छोटा लड़की बीएफ

छवि स्रोत,मां बेटी का सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स सेक्स विडिओ: छोटा लड़की बीएफ, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोलीं- ना बेटा ,ये मत कर बस माफ़ कर दे.

देशी सेकसी फोटो

फिर उन्होंने मेरी आने सर को नीचे की और मेरी गर्म चूत में अपनी जीभ को रख कर बड़ी बेताबी से चूत चाटने लगे. पेन वाला कैमराफिर मैंने उसे किस के लिए बोला तो उसने ‘हां’ में सिर हिलाया, तो मैंने उसके होंठों से अपने होंठ मिला दिए.

रमेश ने तो ये कामुक शरीर बहुत बार देखा हुआ था, पर काजल और सुरेश के लिए एकदम नया था. हिंदी में सेक्सी फिल्म बताएंमैं- तो क्या सोचा है क्या करोगे? सैटिंग करवाओगे कि नहीं?अमित- मैं क्या बताऊँ तुम जो भी कहो, जैसे बताओ.

मैंने अंगड़ाई लेते हुए बोला- ननदोई जी, आप तो ननद को ठीक से प्यार भी नहीं कर पाते होंगे.छोटा लड़की बीएफ: फिर भी किसी लड़की को चोदना चाहते हो तो पहले उससे दोस्ती करो, उसका दिल जीतो.

यहाँ मुझे क्यों ले आए?आकाश बोला- मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है, मैं यहाँ अपने फ्रेंड्स के साथ ही घूमने के लिए आता हूँ.तब मीना ने मुझसे पूछा- भाभी, तुमने रात में मस्ती की या नहीं?मैंने कहा- बिना मस्ती के तेरे भैया सोने देते हैं क्या मुझे? यह तो रोज का काम है.

ಕನ್ನಡದ ಕಾಮಕಥೆಗಳು - छोटा लड़की बीएफ

दोनों भाई काजल के अगल बगल में गिर गए और अब तीनों भाई बहन आराम करने लगे थे.वो फिल्म मैं भाभी के साथ देखूँ, फिल्म देखते हुए हम दोनों एक दूसरे के हस्तमैथुन कर सकें!14.

जब भी मैं सड़क पर निकलती हूँ, तो गली मोहल्ले में भी कई लड़के मेरी मचलती जवानी पर कमेंट्स करते हैं. छोटा लड़की बीएफ बस में मैं यही सोच रहा था कि घर जाने के बाद अब मॉम की कैसे चूत मिलेगी वहां तो नानी भी रहती हैं.

मैंने आकाश को तेज़ी से धक्का देकर बेड से नीचे गिरा दिया और मैं भी बेड से उठने की कोशिश करने लगी, लेकिन मुझसे खड़ा नहीं हुआ गया.

छोटा लड़की बीएफ?

मैंने अपनी गति तेज़ कर दी और मैं उसकी गांड में ही झड़ गया उसकी गांड मेरे रस से भर गई थी. और भाभी ने मेरे साथ, मैंने भाभी के साथ चुत और गांड की चुदाई करके सुहागरात मनाई. मैंने भाभी को अपने शॉर्टस के ऊपर से अपना छह इंच लंबा और तीन इंच मोटा लंड दिखाते हुए कहा, जो शॉर्टस में तम्बू बना रहा था.

कुणाल- आंटी केला अच्छा है?आंटी- अभी ख़ाकर तो देखा नहीं कैसा बताऊं?कुणाल- तो ख़ाकर बताइए ना. उषा काकी भी किसी घरेलू रांड से कम नहीं थीं, आख़िर फ़ौजी की बीवी थीं. करीब पांच मिनट तक चोदने के बाद मैं चरम सीमा पर पहुँच गया और उस से बिना कुछ बोले उसकी चूत में ही झड़ गया.

चाचा जी मेरे इतने करीब आ चुके थे कि हम दोनों की साँसों की गरमाहट एक दूसरे में समा रही थी. इसी वजह से जैसे जैसे पुलकित मंजरी की चूत चाटता जा रहा था, मंजरी की तड़प बढ़ती जा रही थी. फिर मैंने दुबारा अपना लौड़ा, जो कि आधा पहले ही अन्नू भाभी की चूत में था, एक और खींच के तेज धक्का मारा.

मुझे मेरी भाभी की चूत के अन्दर तक जीभ डालनी है, जितना हो सके उसके चूत के अन्दर की जगह चाटनी है और मेरी जीभ को कड़क करके चूत के अन्दर डाल कर जीभ से चोदना है. अन्नू भाभी हंसकर बोलीं- कोई बात नहीं, दो दिन के बाद मेरे पीरियड के दिन आने वाले है.

तभी छोटी ने अचानक मेरा गाल चूम लिया और खुश होकर दूसरी तरफ देखने लगी, मुझे उसका इशारा समझ आ गया था, और यहाँ साथ आने का कारण भी समझ आ गया, और मेरे लंड देव ने भी सलामी दे दी।कहानी जारी रहेगी, छोटी की चुदाई अगली कहानी में.

मैं उनको चूमने लगा, फिर धीरे धीरे चुची दबाने लगा, वो भी कामुक हो गईं और मुझे कस के गले लगा लिया.

मैं भी ये ही चाहता था, पर उससे डरता बहुत था कि कहीं वो नाराज ना हो जाए. मैंने उसे अपने हाथों से नहलाया और अपने ही हाथों से उसे कपड़े पहनाए. घर बहुत सुन्दर था, उसके पड़ोस से लगा एक मकान और था जिसमें एक लड़का किराये पर रह रहा था.

मेरी पहली गर्लफ़्रेंड भी कहती थी कि तुम्हारी आँखों में आँखें डाल के बात करने की अदा से सामने वाला तुरंत इम्प्रेस हो जाता है. मेरा लंड तन कर तंबू होने लगा और पेटीकोट के ऊपर से ही रेणुका भाभी को मेरा लंड अपनी चुत की तरफ चुभता हुआ सा फील होने लगा. मेरे को देख कर मौसी बोली- वाह… क्या सुन्दर सेक्सी दिख रही है यार! चल अब से ऐसे ही मॉडल सी बन कर रहा कर!अगले दिन मौसी ने मुझे बड़े प्यार से तैयार कराया, अपना गाऊन मुझे दिया, पतले से झीने कपडे का गाऊँ था, मैंने उसे पहना.

फिर दुबारा शायद इस मक्खन गांड को चोदने का कभी मौका मिले ना मिले, मैंने तय कर लिया कि आज गांड भी बजा कर मजा ले लूँगा.

इसके अतिरिक्त हमने एक चप्पू से चलने वाली नाव भी किराए पर ले ली और झील में घूमने निकल पड़े. मामा, मैं भी झड़ने वाली हूँ प्लीज़ अपना लंड अब मेरी चुत में डाल दो. मैं उसकी नाभि पे बर्फ लगा कर उसे क़िस करने लगा था और उसे अपनी जीभ से लिक कर रहा था.

अब मैंने उसकी स्कर्ट और टीशर्ट उतार दी और वो मेरे सामने अब रेड ब्रा और रेड पेंटी में आ गई थी, कसम से कयामत ढा रही थी वो उस ड्रेस में… उसका संगमरमर सा बदन ऐसा लग रहा था जैसे भगवान ने उसे बहुत ही फुरसत से बनाया हो. मेरी इस कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि आंटी की कामुक चुदाई कैसे आगे बढ़ रही है. यह सुनते ही उसने एक हल्की सी मुस्कान दी और रसोई में आ कर काम करने लगी.

जैसे ही वो लड़की आई, मैंने उसको पूरा नंगा किया और जम कर काफी देर तक चोदा.

अरे अब थोड़ा धरम करम में भी मन लगाया करो!” रानी जी ने मुझे ज्ञान दिया. उस दिन चाची को मैंने गौर से देखा, उनके हर एक अंग का नाप आँखों में भर लिया.

छोटा लड़की बीएफ हैलो दोस्तो, मैं सुकृति 18 वर्ष की हूँ, मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की बी कॉम पहले साल की स्टूडेंट हूँ. सन्डे को मैं सुबह जगी और सारे काम ख़त्म किए और बैठी थी कि तभी अमित की कॉल आई.

छोटा लड़की बीएफ इसके दो फ़ायदे थे, औरत और मर्द के दो सबसे संवेदनशील अंग उसका दाना और मेरा सुपारा आपस में चुम्मा चाटी कर रहे थे. हम दोनों मेरे फ्लैट पर पहुँचे वहाँ जा कर तो मैं जैसे एक जानवर की तरह आकांक्षा पर टूट पड़ा, उसे गोदी में उठा कर बेडरूम में ले गया और बेड पर लिटा कर उसके पूरे जिस्म को चूमने लगा.

इस बात पर मैंने ध्यान नहीं दिया लेकिन जैसे जैसे मैं ऊपर खिसक रही थी मेरी ड्रेस खुलती जा रही थी.

देवर भाभी सेक्स बीएफ

ऐसे करते करते मैंने पूनम से पूछा- पूनम तुम्हारा फिगर क्या है?तो पूनम ने हंसते हुए बोला- आपने अभी नापा नहीं क्या. अमित- आ गया ना तू भी लाइन पर, तो तुझे भी प्यार व्यार नहीं है तुझे भी मज़ा लेना है बस…सन्नी- बताओ ना क्या करूँ मैं अमित सर…अमित- देख मैं तेरी हेल्प कर दूँगा, लेकिन एक शर्त पर!सन्नी- क्या शर्त अमित सर…अमित- यही शर्त कि जब तू उसको थोड़ा चख लेगा तो बाद में मुझे भी मौक़ा देगा उसको चखने का!सन्नी- लेकिन वो कैसे सर… सपना नहीं मानेगी इसके लिए. मुझे बेड पर लिटाया, फिर प्यार से मेरे पैन्ट खोली, फिर चड्डी उतारी और मेरा लंड पकड़ कर सहलाने लगीं.

शिशिर ने सलमा के पैरों को अपने कंधे पर रखकर लंड को उसकी चुत पर रगड़ना शुरू किया तो सलमा बोली- ओह्ह हय मेरे राजा, क्यों मुझको तड़पा रहे हो. मैंने ज़्यादा समय न गंवाते हुए उसके चूत पे अपना लण्ड रखा और अंदर डालने लगा. करीब दो मिनट के स्मूच के बाद चचा जान के होंठ मेरे गालों को चूमते हुए मेरी गरदन पे जा पहुँचे.

मैंने बहुत ही मेहनत से पढ़ाई की और अपनी 11 वीं की परीक्षा बहुत ही अच्छे नंबर से पास की.

लंड लपलपाता हुआ धक्के के साथ चूत को चीरता हुआ अन्दर घुसा ही था कि उनके मुँह से एक गरम ‘आह्ह…’ निकली. भैया वहां से निकल ही रहे थे, वो बोले- बच्चे, अब तुम्हें अपनी भाभी का ख्याल रखना है, मैं 10 दिन में आ जाऊंगा. मैं एकटक उसे देखता ही रह गया, वो आज सच में एक रानी की तरह लग रही थी.

पर हम दोनों की उम्र के बीच दस बरस का अंतर था जो मुझे कुछ भी कहने से रोक रहा था. स्वाति ने निकिता को डांटते हुए कहा- कैसे करवायेगी तू अकाउंटेंट से सारी गड़बड़ी ठीक? उसे चूत देकर ठीक करवायेगी? बोल… चूत देगी उसे… या अपनी गांड देगी… बोल? मुझे सब पता है कि तुम दोनों क्या करते हो!निकिता घबरा कर बोली- मैडम जी… मैडम आप ये क्या बोल रही हो? ऐसा कुछ नहीं है. ‘हम्म…’उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम ये सब करके देखना चाहोगे?मैं बोला- पर मेरे साथ करेगा कौन? मुझे तो ये सब नहीं आता.

फिर उसने बोला- भाई कुछ पढ़ा दो, समझ नहीं आ रहा!वो कुर्सी पे बैठी थी, मैं पीछे से गया और उसको पढ़ाने लगा और मेरा चेहरा उस की गर्दन के पास था, बार बार उस की गरदन को भी चूम रहा था और अपना हाथ उसके जांघ पे रख कर सहला रहा था. शावर को चला कर अच्छी तरह से उसकी चूत को धोया फिर उसको साफ़ करके मैंने वहीं पर फिर उसकी चुत में अपना लंड डाला.

थोड़ी देर बाद मैं ठीक उनके पीछे हो गया और हमारे बीच का फासला भी कम हो गया. अब हम थक चुके थे तो बांहों में बांहें डाल कर नंगे ही सो गए!अगले दिन हमने फिर से सेक्स किया और बहुत किया. कितना मोटा लन्ड था, मेरे हाथ में भी मुश्किल से आ रहा था और लम्बा भी काफी जैसे कि काले रंग की लौकी हो। मैंने अपना पूरा मुँह खोल के बड़ी मुश्किल से लन्ड को मुँह में लिया और लॉलीपॉप की तरह उसे चूसने लगी।वो फिर शांत हो गया और आँखें बंद करके चूसाई का मजा लेने लगा। उसके बड़े मशरूम जैसे गर्म गर्म टोपे को चूसने में बड़ा मजा आ रहा था.

वो काफी हॉट और वाइल्ड हो गई और जोर जोर से गांड को धक्के लगा रही थी.

हमारे पड़ोस में एक परिवार रहता था, अंकल आंटी के साथ उनकी दो जवान लड़कियां थीं. मैंने देखा कि सुष्मिता मेम ने क्लीन शेव किया हुआ था; मैंने जैसे ही उनकी चूत पर हाथ फिराया तो वो एकदम से चिहुंकते हुए सिसक गईं और मेरे हाथों को अपनी चूत पर दबाने लगीं. तीन चार दिन बाद मुझे उसका फ़ोन आया उसने मुझे उस दिन के लिए फिर थैंक्स बोला.

वो मेरे सीने से चिपकी रही शायद उसे अच्छा लगा था इसलिए वो कुछ नहीं बोली. पुलकित उसके पास आया, उसका हाथ पकड़ा और उसके पास बैठ गया- आज सच कहता हूँ, ज़िंदगी का पहला सेक्स करके मज़ा आ गया!पुलकित बोला.

इसी तरह उसने एक मिनट किया होगा कि कुछ चिपचिपा गर्म गर्म सा उसके लंड से निकला और मेरी गांड और दोनों पैरों, पूरी स्कर्ट में फ़ैल गया. पहले पिंकी की कुँवारी गांड मारूँगा, तो तुमको भी ट्रेनिंग मिल जायेगी. अब पूनम ने शायद अपना ब्लाउज आगे से खोल लिया, जिससे उसका ब्लाउज ढीला हो गया और हुक़ लगाने में आसानी हो गई.

सेक्सी बीएफ एडल्ट वीडियो

ऊह आह की आवाज निकालते हुए मेरी प्यारी पत्नी सिलिकॉन से बने लंड को अपनी गुलाबी गांड में पिलवाने लगी.

मैं इस वक़्त को ख़ुशी से जी रहा था और चाहता था कि ये लड़की मेरी हो जाए, पर कहाँ वो इक्कीस बरस की और कहाँ मैं इकत्तीस बरस का. मेरी एक उंगली अभी भी उसकी चुत पर थी, अब मेरा लंड मुँह में लेना था पर उसने मना करते हुए बोली कि ये गन्दा है मैं मुँह में नहीं लूँगी. करीब 5 मिनट तक हम ऐसे ही किस करते रहे, उसके बाद विवेक ने अपनी पेंट खोल कर अंडरवियर नीचे कर दिया.

शादी घर के पास में थी, तो घर के ज़्यादा लोग वहां शादी में जाकर बिज़ी हो गए थे. मैंने टीवी चला दिया और हम लोग साथ में सोफे पे बैठ कर टीवी पर एक इंग्लिश फिल्म देख रहे थे. सेक्सी पिक्चर इंग्लिशमैं क्या चाह रही हूँ?”मैं बोला- मैंने आपकी आवाज सुनी थी जब मैंने आपका एक बूब दबाया था और मुझे भी आज आपके साथ कुछ करना है.

अमित- अरे लड़की से कभी दिल की बात करते हुए डरो नहीं… मना ही कर देगी ना… लड़कियों की कभी टेन्शन मत लो… साली एक जाती है तो सामने से साली 10 और आती हैं. उसने कसमसाते हुए कहा- मुझे बाहर तो निकलने दो, आप तो सीखने के लिए बहुत उतावले हो रहे हो.

मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था, जिससे मैंने उसकी गांड के छेद में लगा लिया और हल्के हल्के घिसना शुरू किया. मगर इस बात से मुझे और हिम्मत आ गई और जब भाभी किचन से खाने का सामान ला रही थीं तो मैंने मौका देख कर उन्हें पीछे से पकड़ लिया और उनके दोनों चुचों को जोर से दबा दिया. मैंने लंड की ठोकर मारते हुए कहा- साली कितने बार चुदी हो?सावनी- कुछ ही बार उसने चोदा था, पर तेरे लंड ने तो मेरे होश उड़ा दिए.

रात को ट्रेन में मैंने व्हाट्सएप पर उसको ऑनलाइन देखा तो मैंने उसको मैसेज किया, कुछ देर बाद उधर से रिप्लाई आना- कौन?मैंने कहा- आपको जानने वाला. उधर गाड़ी भी बहुत रफ़्तार से चल रही थी, इधर चुत चाटना भी रफ्तार पकड़ रहा था. मैंने कहा- तुम बेफिक्र रहो, मैं आराम से चुदाई करूँगा, तुम्हें बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा बल्कि ज़्यादा मजा आएगा.

मेरे लंड ने भी लावा उगलना शुरू कर दिया उधर रानी की चूत तीसरी बार झड़ने लगी.

दोस्तो, मैं बेबू आपके लिए अपनी पहली हिंदी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैंने वो कमरा दिखाने को बोला, वो मुझे अपने घर ले गयी और अपने माँ से मिलवाया और कमरा लेने वाली बात बताई- ये लड़का मेरे क्लास में है और इसे कमरा चाहिए।उसकी माँ मान गयी और मुझे एक कमरा मिल गया.

उसने एक दो लड़कियों के नाम लिए, तब मैं समझा कि जो मैंने उसके भाईयों को झूठी स्टोरीज़ सुनाई थीं ताकि वो मुझ पर शक ना करे और हमारी दोस्ती बनी रहे. मैंने कॉल काटा और टाइम देखा तो एक बज चुका था और एड्रिआना अभी भी सो रही थी. शायद उसके विचार भारत के लिए बहुत अच्छे थे और वो मुझसे मेरे भारत के बारे में बहुत कुछ जानना चाहती थी.

ये सुनते ही मैंने ज़ोर से धक्का मारा तो पूरा लंड एक ही बार में अन्दर घुस गया, अनुष्का के मुँह से चीख निकलने वाली थी, मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और थोड़ी देर रुक गया. (मैं बाद में बात करती हूँ ओके)अवी- क्या हुआ कुछ तो बताओ कितनी देर बाद करोगी. क्या मैं तुझे पसंद नहीं?मैंने उसका लंड पैन्ट से निकाल कर हिलाया, मुँह में लेकर चूम लिया.

छोटा लड़की बीएफ कुछ देर बाद जब उसकी कामुकता उसके काबू से बाहर होने लगी तो वो मुझे अपने ऊपर को खींचने लगी. फिर मैंने उसको बाथरूम में चलने के लिए कहा तो उसने कहा कि बहुत दर्द हो रहा है उठा ही नहीं जा रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ बीएफ

यह हिंदी सेक्सी स्टोरी कुछ साल पूर्व की तब की बात है, जब मैं गाजियाबाद के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था. वो पहले मना करने लगी, फिर बोली कि तुमको गांड में डालना पसंद है तो तुम्हारा साथ दूँगी. मैं झुक गई और उसने मेरी चूत पर थूक लगाया और एक ही झटके में पूरा लौड़ा पेल दिया.

तब मैंने शीशे में अपने आपको देखा, मेरी चूचियां अभी भी हल्की लाल थीं और सूजी लग रही थीं. मेरी चूचियां इतने जोर से दबाने पर दर्द सी करने लगी थीं और जो मेरी पैंटी में लग गया था, वो उस समय इतना ख़राब लग रहा था कि मैं क्या बताऊँ. ओप्पो का सेटहम एक दूसरे से इतने घुल मिल गए थे कि अपनी पर्सनल बातें भी शेयर कर लेते थे.

अब रमसुख से मैंने कहा- क्या तू भी मेरी मारेगा?वो हकला गया- भै…या जी… आप मों से भी करवाओगे.

उसने कोई प्रतिरोध नहीं किया मतलब कामुकता उसके दिमाग में चढ़ चुकी थी, मेरा रास्ता साफ़ था. मुंबई में रहता हूँ और मैं अपने दोस्तो में, अपने एरिया में सबको अच्छा लगता हूँ.

अब उसका लंड बाहर आ गया था उसका लंड कम से कम 8 या 9 इंच का लम्बा और 3. वो जब अंदर आई तो मैंने उसको अंदर कुर्सी पर बैठाया और पानी पूछा तो बोली- अभी तो ए. जैसे ही वो जाने के लिए उठने लगी तो शायद उसकी साड़ी कुर्सी में फंस गई और वो गिरने लगी तो मैंने उसको कमर से पकड़ कर सम्भाल लिया और उसको गिरने से बचा लिया.

तो उसके बाद मैंने उसको छोड़ दिया, कारण कि वो जब भी मिलता सेक्स करने को बोलता था और मेरा पूरा नहीं हो पाता था।मैं बोला- मैंने तो तुम्हारी माँ को जब चोदा तो पता नहीं कितनी बार वो झड़ी थी.

मेरी पत्नी सुन्दर और बहुत ही सुशील है और मेरा बिस्तर में पूरा साथ देती है. इस बार मैंने उसको घोड़ी बना कर चोदने का प्लान बनाया था, लेकिन वो थक गई थी बोली- कल घोड़ी बना कर चोद लेना. मयूरी आगे बोलने लगी- रमेश, मुझे तुम्हें बताने का कभी मौका नहीं मिला, पर आज ये बताने में मुझे कोई हिचक नहीं हो रही कि मैं तुम्हारे लिए वर्जिन नहीं आई थी.

लाइका खेलाई की तोहरा केआगे क्या हुआ… यह मैं आपको इस हिंदी एडल्ट स्टोरी के अगले भाग में बताऊँगी।[emailprotected]. उस दिन मैंने एक बार और दीदी की गांड मारी, आज दीदी ने मुझे चूत में लंड घुसने ही नहीं दिया, उनको तो आज सिर्फ़ गांड चुदाई का मज़ा लेना था.

एचडी बीएफ एचडी बीएफ एचडी बीएफ एचडी

साथ ही साथ वो अपनी छोटी बहन की पहली चुदाई भी देखना और उसका लुत्फ़ उठाना चाह रहा था. लेकिन मैंने उसके दोनों हाथ पीछे करके पकड़ लिए और धीरे धीरे उसकी गांड मारने लगा. मैं बोली- कोई बात नहीं, आप मस्त डालो जोर से सुरेश अंकल, मेरी चिंता मत करो! मेरीचूत और गाण्ड की सीलें टूट गईंथी.

इस प्रक्रिया में थूक की प्रचूर मात्रा सदैव उसकी उंगलियों में विद्यमान रहती थी!उधर मेरी पत्नी ने किड के मोटे ताकतवर लंड को चूसते चूसते अब उसके अंडों को भी चाटना शुरू कर दिया तो वो आनन्द के अतिरेक में पागल हो गया, और आँखें बंद करके अपने लंड को और गहरे मेरी पत्नी के मुंह में ठोकने की चेष्टा करने लगा. रमेश ने अपनी लंड का पानी काजल के मुँह में ही निकाल दिया और काजल ने वो सारा वीर्य गटागट करके पी लिया. फिर वो नताशा के साथ चुम्बन करता हुआ लाल सोफे की ओर चल दिया जिस पर किड बैठा था.

इसके बाद भाभी जी से मैं धीरे धीरे खुलने लगा, पहले तो मैं उनके साथ नार्मल बातें ही करता था, फिर धीरे धीरे सेक्सी बातें भी करने लगा. शायद आज वो अपनी चूत में उंगली डाल कर हिलाने लगी थी, जिससे पलंग हिलने लगा था. फिर कुछ देर बाद मैं उसके बेड पर बैठ कर उस के साथ टीवी देखने लगा और उस की जांघ पे फिर से हाथ रख दिया.

ऊपर पिंक कलर की एकदम फिट टी-शर्ट पहनी थी, अन्दर शायद ब्रा भी नहीं पहनी थी क्योंकि मैं उसके कड़क निप्पलों को देख सकता था. अमित ने मेरे आगे पीछे के तीन चार पोज में फोटो ले लिए और बाद में मुझे भी भेजे, जिसमें मैं सच में बहुत अच्छी लग रही थी.

उस की गांड इतनी प्यारी है कि हर कोई बस उसे चोदने के बारे में सोचे और उसके चूचे मानो ब्लाउज से बाहर निकलने को बेताब रहते हैं.

क्या कर रहे हो?तो मैं बोला- यार, आपने ही तो आँखें बंद करके हुक़ लगाने को बोला तो बंद आँखों से मुझे कहाँ पता चलेगा कि कहाँ है हुक़?उसने हंसते हुए बोला- ओ के, आँखें खोल कर देख लो. नई सेक्सी पिक्चर हिंदी मेंलड़का बोला- नहीं मैंने ऐसा कहा क्या?लड़की बोली- घबराओ नहीं, मुझे बुरा नहीं लगेगा, अगर दिल में इच्छा है तो देख आओ. 24 साल कीउनकी तरफ से कोई विरोध नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई, मैंने उनके सारे बदन को अपने रंग से रंग दिया और चुचों को और गांड को बहुत दबाया, बहुत मसला. कभी कभी जब नानी अपने कमरे में होती थीं और मॉम अकेले किचन में होती थीं, तब मैं मॉम के पास जाकर खड़ा हो जाता था और बहाने से मॉम की कमर को टच करके उनको हग करने की कोशिश करता था.

मुझे देख कर वो लेट गईं और फोन रखकर बोलने लगीं- मेरे सर में दर्द है मुझे सोने दे.

मैं भूल गई?अमित- यार उसे गले लगाना और उसकी कमर पेट और गले में एक एक किस करना. मामी ने कहा- ऐसी क्या बात है मुझमें कि मैं तेरे को अच्छी लगती हूं?मैंने कहा- आप हो ही इतनी सेक्सी फिगर वाली… हर कोई आपको पसंद करेगा. उन्होंने पूछा कि क्या हुआ इतनी सुबह क्यों बुलाया है आपने? क्या काम है?मैंने कहा- प्यार करना है आपको.

फिर मैंने उसके चूचों को चूसा, फिर उसके पेट को चूमता हुआ, उसकी नाभि को चाटने लगा. फिर सर ने मेरे को बोला- चल बेबी अपने कपड़े पहन और वापस जा तेरे दोस्त ढूंढ रहे होंगे. मैंने पूछा- तुमने चैक किया?वो बोलीं- नहीं?मैंने बोला- तुम जल्दी मेडिकल शॉप पे जाओ और टेस्ट करने वाली किट ले कर चैक करके मुझे अभी बताओ.

बाप बेटी की सेक्सी चुदाई बीएफ

जिस तरह से कोई तुम्हारी गर्लफ्रेंड है, वैसे ही वह भी किसी की गर्लफ्रेंड हो सकती है. मेरा हाथ अपने आप से मानो मेरी चूत पर पहुँच गया और उसे सहलाने लगी, मैं इतनी बेखबर थी कि मम्मी आकर पीछे खड़ी हो गईं, मुझे पता ही नहीं चला. फिर मीना ने हिम्मत करके चाय टेबल पर रखी और सागर के पास बेड पर बैठ गई.

मम्मी अपने चेहरे पर आते बालों को समेटते हुए हुए रंडी बनी उसके लंड को गटागट अपने कंठ तक ले रही थीं.

नीचे देखा तो एकदम क्लीन गोरी सी चूत देख कर मेरा लण्ड फनफना गया। दोनों नंगे जिस्म मिलने को बेक़रार होने लगे।मैंने उसके पूरे बदन पर किस करना चालू कर दिया, एक हाथ से चुचे दबाता और दूसरे से चूत सहला रहा था।मैंने पूछा- तुम्हें मालूम था क्या कि तुम आज चुदने वाली हो? तुम अपनी चूत शेव कर के आई हो।वो बोली- नहीं… मुझे क्या पता था कि यहाँ मुझे कोई नहीं मिलेगा, आप अकेले होंगे.

कुछ देर बाद मम्मी बोली- मैं मीतू के पास सो रही हूँ, तुम यही टीवी वाले कमरे में सो जाओ. मैं कभी नहीं कहूँगा, अगर प्यार करती हो तो मेरा मुँह में लेकर चूसो अगर आगे इच्छा हो, तो लेना वरना कोई बात नहीं. पंजाबी सेक्सी फिल्म व्हिडिओउसने मुझसे पूछा- आप को खाना बनाना आता है क्या?मैंने कहा- क्यों आप हो तो सही? फिर मुझे किस बात की फ़िक्र करना?तो वो कहने लगी- अभी तो आ गई हूँ, पर शाम को मुझे अपने पति के साथ शादी में जाना है.

रोते रोते भाभी ने ध्यान ही नहीं दिया कि उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा हुआ है. लगभग 5 मिनट मैंने उसके लंड को चूसा, उसके लंड से कुछ पानी निकल रहा था. तभी आगे एक हाथ मेरी चूची पर रख के सहलाने लगा, उसके चूची सहलाने से मुझे भी मजा आने लगा.

मैंने ये सुनते ही एक जोश में आकर एक जोर से झटका दिया और अन्नू भाभी की चूत में मेरा लंड जड़ तक घुस गया. मैं करवट से हो गया, फिर किसी ने मेरे चूतड़ सहलाए, वह मेरी गांड उस अंधरे में टटोल रहा था.

मेरे मोबाइल में कुछ ब्लू फ़िल्म पड़ी थीं, उन्होंने वो भी देख लीं और मुझसे बोलीं- विशाल तुम ये सब देखते हो?मैंने पूछा- क्या भाभी?वे बोलीं- ब्लू फ़िल्म?मैं हड़बड़ा गया, मैंने सोचा अब क्या बोलूँ और बोला- हां भाभी कभी कभी.

इसलिए सबसे बढ़िया बात ये कि जो करना चाहो, बिंदास करो, कुछ पाप नहीं होता. कहां निकालूँ मेरी जान?वो बोली- मेरे मुँह में निकालना, मुझे टेस्ट चैक करना है और प्रेग्नेंट भी नहीं होऊंगी. तुझे पता है बंगलौर से दिल्ली जाने में कम से कम पैंतीस छत्तीस घंटे लगते हैं सुपरफास्ट ट्रेन से? बेटा तू तो वैसे ही फूल सी नाजुक है ट्रेन के सफ़र में तेरी हालत खराब हो जायेगी और मैं भी थक जाऊंगा” मैंने बहू को समझाया.

हॉट सेक्स वीडियो अमेरिका फिर एक दिन घटना घट गई जिसका हाल एक कहानी के रूप में आपके समक्ष पेश कर रहा हूँ. दिमाग में बस दो तीन प्रश्न घूम रहे थे जैसे- आखिर मुझमें ऐसा क्या है? और मैं इतनी अच्छी क्या सच में हूँ कि लड़कों की नींद गायब कर सकती हूँ? अगर इतनी अच्छी हूँ तो मैं क्या करूँ और अमित क्यों चाहता है मुझे गले से लगना? उसे आखिर मुझसे केवल गले लग कर क्या मिल जाएगा?ये सब सोचते सोचते मैं कब सो गई, पता नहीं चला और जब मेरी आँख खुली तो सुबह के 9 बज रहे थे.

फिर रिया ने मेरी पैन्टी और सास ने मेरी ब्रा उतार दी, अब हम तीनों एक दूसरे के सामने नंगे थे कि तभी मेरी सास ने मेरी चूत में उंगली पेल दी और मैं चिल्ला उठी- ऊई… यूययू यूयययु ऊफफ आहहह क्या कर रही हो बस्स्स करो न!तभी मेरी सास ने रिया का लंड पकड़ा और कहा- मेरी जान, इतना बड़ा कैसे किया?और चूसने लगी. मैं अपने देश की राजधानी दिल्ली का रहने वाला हूँ और इंजीनियरिंग कर रहा हूँ. रात में किसी बिगड़ैल जंगली घोड़ी की तरह पति से लगातार घण्टों सेक्स करती थी.

देहाती बीएफ घरेलू

मम्मी दोनों टाँगों को चौड़ा करके फैलाये लेटी थी।और मेरी मम्मी की चूत चुद गई. अब धीरे धीरे मैंने उनकी साड़ी नीचे से उठाना शुरू कर दी क्योंकि मैंने अपनी सैंडिल से उनकी साड़ी का एक सिरा पकड़ रखा था. कुछ दिन यूं ही फोन से भाभी से बात करने के बाद एक दिन वो अपने गेट पर खड़ी थीं और मैं जब जिम से आया तो उन्होंने मुझे देख कर आँख मारी और मुस्कुरा कर अन्दर चली गईं.

मैंने सोच लिया था कि भले ही उसकी चुत मारते वक्त पिंकी पर रहम किया था लेकिन अगर गांड मारने में रहम किया तो पिंकी चीख चीख कर पूरा घर सर पर उठा लेगी. भाषा के शब्द आपके औजार या टूल्स होते हैं जो पढ़ने वाले को आनन्दित कर सकते हैं या उन्हें आहत भी कर सकते हैं; अतः अपने पात्रों के अनुसार एक एक शब्द को चुन चुन कर लिखिए.

!मैं- तो तुम आना, तुम्हें दरवाजा खुला मिलेगा, आकर अन्दर चले जाना वो सो रही होगी.

उसी दिन रात को साढ़े नौ बजे के करीब मेरे फ़ोन पर कॉल आई तो मैंने फोन उठाया, उधर से एक लड़की बोली- हैलो. इस आसन में मैंने अन्नू भाभी को कम से कम 15 से 20 मिनट तक चोदा होगा. मगर जैसे ही मेरे होंठ ममता जी के होंठों के पास जाते वो अपना चेहरा घुमा ले रही थी.

कुछ देर बाद उसने मुझे मेरी निक्कर उतारने को कहा, मैं भी लंड को आजाद करना चाह रहा था तो मैंने झट से अपनी निक्कर उतार दी. मेरी आँखें गर्म और सुर्ख होने लगी, होंठ कामुकता से सूखने लगे और मेरी प्यासी चुत में पानी उतरने लगा. मैंने बोला- आगे डाल दो मेरी नंगी चूत में!और राजेंद्र कहां डाले?”मैंने कहा- पीछे!आरती, ऐसे ही जम कर बोलो खुल कर, बहुत मजा आएगा.

अब मैं साबुन उठाया और अच्छे से झाग बना कर भाभी के मम्मों पर… चूत पर… और गांड को अच्छे से साफ करने लगा.

छोटा लड़की बीएफ: मैंने बड़ी ही मासूमियत से पूछा कि भाभी यह सब कैसे होता है?भाभी मेरी तरफ आँखें तानते हुए बोलीं कि अच्छा तो तू यह सीखना चाहता है?मैंने कहा- हाँ. दीदी ने भी मेरे को रेस्पॉन्स दिया और मेरे सर को हाथ से पकड़ कर लिप्स की तरफ़ खीच लिया और एक ही पल में मेरे लिप्स दीदी के लिप्स से जकड़े गये.

ये सब करने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई?सच कहूँ तो मुझे मज़ा बहुत आया मगर उस वक़्त झूठा गुस्सा दिखाना पड़ा. हम काफ़ी देर तक उसी हालत में रहे और कब एक दूसरे को चूमना चालू कर दिया, पता ही नहीं चला. मैं तिरछी नज़रों से सरिता को निहार रहा था और ये बात सरिता ने भी नोटिस की थी, पर उसने हल्की स्माइल के साथ मुझे अनदेखा कर दिया.

कुछ दिन ऐसे ही गुजरे, मैं उससे घुल-मिल गया, हम अच्छे दोस्त बन गए थे.

फिर वो उठी और उसने बच्चे को लिटा कर साड़ी पेटीकोट को भी निकाल दिया और पूरी नंगी हो गई. भाभी तो बस चीखे जा रही थीं मैंने फिर से उन्हें टेबल पर लेटाया और उनके मम्मों को पकड़ कर लगभग नोंच डाला और धक्के मारने लगा. फिर मयूरी आगे बोलने लगी- मुझे ख़ुशी है कि हमारे ‘इस घर में भी…’ इतना खुलापन आ गया है.