बीएफ जीजा साली की

छवि स्रोत,छोटी वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी एचडी बीएफ फिल्म: बीएफ जीजा साली की, मस्त लंड था उसका!दोस्तो, मैं कानपुर वाली निशु तिवारी आपको अपनी चुत चुदाई की कहानी सुना रही थी.

सेक्स करने वाला वीडियो सेक्स

तो मैंने बोला- मैं आपके घर पर ही स्वेटर लेकर आ जाऊँगा थोड़ी देर बाद!उन्होंने बोला- ठीक है!फिर जब पापा जब मार्किट से आ गये तब पापा से उनके लड़के का स्वेटर ले कर उनके घर पर चला गया. बीएफ फिल्म सेक्सी फुल एचडीआखिर उसका मन भर गया तो उसने मेरी नाईटी के सारे बटन खोल दिये और मेरी टांगें फैला दी.

इसके बाद मैंने शोभा भाभी से कहा- भाभी, आप जब तक अपनी गांड में तेल लगा कर ढीली करो … मैं तब तक सुमन भाभी की गांड बजाता हूँ. ब्लू पिक्चर दिखाइए वीडियो में सेक्सीइसके बाद मैंने उन्हें पेन किलर दी कि आप बहुत दिनों बाद चुदने वाली हो, तो इसे ले लो, इससे दर्द नहीं होगा.

करते हुए मैंने रानी की चूचियों को जोर से दबा दिया और वो मेरे होंठों को काटने लगी.बीएफ जीजा साली की: फिर धीरे धीरे उनके लंड को अपने मुँह के अन्दर तक लेकर चूसना शुरू कर दिया.

कुछ समय बाद अगले साल छुट्टियां आने को थीं और मैं घर आने को बड़ा उत्तेजित था.उसने भी नीचे से गांड को हिलाया, तो मैं समझ गया कि अब चुदाई शुरू करने का वक्त आ गया है.

सेक्स वीडियो आंटी का - बीएफ जीजा साली की

मेरी उत्तेजना बहुत तीव्र थी और लंड काफी देर से खड़ा था इसलिए मैं ज्यादा देर अपने वीर्य के वेग को रोक नहीं पाया और फिर उसकी चूत में धक्के लगाते हुए जल्दी ही अंदर झड़ गया।वो भी मेरे पीछे पीछे ही झड़ गई और शांत हो गई।मैं उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसको चूमने लगा.मैंने अपने शरीर को पूरा ढीला छोड़ दिया तो नीता भी समझ गयी कि मेरा दूध निकलने वाला है.

मुझे याद है कि यह प्रस्ताव सुनकर मैं बहुत ही ज्यादा खुश और रोमांचित हो गया था. बीएफ जीजा साली की अंकल- तुम्हारे पास कौन सी कार है?मैं- मेरे पास कार नहीं है … क्योंकि मुझे कार चलाना नहीं आती.

सवा नौ बज चुके थे, हम लोग कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और राजी खुशी शादी हो गई.

बीएफ जीजा साली की?

दूध वाले के आने का टाइम था ये!मैं सोच रहा था कि मेरी बहन ऐसे ही जाएगी क्या दूध लेने?और वो वैसे ही गयी. उनके चूचे और चूतड़ जब हिलते थे, तो उन्हें देखकर ऐसा लगता था कि दौड़ कर मैम के चूतड़ों को दबा कर उनकी गांड मार लूं. उसकी पूरी फैमिली कुछ दिनों के लिए गांव गयी थी और उसके घर की चाबी हमारे पास थी.

लड़की ने एक बार फिर से उस आदमी के लंड को पकड़ कर उसके लंड को अपने हाथ में लेकर उसकी मुठ मारनी शुरू कर दी. उसने अपने दोनों हाथों में मेरी चूचियों को भर लिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उन्हें गूंथने सा लगा. मैं उसे चोदना तो चाहता था, मगर समस्या ये थी कि क्लास में मेरी उससे कोई खास बात नहीं होती थी.

मैं उन्हें टैंक के किनारे ले आया और बड़ी बुआ को टैंक की दीवार पर बैठा कर उनकी चूत चाटने लगा. मैं बोला- नहीं वो तो आप बच्चा होने के समय की बता रही हो, इसके अलावा कितनी बार चुदी हो और किस किस से चुदी हो, वो भी बता दीजिए. तभी मैंने देखा कि राजीव खिड़की के पास खड़ा था और हम लोगों की चुदाई देख रहा था.

करीब 25 मिनट बाद मैं उसकी चुत में ही झड़ गया और कुछ देर तक उस पर ही पड़ा रहा. तभी उसने मेरे लंड को अंदाज से टटोल कर कहा- हम्म … बड़ा लगता है … मजा देगा.

उसने आगे बताया- वो दिन भर काम पर रहते हैं और रात को बोलते हैं कि मैं बहुत थका हूँ और सो जाते हैं.

तो वे बोलीं- इससे तुम्हारा वीर्य अन्दर तक उतर जाए … इसीलिए मैंने दूसरा तकिया रखा है.

मैंने उसकी टी-शर्ट को उठाकर उसकी कमर को कसके पकड़ लिया और उसके गले और कान में किस करने लगा. पहले तो मैंने अपने लंड को हाथ में लेकर उसकी चूत की फांकों में रगड़ दिया और जब वो लंड लेने के लिए अपनी कमर उचकाने लगी, तभी एक जोर के झटके के साथ मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत की गहराई में उतार दिया. दोनों हाथों से मैं मौसी की चूचियों को मलीलने लगा जैसे रोटियों के लिए आटा गूंथा जाता है.

इस घटना के बाद से मैं हर रोज खुद को अपने ही सामने अपराधी के रूप में खड़ा देखता हूं. वो बोलीं- लेकिन हम अब चूत में लंड नहीं ले पाएंगे … गोली ली थी तो भी दर्द कर रही है. उनकी चूत ने काफी सारा पानी छोड़ा था, इसलिए लंड को हद से ज्यादा चिकनाई मिल गई थी.

फिर क्लास में तुझे गुमसुम देखकर यक़ीन भी हो गया कि तू ही था और अभी भी तू उन्हीं के बारे सोच रहा था.

सुनीता को यह बात पता थी जिसकी वजह से वह सीधी उनके राइट साइड आके लेट गयी. धीरे धीरे अब मैंने लंड घुसाने की तैयारी शुरू कर दी और हल्के धक्के देने लगा. जब उस दिन हूर ने जब यह बात मुझे बताई, तो मेरा खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

साथ ही महिला पाठकों की जानकारी के लिए लिख रहा हूँ कि मेरा औजार भी अच्छा खासा है. अब तो दुकान से टाइम भी बहुत मुश्किल से मिलता था फिर भी चूत का जो मजा है वो किसी भी चीज़ में नहीं है. मैं- आह्ह … इतने मोटे बूब्स चाची?वो बोली- हां, इनको पीना चाहेगा?मैंने कहा- इनको तो निचोड़ लूंगा मैं!वो बोली- तो फिर आ ना … निचोड़ ले.

वो एकदम से गुस्सा हो गई थी और उसने चुदाई करते वक्त ही मेरे लंड को अपनी चूत से निकाल दिया था.

मैंने अपना रूमाल उसे दिया और वो 10 मिनट बाद वापिस आकर बोली- चलो अब घर चलते हैं. दिनेश अंकल ने बोला- हां भाई, आज तो इसकी गांड और चुत की सेवा एक साथ होगी.

बीएफ जीजा साली की घर आते ही ज़ोहरा खुशी से अपने शौहर रफ़ीक़ से बात करने मोबाइल लेकर छत पर चली गई. उसी जगह पर जब मैं उससे मिलने के लिए पहुंचा तो वो दोनों पहले से ही एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा ले रही थीं.

बीएफ जीजा साली की मैंने बिना देर किए उसकी चूत पर अपना जीभ को टिका दिया और चुत चाटने लगा. इससे अच्छा मौका मेरे लिए नहीं हो सकता था तो मैं इतना कहते ही चाची को एक किस करने लग गया.

गोरे और लबावदार पेट पर मैंने हौले से किस किया, तो दी एकदम से सिहर गई.

सेक्सी वीडियो दिखाइए बढ़िया

फिर एक हाथ उसके नीचे लेजाकर मैं उसकी चूत में उंगली डाल कर उसे चोदने लगा. फुल वैक्सिंग का मतलब पूछने पर मुझे मेरे दोस्त ने बताया था कि इसमें चूत की भी वैक्सिंग करते हैं, यह काफी पेनफुल और टाइम टेकिंग जॉब है. आप क्यों टेंशन लेती हो … जाओ आप … मम्मी भी मेले से कभी भी आ सकती है.

उसके दोनों मम्में उछलकर बाहर आ गए। मेरे हाथ कांप रहे थे।जैसे ही मैंने मम्मों को हाथ लगाया तो मुझे अहसास हुआ कि इससे मुलायम चीज दुनिया में कहीं नहीं हो सकती।उसके मम्में एकदम गोल मटोल … दूध जैसे सफ़ेद … तकिये जैसे मुलायम … फुटबॉल जैसे बड़े थे. मैं एकदम से उसकी चूत मारने की बात पर नहीं आना चाहता था क्योंकि इससे बात बिगड़ सकती थी. शाम को यह बात मैंने कोमलप्रीत जी को बताना जरूरी समझा क्योंकि मेरे में इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं उस से यह कह सकूँ कि मेरी सहेली भी उस से चुदना चाहती है.

मैंने अवनीत को बेड पर लिटाकर उसकी गांड के नीचे दो तकिये रखे जिससे अवनीत की चूत पूरी तरह से खुल गई.

उन्होंने ढोकला का डिब्बा एक तरफ रख दिया और दूध का गिलास मेरे होंठों से लगा कर दूध पिलाया. मैंने पापा को कह दिया कि मैं भी आ रही हूँ बैंक में, मैं आपके साथ चलूंगी. अचानक मेरी की ज़ुबान से निकला अम्मी सही बोल रही हैं आपा!मेरी ज़ुबान से इतनी बात सुनते ही ज़ोहरा आपा की आँकहें हैरानी से फ़ैल गई.

उनका जोश बढ़ता जा रहा था और चाचा का लौड़ा मेरी गांड की चटनी बनाने में लगा हुआ था. मुझे सचमुच में ऐसा लग रहा था कि मैं घोड़ी पर सवार होकर बादलों की सैर कर रहा हूं. मैंने उसको अपने हाथों से खिलाया और बीच बीच में उसकी चूची भी दबाता रहा.

निशा भाभी- ये क्या कर रहे हो, दिमाग़ खराब है क्या!मैं- अपना हाथ दो न. माँ हल्का सा मुस्कुराई और कहा- चल लेट जा।और वो मेरा लण्ड चूसने लगी।मैं बस उन्हें ही देखे जा रहा था और सोच रहा था कि मेरी माँ नंगी कितनी ख़ूबसूरत लग रही है.

नीता कभी बारी बारी से मेरे होंठों को चूसती तो कभी मेरी जीभ को अपने मुंह में लेकर चूसने लगती. कोई बाहर से आया है और उससे मिलकर आना है, तुम बैठो और चाय पीकर जाना।मैं मन ही मन प्रसन्न हुआ और सोचने लगा कि आज तो वास्तव में लॉटरी लग गयी है. आप सोच रहे होंगे कि मेरी जिन्दगी में ऐसा क्या हो गया जिसके बारे में मैं सोचना भी नहीं चाहता.

चाची ने छोटा ब्लाउज, चमकीली साड़ी और होंठों पर लाल लिपस्टिक लगा रखी थी.

इसके बाद मैंने उनके कपड़े उतारने शुरू किए और हम तीनों कुछ ही देर में नंगे हो गए. मैं समझ गया और एकदम से बात को घुमाकर बोला- अरे पगली … मैं तो तुम्हारे साथ मज़ाक कर रहा था. … डॉगी स्टाइल में थरथराती नंगी गांड को दबोच कर पकड़े हुए मेरे हाथ … लम्बे खुले बाल और पसीने से भीगा देसी अधखुला ब्लाउज़ … संजना आंटी के बदन की कामुक महक और गरम सांसों की उन्हह्ह आंहह्ह की मादक सिसकारियां … आंटी का अपलक वासना की निगाहों से मुझे देखते रहना … कड़क लोहे लंड का अन्दर बाहर होना … इन सबसे एक अलौकिकता का वातावरण बन रहा था.

चुदाई चुदाई चुदाई … इस कहानी में मैंने खुद एक लड़के से अपनी वासना शांत की फिर उसी से अपनी 3-4 सहेलियों को भी मजा दिलाया. उसके बाद हमने बाबा को धन्यवाद कहा और हम झोपड़ी से बाहर आकर कार की ओर जाने लगे.

वासना के जोश में मैं अपने एक हाथ को आपा के सामने नीछे की तरफ ले गया और ज़ोहरा की चूत तक पहुँच गया. समीर बोला- तुमने ये आग कैसे जलायी?मैंने कहा- कुर्सी की फोम निकाली और लाइटर से जला दी. मैं लंड हिलाते समय सोच रहा था कि क्या मुझे कभी उन्हें चोदने का मौका मिलेगा.

प्लास्टिक की चूत

उन्होंने हंसते हुए बोला कि ओके … लेकिन एक बात सुनो, जैसी सेवा तुमने मेरी की है, अगर वैसी ही मेरी सहेलियों की भी करोगे … तो मोटा माल भी मिलेगा और मजा भी.

उसने दीदी के दोनों मम्मों को हाथों से पकड़ा और लंड को मम्मों के बीच में रख कर आगे पीछे करने लगा. GF BF Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी पुरानी दोस्त काफी समय बाद मिली तो मैं उसकी जवानी का प्यासा हो गया. लेकिन मैंने थोड़ा धीरज रखा और फिर मैंने एक झूठ बोला- मैं आपके पास काम से अक्सर आती हूँ लेकिन आपका केबिन बन्द रहता है.

उस दिन तो बस इतना ही हुआ और उसके बाद दो हफ्ते तक मैंने प्रिया को नहीं देखा. अम्मी ने दूध में नींद की गोली डाली और अपने गिलास बिस्तर के पास रख लिया. चोदा चोदी सेक्सी वीडियो फिल्मउन्होंने मुझे सहयोग करते देखा, तो मुझे औंधा किया और मेरी गांड फैला कर लंड अन्दर पेल दिया.

मैं जब घर में जाकर सोफे पर बैठ गया तो भाभी जी ने पूछा- पानी पिओगे?तो मैंने बोला- नहीं अभी पानी नहीं पीना. मेरी भाभी के रूम का दरवाजा लगा हुआ था तो मैंने दरवाजे के छोटे छेद से देखा.

मैंने उनके चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाया और अपना लौड़ा सैट कर ही रहा था. फुल वैक्सिंग का मतलब पूछने पर मुझे मेरे दोस्त ने बताया था कि इसमें चूत की भी वैक्सिंग करते हैं, यह काफी पेनफुल और टाइम टेकिंग जॉब है. चुदाई चुदाई चुदाई … इस कहानी में मैंने खुद एक लड़के से अपनी वासना शांत की फिर उसी से अपनी 3-4 सहेलियों को भी मजा दिलाया.

मैंने उसको रोकना चाहा लेकिन वो पूरे जोश में था क्योंकि उसका अभी नहीं छूटा था. होटल रूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक भाभी को पता लगा कि मैं चाची को चोदता हूँ तो उसने मुझे ब्लैकमेल करके होटल के कमरे में बुलाकर सेक्स किया. मेरे पति मेरे साथ सेक्स तो करते हैं लेकिन वो जो प्यार वाली भावना होती है वो उनमें नहीं है.

फिर मैंने उसे खड़ी किया और बेडरूम से किचन तक गांड चोदते चोदते ले गया।अब मैंने चुदाई की स्पीड को बढ़ा दिया.

वो मेरे कमरे में आई, तो क्या मस्त माल लग रही थी … मैं तो उसे देखता ही रह गया. काजल के मां पिता सभी बड़े ही सीधे और अच्छे लोग हैं, पर ये साली न जाने कैसे ऐसी निकल गई है.

वो मेरी चूत में धक्के लगा रहा था और साथ ही मेरे स्तनों को खूब मसल भी रहा था. मैंने दोनों की चुत गांड चाट कर उनको बहुत मज़ा दिया … जो उनके पतियों ने नहीं दिया था. वैशाली भाभी वहीं एक झीना सा नाईट सूट पहन कर बेड पर बैठी हुई थीं और पास में टेबल पर खाना रखा हुआ था.

अब दोनों ही मेरे सामने अंडरवियर में खड़े होकर अपनी अपनी पैंट सुखा रहे थे. तब तक मम्मी भी बाजार से आ गयी थी और घर का सारा काम करने के बाद सोने चली गयी थी।इधर भाभी की लड़की भी मेरे पास खेलते-खेलते मेरे बेड पर ही सो गयी थी. आंटी का सेक्सी परफ़ेक्ट देसी बदन किसी को भी मदहोश करने में पूरी तरह से सक्षम है.

बीएफ जीजा साली की इसी तरह हम चारों ने बारी बारी से सत्यम का लंड चूसा और उसे गर्म कर दिया. अब हम लोग एक दूसरे को किस करने लगे और वह गर्म होती गई और तड़पने लगी.

प्रियंका सेक्सी पिक्चर

पिछले भागमेरी पड़ोसन मस्त चोदने लायक मालमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी को अपनी गोद में बिठा कर उन्हें कार चलाना सिखा रहा था. मां कसम क्या बोबे थे वो … मुलायम, सफेद चमक रहे नाईट के बल्ब में।मैं तो पागल होता जा रहा था अपनी बहन की नंगी चूचियां देखकर और मेरे दिल की धड़कने काबू से बाहर हो रही थी. मुझे पता था कि उसको अब कोई परेशानी नहीं होगी इसलिए मैंने तुरंत अपने हाथ पीछे ले जाकर उसकी मुलायम गांड सहलाना शुरू कर दिया.

अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था और श्रुति भी बार बार मेरे लंड को हाथ में लेकर चूत पर छुआने की कोशिश कर रही थी. कभी मैं उनके पेट को टच करता, तो कभी ब्रेक लगा कर पीठ पर किस कर देता. लड़की बीएफनिशा भाभी- थैंक्स क्यों? मेरे पास भी तो आप का नम्बर है न!मैं- ओके बाय.

अब तक मेरी आँखें पलट चुकी थी, बस मन कर रहा था कि उसका मोटा गर्म लंड मेरी मेरी चूत में पूरा घुस जाए.

क्या मस्त कूल्हे थे उसके … एकदम कड़क!उसके कूल्हों को मसलते हुए मैंने उसकी लेगी में हाथ डाल कर उसकी लेगी और पैंटी दोनों को साथ में नीचे कर दिया जिससे वो शर्माकर आपने दोनों हाथ से अपने कुर्ते को खींच कर अपनी नंगी टांगों को छुपाने की कोशिश करने लगी।मैंने उसको अपने और पास खींचकर उसे अपने गले लगाया और उसे प्यार से किस करने लगा. भाभी की निकलती आहों से मैंने उनके होंठों पर अपने होंठों का ढक्कन कस दिया, जिस वजह से उनकी मादक आवाजें मेरे मुँह में ही दब गईं.

और जब वह फिर से गर्म हुई तो मेरे ऊपर आकर बैठ गई, लंड को चुत पे सेट किया और खुद ही धक्के लगाने लगी. वो सागर के झटके झेलने लगी और उनकी मुंह से कामुक कराहने की आवाज़ उफ़ हह ओह्हआह आह आह हह आ रही थी. दोस्तो, उस दिन भाभी काले रंग के सूट में आई थीं और मेरी कलम यह वर्णन नहीं कर पा रही है कि भाभी काले सूट में कितनी सेक्सी माल लग रही थीं.

मैंने कहा- छोड़ो … पागल हो क्या … ये क्या कर रहे हो … मैं अभी घर में सब को बता दूंगी.

जैसे ही उसने मुझे देखा, तो मुझे देख कर जैसे उसके मुँह से राल ही टपक गयी. मैं जानता था कि मॉम ब्रा नहीं पहनती हैं, पर पैंटी पहनती हैं, ये मैंने आज जाना था. सबसे बातचीत हो रही थी।सबने शाम को खाना खाया और सोने की तैयारी की मेरी तो धड़कनें बढ़ने लगी.

मराठीxxx videoकुछ देर चुत चाटने के बाद मैं भाभी के ऊपर से उठा और अपने हाथ की हथेली से उनकी पूरी चुत को भर के जोर जोर से दबाने लगा. आंटी ने जीभ को लंड पर गोल गोल घुमाकर मुँह में लगातार अन्दर बाहर डीपथ्रोट किया और मेरे लंड के घंटों पर भी चुम्मा चाटी की.

पार्लर सेक्स

मेरे लंड को एक छेद चाहिए था जो मुझे चाची की चूत के रूप में दिखाई दे रहा था. वो बोली- रूको!उसने लंड पर 2-3 बूंद तेल की डालीं और चूत में लन्ड सेट करके बैठ गई. फिर मैं मामी के ऊपर चढ़ गया और उनको मदहोश करने में लग गया।मामी होले होले सिसकारियां भरे जा रही थी- अह्ह … हूंह … हम्म … आह!मैंने उनकी बेटी की तरफ ध्यान दिया और एक बड़ा कम्बल लेकर आया और अपने और मामी के ऊपर ढक दिया ताकि अगर उनकी बेटी उठ जाए तो उसको कुछ पता न चल सके।अब मैं फिर से लगातार मामी को बेतहाशा चूमे जा रहा था.

मैंने उनकी गांड पर अपना लंड लगाया और हल्का सा धक्का देकर अपना सुपारा अन्दर घुसा दिया. मुझे ऐसा लगा कि इस समय की उत्तेजना में जैसे मैं अभी ही निकल जाऊंगा. मैंने चाची को बताया- संडे को हमारा प्लान है … आप भी चलो ना हमारे साथ!चाची ने साफ़ मना कर दिया और बोलीं कि अभी तुम दोनों चले जाओ.

ऐसे ही रात को कभी कभी मजाक में मैं उसे छू लिया करता, तो वो कुछ नहीं बोलती थी. तो मुझे नहीं पता था कि कितना वक्त था मेरे पास। लेकिन मैंने मीनाक्षी के गालों को चूमा, फिर उसके होंठों को चूमा और दोनों हाथों से उसके चूतड़ मसल दिए. दो एक दिन और मैंने इसी तरह से जैसे तैसे बिता लिए।एक दिन सुबह जब मीनाक्षी भाभी पोचा लगा रही थी, मैंने बड़ी हिम्मत कर के उसके गाल को छू दिया.

उसके दोनों बेटे शादी-शुदा थे … उन दोनों की बीवी और उन्हें 3 छोटे बच्चे थे. मैं खुश भी था और दुखी भी; क्योंकि बिना कॉन्डम को चोदा था तो गर्भवती होने का डर भी था.

मॉम रोने लगीं- आह ये क्या डाल दिया!अंकल बोले- रंडी तुम्हारे भोसड़े में तो पहले से आइटम घुसा है.

चारू हंसते हुए बोली- क्या नाम रखें फिर आपका?मैं- दीवाना …ये सुनकर वो जोर जोर से हंसने लगी।इस प्रकार मेरा और चारू का हंसी मजाक होता रहता. जंगल में मंगल बीएफ सेक्सीफिर मैम मुझसे मेरे बारे में पूछने लगीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं. ब्लू फिल्म सेक्सी हिंदी सेक्सीकभी वो मेरा पूरा लौड़ा मुँह में भर लेती, तो उसकी सांस अटकने को हो जातीं. वहीं फूफा जी जब भी आते, तो वो अलग कमरे में सोया करते थे, जो कि अम्मी के कमरे के पास में ही था.

मेरे बगल में जो लड़का बैठ था वो बीच में ही बैठा रहा, भले ही खेल नहीं रहा था पर उस लड़के के पत्ते देख रहा था.

प्रिया- आहह हहह हहह सर ऐसे ही कीजिये … मज़ा आ रहा है … आआहह … उह्ह्ह ह्ह हां … और ज़ोर से चोदो न … और ज़ोर से आईईई … सर प्लीज आह … मैं बस तुम्हारी हूं … हां और उह्ह्ह्ह ह्ह ज़ोर से चोद मुझे … उह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह. ये सुनकर मैंने भी भाभी को बहुत कसकर पकड़ लिया और उनके चेहरे, होंठ, गर्दन को चूमना शुरू कर दिया. आप प्लीज़ मुझे मेल करके भाभी की कहानी के बारे में बताना कि कैसी लगी.

नींद का बहाना बनाकर मैं उनकी तरफ देखती रही।मेरी ननद के होंठों को ननदोई जी चूस रहे थे. मेरे पास दूसरा कोई चारा ही नहीं था।हम उसके घर पहुँचे तो वहां पर कोई नहीं था। उसने दरवाजा खोला और हम अंदर आ गए। उसने लाइट जलाई, गर्मी थी और पंखा ऑन किया।हम बेड पर बैठ गये और आराम करने लगे. इसलिए मेरे शरीर का एक एक तार झनझना गया।उसके बाद उसने गाल, गर्दन और कान के पीछे किस किया.

मराठी एक्स वीडियो

मैं उन भूरे निप्पलों को पकड़ कर उनसे खेलने लगा।मामी मदहोशी में वासना भरी आवाजें किये जा रही थी।मैं उनकी आवाज से और उत्तेजित होता जा रहा था।मैंने दोनों चूचों को अपने हाथों में भरा और एक साथ दबाने लगा. वो दोनों एकदम से बोलीं- ये तुम कहां जा रहे हो?मैंने कहा- मुझे पेशाब लगी है. मेरी उम्र 29 वर्ष और मैं मध्य प्रदेश के इंदौर का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 5’5″ है और लन्ड का साइज 6.

मैंने उसे बिस्तर पर लेटाया और अपना नाड़ा खोल कर लण्ड पर थूक लगा कर अपना सुपारा उसकी चूत में पेल दिया.

उसके बाद एक दिन वो उसके पड़ोस में रहने वाले एक लड़के के साथ पटना चली आई और वो लड़का उसे पटना में छोड़कर कहीं भाग गया जिसे वो अपना पति कहती है और ये कहते-कहते वो रोने लगी और उसे गाली देने लगी.

इतना कहने के बाद मैंने मॉम को 69 पोजीशन में किया और उनकी चूत चाटने लगा, जिससे कि वो गीली हो जाए. ये मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था कि दीदी किसी के साथ ऐसा करें, पर मुझे नहीं पता था कि मुझे अभी इससे भी बहुत कुछ ज्यादा गंदा देखना था. पंजाबी बीएफ ब्लू पिक्चरउसने उसी समय मेरा हाथ लेकर अपने लंड पर रख कर दबा दिया और बोला- आज रात को सबके सोने के बाद मैं तुम्हारे कमरे में आऊंगा, अपना दरवाज़ा खुला रखना.

आप प्लीज़ मुझे मेल करके भाभी की कहानी के बारे में बताना कि कैसी लगी. मैं समझ गया कि सासुमाँ तो पहले से ही गर्म हो चुकी है, वो बोली- मैं तो कब से चुदाई के लिए तैयार थी लेकिन रिश्तों के लिहाज से चुप बैठी थी. उनका लन्ड तो छोटे बच्चे की तरह था, वे कुछ नहीं कर पाए, मैं प्यासी रह गई.

मम्मी की पेशाब की आवाज़ सर्र सर्र करते हुए निकल रही थी और बड़ी मजेदार महक आ रही थी. उसी समय मैंने उसकी चूची को मसलते हुए कहा- बेबी गधे का पसंद आया!वो अब समझी कि गधा कितने काम का होता है.

जब वो रोने लगी तो मैं बोला- ठीक है, अगर तुमने गलती की है तो सज़ा तो मिलेगी ही.

मैंने उसके दोनों पैर साइड में करके उसकी चूत को ध्यान से देखा और अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. तो चाची ने रात में मुझे उनके घर पर सोने के लिए बोला और मेरी दादी ने भी उनकी हाँ में हाँ मिला दी. भाभी मुझे गंदी गंदी गालियां दे रही थीं और उनकी आंखों से आंसू बाहर निकल आए थे.

এটেল বাংলা ভিডিও 36″ की टाईट चूची और 38″ की बल खाती मटकती हुई गान्ड।अमिता मौसी का तलाक हो गया था. इधर की सेक्स कहानी पढ़कर ही मुझे भी मेरी यंग लड़की की चुदाई स्टोरी लिखने का विचार आया.

मामी सागर के बाल पकड़ कर उसका सिर पूरा अपनी चूत में घुसा रही थी।कुछ देर लाजवाब चूत चटाई के बाद मामी ने अपना सारा पानी सागर में मुंह पर छोड़ दिया. मेरे झड़ने के बाद मैंने उसको काफी मना किया कि अब मेरी चूत की चुदाई ना करे … लेकिन वह नहीं माना. भाभी लंड दबाने लगी तो मुझे मज़ा आने लगा पर टाइम कम होने के कारण हम दोनों को घर वापिस जाना पड़ा.

हिंदी चुदाई वीडियो दिखाइए

मगर वो ज्यादा देर तक लड़की के द्वारा हो रही लंड चुसाई के सामने टिक नहीं पाया और उसने उस लड़की के सिर को अपने लंड पर दबा दिया. मैंने सर उठा कर देखा तो वो फोन कान से लगाए हुए मेरी तरफ देख रही थीं और खिलखिला रही थीं. मैंने आंटी को पलटने के लिए कहा और उसकी गांड के छेद पर लंड को सेट कर दिया.

तब मैंने धीरे से अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के मुंह में लगाया और धीरे से धक्का मारा. काफी देर तक मैंने उसके बूब्स को मसला और फिर उसकी चूत में उंगली डाल दी.

शादी के बाद जब मैं अपनी ससुराल पहुँची तो मुझे सुहागरात में घनघोर चुदाई का इंतजार था.

जब मुझे इस बारे में पता चला, तब लगा कि बंदी में कुछ न कुछ ख़ास तो होगा ही तब तो लौंडा लगा हुआ था. लड़कों की भाषा में मैं शानदार माल हूं। एक पड़ोसी लड़के से मेरी पारिवारिक दोस्ती थी. उसके मम्मों का रसपान करने के बाद मैं किस करते हुए उसकी नाभि तक आ गया.

प्लीज यार!उस टाइम तो मैंने जोश में काजल की चूत चुदाई की इच्छा के बारे में बोल दिया पर उसका अंजाम बड़ा खराब हुआ. पार्क से वापस आते हुए मैंने सोचा कि क्यों न संदीप और चारू से ही मिल लिया जाये!इसी विचार के साथ मैंने उनके वहां जाने का सोचा।उनका घर पार्क से थोड़ी ही दूरी पर था, यही सोचकर मैं संदीप के घर की ओर निकल चला. अब उसकी चीख इतनी तेज थी, जैसे उसकी जान निकल गयी हो- हाय चाचू, इसे बाहर निकालो आंह्ह्ह ऊऊह्ह ऊओह्ह हाय राम मुझसे दर्द सहन नहीं हो रहा है.

फिर शकील ने अपना लंड बाहर निकाला और पीछे से अम्मी की चुत में डाल दिया.

बीएफ जीजा साली की: उसने मामी का पेट उठा कर उनका नाड़ा खोल कर एक बार में उनका पेटीकोट खींच दिया. जब भी चुदाई के समय चुत चुदवा रही लड़की खुद ब खुद अपनी टांगें हवा में उठा देती है, तो ये इस बात का पक्का सुबूत होता है कि लौंडिया को चुत में लंड लेने में हद से ज्यादा मजा आ रहा है.

फिर उन्होंने अपने कपड़े उतार दिए और भाभी पूरी नंगी मेरे सामने खड़ी हो गयी. कमरे में अँधेरा था, जिससे उसे पता नहीं चला कि उसके साथ ये सब राजीव कर रहा है. बहुत ही मजे से मेरे लंड को चूत में लेते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी.

आखिर जैसे ही मामी की चूत का पानी छूटा, सागर ने एक ज़ोर के झटके में अपना पूरा लन्ड उनकी चूत में डाल दिया.

मैंने फिर से कमर के हिस्से को धीरे से छू लिया और जल्दी से हाथ वापस खींच लिया। अबकी बार उस महिला ने कोई हरकत नहीं की. कुछ देर तक जब भाई की तरफ से कोई हरकत नहीं हुई, तो मैंने अपना एक हाथ उसके पेट पर रख दिया. अब दोनों ही मेरे सामने अंडरवियर में खड़े होकर अपनी अपनी पैंट सुखा रहे थे.