एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,इंग्लिश फुल सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स गुजराती: एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी, नेहा को चोद रहा अरमान बोला- बहन की लौड़ी, साली तुम चुदो अपने यारों से, हमें डिस्टर्ब मत करो!मनोज सुलेखा को फिर से चूसने लगा, अब वो सुलेखा की चूत का आस पास का पूरा भाग और गांड तक चूस रहा था.

सेक्स वीडियो देहाती फिल्म

‘अंकल जी अब तो मेरे मुहाँसे पक्का ठीक हो जायेंगे ना?’ उसने जैसे मुझे चुदने के बाद उलाहना सा दिया. राजस्थानी लड़कियों का व्हाट्सएप ग्रुपमैं और मेरी दीदी किरण जो पूरी मेरे जैसी है, हाईट, वेट साइज़ फ़ीगर सब सेम है, हम दोनों बहनें हैं इस वजह से मॉम डैड के एक जैसे जींस हमारे अंदर हैं इसलिए ऐसा हुआ है कि हम एक जैसी हैं.

हम दोनों ने 15 मिनट तक चुदाई का मजा लिया और शालू झड़ कर मेरे ऊपर ही ढेर हो गई. व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ सेक्सीउन्होंने बोला- मैं कैसी लगती हूँ तुम्हें?मैंने तुरंत बोला- बहुत ही ज्यादा अच्छी और मैं आपको पसंद भी करता हूँ.

मेरा मस्ताना और कड़क हो गया वो फिर वापस मस्ताना के टोपा को चाटने लगा.एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी: यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी थी, ये एक रियल रंडी की चुदाई की सेक्स स्टोरी है.

उस सीत्कार को सुन कर मैंने पूछा- क्या हुआ? बहुत दर्द हुआ क्या?माला ने सिर हिलाते हुए कहा- हाँ, बहुत दर्द हुई है.जिससे वो बच्चा चाहती है, पर इसमें खर्चा बहुत आएगा।मेरे दोस्त होने के बाद भी उसने बताया कि लगभग 30 हज़ार का खर्चा है।यह सुन कर हम दोनों ही सकते में आ गए। इतने पैसे किसी को बिना बताए जुगाड़ करना मुश्किल था। फिर हम दोनों मेरे घर पर आ गए। वहाँ पर दीदी ने बोला कि वो किसी ऐरे-गैरे का वीर्य नहीं लेगी.

सेक्स वीडियो कुत्ता - एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी

तो संजय हंसने लगा और उसको कुछ टिप्स दिए कि अब ऐसा करना तब वो साली समझ सकेगी।ना ना अभी बता दूँगी तो बाद में मज़ा कैसे आएगा, ये तो तभी देखना और दोस्तों ये फ्लॉरा की एंट्री जबरदस्ती नहीं डाली है.मैं आपका ‘ये’ नहीं सहला सकती।काका पर अब सेक्स चढ़ चुका था, वो मोना के मम्मों को दोनों हाथों से मसलने लगे थे और बीच-बीच में उसकी चुत को भी दबा देते।मोना- आह.

मर्दानी ताक़त से एक तगड़े मर्द के आलिंगन में बंधी होने का और उसके धारावाहिक चुम्बन का अलौकिक सुख मिल रहा था. एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी नीतू- सच दीदी, आईसक्रीम तो मुझे बहुत अच्छी लगती है मगर माँ मुझे खाने नहीं देतीं, कहती हैं पैसे नहीं हैं.

जिससे मुझे थोड़ा दर्द तो होता मगर मजा भी आता।भाई ने जैसे ही मेरी नाभि पर किस किया, मैं सिहर उठी.

एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी?

सौरभ- किस-किस ने चोदा तुझे?सोनी- मुझे लड़की और लड़कों दोनों ने चोदा है।सौरभ- तू भाभी को भी चोद चुकी है ना?सोनी- हाँ. पर जल्दी ही अपना लंड निकाल कर उसकी चूत को ढूँढने लग गया कि अगर इसके मुँह में ही लगा रहा तो इसी में मेरा माल निकल जाएगा और फिर दुबारा मौक़ा कब लगेगा. मैं समझ चुका था कि अब वो झड़ने वाली हैं। हालांकि मैं भी झड़ने वाला हो गया था सो मैंने भी तेजी पकड़ ली। हम दोनों की स्पीड बहुत तेज हो गई थी। पूरे रूम में बस ‘पच…पच…पच.

मेरी चीख निकल गयी- आईई ईईईई मर गई… छोड़ मेरे बाल पीटर!मगर वो नहीं माना, उसके धक्के और तेज होते गए. मैं छुप कर देख रहा था, तभी भावना ने मुझे और मेरे खड़े लंड को देख लिया और तुरंत वहां से चली गयी. दीदी ने जल्दी से अपनी एक टांग वाशबेसिन पर रखी और मैं उनके नीचे से आकर एक बार फिर से दीदी की चुत चाटने लगा.

तभी उसे याद आया कि वो लॉलीपॉप चूसने की बहुत आदी है क्यों ना इसको लंड चुसा कर देखूँ, क्या पता नींद में भी मज़ा दे दे. फिर गुस्से से बोली- मैं कह रही हूँ कि धीरे से डालो और तुमने पूरा एकदम से डाल दिया. फिर अचानक वह बोली- पहले एक बार तुम अपना लंड मेरी चूत में पेल दो, मुझसे रुका नहीं जा रहा.

यह मेरा पहला अनुभव है कि मैं अपनी जीवन की रीयल xxx कहानी लेकर इस साइट के मध्यम से आप सब के सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ. मैं भी अब अपना हाथ जो‌ ‌उसके नन्हे उरोजों को मसक‌ रहा था, उसे पिंकी के मखमली पेट पर से सहलाते हुए उसकी जाँघों के जोड़ पर पहुंचा दिया, लेकि‍न मेरा हाथ उसकी योनि को छुये उससे पहले ही पिंकी ने जाँघों को भींच कर अपनी योनि को छुपा लिया।उसने दोनों जाँघों को अंग्रेजी के अक्षर ‘X’ की तरह जोरो से जांघें भींच लिया था जिनको आसानी से खोलना मुश्किल था इसलिये मैं उसकी जाँघों के ऊपर ही धीरे धीरे सहलाने लगा.

आंटी भी मुझे देख मुस्कुरा दी, शायद उसने भी मेरी कामना को समझ लिया था.

मेरे लंड के ऊपर का ये दवाब मैं बर्दाश्त नहीं कर पाया और मेरे मुंह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाजें निकलने लगी.

वह थोड़ा छटपटाई और उसकी चीख भी निकली- उईई ईई मार डाला रे आह्ह्ह उईई आआह्ह! बाहर निकाल दो! मुझसे और दर्द… आह्ह्ह… बर्दाश्त नहीं होता!अब मैंनेअपना लंड पूरी ताकत से उसकी चूत में घुसा दियाऔर जोर-जोर के धक्के लगाने शुरू कर दिए! कुछ देर बाद वो शांत हो गई और मेरे लंड का पूरा मज़ा लेने लगी. फिरं चाची मेरे ओर देख कर बोली- ठीक है मार ले पर आराम से मारना, तुम्हारा लंड बहुत मोटा है. मैं आपका ही इन्तजार कर रही थी।सुधीर तो किसी कठपुतली की तरह मोना के पीछे-पीछे खिंचा चला गया। उधर मोना भी बहुत तेज थी.

दो मिनट बाद मैंने लावा उगल दिया जो चाची की चूत में जाते ही चाची का भी स्खलन हो गया. मैंने अहमदाबाद से निकलते समय रफीक को फोन कर दिया कि मैं आ रहा हूँ, आप मुझे रेलवे स्टेशन लेने आ जाना. उसकी सांसें और मेरी सांसें बहुत तेज़ थी और फिर थोड़ी देर मैंने पूछा- कैसा लगा भाभी?उसने मुझे अपने होंठों से चिपका लिया और चूमने लगी.

फिर एक मेसेज आया- प्लीज़ कॉल मत कीजिए, सभी घर पर है मैं तमन्ना हूँ!बस फिर ऐसे ही हमारी मेसेज पर बात होने लगी, बातों बातों में मैंने उसे लिख दिया- मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ!उसने भी रिप्लाई में लिखा- पसंद तो मैं भी आपको करती हूँ पर अगर किसी को पता लग गया तो मेरी बहुत बदनामी होगी.

अब याद आया मुझे!’‘अंकल जी मैंने सोचा है कि एक बार वो भी ट्राई करके देख लूं जो आप कह रहे थे…’ वो बड़ी मुश्किल से कह पाई. अब लड़के ने उस लड़की को सीधा कर दिया और उससे सलवार की गांठ खोलने का इशारा किया. यह बात तब की है जब मैं मात्र 18 वर्ष का था, परन्तु शरीर से तगड़ा था.

कमसिन कली स्नेहा का नंगा जिस्म मेरे नंगे जिस्म के आगोश में होगा, अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो!अगले दिन मैं स्नेहा से मिलने को तैयार हुआ. आपको यकीन ना आए तो किसी छोटे बच्चे की नूनी को थोड़ा सहला कर देख लो, वो भी खड़ी हो जाएगी, फिर मॉंटी तो पूरा लड़का था. मैं उसको तेज तेज चोदने लगा और वो हर झटके में आह जैसी कामुक आवाज निकालने लगी और साथ ही नीचे से अपनी गांड उछाल उछाल कर चुदने लगी.

मैं बारम्बार उसके बदन को छूने का यत्न करता रहा… कभी उसके हाथ को तो कभी उसके कंधे को पकड़ता… उसने एक बार भी मुझे छूने से नहीं रोका तो मुझे लगा कि उसकी मूक सहमति है जो मैं कर रहा हूँ.

उसने मेरे पैर फैला दिए और मेरे ऊपर लेट गया, मेरे हाथों को कस के पकड़ा और उसका लंड सीधा अंदर चूत के… ऐसा पोज़ मैंने कभी नहीं किया था. मेरी प्यारी पत्नि पिछले कुछ समय से इस कला में काफी पारंगत हो चुकी थी, और आज तो वो इस स्पेशल शूटिंग के लिए पूरी तरह से तैयार होकर आई थी, उसने अपने चेहरे पर शानदार हॉलीवुड वाली ट्रेडमार्क स्माइल ओढ़ रखी थी.

एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी आप जल्दी आ गए? क्या बात है आजकल काम नहीं है या आप ऐसे ही छुट्टी मार लेते हो?जॉय- अरे सारा दिन फाइलों के बीच बोरियत होती है, तो चला आया. उसकी आँखें हिरणी जैसी चंचल हैं… और सधी हुई लेकिन साथ ही मदमस्त चाल जैसे माधुरी दीक्षित ‘हम आपके हैं कौन’ में चलती है.

एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी अब रोज़ दिन में मामी बेटे को सुलाकर मेरे पास आ जाती और मैं रोज़ मामी की चुदाई करता!एक दिन मामी ने कहा- तुम अपना सारा माल अपनी चूत में छोड़ देते हो, इससे मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बन जाऊंगी. इसका टेस्ट ही अजीब लग रहा है।साहिल- अरे इतनी पीने के बाद तुझे टेस्ट खराब लगा क्या?संजय- अरे जाने दे उसका मूड सही नहीं है.

उसकी आँखें हिरणी जैसी चंचल हैं… और सधी हुई लेकिन साथ ही मदमस्त चाल जैसे माधुरी दीक्षित ‘हम आपके हैं कौन’ में चलती है.

ननंद भोजाई के सेक्सी बीएफ

अब मौसी को क्या पता था कि उनके लिए तो दोपहर होने को आई है लेकिन मेरे लिए तो गम की काली रात शुरु हो चुकी है जिसका ना कोई ओर है और ना कोई छोर…अगले ही पल मौसी ने कहा- अरे हिमांशु, एक बात तो मैं बताना भूल ही गई कि रवि ने तेरे लिए अपने घर का पता लिखकर मुझे दे दिया था. मैं भाभी के सामने अपने दोनों पैरों को पूरा फैलाकर खड़ी हुई थी और वो अब नीचे बैठकर मेरी चूत के बाल बहुत प्यार से कपड़े से साफ कर रही थी।इस बीच उन्होंने मुझे खुलकर लंड और चूत की चुदाई की मजेदार बातें बताई, जिनको सुनकर मैं बहुत उत्तेजित हो गई थी और फिर मैंने उनसे भी पूरा नंगी होने के लिए बोला तो उन्होंने भी तुंरत खड़ी होकर अपनी पेंटी और ब्रा को उतार दिया. वो बेचारी इतना सब कैसे सहन कर पाती, बदले में वो अपनी चूत उठा उठा कर मेरे मुंह पे मारने लगी.

ये सोचकर कोई इसे छेड़ता नहीं था। काका भी इसे देखकर मन ही मन इसे चोदने के सपने देखता था मगर कभी ऐसा मौका ही नहीं मिला कि राधा को चोद सके। आज जब काका और राजू बात कर रहे थे, तब राजू ने यही राज बताया था. ज़रा भी शर्म नहीं करती हो, उधर देख कर क्या बोल रही थी तुम?अनीता- रिलॅक्स. पूजा की कमसिन बुर को चीरता हुआ संजय का 8″ का तगड़ा मोटा लंड बुर में काफी अन्दर तक समा गया.

तभी राजे ने पैंतरा बदला, अचानक से मैंने स्वयं को ऊपर उठता हुआ अनुभव किया, चूचुक में एक तेज़ खिंचाव हुआ और राजे ने बैठी हुई पोजीशन में आकर मुझे लंड पर बिठा दिया था, मेरी पीठ उसकी तरफ थी और उसने मुझे चूचियों से थाम रखा था.

अगले ही पल राजे ने एक ज़ोरदार हुंकार भरी और मेरे कटिप्रदेश को जकड़ के बीस पच्चीस इतने ज़बरदस्त पावर वाले शॉट ठोके कि मुझे लगा मेरे शरीर के भीतर सब अंग अस्त व्यस्त हो जायेंगे. ऐसे तो सिर्फ ब्लू फिल्म में ही दिखाते हैं, उईइ म्मम्मम अममामा उईईई माँआआअ. तभी मैंने दूसरा झटका मारा और मेरा लंड उनकी बच्चेदानी से जाकर टकरा गया.

सफ़ेद शॉर्ट स्कर्ट और रेड टाइट टी शर्ट में वो लड़की बहुत ही हॉट लग रही थी. ये बात है तो ड्रेस और चप्पल से क्या होगा, उसको और कुछ भी चाहिए होगा ना!अनीता ने ये बात सामने अंडरगार्मेंट्स के डिपार्टमेंट को देख कर कही थी, जिसे बाप और बेटी दोनों समझ गए।गुलशन- सुमन एक काम करो ये बहुत सामान हो गया है, ये सब बैग मुझे दो और मेरे लिए एक पानी की बोतल ले आओ. तो मैंने थोड़ी देर में हाथ भी रख दिया और दबा भी दिया।इस बार उन्होंने थोड़ा सा आह किया और मुझे किस करके खुद से और ज्यादा जोर से चिपका लिया।मैं ऐसे ही पूरी रात उनके चूचों पे हाथ रखके सोता रहा.

बहन का रिएक्शन देख कर मैं उसी वक्त समझ गया था कि अब कुछ होने वाला है. तू सुना क्या हाल है तेरे और कॉलेज में सब ठीक है ना?फ्लॉरा- हाँ पापा सब ठीक है.

मौसी पर आप भी अपनी ब्रा पैंटी पहनकर मेरे साथ ठीक ने नहीं नहा पाओगी. उसने अपना हाथ हम दोनों के बीच डाला और मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत के मुहाने पर रख दिया. उसने अगले हफ्ते देने का वादा किया और हम दोनों अपने घरों को वापस आ गये।समय के साथ हम जवान होते जा रही थी, उस दिन के बाद मैंने हर दूसरे दिन प्रेरणा को अश्लील पुस्तक को लाने कहा.

मैं मना करती रही पर आकाश माना ही नहीं और फिर हम दोनों ने किस किया और मैं अपने घर आ गई!घर आकर शाम को मेरे पति के आते ही मैंने सारी बात उन्हें बता दी तो वो मुझे बोलने लगे- तुम्हारे तो मजे हैं, पैसे भी और चुदाई भी… पर मुझे तुम्हारी चुदाई देखनी है हर बार की तरह.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ लिया और चूम चूमकर उसे गीला कर दिया. फिर भाई ने भी आगे से कुछ कहा और ऋतु सोचने के अंदाज में सर खुजाने लगी और फिर कुछ और बातें करने के बाद दोनों एक दूसरे के गले लग गए और ऋतु बाहर निकल गई. ‘क्या हुआ गुड़िया? रुक क्यों गईं’‘बस अंकल, मैं तो आ गई जोर से… अब मेरे बस का कुछ भी नहीं है.

मैं भी पड़ी पड़ी अपने दोनों हाथों से कभी बूब्स कभी चूत को सहला कर चुदाई के मजे में मस्त थी. फिर आपको कब बताऊंगा? रात को आप मुझसे कैसे मिलोगी?मोना- आप चिंता मत करो गोपाल की नाइट शिफ्ट है.

उसका कद यही कोई 5 फिट 2 इंच है। सच बोलूँ तो उसके चूचे भी ज़्यादा बड़े नहीं हैं। मतलब देखने में औसत लड़की है. हेलो दोस्तो, मैं रंजन, मैं ओडिशा से हूँ लेकिन अभी मैं बंगलोर में रह रहा हूँ. फिर हम सब मिलकर पटाके छोड़ने लगे तो नेहा का एक कजिन जिसका नाम रोहन था वो बार बार आयेशा से चिपकने की कोशिश कर रहा था जिसे आयेशा और मैंने महसूस कर लिया था.

धड़कन बीएफ

सबसे अजीब बात थी कि सिंसिअर सी रहने वाली लड़की आज इस रूप में?उस दिन मुझे पता चला कि लड़की का सामान्य व्यव्हार और सेक्स की फंतासी दोनों में बहुत अंतर भी हो सकता है.

उसने पीछे हाथ लाकर लंड को पैन्ट के ऊपर से ही पकड़ लिया और दबाने लगी. टालना इसलिए भी ज़रूरी था कि मैंने ज्योति के साथ तो यह चर्चा की नहीं थी, उसको पूरी बात विस्तार से बता कर ही मैं सुमित के सामने उसको फोन पर बात कर सकती थी. संजय- मेरी जान, ये खुजली उंगली से नहीं जाएगी इसे तो लौड़ा ही मिटा सकता है.

सब कुछ खुल कर बताओ ओके!इतना कहकर मोना ने हल्की स्माइल भी पास की, जिसे देख कर सुधीर भी मुस्कुरा दिया। वो सोच रहा था कि ये मोना की तरफ से ग्रीन सिग्नल है या सिर्फ़ उसका वहम है।मोना- अब बोलो भी यार. अब तक की हिंदी पोर्न स्टोरी में आपने पढ़ा था कि गोपाल मोना को मनाता हुआ पूछ रहा था कि जब वो चुदाई की बात करता है तो वो मना क्यों देती है. नॉनवेज जोक्सपर आपसे एक इल्तिजा है कि आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें क्योंकि मैं एक सेक्स स्टोरी की लेखिका हूँ, बस इस बात का ख्याल करते हुए ही सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और कमेंट्स करें।[emailprotected]कहानी जारी है।.

पूरे कमरे में भूकम्प आ गया था। उसके धक्के बहुत जोरदार और गांड फाड़ू हो गए थे। मेरी गांड बुरी तरह रगड़ी जा रही थी. मैं पहली बार ब्लू फ़िल्म देख रही थी और मैं अभी तक गर्म ही थी, इसलिए वो फ़िल्म मेरे बदन में सनसनी पैदा करने लगी.

मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरा लंड किसी बहुत ही टाइट जगह में फंसा हुआ है. हम लोग स्काइप के अलावा फ़ोन पे भी थे, रफीक फ़ोन पे कोमल को चोद रहा था और मैं और मोहन ओपन स्पीकर पर जमीला को चोद रहे थे. लंड हाथ में सटते ही चाची ने आँखें खोल दी और बोली- क्या कर रहा है… इसे क्यों बाहर किया?मैं सकपका गया, मैं लंड को पैन्ट के अंदर डाल लिया.

जब वो मेरी आरती उतार रही थी तो मैंने नोट किया कि उसके हाथ पहले जैसे बेढंगे और बिना केयर किये हुऐ नहीं हैं. !सुमन ने यह बात कुछ अलग अंदाज से कही थी, जो गुलशन जी को भी अजीब लगी. मेरे सब दोस्तो में मेरी लुल्ली सबसे बड़ी है ओके!टीना- अच्छा तुझे कैसे पता? क्या तूने सबकी खोलकर देखी है?मॉंटी- हाँ अक्सर स्कूल से आते वक़्त हम वो बड़ा नाला है ना.

रश्मि ने मेरे ऊपर लेटे लेटे अपनी टाँगें चौड़ी की और मेरे लंड को अपनी सुलगती चूत के मुंह पर रख लिया.

हवस मेरे दिमाग में बुरी तरह से छाई हुई थी तो मैं बिना कुछ सोचे विचारे उस की रजाई में सरक गया. सुबह मामा ऑफिस चले गए और मैं रोज़ की तरह बाथरूम में जा कर मामी की पेंटी से खेलने लगा.

एक दिन सरोज मुझसे बोली- कोई गर्लफ्रेंड बनाई या नहीं?तो मैंने कहा- एक पसंद तो है, लेकिन उससे बोलने की हिम्मत नहीं है. और थोड़ी देर बाद ही फिर से फूफा जी के कमरे में आ गई और दरवाजा लॉक कर दिया. अब वो एक तौलिया पहने हुए था उसने अपने बैग से एक सीडी और उसका प्लेयर निकाला.

कहीं उसकी चुत मत फाड़ मत आप और काका वो किसी को हमारे बारे में बता तो नहीं देगी ना?काका- अरे पागल है क्या, वो खुद लंड की प्यासी है। उसको ऐसा तगड़ा लंड मिल जाएगा तो वो क्यों किसी को बताएगी। चल अब बातें मत कर वो किसी भी पल आ सकती है। तू बस लंड को अच्छे से चूस कर तैयार कर। पहले तेरी गांड को ठोकूँगा, उसके बाद मैं उसकी चुत फाड़ूगा।मोना- काका मेरी गांड मारोगे तो मुझे बहुत दर्द होगा. वो बोला- हाथ अंदर डाल!मैंने हाथ अंदर डाला तो लंड से निकल रहा प्री कम उसके अंडरवियर को गीला कर चुका था. मैंने भी मौका ना गँवाते हुए कहा- चलिए आप कभी मेरे काम आ जाना, सिंपल!और हंस दिया.

एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी जमीला ने सबीना की चूत पर किस किया और उसको अपने भाई के साथ मजा लेने की इजाजत देके खुद बेड पर ऐसे लिटा दिया कि उसका मुंह बेड के किनारे पर… अब रफीक सबीना के ऊपर लेट गया 69 में और उसको तसल्ली नहीं हुई उसने सीधा अपना मुँह सबीना की रसीली चूत पर टिकाया जो पहले ही पनिया रही थी, उसको चाटा और नमकीन चूत रस का आनन्द लिया. इस तरह की कई कई बार की चुदाई से स्नेहा के मुहाँसे बिल्कुल से गायब हो गये जैसे कभी थे ही नहीं और उसका रूप रंग और भी निखर गया.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्स

बाकी कोई नहीं दिखाई दे रहा और पार्टी जैसा माहौल भी नहीं है एवेरीथिंग इस फाइन ना. मेरे पति का नाम राज, वे 37 साल के हैं। मेरे ससुराल में हम 5 लोग हैं, जिनमें मेरे ससुर, मेरे पति, मैं, मेरा एक देवर और मेरा बेटा हैं।मेरे ससुर करीब 57 साल के हैं और मेरी सासू माँ नहीं हैं। देवर का नाम आदी है. आज मैं अपनी आँखों देखी मॉम की चुदाई का हाल बताने जा रहा हूँ।हम लोग गुजरात के रहने वाले हैं। मेरी मॉम का नाम चंपा है, उनकी उम्र 39 साल है। मेरी मॉम काफी सुन्दर हैं और अभी भी जवान दिखती हैं।मेरे पापा का एक जिगरी दोस्त हैं.

मैं पुणे में रहता था और जब मैं रोज़ सुबह कॉलेज जाने के लिए बाहर निकलता था, तब एक मैरिड लेडी लगभग 34 साल की. ऋतु एकदम से चीख पड़ी- माआअर डाआअला… आआअ… आआआ आआअह… चोदो… मममुझे… डाडाआआलो… हाँ हाँ… हाँ… हाआआअ!आज वो कुछ ज्यादा ही उत्तेजित थी. मारवाड़ी सेक्स मारवाड़ीफूफा जी का एक हाथ मेरे गले में था और दूसरा हवा में लटक रहा था, जब में उनको बेड के ऊपर लिटाने लगी तो उनका वजन ज़्यादा होने के कारण संभाल नहीं पाई और खुद भी उनके ऊपर ही गिर गई.

दोस्तो, उम्मीद है आपको मेरी फर्स्ट टाइम चुदाई की सेक्सी कहानी पसंद आई होगी.

आगेपूजा की चूत चुसाई और लंड पिलाई के बाद ऋतु ने उसे सब डिटेल में बताया कि अगर वो अपनी सहेलियों को ये सब मजे दिलवा सकती है, फिर और भी मजा आएगा. तब से मैंने मोबाइल में अन्तर्वासना पर भाई-बहन सेक्स स्टोरी पढ़ना स्टार्ट किया.

! कि तूने और रोहन ने गर्मी की छुट्टियाँ कैसे बिताई।यह बात उसने ताना मारने के लहजे में कही थी।अब मुझे रोहन पर बहुत गुस्सा आ रहा था, क्योंकि उसने ही हमारी बातें विशाल को बताई होंगी और विशाल ने प्रेरणा को…मैंने दांत पीसते हुए कहा- कमीना रोहन. हम सबने एक साथ मस्ती करने का प्लान बनाया था मगर लास्ट मोमेंट मेरे पीरियड की वजह से सब चौपट हो गया।संजय- टीना हद है यार. इनको मैंने दो-तीन बार खाने के समय देखा भी था… हाँ ये वहीं लड़के हैं… मुझे याद आ गया.

मैंने उनकी चूत को देखा बिल्कुल क्लीन शेव, एक भी बाल नहीं था, मैं चूत को चूसने लगा, आंटी को बहुत मजा आ रहा था, वो मेरा लंड भी अच्छी तरह चूस रही थी.

कुछ मिनट में जब पूजा का दर्द कम हुआ और वो भी अपने कूल्हे उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी. दोस्तो फ्लॉरा चेंज कर रही थी मगर जॉय के रिमोट के चक्कर में वो सिर्फ़ ब्रा-पेंटी में बाहर आ गई थी. उसको किसी ना किसी तरह बोतल में तुमने आराम से उतार लिया, मगर ये सुमन को तू किस तरह तैयार कर रहा है? ये बात समझ नहीं आ रही है।विक्की- हाँ यार.

मारवाड़ी राजस्थान सेक्सअब आप जान ही गए कि चुदक्कड़ तो मैं पहले से ही थी लेकिन शादी के बाद बहुत बंधन हो गया. मेरा मुँह उनकी चुत में लगते ही उन्होंने अपना सर तकिया में दबा लिया.

एमसी वाला बीएफ

वो उन्होंने नोटिस कर लिया।मैं- आंटी आपके हाथ की चाय तो बहुत टेस्टी है।आंटी- थैंक्यू. फिर सीमा किचन में चली गई, मैंने सोचा कि यही मौका है, क्यों न सीमा दीदी पर ट्राई किया जाए. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पूजा की छोटी सी बुर संजय का मोटा लंड सहन नहीं कर पाई और वो चिल्ला पड़ी.

मैंने भी अपनी लुल्ले की तरफ इशारा कर के कहा- मौसी यहाँ भी दुखता है. उसके दर्द को देखकर मैं कुछ देर के लिए रुका और कहा- बाबू प्लीज थोड़ा सा बर्दाश्त कर लो, बाद में बहुत अच्छा लगेगा. मैंने गुस्से में उसकी तरफ देखा और उसका हाथ हटा दिया और उसे भला बुरा सुनाने लगी.

और जब उसने देखा कि मैं उसके लंड को ध्यान से देख रहा हूँ तो उसका लंड अपने आकार में आने लगा और देखते ही देखते 8 इंच तक लंबा हो गया. लेकिन मैं बड़े ही एहितयात से सावधानी से रगड़े मारता रहा, मेरा प्रयास था कि जल्द से जल्द मैं झड जाऊं और मुक्ति पा लूं!लेकिन सुबह ही मैंने बीवी को चोदा था इसलिए झड़ने में देर लग रही थी. पहले ही मुझे बोल देती रानी, तेरी चुत की प्यास मैं कब का मिटा देता आह.

पहले तो जॉन ने इग्नोर किया मगर सामने कच्ची कली और बारिश का मौसम, वो ठंडी हवाएं. उसकी बात सुन कर मैं उसके ऊपर से उठते हुए बोला- तुम्हें तो बिल्कुल नया और बहुत अच्छा अनुभव मिला होगा.

मुझे जाना भी होगा।मोना- अरे बात तो बताई ही नहीं और जाने की बात करने लगे और वैसे भी कौन सा आपकी वाइफ आपका वेट कर रही है। चले जाना आराम से.

किसी को पता भी नहीं चलेगा और हम भाई-बहन पर शक भी नहीं होगा।पहले तो वो नाराज़ हो गई. लव विडियो डाउनलोडगुलशन- अरे फिर पापा… तुझे कैसे समझाऊं, मैं तुम्हारा पापा नहीं हूँ और इसको देख कर तेरी माँ तो बहुत खुश हुई थी, तूने भी देखा होगा वो मुझसे शादी के बाद कितनी खुश रहती थी. 17 साल काउसको क्या खाक चोदूँगा। तुम शक कर रही हो ना अब बूढ़ी नहीं, जवान नहीं. अब तक की भयानक चुदाई से नताशा की चूत पानी छोड़-छोड़ कर अपने आस-पास की जगह को कीचड़युक्त कर चुकी थी और मेरा साधारण साइज़ का लंड बाहर निकलने के बाद अन्दर जाने के बजाए साइड में फिसल जाता था.

उस समय उस मकान के बगल वाली बिल्डिंग में सामने वाली खिड़की में एक सुन्दर और सेक्सी भाभी रहती थीं, जिनका फिगर 34-28-36 का था.

एक दिन दोपहर में मम्मी पड़ोस में गई हुई थीं और बहन कॉलेज का भी कॉलेज था तो कालेज में थी, सिर्फ मैं और पूजा ही घर पर थे पर पूजा उस समय सो रही थी. मैंने उसके होंठ चूमने चाहे मगर उसके मुँह से गंदी बू मार रही थी, इसलिए मैंने उसके बोबे पकड़ कर ज़ोर से दबाये, मगर कीकू ने कोई दर्द महसूस नहीं किया, कुछ नहीं बोली. लेकिन दरवाज़ा खुला देख कर मैं बाथरूम के दरवाज़े के पास जा कर अंदर झाँका तो देखा पूर्ण नग्न माला कपड़े धो रही थी.

मेरे पति का नाम राज, वे 37 साल के हैं। मेरे ससुराल में हम 5 लोग हैं, जिनमें मेरे ससुर, मेरे पति, मैं, मेरा एक देवर और मेरा बेटा हैं।मेरे ससुर करीब 57 साल के हैं और मेरी सासू माँ नहीं हैं। देवर का नाम आदी है. आपको यह शक कैसे हुआ कि मैं मुंबई में किसी से सम्भोग करता था?चाची ने मेरा मुख चूमते हुए कहा- मेरे राजा, तुम्हारा यह राज मैं किसी को नहीं बताऊंगी यह मेरा वादा है तुमसे. मैंने दर्द भारी आवाज में कहा- एआइईईई जानू, धीरे से दबाओ, मैं कहीं भाग नहीं रही हूँ.

ब्लू फिल्म सेक्सी एचडी बीएफ

और अपनी क्लास में जा।संजय- हम में से किसी एक को किस कर या वो सामने प्रिंसीपल मैम आ रही हैं तो उनको जोरदार थप्पड़ मार… अगर ये दोनों तेरे बस के नहीं तो तीसरा और लास्ट टास्क बहुत आसान है, रात को हम पार्टी करेंगे, उसमें शामिल हो जाओ! सिम्पल !फ्लॉरा ने थोड़ी देर सोचा फिर टीना के बारे में पूछा कि पार्टी में वो भी आएगी क्या?संजय- हाँ वो भी आएगी, डर मत सिंपल पार्टी होगी।फ्लॉरा- ओके, मैं पार्टी में आऊंगी. अब चलो सब बैठ जाओ, नहीं तो बियर गर्म हो जाएगी।सब वही गोल घेरे में बैठ गए। संजय ने शाम को टेबल कुर्सी का बंदोबस्त कर लिया था। अब पार्टी शुरू हो गई थी. इसलिए सबीना और जमीला में लेस्बियन सम्बन्ध बन गए और वो जब भी मौका मिलता इसका मजा लेती और कभी रफीक जब किसी को अपनी गांड और जमीला को चुदवाने बुलाता तो आज की तरह दोनों ननद भाभी उस से दिन में मजा लेती और रात को रफीक और जमीला मजे लेते.

ऐसी बात मत कर यार, मेरी तो पैन्ट में हलचल शुरू हो जाती है।टीना- अबे चल साले चूतिये.

अभी चलते हैं ना थोड़ी देर में!और इतना कह कर उसने अपनी उंगली को यूँ चूसा जैसे लंड चूस रही हो.

वैसे तो वो लोग रात को शिफ्ट हो गए थे, मगर मेरी मुलाकात उनसे सुबह हुई।टीना को अभी भी संजय की बात समझ नहीं आ रही थी मगर उसने सोचा दोबारा पूछेगी तो संजय गुस्सा होगा इसलिए वो चुपचाप बैठी थी।संजय- सुबह हमने साथ नाश्ता किया फिर गप्पें लड़ाईं और दोपहर लंच तक सब कुछ ठीक था। उसके बाद मैं अपने कमरे में आराम करने चला गया बाकी सब नीचे बैठे बातें कर रहे थे।टीना- अच्छा फिर क्या हुआ?संजय- फिर क्या होना था. और वो लोग मेल न करें जिन्हें कोई जुगाड़ की जरूरत है, मैं कोई दलाल नहीं हूँ. राखी किस हाथ में बांधी जाती हैअब कहीं बुखार ना हो जाए इसलिए ले लो, मैंने भी ली है और चुपचाप सो जाओ समझी.

मैं कल लेकर आऊंगा। लेकिन उसे देखने के लिए हमें कोई एकांत जगह ढूंढनी पड़ेगी।’‘कोई बात नहीं. उसके लिए तो ये नई बात थी, बस वही उसको भारी पड़ गई और वो अपने चरम पर पहुँच गई. उसका लंड मुझे ऐसे महसूस होने लगा कि जैसे पायजामे से बाहर हो मुझे बहुत मजा आने लगा था.

पर अभी तक कुछ नहीं हुआ। इसके लिए ससुराल वाले उसी को ज़िम्मेदार मानते हैं और अब उसके साथ अच्छा सुलूक नहीं होता। उसे कहीं ले कर नहीं जाते और उसे बांझ कहते हैं।मुझे उनकी सोच बहुत घटिया लगी और बहुत गुस्सा आया। फिर मैंने उसको चेकअप के लिए बोला. तभी उसको ग्रुप में शामिल किया है।संजय ने ‘हाँ’ में गर्दन हिलाई और अपना प्लान उन सबको बताया, जिसे सुनकर सबके चेहरे पे ख़ुशी आ गई।अजय- यार उसके चूचे बड़े प्यारे हैं… क्या समोसे से नुकीले तने हैं.

मेरा मन हो रहा था कि काश चाची की चुदाई कर पाता… पर कैसे?डर रहा था कि चाची डाटेंगी और माँ को भी कॉल देगी.

बदन पौंछ कर, बाथरोब पहनकर, हम बेडरूम में आये तो हमारी आँखें चकाचौंध हो गयी. मैं तड़प उठी, मुँह से चीख पड़ी- आआह हहहःहः उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊउफ्फ फ्फ्फ मार डाला भोसड़ी वाली ने… निकाल बोतल मेरी चूत से कमीनी!दर्द सहने के लिए मैंने अपने नाखून उसकी पीठ में गाड़ दिए. मैंने उनसे पूछा- क्यों?तो उस समय मुझे अपनी बाजू दिखाते हुए वो मुझसे कहने लगी- मुझे वैक्सिंग करानी है, देखो मेरे बाल बहुत ज्यादा बड़े हो गये हैं।मैंने उनको कहा- क्या मैं आपकी कुछ मदद कर दूँ?वो पूछने लगी- तुम क्या मदद करोगी?मैंने कहा- आप जो भी कहोगी मैं आपकी उस काम में मदद कर सकती हूँ.

इंग्लिश सेक्स वीडियो फुल एचडी फिर खिड़की भी बंद कर दी और कमरे की लाइट भी बुझा दी। उसके बाद सामने आराम कुर्सी पर जाकर बैठ गया।संजय- आ जाओ पूजा मेरी गोदी में बैठ जाओ. इतने में ही राहुल नीचे से चीख उठा- नेहा… नेहा… मैं मर गया… मेरा तो निकला… निकला गयाऽऽऽऔर मेरे से लिपट गया, उसने मुझे अपने ऊपर ही छाती पर लिटा लिया, मुझे जोर से अपनी बाहों में कस लिया, उसने जोर लगा कर अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में दबा दिया.

मुझे इन्तजार था कि जैसे ही उसका दर्द कम हो और मैं उसकी चुत में झटके मारने स्टार्ट कर सकूँ. तू पति सुख से वंचित थी। यहाँ आकर तुझे थोड़ी संतुष्टि हुई है मगर जल्दी तू यहाँ से चली जाएगी और तेरी कुंडली का दोष तेरे पति को खा जाएगा. वह मजे से सिसकारियाँ लेने लगी और अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी.

पोर्न सेक्स बीएफ

मैंने उनसे चाबी मांगी तो वो उसी अवस्था में उठीं और टेबल के ड्रावर से चाबी निकलने नीचे झुकी, जिससे गीला पेटिकोट उनके पिछवाड़े से चिपक गया, उनके बूब्स बहुत बड़े थे, ब्लाउज़ में कसे हुए थे. मैंने अपनी जीभ निकाली और सबीना की चूत के होंठों को चाटने लगा, फिर जीभ को होंठों के भीतर घुस कर चाटने लगा फिर चूत के दाने को चाटने लगा और चूसने लगा. पहले कुछ तैयारी करनी होगी। चल अब बिस्तर पे आ, वहीं तुझे सब समझा दूँगा।पूजा बिस्तर पर लेट गई और संजय उसके पास लेट गया। अब वो पूजा को किस करने लगा, उसके मुलायम होंठों का रस पीने लगा। वैसे तो पूजा अनाड़ी थी मगर वो संजू का साथ देने की पूरी कोशिश कर रही थी।संजय पर अब हवस हावी हो गई थी। वो पूजा के छोटे चूचे दबाए जा रहा था.

पूजा अपने कूल्हे हवा में उठा कर सिसकारी ले रही थी ‘आआआअ… रीईईइतूऊऊउ… मैं माआआर गईईई… आआआ आआह्ह्ह… जऊऊर सीईईई… अह्हह्ह… हाआआआन हाआआन चाआआटो मेरीईई चूऊत… आआआह…’ और फिर वो झड़ने लगी. जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने उसकी साँसों की आवाज़ सुनते सुनते मुट्ठ मारी और ये भी सोचता रहा कि मानसी की चुत की चढ़ाई कैसे की जाए.

तो मैंने भी बड़े प्यार से कह दिया- आज तो मैं तुम्हारी हूँ, जितना चाहे चोद लो, कर लो अपने पैसे वसूल! मैंने तो तुम से पहले ही कहा था सारी दोस्ती और प्यार बैडरूम में पूरे होते हैं.

अब मेरा लंड धीरे-धीरे फिर से खड़ा होने लगा, शायद इसलिए चाची लगातार चूसे जा रही थीं. शादी के पहले मुझे नहीं पता था कि मेरे पति को काम के सिलसिले में अधिकतर बाहर ही रहना पड़ता है।मेरी शादी हुई उसके बाद जब में ससुराल गई तो सब लोगों ने मेरा बहुत अच्छा स्वागत किया।मेरे ससुराल में मेरे ससुरजी मेरे पति अविनाश और मेरा देवर आदी बस तीन लोग ही थे, एक साल पहले मेरी सासु माँ का देहांत हो गया था तो पूरे घर में मैं ही अकेली औरत थी. हर बार चुदाई में मामा जी एक अलग सा अहसास दिला रहे थेमैं गर्म हो गयी थी, मेरी चूत से पानी निकलने लगा था, मैं बड़बड़ाने सी लगी थी- मामा जी, जल्दी से चोदिये, अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

आकाश ने फ़ोन किया और बात बात में बोल दिया- मैं तुमसे अकेले मिलना चाहता हूँ. मैंने दोनों से कहा- यार, इतनी भी क्या ठरक है जो फिर से शुरू हो गए?इस पर रिया बोली- तुझे नहीं चुदना तो मत चुद… मैं तो आज सारी रात चुदूँगी. मैंने रश्मि को दीवान पर पीठ के बल लिटा कर उसकी टाँगें चौड़ी की तो गुलाबी रंग की छोटी सी फूली हुई चूत मेरे सामने थी.

जिससे मेरी हाफ बॉडी भीग गई थी। अचानक मेरी नज़र साथ वाली छत पर पड़ी.

एचडी में सेक्सी बीएफ हिंदी: तो मैं चला जाता हूँ फिर तू ही सारी रामायण सुना दे।विक्की- सॉरी यार. यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है और मैं आशा करता हूँ कि आप लोगों को अच्छा लगेगा.

चन्द्र प्रकाश मेरा चोदू है, उसी के आई डी पर ही अपनी हिंदी सेक्स कहानी लिख रही हूँ. फिराते-फिराते उसका लंड खड़ा हो गया और वो अपना लंड मुझसे चुसवाने लगा. कान पर काटने लगी। मैं भी अब उसको जोर-जोर से चोदने लगा।इस बीच में वो एक बार फिर से झड़ गई लेकिन मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार बनाए रखी। करीब बीस मिनट बाद हम दोनों एक साथ झड़ गए।दोस्तो, ये मेरे हॉट सेक्स की कहानी.

इसी के साथ एंड्रयू ने अपना लंड स्वान द्वारा खाली की गई गांड में घुसेड़ दिया.

इतने में जो लड़की बाहर रह गई थी, वो कार पार्किंग की तरफ जाने लगी मगर रास्ते में ही उसे उल्टी आ गई. भावना ने मुझे बताया कि वो कबसे तड़प रही थी चुदवाने के लिए, उनके पति ने उन्हें एक साल से छुआ भी नहीं है. रास्ते से मैंने कुछ नाश्ता ले लिया और अरमान को काल करके बोल दिया कि वो नाश्ते न बनाएं, हम लेकर आ रहे हैं.