ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो poran

तस्वीर का शीर्षक ,

टाइम पास करो: ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश, फिर वो अपना अगला कदम रखते हुए बोली- वैसे… कैसी लगी तुम्हें ये?विक्रम ने इतने सीधे सवाल की उम्मीद नहीं की थी, वो फिर घबरा गया और हकलाते हुए बोला- क.

सेक्सी पिक्चर ब्लू पिक्चर देखने वाला

प्रीति ने सोचा कि क्यों न दादाजी से कुछ बातें करूं ताकि उसका मन हल्का हो जाए और जल्दी से नींद आ जाये. सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म अंग्रेजी मेंपर चूत के मुक़ाबले में काफ़ी कम थे। मैंने आज तक इतने बालों वाली औरत नहीं देखी थी। मुझे यह तो पता है कि कई मर्द अपने बगल और झांट के बाल नहीं काटते हैं.

जिसका गेट मकान मालिक से अलग था और घर से मोटरसाईकल ले आया। अब जब भी मौका मिलता. बुरी लड़की सेक्सीतब मैंने उसे किस किया और उसकी चूचियों प्रेस करने लगा।वो बोली- अभी नहीं.

उसी पर बैठ कर संतोष की प्रतीक्षा करने लगी।कुछ देर बाद संतोष ने बाथरूम का जैसे ही दरवाजा खोला.ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश: मगर मैं अब रूका नहीं … मैं वैसे ही धीरे धीरे प्रिया की उस रस भरी चुत को चाट चाट कर उसके रस को पीने लगा.

जब मैं गर्मी की छुट्टियों के दिन छत पर सोता था। मेरी और सुन्ना आंटी की छत जुड़ी हुई हैं।मैं अपनी छत पर घूम रहा था, मैंने देखा कि सुन्ना आंटी अपने कमरे से बाहर आईं और आँगन में खड़ी हो गई और ऊपर देखने लगीं। मैं चुपचाप छुप कर देख रहा था। मैंने देखा कि सुन्ना आंटी ने काले रंग की पारदर्शी नाईटी पहन रखी थी.लेकिन मैंने उसके हाथों को उसके चूतड़ों के पीछे से पकड़ रखा था। कोमल बार-बार सिस्कारियाँ ले रही थी ‘आह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह कभी उह्हं.

सेक्सी लेडीस वाला - ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश

क्योंकि पहले कभी भी उन्होंने मेरे साथ कभी भी ऐसे बात नहीं की थी। वो मेरे साथ फ्रैंक हो रही थीं।जैसे ही मुझे ये फील हुआ.ऐसा लग रहा था कि हाथ लगते खून निकल जाएगा।ऐसी चूत देख कर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और पूजा के जाँघों पर ठोकर मारने लगा।मैंने उसकी चूत पर अपने होंठों को लगा दिए.

एकदम किसमिस के जैसे भूरे रंग के थे।मैं तो देखते ही उनको मुँह में लेकर चूसने लगा।इससे पूजा और पागल हो गई, वो मेरे सर को अपने चूचियों पर दबाने लगी और बड़बड़ाने लगी- आह्ह. ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश क्या बताऊं दोस्तो कि कितना मजा आ रहा था! मन तो हो रहा था कि वहीं उसके पास सो जाऊं और उसको अपनी बांहों में भर लूं लेकिन ट्रेन में होने की वजह से मैंने ऐसा कुछ नहीं किया; बस अपने हाथों से कभी उसके गालों को कभी उसके स्तनों को दबाता।मैंने प्राची के कान में धीरे से कहा कि वह थोड़ा ऊपर आ जाए.

और हाँ फिर से ‘उस भोसड़ी वाले’ से बोल रही हूँ कि मेल भेजते टाइम अपनी हद में रहे… मुझे जिसको मौक़ा देना था, दे चुकी हूँ.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश?

तभी मेरी बहन ने अपनी आंखें खोलीं और शरारती मुस्कान देते हुए बोली- तुम नहीं मानने वाले ना. दोस्तो पहली बार की चुदाई में बहुत उत्सुकता होती है और काफ़ी चीजें अजीब लगती हैं. मैं तो सोच रहा था मेरा लौड़ा तू कैसे ले पाएगी। चल आज नए लौड़े का सवाद चख कर देख.

बस उसे देखकर हँसी आ गई।मुझे भी भाभी की बात सुन कर हँसी आ गई।हम दोनों वैसे बहुत अच्छे दोस्त हैं तो मजाक चलता रहता है।मैंने बोला- भाभी आप तो जानती ही हैं साइंस की स्टूडेंड भी रह चुकी हैं. रंग दूध सा सफ़ेद, मॉडल जैसा चेहरा, आँखों का रंग थोड़ा हरा कच्ची मेहंदी से मिलता जुलता. उन 15 दिन में ये इत्तेफाक की बात है कि 15 मर्द मुझे मिले, उनमें से आठ मर्द साठ साल के ऊपर के बुड्ढे थे और चार मर्द मेरे बहुत क्लोज रिश्तेदार थे, जो 40 से 60 वर्ष के बीच के थे.

लेकिन वो सावधान रहना चाहती है।मैंने उससे कहा- तुम अपना फोटो भेजो और कोई एक्सपीरियेन्स शेयर करना चाहती हो. फिर हमारी फोन काफ़ी बातें होने लगी।मैंने उससे मिलने का प्लान बनाया और दुर्गापूजा की छुट्टियों में उससे मिलने गया।जब मैं उसके घर पहुँचने वाला था. लेकिन वो सावधान रहना चाहती है।मैंने उससे कहा- तुम अपना फोटो भेजो और कोई एक्सपीरियेन्स शेयर करना चाहती हो.

वो अहसास कुछ अजीब ही था, जो मेरी जिंदगी में पहली बार महसूस हो रहा था. तभी जेठ मुझे खींच कर बिस्तर के किनारे लाए और मुझे पलटकर मेरे चूतड़ों की तरफ से खड़े-खड़े ही अपने लण्ड को मेरी चूत में घुसाने लगे।आज दिन भर से लंड ले-लेकर बस मैं तड़पी थी.

मैंने ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करना स्टार्ट कर दिया। तभी मुझे भी कुछ होने लगा.

कुछ देर तक उसकी चूत चूसने के बाद वह सिसकारियां भरने लगी और पूरी गर्म हो गई.

पर आज अपने लण्ड का पानी चाची की चूत में ज़रूर निकालूँगा।मैं फिर से चूची धीरे-धीरे मसलने लगा।तभी मेरी चाची ने मेरा हाथ पकड़ा और चूची से हटा दिया. पर तीन महीने पहले उससे मेरा ब्रेकअप हो गया है और लगभग तीन महीनों से सेक्स नहीं हुआ है।ऐसे ही सेक्स चैट करते-करते उसने बताया कि उसे सेक्स करना बहुत पसंद है. मैंने नाप तोल कर अंदाजा लगाया कि इस एंगल से मैं सत्तर प्रतिशत तक लिंग घुसा सकता था।इसके बाद उसे हाथ के दबाव से सीधा किया और अपनी साईड से हल्का सा हवा में उठाते हुए, उसी साईड से उसकी टांग घुटने से मोड़ते हुए हवा में उठा दी और मन ही मन नापने तोलने लगा कि मैं अगर साईड में लेट कर उसे भोगूं तो कितने प्रतिशत लिंग को अंदर बाहर कर सकता था.

और फिर झटके से उसकी साड़ी का पल्लू गिरा दिया। अब मैं उसके वो रसीले मम्मों को दबाने लगा।मम्मों को दबाते ही उसके मुँह से आवाज़ आने लगी ‘आहह. भाभी से बातें कर रहा था।सन्नी- ये अर्जुन नाम कहीं सुना हुआ सा लगता है. मैं और तेज़-तेज़ चाटने लगा और जीभ अन्दर-बाहर करने लगा, सुनयना अपनी चूत मेरे मुँह पर ज़ोर-ज़ोर से मारने लगी- अहह ओह.

फिर उसे अपनी गोल गदराई गाण्ड में अन्दर तक लेना पड़ेगा।मैं मुस्कुरा दिया।वह खड़ा हो गया और मैंने उसका लौड़ा अपने मुँह में लिया और धीरे से चूसने लगा.

जब संभोग क्रिया समाप्त हुई, तब हमने बात शुरू की और फिर उन्होंने बताया कि मुनीर में पिछले कई सालों से ऐसा हो रहा कि उसे संभोग में मजा नहीं आता पर दूसरों को सम्भोग करते देख कर वो उत्तेजित हो जाती है. तुम मुझे यह बताओ कि तुम्हारा घर कब खाली होता है?मैंने जवाब में लिखा- सुबह नौ बजे से शाम के पाँच बजे तक. पहिले उंदीर दिसणारा त्याचा लवडा जसजसा फुगू लागला, तसतसा माझ्या ओठांचा चंबू फाकू लागला.

मेरी चूत की प्यास और बढ़ती गई। कुछ ही देर में उसने मुझे उठा कर बिस्तर में पटक दिया।अब मेरी चूत के सामने दुबारा परीक्षा की घड़ी आ चुकी थी. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने फिर भाभी की ब्रा निकाल फेंकी और उनके मम्मों को बेतहाशा चूसने लगा। भाभी भी ऐसे तड़पने लगीं जैसे उनके पूरे बदन में आग लगी हो।मैं फिर उनके पेट. वो गर्मी और कसाव इतना था कि मैंने 10-12 झटके तेज़ी से लगाए और अपना पानी अन्दर ही छोड़ दिया.

मुझे तैयार होते देख कर ही मेरे वो लवर केयर टेकर का तो लंड एकदम से खड़ा हो जाता था.

आज मैं पूरा मैल उतार दूँगा।फिर मैंने उनको घुटने के बल खड़ा होने को कहा. मैं खाना खाने के बाद जब उठा तो मैंने देखा कि भाभी नहा कर बाहर निकल आई थी और अपने कमरे में बैठी हुई अपने बाल सुखा रही थी!वो इस वक्त बहुत सेक्सी लग रही थी, उसने नीचे ब्रा नहीं पहनी थी.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश उसके बाल खुले थे।मैं उसे देखकर पागल हो रहा था। मैंने उसे बैठने को कहा। शायद उस वक़्त वो घबरा रही थी. जिसे वो पी गई और मेरा लंड धीरे-धीरे सो गया लेकिन इतनी देर में अनु की चूत का बुरा हाल हो गया और वो बिस्तर पर तड़फने लगी, वो बेड पर लेट गई.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश कमर के निचले हिस्से पर एक तिल था।मैं पूरी पीठ और उसके कान पर किस करने लगा और मेरे हाथ उसके मम्मों को पूरी तरह जकड़े हुए थे। फिर वो पलट गई अब उसका हाथ मेरी कैपरी के अन्दर जाने लगा. जब मैं फ्रिज से पानी की बॉटल निकाल के पानी पी रहा था, तब मुझे याद आया कि कुछ दिन पहले दोस्तो ने मुझे व्हाटसएप में अश्लील सेक्स वाली वीडियो भी भेजी थीं, जो उसी फोल्डर में थीं.

!!पुनीत बिस्तर पर बैठ गया और पायल के चेहरे को हाथ से थपथपाने लग गया.

सविता bhabhi

उसने कहा- भैया मैं अपने कपड़े उतार लूं?मैं खुश हो गया और कहा कि हां बिल्कुल. ’उसकी चूत में मेरा लंड आधा चला गया और गीली चूत होने से वो थोड़ी नीचे को हुई और पूरा लंड उसकी गरम चूत में समा गया।अहह. ’यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !फिर उसने मेरा लंड होंठों में पकड़ कर चूसना शुरू किया। जिन्दगी में अगर कोई लड़की पूरे मन से आपका लंड चूसे.

अंकल ने मुझे अपनी जांघों पर बिठाया और बोले- अब तुम लंड को अपने हाथों से पकड़ो और चुत की छेद पर रगड़ो. उसने प्यार से मुझको बाँहों में भर कर मेरे लिप्स पर हल्का सा चुम्बन कर दिया. मैंने उसकी तरफ इस तरह से देखा, जैसे कि मुझे मामले का पता नहीं हो और मैंने सब कुछ यहां तक कि उसे नहीं पहचानने का नाटक करते हुए कहा- कहिए क्या काम है?सर, मुझे किसी आवश्यक काम के लिए कुछ पैसों की जरूरत है.

पर आप भी भूल गए कि संतोष घर में ही है। उसने हम लोगों को देख लिया होगा तो क्या होगा.

नीलम ने मुझसे पूछा- आज आप क्या करने वाले हो?तो मैंने उससे कहा- आज तेरी आराम चुदाई होगी।‘मतलब?’‘मतलब की आज तेरी सील टूटेगी. उसने मुझे चिढ़ाते हुए कहा- अबे झल्लाती क्यों है? हम दोनों मिलकर कचूमर निकालेंगे न उसका. अब उसने हां कर दिया और वो उठ कर मेरे लंड के सुपारे को मुँह में लेकर चूसने लगी.

’मैं उसके होंठों और जीभ चूसता हुआ लंड तेज़-तेज़ अन्दर-बाहर कर रहा था। ‘अहह. मैं गाउन के अंदर ब्रा नहीं पहनती इसलिए मेरे कसे हुए मम्में बाहर निकल आए और रोहन ने उन्हें दबोचना शुरू कर दिया।तभी मैं होश में आई और रोहन से कहा- बेटा उठो और जल्दी से फ्रेश हो जाओ, नहा लो … हम उसके बाद ही करेंगे।रोहन ने कहा- अभी क्या प्रॉब्लम है मम्मी?मैंने रोहन से मजाक में हस्ते हुए कहा- अभी तेरी मुँह से स्मेल आ रही है. अभी मैं कुछ वक्त के लिए यही हूँ।उसके इन शब्दों ने जैसे मुझे नींद से जगा दिया हो.

आपकी कोई गर्लफ्रेंड है? कब मिलवाओगे भाभी से?और मैं हँसने लगी!भाई- मुझे भी अभी तक कोई नहीं मिली. जैसा कि मैं हमेशा करता था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसके बाद मैंने उनसे कहा- एक तरीका है जिससे आप कुछ कम परेशान होंगी।उन्होंने पूछा- क्या?मैंने कहा- अप अनु को एक लैपटॉप खरीद कर दे दीजिए.

थोड़ी ही देर में उसे वो स्थिति भी दु:खदायी लगने लगी। मैंने अपने आगे की सीट का बैक. और बस कुछ भी बिना सोचे-समझे मैंने मनप्रीत के होंठों पर अपने होंठ रख दिए।उसे तो सर्दी लग ही रही थी और अब उसे गरम करने का काम मेरे होंठ कर रहे थे।शुरू में तो उसने कुछ इस तरह बर्ताव किया. फिर आराम से मारते रहना।पुनीत ने ज़्यादा ज़िद नहीं की और मान गया। उसके बाद दोनों चूमा-चाटी में लग गए। दोनों 69 के पोज़ में आ गए और एक-दूसरे के चूत और लण्ड को चूसकर मज़ा लेने लगे।कुछ देर बाद पायल ने कहा- अब बस बर्दाश्त नहीं होता.

तो उसने मेरे ऊपर चढ़ कर लंड अपनी चुत में ले लिया और मुझको चोदने लगी.

उसने जल्दी से सारे कपड़े उतार दिए।वो मेरे सामने एकदम नंगी हो गई थी।अब मैंने भी सारे कपड़े उतार दिए। वो अब मेरे पूरे शरीर पर चूम रही थी और मेरे लण्ड को जोर-जोर से हिला रही थी।फिर मैंने उसको बिस्तर पर लेटा दिया उसके ऊपर लेट गया और होंठों को चूसने लगा, मेरा लण्ड उसकी चूत के ऊपर फनफना रहा था।वो बोली- मेरे राजा, इसको अन्दर डाल दो. कहानी का पिछला भाग :मुँह बोले भाई का लण्ड देख मेरी चूत गीली हुई -1आपने अब तक जाना कि मेरा मुँह बोला भाई मेरे साथ चूत चुदाई का खेल खेलने के लिए लगभग तैयार हो चुका था।अब आगे. मेरी तो जैसे मुराद पूरी हो गई थी। मेरा लण्ड तो पहले से ही सख़्त था.

अगले दिन वो मुझसे आँखें नहीं मिला पा रही थी। फिर घर पर जब हम दोनों को कुछ एकांत मिला. राज अंकल बोले मुन्ना अंकल से- अबे मुन्ना, ये तो बहुत चुदासी है, इसकी आंखें बेहद सेक्सी हैं यार … ये कयामत है, हम दोनों बहुत लकी हैं जो ये हमें चोदने को मिल रही है। तू भी इससे नजरें मिला ले, तब तक नीचे इसकी चूत को मैं भी प्यार कर लूं!मुन्ना अंकल बोले- ठीक है राज, तू आ जा! मैं भी तुझे एक बात बता दूं कि ये वन्द्या वर्जिन नहीं है, इससे पहले ये कई बार शायद चुद चुकी है, इसकी चूत बहुत चिकनी है.

मैंने उसे 2-3 छोटे-छोटे काम से बुलाया और हर बार टिप दी।अब वो मुझ से बहुत खुश हो गया था।शाम को जब मैं काम से वापस लौटा. भाभी भी भी दो बार झड़ चुकी थीं। मुझे पता ही नहीं चला कि मैं भाभी की चूत आधे घन्टे तक चूसता ही रहा।भाभी तो कब से बोले जा रही थीं- अब डाल भी दे अपना लंड मेरी चूत में. काफ़ी देर बाद जब वो नहीं झड़ा तो मालती खुद ही उससे बोली कि मैं तो थक गई हूँ.

xxx आदिवासी

उसने अपनी कहानी में पिरोकर मेरे ही अनुभवों को अपने शब्दों में ढाला। लोगों को वो बड़ा ही पसंद आएगा.

जो हमेशा कुरते से बाहर निकलने की कोशिश में लगे रहते थे। मैं जब भी उसको देखता. मैंने शावर चालू किया और उनको कहा कि वो अपने शरीर को रगड़ रगड़ कर पेंट और पसीना धोयें. स्वप्नीलला ला थ्रीसम किवा फोरसम करायचे असेल तर तो मला मेजवानीचा मेसेज करायचा, जर कोणी मुलगी त्याच्याबरोबर असेल तर मिठाई तयार ठेव असा त्याचा मेसेज असायचा.

प्रिया की बहन नेहा कॉलेज में गयी हुई थी और उसका भाई कुशल पास के ही मैदान में क्रिकेट खेल रहा था. तू तो बड़ा हरामी है।मैं फिर से उनकी चूत चाटने लगा और जीभ उनके चूत में पेलने लगा।वो ‘आआहह…आआहह…आ’ की आवाज़ें निकाल रही थीं, वो बोलीं- कुत्ते आ. गूगल हमको सेक्सी वीडियो देखना है’ कहते हुए उन्होंने मेरे हाथ से क्रीम ले ली।‘तुम दूध पीओ।’ अपने साथ लाया हुआ दूध मुझे देते हुए वो बोलीं।‘नहीं.

ऐसा लग रहा था कि उसकी गाण्ड मेरे लंड को एक्सेप्ट ही नहीं करना चाहती है. ’ उसकी मादक आवाजें लगातार उसके मुँह से निकल रही थीं।कुछ तक उसको धकापेल चोदने के बाद वो अकड़ने लगी और उसकी चूत ने पूरा पानी छोड़ दिया। लेकिन मैं अभी भी लगा हुआ था।मैंने भी स्पीड तेज कर दी और उसकी चूत में ही पानी निकाल दिया। अब हम दोनों भी थक चुके थे तो वैसे ही नंगे सो गए। जब सुबह उठ कर मैंने देखा तो प्रिया अपने घर जा चुकी थी.

गौरव तू समझा न इसे!मैंने प्रीति आंटी के दर्द को अनदेखा करते हुए फिर लंड को धक्का दिया. प्रीति ने मीठानंद के माथे पर, गालों पर और फिर होंठों पर चुम्बन जड़ दिये. मेरा भाई अमित बोला- रीतिका कहाँ है?मैं बोली- बाथरूम में है!तभी रीतिका कपड़े पहन कर बाहर आ गई।कुछ देर बाद अमित बाहर कुछ लेने चला गया और हम दोनों ने एक-दूसरी को किस किया.

तो देखा कि दोनों पूरी तरह से नंगी होकर एक-दूसरे की चूत को चाट रही हैं। मैंने अपना मोबाइल निकाला और दोनों की रिकॉर्डिंग करने लगा। जब दोनों का पानी निकल गया. वो मेरे रूम पर आ जाती और हम खूब मज़े करते। कई बार वो रात को भी मेरे रूम पर रुक जाती।एक दिन उसने बताया- मैं अपन दोनों की सेक्सी बातें अपनी एक सहेली को बताती हूँ. मुझे बिस्तर पर औरतों के साथ तरह तरह के एक्सपेरिमेंट करने में बहुत मज़ा आता है.

कहीं मेरे और जेठ के बीच की बात तो नहीं?मैं- क्या पता है आपको?‘यही कि तुम्हारी इतनी चुदाई हो चुकी है कि तुम्हारी चुदने की इच्छा बढ़ गई है।’मैंने सिर्फ ‘हाँ’ मैं सर हिला दिया और पति मुझे सहलाते हुए मेरे लहंगे को ऊपर उठाकर मेरी चूत सहलाते हुए मेरी पैन्टी को नीचे करके मेरी चूत पर मुँह लगा कर मेरी बुर चूसने लगे।मेरी तपती चूत पर पति का मुँह पड़ते मेरी ‘आह.

अब उसके साथ मैं भी उसका साथ दे रही थी।वो मुझे कमरे में ले गया, फिर उसने मेरे चूचे दबाना शुरू कर दिए और पता ही नहीं चला कब उसने मुझे ब्रा और पैन्टी में कर दिया।अब उसने मेरी ब्रा और पैन्टी भी उतार दिए. मैं मधु को बिना स्पर्श किये, उसकी सिर्फ टांगें मेरे कंधों पर चढ़ी थी और मैंन कहीं बिना टच किए उसकी चूत में लन्ड अंदर बाहर कर रहा था.

वो रोज कॉलेज के बाद अपनी पढ़ाई के लिए कोचिंग करती थी और शहर में किराए से रहती थी।उस दिन शनिवार था और अगले दिन रविवार था जोकि छुट्टी का दिन होता है। लड़की अपनी कोचिंग क्लास के बाद गाँव आ रही थी. मेरे लौड़े की साइज़ 7″ है और ये एक मोटा-तगड़ा एवं टिकाऊ किस्म का लण्ड है।यह कहानी एक साल पुरानी है। उन दिनों मैं दिल्ली में जॉब ढूँढ रहा था. मैं एक कॉलेज में पढ़ता हूँ और में कानपुर से हूँ। सेक्स मेरा पैशन है। मेरे लण्ड का साइज़ 6.

टाईट करना पड़ेगा; लंड खड़े करो भड़वो!” उसके लहराते शब्द और आंखें बता रही थीं कि उस पर कायदे से चढ़ गयी थी।कैसे खड़ा करें मैडम. मेरी कहानी एकदम सच के आधार पर लिखी हुई है, इसके विषय में आपके विचारों का स्वागत है।[emailprotected]. मैंने अपना लण्ड बाहर नहीं निकाला और एक ज़ोर का झटका लगा दिया। आधा लण्ड बुर की गहराई में चला गया।‘अहह.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश एक कमरे में अशोक और शीतल सोते थे और दूसरा कमरा थोड़ा बड़ा होने की वजह से तीनों भाई-बहन को दिया गया था. तुम्हें नहीं पता जल्दी क्यों आया हूँ?” मैंने हंसते हुए कहा ‌और सीधा ही प्रिया को पीछे से पकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया.

हाट सेक्सी वीडियो

नीचे चूत चुद रही थी और आगे से मेरे मम्मे चुस रहे थे, मेरी जवानी मेरे सर चढ़ कर बोल रही थी।मैंने भी अपनी जवानी का खूब मज़ा लूटा।दीप्ति ने भी मुझे मस्त कर रखा था और सुनील नीचे से जोरदार धक्के लगा रहा था, उसका पूरा लंड मेरी चूत में पिला हुआ था और हर बार उसका लंड मेरी बच्चेदानी को टच करके वापिस आता था।मेरे मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थीं, सुनील मुझ पर गालियों की बरसात कर रहा था और कह रहा था- उन्ह. मैं वापस जाने लगा तो वो मुझे जबरन अन्दर ले गई और मुझे दूसरे कमरे में बिठा दिया. तो वह मुझे प्यार से सहलाने लगा। मैं पलटा और उसकी तरफ पीठ करके लेट गया। धीरे से मैंने अपने कूल्हे उससे सटा दिए। उसने मुझे बाँहों में भर लिया और मुझे सहलाने लगा। मैंने धीरे से अपनी लुंगी ऊपर को की.

मुझे कोई दिक्कत नहीं है।मैं ऊपर पापा के कमरे में जा कर देख कर आया। पाप सच में सो रहे थे। मैं नीचे अपने कमरे में आया तो देखा वो पलंग पर बैठी है। मैंने उसके करीब आ कर उसके कंधे पर हाथ रखा तो वो खड़ी हो गई।मैंने उसे अपनी तरफ घुमाया और गले से लगा लिया, पहले वो हिचकी फिर मुझसे लिपट गई।मैंने धीरे से उसका चेहरा उठा कर उसे होंठों पर किस किया, वो पहले शरमा गई। मैंने उसकी चूचियों पर हाथ फिराया. उसने कहा- ठीक है, आज की रात तुझे मेरा गुलाम बनना होगा और मैं जैसा बोलती हूँ, वैसा करना होगा. झाबुआ की सेक्सी पिक्चरमैंने गर्म हो चुकी गीत के मम्मों को ब्रा का हुक खोल कर पूरा नंगा कर दिया। उसके कबूतर अब मेरे सामने थे.

जब वो मेरा बड़ा और मोटा लण्ड लेने जा रही थी।उसको चुम्बन करते-करते मैंने लण्ड को चूत पर लगा कर धीरे से अन्दर पेलने लगा और जैसे ही मेरा सुपारा उसकी चूत की फांकों में फंसा.

पर मैं नॉर्मल बना रहा था।उसी दिन रात को पुनः चैट शुरू हुई।मैं- हाय अनु. फिर वो खाना बना के घर चली गई।आपको सोनी की कुंवारी चूत की पहली चुदाइ पढ़ कर कैसा लगा.

तो मेरी नज़र मेरी मौसेरी बहन अनु जो की करीब जवानी की दहलीज पर खड़ी थी. उसकी कसी हुई चुन्नटों पर दबाव डाला और जीभ की नोक उसके छेद में उतार दी। वह एक जोर की सी” के साथ कांप गयी।बुरा नहीं लगता. ’ की आवाज़ आई।इस आवाज और लण्ड पर गीलापन महसूस करके मैं समझ चुका था कि उसकी सील टूट गई है.

सच में मजा आ गया।वो मुझे किस करने लगी और हम दोनों की ख़ुशी हमारे चेहरों पर थी।उसके बाद मैंने उसको उसी रात में दो बार और चोदा।सुबह सुनयना चाय लाई और मैंने और उसने साथ नाश्ता किया, फिर मैं वापिस आने लगा।सुनयना ने मुझे बोला- जब भी मैं बुलाऊँ तो आ जाना.

मैंने अपना लण्ड भाभी की गाण्ड पर रख दिया।भाभी बोली- आज तक तो तेरे भाई ने ऐसा नहीं किया. उधर कमरे में जाकर सन्नी ने निधि को फंसाने के लिए अपना जाल फेंका।निधि- ये रहा आपका सब सामान।सन्नी- हाँ वो तो ठीक है. वो बहुत ही सुंदर था। उसको देख कर किसी भी लड़की का दिल उसकी तरफ हो जाता था। मेरा भी मन उसकी तरफ गया.

गांव की कुंवारी लड़की सेक्सीहर तरह से चोदा था।अब सोनू भी चुदने में माहिर हो चुकी थी।इन लड़कियों को अगर जबरदस्ती चोदा जाए. एक रविवार को उसका फ़ोन आया कि घर पर कोई नहीं है, आप मुझसे मिलने आ जाओ.

தமிழ் குரூப் செக்ஸ்

वो जोर-जोर से सीत्कारें भर रही थी और मैं दूसरे हाथ से उनके दूसरे स्तन को मसल रहा था. पर तुम्हें मुझे वहाँ से पिक करना पड़ेगा।उसने ओके कह दिया।मैं दूसरे दिन ऑफिस से लगभग 12 बजे निकल गया। ऑफिस से एक बस में बैठा और सीधे दिल्ली पहुँचा। लगभग 5 घंटे में में चंडीगढ़ से दिल्ली पहुँच गया. क्योंकि आगे का भाग एडल्ट कहानी होते हुए भी सीरियस और रूला देने वाली कहानी है।अगर आपको कोई सुझाव या सलाह देनी हो.

यह सब कुछ किस किस ने किया और कैसे कैसे किया आप जान सकते हैं, मैं सब बता भी सकती हूं. और इधर की लाईट भी जल रही थी।यह कहते हुए मैं स्विच ऑफ करके ‘गुडनाइट’ कहकर अपने कमरे की तरफ चल दी. तो वो मुझसे चुदने का तैयार हो जाए।एक तरह से देखा जाए तो मैं अपने लिए परमानेंट चुदाई का जुगाड़ करना चाहता था और मैं जानता था कि ममता को अच्छे से संतुष्ट कर दिया.

वो मैंने सारी की सारी सोनी के चूचों और चूत में लगा दी।अब मैं टूट पड़ा. तो मैं नीचे झुक कर उसकी चूत को चाटने लगा। अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा।वो बुरी तरह से ‘एयेए. वो मेरा लंड पकड़ कर कभी चूसती, तो कभी चाटती … मुझे तो इतना मजा आ रहा था, जैसे मैं स्वर्ग की सैर कर रहा होऊं.

वो पूरा सहयोग दे रही थी, लगता था कि काफ़ी दिनों से बहुत ही तड़प रही थी।किस करते-करते मेरे हाथ उसकी कमर पर जाने लगे. मैंने कुछ नहीं कहा लेकिन अब फिल्म देखने में मेरा मन नहीं लग रहा था.

जिससे वो और भी पागल हो गई और बोलने लगी- डाल दो अपना लंड मेरी चूत में.

मेरे पति की नौकरी की वजह से मुझे कई कई महीने बिना चुदे ही निकालने पड़ते. मुंह में लंड लेने वाला सेक्सी वीडियोजीजू मुझे चोदने के बाद मुझसे बोले- नेहा डार्लिंग, तुम्हारी कातिल अदाएं और तुम्हारे जिस्म ने मुझे तुम्हारा दीवाना बना दिया है. एक्स सेक्सी दिखाइएमैंने उसका हाथ पकड़ा और फिर से अपनी ओर खींचा और उसकी चूची बहुत जोर से दबा दी. और टॉप उतरते ही विक्रम की नजर उसकी गोल-गोल भारी-भारी चूचियों पर पड़ गयी.

घर पहुंचते ही सबसे पहले तो मैंने सुलेखा भाभी को देखा जोकि रसोई में खाना बना रही थीं.

वो मेरी ज़िदगी की सबसे खूबसूरत सुबह थी।फिर शाम को मैंने सबको ट्रीट देने को कहा. जब मैं एग्जाम की वजह से छुट्टियाँ लेकर अपने घर जबलपुर आया था।अचानक एक दिन मेरा एक दोस्त आया और कहने लगा- यार ये कोई कल रात से मैसेज कर रहा है. और तुम्हारा पानी पिया, बस उसी दिन से मैं तुम्हें चोदना चाहता था। तुम बोलो कि कैसा लगा?वो बोली- मुझे भी बहुत मज़ा आया.

सो 10 मिनट बाद मैंने ज़ोरदार चुदाई शुरू कर दी और अपना पानी उनकी चूत में निकाल दिया।दस मिनट में उनका 3 बार पानी निकल गया था।कुछ पलों बाद भाभी ने बताया- मैंने एक बार तुझे घर के सामने रोड के किनारे पेशाब करते हुए तेरा लंड देख लिया था. मुझे कोई घिन नहीं आ रही है न ही मुझे कोई बदबू आ रही है। अब यह स्पष्ट हो गया कि गाण्ड के छेद के अन्दर जीभ डालने में कोई हर्ज नहीं है। लेकिन ये क्या. मगर सन्नी जैसे चालाक आदमी से वो जीत थोड़े ही सकती थी। वो ठहरा एक नंबर का कमीना आदमी.

एक्स सेक्सी एक्स सेक्सी

मैंने उसको मैसेज कर दिया- ब्लू फ़िल्म देख रहा हूँ।तो उसका मैसेज आया- अकेले-अकेले ही देख रहे हो. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब नीलेश ने मुझे अपनी बाँहों में ले लिया. पर हमें क्या पता था कि एक दिन यह मस्ती सस्ती नहीं मंहगी पड़ने वाली है।हम दोनों ने एक दिन मूवी देखने का प्लान बनाया.

मैंने नीरू को धीरे से हाथ लगाया तो उसने कोई विरोध नहीं किया, वह सोने का नाटक कर रही थी.

अनु’ बोलता हूँ।इस प्रकार दो महीने पहले शुरू हुआ हमारा प्यार आज भी जारी है।कहानी पर अपनी राय दीजिये![emailprotected].

इतने में प्रिया बोली- देखो ये जल्दी खत्म करो और हमें शादी में जल्दी जाकर वापस भी आना है … उधर मुझे देर नहीं करनी है, ऐसे मौके का मुझे पूरा फायदा उठाना है. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।बात कुछ साल पुरानी है। मेरे पापा की चचेरी बहन हमारे घर रहने आई हुई थी। उसका नाम कोमल (बदला हुआ नाम) है और वो करीब एक महीना हमारे घर पर रही, वो मुझसे तीन साल ही बड़ी है. सेक्सी बीपी साडीवाली व्हिडिओउन दिनों उसकी माहवारी जस्ट खत्म ही हुई थी और माहवारी के बाद का यह पहला दिन था.

वो घूमता भी था तो इस तरह से कि पूरी चूत में कोई जगह नहीं छोड़ता था, जहां उसकी थाप ना लगे. थोड़ी देर के इस क्रिया के बाद माइक और मुनीर दोनों ही उठे और तारा को लिटा दिया. मैंने श्यामा से कहा- करोगी टेस्ट इस को?उसने कहा- ये भी कोई पूछने की बात है.

विकास भी बिना कुछ बोले चुपचाप कमरे से मेरी तरफ देखता हुआ बाहर चला गया. उसे समझ में आ गया कि मैं नंगा हूँ। तो उसने अच्छे से मुझे पकड़ लिया और अब अपना लंड मेरे चूतड़ों पर अच्छे रगड़ने लगा और धक्के देने लगा। मैं समझ गया कि ये मुझे चोदना चाहता है।अब मैंने उसका लंड पकड़ा और अपनी गाण्ड के छेद पर लगा दिया। उसका लंड प्री-कम से एकदम गीला था। जैसे ही मैंने अपनी गाण्ड के छेद पर उसका लंड टिकाया.

जो आदमी को चुदने के मामले में पीछे छोड़ देती हैं।एक तरह की औरत और होती है.

क्योंकि मेरे लिए तुम एक लड़की ही हो। तुम मेरा लौड़ा चूसो और मैं तुम्हारी गाण्ड की चुम्मियाँ लूँगा. वरना तेरी रीमा दीदी मर जाएगी।मैं सीधा लेट गई और मोनू को अपनी टाँगों के बीच आने को कहा।एक बार तो मैं उसका लंड देख कर सोचने लगी कि जिस चूत में हमेशा इससे कहीं छोटा लंड जाता था. आप लोग आराम से वन्द्या को यही चोद दीजिए।यह बात अंकित ने जैसे ही बोली, तुरंत मुन्ना अंकल धीरे से बोले- अंकित तू सम्हालना, हम दोनों वन्द्या को चोद के मस्त कर देंगे.

कुंवारी लड़की की सेक्सी वीडियो गांव की जो बहुत कम शादीशुदा महिला बोलती हैं।मैं उसके दोनों पैरों के बीच में आ गया और ममता ने भी दोनों टाँगों को जितना हो सकता था. मेरा पूरा लंड मामी की चूत में चला गया।मामी के मुँह से तेज चीख निकल गई- अहह.

इस बार तो मोनू ने पूरा ज़ोर लगा कर धक्का मारा और इसके साथ ही पूरे का पूरा 7 इंच का लंड मेरी चूत में जाकर फिट हो गया।मैं चिल्ला उठी- ओए. रोका किसने है?यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !इतने में मेरा हैण्डपंप खड़ा होने लगा। उन्होंने शायद ये देख लिया था. वे मुझसे पोर्न को लेकर बात करने लगी थीं उनकी बातों में सन्नी लियोनि की चुदाई की फिल्म की ज्यादा बात हो रही थी.

ट्रिपल सेक्सी वीडियो ब्लू

इस बार मैंने उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रखे और उसकी चुदाई शुरू की. वहीं खेत था तो मैंने उनसे कहा- आप झाड़ियों में जाकर कर लो।उन्होंने कहा- नहीं. उसके पति से उसका तलाक़ हो चुका है और वो कई सालों से अकेली ही रहती है।उसका लड़का कभी-कभी ही घर आता था.

मेरे लंड का टोपा ही उसकी चूत में अन्दर गया था कि वो उछल कर मेरे नीचे से निकल गई और दीवार के पास जाकर खड़ी हो गई. उसने मोटा लंड देखा तो उठा कर बैठते हुए चौंक गई- इत्ता बड़ा होता है ये.

उसने मुझे उसका नम्बर दिया।अब हम दोनों व्हाट्सेप पर भी बात करने लगे।एक दिन मैं रात में ब्लू-फ़िल्म देख रहा था.

फिर कुछ ही देर में मैंने अपनी फुल स्पीड में पिंकी की चुदाई करना शुरू कर दी।पिंकी भी मजा लेते हुए जोर-जोर से मुझे उकसाने लगी- आह्ह. तब रीतिका बोली- दीदी, मैंने लेस्बीयन सेक्स देखा बहुत है, कभी किया नहीं है. तो अचानक ही आश्चर्य से सपना का मुँह खुल गया और उसके मुँह से निकल पड़ा- हाय दैय्या.

उतना ही उन चारों को मजा आ रहा था, उतना ही और जोश में आकर मुझे चोद रहे थे. उसकी आँखों में वासना का खुमार भरने लगा जोकि मीठानंद को साफ़ नजर आने लगा. जिससे मेरा लंड का कुछ भाग अनु को दिखने लगे।यह सोच कर मैंने पैर को थोड़ा मोड़ा लेकिन मेरी लुंगी पूरी कमर पर गिर गई और मेरा पूरा लंड दिखने लगा.

फिर मेरे गले में हाथ डालकर मुझे अपने ऊपर खींच कर किस करने लगीं।मैंने भी कुछ देर किस करते हुए उनकी चूत की फाँक पर अपना लण्ड रगड़ा।‘अन्दर डालो न.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश: रहने दो।पर बाद में उसने ब्रा-पैन्टी निकाली और बोली- अरे इसमें तो दो सैट हैं. कितना मजा दे लेते हो! काश … काश … पता होता कि एक दिन मुझसे दस साल बड़े, कभी मुझे गोद में खिलाने वाले मेरे इमरान भाईजान एक दिन मुझे नंगी करके मेरी गांड में अपना लंड ठांसेंगे।”पता होता तो.

फिर एक दिन उन्होंने मुझे कहा कि कल होली है और इस बार उन्हें होली अकेली मनानी पड़ेगी … इसलिए वह उदास हैं. 5″ लम्बा और 2″ मोटा लण्ड खड़ा हो जाता था।मैं उसको चोदना चाहता था लेकिन मौका ही नहीं मिलता था।हमारा रोज एक पीरियड कम्पयूटर का आता था. चूत ने कामरस छोड़ दिया।मैंने पूरा रस चाट कर साफ़ कर दिया।गीतिका- तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो.

मैंने संजय को गीत को सीधा करने का इशारा किया। संजय ने मेरा इशारा पाकर गीत को अपनी गोद में उल्टा कर दिया।अब गीत ने मुझे देख कर अपनी आँखें बंद कर लीं और उसकी उसकी छाती मेरे सामने थी।मैंने एक हाथ से गीत की कमीज़ को निकाल दिया, अब गीत के ऊपरी हिस्से में ब्रा थी.

मेरे अन्दर भूख इतनी ज्यादा थी कि भाभी को मैंने चार बार चोदा।फिर भाभी बोली- अब जल्दी हटो. और यह कहकर मैं उन्हें लिप किस करने लगा, मैंने अपनी जीभ को उनके मुँह में डाल दिया और वो उसे चूसने लगीं।करीब 5 मिनट के बाद मेरे मुँह में इतना थूक भर गया कि मेरा मुँह भर गया और मैंने मौसी से इशारा करके मुँह खोलने को कहा और उनके मुँह में आधा थूक दिया. अब यहाँ से मैं प्रीति आंटी को आंटी न लिख कर एक साधारण संबोधन के माध्यम से कहानी में उनका रोल लिख रहा हूँ.