ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,बहन भाई का हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म 18 साल की: ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ, मैं पूरा का पूरा वीर्य पी चुकी थी लेकिन उसका लण्ड अभी भी धीरे-धीरे वीर्य मेरे मुंह में गिरा रहा था.

बीएफ सेक्सी नेपाली हिंदी में

हर एक झटके के साथ घोड़ी और सवार दोनों की ही स्पीड बढ़ती ही जा रही थी. चाचा भतीजे की बीएफकुवारी लड़की की सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मैं अपने पड़ोस में रहने वाली लड़की को चोदना चाहता था इसलिए मैंने उनके घर जाने लगा, उसकी मम्मी के काम करने लगा.

मैं चाची को बोला- सॉरी यार, सारी गलती मेरी है, तुम मुझे कुछ भी सज़ा दो, मुझे मंजूर है. एक्स एक्स एक्स मूवी बीएफ पिक्चरउधर मेरे आधे घर वाले लेट कर गप्पें लड़ा रहे थे, वहीं कुछ लोग हलवाइयों के पास मस्ती कर रहे थे.

मैंने बस कुछ ही देर किस किया और एकदम से उसके कपड़े निकाल दिए, उसे बस ब्लैक ब्रा और ब्लैक पैंटी में छोड़ दिया और मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए.ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ: फिर उसने दुबारा अच्छे से लंड को मेरी चुत की फांकों में सैट किया और फिर से ठोकर मारी.

सरिता मेरे बाजू लेट गयी और मैंने करवट बदलकर अपना मुँह उसके गोल कड़क स्तन पर रख दिया.उस कमरे में चाची और उनकी 6 साल की बेटी बिस्तर पर सो जाती थी और मैं बगल में चारपाई पर सो जाता था.

जंगल वाली बीएफ जंगल वाली बीएफ - ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ

इस अदला बदली में मेरी नजर दीदी की ओर गई, तो मैंने देखा कि दीदी की गोरी जांघें और बुर क्या गजब की लग रही थी.मैंने अपना सर भाभी के दोनों पैरों के बीच में करके दोनों हाथों से चूत को खोल दिया और जीभ से चुत को कुरेदने लगा.

फिर शिल्पा ने मुझे वो सब बातें भी बताई जिससे मुझे मालूम हुआ कि वो मुझे शुरू से ही पसंद करने लगी थी. ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ उसी समय रेखा एक हाथ से मेरी जांघों को सहलाती हुई बोली- हर्षद जब से तुम्हें पहली बार देखा है, मैं तुम्हें चाहने लगी हूँ … और उससे भी आगे और एक बात है.

वो अपनी खुरदरी जीभ लंड पर चला रहा था और एक हाथ से मेरी गांड पर अपना हाथ फिरा रहा था.

ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ?

एसी फर्स्ट में एक बर्थ खाली दिख रही थी तो मुझे मजबूरन फर्स्ट एसी का रिजर्वेशन कराना पड़ा. मेरी साली ने मेरे सर को पकड़कर अपनी बुर में घुसा लिया- बस करो जीजू कुछ हो रहा है … आंह जल्दी करो. उसने अपने बारे में और अपनी बहनों के बारे में काफी कुछ बातें बताई थीं.

उसमें कई वीडियो थीं, जिसमें दो तो मेरी ही थीं, जिसमें मैं सो रही थी और वो मेरे बदन से छेड़छाड़ कर रहा था. पहले तो उसने मेरे लंड को सहलाया और अपने होंठों पर जैसे ही लगाया, मुझे तो मस्त मजा आने लगा. उसके चाटने से में मछली की तरह तड़प रहा था, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

अब आगे होटल रूम सेक्स कहानी:बस से उतरने के बाद मेरा ठिकाना मेरा घर था लेकिन चूत में लगी हुई आग मुझे घर जाने से रोक रही थी. मैंने पूछा- तो तुमको उसमें से कोई पसंद नहीं आया क्या?शिल्पा बोली- उनमें से कई लड़के मुझे पसंद तो आए थे पर पता नहीं मुझे अन्दर से डर लगता था कि अगर घर पर किसी को पता चलेगा तो बहुत दिक्कत हो जाएगी. न्यूड गर्ल फन स्टोरी दो लड़कियों की है जिन्हें सेक्स से भरपूर कारनामे करने का शौक है.

कभी कभी वो कहते हैं ना कि ‘फर्स्ट इम्प्रेशन इज लास्ट इम्प्रैशन …’इस कहावत की वजह से कुछ लोग मेरे लिए बुरा विचार बना लेते हैं. उसकी नाभि में जीभ डाल कर गोल गोल घुमाने लगा, ये शिल्पा को और भी ज्यादा मजा दे रहा था.

वो रिसेप्शन वाली लड़की की चूत मैंने कैसे ली, ये अगली कहानी में लिखूंगा.

कमरे की देहरी में घुसने से पहले वो थोड़ा आगे पीछे हुई लेकिन फिर अन्दर आ गयी.

रेखा के मुलायम होंठों ने मेरे लंड के सुपारे को कसकर पकड़ रखा था और उसकी गीली मुलायम जीभ मेरे सुपारे पर गोल गोल घूम रही थी. उसने लंड महसूस करते हुए कहा- राज तुम्हारा तो बहुत बड़ा है … मेरी तो फट ही जाएगी. मैं उससे बात करने का प्रयास कर रहा था किन्तु वो मुझ पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रही थी.

वहां भाभी ने अपने फिसड्डी पति की दास्तान सुनायी तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं सृजन भाभी की अतृप्त चुत की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मगर एक बार फिर उसने मना कर दिया।मगर मैं अन्तर्वासना के सभी अनुभवों का उपयोग करना चाहता था तो मैं उसकी चूत चाटने के लिए आगे बढ़ा. मेरे दिल की तमन्ना है कि मैं किसी अनजान लड़की या भाभी के साथ सेक्स करूं.

उन्होंने अपना हाथ आगे बढ़ाना जारी रखा और मेरे पैंट से मेरा लंड बाहर निकाल लिया.

फिर उसने उंगली से आधी चड्डी नीचे सरका दी तो मुझे उसकी गोरी गांड के दर्शन हो गए. वह अब जोर-जोर से मेरे मुंह में धक्के लगा रहा था और मैं भी पूरा उसको जड़ तक लण्ड अपने मुंह में ले रही थी. अब मैंने भैया भाभी को बोला कि टीना को घर छोड़ देता हूँ और मार्केट से कुछ खा भी लूँगा.

रेखा ने भी अपने हाथों से मुझे जकड़ लिया और मेरे होंठों और जीभ को चूसने लगी. मेरा झड़ा हुआ लंड एकदम से ऐसे लुड़क गया है जैसे भोसड़ी वाला अब कभी खड़ा ही नहीं होगा. ऑनलाइन कैम सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लड़की ने अपनी मर्जी से मेरा लंड चूसा.

अब मैं सोचने लगा कि कैसे चाची की चुत मार सकता हूँ, तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया.

मगर मैंने तब भी उनसे कहा- आप मेरी दीदी हैं, इस बात का मुझे ख्याल नहीं चाहिए क्या?वो बोलीं- हां ये तो है … मगर इसका एक रास्ता है मेरे पास!मैंने कहा- क्या रास्ता है दीदी. कुछ देर सोचने के बाद वीना ने मेरे लंड को अपने मुँह से लगा लिया और उसको मुँह में लेकर खींचती हुई चूमने लगी.

ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ वो कामवासना में जल रही थी और कह रही थी- आंह और न तड़पा … डाल भी दे ना … बहुत खुजली होती है. आशिमा दीदी ‘गुऊं गुउंग …’ करके मेरा लंड चूसती रहीं और मेरा स्खलन का समय आने लगा था.

ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ बस वाले लड़के और होटल के स्टाफ ने मिलकर सारे टूरिस्ट का सामान बस से नीचे उतार दिया. मैं सोच रहा था कि क्या डाक्टर रेखा को अपनी चूत रगड़वाना अच्छा लगता था, या उसकी चूत लंड की प्यासी है … या वो मेरे लंड से प्रभावित हो गयी थी? क्या डाक्टर रेखा भी मेरे बारे में भी यही सोचती होगी?मैं अब आपको डाक्टर रेखा के बारे में बता देता हूँ.

और वो एक बार फिर कसमसा उठी।अब मैंने अपना लन्ड उसकी चूत में सेट किया और दबाव बढ़ाया।मेरा लन्ड बिना किसी अवरोध के उसकी चूत में घुस गया.

ब्लू फिल्म देसी में

पहली सेक्स कहानीमैं अपने भैया की रंडी बन गयीमें मैंने लिखा था कि मैं अपने भैया की रंडी बन गयी थी. हम दोनों ने कुछ देर बाद एक दूसरे के प्यार किया और अब शनाया अपने हॉस्टल चली गई. चाचा जी का दो वर्ष पहले निधन हो गया था और तभी से चाची जी हमारे साथ रहती हैं.

मैं बाकी लोगों की तरह डींगें नहीं मारूंगा कि मेरा लंड बहुत बड़ा और मोटा है … या दस इंच का है. पर जब भी कोई प्रपोज करती, मैं मना कर देता क्योंकि मुझे पढ़ाई करनी होती थी. शिल्पा को अपनी चूत का दाना चटवाने में बड़ा आ रहा था और वो अपनी गांड आगे पीछे करके मेरे मुँह पर चूत रगड़ रही थी- आह यश … और जोर जोर से चाटो हां हां ऊऊऊ ओहह … बहुत मजा आ रहा है मेरी जान!कुछ देर तक मैं उसकी चूत चाटता रहा.

वैसे तो चाची को कपड़ों में देखकर ही मेरा लंड सुबह सुबह खड़ा हो जाता था, आज तो वो मेरे बाजू में नंगी पड़ी थीं.

मैंने कुछ धक्के लगा कर उन्हें वापस बिस्तर पर लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ गया. मैंने उनका हाल चाल पूछा, उन्होंने मेरी जॉब के बारे में पूछा और इधर उधर की बातें की. यह सुनते ही मैंने उनकी पैंटी फाड़ डाली … भाबी की चिकनी चूत मेरे सामने लपलप कर रही थी.

मेरा लौड़ा देखकर भाबी जी बोल पड़ीं- आज तो मेरा बुरा हाल होने वाला है. उसकी कामुक आवाजें मुझे मदहोश कर रही थीं, जिससे कि मैं और ज्यादा तेजी से उसे चूमने चाटने लगा. मैं चाची को बोला- सॉरी यार, सारी गलती मेरी है, तुम मुझे कुछ भी सज़ा दो, मुझे मंजूर है.

तभी रिंकू ने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसे तेज तेज हिलाने लगा. वो लंड को पकड़कर देखने लगी और अचानक से चिल्ला कर बोली- ऊंई मां … अभी शायद तीन इंच बाहर ही है हर्षद … आज तो मेरी पक्के में फट जाएगी.

विशाल अपने घुटनों के बल बैठकर अपना लंड रवि की गांड की छेद में घिसने लगे. मैंने सौम्या को खुश करने के लिए उससे बातें करनी शुरू कर दीं, सौम्या को हंसाना शुरू कर दिया. मैंने कहा- और क्या रेखा?तो रेखा बोली- और जब से तुम्हारा वो पहली बार देखा था, तब से मैं बहुत बेचैन हूँ हर्षद.

चाची मेरे लंड को दबाती हुई बोलीं- ये आज तेरा लंड बड़ा बड़ा सा और मोटा क्यों लग रहा है.

अब हम दोनों ऐसे ही रोज मोबाइल से मैसेज और कॉल पर बातें करने लगे थे. मेरी चूत जितनी ज्यादा गीली हो गयी थी, गला उतना ही ज्यादा सूख गया था. वो मुझसे कहने लगीं- बस अरुण, अब और मत तड़पा … अपनी प्यारी मौसी को चोद दे … जल्दी से डाल दे अपने लंड को मेरी चूत में.

अब हम अच्छे दोस्त हो गए थे तो कुछ भी बोल देने में मैं या वो हिचकिचाते नहीं थे. सोनाली मुस्कुराकर बोली- क्यों अभी तक दिल नहीं भरा क्या? हर्षद तुमने मुझे रातभर सोने नहीं दिया.

यह सुनकर मेरी आँखों में चमक आ गई क्योंकि बहुत बड़ी रकम बोली थी उन्होंने! और एडवांस में भी देने के लिए बोल दिया और बाकी काम होने के बाद देंगे।आगे पूछने पर कि ये मुझसे ही क्यों करवाना चाहते हैं तो उन्होंने भी बताया कि वो हमारे खास और पुराना दोस्त है।मैं कुछ देर ऐसे ही उनसे बात करती रही. थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि दीदी ने अपना पैर हिलाया और गहरी नींद में सोने का नाटक करने लगीं. इधर मुझे अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़कर जैसा सोचा था, वैसा ही लग रहा था कि अभी दर्द खत्म हो जाएगा.

नंगी लड़की बताओ

फिर जैसे ही मैं निशा की गांड पर बैठा, निशा बोली- अमित तुमने बहुत देर लगा दी.

जब से मैंने मेरी बहन के स्तन देखे हैं, तब से मुझे अपनी बहन को चोदने की इच्छा हो गई थी. हैलो मेरे कामुक मित्रो, मेरा नाम शाहबाज़ है और मैं पुणे महाराष्ट्र से हूँ. दूसरे हाथ को मेरे सीने पर हाथ रखते हुए मेरे मम्मों को हल्का हल्का दबाने लगा.

मैं रेखा से बोला- चार बजे हैं रेखा … समय कैसे बीत गया, पता ही नहीं चला. मैंने कहा- इससे पहले इतना बड़ा कमीन देखा नहीं है क्या?वो बोली- साले, मैं अब तक वर्जिन हूँ. 12 साल का बीएफमैंने कहा- तो अब क्या घर जाओगी?वो बोली- नहीं, घर जाऊंगी तो मम्मी से बहुत डांट पड़ेगी.

हां अगर तुम मेरी बात को मानोगी तो मैं भी तुम्हारी हर बात को मान लूंगा. अब मैं जानबूझ कर ‘ऊह आह …’ की आवाज़ निकाल रहा था जो मैं उन्हें उत्तेजित करने के लिए कर रहा था.

भैया- चल ठीक है रंडी, तेरा पति नहीं मारता है क्या?मैं- वो मेरी गांड मारता तो है साले लेकिन मुझे आज तेरा लंड चाहिए, उसका नहीं. इसलिए मुझे अब तक ऐसा कोई लगा ही नहीं, जो मेरी कसौटी पर खरा उतर सके. कुछ देर बाद राहुल दरवाजा बंद करने के लिए आया और उसने चुपके से मुझे इशारा करके आने को कहा.

अभी बिजी हो क्या?मैंने कहा- कुछ खास नहीं, आप बोलिए न!उसने कहा- अभी आ सकते हो क्या मेरे घर?मैंने कहा- क्या हुआ है? सब कुछ ठीक है ना?तो उसने कहा- कुछ ठीक नहीं है हर्षद. उसने कहा- तुम पूरे चालू हो और ये क्या माल … मैं कोई गन्दी लड़की हूँ, जो मुझे माल बुला रहे हो. जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो वो मेरे नीचे से कसमसाने लगी और मुझे अपनी तरफ खींचने लगी.

जब उन्हें आने में काफी देर हो गई,तो मैंने बाथरूम का दरवाजा थोड़ा सा खोला.

और वो एक बार फिर कसमसा उठी।अब मैंने अपना लन्ड उसकी चूत में सेट किया और दबाव बढ़ाया।मेरा लन्ड बिना किसी अवरोध के उसकी चूत में घुस गया. मैंने अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत की छेद पर सैट किया और एक धक्का मारा तो वो चूत से फिसल गया.

इस पोज में हम दोनों को बहुत मजा आता है इसलिए मेरी प्यारी पत्नी को ये पोज पसंद है. जब मैं वापस आया तो देखा कि चाची का गाउन कुछ ज्यादा ही ऊपर ऐसे उठा हुआ था, जैसे कह रही हों कि बेटा आ जा मेरी गांड मार ले. जैसे ही उसके आने का मैसेज मुझे अपने फ़ोन पर मिला, मैंने दोस्तों को बाहर रखवाली के लिए भेज दिया ताकि कुछ परेशानी न हो.

फिर मुझे ‘उम आह …’ की आवाज आ रही थी, तो मैंने धीरे से एक आंख खोल कर देखा. अब मेरा भाई भी इस बात को समझ चुका था कि मैं समीर से चुदना चाहती हूँ. मैं- साली मरवाएगी क्या … भैन की लौड़ी क्यों चीख रही है छिनाल … कोई कुंवारी लौंडिया नहीं है तू, जो गला फाड़ रही है.

ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ पर मुझे तो उसके उन अमरूदों से मतलब था जो वो अपने आंचल के पीछे छिपाए रखती थी. मैं उनकी बात सुनकर खुश हो गया और मैंने कहा- चाची, मैं डर रहा था कि कहीं आपको गुस्सा न आ जाए.

इंग्लिश सेक्सी चुदाई

मैंने देरी ना करते हुए उसके मम्मों पर हमला किया और बारी बारी से उन्हें मुंह में लेने का असफल प्रयास करने लगा।मैं निप्पलों पर कभी जीभ फिराता तो कभी उन्हें चूसता और हल्के हल्के दांत गड़ा देता।अब उसने भी मेरे बालों में अपनी उंगलियां फिराने शुरू कर दी और उसका एक हाथ मेरे कमर के आसपास घूमने लगा।मैंने उसकी मदद की और अपना तन्नाया हुआ लंड उसके हाथ में पकड़ा दिया. फिर मैंने एक पट्टी उसकी आंखों पर बांध दी, जिससे उसे कुछ नहीं दिख रहा था. अंत में मेरी मजेदार फुल नाईट सेक्स की कहानी पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरे चाहने वाले, मेरे प्रशंसको, लंबे और मोटे लण्ड वालो, शादीशुदा मर्दों और कुँवारे कड़क लण्ड वाले और गहरी चूत वाली मेरी बहनों … आप सभी का प्यार ऐसे ही अपनी शालू भाभी पर बना रहे।धन्यवाद.

मैंने उन्हें चुम्मी ली और कह दिया कि अच्छा भाभी सपनों में याद कर लेना और जब चूत में खुजली हो, तो फोन कर देना. अदिति के एग्जाम के बाद उसकी मम्मी पापा और भाई की एक एक्सिडेंट में मौत हो गई थी. हिंदी बीएफ वालाशनाया ने उसे अपनी बांहों में भर लिया और वो दोनों एक दूसरे को चूमने लगे.

’‘कैसी हो मेघा?’‘अच्छी हूँ सर … और आप!’‘मैं भी … आज अच्छा तो लगा न!’‘जी सर.

मैं बीच बीच में उसकी चुत के दाने को दांतों से पकड़ कर हल्के से उसको काट भी देता था जिससे वो चिहुंक जाती थी. उसके हाथों में मेहंदी होने के कारण इस चुदाई का पूरा नियंत्रण मेरे हाथों में था.

उसने बेडशीट निकालकर दूसरी डाली और मुझसे बोली- हर्षद अब तुम थोड़ी देर सो जाओ. उसने मेरा लण्ड पकड़ा उसे थोड़ा मस्ती से हिलाया और फिर बोली- ओ माय गॉड … क्या मस्त लौड़ा है सर आपका! मेघा बुरचोदी बिल्कुल सही कह रही थी। आपका लण्ड तो थामस सर के लण्ड से भी बड़ा है सर और मोटा भी ज्यादा है।मैंने पूछा- तो क्या तुम थामस का लण्ड लेती हो?वह बोली- हां लेती हूँ पर मुझे उसका लण्ड पसंद नहीं. मैं अपनी दीदी को अपने लंड पर बिठा कर उन्हें खड़े लंड की सवारी करवाने लगा.

फिर चाची बोलीं- और वो मादरचोद राहुल कहां है?तभी राहुल पर्दे के पीछे से सामने आ गया और वो प्यार से चाची को समझाने लगा.

वीना की उम्र उस वक़्त 19 साल थी और उसके चुचे अपने आकार में आ चुके थे. मैं सोचने लगा कि इसे क्या हुआ … अभी तो नाराज थी और अभी ऐसे स्माइल कर रही है. मैं पी नहीं रहा था, उसने मेरे दोनों पकड़ कर मेरे लंड को उमेठ दिया तो मैं माल गटक गया.

सेक्स बीएफ देवर भाभीअगर अभी कुछ कर पाया, तो ही कुछ बात बन पाएगी, नहीं तो ऐसा मौका नहीं मिल पाएगा. इसके बाद हम दोनों ने गेट पर जाकर एक एक सिगरेट का मजा और लिया और आकर अपनी अपनी बर्थों पर लेट गए.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಪ್ಲೀಸ್ ಕಮ್

तब मुझे भी बुरा लगा तो मैंने उससे वो फ़ोन ले लिया और उसको एक किस कर दिया. मैंने झट से उनके मुँह को दबाया और फिर से जल्दी जल्दी चुत चाटने लगा. मैंने कहा- ओके आप अपने मैसेंजेर का वीडियो कॉल वाला ऑप्शन खोल दीजिए मैं आपको वीडियो कॉल करता हूँ.

तो वो इतरा कर बोली- हां मैंने उसी को ध्यान में रख कर सेक्स कहानी का मजा लिया है. एक हाथ से धीरू मेरी गांड सहला रहे थे और एक हाथ से मेरे बालों को पकड़ अपना लौड़ा चुसा रहे थे. थोड़ी देर बाद चाची मेरे रूम में आईं और बोलीं- युग मेरे सिर में दर्द हो रहा है … क्या तुम्हारे पास कोई दवाई है.

मैंने उसके गोल गोल मस्त मम्मों को अपने हाथों में पकड़ा और एक को मुँह में भरकर चूसने लगा. दोस्तो, मैं आपको अपने दोस्त राहुल की चाची अनिता की चुदाई की कहानी सुना रहा था. मैंने भाभी को चूमा और बिस्तर पर पटक दिया, फिर अपनी टी-शर्ट जैसे ही उतारी.

थोड़ी देर सहलाने के बाद उसने उस लंड को अपने मुँह भर लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. मगर उसने पहली बार मना कर दिया, उसने कहा- फिर कभी जीजू, जब हम आराम से सेक्स करेंगे.

घर की परिस्थितियों की वजह से मुझे काम की जरूरत पड़ी तो मैं अपने ही शहर में काम की तलाश करने लगा.

मैंने कहा- अरे भाभी, मेरी जान कोई नहीं देखेगा … और देख भी लेगा तो देखने दो, इसी में तो मज़ा है. बंगाली भाभी बीएफवो कभी कभी मेरी छाती में काट लेता, मेरे मुँह पर थप्पड़ मारता … और मेरे मुँह से मुँह लगा कर होंठों को काट लेता. हिंदी मे बीएफ चुदाईमैं समझ गया कि चाची ने अपनी बेटी के सामने खुद की वासना को दबा लिया था. जब आपने मेरा लंड पकड़ा था न, तभी से मैं आपको चोदने के बारे में सोचने लगा था.

मेरे कपड़ों में क्या लगा दिया था, ज़रा बताओगे मुझे?मैंने गर्दन नीचे कर ली और चाची से सॉरी कहने लगा.

आप कहें … तो मैं आपकी बीवी के कपड़े पहनकर, सजकर आपसे झगड़ा करने का नाटक करूंगा. मेरी पिछली कहानीअनकटे लंड से गांड मरवाने का मजा लियाआप सभी ने पढ़ी होगी. मम्मी अपनी चूत नाईटी के ऊपर से ही मेरे लंड पर रगड़ती हुई बोलीं- बहुत बदमाश हो.

सरिता भाभी और सोनाली नाश्ता लेकर आईं और सबको नाश्ता की प्लेट देने लगीं. सरिता भी ये सब चाहती थी लेकिन ना ना करके मेरे लंड को गर्म कर रही थी. उस शाम को हम दोनों रीजिनल पार्क घूमने गए, फिर खाना बाहर ही खाकर फ्लैट में आ गए.

தமிழ் அத்தை செக்ஸ் வீடியோ

जब मैंने अपना मुँह आगे किया तो देखा कि मेरी दीदी एक लड़के की गोद में बैठी थी और वो आधी नंगी हो गई थी. मैंने अपनी दोनों टांग फैलाईं और अपने हाथों से उसका सर पकड़ कर अपने लंड की तरफ कर दिया. तनख़ाह में से काट लेना!मेरे पास रूपए थे तो मैंने दे दिए।उस रात जब वो खाना बना रही थी, तब मैं रसोई में गया मैंने इस बार सांस छोड़ने के लिए जब सांस भरी तो एक अजीब सी खारी खारी महक आई।अब जो अनुभवी लोग हैं वो जानते होंगे लेकिन मुझे यह महक काफी रोमांचित कर गई मेरे कान गर्म होने लगे।मेरे पैरों के तलवों में सनसनाहट होने लगी और माथे पर पसीना छलक आया.

मैंने वहीं चाची की ब्रा को हटा कर उनकी चूचियों को पकड़ लिया और एक को मुँह में लेकर पीने लगा.

मैंने पूछा- क्यों?वो बोली- मेरा बस तुम्हारे साथ सेक्स करने का मन था तो जब से मेरा इंडिया आना पक्का हुआ, मैंने सेक्स ही नहीं किया.

आज पति से झगड़ा हुआ, उन्होंने ये कहा, वो कहा, अब ये सब भी हम शेयर करने लगे थे. फिर मैंने ही उसके मुँह से अपना लंड निकाला और उससे कहा- यार मैं तुम्हारी चूत से पहले तुम्हारी गांड मारना चाहता हूं. सेक्सी बीएफ हिंदी बीएफ सेक्सीउस समय राहुल ने मेरी खिंचाई करते हुए कहा- साले तू चाची पर ट्राई कर रहा था और बाथरूम में जाकर चाची की पैंटी में ही रस टपका आया.

एक जवान कच्चे जिस्म की गर्माहट पाकर मेरे कालू उस्ताद फिर से जगने लगे. सच में यार क्या गजब का माल थी वो … ओह्ह सॉरी, मैं आप लोगो को उसका नाम तो बताना भूल ही गया. फिर मेरे मन में मजाक सूझा तो मैंने कहा- ठीक है क्लास के अलावा मैं आपको श्रेया दीदी कहूंगा.

उसके चूतड़ लंड से टकरा रहे थे जिससे ठप ठप ठप ठप की मस्त आवाजें निकल रही थीं. वैसे वो बुढ़िया उस टाइम ठीक ठाक ही दिखती थी लेकिन मुझे तो सौम्या डार्लिंग को चोदना था.

थोड़ी देर इस चुम्मा चाटी के बाद मैं और नीचे सरक गया तो उसकी चिकनी और उभरी हुई चूत देखकर मेरा लंड फड़फड़ाने लगा था.

मोबाइल में से चुदाई की आवाजें आ रही थीं और उसी वजह से मेरे आने की आहट मेरी बहन को नहीं मिल सकी थी. वो मेरे साथ एक बिस्तर पर पूरी रात नंगी रही और मैंने उसके साथ ओरल सेक्स करके उसे दो बार चोदा. बहुत भीड़ थी जिसके चलते मैंने उसका हाथ पकड़ लिया था … क्योंकि एक जगह उसका पैर फिसल भी गया था.

हिंदी फिल्म बीएफ देहाती इसलिये मैं एक बार फिर खड़ा हुआ और कमरे में जितने भी लाईट के स्विच थे, सबको ऑन कर दिया।पूरा कमरा रोशनी से भर गया।एक बार फिर मैं उसी पोजिशन पर आकर रिया की स्कर्ट को उठाने लगा तो इस बार रिया ने मेरे हाथों को दबोच लिया. कुछ देर बाद चाची ने कहा- अपनी चाची को ऐसे ही तड़पाओगे या अपने लंड का भी दर्शन करवाओगे.

हालांकि मुझे भी कोरोना का इन्फेक्शन हो चुका था लेकिन बहुत हल्का था, मैं ठीक हो गया था. तनख़ाह में से काट लेना!मेरे पास रूपए थे तो मैंने दे दिए।उस रात जब वो खाना बना रही थी, तब मैं रसोई में गया मैंने इस बार सांस छोड़ने के लिए जब सांस भरी तो एक अजीब सी खारी खारी महक आई।अब जो अनुभवी लोग हैं वो जानते होंगे लेकिन मुझे यह महक काफी रोमांचित कर गई मेरे कान गर्म होने लगे।मेरे पैरों के तलवों में सनसनाहट होने लगी और माथे पर पसीना छलक आया. हर एक झटके के साथ घोड़ी और सवार दोनों की ही स्पीड बढ़ती ही जा रही थी.

चुदाई विडीओ

सोने के समय पर चाचा ने कहा- मुझे रात में कुछ ऑफिस का काम है, तो तुम तीनों चाची और रानी बेडरूम में सो जाओ. चूंकि रिया अपने बॉयफ़्रेंड से पहले भी चुद चुकी थी तो उसे ज़्यादा दर्द तो नहीं हुआ … लेकिन बहुत दिनों के बाद लंड लेने की वजह से हल्का सा दर्द जरूर हुआ था. आज मैं आपको अपने साथ हुई एक सच्ची ऑफिस गर्ल सेक्सी कहानी बताता हूं.

इसलिए मुझे अब तक ऐसा कोई लगा ही नहीं, जो मेरी कसौटी पर खरा उतर सके. फिर थोड़ी देर में हम दोनों ने कपड़े सही किए और हम रूम के अन्दर चले गए.

उसके चिकने पैरों को चूमने के साथ साथ एक एक पल का अहसास उसे और मुझे हो रहा था.

मैंने भी ‘आई लव यू … आई लव यू …’ बोलते उसके होंठों से अपने होंठ लगा लिए और जोर जोर से उसके होंठों को चूमने लगा. मेरी पिछली कहानी थी:दो मैच्योर मर्दों से एक साथ चुद गयी मैंअपने बारे में मैं वहां बहुत कुछ बता चुकी हूं, इससे ज्यादा और मैं कुछ नहीं बताने लायक नहीं समझती हूँ. उसके बाद उससे कल का वादा तय करके मैंने कमरे का गेट खोला और वो चली गई.

उसने दूसरी मूवी शुरू कर दी, जिसमें भाई बहन साथ में नाश्ता कर रहे थे. मैंने उसके कामरस का स्वाद अनुभव करने के लिए हाथ बाहर निकाल लिया और उसके रस की मादक गंध को अपनी नाक में अनुभव करने लगा. फिर जैसे ही मैंने उसकी चुत को छुआ, तो वो मेरे मन को समझ गयी और फिर हल्की हल्की आवाज करने लगी.

मैंने उसकी चूत सहलाते सहलाते उसकी पैंटी उतार दी और मैं बेड के नीचे बैठ गया.

ब्लू फिल्म भेजो हिंदी में बीएफ: मैंने उसकी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही देर में मुझे लगा कि अब मेरा भी होने वाला है. जब उसने मुझे निशा के साथ सेक्स करते देखा था तो वही पर अपना पानी भी निकाला था.

जब वो अपनी गांड मटका कर चलती थी तो ऐसी लगती थी मानो कोई हंसनी चल रही हो. मैंने रोहन को आंख मार दी तो वो समझ गया कि आज मेरा मन समीर से चुदने का कर रहा है. ‘अच्छा मैं ही बदमाश हूँ और तुम?मैंने कहा, तो सरिता बोली- अब चुप करो.

मुझे नहीं पता कि मम्मी कितने दिनों बाद झड़ी थीं, पर आप लोगो को जान कर हैरानी होगी कि मेरी मम्मी ने करीब एक स्माल पैग जितना पानी निकाला था.

वो कामवासना में जल रही थी और कह रही थी- आंह और न तड़पा … डाल भी दे ना … बहुत खुजली होती है. टीना ने मेरा लंड का ऐसा शुभारंभ किया था कि मैंने उसकी अलावा बहुत लड़कियों और भाभियों की चूत चोदी. मैंने चाय पीते पीते अपने एक हाथ से रेखा की जांघें अलग करके उसकी चूत देखी तो वो सूज गयी थी और लाल होकर फूल गयी थी.