बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,एग्रो सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मॉर्निंग ब्रेकफास्ट: बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ, अपने होंठों को मैं दीदी के होंठों से मिलाने वाला ही था कि दीदी बोल पड़ीं- वीर अब रहा नहीं जाता … प्लीज चोद डालो मुझको!मैं भी दीदी के कान पास बोला- हां मेरी चूत की रानी, जरा अपनी टांगों को तो फैलाओ.

राजस्थान की ब्लू फिल्म सेक्सी

क्योंकि वो मुझसे चुदना चाहती थी, ये बात बाद में अलीज़ा ने मुझे बताई थी. महाराष्ट्र की सेक्सी फिल्मेंचाची मेरे सामने घोड़ी बनकर अपने चूतड़ ऊपर उठाकर चूत को खोल कर बेड पर लेट गई.

मैं शुरू से ही लड़कियों के साथ खेला और पढ़ता रहता था, तो मेरा स्वभाव लड़कियों जैसा हो गया था. सेक्सी डॉक्टर की सेक्सी वीडियोचुत में उंगली के साथ ही उसकी मीठी कराह निकल गई- आहह धीरे …मैं उसके पेट को चूमते हुए उसकी चूत पर आ गया.

दूसरी ओर सोढ़ी, रोशन की गांड मारते मारते ही उसके बोबों को अपने पहाड़ी जैसे हाथों से कभी दबोचता, तो कभी एक एक करके दोनों बोबे चूसता.बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ: मैं सोच रहा था कि इसकी इस छोटी सी चूत में मेरा साढ़े छः इंच का लौड़ा कैसे घुसेगा.

मैं जैसे ही आया तो सरोज ने सर पर पल्लू डाल लिया और गर्दन नीचे करके बैठ गई.चूंकि चाचा चाची दोनों जॉब पर चले जाते थे और हम पूरा दिन नंगे रह कर मस्ती करते थे.

सेक्सी वीडियो गंदी वीडियो - बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ

टू गर्ल्स वन बॉय सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं मकान मालकिन की बेटी को चोद रहा था कि उसकी बड़ी बहन ने देख लिया.उसने मुझे बैठने का इशारा किया, अब मैं उनके स्तनों को अपने मुँह में लिए था.

अब मेरे झटकों की स्पीड तेज होने लगी थी और मैं जोर-जोर से उसकी चूत में झटके मारे जा रहा था. बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ तो अर्शिया ने ही मम्मी को सजेस्ट किया कि मुझे आप अपना पेटीकोट दे दो, वो हल्का भी रहेगा और मुझे नींद भी आ जाएगी.

उसके नीचे उभरी हुई क्लिट और उससे चिपक कर नीचे को जाती हुई एकदम गुलाबी फांकें, जो ऐसी चिपकी हुई थीं, मानो आज तक उनसे सिर्फ मूतने का ही काम लिया हुआ हो.

बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ?

इससे वो एकदम से हड़बड़ा गईं और मेरी ओर देखते हुए पलट कर मेरे ऊपर आ गईं. अर्शिया को कोई फर्क नहीं पड़ रहा था, वो तो मानो घोड़े बेच कर सो रही थी. पर अब मुझे अपनी बीवी के पूरी रंडी हो जाने का अहसास हो गया कि ये साली लंड देखते ही चुत खोलने को रेडी हो जाने वाली रांड बन गई है.

और सुमन चिल्लाने लगी- ऊईई ईईई ऊई मम्मी बचाओ मर गई बचाओ!मैंने लंड को ढीला छोड़ दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. सरोज बोली- राज, तूने गलती तो की है और तू कमरा छोड़ेगा, तो अम्मा का घाटा भी हो जाएगा. मैडम ने हंस कर कहा- अरे वाह तुमको तो मेरे बालों की खुशबू बड़ी पसंद आने लगी है.

अगले दिन मैं फिर एक बहुत शॉर्ट और सेक्सी टी-शर्ट पहन ली और घर से निकली. जैसे ही मैंने रेखा आंटी की चूत को चाटना चालू किया, वो गर्मा उठीं और बोलीं- आह लाजवाब योगी … तुमने तो मुझे पागल कर दिया. मेरी पिछली सेक्स कहानीसेक्सी बीवी की स्कूटी शोरूम में सर्विसिंगपर आप सबके मेल पढ़ कर बहुत अच्छा लगा.

मैंने पूछा- लंड डालकर करूं या उंगली से!दीदी हंस पड़ीं और बोलीं- अपने मोटे लंड से मेरी चुत की मालिश करो. एक दिन सुबह सुबह सोढ़ी अपने हॉल में बिना कपड़े पहने हुए एकदम नंगा बैठा था और ‘साथी हाथ बढ़ाना, साथी हाथ बढ़ाना …’ का गाना गाते हुए अपने लंड को तेल लगाकर मालिश कर रहा था.

तू पहला बिहारी होगा, जो अपनी मकान मालकिन की तीनों बेटियों को चोदेगा … वो भी जाटनी को.

उसकी गीली चूत में लंड सट्ट सटा सट जाने लगा और वो अपनी चूत से मेरे लौड़े को चोदने लगी.

धीरे धीरे लंड चुत में अन्दर बाहर करते हुए उसका दोस्त मेरी चूत में धक्के लगाने लगा और मेरे जिस्म का मजा लेने लगा. थोड़ी देर बाद मौसी धीरे धीरे मेरे लंड को सहलाने लगीं और अचानक ही उन्होंने मेरे लंड को जोर से दबा दिया. शाहगंज, जौनपुर के एक छोटे से गांव में मेरी चूनी, पशु आहार जैसे चोकर खल, भूसी की दुकान थी.

उसके हाथों को ऊपर करके पूरी पीठ को और बगलों को चूमने और सहलाने लगा. जैसे ही मेरे लंड ने उसके चुत को छुआ, वो बोली- आह कितना गर्म है … जल्दी से अन्दर डाल दो अब नहीं सहा जाता. मैंने बोला- क्यों कभी देखा नहीं क्या इतना मोटा और कड़क!तो वह बोलीं- नहीं तुम्हारे दोस्त का तो ऐसा नहीं है.

मुझे कमरे में आया देखकर वो हड़बड़ा गयी और बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- लैपटॉप देने आया था … हो गया मेरा प्रेजेंटेशन पूरा.

जैसे ही मेरे हाथ ने उसकी चुत की दोनों फांकों को छुआ, कोमल आह करके सीत्कार उठी और वो जोर से मेरे सिर को अपने बड़े बड़े चुचों पर दबाने लगी. मैं मैम को खींच कर सोफे पर बैठ गया और उनको बांहों में भर कर उनके निप्पल पर मुंह लगा दिया. हम दोनों इस समय एक दूसरे की मिशनरी पोजीशन मैं धुँआधार चुदाई का लुत्फ़ उठा रहे थे; एक दूसरे को स्मूच करते चुदाई कर रहे थे.

मैं आशा करता हूं कि आप लोगों को मेरी यह चाची चुदाई सेक्स स्टोरी बहुत ही अच्छी लगेगी. रंगोली जोश में अपने होंठ चबाने लगी औऱ उसने चादर को हथेली से भींच लिया. फिर हम लोग खाना खाकर रूम में आ गए और पूरे 4 दिन चुदाई के बाद घर आ गये.

मैंने फिर से अर्शिया के टॉप के बटन खोल दिए और ब्रा नीचे खिसका दी और उसके नंगे हो चुके बोबों को दबाने लगा.

तभी मुंतजिर ने मेरे लंड की तरफ आगाज किया और मेरी फूली हुई पतलून के ऊपर ही अपने होंठों को मेरे लंड पर लगा कर एक किस कर दिया. सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस की जवान लड़की की सील तोड़ी अपने लंड से! वो मेरे पास पढ़ने आती थी.

बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ भाभी बोलीं- क्या हुआ देवर जी … आपकी पैंट इतनी ऊपर कैसे उठ गई? क्या छिपा रखा है आपने अन्दर!मैंने बोला- आप ही पता लगा लो कि पैंट कैसे उठ गई. दीदी हैरान हो गईं और बोली- अरे वाह मेरे चोदू भाई … कब चोद दिया उन्हें तूने?मैंने दीदी को उनकी सास की चुदाई की कहानी पूरे विस्तार से सुना दी.

बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ कुछ देर बाद मुझे सुरूर चढ़ा तो मैंने उन्हें अपनी तरफ खींच लिया और एक ही झटके में उनकी नाइटी को उतार कर फेंक दिया. जैसा कि आप जानते हैं कि मैं अपनी मकान मालकिन की बेटी सुमन और सरोज को अपने लंड का स्वाद चखा चुका हूं.

दूसरे दिन उसका कॉल आया, तो मुझे लगा कि उसी पढ़ाई के सिलसिले में फोन किया होगा.

होली होलिका दहन

उफ्फ … आज उसका लंड चूसने का किस्सा याद करके वो सब लिखते हुए मेरी चुत में पानी आ रहा है. उस स्वाद से मैं समझ चुका था कि निशा ने अपनी चूत का पानी भी छोड़ा था और इतनी बार छोड़ा कि उसकी जांघों तक पहुंच चुका था. अब मैंने उसकी टी-शर्ट को और ऊपर किया, तो नीचे उसकी सफेद ब्रा नजर आई.

मैंने उनकी चड्डी से उसकी चूत का रस चाटा तो उसकी वासना चरम पर हो गयी. अंजुमन- फिर क्या हुआ था सुमोना!सुमोना- फिर मैंने वहां से निकलने का सोचा और चुपके से तुम्हें लेकर निकल गई. ये देख कर मैंने अपने लौड़े को निकाल लिया और उसे बिस्तर पर लिटा दिया.

उसने कैसे मेरे उसी दोस्त से अपनी चुदाई करवायी?दोस्तो, मैं समीर एक बार फिर से आपके सामने अपनी चुदक्कड़ बीवी की सेक्स कहानी, जिसमें मैंने खुद अपनी बीवी की चुदाई देखी, लेकर हाजिर हूँ.

साड़ी की बगल से दिखता उनका गोरा पेट कयामत ढहाता था और उस पर उनकी कमर पर जो बल पड़ा रहता था उफ़्फ़ … क्या कहूँ, उसे देखकर तो अच्छे अच्छे के लौड़े खड़े हो जाते थे. ये कुछ ही क्षणों में दूसरी बार था जब हमारे शरीर एक दूसरे से रगड़ रहे थे. उसकी गर्म गर्म जांघों के स्पर्श से मेरा लंड भूखे शेर की तरह एकदम से 7 इंच का हो गया और चूत चूत की आहें भरने लगा.

कहीं न कहीं मन में ऐसा लग रहा था कि ये सब एक सपना है और अब भी हमारे पास कुछ वक्त है. कुछ देर बाद निशा का दर्द शायद कम हुआ और उसने मेरी पीठ पर अपनी पकड़ ढीली की. मैं अपना एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी चूची को मसल रहा था और दूसरे हाथ से उनके चूतड़ों को चपाट लगा रहा था.

मॉम डैड के ऑफिस जाते ही वो मेरे दोस्तों को एक एक करके घर बुलाती थी और उनके साथ अपनी चुत गांड की चुदाई का मजा लेती थी. आंखें बंद करके और लौड़े को अपने हाथ से पकड़कर भाभी का सपना देखकर उन्हें खूब चोदा था.

यह सेक्स कहानी आज से 3 साल पहले की है जब मैं कंपनी बदल करके पुणे से हैदराबाद नया नया आया था. दोस्तो, मैं उस देसी चूत चुदाई का मजा को शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता. वो कहते हैं ना कि देखते ही मेरा दिल रुक गया और सांस लेना बंद हो गया.

मैं उन्हें देख कर रुका और उनसे पूछा- आपको क्या चाहिए … आप मुझको पिछले कुछ दिनों से देख रहे हो.

बाथरूम में खड़े खड़े चुदाई का आनंद लेते हुए हम बेडरूम में आ गये, मैंने आंटी को बेड पर लिटा दिया और उन पर चढ़ गया. ‘आह … आह शरद आआह … ओ हहहह … और तेज़ शरद … और जोर से चोदो … आह आह … ओह शरद मैं कैसे रहूंगी तुम्हारे लंड के बिना जानू … आह आह. झटपट से खड़ा होकर वो मेरे घुटनों से घुटने रगड़ता सीट से बाहर निकलने लगा.

इसलिए मैं खिड़की से मम्मी को बोलने के लिए कि अंकल पापा से मिलने के लिए आपके रूम में आ रहे हैं, उनको मना कर दीजिए. उसकी चुत चाटते हुए कुछ ही मिनट बाद मेरा लंड फिर से तैयार हो गया और मैंने उसकी चुत चाटना छोड़ करचुदाई का मनबना लिया.

सेक्सी हॉट भाभी अपने मुँह में पूरा कामरस निगल गईं और मेरा लंड अपने मुँह से चाट कर साफ कर दिया. मैंने रानी के सामने अपने हाथ बढ़ा दिया और रानी ने थोड़ा सकुचाते हुए अपना हाथ आगे बढ़ा दिया. मैं समझ चुका था कि अब दीदी की चूत को मेरा 8 इंच का काला मोटा मूसल लंड का इंतज़ार है.

शंभू सेक्सी

अलग होने पर हम दोनों ने एक दूसरे नंगे सीनों को देखा, तो वो थोड़ी शर्मा गईं और मुझे बेडरूम में आने को इशारा कर दिया.

लता- आपने जो सेक्स कहानी लिखी है … क्या वो घटना सच में हुई थी!मैं- हां मेरे साथ जो सत्य घटना होती है … उसी को मैं कहानी के माध्यम से बताता हूँ. दो बजे तक मैं भी एसी रिपेयरिंग के काम से फ्री हो गया और मैं मुंतजिर से आम के पैसे लेकर अपने वर्कशॉप पर आ गया. मैंने उन्हें अपने गले लगा लिया लेकिन किसी और तरीके से ना कि मां के जैसे!मैं मां के बूब्स को अपने पेट पर महसूस कर पा रहा था जिससे मेरा लन्ड खड़ा हो गया.

चूंकि वो शादीशुदा थीं, पर पति से दूर रहने और महीनों सेक्स ना करने से उनकी चूत कसी हुई थी. विजय ने कुछ कहे बिना ही सरिता भाभी को गोद में उठा लिया और अपने रूम में ले गया. सेक्सी वीडियो चोदने के साथमैंने उसी समय अपनी दोनों टांगों से उनको जकड़ लिया ताकि वह तेज धक्के ना लगा सकें.

इसी बीच मेरी कुंवारी चुत में आशीष के मोटे लंड से चुदने की बहुत चुल्ल मचने लगी थी. मुझे वक़्त का भी अंदाज़ा नहीं कि कितनी देर तक मैं वैसे ही राजीव से चुदती रही.

इसी दौरान सुशी जी के मुंह से भी अजीब अजीब से आवाजें आने लगी थीं ‘ओ आह ई …’वो बहुत कामुक तरीके से आवाज करने लगी थीं. मैं भी दो लंड से चुदने के बाद एकदम थक गई थी और अपने बदन को निढाल छोड़कर एकदम सीधी लेट गई. एक दो पल उसके होंठ चूसे और कमर को एक पॉवरफुल झटका देते हुए लंड बुर में घुसेड़ दिया.

लंड इस तरह से तो घुस नहीं सकता था इसलिए मैं ऐसे ही उसे काफ़ी देर रगड़ता रहा. बीस मिनट चुत चोदने के बाद मैंने आंटी को दीवार के सहारे से खड़ा कर दिया. इसके बाद मैंने कई बार भाभी को चोदा और उनके अलावा कुछआंटियों को चोद कर शांत कियाहै.

दोस्तो, जैसा कि मैंने आप लोगों को बताया कि मेरी मौसी अकेली ही रहती हैं.

उस पर शायद कोई उम्र का जोर समझ कर शक भी कर ले, पर मेरे सिर के काले बालों के बीच से निकले उजले श्वेत बालों को देखकर कोई यह नहीं सोच सकता था कि इन छोटी छोटी मादक हरकतों का आनन्द जो कर रहा था, उससे ज्यादा आनन्द जिसके बदन पर ये हरकतें की जा रही थीं, वो ले रही थी. मैंने उसकी चुत को चाटना बंद नहीं किया और इसका नतीजा ये हुआ कि वो कुछ ही देर बाद फिर से गर्मा उठी.

मैंने कहा- सरोज अभी तो टाइम है … आओ बिस्तर पर लेट कर बातें करते हैं. चुदाई का मजा किरकिरा हो गया था … तो हम दोनों ने भी कपड़े पहने और मैं सुनीता के घर से चला गया. उसने अपनी उंगली से मुझे पास आने का इशारा किया, तो मैं समझ गई और बिस्तर से नीचे उतर कर उसके सामने अपने घुटनों पर बैठ गई.

मैं समझ गया कि अब वो समय दूर नहीं है, जब मैं स्नेहा की चूत ले रहा होऊंगा. फिर आकर बोली- हो गया न अन्दर … मैं सब कर सकती हूँमैं हंस दिया, तो वो मुझसे बोली- तुम मुझे गोदी में नहीं उठा सकते!मैंने कहा- क्यों?वो बोली- तुम में जान ही नहीं है, वर्ना उठा कर दिखाओ. काले रंग की साड़ी में … उसके साथ लाल रंग का स्लीवलैस ब्लाउज मेरे लंड में आग लगा रहा था और इन सब में घी का काम करती उनकी लाल रंग की लाली.

बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ गुस्से में लाल होकर अब्बू बोले- क्यों आई थी?वो अब्बू … मैं कपड़े बदलने आई थी, इन कपड़ों में बहुत गर्मी लग रही थी. देसी लड़की Xxx कहानी में पढ़ें कि जिस लड़की का मैंने बड़ी होने का सालों इन्तजार किया, वो अब मेरा लंड खाने को तैयार थी.

खली द ग्रेट

उसी दिन मैंने ज़ीनिया के फेसबुक को खोल कर देखा कि वो एक लड़के से सेक्स चैट कर रही थी. मैंने भी खाना खाया और सो गया और वह भी अपनी ऊपर वाली बर्थ पर लेट गईं. प्रिय पाठको, आपको मेरी पोर्न फॅमिली हिंदी कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बतायें.

फिर रंगोली निढाल होकर वैसे ही लेट गयी और बोली- रोहित भैया मेरे ऊपर लेट जाओ!फिर रोहित नंगे बदन रंगोली के ऊपर लेट गया और अपने लंड को भी उसकी गांड के बीचों बीच रख दिया. मेरे झटके मारने से वो तेजी से चीख उठीं लेकिन मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में कैद कर लिया था और जेबा की आवाज नहीं निकल पाई. इंग्लिश बीपी वीडियो सेक्सी वीडियोइधर अरविन्द ऊपर आकर मेरे माथे पर किस करने लगे और अपने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को दबाने लगे.

दीदी की मस्त चिकनी गांड देख कर विक्की ने झट से दीदी की पैंटी को भी नीचे कर दिया.

उस दिन दो घंटे में मैंने मौसी को 3 बार चोदा और हम दोनों थक कर नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेट गए. जब मैं आखिरी बार उस से चंडीगढ़ में मिला, तो मुझे उसका रवैया कुछ अजीब सा लगा.

साहिल रोहित आयुष प्रकाश के बाद एक और फोल्डर था, जिसमें नाम नहीं लिखा था, बस लिखा था न्यू फोल्डर. मैं तो डर ही गया और कमरे में जाकर जल्दी से मैंने उन्हें मैसेज किया कि मैं 5:30 बजे तक आपके घर आ जाऊंगा. इसके बाद हम दोनों ने अरुणिमा की सैंडबिच चुदाई की और परेश ने हम दोनों का लंड चूसा.

मैंने केवल साड़ी पहनी उसके साथ ब्लाउज न पहन कर, सिर्फ लाल रंग की ब्रा पहन ली.

फिर एक दिन मैंने गलती से उसका पुराना फ़ोन देख लिया जिसमें उसका इंस्टाग्राम का अकाउंट आलरेडी लॉगिन था. मुंतजिर- अरे कहिए ना … इसमें क्या गलत है!मैंने धीरे से कहा- आपकी हंसी बहुत प्यारी है. रात को सोने का समय हुआ तो मैं बुआ को इशारा करके छत पर चला गया और बुआ के आने का इंतजार करने लगा.

सनी लियोन की मस्त सेक्सी वीडियोइस बार मैंने उसे थोड़ा जोर से उसे अपनी बांहों में उठाया और अपने सीने से लगा लिया. मैं अपना एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी चूची को मसल रहा था और दूसरे हाथ से उनके चूतड़ों को चपाट लगा रहा था.

एक्स मास्टर वीडियो

मैं चिल्लाया भी … मगर उन्होंने अपना दूसरा हाथ मेरे मुँह के अन्दर डाल दिया. तभी कैमरामैन ने भी अपनी पैंट उतार दी और रश्मि के हाथ में अपना लंड दे दिया. तभी मैंने आंटी के शरारे का नाड़ा खोल दिया, शरारा झट से नीचे गिर गया.

दीदी की सासू मां बोलीं- तुम्हारी दीदी अपने कमरे में हैं, जाओ उससे जाकर मिल लो. साला मेरी चूचियों, चूत की कल्पना में खोया हुआ था।मैंने चाय खत्म की और बाथरूम में घुस गयी।नहा धोकर मैं जब निकली तो मैंने शरद को तेजी से मेरे कमरे के बाहर जाते हुए देखा।उस समय मैं तौलिया लपेटे हुयी थी।मैं मुस्कुराई. वह पीछे मुड़ी और कब हमारे होंठ आपस में मिल गए हमें कुछ पता ही नहीं चला.

मुझे यूं रोती देख, वो मुझे शांत करने लगी और मेरे रोने की वजह मुझसे पूछने लगी. मैंने सुशी जी से कहा- जाओ जाकर देखो, कौन है?जब सुशी जी रूम से बाहर निकलीं, तो अपने मां पापा के रूम में झांक कर देखने लगीं. इतने बड़े घर में रात को अकेली सोती थी, तो उस बात से मुझे थोड़ा डर सा भी लगा रहता था.

वो आह आह करने लगी तो मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठा दिया और मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. फिर उसने अपना फोन साइलेंट पर किया और मुझसे बोला- तू भी अपना फोन बंद कर दे.

इस हॉट बहू की अन्तर्वासना कहानी में आगे क्या हुआ, वो मैं पूरी तफसील से अगले भाग में लिखूंगी.

वो एकदम पागल हो रही थी और ‘आह आह मां ऋषि … उह्ह उई आह्ह …’ करने लगी थीं. सेक्सी xxx व्हिडिओसर को पहली बार मैं इस हाल में देख रही थी और ये सोच भी रही थी कि वो सही भी हैं. चिल्ड्रन वाली सेक्सीमैंने उन्हें भी उठाया और मुझे हल्का प्यार करने के बाद वह मुझे घर छोड़ने के लिए आ गए. फिर उन्होंने मुझसे पूछा कि आपके फेवरेट पोर्नस्टार कौन हैं?मैंने कहा- एवा ऐडम्स और मियां खलीफा.

उसने मेरी गांड भी दबा दी जिससे मेरी सिसकरी निकल गयी ‘अअअह …’वो थोड़ा पीछे को हटा और बोला- तुम्हारी कमर में नहीं … गुदा में दर्द है क्या!मैंने कहा- नहीं … उसे तो आपने मसल दिया था इसलिए आवाज निकली थी.

मेरा लंड सुबह से ही शीना की चूत को चोदकर उसकी दोनों फांकों को अलग करने के लिए बेताब था. वह दवाई लेकर पोर्नोग्राफी शूट करते हैं और हमें लगता है कि उनके स्टैमिना ज्यादा है. मैंने उसके कान में कहा कि ये मेरा औज़ार है और इससे हम मर्द, चुत चोदते हैं.

उसने मुझे धन्यवाद कहा और मेरे लौड़े का आशीर्वाद लेकर अपने घर चली गई. मेरी मॉम की उम्र 39 है लेकिन वो काफी सजती संवरती हैं और फिगर मेंटेन करने के कारण वो 32 की लगती हैं. मैं उनके पास गया तो दीदी ने अपने रूम में रखे घड़े से पानी दिया और पानी देकर दीदी चाय बनाने किचन में चली गईं.

हिजड़े की सेक्सी वीडियो

मैं भी उस टाइम शहर में नया नया आया था और मुझे आंटी भाभी से बात करना बहुत अच्छा लगता था. मैं- क्या हुआ, कुछ पूछना है क्या?निशा- आपका सर दर्द है तो मैं दबा देती हूं. ये देख कर मेरे होश उड़ गए कि मेरी जीएफ़ किसी और को ‘आई लव यू’ लिखती है.

मैंने उसके साथ बातचीत जारी करते हुए उसकी चाहत के बारे में पूछा- आप मेरे साथ क्या क्या करना चाहती हैं!वो बोली- बस आप यूं समझिए कि उस लड़की की जगह मैं अपने आपको देखना चाहती हूँ.

उफ … रंगोली की काली ब्रा से उसके बड़े बड़े गोरे गोरे दूध बाहर आने को बेताब थे.

मेरी टांगें खुद ब खुद खुलती चली गईं और मैं अपनी चुत चुसाई का न केवल मजा लेने लगी बल्कि अपनी गांड उठा कर उसके मुँह में अपनी चुत भरने लगी. मेरे लंड का साइज 6 इंच है और मेरी सेक्स क्षमता 30 मिनट से भी ज्यादा है. मद्रासी भाभी का सेक्सी वीडियोआखिर उसने मेरी बात नहीं मानी और मुझसे कहने लगी कि मैं अपने मायके पूना जा रही हूँ.

उसकी रसीली बुर का पानी बड़ा मस्त था, आज भी याद करके मुंह में पानी आ जाता है. जूनियर गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस में एक नयी लड़की आयी, उसकी नयी शादी हुई थी. जब मुझे लगा कि अंकल पापा के रूम में जा रहे हैं तो मैंने सोचा कि उनको मना कर देता हूँ कि पापा घर पर नहीं हैं.

पापा और अंकल दोनों ही हमारे घर पर बैठ कर देर रात तक बातें करते रहते हैं. फिर मैंने उसकी चोटी पकड़ ली और पीछे से ऐसे चोदने लगा, जैसे मैं कोई घोड़ी कि लगाम पकड़ कर उसकी सवारी कर रहा हूँ.

उसने अपने मम्मों पर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसकी वजह से उसकी कुर्ती उतरते ही मुझे उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे थे.

मैंने कहा- क्या तुम मुझे प्यार करती हो!उसने जवाब में वो हरकत की, जिससे मैं समझ गया कि ये लड़की अपनी मां पर ही गई है. पर नींद मेरी आँखों से गायब थी।इस बीच मैंने करवट बदल ली और मेरी गांड शरद की तरफ थी. इस बार भी हम दोनों ने एक दूसरे के होंठों को चूस चूस कर गीला कर दिया.

देसी मारवाडी सेक्सी वो मुझसे बोला- वो सामने कुछ दूर पर एक कमरा जैसा कुछ है, हमको उसी में चलना चाहिए … वहां पानी नहीं आएगा. मैं सारा दिन मां को घूरता रहता उनके भरे जिस्म देखकर रोज़ मुठ मारता.

उसने मेरे पैर छुए और सामने रखा सिंदूर लेकर बोली- ले चौधरी भर दे मेरी मांग, बना ले अपनी लुगाई. इस वजह से अंकल ने अपने दोनों हाथों को आगे करके मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया और हौले हौले से मसलने लगे. मैं- निशा, जब हम ये सब कर ही रहे हैं तो तू बिना झिझक के इस रोमांस के मजे ले.

मां बेटे की चोदा चोदी

हॉट लेडी सेक्स कहानी मेरे साथ जिम में आने वाली एक गर्म भाभी की चूत चुदाई की है. पांच मिनट बाद मैंने उसे मेज से नीचे उतारा और मेज पर हाथ रख कर घोड़ी बनाकर झुका दिया. वो मेरे होंठ को चूसने लगे जिससे मैं शांत हो गयी और वो मेरी चूत को चोदने लगे.

वो आए दिन मेरे लिए खाना बना कर ले आती और मुझसे फोन पर कह देती कि आप खाना बनाने की जहमत मत उठाना. मैंने उतावलापन दिखाते हुए अपनी कमर ऊपर को उठाते हुए उसके लंड को चुत में लेने की कोशिश की.

मैं उनके सामने ब्रा में आ गयी थी और उसके बाद जेठजी ने मेरा पेटीकोट भी निकाल दिया.

उनकी चूचियों को हिलता देखना और गांड को मटकता देखना मुझे बहुत पसंद था. अब मैंने फैसला कर लिया था कि मैं अंकल जी को पटाकर उनसे अपनी प्यास बुझाऊंगी … आख़िर उन्हें भी एक चुत की ज़रूरत थी. उस चैट में उस लड़के ने जो लिखा था, वो मैं आप सभी से साझा कर रहा हूँ.

उसने सरिता भाभी से पूछा- क्या हुआ भाभी, आप इतनी घबराई हुई क्यों हो?सरिता भाभी ने अपने चूचे उसकी छाती से रगड़ते हुए कहा- किचन में चूहा है, मुझे बड़ा डर लग रहा है. अब मैंने चोदने की रफ्तार बढ़ा दी और मैं तेजी से उसकी चूत मारने लगा. फिर जेठ जी मेरे आगे हुए और मुझे अपनी गोदी में उठा कर बेड की ओर ले गए.

इसके बाद उसने मेरी गांड को कुछ मिनट सहलाया और पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल कर आराम आराम से चोदने लगा.

बीपी पिक्चर हिंदी बीएफ: दीदी ने अपनी गांड थोड़ी उठा भी दी थी, तो मेरी उंगली उनकी गांड में सटासट अन्दर बाहर होने लगी थी. मेरी जीभ को हरा कर मेरे मुँह में अपनी जीभ अन्दर तक घुसा दी और मेरे मुँह के पानी को चूसना शुरू कर दिया.

निशा चुप थी, शायद उसको समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या कहे और क्या न कहे. इस बड़े होटल में न्यू इयर पार्टी का आयोजन मेरे फ्रेंड की इवेंट मैनेजमेंट कम्पनी की तरफ से किया गया था इसलिए मुझे इधर आने के फ्री पास आसानी से मिल गए थे. फिर सरोज ने मुझे खड़ा किया और वो अपने मुँह में लंड अन्दर तक घुसा कर गपागप गपागप चूसने लगी और मेरी पीठ को सहलाने लगी.

तुम मुझे पसंद करते थे और मेरी जवानी को अपना शिकार बनाना चाहते थे, तो मैंने भी तुम्हें नहीं रोका.

अंकल भी घर पर ही थे तो हम सभी ने साथ में नाश्ता किया और अंकल अपने घर को चले गए. इसके बाद हम दोनों ने ट्रेन के केबिन में आकर फिर से चुदाई चालू कर दी. स्नेहा के मम्मी पापा को शॉपिंग के लिए आने जाने में ही दो घंटे लगने वाले थे और शॉपिंग का समय अलग.