिरी, पर अभी भी उसके पैरों में अटकी पड़ी थी.

पर मैंने थोड़ी और हिम्मत की और कुछ देर बाद वापस अन्दर झांका तो देखा मेरे शौहर उस लड़की को घोड़ी बना कर उसकी चुदाई कर रहे थे.पुरानी वाली बीएफ: उसने जब मेरे अंडरवियर में बना टेंट देखा तो उसकी आंखें फ़ैल कर बड़ी हो गईं.

मैंने उससे कहा- अंजू तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो और मैं तुम्हें प्यार करना चाहता हूँ.पर जिस्म की प्यास ही ऐसी होती है जो ना चाहते हुए भी जवान मर्द को जवान लड़की की ओर आकर्षित करती है.

क्सक्सक्स भाभी वीडियो - पुरानी वाली बीएफ

फिर मैं फरहीन के जिस्म पर चढ़ गया और उसकी चूंचियों को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने काटने लगा.इस वजह से उनके भोसड़े ने जल्दी ही अपना गर्मागर्म लावा मेरे मुँह में भर दिया.

मैंने उसकी बात मान ली और दो दिन बाद उसकी मनपसंद ड्रेस पहन कर योगेश से मिलने जाने लगी. पुरानी वाली बीएफ तभी मुकेश ने मुझसे कहा- राज, मुझे रात के 11:00 बजे स्टेशन छोड़ देना.

वो मुझे भी चलने को बोल रहे थे, पर मैंने सोचा कि मैं तो तुम्हारी मां के साथ खेलूंगा.

पुरानी वाली बीएफ?

उन्होंने अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया मेरा लंड खड़ा हो गया. मैंने चुपके से रोहन से पूछा है और कार्यक्रम कैसा रहा आपका?ये पढ़कर मेरे होश उड़ गए कि श्वेता ने ऐसा सोच भी लिया हद है. जल्दी से मैंने अपनी उंगलियां बाहर निकाल दीं और सोने की एक्टिंग करने लगा.

उन्हें दर्द हो रहा था लेकिन मैं उन्हें सहला रहा था ताकि दर्द कम हो. फिर वो अब्बू के पास जाकर उनके बराबर में लेट गईं और अपने दोनों मम्मों को निकाल के अब्बू के चेहरे पर रख कर रगड़ने लगीं. फिर दिल नहीं माना तो मैं अपनी आंखों को जरा सा खोल कर चोरी चोरी उसको देखने लगा.

पूरण ज़ोर ज़ोर से मुझे चोद रहा था, मैं भी उसका साथ दे रही थी।कुछ देर बाद मुझे बहुत ज्यादा मजा आने लगा, मानो मैं स्वर्ग में झूल रही हूं।मुझे महसूस हुआ कि मेरी बुर गीली होने लगी है … शायद पानी छोड़ गई थी. रानी- जल्दी से दोनों मिल कर कुछ खाना बना लेते हैं, उसके बाद जाएंगे. मैंने कहा- चलो मेरे लिए तो ये अच्छा ही रहा है कि मुझे सीलपैक माल चोदने को मिला.

कुछ देर में ही हम दोनों एक साथ एक दूसरे के मुंह में झड़ गए।मैंने उनका सारा रस पी लिया. मॉम ने भी अपनी टांगें फैला दी थीं जिस वजह से मेरी पूरी उंगली चूत के अन्दर तक जाने लगी थी.

फिर वो धीमे से बोली- अन्दर गया क्या पूरा?इस सवाल पर मैं भी देखने लगा कि आधा फंसा लंड किस हालत में है.

इसके बाद अगली सेक्स कहानी में मैं आपके लिए एक नई रसीली सेक्स कहानी लाऊंगा जो उसी की छोटी बहन की चुदाई की कहानी है.

पर मेरा दोस्त पवन मुझे खिड़की से देख रहा था और उसने अपने मोबाइल में मेरी वीडियो बना ली थी. मेरी दोनों चूचियों को चूसने के बाद हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देखने लगे. तुम तो शिवानी की चुदाई करते होगे।मैंने उसे कुछ नहीं कहा और उसे किस करने लगा.

पेटीकोट नीचे को हुआ … लेकिन मेरे चूचे पूरी तरह से पेटीकोट से बाहर नहीं निकल पाए. मैंने मीनू की गांड के छेद पर थूक लगाया और थोड़ा लंड के टोपे पर भी लगा लिया. ब्रदर सिस्टर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने पहले ग्राहक से चुद कर आयी तो मेरा भाई मुझे चोदने को तैयार बैठा था.

पूरण ने वो एंगल लिया जिससे उसके काले बड़े आंड मेरे चेहरे पर लटकने लगे और उसकी जीभ मेरी बुर में करतब दिखाने लगी.

मीनू ने टांगों को ऊपर से चौड़ा दिया, तो मैंने चुत पर क्रीम लगाकर पूरी तरह से फोम बनाया और रेजर से उसकी चूत के होंठों को पकड़ कर झांटें साफ़ करना शुरू कर दिया. लंड थोड़ा सा चुत से बाहर आया, मगर अगले ही पल एक जोर के झटके के साथ दुबारा भाभी की बच्चेदानी से जा टकराया. वो बोली- तुम तो बड़े टॉप के खिलाड़ी निकले … चलो अब यह पास्ता खा लेते हैं.

मुझे कुछ नहीं सूझ रहा था तो मैंने कंबल से आराम आराम से उसकी गांड से वीर्य को साफ किया. मेरे हथियार का सुपाड़ा पूर्णिमा जी के किले को भेदने के लिए तैयार था. यदि मन है कि चुदना है और लंड पसंद आ जाए, तो नाते रिश्ते भूल कर चुदाई का मजा ले लेना चाहिए.

ऋतु मेम ब्लैक ब्रा और पैंटी में इतनी हॉट लग रही थीं कि मन बावला हुआ जा रहा था.

प्रियंका ने उठ कर क्षमा की पैंट को खोल दिया और ऊपर का टॉप भी निकाल दिया. सास ने खाना लगा दिया और मुझसे बोलीं- आइए दामाद जी!मैं जाकर मेज के सामने कुर्सी पर बैठ गया.

पुरानी वाली बीएफ हिमानी हंसती हुई- हां हां, हंस लो … कल रात की चुदाई से अभी तक मुझे दर्द हो रहा है. वो बोली- मेरी चूत की चुदाई अब तुम्हें ही करनी है।मैंने उसके हाथ को पकड़ा और उसकी आंखों में देखते हुए बोला- ठीक है। हमें जब भी मौका मिलेगा, मैं तुम्हारी चुदाई अवश्य करूंगा। अभी मैं जाता हूं.

पुरानी वाली बीएफ अब उन्होंने भाभी की लाल रंग की ब्रा को भी उनके शरीर से अलग कर दिया था. अब मेरा लंड पूरा तनाव में आ चुका था लेकिन पजामे के अंदर होने की वजह से मुझे हल्का दर्द भी हो रहा था.

वो मुझसे अपने घर आने की बात कहता था तो मैं भी कह देता था कि हां जरूर आऊंगा.

बीपी भेज दो

ये सुन कर मेरी जान में जान आई और मैंने उससे तुरंत पूछा- कौन सी बहन?वो- अरे उसकी तो 6 महीने पहले डैथ हो गई है. अब दीपक और प्रकाश कहने लगे कि हमें भी तो दिखाओ जन्नत का मजा!दीपक मेरे गदराये गोरे गुलाबी नंगे जिस्म … और लाल पड़ गयी बड़ी बड़ी चूचियों को देख रहा था. फिर भाबी उठीं, तो उन्होंने एक रूमाल से पहले अपनी चूत साफ़ की और मेरा लंड पौंछा.

आगे से अवधेश का लंड मेरे मुंह में था जिसे मैं पूरी शिद्दत से चूस रही थी. वो अपने होंठों को अपने दांतों से काट रही थीं, अपनी जीभ को अपने होंठों पर घुमा रही थीं. तभी मॉम ने मेरा लंड पकड़ लिया और नीचे बैठकर लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

सनोबर प्यार से मुझे चुम्मी करती हुई अपने गोरे जिस्म को मेरे जिस्म पर रगड़ रही थी.

शराब पीते हुए मनोज ने बताया कि उसकी होने वाली पत्नी कॉलेज में उसके साथ थी. आपा की टांगें अब कांप रही थी क्योंकि दो दो मर्द मिलकर सुख दे रहे थे. कुछ बीस मिनट बाद मेरा लंड झड़ने को हो गया और मैंने उसकी चोटी पकड़ कर उसकी गांड में ही अपना सारा माल गिरा दिया.

ये सुनकर मैं खुश हो गया और मैंने अपनी टीचर से उनका फोन नम्बर ले लिया. तो मैंने उसे रोक दिया और कहा- अंदर कमरे में कंडोम रखा है, वो पहनकर आओ!वो भाग कर गया और कंडोम ले आया. तो अब अगर इसे पैसे देने से बचना है तो बदले मेंमुझे भी चूत चाहिए!ये सुनते ही नसरीन आपा ने शर्म से सर झुका लिया.

मेम एकदम से सिहर उठीं और वो तुरंत मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में दबाने लगीं. फिर मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और बारी बारी से अपनी बहन रानी के दोनों मम्मों को चूसने लगा और दबाने भी लगा.

मैंने भी बिना देर किए उसे उठाया और कंधे पर लेकर अपना मुँह उसकी चूत पर रख दिया. अपनी नूनी मेरे मुँह में डाल देते हो और पिछली बार तो आपने मेरे मुँह में मूत भी दिया था. अब हम दोनों से और कंट्रोल नहीं हो रहा था और उसपर गोली भी अब असर करने लगी थी.

मैंने पकड़ कर उसे अपनी जांघों पर बिठाया, पर चूत में उंगली चलानी जारी रखी.

हम दोनों के कामरस और उसकी चुत के खून में सना हुआ लंड बाहर निकल रहा था. उसके बाद मेरी सहेली मेरे घर आयी। मैंने उसे हमारी चुदाई वीडियो दिखाई। वो भी मेरे भाई से चुदने के लिए मचल गयी. उस समय मैं अपनी बहन की शादी में गया हुआ था और यह शादी गांव में होने वाली थी.

तब मैंने उन्हें सीधा लिटा दिया और उनके ऊपर आकर उनके जिस्म के हर कोने को चाटना शुरू कर दिया. मैं तो अभी एक बार उसकी फिर से चुदाई की सोच रहा था पर वो तो चली गई थी.

मैंने बोला- अब ज्यादा नखरे मत करो … तुम भी तो मेरे बारे में सोच कर मजे लेती हो. मैंने आपा को बोला- आपा, मेरा भी लंड चूसो न अब!तो वह मेरी तरफ देख कर मुस्कुराए और मुस्कुरा कर उन्होंने अपनी सहमति जता दी. मेरे हाथ में जब लण्ड आता है तो मैं उसे देख कर पागल हो जाती हूँ। और फिर कुछ भी बोलने लगती हूँ।उसने मुझे नंगी नंगी अपने नंगे बदन से चिपका लिया और फिर मुझे बेड पर पटक दिया।एक हाथ से मेरी चूचियाँ सहलाने लगा और दूसरे से मेरी चूत!मैं उसका लण्ड चाटने लगी तो वह मेरी बुर चाटने लगा।हम दोनों बन गए 69.

ब्लू पिक्चर चोदाचोदी

मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठों का रस चूसने लगा.

वो बोली- मेरी जान के वास्ते निकाल लो इसे!पर मैंने अनसुना करके आपा को धक्का देकर आगे लेटा दिया और मैंने लंड को ज़रा भी नहीं हिलाया. उसने अचानक मुझसे पूछा- क्या सोच रहे हो?मैंने कहा- मस्त चूस रही हो, जैसे पता नहीं कितनी प्यासी हो. मीनू- प्लीज आज ये कपड़े मत फाड़ो, मैं उतार रही हूँ न!मैंने उसके हाथ मोड़ कर होंठों पर होंठों को रखा और बाथरूम के दरवाजे से सटा कर उसकी ब्रा के हुक में अपने दांत फंसा दिए.

उसके बाद मेरे भाई ने अंजलि से कहा- बहू, जाकर चाचा जी को कमरा दिखा दो।वो मुझे कमरे में ले आयी. मैं बोला- तू जाकर खेतों वाली झोपड़ी के पास खड़ा हो जा, तुझे मैं वहीं आकर देखता हूँ. देसी ब्लू फिल्म ब्लू फिल्मअगर अम्मी मान गयी तो वैसे भी मेरठ में तो ऐसी कोई जॉब अच्छी मिलेगी नहीं.

आज से कुछ वर्ष पहले हमारे घर के सामने एक भैया और भाभीजी रहने आए थे. उसने मुझे कसके पकड़ लिया, जिससे उसके बड़े लंबे नाख़ून मेरी पीठ में गड़ गए.

मैं भी रोज अपनी मेल चेक करता, जो मेल आती उसका जवाब देता और थोड़ा उसका इंतजार भी करता. बहन की लोड़ी देख कैसे अपने भाई के सामने अपनी चूत चुदाई करवा रही है. फिर मैंने आपा को उठाकर उनको पानी पिलाया और पूछा- आप ठीक हो?तो उन्होंने हाँ में इशारा किया.

उस आदमी के लंड से अपनी अम्मी की चुदाई का मजा हम दोनों भाई बहन ने लाइव देखा. आपने मेरी मिया बीबी की चुदाई कहानी को कैसे महसूस किया, मुझे मेल या किसी पर भी मैसेज करके जरूर बताएं, मैं कोशिश करूंगा कि आप सभी के सवालों को अपने जवाबों से संतुष्ट कर सकूँ. फिर भी योगेश ने मुझे जकड़ रखा था और तब तक मुझे नहीं छोड़ा, जब तक मेरा दर्द कम न हो गया.

वो अपने हाथ पैर पटकने लगी और मुझे कहने लगी- आंह इससे बाहर निकालो … मैं मर गई.

तब मैंने कहा- उसके साथ मेरे फोटोज तो और भी हैं, लेकिन आप वो देख नहीं पाएंगी. फिर उन्होंने मेरी ओर मुँह करके पूछा- रोहित जी, कलावती जी क्या कह रही हैं?मैं- हां पूर्णिमा जी, ये जो कह रही हैं, वो सच है.

दिखने में वो किसी भी हिरोईन से कम नहीं है, उसका जिस्म 34-32-34 का है।मैं अंजलि के जिस्म के एक-एक अंग का विस्तार से कहानी के साथ बताता चलूंगा।अब चलिये कहानी में आते हैं।मैं अपनी मेल चेक कर रहा था. मैंने इस बार अपने लंड पर ढेर सारा थूक लगाया और उसकी चुत पर फिर से सैट कर दिया. तब भी मुझे अपने लंड पर भरोसा था कि एक न एक दिन कीर्ति मेरेलंड पर सवारीकर ही लेगी.

उसे लेस्बियन करते देख कर आरिफा, फरजाना, वाजिहा भी आपस में लेस्बो करते हुए मुझे सायरा की मदमस्त चुदाई करती हुई देख रही थीं. मैंने फिर से लंड चुसवा कर खड़ा करवाया और उससे फिर से घोड़ी बनने को कहा. जो लड़कियां अभी तक अपनी सील को बचा कर बैठी हुई हैं और मेरी ये कहानी पढ़ रही हैं, उनसे मैं यही कहना चाहूंगा कि वो भी बिना देर किसी अनुभवी इंसान से अपना उदघाटन करवा लें और जिंदगी का खुल कर मज़ा लें क्योंकि जो मज़ा इसमें है, वो किसी और काम में नहीं है.

पुरानी वाली बीएफ मैंने कच्ची कली को उठा कर सोफे पर नीचे हॉल में लिटाया और टी-शर्ट ऊपर करके स्पोर्ट्स ब्रा खोले बगैर ही उसकी चुचियों को बाहर निकाल कर चूमने लगा. मेरी बात खत्म होते ही नसरीन आपा ने मेरे गाल पर एक तमाचा मार दिया जिससे कि मैं हिल गया.

सेक्सी विज्ञापन

मैंने उससे पूछा- कब से लंड नही लिया है?उसने बताया- 18 महीने के बाद आज मेरी चूत का कुछ होगा. थोड़ी देर बाद राजेश के झटके तेज हो गए और वो मेरी गांड में ही झड़ गया. कुछ देर बाद उसे भी धीरे धीरे मज़ा आने लगा और वो मादक सिसकारियां लेने लगी.

अम्मी गांड हिलाती हुई बोलीं- हां है … क्यों नहीं है असगर के अब्बू … मेरी गांड चूत दूध सब तुम्हारे हैं. मैंने झांक कर अन्दर देखा तो मौसा मौसी अपने बेड में नंगे लेटे हुए थे. कटरीना सेकसफिर मैंने मौसी के गाउन नीचे से उठाया और देखा तो मौसी ने वी-शेप वाली चड्डी पहनी हुई थी.

चुदाई खत्म होने के बाद प्रिया और मैं शालिनी के रूम में गए तो वो बहुत बेचैन थी.

फिर जैसे ही मैंने उसकी चुत जो अपनी जीभ से स्पर्श किया तो जैसे उसमें करंट सा दौड़ गया और वो चीख पड़ी- आआ …. उसके हाथ मेरी जांघों के बीच में आधे तने हुए लंड व अंडकोष से होते हुए भारी नितंबों सुन्दर टांगों पर फिसल रहे थे.

अपनी नूनी मेरे मुँह में डाल देते हो और पिछली बार तो आपने मेरे मुँह में मूत भी दिया था. पापा घर में नहीं थे, वो अपने काम के सिलसिले में एक हफ्ते से बाहर थे. भाभी की सेक्सी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस में नए बने घर में एक परिवार आया.

इस बार हमारा राउंड 20 मिनट तक चला होगा और मेरे आखरी 5-7 झटकों में मैं क्षिति को बोलने लगा- अब मेरा निकलने वाला है!वह भी स्खलित होने की कगार पर थी.

उसके गांव में उसके मामा की लड़की की शादी थी तो उसे गांव जाना था और वो मेरा बिना कहीं भी बाहर नहीं जाता था. उसके बाद वह बोली- मैं जा रही हूं, तुम दोनों मस्त एंजॉय करना।प्रिया को बोली- तुम जब चाहो तब यहां पर आ जाना, मुझे कोई दिक्कत नहीं होगी।तो प्रिया भी उसे गले लगते हुए बोली- बहुत बहुत धन्यवाद तुम्हारा निशा!फिर निशा ने मुझे ले जाकर अंदर वाला रूम दिखा दिया, बोली- चले जाओ अंदर … मैं बाहर ही हूं. कुछ देर बाद मैंने पूनम को पूछा- गन्नू के बापू ने तुझे पेला था, तो तेरी झिल्ली कैसे बच गयी?वो बोली- उसकी तो नूनी है … आपका तो औजार है.

सेक्सी हिंदी सेक्सी बीएफअचानक तभी मैंने जोर से अपने उभरी हुई गांड को उछाला और अगला धक्का ऐसे दे मारा कि मेरे जिस्म से जैसे लावा फूट पड़ा. वो मेरी बात सुनकर खुश हो गई और बोली- हां मैं भी आपको छोड़ना नहीं चाहती हूँ.

बबीता भाभी की चुदाई

मैं तुरंत एक मेडिकल स्टोर में गया और वहां से दो पैकेट कंडोम ले लिए और 1 आईपिल ले ली. संगीता मैम ने अपनी एक टाँग हवा में उठा कर मेरी जांघों पर चिपका दी और हम दोनों किस करते रहे. जैसे ही मैंने उसे अपने गले से लगाया, योगेश ने मुझे कसके पकड़ लिया और दीवार के सहारे खड़ा करके अपने सख्त होंठ मेरे नर्म होंठों पर टिका दिए.

[emailprotected]हॉट कामवाली सेक्स कहानी का अगला भाग:सेक्सी धोबन के साथ गर्मागर्म चुदाई- 2. उस रात को जब मैं मूतने उठा तो नींद में कुछ ठीक से दिखाई नहीं दिया कि किधर क्या है. चूत में फुहारा निकलते ही संगीता ने मुझे अपनी ओर खींचा और मुझसे लिपट कर कहने लगीं- आंह मजा आ गया योगी … अभी अपने लंड अन्दर ही रहने दो और मुझे इसका अहसास लेने दो.

पर अय्यर जेठालाल की हरकतों से हमेशा ही परेशान रहता था क्योंकि वो हमेशा बबीता के पीछे पड़ा रहता था और उसके सामने अय्यर का मज़ाक भी उड़ाता था. मैं तैयार होकर आज अपने कमरे में बैठी ही थी कि अंकित और अनिकेत दोनों आ गए. मौसी ‘आ ऑश …’ कर रही थीं और बोल रही थीं- आंह राजा … आज तो तेरी वजह से मेरे दोनों छेदों को एक साथ डबल मजा मिल गया.

जिमी ने मेरी साड़ी, मेरा ब्लाउज और ब्रा को उतार दिया, मैं कमर तक नंगी हो गयी. मेरी इस भाई बहन का सेक्सी खेल पर अपनी राय मुझे[emailprotected]पर बताएं.

वो बैठी बैठी मुझसे बातें कर रही थीं … लेकिन उनको देख देखकर मेरी हालत खराब हो रही थी और मेरा लौड़ा पूरी तरह से तनकर सख्त, मजबूत हथियार बन गया था.

जब मैं घर वापस आया तो देखा कि दरवाजा खुला है, केवल जाली वाला दरवाजा लगा है. हिन्दी सेकसि विडियोकरीब बीस मिनट तक मेरी गांड चोदने के बाद उसका रस झड़ने लगा और उसने अपना गर्म वीर्य मेरी गांड में छोड़ दिया. ভুতের হিন্দি বইबुआ अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े से चुदवा रही थीं और मैं तेज़ तेज़ अन्दर बाहर करने लगा था. मैं सामने पड़ी नंगी मोहिनी भाभी की मदमस्त जवानी को देख कर लंड की मुठ मारी और खिड़की से हट गया.

मैंने दोअर्थी शब्दों में पूछा- मामी क्या आप प्यासी हो?वो वासना भरी नजरों से जवाब देती हुई बोलीं- हां बहुत प्यासी हूँ.

मैंने जिमी का लिए बड़ा पैग बनाया, खुद के गिलास में बहुत कम शराब डाली. उनकी 56 साल की उम्र में भी उनमें काफी जोश है और उनका लंड भी मेरे पति से बड़ा है. मैं अब किराए के मकान में अपनी अम्मी के साथ रह कर धोबन का काम करती हूं.

अब मेरा लंड पूरा तनाव में आ चुका था लेकिन पजामे के अंदर होने की वजह से मुझे हल्का दर्द भी हो रहा था. तो उस लड़की ने बताया कि उसने एक साल तक एक आयात-निर्यात करने वाली कंपनी में नौकरी की. ये कह कर मैं भाबी के मम्मों पर हाथ फेरने लगा और हल्का सा दबाने भी लगा.

सेक्सी वीडियो मिया खलीफा

वो बैठी बैठी मुझसे बातें कर रही थीं … लेकिन उनको देख देखकर मेरी हालत खराब हो रही थी और मेरा लौड़ा पूरी तरह से तनकर सख्त, मजबूत हथियार बन गया था. मस्ती से मेरी आंखें चढ़ने लगी।अपने होंठों को काटती हुई पहली बार मैं बोली- उफ काका, बहुत मजा आता है … उफ ऐसे और करो ना!वो मेरी टांगें खोलकर बीच में आए, प्यार से चूत की जुड़ी हुई फांकों को फैला कर उसपे सुपारे को रगड़ा. पति के जाने के बाद मैंने घर का सारा काम खत्म किया और खाना भी बना लिया.

अमित मेरी बहन की बारे में चैट करता और बोलता- साले रंडी के भाई … तेरी बीवी और बहन को किसी दिन एक साथ चोदूंगा.

एक एक पैग और खत्म करने के बाद मैंने फिर से सिगरेट सुलगा ली और उसने भी मेरी डिब्बी से एक अलग सिगरेट निकाल कर जला ली.

मैं तेज तेज मुँह में लंड करने लगा था जिस वजह से उसकी सांसें अटकने लगीं. फिर मैंने मेम की लैगी और पैंटी को एक साथ उतार दिया और देर न करते हुए मैं नीचे को आ गया. वीडियो बीएफ मूवी सेक्सीअगर मैं बाहर चली जाऊंगी तो शक होगा।मैं बोला- ठीक है!प्रिया के चेहरे पर तो सिर्फ हवस थी।जैसे ही अंदर गया, प्रिया जोर से कमरे का दरवाजा लगा कर मेरे ऊपर टूट पड़ी।मैंने प्रिया से कहा- थोड़ा सब्र तो कर लो।वो बोली- नहीं मुझसे इंतजार नहीं होगा। रात मैंने किस तरह काटी है, मैं ही जानती हूं.

बहन की गांड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे मामा की बेटी हमारे घर रहने आयी तो मैं उसकी चुदाई करना चाहता था. आपा की टांगें अब कांप रही थी क्योंकि दो दो मर्द मिलकर सुख दे रहे थे. जब मैं घर वापस आया तो देखा कि दरवाजा खुला है, केवल जाली वाला दरवाजा लगा है.

उसने मेरी कमर में हाथ डाल रखा था और मुझे सहारा देने के बहाने वो मेरे बूब्स छू रहा था. उस समय उसने एक लाल बनारसी साड़ी और एक हॉट सा लाल बैकलेस ब्लाउज पहना था जिसमें उसकी पीठ पूरी दिख रही थी.

हॉट कॉलगर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपने दोस्त के भाई से पैसे उधार लेकर एक रंडी सेक्स के लिए बुलायी.

उसकी चूचियों से जो महक आ रही थी, वो वाकयी में किसी को भी आकर्षित कर सकती थी. हमारी पहली चुदाई 15 मिनट तक चली और हम दोनों एक साथ डिस्चार्ज हो गए. मुझे नशा हो गया था, मैं अपनी बीवी के पास गया और उसकी नंगी पीठ को चूमते चूसते हुए उसकी गर्दन पर आ गया.

कानपुर बीएफ सेक्सी करीब दस मिनट चोदने के बाद मानसिंह ने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे मुँह के पास लाकर हिलाने लगा. वो शायद इसके लिए एकदम से तैयार नहीं थी और जैसे ही मेरी जीभ ने उसकी चूत को छुआ उसके मुँह से आवाज निकल गई- आअ ह्ह आज मुझे पूरा कर दो दीपक!यह बोलते हुए दोनों हाथों से मेरे सर को पकड़कर अपनी चूत के छेद पर ले आयी और मैं पागलों की तरह उसकी चूत को चाट रहा था।उसके छोटे छोटे ट्रिम बाल बता रहे थे कि उसने आज ही ट्रिम किये हैं.

वो मौका मिलते ही मेरी चूत में उंगली करने लगता था या मेरे दूध मसलने लगा था. भैया भाभी के होंठों को चूस रहे थे, कभी उनके गले को, कभी उनके मस्तक को बार बार चूस रहे थे. तो मैंने आपा को गले से लगाये लगाये उनसे पूछा- यार आपा, बताओ न हुआ क्या है?उन्होंने थोड़ी देर बाद कहा- आज मैंने विशाल को किसी और लड़की को किस करते हुए देखा.

घर में कुआं होने से क्या होता है

मैंने कहा- सिर्फ किस करना है मेरी जान … तुम्हें इतने पास देख कर मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है. दूसरे ने कहा- अबे वो लौंडा है … क्या तुझे लौंडों में इंटरेस्ट है?वो बोला- अबे क्या लौंडा और क्या लौंडिया … साला लंड पेलने के लिए छेद चाहिए. मैंने अमित का लंड पकड़ कर अपनी बीवी की चुत पर सैट किया तो अमित ने धीरे से धक्का मार दिया.

बात तब की है, जब मैं हर बार की तरह बुआ के बुलाने पर उनके घर आया था. आपा को देखकर जसवंत बोला- आ गयी रंडी फिर से चुदवाने!हम दोनों को बहुत गुस्सा आया मगर हमने उससे कुछ नहीं कहा.

ऐसे ही करते करते उस्मने अपने पैरों को मेरी कमर पर एक नागिन की तरह लपेट लिया और मैंने अपना चुदाई का कार्यक्रम जारी रखा.

मैंने संगीता मैम से कहा- चलो जानेमन, अब बिस्तर पर आराम से चोदने की बारी है. पहली बार में ही इतना बड़ा लंड और इतनी लगातार चुदाई के बाद मेरी हालत ठीक नहीं थी. हम तीनों बैठ कर बातें करने लगे, मंत्री जी के लिए भी बीयर आ गई।मगर मंत्री जी का ज़्यादा ध्यान मेरी तरफ था।मेरी साड़ी का ब्लाउज़ थोड़ा लो कट था तो उसमें से मेरा क्लीवेज दिख रहा था.

उसे वहां बिठा कर मैं बाहर खाने के लिए कुछ व्हिस्की व स्नेक्स वगैरह लेने चला गया. बबीता पूरी पागल होने लगी और बोल उठी- आह जेठा भाई जेठा भाई … अय्यर को देखिए न कैसे मेरी चुत चाट रहा है. लेकिन मेरी सबसे पहली कहानी थीट्यूशन टीचर से प्यार और सेक्सदोस्तो, जब मैं संगीता मैम से ट्यूशन पढ़ रहा था, तब पूरे एक साल तक मैंने अपनी संगीता डार्लिंग की खूब चुदाई की.

योगेश ने भी अपना मुँह नहीं हटाया उसने मेरी चुत का सारा पानी चाट चाट कर खा लिया और मेरी चुत साफ कर दी.

पुरानी वाली बीएफ: जब उठने लगा तो मेरा लंड सिकुड़ कर चूत से बाहर आ गया और उसकी चूत से माल और खून का मिला हुआ रस बाहर निकल रहा था. उसके बाद तो मैं महीने में दो तीन बार अपनी देसी गर्लफ्रेंड की चुदाई करने लगा था.

फिर एक बार जब मैं अपनी फ्रेंड्स के साथ बाजार में कुछ खरीदारी करने गई. और जल्दी से जल्दी मेरे सारे पैसे वापस कर!यह कह कर उसने मेरे चूतड़ों पर एक लात मारी और मुझे वहां से भगा दिया. यह सुनते ही जसवंत मुझे मारने के लिए जैसे ही मुझे मारने के लिए आगे आया तो मैंने उसको बोला- भैया नहीं! मेरे मुंह से निकल गया.

कुछ पल बाद वो फिर से गर्म हो गई और मेरे झटकों का जवाब अपनी गांड उठा उठा कर देने लगी.

वो भी आंख बंद करके मदहोश सा हो गया और मदभरी सिसकारियां लेने लगा- आहह … ममहह … चूसो और चूसो … हाय्मम!दस मिनट तक मैं लंड चूसता रहा और उसने अपना सारा माल मेरे मुँह में गिरा दिया. तो मैंने रात की सारी बात उसे बतायी और मीनू की चूची के एक निप्पल को पीछे से मसलने लगा. फिर मैं वैसी ही नंगी वापस ससुर जी के पास गई और बोली- देखो क्या हाल बना दिया आपने मेरा!उन्होंने फिर से मुझे अपनी ओर खींचते हुए बेड पर लेटा लिया और मेरे शरीर के साथ खेलने लगे.