बीएफ हिंदी में देवर भाभी

छवि स्रोत,औरतों के फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

करीना कपूर नंगा फोटो: बीएफ हिंदी में देवर भाभी, तभी अचानक ही मेरी कमर अपने आप ऊपर हो गई और मेरी चूत ने पानी निकाल दिया.

ब्लाउज की डिजाइन दिखाओ

मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और मुझे भी गांड मारने और मरवाने का शौक है. नई लड़की की चुदाईतो मैंने कहा- आपने मुझे ही इस काम के लिए क्यों चुना?वो बोली- तुम्हारी बातों से विश्वास झलकता है तभी चुना.

सलवार-सूट पहनी लड़की में एक अलग ही बात होती है और गांव की लड़की के तो कहने ही क्या। वो पूरी बम पटाखा माल लग रही थी।जैसे ही वो घर के अन्दर आई. इनका चोपड़ा की सेक्सी फोटोमैं उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही चूसने लगा और मुँह में भरने लगा.

एक तो जिसमें चुदाई के लिए मैसेज मिला करते थे और दूसरा जिस पर मैं अपने जान पहचान व रिश्तेदारों से बात करती थी.बीएफ हिंदी में देवर भाभी: यह घटना करीब 3 साल पहले की है, जब मैं एक महीने के लिए अपने मुँह बोले भैया और भाभी पंकज और उसकी वाइफ स्मिता के घर छुट्टी बिताने इंदौर गया था.

दस मिनट तक रेस्ट करने के बाद उसने अपना हाथ मेरी छाती पर फेरना चालू कर दिया.इधर मैं अपनी ड्रिंक सिप करता रहा और अपने फोन से बहूरानी को शूट करता रहा.

sexyवीडियो - बीएफ हिंदी में देवर भाभी

पारुल बोली- अब मुझे लन्ड अपनी चूत में चाहिए; तुम कुछ भी करो!मैंने पारुल को बोला- दो घंटे के लिए किसी होटल में रूम ले लिया जाए तो कैसा रहेगा?पारुल ने कहा- बिल्कुल ठीक है!आगे कुछ दूर चल कर रास्ते मे एक होटल पर मैंने गाड़ी रोकी और कमरे का पता किया.ये सुनकर उसके चेहरे पर स्माइल आ गई और वो बोलने लगी- हां कभी कोई भी प्रॉब्लम हो तो अपना अकाउंट नम्बर मैसेज करना.

मैं उसका लंड देखने के लिए उसके पास से निकली और मैंने तौलिया खींच ली. बीएफ हिंदी में देवर भाभी अच्छा एक बात बता मज़ा आया कि नहीं तुझे… या बस ऐसे ही? क्या बात कर रही है… आधा घंटा उस बुढ्डे ने तुझे चोदा… ओ माय गॉड… तेरे तो मज़े हैं बॉस.

काम्या मेरे पीछे ही एक मकान छोड़ कर रहती थी और मुझे ये तब पता चला, जब मैंने एक दिन शाम को उसे छत पर देखा.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी?

उसने हंस कर पूछा- क्यों?मैंने कहा कि तुम्हारी खूबसूरती को देखकर सोचता हूँ कि काश तुम मेरी बीवी होती. पर कहते हैं न कि कस्तूरी हिरन की नाभि के अन्दर ही रहती है और वो उसे पूरे ज़माने में ढूंढता फिरता है, कुछ ऐसा ही मेरे साथ भी था. मेरी हालत बहुत खराब होने लगी, तभी मैं गहरी सांस लेने लगी और मेरा बदन टूटने लगा.

मैंने अपना लंड और अन्दर डाला, उसे फिर दर्द हुआ और वो रुकने को बोली. मैं तो बाहर जाने को तैयार था, जब हम रास्ते में थे तो मेडिकल से वियाग्रा टेबलेट ले ली. उसकी साथ की सभी मैडमों को हमारे अवैध रिश्ते के बारे में पता चल गया था.

दीदी अचानक मेरे दोनों ओर अपने पैर फैला कर बैठ गईं और मेरा लंड निकाल कर पूरा थूक से चिकना कर दिया. मैंने सामान की पैकिंग तो ही कर ली थी, उसके बाद हम घर से गोवा के लिए चल दिए. मैंने उनसे चुदाई की बात भी की, पर उन्होंने अगले दिन बताया कि वो 4-5 दिन के लिए गोवा जा रहे हैं, चिंटू का कोई काम है.

मैंने कहा- फिर कब दोगी?उसने कहा- कभी कॉल मत करना, जब मैं फ्री होऊंगी मैं कॉल या मैसेज करूँगी. इसके बाद हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े पहने और सामान्य होकर एक दूसरे को किस करने लगे.

अगर आप लोग का प्यार मिलता रहेगा तो ऐसे ही कहानियां मैं भेजता रहूंगा।आपका दोस्त बैड मैन[emailprotected]आगे की कहानी:गर्लफ्रेंड की सहेली की प्यासी चूत और गांड.

कभी कभी तो मैं काट भी लेता था, जिससे वो चिल्ला पड़ती थी और बदले में मेरे लंड को पकड़ कर उमेठ देती थी, जिससे मुझे उसको छोड़ना पड़ जाता था.

फिर अगली पेशी में उन्होंने मयूर को निर्दोष बता दिया और इस केस की जिम्मेदारी अपने ऊपर ले ली. डैड को 5 दिन बाद आना था और इन 5 दिनों में हम दोनों माँ बेटे ने कई बार चुदाई की. हम दोनों को एक ही फील्ड के होने के कारण एक दूसरे से बात करने का मौका मिल जाता था.

कभी कभी तो मैं काट भी लेता था, जिससे वो चिल्ला पड़ती थी और बदले में मेरे लंड को पकड़ कर उमेठ देती थी, जिससे मुझे उसको छोड़ना पड़ जाता था. वैसे रोशनी मुझे भैया ही कहती थी, पर अचानक सर बोलने का मतलब ये है कि वह मुझसे शरीर के अंग इंग्लिश में सीखना चाहती है. मैंने बिना कुछ सोचे समझे उसको खींचा और कहा- इसकी सूजन सिर्फ चुदाई से ही खत्म होगी.

हम दोनों ने एक दूसरे की आँखों में देखा और धक्का देने की सहमति हो गई.

वो लड़का भी इतना सेक्सी नजारा देख कर अपने आपको रोक नहीं पाया और नीचे झुक कर उसकी गांड चाटने लगा. मेरी वासना भारी यह हरकत नाज़ शीशे में देख रही थी और कामवासना से उसकी आंखें बड़ी होने लगी।फिर मैंने जूही की शर्ट ऊपर कर के उसकी चुची नंगी कर ली और मसलने लगा और लोवर में हाथ डाल कर चूत मसलने लगा. एक मिनट बाद जब आंटी बाहर आईं तब मैंने ध्यान से देखा कि वास्तव में आंटी कुछ परेशानी में दिख रही थीं.

जीजा बोले- क्या मस्त माल हो वन्द्या… तुम अभी तक कितने लन्ड ले चुकी हो?मैं बोली- यह क्या बोल रहे हो जीजा, आज तक मुझे किसी ने छुआ भी नहीं है, आप भी मत करो. अब मैं भी सेजल भाभी की चूत चाट रहा था और उनकी गांड को उंगली से चोद रहा था. और इसके लिए मैं आपको धन्यवाद देता हूं औऱ विश्वास दिलाता हूं कि आज आप को पूरी तरह संतुष्ट करूंगा.

छोड़ दो मुझे!मुझे लगा था कि मेरी इस हरकत से वो मुझे शायद थप्पड़ मार देंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

माँ- तुम अपनी माँ की फिगर साइज़ को इतने अच्छे से कैसे जानते हो?मैं- मैं माँ के साथ अक्सर खरीदी पर जाता हूँ. कुछ मिनट धीरे धीरे गांड की चुदाई से मेरा दर्द कम होने लगा और अब मैं भी उसका साथ देने लगी.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी करीब दो तीन मिनट में मेरी चूत में अंकल का लन्ड रस समा गया, मेरी चूत अंकल के गर्म गर्म वीर्य से लन्ड रस से भर गई, एक अजीब पर बहुत मस्त सा अहसास होने लगा, ऐसा लगा जैसे मुझे बहुत कुछ मिल गया हो।पांच मिनट तक अंकल मुझसे चिपक कर मेरे ऊपर लेटे रहे, उसके बाद उठे मेरी चूत को अपने रूमाल से पौंछने लगे और फिर अपने जीभ से भी चाट कर मेरी चूत साफ कर दिया. और मेरी नजार अंजलि की स्कर्ट के नीचे से दिख रही उसकी नंगी गोरी चिट्टी चिकनी टांगों पर ही थी.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी तभी मेरी फ्रेंड अवि ने ये देखा और मुझे बचाने के लिए उनका ध्यान नीचे पड़े काग़ज़ की तरफ कर दिया- सर देखिए ये क्या पड़ा है?तो उन्होंने मुझे बैठने को कहा और मैं अपनी सीट पर जा कर बैठ गई. उसके लंड की मोटाई मेरी कलाई जितनी थी और शायद लम्बा भी 7 इंच का होगा.

फिर मैंने उंगली से थोड़ी देर तक उसकी चूत को चोदा, पहले ही उसकी चूत बहुत पानी छोड़ चुकी थी, जिससे उसकी पैंटी काफी गीली हो गई थी.

राजस्थानी सेकस

रीमा- महक तो अच्छी आ रही है, कोई परफ्यूम लगा रखी है क्या?मैं- नहीं, साबुन और पसीने की मिलावट होगी. उसने कुछ नहीं बोला, बस मुझे अपनी ओर खींचा और मेरे होंठों पे अपने होंठ रख दिए. क्या अहसास था वो, मैं भाभी की चुत की झलक दूर से तो पहले ही देख चुका था लेकिन पास से भाभी की सफाचट चुत देखने का मजा ही अलग था.

मैं ये जानते हुए भी कि अर्जुन सब जानता है और मेरा साथ दे रहा है फिर भी मैं डर गया और एकदम ऊपर आकर सोने का नाटक करने लगा. विनय ने मेरी चूत में लंड घुसा कर मेरे होंठों पर किस किया और मेरे मुँह में अपने जीभ को डाल दिया, जिससे उसके मुँह की लार मेरे मुँह में आने लगी. मैंने अंदर जाकर पूछा- आप सोई नहीं अभी तक?तो बोली- तुम्हारा वेट कर रही थी!मैंने कहा- अच्छा जी, तो क्या हुक्म है मेरे आका? आपका गुलाम हाजिर है!तो वो हँसने लगी और बोली- बियर पी ली तुम लोगों ने?मैंने कहा- नहीं पी, अरुण कह रहा था कि कोई पूजा होनी है.

दोस्तो आज मैं अपनी जिंदगी का पूरा मजा ले रहा था।अब अंजलि को मैंने उल्टा यानि अंजलि के हाथ टायलेट शीट पर रखवा दिए, अंजलि की चूत पूरी बाहर हो गयी, अब मैंने अपने लन्ड को अंजलि की चूत और गांड पर हाथ से रगड़ने लगा.

पर चिंटू मेरी चूत को चूसने और चाटने के साथ साथ अपनी उंगली से मेरी चुत को चोद भी रहा था. मैं शाम को अशोक के कहे हुए बस स्टैंड पर चली गई और मुझे वहां ड्राइवर वहाँ वेट करता हुआ मिला. मैंने भी कम टाइम को देखते हुए जल्दी से सेक्स करना ठीक समझा क्योंकि मम्मी भी आने वाली थीं.

मैं सोच कर बताती हूँ।जब उन्होंने मेरी रजामंदी सी देखी तो खुल कर कहा- मैं तुम्हारी गांड मारूँगा. जैसे ही मैंने दूसरी उंगली रोशनी की चूत में डाली, उसने आह कहकर अपने दांतों से होंठों को काटना शुरू कर दिया. हस्पताल में जाते ही उन्होंने हमसे 40,000 रूपए डिपोज़िट करने को कहा.

मैंने उसकी बात से कोई इन्कार नहीं किया था, जिससे उसने मुझे चूमना चालू कर दिया. मेरी स्टोरी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल करके बता सकते हैं।[emailprotected].

बाद में पता चला कि मयूर से जिन 50 लोगों को सरकारी मकान दिए थे, वो सब असल में अमीर थे. उसको अपने नजदीक खींचा तो उसने कोई आपत्ति न करते हुए सीधे मेरी गोद में बैठ जाना ठीक समझा. रास्ते में मैंने स्मिता को समझा दिया था कि घर पर कोई ओवर रिएक्शन ना करे.

जब मैं उसको घोड़ी बना रहा था, तब मैंने देखा कि हमारी बिस्तर की चादर पर उसकी कुंवारी चूत से निकले खून के लाल दाग हो गए थे.

मैं उसकी चुत पे अपनी जीभ फिराने लगा और उसको अपने दोनों होंठ के बीच ले कर चूसने लगा ‘मुऊउऊहह…’उसने मेरा सर पकड़ लिया और अपनी चुत पे दबाते हुए तेज सांसें लेने लगी. उनका रूखा और चिड़चिड़ापन देख कर मैं समझ गया कि इनकी चुदाई भैया ठीक से नहीं कर पा रहे हैं. उसने मेरा परिचय अपनी भाभी से कराया तो भाभी ने कहा- अच्छा ये वही हैं, जिनके बारे में बच्चे बात करते हैं.

उसने वहां उतरने के बाद कॉल किया तो मैंने हाथ हिला कर इशारा किया कि मैं ही हूँ. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राकेश है (बदला हुआ नाम) मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और पिछले कई साल से अन्तर्वासना पर प्रकाशित कहानियां पढ़ रहा हूँ.

लेकिन मेरे मुँह पर आसपास उसकी चूत का रस लगा था, वो छोटी चाची ने देख लिया. साथ ही मैंने भाभी को कस कर अपनी बांहों में भर लिया, जिससे भाभी के मोटे चुचे मेरी छाती पर पिस कर रह गए. अब आगे:यह सही था कि अब प्रिया अक्षत-योनि नहीं थी क्योंकि पिछले साल मैंने ही तो प्रिया को सुहागिन बनाया था तदापि सवा साल पहले के किये गए एक बार के मैथुन का असर तो कब का योनि पर से विदा हो चुका था.

राखी बंधन का

उनके चूत चाटने के साथ साथ मैं भी एक हाथ से चिंटू के बदन को सहला रही थी और दूसरे हाथ से मेरी चूत को ऊपर से ही मसल रही थी.

उसके दोनों निप्पलों को देख कर ऐसा मन कर रहा था कि किस करता ही रहूँ, अब पेट में चुम्बन किया और उसकी नाभि में अपनी जीभ से खेलने लगा. मेरी चुत पर रहम कर भोसड़ी के…मैंने उनके मुँह से गाली सुनी तो मैं भी जोश में आ गया और मैं भी उनको गाली देने लगा- आह. इस तरह से कुछ देर तक चुदाई के बाद उसका रस फिर से निकल गया और वो झड़ गया.

रोशनी ने गोलू को अपनी तरफ खींचा और उसके सिर को अपने खुले आमों के बीच में दबा दिया. लेकिन उद्घाटन अजय और पवन को ही करना था, उन दोनों ने अपनी पैंट उतार दी. सेक्सी बताएंनीला की बॉडी लेंग्वेज यह दर्शा रही थी कि वह भी मेरे इस टच को एन्जॉय कर रही थी.

C टूरिस्ट बसें पूरे उत्तर भारत में चलती हैं, इन साहब ने अपनी कोई मनौती पूरी होने के उपलक्ष्य में अपने गोत्र की सारी लड़कियों समेत वैष्णो देवी दर्शन के लिए पूरी AC स्लीपर वाली वॉल्वो बस बुला रखी थी. मैं बियर की 3 बोतल के साथ एक व्हिस्की का हाफ और सिगरेट का पैकेट ले आया था.

दो महीने बाद मेरी चुदाई हो रही थी तो मेरी चूत और गांड भी थोड़ी सिकुड़ गई थी और थोड़ा दर्द भी हो रहा था, पर मज़ा भी बहुत आ रहा था. फिर हम दोनों कुछ देर चिपक कर लेटे रहे और जब वो जाने के लिए कहने लगी तो मैंने उसे कपड़े पहनने में मदद की, उसकी ब्रा का हुक बंद किया. मैंने कहा और अपने दोनों हाथ पीछे करके ब्रा खोल कर निकाल दी… फिर लेट गई.

इस सेक्स स्टोरी हिंदी का पिछला भाग :मुझे किस किस ने चोदा-1अभी तक आपने पढ़ा कि भाभी के पापा के दोस्त ने मुझे कार में नंगी कर लिया था और मेरी चूत की चुदाई शुरू करने ही वाले थे. फिर मैंने उसकी चुत पर थूक लगाया और धक्का मारा तो मेरे लण्ड का सिर्फ टोपा ही अंदर गया, उसे बहुत दर्द हुआ और मेरे लण्ड पर खून लगा. उसे मेरी टीशर्ट के कारण मेरे मम्मों को दबाने में दिक्कत सी हो रही थी तो मैंने अपनी टीशर्ट निकाल दी और वो मेरे मम्मों को आराम से दबाने लगा.

दोस्तो, मैं आज आप लोगों को बताना चाहती हूँ कि किस तरह से मैंने अपनी सहेली को अपने पति से चुदवाया.

अभी तक उसे मम्मों के दबाने के मज़े के बारे में तो पता था लेकिन मम्मों को चुसवाने के मज़े का पता नहीं था।मेरे मम्मे चूसते ही वो जन्नत में पहुँच गई और अब धीरे-धीरे मुँह से बड़बड़ाने लगी- आह राजेश. कहानी का पिछला भाग :पंजाबन लड़की की गांड चोदन कहानी-1अब तक इस चोदन कहानी में आपने पढ़ा.

एक कमलेश सर हैं जो ट्यूशन पढ़ाते हैं, वही बस मुझे टच किए हैं, उनका लन्ड मुंह में लेकर चूसा है मैंने और उन्होंने नीचे मेरी चूत चाटी है। पर अपना लन्ड मेरी चूत में नहीं घुसाया, मतलब डाला नहीं। मैं झूठ नहीं बोल रही… फर्स्ट टाइम आज आप दोनों चोदने वाले हो।मेरे मुंह से सब कुछ अपने आप साफ साफ निकलने लगा. वो पट्टी गाँव में रहता है जो कि मेरे शहर से करीब 38 किलोमीटर दूर है। उसके माँ-बाप ने उसे आगे पढ़ने के लिए मेरे पास आज ही भेजा हुआ था।जब मेरा भतीजा कहीं गया हुआ था तो तब वो आदमी हमारे घर आ गया. मैंने एक लड़का ढूँढा हुआ है, जो 50000 तक देने को तैयार है मगर उसकी शर्त यह है कि उसे कोई कुंवारी (वर्जिन) लड़की ही चाहिए.

मैं कहा- क्यों लंड की सफाई से क्या करना है… क्या लंड चूसेगी?वो बोली- हां आज तेरा लंड खा जाऊंगी. मैं अपनी ज़ुबान से उसकी चुत चाटने लगा और उसकी चुत के होंठों को अपने होंठों में दबा के चूसने लगा. गोलू को रोशनी के आम और उस पर लगे काले अंगूर का स्पर्श लेके एक सुकून सा मिल रहा था और वह अब रोना बंद कर दिया.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी दोनों ही चूत का रस आसानी से पी जाते हैं, ये उनके लिए कोई नई बात नहीं है. मेरी बॉस सेक्स कहानी के पिछले भागबॉस के साथ पार्टीमें आपने पढ़ा कि कैसे मेरे बॉस पार्टी के बहाने मेरे घर आये.

मदर एंड सन सेक्स वीडियो

दीदी के दोनों चुचे बड़े और टाइट होने की वजह से बीच में इस तरह एक दूसरे से चिपके हुए थे कि दोनों चूचों के बीच एटीएम कार्ड स्वाइप करने जितनी जगह भी नहीं थी. मैं- एक्च्युयली नोट्स तो मेरे पास हैं, पर मैं मंडे को तुम्हें दे पाऊंगा, क्योंकि मुझे रूम पर नोट्स ढूँढने पड़ेंगे. वो बोली- आ आहह आह… प्लीज़ चूसो इन्हें प्लीज़ जीजू चूसो ना अपनी आज की बीवी के चूचों को… जी भर के चूसो… आह खाली कर दो इन्हें…मैं भी जोश में आ गया और मैंने उसके एक निप्पल को मुँह में भर कर दम से उसे चूसने लगा.

मेरे मुंह से अपने आप लगातार सिसकारियां निकलने लगी, जीजा ने अब अपनी एक उंगली भी मेरी चूत में घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगे. दीदी के दोनों चुचे बड़े और टाइट होने की वजह से बीच में इस तरह एक दूसरे से चिपके हुए थे कि दोनों चूचों के बीच एटीएम कार्ड स्वाइप करने जितनी जगह भी नहीं थी. gen यूट्यूब डाउनलोड videoफिर मैंने उसकी चुत पर थूक लगाया और धक्का मारा तो मेरे लण्ड का सिर्फ टोपा ही अंदर गया, उसे बहुत दर्द हुआ और मेरे लण्ड पर खून लगा.

”लेकिन यक़ीनन तेरी शादी से पहले!”देखेंगे!!” प्रिया के हाव भाव में फिर से शरारत लौट आयी.

मेरी माँ के मुँह से गरम सीत्कारें निकल रही थींदस मिनट तक लंड चुत की चुसाई चलती रही, फिर माँ ने कराहते हुए कहा- अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है… प्लीज़ मुझे चोद दो. उसने मुझसे कुछ पीने को पूछा तो मैंने कोल्ड ड्रंक मांगी, लेकिन वो उसके रूम में नहीं थी.

जब स्मिता पारदर्शी गाउन पहनती थी तो उसमें उसकी लाल रंग की ब्रा, पतली सुराहीदार कमर और उसकी लाल रंग की पेंटी, जिसमें स्मिता की पिछाड़ी ठुमक ठुमक कर कलेजा बाहर निकालने पर मजबूर कर देती थी. वो बोला- जानू बहुत दिन हो गए हैं तुम्हारी चुत को देखे, आज पूरी सफाई करके रखना. मैंने अपना लंड उसके हाथ में पकड़ाया तो उसने तुरंत ही अपना हाथ ज़ोर से हटा लिया.

उनकी चूत थोड़ी फूली हुई और एकदम कली जैसी गुलाबी थी, जैसे कोई अधखिला गुलाब हो.

मैंने झट से अपनी ड्रेसिंग टेबल से वैसलीन की डिब्बी उठाई और और उसकी चूत और मेरे लंड पर बहुत सी वैसलीन लगा दी. मैं उठा कर उसे अपने बेड पे ले गया और बिस्तर पर लिटा कर उसके ऊपर लेट कर मुँह में अपनी जीभ डाल दी और किस करने लगा. और फिर जब उसने अपना आग उगलने को तैयार लंड बाहर निकाला तो सहमी हुई लड़की ने झट उसे अपने मुंह में लिया और जी जान से चूसना शुरू कर दिया.

नंगे वालेउन्होंने भी मुझे रंगते हुए मेरी चूचियों को मसल दिया तथा हाथ डालकर सहला भी दिया. इससे उसकी हिम्मत और बढ़ गई और उसने मेरा सीधा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया.

नंगी ब्लू पिक्चर दिखाएं

ललिता ने कहा- कोई और जगह नहीं है क्या? मेरी चुत में आग लग गई है जल्दी से मुझे कुछ करो, यहीं जमीन पर कर लेते हैं. अब मैं निशा के तीनों छेदों की अच्छे से चुदाई करता हूँ और उसे भी मज़ा आता है. जवानी मचलने लगी थी छेद की जुगाड़ नहीं हो रही थी, तभी एक दिन मुझे ‘गे सेक्स.

मैं कब से आपसे चुदवाना चाहती थी, पर बॉयफ्रेंड के चक्कर में नहीं चुदवा पाई. जब तक मेरी साली की भोस में उसका लंड नहीं उतर जाता तब तक कुछ नहीं कहूँगा, ताकि साली ये न कहे सके के उसने लंड नहीं लिया, सिर्फ ऊपर से किया है. अचानक उन्होंने धक्के लगाने की स्पीड बहुत तेज कर दी और परीक्षित ने चिंटू से कहा कि वो अब अपना लंड निकालेंगे तो चिंटू ने भी धक्के लगाना रोक दिया.

मैं आपको एक बात बताना तो भूल ही गया कि प्राकृतिक रूप से मेरे चूचे थोड़े ज्यादा बाहर की ओर उभरे हुए हैं और मेरे नितंब भी फूले हुए हैं. तुम्हें जो अच्छा लगे करो। बस इतना ध्यान रखना कि मैं बदनाम न हो जाऊँ।ये कहते हुए वो रोने लगी।मैंने उसे समझाया और भरोसा दिलाया कि इस बारे में किसी को पता नहीं चलेगा और दूसरे दिन टाइम पहुँच जाऊँगा।यह कह कर फोन काट दिया। दूसरे दिन मैंने अपने घर वालों को बोल दिया कि मैं दो तीन दिन के लिए बाहर जा रहा हूँ और बैग पैक करके घर से निकल गया। रास्ते में बैंक से दस हजार रूपये निकाल लिए. मैंने विनय का हाथ पकड़ लिया और बोला- विनय प्लीज, तुम किसी को मत बताना.

आह… मैं तो अब जैसे जन्नत में था, मेरी तो आँखें ही बंद होने लगीं और मुँह से हल्की हल्की आवाजें भी आने लगीं. मैंने आंटी की चुत को चाटा, तो उन्होंने भी मेरे लंड पर लगी आइसक्रीम खा ली.

अगले दिन मैंने उसे छुट्टी दी और मेरे रूम पे आराम करने को बोला और मैं ऑफिस चला गया.

उनके उभारों को एक हाथ से दबा रहा था और एक हाथ से लहंगे को नीचे उतार रहा था. सेक्सी व्हिडिओ चायनादिन भर मैं ऑफिस में काम करता रहा, शाम को जब छुट्टी हुई तो मैं अपने फ्रेंड से बोला- चल यार, आज ड्रिंक करते हैंवो भी बोला- हां यार चल…मैंने एक बियर और एक हाफ़ ले लिया और बोला- चल यार मेरे घर चलते हैं, उधर ही ड्रिंक करेंगे. लोक सेक्सीमैं- इसका मतलब ये हुआ कि जब भी आपके पति घर पर नहीं होंगे, हम देर रात तक बातें कर सकते हैं?माँ- हां… कर सकते हैं. मैं पहली बार अन्तर्वासना पर कोई सेक्स स्टोरी लिखने जा रहा हूँ तो अगर कोई ग़लती हो जाए तो मुझे माफ कर देना.

पायल बोली- वीशु, आप अपने लंड का बीज मेरी चूत में नहीं बल्कि मेरे मुँह में निकालना क्योंकि मैं तुम्हारा बीज पीना चाहती हूँ.

मैं भी जूही के पीछे किचन में चला गया और उसकी चुची शर्ट के ऊपर से दबाने लगा. वापस आने के बाद मैं उनके बारे में सोचता रहा कि मालकिन कितनी सेक्सी है. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राकेश है (बदला हुआ नाम) मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और पिछले कई साल से अन्तर्वासना पर प्रकाशित कहानियां पढ़ रहा हूँ.

उनकी कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने उनकी गांड को दबाना चालू किया. वो उठी और मेरे पास आई- देखो हम दोनों में जो बात हुई है, उसे किसी के साथ शेयर नहीं करोगे. मैंने नीचे होई कर उसकी पैन्त्य्य उतार दी और मैं उसकी चूत को चाटने लगा, पहले तो उसने मुझको खुद से दूर करने की बहुत कोशिश करी लेकिन मैं भी कहाँ मानने वाला था, तो मैं उसकी चूत को चाटता रहा और फिर वह 5 मिनट में ही सामान्य हो गई थी, धीरे धीरे सिसकारियाँ भरने लगी थी.

मंगलसूत्र इमेज

मेरी जान निकली जा रही थी लेकिन चुत में जो मज़ा मिल रहा था, वो सब दर्द उस पर कुर्बान था. करीब दस मिनट बाद हम मैं झड़ने को हुआ तो मैंने पूछा- अंदर कर दूँ क्या?वो बोली- हाँ कर दो! अब मैं भी आने वाली हूँ. मैंने तुरन्त कूपे को फिर से लॉक किया और बहूरानी को अपने आगोश में भर लिया.

मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया, जिससे उनके चुचों की लाइन साफ दिखने लगी.

इसके साथ ही मुझे चुदाई के सुख के अलावा मेरी फ़रमाइश भी पूरी हो जाती थी.

पर मैं जानता था कि इस पोज़ में डायरेक्ट जी-स्पॉट पर लंड टकराता है, जिस वजह से महिला को असीम आनन्द की प्राप्ति होती है. लेकिन उसने समीज पहना हुआ था। मगर फिर भी मैं बाहर से ही मम्मे दबा कर उसे गर्म करने लगा। गांव की लड़की सीत्कार तो ज्यादा नहीं करती लेकिन उसके बंद आँखें मुझे उसका हाल बयान कर रही थीं कि उसे बहुत मज़ा आ रहा है। मैं भी अपने पूरे जोश से उसे निचोड़ने में लगा था। आखिर दो साल बाद चिड़िया फाँसी थी. पीरियड्स क्यों होते हैंयहां आप लोगों को कहानी अच्छी लगी हो तो मुझको आप लोगों के जवाब का इन्तजार रहेगा.

फिर मैंने सोचा क्यों ना चूत का टेस्ट लिया जाए लेकिन पहले इससे लंड को चुसवा लेता हूँ. जिससे भाभी फिर सिसियाने लगीं, भाभी मुझे चूमते हुए बोलीं- अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है जान, अपना लंड मेरी चूत मे घुसा दो और चोद डालो मुझे. मैं बिल्कुल नंगी तड़पने लगी; मुझसे सच में अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था; मैं अपने आप अपनी कमर उछालने लगी और अपनी चूत उठा उठा कर चटवाने लगी और बोली- ओहहहहह मेरे राजा… मार डालोगे क्या? ये क्या कर दिया? कौन सी आग लगा दी? मुझसे रहा नहीं जा रहा है… हहह!इतने में मुझे कुछ मोबाइल सा दिखा परदे के पीछे… पर इस बार उनके संकोच में नहीं बोली कि वो बोलें ना कि अच्छे खासे मूड़ को डिस्टर्ब कर रही है.

मेरे झड़ने के बाद भी परीक्षित मेरी चूत को चाटते रहे और फिर से मेरी चूत का पानी भी पी गए. मेरा शरीर तो लंड का साथ दे रहा था पर मस्तिष्क विरोध करते हुए कहने लगा कि भैया ये क्या कर रहे हैं?वे शरारत से पूर्ण मुस्कुराते हुए बोले- आपने ही तो गरमा गरम खाने पर बुलाया है और पूछ रही हैं कि क्या कर रहा हूँ.

इन दिनों मैं अपने पिता के चचेरे भाई यानि चाचा के घर में ज़्यादा रहा करता था क्योंकि वहां मेरा मन ज़्यादा लगता था, पता नहीं क्यों.

मैंने झट से अपनी ड्रेसिंग टेबल से वैसलीन की डिब्बी उठाई और और उसकी चूत और मेरे लंड पर बहुत सी वैसलीन लगा दी. दोस्तो, आप लोग विश्वास नहीं करोगे कि उनका लौड़ा 8 इंच लम्बा और 3 मोटा था. बाथरूम में जाकर पहले अपनी चूत को अन्दर बाहर से साबुन से अच्छी तरह धो लो.

ड्रोन कैसे बनाते हैं 5 इंच मोटा काला लंड बाहर आ गया, जिसे वो मेरी साली की चूत पे सैट करने लगा. गर्मियों के दिन थे और मैं घर पर अकेली होने के वजह से रोज की तरह ट्रांसपेरेंट नाइटी में थी.

साली की युवा बेटी संग यौनानन्द की रोमांटिक कहानी के पिछले भागस्त्री-मन… एक पहेली-2में आपने पढ़ा कि प्रिया मेरे घर में मेरे साथ अकेली है, रात हो चुकी है, वो एक बेडरूम में गयी और उसने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया. जब मैं शादी करके आई थी तो वो 15 साल का था, मेरी सास ना होने के कारण उसकी सारी देखभाल मैंने ही की थी और उसने भी मेरा ख्याल बहुत कायदे से रखा था. मैं उनकी गांड ले ऊपर से हाथ फ़ेरने लगा और गांड को धीरे-धीरे मसलने लगा.

कैटरीना फोटो सेक्सी

मतलब एक जनवरी का मेरा नया साल मेरे नए और पहले अनुभव से आरम्भ हुआ था. मैं- सच मैं मुझे आपसे बात करना बहुत अच्छा लगता है, टाइम का पता ही नहीं लगता. कुछ देर बाद जब उसने अपनी गांड हिलानी शुरू की, तो मैंने भी धक्के लगाने स्टार्ट कर दिए.

शाम 5 बजे जब कॉलेज ऑफ़ होने लगा तो हम सब दोस्त जा ही रहे थे कि हमारे डीन ने मुझे बुलाया और मेम को हॉस्टल तक ड्रॉप करने को कहा. मैंने उससे पूछा- सब लोग कहां गए?वह बोली- कोई खत्म हो गया है, सब वहां गए हैं.

फिर एक और जोर का झटका लगाया और पूरा लंड उसकी चुत में पूरा अन्दर तक पेल दिया मेरे आंड उसकी चुत के मुँह पर जम गए थे.

मेरे पति बस हर समय काम में बिजी रहते थे, लेकिन जब चुदाई करते तो बहुत मस्त चोदते थे. तुमने बहुत अच्छी एक्टिंग की है और कपड़े मेरी तरफ से तुम्हें गिफ्ट हैं. कुछ करो ना।मैंने कहा- मेरी जान अभी तो बहुत कुछ बचा है। आगे-आगे देखो क्या होता है। पूरी जिंदगी तुम ये दिन भूल नहीं पाओगी।बस फिर क्या था.

लेकिन मैं आज उसे अपने घर ले कर आऊंगा और तुम नाइट में मिनी स्कर्ट और चैन वाली टी-शर्ट में रहना और अन्दर ब्रा पेंटी भी मत पहनना. अवी ने मुझसे कहा- देखो ऐसे जा रही थीं मुझे छोड़ कर?मैंने कहा- नहीं ऐसी बात नहीं है. उसका फिगर भी इतना कमाल का है कि इतनी उम्र की होने के बावजूद वो लगती 30 की ही थी.

मैंने उसे देखा तो मैं देखता ही रह गया… काले रंग की चड्डी में उसका गोरा रसीला बदन और फूली हुई चुत साफ़ दिख रही थी.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी: चड्डी उतारते ही मेरा 5″ लंबा और 3″ मोटा लंड उसके होंठों को छूता हुआ उसकी नाक पर लगा. वैसे तो वो अच्छी औरत थी, लेकिन वो टोटका आदि करती थी और शराब बेचती थी तो कोई उसे पसंद नहीं करता था.

मैंने अपने जूते उतारे दिए ताकि कोई आवाज न हो और अपना मोबाइल एयरोप्लेन मोड में रख दिया ताकि गलती से भी उसकी आवाज न हो. मेरा उसे चोदने का उस दिन का प्लान तो फेल हो गया, पर उस दिन से फ़ोन सेक्स होना स्टार्ट हो गया. मैंने लंड घुसेड़ा तो भाभी एकदम से चिहुंक उठीं लेकिन उनकी चुत मेरे लंड की सहेली थी तो अपने यार को उनकी चुत ने जज्ब कर लिया और भाभी मेरा साथ देने लगीं.

बहूरानी की पारदर्शी नाइटी, जो सामने से खुलने वाली थी, में से उसके गुलाबी जिस्म की आभा दमक रही थी; उसने ब्रा या पैंटी कुछ भी नहीं पहना था.

भाभी की चूत लगातार पानी छोड़ रही थी और मेरा लौड़ा बड़े आराम से अन्दर बाहर आ जा रहा था. फिर उन्होंने भी देर नहीं की और चिंटू ने मुझे उनकी गोदी में उठा कर अपने लंड को मेरी चूत में फंसाने लगा. फिर वो बोली कि आगे भी कुछ करना है या यहीं खड़े खड़े किस ही करते रहोगे.