बांग्ला लोकल बीएफ

छवि स्रोत,భూమిక బిఎఫ్

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स वीडियो सेक्सी भेजें: बांग्ला लोकल बीएफ, एक दिन शाराब पीते हुए अमित ने ही मुझे बताया कि सविता उसके न रहने पर अपने पुराने दोस्त को उसके घर बुलाया करती थी और उसके कितने ही मर्दों के साथ संबंध थे.

देवर भाभी राजस्थानी सेक्सी वीडियो

दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीप्राइवेट सेक्रेटरी की रसीली चूत का मजामें पढ़ा था कि मैंने अपनी पड़ोसन रेशमा को अपने ऑफिस में काम पर रख लिया था और उसे मुंबई लाते समय ट्रेन के कूपे में ही पटक पटक कर चोदा था. आंटी जी सेक्सी वीडियोमेरी नजर बार बार भाभी के चूचों पर ही जा रही थी जो ऊपर से ही अन्दर तक साफ नजर आ रहे थे.

वो भी कामुक आहें भरने लगी और अपने दोनों पैर मेरी कमर में लपेटकर चुदवाने लगी. सेक्सी वीडियो आ जानामैंने भी जीभ से चूत के चारों तरफ चाट कर साफ़ कर दिया और चूत के छेद के बिल्कुल किनारे तक जीभ लेकर छोड़ने लगा.

मैंने उसके गालों को चूमते हुए कहा- सोनाली आज मैं तुम्हें हर वो खुशी देना चाहता हूँ, जो तुम्हें हमेशा खुश रखेगी.बांग्ला लोकल बीएफ: वो मेरे सामने एकदम नंगा हो चुका था और मैं भी अपना गाउन खोल कर उसके आगे नंगी हो गयी.

मुझे थोड़ा डर भी लग रहा था कि कुछ बवाल न हो जाए, मगर लंड में हरकत भी हो रही थी.एकदम कसी हुई, लाइट पिंक कलर की, बिना बालों वाली कमसिन सी वर्जिन Xxx बुर.

राजस्थान नंगी सेक्सी वीडियो - बांग्ला लोकल बीएफ

उसकी उम्र शायद 42 साल की रही होगी, लेकिन वो 35 साल की माल सी दिखती है.थोड़ी देर बाद कोई बाइक से आया तो मैं दरवाजे से हटकर खेत में छुप गया.

मैंने उससे नितिन के बारे में पूछा कि ये कहां गया है?सानू ने कहा- मुझे मालूम नहीं … मगर आइए, वो जब तक आता है, तब तक आप तब तक मेरे रूम में बैठें, कैसे आना हुआ … कोई खास काम?मैंने कहा- बस ऐसे यूं ही गप्पें लगाने आया था. बांग्ला लोकल बीएफ मस्त चुदाई का मजा लिया मैंने जब अपनी पड़ोसन भाभी को उनके पति के सामने चोदा.

तो बिना लंड के मेरा क्या हाल हुआ?नमस्कार दोस्तो, मैं कोमल मिश्रा अपनी नई सेक्स कहानी में आप सभी दोस्तों का स्वागत करती हूं.

बांग्ला लोकल बीएफ?

मेरे बड़े बड़े दूध पर वो जगह जगह काटे जा रहे थे और मैं मचलती जा रही थी- आआह हहआ आहह पापा जी आआ हह कैसे कर रहे हैं … आआ हह दर्द हो रहा है पापा जी … आऊऊच आआ आहह. दो साल पहले मेरे शादी हुई थी लेकिन बैंक की उच्च पद की नौकरी के कारण मेरा तबादला कुछ ही समय में हो जाता था. मैंने उसे साहसिक निर्णय लेने के लिए बधाई दी और कहा- कल उसी समय मेरे घर आना.

यह सेक्सी फॅमिली की चुदाई कहानी परिवार के सस्दयों के बीच में सेक्स की है. छोटी कमर और गदरायी हुई बाहर को निकली हुई गोल मटोल छत्तीस इंच की गांड देखकर मेरा लंड तनाव में आने लगा था. बाद में मैंने अपनी पकड़ ढीली कर दी, तो रेखा ने चार पांच बार लंड को अन्दर बाहर किया और उठकर मेरी जांघों पर बैठ गयी.

अब 2017 का साल आया और अमित ने एक दिन अचानक से कहा कि मैं कुछ दिन काम पर नहीं आऊंगा, तुम कुछ दिन काम सम्हाल लेना. मुझे भाभी की चुत चोदने में ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी कुंवारी लौंडिया को चोद रहा हूँ. [emailprotected]ओपन सेक्स का मजा कहानी का अगला भाग:प्राइवेट सेक्रेटरी की कुंवारी गांड चुदाई का मजा- 2.

तभी रियान खड़ा हुआ और बोला- मैं अभी आता हूँ, जब तक आप दोनों बातें करें. मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी यह Xxx कुकोल्ड हस्बैंड सेक्स कहानी पसंद आयी होगी.

हां हर्षद … लेकिन तुम्हारा लंड इतना बड़ा है कि एक झटके में मेरी चूत फाड़ दी.

9 महीने बाद मम्मी को एक बेटी हुई वो मेरी बहन भी थी और मेरी बेटी भी!तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्सी फॅमिली की चुदाई कहानी?कमेंट्स में बताएं.

क्या तुम यहां मुझे सताने आए हो, मैं सुलग रही हूँ और तुम ठीक मेरी तरह पहली बार चेतना को भी धोखे में रौंद रहे हो. मैंने एक हाथ से बूब्स मसले और दूसरे को कंधे के पीछे कर लिया ताकि वो उठ नहीं जाए. अब मैंने उससे आगे कहा- मेरी इन सभी बातों को तुम बहुत ही गंभीरता से लो.

मैंने ऐसा बोला, तब नेहा भाभी हंस दीं और आप से तुम पर आती हुई बोलीं- जबसे तुम्हें पहली बार पार्क में देखा और पता चला कि तुम मेरे पड़ोसी हो, तब से तुम पर मेरी नज़र है. लेकिन मेरा पति शराबी था और वो अब नहीं रहा, इसलिए मैं सभी सुख से वंचित थी. मैं दरवाजे के बाहर खड़ा था और अन्दर झांक कर देखने की कोशिश करने लगा.

वो अन्दर से आयी- क्या हो गया … अच्छा नहीं बना क्या?ये कहती हुई वो मेरे सामने ही बैठ गयी.

मैं- अरे वो सब छोड़ गांडू, पहले ये देख क्या चीज लाया हूँ तेरे लिए!मैंने मोबाइल उसके सामने रखते हुए धीमी आवाज में उसकी गांड चुदाई का वीडियो चला दिया. जब मैंने उसे मेरे लंड को चूसने को कहा, तो वो बोली- तुम जो भी कहोगे, मैं वो सब कुछ करूंगी. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी और मेरे लंड में पुनः जान आना शुरू हो गई, तो वो लंड की मुठ मारने लगी.

कुछ मिनट लंड ऐसे ही अन्दर बाहर करके मैंने पूरा लंड अदिति की चूत में उतार दिया था. उसकी लाल लिपस्टिक, गाल और चेहरा एकदम गोरा देख कर मेरे पैंट के अन्दर छिपा हुआ शैतान जाग चुका था. बातों ही बातों में पता चला कि शिराज और साबिरा के अब्बू दुबई में काम करते हैं.

पैंटी डोरी वाली थी, वो सिर्फ चुत को कपड़े से ढक लेती और गांड के बीच में उसकी डोरी फंसी रहे.

उनकी चूत से तेल को साफ़ करके मैं जमीन पर बैठ गया और उनकी रसभरी चूत को चाटने लगा. फ़लक ने मेरे लंड को मुँह से बाहर निकाल दिया और वो उत्तेजना अमे बड़बड़ाती हुई बोलने लगी थी ‘आह अगम मैं आ रही हूँ … आंह मर गई … आह …’फिर जैसे ही उसने झड़ना शुरू किया तो उसने तेजी से पूरे लंड को मुँह में भर लिया और इतनी तेजी से चूसने लगी कि मुझको लगा, जैसे ये मेरे लंड को ही उखाड़ कर अलग कर देगी.

बांग्ला लोकल बीएफ मैं- ओह … तो भाभी ये दिक्कत है … आपको दाद हुई है, पर इसमें इतना परेशान होने वाली कौन सी बात है!भाभी- भैया तो क्या करूं. लंड सरसरता हुआ पूरा अन्दर घुस गया तो मेरे मुँह से निकला- उई मां फट गयी मेरी बुर … साले भोसड़ी वाले ने फाड़ डाला … तेरी बिटिया की बुर … मम्मी … आह रे अब मैं मुँह दिखाने के काबिल नहीं रही.

बांग्ला लोकल बीएफ जैसे जैसे मैं चूत चाट रहा था, वो और ज़्यादा आवाज़ें निकलने में लग गई थी. मैंने उससे पूछा- तुम मुझे कैसे जानती हो?उसने एक कातिल सी स्माइल दी और बिना कुछ बोले वहां से चली गई.

मैंने उठकर उसके सर के नीचे तकिया लगा दिया और एक तकिया उसकी गांड के नीचे रख दिया.

भाई ने अपनी बहन की चूत मारी

चुदाई के बाद हम तीनों को खूब जोरों की भूख लगी थी तो एक बाबा ने हम सबके लिए खाना बनाया. मैंने सोचा कि यदि इनको हल्ला मचाना होता तो अब तक आसमान सर पर उठा लिया होता. उसने एक मनमोहिनी मुस्कान के साथ मुझे चाबी दी और बोली- आपकी चाबी?मैंने बोला- जी मेरी चाभी नहीं, नीचे वाले फ्लैट की चाबी.

मैंने उठकर 69 की पोजीशन लेकर सोनाली की गोरी और मांसल जांघें दबोच लीं और अपने दोनों हाथों से सहलाने लगा. जैसा कि मैंने आपको बताया कि हमारे घर में एक फकीर का आना जाना रहता था. मैं बोला- अभी तो और मजा आएगा, लेकिन तू अपना मुँह बंद रख!मैं घबरा रहा था कि अगर भाभी जाग गयी तो क्या होगा.

फिर जब मैं आयशा की कमर में बाम लगाने लगा तो उसकी नर्म और मुलायम कमर का स्पर्श होने पर मेरा लंड खड़ा होने लगा.

लेकिन चूत बहुत ज्यादा टाईट थी जिस वजह से लंड अन्दर जा ही नहीं था और उसे बहुत दर्द होना शुरू हो गया था. अमित ने ये भी बताया कि उसने सविता को घर पर पूरी नंगी होकर चुदते हुए देख लिया था. रुचिका जोर से चीख पड़ी- हाय मम्मी … मर गई … आंह फट गई मेरी … हाय मम्मी बचाओ.

अच्छा हुआ कि आप पTकिस्तान में नहीं हैं और भारत के लोगों ने अभी तक आप को देखा नहीं, नहीं तो kश्मीर के बाद भारत और पTकिस्तान के लिए जंग का मुद्दा आप ही बन जातीं. कुछ दिनों बाद मैंने नोटिस किया कि पापा अपने रूम में सोनम का नाम लेकर मुठ मारते हैं. फिर भाभी आप कोई और काम करोगी क्या?भाभी- भैया मैं पढ़ी लिखी तो ज्यादा हूँ नहीं … तो कौन मुझे काम देगा?मैं- मैं दूंगा आपको काम!भाभी- आप मुझे कौन सा काम दोगे?मैं उसकी उभरी हुई चुचियां देख कर बोला- अरे भाभी, आप तो सभी काम करने लायक हो.

जब मेरे धक्के तेज़ हुए तो वो मेरे सीने पर गिर गयी और अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ देने लगी. अर्चना दीदी अपने भाई का आठ इंच का मूसल लंड गटक कर बेसुध हो गई थीं और कराहती हुई रोने लगी थी.

उन्होंने अपने पैरों को पूरा खोल दिया और मुझसे बोलीं- अच्छे से मालिश कर दो. उनकी इस तरह की बातों से मेरा मुरझाया हुआ लंड चुत में फिर फड़कने लगा. थोड़ी देर तक उंगलियां गांड में घुमाता रहा, फिर मैंने कहा- हां, अब तैयार?बस ये कह कर मैंने राकेश की गांड पर लंड टिका दिया.

मैं बाथरूम में नहा रहा था और ये उसको पता नहीं था, उसने अचानक से बाथरूम का दरवाजा खोल लिया और तभी तुम्हारा फ़ोन आ गया.

धीरे धीरे कुछ और लड़कियां हमारे ग्रुप में आ गईं और वो भी लंड, बुर, चूत, भोसड़ा की बातें करने लगीं. अपने निप्पल को मसलवाते हुए अञ्जलि ने अपने होंठों और दांतों में मेरे होंठ चूसने चबाने लगी, साथ ही तेज और लंबी सिसकारियां भरी सांसें लेने लगी. रेखा ने दोनों कप भर दिए और मुझे एक देकर कहा- चलो सोफे पर बैठकर पीते हैं.

कुछ देर बाद मैंने उसे सीधा खड़ा किया और उसकी टांग उठा कर उसकी चुदाई करने लगा. अब हम दोनों बिल्कुल नंगे एक दूसरे से लिपटे हुए थे।तभी वो बोली- अब शांत क्यों हो? मुझे जल्दी से ठण्डी करो.

मेरे मुँह से वापस से ‘आहह … यहांहा बेदर्दी … ओहहह … मार दिया …’ निकल गया. नीता ने भी दोनों हाथों से अपनी चूत की फांकों को तान कर रखा था लेकिन सुपारा अन्दर नहीं घुस रहा था. मैंने सोनाली को अपनी बांहों में कसते हुए उसके गुलाबी और मुलायम होंठों चूसना शुरू कर दिया.

जेन यूट्यूब डाउनलोड

फिर हमने वहां बने रेस्तरां से एक वाइट सॉस वाला पास्ता ऑर्डर किया और पैक करवा कर कार में ही बैठ कर खाने लगे.

मैंने कहा- भाभी, आज आप एक काम कर ही दो, मेरा प्रपोजल स्वीकार कर लो क्योंकि अब मैं आपके इस सवाल से थक चुका हूँ. तुम मेरी मदद करोगे ना बाबू … तुम मुझे चोदोगे ना?मैं ये सब भाभी के मुँह से सुन कर एकदम से शॉक्ड हो गया था, पर अन्दर से खुश भी था. भाभी मुझे देख कर खुश हो गईं और बोलीं- अच्छा हुआ जो तुम आ गए, मैं बहुत घबरा रही थी.

सोनाली ने झुककर अपने दोनों हाथों में मेरा नब्बे डिग्री में तना हुआ लंड पकड़ा और सहलाने लगी. वो बोली- मुझे लगता है कि तुम्हारे रहने से मेरी आजादी में खलल पड़ता है. वेस्ट इंडीज की सेक्सी वीडियोअब वो मेरे सामने ब्लू कलर की डिजाइनर ब्रा और ब्लैक कलर की पैन्टी में थीं.

मुझे जोर लगाना पड़ा, पर जब पूरा चला गया तो साथियों ने उससे कहा- अब तो चुप कर, पूरा चला गया, तू नखरे बहुत कर रहा है. मैंने उसके अंडरवियर को हाथ लगाया तो उसने उसे भी उतार कर दूर फेंक दिया और मेरी तरफ पीठ कर खड़ा हो गया, अपनी गर्दन मोड़ कर दांत निकाल कर चुनौती भरे अंदाज में मुझे देखने लगा.

लगातार दस मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों ही झड़ गए, हमारे कामरस भी आपस में मिल गए. लॉकडाउन से पहले हमने वहां काम शुरू किया था पर अगस्त तक काम रोकना भी पड़ गया. वो मेरे हाथ पकड़ कर अपने बेडरूम में ले गई और वहां जाकर उसने अपनी ब्रा उतार कर मुझे अपने बड़े बड़े चूचों के दीदार करवा दिए.

मैंने उसे समझाया और बताया कि मैं अपनी गारंटी पर अधिकतम 30 लाख तक का लोन पास करवा सकता हूँ लेकिन ब्याज की दर थोड़ी बढ़ जाएगी. ‘क्या बात है सर … एकदम टाइट है ये कभी बैठता नहीं है क्या?’‘तुझे देख कर खड़ा हो जाता है. वो एकदम मुझसे सट कर ये बात कर रहे थे- बताओ मेरे बेटे से शादी करोगी या नहीं?मैं हंस दी.

तब मुखिया जी बोले- अब मुझसे क्या शर्म चंदा रानी!ये बोल मुखिया जी ने माँ के दोनों हाथों को पकड़ा और हटा दिया.

मेरी पिछली कहानी थी:पार्टनर की जवान बीवी तलाक के बाद चोदीमैं उम्मीद करती हूं कि मेरी पिछली कहानियों की तरह आप इस क्यूट गर्ल सेक्स कहानी को भी पसंद करेंगे. दोस्तो, मैं अनीषा एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करती हूँ.

जब मेरे लंड को देखा, तो उसे भी साफ कर दिया और कपड़े को सिराहने की तरफ रख कर बिस्तर पर लेट गयी. मैंने कहा- इस तरह के लिंग से तुम्हारा क्या आशय है?वो बोली- तुम्हारे लिंग का सुपारा जिस तरह से खुला है न … उसका मतलब है कि तुमने बचपन में अपने लंड का खतना करवाया है. बीस मिनट बाद जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ और वह थक गई तो अपने मुँह में लौड़े को ले लिया और लंड चूस कर मुझे डिस्चार्ज करने में लग गई.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी गोरी गदरायी हुई गांड को मसलते हुए कहा- सोनाली, जब से मैंने तुम्हें देखा है, तभी से तुम्हें चोदने के बारे में सोच रहा था. हम लोग अपनी अपनी जिंदगी के बारे में बातें कर रहे थे और साथ ही अपनी सेक्स लाइफ के बारे में भी बात कर रहे थे. नमस्कार दोस्तो, मैं रोहतक से राज हुड्डा आपके सम्मुख पुन: प्रस्तुत हूँ.

बांग्ला लोकल बीएफ ये सीधी उसके पेट में गयी क्योंकि उसने मेरा लंड मुँह से बाहर निकाला ही नहीं था. लेकिन यह बहुत मुश्किल काम था क्योंकि मेरे घर ऐसा कोई आता जाता भी नहीं था और मैं अकेली कहीं भी बाहर जाती नहीं थी जिससे मेरी किसी मर्द के साथ दोस्ती हो सके.

छोडा छोड़ि छोडा

चुदाई का खेल अपने चरम रोमांच पर था और घचाघच घचाघच चुदाई करते हुए महंत चुत की बखिया उधेड़ रहा था. परेशान होकर मैंने भी कह दिया कि आप मेरे आने जाने के टिकट बुक करवा दीजिए. भाभी की चुदाई दूधवाले से करवा दीआज मैं एक और चुदाई कहानी लेकर आई हूँ.

जब मैंने उनको ज्यादा तड़पाया तो खुद से लंड पकड़ कर नीचे से धक्का देने लगीं. मेरी आंखें चमक उठीं और मैंने एक पल का समय भी न गंवाते हुए लंड को अपने मुँह में ले लिया. ब्लू सेक्सी वीडियो हिंदी फिल्मकई कई बार वो सांस लेने के लिए खुद ही मुझे कमर से पकड़ कर हाथों से धकेल देता था जिससे मेरा लन्ड उसके मुंह से कुछ पल के लिए दूर हो जाता था.

बस मैं रोज रात को माँ को खेत पर मुखिया जी और डॉक्टर से चुदते देखता क्योंकि अब माँ को भी सेक्स की लत लग गयी थी.

पूरा चूत रस पी लेने के बाद मैंने अपनी जीभ नीता के मुँह में डालकर उससे पूछा- लो चखो मेरी जान और बताओ कैसा है तुम्हारी चूत के अमृत का स्वाद?नीता मेरी जीभ चूसकर बोली- बहुत ही स्वाद भरा और खट्टा स्वाद है. मैंने भी लंड का सुपारा उसकी चूत की दरार में रखकर एक जोर का धक्का मार दिया.

फिर कुछ देर बाद जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैं अनजान बनने का नाटक करते हुए सीधा बाथरूम में घुस गया. अब तो मेरी स्थिति और भी दयनीय हो गयी थी क्योंकि मेरे चूतड़ों से ऊपर का हिस्सा बेड के ऊपर था और मेरी टांगें नीचे लटक रही थीं. मम्मी- आहह मां उइ मां अहह उफ़्फ़ करो करो … और करो जोर से करो … मजा आ रहा है.

उस फकीर ने पता नहीं क्या सोच कर मेरी बीवी को सैट करके उसके साथ जिस्मानी ताल्लुकात बना लिए.

कुछ ही झटकों में वो झड़ गई और चूत में पानी की गर्मी से मेरा लौड़ा भी विचलित हो गया. अब मैंने उससे आगे कहा- मेरी इन सभी बातों को तुम बहुत ही गंभीरता से लो. वो मैं आप लोगों को बीवी की जुबानी बता रहा हूं:जैसे ही मैं फकीर के रूम में पहुंची और मैंने उसके पैरों का बोसा लिया.

श्रुति हसन के सेक्सी वीडियोमैं- तभी आप उनको मटका कर चलती थीं न!वो- नहीं, ऐसी बात नहीं … खुद ही वो हिलते हिलते पता नहीं कैसे इतने बड़े हो गए!मुझको लगा कि लोहा गर्म है. डांस करना और गाना गाना भी लड़कियां सीख जातीं हैं जैसा कि इस शहर का कल्चर है.

सेक्सी फिगर वीडियो

मैंने भी ललिता भाभी को अपने बाजू में लिटा लिया और उन्हें किस करने लगा. ’‘हां देखते ही तो नंगी कर लेते हो और क्या चाहिए आहह …’‘आह हां ये तो है. इस पर उसने कुछ जवाब नहीं दिया और मैंने भी उससे कुछ ज्यादा नहीं कहा.

उफ्फ … क्या रसीले होंठ थे भाभी के!उनके गुलाबी होंठों का रस आज भी मेरे होंठों पर ताजा है. अञ्जलि मेरी नज़र और भावनाओं को समझ गई थी या शायद उसे भी मेरी जरूरत थी. अपने हाथ की उंगलियों से गर्दन पर गुदगुदी भरी छुअन से उसको छूते हुए, उसके सामने से घूमा और दो कदम चलकर उसके पीछे खड़ा हो गया.

कहानी के पिछले भागमाँ के कहने पर पापा को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी मां की सलाह पर अपने पापा को गर्म करने लगी थी. दोस्तो, नंदा की बड़ी लौंडिया मेरे लौड़े से चुद चुकी थी और अब छोटी की चूत चुदाई बाकी थी. सेक्स कहानी के आने वाले भागों में आपको माँ बेटियों के साथ मेरी चुदाई का मजा मिलेगा.

इस बार मैं जल्दी झड़ने वाला नहीं था क्योंकि दिन में एक बार लंड झड़ चुका था और अब दवा का असर उसे खड़ा ही रखे हुए था. मैं लौड़े को इतना अन्दर तक दबाता कि सुपारा उसकी बच्चेदानी को रगड़ कर बाहर आने लगा.

वो भी ‘आह ऊंह आह्ह ऊंह उम्म्म …’ की मादक आवाज निकालती हुई गांड हिला हिलाकर चुदवाने लगी.

उस वक्त वो बिस्तर पर बैठे हुए थे और सामने मेज पर शराब रखकर पी रहे थे. गुस्से वाली सेक्सी वीडियोदोस्तो, आपको देवर भाभी GF BF कहानी कैसी लगी, मुझे कमेंट्स करके जरूर बताइएगा. सेक्सी वीडियो हॉट गानाअचानक जीजा के मुँह से गालियां निकलने लगीं- मादरचोद रंडी तेरी मां का भोसड़ा … ले साली लंड खा!साली भी गांड उठा कर मजे से चुदवाने लगी. अब मैं ऐसा कुछ करना चाहती थी, जिससे कि मेरे देवर का दिमाग हिल जाए और वो मेरा दीवाना हो जाए.

सरीना भाभी आनंद का लण्ड चाटने लगी और आनंद मेरी बीवी रेखा की बुर चाटने लगा.

एक दिन मैं उनके घर गया तो …दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मैं ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. नीता ने झड़ते समय मुझे अपनी बांहों में कस लिया और आंखें बंद करके निढाल होकर सिसकारियां लेती हुई लेटी रही. वो बाय बोल कर फोन काटती हुई पलटी और बोली- आप आराम से एंजॉय करते हुए नहा लीजिये आमोद जी, मुझे जल्दी नहीं.

इस सबसे मैं भी इतने जोश में आ गया कि मैं अब उसकी चुत फाड़ने के लिए कंडोम लगाने लगा. वो बोली- तुम्हें मजा आया कि नहीं प्रकाश … मैं तो बहुत एन्जॉय कर रही हूँ. आंटी ने उस दिन पहली बार मुझसे बात की कि मुझे बाजार से ये सामान ला दो.

कामसूत्र सेक्सी

उसने ब्रा से एक पर्ची निकाल कर मेरे हाथ में दे दी और बोली- मेरे घरा जाते ही फोन करना … बात करनी है तेर त. उन्होंने मेरी चूत को देखा और मेरे दोनों पैरो को एक साथ झटके से फैला दिया और अपना मुँह चूत पर लगाकर चाटने लगे. मेरी पिछली कहानी थी:अन्तर्वासना ने प्यासी चूत को लंड दिलायाआज मैं आप सभी के समक्ष अपनी एक नई सेक्स कहानी लेकर प्रस्तुत हूं.

मैंने पहले उसे बिस्तर पे लिटाया और कहा कि कपड़े निकाले।उसने हम दोनों के कपड़े निकाल दिए.

मैंने जोश में आकर अपनी बीच वाली उंगली अदिति की चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा.

जैसे ही पैंटी में हाथ डाला, समझ आ गया कि चूत पानी से सराबोर हुई पड़ी है. मैंने अपने दोस्त राकेश के चूतड़ पर हाथ फेर कर कहा- इसकी तो अभी झांटें भी नहीं आई हैं, अभी एकदम चिकनी रखी है. सेक्सी वीडियो कॉल करने वालायह मेरी पहली सेक्स कहानी है देसी भाभी की चूत चुदाई की … मुझे उम्मीद है कि आप लोग इसे पसंद करेंगे.

मैंने उससे कहा- तुम भी बैठो ना साथ में!उसने कहा- मैंने शाम को ही खा लिया था. वे हमारे घर कम ही आते हैं पर फिर भी मेरी थोड़ी बहुत दोस्ती हो गई थी अंकल से। मैं उनके साथ बैठ कर वाइन भी पी लेती थी लेकिन कभी इसके आगे नहीं बढ़ी।मैंने सिर्फ एक मैक्सी पहन ली. फकीर ने अपने हाथों से मेरी बीवी का हाथ पकड़ा और लंड पर रख दिया और मुठ मारने के लिए बोला.

अपना एक हाथ मैंने उसके मम्मों पर रखा और दूसरा उसकी मोटी सी गांड पर रख दिया. अब आगे GF सेक्स ऑन रोड:सुबह जब हम दोनों उठे तो नित्य क्रिया आदि से फारिग होकर खाना खाने को लेकर बात करने लगे.

आज मैं सेक्स की बात करके अपनी दोस्ती को थोड़ी आगे बढ़ाऊंगा और इसी तरह धीरे धीरे भाभी को सैट करने की कोशिश करूंगा कि अगली बार मैं उनके साथ सेक्स कर सकूँ.

मैंने अपनी पूरी रफ्तार से ललिता भाभी की चुदाई शुरू कर दी और तेज़ी से सटासट अन्दर बाहर करके चोदने लगा. फिर वो अपने आप डॉगी स्टाइल में आ गयी और उसने अपनी गांड हिला कर मुझे संकेत दिया. वीरू के बदन से आती पसीने की खुशबू ने शब्बो की जवानी की आग फिर से भड़का दी। वीरू ने भी दर्द का बहाना करके शब्बो के भरे हुए बदन पर अपना हाथ साफ़ किया.

सेक्सी देखने के लिए वीडियो में रूचि ने एक बार फिर से अपनी चूत को साफ किया और लड़खड़ाती जुबान से बोली- आज मुझे सभी तरीके से चोद देना. हमारे बीच लगातार बातें चलती रहती थीं, जिस वजह से हम दोनों को कई मर्तबा टीचर से डांट भी खानी पड़ जाती थी.

मछलियां देने गया तो बरामदे में सिर्फ शैली मामी भाजी काट रही थीं, चेतना नहीं थी. हम दोनों ने 12 वीं तक एक साथ पढ़ाई की थी और उसके बाद दोनों का साथ छूट गया था. अब दोपहर हो गयी थी तो मैंने तीनों के लिए खाना बनाया और खाने के बाद हम तीनों कमरे में आ गए.

बोरीवली स्टेशन

अभी मैं कार एक किनारे लगा कर कुछ करने ही वाला था कि उतनी देर में संजना के भाई का फोन आ गया. रुचिका बोली- अपने अपने पैग हाथ में ले लो, किचन में चल कर आमलेट बनाते हैं. अब भी बोलो, तो इसकी में से निकाल कर तेरी में डाल दूँ?राकेश फिक्क से हंस दिया.

लगभग 10 मिनट ऐसे ही चुदाई करने के बाद मुखिया जी ने अपने लन्ड को माँ की चूत से बाहर निकाला. पर मैं शाम तक इंतजार करने लगा कि कहीं मिहिका, मेरी मामी को कुछ बता ना दे.

वो बोली- क्या हुआ, जो इसे उठाना पड़ा?मैंने कहा- पहली बार था, इस वजह से चलने में दिक्कत आ रही है.

उन्होंने मुझसे कहा- क्या तुम मेरी चूत चाटोगे?मैंने कहा- हां भाभी, मैं जरूर चाटूंगा. तीनों चूत वालियों को नंगी देखने के बाद हम सब अपनी अपनी लड़की को लेकर अलग अलग कमरे में चले गए. वहां पर ज्यादा लोग नहीं थे तो हम दोनों एक कोने की टेबल पर बैठ गए और प्रियांशु मेरे साथ चिपक कर बैठ गया.

पापा जोरदार धक्के दिए जा रहे थे और मम्मी को उठा उठा कर चोदे जा रहे थे. उस अनजान लड़के के का नाम तो मुझे पता नहीं था पर वो साला पूरी ताकत से शिराज की गांड मारे जा रहा था. मैं- चल मादरचोद, तेरी भी बात मान लेता हूँ, पर उसके बदले में तुझे मेरा हर हुकुम मानना पड़ेगा, वरना तेरी सच्चाई पूरी दुनिया को दिखा दूंगा भोसड़ी के गांडू.

जिस हिसाब से वो मुझे चोद रहे थे उससे मुझे पक्का यकीन हो गया कि ससुर सेक्स के एक माहिर खिलाड़ी हैं और इनके साथ मुझे बहुत मजा आने वाला है.

बांग्ला लोकल बीएफ: अब वो भी मेरा साथ देने लगीं और कहने लगीं- आंह रोहन चोदो … और चोदो … आज से मैं तुम्हारी रखैल हूँ. मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और उनकी जीभ को चाटना और चूसना शुरू कर दिया.

’‘आह बहुत टेस्टी हैं तेरे निप्पल मेघा …’इधर पजामे में सर का हाथ अन्दर चल रहा था. कमरे में चुदाई की मधुर आवाज़ फचा फच फच चट की जबरदस्त गूंज आ रही थी. अब जो मैं बोला, वो करता जा वरना तेरे घर की इज्जत कचरे के डब्बे में मिलेगी तुझे बहनचोद.

तभी उनके कुटुम्ब के चाचा सुन्दर जो उनके पड़ोसी भी थे, ने मुझे देख कर कहा- ये डाक्साब मेरे यहां सो जाएंगे, किशोर तुम परेशान न हो.

मैंने अपनी सभी तैयारियां पूरी कर लीं और तीन दिन बाद ट्रेन से उसके शहर पहुंच गया. मैंने रेखा को नंगी देख कर फिर से अपने लंड को सहलाना शुरू कर दिया था. मैं टीवी देखकर या फिर अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़कर अपना टाइम पास कर रही हूँ.