मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो तो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म छोटी वाली: मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ, अब हम दोनों रोज रात को फोन पे बातें करते और ये बातें दो तीन घंटे से पहले खत्म ही न होती थीं.

हिंदी में ब्लू सेक्सी देहाती

यह बड़ी उम्र की औरत की चूत की कहानी तब की है, जब मैं 12वीं में पढ़ता था. तेलगू सेक्सी सेक्सी व्हिडिओजब तक अपनी मम्मा सौम्या के लिए मेरे दिमाग में ऐसी भावनाएं नहीं आती थीं तब तक मैं मम्मा सौम्या को सुबह से शाम तक कई बार किस कर लेता था.

मैंने लगभग 1 बजे रात को हल्की लाइट में देखा, तो मामा अपना लंड हिला रहे थे. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो नौकरानीपापा ने मेरे चूचों को अपने दोनों हाथों पकड़ लिया और नीचे से मेरी चूत में धक्के देना चालू रखा.

उसकी बुर अभी भी टाईट थी, जिसके कारण रूपा फिर से बोलने लगी- दर्द हो रहा है भैया, प्लीज़ धीरे धीरे से चोदो.मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ: बारह-चौदह बार मेरे लिंग वसुन्धरा की योनि के अंदर योनि के हाईमन को बस छू कर वापिस लौट आया.

मैं नवाज भाई को यह बता नहीं पाया कि उनसे गांड मराए दो महीने हुए हैं, उन्होंने मेरी कसके रगड़ दी थी.रात को उसने चैट में बताया कि वह बहुत खुश था कि उसको किसी ने बर्थडे विश किया था.

मौसी बेटा की सेक्सी वीडियो - मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ

मैंने पापा को रात वाली सारी बात बता दी और पापा ने रोहित को उसके कमरे से बुला कर बहुत बुरा-भला कहा.वो बीच-बीच में मुझे घुमा कर कभी मेरे चूतड़ चाटती, कभी लंड चूसती और कभी टट्टे.

ख्वाहिश तो पूजा की चूत मारने की थी मगर अभी तो पूजा की चूत उपलब्ध हो नहीं सकती थी. मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ आहह … और जोर से चोद … फाड़ दे मेरी गांड!उसके मुंह से निकलने वाले ऐसे शब्द मुझे उत्तेजित कर रहे थे। मैंने उसके मुँह के पास उंगली ले जाकर उसे चुप करने का इशारा किया.

”शारदा चाची- हां-हां मुझे सब पता है कि तुम लोग क्या कर रहे हो!और एक शरारती मुस्कान आ गयी उनके चेहरे पर यह बात कहते-कहते।मैं- नहीं नहीं चाची, हम लोग तो बारात के स्वागत की बात कर रहे थे क्योंकि जो दूल्हा है वो भी हमारे ही दोस्तों में से है.

मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ?

कुछ देर के बाद मेरी आंख लगी ही थी कि मुझे अपनी नाइटी में ऐसा महसूस हुआ कि किसी के हाथ चल रहे हैं मेरे बदन पर. मैं तो वसुन्धरा के ऊपर से क्या उठता पर इस ज़ोर-आज़माईश में मेरे होंठों की पकड़ से वसुन्धरा के दोनों होंठ छूट गए. उसने कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हैं? आपसे कुछ काम है।ये बात सुन कर मैं घबरा गया.

मेरी देसी गर्लफ्रेंड की Xxx कहानी अच्छी लगी या नहीं? आप मुझे मेल करें. फिरर वैसे ही उठा के मुझे पलंग पर पटक दिया और कूद के वो भी पलंग में आ गया. जब मुझे उसकी चुत गीली महसूस हुई, तो मैंने कुछ देर फिंगर करने के बाद चूत को चाटना शुरू कर दिया.

होश में थी मगर फिर भी बेहोशी की हालत में रहकर चुदाई के बाद के अहसास का मजा ले रही थी. लेडी डॉक्टर हॉट कहानी में पढ़ें कि मैं जांघ में खुजली के इलाज के लिए गया तो लेडी डॉक्टर मिली. इस झटके से उसका मुंह खुल गया। मैंने मौके का फायदा उठा कर अपनी जीभ डाल कर उसका मुंह टटोल लिया। बड़े ही उत्तेजक तरीके से किस करते हुए उसकी चूत चुदाई करने लगा.

उसके बाद मेरे पति रोहन आए और उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. दोस्तो, मैं बता नहीं सकता हूँ, पर गारंटी के साथ कह रहा हूँ कि शीतल भाभी को इस अवतार में देख कर किसी बूढ़े का भी लंड खड़ा हो जाता.

वैसे मुझे भी रात में अकेले छत पर जाने में डर लग रहा था मगर फिर भी मैं हिम्मत करके छत पर पहुंच गयी.

मैंने झुक कर अपना चेहरा उसके पास किया तो उसमें से साबुन की खुशबू आ रही थी.

मैंने मेरे पति का लंड अपने मुँह में भर लिया और अपना मुँह आगे पीछे करके उनका लंड चूसने लगी. मैं एक अच्छी सी लड़की को खोजने लगा, लेकिन मुझे कोई लड़की पसंद ही नहीं आ रही थी. जिस दिन भी किसी को जरा भी खबर लग गयी, उसी दिन से खेल और पैसे मिलने दोनों बंद हो जाएंगे.

लंड पर हाथ जाते ही मेरी आंखों के सामने भावना के बड़े-बड़े चूचे उछलने लगे. उसने मुझसे कहा- यार प्रवीण, मुझे तुम्हारा इन्तजार करते करते तीन साल हो गए. मैंने सोनू की टांगों के नीचे से हाथ डाला और उसके घुटनों को मोड़ते हुए लंड से चुदाई शुरू की.

रिया के घर में कोई नहीं था तो वो मेरे घर चली आई और हम दोनों ने साथ में लंच किया.

उनको अपने बाहुपाश में भरते हुए मैंने पूछा- कैसा रहा रिटर्न गिफ्ट?मेरी चुदासी मामी मुस्कराकर बोली- लाडो, मैं तो तेरे लिए डिल्डो ही लेकर आई थी मगर तूने तो सच-मुच में असली का लंड मेरी चूत पर न्यौछावर कर दिया. कुछ समय तो मुझे कुछ समझ में नहीं आया कि सब कहां चले गए दरवाजा खुल्ला छोड़ कर?मैं थोड़ा और अन्दर की तरफ गया, तभी मुझे बाथरूम से पानी गिरने की आवाज सुनाई दी. इतनी जल्दी थोड़े ही हाथ आ जायेगी?मैं बोला- कैसे भी करके मेरा काम करवा दो.

उसकी इस बात पर मैंने उसे मेरे साथ ऊपर सोने के लिए बोला तो उसने मना कर दिया और बोली- अगर किसी ने देख लिया तो कोई गलत सोचने लगेगा।तभी मैंने उठकर सीढ़ियों का मेन गेट बंद कर दिया और रूम का गेट भी बंद कर दिया और बोला- अब अगर तू मुझसे चिपक कर भी सोएगी तो भी कोई नहीं देखेगा।मेरे ये बोलते ही भावना का चेहरा लाल हो गया और मुझे गुस्से से देखने लगी. तीसरी बार में उन्होंने मुझे बेड पर नीचे लटका कर चोदा और इस प्रकार उस रात चार बार पापा ने मेरी चूत को पेला. वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथ मेरी गिरफ़्त से छुड़वा कर मेरी पीठ पर कस कर बाँध रखे थे.

गुलाबो की चूत बहुत टाइट थी, मुझे लगा मेरा लंड उसमें जैसे फंस गया और छिल गया है.

मैंने कहा- भाई जान, मेरे पुट्ठे भले थोड़े ज्यादा हों, पर हथियार तो आपका मजबूत है. मैंने बताया- हां, वहीं पर मेरे दोस्त का घर है, उसी में हम चार दोस्त रहते हैं.

मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ पता नहीं कितनी देर राशि गांड हिला-हिला कर मज़े लेती रही और मैं उसको चोदता रहा, पर जब हम दोनों झड़े तब हम दोनों पसीने से तर-ब-तर थे और राशि की आँखों में मदहोशी थी. गुलाबो गर्म होने लगी धीरे धीरे चूत ढीली और गीली होनी शुरू हो गयी फिर मेरे लण्ड पर चूत की कसावट भी कुछ ढीली पड़ गयी.

मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ बीवी ने बगल में रखी वैसलीन की डिब्बी मेरे हाथ में दे दी, जो उसने पहले से ही अपने पास ले रखी थी. मैंने कहा- अमीषी तुम बहुत अच्छा लंड चूसती हो … कितनों को चूसा है पहले?वो मेरी तरफ देखते हुए बोली- बस एक का.

हां जब कभी भी उसकी जरूरत होती, तो उसकी चूत में लंड डाल देता और अपना पानी उसकी चूत में गिरा देता और फिर सो जाता.

बीएफ 18 साल लड़की की

शीतल भाभी ने मुझसे पूछा कि तुमने मुझसे तो मेरे बारे में सब पूछ लिया, पर अपने बारे में कुछ नहीं बताया. अब आगे:सोमवार को गांव से बीस किलोमीटर दूर बाजार लगता है, उस दिन मैं मम्मी के साथ वहां चली गई तो सोनम के घर नहीं जा पाई. मैंने अपनी मम्मा सौम्या की पजामी और उसकी पैंटी दोनों को नीचे खिसका दिया और बिना किसी डर के मम्मा की चूत के छेद पर अपना लंड रख कर लंड को अन्दर दबा दिया.

उसकी बात सुनकर मैं हंसते हुए सोनल के पास गया और नीचे झुककर उसकी चुत पर किस किया. मैंने सोनू को अपनी छाती से लगा लिया और उसकी टांगें चौड़ी करके अपने हैवी लंड को उसकी चूत के नीचे लगाया. मेरे दोनों हाथ मेरे पूरे जिस्म का बोझ उठाये हुए थे और वो भी अब दर्द करने लगे थे.

मैं भी तैयार हो गया और फिर हम मम्मी को लिविंगरूम में छोड़कर बाथरूम में आ गए।हम दोनों बिल्कुल नंगे खड़े होकर शॉवर के नीचे नहा रहे थे और मम्मी की पैंटी को सूंघ और अपने लण्ड पर रगड़ रहे थे।मेरी कहानी आप लोगों को पसंद आई या नहीं … मुझे जरूर बतायें, उसी के बाद आगे की कहानी को जारी करूँगा। मुझे मेल करने के लिए और इंस्टाग्राम पर जोड़ने के लिए बिल्कुल भी संकोच ना करें।[emailprotected]Insta/weekendlust_tales.

अपनी देसी गर्लफ्रेंड की Xxx कहानी को आज मैं आपके सामने बयान कर रहा हूं जो कि एकदम सच्ची घटना पर आधारित है. फिर एक ही वक़्त मैंने और शैली ने अपनी टांगें उठाईं और दोनों भाइयों ने लौड़े घुसाए. मैंने उनको बिस्तर पर लिटा दिया और उनकी टांगें फैला कर चूत को चाटने लगा.

इसलिए यहाँ के अधिकतर पुरूष, या तो महिला की नीरसता के शिकार हो जाते हैं या फिर महिलाएं पुरूषों की नीरसता का बोझ उम्र भर अपनी वासना के कंधों पर ढोती रहती हैं. उसके बाद मैं अपने घर वापस आ गया और घर आने के करीब डेढ़ महीने बाद मुझे पता चला कि मोनी पेट से है! यह बात सुनते ही मेरे चेहरे पर एक मुस्कान फैल गई और मेरा मन खुशी से फूला नहीं समा रहा था. मीरा ने अपनी गांड फैला ली थी और रितेश के हाथ की गर्माहट का मजा लेने लगी थी.

फिर मैंने झटके से भाभी को पीठ के सहारे दीवार से चिपका दिया और उनके दोनों हाथों को अपने हाथों से पकड़ कर दीवार से लगा दिए. जिस प्रकार मैं झुकी हुई थी और वो मुझ पर दोनों टांगें फैला कर चढ़ा हुआ था, उससे धक्के बहुत मजेदार लग रहे थे.

कोई एक घंटे बाद फिर से आयी और बोली- आ जाओ घर पे, ब्रेकफास्ट वहीं कर लेते हैं. फिर 3-4 दिन बाद कॉलेज से छूटने के बाद फिर से मैं उसके रूम पे पहुंच गई. मैं बोला- क्या देख रही हो?वो बोली- उसकी पैन्ट में।आखिर सन्जू की भी लगातार इमेजिन कर कर के कहीं ना कहीं उसके मन में भी पराये लंड से चुदवाने की इच्छा थी। लेकिन स्त्री अपने आप को सीमित कर के रखती है।मैं सन्जू को और जोर से चोदने लगा, वो जोर जोर से आहें भरने लगी और पूरा कामातुर हो गई.

एक डेढ़ इंच तक तो उंगली आराम से चला गई, पर जब थोड़ा और जोर लगाया, तो उनकी चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उन्होंने मेरे बालों को पकड़ के मेरा मुँह अपनी चूत से हटा दिया- दर्द हो रहा है.

मेरा लंड एकदम से खड़ा और कड़क हो गया था और पजामे का तम्बू बना रहा था. उसी दिन शाम को सोनम ने मुझे बताया कि कल मम्मी दोपहर एक बजे दादा और चाची चाचा से मिलने अहरी जाएंगी. मैंने कहा- सॉरी भाभी, आपका नम्बर सेव नहीं था इसलिए मैंने आपको पहचाना नहीं.

मैंने उसे पूछना सही समझा- अमीषी तुम्हारी कोई बात … जो नहीं करनी हो?वो बोली- आज आप हर तरह से फ्री हो बाबू. मैंने फिर पूछा- अमीषी व्हाट हैपेंड?उसने मेरे पास आकर लंड को अपने हाथ में लिया और बोलने लगी- बाबू, ये अन्दर कैसे जाएगा?मैंने उसे दीवार से उल्टा लगा कर उसकी गांड की दरार में अपना लंड रखा और कहा कि डार्लिंग वो तुम मुझ पर छोड़ दो.

मैंने धीरे-धीरे अपने चूतड़ों से अपने लंड पर दबाव दिया, चूत पानी छोड़ चुकी थी और जैल लगाने से चिकनी हो गई थी, अतः लंड का सुपारा जल्दी ही अंदर चला गया. जब पापा ने बताया कि उनका रस निकलने वाला है तो मैंने पापा से कह दिया कि पापा मेरी चूत में ही अपना रस निकाल दें. आज तक मेरी गांड में लंड नहीं गया था, मेरी गांड अभी तक कुंवारी ही थी इसलिए मेरा दर्द और ज्यादा हो गया.

जापानी बीएफ चुदाई

अब तक मैं भी सब समझ चुका था और मैंने उनकी तरफ देखा तो मायरा ने आंख दबा दी.

मैं- रोज बस इतने टाइम के लिए ही आओगी क्या?वो बोली- वो तो तुम्हारे ऊपर है कि मुझको यहां कितना टाइम रोक सकते हो. मैंने एलेक्स के अंडरवियर को भी खींच लिया और उसे बिल्कुल नंगा कर दिया. काफी देर तक उसके मम्मों को चूसने के बाद मैंने उसके पेट पर चूमना शुरू किया और उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसा दी.

फिर भी मैंने पूरी कोशिश की भैया और भाभी की फिल्म देखते हुए मजा लेने की मगर तुम्हारे लंड के अलावा इसको भला और कौन शांत कर सकता है मेरे राजा!बहुत देर तक भैया ने भाभी की चूत अपनी जीभ से चोदी और जब तीसरी बार भाभी झड़ी तब भैया ने दोबारा अपना लंड भाभी के मुंह में दे दिया. जल्दबाजी मुझे ही महंगी पड़ सकती थी, जो मैं बिल्कुल भी नहीं चाहता था. ज़िस्म सेक्सी वीडियोअब जब कभी मौसी बाथरूम जातीं या पेशाब करने जातीं या फिर कपड़े बदलने जातीं, मैं भी उनके पीछे पीछे दरवाजे के छेद से उन्हें देखने लगता.

’शैली बोली- क्यों अंकल, एक और राउंड करना है?‘नहीं शैली … मैं तो नहीं, पर पापा के जन्मदिन पे बच्चों को भी तो मज़ा आना चाहिए … क्यों मालिनी?’‘हाँ जी ज़रूर. देखता हूँ तुम जैसी लड़कियाँ कैसे पास होती हैं फिर!” सर ने गुर्राते हुए धमकी दी और मेरी कमीज़ के अंदर हाथ डाल कर मेरी चूचियों को मसलने लगे.

बस फिर क्या था … आते ही मेरी चूत पर भूखे कुत्ते की तरह टूट पड़ा और चुदाई शुरू कर दी. फिर मैं अपने दोनों पैर बीवी के कमर के दोनों बाजू रखकर उसकी गांड के छेद पर लंड लगा कर बैठ गया. पर मुझे आधे घंटे का समय तो दो। मैं तुझे वापस फोन करती हूँ।बस आधे घंटे में ही मौसी का फोन घनघना उठा।उसने कहा- हां ले भोसड़ी वाली रूपाली, मैं तेरे लिए एक नहीं दो लण्ड भेज रही हूँ। उनका कोड है ‘घंटा’.

करीब बीस मिनट के बाद जब मैं झड़ने वाला था, तब मैंने नफीसा से कहा- नफीसा मैं माल कहां निकालूँ?नफीसा ने माल को अपनी चुत में निकालने को कहा. मेरा लंड उनकी चूत की दीवार को चीरता हुआ पूरा चूत में समा गया और उनकी बच्चेदानी से टकरा गया. फिर उसकी नाभि को चूसने लगा और उंगली को उसकी चूत में अंदर-बाहर करने लगा और मेरी इन हरकतों के कारण वह झड़ गयी और मेरे हाथ को अपनी टाँगों से भींच लिया। थोड़ी देर बाद मेरा हाथ उसने हटा दिया और करवट बदल कर सो गयी.

थोड़ी देर बाद वो थोड़ा पीछे को हुई और अपनी गांड को मेरे लंड पर सैट कर लिया.

उसकी मस्त चूचियों को कभी मैं मुंह के अंदर भर लेता तो कभी निप्पलों पर अपनी जीभ चलाने लगता. हालांकि पहले मुझे पता नहीं था कि इनका इधर पड़े होने का कारण क्या है.

मैंने अपना चेहरा ठीक उनके चेहरे के सामने करके और अपना हाथ उनके मम्मे से हटा कर उनकी चूत पर रखते हुए कहा. आपने मेरी कहानीआपा के हलाला से पहले खाला को चोदामें पढ़ा कि कैसे मैंने सारा आपा के हलाला से पहले नूरी खाला को चोदा और फिर मेरा निकाह सारा आपा से हुआ. उसके चूचों को हाथों से निचोड़ते हुए मैं उसकी चूत की ठुकाई करने लगा.

जीजू की नजर जैसे ही मेरे ऊपर पड़ी तो वे मुझे ऊपर से नीचे तक निहारने लगे मैं भी एकदम स्तब्ध खड़ी रही। सब इतना अचानक हुआ था कि मुझे यह याद ही नहीं रहा कि मैं एकदम नंगी हूं, जैसे ही मुझे याद आया कि मैं तो एकदम नंगी हूं और जीजू मुझे नंगा देख रहे हैं तो मैं वापस बाथरूम में भागी।बाथरूम में आकर मैं जीजू से बोली- सॉरी जीजू, मुझे नहीं पता था कि आप वापस आ गए हैं. आप मेरे थोड़ा पास में आइये, मैं आपके कान में कहना चाहता हूँ यह बात. आप मुझे आपको हर रोज नहाते हुए देखते हैं, फिर मेरी पैन्टी में न जाने आप क्या कर देते हो.

मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ मैंने उसे चार सौ रूपए दे दिए और उसने मेरे हाथ में दवाइयों की पर्ची देते हुए कहा- मेडिकल स्टोर से ये दवाइयां ले लेना. मेरा दिमाग चकरा गया कि ये घर क्यों आने को बोल रही हैं, जबकि प्लान तो कुछ और है.

कुत्ते औरत की बीएफ

वो भी मेरी बगल में लेटी थी, मैंने बोला- अब तुम ही इसे खड़ा करो!वो बोली- कैसे?तो मैंने बोला- इसे दोबारा चूसो. जल्दी से टोपे पर थूक लगाया और फिर से गीला करते हुए एक और धक्का दे मारा तो आधा लंड मेरी चूत के अंदर चला गया. इससे अच्छा तो अभी पहनूँ ही न।वो मुस्कुराया और मेरे पास आ कर बैठ गया।कहानी जारी रहेगी.

मैं टेबल पर पड़ी मैगज़ीन पढ़ने लगी, थोड़ी देर बाद अंकल मेरे पास आ गए, उनसे आफ्टर शेव लोशन की सुगंध आ रही थी. मगर तभी उसने मेरा चेहरा पकड़ लिया और जोर जोर से मेरे होंठों को चूमने लगी. कन्नड सेक्सी व्हिडिओजपहले मेरी छाती लगभग सपाट ही थी मगर मेरे भाई धीरज ने मेरे चने जैसे निप्पल को खींच खींच कर चूसना शुरू किया और वहाँ पर जोर ज़ोर से दबा कर वहाँ का मांस खींचता था जिसका परिणाम यह हुआ कि मेरे मम्में भी अब जोरशोर से निकलने लगे और जो दाना पहले चने के बराबर था अब किशमिश की तरह का बन गया.

ज्यादा कुछ बोलूंगा तो आप बुरा मान जाएंगी और कहेंगी कि मैं अकेली लड़की देख कर फ़्लर्ट कर रहा हूँ.

मैंने अपना सारा रस उसकी चूत में ही निकाल दिया था और उसके ऊपर ही गिर गया. क्योंकि मुझे लगता है कि उस वक्त सेक्स शायद बच्चे पैदा करने के लिए ही किया जाता था, मजा लेने के लिए नहीं.

मैंने हल्के से अपने लंड को उसकी गांड की दरार पर ऊपर नीचे फिराना शुरू किया. उस दिन के बाद पता नहीं क्या हुआ कि पम्मी आंटी का मुझे देखने का थोड़ा नजरिया से बदला बदला लगने लगा. इस स्टाइल में मैंने जब लंड को उनकी योनि पर रखा, तो लंड मोटा होने की वजह से उनकी योनि में ‘परर्रर्रर्रर …’ की आवाज के साथ घुस गया.

जब मैं उसके ऊपरी ओंठ चूसता था तो चूत लण्ड को जकड़ने लगती थी और जब निचले ओंठ को चूसता था तो चूत लण्ड को ढीला छोड़ देती थी.

आप अपने सुझाव व जवाब मुझे जीमेल या फेसबुक पर इसी आईडी पर दे सकते हैं. फिर धीरे से अपने मुँह को उसके बूब्स पर रखकर चूसने लगा और उसकी निप्पल को दांतों से काट देता था. मीना मचल पड़ी और बोली- अजय देखेगा तो क्या बोलेगा? ऐसा मत करो!मैं मीना की बात को अनसुनी करते हुए उसके चेहरे पर किस पर किस करने लगा!मीना फिर बोली- राज प्लीज़ मुझे बहकाओ मत, छोड़ो मुझे!लेकिन मुझे आभास हो चुका था कि उसकी ‘ना’ बस जज्बाती है, अंदर से तो वो भी तैयार हो गयी है.

इंग्लिश ब्ल्यू फिल्म सेक्सीमन कर रहा था कि अंजलि को अभी चोद दूँ, पर कुछ सोच कर छोड़ दिया और सो गया. मेरी दोनों टांगों के बीच मेरा लंड कुतुब मीनार की तरह एकदम सीधा खड़ा होकर भाभी की चूत को सलामी दे रहा था.

देव बीएफ वीडियो

सयुंक्त परिवार में पति पत्नी के बीच सेक्स होना भी कोई सामान्य घटना नहीं होती थी. अमर ने उस चीख को नजरअंदाज करते हुए धीरे धीरे झटके देने शुरू कर दिए. मैंने कहा- अब मेरा छूटने वाला है शिखा … आह्ह … ओह्ह …वह बोली- पंकज मेरा भी होने वाला है.

दस मिनट में दर्द रूक गया और मैंने भाभी को बोला- आप पता करो दर्द तो नहीं है. चूंकि उसने मुझे उसके चूचों को ताड़ते हुए देख लिया था मगर फिर भी कुछ गुस्सा या नाराजगी जाहिर नहीं कि जिसके कारण मेरी हिम्मत उस दिन के बाद कुछ और ज्यादा बढ़ गई. अपनी जिंदगी के पहले सम्भोग में वसुन्धरा स्खलित हुई थी लेकिन मैं अभी भी डटा हुआ था.

10 मिनट के बाद मैं उठा और अपना लंड साफ किया।मैंने उसकी बुर को भी साफ किया।मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि अपने खुराफाती दिमाग की बदौलत मैं अपनी जवान भांजी की बुर मार चुका हूं।मैं उसको नंगी लेटी हुई देखता रहा। वो थकी हुई सी लग रही थी. सुन कर सच में अच्छा लगा कि देश की लड़कियां भी कुछ करने की इच्छा रखती हैं और वो माँ-बाप धन्य हैं जो अपनी लड़की को पढ़ा रहे हैं. नुकसान होने के बाद बिजनेस बंद हो गया, जिसके कारण मिनी का पति दिमागी रूप से थोड़े परेशान हो गया था.

मेरी उंगली का सिरा तो योनि की दरार के ऊपरी हिस्से पर स्थित चने के दाने के साइज़ के भगनासे पर आ कर ठहर गया लेकिन वसुन्धरा के मुंह से जोर-जोर से कराहें … कराहें क्या एक तरह से चीखें निकलने लगी. मुझे तुम्हारी तरह स्मार्ट और हैंडसम बच्चा चाहिए, क्या तुम मुझे दोगे हर्षद?उधर नीचे मेरा तना हुआ लंड सरिता की चूत पर रगड़ खा रहा था जिससे सरिता कसमसा रही थी.

मैंने उसकी चूचियों को देख कर होंठों पर जीभ फिराई और कहा- तुम कहो तो तुम्हारा भी पेट फुला दूँ.

अंकल ने दरवाजा खोला, उनके गाल पर शेविंग क्रीम का फोम लगा हुआ था- बैठो नीतू, तब तक मैं शेविंग कर लेता हूँ. अमेरिका के सेक्सी वीडियो भेजोमुझको चूत चोदते चोदते इतना अधिक अनुभव हो गया था कि किस चूत को किस तरह से चोदना है, मुझे इस बात की पूरी जानकारी थी. भाभी की सेक्सी पिक्चर दिखाइएमैं बोली- आशीष मैं तुम्हारी कसम खाती हूं … अपनी कसम भी खाती हूं कि तुम पहले मर्द हो, जिसने मुझे प्यार से छुआ है, जिसने मुझे प्यार किया है और जिसने मेरे साथ सेक्स किया है. अब पटेल मेरी दोनों टांगों को चौड़ा करते हुए मेरी जांघों के पास आके बैठ गया.

वो बहुत ज्यादा कामुक हो गए थे, मेरे होंठों पर अपने होंठों को लगा कर चूम रहे थे और साथ में काट भी रहे थे.

यह पोर्न कज़िन्स सेक्स कहानी तब की है, जब मैं गर्मियों की छुट्टी में गांव गया था. उनकी चूत फिर से पानी छोड़ने लगी थी और ये देख कर मेरे लंड में भी हलचल होने लगी. जब मैं झड़ने को आया तो मैंने भाभी से पूछा- कहां निकालूं?तो भाभी ने कहा कि मैं आपको अन्दर तक महसूस करना चाह रही हूँ और मैं आपके बच्चे की ही मां बनूंगी.

जीजू- शिवांगी, तुम घबराओ मत, आराम से डालूंगा तुम्हारी चूत में … तुम को जरा भी परेशानी नहीं होने दूंगा. उन्होंने मेरे लंड को बहुत देर तक मज़े लेकर चूसा और जब मैं झड़ा तो चाची मेरा सारा वीर्य भी पी गईं. कुछ 7-8 मिनट तक ऐसे ही धीरे धीरे झटके मारने के बाद मम्मा ने कहा- आह मेरे राजा, अब तुम मेरी ओखली में अपने मूसल को जितनी तेज़ी से चाहो … ठोक सकते हो.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ कॉम

धीरे धीरे मैंने उसको गले लगाए लगाए उसे गले पर अपनी गर्म सांसों को छोड़ना शुरू कर दिया. मैं मन ही मन खुश होने लगा कि आज तो बहन की चुदाई करने को मिलेगी और मेरी बहन शादी में नहीं गयी. अब जब भी वो मेरे कमरे में आती तो मुझे उसे कपड़े खोलने को भी नहीं कहना पड़ता था.

मेरी बात सुन कर शायद उसे ख़ुशी हुई और उसे भी अपनी मर्दानगी पर गर्व हुआ, वो बोल पड़ा- मजा गया सारिका जी, आप जैसी कामुक औरत मैंने आज तक नहीं देखी, काश प्रीति भी आप जैसी होती!उसने कुछ देर अपने लिंग को मेरी योनि में टिकाए हुए हल्के हल्के हिलाता रहा और फिर धीरे धीरे उसने धक्के मारने शुरू किए.

मैंने उसके बूब्स पर हल्के हल्के होंठ फिराने शुरू किए और उसके निप्पल को दांतों में लेकर काटने लगा.

चूंकि हम दोनों एक पब्लिक प्लेस पर थे, इसलिए इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकते थे. मैंने अपनी भाभी की जबरदस्त चुदाई की अपने ही घर में! मैं भाभीजान को नंगी नहाती देखता था. सुहागरात की सेक्सी वीडियो हदआगे जब भी उसकी चूत में उंगली डालने की कोशिश करता, तो वो चिंहुक जाती और दर्द होने के बारे में बताती.

अब मैंने उनकी गांड पर सुपारा रखा और धीरे से एक धक्का मारा, तो करीब 2 इंच मेरा लंड अन्दर गया. मैंने धीरे से उसकी कुर्ती की चेन को खोलना शुरू कर दिया तो सुषी एकदम अलग होकर दीवार से जा लगी और सट कर खड़ी हो गई. वो बोली- मैं बहुत टाइम से तुमसे सेक्स करना चाहती थी परंतु मुझे मौका ही नहीं मिला.

वो एक सुंदर और संस्कारी परिवार से थी लेकिन ऐसी बात नहीं थी कि वो बहुत ही सीधी हो. कितना प्यार नाम है, तुम्हारी ही तरह प्यारा और खूबसूरत!” अंकल जी ने मेरी तारीफ़ की तो मैं गदगद हो गई.

चूसती रहो ऐसे ही ओह्ह …”चाची उसके लंड को मुंह में लेकर चूस रही थी और चाची के दूध हिल रहे थे.

चाची कुछ ही देर में अपनी गांड उठा कर मुझसे कहने लगीं कि हाँ और ज़ोर से … मैं आज तुम्हारे लंड आह्ह्हह्ह को अपने अन्दर लेकर बहुत खुश हूँ … हाँ आईईई ईईइ … और ज़ोर से चोदो मुझे उह्ह्हह्ह माँ हाँ … और थोड़ा और अन्दर डालो. करीब 10 मिनट बाद उसका शरीर ढीला होने लगा, उसने तुरंत लंड निकाला और मेरे मुँह में ठूँस दिया और अपना पूरा माल मेरे मुँह में डालने लगा. मैंने राधिका से कहा- डार्लिंग, अब बियर न जाने कितनी देर में शुरू करोगी, तब तक एकाध सिगरेट ही पिलवा दो.

सेक्सी फोटो डालो कल्पना ने फिर से खीझते हुए कहा- आपको जो कहना है, कह लो, जो नाम देना है, दे दो, मुझे नहीं पता. उसने मेरे गाल पर हाथ फेरते हुए कहा- सॉरी हनी, मैंने तुम पर हाथ उठा दिया.

मैंने उसके निप्पल्स चूसते हुए धीरे धीरे उसके पेट में चूमना चालू किया और फिर धीरे से जीभ को उसकी नाभि से रगड़ता हुए उसकी चूत तक जा पहुँचा. मैं तो सिंगापुर चला जाऊंगा, तो अभी अपना मिलन होगा कि नहीं, वो मैं नहीं बोल सकता कि तुझे कब मिलूंगा. पर उतने में पापा मम्मी घर आ गए और हम जल्दी से अलग होकर पढ़ाई करने लगे.

कुत्ता वाला बीएफ हिंदी

मैंने उसका हाथ पकड़ कर उसको कमरे से बाहर निकाल दिया और अपने बेड पर आकर लेट कर रोने लगी. अब रितेश ने अपने हाथ से क्रीम के ट्यूब से क्रीम ली और मीरा की कमर में पर लगाना शुरू कर दी. फिर उनके इस दाने को अपने मुँह में लेकर खींचते हुए चूसा और चूत की गहराई में जीभ घुसा कर प्यार से, बहुत ही निष्ठा पूर्वक उनकी रसीली बुर चाटने लगा.

अपने भाई रोहित के लंड से चुदने की या अपने माँ और पापा की लाइव चुदाई देखने की?आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी. मेरी मम्मा की चूत पर हल्के हल्के बाल थे लेकिन उन बालों से मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं हुई.

मुझे पापा ने मेरी एक फ्रेंड के घर 3-4 दिन रहने को बोल दिया और स्कूटी चलाने का मना करके चले गए.

पिंकी बहुत धीरे से बोली- क्या कर रहे हो जीजा जी!पिंकी की धीमी आवाज़ किसी डर की वजह से नहीं, बल्कि पिंकी का बहुत मन था कि अमर उसको छेड़े, उसके बदन से खेले, इस वजह से वो सिसिया रही थी. ’‘मैं तैयार हूँ, आओ पहले कौन लेगा मेरी?’ मम्मी ने चूत पसारते हुए कहा. उस फ्लोर पे एक और फैमिली रह रही थी, उस फ्लोर पे बाकी के सब फ्लैट खाली ही पड़े थे.

भाभी भी गांड हिला-हिला कर मज़े ले रही थी, शायद भैया ने झड़ने से पहले ही लंड निकाल लिया और फिर पहले तो लंड भाभी से चुसवाया और फिर आशा भाभी की चूचियों को अपने लंड से थोड़ा सहलाया और फिर एक बार और चूत चुदाई की. मेरी सैलरी बहुत ही कम थी, मात्र 10000 रूपए मिलते थे, जिसमें से 3000 मेरा पीजी का किराया खाना आदि का लगता था और बचते थे 7000, जिनको मैं अपने घर पर दे दिया करता था. और ये क्या … 2-3 मिनट की चुदाई के बाद फिर से रोहित का वीर्य सन्जू की चूत में निकला। ये मैंने सिर्फ बी.

शिखा अपनी चूत को बेडशीट से पोंछने में लगी हुई थी और बीच-बीच में मेरी तरफ देख कर मुस्करा देती थी.

मां बेटे की सेक्स वीडियो बीएफ: मैंने बोला- कोई बात नहीं, यह कितने बजे उठती है, उस टाइम मैं चाय बना कर ला दूंगा. मैंने जैसे ही उनको नंगी देखा तो मेरे सारे शरीर में एक करेंट सा दौड़ गया.

वह लड़का जिसने मुझे सीट दिलवाई थी, अंदर की तरफ आया और बोलने लगा- बस जयपुर पहुंच गई है होटल के आगे!मैं तो बहुत ज्यादा डर गई थी कि अगर इस हालत में मुझे किसी ने देख लिया तो बहुत ही बड़ी गड़बड़ हो जाएगी. दोस्तो, कैसी लगी मेरी भाभी की चुदाई कहानी, मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को अच्छी लगी होगी. अचानक हम दोनों के शरीर एकदम से कांपने लगे और जीजू ने पूरी ताकत से लंड को आखिरी बार मेरी चूत में धक्का मारा और मेरी चूत के अंदर ही अपने लंड से पिचकारी मारने लगे.

उधर विलियम ने भी अपने अंडरवियर और पैन्ट को ऊपर खींच कर पहन लिए और मैं भी अपने कपड़ों को व्यवस्थित करने लगी.

कुछ देर बाद डाक्टर ने लंड सहलाना बंद कर दिया और टिश्यू पेपर से पूरे लंड और अंडकोश को साफ करने लगी थी. जमाई बाबू बदन पर पानी डालने के बाद अंधेरे में शायद साबुन ढूंढ रहे होंगे. मैं जाने को हुआ, तो उसने मेरा हाथ पकड़ के खींचते हुए कहा- चुपचाप चलो.