हिंदी बीएफ देवर भाभी का

छवि स्रोत,16 साल की लड़कियों की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी मराठी व्हिडिओ: हिंदी बीएफ देवर भाभी का, एक दो बार धक्का देने के साथ ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया.

हीरोइन सेक्स सेक्स

अब मुझे समझ में आ गया था कि इसको आगे से चुदाई करवाने की बजाय पीछे से गांड को चुदवाना पसंद है. न्यू गोल्डन ओपन टू क्लोजमेरी पिछली कहानीमेरे भैया मेरी चूत के सैय्यां-6में मैंने बताया था कि गंगरेल डैम पर नदी के किनारे बोट ड्राइवर ने अपने दो और साथियों के साथ मिल कर दिव्या और मेरी चूत को चोद दिया.

मैंने उसे किस करके कहा- मेरी रानी … कल फिर से मिलना … तेरी चूत को पूरी तरह से भोसड़ा बना दूंगा. सेक्सी वीडियो जानवर सेक्सीजीजा ने मेरी टांगों को फैला कर मेरी पैंटी को खींचते हुए एक तरफ फेंक दिया.

पर जो मिल रहा था मैं उसी में खुश थी क्योंकि काफी दिनों के बाद ऐसे झटके लग रहे थे मेरे दोनों टाँगों के बीच में.हिंदी बीएफ देवर भाभी का: मैं गुटखा और उसकी जवानी दोनों को मजे ले कर खाने लगा … साथ साथ में मैं सरोज भाभी की चूत का भुर्ता भी बना रहा था.

मैंने रस छोड़ दिया, तो उन्होंने लंडरस पी लिया … चूसते हुए मेरा पूरा लंड साफ कर दिया.मैं खुद ही नंगी होकर अपनी चूत को फैलाते हुए भाई के लंड पर बैठने लगी.

जानू मेरी जानेमन - हिंदी बीएफ देवर भाभी का

दीदी के लिए तीन मोर्चों पर हमला बहुत ज्यादा हो गया था और वो संभल नहीं पा रही थी.मैंने तुरंत उठकर उसे अपनी बांहों में भर लिया और बोला- बस एक बार और करूँगा, बस फिर मत करना.

नए पाठक जो कि अभी ये कहानी पढ़ रहे हैं, उससे मेरा निवेदन है कि वे मेरी पहली उक्त को कहानी को पढ़ लें, ताकि उनको इस कहानी का शुरुआत से ही आनन्द मिल सके. हिंदी बीएफ देवर भाभी का थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड फिर उसके हाथ में सहलाने के लिए दे दिया.

और वो आशिक नहीं बनेगा तो हमारा प्लान कैसे कामयाब होगा।वैसा ही किया मैंने … चश्मे के ऊपर से उसे देखा झटके से, वो आँखें फाड़ फाड़ के मेरे मलाई की तरह गोरे बूब्स के दर्शन कर रहा था।मैंने नकली गुस्सा करते हुए भड़क के कहा- क्या देख रहे हो?और अपनी टी-शर्ट ठीक कर ली।वो घबरा के उठ गया और हकला के बोलने लगा- क… क…कक….

हिंदी बीएफ देवर भाभी का?

जीवन में पहली बार मैंने किसी फेसबुक फ्रेड रिक्वेस्ट को बिना जाने पहचाने ही ओके कर दिया. साल में दो बार ये लोग साथ साथ बाहर घूम आते हैं और हर शनिवार को लेट नाईट पार्टी इनका शौक है. सुहास को भी मजा आ रहा था … मैं बड़ी मस्ती से सुहास का लंड चूसे जा रही थी.

मैंने अपनी बहन को मेरे ऊपर लेटा दिया और अपने हाथ उनकी दोनों तरफ से पीछे ले जाकर उनकी चुत को थोड़ा चौड़ा कर दिया. आंटी मस्ती से कराहते बोलीं- आह चूस ले … और ज़ोर से चूस … चाट ले इस रसभरी को … आह इस भोसड़ी ने बहुत तंग किया है … पूरी खा जा इसे. उसकी सास ने जोर देकर कहा था कि मैं अपने पति मनोज को लेकर एक हफ्ता पहले ही पहुंच जाऊं और जन्मदिवस मनाने के लिए हो रही तैयारियों में हाथ बटाऊं.

फिर उसने बताया कि जब वो अकेली होती है तो इस तरह से पूरी तैयार होकर बाहर घूमने के लिए निकलती है. हालांकि उसकी चूत में दर्द हो रहा था लेकिन फिर भी वो मेरे लंड को लेती रही. मैं उसके जिस्म को सुलगाता जा रहा था और वो मेरे!पूजा- राज … अब नहीं रह जाता! मुझे चोदो; जल्दी करो … प्लीज़ राज!मैंने पूजा को घोड़ी बना कर पहले उसकी चूत को पीछे से ही चाट कर गीला किया और फिर उसकी चूत में लंड रख एक झटका मारा ही था कि पूजा आह … की आवाज कर आगे खिसक गई.

तो ऐसे ही सितंबर के महीने में हमारे स्कूल को अन्य दूसरे स्कूलों के साथ वाद विवाद में प्रतियोगिता में हिस्सा लेना था. तभी उसने मेरे लन्ड को ऐसे मुँह में लिया मानो खा जाने को आतुर हो!‘आह …’ मेरे मुँह से सिसकारियाँ सुन उसने मेरी जाँघों को सहलाना शुरू कर दिया और गपागप लन्ड मुँह में लेने लगा.

मैंने उसको डॉगी स्टाइल में किया, जिससे उसकी चूत थोड़ा पानी में थी थोड़ी बाहर थी.

वहाँ तो हब्शियों ने हमारी … आप खुद समझदार हैं।तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी?[emailprotected].

बाद में हम मयूर के कमरे में चले गए उसने कमरा एकदम बहुत ही अच्छी तरह से सजा रखा था. मुझसे बोले- कभी किसी भी चीज की जरूरत हो तो मुझे कह देना शर्माना मत. अब बात कुछ इस तरह की है कि एक दिन मैं भाभी के घर पर सर्विस दे रहा था … मतलब कि उन्हें चोद रहा था कि तभी उनकी भाभी ने हम दोनों को सेक्स करते हुए देख लिया.

मैं तो जब भी सेक्स के बारे में सोचती या सुनती थी, तो मेरी चूत एकदम से गीली हो जाती. मैंने सोचा कि अगर जुबान नहीं खोली तो ये अपने मूसल लंड से मेरी चूत खोल कर रख देंगे और फिर सारे राज आज ही खुल जायेंगे. जो जो सामान मैंने पहले बोला था, वो सब ले लेना … और इसके अलावा आपको और जो भी चाहिए हो, ले लेना.

” नीलम ने अपने ससुर से कहा।ठीक है बेटी मेरा तुम से वादा है जब तक तुम अपने मुँह से नहीं कहोगी मैं तुम्हारे साथ आगे नहीं बढूँगा मगर जितना हम एक दूसरे के क़रीब आ गये हैं उतने का तो मजा ले सकते हैं.

फिर वो मेरे फोर्स करने पर अपने चूचों की फोटो मेरे साथ शेयर करने के लिए तैयार हो गई. उसके जाते ही कुमार जल्दी से उठा और मुझे गले लगा कर मेरे मम्मों को दबाने लगा … मैंने भी उसका साथ दिया. पता नहीं मुझे ये सब देख बहुत मजा क्यों आ रहा था और मेरा लंड भी बिल्कुल अंडरवियर में तम्बू बनाए था.

फिर वो बोला- भाभीजी आपके सामने मसाज का पूरा आनंद ना ले पाएँगी, आप दूसरे रूम में चले जाएँगे क्या?मैं बोला- ठीक है!फिर नीता और प्रिन्स को बोला- मैं बेडरूम में जा के सोता हूँ. भाभी मेरे पास आ कर बैठीं और कहा- जो हो गया, उसकी चिंता न करके अब आगे कुछ ग़लत ना हो, उसका ध्यान रखना है. पहले मैंने उसकी चुत को दो उंगलियों से खोला और लंड का सुपारा अन्दर फंसाने लगा.

उसका अभी भी अपने दोनों हाथ ऊपर उठा कर अपने मम्मों को सहलाना दबाना चालू ही था.

चूँकि अंकित भी उसके खुद के बेटे जैसा ही था तो आतिफ की तरह शबनम अंकित को भी अपने गले से लगाती थी. फिर जब मेरी मामी को आखिर में होश आएगा … तो वो मुझे अपने से दूर धकेल देंगी और बोलेंगी कि अभी नहीं रॉकी … कोई भी देख लेगा.

हिंदी बीएफ देवर भाभी का उसने मुझे होंठों पर एक किस दिया और बोली- आज तुमने जो खुशी दी है, मैं जिन्दगी भर तुम्हारी आभारी रहूंगी. मैं सामने के शीशे में देख रहा था कि वो अपने ही हाथों से अपने दोनों मम्मों को मसलने और अपने निप्पलों को काटने लगी थी.

हिंदी बीएफ देवर भाभी का मैंने उठ कर अपना टॉप उतार दिया और विनय ने जल्दी से मेरी स्कर्ट के साथ ही मेरी पेंटी को निकाल दिया. मैंने उसे आंख भर कर वासना से देखा, तो उसने अपने दोनों हाथ ऊपर कर दिए.

और उसका हाथ पकड़ के अपने दायें बूब पे रख दिया।सचिन को शायद एक करेंट सा लगा पूरे जिस्म में मुझे वहाँ छू के।फिर उसने अपनी हथेली खोल के पहले तो पूरा गोल गोल हाथ फिराया मेरे दायें वक्ष यानि बूब पे और फिर भोंपू की तरह दबाने लगा.

जबरदस्ती चोदने वाली सेक्सी

कुछ ही पल में पूजा एक बार फिर आनन्द के सागर में डूबने लगी उसकी मादक सिसकारियाँ सुन कर अमित भी अपने लन्ड को हिलाने लगा. हां लेकिन मुझे जिस्म की नुमाईश करने में बड़ा मजा आता है और भाई का बस चले, तो वो हमेशा मुझे नंगी ही रखे. आप तो समझते ही होंगे कि पसंद करना और दीवाना होने में कितना फर्क है.

मैंने बेशर्मों की तरह उसके करीब जाकर उसकी चुचियों को जोर से दबा दिया. उसी वक्त पता नहीं मोना को क्या हुआ, वह झट से खड़ी होकर मेरे पास आकर मेरे गले से लग गई. आंटी हंस कर बोलीं- कोई बात नहीं … मुझे नेहा ने फ़ोन पर सब बता दिया था.

मैं राज को सुनाने के लिए जोर से बोला- उषा कपड़ों को धो दो, राज 2 घंटे में आएगा.

जब उस दीवार पर लंड जाकर लगता तो लेडी डॉक्टर के चेहरे पर अलग ही आनंद छलक पड़ता. फिर श्वेता दीदी दीदी को छेड़ते हुए बोली- ऐसे भी तो सब खोलना ही पड़ेगा … कुछ भी पहन लो. मैंने अपनी आंखें खोली तो देखा कि मेरे हस्बैंड भी मेरी गर्दन और मेरी चूचियों पर अपने हाथ फिरा रहे थे और उनका लंड ठीक मेरे मुंह के सामने था.

कुछ ही पलों में वो अपनी चूत को सिकोड़ने लगी थी और पूरी तरह से मेरे लंड पर बैठ कर अपनी गांड मटकाने लगी. मैं कुछ देर ऐसे ही लेटी रही, फिर अपने आप को रुमाल से साफ किया और फिर कपड़े ठीक करके उसके पास गयी. कितनी टाइट मस्त गांड है। ऐसा लगता है कि तेरे हुस्न का मेरे अंदर नशा छा गया है.

मैंने स्लीवलेस मिड्डी पहनी थी, शोल्डर्स पर बेल्ट थी, मेरी गहरी वक्षरेखा नुमाया हो रही थी. श्वेता दीदी आंगन में गई और रस्सी पर से तौलिया लाकर साकेत भैया को दे दिया.

इस जबरदस्त चुदाई के दौरान मैं कितनी बार झड़ी थी, ये तो मुझे याद भी नहीं. हम दोनों तुरंत वहां से निकल कर एक बार वाले होटल में खाना खाने पहुंच गए. अब मेरे लिए श्वेता को अपने जीजा यानि मेरे पति मनोज के साथ सेक्स करने के लिए मनाने की एक और चुनौती थी.

उसने कहा- सच बताऊं, तो तुम्हारे साथ करने पर बिल्कुल नहीं लगा कि तुम्हारा पहली बार है.

”सल! यह सब किसी हसीं ख्वाब (खूबसूरत सपने) जैसा लगता है। पर मेरी ऐसी तिस्मत तहां? एक ना एक दिन तो मुझे यहाँ से जाना ही होगा. उसकी चूत पर हाथ रखते ही मैंने चुत की पुत्तियां मसल दीं, वो सिसक गयी और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. काफी दिनों तक मैंने उससे बातें की और हम दोनों के बीच में लेट नाइट तक बातें होती रहीं.

इस बार उसकी पत्नी ने भी कोई आपत्ति नहीं की और अब गोवा के खुले समुद्र में आसमान के नीचे हम चारों पूर्णतया निर्वस्त्र हो गए. इधर उनके दोस्त भी मुझे अपनी बांहों में पा कर कण्ट्रोल नहीं कर पा रहे थे, उनका मुसल जैसा लंड पैंट को फाड़कर बाहर आने को हो रहा था.

कभी वो काफी देर तक लंड को पूरा जड़ तक मुंह में घुसाये रखती, तो कभी सिर्फ टोपे को मुंह में लिये लिये चूसती, और कभी वो टट्टे सहला सहला के नीचे से ऊपर तक लंड चाटती. मैंने भाभी से पूछा- कहां निकालूं?भाभी ने कहा- पहली चुदाई में अन्दर ही डाल दो. चूत साफ किए मुझे कुछ ही दिन हुए थे, इसलिए छोटे-छोटे रोंए चूत की खूबसूरती बढ़ा रहे थे.

हॉलीवुड वालों की सेक्सी फिल्म

परमीत के बाल ज्यादा बड़े ना थे, इसलिए उसके संगमरमर जैसे बदन को देखने के लिए कोई रूकावट नहीं थी.

उसको लगता कि इन सारी चीजों की वजह से शायद अंकित को कुछ समझ में आ जाये और वो अपनी तरफ से पहल करे. मैंने जीजाजी से बात की तो एक बार तो उन्हें भी समझ में नहीं आया पर फिर वो बोले कि मैं कुछ करता हूं. जो जो सामान मैंने पहले बोला था, वो सब ले लेना … और इसके अलावा आपको और जो भी चाहिए हो, ले लेना.

एक दो बार जेठजी लंड को पकड़ फिर चूत में घुसा देते, पर बार बार लंड के बाहर निकल जाने से मज़ा कम होने लगा और ये जेठजी भी महसूस कर रहे थे. राखी को मैं अपनी बातों में उलझा लेना चाहता था ताकि वो गांड चुदवाने के लिए तैयार हो जाये. सेक्सी मूवी हिंदी में बोलने वालीक्या मस्त रसीली चूत थी … एकदम क्लीन शेव गोरी और ऐसी कसी हुई, जैसे कोई 19-20 साल की अनचुदी लड़की की चूत हो.

राखी उठ कर पैग बनाने लगी और मैंने डॉक्टर को बेड पर पीठ के बल सीधी लेटा दिया. मैं तो बस घर पर अकेला होने का फायदा उठा कर सिर्फ अंडरवियर और बनियान में ही घूम रहा था.

जॉली का आधा सोया लंड रिया के मुँह में जाते ही अपना असली आकार लेने लगा. ऐसे ही कोई पन्द्रह मिनट तक हम आगे पीछे होते रहे और दीदी की चुत को भोसड़ा बनाते रहे. मैं 23 तारीख को रात वाली ट्रेन पकड़कर 24 को सुबह साली के घर पहुंच गया.

केक के स्वाद के साथ ही उनके लंड से निकला हुआ प्रीकम भी मेरे मुंह के टेस्ट को बढ़ा रहा था. सोनिया- कर रही हूँ जानू … मैं अपनी चूत के दाने को रगड़ कर रही हूँ और अपनी चुचियों को मसल रही हूं. फिर सोचा अभी तो पूरी रात बाकी है, अगर मौका मिला तो जेठजी से फिर से खुल कर चुद लूंगी.

उसको भी लंड लेने की प्यास थी और मुझे उसकी चूत को देखने की प्यास थी.

साथ ही मैं होली वाली भी कहानी जल्द ही लाऊंगा … तो मिलते हैं इस कहानी के अगले भाग में. जब हमारी नजर एक दूसरे से मिली, तब चाची गुस्से में लाल हो कर वहां से चली गईं.

मैंने भाभी से पूछा- कहां निकालूं?भाभी ने कहा- पहली चुदाई में अन्दर ही डाल दो. मैं नहीं रुका और उस गाँव की भाभी की चूत में अन्दर तक जीभ डाल कर चाटता रहा. इसलिए मुझे कुछ खास दिक्कत नहीं थी किसी गैर मर्द को मेरी बीवी की तरफ ऐसे ताड़ने में.

और उसने ब्रा की स्ट्रिप्स खोल दी और साइड की मसाज के बहाने साइड से ही बूब्स की भी मसाज करने लगा. जब उसने मेरे लंड पर अपनी जीभ को फेरा, तो ये मेरे लिए चरमोत्कर्ष वाला आनन्द था. मेरे हाथ उसकी कमर को सहला रही थे, उसके हाथ मेरी कमर को सहला रहे थे.

हिंदी बीएफ देवर भाभी का हम फिर से पाक साफ हो कर अपने देश वापिस आ गई। घर पहुँच कर ऐसे हो गई जैसे हम तो वहाँ सिर्फ घूमने और आराम करने गई थी. उसकी चुत के रस का स्वाद बड़ा ही अच्छा था, एकदम नमकीन मलाई की तरह टेस्टी था.

बच्चों में सेक्सी

उसने मेरी चुत में 2-3 झटकों में ही अपना पूरा लंड पेल दिया और धक्के लगाने लगा. ”ज्योति को सबसे ज़्यादा खुशी इस बात की थी कि उसको चोदने में उसके बाप को उसकी मम्मी से भी ज़्यादा मज़ा आ रहा था. एक बार सभी दोस्तों का फ्रेंच किस का कम्पटीशन हुआ तो उसमें भी राहुल-नायरा ने ही बाजी मारी.

उनके बाहर निकलती हुए मोटी मोटी गांड, मोटे मोटे चुचे मुझे पागल कर देते हैं. इसी बीच उसने मुझे पूछा- अब तेरी पढ़ाई में कोई समय जाया नहीं हो रहा है. वीडियो खोले गाना”और उन्होंने निचोड़ के सारा पानी बूब्स और पेट पर निकाल दिया और टिशु लेने गए.

तुमने क्या सुना है और लोग हमारे बारे में क्या बात कर रहे हैं मुझे उससे कोई लेना देना नहीं है.

उसने सबसे पहले तो लाईट काफी धीमी करी और म्यूजिक चला दिया … गाना भी उसने छांट के लगाया … जरा जरा बहकता है, आज मेरा मन, मैं प्यासी हूँ. बीच बीच में मैं उसको कमर से खींच कर अपने लंड का दबाव उसकी चुत पर भी डाल रहा था.

आठ दस शॉट लगाने के बाद उसकी गांड में मेरे वीर्य का फव्वारा सा छूटने लगा. मैं बड़े मज़े लेकर उसकी चुत का पानी, जो चॉकलेट से पूरी तरह सना हुआ था … पी रहा था. ” महेश ने इस बार अपना हाथ अपनी बेटी की जाँघ पर उसके कपड़ों के ऊपर से ही रखते हुए कहा।अपने पिता की बात सुनकर ज्योति का सिर शर्म से झुक गया और वह बगैर कुछ बोले चुप होकर बैठी रही।क्या हुआ बेटी? बोलो न … तुमने तो अपने भाई के साथ ही प्रोग्राम सेट कर लिया?” महेश ने ज्योति की जाँघ पर अपने हाथ को फेरते हुए कहा।पिता जी मुझसे गलती हो गई.

मैं बस अमृता के मौसा के बाहर जाने का इंतजार करता रहता था ताकि उनके घर में ही उस कुंवारी चूत की चुदाई कर सकूं.

उसके बाद हम दोनों ने अपने फोन नम्बर भी एक्सचेंज कर लिये और दोनों के बीच में फोन पर भी बातें होने लगीं. अब थोड़ी देर के बाद मैंने सेजल दीदी को नीचे उतारा और उन्हें टेबल के सहारे पीछे घुमा कर खड़ा कर दिया. तो मैंने उसे बताया- दर्द सा हो रहा है।उसने कहा- थोड़ा सा और होगा!और उसने और अंदर डालने की कोशिश करी.

सेक्सी सेक्सी बीपी बीपीअगले ही पल उसने मेरी ब्रा को भी निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा. उनके साथ जब बैठता हूं तो बोलते हैं तू बहुत लकी है यार, तेरी तो इतनी सेक्सी साली है.

भाई वाली फिल्म सेक्सी

फिर हमने 2 कॉफी और 1 पास्ता, एक वेज लॉलीपॉप और स्प्रिंग रोल मँगा लिये।हम दोनों शेयर करके खा रहे थे तो मैंने जान बूझ कर उसके गाल पर क्रीम लगा दी और उसे साफ करने का इशारा किया लेकिन उसने साफ नहीं किया और मुझे ही साफ करने का इशारा किया तो मैं उठ कर उसके पास साफ करने गया और साफ करके हल्का सा झुक कर उसे एक किस दे दिया जिसकी उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।फिर हम हॉल में जाकर बैठ गये. ऐसे में मैं मना कैसे कर सकती हूं?उसने मुझे किस किया और बोला- तुम वर्जिन हो तो तुम्हें थोड़ा दर्द होगा, बर्दाश्त कर लेना. मैंने उनकी जांघों को किस किया, तो उन्हें मानो करंट सा लगा … वो सिसकारते हुए हिल गईं.

अब जब भी चाची कहीं बाहर जाते … तो हम चाची भतीजा बहुत चुदाई करते हैं. फिर मैंने धीरे से दूसरी बार धक्का मारा और लगभग पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. मैंने भाई की निक्कर की जिप को खोल कर उसका लंड बाहर निकाल लिया और उसको मुंह में लेकर मजे से चूसने लगी.

तभी मैंने देखा कि संजय जीभ से अपने होंठों को ऐसे चाट रहा है, जैसे उसे उसका शिकार मिल गया हो. मैं मोसी की ब्रा और पेंटी को अपने लंड पर लपेट कर मुठ मारता था और उनकी मदमस्त जवानी को चोदने का ख्याल करते हुए उनकी ब्रा पेंटी पर अपना पानी छोड़ देता था. उनके होंठों के रस को पीने लगी और वो मेरे होंठों को काटने लगे तो कभी गर्दन पर काटने लगे और चूसने लगे.

इसलिए मैंने माहौल को हल्का बनाने के लिए जेठजी से बात करने का फैसला किया- क्या सोच रहे है भैया?मेरे सवाल के बाद जेठजी कुछ देर तक मेरे चेहरे को देखते रहे और फिर अपना सर नीचे कर लिया. अब आगे:अब मेरे रगड़ने में तेजी आने लगी क्योंकि ये मेरा पहला सेक्सुअल अनुभव था तो मेरा ज्यादा ही उत्तेजित होना लाजमी था। अब मैं अपना हाथ उनके बूब्स की ओर ले जाने लगा.

उसका घाघरा उठा कर उसकी चूत में फिर से लंड पेल दिया और शॉट मारने लगा.

पर लंड की चाहत एसी होती है कि चाहे सांस बंद हो जाए जब तक वो चूत चोद नहीं लेता, दोनों में से कोई रुकता नहीं. अंग्रेजी सेक्सी एचडी मूवीऔर उधर अमित पूजा की चूत को ऐसे चाट रहा था मानो सारा माल पी जायेगा उसका!तभी मुझे महसूस हुआ कि अमित के दोनों हाथ मेरी जाँघों पर आ गये हैं और उसने पूजा की चूत के साथ साथ मेरे लन्ड पर भी अपनी जीभ चलानी शुरू कर दी. गुदा में दर्द” महेश ने इस बार अपनी बेटी को देखकर हिम्मत जताते हुए कहा।हाँ वो तो है, मैं उसके लिए सॉरी कहती हूँ. फिर एक दिन वो मुझे चोद रहा था तो मैंने उससे शादी की बात की तो वो टाल गया.

आअअहह … जिस लंड को फोटो में देख इतने दिनों से मेरी चूत गीली हो रही थी, वो लंड आज मेरे सामने था.

बड़ी गर्माहट है तेरी चूत में, बंध्या तेरा जीजा कह रहा था कि बहुत देर में खाली होती है. ” कहकर महेश ने अपनी बेटी की पेंटी को नीचे करके निकाल दिया और बेड पर बिठाकर अपनी बेटी ज्योति की गीली चूत को चाटने लगा. उसने काफी देर तक मेरे बूब्स को दबाया और फिर मेरी पजामी के ऊपर से ही मेरी चूत पर हाथ रख दिया.

फिर मैंने धीरे से दूसरी बार धक्का मारा और लगभग पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. पता नहीं अचानक उनको कहां से होश आ गया या पता नहीं क्या हुआ था, वो मुझे और आगे करने से मना करने लगीं. महीनों बाद मेरी चूचियों की नोकों पर किसी की नर्म जीभ के स्पर्श का एहसास हुआ था.

सेक्सी बीपी पिक्चर दिखाइए

मेरे कपड़े गंदे हो जाते।अब मेरे पास इसके आगे कहने के लिए कुछ नहीं था. अब हम दोनों ने खाना खाया और मेम को सब काम ब्रा पेंटी में ही करने को बोला. खाना के बाद मैं बेड से उठी और अपने खिड़की का पर्दा हटाया, तो मैंने देखा कि हमारे रूम के नीचे स्विमिंग पूल बना हुआ था और वहां पर लोग मस्ती कर रहे थे.

रोहित हांफने लगा और संजू की आंखों में देख कर आंखों से ही बोला कि इसे पी जाइए.

चाची- वाह … मतलब चारों एक साथ … अब तो मज़ा आ जाएगा … मैं सब तैयार करूँगी.

मैं बॉस के कान में धीरे से बोली- आज तो आपका विनय मेरी गांड मारकर ही मानेगा. पांच मिनट ये सब करने के बाद अचानक उसने अपने हाथों से मेरे बालों को पकड़ लिया. चाचा भतीजी सेक्सी वीडियोउन्होंने मेरी चूत में लंड डाला हुआ है और मैं उनसे भी अपनी चूत को चुदवाने में लगी हुई हूं.

उस समय तो मैंने उसका लंड पहली बार ही देखा था लेकिन आज तो मैं ये कह सकती हूँ कि मैंने इससे भी बड़े लंड लिए हैं. कुछ ही देर की लंड चुसाई से मेरा पानी निकल गया और उसके मुँह में चला गया. पर ‘देखी जा, छेड़ीं ना’ के फार्मूले को मानते हुए कभी लड़कों ने दूसरे की बीवी को छुआ नहीं है.

इस जगह का एक फायदा और था कि यदि कोई हमारी तरफ आता तो हमें दूर से ही दिख सकता था. लंच लेकर बाहर आते समय पिंकी ने चार बियर की केन ले लीं क्योंकि इस बृहस्पतिवार चंडाल चौकड़ी उसी कि घर इकट्ठी होनी थी और यह शबनम की फरमाइश थी कि चिल्ड बियर होनी चाहिए उस दिन.

मैंने उसके कंधों को कस कर पकड़ लिया और गले पर चूमते हुए उसे चोदना जारी रखा.

पर प्लेट उठाते समय वो मुझसे बोली- अंकल, माय मॉम इज ए ग्रेट किसर … बी अवेयर. अगर कहानी लिखने की मुझमें थोड़ी सी भी प्रतिभा होगी, तो मुझे विश्वास है कि मुझे आपका प्यार जरूर मिलेगा. कुछ देर सोचने के बाद दीदी ने अलमारी से स्कूल ड्रेस निकाली और श्वेता दीदी से बोली- श्वेता तुम थोड़ा बाहर जाओ … मैं इसे चेंज कर लूं.

राजस्थानी सेक्सी फिल्म दिखाओ मैं उसे भगाने के लिए जैसे ही पीछे गया, तो मैंने देखा कि भाभी और उनकी बहन सुनीता, जो उनकी देवरानी भी है, बीच फसल में पेशाब कर रही थीं. अब मैंने 69 में होकर अपना लंड शीला के मुंह पर लगा दिया तो उसने झट से मेरा लंड मुंह में लिया और चूसने लगी.

हमने पहले परमीत को घर छोड़ा, फिर मनु के घर से बहुत दूर गाड़ी रूकवा ली. फिर मैंने सोचा कि क्यों न मैं किसी और के साथ सेक्स करके मां बन जाऊं … लेकिन किसी अपने के साथ ही ऐसा करना ठीक रहेगा. मैं बोली- अरे आज तो बॉस तुझे खा जायेगा ऐसे देखा तो!उसके बाद मैंने ठीक 4 बजे बॉस को फ़ोन किया और उन्होंने मुझे बस स्टॉप में मिलने को बोला.

मीनाक्षी हीरोइन की सेक्सी

पांच मिनट तक उसने मेरे छेद को चाटा और फिर अपना लंड चूसने के लिए कहा. क्या कहती हो?दीदी- मैंने तो उनसे बोला था कि जो भी बोलना हो, आप लैटर में लिख कर बोल दीजियेगा. पर मनोज ने कहा- सुनील से कोई तकल्लुफ नहीं है, तुम यही नाईट ड्रेस डाल लो.

मैंने भी सुहास की फ्रेंची पकड़ कर नीचे खींच दी और उसे भी नंगा कर दिया. अपनी सेक्स कहानी को शुरू करने से पहले मैं एक बात और कहना चाहती हूँ कि मेरी इस कहानी और इससे आगे के सभी भागों की मुख्य नायिका रेखा का मैं अपने खुद के नाम से उल्लेख करूंगी और कहानी अपनी जुबानी बयान करूंगी.

11:30 बज रहे होंगे, ट्रेन अपनी स्पीड पर थी और बाकी लोग सो रहे थे, सिर्फ हम दोनों ही जाग रहे थे.

जब हम दोनों सुबह 7 बजे जागे, तो फिर से हम दोनों चुदाई के लिए गर्म हो गए. ऐसा तो कोई सोच भी नहीं सकता था कि हिना आंटी इतनी अधिक कामुक निकलेंगी. प्रिय पाठक आप यदि मेरी इस बात का अर्थ न समझे हों, तो इसको मैं बाद में कभी आपको लिखूँगी.

उसने हंस कर मुझे चूमा और बोली- जरा जोर से चोद भोसड़ी के … क्या पुल्ल पुल्ल कर रहा है. फिर जीजा ने अपना लंड मेरे मुंह की तरफ कर दिया और खुद अपना मुंह मेरी चूत की तरफ ले गये. यह पोजीशन मुझे भी शुरू से पसंद थी आज मैं अपनी चूत में दो दो लंड ले रही थी.

रोहित ने गमछा लपेटे ही संजू के करीब बैठ कर लैपटॉप में देखा और बोला- भाभी, ये तो बीएफ है.

हिंदी बीएफ देवर भाभी का: सर बहुत खुश थे- ओह मेघा … क्या चूत है तेरी!स्स्स्स स्स्ससर … बहुत मजा आ रहा है … तेज तेज कीजिये! उम्मम्मह म्मम!”सर ने तेज तेज धक्के लगाने शुरू कर दिए. तुमने ही तो कहा था।भाभी- हाँ, मगर इस हालत में ये करना सही नहीं है इसलिये तो तुम्हारे लिये कच्ची कली बुलाई है। अब तुम देख लो कि इसे फूल कैसे बनाना है।मैं बनावटी गुस्से में बोला- लेकिन मुझे इस सामने वाले फूल को एक बार प्यार तो करने दो.

भाभी ने मोना को बाथरूम में ले जाकर उसकी चूत से खून वगैरह साफ़ किया और उसे एक दर्द और गर्भ निवारक गोली भी दे दी. फिर उन्होंने मेरी चूत पे किस किया और मेरे बूब्स को ब्रा पर से चूसने लगे. आपको सरेआम अंग प्रदर्शन करती सेक्सी लड़कियां या फिर चूमा-चाटी करते हुए कपल्स दिख जायें तो कोई हैरानी न होगी.

मैं अपने हस्बैंड से बहुत प्यार करती हूं लेकिन फिर भी मुझे किसी दूसरे आदमी के नाम पर चुदना बहुत अच्छा लगता है।हमारी इस सेक्स लाइफ में अब यह रोजाना का काम था।और कहते हैं ना कि आप जो जिंदगी रोज जीने लगते हैं वह एक दिन सच भी होने लगती है.

काफी दिनों तक मैंने उससे बातें की और हम दोनों के बीच में लेट नाइट तक बातें होती रहीं. अब वह धीरे धीरे मेरे लंड को अपने मुँह में पूरा लेने लगी … क्योंकि मेरे द्वारा उसकी चूत चूसे जाने से वह भी पूरे जोश में आ गई थी. उससे चुदते हुए मेरे मुंह से यही शब्द निकल रहे थे- ओह्ह … मेरे राजा बहुत मस्त है तू और तेरा लौड़ा भी बहुत कड़क है.