बढ़िया बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो भोजपुरी भक्ति सॉन्ग डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

लौंडिया वाली सेक्सी: बढ़िया बीएफ फिल्म, मेरा लण्ड उसकी चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया।उसकी आंखों से आंसू निकल गए, वह बोली- आज तो तुमने मेरी चूत को फाड़ दिया.

सेक्सी पिक्चर की बीएफ

वो हर धक्के के साथ मस्त हो रही थी, उसकी ‘आह आह … आहह ओह हम्मम फ़क फ़क हम्म. बीएफ हिंदी वीडियो डाउनलोडअचानक से बरसात बहुत तेज की होने लगी तो मैंने हाईवे पर गाड़ी चलाने के बजाय गाड़ी को सड़क के किनारे खड़ा करके पार्किंग लाइट ऑन कर दी और गाड़ी के कांच पर वाइपर चालू कर दिए.

इधर मैं ब्रश लेकर ब्रश करने लगा और शीशे से नम्रता की चूत से सीटी की आवाज के साथ मूत्रधार और पड़-पड़ की आवाज के साथ टट्टी को गिरते देख रहा था. उदयपुर बीएफमैं समझ गया कि कौसर जान को बड़े लंड का मजा मिल गया है और अब्बू को कसी जवान चूत का … अब से ये दोनों चुदाई का मौक़ा तलाश करते रहेंगे और मौक़ा मिलते ही चोदमचोद का खेल खेलेंगे.

अब मैंने सोना को छोड़कर सोनम को पकड़ लिया और धीरे धीरे उसे चूमते हुए उसे पूरी नंगी कर दिया.बढ़िया बीएफ फिल्म: इसीलिए मैं अपनी प्यास बुझाने के साथ-साथ उनकी चूत सेवा करके भी पुण्य का कमाता रहता हूँ.

मैंने देखा कि कई बूढ़े आदमी भी सामने से आते हुए उसकी चूत की लाइन को ताड़ रहे थे.वो उचक तो रही थी लेकिन मजा नहीं आ रहा था क्योंकि वो ज्यादा ऊंचा नहीं उचकती थी.

2021 बीएफ सेक्स - बढ़िया बीएफ फिल्म

ब्रा के ऊपर से ही उसके दोनों मम्मों को एक-एक करके मुँह में लेकर दांत से काटने लगा.लेकिन चाची ने ये सब नजरअंदाज करते हुए मुझसे ठीक से बात की … तो मेरी टेंशन थोड़ी कम हुई.

एक दिन बातों बातों में बात निकली कि गिन्नी कार चलाना सीखना चाहती है लेकिन हैप्पी सिखाता नहीं. बढ़िया बीएफ फिल्म शायद उसको भी पता चल गया था कि मैं उसे चोर नज़रों से देख रहा हूँ, पर वो फिर भी अनजान बनी हुई थी और अपनी किताब पढ़ने में मस्त थी.

मैंने फोन किया, तो उसने बताया कि वो उसकी सासू माँ को दवा दिलाने दिल्ली जा रही है.

बढ़िया बीएफ फिल्म?

मानसी ने अपना मुंह दूसरी तरफ फेरा हुआ था ताकि मौसी अपनी चूत की प्यास जगाने में सहजता महसूस कर सके. इसलिये हम दोनों को एक ही सीट पर बैठना था।हम दोनों ट्रेन में जाकर बैठ गये. मैंने कपड़े उतारे और अंडरवियर बनियान में बितर पर सोने को गया तो अम्मी के खर्राटे सुन कर मुझे कुछ अहसास हुआ, मैंने मोबाइल की लाईट चालू करके देखा तो वहां पर मेरी अम्मी सो रही थी.

मैंने एक हाथ से अपना मुँह दबाया और दूसरे हाथ से उसके सर पे प्यार से बालों को सहलाने लगी. लेकिन उस लड़के के प्यार में पड़के अब उनके पति भी उस औरत को छोड़ चुके थे, जिसके पास वो रात भर रहते थे और शराब पीना भी छोड़ दिया था. ” यह कहकर उसने फ़ोन काट दिया।लगभर दस मिनट बाद एक कार मेरे कार के पास आकर रुकी, और उसमें से एक आदमी छाता लेकर भागता हुआ मेरी गाड़ी के पास आया तो मैंने अपनी कार का शीशा नीचे किया।वो बोला- शालिनी जी.

मेरी छाती उसकी चूचियों को दबा रही थी और मैं उसके होंठों को चूस रहा था. मैं समझ रहा था कि भाभी, उनकी सास और मेरे भैया की मौजूदगी में ही मेरी रजाई में आ घुसी. सुमन अभी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही है और उसकी बड़ी बहन की शादी हो चुकी है.

30 बज रहे थे, राहुल को पहनने के लिए सीमा ने अपने पति की शॉर्ट्स और टी शर्ट दीं. अब मैंने परवीन का मुँह अपने खड़े लंड की तरफ किया, तो उसने थोड़ी नानुकुर के बाद मान लिया.

अब उनकी पेशाब मेरे मुँह से होते हुए मेरे पूरे शरीर को गीला करता हुआ नीचे गया.

मैं अंकल जी के ऊपर सवार हो गयी और उचक कर उनका लण्ड सही जगह पर लगाया और जोर लगा कर बैठने लगी.

उनकी सीत्कार भरी आवाज निकल गई- आआहह … कमीने अब चाची को रुलाएगा क्या?मैं- अरे सॉरी चाची गलती से हो गया. जो महिलाएं अच्छा सेक्स करती हैं, उनको पता होगा कि झड़ने के बाद क्या हालत होती है. मैंने सोचा था कि आज जवानी के दिनों की कोई आपबीती को सेक्स स्टोरी में लिखूंगा.

उसने मेरी शर्ट उतार कर मेरी गर्दन पर किस किया और फिर मेरी छाती के निप्पलों को चूसने लगी. ऐसा लगा, जैसे मेरी मानो सारी तकलीफ दूर हो गयी हो, सारे दर्द गायब हो गए हों. घने बादल छाये हुए थे। जब एकदम से तेज हवा चलने लगी तो भाभी भी मेरी हेल्प करने के लिए आ गई। बाहर बंधी रस्सी के ऊपर से जब मैं कपड़े उतार रहा था तो मैंने देखा कि भाभी की ब्रा और कच्छी भी टंगी हुई थी। मैंने भाभी की ब्रा को उतार कर उसका साइज पढ़ लिया.

भोला बोला- देख साले, आज तुझे भी हिरोइन जैसी मस्त आइटम का मजा मिल रहा है.

उस भाभी ने मुझसे खुद को और अपनी बहन को, अपनी एक सहेली को चुदवा चुदवा कर पूरा मजा लिया. मैं उसे चोदते हुए उसकी बगलों पे जीभ फेर देता, तो वो और गर्म हो जाती. मैंने झुकते हुए अपनी नजर को उसकी चूत पर गड़ा दिया, नम्रता ने भी अपने हाथ को चूत से हटाकर अपने मम्मों पर रख लिया.

उसके मुंह से आह … आह … की आवाजें आने लगीं।मैंने कहा- मेरी रंडी, अभी तो थोड़ा सा गया है. कुछ पल बाद लंड में कुछ सुरसुरी सी हुई तो मैंने लंड अन्दर बाहर करना चालू किया. ऊपर भाभी ने मैचिंग कलर का स्लीवलैस ब्लाउज़ पहना हुआ था, जिसमें पीछे की तरफ केवल डोरियां बंधी थीं.

मैंने डरते डरते भाभी से पूछा- आप यहां? कोई काम था क्या? मॉम तो नहीं हैं घर में.

और अब्बू हंसते हुए बोले- तो अब बोलो मेरी जाने जिगर … निकल गया ना चूत का पानी!अब अब्बू मेरी बीवी की चूत के ऊपर लंड रगड़ रहे थे। इस बीच उन्होंने मेरी बीवी की चूत में वापस झटका मारा तो पूरा का लंड अंदर तक धंस गया. बहुत खटखटाने पर जब दरवाजा नहीं खुला तो मैं अपनी खिड़की के रास्ते से अंदर आ गया.

बढ़िया बीएफ फिल्म मैं उसे देख के भाग कर उससे लिपट गयी और गले लगा लिया ज़ोर से। हम ऐसे ही 30-40 सेकंड तक गले गले रहे. उनके भाई जो दिन में तो सही रहते थे, लेकिन जैसे ही शाम होती, वो पीने चले जाते और रात को एक दो बजे तक वापस आते थे.

बढ़िया बीएफ फिल्म उसी पल मुझे तुमसे प्यार हो गया, मैंने सोचा कि इस बारे में मैं तुमको अपने जन्मदिन पे बताऊँगी।मैं बेड से उठा और उसको उठा कर अपने गले से लगा लिया. हम दोनों के ही दिल कह रहे थे कि समय ठहर जाए, पर वो मानने वाला नहीं था.

आंटी की चुदास बता रही थी कि वो चुदाई की ललक में कितनी अधिक बेबस थीं.

बहन और भाई की सेक्सी वीडियो

मैंने उसके लिए भी पैग बनाया और हम दोनों चियर्स बोल कर पैग पीने लगे. मेरी आप सभी से एक प्रार्थना है कि मुझसे किसी लड़की या औरत का पता या फोन नम्बर पूछने का कष्ट ना करें. चूस लो इसे भाभी।मेरे कहते ही उसने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और तेजी के साथ उसको चूसने लगी.

मैंने भोला से कहा- और ताकत लगा भोला, पूरी ताकत के साथ मेरी चूत को फाड़ दे. मैं उठी, अपनी टांगें साफ कीं, चादर साफ की, कपड़े पहने और अपनी किस्मत को कोसते हुए लेट गई. तब अंकल को पता चला कि मेरी मां की चूत ठीक से चुदी हुई नहीं है। अंकल यह देख कर खुश हुए.

कल में कॉलेज से 11 बजे निकल जाऊंगी और कॉलेज के पीछे वाले पार्क में तुम्हारा इंतजार करुँगी.

फिर नम्रता ने अपनी चूत के अन्दर उंगली डालने के साथ ही अपने बाएं मम्मे को हाथ में लिया और उसको मुँह की तरफ उठाते हुए मुझे नशीली नजर से देखते हुए तन चुकी निप्पल पर जीभ फिराने लगी. उसमें कुछ लेसन नहीं थे। किस्मत देखो कि मैडम ने याद करने के लिए वही लेसन दिया था जो मेरी बुक में नहीं था. लेकिन जैसे जैसे वक़्त आगे बढ़ता गया, उससे बातें होने लगीं और हंसी मजाक चलने लगा.

अब मेरे दिल में विचार आया कि क्यों न मैं भाभी को अपने विशाल लंड के दर्शन करवा दूँ. मैंने भाभी से कहा- क्या सच में आपको मुझसे बेबी चाहिए?तब शायना भाभी ने कहा- हां जी … सच में!मेरी ख़ुशी का ठिकाना ही न रहा. मैंने मोबाइल की लाइट जलाई, तो देखा उनके गोरे-गोरे गालों पे आंसू मोतियों के जैसे चमक रहे थे.

उनकी चुत आग की भट्टी की तरह तप कर गोल्डन रंग सी चमकती हुई दिख रही थी. मैं पहले से ही सारी तैयार देख कर जरा चौंका और मैंने कहा- क्या बात है, यहां तो पहले से सब तैयार है?राधिका- मेरे राजा ये सब तुम्हारे लिए ही किया है.

वो उठ कर मुझे किस करने लगा और मैं भी किसिंग में उसका भरपूर साथ देने लगी. अपने कपड़े खरीदते समय वो मुझसे बार बार पूछ रही थी कि कैसी है?मेरा हर बार एक ही जवाब होता था. मैंने भाभी की मंशा जान कर कहा- भाभी, मुझे पता है कि आप ऐसा क्यों पूछ रही हो। लेकिन इसमें मेरी गलती बिल्कुल भी नहीं है.

तू देख नहीं रहा कि तेरी बेटी बंध्या कैसे खुश हो रही है मेरा लौड़ा लेकर? मैंने इसके साथ कोई जबरदस्ती नहीं की है, ये अपनी मर्जी से ही चुद रही है.

मैं, भाभी और सोना उसको फुसलाने लगे, मैंने पूछा- सोनम जी, क्या आपका कोई ब्वॉयफ्रेंड है?उसने कहा- नहीं … अभी तो नहीं है, एक था, पर वो बहुत ही बेवकूफ़ था, इसलिए मैंने उससे ब्रेकअप कर लिया. अब आप तो समझ ही सकते हो कि एक बार हाथ लंड पर खुजलाने भर के लिये भी चला जाये तो लंड को खड़ा करके ही छोड़ता है. तो हुआ यूं कि मैं भी अपने चाचा के घर जाकर उनके साथ बिस्तर पर बैठ गया.

मैं घर पर अधिकतर नंगी ही रहती हूँ या फिर ब्रा और पैंटी में रहती हूँ. मैंने चार उंगलिया पेल दीं, उसने लौड़ा मुँह से निकाला और चीख उठी- आह आहह आहह …उसका एक हाथ मेरे लौड़े पे अभी भी चल रहा था.

वहां उन्होंने मुझे बिठाया और कहा कि हमने कभी ये नहीं किया, आपको जो करवाना है … वो हमको बता दो. भाभी की चूत ने पानी छोड़ कर उसकी चूत को आस-पास के एरिया से गीला कर दिया था. फिर मुझे उबकाई सी आने लगी, तो मैं दौड़ कर बाथरूम में गयी और फिर वापस आ गयी.

સ્કૂલ ગર્લ સેક્સ વીડિયો

मैं सेहत बनाने नहीं बल्कि आंखें सेकने के चक्कर में सुबह सैर पर जाने लगा.

मैंने अपना लंड उसके आगे किया, तो उसने झट से पकड़ लिया और मुँह आगे करके चूसने के लिए लपकी. मैंने दोनों हाथ उसके कमर पकड़ के खींचा, वो मेरे नंगे बदन से और सट गयी. वसुन्धरा ने बिना कुछ बोले आगे बढ़ कर मेरे दोनों हाथ थाम लिए और सर उठा कर तरसी आँखों में हज़ारों शिकायतों का भाव लेकर मेरी ओर निहारा.

मैंने जिंदगी में बहुत चूत चोदी हैं, हर चूत में चुदने की कुछ अलग अदा होती है. मैंने उसकी पैंट को खोल दिया और फिर उसने मेरी मदद करते हुए अपनी पैंट को अपनी मोटी-मोटी टांगों में से निकाल दिया. बीएफ वीडियो दिखाई देअब कॉलेज में मैं सलवार सूट पहनती थी, जीन्स पहनने की हिम्मत नहीं हुई.

अब विक्की ने अपना तना हुआ लंड अपनी बहन निहारिका की चूत में डाल दिया और निहारिका को चोदने लगा. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम जिग्नेश है और मैं गुजरात के एक शहर में रहता हूं.

जबकि हीना भी जानती थी कि साहिल समीरा के हाथ का नहीं बल्कि उसकी चूत का स्वाद चखना चाहता था. कुछ देर के बाद मैंने उसको नीचे कर दिया और उसे बेड पर पीठ के बल लेटा दिया. उसके मोटे चूचों को दबाते हुए उन पर अपनी पकड़ तेज करता जा रहा था मैं.

मुझे ऐसी बुक्स पढ़ना बहुत पसंद था, इसलिए मैंने उस मैगज़ीन को अपनी स्कर्ट में छिपा लिया और आंटी घर के अन्दर आने के बाद ‘घर पे कुछ काम है. मैंने पूछा- आर यू रेडी (क्या तुम तैयार हो)उसने हां में सर हिलाया- ओके. रूम में घुसते ही मैंने दरवाजा बंद करते हुए उसको कस कर पकड़ लिया और उसको स्मूच करना शुरू कर दिया.

भाभी अब मुझे सेक्सी नज़र से देखने लगी थी और कोई ना कोई काम से मुझे घर बुलाने लगी थी.

मैंने उसे पीछे धकेलना चाहा, पर उसने मुझे थोड़ा टाइट पकड़ा था, तो मैं उससे छूट ना सका. साहिल उठ कर दरवाजा खोलने के लिए गया तो दरवाजे पर समीरा बानू खड़ी थी.

चुत पर मेरे होंठ लगते ही वो मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उंह … उमह!मैं चुत के दाने को चूसते हुए वोडका उसकी चूत में भरने लगा. तभी तन्वी ने एक बॉक्स मेरे हाथ में रख दिया और बोला- ये मेरी तरफ से गिफ्ट।मैंने उसे खोला तो उसमें मेरे लिए साड़ी के मैचिंग रंग का ब्लाउज़ और पेटीकोट था।मैंने दोनों शुक्रिया कहा. कुछ देर बाद वह अपनी उंगली से मेरी चूत चोदने लगा, तो मुझे नया मज़ा मिला.

उससे ताऊ जी बोले- अभी तुम मेरी आधी औरत बनी हो, अब तुमको मैं पूरी औरत बनाऊंगा. मेरा गर्म फ़ौलाद जैसा लिंग वसुन्धरा की पैंटी के ऊपर से ही उसके नितम्बों की ऐन दरार पर रगड़ खा रहा था, मेरी बायीं टांग वसुन्धरा की बायीं टांग पर चढ़ी हुयी थी और हम दोनों की दोनों दायीं टांगें लंबवत बिस्तर पर सीधे फ़ैली हुई थी. मेरे आते ही उसने बस एक बार तो घर के बारे में पूछा था मगर उसके बाद उसने मुझसे कोई बात नहीं की, वो बस चुपचाप अपने काम में ही लगी रही।कुछ ही देर में मोनी ने रसोई के सारे काम निपटा लिये थे और फारिग होकर उसने सोने के लिए अपना बिस्तर नीचे फर्श पर बिछा कर तैयार कर लिया था.

बढ़िया बीएफ फिल्म वो चिल्लाने लगी- आह-आह … आह बस ऐसे ही और तेज पंकज …मैं लंड को तेज-तेज चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. मैं यह भी जानता था कि उसकी लाइफ में कोई और भी नहीं है क्योंकि अगर होता तो मुझे पत लग जाता.

एक्स एक्स एक्स हॉट मूवी

”अईं … ऐसा कह रही थीं?”हां बिल्कुल ऐसा … साफ साफ!”चलो कोई बात नहीं, पड़ोसी हैं, सुन डालो. मैं एक हाथ से उसकी चुची दबा रहा था, दूसरे हाथ से उसकी जांघ को सहला रहा था. उस दिन मुझे पता चला कि मेरी बीवी अपने शौक पूरे करने के लिए अपनी गांड भी चुदवा सकती है.

मैं पागल सी होने लगी और मेरे मुंह से आह्ह … आह्ह … की सिसकारियाँ निकल रही थीं. एक दिन मेरा बहुत मन कर रहा था कि मैं किसी के लंड को पकड़ कर अपने हाथ में लूं. भाभी की बीएफ सेक्सी चुदाईकुछ दूर ही चले होंगे कि मैं जानबूझ कर हांफने लगा और प्यास से बेहाल होने का नाटक करने लगा.

उनकी चुदाई से मेरा मन नहीं भरता था, लेकिन के करूं, मेरे पति तो एक बार चोदने के बाद सो जाते थे और मैं अपनी चूत में उंगली करके सो पाती थी.

तभी शुभम जी हॉल में सोफे बैठे हुए थे और मैं वो कंडोम हाथ में हिलाते हुए जा रही थी. दूसरे दिन मैं जानबूझ कर उसी टाइम पर ऊपर भाबी के कमरे के बाहर आ गया.

मगर मेरा मजा इतना ज्याद बढ़ गया था कि मैं उसके ऊपर ही लेट गया और मैंने उसको अपने शरीर के भार के नीचे दबा लिया. कम उम्र में ही उनकी शादी एक ऐसे आदमी से हो गई थी जो उनसे डेढ़ गुना बड़े थे आयु में।आप ही सोचो कि जब एक औरत जो तीस साल की हो चुकी है और उसका पति उससे डेढ़ गुना ज्यादा बड़ा है उम्र में, तो इस बात का अंदाजा आराम से लगाया जा सकता है कि उसके पति की उम्र कितनी होगी. वह अपने मूसल जैसे लंड से मेरी चूत की चटनी बना रहा था और मैं दर्द में भी तृप्ति का अहसास कर रही थी.

मैं भाभी के साथ बात करने लगा- आप ऐसे कैसे डर गई हो?तो वो बोलने लगीं- अचानक ही कपड़ा आ कर खिड़की पर लग गया, इसलिए डर गयी.

मैं एक अच्छे घर से हूँ, मैंने कभी किसी के साथ रोमांस तो दूर की बात, कभी पराये लड़कों से बात भी नहीं की थी. अंकल उन्हें लेके नीचे आने लगे, तभी मैं रूम में सोने की एक्टिंग करने लगा. वो अब दोनों उंगलियों को धीरे धीरे मेरी गांड में अन्दर बाहर करने लगा.

सेक्स वीडियो बीएफ फुलमैंने न्यूजपेपर हटा कर पूछा- क्या बात है भाभी, आप वहां फर्श पर क्या कर रही हो?भाभी घबरा कर बोली- कुछ नहीं. नम्रता बोली- शरद, मेरी गांड का बाजा तुमने अच्छे से बजा लिया, मेरी चूत भी तुम्हारे लंड के लिए मरी जा रही है.

સેક્સ વીડીયો કોમ

लेकिन हम एक दूसरे को पता नहीं लगने देते कि एक दूसरे को ही देखने आते हैं. जब उन दोनों ने मुझे छोड़ा, तो सरिता पास आ मेरी चूचियां पकड़ कर बोली- मज़ा आया?हां दीदी. करीब 15 मिनट तक की धकापेल चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

धत् पागल … अच्छा ये बता कि तू घर में कितनी देर से है?”भाभी शायद जानना चाहती थी कि कहीं मैंने उसे नंगी तो नहीं देख लिया है. ऋतु ने कहा- सर, आप ये क्या कर रहे हो?अजय बोला- ऋतु, जब से मैंने तुम्हें देखा है मैं तुम्हारी खूबसूरती का दीवाना हो गया हूं. संगीता ने अपने हाथों से राहुल का सर नीचे किया और अपने रसीले होंठ राहुल के होंठों से मिला दिए.

उसने मुझे फिर से मारना चालू कर दिया मेरे पूरे जिस्म में बेल्ट के निशान आ गए. चूंकि मैं सोनू को पहली नजर से ही पसंद करने लगा था इसलिए मैंने मौका देख कर उसकी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ा दिया जिसे सोनू ने स्वीकार भी कर लिया. मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि इस ठुल्ली लड़की मतलब जानू के नाम की मुठ मारूंगा और मुठ मारने में इतना मजा आएगा.

जो महिलाएं अच्छा सेक्स करती हैं, उनको पता होगा कि झड़ने के बाद क्या हालत होती है. मैं उसकी चुत को जांघों से लेकर उसके पेड़ू तक किस करता रहा और वो टेढ़ी होती बार बार!अब वो चुत के अंदर जीभ के जाते ही तेज़ सिसकारी लेती- ससीईई ईईईई अहह हहाह हहह!काफी समय हो गया था ये सब करते करते … तो मैं उठा और उसकी ब्रा का हुक खोल दिया, उसके बूब्स उछल कर ऊपर आ गये.

उसने झट से मेरी टी-शर्ट को उतार दिया और मेरे शॉर्ट्स को भी उतारने के लिए उसे नीचे की तरफ खींच रही थी.

मन इसी उधेड़बुन में रहता कि क्या करूं इन सेक्सी फीलिंग्स से मुक्ति मिले और मेरा मन पढ़ाई में लगे. रामदेव की बीएफलगभग आधा घंटे तक बारिश रुकने का इंतजार किया, जब बारिश कुछ हल्की पड़ी तो मैंने फिर से चलने का प्लान बनाया और जैसे ही गाड़ी स्टार्ट की तो ये क्या … गाड़ी तो स्टार्ट ही नहीं हो रही!मैंने बार-बार सेल्फ बंद चालू किया लेकिन गाड़ी तो स्टार्ट ही नहीं ही रही थी और बारिश भी हल्की हल्की हो रही थी. श्रद्धा कपूर सेक्स बीएफउसे देख कर मेरे मन में विचार आया कि आज से सुमन को अपने वश में रखूँगा. तो मौसी ने मुझसे कहा- हां ये ठीक रहेगा, तुमको कोई दिक्कत ना हो, तो निहारिका और विक्की को ले जाओ, उनको भी पहाड़ों की सैर करवा दो.

वहीं उसके चूतड़ एकदम परफेक्ट शेप में पीछे को निकले हुए थे, जो खुद जैसे कह रहे थे कि आओ और हमको मसल दो.

सभी हम दोनों माँ बेटे को देख रहे थे, पर उन्हें लग रहा था कि हम कपल हैं. कारण आप अच्छी तरह समझ सकते हैं।कल सुबह-सुबह मैंने उसे सुहाना के साथ हाथ में टेनिस रॅकेट पकड़े स्टेडियम ग्राउंड जाते देखा था। आप को बता दूँ कि मैं भी टेनिस का बहुत अच्छा खिलाड़ी रहा हूँ. और करन अगर सच में तुझसे प्यार करता होगा तो उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि तू कितनों से चुदी है। क्या उसने पूछा था कि तू वर्जिन क्यूँ नहीं है जब तुमने सेक्स किया था तो?उसकी बात सही थी … करन ने मुझसे कभी नहीं पूछा इस बारे में।मैंने कहा- नहीं, ऐसा तो कुछ नहीं पूछा उसने।तन्वी बोली- बस फिर … प्यार में ये सब मायने नहीं रखता, बस प्यार सच्चा होना चाहिए.

जब वो चली गयी तो मैंने उसकी पैंटी जा कर देखी तो वही मार्केट में बिकने बाली कोई बेकार सी पैंटी थी पर उसमें से एक गजब की सुगंध आ रही थी. उसने अपने दोनों हाथ उठा कर अपने दोनों उरोज़ थामे मेरे हाथों को ऊपर से जकड़ लिया. एक पल के लिए तो दिमाग में आया कि मैं अब रात में बिना किसी से बताये उनके घर से निकल कर अपने शहर के लिए ट्रेन पकड़ लूं.

पोर्न वीडियोस इन हिंदी

मैंने अपनी टांगों को उसके नंगे चूतड़ों पर लपेट लिया और उसने अपना लंड एक झटके के साथ मेरी चूत में घुसा दिया. वो फिर से बोल पड़ी- मास्टर प्लीज फ़क मी … (कृपया मुझे चोद दे मेरे मालिक)हम्म. हम तीनों ने रात का खाना खाया और जब सोने की बारी आई, तो रश्मि ने बोला कि मैं अपने रूम में सोने जा रही हूँ और मैं आप दोनों को सुबह तक डिस्टर्ब नहीं करूंगी.

तो उसने मना कर दिया मगर मैंने बाइक की रफ्तार बढ़ा दी और एक सुनसान जगह की ओर मोड़ दिया.

यूं काम-क्रीड़ा तो अपने जीवन में स्त्री-पुरुष सैंकड़ों-हज़ारों बार करते हैं लेकिन पहली बार अपनी देह पर अपने महबूब के हाथों का जादुई स्पर्श वाला सुख फिर दोबारा नसीब नहीं होता.

मैं तो मुट्ठ मारकर शांत हो चुका था लेकिन जब सुमिना ने काजल को मेरे साथ भेजने का प्रस्ताव उसके सामने रखा तो मेरे अंदर का शैतान फिर जगने लगा. फिर उसने मुझे नीचे लिटा दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर एक-दो बार सहलाया और फिर अपने मुंह में भर लिया. कपूर की बीएफअम्मी आंखें बंद किए हुए अपने मम्मों पर अंकल के हाथों का मज़ा ले रही थीं.

कभी हाथ कभी मुंह से होते होते वो समय आ आ गया कि मैंने उससे मुंह खोलने को कहा और कहा- जब तक मैं न रोकूं, तुम चूसती रहना और जो जीवन अमृत निकले गटकती जाना. ” अचानक ही सारा वातावरण सहज़ हो गया और वसुंधरा के होठों पर भी मुस्कान आ गयी. जिसका ध्यान मैंने चुदाई के वक्त नहीं दिया था, पर सुमन भाभी की ये पहले से ही प्लानिंग थी.

अंकल जी ने आठ दस बार वैसे ही चूत पर अपना लण्ड घिसा और मेरी चूत का रस अपनी उंगली पर लेकर इससे अपना सुपारा चुपड़ लिया और उसे सही जगह पर लगा कर धकेला तो सुपारा थोड़ा सा चूत में घुसने में कामयाब हो गया. मैं दर्द के मारे दीवार से सट गयी और लंड को गांड से बाहर निकाल दिया.

ओहह ओहह ऊहह मुझे बहुत मजा आ रहा था, आज तक ऐसा किसी ने नहीं किया था.

उनकी चुत आग की भट्टी की तरह तप कर गोल्डन रंग सी चमकती हुई दिख रही थी. कुछ देर मौसी जी ने मेरी पढ़ाई के बारे में पूछा, फिर सोने को बोलकर सो गयीं. लेकिन मेरे बातचीत करने का … और रहने का ढंग ही कुछ ऐसा है कि जो मेरे साथ एकाध घंटा भी बिता ले, तो मुझे जीवन भर शायद ही भूल पाए.

बीएफ हिंदी में चोदते हुए अब मैं अपना ध्यान काम पर लगाने लगा और कभी अनुषी दिख जाती, तो कुछ कुछ होने लगता था. उनकी मैक्सी का गला इतना बड़ा होता था कि अगर भाबी कभी झुकी हुई दिख जाती थीं, तो मुझे उनकी दोनों चुचियां बाहर आती हुई दिखने लगती थीं.

कुछ देर तक मैं आंखें बंद किये हुए ऐसे ही पड़ा रहा।फिर जब यह अहसास हुआ कि हाथ के साथ-साथ वीर्य झाटों तक को भिगो चुका है तब सोचा कि अब बाथरूम में जाकर इसे साफ कर लूं. आज मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था क्योंकि मैं अपनी चूत के बाल को साफ़ करके चुदने को रेडी हुई थी. राधिका- देख राज … मुझे पता है कि यह गलत है, लेकिन जितना प्यार में तुमसे करती हूं, उतना ही प्यार वो दोनों तुमसे करती हैं.

सेक्सी फिल्म काम करते हुए

उनकी चुदाई की बातें सुनकर मेरी सांसें तेज होने लगती थीं, गला सूख जाता था और कभी कभी तो चुत भी गीली हो जाती थी. मुझे पता चला कि वह भी एमएनसी कम्पनी में आईटी विभाग में काम करती हैं. अन्तर बस यह है कि उस दिन तुमने टॉयलेट में मेरे लिए हस्तमैथुन किया था.

उन्होंने अपने हाथ से जोर से पकड़ के मेरा पूरा मुँह उनकी गांड की दरार पर घुसा दिया और बोले- चूस जोर जोर से चूस भैनचोद. मैं चाहता हूँ कि पहले मुझे और मधु को कुछ दिन एक साथ रहना चाहिए, जब मधु खुद अपने आप मेरे साथ चुदने के लिए राजी न हो, तब तक हमें सेक्स नहीं करना चाहिए.

मैं नहाकर आती हूं।मैं बाथरूम के सामने ही कुर्सी लगा कर बैठ गया।भाभी- अरे यहां क्यों बैठे हो? बरामदे में बैठो न?मैंने कहा- भाभी आप नहा लो न। नहलाने तो आप दे नहीं रही हो। तुम्हें नहाते हुए ही देख लूं।हट बेशर्म!” भाभी ने झेंपते हुए जवाब दिया।मैं- भाभी प्लीज़, बहुत दिन हो गए हैं किसी को नहाते हुए नहीं देखा। तुमसे दूर तो बैठा हूँ.

लेकिन मन नहीं माना और मैंने एक बार उसके तने हुए लंड को अपने हाथ में ले लिया. मैंने विक्की के लंड को थोड़ी देर के लिए हिलाया और लंड को किस किया और लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी. जब दोनों को यकीन हो गया कि मैं बिल्कुल नींद में हूँ तो दोनों उठ कर बेडरूम की तरफ चले गये.

कुछ देर बाद उन्होंने महसूस किया कि मेरी मां अब खुद उनके लंड को हिला रही थी।फिर उन्होंने मेरी मां को अपना लंड चूसने को बोला और ताज्जुब की बात है कि मेरी मां भी अंकल का लंड चूसने लगी। अंकल का लंड पूरा कड़क हो गया. मैंने कहा कि दीदी जंगल में रुकना खतरनाक हो सकता है, आगे कोई सुरक्षित जगह देखते हैं. बाकी तेरी मर्जी…ठीक है … जैसा तू कहे।” काजल ने सुमिना की ज़िद के सामने घुटने टेक दिये.

उसके दो साल के बेटे लालू के साथ खेलता रहता था और भाभी को देखता रहता था.

बढ़िया बीएफ फिल्म: उसके मोटे चूचों को दबाते हुए उन पर अपनी पकड़ तेज करता जा रहा था मैं. ये मेरा पहली बार था, तो मुझे चूत का स्वाद थोड़ा अजीब सा लगा, पर काफी मजा आया.

कुछ ही देर में दिन का उजाला हो गया, तो हम स्टेशन से बाहर आकर टैक्सी वाले से अपना अपना पता दिखा के पूछने लगे. ‘ऊई मां …’ कहकर चिल्लाई तो मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये और कंधों से पकड़ कर नीचे दबाया तो पूरा लण्ड गुफा के अन्दर हो गया. वो मेरे ऊपर मेरे लंड पर बैठने लगी और धीरे धीरे दर्द से आंखों में आंसू और दांतों को भींचते हुए लंड पर बैठ गयी.

थोड़ी देर में मुझे भी आनन्द आने लगा था, मैं रंडी सी बोलने लगी- डाल साले कुत्ते … मेरी चुत में पूरा लंड डाल दे … दिखा दे अपना लंड का दम … मिटा दे मेरी चिकनी चुत की प्यास.

मुझे पता था कि अब चुदाई शुरू हुई, तो काम से काम आधा घंटे तक मेरा लंड झड़ेगा नहीं. रात को ही मैंने सपना से फोन पर बात की और उससे कहा- कल तुम जॉब पे मत जाना, मुझे तुमसे कुछ काम है. मैंने मेरा शर्ट को नीचे किया और स्तनों को शर्ट के ऊपर से सहलाते हुए बोली- आह … दर्द हो रहा है … कितने जंगली हो आप.