बीएफ हिंदी आवाज के साथ

छवि स्रोत,शक्ति कपूर सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो डॉटर: बीएफ हिंदी आवाज के साथ, उसने पूछा- रस कहां डालूं?मैंने बोल दिया कि चुत भर दे मेरी … आह भर दे साले … तेरा माल अपनी गर्म चूत में लेना है मुझे … आह आह मैं भी गईई … आह आह.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी जबरदस्ती वाली

उसके झुकते हुए ही मैंने उसकी चूचियों को अंदर तक देख लिया या फिर यूं कहें कि उसने झुक कर अपनी चूचियां मेरे सामने लटका दी थीं. गूगल प्ले सेक्सी वीडियोक्योंकि दानिश के अब्बू का इंतकाल 3 साल पहले हो गया था और उसकी बड़ी बहन की शादी भी एक साल पहले हो गई थी.

भर दे मेरी चूत अपने लंड के पानी से आ आ … आह आह मर गयी मादरचोद … आह और तेज और तेज चोद हरामी, चुत फाड़ दे मेरी. इंग्लिश ओपन वीडियो सेक्सीपंकज- आह्ह … कुतिया … साली … बहन-की-लौड़ी … तू लौड़ा तो बहुत मस्त चूसती है.

अप्सरा जैसे हुस्न की इस मल्लिका को मनोज नाम के एक युवक को दान दे दिया गया.बीएफ हिंदी आवाज के साथ: मैं अंगिका के ऊपर चढ़ा और बिना टाइम गंवाए अपना लौड़ा उसकी चूत पर रख दिया.

अलग होते होते भाभी ने मेरे होंठों को एक प्यारा सा किस किया और बोलीं- थैंक्यू सो मच.आपने कोई अनहोनी अपने साथ की तो रूचि की शादी की खुशियां गम में बदल जायेंगी.

बाप पिसातुरे सेक्सी विडिओ - बीएफ हिंदी आवाज के साथ

आजकल वो केस में ज्यादा रूचि नहीं ले रहे थे तो मैंने सोचा कि आज इसको भी खुश कर देती हूं.उसकी चूत से खून बहुत कम निकला लेकिन उसकी आंखों से आंसू बहुत निकल रहे थे.

मैं पायल बहू का एक दूध मुँह में भरकर चूमने चूसने लगा और दूसरा हाथ से मसलने लगा. बीएफ हिंदी आवाज के साथ दिशा उसको निगल गयी और लंड से सारा बचा हुआ माल निकालने के लिए और जोर से हिलाने में लग गयी.

तो मुझे समझ आ गया था कि पापा का लंड अब चुत को शांत करने में नाकाम हो चुका है इसीलिए मम्मी उनको मना करने लगी हैं.

बीएफ हिंदी आवाज के साथ?

कुछ मिनट तक उसकी दोनों चूचियों को चूसने के बाद मैं उसके पेट पर किस करने लगा. मगर मैं अरुण को कहूं कि गांड में अंदर मुंह देकर खा ले तो ये उसको खा भी लेगा. उफ्फ … चाची के चूतड़ भले गीले थे, पर किसी दहकती हुई भट्टी से कम नहीं दिख रहे थे.

मैं डिनर करके बंगाली भाई साहब के साथ बाहर बैठा बातें कर रहा था और साइड वाले अंकल का नीचे जाने का इंतज़ार भी।मैंने इतने दिनों मे एक चीज़ और नोटिस की कि हर दिन बंगाली भाई साहब (गोपाल घोष) दारू पीकर टुन्न रहते थे. उसकी चूत में मेरा लंड, गांड में उंगली और मेरे होंठों पर दिशा के सॉफ्ट होंठ थे. मैंने सुनयना भाभी के चेहरे को हाथों में पकड़ा और अपने होंठों को भाभी के नरम रसीले लाल होंठों पर हल्के से रख दिए.

मैं- वाह जान… थोड़े ही दिन में बहुत चालू हो गयी हो तुम तो!वो बोली- ठीक है, अब मैं रख रही हूं. सुमन की होशियारी पर मुखिया मुस्कुरा दिया और मन में सोचने लगा कि साली शहरी लौंडिया बहुत होशियार है. जब मैं अपनी बाहरवीं की परीक्षा दे रही थी तो एक दिन अपनी सहेली सुमन के साथ रात में बैठकर पढ़ाई कर रही थी.

इतने में सुषमा मैडम भी आ गईं और मुझे देख कर कहने लगीं कि बहुत तेज बारिश हो रही है. इसी बीच एक बार वो मेरे मोबाइल पर गेम खेल रही थी तभी मुझे रिंग होने की आवाज सुनाई दी.

अब रोहित फिर से बेड पर सीधा लेट गया और मैं बेड पर डॉगी स्टाइल में होकर अपने एक हाथ से उसके लंड को पकड़ कर धीरे-धीरे उसके लंड को चूसने लगी।मेरी गांड मेरे पति के सामने उठी हुई थी.

दोस्तो, ये थी मेरी पहली चुदाई कहानी, सेक्स के सफर की शुरूआत की कहानी.

वो पल जब उसके नाज़ुक से हाथ मेरे होंठों से टकराए … एक बड़ा ही सुखद अहसास सा था. मेरी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी तलाकशुदा मौसी की मदद कर दिया करता था. ये सुनते ही मैंने पहली बार अपने बैग से निकाल कर दवा ले ली, ताकि मेरे लंड से पानी जल्द न निकले.

मैंने उसको नीचे लिटा लिया और उसकी चूचियों को मुंह में लेकर पीने लगा. इसके बाद उन्होंने मेरे दोनों पैर अपने कन्धों पर रख लिए और अपना लंड फिर से मेरी चूत के छेद पर सेट किया और पूरे दम से मेरे भीतर धकेल दिया. करीब 15 मिनट चूत चाटने के बाद वो झड़ गईं और मैं उनकी चूत का सारा रस साफ कर गया.

इधर मैं भी अपने लंड से पूरी स्पीड में उसकी चुत का भोसड़ा बना रहा था.

उसने पीछे बाउंडरी पर हाथ टिका लिये और चारों तरफ नजर रखते हुए लंड चुसवाने का मजा लेने लगा. दोस्तो, जैसा कि आप जानते ही हो कि मैं जीन्स, पैंट या बरमूडा के नीचे कुछ भी नहीं पहनता हूँ. तब तक भी मेरे मन में उस दिन भाभी को लेकर कोई कामुकता नहीं थी कि भाभी को चोदना ही है.

देसी लंड चुत की कहानी में पढ़ें कि मेरी चाची गाँव में अकेली थी तो मुझे बुला लिया. मैं समझ गया कि वो चुदाई में खुश नहीं रह रही है इसलिए पहली ही बार में मुझसे चुदने के लिए तैयार हो गयी है. मुखिया- चुप साली रंडी, जब पहली बार ब्याज ना चुका पाई थी … तब तुझे मैंने छुआ था तो बड़ी सती-सावित्री का ढोंग कर रही थी.

मैंने पूछी कि रोहन यह क्या है?वो बोला कि यह नींद की दवाई है, जिससे हम लोग आराम से काम कर सकेंगे.

विनी से जल्दी ही मेरी दोस्ती हो गयी और हम दोनों साथ ही रहतीं, एक ही रूम में बेड पर साथ में सोतीं थीं. तो मैंने जल्दी से उसमें ढेर सारा थूक भर दिया और लंड का आगे का भाग फंसा कर एक सेंटीमीटर अन्दर कर दिया.

बीएफ हिंदी आवाज के साथ सामने एक अधेड़ व्यक्ति मुझे अजीब निगाहों से घूर रहा था।मैंने उस आदमी से पूछा- क्या काम है?उसने कहा- ऑफिस जाना है, आप इतना बड़ा चश्मा लगाए हुए हैं फिर भी नहीं दिखता?इस पर मैं सॉरी बोलकर आगे बढ़ गया।उस घटना के दो तीन दिन बाद वो फिर मुझे दरवाजे पर दिखी. खैर, मैंने आकर तेरा मजा खराब किया है तो मैं ही तेरा मजा अब पूरा भी करूंगी.

बीएफ हिंदी आवाज के साथ अंगिका मेरे होंठों को अपने दांतों से ऐसे काटने लगी जैसे मेरी बोटी बोटी चबा कर खा जायेगी. उन्होंने अपने मम्मे हिला कर मुझसे पूछा- कैसे लगे मेरे बूब्स?मैंने कहा- अभी तक देखने कहां दिया आपने.

मैंने भी सोची कि चलो मर्द का लंड मिल रहा है … आज इसकी बात मान ही लेती हूँ.

సన్నీలియోన్ ఎక్స్ ఎక్స్ వీడియో

सेक्स चैट में हम दोनों रोमांस से लेकर लंड चुसाई, चुत चुसाई, गांड मारना, चुत में लंड पेलना ऐसी बहुत सारी बातें करने लगे थे. सबसे पहले मैंने उसकी गांड को सहलाया और पूछा कि कैसा लग रहा है?वो बोली- भैया मुझे पता होता कि इन दो छेदों से इतना मजा आएगा, तो आपसे कब की चुदवा चुकी होती. फिर मैंने उसकी टाँगों को कंधों पर ले लिया और जोर से उसे चोदना शुरू कर दिया.

ये देसी इरोटिक स्टोरी तब की है जब मेरी एक प्राइवेट कंपनी में जॉब लगी थी। मेरे ऑफिस से सटा दो कमरे का एक फ्लैट था जिसमें एक परिवार रहता था। उस परिवार में पति पत्नी और उनके तीन बच्चे थे. वो 28 साल की एक गदराये जिस्म की महिला था जिसकी मस्तानी चाल देख कर अच्छे अच्छे चोदू मर्दों का लंड गीला हो जाये. मैंने भी पहले उसे रोने दिया, जब वो थोड़ी ठीक हुई, तो मैंने पूछा- आखिर बात क्या है बेटी तुम क्यों रो रही हो?वो बोली- पापा मैं तो आज भी लंड को तरसती ही हूँ.

कभी दायीं तरफ़ तो कभी बायीं तरफ़।अंजू सिसकारने लगी- सस्स … आह्ह … हाय … अम्म … ऊह।सिसकारियों के साथ उसका पूरा बदन अंगड़ाई ले रहा था.

जब उसकी चुचियों से मेरा मन भर गया, तब मैंने उसके रसीले अमृत से भरी चूत की तरफ रुख किया. चौथे आदमी ने जाकर मॉम के हाथ में लंड दिया और फिर वो उन दोनों के लंड को बारी बारी से चूसने लगी. तभी क्लासरूम में एक लेडी आईं और मुझसे पूछने लगीं- पर्सनैलिटी डेवलपमेंट की यही क्लास है?तो मैंने कहा- हां जी, पर्सनैलिटी डेवलपमेंट की क्लास यही है.

बातचीत से पता लगा कि वो मैडम नेपाल से आ रही हैं और बहुत थकी हुई हैं. मेरे उभारों को देख वो पागल से हो गए और मेरे उभारों को मसल मसल कर मजे लेने लगे. मैंने हल्की आवाज़ में पूछा- भाई??वो आहिस्ता से बोली- बाथरूम में है!ये सुनते ही मैंने जल्दी से उसकी चूची पकड़ी और हल्के से मसल दी.

मेरा तो दिल कर रहा था कि मैडम के मम्मों बाहर निकाल कर चूसना शुरू कर दूं. मैंने जितनी भी बार भाभी को किस किया, उतनी बार मुझे उनके होंठ पहले से कुछ ज्यादा ही रसीले लगते थे.

लेकिन उस समय न मैं अपने प्यार का इजहार कर सकी और न ही राहुल ने कुछ कहा. बाहरवीं पास की तो मेरे घरवालों ने मुझे सीखने के लिए सेकेंड हैंड बाइक दे दी. पारो भाभी ने बताया कि उनके रिश्ते के चाचा के यहां शादी है, तो सब वहां गए हैं … अब तो वे सब सुबह ही वापस लौटेंगे.

मैं अपनी GF की चुदाई की बात बता रहा हूँ कि कॉलेज के दिनों में एक लड़की को मैंने अपनी गर्लफ्रेंड बनाया और उस कॉलेज गर्ल की चुदाई मैंने पहली बार कैसे की?दोस्तो, मेरा नाम रनबीर साहू है। मैं लखनऊ (उ.

अगली सुबह चाची से उठने से पहले आधे घंटे पहले उठकर मैंने दो गिलास पानी पिया और चाची के उठने का इंतजार करने लगा. मैंने तीन बार उसकी चूत के अन्दर पानी गिराया और एक बार उसकी गांड में. फिर मैंने लेटे हुए नीचे से अपनी गांड हिलानी शुरू की और मेरा लंड उसकी चूत में अंदर बाहर होने लगा.

मैं भी आंखें बंद करके उसके जिस्म पर लिपटा पड़ा था और नीचे ही नीचे उसकी टाइट चूत में लंड को अंदर बाहर करता हुआ चुदाई का असीम आनंद ले रहा था. वो अपनी चुत को मेरे लंड में फंसा कर बैठ गई और एक लम्बी सी आह करते हुए उसने मेरे लंड को अपनी चुत में पूरा खा लिया.

पूजा भाभी अपने पति के लंड से चुद चुद कर एक बेटा भी पैदा कर चुकी है. बहू ने सर उठा आकर मुझे किस किया और बोली- ससुर जी, थोड़ा प्यार से बेटी समझ कर पेलना. मैंने भाभी की कमर पकड़ी और एक जोर से धक्का दे मारा, जिसके कारण मेरी और सुनयना की एक साथ चीख निकल गई ‘आआह्ह …’भाभी की चुत बहुत ज्यादा ही गर्म और टाइट थी और यह मेरा पहला अनुभव था.

बफ सेक्सी बफ सेक्सी बफ सेक्सी

उसने भी अपना बड़ा लंड निकाल कर मेरी चूत पर लगा दिया और एक धक्के में ही अन्दर कर दिया.

सुरेखा ने उससे पूछा कि तुम कितनी देर में आओगे?रोहन ने कहा कि मैं बस रास्ते में हूँ आ ही रहा हूँ. भले ही वो पीना नहीं चाहती थी लेकिन उसके पास मेरे वीर्य को निगलने के सिवाय कोई विकल्प नहीं था. फिर उसने मुझे सोफे पर बिठाकर मेरी चूत में अपना मुंह दे दिया और चाटने लगा.

लेकिन ये क्या, वो थोड़ा सा आगे जाते ही पीछे घूम गयी और मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दी. मगर पहली ही रात में पति के लंड को मुंह में लेना पूजा के लिए बहुत ही अस्वाभाविक था. संता सेक्सी वीडियोफिर मैंने उसके हाथ को हटा कर अपना हाथ उसके चूतड़ों पर रखा और बंदर की तरह अपना लंड उसकी गांड में ऊपर नीचे करने लगा.

उसकी चिकनी मखमली जांघों के ऊपर पीली पैंटी ऐसे लग रही थी जैसे सूरजमुखी का फूल हो. अब सुबह होने में कुछ ही वक्त बचा था और शहर बस आधे घंटे की दूरी पर था.

उसके बाद मेरी बनियान भी उतार दी और मुझे ऊपर से बिल्कुल नंगा कर दिया. फिर जब एग्जाम्स का रिजल्ट आया तो मैं पास हो गया और मेरे घरवालों ने मुझे मोबाइल भी दिला दिया. मैं लगातार उसके दोनों चूचों के कड़क हो चुके निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था.

सामान में फूलमाला, कुछ दूल्हा का लिबास और दुल्हन के श्रृंगार का सामान. उन्होंने मुझे भी नंगा कर दिया और मेरे लंड हाथ में लेकर हिलाने लगीं. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी देवर भाबी सेक्स स्टोरी? ये एक सच्ची घटना है.

दो मिनट के बाद मैंने पूछा- कैसी लगी जान अपनी सुहागरात?वो बोली- अच्छी लगी, लेकिन दर्द बहुत हुआ.

’कुछ देर चुत का कीमा बनाने के बाद मैंने पोजीशन बदल ली और उसे घोड़ी बनने के लिए कहा. मैं उसकी भावनाओं को समझ रहा था मगर अपनी तरफ से किसी तरह की पहल करना मुझे ठीक नहीं लग रहा था.

वो इस हरकत से एकदम से सिसियाने लगी और उत्तेजना में उन्होंने मेरे दोनों हाथों को अपने बूब्स पर रख लिया. मैंने फोटो देखा तो पता चला उस फोटो में वो आधी नंगी थी और मुझे अपने बूब्स दिखा रही थी. मैंने आज अपनी बहन मोनिषा को आज पूरी तरह से चोदने की तैयारी कर ली थी.

मम्मी मुझे अंडरवियर में देख कर चौंक गईं और बोलीं- ये सब क्या है अनीस!मम्मी ने इस वक्त अपना साया अपनी चूचियों के ऊपर बांधा हुआ था. वो कामुकता की चरमसीमा पर आ गई थीं और उनकी उत्तेजना से लगने लगा था कि अब उनका रुक पाना मुश्किल है. मैंने भाभी को गले लगाया हुआ था, तो मैंने हल्के से अपने होंठ भाभी की गर्दन पर रख दिए, इस कारण भाभी ने मुझे और जोर से कसते हुए जकड़ लिया.

बीएफ हिंदी आवाज के साथ अब मैं किस मुंह से तेरा सामना करूंगा, मुझे जीने का कोई अधिकार नहीं अब!मौसाजी रुआंसे स्वर में बोले- बिटिया रानी, मैं जा रहा हूं. असली मर्द कैसा होता है इसका परिचय मुझे पिता सामान मौसाजी के बदन से मिला.

एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो

दोस्तो, आपको मेरी गर्म कहानी सेक्स की अच्छी लगी या नहीं? प्लीज़ मुझे ज़रूर बताना. साली मैडम ने पहली बार में ही पूरा का पूरा लंड मुँह के अन्दर ले लिया. बहुत देर तक चोदने के बाद मेरा माल निकलने वाला था … तो मैंने उससे कहा.

मैंने कहा- रुको राहुल, क्या हुआ!तो वह मेरे पास आया और बोला- रीमा मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं और तुम्हारे बिना रह नहीं सकता. तो वो हंस पड़ी और बोली कि क्या तारीफ़ के लिए शब्द नहीं थे!मैंने समझ लिया कि ये मुझसे कुछ मस्त सी तारीफ़ सुनना चाहती है. सेक्सी वीडियो कंडोम लगाकर चोदने वालीकैसी लगी आपको मेरी चुत कहानी हिंदी में?इसके बाद क्या हुआ, फिर लिखूंगा.

मेरे लंड का थोड़ा ही भाग बाहर था उसके मुंह से, नहीं तो लगभग पूरा लंड उसने अपने मुंह में दबाया हुआ था.

मैं उनकी बगल में गया और सलवार को नीचे करते हुए उनकी पैंटी को भी उतार दिया. आधा घंटे में वो दो बार अपने शरीर को अकड़ा कर मेरे मुँह पर अपनी चुत का पानी निकाल चुकी थी.

पर पापा रोज़ रात में मम्मी की गांड और चूचियों को देख कर मम्मी को जबरदस्ती चोदते थे. फिर वो खुद ही सिसकार उठी- आह्ह … परेश! अब कितना इंतजार और करवाओगे? मैं और ज्यादा नहीं सह पाऊंगी ये चुदास। अब चोद दो मुझे। आह्ह … तुम्हारे लंड को मेरी चूत में फंसा कर इसकी खुजली को शांत कर दो।इतना कहते कहते ही उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वो जोर जोर से सांस लेते हुए झड़ गयी. मैं भी उनके पीछे-पीछे किचन में पहुंच गया और उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा.

ज्योति मैडम ने भी अपनी टांगें पूरी खोल दीं और उनकी चुत की रगड़न से रस निकलने लगा.

मैंने चादर से ज़रा झांक कर देखा, तो भाभी नीचे सिर्फ़ तौलिया लपेट कर आयी थीं और ऊपर केवल ब्लाउज़ पहना हुआ था. मैंने कहा- अभी तुम हंस रही हो … फिर डंडा जब भीतर जाएगा न, तब कितना रोओगी, देखना. मैंने पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसकी चुदाई करने लगा.

सेक्सी भोजपुरी में दीजिएये देखकर मेरे लंड में और भी ज्यादा उत्तेजना आ जा रही थीकुछ ही समय में मेरे लंड से पानी की बौछार निकल गयी … और मैं थककर बेड पर लेट गया. मैं उसकी पीठ पर झुका हुआ था और मेरे हाथ आगे आकर उसके मोटे मोटे स्तनों को दबा दबा कर उनका रस निचोड़ने पर तुले थे.

एक्स एक्स ब्लू पिक्चर

मैं उठकर बाथरूम गयी और जब पैंटी नीचे करने लगी, तो वो मेरी चुत से चिपक गयी थी. फिर उसने अपने पर्स से एक क्रीम निकाली और गांड के छेद में लगाने के लिए कहने लगी. वो बोली- भैया, आज तो पापा भी नहीं हैं, कुछ खाने का बाहर से लाओ न?मैंने कहा- बता, क्या लाना है?वो बोली- पिज्जा.

इसके बाद मैं नीचे को आया और अपना मुँह उसकी क्लीन शेव की हुई चुत पर रख दिया. मगर फिर भी सुरेश ने कन्फर्म करने के लिए अपनी एक उंगली गीता की छूट में घुसाई, जो बड़ी आसानी से चुत में घुस गई. मैंने उन्हें देखा और पूछा- आप अभी तक नहाई नहीं?वो बोलीं- बस नहाने वाली हूं.

वह मुझे देखकर खड़ी हो गयी और बोली- जीजू, आप और मेरे कमरे में?मैंने बोला- रागिनी शांत हो जाओ, प्यासा कुंए के पास आ गया है. मैं अपनी गाड़ी में बैठा पायल भाभी के आने का इंतज़ार करने लगा था कि तभी मेरे डैशबोर्ड पर मुझे एक चिट्ठी दिखी. मैंने उसको बहुत बार मना भी किया लेकिन सोनिया ने जबरदस्ती बात करवा दी मेरी उसके साथ.

उन दोनों बाप-बेटी की चुदाई से फच फच फच की आवाज़ मुझे साफ सुनाई दे रही थी. क्या तुम मुझसे शादी करोगी?वो बोली- हां भैया, यही तो मैं भी कह रही हूँ.

मैं- चाची कहां हैं?सुनयना भाभी- वो खाना खाकर अपने रूम में सो गईं, तुम सीधा ऊपर मेरे रूम में आ जाओ.

सीमा जी- फाड़ दे भोसड़ी के … आज पहली बार गांड में लौड़ा घुसेगा … और सुन, मैं चिल्लाऊं, तब भी रहम मत करना. सनी लियॉन मूवी सेक्सीमैं हमारी फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरी बहुत अच्छे से लिखूँगा अपने लंड से तेरी बुर में!फराह बोली- नहीं नहीं, ऐसे सील तोड़ोगे तो मैं मर जाऊंगी. हिन्दी सेक्सी वीडियोसवो कराहते हुए बोली- भैया अब मत घुसाओ … नहीं तो मेरी गांड ही फट जाएगी. [emailprotected]इससे आगे की चुत कहानी हिंदी में:कोरोना बाबा का प्रसाद- 2.

मैंने फिर से कोशिश की और अबकी बार मेरे लंड का टोपा उसकी चूत के अंदर प्रवेश कर गया.

मैंने उसकी कमर को पकड़ा और उसकी चूत की जड़ तक अपने लौड़े को खींच खींच कर मारने लगा. पर मुझे उसकी मोटी गांड मारनी थी तो मैंने लंड निकाला और उस पर थूक लगा कर एक झटके में लंड उसकी गांड में डाल दिया. उसकी चूचियां मसल मसल कर मैंने लाल कर दी थीं और उसकी चूचियों पर अब लाल सफेद धब्बे से दिखने लगे थे.

इसके बाद तो जैसे सविता को मेरे पति के लम्बे लंड से चुदने की आदत हो गई थी. मैं मौका देखते हुए नीचे आ गया और उनकी चूत पर सेक्सी मालिश देने लगा. मैंने पूछा- कैसा लगा?संजू बोली- यार आपने मुझे बहुत बड़ी ख़ुशी दी है.

वीडियो सेक्सी वीडियो चुदाई

मैं उनको ताकत से पकड़ कर उनके होंठों को चूसने लगा और चड्डी से हाथ निकाल कर उनके मम्मों को दबाने लगा. ऊपर आकर भाभी ने हाथ से लंड पकड़ा और अपनी चुत की फांकों में सैट कर लिया. उसका आठ इंच का लंड धोती में तंबू बना रहा था, जो सुमन की नजरों से छुपा ना रह सका.

पर कोई फायदा नहीं, इसी बीच उसने मेरा बायां स्तन कुर्ती के ऊपर से ही अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी.

उसकी सांसों से आ रही वो शराब की महक मुझे अच्छी नहीं लग रही थी मगर फिर धीरे धीरे जैसे मुझे भी उसका नशा सा होने लगा.

वैसे भी कल आपके लिए पेटी पैक माल ला रही हूँ ना … उससे अपनी प्यास बुझा लेना. करीब आधे घंटे तक लगातार मैंने उनकी चूत को चोदा और उनकी चूत में पानी छोड़ दिया. देहाती चुदाई सेक्सी एचडीवैसे हमें कोई प्रॉब्लम नहीं थी … क्योंकि अंकल खुद भी थोड़े रोमांटिक मिजाज के आदमी थे … इसलिए हम दोनों अंकल के सामने रोमांटिक बातें करते रहते थे.

कहानी के माध्यम से मैं अपने साथ बीते कुछ हसीन पलों को आप लोगों के साथ बाँटना चाहता हूँ।GF की चुदाई की बात को शुरू करने से पहले मैं आपको अपनी शारीरिक बनावट के बारे में बता देना चाहूंगा. रेस्टोरेंट में जितने भी आदमी थे सब उसको ऐसे ताड़ रहे थे कि जैसे उसे खा ही जायेंगे. जैसे ही उसने चूत को चाटना शुरू किया उसी क्षण पूजा के मुंह से निकला- सीईईई … ईईई … स्सस … आह्हहा … ऊईई … या!अब मनोज ने अपने हाथ से उसकी चूत की फाँकों को हटाया और अपनी जीभ उसकी गर्म चूत के अंदर डाल दी.

दोस्तो, उसकी मैंने लगभग 20 मिनट तक लगातार जमकर चुदाई की जिससे वह पानी छोड़ने लगी और मैं भी चरम सीमा पर पहुंच गया. अब तो पारिज़ा की हिचकिचाहट भी खत्म हो गई थी और वो अपने बाप से मस्ती से चुदने लगी थी.

वो मेरे पास आया और उसने पूछा- कोई परेशानी?मैंने उसे बताया, तो उसने दरवाजे को धक्का दिया और अन्दर आ गया.

सुषमा मैडम ने मुझे थैंक्स कहा और पूछने लगीं कि तुम कौन से विंग में रहते हो?मैंने कहा- आपकी विंग से एक विंग आगे. मैं उसके साथ मैं भावनात्मक रूप से इतना अधिक जुड़ गया था कि कॉलेज से घर जाने के बाद भी मुझे सुरेखा की बहुत याद आती थी. मैं उनकी बगल में गया और सलवार को नीचे करते हुए उनकी पैंटी को भी उतार दिया.

ब्लू सेक्सी एचडी सेक्स बहुत देर तक सहलाने के बाद वह भी गर्म होने लगी और मैं भी गर्म होने लगा. मेरी इस परीक्षा को मेरे सब दोस्त देख रहे थे और उनमें से अंजू भी थी.

मैंने मिनल से कहा कि वो कुछ दिन अपनी मां के यहां चली जाए ताकि इन सब लफड़ों से उसको सुकून मिल सके. पिछले भाग में मैंने अपनी चुदाई की कहानी बताई थी कि कैसे मेरे पुराने यार विकास ने मुझे बाथरूम में नंगी करके चोदा और अब वो मेरी गांड भी मारने की बात कहने लगा. मैं उसके ऊपर लेट गया और अपने लंड को उसकी बुर के मुहाने पर लगा दिया.

हिंदी एक्स एक्स एक्स एक्स

रात को मैंने भाभी को एक मैसेज भेजा- सॉरी भाभी, मुझे माफ़ कर दो, मैं ऐसी गलती फिर नहीं करूंगा. वो गिड़गिड़ाते हुए बोली- नहीं नहीं भैया, इसके मां-पापा को ये बात नहीं पता लगनी चाहिए. दोनों ने ही एक दूसरे की बॉडी पर बहुत से निशान बना दिए थे, जो साफ़ दिख रहे थे, पर हमें उस समय उसकी कोई चिंता नहीं थी … बस हम अपनी मस्ती में थे, मानो हवा में उड़ रहे हों.

अब दस मिनट के आराम के बाद रवीना फिर से मेरे लंड को चूसने लगी और मैं नगमा के बूब्स को पीने लगा. मैं- आप मेरा नहीं चूसोगी?भाभी ने ये सुना तो झटके में मेरा अंडरवियर खींच कर अलग किया और मेरे 7 इंच के खड़े लंड को भाभी ने मुँह में भर लिया.

गांड टाइट थी इसलिए करीबन पांच-सात मिनट की चुदाई में ही मैं उसकी गांड में झड़ने लगा और मैंने उसकी गांड को अपने गर्म-गर्म वीर्य से भर दिया.

आगे मस्ती भरी गोवा सेक्स स्टोरी इन हिंदी का मजा बदस्तूर लिखने का प्रयास करूंगी. मैंने सर से कहा- सर आपके पास जो भी बेस्ट लड़का हो इन 17 में से, उसके साथ मेरा मैच करवा दीजिये, मैं मुकाबले के लिए तैयार हूं. फिर उसने मेरे फड़कते लंड को मुंह में ले लिया और मेरी जांघों को सहलाते हुए मेरे लंड को चूसने लगी.

मैंने उसकी चूत में मुँह डाला और अपना लौड़ा उसके मुँह की तरफ कर दिया. मैंने आंखें खोलीं, तो वो शख्स होश में आ गया था और मुस्कुराते हुए मेरे मम्मों को दबा रहा था. मैंने थोड़ा जोर लगाते हुए आगे की ओर फिर से धक्का दिया और लंड थोड़ा सा और सरक गया.

मैंने उसको कसके बांहों में जकड़ लिया और उसने भी अपने दोनों पैरों को मेरे चूतड़ों के पीछे से लॉक कर दिए.

बीएफ हिंदी आवाज के साथ: और मम्मी दोनों भतीजों को को लेकर पड़ोस में रिश्तेदार के यहां चली गयीं. एक ही धक्के में उन्होंने पूरा लंड मां की चूत में पेल दिया और उनको चोदना शुरू कर दिया.

मैंने रागिनी को लिटा दिया और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर ले लिया. मैं- ले मादरचोदी साली रंडी छिनाल … ले लंड ले!वो- उफ्फ्फ हहहां … चोद दे साले अपनी रंडी को!चुदाई को पूरे 15 मिनट हो गए थे. बस ऐसे ही किस्मत से मौसम बन गया और मैंने उसकी गांड और चूत दोनों चोद डालीं.

मेरे टमाटर काटने की स्पीड को देख कर बोली- वाह क्या बात है … बीवी खुश रहेगी.

लेकिन सच में बता रही हूँ जब अंकित ने पहली बार मेरी गांड मारी तो मुझे भी बहुत मज़ा आया. फिर मैंने अन्दर देखा कि अल्पना घोड़े बेचकर सो रही थी … उसके ऊपर चादर ओढ़ा दी गई थी. अब भाभी की चूत भी कह रही थी कि और मत तड़पा इस प्यारी चूत को … डाल दो अपना लंड.