हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,कॅटरिना कैफ का सेक्सी व्हिडीओ

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी चुदाई वीडियो सेक्सी: हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स, मुझे जहां जहां नाखून के निशान बन गए थे, परवीन आंटी वहां क्रीम लगाने लगीं.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बिल्कुल नंगी

वो सारा पानी पी गयी और उसने मेरे लंड को भी चाट चाट कर सारा साफ कर दिया. सेक्सी वीडियो सेक्सी नईमैंने मजाक करते हुए कहा- आलिया ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा न!आलिया- काश तुम मेरी जगह होते, तब तुम्हें पता चलता.

मैं भी पूजा की कमर पकड़कर उसकी चुत में दनादन अपना लंड घुसेड़ने लगा और बाहर खींचने लगा. सेक्सी वीडियो फिल्म चलाएंरोनित बोला- यार क्या मस्त माल है … कितनी मस्त गांड है साली की … मेरा तो दिल कर रहा था कि उसको वहीं पटक कर चोद देता … बस तेरे कारण रुक गया.

उसकी जीन्स को खोल कर उसे नीचे किया और अन्डरवियर में तने हुए उसके लौड़े को भी चूम लिया.हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स: तो फिर चूस ना लंड को जल्दी से, तभी तो करूंगा ना… बेटा ये एक रस्म होती है जो तू निभा दे जल्दी से!” मैंने उसे चूमते हुए कहा.

इसलिए उस दिन मैं नितिन के बारे में ही सोचती रही और बहुत सोचने के बाद मैंने नितिन को ‘आई लव यू टू’ का मैसेज भेज दिया.बेटी यह क्या बात हुई? मुझे तुम्हारी चिंता हो रही है, बताओ न कहाँ दर्द है.

सेक्सी लड़की की चुदाई की कहानी - हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स

उसने हैल्लो किया तो भाई पूछने लगा कि बिक्कू कहां पर है?बिक्कू बोला- तेरे घर पर ही हूं.उन्होंने जैसे ही अपने होंठों पर अपनी जीभ फेरी, मुझे समझ आ गया कि आंटी चुदासी हैं.

मैं झड़ने वाली हूँ।” थोड़ी देर बाद उसने थरथराते हुए स्वर में कहा।मैंने धक्कों की गति तेज कर दी; कमरे में ‘थप-थप’ की आवाज गूँजने लगी और वह चरम पर पहुंचती सिसकारने लगी।थोड़े और धक्कों के बाद मुझे उसकी योनि में कसाव महसूस हुआ और फिर वह अकड़ गयी, मुझे भी उन्हीं पलों में स्खलन की सुखद अनुभूति हुई और मैंने उसे कस कर दबोच लिया।हम दोनों गहरी-गहरी साँसें लेने लगे और मैं उससे अलग हट कर फैल गया।मजा आ गया. हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स मेरे लंड में सख्ती आ गई और मैंने मौके का फायदा उठाने का मन बना लिया.

बड़ी बड़ी काली मदमस्त आंखें, गुलाबी होंठ हल्के भूरे रंग के लम्बे बाल, बड़े बड़े गोल गोल चूचे.

हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स?

क्योंकि मैं कुछ अपने में ही मस्त रहती थी, इसलिए मुझे सभी कहा करते थे कि यह अपने आपको कुछ ज्यादा खास ही समझती है. इसीलिए कहते हैं कि चूत को मारना पड़ता है, मारा जाता है लंड से तब कहीं जा के वो घुसने देती है लंड को. उसके अंदर आते ही मैंने दरवाजा बंद कर दिया और उसने अंदर आते ही बैग साइड में पटका और कहने लगी कि मेरे पास सिर्फ दो ही घंटे का वक्त है.

मैंने खाना साफ किया और कुछ ही देर में दूसरी खाने की थाली कुंवर साहब को दे दी. और फिर कोई 15 मिनट के बाद स्टडी रूम का दरवाज़ा खुला …जैसे आसमान में कोई आफताब चमका हो बादलों की ओट से पूर्णिमा का चन्द्र निकल आया हो … गौरी अपनी मुंडी झुकाए हौले-हौले चलती हुई मेरी ओर आने लगी. ”अरे मेरी जान इसमें शर्म की क्या बात है यह तो भगवान् का एक पवित्र और और नैसर्गिक कार्य है हम तो बस एक माध्यम हैं.

मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही चूमने, चूसने, दबाने लगा था और वो मेरे सर पर हाथ घुमा रही थी. रोहन- मैंने अपने पूरे जीवन में आपके जैसी सुन्दर स्त्री आज तक नहीं देखी. हर सप्ताहंत में हमारी ड्रिंक्स की पार्टी होती थी और साथ में हम कभी कहीं घूमने चले जाते, तो कभी मूवी देखने.

एक हल्की हंसी के साथ शबनम ने अंकित से कहा- मैं बहुत दिनों से ये कल्पना कर रही थी कि तुम मेरे साथ ये सब कर रहे हो. शालिनी जी बहुत ही ज्यादा गोरी थी, बदन भरा भरा था मगर मोटी नहीं कह सकते थे उसको, पेट भी समतल था.

नीरू दीदी बहुत किस्मत वाली है जो जब चाहे इसे अपनी चुत और मुंह में ले लेती है.

अनिल से मामाजी ने कहा- जल्दी औंधा हो जा, नखरे नहीं।मामा जी के कहने से अनिल औंधा लेट गया.

मेरी बीवी ने अपनी माँ के चेहरे पर किस करना शुरू कर दिया और उनकी पीठ पर अपने हाथ फिराने लगी. उधर पिंकी आराम से गजन का लंड गांड में डलवा रही थी।सबका राउंड खत्म हुआ तो सब लोग ही एक-दूसरे को चूमते-सहलाते हुए पैग लगाने लगे. दो मिनट की चुम्मा चाटी के बाद वो बोलीं- तूने समझने में इतना टाइम लगा दिया, मैं तो कब से तुझमें समाना चाहती थी.

फिर उसका मैसेज आया कि कल वो उसी जगह पर मुझसे मिलेगा जहां पर पहले हम पिंकी के साथ मिले थे. कपड़े पहनने के बाद प्रिया ने उस बेडशीट को खींचते हुए कहा- इसे छोड़ … मैं इसे अभी धुलाई कर‌ देती हूँ, कल‌ अगर गलती से मम्मी ने देख लिया, तो तेरा सारा प्यार निकल‌ जाएगा. इधर कई महीने से रिलेशनशिप में होने के बावजूद भी मैं और राज कभी चुदाई नहीं कर सके थे.

उसने अंकित को धीरे से धकेल दिया और एक शर्मीले लेकिन वासनापूर्ण तरीके से अपना कुर्ता पकड़ कर ऊपर की तरफ खींचने लगी.

मैंने कहा- अर्चना कुछ सोचा?तो वो बोली- क्या सोचूं … अपनी हाइट देखी है … मुझसे भी दो इंच छोटे हो और उम्र में भी दो साल छोटे हो. इस हरकत से मुझे महसूस हुआ कि जबकि मेरा हाथ उसके मम्मों की तरफ जरा भी ध्यान नहीं दे रहा था, तो अचानक प्रीति के हाथ के स्पर्श मात्र से मैं कैसे उसके मन की बात समझ कर उसके मम्मों को मसलने लगा. मेरे भीतर ही भर दो आप तो!” वो मुझसे कस के लिपटते हुए बोली कि कहीं मैं उससे अलग न हट जाऊं.

उस दिन सुलेखा भाभी अपनी पड़ोसन के साथ बाजार गयी हुई थीं और घर में बस नेहा और प्रिया ही थीं. … बाबा प्लीज़ और चोदो मुझे … प्लीज़ प्यास बुझाओ अपनी बेटी की … बाबा जी … आह प्लीज़ और चोदो मुझे … आपका लंबा मोटा लंड मेरे अन्दर तक घुसेड़ दो मेरी चुत में … और जोर से बाबा जी प्लीज़ चोदो मुझे. अब विक्की मेरा ख्याल रखने के लिए है रात में! तुम सो जाओ।मैं काफी कुछ समझ चुका था तो मैं बोला- ठीक है मम्मी।मैं अपने कमरे में जाकर लेट गया.

पर मैं थोड़ा बोर होने लगी थी रोज रोज एक सा जीवन बिताते हुए … सुबह सुबह ऑफिस जाते हुए हस्बैंड को खाना देना और फिर वही अपने छोटे बेबी के साथ पूरा दिन टाइम पास करना … यह भी सालों तक चला.

राज शायद मुझ पर कभी भरोसा नहीं करता और मेरी चूत, मेरी कामुकता प्यासी ही रह जाती. मैंने उसके कहे अनुसार उसके घर की तरफ बाइक दौड़ा दी और कुछ ही समय में हम दोनों उसके घर पहुंच गए.

हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स ” नीलम ने अपने ससुर की पूरी बात सुनकर शर्म से अपनी नज़रें नीचे करते हुए कहा।वेरी गुड बेटी, ऐसे ही तुम्हें अपने ऊपर पूरा आत्मविश्वास रखना होगा. रोज व्यायाम और स्विमिंग करने से मेरा शरीर हट्टा-कट्टा और मजबूत हो गया है.

हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स भाभी जी ने मुझे पहचान लिया और कहा- अरे सर … मैं एकदम से पहचान नहीं पाई. फिर मैंने कपड़े पहने और बाकी की पेमेंट करने के बाद मैं वापस अपने घर आ गया.

मैं और बॉस ने पीछे मुड़ कर देखा, तो विनय दारू लेकर आ गया था और हम दोनों को देख रहा था.

सेक्स देसी व्हिडिओ

मम्मी (माधवी) जो एक हाउसवाइफ हैं, पापा (रमेश) जो किसान है और मेरा बड़ा भाई (अमित) जो आर्मी में जॉब करता है. फिर मेरे सीने के नग्न भागों, मम्मों को ठीक ऊपर को चूमा चाटा … मेरे मम्मों को देखा. मैं धीरे से उसके पास गया तो मैंने देखा कि वो उस स्टोरी को पढ़ रही थी.

सबसे पहले अन्तर्वासना को नमस्कार, जिसने सभी लोगों की हवस की प्यास मिटाने का जिम्मा लेकर बड़े ही मनोरंजनात्मक तरीके से निभाया है. मैं बचपन से ही शहर में रहता था जबकि मेरे बाकी के मित्र गांव में रहते थे. मैं बोला- ठीक है, मैं बता दूंगा अगर इसकी जरूरत हुई तो।उसके फोन काटने के बाद मैंने प्रियंका को फ़ोन किया और उससे दारू वाली बात पूछी.

मैंने अपनी पैंट के नीचे बोतल छुपा रखी थी, वो निकाल कर बेड पर रख दी तो बोतल देख कर वो गुस्से से लाल हो गयी और कहने लगी- किससे पूछ कर ये लेकर आया है तू?मैंने बोला- सेक्स की माँ की चूत। मुझे तो ये देखना था कि तू दारू कैसे पीती है.

जब उसको मैंने गले लगाया, तब मैंने देखा कि उसका तना हुआ सीना इतना मुलायम था कि जैसे कोई टेडीबियर हो. मामी मुझे मजाक मस्ती कम करने को बोल रही थीं, क्योंकि अक्सर हम दोनों ऐसे मजाक करते रहते हैं. मैंने प्रीति को अपने गले से लगा लिया और उसकी पीठ पर हाथ फिराने लगा.

लेकिन ये किसी पराये मर्द के साथ करने को मान गयी तो मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो चुदाई से पहले ही जंग जीत ली हो. उन दोनों के बीच जितनी भी जगह बची थी, अंकित उसी में धक्के लगाये जा रहा था. मैं पूजा की चूत चाटते हुए कभी कभी उसकी गांड में अपनी उंगली फेर रहा था और जब जब मैं गांड में उंगली फेर रहा था, तब तब पूजा अपनी गांड को भींच रही थी.

इसमें करीब पौन घण्टा तो कम से कम मैंने लन्ड उसकी चूत में रखा ही होगा। ये भी पता चला कि जब जब वो पूरे जोश में मुझे पकड़ कर अपने चूतड़ हिला रही थी, तब-तब वो झड़ रही थी. मेरी मौसी की लड़की शादीशुदा थी और हम दोनों ही अपनी तीसरी मौसी के घर पर आए हुए थे.

वो कहने लगा कि अगर मैंने उसकी बात नहीं मानी तो वो मेरे यार के साथ मेरी चूत चुदाई का सारा प्लान मेरे भाई को बता देगा. हम किसी ऐसे बंदे के साथ करेंगे जो दूर का हो और जिससे हमारा ज्यादा परिचय न हो. ” कहते हुए प्रिया मुझसे खुद को छुड़वाकर खड़ी हो गयी और जल्दी जल्दी अपने कपड़े पहनने‌ लगी.

उसने टॉर्च की रोशनी मेरी गांड पर मारी, मैंने करवट लेकर अपनी बाईं जाँघ सीधी फैला रखी थी और दाईं जाँघ घुटने से मोड़ कर अपने पेट से सटा रखी थी.

हम दोनों ने लॉलीपॉप की तरह उसके लंड चूस कर लिसलिसे करना शुरू कर दिए, ताकि लंड को चूत में घुसने में मजा आ जाए. नेहा मेरा अब इतना विरोध तो नहीं कर रही थी, मगर वो अब भी कसमसा रही थी. मौसी पूरे मजे में बोलीं- आज तक तुम्हारे मौसा जी ने ऐसा कभी नहीं किया, वो तो बस मेरी चूत में लंड डालकर 2-3 मिनट में अपना पानी निकाल कर लेट जाते हैं और मैं बस तड़फती रह जाती हूँ.

फिर हम लोगों ने एक दिन योजना बना कर उसे जगह बताई कि उसे कहां आना है और कब आना है. मैंने पहले बहुत सारी ब्लूफिल्म देख रखी थी तो मैं उसी तरह से रज़ाई के नीचे जाकर अब उसकी कुंवारी चूत को चाटने लगा.

चार दिन पहले जब उसकी कॉल मेरे मोबाइल पर आयी, तो मेरे लंड ने खुलकर सलामी दी. मैंने अपनी बीवी और सास के साथ शाम को खाना खाने से पहले दारू पीने का मूड बना लिया. ये वो समय होता है जब औरतें अपने बच्चों के साथ अपने मायके भी जाती हैं.

કુવારી દુલ્હન સેક્સી વીડિયો

संतोष ने मैडम को मजे देने के लिए उनकी चूत में उंगली करना चालू कर दी.

आप सोचते होंगे चाट चाट कर कैसे सुखाया जा सकता है?खुद करके देखिएगा, बहुत मजा आता है. दोपहर को वो जब आएगी, तो उसके पहले मैं तुम्हें कॉल कर दूंगा और सामने का दरवाजा सिर्फ लगा के छोड़ दूंगा. ये उन दिनों की बात है, जब बबली मेरे ही कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहने आई थी.

परीशा अपनी आँखों को खोलते हुए- नहीं नहीं पापा, बाहर मत निकालना … पूरा अंदर कर दो … मेरी फिकर मत करो. वो बोली- और कैसे कैसे शौक हैं जनाब के … मेरी ज़िंदगी ही बरबाद करनी थी क्या? जब से शादी हुई, मैं चुप थी. वेस्टइंडीज सेक्सी फोटोमैं देखता रह गया कि दूध सी सफेद और रूई सी मुलायम उसकी चुचियां एकदम तनी हुई थीं.

मैंने बोला कि मैं घर में किसी को नहीं पता लगने दूंगी, बस आप मुझे मोबाईल दिला दो. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर रखा था तो उसकी आवाज़ तो बाहर नहीं आई, पर उसकी आंखों ने पूरा हाल बयान कर दिया.

वो मजे लेते हुए दीपा से बोला- तुम्हें तो तीन दिन दो दो लंडों को चूसना पड़ेगा. लेकिन मेरा अभी हुआ नहीं था, सो मैंने भाबी को नीचे लिटा लिया और उनकी चूत में लंड डाल कर ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा. करीब एक घंटे बाद फिर हम दोनों एक दूसरे को चोदने की तैयारी करने लगे.

मैंने उसके स्तनों का स्तनपान करना शुरू किया और वो भी बड़े प्यार से स्तन को चूसने दे रही थीफिर मैं उसे अपने रूम में ले आया और उसे पूरा नंगा कर दिया. दो तीन मिनट में ही मेरे मुँह से आवाजें आने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से चूसो … बस अब मेरा निकलने वाला है. उसके शरीर से पसीने और लेडीज परफ्यूम की महक आ रही थी, जो मुझे मदहोश कर रही थी.

अगर आपने वो कहानी अभी तक नहीं पढ़ी है तो आप उसका भी मजा लीजिये और आपको पता चल जायेगा कि मेरी बीवी कितनी सेक्सी है और खूबसूरत है.

मैं फिलहाल दिल्ली में रहता हूँ और यहीं एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर की पोस्ट पे जॉब करता हूँ. मैं उसके गले में अपनी नाक से सूंघते हुए धीरे धीरे उसकी टी-शर्ट के गले के अन्दर तक चूमने लगा.

मैंने अपनी जीभ से योनि को चाटना चालू कर दिया और दोनों हाथों से भाभी के स्तन मसलना चालू कर दिया. रोज इशिता पूरी नंगी होकर ये सब करती थी? उसका कोमल स्पर्श, उसके नंगे बदन का स्पर्श उसकी गर्म सांसें, पूरा माहौल गर्म कर चुकी थी. फिर मैंने ड्रामा करते हुए तुरंत अपना पल्लू ठीक किया और उनकी तरफ देखा.

”पल दीदी ने तो बताया ही नहीं?”हा … हा … हा … उसे मेरे से ज्यादा चिंता तुम्हारी रही होगी ना!”फिर हम दोनों इस बात पर खिलखिला कर हंस पड़े।गौरी! वो… अनार या अंगूर नहीं आई क्या?”बस एत बाल (एक बार) अस्पताल में मिलने आई थी फिल चली गई।”कमाल है?”सब मेली ही जान ते दुश्मन बने हैं?”और वो तुम्हारी भाभी?”वो पेट फुलाए बैठी है. मैं गेम खेलने में मशगूल था, तभी करीबन छह बजे आलिया ने वापस दरवाजा खटखटाया. इस चूमाचाटी के चलते मैंने अपने एक हाथ को फिर से उसके कुर्ते में घुसा दिया था.

हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स मतलब कि मुझे ही अपनी चूत को अपने पति से चुदवाने की फीस जमा करनी है. मैं पूरी तरह झड़ चुका था और उसके ऊपर निढाल हो कर गिर पड़ा था। मैं शांत हो गया मगर शालिनी अभी भी कराह रही थी।जैसे जैसे मैं ढीला पड़ता गया वैसे वैसे उसका भी कराहना कम होता चला गया।5 मिनट के बाद मुझे होश आया तो मैंने अपना सिर उठा कर उसे देखा, वो भी मुझे देख कर मुस्कराते हुए शर्म सी महसूस कर रही थी.

थ्री एक्स बीपी

फिर उसने अपना लंड मेरी चूत में सटा दिया और एक धक्का मारा … उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गीली चूत के अंदर … लंड जाकर जैसे मेरे गर्भाशय से टकराया हो क्योंकि घोड़ी बन कर चूत चुदवाने से लंड ज्यादा अंदर तक जाता है. हमने बियर पी और फिर से उसने अपने लंड की मुठ मारी और उसको खड़ा करके दोबारा से मेरी चूत पर चढ़ाई कर दी. मैंने उसके पैर और चौड़ा दिए और उसकी मखमली चूत पर अपना मुँह लगा दिया.

रचना रोनित के मुँह से लंड गांड सुनकर हंस दी और अपने जलवे दिखाने लगी. जब वो थोड़ा सामान्य हुई, तो मैंने जोर लगा कर पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर पेल दिया. अमेरिका सेक्सी पिक्चर दिखाइएदो मिनट बाद मैं उसकी गांड में लंड डालने की कोशिश करने लगा और बड़ी मेहनत के बाद आखिरकार उसकी गांड में मैं लंड घुसा सका.

तभी उसने अपने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा का हुक भी खोल दिया … और दूर झटक दी.

ऋतु ने अपने हाथों से पहले वाले के लंड को पकड़ा और अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. मुकुल राय ने भी बिना देर किए, धीरे-2 अपने लंड के सुपारे को परीशा की चूत के छेद में पेलना शुरू कर दिया.

तो जीजा जी भी तैयार हो गए, वो बोले- मेरा भी मन नहीं लग रहा है यहाँ! मैं भी तुम्हारे साथ चलूँगा. भाभी मस्ती से चूचों की रगड़ाई का मजा लेते हुए मस्ती में आवाजें निकाल रही थीं. सासू माँ ने कहा- इनकी उम्र 70 साल की हो गई है, पर लगते हैं क्या ये 70 के?मैं हमारे बड़े कुंवर साहब के बारे में आप सभी को बता देती हूँ.

मैं और मेरी चचेरी बहन पुण्या आपस में बात कर रहे थे तो उसने कहा- भैया, मुझे कॉलेज के बारे में कुछ बताओ.

कुछ दिन ऐसे ही गए, लेकिन जब जब मैं कुंवर साहब के पास जाती, वो हमेशा मुझे वासना की नजरों से देखते थे. हमारा घर अच्छी कॉलोनी में होने की वजह से उन्मुक्त वातावरण था और मेरे भाई के सारे दोस्त मेरे घऱ आते थे. मैंने फ़ौरन उसे वापस पकड़ा और उसके होंठों को चूमते हुए मैंने अपने एक हाथ से अपनी पैंट की जिप खोल कर लन्ड बाहर निकाल लिया और उसके एक हाथ में थमा दिया। उसने मेरा लन्ड मुट्ठी में भर लिया और तेजी से हिलाने लगी। मेरा लन्ड तुरंत खड़ा हो गया.

सेक्सी चोदी चोदा व्हिडिओयह कहते हुए उसने फिर से अपने पैरो की पकड़ ढीली की और मुकुल राय ने घुटनों के बल बैठते हुए धीरे-2 अपने लंड को बाहर निकालना शुरू किया. चाची के मम्मों के ऊपर चाटने के बहाने में उनके मम्मों को काट रहा था.

एक्सएक्सएक्स तमिल

फिर उसने झुके झुके ही अपनी गांड को खोल कर उसका छेद मुझे दिखाने लगी. वो मेरे नीचे से निकलना चाहती थी, लेकिन मैंने उसे बुरी तरह से जकड़ रखा था. वह मेरे स्तन देखने में इतना व्यस्त था कि मेरे नीचे उसका ध्यान ही नहीं गया।अब मैं सीट पर बैठ गयी और मेरी जीन्स पूरी उतार कर आगे की सीट पर डाल दी.

उस रात मैं 9 बजे से उनके सन्देश का इन्तजार करने लगी मगर उनका सन्देश नहीं आ रहा था. अगर चाहो तो यही काम करो, मगर वो भी तुम छोटी क्लास वाले बच्चों की ही कर सकोगी, जिससे तुमको कम पैसे ही मिलेंगे. कुछ देर के बाद वे भी मुझे ऐसे चोदते चोदते झड़ गए और उन्होंने भी सारा वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया.

तुझे वो इतनी अच्छी लगती है?मैं- मुझे तो तुम तीनों बहुत अच्छी लगती हो. प्रिया की चुत के कामरस से भीगकर मेरा लंड और भी चपल हो गया था और वो और भी तेजी से चुत के अन्दर बाहर होने लगा. मतलब उसके हुस्न को सोचते हुए मैं ये कहानी लिख रहा हूं, तब भी मेरा लंड फड़फड़ा रहा है.

फिर मैं नीचे बैठ गयी और अपनी गांड के नीचे कपड़े रख लिए और नकली लंड को अपनी चूत पे फिराने लगी। मैं अपनी चूत में लंड का थोड़ा सा टोपा घुसाती और बाहर निकाल देती। इसमें ही मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैंने उससे चौंककर पूछा- भाभी को देखकर तो मुझे ऐसा कुछ लगा नहीं? और मुझे नहीं लगता कि तेरे में कोई प्रॉब्लम हो!क्योंकि मुकेश एकदम हट्टा कट्टा शरीर वाला था.

मगर डर लगा रहता था कि कहीं कुछ हो गया, तो सब इज्जत ख़ाक में मिल जाएगी.

जब इनकम टैक्स ऑफिसर के साथ बीवी की चुदाई मैंने अपनी ही आंखों के सामने पहली बार देखी तो मुझे बड़ा अजीब सा लगा. आप सेक्सी होभाभी जी हंस कर बोलीं- अच्छा मैं नमकीन हूँ … फालतू की तारीफ मत करो … ऐसा क्या है मुझमें. ब्लू फिल्म हिंदी में सेक्सी पिक्चरमैंने उसे पीछे से बांहों में भर लिया और गर्दन पे किस करने लगा।वो चाय बनाने में व्यस्त होने का दिखावा करने लगी. मैंने उनसे कहा- भाभी आपको अगर बच्चा ही चाहिए, तो वो तो ऐसे भी हो सकता है.

उस लड़की ने मेरी मम्मी को घोड़ी बनाया और पीछे से उनकी चूत में लंड पेल दिया.

मैंने पूजा के मम्मों को खूब चूसा और अपने हाथ पूजा की चुत की तरफ ले गया. वो इस बात को इतने प्यार से बोली, तो मैं भला उसकी इस बात को कैसे न मानता. पर मुझे कभी अपने से अलग मत करना!उसकी ये बातें सुन कर मैं उसके प्रति और प्यार महसूस करने लगा था.

उसके बाद वो बाथरूम में अपना हैंडबैग लेकर गई और 5 मिनट बाद बाहर आई तो मैं उसे देखता रह गया. मुझे केवल उसकी जाँघें फैला कर बीच में जाने की देरी थी। आराम से मैंने आसन लिया और फिर लन्ड हाथ से पकड़ कर उसकी चूत पर टिका कर हल्का सा धकेलते हुए उसके ऊपर लेट गया. हम सब चूत चुदाई का मजा लेना भूल कर मैडम की बातों से हैरान हुए जा रहे थे.

बड़े लंड की

उसकी चूत को चाटने के बाद मैंने अपनी उंगली उसकी चूत में घुसा दी और भाई पीछे से मेरी गांड को बजाने लगा. मैं घर पहुंचा, उस समय घर के काम निपटाकर प्रिया तो टीवी देख रही थी और नेहा अपने कमरे में शायद ऐसे ही लेटी हुई थी. कुछ देर बाद हनी ने रीमा को चोदते चोदते उसके मुँह में ही अपना पूरा वीर्य निकाल दिया.

मैंने भाभी से बोला- भाभी क्या हुआ है … आप रो क्यों रही हो? मैं आपसे दिल से प्यार करता हूँ, ये आपको मालूम भी है, पर आज आप मुझसे ये इस तरह क्यों जानना चाह रही हो?उन्होंने बोला- मैं तुम्हारे भाई और उनके घर वालों से बहुत परेशान हो गई हूं … या तो तुम इन सबको समझा दो … या मैं सुसाइड कर लेती हूँ.

न जाने कब से मुझे अपनी कहानी आपसे साझा करनी थी, पर कर ही नहीं पाया.

कुछ देर तो‌ नेहा ये सहती रही, फिर शायद उससे ये बर्दाश्त नहीं हुआ इसलिए मुझे रोकने के‌ लिए उसने अब अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ लिया. उसने अपनी गांड ऊपर की ओर की और अपना सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया. सेक्सी व्हिडिओ पुणे बुधवार पेठविनय- नेहा ये क्या कर रही हो?अचानक से विनय की आवाज सुनकर मैं पूरी तरह से चौंक उठी और पीछे को मुड़कर मैंने विनय को देखा.

मम्मी आज एकदम ख़ुश दिख रही थीं, जैसे आज उनको कोई बहुत कुछ मिलने वाला हो. कभी कभी उसकी आवाज नहाते हुए बाथरूम से आती, वो मुझको वहां नंगी मिलती और मैं उसे वहीं दीवार से लगा कर चिपक जाता और बिना समय जाया किए अपना लंड उसकी चूत में पेल देता. इसलिए अगले दिन मैं बेसब्री से उसके ऑनलाइन आने का इंतज़ार करता रहा, जब तक कि उसने मुझे पिंग नहीं किया.

यह कहते हुए हम तीनों अब जोश से अपनी अपनी मंज़िल की तरफ बढ़ने लगे और तीनों उटपटांग आवाजें मुँह से बड़बड़ाने लगे. मेरी स्माइल देख कर वो धीरे से मेरी तरफ बढ़े, मेरे दिल की धड़कनें तेज हो गयी थीं.

मैंने श्वेता को फ़ोन करके पूछा- कहाँ हो?तो उसने जवाब दिया- मैं बस अभी घर से निकल रही हूँ.

मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और फिर उसे लेकर बाथरूम में आ गया।कहानी जारी रहेगी. मैंने दूसरा हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी चूत में उंगली डाल दी. अब तक मेरे लंड में तनाव तो आ ही चुका था कि बीच में ही ज़रीना का फोन आ गया.

सेक्सी वीडियो भेजें सेक्सी यहां पर जो पाठक मेरी इस कहानी को पहली बार पढ़ रहे हैं उनके लिए मैं एक बार अपना नाम जरूर बताना चाहूंगी क्योंकि इससे उनको मेरी आगे आने वाली कहानियों को पढ़ने में परेशानी नहीं होगी. मैं- अब थोड़ा हमारी चुदाई भी देख लो, पता चलेगा कि क्यों आंटी मुझे ज़्यादा खुश करती हैं.

पर मुझे कभी अपने से अलग मत करना!उसकी ये बातें सुन कर मैं उसके प्रति और प्यार महसूस करने लगा था. हुआ यूं कि मैं एक दिन बाइक पर अपनी एक अच्छी दोस्त के साथ घूमने निकला था, अचानक उसके फ़ोन पर उसके घर से फोन आया कि किसी का गृह प्रवेश है और उसे वहां जाना है. प्रिया अब पूरे जोश में थी और मेरी ताल से ताल मिलाकर अपने कूल्हों को उचका रही थी.

सेक्सी वीडियो गन्ने के खेत में

चिकना बदन देख कर उसकी आंखों में बस मुझे चोदने के ख्याल आ रहे थे।बस फिर क्या था … मैं पागलों की तरह मुझे चूमने लगा. ” गौरी ने अपनी अंगुली इन सभी अंगों पर लगाते हुए बताया।बाकी सब तो ठीक था पर साली ने चूत, गांड, बोबे और नितम्बों के नाम नहीं बताये।वाह… बहुत बढ़िया!”अच्छा… घुटनों को क्या कहते हैं?”नीज”और… जीभ को?”टोंग”अंगूठे को?”हाथ वाले तो थंब ओल पैल वाले तो टो बोलते हैं।”वाह … शाबास तुम्हें तो सारे याद हैं. बाहर खुले में चूत चुदाई की हिम्मत पिंकी के अलावा किसी की नहीं हो सकती थी.

फिर इस उत्तेजना का क्या अंजाम हुआ, उसको पूरे विस्तार से मैं आपकी सेवा में अपनी इस सेक्स कहानी के माध्यम से जाहिर करूंगा. उसके जाने के बाद सागर ने मुझसे कहा- यह कल सारे ऑफिस में बता कर तुमको कहीं बदनाम ना करे.

बहुत देर तक मेरी चूत को चाटने के बाद मुझे फिर से उत्तेजना होने लगी और मैं अपनी गांड को उठा-उठा कर अपनी चूत को चटवाने लगी.

फिर वो मुझसे पढ़ाई के बारे में पूछने लगा और मैंने भी उससे उसकी जॉब के बारे में पूछा. मैं स्कूल टाइम से ही योग आदि करता रहा हूँ, जिससे मेरा बॉडी की स्टेमिना बहुत अच्छी है. रात के करीब डेढ़ बजा होगा, जब मुझे यकीन हो गया कि सलमा भी थक कर गहरी नींद में सो गयी है, तो मैं दबे पांव उठी और रशीद के कमरे में चली गयी.

मैंने उससे पूछा- इतनी जल्दी कैसे?वो बोली- मैंने अपने घर बोला है कि आज मैं अपनी एक फ्रेंड के घर रुकूँगी, इसलिए जल्दी आ गई. वो मेरे होंठों को चूसते हुए बड़े जोश से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहे थे. मैंने उसे बताया कि मैं वही लड़का हूँ, जिसके लिए आपकी शादी की बात हुई थी.

उसे मुकुल राय के लंड का सुपारा अपनी चूत के दीवारों पर रगड़ ख़ाता हुआ साफ महसूस हो रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स: उसने वहां से जाने का बिल्कुल भी प्रयास नहीं किया‌ बल्कि वैसे ही बिस्तर पर बैठी रही. खैर सबसे पहले तो मैंने मुकेश औऱ निशा को शादी में न आने की क्षमा माँगकर उन्हें शादी हेतु उपहार में घड़ी का सेट दिया.

मैंने उसके चेहरे को जोर से पकड़ा और जोर-जोर से उसके रसीले होंठों का रस पीने लगा. जैसे जैसे मैं भाभी की चुत को चाटने लगा था, तो भाभी से रहा ही नहीं जा रहा था. बाहर खुले में चूत चुदाई की हिम्मत पिंकी के अलावा किसी की नहीं हो सकती थी.

और मुझे लगा कि अगर तुम मना कर दोगे तो तुम्हारे मन में मेरे लिए जो इज्ज़त है वो भी ख़त्म हो जाएगी.

मैंने पीछे से उसकी चुत में अपना लंड पूरी ताकत से घुसा दिया और दस मिनट की दमदार चुदाई के बाद मैं और मेरी बहन साथ में झड़ गए. ’ भरते हुए एकदम से अपनी चूत को मेरे मुँह से लगा दिया … और मेरे सर को अपने हाथों में पकड़ कर अपनी चुत को दबाने लगी. रितिका चिल्लाई- हाय क्या मस्त चूचे है तेरे छिनाल … चूमने को दिल करता है … आजा मुझे चुसवा दे.