बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो हिंदी bf

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चाहिए वीडियो सेक्सी: बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ, मगर जब मैंने स्टेशन पर उसको देखा तो वो एकदम किसी फिल्मी एक्ट्रेस की तरह लग रही थी.

தமிழ் டீச்சர் செஸ்

उनकी चुदाई देखने से मुझे भी ऐसा लगने लगा था कि रियल ब्लू फिल्म की शूटिंग चल रही हो. नवरा बायकोचे सेक्सीअब तक मैं कपड़े पहन चुका था तो वो जोर से सांस लेते हुए बोली- लोग केवल बोलते रहते हैं और कपड़े पहन कर कमरे में बैठे रहते हैं.

मैंने भाभी से कहा- ठीक है, मैं भी उससे मिलूंगा तो बोल दूंगा कि भाभी तुम्हारी बहुत तारीफ कर रही थी, भाभी बता रही थी कि तुम बहुत सुंदर और अच्छी लड़की हो. सेक्सी हिंदी चुदाई सेक्सीतुम मुझे फ्रेंड मानती हो?उसने कहा कि कल जब हम चले जाएंगे तब क्या करोगे?मैंने उससे कहा- मैं तुमको बहुत चाहता हूं और जिंदगी भर चाहूंगा.

लिंग बालों से घिरा हुआ था और अंडे फूल और सिकुड़ रहे थे, मानो जैसे वीर्य का दरिया उसके अंडकोषों में उथल पुथल होते हुए बहने को हो रहा था.बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ: जगत अंकल बोले- मम्मी कुछ बोलेगी तो मैं बोल दूंगा कि मेरे पैर दर्द करने लगे हैं … इसलिए बदल लिया, तू चिंता मत कर मैं सब सम्हाल लूंगा.

तो क्या हुआ, मैंने भी तो बताया था कि तुम भी उसकी बहन ही हो, नेहा‌ नहीं तो तुम ही सही.वो- तू रुक … अभी बताती हूँ कण्ट्रोल कैसे होता है … तेरी मम्मी को जब पता लगेगा तो अपने आप ही सीख जाएगा.

सेक्सी गाना सेक्सी फोटो - बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ

जब उन्होंने जबरदस्ती मेरी चूत को चोदा था तो मैंने सोच लिया था कि इस चूतिया के साथ शादी करके मेरे घरवालों ने मेरी जिंदगी ही बर्बाद कर दी.प्रशांत के लिए यह अद्भुत था, क्योंकि नीना पहली बार उसके लौड़े को मुख-मैथुन का सुख दे रही थी.

जब उसे पता चला कि मेरा लंड तनकर खड़ा हो चुका है तो वह नीचे मेरे सामने ही बैठ गई. बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ हमारी चुदाई के बाद जब हमने वापस अन्दर देखा तो हम तो फिर से उत्तेजित होने ही वाले थे क्योंकि अन्दर मॉम अपने पेट के बल लेटी थीं और नामित उनकी दोनों टांगें फैला कर अपनी जीभ से उनकी गांड के छेद को चाट रहा था.

मैंने उसके पैरों को पकड़ा और उसकी पैरों की उँगलियों को एक एक करके चूसना शुरू किया.

बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ?

और मैंने उसकी चूत से बहने वाली सफ़ेद पानी की वो बूंद अपनी उंगली पर उठा कर उसे दिखाई।वो बोली- यार, जब से तूने अपने बॉयफ्रेंड का किस्सा सुनाया है न, मन बड़ा बेचैन है।मैंने पूछा- मेरे यार पे दिल आ गया तेरा?वो बोली- हाँ यार … पूछ न उससे अगर वो आ जाए तो … दोनों बहनें मिलकर मज़े करेंगी।कहानी जारी रहेगी. क्योंकि मेरे पति का हथियार बहुत छोटा था, सिर्फ तीन इंच का और बहुत ही पतला था. योजना कुछ ऐसे बनी कि पहले सब यहाँ से ट्रेन से पुणे तक जाएँगे, फिर वहाँ से बस करके महाबलेश्वर और बाकी जगह घूमेंगे जिसके लिए टिकेट्स और बस का अरेंजमेंट मुझे और मेरे दोस्त को मिलकर करना था.

तुमको अपने पेट पर सुलाकर मैंने तुम्हारे नितंबों के दोनों फलकों को दबाना शुरू किया. ”लेकिन ये सब गलत है मास्टर जी … समाज क्या कहेगा, किसी को पता चल गया तो?”घबराती क्यों हो कौशल्या रानी … किसी को नहीं पता चलेगा. मैं तो जैसे स्वर्ग में था, क्योंकि मेरी बीवी ने आज तक कभी मेरा लंड मुँह में नहीं लिया था.

वो मेरी गर्दन चूमकर मेरे ब्रा के ऊपर से बूब्स दोनों चूमने लगे और फिर सीधे लिपट के मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए. मैंने उन्हें धक्का देकर पेट के बल बेड पर गिरा दिया और उन्हें पीछे से अपने नीचे दबा कर गुलाल रगड़ता रहा. मैंने पता किया कि वो अपने फोन पर गन्दे फोटो और चुदाई की फिल्म देखती थी.

”और भी थोड़ी नार्मल सी बात हुई और उसने फोन रख दिया। मैं बहुत खुश था क्यूंकि बात शुरू तो हो गई थी।फिर हमारी लगभग रोज ही बात होने लगी थी. वह एकदम से कुतिया बन गई और फिर उसकी गांड मेरे सामने हिलने लगी जिसके कारण मेरे लंड से पानी निकलने को तैयार हो गया.

मैंने अपने हाथ को उसकी जांघों के बीच सरका दिया और धीरे धीरे ज़न्नत के दरवाज़े की तरफ बढ़ने लगा … जैसे जैसे मेरा हाथ उसकी चूत की तरफ बढ़ रहा था, मुझे कुछ गीलापन और गर्मी महसूस होने लगी.

मैं भी न जाने क्या सोच कर उनके पीछे पीछे चल दिया और डायरेक्ट किचन में जा पहुंचा.

उसने बिना देरी किये मेरी जांघों के बीच अपना सिर घुसा अपनी अवस्था ले ली. आखिर कैसी होगी इसकी चुदाई की नई दुनिया? फिर तो करते हैं प्रशांत की नई दुनिया का सैर. उसे जो मज़ा मिला, वो उसे खोना नहीं चाह रही थी इसलिए वो जोर जोर से अपनी चुत मेरे मुँह पर रगड़ने लगी.

कल रात रवि मामा ने अपना लंड मेरे हाथों में देकर मानो मेरे दिलो दिमाग में हवस की चिंगारी डाल दी थी, जो कि इस सुनसान अंधेरी रात में अकेले रवि मामा के कड़क मज़बूत जिस्म और मस्त चुदाई सोचकर अब आग की तरह धधकने लगी थी. एक दो बार तो ऐसा हुआ कि मुझे उसके सामने ही टॉयलेट में मुठ मारने जाना पड़ा. इतने में गैब्रियल ने उत्तेजित होकर अपना पूरा लंड एक बार में मेरी गांड में घुसा दिया.

मुझे सुराख नहीं दिखा, पर एक रोशनदान था, जिसमें से सुनीता अच्छे से दिख सकती थी.

तो वे बोले- वन्द्या तेरी गांड में ही डाल दूं क्या?तब मैं पहली बार उनसे बोली- नहीं अंकल आगे ही करो. मैंने हैरानी से कहा- क्या … तुम्हें कोई ऐतराज नहीं है?मालिनी बोली- ऐतराज होता तो मैं पहले ही नहीं आती क्योंकि मैंने तुम्हारी और आंटी की बातें सुन ली थी. और मैं किचन में दूर से देखने लगा कि चाची की साड़ी उसकी गांड को टाइट कसे हुए थी और कमर का हिस्सा साफ नज़र आ रहा था.

नहाने के लगभग दो घंटे बाद मैंने मेरी आगे की बालकॉनी से नीचे देखा, लता बाहर खड़ी थी. थोड़ी देर गप्पें लड़ाने के बाद सबको नींद आने लगी तो सब जाकर सो गये. इस वक्त मेरी सहेली का भाई मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोद रहा था और बता रहा था कि वो अपनी भाभी को किस आसन में चोदता है.

कुछ देर बाद हम दोनों के अंदर की चुदास फिर से जाग गई और मैंने अजय के मोटे लौड़े को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया.

इसके साथ ही वो इइईई … इश्श्श्श … आआह … ह्हहह …” करके जोरों से सिसक उठी. वो घबराकर बोली- क्या?मैंने मुस्कराते हुए कहा- कलेक्शन अच्छा है तुम्हारे पास, मुझे पसंद आया.

बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ बारहवीं के पेपर भी दे दिए और पेपरों के बाद एक दिन मेरे और शुभम के रिश्ते का घर पर पता चल गया और मेरी खूब पिटाई हुई और मुझे घर पर बिठा दिया गया. इस कहानी में मैं आपको बताऊँगा कि कैसे मैं चूतों के एक ऐसे भंडार में पहुंच गया, जहां मैं जब चाहूं, जैसे चाहूं चुदाई कर सकता था.

बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ वो बुरी तरह से थक गई थी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और पीछे से जोरदार चुदाई करने लगा. जब मैं थोड़ी सहज हो गई तो उसने धीरे से अपना लंड मेरी गांड के अंदर हिलाना शुरू कर दिया.

जैसे ही मुझे फर्श पर लिटाया, रमीज बोला- अबे यार इसको ऐसे मत लिटाओ, नीचे गद्दा डाल लो, तब और अच्छी पोजीशन बनेगी.

कोई सेक्सी सीन दिखाओ

मम्मी के मुँह से इतना सुनते ही जगत अंकल की तो जैसे बिन मांगे मुराद ही पूरी हो गई थी. जैसे ही उन तीनों की एक साथ चुदाई की कहानी बनेगी मैं आप सबके साथ सेक्स स्टोरी को साझा करूँगा. अब मेरी अनु से भी कम बात होती थी और उसके साथ काफी दिनों से चुदाई का कार्यक्रम भी नहीं हुआ था.

फिर वो बोली- मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगी … डर मत और ज्यादा आशिक मत बन … सारी हेकड़ी निकल जाएगी. मैंने सोनू से कहा- यदि फ्रेंडशिप करनी हो तो कल शाम को अपनी मम्मी से पूछ कर पढ़ाई के बहाने ऊपर मेरे कमरे में आ जाना. दीदी की इस तरह की बातें सुनकर मुझे कुछ ऐसा लगा कि इसकी बातों में भाई बहन वाली फीलिंग नहीं लग रही है.

ऐसा कहकर अनु बहुत गुस्से में वहां से निकल गई और मैं चुपचाप खड़ा रहा.

मेरा देवर जब भी मेरी गांड को छूता है, तो मैं उसको कुछ नहीं बोलती थी जिससे उनकी हिम्मत बढ़ती ही जा रही थी. हालांकि मेरा एक बॉयफ्रेंड जब भी मुझसे कभी कभी फोन लगा कर बात करता है, तो मैं उससे बात कर लेती हूँ. हम दोनों रजाई में थे, मैंने सोचा क्यों ना एक बार इस पर हाथ ट्राय किया जाए.

अब मैं खड़ा हुआ और वंदना की पैंटी देख कर कहा- यह तो बहुत गीली हो गई है. मैंने उसे एक धीरे से गाल में प्यार से चपत मारी और कहा- चलो अब क्या देखते ही रहोगे. वो अपनी जिन्दगी में व्यस्त और मैं अपने जीवन में… इसी तरह दिन गुजर रहे थे.

इसके बाद मेरी दोस्तों से उसको लेकर बात हुई तो उनके जोर देने पर मैंने दूसरे दिन उससे हां कर दी. इससे भाबी और ज्यादा उत्तेजित हो कर मुझे गालियां देने लगी- मुदित भोसड़ी के … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद चोद डाल मुझे … बुझा इस कुतिया की प्यास आह कुत्ते बहनचोद … आ न आह!उसकी गालियों ने मुझे और उत्तेजित कर दिया.

उसने बोला कि बेबी के लिए तो दूध है पर, बेबी के मेरा दूध ना पीने की वजह से मेरी छाती भारी हो गई हैं. कुछ देर बाद सोनल ने अपना मुँह ऊपर उठाया और अपने होंठ दादाजी के होंठों पर रख दिये. उस दिन मस्ती में आकर लंड की भूखी मेरी नीना ने ताल ठोक कर प्रशांत के साथ चुदाई की, मगर अगले दो दिन तक उसे इसकी बड़ी सजा मिली.

मैं भी गर्म थी और मुझे भी चुदवाने का मन कर रहा था तो हम दोनों ने एक दूसरे को बहुत देर तक किस किये.

उसको पॉर्न फिल्मों के बारे में कोई नॉलेज नहीं थी, मैंने उसे ऐसी फ़िल्में दिखाना शुरू किया. भीड़ बढ़ने लगी तो वह फिर मेरे पास आया और बोला- और कुछ चाहिए?मैं- चाहिए तो सही … पर आप दोगे?वह- जी हाँ! दूकान खोली ही इसलिए है, दूकान का सारा माल बेचने के लिए है. सैक्स कहानियों के शौकीन मेरे प्यारे मित्रो, मैं निशा शर्मा हूँ, मेरी काफी कहानियां अन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी हैं। आपने भी मेरी कहानियों को पढ़ा होगा.

दस मिनट में उसने मुझे 2 बार कस कस के पकड़ा था मतलब वो 2 बार झड़ चुकी थी. यह कहते हुए अंकल मेरे बाल पकड़कर सीधे अपने लंड तरफ मेरा मुँह करने लगे.

मैंने सोचा कि कुछ पैसे आदि की बात से परेशान हैं तो मैंने कहा- भाभी सब ठीक हो जाएगा. वो बोली- बाबू, रात भर में मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- अभी तो नहीं भरा. उनमें से एक बंदे कहा कि इतनी रात में तो कोई मिस्त्री भी नहीं मिलेगा और इस समय तो कोई बस या गाड़ी भी नहीं मिलेगी.

चाइना सेक्सी वीडियो चाइना सेक्सी वीडियो

मैंने भी अब सोचा कि जब ये लड़की होकर नहीं डर रही तो मुझे क्या है और वैसे भी घर‌ में नेहा ही है, जिसको पहले से ही सब पता है.

उसका पूरा लंड अन्दर जाने लगा और मेरी रंडी बहन मीनाक्षी अपना मुँह चुत जैसा बनाकर ‘अआह … आआह …. अब जब भी वह घर पर अकेली होती है तो मैं उसकी चूत चुदाई करके उसको संतुष्ट करने पहुंच जाता हूँ. कुछ दिन और ऐसे ही बीत गए मगर कहीं पर भी किसी सेफ जगह का जुगाड़ नहीं हुआ.

फिर मैंने उससे किस मांगा, तो उसने जैसे ही मेरे तरफ मुँह किया, मैंने मेरी जीभ उसके मुँह में डाल दी और नीचे के होंठ काटने लगा. मेरे इतना कहते ही उसने जोर से बोला- तेरी मां का भोसड़ा कुत्ते … चुपचाप बाहर चला जा मादरचोद … नहीं तो तू मुझे जानता है कि मैं क्या हूँ. ஹாட் செக்ஸ்ய்मैं समझ गया कि शायद रिया को नींद आने वाली है। मैंने कुछ देर तक उसके होठों को चूसा और जिस्म से खेलता रहा।जब मैं उसके जिस्म को चाट कर थक गया तो हम दोनों अलग हो गए। रात भी काफी हो चुकी थी.

नामित ने यह सब बताते हुए ही मुझे कसकर अपनी बांहों में पकड़ लिया और मेरे होंठों को चूसने लगा. पहले हम घरवालों के साथ संयुक्त परिवार में रहते थे, पर पिछले एक साल से हम कहीं अलग किराए के घर में रह रहे हैं.

’लेकिन वो नहीं मानी, उसके घर वाले भी बोलने लगे और उन्होंने मुझे जबरदस्ती 500 रुपये दे दिये. अनु मेरी बीवी है … चुपचाप छोड़ दो इसे … नहीं तो अंजाम बहुत बुरा होगा. उन्होंने टांगें फैलाकर मेरी चूत में अपनी जीभ सीधे डाल दी और इतना जोर से चाटना चूसना शुरू कर दिया कि मैंने अपने आप ही उनका लंड अपने मुँह में भर कर चूसने लगी.

मैं उसके मुँह की तरफ बढ़ा और उसने मेरी पेंट की जिप खोल कर मेरा लंड मुँह में ले लिया. लेकिन तभी मैंने देखा कि उसने तुरंत ही रोड क्रॉस किया और इसी कैंटीन की ओर आने लगी. हम सब रेलवे स्टेशन पर मिले, मैंने सबका अभिवादन किया और पियू को भी हेलो कहा.

सुबह जब मैं उठा तो उसके प्यारे से चेहरे पर अलग ही चमक थी और वो मेरी बांहों में किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी.

मैंने उसके दोनों हाथ जो मेरे घुटनों पर थे, उसको पकड़ कर अपनी जांघों के बीच लौड़े को ना छुए, ऐसे रख दिये. उसने अश्लीलता से अपने होंठ काटे और बड़ी ही कातिल हंसी के साथ बोला कि जूठा पीने से प्यार बढ़ता है.

चूत का पानी चाट लेने के बाद भी वो मेरी चूत को चाटता रहा, जिससे मैं फिर से गरम हो गई. चाची अपनी चूत के छेद पर लंड लगाकर बोलीं- जल्दी पेलो प्लीज, अब मेरी चूत को लंड चाहिए. तब मैंने देखा कि उसकी सीट पर उसका कॉलेज वाला आईडी कार्ड गिर गया था.

वो बोली- फिर तो मेमसाब आ जाएंगी फिर मेरी तरफ़ थोड़ा देखोगे?मतलब उसे भी नीचे आग लगी हुई थी. अब सन्नी का लंड मेरे मुँह में था और सन्नी की गांड में मेरा अंगूठा था. उसने मुझे देख कर हाथ हिलाया कि क्या हुआ, मैंने गर्दन हिलायी- कुछ नहीं.

बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ आह क्या … कोमल फूली हुई और चिकनी चूत थी … मानो कोई सील पैक नई नवेली दुल्हन की चूत हो. थोड़ी देर में उस माल की चूत ने पानी छोड़ दिया और उसकी पेंटी गीली हो गयी.

ब्लू पिक्चर वीडियो में हिंदी सेक्सी

उसको देख कर कोई कह ही नहीं सकता था कि यह साली 3 बच्चे पैदा कर चुकी है. मैं भाभी के मुँह को ज़ोर-ज़ोर से चूम रहा था और भाभी बहुत हॉट होती जा रही थीं. सबने मेरे बारे में पूछा कि ये हैंडसम जवान लौंडा कौन है? क्या बॉडी है साले की …और वे सब इसी तरह की बातें करते हुए मेरी शर्ट के अन्दर हाथ डाल कर मेरे सीने पर हाथ फिराने लगीं.

मैंने भी अपना ध्यान अब फिर से नेहा की चुत को चाटने पर लगाया और अपनी पूरी जीभ निकाल कर उसकी चुत में गहराई तक पेलने लगा. कुछ ही देर के बाद हम दोनों चुदाई का मजा लेने के पोजीशन में आ गए थे. कुंवारी लड़कियों को कैसे पटाएइसलिए मैंने अब अपनी एक उंगली से उनके गुदाद्वार को सहलाना शुरू कर दिया.

वो मेरी जीभ चूसती रही और मैंने पीछे हाथ ले जा के उसकी ब्रा के हुक खोल दिए.

मैं अब खड़ा हो गया था और झटके से एक बार में ही उसे गोद में उठा लिया. मैं उसी वक़्त नामित के पास बैठते हुए उसका लंड सीधे अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

क्या नज़ारा था, ट्रेन तेज जा रही थी और वो कांटा माल मेरा लंड भूखी कुतिया की तरह चूस रही थी. मुझे समझ नहीं आया कि कोई भी इंसान इस स्टेज पे आकर किसी को चोदने या चुदवाने से कैसे रोक सकता है. दूसरी तरफ प्रीति मेरी सहेली थी, इस वजह से मेरा सुखबीर के साथ कोई विचार अभी तक नहीं बन सका था.

अबकी बार मैंने राहुल के लंड को अपने मुंह में लेने में बिल्कुल भी देर नहीं की.

मैंने 2-3 बार परिवार वालों की तरफ देखा तो पता चला मनीषा मुझे देख रही थी, वह थोड़ी उदास सी बैठी शायद कुछ सोच रही थी. रूपा की चूत उसके कामरस से एकदम भीगी हुई थी … इसलिए जैसे ही मैंने हल्का सा झटका दिया … मेरे लंड का सुपाड़ा सरकता हुआ, उसकी चूत के छेद में समा गया. वंदना ने मेरी कमीज की सभी बटन खोल दिए और मुझे बोला कि खुद कपड़े पहने हुए हो और मेरे सब कपड़े उतार दिए.

सेक्सी व्हिडिओ हिंदी में दिखाइएकुछ ही मिनट की चुदाई में ही मनीषा पहली बार झड़ गयी और उसका शरीर ढीला पड़ गया. थोड़ी देर तक चूत चाटने के बाद मैंने अपना लंड हिलाया और उसकी चूत की दरार में रख कर अन्दर डालने लगा.

செக்ஷ் விடியோஸ்

मेरी बहन के मुँह से एक जोर की चीख निकल गई … तो मैंने मुँह पर उंगली रख के इशारा किया कि चुप रह … कोई जाग जाएगा. मैंने आनन्द का लंड पकड़ के थोड़ा बाहर निकाला और उसकी सिर्फ टोपी ही अन्दर रहने दी. मेरी सहेली का भाई तो कभी कभी मुझसे पीरियड के बारे में भी पूछने लगा था.

एक तरह से उसने मुझे धोखा दिया था, बाद में एक मैसेज भेजा कि वो अपने पापा को धोखा नहीं दे सकती थी. धीरे धीरे सोनल के होंठ दादाजी के लंड को आगोश में लेना शुरू कर दिया और लंड को चूसने लगी. उसकी घर में भी थोड़ा ज्यादा चलती थी और वो दिखने में भी थोड़ा मजबूत था.

मुझे किस किया और मामी को नंगी करके किस करने लगे, उनके बूब्स को दबाने लगे. मेरे धक्के लगाने से नेहा ने मेरे होंठों को छोड़ दिया और अपने बदन को कड़ा करके हल्का हल्का कराहने‌ लगी. जेठानी ने कहा- ये यहाँ क्या करेगा?एकता ने कहा- अरे यार सब करेगा … अब थोड़ा बैठने भी दो … या सब यहीं खड़े खड़े ही पूछ लोगी.

उसके बाद मैंने चाची को अपने ऊपर बैठा लिया और चाची मेरे लंड पर बैठकर उछलने लगी. ये कहकर मेरे जेठ मेरे कपड़ों की तरफ बढ़े, उन्होंने मेरा पल्लू मेरे सीने से पहले ही अलग कर दिया था.

आह … उह … फक मी … यस … फक मी … जैसी कामुक आवाजें मेरे मुंह से निकल रही थीं.

मैंने आगे को सरकते हुए मामा जी के लंड का गुलाबी मोटा सुपाड़ा अपने मुँह में भर लिया. देहाती सेक्सी वीडियो देवर भाभी केवो कसमसा रही थी लेकिन मैंने नुपूर को ढीला नहीं छोड़ा, उसके होंठों को बोबे को दबाता रहा और लंड को चूत में ठोके हुए पड़ा रहा. राजस्थानी सेक्सी वीडियो भाभी की चुदाईप्रिया को जब मेरी जीभ की गर्मी का अहसास हुआ, तो उसने अपने आप ही अपनी जांघों को खोल दिया. बातसाफथी, सलोनीकोमैंपसंदथाऔरज्यादाविरोध कीउम्मीदनहींथी,मेरेहाथोंकादबावउसकीकमरपरबढ़गया.

हम दोनों ने साथ में कपड़े पहने और 5 मिनट बाद बाहर सोफे में आकर बैठ गए.

टीवी पर एक काले लंड वाली शानदार ब्लू फिल्म चल रही थी, जो अरुणा को पसंद थी. अब मैं भी अपनी कमर उठाने लगी और महेश को गाली देकर बोली- कुत्ते और डाल अन्दर साले मादरचोद. मैंने अपने दोस्त को आवाज दी, जब कोई जवाब नहीं आया, तो मैं उसे ढूंढते उसके घर घुस गया.

पर अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में मैं अपनी सहेली को नहीं बताती थी, क्योंकि वो साली इतनी बड़ी रंडी है कि मेरे ब्वॉयफ्रेंड पर भी लाइन मारना शुरू कर देती थी. उसकी जुबान एक बियर में ही लड़खड़ाने लगी थी और दूसरी भी उसने आधी खत्म कर दी. मैं किसी भी तरह की झूठी कहानी लिखना नहीं चाहती थी इसलिए मैंने अपने पति के साथ अपनी सच्ची चुदाई की कहानी लिखना ठीक समझा.

पूजा हेगड़े सेक्सी

अपनी उंगलियों से नेहा की मुनिया को मसलते हुए मैंने फिर से उसकी चूची को मुँह में भर लिया. राहुल का लंड मेरी जांघों पर नीचे अलग से मुझे टच होता हुआ महसूस होने लगा था. वो भी मुझसे चुदना चाहती थी क्योंकि उसका शौहर उसके साथ कुछ नहीं करता था.

मैं- मुझे तो नहीं है!नेहा- ओके, ठीक है जब तुम बुलाओगे, तो मैं आ जाऊंगी.

अब उसने मेरी ब्रा भी निकाल दी और मेरे बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

जैसा कि मैं बता चुका हूँ कि उस समय हर शाम शादियों में जाना होता था इसलिए अगली रात फिर वही हुआ. मैंने बातों में पूछ लिया- मैडम आज मौसम काफ़ी सुहाना है … बारिश हो ही रही है … हल्की ठंड भी है. इंडियन देसी सेक्सी एचडी वीडियोवह दूध लेने की बात कर रहा था और मैं कुछ और ही लेने की फिराक में थी.

मैंने अपनी साड़ी कमर तक पूरी ऊपर की और अपनी पैंटी उतार उसे अपनी योनि के दर्शन करा दिए. मेरे मुँह से भी गरम चुदासी आवाजें निकल रही थीं- आआह्हह … आआह!फिर मैंने प्रमिला को कमर से पकड़ कर ऊपर उठा के अपने पेट से चिपका के उल्टा उठा लिया, जिससे प्रमिला का मुँह मेरे लंड की तरफ और प्रमिला की चुत मेरे मुँह की तरफ हो गई. सुमन बहुत गर्म हो गई थी और चिल्ला रही थी- भाभी, प्लीज मेरी चूत का पानी निकाल दो! और अपने कूल्हे उछाल-उछाल कर मेरे मुँह में मार रही थी, मेरे सर को पकड़कर अपनी चूत में पेले जा रही थी.

मैंने उसे जोर से गले लगाया और कहा- मैं तुम्हारी जिंदगी में रंग भर दूंगा. एक पल मेरे मम्मों को घूर के देखने के बाद वो मेरी गोदी में इस तरह लेट गयी कि उसका मुँह बिल्कुल मेरे मम्मों के पास था.

फिर मैंने रमेश से कहा- चलो अब इसकी साड़ी तुम अपने हाथों से निकालो, इसे पूरी नंगी कर दो.

तुम सिसियाने लगी थीं- हाय मेरी चुत, अंगार लग गई है मेरी चूत में … आह चोदो ना जान … मेरी चुत की धज्जियां उड़ा दो ना जान. मैंने सिर्फ ब्लू फिल्मों में कुछ अंग्रेजों और नीग्रो के लंड देखे थे. वो फ़ोटो खिंचवाने के लिए मेरे और पति के बीच में बैठे और मेरे गले में उन्होंने अपना हाथ डाला.

प्रसंगलेखन मैं- जेठ जी, उसे पहले ही सर्दी हो गयी है, उसी वजह से वह बह रही है, इससे पहले की सर्दी और बढ़े, आप मेरी पैंटी उतार दो. थोड़ी देर बाद उन्होंने पानी छोड़ दिया, लेकिन मैं उन्हें कुतिया बनाकर तब तक पेलता रहा, जब तक कि मैं नहीं छूटा.

मैं तड़पने लगी, दर्द से छटपटाने लगी, बहुत तेजी से दर्द हो रहा था, मेरी आंखों से आंसू निकलने लगे. ऐसी सेक्सी गांड वाली भाभी को तो मैं किसी भी कीमत पर चोदने के लिए हमेशा तैयार रहता हूँ. अंकल थाड़े असमंजस थे और उन्होंने जल्दबाजी में अरुणा को अपनी बांहों में भर लिया और अपने होंठ उसके होंठों पे लगा दिए.

फुल सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म

नैना बोली- कब जा रहे हो फ्लैट खाली करके?मैंने बोला- जैसे ही कंपनी दूसरे फ्लैट का इंतज़ाम कर देगी. फिर मैं डर के कारण जल्दी से उठ कर अपने बेड पर आकर रज़ाई में घुस गया. वो खड़ी हुई तो मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और ऊपर आके उसके दूध दबाने लगा.

”अच्छा … पता नहीं ये कहना शायद आपसे उचित ना हो, पर आप एक विवाहित 45 साल की महिला हैं, तो पता ही होगा. मैंने उसको चूसकर ठंडा कर दिया और दुकान खराब न हो इसलिए उस दिन मुझे पानी पीना पड़ा.

थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा आराम से करने लगा, जिससे उन्हें भी पूरा मजा आने लगा.

मैं कुछ समझ पाता, उससे पहले ही लंड से निकली दो गर्म पिचकारियों से मेरा चेहरा भर गया और हड़बड़ाते हुए मैंने तुरंत लंड का सुपाड़ा अपने मुँह में घुसा दिया, जिससे वीर्य की दो पिचकारियों से मेरा मुँह भर गया. मांसल जांघों के बीच में तूफानी हथियार, शान से खड़ा हुआ उसका मस्ताना लंड. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और अपनी जुबान मेरे मुँह में डालकर किसिंग का मज़ा ले रही थी, वो किसिंग में एक्सपर्ट थी तो उस पर नशा चढ़ने लगा.

मामी ने मेरी एक टांग ऊपर की और मेरी चूत में जीभ डालकर अंदर तक चूसने लगी. मैं देखने लगा, उसके बूब्स बहुत ही हॉट सुंदर लग रहे थे और आंटी की सलवार में से उनकी काली रंग की पेंटी भी मुझे साफ दिख रही थी जिसको देखकर मैं बहुत उत्तेजित हुआ जा रहा था और मेरा मन कर रहा था कि मैं अभी उसी समय उनको पकड़कर वहीं पर उनकी चुदाई कर दूँ. वे मजे से मेरे लंड को अपनी चुत से खाते हुए अपने खुद के होंठों को ही काट रही थीं.

उन्होंने मुझसे बोला- ले … मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ और थोड़ा पहले दो चार मिनट अपने मुँह से चूस ले.

बीएफ हिंदी में हिंदी बीएफ: ये कहानी मैं उनकी जुबानी लिखूँगा ताकि आप लोगों को इसका ज्यादा मजा मिल सके. मामा अब बहुत ज़्यादा तड़पने लगे थे और उनका लंड हर 2-3 सेकेंड में झटके से ऊपर की ओर उठ जाता था, जो कि गम्भीर चुदाई को तरस रहा था.

कुछ पल के दर्द के बाद भाभी भी अब अपनी गांड उठा उठा कर लंड के मज़े लेने लगीं. ”उसकी ना में मुझे हां साफ झलक रही थी, उसके निप्पल चने की तरह सख्त हो गए थे. ’नेहा आंटी के बूब्स बहुत ही टाइट और मजेदार थे, उनके निप्पल भी बहुत बड़े थे.

मेरी चुत की खुजली भी मिट रही थी, लेकिन मेरे इस पोजीशन में ताबड़तोड़ लंड के झटकों से मेरे पैर में दर्द होने लगा था.

तभी उस लड़की ने बताया कि उसका कम्प्यूटर भी ठीक से काम नहीं कर रहा है. शायद आप मुझ भूल गए हो, तो मैं आपको फिर से अपने बारे कुछ में बता देना चाहता हूँ. मैंने पूछा- क्या हुआ? तुम भी शराब पीते हो क्या?वो- नहीं नहीं … सर वो मैं सोच रहा था कि आप पीकर घर वापस कैसे जाएंगे, सो मैं रुक गया.