बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती

छवि स्रोत,इंडियन sex video

तस्वीर का शीर्षक ,

সেক্স মুভি সেক্স: बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती, मेरी योजना कामयाब तो हो गयी थी, लेकिन अब देखो इसका रियेक्शन क्या होता है.

बीएफ वीडियो देखने वाली

मम्मी ने भैया भाभी को बताया कि इसके स्तन में गांठ है और डाक्टर ने आपरेशन के लिए बोला है. ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी ब्लूदेसी सुहागरात कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने कॉलेज की एक नाजुक लड़की की बुर की सील अपने घर में अपने बेडरूम में तोड़ी.

बात आगे कैसे बढ़ी? मैंने कैसे उसे प्रोपोज़ किया?दोस्तो, मेरा नाम निलेश है, मैं इंदौर से हूँ. सेक्स फोटो हॉटहम चारों के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं और चारों ही चुदाई में पूरी तरह से लीन हो गये थे.

एक दिन की बात है कि दोपहर के समय एक गदराये जिस्म की भारी भरकम इंडियन लेडी हमारे स्टोर पर आई.बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती: अब हम दोनों के शरीर इतने गर्म हो गए थे कि ऊपर चलने वाला पंखे की हवा का भी पता नहीं चल रहा था.

मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर कर बेड पर पटक दिया और उनको बेतहाशा चूमने लगा.उसकी हाइट मेरे जितनी ही थी लेकिन मेरा शरीर मेरी ऐज के हिसाब से अधिक भरा हुआ था जबकि सौरभ था तो मुझसे एक साल बड़ा लेकिन शरीर और बनावट में मुझसे पतला और हल्का था.

सेक्सी बीएफ पिक्चर दिखाइए - बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती

मैं मर जाऊँगी।लेकिन जीजू कहाँ मानने वाले थे; उन्होंने मेरे हाथ पकड़ कर बैठाया और मेरी कमीज़ को निकाल दिया.फिर एक बार उसने मिलने के लिए कहा तो मैंने दो दिन के बाद उससे मिलने के लिए बोल दिया.

आंटी कहने लगी- अब मेरी कोई उम्र है मालिश करने की, मेरे हाथों में जोर नहीं है, तुम ऐसे करो जो भी करवाना है, राज से करवा लो. बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती वो बोली- अगला सेशन इससे भी ज्यादा कामुक और मजेदार होगा क्योंकि अब तुम भी इस साइट से रूबरू हो गये हो और सब कुछ जान गये हो कि यह कितना आसान और मजेदार है.

रश्मि उसी नशीले अंदाज में बोली- तुमने अभी तक अपना लौड़ा नहीं दिखाया.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती?

दीपिका के उसी दिन शिफ्ट करने की बात सुनकर मैं खुशी से झूम उठा और रह रह कर मैं उन बातों को याद करता रहा जो बातें मेरे और दीपिका के बीच हुई थी. मैंने हथेली पर थोड़ा सा तेल लेकर दादी की जांघों पर मला तो दादी बोलीं- ये क्या है?तो मैंने कहा- दादी, मसाज करने से आपको आराम मिलेगा. इस सेक्सी चालू औरत की चुदाई कहानी के अगले भागों में आपको मेरी मोटे लंड से चुदाई की कहानी का मजा मिलना शुरू हो जाएगा.

सौरभ मेरी बात सुनकर भौंचक्का रह गया- क्या करना है?मैं- मेरे मम्मों को हाथ में पकड़ कर दबाओ. जब मजबूरी हो गयी, तो मेरी बीवी बोली- भैया आप घर चले जाओ … यहां तुम्हारे भैया रुक जाएंगे. इसके बाद मैंने उनकी मांसल जांघों से पैंटी निकाल दी और अपना मुँह उनकी चिकनी चूत पर रख दिया.

थोड़ी देर में मामी को थोड़ा आराम मिला तो मामी बोलीं- राहुल बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज़ छोड़ दे मुझे … मेरी गांड को छोड़ दे. मैं भी हंसते हुए बोली- आप तो मेरी सौतन बन ही गयी हो … तो मैं क्यों पीछे रहूं. अब मैं घुटनों के बल बैठा और बड़ी चाची की चूत पर लंड का निशाना लगा कर रेडी हो गया.

फिर दस बारह झटकों के बाद उसने अपना पानी मेरी गांड के अन्दर ही छोड़ दिया और ऐसे ही मेरे ऊपर लेट गया. वो अपनी इस नयी उपलब्धि में इतना खो गया था कि उसे अपने दोस्तों की भी याद नहीं आयी.

भाभी बोली- थोड़ा सब्र करो, मेरी जान!मैं- भाभी, बच्चों को बेवकूफ बनाने के आपको तो बड़े पैतरे आते हैं.

उसने गूगल सर्च इंजन पर कुछ टाइप किया और कुछ फोटो निकल कर सामने आये.

एक बार मल्लिका की ननिहाल में कोई शादी थी जिसमें मल्लिका व उसके मम्मी पापा एक हफ्ते के लिए जयपुर गये. पौने पांच फिट की नाटे कद की गोल मटोल बॉडी, बेहद गोरी, आंखें किसी हिरणी की तरह थीं. ऐसी भूखी और प्यासी फुद्दी देखकर उसका लंड भी छलांगें मारने लगा और एक ही धक्के से पूरा मेरी फुद्दी में घुस गया.

बहुत मदहोश कर देने वाली महक थी वो!जिससे शायरा की चुत की महक लेते लेते मैंने अब उसकी गीली पैंटी को एक‌ बार जीभ से चाट भी लिया. मैंने भी जल्दी से बिल चुकाया और पीछे आ गया।थोड़ी ही चले थे कि पुलिस की गाड़ी आ गई. भाभी मेरी तरफ झुक गई और मैंने थोड़ा टेढ़ा होकर उनका एक मम्मा मुंह में भर लिया और दूसरे को हाथ से मसलने लगा.

अभी मैं फ़्री था, तो सोचा घऱ पर बैठे बैठे अपनी बात दोस्तों से शेयर कर ली जाए.

जानती हो, तुम्हारे बिस्तर पर तुम्हें पूरी नंगी करके तुम्हारी चूत को चोदना ही मेरा सपना था शशि. लेकिन ये बात मुझे बिल्कुल भी मालूम नहीं थीं।डाक्टर ने मुझे देखा और कहा- अब ठीक हो नीलम … बस थोड़ी देर रुको।मैं बाहर बैठ कर अपनी बारी का इंतजार करने लगी।अस्पताल के बाकी डाक्टर भी जा चुके थे. मैंने बिन्दू के दोनों मम्मों को पकड़ा और उन्हें जोर जोर से दबाने लगा.

मैं उत्तेजित हो गया उसकी बात सुन कर!थोड़ी देर बाद उसे नींद आने लगी। असल में दर्द की गोली में नींद की दवाई भी थी. इधर मेरा लंड भी उसके हाथ में कैद होने के साथ ही साथ उसकी चूत से निकलती हुयी गर्म हवाओं को झेलने पर मजबूर थी. वो- और तुम्हें भी?शायरा ने कल मेरी और ममता जी की बातें सुनी थीं, इसलिए उसको पता था कि मेरा और मेरी भाभी का चक्कर चल रहा है.

जीजू बोले- साली साहिबा उस दिन जब से मैंने तुम्हारी चूत को देखा है, तब से मैं पागल हो गया हूँ।मैंने कसकर दोनों जाँघों को चिपका लिया और चूत को छिपाने लगी.

न्यू अन्तर्वासना कहानी में पढ़ें कि मेरी सास को अस्पताल में दाखिल होना पड़ा और मैं उनकी सेवा के लिए रात को वहीं रुकती. ज़रा सा चूत ऊपर को सरकाती, शायद एक या दो इंच और फिर धमाक से नीचे लेकर बच्चेदानी से लंड को टकराती.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती तभी महिला पुलिस बोली- तुझे मैं भेजूं क्या अंदर?और मारने की धमकी देने लगी. मेरी गर्म चूत से निकलने वाली मलाई को वो जितना चाट रहा था, मेरी उतनी ही सिसकारियां निकल रही थीं.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती तभी मैंने देखा कि धीरू अंकल मेरे पीछे पीछे रसोई में आ गए और उन्होंने आते ही मेरी गांड पकड़ ली. लंड अन्दर बाहर करने के साथ में मैं मैडम के होंठ भी चूस रहा था … और एक हाथ उनके चुचे को भी दबा रहा था.

एक दस साल का लड़का होने के बाद भी मनीषा भाभी के चूचे एकदम टाइट थे क्योंकि भाभी अपनी फिगर का काफी ध्यान रखती थीं और जिम वगैरह भी जाती थीं.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी

तभी कविता भाभी भी टीवी का रिमोट लेकर मेरी गोद में चढ़ कर बैठ गईं और उन्होंने मेरे हाथ से सिगरेट ले ली. मैंने कहा- मैडम जी, मेरा क्या होगा?वो हाँफते हुए बोली- रुको एक मिनट, सांस लेने दो मुझे. इससे पहले नयनों की भाषा मैंने नहीं सीखी थी, जो मुझे आज सीखने को मिल रही थी.

मेरे मुंह से जोर जोर से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … स्स् … ओह्ह … भाईजान … उफ्फ … ऐसे न करो … आअहह … आईई … अम्म … आह्ह … भाईजान … आई लव यू भाईजान … आह्ह … मैं झड़ने वाली हूं. दीपिका के चूचों, चूत के डिज़ाइन और उसके हुस्न को देखते ही मेरे लौड़े में कसाव आना शुरू हो गया, जिसे दीपिका देखने लगी थी. मैंने छेद के ऊपर अंगूठे से सुपारे को दबाया, सुपारा चूत की दीवारों को फैलाते हुए अंदर जाने लगा.

फॅक फॅक की आवाज़ के साथ पूरा कमरा हम दोनों की सिसकारियों से गूंज उठा था.

फिर जैसे ही गीत की गांड संजय के लंड के बराबर आई तो संजय ने गीत के चूतड़ों के नीचे हाथ लगा कर उसे अपने लौड़े पर एडजस्ट किया. मैं- वैसे भाभी की जगह क्या आप मेरी दोस्त बन सकते हो?वो- फिर तो आप मुझे आप ‘आप’ नहीं कहेंगे न!मैं- तो क्या आप मेरी दोस्त बनेंगी!वो- ये तो सोचना पड़ेगा, क्योंकि मैं शादीशुदा हूँ. इसका मतलब आपको तो पता ही है कि हर बैचलर अपने रूम में बियर के साथ लगभग नंगा-पुंगा ही होता है.

एक रात मैंने चोरी छिपे देखा कि मेरे पापा, मेरी मम्मी की जबरदस्त चुदाई कर रहे थे. मेघा- बहुत अच्छे! बताओ कि तुम्हारे लंड को ऐसा क्या दिखा कि वो तुम्हें ऐसे परेशान कर रहा है?मेघा को मैंने उस सेक्सी भाभी के बारे में बताया जो मेरी दुकान पर ब्रा-पैंटी लेने आई थी. कुछ लोग मुझसे औरतों की कांटेक्ट एड्रेस मांग रहे थे, लेकिन मैं उन सभी लोगों को फिर से यह बता देना चाहता हूं कि मैं जिससे भी मिलता हूं.

वो- लेकिन हम एक दूसरे को अपने घर का या गांव का एड्रेस बता देना चाहिए … कहीं हम आस पास के निकल आये तो!मैंने कहा- वैसे भी मेरा नंबर तुम्हें कैसे मिला!वो- अभी बताया तो!मैं- ओ हां. तभी धीरू अंकल ने कहा- फेहमिना मेरी जान! जाओ जाकर इनकी थोड़ी सी खातिरदारी करो.

साथ ही मेरी आंटी भी पास में ही सो रही है और उसकी मोटी गांड मेरी तरफ उठी हुई है. इसलिए मैंने खाने की चीजों को जानने या उस विषय पर सोचने में समय नहीं गँवाया, बस स्टाल में खड़ी लड़की से पूछा- सादा खाना भी है या नहीं?तो उसने एक ओर इशारा किया. हमारी क्लास में मेरी ही बेस्ट फ्रेंड ने सबसे पहले ब्वॉयफ्रेंड बनाया था क्योंकि वो भी बहुत स्मार्ट थी.

मैं- तुम बहुत दिनों बाद ऐसे बातें कर रही हो ना?वो- क्यों? और तुम्हें कैसे पता?मैं- तुम्हें पहले जब भी देखा था तो एटिट्यूड के साथ देखा … ना किसी से बात करना और ना हंसना, पर आज बिल्कुल अलग लग रही हो.

मैं जब तड़प कर आढ़ी-टेढ़ी हुई, तो सबके सब मेरी अगल बगल बैठ गए और मेरे जिस्म को नोंचने लगे. उसकी चिल्लपौं सुनकर मैं रूक गया और आगे हाथ बढ़ा कर पूजा के चूचे मसलने लगा उसे पीठ पर किस करने लगा. मैं समझ गया कि हॉट सेक्सी भाबी चुदने को राजी तो हैं, मगर कुछ नाटक कर रही हैं.

मैंने चूत से जीभ हटा के जवाब दिया- आपने मेमसाब कहने का आदेश दिया था मेमसाब. कुछ देर तो उसके घर से कोई आवाज नहीं आई … मगर मेरे दोबारा दरवाजा बजाते ही शायरा ने दरवाजा खोल दिया.

मेरा एक हाथ भाभी के मुलायम चूचियों को दबा रहा था और दूसरा उनकी कमर पर और उनके चूतड़ों को दबाने में लगा था. यह सुनकर वे दोनों एकदम परेशान हो गए और आदमी बोला- ये कैसे हो सकता है? अभी तो हमने हाँ की है. दर्द ठीक हो जाएगा।फिर डाक्टर ने दो दिन की दवाई दी और कुछ हमें मेडिकल स्टोर से लेनी पड़ी.

देहाती बीएफ एचडी मूवी

इससे पहले वाले भाग में आपने देखा कि अपने बाप और उसके दोस्त से चुदवाने के बाद रिया घर आ गयी.

मैंने भी बिना शरमाये हाथ बढ़ा कर उनका लंड थाम लिया और सहलाने लगी।कुछ देर बाद उन्होंने मेरे दोनों हाथ ऊपर करते हुए मेरे अंडरआर्म में अपना मुँह लगाया और जीभ से चाटने लगे।बाद में उन्होंने कहा- मुझे तुम्हारे गोरे और चिकने अंडरआर्म बहुत पसंद आये. थॉमस ने हल्का सा गेट बंद कर दिया और रोहन भी सोने के लिए साथ वाले कमरे में आ गए थे. मैं हट गया और उसकी चूत पर मुँह लगा कर जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा.

मैं उसके ऊपर आ गया और अपना लंड उसकी चूत पर सैट करते हुए अन्दर डाल दिया. उसने आँखें बंद कर रखी थीं।मैंने उसकी टीशर्ट को ऊपर उठा दिया और उसकी ब्रा खोलकर उसके मम्मे पीने लगा. बीएफ ब्लू फिल्ममेरे लंड को दीदी ने धीरे धीरे करके अंदर ले लिया और वो फिर अपनी चूचियों को मसलने लगी.

इस बार उसको दर्द हुआ और वो चीख उठी थी- आह आह … मम्मी मर गई साले पूरा मूसल ठोक दिया … ओह माई गॉड आई आईईईई मर गई. आपको ये इंडियन फैमिली सेक्स स्टोरी कैसी लगी … प्लीज़ में करना न भूलें.

मौसी बोल रही थीं- आह आज न जाने कितने वर्षों की आस पूरी हुई … मैं न जाने कबसे अपनी चुत चटवाने की सोच रही थी लेकिन तेरे मौसा ने आज तक मेरी चुत कभी चाटी ही नहीं. लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था।पहले मैं आप सबको अपना परिचय दे देती हूँ मैं बहुत साधारण सी लड़की हूँ. पर वो कहते हैं ना कि:हर चूत पर लिखा है चोदने वाले का नाम।उसके बाद मेरी और भी चुदाई हुई वह सब बाद में लिखूंगी अगर आप मेल करोगे।दोस्तो, आपको देशी चुदाई की कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके जरूर बताना।[emailprotected].

उस समय मेरी एक ही इच्छा थी कि मैं उसके बूब्स का दूध पियूं; और उसकी खुली हुई चूत में अपना लंड डालूं. मर्दों को इतना मजा देती हो, मैंने आज तक किसी औरत को इतना डूब कर मजा देने वाली औरत नहीं देखी. उसकी चूचियों को पीते हुए रवि ने रिया की पैंटी को खींच दिया और उसे बेड पर झुका लिया.

तभी मेरे मोबाइल की रिंग बजी तो मैं उनसे थोड़ा दूर हट कर पिछली बालकॉनी में जा कर मोबाइल सुनने लगा.

कुछ देर बाद वो बोलीं- बस कर, अभी इतने में ही मैं झड़ गयी … तो बाद में क्या करूंगी. वैसे राज, मुझे तुमसे मिलने के बाद ही पता चला है कि असली मज़ा क्या होता है.

मैं- कप्पो रानी … आह तेरी गांड बहुत मस्त है … पूरे महीने इस ठंड में तुझे ठंड नहीं लगने दूँगा … मैं आपको इतना चोदूंगा कि आप हमेशा मेरे साथ नंगी रहने चाहोगी. आज रात तक वैभव और उसका परिवार उस होटल (दूसरा होटल, जहाँ उन्हें ठहराया जा रहा था) में आ जायेंगे. उन्होंने अपने दोनों पटों को भींचकर मेरे मुंह और सिर को टांगों में बीच में दबा लिया.

मरीज की सास विमला को वहीं छोड़ रोहिणी अपनी बहु मीनाक्षी को लेकर चली गयी. अपना खयाल रखिए और अन्तर्वासना की गर्म सेक्स कहानियों का मजा लेते रहिये. जैसे ही उसकी चुत पर मेरी जीभ ने मजा लेना शुरू किया, पूजा कामुक सिसकारियां लेने लगी.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती गीतिका ऊपर से बिल्कुल नंगी हो गई थी, उसका गोरा बदन और गदराए पेट के ऊपर दो बड़े बड़े 38 साइज के नुकीले मम्मे अपने निप्पलों को सख्त किये खड़े हो गए जिन्हें मैं मसलने लगा. इसलिए मैं यह चाहता हूँ कि अगर तुम्हें यह डील वापिस लेनी है, तो तुम कुछ दिन के लिए अंजलि को मेरे साथ छोड़ दो.

सेक्सी बीएफ नर्स

नैना अपने फ्लैट पर चली गयी तो उसने देखा उसकी बहन सुरभि पहले से आ चुकी थी. मैं एक हाथ से मम्मे दबा कर पी रहा था और दूसरे से उसकी चूत को सहला रहा था. और मुझे पैंटी पहनने के लिए भी मना कर दिया था।फिर लगभग दस बारह दिनों में मेरे दाने ठीक हो गये।बीच बीच में दीदी भी पूछ लेती थी कि अब कैसे है दाने?तो मैं कह देती थी- कि अब तो ठीक हो रहे हैं.

उसके घुटने और पीछे का भाग इतना सेक्सी था कि मेरा दिल कर रहा था कि अपना लंड इसी में घुसेड़ दूँ. अगली दोपहर को लगभग 2 बजे मैंने उस नम्बर पर कॉल किया और उससे पूछा कि मैं फ्री हूँ, तो आपकी प्रॉब्लम सही करने अभी आ जाऊं क्या?उसने हां कह दिया. हिंदी देहाती एचडी बीएफमैंने पूछा- रोहतक में कहां?तो वो बोली- झज्जर चुंगी के पास कल मिल जाना.

चूंकि लैपटॉप गारंटी पीरियड में था तो मैंने उससे एक कागज पर साइन करवाए और मैं वहां से अपने ऑफिस चल दिया.

इससे छोटी चाची की चुत मेरे मुँह के सामने आ गई थी और मैं चुत चाटने लगा. वो कहने लगी कि तुम तो ठीक ठाक दिखते हो फिर कोई गर्लफ्रेंड बनाई क्यों नहीं? आजकल तो जवान लड़के दो दो गर्लफ्रेंड भी रखते हैं और तुम्हारी एक भी नहीं है?अब मैंने भी मौका देखा और बोला- मजा लेने के लिए अगर आप जैसी खूबसूरती हो तो कुछ बात भी हो.

ग्रुप चुदाई कहानी का पिछला भाग:55 साल के बुड्ढे से गांड मरवाने का मजालगभग आधा घंटे बाद धीरू अंकल के फोन पर घंटी बजी तो उन्होंने फोन उठाया. उसने मेरे होंठों को चूम कर कहा- कुछ नहीं होगा, बल्कि थोड़ी देर में तुम स्वर्ग के मजे लोगी. वो रुक रुक के धक्के मारने लगा और अपनी हर एक पिचकारी को मेरे अंदर तक भेजने की कोशिश करने लगा.

फिर जब मैंने अपने मोबाइल देखा तो उस पर बूढ़े की भी बहुत सारी मिस्ड काल आई हुई थी और मैसेज भी आए हुए थे.

थोड़ी देर बार भाभी फिर से मेरा लंड पकड़ कर चूसने लगी जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैंने उसको कहा- भोंसड़ी के … सबसे पहले कंडोम लगा मादरचोद!उसने लंड चूत से बाहर निकाल दिया. आईई… सेठ, सीधे गांड में ही घुसा दिया? बताया भी नहीं।रवि- साली बोलना क्या है? तुझे तो इसकी आदत है।रवि उसकी गांड को पेलने लगा और कुछ देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद उसने लंड को बाहर निकाल लिया.

डबल एक्स बीएफलेकिन मुझे तो वो डेली इतना ज्यादा चोद देता है कि मुझे खुद उससे हार माननी पड़ती है. उसी पल भाभी ने अपने सुलगते होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और पागलों की तरह चूसने लगीं.

बीएफ नेपाली हिंदी

कम रोशनी में भी मुझे दीपिका के 38 साइज़ के भारी भारी मम्में और उन मम्मों पर तने हुए तीखे निप्पल साफ साफ दिखाई दे रहे थे. आँटी- बताओ, क्या क्या कैसे कैसे हुआ?मैं- आँटी, लंबी कहानी है, फिर किसी दिन आराम से सुनाऊंगा. मैंने एक दो बार उसे स्टार्ट करने की भी कोशिश की मगर वो अब स्टार्ट ही नहीं हुई.

मैं रश्मि के गोल-गोल मम्मों के साथ-साथ उसके तने हुए दोनों निप्पलों को मसल रहा था. ’वो मेरे लंड पर चपत भी लगा रही थीं और ‘सो बिग कॉक … नाईस बिग कॉक … उह्ह्ह यस फ़क माय माउथ … यू बास्टर्ड. पर आप सोचिए, आप अपना शरीर तो मुझे सौंप देतीं, पर जब तक आप मुझे समझती नहीं, जानती नहीं, तब तक क्या आप अपनी आत्मा मुझे सौंप सकती थीं!सलोनी ने हंसते हुए कहा- हम्म.

मैंने भी भाभी की चूचियों के निप्पल को अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी. जांघों की मसाज करते करते मैं दादी की चूत की मसाज करने लगा, दादी को भी शायद अच्छा लग रहा था. थोड़ी देर बाद अपने होंठों को दांतों से चबाते हुए बोली- जीजू, मेरा निकलने वाला है.

अपने पति की बेरुखी झेलने के बादपराये मर्द से चुदनामुझे असीम आनंद दे रहा था. वो अपने पति और सास-ससुर के साथ रहती थी परन्तु अब उनकी अपने पति के साथ उतनी बनती नहीं थी.

मैंने समय ना गंवाते हुए उस गोरी और भरे पूरे देह की युवती को बिस्तर में लिटाया … और उसके बड़े घेराव वाले भूरे एक निप्पल को मुँह में भर लिया.

वो उंगली से अपनी क्लिट को रगड़ने लगी और तेज-तेज आहें भरने लगी!लंड सटासट अंदर-बाहर हो रहा था. शिल्पा सेक्सी बीएफमैं कभी रिजवान को किस करती; तो कभी सुनील को;उधर प्रवीण मेरी चूत में अपने दांत लगा लगा कर उसको काटने की पूरी कोशिश कर रहा था. सेक्सी बीएफ देखने वालीइस पर मनीषा भाभी बोलीं- कपिल हफ्ते में एक बार ही मेरा ध्यान रखता है. मैंने कहा- एक बार आप लोग अपना सामान यहाँ ले आइये, फिर मैं हेल्प कर दूँगा.

मैं सोचती हूँ कि जितना टाइम कहानी लिखने में लगाऊंगी, उतने में तो मैं दो राउंड चुत में लंड के ही करवा लूं.

मोहन भी मेरी चुत में ज़्यादा वक्त टिक नहीं पाया और अगले एक मिनट में ही वो मेरी चूत को अपने माल से भर कर मुझसे उतर गया. उसने मज़ाक़िया लहज़े में पूछा- तो तुम किसकी यादों में खोए हुए हो?मैं- उसका चेहरा अभी मेरे मन में साफ तो नहीं है, पर कोई है जो मेरी तन्हाई को दूर कर सकती है, बस उसी की यादों में खोया हूँ. जो लोग लड़कियों की माहवारी के समय चूत चूसते हैं वो इस विशेष सुगंध को पहचानते हैं.

उसकी पैंटी भी खिंच गई थी, जिसे मैंने पूरी तरह से उतार दी और उसकी चूत पर अपनी जीभ चलाने लगा. रिया भी मजे में सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … सेठ … आह्ह … आआ … आउम्म … आह्हा. बेहोशी से ज़्यादा होश में प्यार का रंग कुछ और ही होता है, ये सोचकर मैं वहीं भाभी से चिपककर लेट गया.

हिंदी में चुदाई दिखाओ बीएफ

उनको यह करतब करते देख मेरे भी तन बदन में आग लग गई और मेरी चूत भी लौड़ा मांगने लग गई. उनकी प्यार भरे झटकों से नीचे दबा कुंवारा महंत भी लंड का धागा टूटने से बिलबिला रहा था. एक दिन मैं उसके घर गया तो …दोस्तो, मैं आपका अपना लव एंजल अपनी इंडियन गे बॉयज सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ.

मॉम बोलीं- क्या मधु … तुम भी खेलने दो ना बेचारे को टेडीबीयर के साथ.

शायद वो सब यही सोच रहे थे कि जिस लड़की ने आज तक किसी से सीधे मुँह बात तक नहीं की, वो आज मेरे साथ कैसे?उनमें खड़े सब लड़कों के दिल तो शायद आज टूट ही गए थे.

[emailprotected]भाभी की बुर की कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में मस्त पड़ोसन की चुदाई- 3. दोपहर का वक्त था और मैं अन्जना के साथ सेक्स चैट सेशन करने के पूरे मूड में था. भाभी ने देवर को चोदना सिखायामुझे याद थे रानी के कहे हुए साफ साफ शब्द कि चुदाई की पूरी क्रिया उसके हिसाब से होगी.

मेरी 36 इंच के गोल चूचे और 32 की कमर, उस पर 38 इंच की मेरी कातिलाना, सुडौल और बिल्कुल खरबूजे जैसी गोल गांड को देख कर न जाने कितने मर्दों की आह निकल जाती है, मैं खुद नहीं जानती. आंटी ने मुझसे कोई कपड़ा मांगा तो मैंने पैंट में से अपना हैंकी निकाल कर दे दिया. रोहिणी स्टूल खींच कर मेरे सिराहने आकर बोली- अभी दस बजे मैं घर चली जाऊंगी … शाम को फिर से आऊंगी.

मैं बस मछली की तरह तड़प रही थी।दस मिनट तक ये सब करने से मैं और जीजू इतने गर्म हो गये कि हम दोनों एक साथ झड़ गये. फिर पीछे से मेरी चूत में लंड डालकर एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

भाभी ने मुझे सिर पर चूमा और बोलीं- जिस तरह का सेक्स मैं चाहती थी, उससे कहीं ज्यादा मजा तुमने दिया.

लेकिन मुझे उन पर विश्वास नहीं होता है कि कहीं वह लोग मुझे ब्लैकमेल ना करने लगें. दर्द हो रहा था मुझे चूत में और मेरे मुंह से निकल रहा था- छोड़ दो … अब बस … ओह्ह … प्लीज रुका जाओ. मैं- मैडम, आपके हस्बैंड का लंड आपकी गांड में इस पैंटी के साथ भी फंस सकता है, बस उनको थोड़ा सा और जोर लगाकर ट्राई करना चाहिए.

सेक्सी हिंदी सेक्स हिंदी सेक्स मैं तो अपनी मस्ती में मस्त था, मगर शायरा अब भी शर्म के कारण कुछ बोल‌ नहीं रही थी. तभी मैंने अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर एक ही बार में पूरा लौड़ा मामी की गांड में डाल दिया.

अब कुछ ऐसा हो गया है कि मुझे अपनी सेक्स लिखने का टाइम ही नहीं मिलता है. फिर हम तीनों ने खुद को ऐसे कर लिया कि हम एक दूसरे की गांड और लंड चूस सकते थे. डांस के दौरान एक स्टेप आया, जिसमें मौसी को अपने चूतड़ मेरी जांघों पर रगड़ने थे.

गुजराती बीएफ सेक्सी हिंदी

अगर पूछेंगे भी तो शायद मैं जवाब नहीं दे पाऊंगी, क्योंकि मैं पहले ही सारे जवाब वहां पर दे चुकी हूँ. एक पल बाद ही भाभी ने भी दोनों हाथों से मेरे सर को पकड़कर नीचे कर लिया. शायरा तो उसकी धक्का लगवाने की बात से शर्म पानी‌ पानी ही हो गयी थी … मगर इन सब बातों में मैं पक्का बेशर्म हूँ इसलिए मैं मजा लेता रहा.

इस तरह से मुझसे बातचीत करते हुए उन्होंने मुझे अपने शहर का नाम आदि बता दिया था. मैंने खुलते हुए कहा- हां तो रंडियों, अब ज्यादा मत तड़पाओ … लंड लेने की तैयारी शुरू कर दो.

वो बोली- आप मेरे काम के लिए अपना काम छोड़कर आए हैं, तो आपको कुछ तो लेना ही होगा.

पर मैंने गपागप गपागप अंदर बाहर करना चालू रखा।अब मेरा शरीर भी अकड़ने लगा और झटके के साथ ही पानी छोड़ दिया और उसके ऊपर लेट गया।पता नहीं चला कब दोनों को नींद आ गई।जब आंख खुली तो सुबह के 4:30 हो गये थे। मैंने उसे जगाया वो बोली- मेरी ड्यूटी 6 बजे तक है।मैं खुश हो गया और उसे चूमने लगा. मुझे अनुभव हो रहा था कि कविता को न केवल मर्दों को सन्तुष्ट करने में अनुभव था, बल्कि औरतों का भी अच्छा खासा अनुभव था. सुबह उठा तो देखा दस बज गये थे! ज़ारा अभी भी सोयी हुयी थी तो मैं उसे उठाने लगा- ज़ारा … उठो!ज़ारा- मुझे नींद आ रही है!मैं- उठो! दस बज गये हैं!ज़ारा- जान मुझे सोना है!मैं- उठो! मुझे चाय पीनी है!ज़ारा- आप मेरा दूध पी लो!मैं- तुम्हारी चूचियों में दूध नहीं है! उठो अब!वो उठी और बिस्तर से उतरकर अंगड़ाई ली.

इतना कह कर मेमरानी सामने को झुक गई तो मम्मे मेरे मुंह के सामने आ गए. वो बोली- परेशान मत होइए आप!मैंने कहा- कैसी परेशानी?मैं खाना बनाने लगा. रोहिणी का पेटीकोट ऊपर खींच कर उसकी चुत पर हाथ फेरा; तो पाया कि उसकी चुत एकदम साफ थी; लग रहा था कि चुत की वैक्सिंग अभी कल ही करवाई हुई थी.

मैंने पूछा- क्या है ये?बड़ी चाची ने कहा कि तुम अभी नए हो और जवान भी … और हम दो हैं.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती: वो निप्पल को चाटने के साथ-साथ काटने भी लगी और साथ ही मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में भरकर अपनी चूत से लड़ाने लगी. मेरी सलाह है कि सेक्स कहानी को पढ़ने वाली सभी लड़कियां अपनी चुत में उंगली, मूली, मोमबत्ती बैगन आदि जो भी डालना चाहती हैं, जल्दी से डाल लें और सभी लड़के अपने मोटे लम्बे लंड को हाथ में ले लें.

लेकिन हमारी बातें अब सेक्स की तरफ रुख़ ले चुकी थीं … और मैं उसे किसी रूम पर ले जाने के लिए मना रहा था. मैंने उसके बच्चों के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि उसके 2 बच्चे हैं. वो चुदने से पहले मुझे बाजार ले गई थीं और मेरे लिए पांच जोड़ी कपड़े खरीद लिए थे.

आशा करता हूं कि आप सबको मेरी बहन की चुदाई की ये कहानी अच्छी लगी होगी.

तब तक तू रत्न को फ़ोन कर दे। बाय।रवि- बाय।रिया चुपके से रमेश की सारी बातें सुन रही थी. जब मेरा मुँह उसकी लार से भर गया, तो उसने फिर से अपने मुँह को मेरे मुँह से चिपका दिया और हम दोनों एक मुँह से दूसरे के मुँह में लार की अदला-बदली करते हुए खेलने लगे. मैं उम्मीद करता हूं कि आपको ये कहानी पसंद आयेगी और सभी की चूतें पानी छोड़कर गीली हो जायेंगी.