भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,राजस्थानी सेक्सी मारवाड़ी

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी ब्लू सेक्सी बीएफ: भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ, शरद की ये बात मुझे बहुत अच्छी लगती थी कि चाहे कुछ भी हो जाए, वो मुझे पूरी संतुष्टि देता था.

पेशाब खुलकर आने की दवा पतंजलि

उस दिन दो घंटे में मैंने मौसी को 3 बार चोदा और हम दोनों थक कर नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेट गए. हिंदी सेक्सी गाउन कीये सब मैंने सिर्फ पोर्न वीडियोज में देखा था मगर अब मेरे साथ असल में हो रहा था.

मुझे ऐसा लगने लगा कि कहीं इस बार भी लंड का लावा उसके मुँह में ही न निकल जाए. सेक्स वीडियो अंग्रेजफिर मैंने उसकी टाईट जींस को जल्दी से उतार दिया तो वो सिर्फ पैन्टी में रह गई थी.

तुम उनके बारे में पता कर लेतीं तो शायद मुझे ये सब कहने की जरूरत ही पड़ती.भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ: भाई घर में ना है … वा बड़ी बहन के घर जा रहा सै, तो मैं मौका पाकर तेरे गेल आ ली.

फिर जेठ जी ने मेरी पेंटी भी निकाल दी और मैं उनके सामने एकदम नंगी हो गयी थी.मैं खुश हो गया और बोला कि तुम्हारा काम है कि वो मेरे लौड़े को अपने मुँह में ले.

इंग्लिश वीडियो सेक्स फिल्म - भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ

धीरे धीरे खुशबू का दर्द कम होने लगा और वो आह हहह उम्मह हहह औउहह हह करके लंड लेने लगी।अब मैं उसकी चूचियों को बेदर्दी से मसलने लगा और चूमने लगा।कुछ मिनट के बाद अब मैंने खुशबू को उठाकर घोड़ी बना दिया और उसके पीछे आकर दोनों हाथों से उसके चूतड़ खोल कर चूत में लंड घुसाया.एक, जिसमें 2 लोगों के बैठने की जगह होती है … और दूसरी, जिसमें 4 लोगों की.

रोहन- बिल्कुल … तू मेरी रंडी है साली रखैल … जया कुतिया … मादरचोद … अह्ह ह्ह्ह्ह … चुस लंड भैन की लौड़ी. भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ मैंने उसकी जांघों को चौड़ा किया और अपना पूरा जोर लगा कर एक ही धक्के में अपने साढ़े छह इंच के लौड़े को उसकी चूत में घुसा दिया.

मैंने उनसे जीभ लड़ा कर ऐसे खेल रहा था, जैसे लड़की के होंठों को लिपलॉक कर रहा होऊं.

भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ?

मुझे उसकी बात सुनकर बहुत बुरा लगा, लेकिन फिर भी मैं समझ गया कि शायद इसे मुझसे सच्चा प्यार है. इधर मेरे पति को अपने काम से फुर्सत ही नहीं मिलती है मुझे चोदने के लिए … इसलिए मैं आज उनके बड़े भाई के सामने थी. फिर मैंने धीरे धीरे से पेटीकोट को खींचा और अर्शिया की जांघों के बीच से पेटीकोट को छुड़ा दिया.

दो मिनट बाद मैंने दीदी को किस करते हुए उनसे पूछा- दीदी, आपको मजा आया ना?दीदी- हां वीरू मेरे को तो बहुत मजा आया … पहली बार ऐसी धमाकेदार चुदाई हुई है. उनका लंड मेरे मुँह के अन्दर पूरा समा गया था, मेरी सांस ही नहीं आ रही थी. मगर वो मेरा लंड बड़ी नफासत से ऐसे चूसने लगी, जैसे जन्मों की प्यासी हो.

लिंग को ढीला छोड़कर मैंने अपनी तर्जनी उंगली उसके लिंग के छिद्रित भाग पर ले आई. मैं समझ गया कि उस तरफ भी मामला गर्म है, इसी समय हथौड़ा मार देना चाहिए. रंगोली तड़प उठी उसके मुँह से कामुक आवाज़ निकल पड़ी- आआह …फिर मैंने दीवार पर टंगे मोरपंख के बंच से एक ले लिया और उससे रंगोली के बदन को छुआता चला गया.

जब ट्रेन मन्ज़िल की ओर चलना शुरू हुई तो मैंने भी शीना भाभी के दूध से सफेद मम्मों पर अपने हाथ रख दिए. जैसे ही आंटी को अहसास हुआ कि मैंने भी अपने लण्ड की शेव की है तो कटीली निगाहों से देखकर मुस्कुराने लगीं.

उसकी टी-शर्ट कमर से उठी हुई थी और शॉर्टस भी मुड़ी हुई जांघों पर ऊपर को हो गया था.

उन्होंने मुझे अपने पीछे पाया तो वो मेरा विरोध करने लगीं और मेरा हाथ हटाने लगीं.

इसलिए मैंने तुम्हें इशारा कर दिया था कि जीजा जी के आने से पहले अपनी बहन की चुत चोदने का मजा ले लो. मैंने अपनी उंगली सुमन की बहन सरोज की गांड के सुराख पर रखी और उसकी गांड को सहलाने लगा. तो मैंने उनको नीचे लिटाया और फिर से लंड चुत में पेलकर चुदाई का प्रोग्राम चालू कर दिया.

ये भाई बहन सेक्स की कहानी मेरी और मेरी अपनी बहन आर्या की है, मैं उसे प्यार से आरू कहता हूँ … और वो मुझे प्यार से मनु भाई कहती है. उसने पीछे से मेरा टॉप पूरा ऊपर कर दिया और अपना 7 इंच का लंड मेरी गांड पर रगड़ने लगा. जैसे ही मुझे पता चला कि हमारे घर में शादी है तो मैं तुरंत अपने शहर एटा लौट आया.

तभी मेरे नज़र अपने कमरे के दरवाजे पर जा पड़ी … जहां मैंने देखा हमारी काम वाली बाई दीवार से सटी अपने एक हाथ को अपनी दोनों जांघों के बीच की जगह को बार बार कुदेरने की कोशिश कर रही थी.

अंकल भी मां को गाली देते हुए लंड चुसाए जा रहे थे- आह सुशीला चूस ले भैन की लौड़ी. जब तक लंड मुँह के अन्दर रहा, तब तक मैं आशीष के लंड की गोलियां भी मसलती रही. मैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था.

वह मेरे पास फ़ाइल लेकर आज फिर से आई और जानबूझकर फ़ाइल मेरे ही पैरों के पास गिरा दी. गांड मारते मारते मैंने तीन इंच लंड बाहर निकाला और ऊपर से लंड पर तेल की धर टपकाते हुए गांड लंड दोनों को तेल में भिगो लिया. मैं खुद को रोक ही नहीं पाया और अगले ही पल मैंने झुक कर उसकी चूत पर अपने होंठ लगा दिए.

”मुमताज मेरे लिए तो तुम आज भी वही मुमताज हो, आओ, बुर्का निकालकर आओ और नन्हीं मुमताज की तरह मेरी गोद में बैठो, मुझे अच्छा लगेगा और तुम्हें भी.

मैंने उसको कंधे से थोड़ा हिलाया, लेकिन अर्शिया का कोई रेस्पॉन्स नहीं आया. कुछ देर बाद मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी गांड को पकड़कर उठा दी.

भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ खिड़की पर जाली लगी है, जो रोशनी वाली साइड से दिखती है … लेकिन अंधरे वाली साइड से नहीं. दोस्तो, आपको मेरी ये Xxx भाभी हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ सक्सेना ने मेरे पीछे मेरी टांगों को चौड़ी किया और मेरी गांड खोल कर उस पर थूक दिया. भाभी के मुँह से जोर की चीख निकल पड़ी- आआह मर गई मम्मे रे … आआह … निकाल लो … आह.

ये सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी उस समय की है, जब मैं कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था.

बिहारी एक्स एक्स वीडियो

शीना की चूत भट्टी की तरह गर्म हो चुकी थी और उसने अपने मुलायम हाथों से मेरे लम्बे लंड को मसलकर लोहे की रॉड बना दिया था. दीदी बोलीं- क्या हुआ मेरे विक्की बाबू को?तब विक्की बोला- कुछ नहीं भाभी. धीरे धीरे दबाव बनाते हुए मैंने अपना लिंग उनकी चूत में डालना शुरू कर दिया.

मौसी को अपनी चुत में लंड लेने की जल्दी मची थी लेकिन लंड देख कर उनका जी ललचा गया. अब उईईई उईईई उईईई उईईई करके समारा लंड लेने लगी, बोली- राज तुम मस्त चोदते हो! और चोदो मुझे! आहहह आहह और फक मी फास्ट फक मी!मैंने उसे उठाकर घोड़ी बनाया और क़मर के नीचे से हाथ डालकर चूचियों को मसलने लगा और चोदने लगा. जैसे कि मैंने बताया था कि सौम्या काफी भोली भाली थी, विजय पूरा दिन काम के सिलसिले से बाहर रहता था.

उसने भी अपनी गांड मेरे लंड पर सटा दी और धीरे धीरे लंड पर रगड़ने लगी.

उसने मेरे कहने पर स्पीड बढ़़ाई तो मैंने सही टाइमिंग देखकर मुमताज को कंधों से पकड़कर नीचे की ओर झटका दे दिया. आंटी आह आह करके मेरे सर को अपनी चुत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थीं. ऐसा कहकर मैं बाहर आ गया और घर पर कॉल करके मम्मी पापा को गुड न्यूज दी कि मेरी जॉब लग गई है.

फिर जांच कराके जब मैं टेबल से उतरी, तो अंकल ने अपने रुमाल से मेरे पेट पर लगी जेल को साफ किया. अब तो मेरा मन भर गया है उसके साथ!उसने कहा- अभी से आपका मन भर गया?मैंने कहा- हाँ!उसने कहा- आपके बच्चे कितने हैं?तो मैंने कहा- अभी प्रियंका 7 महीने से प्रेग्नेंट है. लेकिन जब वो नहीं होते है तो अपने हाथों को दोनों जांघों के बीच फंसाकर चूत से खेलती रहती हूँ, इसी खेला खेली में नींद आ जाती है।लेकिन शरद जिद करने लगा.

थोड़ी देर बाद मैं मॉम के मुंह में ही झड़ गया मॉम ने सारा रस अपने कंठ में बसा लिया. पहले जो चूत की तितलियां अन्दर थीं, वो लाल होकर बाहर आ गयी थीं और अन्दर का छेद एकदम से फैल कर बड़ा होकर एकदम कत्थई लाल हो चुका था.

वो मेरी कमर को सहला रहे थे और फिर वो मेरे लहंगे के ऊपर से मेरे से मेरे पैर की ओर आने लगे थे. गाड़ी से उतरते ही मैं असीम से बिना कुछ कहे सीधे अपने बेडरूम में आ गयी और बिस्तर पर लेट कर बस यही सोच रही थी कि अगर शरद का कॉल न आया होता तो शायद मैं कुछ ऐसा कर बैठती जिसका मुझे ही पछतावा होता. मेरी पिछली कहानी थी:किरायेदार लड़की की चुत गांड चूसकर मस्त चुदाई कीयह होम ट्यूटर सेक्स कहानी मेरी शुरुआती चुदाई की है.

दोस्त मेरी बीवी को चोदते हुए उससे बोला- शादी में अपनी बीवी को छोड़ कर तेरी गुलाबी चुत याद आएगी भाभी!इस पर मेरी बीवी गांड हिलाते हुए हंसकर बोली- सिर्फ़ शादी में ही नहीं, मैं तुम्हारे हनीमून में भी साथ चलूँगी.

सिस्टर Xxx सेक्स कहानी कैसी लगी कृपया कमेंट में बताइए, या मेल कीजिएगा. उसके बाद मौसी ने अपनी चार सहेलियों की चुदाई भी मुझसे करवाई और एक दो बार तो हमने थ्री-सम सेक्स भी किया. मैं डरते हुए बोला- जी ठीक है सरदार … मैं आज आपकी सेवा में हाजिर हूँ.

वो मुझसे कहने लगीं- अनुज, आज मैं एक सही और मेरे काबिल मर्द की बांहों में हूँ. शरद की ये बात मुझे बहुत अच्छी लगती थी कि चाहे कुछ भी हो जाए, वो मुझे पूरी संतुष्टि देता था.

ब्लू फिल्मों में चुत चुदाई, गांड चुदाई होती देखी थी, तो मैं सोचता था कि काश मुझे भी किसी की चुत गांड मारने को मिल जाए तो मैं भी करके देखूँ कि कैसा मजा आता है. उन दोनों की जुगलबंदी जमी और उन दोनों ने मेरे कमरे पर आने का तय कर लिया. शायद वो भी मेरा मन भांप चुकी थीं, मगर मेरे मन में अब भी एक डर सा था.

चुत की चुदाई

हम अब एकदूसरे को इशारे से ही आंखों के इशारों से एक-दूसरे को थैंक्स कर रहे थे.

मां मेरी काफी चुदक्कड़ थीं … ये मुझे जब पता चला जब मेरे डैड बिज़नेस के सिसिले से शहर से बाहर गए. मैं इतने साल से मैं अशफाक़ के घर आ रहा था लेकिन आज पहली बार सेक्सी आंटी की चुदाई को लेकर मेरे ख्यालात गंदे हो रहे थे, वो बाथरूम में नंगी होंगी यह सोचकर ही मैं उत्तेजित होने लगा. सफर में उस मस्त माल का साथ था तो पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों ग्वालियर पहुंच गए.

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बाथरूम के दरवाजे के पास जाकर एक झिरी से झांक कर देखा, तो आंटी नंगी नहा रही थीं. इस वक्त मुझे खुद एक लंड की जरूरत थी … जो मेरे सामने मुझे चोदने के लिए रेडी था. सेक्सी पंजाबी एचडीमैंने उनको हटाने की कोशिश की … क्योंकि मैं अभी-अभी झड़ी थी और पूरी तरह से गर्म भी नहीं हुई थी.

मैं उनकी दुकान से पारले जी बिस्कुट लेने गया था जो ऊंचाई के ऊपर रखे हुए थे. उसने काफी देर तक मेरी चुत चोदी और अपना वीर्य मेरी भोसड़ी में ही डाल दिया.

वो फ्लैट फुल फर्नीचर वाला था, हम दोनों ने एक घंटे में अपना सारा सामना जमा लिया और किचन को भी लगभग रेडी कर लिया था. इस बार रोशन ने जैसे तैसे करके खुद को संभाला, लेकिन इस बार गोगी ने अपनी मां को ठीक से देख ही लिया था. कुछ देर बाद मूवी में कार सेक्स का सीन आया … जिसमें जॅक और रोज़ गाड़ी के अन्दर Xxx चुदाई करते हैं.

ये मेरी पहली यंग सिस्टर सेक्स कहानी है, इसलिए कोई गलती हो तो माफ कीजिएगा. आप सभी को मेरी सेक्स कहानीमेरी अन्तर्वासना- कुछ अधूरी कुछ पूरीबहुत पसंद आयी. मैंने अपने आपको काम में इतना मग्न कर लिया था कि मैं पहले से करीब 50 प्रतिशत ज्यादा देर तक ऑफिस में काम करने लगी थी.

उसकी गरम चुत में मेरा पिस्टन तेजी से अंदर बाहर होता हुआ दिख रहा था.

मैं एक टेबलेट लेकर उनके रूम में गयी और उन्होंने मुझे नाइटी में देख लिया. मेरा लौड़ा इतने सारे वारों को एक साथ न झेल सका और खड़ा हो गया जोकि मैम के हाथ के ठीक नीचे अपनी हरकत कर रहा था.

मैंने आंखें खोलकर देखा तो ये उनका वही दोस्त था, जो बाहर लॉबी में बैठा था. इससे अब किसी को कोई शक भी नहीं होने वाला था कि मैं आंटी के घर क्यों जाता हूँ. मैंने सुमन को इशारा किया कि वो मेरे लौड़े को ज्यादा थूक लगा आकार खूब गीला कर दे.

उसने अपने बेडरूम को एक हनीमून रूम की तरह सजाया था और खुद भी सजधज के पलंग पर बैठी हुयी थी. हम दोनों को चुदाई का पूरा मज़ा आ रहा था और मैं तो दो बार झड़ भी चुकी थी. तुम उनके बारे में पता कर लेतीं तो शायद मुझे ये सब कहने की जरूरत ही पड़ती.

भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ तबादले की खबर हम दोनों के लिए किसी सदमे से कम नहीं थी, एक तरफ तो तबादले के साथ साथ शरद की तरक़्क़ी भी हुई थी, जिससे उसकी आमदनी के साथ उसका प्रोमोशन भी हो गया था. मुझे महसूस हुआ कि कहीं मेरा निकल ना जाए तो मैंने अपने लंड को ऊपर तक ले जाकर फिर से ठांसा, तो नील के मुंह से ‘आहह आआआह …’ करके एक गहरी और लंबी सिसकी निकली.

हिंदी सेक्सी वीडियो चुड़ै

शाम को उनका फोन आया तो उन्होंने पूछा- कैसा लगा था सैट?मैंने कहा- बहुत ही मस्त!वो खुश हो गए. मैंने उनसे कहा- ठीक है, आप टाइम निकालकर फिर से दिल्ली आ जाइए, मैं भी आ जाऊंगी. वो मेरी तरफ देख कर बोली- क्यों तुम एसी में ठंडे हो गए क्या?मैंने उसका मतलब समझ गया और बोला- कहां यार … मेरी तो गर्मी बढ़ गई.

मैंने अंकल जी से पूछा- मुझे सनसनी सी क्यों हो रही है?तो वो बोले कि ये तुम्हारा पहली बार है … इसीलिए तुम मस्त हो रही हो. फिर मैं ये सोचता हुआ घर चला गया कि कल ज़ीनिया की चुत चुदाई का मजा मिलना पक्का हो गया है. कार्टून की सेक्सी वीडियोमैंने हामी भर दी और दीदी को अपने साथ बाजार ले जाकर उनको खूब घुमाया और खरीदारी करवाई.

”मैंने तीन लार्ज पेग बनाये, तीनों में से एक एक घूँट भरा और उनको पकड़ा दिया.

[emailprotected]बॉयफ्रेंड चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरे बॉयफ्रेंड से मेरी दोनों बहनें चुद गईं- 2. उसने उठ कर खुद को साफ किया और मेरा लंड भी बॉक्सर से साफ करके मेरे होंठों पर किस करके मेरी बांहों में लेट गयी.

फिर डायरेक्टर रश्मि के ऊपर चढ़ कर उसके बोबों में लंड रगड़ने लगा और उसके सिर की तरफ़ से कैमरा लिए राजू ने मेरी बीवी के मुँह में लंड दे दिया. उन्होंने मम्मी को मुर्गा बनाने के लिए दे दिया और दारू की बोतल देते हुए मुझसे बोले कि इसे बाहर हॉल में रख दो और कुछ गिलास व पानी वगैरह भी सजा देना. अब मुझे कुछ और भी चाहिए था, जिससे दिल में जल रही आग को शांत किया जा सके.

मैं आज से पहले किसी लड़की के साथ नहाया नहीं था, तो मुझे उसकी ये बात सुनकर बड़ा अच्छा लगा.

अब आगे गाँव की लड़की की चूत गांड कहानी:सरोज बोली- के सोच रया है … यो बात तो हम दोनों के बीच रहेगी … तू डर ना … मेरी शादी पहले हो ली. ”रोशन के सामने ही गोगी ने अपने नंगे पेट पर हाथ फिराते हुए बोला जबकि रोशन का ध्यान तो उसके खड़े हुए लंड पर था. वो लंड को एक खिलाड़ी की तरह गपागप गपागप चूसने लगी और मैं उसकी चूत चाटने लगा।थोड़ी देर बाद हम दोनों ने पानी छोड़ दिया और चाट कर पी लिया।आज समारा पूरे 1 महीने बाद लंड लेने वाली थी।उसने लंड को चूसकर तैयार कर दिया और बोली- राज, अपनी समारा की प्यास मिटा दो।मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया.

साउथ में सेक्सी वीडियोकुछ देर बाद उसने मुझे उठाया और मेरी ड्रेस उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया. जैसे ही मेरा शेर गुफा में गया, बाई की जोर से आवाज निकली ‘आह … ओह्ह.

દેશી સેકસી ફીલમ

मैं चुत की पहली छटा देखने की नियत से धीरे धीरे पैंटी उतारने लगा था. अब वो भी मादक आवाजों में मस्ती फैलाने लगी थी- आह राज और तेज़ तेज़ चोदो … आहह आह ओहहह और तेज़!मैं उसकी गांड पर थपकी देने लगा. लेकिन भाभी को अब झड़ने के बाद दर्द हो रहा था तो उन्होंने कहा- जल्दी करो!तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी जोर से चोदने लगा.

मुझे अजीब सा लगा क्योंकि ऐसा पहली बार हो रहा था और अभी अभी सुशी जी ने लंड चूसने से मना करते हुए अपनी गुस्सा भी दिखाई थी. दो ही मिनट बाद निशा ने एक बार फिर मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया और चूत से अपना रस गिरा दिया. मैंने उन्हें भी उठाया और मुझे हल्का प्यार करने के बाद वह मुझे घर छोड़ने के लिए आ गए.

मैं जल्दी से उठकर बाथरूम गयी और फ्रेश होकर, नाइटी पहन कर सामने के कमरे में आ गयी. बोलो तुमको बकरी बना दूँ?कुछ भी बना दो, बस प्यार करते रहो, आज बहुत दिनों बाद आरजू पूरी हुई है. फिर वो बोलीं- अच्छा हाथ चला रहे हो … कभी हमें भी तो उसके दर्शन कराओ.

मेकअप में लाल नाख़ूनी और लाल रंग की लाली लगा कर इस तरह से तैयार हो गई, जैसे आज मेरी सुहागरात हो. पहले एक फिर दो फिर तीन उंगलियों से मैंने मैडम की गांड को ढीला किया.

मैंने उसके कान में कहा कि ये मेरा औज़ार है और इससे हम मर्द, चुत चोदते हैं.

अब तक चूंकि मैम पूरी भीग चुकी थीं, तो साड़ी हटाने में उनका कोई विरोध नहीं हुआ. वेस्ट इंडिया सेक्स वीडियोकुछ मिनट तक चुत चाटने के बाद रूबी आंटी फिर से चुदने को पागल हो गईं; वो चोदने के लिए कहने लगी थीं. करीना के सेक्सी फोटोहम दोनों ही जहां जगह मिल रही थी, उस स्थान को अपने थूक से गीला करने लगे. तभी कैमरामैन ने भी अपनी पैंट उतार दी और रश्मि के हाथ में अपना लंड दे दिया.

मैंने अर्शिया से बोला- तूने पहले कभी सेक्स किया है?वो बोली- हां भैया आपने शायद नोटिस नहीं किया है, मेरी पुस्सी खुली हुई है, मतलब मेरी सील टूटी हुई है.

भाभी की चूत एकदम गीली होने की वजह से मेरी उंगली फिसलते हुए अन्दर चली गई और उसके मुँह से आह निकल गई. मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बाथरूम के दरवाजे के पास जाकर एक झिरी से झांक कर देखा, तो आंटी नंगी नहा रही थीं. फिर उसके बाद फिर से यह देखने के लिए करेंगे कि चौकी में ज्यादा मजा आया या मेरे रूम में.

मैंने कहा- हां रहने दो … आज ही सेक्सी लग रही हूँ, इससे पहले तो मैं सेक्सी थी ही नहीं, इसी लिए आज तक आपने मेरे लिए एक शब्द तक नहीं बोला. तुझे तेरे मालिक यानि मेरे लंड को पाने के लिए अभी और मेहनत करनी पड़ेगी. अच्छा बताओ तुमको कितनी उम्र की गर्लफ्रेंड चाहिए?मैंने कहा- उम्र से क्या फर्क पड़ता है.

गांड मारते हुए दिखाइए

रोशन अपने गोगी पुत्तर के बड़े लंड को उसकी चड्डी के ऊपर से ही अपनी आंखों से मापने की कोशिश करने लगी. अपना एक हाथ मैंने अपने आंखों पर इस तरह से रखा था कि मैं यह देख सकूं कि निशा का रिएक्शन क्या रहता है. मैंने पेशाब करके लंड उसके मुँह की तरफ कर दिया और मुठ मारने जैसे आगे पीछे करके लंड हिलाने लगा.

मस्त चुत थी!मैंने अगले ही पल अपना लंड निकाला और दीदी की सास की टांगों को फ़ैला दिया.

सुबह 6:00 बजे जब हमारी नींद खुली, तब वह मेरे मम्मों के ऊपर मुँह डाले सोए हुए थे.

हम दोनों के परिवारों में काफी अच्छे सम्बन्ध थे, इस वजह से मैं ज्यादा हिम्मत नहीं कर पा रहा था कि कहीं हमारे परिवारों के बीच कोई कटुता न पैदा हो जाए. यह बात सुनने के बाद मेरे जान में जान आयी तो मैं गाड़ी चालू करके चलाने लगा. चंद्रप्रभा वटी के फायदे बताएमैम ने मुझसे कहा- जब तक बारिश नहीं रुक जाती, तुम मेरे घर पर ही रुक जाओ.

मेरे लंड के हर झटके पर अलीज़ा की चूत और मुँह आवाज़ बढ़ती ही जा रही थी. उस दिन रेखा आंटी की बोल्डनैस ने मुझे पागल बना दिया था … मैं उनको चोदना तो चाहता था लेकिन मौका नहीं मिल सका था. मैं जैसे ही सुशी जी के पास गया, उन्होंने मुझे अपने सीने से लगा लिया और जोर से पप्पी करने लगीं.

उसके बाद बारिश में भीगती हुई मैंने अपनी बहन आरू को गोद में उठा लिया और उसने भी मुझे जोर से पकड़ लिया. मैं भी झट से बोल पड़ा- मुझको भी अपनी दीदी की चूत का बर्थडे मनाना है.

इस बार उन्होंने मेरे लंड पर पहले एक क्रीम से मालिश की जिससे मेरे लंड पर कुछ ज्यादा ही चमक आ गई.

जब मैंने ये बात उन्हें बताई तो उन्होंने कहा कि मैं भी तुम्हें आज घर नहीं जाने देना चाहती हूँ. यह बात सुनने के बाद मेरे जान में जान आयी तो मैं गाड़ी चालू करके चलाने लगा. मैं खुश हो गई और दूसरे दिन लाल रंग की साड़ी पहन कर इंटरव्यू देने चली गयी.

सेक्स व्हिडिओ मारवाडी 3सम सेक्स कहानी मेरी गर्लफ्रेंड की मम्मी और मामी की एकसाथ चुदाई की है. मैंने पूछा- अब खुली नजरों से भी देखना चाहोगी?वह बोलीं- केवल दिखाओगे या और भी कुछ करोगे?मैंने उनसे कहा कि अभी ये आपका है … इसके साथ आप जो भी करना चाहो, वह कर सकती हो.

इतने में ही अमिता के मुख से कामुक आवाज निकल आई- अअअअअ सौरव दर्द हुआ!मैं जानता था कि उसे दर्द होगा. हम दोनों एक दूसरे को ऐसे देख रहे थे मानो हमसे अभी अभी कोई बहुत बड़ा पाप होने से बच गया हो. साथ में हम दोनों लोग बीच बीच में एक दूसरे के गुप्तांग भी सहला रहे थे.

बिहारी चुड़ै

कुछ देर के बाद भी वो ऐसे ही मुझसे लिपटे रहे और धीरे धीरे हम फिर यहां वहां की बात करने लगे. मैंने उनकी आंखों में देखा और उनका इशारा मिलते ही लंड को रफ्तार दे दी. पर मेरा मन उन चाची को छोड़ने का नहीं कर रहा था मैं उनके साथ सेक्स करना ही जा रहा था.

मैं हर तरीके से अपने आपको अपनी नई जीवन शैली के हिसाब से ढालने में व्यस्त हो गई थी. आंटी को गांड फाड़ चुदाई में काफी देर तक दर्द हुआ मगर बाद में आंटी को अच्छा लगने लगा.

दोस्तो, मेरी कंपनी में एक शादीशुदा औरत काम करती थी, उसकी उम्र कोई 23 साल होगी.

अब दोस्तो, जब मेरी दोस्ती अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड से टूट गई, तो मैंने एक और लड़की पटा ली. मैं अपना एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी चूची को मसल रहा था और दूसरे हाथ से उनके चूतड़ों को चपाट लगा रहा था. उसका नाम असीम है और वो हमारे ही मकान के पीछे सर्वेंट क्वार्टर में रहता है.

शायद इसको उसने ग्रीन सिग्नल समझा और अपना लिंग मेरे कंधे की कोर पर सटाकर धीरे धीरे रगड़ने लगा. तभी निशा ने अपना हाथ नीचे करके मेरे लौड़े को पजामे के ऊपर से पकड़ लिया. दोस्त बनोगी न मेरी!रानी- आपने इतना कुछ किया है मेरे लिए … तो न करने का सवाल तो है ही नहीं.

मैं कभी भी तुम्हें किसी भी बुरी स्थिति में नहीं फंसने दूंगा … तुम्हें मजा आएगा.

भाई बहन वाला सेक्सी बीएफ: दोपहर को मुझे गर्मी लग रही थी तो मैं कपड़े बदलने के मकसद से ऊपर कमरे तक गई. अब तक चूंकि मैम पूरी भीग चुकी थीं, तो साड़ी हटाने में उनका कोई विरोध नहीं हुआ.

मुझे बहुत प्यास लगी है भाई … उठो न!फिर मैं उठकर दीदी के लिए पानी लाया और खुद भी पिया. वो जल्दी से मेरे ऊपर आ गए और उन्होंने सीधे मेरे होंठों पर होंठ रख दिए. उसने मुझे कैसे पटाया और मुझे अपनी गांड फड़वायी?हैलो साथियो, मैं अंजान बहादुर एक बार फिर अपनी पहली गे सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

दोस्तो, आपको मेरी ये Xxx भाभी हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

मेरे सामने आतीं, तो पौंछा लगाते सामने अपनी साड़ी का पल्लू जानबूझ कर नीचे गिरा देती थीं और फिर वैसे ही दूध दिखाती हुई पौंछा लगाने लगती थीं. फिर भाभी ने मेरे लंड को अपनी चूत पर घिस कर रस से चिपचिपा करके एक दबाव बनाया और अपनी चूत में मेरा लंड लगाकर जोर से दबा दिया. मैं जानता था कि फिलहाल यही मौका है था दीदी को चोदने का, इसलिए मैंने जरा भी देरी नहीं की थी.