के के बीएफ

छवि स्रोत,बैंक ब्राउज डॉट कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन एक्स एक्स बीएफ: के के बीएफ, भाभी बोलीं- सैम, मुझे सेक्स के बाद ड्रिंक करने की आदत है … क्या तुम मेरा साथ दोगे?मैंने ओके कह दी.

प्यार कैसे होता है दिखाइए

मैं डर कर उठ गया और देखा कि एक औरत पेटीकोट और ब्लाउज में थी और अपने बाल पौंछते हुए बाहर निकल रही थी. सेक्स करने का तरीका बताएंमम्मी मुझसे पूछने लगीं- बेटा ये जेब में क्या रखे हो?मैं कुछ नहीं बोला मगर मेरे दिमाग में सिर्फ मम्मी को कैसे चोदूं कि ये आइडिया चलने लगा था.

इस बार फूफा जी नेमेरी चुत का भेदनकरने के लिए जल्दी ना करते हुए पहले मेरे सारे कपड़े उतारे. गाना गाने वाली सेक्सी वीडियोविलास थककर सोया था तो मैं उसे उठा नहीं सकता था और अपने लंड को काबू में ही नहीं रख सकता था.

दोस्तो, मैं केतन पटेल, अन्तर्वासना पर अपनी पहली सेक्स कहानी लिख रहा हूँ … प्लीज मेरी Xxx आंटी सेक्स कहानी पर अपने विचार देकर मुझे प्रोत्साहित करें.के के बीएफ: सरिता कसमसा रही थी और जोर से मेरे लंड पर गाउन के ऊपर से ही अपनी चुत रगड़ रही थी.

मैंने उसकी टी-शर्ट को गर्दन तक ऊपर कर दिया और ब्रा का हुक खोल कर उन दोनों कपोतों को जैसे अपना बना लिया था.मैं अनमने मन से उनके सामने बैठ गई और एक एक करके दोनों का लंड चूस कर पानी निकाल दिया.

सेक्सी चुदाई चोदा चोदी - के के बीएफ

अब मैं तुम्हें वो सब खुशी देना चाहता हूँ, जो मेरा दोस्त नहीं दे सका.मुझे बड़ी बड़ी चूचियों और बड़े बड़े चूतड़ों वाली लड़कियां बहुत पसंद आती हैं.

हालांकि दूसरी तरफ मैं खुद भी इन हरामियों के लंड से चुत चुदवाने का मजा लेने लगी थी. के के बीएफ मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं। मैं काफी समय से अपनी रियल फॅमिली सेक्स की कहानी शेयर करना चाहता था लेकिन कभी लिखने का मौका ही नहीं मिल पाता था.

वो मेरा लंड चूसती हुई कहने लगीं- सोनू, तेरा लंड तो अच्छा खासा लंबा और तगड़ा है … आज तेरे साथ चुदने में मजा आ जाएगा.

के के बीएफ?

फिर जैसे ही चाची ने अपना कोमल हाथ मेरे लंड पर लगाया तो मुझे जैसे जन्नत का सुख मिल गया. आपको ये सेक्स चेंज स्टोरी कैसी लगी कृपया[emailprotected]पर जरूर लिखें. एक मिनट यूं ही मेम को अपने लौड़े पर लिटाए रख कर मैंने उनसे फिर से पोजीशन बदलने को कहा.

जिस कमरे में मां को बुलाया गया था, उस कमरे में दो खिड़कियाँ, एक रोशनदान है. सेक्स आइटम भाभी की कहानी में पढ़ें कि हम नए घर में शिफ्ट हुए तो वहां पड़ोसन भाभी को देखा. तो वहाँ गुजरात राजस्थान और महाराष्ट्र के सभी बड़े बैंक कर्मचारियों की मीटिंग है.

अब मैंने मॉम की साड़ी खींच दी और साथ ही पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया. इस पर आंटी हंसती हुई बोलीं- वो चुदाना चाहती तो है, लेकिन तुमसे नहीं … सिर्फ वो सिर्फ तुम्हारे लंड जैसा लंड चाहती है. चूंकि भाभी ने मेरे लिए बहुत कुछ किया था और वह हमेशा मेरे साथ देती थीं.

फिर भी मैंने आज मेरी चड्डी बाहर डाली क्योंकि मुझे पता था कि तुम ज़रूर वापस आओगे. मॉम की चीख निकल गई, वो चिल्लाती हुई बोलीं- आंह मर गई … आराम से करो … दर्द होता है.

वहां हम दोनों ने एक दूसरे को पूरा साफ़ किया और फिर बाहर निकलने पर तो वो लग ही नहीं रही थी कि कोई नौकरानी हो.

दीदी की गर्म चूत की गहराई में जीभ देकर मैं भी पागल सा होने लगा था अब!वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … चूसो और जोर से चूसो.

उसके इतना कहते ही मैंने दीदी को अपनी ओर खींच लिया; उसके गुलाबी होंठों को चूमना शुरू कर दिया. वो एक 5 फुट हाइट की औरत हैं और उस वक्त उनका फिगर तकरीबन 34-28-36 के करीब था. विलियम का हाथ मेरे कंधे से नीचे उतरता हुआ मेरे कपड़ों के ऊपर मेरे दाएं बूब आ चुका था.

हालांकि उस वक्त मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बात नहीं मानी और उसके दोस्त के साथ चुदने से मना कर दिया. सोनाली सीत्कारने लगी- ओह आह ऊंई इस्स हाय ऊं ऊं हर्षद आहिस्ता डालो ना. मैंने उसकी गांड की दरार में अपना एक हाथ डालकर अपने लंड पर दबाव बनाए रखा था.

मैं उनके ऊपर लेट गया और उनके कोमल बदन पर होंठ फिराने लगा, फिर से उनकी एक चूची पर मुँह रख कर चूसने लगा.

उसे नंगा करकर, हाथ और घुटनों के बल चलाकर, रस्सी से खींचते हुए बरामदे में लाया गया. फूफा जी ने मुझे बताया कि उन्होंने पहले से ही एक रिजॉर्ट में रुकने के लिए रूम बुक कर रखा है. भाभी- मुझमें ऐसा क्या ख़ास है!मैं- आप ये बताएं भाभी जी कि आपमें क्या ख़ास नहीं है!मेरी बात पर भाभी शर्मा गईं और बोलीं- मगर आपके भैया को मेरी कोई कद्र ही नहीं है.

काफी लम्बी चुदाई के बाद एकाएक मेरी अम्मी जोर से चिल्लाईं- आह … उई … मैं गई. मैं किचन में ही बैठकर पढ़ने लगा क्योंकि रूम में दीदी पहले से जाकर लेट गयी थी. उधर विशाल ने नारियल तेल की बोतल प्रकाश को देकर कहा- आज रात ये तेल काम आएगा.

मैंने कहा- यार निशा, शिल्पा से कुछ करवा दे, वो मुझे बहुत मस्त लगती है.

वैसे यह कहानी मेरी मॉम की चुदाई की है तो दीदी पर ज्यादा बात नहीं करते हुए मैं सीधे सेक्स कहानी पर आता हूं. दीदी ने वापस मेरे होंठों में होंठ लगा दिए और हम दोनों फिर से किस करने लगे.

के के बीएफ चैट में उसकी फ़्रेंड मेरी दीदी को अपनी चुदाई की कहानी भी बता रही थी. मैं- मैं भी पटाना चाहता हूं लेकिन अभी कॉलेज बंद हैं और जिसे पसंद करता हूँ … वो मिल नहीं सकती.

के के बीएफ जैसे पुराने और जाने पहचाने ग्राहक को देखकर हर व्यापारी मुस्कुराता है, ठीक वैसे ही वो व्यापारी मुस्कुराया और हमारा स्वागत किया।बोलिये मैडम क्या दिखाऊ आपको?” हर दफा कहा जानेवाला डायलॉग उसने बोल के बात करना शुरू किया।मेरी शादी है. दीदी मेरे लंड को बहुत तेजी से चूस रही थी और मुझसे अब कंट्रोल नहीं हो पा रहा था.

और उनके घर में लड़ाई के कारणों में से एक ये भी था जो रागिनी को पता चल गया था.

बहन भाई की सेक्सी फुल एचडी

फिर उन्होंने ही एक आईडिया निकाला और मुझे बताया कि तुम ज़िद करना कि मैं भी दिल्ली घूमना चाहती हूं. मौसी ने कहा- क्या तुम मेरी ब्रा का हुक बंद कर सकते हो?मैंने ब्रा का हुक लगाया तो उसमें ब्रा को टाईट बांधने के लिए तीन विकल्प थे. मैं ब्रीफ लेने उसके पास गया तो उसने हाथ ऊपर करके कहा- पहले ये बताओ कि तुम नंगे क्यों सोये थे?तो मैं उसके हाथ से ब्रीफ छीनने लगा.

अब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने दीदी से पूछा- कहां पर निकालना है?तो दीदी ने भी लंड को मुंह से निकाल कर कहा- मेरे मुंह में ही गिरा दो. मैं उस वक्त मुठ मारना चाहता था मगर फिर सोचा आज कैसे भी करके कुछ करना है. इतना कहते ही मैं भाभी के मम्मों को फिर से दबा कर मसलने लगा और थोड़ी देर के बाद मैं अपने घर आ गया.

चूत का पूरा रस चाटने के बाद भैया ने अपना मुँह ऊपर उठाया तो उनकी आंखें वासना से एकदम सुर्ख हो गई थीं और मुँह पर भाभी की चूत का माल जहां तहां छपा हुआ था.

मैं ऐसे ही नंगा ही पड़ा रहा और विलास अपना मुँह मेरी जांघों पर रखकर सो गया. मैंने कहा- चलो ये बताओ, मैं आपको कैसा लगता हूँ!आंटी बोलीं- तेरे लिए मेरे दिल में अलग ही जगह है. उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अपनी बांहों लेकर मेरी पीठ को सहलाने लगा.

फिर उसने अपना टॉप उतारा, मैंने उसकी ब्रा को हटाया और मम्मों को चूसने लगा. वो एक 5 फुट हाइट की औरत हैं और उस वक्त उनका फिगर तकरीबन 34-28-36 के करीब था. मुझे ये सही मौका लगा, मैंने एकदम से उन्हें देख कर लंड मुठियाते हुए बोला- भाभी, आप यह क्या कर रही हो?तभी कविता भाभी अपने आप को संभाल कर बोलीं- और तू ये क्या कर रहा है … तेरी मम्मी को बताना पड़ेगा!मैं उसी हालत में लोअर नीचे घुटनों तक किए हुए उनके पास आ गया और मैंने उनको पकड़ कर कहा- मैं भी वही कर रहा हूँ, जो आप उस दिन बाथरूम में नहाते वक्त कर रही थीं.

मुझे लगा कि यही सही मौका है इसलिए मैंने भाभी के गिलास में दवा मिला दी और नाश्ता करने लगा. मैंने पीछे से उसकी चुत में लंड सैट किया और एक धक्के में पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.

ये बात सुन कर मेरी गर्लफ्रेंड नाराज हो गई और उसने कुछ नहीं करने दिया. वह थोड़ी सी शर्मा गयी।तभी प्रार्थना की घंटी बज गयी।मैंने आधी छुट्टी के वक्त अपने दोस्तों से अलग होकर उससे मिलने की सोची और फिर मैंने उसको चुपके से पर्ची में सारा प्लान बता दिया. बात कैसे बढ़ी?नमस्कार दोस्तो, यह मेरे जीवन की सच्ची घटना है जो पड़ोस की भाभी की चूत चुदाई की कहानी के रूप में पेश है.

फिर अंग्रेज ने मुझसे पूछा कि यह बस आपके पति की है?तो मैंने भी बोल दिया- हां मेरे पति की ही है.

ऐसा करने में उसके स्तन मेरी पीठ से दब जाते थे और मुझे इसका अहसास होता था. अब मुझे भी रहा नहीं गया तो मैं अपने हाथों से उसका सर सहलाने लगा और लंड पर उसके सर का दबाव डालने लगा. अनिकेत भैया के अलावा मामा का लड़का सुनील और पापा के दोस्त विक्रम हमारे मम्मी को चोद चुके हैं.

अगर मैं जिया दीदी की उम्र का होता, तो कसम से जीजाजी मतलब राहुल की बारी नहीं आने देता. दिनकर- तेरा लौड़ा क्यों खड़ा हो गया है बे!गगन- चाचा, तुम इतने गुस्से से मेरी मम्मी को मसल रहे हो न … इससे मुझे भी मजा आ रहा है.

कितना बड़ा है तेरा लंड … अन्दर बड़ी रगड़ दे रहा है … अह अअअह!अब मैंने भी पूरा लंड बाहर सुपारे तक खींच कर वापस अन्दर पेलना शुरू कर दिया था. मैं बोला- दीदी अगर आपको चुदवाना है, तो कहीं बाहर जाने की ज़रूरत नहीं है. मुझे बुरा तो लगा मगर जमीला ने तुरंत अपनी सलवार की डोरी खोली और मेरा हाथ पकड़ कर अपने गीली चूत पर रख दिया.

सेक्सी हिंदी राजस्थान की

हम दोनों अब डांस में मशगूल थे और मेरी तरह अब जिया दीदी भी खुश नजर आ रही थीं.

फिर क्या पता जैसे हुआ कि उसकी इस बात को सुन करमेरी काम वासनाजागने लगी. अब समस्या ये थी कि विशाल और प्रकाश लड़कों से क़ानून और समाज के कारण शादी नहीं कर सकते थे. मैंने कमर को हिलाकर जमीला की पैक चुत चोदने की कोशिश की तो उसने भी अपनी पैरों की जकड़ से मुझे आजाद कर दिया.

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैं भी अपने होंठों को उनके होंठों के पास ले आई और हमारा स्मूच चालू हो गया. मन किया अभी मार लूं … पर मैं चलता रहा और इन्वर्टर रूम में जाकर चैक किया, तो उसकी अन्दर से एक वायर निकली हुई थी. বিএফ ভিডিও বইप्रिया तेज़ स्वर से चीखी और बोली कि मेरी पीठ पर किसी कीड़े ने कुछ काटा सा है.

एक दो पल के बाद मैं हंस कर बोला- चाची आप तो बहुत सेक्सी हो और फोटोज भी बहुत सेक्सी लेती हो. मगर उसका नहीं हुआ था, तो वो मुझे गाली देने लगी- साले भैन के लौड़े इतनी जल्दी क्यों झड़ गया ….

अपना लंड चूत में डालने की फिर से कोशिश की लेकिन अभी भी लंड अन्दर नहीं जा पा रहा था. मगर उसका नहीं हुआ था, तो वो मुझे गाली देने लगी- साले भैन के लौड़े इतनी जल्दी क्यों झड़ गया …. हमारे बीच इतना अधिक अपनापन हो गया था कि मैं कभी कभी बातों बातों में उनके गालों की चुटकी काटकर कह देता कि हाय भाभी आपके गाल कितने मुलायम हैं.

ये सुनकर मम्मी ने बोला- अरे बस इतनी सी बात, तुम परेशान मत हो … मैं अभी शुभ से बोल देती हूँ, वो तुमको मार्केट ले जाएगा. भाभी बोलीं- क्या ये सही है यश … मेरी बहनों को नीचे सुला दिया?मैंने बोला- भाभी मैंने तो कहा था कि बेड पर सो जाओ, मैं नीचे सो जाता हूँ. तो मुझे मेरी ईमेल आईडी पर कमेंट कर अगली सेक्स कहानी लिखने को प्रेरित जरूर करें.

वो रात को भी खाना लेकर आई लेकिन अबकी बार उसके चेहरे से साफ लग रहा था कि वो मुझसे नाराज है.

अजय ने ये सुना तो वो बोला- अच्छा इसका मतलब उसकी लौंडिया शादी के लायक हो गई है, उसके लिए लंड की खोज चल रही है. जिस तरह से दीदी मेरे लंड को चूस रही थी उसको देखकर लग रहा था कि उसको लंड चूसना बहुत अच्छा लगता है.

एक ने कहा- भाभी, कल ही रिकार्डिंग ही आपका काम करने के लिए काफी है, पर ये तो हम अपने पर्सनल कलेक्शन के लिए कर रहे हैं. जैसे ही वो बिस्तर पर लेटी, मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसकी लाल टी-शर्ट को एक झटके में उतार कर अलग फैंक दी. मैं आपसे गुजारिश करता हूं कि अगर आप भी किसी से सच्चा प्यार करते हैं, तो उसको कभी भी शिकायत का मौका ना दें और धोखा ना दें.

तो उसका भी हौसला बढ़ गया और उसने मुझसे धीरे से कहा- आपके हाथ बहुत ही सुंदर हैं. तभी आंटी ने पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा कि अभी तो कोई नहीं है. मैंने बाथरूम में जाकर खुद को साफ़ किया और बाहर हॉल में सोफे पर आकर बैठ गया.

के के बीएफ नवाज़ को पढ़ाने के बाद मैंने भाभी से पूछा- भाभी, शाम को खाना खाने ले लिए आ जाऊं?तो भाभी बोली- ठीक है. फिर क्या था … मैंने उसे कस कर पकड़ा और अपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए और पांच मिनट तक उसे चूमता रहा.

गुजराती भाषा में सेक्सी पिक्चर

इस तरह से वो दस मिनट की चुदाई में झड़ गई।वो इस वक्त दोबारा गर्म हो चुकी थी. मैंने पूछा- चाची क्या हुआ?वो बोलीं- कुछ नहीं बस वो फोटो देखने के बाद कुछ कुछ हो रहा है. मैं भी और जोश में आ गया और उसकी दोनों चूचियां जोर जोर से चूसने लगा.

[emailprotected]माँ बेटे की चुदाई हिंदी कहानी का अगला भाग:परिवार में बेनाम से मधुर रिश्ते- 4. थोड़ी देर पैर भी दबाकर तू जाकर पढ़ाई कर … तुझे अभी होमवर्क भी कम्पलीट करना होगा।मैंने भी हां कर दी. किन्नर की बीपीवो खुद मुझसे चुदने को मचलने लगी थी, लेकिन मिलने का कोई मौका नहीं मिल रहा था.

भैया भाभी की रस भरी चूत को चूसने लगे और भाभी अपनी टांगें फैला कर चूत चुसवाने का मजा लेने लगीं.

अगले दिन सुबह जल्दी ही मामा जी आ गए और कुछ देर बाद हम दोनों वापस निकल गए. उसे तो अपनी चुत चटवाने में इतना सुख मिल रहा था कि वो आह पर आह बोलती हुई मेरे सर को अपनी चुत पर दबा रही थी और चिल्ला रही थी- आंह चूसो बाबू और चूसो.

इस बीच हम लोग बातचीत करते रहे और पता ही नहीं चला कि कब 2 घंटे बीत गए. उसके काम के बारे में पूछने पर सीमा भाभी ने एक मॉल में काम करने की बात कही. विलियम का हाथ मेरे कंधे से नीचे उतरता हुआ मेरे कपड़ों के ऊपर मेरे दाएं बूब आ चुका था.

क़रीब पांच मिनट तक होंठ चूसने के बाद मैंने जैकेट खोल दी और कपड़े ऊपर कर के अपने निप्पल उसके मुँह में लगा दिए.

मैंने सोचा कि अभी बात करके कोई फायदा नहीं है, जब हम दोनों अकेली होंगी, तो बात करूंगा. इस वक्त मुझे झड़ी हुई चाची की चूत चुदाई में बहुत मस्त मज़ा आ रहा था. फिर मैंने उससे फिर से पूछा- क्या अभी भी नहीं करना!वो बोली- क्या?मैंने- सेक्स!उसने सिर झुका लिया और हां में हिला कर जवाब दे दिया.

सेक्स करने वाला ऐप्सएकदम गोरी और मक्खन सी कमर देख कर मेरा मन करता कि बस जाकर उन्हें पीछे से जकड़ कर चूम लूं और उनके मम्मों को निचोड़ दूँ. तो हम लोगों ने उसी वक्त तय कर लिया कि इस बार घर ना जाकर यहीं मजा लिया जाए.

अमेरिका के सेक्सी वीडियो दिखाएं

जब प्रकाश ने शादी के पहले प्रेम संबध के बारे में पूछा तो वह रोने लगी. सच कहूँ तो जब से मैं समझदार हुआ, तब से मैं जिया दीदी से पसंद करता था लेकिन जिया दीदी किसी और से प्यार करती थीं. रवि- तो क्या अब यहीं रुक जाएं, हमारा मिलन क्या यहीं अधूरा छोड़ दूँ?मैं- नहीं मेरी जान … अधूरा कुछ नहीं छोड़ना आज.

शुरू में तो कुछ खट्टा सा लगा मगर उसकी चुत की मादक महक मेरे तन बदन में आग लगाने लगी थी तो बेहद मज़ा आ रहा था. तब सुम्मी ने उसे बताया कि आज दिनकर घर आया था, उसकी बेटी को देखने लड़के वाले आने वाले हैं. सोहल ने अपना लंड गांड से खींच कर बाहर निकाला और कपड़े से पौंछ कर हनी के मुँह में दे दिया.

मैं उनके रूम में जाने के लिए जैसे ही उठा तो मैंने देखा कि चाची बिल्कुल नंगी होकर आंगन में नहा रही थीं. फिर एक दिन लवी से मेरी फ़ेसबुक पर बात हो रही थी, तब उसने मुझे बताया कि उसकी सी ए की पढ़ाई का काफ़ी नुकसान हो रहा है. मैंने हंस कर कहा- हां आंटी मुझे भी आपके बारे में ऐसा ही कुछ लगता था कि आप बहुत चुप रहने वाली लेडी हैं.

वह शॉवर बंद करके मेरी ओर आ गईं और मेरा लंड पकड़ कर बोलीं- चलो, मैं तुम्हारी मदद कर देती हूँ. कुछ देर अपना लौड़ा अपनी कामवाली रांड शबाना चाची के मुँह में घुसाकर चोदने के बाद वीरू ने उसको बिस्तर पर लिटाया और अपनी गांड लेकर उसके मुँह पर बैठ गया।पोर्न देख देखकर वीरू को भी अपनी गांड रंडी से चटवाने का मन होता था तो उसने अपनी शब्बो को इस काम के लिए चुन लिया.

अब आगे देसी हॉट गर्ल्स कहानी:जब मैं कुच्ची के साथ शब्बो के गांव की तरफ चल पड़ा तब मैंने कुच्ची से पूछा- अब तो बता मादरचोद.

मैं अपनी गोरी गांड ऊपर उठाने लगी और अपने प्यारे पति से कहा- मेरी जान, अब मत तरसाओ … अपना लंड मेरी चुत में उतार दो … आंह जल्दी से चोद दो मुझे … आह ऊई मां. चोदी चोदा वीडियो हिंदी मेंहज़ीरा थोड़ी झुकी हुई थी और बोल रही थी- आह मजा आ रहा है सर … आह और जोर से धक्का मारिए न सर!सीमा को उसी पल दूसरी आवाज सुनाई दी, ये ये रमेश सर की आवाज थी. सकेस वीडियोफिर अंग्रेज ने मुझसे पूछा कि यह बस आपके पति की है?तो मैंने भी बोल दिया- हां मेरे पति की ही है. वह धीरे धीरे मेरे हाथों की उंगलियों को अपने हाथों की उंगलियों में डालकर मेरे हाथ से खेलने लगा.

मैं अगले 30 मिनट तक टीवी देखता रहा था हालांकि मुझे कॉलेज के लिए देर हो रही थी.

फूफा जी ने मेरी कमर में … और पीठ में हाथ डालकर हाथ डालकर मुझे और भी जोर से अपने सीने से चिपका लिया. चुदाई की फच फच की आवाज़ों ने पूरे कमरे को अपने संगीत में डुबो दिया था. मैं आगे बढ़ने से पहले आपको उस भाभी के बारे में थोड़ा बता दूँ जिस भाभी की चूत मारी मैंने!भाभी का नाम आंचल था, उनकी उम्र 33 साल थी.

शीना के मम्मे कभी तुषार की छाती से रगड़ खाते कभी राजीव से।चूमा चाटी तो बदस्तूर जारी थी।अब नीचे आग लगनी शुरू हो गयी थी और ऊपर से शावर की बूंदों ने अपना कमाल दिखाना शुरू कर दिया था।राजीव नीचे बैठ गया और शीना की चूत चाटने लगा. जब मैं नहा धोकर बाहर आया तो दीदी अभी भी वैसे ही चूत फैलाये हुए लेटी हुई थी. मैंने फ़ोन उठाया और पूछा- क्या हुआ आंटी, मेरी मम्मी मानी या नहीं?वो बोलीं- नहीं, ऐसा वो नहीं कर सकती.

खिलाड़ियों की सेक्सी वीडियो

मैं अपना लंड उसके मुँह के पास ले गया तो वो समझ गयी और होंठ खोल कर मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने धीरे से अपने जीभ को उसके चेहरे पर फिराना शुरू कर दिया और अब मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा. [emailprotected]हॉट दीदी सेक्स कहानी का अगला भाग:बर्थडे पर स्पेशल गिफ्ट दीदी की चूत- 3.

मैं उस वक्त मुठ मारना चाहता था मगर फिर सोचा आज कैसे भी करके कुछ करना है.

फिर जब वो कोमल को बहुत तेजी से चोदने लगा, तो कोमल समझ गई कि अब ये झड़ने वाला है.

वो बोलीं- अरे तुम अपने लंड को क्यों छू रहे हो?इस बार मौसी ने साफ़ शब्दों में लंड कहा तो मैं उनकी तरफ देखने लगा और कुछ जोर से लंड हिलाने लगा. कहीं मां ने देख तो नहीं लिया?सोचकर मैंने किसी तरह से जवाब दिया- हां, रात में देर तक पढ़ाई कर रहा था और लेट सोया था. माधुरी की सेक्स वीडियोकरीब साढ़े आठ बजे विलास के मोबाइल पर सरिता का फोन आया- खाना तैयार है, आ जाओ.

बाकी दिन विशाल मोहन और रवि के साथ … और प्रकाश सोनू के साथ संभोग करते. मैंने कहा- साथ में मैं तुम्हारी पीछे से भी लूंगा … और हां मुझे मलाई भी चाटनी है. और हां वो ईमेल के जरिए मेरी इस देसी हॉट गर्ल्स कहानी को अपना प्यार देना न भूलना.

अब मैंने अपना तौलिया हटा दिया तो मेरा मोटा लम्बा लंड पैंटी के ऊपर से अम्मी को रगड़ रहा था. हम दोनों देर रात तक बात करते रहे और कब रात के दो बज गए, कुछ पता ही नहीं चला.

क्यूट भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि बस स्टॉप पर मिली भाभी से दोस्ती के बाद उसे मैंने पहली बार अपने ही घर में कैसे चोदा.

मैं बोला कि शर्म की क्या बात … तू भी अपने बॉयफ्रेंड से दबवाती होगी. मैंने भाभी की चूत चुदाई काफी देर तक की और अपना पूरा पानी चूत में ही छोड़ कर भाभी के ऊपर ही लेट गया. शाम तक मैंने सामान पैक कर लिया और तब तक भाई भी घर पर आ गया और बोला- जल्दी चलो, मुझे वापस ड्यूटी पर जाना है.

भोपाल की सेक्सी इससे पहले भाभी एक बार झड़ चुकी थीं लेकिन जब मैं झड़ा, तब तक वो दुबारा से गर्मा गई थीं और अभी उनकी चुत ने रस नहीं छोड़ा था. इतने में सासू माँ भी अपने कपड़े ठीक करती हुई मेरे पास आई और बोली- तुम यहीं लिविंग रूम में बैठो, मैं अभी तुम्हारे लिए कॉफी लाती हूं.

मैं भाभी को सेक्सी और फनी वीडियो दिखाने के लिए अपना मोबाइल दे देता था. जिसमें ऊपर कट आस्तीन का ब्लाउज था और आज तो भाभी ने साड़ी बहुत नीचे से बांध रखी थी. मैंने अपने हाथ से उसका चेहरा ऊपर किया और कहा- अब तो खुश हो?वो हंसती हुई बोली- हां अब मैं बहुत खुश हूँ.

मंत्री की सेक्सी

जिया दीदी- क्या बोल रहे हो, कहीं आज सेलिब्रेशन में ड्रिंक्स तो नहीं कर ली तूने?मैं- मैंने ड्रिंक नहीं की है दी … मैं पूरे होश में बोल रहा हूं. मैंने उसके मम्मों को तेजी से चूसना शुरू कर दिया और दूसरी उंगली को उसकी चूत पर रख दिया. मैं उसके कपड़ों के ऊपर से उसकी चूची पर ही अपना मुँह रगड़ने लगा और दांतों से निप्पल को काटने लगा.

अब अंजलि भाभी मुझसे बोलीं- कैसी लगी मेरी बहन?मैं बोला- बहुत सुंदर और मस्त है साली. उसने अपने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर रगड़ा और हिलाने लगी.

मैं जिया दीदी के साथ बात करने लगा- तो कैसा लग रहा है दी?जिया दीदी- तुम सोच से भी ज्यादा स्ट्रोंग हो.

नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हूँ और यहां की सभी सेक्स कहानियां बड़े चाव से पढ़ता हूँ. वो फिर से कराहने लगी लेकिन मैं धीरे धीरे करके दीदी की चूत में लंड फंसाता रहा और मैंने लंड को दीदी की चूत में पूरा का पूरा उतार दिया. ये मुझे बहुत प्यार करती है और मेरा ख्याल रखती है। बस कुछ चीजें इससे चूक जाती हैं वो तुम पूरा करती हो।मुग्धा को देखते हुए मैंने कहा- ठीक यही बात तुम पर भी है.

अब भईया ने भाभी के दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख लिया और जोर से धक्का दे मारा. उसने मुड़ कर मेरे चेहरे को हाथ में भरा और प्यारा सा किस करके कहा कि अभी जाने दो, कल वापस मिलेंगे. इस वक्त मुझे झड़ी हुई चाची की चूत चुदाई में बहुत मस्त मज़ा आ रहा था.

लेकिन कुछ समय बाद मुझे मॉम की गदरायी जवानी का अहसास गर्म करने लगा था और मैं उनकी इस मादक जवानी का दीवाना हो गया था.

के के बीएफ: न्यूड भाभी हॉट कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी जवान पड़ोसन को सिर्फ पैंटी में देखा. इस हरकत से सोनाली सिहर उठी- आह इस्स … हर्षद गुदगुदी हो रही है!ये कह कर वो मेरा लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगी.

उस सब में मुझे टाइम का पता ही नहीं लगा और मैंने लवी के मैसेज भी नहीं देखा. बाथरूम पहुंचने से पहले ही मेरा आधा मुट्ठ लोवर में निकल गया बाकी मुट्ठ बाथरूम में गिराकर साफ किया।मुट्ठ से थोड़ा लोवर भीग गया था. सीमा को कंपनी देने के लिए मैंने भी अपने बाल बढ़ाये थे और जो हालत सीमा की थी ठीक वैसी ही मेरी थी।हमारी बग़ल में से बदबू आ रही थी और अभी तो शाम के 6 ही बजे थे.

मैंने अपनी पैंट और अंडरवियर उतार कर अपने खड़े लंड पर कंडोम चढ़ाने लगा.

वो मुझसे अपने आपको छुड़ाने की पुरजोर कोशिश कर रही थी पर कामयाब नहीं हो पाई. तुम मेरी मारो तो बोलो?जावेद मुस्कुरा कर बोला- मजा आया, ऐसे तो कोई नहीं मारता. सभी दरवाजे खुले थे और कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था।मेरे ससुराल का घर दो मंजिला बना हुआ है.