एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ

छवि स्रोत,गुरु बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी नंगे सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ, इसने यह शर्त रखी थी कि कि तुम अपनी मामी और अपनी चुदाई की बातों का यकीन दिलाओ.

बीएफ सेक्सी मस्त वाली

अब मेरी मां पिता जी के मुँह पर जाकर बैठ गईं और अपनी योनि को पिता जी की जीभ से चुदवाने लगीं. बीएफ लाईव्हमैंने उसको कोई लड़की सेट करवाने के लिए कहा मगर …प्यारे दोस्तो, मेरा नाम राजदीप (बदला हुआ नाम) है.

फिर वहीं एक हमारी ही बिरादरी के भाईजान ने बताया कि तुम्हारे दोनों जीजा ने वहीं पर दूसरी शादियां कर ली हैं. बीएफ सेक्सी व्हिडिओ बीएफ बीएफमैंने उसकी पैंट खोलनी शुरू की तो उसने हाथ पकड़ा लेकिन मैं झटक दिया.

फिर उसने आकर मेरा हाथ पकड़ा और मुझसे कहा- देखो, मैं मजे लेने के लिए ही तुम्हें यहां ले आई हूं, तो आज की रात तुम भी खुलकर मजे लो और मुझे भी असली चुदाई का आनन्द लेने दो.एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ: उनका जोश बढ़ता जा रहा था और चाचा का लौड़ा मेरी गांड की चटनी बनाने में लगा हुआ था.

मैंने भी बहुत कोशिश की, मगर जब वो नहीं मानी, तो मैंने भी उससे बोलना बंद कर दिया.दो-तीन मिनट तक पूरा दम लगाकर उसकी चूत में धक्के लगाते हुए मेरी सांस फूलने लगी.

बीएफ वीडियो देसी देसी - एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ

उसने लंड का अहसास पाते ही ज़ोर से एक आह भरी, जिससे मुझे समझ आ गया कि वो झड़ चुकी थी.उसकी चुत के गर्म रस से अगले कुछ ही धक्कों में मेरा भी पानी उसकी चूत के ही अन्दर निकल गया और हम दोनों लोग हंसते हुए एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे.

माँ ने उसके लंड को पकड़ा और बोली- सच में बहुत गर्म है तुम्हारा लंड!तब माँ ने कहा- कमरे के अंदर आओ. एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ सर- बस अब थोड़ा सा और बाहर बचा है … वो भी अन्दर चला जाए, फिर दर्द नहीं होगा.

भाभी का रंग गोरा, चिकनी त्वचा, मध्यम कद, और उसका साईज 28 30 32 का होगा.

एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ?

उसका लण्ड थूक से अभी भी गीला था, उसने एक झटके से मेरी गांड के छेद पर अपना लण्ड रखा और अंदर घुसा दिया. इससे वो गरम होने लगी उसके मुख से वासना भारी आवाज निकलने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और उसकी चुत से पानी आने लगा. फिर वो दिन आ ही गया, जब हम दोनों के लंड और चुत का मिलन होने वाला था.

उसने हम दोनों को एक साथ बाथरूम में जाते देख लिया और बाथरूम में चुदाई की सारी आवाजें सुन लीं. कुछ देर चोदने के बाद इंस्पेक्टर ने मुझे सीधा बैठाया और खुद बेड के नीचे खड़ा हो गया. मैंने बोला- ऐसा करो, तुम अपनी सहेलियों को बुला लो और उनसे बात कर लो.

उधर उसने आराम से मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया था और चूसने लगी थी. वो मेरे लंड पर आकर बैठ गयी और उसने अपनी चूत में मेरे लंड को ले लिया. मैंने सीधे ही अपनी आंखों को भाभी की आंखों से मिलाकर उनसे बात करना शुरू कर दी थीं.

लेकिन करूं तो करूं क्या … दो महीने बाद मेरा फिसड्डी पति विदेश की नौकरी पर 7 महीने के लिए चला गया. फिर उसके बाद मैंने किस किस के लंड अपनी गांड में लिये वो मैं आपको अगली सेक्स स्टोरीज में बताऊंगा.

मैं अब यह पक्के तौर पर जान लेना चाहता था कि रात में मैंने शनाज़ की चूत मारी थी या किसी और की … मैंने शनाज़ का हाथ अपने सिर पर रखा और कहा- तू मेरे सिर की कसम खाकर बता कि तू सच बोल रही है?शनाज़ मेरे सिर पर हाथ रखे रखे बोली- आपकी कसम मेरे सरताज … हम दोनों के बीच कल रात एक बार भी सेक्स नहीं हुआ.

इसी तरह पहले एक बार सत्यम ने बारी बारी से हम सब चुदक्कड़ों की चूत फाड़ी और अपना सारा माल हम सबको पिलाया.

हॉट सेक्सी लेडी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी मम्मी को पापा के दोस्तों से चुदाई करवाते अपनी आँखों से देखा था. जब ऑफिस के बाकी लड़कों को ये बात महसूस हो गयी कि आसिफा मेरे साथ ही ज्यादा वक्त बिता रही तो बाकी लड़कों ने उसको पटाने की कोशिश करना छोड़ दिया. कुछ देर बाद मां झूमती हुई आईं और मेरे सामने उन्होंने ब्रा पेंटी छोड़ कर अपने सारे कपड़े उतार दिए.

वो लंड को निकालने की बजाय मॉम को ही बेड पर दबाने लगे और धीरे धीरे अपना पूरा लंड उनकी चूत में उतार दिया. लेकिन एक घंटे के बाद मेरी किस्मत की मां चुद गई क्योंकि गरज और तेज़ हवाएं चलने लगीं. जैसे वसंत ऋतु में जंगल नए रूप रंग में निखर आते हैं, वैसे ही माधवी भाभी का रूप, उनका गदराया बदन और उनकी हर एक अदा निखर रही थी.

मैं- मैं तो रहना चाहता हूँ, पर आप रहने दोगी क्या?निशा भाभी झूठमूठ का गुस्सा दिखाते हुए बोलीं- दिमाग़ खराब है क्या?मैं- सॉरी भाभी.

जब निधि पेशाब कर चुकी, तो मैंने मैंने उसकी पूरी नंगी बॉडी पर पेशाब किया. उसकी कमर माशाल्लाह … क्या तारीफ करूँ … देखते ही हाथ घुमाने का मन हो जाता है और गांड के बारे में तो सोच कर लंड फनफनाने लगता है. एक पर शिल्पी और नीता को सोना था और एक पर मुझे। कुछ देर तक तो हम लोग बातें करते रहे और फिर धीरे धीरे शिल्पी को नींद आने लगी और वो हमें गुड नाइट बोलकर सो गयी.

फिर एक चुची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरी वाली को जोर जोर से दबाने लगा. तब उन्होंने अपने आपको देखा और बोलीं- राज … ये क्या किया!वो आश्चर्य भरी नजरों से मेरी ओर देखकर बोलीं- तुम कब जागे? और ये सब कब किया?मैं- जान … जब तुम नींद में अपने सपने सजा रही थीं … तब मैं तुम्हें सज़ा रहा था. हम तीनों ही इस बात का विशेष ध्यान रखते थे कि मोहल्ले में किसी को शक ना हो जाए और इस तरह की हरकतें कम होने के बजाय और बढ़ती ही जाती हैं.

उस दिन मम्मी घर से बाहर थी और उस दिन मामी ने मेरे सोने के बाद जूही की सील तुड़वाने का प्लान बनाया।उस रात मैं जानबूझकर जल्दी खाना खाकर अपने कमरे में आ गयी.

फिर ग्यारह बजे मम्मी बोली- मानसी बेटा, चलो अब चला जाए।सागर भी हमारे साथ बाहर आया और वो चला गया अपनी स्कूटी निकालने!हम चारों बाहर आकर ऑटो का इंतज़ार करने लगे।सागर गाड़ी लेकर बाहर आया तो उसने मम्मी से बोला- कैसे जाएंगी आप लोग?तो सुधा बोली- अभी ऑटो आ जाए … उसी से।सागर बोला- इतनी रात को इस रूट पर ऑटो नहीं चलती है. इससे भाभी के मुँह से जोर से आवाज निकल गई- उई मां आराम से!जब उनकी आवाज़ निकली, तो मैंने कहा- लगता है भाभी यहां ज्यादा चोट लग गई है आपको.

एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ ये बोल कर उसने दीदी को बर्थ पर लिटा दिया और दीदी ने भी अपनी दोनों टांगों को पूरा फैला दिया. खाना खाते वक्त भाभी मुझसे पूछने लगीं- और बताओ, तुम्हारा चाची के साथ कब से ऐसा चक्कर चल रहा है … अब तक कितनी बार चाची की चुदाई कर चुके हो?मैंने हंसकर जवाब दिया- अरे भाभी पिछले करीब आठ महीने से हमारा ऐसा चक्कर चल रहा है.

एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ तभी बुआ बोलीं- अब पता नहीं क्यों … मयूर के सामने हमें नंगा होने में शर्म ही नहीं आती. धीरे धीरे करके मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया और धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

मेरी माँ मना कर रही थी; माँ कह रही थी- मत करो ना … यार अब हम कुछ नहीं कर सकते, मेरे बेटा घर पर है। अब तुम जाओ, तुम कल आ जाना, तब हम दोनों पूरी मस्ती करेंगे.

ब्लू फिल्म चुदाई का वीडियो

फिर मैंने मम्मी की चूत को चाटना शुरू कर दिया और मम्मी सिसकारियां भरने लगीं. अब मेरा वीर्य छूटने वाला था तो मैंने उनको हटाने की कोशिश की पर वो ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी तो मेरा पानी छुट गया और उनके मुंह में वीर्य चला गया. अभी मैं ये सब सोच ही रहा था कि मैडम के चीखने की आवाज़ आयी- उईईई ईईईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मां मर गयी …सर- आहहहह अब लगा है निशाना … कितनी गर्म चूत है मैडम तुम्हारी आहह … लंड जल सा गया.

मेरे तीनों बहनें चुदने के बाद मेरे वीर्य को अपनी चुत में ही लेती थीं और बाद में गर्भनिरोधक गोली ले लेती थीं. फिर दोनों हांफते हुए एक दूसरे की साइड में गिर गये।हम दोनों के चेहरे पर आत्माँ तक की तृप्ति के भाव नजर आ रहे थे. मैंने और प्रशान्त ने मम्मी की चूत में एक साथ अपना अपना लंड घुसा दिया और मम्मी जोर जोर से चीखने लगीं- आह मेरी फट गई … जल्दी से बाहर निकालो, मुझे दर्द हो रहा है, दोनों एक साथ नहीं करो.

माँ की सुनता हूं तो बीवी नाराज हो जाती है और बीवी की सुनता हूं तो माँ नाराज हो जाती है। क्या करूं … समझ नहीं आ रहा है.

वो बैठने लगी तो मेरे लंड में दर्द होने लगा क्योंकि आंटी काफी मोटी थी और उसका वजन बहुत ज्यादा था. उनका अपने गदराए बदन को घुमाना, झुक कर अपनी चूचियों को हिलाते हुए सलामी देना … नाचते वक्त बड़ी अदा से शराब का ग्लास मेरे हाथों में देना. तभी उमेश सर ने आ कर मुझे पीछे से पकड़ लिया और वो अपने दोनों हाथों से मेरे पेट को पकड़ कर डांस में मेरा साथ देने लगे.

अब आप खुद ही अंदाजा लगाएं कि ऐसे सेक्सी माल को कौन चोदना नहीं चाहेगा. तो मैंने उसे होटल की लोकेशन व्हाट्सएप्प पर भेज दी तो कुछ देर बाद फिर से कॉल आया कि वो होटल के बाहर खड़ा हुआ है. उन्होंने मेरी गांड से रिसते हुए वीर्य को पौंछा और मुझे कपड़े पहनाये.

फिर मैंने उसके अन्दर से अपना लंड निकाला और कंडोम हटा कर नीचे डाल दिया. सर्दी से बचने के लिए मैंने कहीं रुकने का सोचा क्योंकि इतनी तेज बारिश में बाहर तो नहीं रहा जा सकता था.

मुझे चुदाई का तजुरबा तो था ही नहीं, साथ ही उसकी चूत भी बहुत टाइट थी. मैं- तो फिर आप ऐसे क्यों करती हो? यह तो गलत है ना!मौसी- बेटा, शरीर की भी कुछ जरूरत होती है। तुझे तो पता है मेरे तलाक हुए 4 साल हो गये हैं। शरीर की गर्मी निकलने के लिए यह सब करना पड़ता है. पापा बहुत जोर से अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगे और मम्मी जोर जोर से चीखने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह उह उह!फिर दस मिनट बाद प्रशांत ने मम्मी की चूत में अपना पानी झाड़ दिया.

बड़ी बुआ उन दिनों का अर्थ समझते हुए बोलीं- तो हम फिर ऐसे ही सीख लेंगे.

जिसको जूही देख कर उस खेल में शामिल हो गयी।उस रात दोनों माँ बेटी एक ही लन्ड से चुदी और उस दिन सागर ने सपनी की चूत और गांड दोनों की सील तोड़ दी।उस दिन के बाद से मैं सागर ने इंस्टीट्यूट में ही चुद लेती और घर में कभी मम्मी कभी मामी और अब तो सपना भी सागर के लन्ड की दासी हो गयी।सागर ने सपना को चोद चोद कर औरत बना दिया।हम चारों एक ही लन्ड के सहारे हैं. मुझे आप लोगों के फीडबैक का इंतजार है।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]. इससे वो एकदम से डर गईं और धीरे से बोलीं- ये क्या कर रहा है?मैं बोला- आप आगे से ज्यादा डूब रही थीं न … तो थोड़ा आगे से पकड़ा है.

हमारी नजरें जैसे ही मिली तो एक ऐसा झटका लगा कि क्या बताऊं!हमारी नजरों ही नजरों में बातें हुई और मैं जाकर उसी के पास बैठ गया।थोड़ी देर में वहां जाकर चुपचाप बैठा रहा क्योंकि मैं किसी दूसरे गांव में आया हुआ था तो थोड़ा डर भी लगता है. गर्मी का समय था, और रूम में ac भी चल रही थी लेकिन हम दोनों सलहज ननदोई चोदन करते हुए पसीने से तर हो गए थे.

हमारी नजरें जैसे ही मिली तो एक ऐसा झटका लगा कि क्या बताऊं!हमारी नजरों ही नजरों में बातें हुई और मैं जाकर उसी के पास बैठ गया।थोड़ी देर में वहां जाकर चुपचाप बैठा रहा क्योंकि मैं किसी दूसरे गांव में आया हुआ था तो थोड़ा डर भी लगता है. कभी कभी मैं नीचे से धक्का देता तो लंड उसकी बच्चेदानी तक पहुंच जाता और उसकी एक तेज चीख निकल जाती- आहह …वो जब धक्के लगा रही थी तब उसके बूब्स ऊपर-नीचे हो रहे थे, जिनको मैं अपने दोनों हाथों से मसल रहा था. वो दो दिन तक वापिस नहीं आने वाले! तो तुम आ जाओगे ना?मैं बोला- नेकी और पूछ पूछ? ऐसा नहीं हो सकता कि मैं ना आऊँ.

एचडी पोरन

तभी राबिया एकदम चिल्लायी- अम्मी!तो मैं रुक गया और पीछे मुड़ा तो अम्मी हम दोनों को देख रही थी।हम दोनों खड़े हो गए.

इसलिए हमारा बिस्तर पास में ही रहता था तो हम एक ही रजाई में चिपक कर सोने लगे. शकील ने कहा- मामी ने तुम्हारी सारी बात बताई, तुम तैयार क्यों नहीं हो?सुनीता ने कहा- मैं ऐसा नहीं कर सकती. पति पत्नी का अलग अलग कमरा देख कर मुझे कुछ अजीब लगा, पर मुझे क्या करना था.

उसके बाद वो अपनी उंगली मेरी नाभि पर फेरने लगे और उनका टाइट लंड मेरी गांड पर एकदम ज़ोर से दबा जा रहा था. ये बोलकर मैंने रमेश को बांहों में भर लिया और उसके लंड को सहलाते हुए उसके गालों पर चूमने लगी. सेक्सी बीएफ भोजपुरी हिंदी वीडियोउसकी चुदाई से दीदी को बहुत दर्द हो रहा था … क्यूंकी उसका लंड बहुत बड़ा था, लेकिन दीदी को मज़ा भी खूब आ रहा था.

लेकिन एक घंटे के बाद मेरी किस्मत की मां चुद गई क्योंकि गरज और तेज़ हवाएं चलने लगीं. जब मैंने ये सुनिश्चित कर लिया कि वो एक लड़की ही है तो फिर मैं उसके साथ चैटिंग करने लगा।धीरे धीरे पता चला कि वो मेरे मौहल्ले की भाभी है जो दिल्ली में रहती है।वो कोरोना की वजह से गांव आई हुई थी.

फिर उस दिन चाचा के आने का टाइम हो गया था तो चाची ने मुझे हटा दिया और कपड़े पहनने लगी और मैं भी समय की नजाकत को समझते हुए कपड़े पहन कर वहां से निकल लिया. मैंने उनके पेटीकोट को हटाया तो अंदर का नजारा देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया. भाभी मुस्कुरा दीं और कहने लगीं- अच्छा ढंग की नहीं मिली … वैसे बेढंग की तो कई सारी मिल गई होंगी.

तब मैंने उससे पूछा- क्या तुम दोनों का झगड़ा हुआ है और इसी लिए तुम यहां आई हो?आरुषि एकदम से चौंक गयी कि मुझे कैसे पता चला. रात भर की चुदाई के बाद जब वो संतुष्ट हुई, तब हम दोनों चिपक कर सो गए. इस बार फूफा ने अम्मी की चुत में लंड पेला और सटासट अन्दर बाहर करने लगे.

आंटी की चूचियों के बारे में सोच कर मुठ मारते हुए बहुत मजा आ रहा था.

आपको गर्म कॉलेज गर्ल की चुदाई की मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी में मजा आया होगा. इसके बाद करीब डेढ़ महीने बाद ही मेरी बीवी भी डिलीवरी के लिए अस्पताल गयी और हमें भी बहुत प्यारी पुत्री का वरदान मिला।लेकिन मेरी मम्मी सोच रही थी कि पण्डित जी की भविष्यवाणी गलत कैसे हो गयी.

मैं चाहता हूँ कि तुम्हारी बुर में वीर्य की जो पहली धार गिरे, वो मेरे लण्ड से निकले. भाभी भी मजे लंड रस पी गईं और मेरे लंड को कुतिया की तरह चूसते हुए और चाटते हुए साफ करने लगीं. कुछ ही समय में मेरी दो उंगलियों ने इतनी जगह बना ली थी कि मेरे लंड का सुपारा अन्दर घुस सके.

शायद ज़ोहरा सोफे पर पिछली रात की फ़रिश्ते के साथ हुई घमासान चुदाई के बारे में आंखें बंद करके सोच रही थी. फिर मैंने उससे पूछा- आपके पास टिकट नहीं है?वो बोली- मैं बिना टिकट के ही आई हूँ. गाड़ी हल्की हल्की हिल भी रही थी और उसकी जांघों मेरे चूतड़ों पर आकर लग रही थीं.

एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ शायद इस बार चाची ने पल्लू जानबूझकर गिराया था क्योंकि वो बार बार मुस्करा रही थी. मैंने उसे रोका और कहा- मेरी जान … ऐसी ही खा जाओगी क्या … रुको पहले … तुम्हारी गहराई का आनन्द तो ले लूं मैं!ये बोलकर मैंने उसे खड़ा किया.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी वाला

उसने मेरे लंड का रस पीने की मंशा जाहिर की तो मैंने लंड चूत से निकाल कर उसके मुँह में लगा दिया. घूमने के बाद हम दोनों रात को दस बजे घर आए … रात का खाना आदि भी बाहर ही खा लिया था. उनका लन्ड तो छोटे बच्चे की तरह था, वे कुछ नहीं कर पाए, मैं प्यासी रह गई.

हम दोनों कमरे में आ गए और बाथरूम में अंकल मुझे कुतिया बना कर चोदने लगे. अब मेरी मां पिता जी के मुँह पर जाकर बैठ गईं और अपनी योनि को पिता जी की जीभ से चुदवाने लगीं. भाभी देवर के बीएफ सेक्सीमैंने सर के दिए गए कपड़ों को देखा कि साड़ी के साथ ब्लाउज पेटीकोट और ब्रा पैंटी भी रखी थी.

निशा भाभी ने इस समय हल्के पीले रंग का सूट पहना हुआ था, जिसमें भाभी एकदम कांटा माल लग रही थीं.

वो हंस रही थी और अपनी उंगलियों से मेरे लंड रस को अपने गालों पर क्रीम के जैसे मल रही थी. मगर मामी को देखकर बिल्कुल भी अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था कि वो एक 6 साल की बेटी की मां भी है.

उस पूरी रात मैंने उन दोनों की चूचियां मसलीं, गांड चुत में लंड पेला … उन दोनों के नंगे जिस्मों का मज़ा लेता रहा. एक बार मेरी चूत ने इसे सेट कर लिया तो फिर ये तुम्हारे लंड के साथ भी पूरा मजा करेगी. मैंने उसका हाथ अपने लौड़े पर रख दिया और कहा- ये वाला?उसने मुझे चूमते हुए हां कह दिया.

जिस दिन पापा गए, उसी दिन मॉम ने नाइट में अंकल को डिनर पर इन्वाइट किया था.

अब तक मैंने संजना आंटी के बारे में कुछ भी गलत नहीं सोचा था लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हो गया, जो हम दोनों करीब आ गए. ननदोई जी के लंड से मेरी चूत की प्यास बुझ रही थी … उनका मोटा लंड मेरी चूत को पूरा मजा देकर अंदर तक चोद रहा था. वो एकदम से सकपका गयीं और बोलीं- क्या कर रहा है, पागल हो गया है क्या? ये क्या हरकत है?मैं बोला- भाभी बहुत मन कर रहा है, एक किस दे दो ना प्लीज?वो बोली- यहां किसी ने देख लिया तो सारी आशिकी बिखरी बिखरी फिरेगी.

देहाती सील पैक बीएफफिर एक बार मैं ट्यूशन खत्म कर के हमारे घर की तरफ जा रहा था तो वो भाभी रास्ते में मुझे मिल गयी और मुझे देख कर स्माइल करने लगी. आपा के कुछ बोलने से पहले ही अम्मी ने कहा- तुम दोनों भाई बहन के बच्चे को देखने के लिए मेरी आँखें तरस रही हैं.

बीएफ बिदेसी

कुछ मिनट बाद उसको भी मज़ा आने लगा और वह अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी. मैं बोला- तो फिर ऐसे कैसे चलेगा यार … मैं तो मरा जा रहा हूं तेरे लिए! जल्दी से ऊपर की ड्रेस निकाल ले. 3 बजे से पहुंचा हुआ मैं 7 बजे तक इन्तजार करता रहा, सवा 7 बजे अवनीत बाहर आई तो मुझे लगा कि माधुरी दीक्षित आ गई है.

बड़ी बुआ ने कहा कि मयूर आज पहली बार तूने हमें ये बताया है चुदाई किसे कहते हैं, वरना तेरे फूफा तो केवल लंड से 5 मिनट चोद कर सो जाते थे … और वो भी साल में एक बार में आना … और एक महीने में दो बार चोद कर फिर से विदेश चले जाना. कुछ दिन बाद वह भी बिना चुदाई के नहीं रह पायी और चुदाई के लिए बोलने लगी- यार किसी तरह कोई जुगाड़ करो. अगला धक्का मैंने जोर से लगाया जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया.

गजब की सेक्सी माल लग रही थी वो!शहर में तो पता नहीं कितनों पर रोज बिजली गिराती होगी. मगर हैरान करने वाली बात बीयर की नहीं बल्कि उसके साथ भाभी का होना था. मैंने उन्हें बोला- अब जब आप दोनों राजी हो, तो मैं अपनी पहली चुदाई बिल्कुल सुहागरात की तरह मनाना चाहता हूं.

बात शुरू हो गयी थी तो चलती बात पर मैंने पूछ लिया- वहाँ आप रहती हैं?वो बोली- नहीं वहाँ मेरा ससुराल है. उसने अपनी चुत के नीचे मेरा लंड रखा और उस पर बैठ कर ऊपर नीचे होने लगी.

मैंने आपकी सुहागरात के बाद ही समझ लिया था कि भैया आपको नहीं चोद पाये।मैंने कहा- जीजा जी, चुप रहो और मेरी प्यास बुझाओ।उनका लंड भी काफी लम्बा और मोटा महसूस हो रहा था.

”आपको खुश करना होगा? कैसे खुश करना होगा?”वैसे ही, जैसे एक औरत एक मर्द को करती है. गांव की बीएफ पिक्चरअब कुसुम मेरे ऊपर चढ़कर ऊपर नीचे हो ही रही थी कि मैंने उसकी पीठ पकड़कर उसको अपने ऊपर लिटा लिया और वापस से चूमने लगा. भोजपुरी में हिंदी बीएफमन ही मन मैंने निश्चय कर ही लिया कि कुछ भी हो, मैं इसकी चूत का रसपान करके ही रहूंगा।संदीप की शादी के लिए अब मैं इंतजार कर रहा था कि कब चारू उसके घर उसकी बीवी और हमारी भाभी बनकर आयेगी. हूर बहुत ही आकर्षक लड़की थी, उसका फिगर 34-28-36 का इतना अधिक मदमस्त था कि जो भी उसको एक बार देख भर ले, मेरा दावा है कि उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाएगा और वो मर्द उसको चोदने का मन बनाने लगेगा.

अब आगे:इसलिए मैंने मैम को वहीं सोफे पर लिटा दिया और मैं उनके ऊपर चढ़ गया.

मेरे मजबूत डोले और उभरी हुई चेस्ट को देख कर अब लड़कियां मेरी ओर आकर्षित भी होने लगी थीं. देखते ही देखते उसने फिर से अपने वीर्य से अम्मी का मुँह भर दिया और हांफने लगा. मैंने नीता के मुंह से लंड को बाहर निकाल लिया और उसकी चूत में उंगली देकर अंदर बाहर करने लगा.

शकील अम्मी से- और सुनाओ क्या हाल है मेरी जान?मम्मी शकील से- हाल तो बहुत बुरा है तुम्हारी जान का!शकील- क्यों टाइम पर खुराक नहीं मिल रही क्या?मम्मी- इसी बात का तो रोना है. मगर मैं अपनी कहानियां लगातार आपके लिये लिखता रहूंगा।मेरी पिछली कहानी थी:मेरी बहनों ने मेरे लंड का मजा लियाआशा है कि आज की ये कहानी भी आपको अच्छी लगेगी. सर ने ये बात बोली ही थी कि अबकी बार फिर से मैडम के चीखने की आवाज़ आयी.

कुंवारी लड़कियों

उसकी बुर की गर्मी से मेरा लण्ड भी पिघल गया और ढेर सारा वीर्य उसकी बुर में ही छोड़ दिया. तभी उस लेडी ने पीछे मेरी तरफ देखते हुए कहा- उठो, चलो तैयार हो जाओ, मेरे राजा … आज की रात मैं तुम्हें पूरा नौचकर खाना चाहती हूं. मैंने एक दूध को मुँह में भरा और बहुत ही जोर से निप्पल खींचते हुए चूसा.

तभी अम्मी ने सीढ़ियों से ऊपर आकर वहीं दरवाजे में खडी होकर आवाज लगायी- आ जाओ बच्चो … खाना खा लो.

मुझे तो मानो जन्नत मिल गयी हो।मेरी सास ने अपनी साड़ी का पल्लू उठाने की कोई जल्दबाजी नहीं की बल्कि वो तो मेरी ओर देखे जा रही थी कि मैं क्या करता हूँ.

लगभग 20 मिनट तक तो हम होंठों में होंठों को चिपकाए हुए ही खड़े रहे और चूसते रहे. यीशा ने कुछ नहीं कहा … तो उसने यीशा की दोनों चूचियों को अपने हाथों से पकड़ कर एक जोर का धक्का मार दिया. बीएफ पिक्चर नंगे वालीमैंने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर भाभी की चुत की फांकों में सैट कर दिया और धीरे धीरे लंड चुत के अन्दर पेलने लगा.

मैंने देखा कि दीदी और वो आदमी दरवाज़े के पास खड़े होकर धीमी आवाज़ में कुछ बातें कर रहे थे. मैंने आगे हाथ बढ़ा दिए और उसकी दोनों चूचियों को पकड़ कर उन्हें मींजते हुए उसकी चुत में ताबड़तोड़ लंड चलाने लगा. लेकिन फिर मैंने उस सेक्सी लेडी को अच्छे से देखा, उसकी उम्र लगभग तीस बत्तीस साल के आसपास रही होगी.

और एक दिन उसने मुझे बताया कि मैं बाप बनने बाला हूं और वो बहुत खुश है. मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा वीर्य भाभी के कपड़ों पर गिर गया था.

तब मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और पीछे से उसके चूचियों पर हाथ रख कर चूची दबाना शुरू कर दिया.

और जैसे ही उसने अपनी पैंट उतारी, वैसे ही उसका करीब 7 इंच का सिकुड़ा हुआ लंड उछल कर बाहर आ गया. सत्यम के सीने से लग कर आज मुझे पहली बार इतना सुकून मिल रहा था, जितना कभी अपने पति की बांहों में नहीं मिला था. मैं- तो क्या हुआ, तू मेरे लिए इतना नहीं कर सकती … मैं तुझे खूब प्यार करूंगा.

बीएफ सेक्सी मूव्ही व्हिडिओ तभी अचानक से मेरी मम्मी का फोन आ गया और मैं भाभी को बाय बोल कर घर चला आया. मम्मी की पेशाब की आवाज़ सर्र सर्र करते हुए निकल रही थी और बड़ी मजेदार महक आ रही थी.

मेरे पिताजी को भी अब किसी बात का मलाल नहीं था क्योंकि उनको भी मालूम हो गया था कि मैं सब जान गया हूँ. हम रोज की तरह जो हमारे 4-5 दिन की दिनचर्या के अनुसार दूध निकाल कर लाये और फिर आज खाना खाकर और बच्चों को स्कूल छोड़ कर बाड़े गए … ताकि 5-6 घंटे आराम से तैर सकें. जिस दिन मेरी ये इच्छा पूरी हो जायेगी उस दिन मैं उन दोनों बहनों की चुदाई की कहानी जरूर लिखूंगा.

एक्स एक्स बीएफ दिखाइए

वहां पर काफी गहराई थी और रोड से देखने पर गाड़ी की छत ही दिख सकती थी. कुछ देर मैएँ उसके होंठों को चूसा, फिर उसका ब्लाउज खोल कर उसकी चूचियां चूसी. अपने दोस्त और उसकी बीवी के साथ शराब पीते हुए नशे में मैंने अपने दोस्ती की बीवी की चूचियां दबा दी.

बहुत ही मजे से मेरे लंड को चूत में लेते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी. मेरे दूसरे मामा यानि कि सबसे बड़े मामा से दूसरे नम्बर के मामा अक्सर हमारे घर आते जाते रहते थे.

मैं हंस दिया और उसे अपने साथ लेकर उसके रूम तक छोड़ने के लिए चल दिया.

बेड पर लेटकर मुझसे बोली- भोसड़ी के … आ और अपने लन्ड से मेरे भोसड़े की खुजली मिटा।मैंने उनसे कहा- आप गाली क्यों दे रही हो?तो वी बोली- गाली देकर चुदने में मुझे मज़ा आता है. मेरा निकाह मेरी खाला की बेटी से हुआ था और मैं अपनी बीवी शनाज़ की गर्म चूत के मजे ले रहा था. उसकी टीशर्ट उसके बूब्स की जगह से पूरी ऊपर उठी हुई थी और पेट के ऊपर टीशर्ट हवा में झूल रही थी।शिल्पी का चिकना और स्लिम पेट साफ साफ दिखाई दे रहा था। उसका पेट एकदम मलाई जैसा था और पेट के बीचोंबीच नाभि बहुत सेक्सी लग रही थी।मैं तो उसे आंखो से ही चोदने लगा था.

एक बार चुदाई के बाद दुबारा हमें मौका नहीं मिल रहा था कि हम चूत गांड चोदन कर सकें. मेरा लंड उसकी चुत में दो इंच ही घुसा था कि वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ चिल्लाने लगी. मामी के मखमली बदन पर चलते हुए मेरे हाथ उनके मस्त बदन का माप लेने लगे.

उसने मेरे एक चूचे को जोर से पकड़ कर दबाते हुए कहा- मेरी रानी, लंड का पानी तो मैं अंदर ही निकालूंगा.

एक्स एक्स वीडियो बांग्ला बीएफ: मां ने पेटीकोट घुटनों से पूरा ऊपर उठा लिया और मां सीधे लेटकर सो गईं. उसने मैसेज किया कि थोड़ी देर में उसके पति घर से निकलने ही वाले हैं.

हालांकि मुझे अपनी बीवी के किसी दूसरे लंड से चुद जाने से कोई गिला नहीं था. मैंने उसकी चूत पर लंड का सुपारा सेट किया और एकदम से लंड को अंदर घुसा दिया. मैं आपको बताना चाहती हूँ कि शादी से पहले मेरा चुदने का बहुत मन होता था लेकिन मैं कभी किसी से चुदी नहीं.

चूंकि उधर उस समय हल्का सा अंधेरा हो गया था, तो बहुत से कपल भी अपने अपने इसी काम में लगे हुए थे.

पर मैंने उसे पकड़ लिया और फिर से उसे खींच कर बाथरूम में लेकर आ गया और किस करने लगा. आई लव यू अन्नु।मैं- चारू मेरी जान … मैं नहीं बता सकता आज तुमने मेरी इस अभिलाषा को पूर्ण करके मुझ पर कितना बड़ा उपकार किया है. जो मुझे चोद चुके थे, वे भी जब मन होता मुझे बुला लेते और मुझे खूब चोदते हैं.