बंगालन बीएफ

छवि स्रोत,बिहारी जी की फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन देसी सेक्सी बीएफ: बंगालन बीएफ, उसके ऐसा करने से रजत एकदम घबरा गया, उसे समझ नहीं आया कि अब क्या करना है.

हॉट सेक्सी वीडियो जानवर

और कान खोलकर सुन लो, अगर मैं चाहूँ तो मेरे लिए लंड की लाइन लग जाएगी… ऐसा हुस्न है मेरे पास… पर क्या तुम्हें कभी ऐसा हुस्न मिलेगा, वो भी अपने घर में? ये तुम सोचो? तुम जब चाहो तब मुझे चोद सकते हो और अपना लंड मेर शरीर के हर छेद में डाल सकते हो… पर ये तुम्हें साथ में ही करना होगा. लड़की 16 साल की सेक्सीकभी उसके हाथ मेरी गर्दन को सहलाते, तो कभी पीठ को सहलाते हुए मेरे चूतड़ों तक पहुंच जाते.

मैं दो मिनट के लिए वैसा ही पड़ा रहा, उनके दूध चूसता रहा और उनको चूमता भी रहा. वीडियो ने की सेक्सीमैंने देखा कि पहला चूचुक काफ़ी देर तक चूसने के कारण काफ़ी फूल गया था.

खूब लम्बे काले घने केश जिनकी चोटी उसकी कमर तक आती थी और वो अपनी चोटी गोद में लिये यूं ही उँगलियों में लपेट रही थी.बंगालन बीएफ: ये कहते हुए उन्होंने सबसे पहले उस जॉकी को ही धोने के लिए उठाया और वो उस पर लगे वीर्य को देखा, जो सूख कर कड़क सफेद हो चुका था.

उन्होंने भी लंड की रगड़न का गर्म अहसास करते हुए मस्त आह भरी, उनकी आह बता रही थी जैसे प्यासे को पानी मिल गया हो.उसका नाम गौरी था, अब आपको तो पता ही होगा कि बंगाली आइटम कितने हॉट और रसीले होती हैं.

हिंदी देहाती फिल्म सेक्सी - बंगालन बीएफ

इसी के साथ मेरे धक्के और भी तेज होते जा रहे थे, मैं मामी जी को पूरे जोश के साथ चोद रहा था.तो मैंने उसकी चादर को डबल करके अपने पैरों पर इस तरह से डाला कि पता ही न चले कि कोई मेरा लंड चूस रहा है।मुझे भी लगा कि एक बार लंड झड़ जाएगा तो चोदने में मजा आएगा, इसीलिए राजी हो गया।मेरा कई महिलाओं से वास्ता पड़ा लेकिन उस उम्र की इतनी बिंदास और सेक्सी महिला से पहली बार पाला पड़ा। बाद में पता चला कि वह आखिरी बार कोई 5 साल पहले चुदी थी.

कुछ मिनट बाद ही मैंने उसके सर को दोनों हाथों से पकड़ लिया और जोर जोर से उसके मुँह की चुदाई करने लगा. बंगालन बीएफ इतने में रशीद ने बेरहमी से अपना पूरा लंड पायल की चुत के अन्दर डाल दिया.

यहां दिल्ली में भी कई ब्रांचेज होंगी पर वो सब देखने ढूँढने का समय नहीं था हमारे पास.

बंगालन बीएफ?

टॉप और निक्कर के बीच में थोड़ा सा नाभि के पास का उसका गोरा और गदराया हुआ पेट झलक रहा था. उसका उभार उसकी उठान मुझे आमंत्रित सी करती लगती कि दबोच लो, मसल दो या छू ही दो या अपनी कोहनी मार के छेड़ ही दो, हिला दो मुझे. कुछ देर बाद पूजा अपना काम निपटा कराई और आकर मेरे बगल में लेट कर मुझे किस करने लगी.

ये मेरी और मेरी बेस्ट फ्रेंड की चुदाई की कहानी है जो पिछले महीने की बात है. मुझे लगा कि इतना होने पर लंड आसानी से अन्दर तक चला जाएगा, पर उसकी चूत अभी भी टाइट थी. शाम को उसका फोन आया तो मैंने कहा कि लैटर मेरे पास सुरक्षित हैं, तुम चिन्ता मत करो.

चल, चाय यहीं ले आ साथ में एक गिलास पानी भी लेटी आइयो!” मैं अलसाए स्वर से बोला. ऑटो में हम साथ साथ ही बैठते थे और अपने पैरों के ऊपर बैग रख लेते थे. मैं भी इसी मौके की तलाश में था मैं धीरे धीरे उसके ऊपर आ गया और अपने आपको उसकी टांगों के बीच सैट कर लिया.

मेरे बॉस की सेक्सी बीवी की चुदाई स्टोरी के पहले भागबॉस की गरम सेक्सी बीवी-1में आपने पढ़ा कि वो मुझसे अपने बदन की वैक्सिंग करवा रही थी. मुझे उसके लुंजपुंज लंड को देख कर बहुत नफ़रत हो रही थी, मगर उसने मेरे मुँह को ज़बरदस्ती खोल कर मुझसे अपना लंड चुसवाया.

भाभी ने मुझे जाने को बोला, पर मैं एक राउंड और चाहता था लेकिन उन्होंने मना कर दिया.

अब भाभी की हरकतें, जैसे उन्हें मेरी तरफ आकर्षित होना देखकर मुझे लगने लगा था कि उनको भी मेरी ज़रूरत महसूस होती होगी.

चाची जैसे ही सुपारा मुँह में डाला कि चाचा के मुँह से सीत्कार निकल गई और वो नीचे से कमर चलाने लगा. उनमें से मेरा एक दोस्त था मोहित। मोहित के अलावा रमन और सोहित भी मेरे अच्छे दोस्त थे जिनके साथ मेरी ज्यादा बनती थी इसलिए मेरा उसके घर भी ज्यादा आना जाना बना रहता था।मोहित एक बिजनेसमैन था और उसकी जिन्दगी बहुत अच्छे तरीके से चल रही थी। मोहित की पत्नी जिसका नाम नीलम था. बस माइक ने फिर देर न करते हुए हाथ बाहर हटाया और मुनीर के कंधों को पकड़ एक जोरदार झटका दिया.

तभी मुन्ना अंकल ने कहा- इसको कहाँ करेंगे? तू जगह देख फिर इसे उठाकर ले चलेंगे. हमें कुछ नहीं करवाना है आपसे न कुछ दिखाना है आपको, बस!” कम्मो अभी भी जिद पर अड़ी थी. लगभग 15 मिनट तक अपने बेटी की कुंवारी मखमल जैसी कोमल गांड को बड़ी ही निर्दयता के साथ चोदा.

चाची यह सुन कर कुछ गुस्से से बोलीं- अरे तुम्हारी तो मति ही मारी गई है.

अब प्रिया ने भी मेरी शर्ट को उतार दिया और साथ ही मैंने अपने हाथों से उसका लोवर उतार दिया. मैंने दरवाजा बंद किया, थैली में से सारी चीजें निकालीं, अपना मेकअप किया. वो मेरी चूची को अपने मुंह में लेकर चूसने के बाद मेरी नाभि को किस करने लगा.

पिछली कहानी पढ़कर एक महिला पाठक ने मुझे मेल किया और कहा कि आपकी वजह से रश्मि को दूसरा बच्चा ठहर सकता है या आप इसके जिम्मेदार हैं. उसी दिन मैंने एक वकील को बुलाकर उससे कहा- इस बच्चे को मैं गोद ले रही हूँ, इसके पूरे क़ानूनी कागज बनवाइए ताकि कभी कोई अड़चन ना आए. मैं समझ गया और मैंने अपना लंड मामी जी की चूत से बाहर निकाला और कहा- चलो अब पलट जाओ मामी जी.

मैंने सोचा यही अच्छा मौका है, मैंने उससे बोला- क्या मैं आ जाऊं?उसने भी हां बोल दिया- हां आ जाओ.

उसको अपने लंड में थोड़ा-थोड़ा दर्द का भी अनुभव हो रहा था पर उत्तेजना चरम सीमा पर थी. अशोक- मैंने कभी सोचा नहीं था कि मेरी बेटी मेरे बारे में ऐसा सोचती है… नहीं तो मैं तुम्हें कभी का चोद देता मेरी जान… तुम्हें बड़ा होते हुए देखकर मेरा भी हमेश मन करता था तुम्हें चोदने को.

बंगालन बीएफ जब तक इसकी मदमस्त जवानी के दर्शन न मिलें, इसकी चूत और मम्में देखने का मज़ा न मिले तो फिर चूत मारने का मजा ही क्या. वो लोग अपने दोस्तों से चटखारे लेकर ये बोल देते हैं कि वो लोग मेरी फलां सहेली को चोद चुके हैं.

बंगालन बीएफ मैं टैक्सी की खिड़की की तरफ खिसक गया और बाहर देखने लगा पर मेरा ध्यान फोन पर भी था क्योंकि मैं अपने कुछ दोस्तों से एडल्ट कंटेंट्स भी शेयर करता था. मयूरी थोड़ा पीछे हटी और अपनी बांहों की पकड़ को थोड़ा ढीला करते हुए अपने पापा को उसने अपनी चूचियों को पकड़ने और मसलने का रास्ता दिया.

वहां चाची की दी गई शिक्षा और वादे को ध्यान में रखते हुए मैंने बड़े मजे किए और कइयों को मजे दिए.

इंडोनेशिया सेक्सी बीएफ

आईईई … मम्मीईईई … बहुत दर्द हो रहा है इसे बाहर निकाल‌ लो प्लीईज, मुझसे नहीं होगा … ओययय … महेश्श … इसे बाहर निकाल ले …” ये कहते हुए वो छटपटाने लगी. एक दिन जब जसवीर शॉप पे था, स्नेहा स्कूल गई हुई थी और मौसा जी कहीं शराब पीने गए हुए थे, तब घर में सिर्फ़ मैं और मौसी ही थे. एक हसीं देसी भाभी की इस सेक्स स्टोरी में आपने जाना कि उसने मेरे लंड को चूस चूस कर लाल कर दिया और मेरे बहुत कहने के बाद ही उसने अपने मुँह से मेरा लंड निकाला था.

विक्रम गुस्से से- मतलब?मयूरी- मतलब कि मैं तुम दोनों पर एक-साथ अपनी जवानी लुटाना चाहती हूँ. हम लोग दबे पांव चलते हुए एक कोने वाले कमरे तक गये और उसे खोल कर अन्दर चले गये और फिर मैंने भीतर से दरवाजा बंद करके बत्तियां जला दीं. फिर एक दिन जब मैं बाथरूम में गया तो मैंने देखा कि मौसी की ब्रा और पेंटी वहीं पड़ी थी.

जब मैंने ऐसा कहा तो उसने प्यार से मेरी तरफ देखा और मेरे गाल पे किस करके भाग गई.

इस पर वो बोलीं- इसीलिए तो कह रही हूँ कि तू बड़ा हो गया है, कोई अच्छी सी लड़की देखकर ब्याह करवाना होगा ताकि फिर किसी और के सामने तेरा खड़ा न हो जाए. जो होगा देखा जाएगा लेकिन ऐसा गलत काम में आप हमें सम्मिलित नहीं कर सकती. हमें सुबह के 6 बज गए थे और फिर 10 बजे हमे चेकआउट करना था तो हमने थोड़ी देर सोना ही ठीक समझा और 10 बजे चेकआउट करके हम वहाँ से निकल गए.

फिर वो बोली- मगर दीदी कभी दिल में यह ख़याल ना लाना कि मैं अभी भी उन पर नज़र रखती हूँ. दोस्तो, आप भी, जब लड़की झड़ जाये उसके बाद ऐसा करके देखना, लड़की को बहुत मज़ा आएगा. फिर अगले पल मैं खुद ही अंकल के गोद में आगे की ओर थोड़ी सी उचकी और अपनी समीज़ को दोनों हाथों से खुद ही निकालने लगी.

मैंने उसकी थोड़ी तारीफ की और कहा- मुझे आप बहुत अच्छी लगी हो, क्या मैं आपका नम्बर जान सकता हूँ?वो मुस्कुराते हुए बोली- किस चीज का नम्बर?मैंने अचकचा गया और कहा- फोन का नम्बर दे दीजिएगा. ”लंड पर लंड की घर्षण, चेहरे पर चेहरे की घर्षण होने से मैं उत्तेजित हो गया.

हां हां कहो बेटा क्या बात है?”अंकल जी, पहले हम लोग फोन खरीद लेते हैं. शीतल को एक बात का पूरा फायदा मिल रहा था कि मयूरी अभी उसके चेहरे का भाव नहीं देख पा रही थी और इस वजह से वो एकदम बिंदास होकर ये करने का आनन्द लेने में व्यस्त थी. पर मैं जानती थी कि वो ज्यादा देर शांत नहीं रुकेगी, जब तक उसके सामने मर्द गिर ना जाए.

मैंने जोर लगा कर सलवार छुड़ाने का प्रयास किया तो उसने अब दोनों हाथों से उसे पकड़ लिया और इन्कार में गर्दन हिलाने लगी.

हम दोनों की सांसें तेज हो गईं, दिल की धड़कनें बढ़ गईं और काम की लहरों पर हमारी हवस की कश्ती सैलाब की ओर बढ़ चली. इतनी बेबाक पत्नी को देखकर मैं अवाक् रह गया था लेकिन फिर मैंने स्थिति की नाजुकता को समझते हुए दीमा के लंड के ऊपर से अपनी भार्या के छोटे से छेद को कुरेदना शुरू कर दिया. तभी उसने मेरे मुँह पे पानी छोड़ दिया… मैं भी उसकी चुत के पानी को पी गया.

फिर मैंने उससे पूछा- तुम्हें क्या पूछना था, बताओ?उसने मुझसे कहा कि मैं अभी तक कुँवारी जैसी ही हूं. उनकी गदरायी गोरी जाँघों पर जांघें घिसते हुए आंटी को प्यार करता रहा.

इसलिए मैं अब उनके दोनों पैरों को मोड़ कर पैरों के पास बैठ गया और आंखों की भौ को ऊपर करते हुए उनकी तरफ इशारा किया. रात हुई तो तारा का भी संदेश आया कि चलो पिछली बार की तरह फिर से कुछ किया जाए. मयूरी बिल्कुल अपने माँ पर गयी थी, छरहरा बदन, खूबसूरत होंठ, नशीली कमर, जवानी की उठान, भारी-भारी चूचियां और उतनी ही बड़ी बड़ी गांड। जिस जगह से गुजरे उस तरफ के लोगो का लंड अपने आप ही खड़ा हो जाता था.

ब्लू बीएफ वीडियो सेक्सी

शायद मेरे पति के लंड का सुपारा, कुछ कुत्ते के जैसे फूल जाता है, जोकि मेरी चूत में फंस जाता है.

मैंने सोचा कि अच्छा होगा अगर मैं यहाँ से कहीं और चली ज़ाऊं और फिर से नई जिंदगी शुरू करूँ. भाभी मेरे नीचे पड़ी हांफ रही थीं और मैं बड़े बड़े धक्कों से उनकी चूत को नहला रहा था. इस बार दरवाजा खुला, तो आज मैं मैडम को देखता ही रह गया, सच में क्या कयामत थी … क्या जोरदार माल लग रहीं थी.

हम तुमसे पैसे ऐंठने के लिए तुम्हारा इलाज़ करेंगे मगर कोई परिणाम नहीं निकलेगा. मुझे चुदाई की कहानियां पसंद हैं, जब कभी भी मुठ मारने का मन करता है तो मैं अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ना शुरू कर देता हूँ और मुठ मार लेता हूँ. मोहब्बतें का सेक्सी वीडियोमैंने अपना लौड़ा जूही की चूत पर रखा और उसकी गांड को पकड़ का नीचे से एक झटका मारा और पूरा लौड़ा जूही की चुत में पेल दिया।मैंने जूही की गांड पकड़ लिया और दोनों हाथों से ऊपर नीचे करने लगा, उसकी बड़ी गांड जब मेरे लौड़े पर ऊपर नीचे हो रही थी, ये देख कर चोदने का मजा बढ़ता जा रहा था.

कैसे एक ही बार में मैंने तुम्हें एक्सपर्ट बना दिया।” अब इसका क्रेडिट भी उसी ने ले लिया।हो गया न. सोहेल शादी के बाद एक प्रायवेट कंपनी में रिकवरी का काम करता था, इसीलिए उसे बाहर भी रहना पड़ता थाजब ये शादी हुई तो हम लोग यही सोचने लगे कि ये फूल जैसी नाजुक और सुंदर सेक्सी परी ने इस जंगली भैंसे में ऐसा क्या देखा? जो प्यार कर बैठी.

तभी भाभी ऊपर को उठीं और उन्होंने मुझे अपने स्तन देखते हुए पकड़ लिया और बोलीं- क्या देख रहे हो?मेरी फट गई, मेरे मुँह से शब्द नहीं निकले. ’हमारे बदन से धक्कों की आवाजों से फट फट की जैसी तेज रफ़्तार से आने लगी थीं. चूंकि हमारा यह सेकंड राऊंड था, काफी देर तक हमारे लंड अपना कमाल दिखाते रहे.

मेरी कहानी आपको कैसी लगी? और कोई सुझाव देना चाहते हो तो मुझे मेल कर सकते हैं. धर्मशाला में अंधेरा ही था क्योंकि सारी बत्तियां मैंने जानबूझ कर बुझा दी थीं. वो मुझे चोद रहा था और मैं सिसकारियां ले रही थी- आह आह जानू चोदो मेरी चूत को … उम्म्ह… अहह… हय… याह… आज शांत कर दो मेरी चूत की प्यास बुझा दो … बहुत दिन से चुदी नहीं है आह आह आह…मेरे मुख से ऎसी आवाजें निकल रही थी.

अब मेरी लार से उसकी चूत इतनी गीली हो चुकी थी कि मेरी उंगली उसकी चूत में आराम से अन्दर बाहर हो रही थी.

उन्होंने भी मेरी बनियान को उतारा और आगे ही पल मेरे पजामे को भी उतार दिया. जब मैंने कहा कि मैं उसके साथ उसके घर जा रही हूँ तो बड़ी जेठानी ने केवल इतना कहा कि ज्यादा रात मत करना और अगर देर हुई तो अगली सुबह जल्दी आ जाना.

पर आज जब मयूरी अपने घर जा रही थी तो उसके दिमाग में कुछ नयी तरंगों ने कब्ज़ा कर रखा था. सत्यम की दी हुई सारी वस्तुएं थैली में भरी और आधे घंटे में मैं सत्यम के घर पहुँच गया. वो लगातार मेरी गांड में ज़ोर ज़ोर से धक्के मारे जा रहे थे और मेरे अन्दर आनन्द ही आनन्द भर रहा था.

”जी!” पूजा ने इससे ज्यादा कुछ नहीं कहा।मैंने चलने को कहा तो और जैसे ही दरवाजे की तरफ चला तो पूजा की मीठी सी आवाज कानों में पड़ी- प्लीज आप थक गए होंगे … चाय पी कर जाइये. मुझे पता था कि अभी मेरी उंगली इसकी चूत में हाय तौबा मचाएगी तो ये अपनी सलवार क्या अपनी पैंटी भी खुद उतार के देगी मुझे; आखिर अपनी चूत की खुजली कब तक सहन कर सकेगी. हम लोग दबे पांव चलते हुए एक कोने वाले कमरे तक गये और उसे खोल कर अन्दर चले गये और फिर मैंने भीतर से दरवाजा बंद करके बत्तियां जला दीं.

बंगालन बीएफ चूत चूमते चूसते हुए ही मैंने अपनी दो उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं. मैं उसकी चुत को पागलों की तरह से चूस और चाट रहा था और वो भी मेरे लंड और पोतों को पूरे मज़े से अपने मुँह में लेकर चूस रही थी.

नई नवेली दुल्हन की सुहागरात

”मैं दिखा रही हूँ?” नेहा मेरे सामने खड़े हो कर बनावटी गुस्से से मेरी तरफ देख रही थी और लड़ना चाहती थी. उधर ललित की पत्नी रश्मि भी पेट से हो गई थी तो वो भी उसके मायके चली गई थी. याद है न?” मैंने सरासर झूठ बोलते हुए इत्ती सी कह के अपने हाथों से इशारा करके उसे बताया.

एक दिन उसने कहा कि मेरी मकान मालकिन और उसके परिवार के सब लोग कुछ दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं. उन्होंने मुझे कोई मौका दिए बिना मेरा लोअर उतार दिया, जिससे मेरा लंड जो कि खड़ा होकर उत्थित अवस्था में था, उनके हाथ लगाने मात्र से फट पड़ा और उनके हाथ गंदे हो गए. वीडियो और सेक्सीहालाँकि मयूरी पहले से चुदी हुई थी पर फिर भी उसकी चूत बहुत ही टाइट थी और इस बात का अहसास अशोक को हो रहा था.

फिर सारी खिड़कियां बंद करके फर्श पर चार पांच गद्दे एक के ऊपर एक बिछा कर बढ़िया मोटा बिस्तर चुदाई के लिए तैयार कर लिया और कम्मो का हाथ पकड़ कर उसे बिस्तर पर गिरा लिया और उसे दबोच कर मैं उसके ऊपर चढ़ बैठा.

अशोक- पर मुझे ऐसे नंगे बाहर जाने में अजीब लग रहा है?मयूरी- पापा, आपने अभी अपने बेटी जी जबरदस्त चुदाई की है और कल से घर में सब लोग नंगे ही रहने वाले हैं… अब वक्त बदलने वाला है… आप शर्माना छोड़िये… चलिए बाहर…अशोक- ठीक है…और दोनों बाप-बेटी घर में बेशर्मों की तरह नंगे ही दरवाजा खोलकर बाहर निकले और मयूरी की कमरे की तरफ बढ़े. बेटा, तू इस घाघरे चोली में एकदम हॉट लग रही है; तुझ बंजारिन को चोदने को कब से मचल रहा हूं; पहले यही काम निपटा लें न!” मैंने उनकी चोली में हाथ घुसा के उसके अंगूर मसलते हुए कहा.

मेरी मम्मी अपनी सहेली के साथ बाहर गयी थीं, इसलिए मैं अब आराम से अपने दीदी के देवर के साथ अपने बेडरूम में जाकर बातें करने लगी. मैंने सेक्सी भाभी को उठा के बेड पर पटक दिया और अपनी लोअर और टी-शर्ट उतार दी. इधर मेरे बदन में खून की रफ़्तार तेज हो गयी मेरी कनपटियां तपने लगीं और लंड धीरे धीरे अकड़ने लगा.

वो चाहती थी कि पूरा परिवार एक साथ चुदाई करे, कोई किसी को भी चोदे वो भी बिना रोक-टोक के.

दूसरे दिनउन्होंने मुझे पांच सौ रूपये दिए और समझाया कि मैं दो जिन्दगी जियूं. हम समझ गए कि उन्हें भी अब पूरी चुदाई करनी है क्योंकि आगे की सीट पर चूत में लंड दल कर चुदाई नहीं हो सकती, सिर्फ चूमाचाटी, लंड चुसाई वगैरा ही हो सकता है. उसने मुझे बताया कि उसका चाचा, जब भी वो नहाने जाती थी, तो गुसलखाने का दरवाजा खोल देता और दरवाजे में आ कर खड़ा हो कर मुझे नंगी देखता रहता था.

हॉट वीडियो सेक्सी मेंमैं चीखना चाहती थी, पर उस कमीने ने मेरी चीख मुँह पर हाथ लगा कर रोकी हुई थी. दो मिनट बाद मैंने उन्हें बिस्तर पर लिटा कर उनकी चुत की फांकों पर अपना लंड रखा और एक झटका दे मारा.

लड़कियों का एक्स एक्स

फिर मेरा कान खींच कर बोलीं- चाची पे लाइन मारेगा … क्यों रे और कोई नहीं मिला?तो मैंने कहा- सॉरी … अब आप बैठी ही ऐसी थीं, तो मैं क्या करता?तो उन्होंने बोला- मैं कैसी बैठी थी?तो मैं बोला- आप लगभग पूरी नंगी दिख रही थीं … पेटीकोट भी पानी से पारदर्शी हो चुका था … तो मैं क्या करता. फिर कुछ देर बाद रशीद ने अपने लंड का पूरा पानी पायल के मुँह में डाल दिया. अंकल ने फिर मुझे बिस्तर पर लिटाया और फिर से मेरी दोनों चूचियों को मुँह में लेकर खूब चुसाई शुरू कर दी.

धीरे धीरे उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और हम दोनों का बदन चुदाई से पसीने से भीग गया था और हमारी साँसें बहुत तेज चल रही थी. फिर मयूरी ने बातचीत शुरू की- पापा…अशोक- हाँ बेटा?मयूरी- आपको अफ़सोस है ना कि मैं आपको मेरी कुंवारी चूत के साथ नहीं मिली… और आप मेरी चूत का सील नहीं तोड़ पाए?अशोक- ऐसी बात नहीं है… पर हाँ, अगर ऐसा होता तो मुझे और मजा आता. वो शायद बाथरूम में ही गर्म हो कर आई थीं, तो उनकी गर्म सांसें मुझको महसूस हो रही थीं.

शुरूआत में तो नहीं लेकिन किशोरावस्था की दहलीज पर कदम रखते ही उन्हें लेकर मेरी नजरें बदलने लगीं. प्रिया के ऐसा करने से मेरी उंगली उसके प्रवेशद्वार में थोड़ा और घुस गयी, जिससे प्रिया के मुँह से इइईईई … श्श्शशश … आआआह्ह्हह …” की जोरों से आवाज निकल गयी. जैसे ही ट्रेन आई, मैंने अपना बड़ा बैग जैसे तैसे ट्रेन में भीड़ से घुसते हुए रखा.

कुछ ही देर ऐसे ही करने पर वो शांत हुई और चूतड़ उठाकर मेरा साथ देने लगी. लंड को साफ़ किया, फिर बाहर एक तौलिया में आ गया।साक्षी- इधर आ जाओ।मैं आवाज की तरफ गया तो एक बेडरूम था। अन्दर से मीठी से खुशबू आ रही थी। साक्षी की आँखें नशीली थीं.

देखते देखते मुझे शौर्य के कुछ सेक्सी पिक्स दिखे, जिसमें वो अपने गोल, सफेद और भरी हुए गांड को दिखा रहा था.

उसने आंख बंद करके ही कहा- हैरी डाल भी दो न, क्या कर रहे हो!मैं भी उसकी बात को सुनके एकदम जोश में आ गया और पूरा लंड एक बार में ही डाल दिया. सांप और लड़की का सेक्सी वीडियोदोनों नियमित रूप से जिम जाते थे, देखने में बहुत ही आकर्षक व्यक्तित्व के मालिक लगते थे. सेक्सी वीडियो एक्स एक्स डाउनलोडवो अपने पति से वो सब पाना चाहती थीं, लेकिन पति के द्वारा समय न दे पाने के कारण वो हमेशा ही प्यासी बनी रहती थीं. घर में सिर्फ मैं और मामी, सर्दी का मौसम और साथ में पूरी रात, माहौल तो बना हुआ था.

सुन कम्मो, हम लोग शादी का सामान चेक करके आते हैं अभी!” अदिति ने कम्मो से कहा.

मगर पक्का पता करने के लिए और मुझे भड़काने के लिए आंटी ऐसा कर रही थीं. जो दिखने में गांव की देसी गर्ल लगती हैं, पर हैं बहुत सुंदर और सेक्सी. मैंने आज का प्लान पूछा तो उसने बताया- आज हम एक बजे के करीब मोहाली जाएंगे.

हम वहां पहुंच गए थे, भैया के साथ घूमना फिरना भी हो रहां था लेकिन यार मैंने जैसा सोचा था ना. अशोक ने अपने हाथ से मयूरी की चूत को सहलाया और वो उसकी गुलाबी चूत को देखकर एकदम उस पर मोहित हो गया. सुनील ने अपना ग्लास पायल के होंठों से लगा के पिला दिया … पायल एकदम से उठ गयी और थूकने लगी, बोली- ये क्या पिला दिया, इसमें कतरा सा क्या मिलाया है?सुनील हंसने लगा, मैंने देखा था सुनील ने मुठ मार के अपना वीर्य दारू में मिक्स करके पायल को पिला दिया था.

देसी सेक्सी पिक्चर बीएफ

दोस्तो, मैं आपका दोस्त कुणाल सिंह कानपुर से! मेरी एक सेक्स कहानीमेरी जयपुर वाली मौसी की ज़बरदस्त चुदाईपहले भी तीन भागों में अन्तर्वासना पर आ चुकी है. मैंने उसकी कमर को फिर से कसकर पकड़ा और पूरी ताकत लगा कर धक्का मार दिया, जिससे पूरा का पूरा लंड दीदी की चुत की गहराई में उतर गया. शाम को अशोक घर आया तो उसने बताया कि उसके बड़े भाई यानि के मयूरी के बड़े चाचा की तबियत अचानक ख़राब हो गयी है तो उसको देखने जाना है.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.

माइक का लिंग वैसे ही चिपचिपा दिख रहा था और चमक भी रहा था, ऊपर से तारा की योनि थूक से गीली थी.

मैंने उसको चूमना चालू कर दिया, वो भी मेरा साथ देने लगी और हम दोनों जमकर एक दूसरे को चूमने लगे. मैं थोड़ा सा होश में आया और मैंने उसे रोकने के कोशिश की, तो वो अब कहां मानने वाली थी. पहली रात की सेक्सीजब उसका लंड सख्त नहीं हुआ तो वो मुझसे बोला- आज इसको मुँह में डाल कर चूसो.

मैंने उसके टॉप को उतार दिया और ब्रा भी निकाल कर उसके चुचों को आजाद कर दिया. उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो चुकी थी, जिसकी वजह से पैंटी भी गीली हो गई थी. उसने उसी समय अपने मन में ठान लिया कि अपनी गांड की सील तो मैं इसी लंड से खुलवाऊँगी, थोड़ा पतला होने से ये आराम से कम दर्द में उसकी गांड का दरवाजा खोल सकता था.

रजत के लिए जीवन में यह पहली बार था जब वो किसी लड़की की नंगी चुत को इतने नजदीक से देख रहा था. तो उसने उदास सा चेहरा बनाकर मुझसे पूछा कि कब जाओगे?बस रिज़ल्ट आने के बाद ही यहां से चला जाऊंगा, तब तक हम ऐसे ही फ्रेंड तो रह सकते हैं ना?”उसने कहा- हां यार.

उन्होंने मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरे लम्बे लंड महाराज को हैरानी से देखते हुए मस्त होकर लंड चूसने लगीं.

थोड़ी देर बाद उन्होंने अपने लंड पर बहुत सारा आयिल लगाया और मेरी गांड के अन्दर भी थोड़ा सा तेल डाल दिया. ये महक सुपारे की थी, जोकि मेरी नाक में घुसने लगी और मैं कुछ मस्त हो गयी. मैं थका हुआ था तो सो गया बिना कुछ खाये पिये!क्योंकि घर की एक चाबी हमेशा उसके पास रहती थी तो वो उस चाबी से दरवाजा खोलकर अंदर आ गई और अपना काम करने लगी।सारा काम खत्म करके उसने खाना खाने के लिए मुझे आवाज दी तो मैं सोने का नाटक करने लगा.

हिंदी सेक्सी आजा भाभी का ध्यान पड़ने से पहले मैंने पानी की बाल्टी फेंक दी थी और जैसे ही हमारी नजरें मिलीं, सेक्सी भाभी ने अपने आपको ढकने के लिए एकदम से तौलिया लपेट लिया. क्योंकि दोस्तो, आप जानते हो कि जब आग दोनों तरफ बराबर मात्रा में हो तो रोमांस करने का मजा बहुत अलग ही आता है.

फिर 5 दिन बाद उसी नंबर से फोन आया और दूसरी ओर से कविता बोल रही थी- सर आपने फोन नहीं किया. ठीक है साब फिर आप बाहर का ताला लगा के चाभी ले जाओ अपने साथ!” उसने मुझे राय दी. दो दिन बाद हम दोनों साथ में बाइक से कॉलेज जा रहे थे, तो मैंने चैक करने के लिए जानबूझकर जोर से ब्रेक मारा.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियो में

लेकिन दोस्तो हवस की आग में जलने के बाद वासना की गंगा में डुबकी लगा कर ही कामी जिस्म को तृप्ति दी जा सकती है. कुछ लोगों के कुछ जुगाड़ वगैरह से मिलवाने से सम्बंधित मेल मुझे मिले, तो इनके जबाब में एक ही बात करूँगा कि सॉरी दोस्त. उसने दोनों हाथों से तारा के कूल्हों को पूरी ताकत से पकड़ा और ताबड़तोड़ धक्के लगाने शुरू कर दिए.

उससे पहले मेरी लम्बी कहानीपापा की चुदक्कड़ सेक्रेटरी की चालाकीआपके समक्ष आ चुकी है. फिर थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला, जैसे ही मैंने अपना लंड बाहर निकाला मानो एक अजीब सी मादक खुश्बू सारे कमरे में फ़ैल गई.

दोनों अभी तक ये समझ रहे थे कि ये खूबसूरत और हसीं वाकया सिर्फ उनके साथ ही हुआ है पर यहाँ तो बात कुछ और थी.

मैंने उसकी आँखों में अपनी आंखें डालते हुआ कहा- बहुत शैतान हो गए हो. तो उसने बड़े आराम से सब कुछ सुयोजित किया और भाई बहन सेक्स की योजना के मुताबिक सबसे पहले उसने बड़े भाई पर लाइन मारना चालू किया. कुछ देर बाद वो चाचा से बोला कि इसकी टांगें फैलाओ ताकि चूत को देख सकूँ कि यह चुदी हुई है या नहीं.

पर वो नहीं माने, मेरी गांड में एक उंगली डाल कर उसको अभी भी चाट रहे थे. मेरे मुँह से लंबी लंबी सांसें निकल रही थीं और वो बेरहमी से बुरी तरह मुझे चोदे जा रहे थे. फिर मैंने पजामा निकाला तो अंडरवियर के ऊपर से देखा कि उनका लंड बहुत मोटा था.

वो इतनी तेजी से अपना लंड मेरी चूत में डाल रहा था कि 5 मिनट के अन्दर ही उसने मेरी चूत को और मुझे बेहाल कर दिया.

बंगालन बीएफ: तो भाभी ने खुद ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत पर लगाया और धीरे धीरे डालने को बोला. उसने ऑफिस पहुँचते ही फोन किया- और सुनाओ मीता रानी, क्या हो रहा है?मैंने कहा- बस आराम कर रही हूँ तुम्हारी बदौलत.

हम दोनों बेड पर लेट गए मेरा लंड खड़ा हुआ था जोकि पजामे से साफ दिखाई दे रहा था. लेकिन शादी के कुछ दिन बाद जो चुदाई चालू हुई, तो बस रात दिन ठुकाई ही होती रही. मैं अपने एक हाथ से उनके मुम्मे दबा रहा था और मेरा दूसरा हाथ उनके पेटीकोट के ऊपर से उनकी चूत को सहला रहा था.

शीतल विक्रम के पास गयी और उसके सर पर प्यार से हाथ फेरते हुए पूछने लगी- पढ़ाई कर रहा है मेरा बेटा?विक्रम- हाँ माँ…शीतल- मैं थोड़ी देर तुम दोनों के साथ बैठ सकती हूँ?विक्रम- हाँ माँ… क्यूँ नहीं?शीतल- ओके…और ऐसा कहते हुए शीतल विक्रम के बिस्तर पर बैठ गयी.

अब उन्होंने मेरी कमर पकड़ी और धीरे से अपने लंड का टोपा मेरी गांड में घुसाने लगे. उनकी गुदा का छेद अब एकदम नरम और चिपचिपा गीला था, खुला हुआ भी लग रहा था. उससे कम से कम तुम्हारे पति गांड मारने के लिए घर के बाहर नहीं जाएंगे.