बीएफ देखने वाली हिंदी

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी देवर भाभी की

तस्वीर का शीर्षक ,

सपनों की सेक्सी वीडियो: बीएफ देखने वाली हिंदी, ये सब मैंने इतनी ताकत के साथ किया था कि हेमा चाची कांपने लगी थीं और बिस्तर पर पड़ी पड़ी आहें और कराहें भर रही थीं.

हिंदी बीएफ अंग्रेजी

इस GF BF सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी दूकान पर आने वाली जवान लड़की से दोस्ती की. आगरा सेक्सी बीएफ वीडियोमुझे देखते ही वो उठ खड़ा हुआ और मुस्कराकर बोला- तुम कब आईं?मैं बोली- काफी टाइम हो गया.

पोर्न फिल्मों में गांड मरवाते देखती थी तो मन तो मेरा भी था कि एक बार पिछवाड़े को भी ड्रिल करवाना है. पंजाबियों की बीएफअन्तर्वासना2 सेक्स कहानी के पिछले भागइंस्टीट्यूट में बांके जवान लड़के का लंड चूसामें आपने पढ़ा कि मैंने अपने इंस्टिट्यूट के स्टाफ के लड़के को पता कर उसके साथ सेक्स का मजा लेना शुरू कर दिया.

प्रिया भाभी के गोरे गोरे मोटे चूचे के ऊपर डार्क ब्राउन कलर के निप्पलों को देखते ही मुँह में पानी आ गया.बीएफ देखने वाली हिंदी: मगर फिर मैंने भी कुछ दूरी पर अपनी बाइक रोकी और छुपते छुपाते उनकी कार के पास पहुंच गया.

हम दोनों की व्हाट्सएप पर सेक्स चैट और लाइव सेक्स वीडियो कॉल भी होती थी.मैं अभी उनकी चूचियों को आंखों से चोद ही रहा था कि मैडम ने अपने पेटीकोट का नाड़ा ढीला कर दिया और अगले ही पल पेटीकोट रहम की भीख मांगता हुआ उनकी चुत पर कसी स्किन कलर की थोंग पैंटी को अनावृत करते हुए जमीन पर गिर गया.

देहाती सेक्स बीएफ एचडी - बीएफ देखने वाली हिंदी

आंटी ने भी कम्पूटर पर चलती ब्लू-फिल्म देखी और बिना किसी शर्म के मेरी तरफ वासना से देखने लगीं.अब वो हमारी क्लास में पूरा नंगा खड़ा था जिसका लन्ड मेरी ही मैडम चूस रही थी।अब वो नीचे आया तो पूनम ने उसे अपनी कुर्सी पर बैठा दिया और खुद नीचे बैठ कर साहिल का लौड़ा चूसने लगी.

जब चाची वाईपर से चबूतरे का पानी नीचे की ओर झुक कर खींच रही थीं, तो उस वक्त गुलाबी नाईटी से उनकी गांड मस्त उभर कर नजर आ रही थी. बीएफ देखने वाली हिंदी उसने दरवाजा खोला और मुझे देखकर बोली- इतनी जल्दी आ गये?मैंने कहा- हां, मेरा काम जल्दी हो गया तो मैं आ गया.

कुछ देर के बाद रूम के बाहर निकल कर मैं उसके रूम की तरफ बढ़ा पर उसके रूम का गेट सटा हुआ था और वो लोग अंदर थे।मैंने हल्का सा गेट खोला और अंदर झाँक कर देखा.

बीएफ देखने वाली हिंदी?

मैंने उसके मुंह में झटके मारने शुरू कर दिए और एकदम से मेरे लौड़े ने पानी छोड़ दिया. मैं उससे यही सब बातें करते हुए धीरे धीरे से लंड उसकी गांड में डालता जा रहा था. वो मेरी तरफ देख कर न जाने क्यों ऐसा बोला- साब चलो जब तक अपना गोदाम ही दिखा दो.

अब हर झटके में चाची की सिसकारियां तेज़ हो गई और पूरे कमरे में ‘आहह आह ओहह हहम्म आह’ की आवाज़ गूंज रही थी।थोड़ी देर बाद लंड ने चूत में जगह बना ली और सट सट अंदर बाहर होने लगा।अब चाची को मजा आने लगा, वे बोली- राज और जोर से … और जोर से … आह … तू तो अपने चाचा का बाप है।मैं जोश में आ गया और लन्ड की रफ्तार बढ़ा दी. जो पुरूष मित्र ट्रेन से यात्रा करते हैं उनको पता होगी कि मैं क्या कह रहा हूं. मैंने कहा- जब आप लखनऊ आओ तो मुझे कॉल कर लेना।बाद में पता चला कि उसका घर लखनऊ में ही है।फ़ोन पर उस लड़की की आवाज़ बहुत अच्छी लग रही थी।दो दिन बाद वो जब लखनऊ आयी तो मुझे कॉल किया और फ़ोन लेने के लिए बुलाया।मैं उसका फ़ोन लेकर उससे मिलने को चल दिया।उसके साथ उसका भाई भी आया था तो ज्यादा बात नहीं हो पायी.

वो मस्ती से चुत में लंड लेते हुए बोलीं- आह … उधर क्या कर रहे हो?मैं बोला- अब मुझे आपकी गांड चोदना है. जिसके कुछ समय बाद साहिल भी मेरे मुंह में अपना मुँह घुसा कर मुझे चूमने लगा और उसका हाथ कभी मेरी कमर को सहलाता तो कभी मेरी पीठ को।हम दोनों उस तेज़ ठंडी हवा में और एक दूसरे के होंठों को इस तरह चाट रहे थे मानो शहद हो. मैंने हैरानी से पूछा- तो क्या आपने समीर को भी?वो बोले- हां, मैंने उसकी गांड मारी हुई है.

मेरे सामने मेरी सेक्सी बुआ का मदमस्त गोरा जिस्म, काली ब्रा और काली पैंटी में इतना हॉट लग रहा था कि मैं उन्हें अपलक देखने लगा. मेरी मामी जी, मेरे मामा जी का बड़ा लड़का और भाभी जी सूरत में रहते हैं.

अब अम्मी ने सलमान से रुकने को कहा और उठ कर सामने ड्रेसिंग टेबल से सरसों के तेल की शीशी ले आईं.

मैंने उसके सामने थोड़ा दिखावटी गुस्सा किया और बोला- ठीक है, मगर मुझे इसके बदले 2 लाख और चाहिएं.

हम दोनों अब एक दूसरे में मानो खो से गए थे, हमें अब किसी चीज की खबर ही नहीं थी. इसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि कई दिनों तक हेमा चाची से चुदाई का सुख नहीं मिला. फिर मैंने धीरे से उसकी पैंटी को नीचे की ओर खींचा और उसकी छोटी सी कमसिन चूत बेपर्दा होती चली गयी.

मैंने पूछा- कैसा लगा?रिया बोली- ऐसा मजा तो मेरा बॉयफ्रेंड कभी नहीं दे पाता. मगर होंठों का दरवाजा तो बलविंदर के होंठों ने बंद किया हुआ था सो उसकी चीख उसके मुँह में ही दब कर रह गई. लेकिन उसकी खासियत ये थी कि वो किसी के भी हिस्से का प्यार दूसरे को नहीं देता था और सब को बराबर का मज़ा देता है अभी भी।Xxx हिंदी स्टोरी के सभी भागों में आपको मजा आया होगा ना?[emailprotected].

वो चिल्ला उठीं- आह मार दिया … धीरे करो ना … तुम्हारा लंड बड़ा भी है और मोटा भी … आह साले ने फाड़ दी मेरी.

विजय ने मेरा मुँह दबाया हुआ था इससे मेरी आंखें बाहर को निकल आई थीं. वो अपनों आंखें बंद करके मस्ती से बड़बड़ाने लगी- आह फक मी हार्ड … आह पूरा डाल कर चोदो … आह आपके लंड ने मुझे जन्नत में पहुंचा दिया है. मैं आपको अपनी मां की चुदाई की कहानी बता चुका हूं जिसमें वो एक साथ दो मर्दों से चुदी थी और मैंने वो लाइव चुदाई देखी थी.

मैंने सोच रखा था कि अगर आज आदित्य आगे नहीं बढ़ा तो मैं खुद उससे सेक्स के लिए कहूंगी. इस तरह की बातें ज्यादातर मैं नेहा से तब करता था, जब मैं और अमित दारू पीते थे. फिर मैंने अपना मुँह उसके होंठों से हटाया तो वो दर्द से उंह आ करते हुए मुझे कोसने लगी.

बलविंदर ने उसके होंठों पर मदहोशी में अपने हाथ का अंगूठा फिराया और कहा- जैसे मैं तुम्हारी चूत को मुँह में लेकर चूसता हूं और तुम्हें आनन्द आता है.

मेरे परिवार वाले उनसे खुलकर बात करते थे लेकिन मैं चाची से थोड़ा दूर ही रहता था. दोस्त की बीवी की चुदाई की इस कहानी को लड़की की वासना भरी आवाज में सुनें.

बीएफ देखने वाली हिंदी मैंने कहा- तो आंखें बंद करो और सोचो कि मैं तुम्हारे बेड पर आ गया हूं. पति के जाने के बाद दो साल से ऊपर हो गए, मैं इन सब बातों को भूल चुकी हूं.

बीएफ देखने वाली हिंदी एक महीने से मैं घर पर अकेली थी, उनको देखकर मेरा खुश हो जाना लाजिमी था. दोस्तो, इस मदमस्त कर देने वाली हॉट वाइफ सेक्स कहानी के अगले भाग में मेरी बीवी दारू के नशे में क्या क्या कमाल करने वाली है, पढ़ कर आपके लंड चुत फड़क उठेंगे.

तो दोस्तो, आपको मेरी प्यासी पड़ोसन Xxx कहानी अच्छी लगी या नहीं? जरूर बताना.

च मारने के फायदे और नुकसान

उस दिन उसे अपने बेटे को भी लेने जाना था, तो वो मुझसे स्कूल छोड़ते हुए जाने की बोली. मैं सास को बोल दूंगी कि पापा का ध्यान वो रखे। फिर हम दोनों को कोई दिक्कत नहीं होगी. फिर मैंने हेमा चाची का हाथ पकड़कर मेरे लंड के पास से उठाकर अपनी छाती पर रख दिया और मैंने अपने दोनों हाथों को हेमा चाची की गांड पर दबा कर उनके चूतड़ों को मसल दिया.

प्रीति- आह … आहहह … ओह … राहुल बहुत दिनों के बाद ये सुख मिला है, आह जोर से करो … रुको मत उम्म मम्म ओह आहहह अह … साले कितना अन्दर तक पेल रहा है. अब सलमान ने अम्मी को धीरे धीरे चोदना शुरू कर दिया था, जिसे अम्मी ने मीठे दर्द के साथ झेलना शुरू कर दिया था. तब बलविंदर ने भी उसकी चुत को मसला और कहा- हां, मेरी बेबी मुझे चूमने लगी है.

मैंने अपने हाथों और पैरों पर मेहंदी लगवाई और मेहंदी की डिजाइन में अमन का नाम भी लिखवाया.

एक ने बोला- इतना मजा तो कभी नहीं आया … जितना आज तुमने हम चारों को दिया है. कुछ देर बाद वो चीज मिल गयी तो साहिल ने रानी की पीठ पर हाथ फेरते हुए कहा- कैसे देखती हो जो नहीं मिल रहा था?अब साहिल ने बोला- मैंने तुम्हारी मदद की है. मैंने भी उसकी पीड़ा समझी और मैं अपनी मंजिल की ओर नीचे की तरफ कदम बढ़ाने लगा.

कि कैसे फटी मेरी चूत पहली बार!इस सेक्स कहानी के पहले भागजवान होते ही मेरी बुर लंड मांगने लगीमें आपने मेरे बारे में सभी बातें पढ़ी थीं और जाना था कि कैसे मेरी और राहुल की दोस्ती हुई. अपना लंड चुत पर सैट किया और एक तेज झटके में पूरा लंड अन्दर कर दिया. मैंने ओके कहा और फोन चालू रख कर मैं भाभी के पास उनको फोन देने आ गया.

जाने से पहले सोहेल मुझसे मिला और उसने मुझसे कहा- तुम ही मेरे परिवार का ध्यान रखने वाले हो. बलविंदर ने अलीमा को अपनी गोद में उठा लिया और बाथरूम में जाकर दोनों ने नंगी हालत में ही अपने हाथ धोए.

अगर आप दूसरा भाग भी पढ़ना चाहते हैं तो मुझे लिखें, मैं इसका अगला भाग भी आपके लिये लिखूंगा. वो मेरे इस तरह आने से एक बार को तो चौंकी, मगर अगले ही पल उसने मुझे हैलो बोल कर बैठने को कहा. कोई 5-7 मिनट ऐसे ही चुदने के बाद मैंने बोला- मैं थक गया हूँ … मुझे लेटा दो … या घोड़ी बना दो.

फिर अचानक से वो मेरे मुँह से मुँह लगा कर मुझे चूमने लगी और मेरे मुँह में लगा खुद की चुत के रस का स्वाद लेने लगी.

हर्षदीप- ठीक है, कल चलते हैं।अर्पित- अरे, मूवी तो अभी देखनी है, कल जाकर क्या करेंगे?हर्षदीप- अभी रात में?अर्पित- हां, तो क्या हुआ?हर्षदीप- अरे वो इलाक़ा ठीक नहीं है रात के लिए. थोड़ी देर बाद ट्रेन आ गयी और सारी भीड़ उसमें चढ़ने के लिए भागी और अन्दर घुसने के धक्का मुक्की होने लगी. मैं लगा रहा और पूरा लंड चुत में पेल कर बुआ की चूचियों को चूसने लगा.

मैं- अमित ने नंगा करके चोद दिया क्या?नेहा- नहीं यार … वो तो बस अपने कमरे में सो रहा था. लम्बे काले बाल, 34 के साइज के रसीले आम, 30 की बलखाती कमर और गांड के तो कहने ही क्या! उसको देखकर मन करता था कि चूत भले न मिले लेकिन इसकी गांड मिल जाये तो जिन्दगी संवर जाये.

खेत में एक ख्याल मेरे दिमाग में आया कि रात को तो भाई गन्ने लेकर मिल में जाने के लिए रवाना हो जायेगा. झड़ने के बाद मेरा मूड बदल गया और मैंने हेमा चाची से कहा- चाची अब बंदर चले गए हैं. उनकी आंखों में वासना के डोरे देख कर मैं भी समझ गया कि बुआ की चुत में चींटियां रेंगने लगी हैं.

सेक्स मूवी फुल वीडियो

मुझे बेहिसाब दर्द हो रहा था मगर किसी तरह से मैं दर्द बर्दाश्त कर रही थी.

फिर मैं भी उसी कमरे में रहने लगा था क्योंकि मुझे अपनी प्राइवेसी चाहिए थी. मुझे उस समय अन्दर से बहुत अच्छा लगा कि इसने मुझे मेरी चुत की सील टूटने की अग्रिम बधाई दी. मगर एक बार मेरी बात खराब होने के बाद मैं दुबारा किसी से बात नहीं करूंगी.

लेकिन उसी लड़के को एक दूसरी लड़की ने पटाया और मैंने उन दोनों के ओरल सेक्स का नजारा देखा. मैंने अपना मुँह हेमा चाची की चूचियों पर लगा दिया और बारी बारी से दोनों मम्मों को चूसने लग. नेपाल के बीएफ वीडियोमेरे खड़े लंड को देख कर भाभी ने अपने दांत से अपने होंठों को काट दिया.

मेरा लंड का सुपारा अब लोअर में से ही भाभी की पैंटी में घुसने की कोशिश करने लगा. कुछ देर बाद उसने मुझे टेबल के सहारे से हटाया और मुझे हवा में ही झुका कर मेरी गांड एक बार फिर से पेलने लगा.

आगे बढ़ने से पहले मैं आपको भाभी के बारे में थोड़ा बता देता हूं।उनका नाम रीना है और उम्र 25 साल है. हम दोनों इसी कमरे में सो जायेंगे।प्रिया- शिवम् कहां सोएगा?भाभी- यहीं तेरे साथ ही लेटा ले. वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा कर बोली- ठीक है, अभी 5 मिनट में ला देती हूं.

धीरे धीरे बस में भीड़ बढ़ती गई और इसी के चलते मैं कब सभी के बीच में आ गया, मालूम ही न चला. इस बार उसने थोड़ी देर बाद मेरे लंड को चूत से हटाकर मुँह में ले लिया और मजे से लंड चूसती रही. पर दो बार देनी पड़ेगी।संतो- ठीक है सेठ जी। आज कर लो जो करना!सेठ- आज नहीं संतो, कल भी आना पड़ेगा। इतने रुपए छोड़ दिए तो दो दिन तो देनी पड़ेगी।संतो ने कुछ नहीं बोला और अपनी सलवार उतार कर पास में रखी चावल की बोरी पर रख दी।सेठ जी ने भी अपना पजामा उतार दिया और लंड हाथ में पकड़ कर सहलाने लगा। सेठ का लौड़ा मोटा सा दिख रहा था.

फिर उसे सॉरी बोलते हुए वो केक साफ करने के बहाने से उसकी चूचियों को छेड़ने लगा.

इससे मेरी भी उत्तेजना बढ़ जाती, तो मैं भी उन्हें वीडियो कॉल करके अपने कमरे में मुठ मारते हुए उनके सामने अपना वीर्य निकाल कर दिखाता. उसके हाथों का स्पर्श मेरे जिस्म में एक अजीब सी सनसनी पैदा कर रहा था।हिमानी की निगाहें मुझ पर ही टिकी थीं.

[emailprotected]मेरी चुत स्टोरी का अगला भाग:बॉस के बिज़नेस पार्टनर से चुद गई- 2. हेमा चाची अपने कोमल हाथ से मेरे मुरझाए हुए लंड को पकड़ कर सहला रही थीं. भाभी बोलीं- एक बात बताऊं … वो तो खुद तुम से बात करने के लिए पहले से तैयार है.

चूचियों को बारी बारी से चूसते चूसते बलविंदर ने अलीमा के मुँह में अपनी अंगूठा डाल दिया. उसने अपने लंड पर कॉन्डम पहन लिया और उसकी चूत पर ऊपर से लण्ड रगड़ने लगा. ‘आआह विजय … आह कितना मजा आ रहा आआह … और करो विजय आआह तुम कितना मस्त चुदाई करते हो आआआह … मम्मीईई.

बीएफ देखने वाली हिंदी मैंने उससे पूछा- कैसी हो भाभी? बुखार कैसा है?भाभी ने कहा- जल्दी से किसी अस्पताल ले चलो. मेरी चूत में पहले से ही परम का लंड था और अब गांड में राज का लंड घुस गया.

लिपस्टिक रंगों

अब बस चल पड़ी और उन्होंने कोई हिंदी मूवी चला दी जो मैंने पहले भी देख रखी थी. उसकी चूत से पानी निकलने लगा और चूत लंड के घर्षण से फच फच की आवाज गूंजने लगी।वो बोलने लगी- ओओओ ओऔऔ मीत ममम मस्त चोद रहे हो! और डालो अंदर … मेरी चूत का भोसाड़ा बना डाललौ उममययम्!मैंने उसे जोर से और जोर से धक्का देना शुरू कर दिया।15 मिनट तक चोदने के बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी और आखिर में मैंने उसकी चूत में ही मेरा सारा माल छोड़ दिया. एक रात चाचा खेत में था और मैं छत वाले कमरे में सो रहा था।थोड़ी देर बाद मेरी चाची आ गई और उसने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया।चाची ने अपनी साड़ी ब्लाउज और पेटिकोट खोल दिया और मेरे ऊपर आ गई।मैं अंडरवियर पहने था मेरा लौड़ा चाची के जिस्म की गर्मी से खड़ा होने लगा।हम दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

बहुत बार मैंने भाभी के नाम की मुठ भी मारी हुई थी।मुझे कभी मुझे ऐसा मौका नहीं मिला था कि मैं भाभी को चुदाई के लिए मना सकूं।उनकी मेरे साथ अच्छी बनती थी. सुरभि कहने लगी- यह छेद तो बहुत टाइट है … इसमें आपका लंड कैसे समाएगा?मैंने कहा- इस छेद में भी चला जाएगा बन्नो. ಸ್ಯಾಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಕಮ್हेमा चाची मेरी गर्दन पर किस कर रही थीं और अपने हाथों को मेरी छाती पर फेर रही थीं.

जब मैं गुड़गांव आ रहा था तो चाची रोने लगी।मां उनको समझाने लगी- उसका काम है तो जाएगा.

फिर वो बोली- अब तू जा और उसे अन्दर भेज दे।ये बोल आंटी ने अपनी ब्रा से अपने मुंह पर गिरे हर्षदीप के माल को पौंछा. मैंने उसके सामने थोड़ा दिखावटी गुस्सा किया और बोला- ठीक है, मगर मुझे इसके बदले 2 लाख और चाहिएं.

जब प्यार से मैंने पूछा, तो कहने लगी- मेरा आपके साथ सोने का मन कर रहा है. तो मैंने पूछा- क्या हुआ पापा जी?पापा जी- अरे कुछ नहीं शरीर बहुत दर्द कर रहा है. मैं भी किस करता रहा।फिर काफी देर तक उसके रसीले होंठ चूसने के बाद मैंने उस परी की नर्म नर्म कमर को पकड़ा और करवट बदल ली.

धीरे धीरे सलोनी की मम्मी और मेरी मम्मी में दोस्ती सी हो गयी जिसके कारण मेरा भी परिचय सलोनी से हो गया.

फिर सुमन बोली- मुझे आधा घंटा दो … और आप दूसरे कमरे में मेरी प्रतीक्षा करो. फिर मुझे भी बहुत मज़ा आने लगा और मैं भी नीचे से कमर उठा उठा कर चुदवाने लगी. वो बोला- जब तक मेरे लंड का पानी नहीं निकला जाता, वो तब तक मेरा लंड चूसता ही रहता है.

बीएफ और ब्लू10 मिनट तक बूब्स चूसने के बाद वो मेरे पेट को चाटते हुए नाभि को पीने लगा. मैं खाना खाकर ऊपर आ गया और अन्तर्वासना की फ्री सेक्स कहानी पढ़ने लगा.

सेक्स वीडियो ओपन मराठी

मैं आज भी जब उसचुदाई की रातके बारे में सोचती हूं, तो मेरा रोम रोम झूम उठता है. इसलिए मुझे पूरा नंगा लेट कर चाची की चड्डी को अपने बदन में रगड़ने से एक अजीब सी मस्ती छा रही थी. वो उत्तेजनावश उछल रही थीं और बोल रही थीं- आह जानू … और मत तड़पाओ … मुझे वो सुख दे दो, जिसके लिए मैं बरसों से प्यासी हूँ.

चेहरा सनी लिओन जैसा एकदम सेक्सी और खूबसूरत।एक बार मैंने हिम्मत करके मोनी को प्रपोज मारा तो साली ने मेरी बेइज्जती करके मुझे इग्नोर कर दिया. मैं अपने सेमेस्टर की छुट्टियों के कारण घर आया हुआ था। वो दीदी अक्सर हमारे घर आया करती थी पर मेरी उनसे इतनी बात नहीं होती थी।एक दिन जब वो हमारे घर पर आईं तो माँ के साथ बैठ कर कुछ बातें कर रही थी. चूंकि क्वार्टर के दरवाजे वगैरह चोर ले उड़ थे इसलिए बाहर से सब दिखता था.

मेरा लंड अभी आधा ही चुत में गया था कि वो चीखने लगी- आह मर गई … निकालो इसको … आह बहुत दर्द हो रहा है. दो महीने बाद मैं किसी काम से दिल्ली गया तो मैंने उन्हें अपने आने का बताया. पूरे कमरे में उनकी मादक आवाजें गूंज रही थीं जिन्हें सुनकर मैं और भी जोश में आता जा रहा था.

मैडम ने मेरी जींस को उतारा और चड्डी के ऊपर से ही अपने मूसल को सहला कर देखा. अब वो दोनों उन आंटियों को चोदने लगे और पूरे हॉल में उनकी चुदाई की आवाजें गूंजने लगीं.

पापा हमारे घेर (प्लाट) में सोते हैं और भाई-भाभी, मां और मैं घर में ही सोते हैं.

वो सिसकारते हुए बोली- क्या चाटने का मन कर रहा है, बोल ना सीधे सीधे … इतना घुमा क्यों रहा है?मैं बोला- तुम्हारी गीली चूत चाटने का बहुत मन कर रहा है. बीएफ सेक्सी वीडियो एक्स वीडियोअलीमा लंड को सहला रही थी तो बलविंदर ने अपना लंड थोड़ा आगे कर दिया ताकि लंड अलीमा के मुँह से सट जाए. इंग्लिश बीएफ मराठीवो भी तुरंत नंगा हो गया और मुझे अपनी बांहों में लेकर बोला- जान कसम से तुम कितनी सुंदर हो और तुम्हारा ये गोरा बदन तो मैं कभी भूल नहीं सकता, तुम इतनी ज्यादा गोरी हो कि लगता है कि कोई विदेशी लड़की मेरी बांहों में है. पीछे से उसकी चूत में लंड सटाकर मैंने झटका दे दिया और मेरा लंड बहन की चूत में घुस गया.

चाची को मैंने अपने आगे खड़ा करके टीवी के तारों को इधर उधर सैट करने लगा.

सुमन धीरे से अंदर आ गई मैं मस्त होकर लंड को धीरे धीरे हिला रहा था।उसने चुपके से गेट बंद किया और मेरे पास आ गयी. और साथ में घर के ही बने हुए नमकीन सेव और खोये नारियल की बर्फी भी थी. मैं फ्रेश होने चली गई और अमन से कहा कि जब मैं आवाज दूं तभी तुम रूम में आना.

तभी हेमा चाची चिल्ला दीं और चाची की चूत से सफेद सा पानी पिचकारी की धार की तरह छूट पड़ा. तभी मैंने उनका ब्लाऊज पूरा अलग कर दिया और उनका पेटीकोट भी उतार दिया।ये मेरी जिन्दगी की पहली चुदाई थी।मैंने अपने आप अपने होंठ मौसी की चूत में रख दिये।मेरी मौसी की चूत की खुशबू मुझे पागल कर रही थी।मैंने मौसी की तरफ देखा तो मौसी मादक आहें निकाल रही थी।मौसी की सहमति जानते हुए मैंने मौसी की चूत में अपना 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लण्ड टिकाया और घिसने लगा. आपको बता दूं कि हम ऐसी पोजीशन में थे जैसे कि बाइक पर बैठे हों, फर्क इतना थी कि हमारा एक साइड का झुकाव पूरी तरह से सीट के ऊपर था.

babu सेक्सी वीडियो

उसके बाद भाभी ने मुझे नन्दा का नंबर मिला कर फ़ोन कांफ्रेंस पर ले लिया. जो पुरूष मित्र ट्रेन से यात्रा करते हैं उनको पता होगी कि मैं क्या कह रहा हूं. वो नंगी ही उठ कर बाथरूम गई और उधर से नंगी ही आकर मेरे सामने अपने कपड़े पहनने लगी.

अब भाभी को थोड़ा होश आया और वो बोली- अब तुम बाहर जाओ, मम्मी जी जाग जाएंगी।मैंने उठकर मां के रूम में देखा तो वो सो रही थी.

मैंने सुलेखा से कहा- क्या सच में सेक्स मेरे मुताबिक़ होगा … तो प्लीज़ मेरे लंड को चूसो ना!एक बार को तो सुलेखा ने मना कर दिया, पर आज वो मुझे उदास नहीं करना चाहती थी.

तो मैंने सोचा कि अभी तो दीदी आई नहीं होंगी तो मैं खुद ही जा करके ले लूं. अब तक पहले तो हल्का हल्का फिर ज़्यादा तेज़ से लंड मेरी गांड में चुभने लगा।साहिल ने सिर्फ पजामा पहना था जिसमें उसका लन्ड पूरा मेरी गांड को सटा हुआ था. सुहागरात की सेक्सी फिल्मेंलाल बिंदी और लाल लिपिस्टिक भी लगाई मैंने! और हॉट लाली अपने बैग में रख भी ली.

फिर मैंने अपना हाथ ही साड़ी के अंदर घुसा दिया। मेरा हाथ भाभी की चूत से टकरा गया।भाभी एकदम से बैठ गई और मेरी तरफ देखा. वो मेरे कान में धीरे से फुसफुसाई- क्या कर रहे हो राहुल?मैं- तुम जबसे आयी हो, मैं तभी से तुम्हारे लिए तड़प रहा हूँ. इस सबसे एक बात साफ़ थी कि भाभी को मुझ पर पूरा भरोसा था कि मैं उनकी ब्लू फिल्म्स या नंगी वीडियो का कभी भी गलत इस्तेमाल नहीं करूंगा.

फिर वो बोलीं- तूने कोई लड़की क्यों नहीं पटाई अब तक? हाथ से करने की क्या जरूरत है तुझे. थोड़ी देर लंड चूसने के बाद उन्होंने लंड को मुँह से बाहर निकला और मेरे लंड को चाटने लगीं.

कुछ देर तक मैंने इसी तरह चोदा, फिर मैं चित लेट गया और ज़ायना को अपने ऊपर ले लिया; उसे अपने लंड पर बैठा लिया.

कुछ दस मिनट बलविंदर ने अलीमा को रोके रखा तो उसका दर्द थोड़ा सा कम हो गया था. उन्होंने मेरे लौड़े को कंडोम पहना दिया।मैंने मामी की चूत में थूक लगाया और चूत के छेद पर टिका कर एक झटके में पूरा लंड घुसा दिया मामी की गीली गर्म चूत में!मामी चीख पड़ी- ऊईईई ऊईईई आहह आहह … मैं मर जाऊंगी राज … ऊईईई ऊईईई उम्म्हा!मैंने उसकी एक ना सुनी और लन्ड के तेज़ तेज़ झटके मामी की चूत में मारने लगा।अब उसकी आवाज तेज होने लगी. पता नहीं दिमाग में क्या आया कि मैंने उसकी चूचियों को वहीं पर दबाना शुरू कर दिया.

फिल्म क्सक्सक्स मैंने उसको लगातार काफी देर तक चोदा और फिर हम दोनों तीन-चार बार झड़कर बेहाल हो गये. मैंने दूसरी बार लंड चुत की फांकों में सैट किया और एक हाथ से धीरे से धक्का मारा, तो मेरा लंड का टोपा ही अन्दर जा सका.

उसी गैलरी के दूसरे छोर पर ही कुछ गुंडे टाइप के बदमाश लड़के खड़े थे, जो किसी के साथ बहुत गाली गलौज ओर बदतमीजी कर रहे थे. ये उस रात हम दोनों का दूसरा सेक्स थाअब रात के दो बज चुके थे और हम दोनों को नींद आने लगी थी. उसकी चूत की सिकुड़ने मुझे अपने लंड पर महसूस हुई और उसकी चूत ने बहुत सारा गर्म द्रव छोड़ दिया.

भारत का सबसे बड़ा गुंडा

मैंने बोला- अपने हाथ से देख लो!मैंने इतना बोला ही था कि दीपक ने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए. उसके लिए आप सभी का धन्यवाद।दोस्तो, यह सेक्सी टीचर चुदाई कहानी मेरी और मेरी प्रिंसिपल मैडम मोनिका (बदला हुआ नाम) की है।मोनिका की उम्र लगभग 35 साल, हाइट 5. जब उन्हें भी कोई नजर नहीं आया … तो उन्होंने भी मुझे फ्लाईंग किस फेंक दिया.

दरअसल जब मैंने रीति को 15 हजार की रिंग गिफ्ट में दी थी तभी से भाभी को हमारे प्यार के बारे में पता लग गया था. मैं एक शर्मीला इन्सान हूं और मैं तब भी उसके सामने ज्यादा कुछ बोल नहीं पा रहा था.

तो भाभी ने भी कामुकता से आह की सीत्कार भरके मुझे हरी झंडी दे दी थी.

मैं डरा हुआ था कि कहीं हेमा चाची का हाथ मेरे पजामे की जेब पर ना चला जाए, जहां मैंने हेमा चाची की चड्डी छिपा रखी थी. फिर उसने विरोध करना बंद कर दिया और वो आराम से उंगली करवाने का मजा लेने लगी. फिर वो तीनों ही जिद करने लगे और फिर मैं भी अपने लिये एक गिलास ले आयी.

पर मैंने काफी जिद की तो भाभी ने कहा- ठीक है, मैं साड़ी ऊपर उठा कर तुम्हारी गोद में बैठ जाऊंगी।तो मेरे लंड में तनाव आ गया. मेरे तो होश उड़ गये कि अब कौन आना बाकी है?फिर वहां रूपाली और निशा आये. मैंने अपने दोनों हाथों से हेमा चाची के नंगे कूल्हों को पकड़कर चौड़ा किया, जिससे उस शृंगार करने वाली टेबिल के शीशी में हेमा चाची की गांड का छेद भी साफ साफ नजर आ रहा था.

आज भी मैं उस पल को याद करता हूँ।दोस्तो, आपको ये पहली बार सेक्स की स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बतायें।मेरा इमेल है[emailprotected]धन्यवाद।.

बीएफ देखने वाली हिंदी: वो बहुत कराह रही थी … मगर मैंने उसकी एक न सुनी और एक जोर को धक्का लगा दिया. ये देख कर उसने एक बार फिर से अपना हाथ जांघ पर रखा और इस बार उसने मेरी फ्रॉक को कुछ ऊपर तक सरका दिया.

सेक्सी चुत की कहानी के पिछले भागप्यासी चूत वाली गदरायी लड़की को पाने की चाहतमें आपने पढ़ा किमैं एक लड़की की मदद कर रहा था और मन में यह लालसा भी घर कर गयी थी कि इसकी चूत मिल जाए. इस गर्म चुदाई की कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी बहन की सहेली को चोदा. जब उनको लगा कि मैं खुलकर साथ नहीं दे रहा हूं तो बोले- अगर इंजॉय करना चाहते हो तो तुम्हें साथ देना होगा.

मैं उनकी छोटी सी पैंटी को देखने लगा।दीदी की पैंटी इतनी छोटी थी कि उनके चूतड़ भी नहीं ढक पा रहे थे.

रियल ब्लैकमेल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की भाभी तन्हा और अकेली थी. अगले दिन सुबह मैं जल्दी उठ गया और जल्दी जल्दी तैयार होकर घर से निकला. वो हम दोनों को घर बुला रही थी क्योंकि रात के साढ़े तीन बज गए थे।फ़ोन रखने के बाद साहिल ने बोला- मम्मी घर बुला रही हैं.