सेक्सी बीएफ गांव वाली

छवि स्रोत,डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्सी बीपी फोटो: सेक्सी बीएफ गांव वाली, इंसानियत के नाते हम यह होने नहीं देना चाहते थे कि हमारी ऐशपरस्ती के कारण दो जिंदगियां खराब हों.

xx वीडियो भोजपुरी

और फिर हुआ भी ठीक ऐसे ही।मैंने माँ से पूछा कि उनके परिवार में कौन कौन है?तो माँ ने मुझे बताया और अब मैं उनकी वो पूरी बात सुनकर मन ही मन बहुत खुश हुआ।अगले दिन सुबह मैं अपने ऑफिस चला गया और जब में शाम को घर पर आया तो मैंने देखा कि हमारे नये किरायेदार तब तक आ चुके थे. ब्लू फिल्म फुल मूवी हिंदीउन तीनों के चेहरे पे एक स्माइल आ गई और बोलीं- दैट्स लाइक माय ब्वॉय.

मैं उसका लंड चूसती रही तो 10 मिनट में ही उसका लंड फिर से खड़ा हो गया. बफ सेक्सी इंग्लिशथोड़ी देर बाद मणि ने मेरे शॉर्ट्स को खोल कर उतार दिया और फिर मेरी पैंटी भी उतार दी, वो मेरी चूत में उंगली डालने लगा तो मैंने उसे ऐसा करने से रोका तो वो बोला- यार दीपिका, अभी चूत की किस बाकी है.

उसने एक पारदर्शी नाइटी पहनी हुई थी और उसके बाल से पानी की बूंदें उसके मम्मों और गांड दोनों को भिगा रही थीं.सेक्सी बीएफ गांव वाली: वह अंजान था मेरे लिये और आगे कुछ भी हो सकता था लेकिन मुझे इस बात का ध्यान ही नहीं रहा.

इधर मैंने भी अपना खाना खत्म किया और बैठ कर गोली के असर करने का इंतजार करने लगा.मैं रोस्टन के बारे में थोड़ा बता दूँ, वो 26-27 साल की उम्र का है, और अक्सर इंडिया में आता रहता है, उसे गोआ बहुत पसन्द है, मैं उसे 3-4 सालों से जानती हूँ, पर अब तक उसे सिर्फ उसे किस ही किया था.

चुदाई एक्स एक्स - सेक्सी बीएफ गांव वाली

शायद उन्हें लंड चुसवाना अच्छा लग रहा था इसलिए उन्होंने मुझे ठीक से लंड चुसवाना शुरू कर दिया.आंटी मोटे लंड के कारण चिल्लाती रहीं लेकिन मैं नहीं रूका और 15 मिनट के बाद में झड़ गया.

फिर कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद भाई ने मुझे टेबल पर लिटा दिया और चोदने लगे. सेक्सी बीएफ गांव वाली वो एक भारी भरकम लौड़ा था, फिर उसने जब अन्दर हाथ डाल कर उसको पकड़ना चाहा तो जॉय की नींद खुल गई और वो जल्दी से पीछे सरक गई.

फिर मैंने कुछ ही देर में उसको घुमा दिया और उसकी पीठ को भी चूमने और चाटने लगा.

सेक्सी बीएफ गांव वाली?

जो रणक्रंदन मचा वहां पर… कि धरती थर्राने लगी, हाहाकार सा मचा और चुदाई का वो आलम हुआ कि उसकी चूत ने भलभला कर पानी छोड़ा. एकाएक भैया बोले- का देख रहे हो बबुआ? कभी देखे नाही का?मैं पता नहीं किन ख्यालों में था, कि कोई जवाब ही नहीं निकला मुँह से…फिर उसी हालत में मेरे पास आकर मुझे कंधे से पकड़ के उन्होंने हल्के से झिझोड़ा, तब मेरी नींद खुली और तब मैंने शरमा कर नजरें उनके लौड़े से हटा कर उनकी ओर की. मेरा पूरा लंड भाभी की चूत में जड़ तक समा गया, उनकी आँखों में आंसू आ गए.

मैं उठा और बहूरानी को पीछे से पकड़ कर अपने से सटा लिया और गर्दन चूमने लगा. मामा जी का लंड मेरे नाख़ून से मेरी कलाई तक लम्बा था और मोटाई इतनी थी कि मेरी एक हाथ की मुट्ठी में नहीं आ पा रहा था. उसने मुझे अपने से लिपटा लिया और कहा- आज से मैं तेरी रखैल हूँ और तुम मेरे राजा हो.

उई माह्हा… मर गई मैं… ओह… हहा!उसका लंड अन्दर घुसा था और वो मेरे ऊपर चढ़े चढ़े बोला- बस हो गया. हाँ उसने सुमन के बारे में भी पूछा तो गुलशन जी ने सुमन को उनसे मिलवाया, तो बड़े खुश हुए और आशीर्वाद भी दिया, फिर चले गए. तभी नेहा बोली- वो तो सही है जीजू फिर भी, आपके बारे में तो हमें मालूम है, हम सभी यहाँ टाइम स्पेंड कर सकते हैं परन्तु वो…नेहा कहती कहती रुक गई, तो सोनिया बोली- यार ऐसे करो, आप मनोज को भेज दो, हम तीनों आज यहीं एन्जॉय करते हैं.

मुझे तो नींद नहीं आ रही थी, आज क्या-क्या होगा केवल वही सोच कर मेरा लंड एकदम खड़ा था. मैं बाथरूम में चला गया और वहां देखा कि कल रात को दीदी ने जो ब्रा और पेंटी पहनी थी, वो वहां पे गीली लटकी हुई थी.

इसी के साथ मैं अपने लंड में इंजेक्शन जैसा प्रेशर डालने लगा, तो नीता दर्द से छटपटाने लगी.

और मैं उस भीड़ को मानो भूल सा गया, मुझे बस हम दोनों और हमारी कामुकता में डूबी हुई मानो सुहागरात लग रही थी.

उस लड़के की कौन सुनता, तभी एक लड़के ने उसे कहा- साले तुझे नहीं करना तो तू जा, कितने दिनों के बाद ऐसी माल मिली है. धन्यवाद दोस्तो और प्यारी प्यारी गर्म चूत की मलिकाओ!नए पाठकों के लिए बताना चाहता हूँ कि मेरा नाम राहुल है. बाथरूम में देखा तो दीदी की पिंक कलर की ब्रा और पेंटी वहां पे लटकी हुई थी.

इतने में उसकी नज़र खून के धब्बे पर पड़ गई और वो कहने लगी- ये क्या है?मैंने उससे कहा- क्या बायोलॉजी नहीं पढ़ी हो. मैंने उससे कॉफी के लिए पूछा तो उसने मना कर दिया और कहा- आज बहुत थक गई हूँ, फिर कभी चलेंगे. फिर मैं उसके पीछे खड़ा हो गया और उसके गले को चूमते हुए उसका ब्लाउज खोलने लगा.

मैंने ज्यादा देर करना उचित नहीं समझा और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए।दोस्तो, जैसे ही मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रखे, उसने तुरंत मेरे होंठों को किस करना शुरु कर दिया और बड़े ही प्यार से चूसने लगी.

मैंने दो बार सुमन को चोदा, परंतु मेरा सारा ध्यान स्वीटी की उभरी हुई चूत में ही था. नीचे आधी साड़ी बंधी थी, जिससे उसकी टांगों को उघाड़ कर देखने की तकलीफ नहीं हो रही थी. इतने में मेरी रंडी मॉम ने कहा- मुझे पेशाब आई है मैं मूतने जा रही हूँ.

मैंने उसको बोला भी कि यार ये सब खुले में मत कर… लेकिन वो मान ही नहीं रहा था. मैं भी तो तुम्हें पसंद करती थी, लेकिन मुझे भी यही डर था कि कही तुम मेरे अब्बू से ना कह दो. मेरी शादी को तीन साल हो चुके हैं, मेरा एक बच्चा है डेढ़ साल का… और पति का खुद का बिजनेस है.

तेरी जैसी गर्म औरत को कुतिया बना के चोदने में बड़ा मजा आता है मुझे… रूपा छिनाल! इससे मेरे लंड को ठंडक पहुँचती है.

साथ ही मैंने दीदी की नाइटी निकाल कर उनको सिर्फ़ ब्रा और अंडरवियर में रहने दिया. वो मुझसे बहुत खुश हो गया और बोला- आज तक मैंने जितनी भी लड़कियों को चोदा, वो सभी बहुत ज्यादा चिल्लाई और चीखी थीं.

सेक्सी बीएफ गांव वाली रूपा ने लंड चूत पे जैसे ही रखा, पप्पू ने हल्का धक्का दिया, जिससे रूपा की तंग चूत का मुँह फ़ैला कर लंड की टोपी अन्दर घुस गई. मुझे बुर चुसाई में इतना बढ़िया लगा जितना अब तक जिन्दगी में नहीं लगा था.

सेक्सी बीएफ गांव वाली हम रात के लगभग 11 बजे तक चैट करते रहे जब उसके मम्मी पापा सो गए, तब उसने कहा- आ जाओ. अखाड़े में पहुंचकर रवि ने अपना लंगोट बांधा और उस सेक्सी पहलवान मर्द को देखकर मेरी आह निकल गई.

शर्म से मेरी आँखें बंद थी… पर जिस्म गर्म था, चाह दिल में थी कि आशीष मेरी प्यासी बुर में लंड डाल दें!पर मैं कह नहीं पाई.

सेक्स पोर्न

लंड को चूसने से या हाथ से हिलाने से उसमें से सफेद पानी निकलता है, जो चिपचिपा होता है. पहला शॉट होने के बाद वो मेरे रसभरे लंड को गांड में दबा कर चूसने लगी. मैं अल्का से बहुत प्यार करता हूँ, अब तो ऐसा हो गया है कि मैं या वो एक-दूसरे के बिना रह ही नहीं सकते हैं.

बस की 80-90 की रफ्तार में भी जैसे हम दोनों का वक्त थम सा गया था, उसका सैलाब अपने चरम पर था और किसी भी समय वो मेरे मुंह मे अपना अमृत छोड़ने वाली थी. ” मैंने बहू रानी की पतली कमर दोनों हाथों से कसके पकड़ के उसकी गांड में लंड से कसकर ठोकर लगाई, साथ में नीचे उसकी चूत में अपनी बीच वाली उंगली घुसा के अन्दर बाहर करने लगा. पापा जी, चलो अब खाना खा लो!” बहूरानी की आवाज ने मुझे जैसे सोते से जगाया.

यह दृश्य बहुत सेक्सी था; मॉम खड़ी थी और यश उन की चूत को नीचे बैठ कर चाट रहा था, मॉम अपनी चूचियां अपने आप दबा रही थी और आहें भरती जा रही थी.

कुछ देर बाद जिसका लंड उसके मुँह में था उसने उसे ऊपर खींचा, पीछे वाले ने भी अपना लंड निकाल लिया, सामने वाले ने रिया को हवा में उठाकर अपने लंड पे बिठाया तो रिया ने अपने हाथ से उसका लंड अपनी चुत में सरका लिया और उसकी गर्दन पकड़कर ऊपर नीचे होने लगी. मैंने पानी की बॉटल उठाई और आगे झुकने पर उसकी गांड का जो हिस्सा दिख रहा था, उसके अन्दर मैंने पानी डाल दिया. आप सभी को पता होगा कि अक्सर मर्द लोग गर्मियों में घर में अपने कपड़े उतार कर कच्छे-बनियान में ही घूमते रहते हैं.

मैं अपनी चाची का साइज़ आपको नहीं बता सकता क्योंकि मुझे इसका कोई अंदाजा नहीं है, पर इतना जरूर बता सकता हूँ कि वो प्रियंका चोपड़ा की बिल्कुल कॉपी हैं. मैंने जैसे ही डोर नॉक किया, तो जल्दी से अपने कपड़े ठीक करके वो बोली- आ जाओ. हमें कब नींद आ गयी इसका पता ही नहीं चला और जब सुबह पक्षियों के चहकने की आवाज़ सुन कर मेरी नींद खुली तब मैंने अपने को बिस्तर पर पूर्ण नग्न पाया और तरुण का कहीं पता नहीं था.

मेरे नाना तो रहे नहीं, एक मामा हैं और उनकी वाइफ, वे नानी के साथ रहते हैं. तभी साधु ने गोपाल को भी नंगा होने को कहा और दोनों की चुत चाटने का कहा.

रितु दीदी ने पूछा- मैं नंगी कैसी लगी?मैंने कहा- जैसा मैं समझता था उससे कहीं ज्यादा खूबसूरत. मैं उठा और उससे पूछा- झांटें साफ नहीं करती क्या कभी?बोली- पहले करती थी, अब नहीं करती. भाई मुझे उस मेल पर रिप्लाई भी करने लगा और हमारी अच्छी फ्रेंडशिप भी हो गई.

रूपा ने लंड चूत पे जैसे ही रखा, पप्पू ने हल्का धक्का दिया, जिससे रूपा की तंग चूत का मुँह फ़ैला कर लंड की टोपी अन्दर घुस गई.

आज इस चूत को फाड़ कर अपनी रस की एक भी बूँद मेरी चूत के बाहार ना जाये… ये देखना. कविता एक बार तो कसमसाई पर फिर उसने काकू के कहने पर पैर भी खोल दिया. सिंडी अब दर्द से कराहने लगी थी, उसके चेहरे का रंग भी बदलने लगा था और उन दोनों के चेहरे से भी लग रहा था कि उन्हें चुदाई में कितना मजा आ रहा है.

!दोनों ये बातें सुमन को सुनाने के लिए कर रहे थे और इसका असर सुमन पर हो रहा था. मनोज सोनिया को अल्फ नंगी कर रहा था, मनोज ने सोनिया के जिस्म से सलवार कमीज़ उतार दिए थे और उसके जिस्म को चूम रहा था.

यह बात सन 2004 मार्च के महीने की है, पहले मैं और मेरा परिवार जिस कॉलोनी में रहते थे, यह वहां की आखिरी होली थी. एकदम से वो बोली- कब से कॉल बॉय का बिजनेस स्टार्ट किया?तो मैं बोला- सच में आप ही मेरे पहले कस्टमर हो. आशीष- उफ्फ क्या करती हो शनाया… आराम से!लेकिन मुझसे तो बर्दाश्त नहीं हो रहा था, दिल कह रहा था कि मेरे आशीष मुझे अपनी बलिष्ठ बाजुओं में जकड़ लें, मुझे अपने जिस्म में समा ले या वो मेरे जिस्म में समा जायें.

हिंदी नंगी सेक्स

जैसे ही हम गली में घुसे, मैंने नीता के चूचों को हाथ लगाया और उसी वक्त उसने भी मेरे लंड को जोर से दबा दिया.

मैं कभी उसके गोटियों को अपनी उंगलियों से छूती, कभी जीभ से चाट लेती. हम लोग एक दूसरे से लिपट कर ऐसा कर रहे थे… उसे बस मेरे चूतड़ मसलते हुए ही लगभग आधा घण्टा हो गया था लेकिन ना तो वह मेरी गांड छोड़ने को तैयार था और ना ही मैं उसकी छाती।मैंने उसके डोलों शोलों को भी चाटना शुरू कर दिया। उसके फूले हुए कसरती भुजाओं को ऊपर नीचे करते हुए चाटने लगा. मैं एक हाथ उसकी गांड पर और एक उसके चूचे पर रख कर नीचे से लंड की ठोकर दे रहा था.

मैंने भी सही मौका देखा और उसकी गर्म चूत पर अपना कड़क लौड़ा टिका दिया. हम दोनों पानी में ऐसे ही लेट गए, इसके बाद करीब 15-20 मिनट बाद संगीता को होश आया और मुझे अचानक धक्का देकर पानी के टब से बिल्कुल नंगी बाहर निकली और अपनी नंगे शरीर को तौलिया से ढक लिया. ववव क्सक्सक्स विडिओमैं जब भी कोई लड़की देखता हूँ तो उसका जिस्म मेरी आँखों के सामने आ जाता है और मैं सोचता हूँ कि वाह.

चूंकि मैं मौसी से सटा हुआ था तो मौसी को मेरे बदन की गर्मी से एहसास हो गया था. अचानक एक दिन भैया को भोपाल में काम आ गया और उस काम के लिए उनका भोपाल जाना बहुत ज़रूरी था.

जैसे ही सरपंच का पता करने जा रहा था कि तभी मैंने देखा कि सामने एक गाड़ी से एक आदमी टकराने वाला था, शायद उस गाड़ी का ब्रेक फेल हो गया था. और हाँ तूने वो कपड़ों के साथ रात में पहनने के लिए वो नाइट ड्रेसिज ली थीं ना. लड़के पूरी ताकत लगाकर हमें चोद रहे थे और हम दोनों भी अपने अपने चूतड़ उठा कर उन का लंड अंदर तक ले रही थी.

मैं फिर से पास हुआ तो अपने पाँव से मुझे रोक कर अपने कपड़े उतारने लगी. नेहा- पता है मुश्ताक जब तुम मुझसे पहली बार मिले थे?मुश्ताक- हां नेहा, तब मैं तुम्हारे क्लिनिक पर दवाई लेने आता था. शहज़ाद सैफिना के ऊपर आया तो मैंने अपने हाथ से पकड़ कर शहज़ाद का लंड सैफिना की चूत में डाला और उसके मम्मे जोर जोर से रगड़ने लगी.

वो हग मैं अपनी पूरी लाइफ कभी नहीं भूल सकता क्योंकि चाची ने इतने दिल से दिया था कि उनकी अगले दो मिनट तक उनकी आँखें बंद थीं.

बस पूरी रात प्रिया की बातों को सोचता रहा और दो बार मुठ मारी, पर तब भी ये लंड शांत ही नहीं हो रहा था. मैंने उसे कहा कि वो भी नाश्ता हमारे साथ करे तो वो भी डाइनिंग टेबल पर बैठ गई.

मैं भी उसकी चुत से बाहर पानी में ही झड़ गया और मैं संगीता के ऊपर ही गिर गया. पहले तो इसके बारे में उनका और राहुल का कोई ध्यान नहीं था लेकिन जैसे ही बस चलना शुरू हुई एक हल्के से धक्के से वो सब कहानी समझ गए. मैंने जब पूछा कि हस्बैंड के आने का कोई चांस तो नहीं?तो उसने कहा- आप उसकी चिंता छोड़ दो, वो अपनी सीट नहीं छोड़ सकता और आ भी गया तो मैं संभाल लूँगी, मैं बोल दूँगी कि आप मेरे कॉलेज के फ्रेंड हैं, यहीं रहते हैं.

अब मेरे सामने 19 साल का एक नया राजपूती राजकुमार अपने मस्त कसरती जिस्म के साथ सोफे पर आराम से बैठा था और उसका लण्ड लोवर के अंदर तना हुआ किसी की मस्त चुदाई के लिए तैयार था।मैं ठंड का बहाना बनाते हुए उसके और नज़दीक हुआ और मैंने रज़ाई को और दबोच लिया. एजेंट ने बोला- तू टेंशन मत ले… प्राइवेसी होगी पूरी… वीडियोज बस तेरी प्रमोशन के लिए हैं. ”बस थोड़ी सी और हिम्मत रखो बेटा, दर्द अभी ख़त्म हो जाएगा फिर तुझे एक नया मज़ा मिलेगा.

सेक्सी बीएफ गांव वाली इस धक्के के साथ ही उसका लंड मेरी गांड में और ज्यादा गहराई तक घुस गया. तभी मेरा फोन बजा और उसने मुझे नीचे पार्किंग में पैसे देने बुलाया।मैं भाभी से पैसे लेकर तैयार होकर नीचे गया तो देखा वो अपनी नई हीरो की रेंजर सायकल से टिक कर खड़ा हुआ पैसे गिन रहा है और आसपास 4-5 लोग खड़े हुए हिसाब करवा रहे हैं।यार वो बिल्कुल छोटा हीरो की तरह लग रहा था… उसकी उम्र कम थी लेकिन हरकतें किसी बड़े हीरो जैसी… सब लोग उससे हंसी मजाक कर रहे थे… उसकी बातों से वह मुझे नादान लगा.

बिल्कुल नंगी सेक्सी वीडियो

फिर मैंने उसे अपने ऊपर आने को बोला और लंड बिना निकाले पोजीशन चेंज की और ऊपर-नीचे होते हुए लंड पर कूदने लगी. मैंने तुरंत उसके होंठों को अपने होंठों से दबा दिया और थोड़ी देर रुकने के बाद दुबारा मैंने एक और ज़ोरदार धक्का दिया. करीब 6 महीने बाद कॉलेज की छुट्टियाँ हुईं तो मैंने उसके साथ 2 दिन के लिए घूमने का प्लान बनाया.

उसे नहीं पता था मैंने वियाग्रा खा रखी है और मेरा लंड दो घण्टे तक नहीं बैठेगा. तब अल्का रूम से निकल कर स्पून लेने गई ही थी, तो लैपटॉप देख कर बोली- ये किसका है?उन्होंने मेरे बारे में बताया. क्सक्सनक्ससो दोस्तो मैं भी अपनी आप बीती दास्तान लेकर हाज़िर हूँ आपकी कचहरी में!अब मैं एक शादीशुदा औरत हूँ.

मेरा वीर्य उसकी चूत से बह कर निकलने लगा और जब वह उठी तो ढेर सारे वीर्य से उसकी बेड की चादर भीग गई थी.

तब उसने कुछ दिन रुकने को कहा और बोली- भाभी, जल्दी अपने गांव जाएगी और भाई नाईट ड्यूटी पर होंगे, तब उनका रूम नीचे खाली रहेगा. नहीं तो पछताएगी कुंवारी चुत में चुदाने में जो मजा है वो शादी के बाद कहाँ है और एक बच्चा आ जाएगा तो हो गया काम.

मामला क्या है, ये कैसे जानता है उसे, और अगर जानता है तो उसने क्या बताया इसे?मैंने हिम्मत करके बात छेड़ते हुए कहा- अखाड़े में सब पहलवान तुम्हारे ही गांव के थे क्या?वो बोला- नहीं, मेरे गांव के 3 ही थे उनमें. सुमन ने चैन की सांस ली कि फ्लॉरा का ध्यान कहीं और था, उसने वो बात सुनी ही नहीं. उसकी चूचियाँ मेरे छाती से दबी थी, मेरा लंड उसकी चूत को छू रही थी और हम एक दूसरे की पीठ को सहला रहे थे.

मैंने अपना सारा वीर्य भाभी की और पायल की चूचियों पर गिरा दिया, जिसे दोनों ने चाट लिया.

उसकी बुर में एक अजीब मस्त सी खुशबू थी, उसे सूंघ कर मुझे बड़ा मजा आया. मेरे लंड के सुपारे को कभी वो अपने होंठों से दबाकर चूसती, कभी पूरा लंड मुँह में भरकर आगे पीछे करके लंड चूसे जा रही थी. मैं बिस्तर पर ही लेटी रही, उन्होंने उनके माल निकलने के बाद वो दोनों मेरे दोनों कन्धों पर सर रखकर लेट गए, दोनों तेज हाँफ रहे थे, मैं भी आँखें बन्द करके उन दोनों के बालों को सहला रही थी और वो दोनों मेरे बूब्स और निप्पल पर उंगली घुमा रहे थे.

सेकसी विडीयौमैं चिहुंक गई और मेरे कंठ से एक आवाज निकल पड़ी- ओह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह. सेक्स कहानी का पिछला भाग :इश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-1दोस्तो, मैं विक्की खन्ना आपने मेरे और मोनिका के बारे में पिछली कहानी में पढ़ा, मैंने मोनिका की मदद की और उसने मुझको अच्छे से जाना कि कोई उससे मुझसे ज्यादा प्यार नहीं कर सकता.

तिलक सेक्सी वीडियो

इससे उनकी हिम्मत बढ़ गई और उन्होंने धीरे से मेरे लंड को निक्कर से बाहर निकाल लिया और सहलाने लगीं. चाची एक दम से तड़प उठी थीं, वो मुझसे कहने लगीं- अब किसिंग सकिंग ही करोगे कि चोदोगे भी? मैं तेरे कमरे में ज़्यादा टाइम तक नहीं रुक पाऊँगी… अगर तेरे चचा जाग गए तो? अब और कितना तड़पाओगे. थोड़ी देर में नदीम भी झड़ गया और वो मेरी गांड में बहुत सारा गर्म माल भरने लगा.

फिर कैसे संजय ने किया?टीना- तुझे शायद पता नहीं, मगर फ्लॉरा पहले से चुदी हुई थी और उस दिन सबके साथ उसने मज़ा किया था. सुमन अब भी अंधेरे में नासमझी का नाटक कर रही थी मगर इससे क्या फर्क पड़ता है. लगता है तेरे पति का लंड ज्यादा बड़ा नहीं है जो मेरा लंड इतना टाइट जा रहा है.

बस वो आहें भरती रही- अहह बसस्स… उम्म्म्म… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह…तभी मेरा माल उसकी चुत में निकल गया और मुझे गर्म-गर्म सा लगने लगा. तेरी माँ हमसे और ना मसलने की भीख माँगने लगती थी पर हम उसकी कोई बात नहीं मानते थे बल्कि और ही मसलते थे. मैं चाहती हूँ कि मेरी पहली चुदाई बड़े आराम से हो, आप मुझे और मैं आपको पूरा गर्म करेंगे और बाद में आप मुझे चोदो.

अब तो हमेशा मैं तुम्हें चोदूँगा तुम्हारी जैसी कच्ची कली को चोद कर मेरा लंड तृप्त हो गया. मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए लेकिन अपने सेंडिल नहीं निकाले इससे मेरी गांड और ऊपर उठ गई थी.

काकू ने उन्हें बता दिया की वो लोग 7 बजे के बाद कुछ न खाएं और फ्रेश होकर रहें.

मैंने सहज ढंग से पूछा- क्या हुआ?तो नीता बोली- रुको, कुछ बात करनी है तुम से. जीजा साली की चूतनींद तो लगता था कि अब आने से रही और बहूरानी दिल-ओ-दिमाग से हटने का नाम ही नहीं ले रहीं थीं. जवान लड़की का सेक्सऐसे ही कुछ दिनों तक ये चलता रहा और फ्लॉरा को अब आराम भी मिल रहा था मगर उसकी वासना दिन पर दिन बढ़ती जा रही थी. वैसे अभी हो कहां?मैं- ऑफिस में!पीटर- मतलब अपने केबिन में हो या फ्लोर पर?मैं- केबिन में… बाकी सारे जा चुके हैं.

ये सब देखने के लिए आप सभी का सविता भाभी की सेक्स कॉमिक्स साईट पर अभी स्वागत है.

रितु दीदी ने पूछा- कैसे?मैंने उन्हें बताया कि हम दोनों नंगे हो कर एक दूसरे की गांड मारते हैं. मैंने खेत में नुकसान का जायजा लिया और फिर मैं फॉर्म हाउस की तरफ पलटा. यूं तो सारे ही पहलवान मर्दाना जिस्म के मालिक थे लेकिन रवि उनमें सबसे अलग ही दिख रहा था.

रूपा पूरी मस्ती में आ कर अपनी कमर उछाल-उछाल कर चुदवाती हुई बोली- और तेज़ कर भोसड़ी के… और तेज़ डाल ना, मजा आ रहा है एक साथ चूत और गांड चुदवाने में. तब उसने पूछा- सच सच बताना, क्या तुम्हारी अधीर वासना को आनंद, तृप्ति एवं संतुष्टि मिली?मैंने उसके होंठों के चूमते हुए कहा- मुझे कल रात के सहवास से जितना आनंद एवं संतुष्टि मिली है उतनी पहले कभी नहीं मिली थी. मेरे ज्यादा समझाने पर और शायद चुदास के चक्कर में एक दिन सुबह कॉलेज न जाकर हम होटल में गए.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स फोटो

कुछ पल रुक कर मैंने लंड आगे पीछे करके दीपिका को चोदना चालू कर दिया. यह पूरी सेक्स कहानी लड़की की मधुर सेक्सी आवाज में सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. आंटी ने बाकी बचा दूध भी डाल दिया और मैं उसको रवि के चेहरे की तरफ देखते-देखते गटक गया.

मैंने उसके दोनों मम्मों को टी-शर्ट से पूरी तरह से बाहर निकाल लिया और एक चूचे के निप्पल को मुँह लगा के चूमा, फिर निप्पल के साथ मम्मे के कुछ भाग को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैं उठा और बहूरानी को पीछे से पकड़ कर अपने से सटा लिया और गर्दन चूमने लगा.

आज तो हम दोनों की सारी मुरादें पूरी होने वाली हैं शायद।तभी मेरी हाथ में दो गिलास लेकर आ गयी. जब मैं ऊपर गया तो मैंने देखा कि मेरी सीट पे जो लड़की मेरे बगल में बैठी थी, वो बैठी हुई है और उसकी सीट खाली थी. चुदाई वाली पिक्चर वीडियो मेंआशीष ने मेरी गांड को सहलाने लगे, मेरे को थोड़ा पीछे खींचा और मेरी बुर पे अपनी जीभ रगड़ने लगे.

मैंने कहा- सर, पहली पहली बार मुझे थोड़ी तो दिक्कत होगी ही क्योंकि आपका लंड मेरे पति के लंड से ज्यादा लम्बा और मोटा है. ये सब बात सुन करमामा जी का लंडतनने लगा था क्योंकि मेरी शॉर्ट्स के नीचे वाली जाँघ का हिस्सा मामा जी के लंड पर था और मामा जी का लंड पैन्ट के अंदर तन चुका था. फिर अंकल ने उसको बिस्तर पे लेटाया और उसके नर्म होंठों को चूसने लगे.

अगर आप न्यूड क्लब में जाती है और पांच से ज्यादा लोग आपके साथ सेक्स करते हैं तो आपका आधा बिल लौटाया जाता है. इसी के चलते आज मैंने सोचा कि एक अपनी आपबीती घटना भी आप सभी से साझा की जाए.

थोड़ी देर बाद उसने एक और धक्के के साथ पूरा लंड मेरी चुत में घुसेड़ दिया.

अब टीना की कमसिन बुर ये झटके झेल नहीं पाई और उसका फुव्वारा फूट गया. रानी ने मुझे बताया था कि वो मेहता के साथ हम बिस्तर होने के बाद चलने फिरने के काबिल नहीं रह गई थी. साधु ने दोनों की चुत पर टीका लगाया, फिर कुछ मन्त्र पढ़े और अपनी धोती खोल दी.

कॉलेज स्टूडेंट सेक्स मैंने थोड़ी देर के बाद फिर से झटका मारा और पूरा लंड आंटी की मखमली चूत में घुस गया. हैलो दोस्तो, कैसे हो आप सब?मेरा नाम सैम है बदला हुआ, मैं लखनऊ उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ.

मेरे 12वीं के एग्जाम के बाद मैं फ्री सी थी और घर पर ही दिन भर रहा करती थी. लेकिन मुझे उसका टेस्ट अच्छा नहीं लगा तो मैंने मुँह से निकाल दिया और हाथ से लंड हिलाती रही. इधर मेरे साथ वाले ने मेरे बदन पे चुम्बनों की झड़ी लगा दी; साथ ही साथ वो मेरे बदन का हर अंग टटोल रहा था.

सेक्स करते वीडियो

उसने ऊपर के जंगले में से मेरी कल की चुत में उंगली करते हुए वीडियो बना ली थी. फ्लॉरा वहां से गुस्से में अपने कमरे में चली गई और जॉय वहीं बैठा उसे जाते हुए देखता रहा. थोड़ी देर बाद मामा अपने दोनों हाथ से मेरी गांड को पकड़ कर सहारा देने लगे जिससे मेरी रफ़्तार बढ़ गयी गांड ऊपर नीचे करने की, कुछ ही देर में मेरी चूत से गर्म रस की धारा निकलने लगी थी, मुझे महसूस हुआ कि मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया है, चूत में फिसलन होने से मामा भी समझ गये कि मैं झर चुकी हूँ.

इतनी करीब से उस सुन्दर और मनमोहक लिंग को देख कर मैं कुछ देर के लिए अपने सभी दुख भूल गयी और मेरे शरीर में झुर-झुरी सी होने लगी. उसे खूब मजा आ रहा था, उसने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और चूसने लगी, इससे मुझे गुदगुदी हुई तो मैंने उसे धक्का देना चाहा.

भाई स्मार्ट भी हैं जवान भी हैं और उन्हें भी तो चुदाई के लिए मन करता होगा.

भाई मेल पर बोला कि वो अपनी बहन को नहाते हुए भी देखा करता है, उसने बाथरूम के दरवाजे में एक छोटा सा होल बनाया हुआ है. मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और उसे निकाल कर एक तरफ रख दिया. वो मुझे एक हफ्ते से ज्यादा अपने पास नहीं रखेगा क्योंकि उसे हमेशा नई नई लड़की चाहिए.

या सबको दिखा दूँ?वह वीडियो देखते ही मैं शांत हो गई और बोली- अगर तुमने मेरी चुदाई ही करनी थी तो अकेले कर लेते इस सब के साथ क्यों!सुरेश बोला- मुझे तुम्हारे साथ ग्रुप सेक्स करना था. मम्मी-पापा फिर गाँव गए और वहाँ पता चला कि उसके ससुराल वाले उसे अब रखने को रेडी नहीं हैं तो वो गाँव में ही अपने घर पर ही अपने बच्चे के साथ रहने लगी. जिसे तुम बहुत चाहते हो या प्यार करते हो?मैं शर्मा कर बोला- मेरी कोई गर्ल फ्रेंड नहीं है.

मैंने नेहा के सामने ही सोनिया के होंठों को अपने होंठों में लिया और सोनिया भी गर्म सी हो गई.

सेक्सी बीएफ गांव वाली: मैंने उससे कहा- यह क्या कर रही हो?उसने कहा- मुझे स्वीटी की चुदाई की आवाजें और चीखें सुनाई दे रही थीं, क्योंकि मैं रूम के बाहर ही खड़ी थी. जब तक मौका नहीं मिलता, तब तक रोज ही बस उसके मम्मों को उछलते देख कर और थोड़ा टच करके ही काम चलाना पड़ रहा था.

दोस्तो, जब माल निकल जाता है, तब होश आता है और गांड भी फटने लगती है. उसके टट्टे मेरे चहरे से टकरा रहे थे जिससे चपचप की आवाज पैदा हो रही थी. पप्पू का हाथ नीता की आँखों, होंठ, गाल, गर्दन, मम्मों से भर सीना, नंगा पेट, नीता की गोल और गहरी नाभि सहलाते हुए अब नीता की बिना झाँटों की चिकनी चूत पर आया.

तब जाकर टीना ने आँखें खोलीं और एक बार तो वो भी सोच में पड़ गई कि संजय ऐसा कैसे कर सकता है.

जब उसकी चुत के पानी की आख़िरी बूँद भी फ्लॉरा ने चूस ली, तब उसने आँखें खोलीं- ओह दीदी थैंक्स. सुमन का खुला हुआ मुँह देख कर गुलशन जी से रहा नहीं गया, वो उसके पास खड़े हो गए और धीरे से अपना सुपारा उसके होंठों पर टिका दिया. हम दोनों के बैठने के तुरंत बाद ही मैंने मौसी से पूछ लिया- मौसी बताओ ना?मौसी ये सुन कर मुस्कुरा दीं और बोलीं- हाँ बाबा बताती हूँ.