न्यू बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,रानी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

फिल्मी हीरोइन का बीएफ: न्यू बीएफ चुदाई, वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ मत करो प्लीज़ दर्द होता है … प्लीज़ मत करो उफ्फ़ दर्द हो रहा है … लग जाएगी.

बस मे चुदाई

कुछ ही पल में उसने अपनी टांगों से अपनी पैंट निकाल कर अलग करके साइड में फेंक दी और वो अंडरवियर में खड़ा दिखाई दिया. चूत की चुदाई बताओमैंने अपनी जीभ उसकी चिकनी चुत में लगा दी और कुत्ते जैसे उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया.

मैंने पूछा कि क्यों आपके घर में और कोई नहीं है?उन्होंने बताया कि घर पे सिर्फ उनकी सास ही हैं और उनके ससुर की काफी साल पहले डेथ हो चुकी है. செக்ஸ் ஆன்ட்டி தமிழ்उसके बाद मैंने देखा कि उसकी चुत से खून निकल कर मेरे लंड औऱ उसकी चुत व जांघों पर लग गया था.

राजे डॉगी … अब अपनी बेग़म को बेडरूम तक ले चल … बेग़म के सामने घुटनों पर बैठ जा … बेग़म के पैरों के नीचे तौलिया लगा दे … फिर धीरे धीरे बेग़म की तारीफ करते हुए बैडरूम को चल.न्यू बीएफ चुदाई: ”अपने मुंह से मेरे लंड को निकाल कर बोली- मुझे तेरा लंड चूसने में बहुत मजा आ रहा है.

इसके बाद मैंने राजेन्द्र जी के सामने इस बात को चैक करना शुरू कर दिया.क्योंकि शौहर और ससुर को काम था, इसलिए मेरे साथ मेरी सास आने वाली थीं.

ससुर बहु xxx - न्यू बीएफ चुदाई

मैं आंखें बंद करके महसूस कर रही थी कि वो अपना लंड लेकर मेरे सामने ही खड़ा है.उसने बोलना शुरू किया- रंडी साली, अभी तक चिल्ला रही हैं जैसे तेरी चूत में पहली बार लोड़ा घुसा हो.

एकदम से हुए इस हमले से मैं चिल्ला उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो बोले- बेब्स ईट्स बिगनिंग, वी हेव नॉट स्टार्टेड येट. न्यू बीएफ चुदाई सुडौल और गोरे, लम्बी समान अनुपात में पतली गोरी उंगलियाँ … मैंने बहुत प्यार से वसुन्धरा के पैरों पर हाथ फेरा एक सिहरन की लहर मेरे और वसुन्धरा दोनों के जिस्मों में से गुज़र गयी.

दिन में मैं उसके घर गया, तो देखा पूजा बाहर वाले रूम में ही बैठी हुई थी.

न्यू बीएफ चुदाई?

कुछ देर बाद मुझे जानकारी मिली कि मामाजी को अभी कुछ देर में ही लखनऊ जाना है. शायना बुआ कराहते हुए बोलीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… साले हरामजादे … बोला था न आराम से डालिओ … मेरी चूत को फाड़ेगा क्या?मुझे बुआ के मुँह से गाली सुन कर और जोश आ गया. वो चॉकलेट मेरी चूत में लगाकर मेरी चूत को चाटने लगा जिससे मैं उत्तेजित होने लगी.

अगर कोई टाइट कपड़ों में ऐसे ही देख ले तो उससे मुट्ठ मारे बिना नहीं रहा जाए और यह तो मेरे सामने अपने असली रंग को दर्शाती हुई नंगी गांड थी।मैंने वीणा के बालों को पीछे खींचते हुए उसकी चूत में अपना लंड ठेल दिया और अपनी पूरी जान लगा कर वीणा की चूत को चोदने लगा. और फिर उसने मेरी चुत पर थूक लगाया और कंडोम पहना और मेरी टाँगें ऊपर ले ली और चुत में अपना काला लोड़ा घुसा दिया और धक्के लगाने लगा. उसने इधर उधर देखा और धीरे से कहा- जी मुझे सब पता है, आप अन्दर आइये.

दो बार लंड अन्दर तक चूस कर आंटी ने मेरे लौड़े पर सीधे बोतल से दारू डालकर लंड को नहलाया और मुँह में लंड दबा कर चूसने लगीं. अगर इस कहानी को आप धीरे धीरे पढ़ेंगे, तो आप मेरे ज़िंदगी के नए पहलू से रूबरू होंगे. राधिका गोली लाने चली गई और मैं सोनल के मम्मे मसलते हुए उसे किस करने लगा.

मेरे होंठ उसकी कमर के नीचे चल रहे थे और मेरा एक हाथ उसकी चुचियां दबाने में लग गया. मैं हैरान रह गयी कि सबके लंड सांड के लंड जितने लम्बे और मोटे तगड़े थे.

मैंने जाकर बेल बजाई ताकि सुमिना को किसी भी तरह इस बात का शक न हो कि मैंने उन दोनों की चुदाई को देख लिया है या मुझे पता चल गया है कि उसका कुणाल के साथ क्या चक्कर चल रहा है।सुमिना ने दरवाजा खोला तो उसका चेहरा खिला-खिला सा लगा मुझे.

इससे गुप्ताइन तो खुश हो रही थी लेकिन मेरे मन में एक नया विचार पनप गया कि यदि डॉली को चोदने का मौका मिले तो क्या कहने.

उसके बाद ताऊ जी ने दोबारा से तेल की शीशी से थोड़ा तेल निकाला और अपने लंड पर मल लिया. मगर मेरे लंड का माल निकलने के लिए तो आंटी कोई जुगाड़ कर ही नहीं रही थी. फिर मैंने पूछा- यार आपकी कोई सहेली नहीं है, उसको भी बुला लो, फिर ज्यादा मजा आएगा.

वो काले रंग की ब्रा में इतनी सुंदर लग रही थी कि क्या बताऊं दोस्तो … मैं वो पल बयान ही नहीं कर पा रहा हूँ. उसकी इस हरकत पर मैंने अपने लंड को सहला दिया और जब मैं अपने लंड को सहला रहा था तो वो मेरे हाथ और मेरे लंड को ही देख रही थी. तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपनी हब्शी लंड को मेरे मुँह में घुसा दिया और थोड़ी देर ऐसे ही मेरा मुँह चोदने लगा.

मगर उसकी चूत मारना इतना आसान काम थोड़े ही था! उसके लिए तो पहले मुझे इस चुड़ैल का पता लगा कर उसको अपने काबू में करना था.

इसीलिये मैं धीरे से घर के मेन दरवाजे से बाहर निकल गया और पास ही एक किरयाने की दुकान पर जाकर खड़ा हो गया. तो मैंने उनको कहा- तो आपका कहीं और क्यों नहीं हुआ?तो उन्होंने बताया- सारे लोग सिर्फ़ सेक्स के लिए ही भूखे रहते हैं इसके आगे कुछ भी नहीं।मैंने उनको बोला- सारे लोगों के बारे में आप कैसे जानती हैं?उन्होंने बताया- अभी तुम बच्चे हो, दुनियादारी की तुम्हें समझ नहीं है. बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था.

अब आगे:शाम के 7 बजे के करीब मेरी नींद खुली, तब वहां बेड पर सिर्फ दिशा ही सो रही थी. उसकी मम्म … आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह्ह … उम्म्म … की आवाजें मेरे लण्ड को खड़ा करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती थीं. फिर मैंने दिशा को लेटाकर बिना देरी किये अपना लंड एक जोरदार धक्के के साथ घुसेड़ दिया … जिससे दिशा कराह उठी.

जब वह मेरे साथ बाइक पर बैठकर कहीं जातीं, तो उनके चूचों का स्पर्श पाकर लंड कुलांचें भरने लगता था.

मैं उसके हाथ की तरफ जोर लगाते हुए अपनी गांड को धकेल कर उसके हाथ को जैसे चोदने की कोशिश करने लगा. मेरे दूसरी तरफ से घूम कर जाने से अब स्थिति ऐसी बनने वाली थी कि काजल पीछे वाली सीट पर बीच में आने वाली थी और हम दोनों भाई-बहन काजल की अगल-बगल बैठने वाले थे.

न्यू बीएफ चुदाई मैंने मौके का फायदा उठाया और फ़ौरन अपनी जीभ वसुन्धरा के मुंह में डाल दी. मेरी दोनों चुचियां एक साथ उसके मुँह में जाने से और दोनों होंठ से दबाने से में भी बहुत उत्तेजित हो गई.

न्यू बीएफ चुदाई अब मैं मौसी को डॉगी स्टाइल में चोदना चाहता था, पर वहां जगह कम होने की वजह से वो पोजीशन ट्राय करना मुश्किल था. उसने नीचे सिर्फ चढ्ढी से थोड़ा बड़ा सैटिन का लेस लगा हुआ शॉर्ट पहना था और ऊपर पतली स्ट्रैप वाली बनियान सी पहन रखी थी.

फिर उसने दांत भींच लिए और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… इस्स हम्म …’ की आवाजें निकालीं.

सेक्सी वीडियो नंगी ब्लू फिल्म

लेकिन मैंने उसे एक बार और मुँह में लंड लेने को बोला क्योंकि मुझे लंड चुसवाना बहुत अच्छा लगता है. अब वो कुछ सख्त होने लगा था और अपने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को बेदर्दी से मसलने लगा था. मेरी चुत और गांड में दोनों का लंड था और दोनों बैठ कर मुझे चोद रहे थे।कुछ देर में झड़ने के बाद मैंने उन्हें जाने को कहा.

उसकी इस कामुक बात से ही मेरी उत्तेजना बढ़ गई और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया. मामी की एक बार हल्की सी आवाज़ निकली और मेरा 6 इंच का लंड उनकी चूत के अन्दर तक चला गया. फिर घोड़ी पोजिशन में नम्रता खुद ही हो गयी और अपने कूल्हे को थपथपाते हुए बोली- राजा.

सेक्स का असली मजा क्या होता है वह तो तब पता चलता है जब किसी मर्द का लंड चूत में लिया जाता है.

मैंने जब देखा कि वो खड़ी हो कर फिल्म देख रही है, तो मैंने उससे बोला कि इधर आकर बैठ जाओ. मैनेजर बोले- देखो तुम चाहो, तो जा सकती हो … लेकिन आज अगर सबके साथ चुदाई करवा लोगी, तो नौकरी मिल जाएगी. 2 मेरी दूसरी मित्र सुहानी ने पूछा है: मैं मात्र 19 साल की हूँ और मेरा ब्वॉयफ्रेंड हर बार मुझे सेक्स करने के लिए कहता है परंतु वह सेक्स के मामले में अनाड़ी है और मेरा मत है कि मैं एक परिपक्व व्यक्ति के साथ पहला सेक्स करूँ। अगर आप समय दे पायें तो मैं आपसे मिलना चाहूँगी.

दिशा भी अब मेरे साथ चुदाई का मजा ले रही थी और मोन कर रही थी- आह आह ओह अआ अह आह ओह फक मी ओह जीजू!राधिका अपनी चूत में उंगली डाल कर बोली- वाह मेरे राजा … दो नई चूतें क्या दिला दीं, तुम तो अपनी बीवी को ही भूल गए. मेरा यह चिकना नाजुक बदन तुम दोनों के सख्त जिस्म से रगड़ रगड़ कर छिल जाएगा. फिर मैंने उसकी दोनों टांगें उठाकर चूत चोदी और पूरा माल चूत में छोड़ दिया.

ताऊ जी बुआ के चूचों को चूसने लगे और पीछे से उनका लंड चूत को पेलता रहा. आंटी बेड के बीचोबीच बिल्कुल नंगी लेटी हुई थीं, टांगें फैली हुई थीं और चूतड़ के नीचे तकिया रखा होने के कारण आंटी की चूत साफ दिखाई दे रही थी.

जब उनके पापा बाहर ड्यूटी पर होते, तो वे दोनों नीचे ही रहती थीं, पर जब अंकल आ जाते, तो वे दोनों नीचे झांकती भी ना थीं. वो जब मेरी चूत में अपना लंड तेजी से अन्दर बाहर कर रहा था, तो मुझे दर्द हो रहा था. बुआ ने अपनी जीभ से सारा माल मुंह के अंदर कर लिया और फिर लंड को ही मुंह में भर लिया.

अब आगे:भाभी ने मुझे समझाते हुए कहा- इस बार बहुत ही धीरे धीरे उसके छेद में घुसाना, नहीं तो मैं बहुत मारूंगी.

यह सुनते ही वो मेरे सामने हंसने लगा, उसने कहा- क्या बोल रही हो यार … इतना सब कुछ होने के बाद तुम ना बोल रही हो. एक लड़के ने दूसरे से कहा- राजेश तू इसकी चूचियों को नंगी कर दे और मैं तब तक इसकी चूत के दर्शन कर लेता हूँ. मैं समझ गया कि लौंडिया खेली खाई नहीं है … जबकि लंड चुसाई के समय मैं सोच रहा था कि ये पका हुआ आम है.

मगर उसकी जांघें बिल्कुल गोरी थी जिनके बीच में उसकी चूत गजब की लग रही थी. बस 5 मिनट के बाद वो अकड़ने लगी और मेरी बांहों में निढाल हो कर पड़ी रही.

मैडम के पापा इंडियन आर्मी में ब्रिगेडियर थे और गुजरात में पोस्टेड थे. इस तरह मैंने सुकांत जी को बुधवार को मेरे बैंक या ऑफिस में बुलाया; मैंने सोच रखा था कि सुकांत जी को लेकर अपने घर चली जाऊँगी फिर डिनर वगैरह के बाद सारी रात हमारी ही होगी. मुझे यकीन नहीं हुआ कि एक बाप-बेटी इस तरह से आपस में चुदाई कर सकते हैं.

भोजपुरी सेक्सी सेक्सी सेक्सी

वे मेरे घर आते, तो मैं कभी उनके सामने झुक कर झाड़ू लगाने लगती, कभी पौंछा लगाने लगती.

ईवेंट खत्म होने के बाद मैं ओडियन्स में अपनी सहेलियों के साथ बैठी थी. ’मैं एक झटके में ऊपर गया और उसकी आँखों की पट्टी हटा दी। वो एकदम से चिहुँक गयी. हम अलग अलग तरीके और जगहों पर करते थे, इसलिए हमारी चुदाई में एक नयापन आ गया था.

पेन ड्राइव शुरू हो गई तो हम लोगों ने एक दूसरे के कपड़े उतारे और शुरू हो गये. तुम्हारे कारण ही तो मैं इतना सोच पायी कि कैसे अपने पति को रिझाना है. देसी चढ़ाईजीजू की जांघों पर बैठते हुए उसने जीजू की छाती पर हाथ फिराते हुए उसको सहलाना शुरू किया तो मानसी के कोमल हाथों की मदहोशी में आनंदित होते हुए रितेश जीजू उसके चूचों को मसलने लगे.

नम्रता- तो तुमने क्या किया? तो तुमने क्या किया?नम्रता ने दो बार पूछा. अब वो बोले- लाओ जरा तुम्हारा जिस्म भी तो देखें कि अंदर से तुम कितनी सुन्दर हो.

उसके बाद मैंने भी उसको अपनी बांहों में भर लिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को वहीं खड़े होकर चूसने लगे. उसने अपना मुँह मेरे होंठों पे रख दिया और थोड़ी देर वैसे ही मेरी चूत में अपना लंड डालकर मेरे होंठ चूसता रहा. धीरे-धीरे जीजा जी एक उँगली अंदर-बाहर आराम से करने लगे तो मैं दर्द और मजे से उछलने लगी.

वो एक बार तो थोड़ी सी उचक कर बेचैन हुई मगर मैंने अगले ही पल उसके होंठों को भी चूसना शुरू कर दिया. राधिका ने कहा- सबसे पहले दिशा थी, फिर मैं आई थी और आखिर में सोनल थी. थोड़ी देर आराम करने के बाद वो उठी और मेरे सामने खड़ी होकर सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधने लगी.

आह्ह … बाहर आते ही मैंने एक बार उनको हाथों में भर कर उनका अहसास अंदर तक महसूस किया और फिर अपने मुंह को उसके चूचों पर लगा दिया.

भाभी गांड उठाते हुए बोली- यार अब बर्दाश्त नहीं होता … मुझे और मत तड़पाओ … जल्दी से अपने लंड को मेरी चुत में डाल कर मुझे तृप्त कर दो. लेकिन मेरी चूत आज काफी टाइट थी क्योंकि मैं बहुत दिन से चुदी नहीं थी.

मेरा मन इसे हाथ में पकड़ कर देखने को कह रहा है … क्या मैं देख लूँ?मैंने कहा- भाभी, आप ये क्या कह रही हो. इससे उसकी आह निकलने लगी और वो अपने होंठों को अपने दांतों से पकड़ने लगी. आज मेरा ख्वाब पूरा होने जा रहा था, उसकी जिन चूचियों को मैं पिछले कई दिनों से सपनों में देख कर मुठ मारा करता था, आज वो साक्षात मेरे सामने उछल उछल कर अपनी रंगीनी बिखेर रही थीं.

इसीलिये मैं धीरे से घर के मेन दरवाजे से बाहर निकल गया और पास ही एक किरयाने की दुकान पर जाकर खड़ा हो गया. हेतल ने कहा- तो फिर तेरा क्या जाता है इसमें … अगर मैंने राज से चुदवा भी लिया तो वो हम दोनों के बीच की बात है. मुझे भी इतना मजा मिल रहा था कि मैं अपनी गांड उठा के उसका साथ दे रही थी.

न्यू बीएफ चुदाई मेरे बड़े और खड़े लंड को स्पर्श करते ही भाभी की चुदास भड़क उठी, वे कहने लगीं- आज मैं तुमको सेक्स का असली मज़ा दूँगी. मैंने गुप्ताइन का हाथ अपने हाथ में पकड़ा और उसकी आँखों में आँखें डालकर कहा- भाभी मेरा एक काम करा दो, तुम्हारा अहसान कभी नहीं भूलूंगा.

तमन्ना भाटिया के सेक्सी

क्या बताऊं यार इतना सेक्सी ओर हॉर्नी अहसास मैंने मेरी जीएफ के साथ भी कभी फील नहीं किया था, जितना आज उसके साथ कर रहा था. मैंने इधर की कामुक कहानियों को पढ़ कर सोचा कि क्यों न अन्तर्वासना के दूसरे पाठकों के साथ मैं अपनी कहानी को भी साझा करूं. नहाते हुए सुमन पूछने लगी- सेक्स इसी को कहते हैं क्या?मैंने कहा- यह तो सेक्स की एक झलक भर थी.

रात को उसी की पायल की आवाज आती है और इसीलिये रात में कोई भी उस गौशाला में नहीं जाता।लेकिन मैं इन बातों को नहीं मानता था क्योंकि मैं शहर का रहने वाला लड़का था. मैंने उससे कहा- मुझे पता है तू मुझसे नाराज है, लेकिन मैं सॉरी बोल रहा हूं. सेक्सी वीडियो देवर भाभी केउसने अपना मुँह मेरे होंठों पे रख दिया और थोड़ी देर वैसे ही मेरी चूत में अपना लंड डालकर मेरे होंठ चूसता रहा.

मेरी लाइफ की यह पहली स्टोरी थी जिसमें मैंने एक कुंवारी गांव की चूत को पहली बार चोदा था.

दोनों बहनें बड़ी खूबसूरत थीं, पर चूंकि दक्षिण से थीं … इसलिए उन दोनों का रंग काला था. मैं उनको बाथरूम में ही किस किए जा रहा था और उनकी चूत को सहलाए जा रहा था.

कहानी पर अपने विचार रखने के लिए कमेंट करें और मेल करके बतायें कि कहानी में आपको कितना मजा आ रहा है. वे लोग भी काफी रईस थे और काफी बड़ा घर था और घर के साथ एक बहुत बड़ा मैदान था जहाँ हम खेल रहे थे. धक् धक् धक् धक् धक् धक् धक् … दे दनादन दन दन दन दन … धक् धक् धक् … चुदाई की स्पीड इस समय हवाई जहाज़ रफ़्तार को भी शर्मसार कर सकती थी.

उसके बाद जब 12 बजे अलार्म बजा तो मैंने झट से उठ कर उसको बंद कर दिया ताकि अलार्म की आवाज से माँ न उठ जाए.

मैं समझ गया कि तीर निशाने पर लगा है, इस बीच कोकाकोला की बोतल आधी हो गई थी. उसका हाथ जल्दी ही मेरी चूत पर जाकर पजामी के ऊपर से ही उसको मसाज देने लगा. तेरे पापा मेरी चुदाई तो करते हैं मगर ऐसे नहीं करते कि मेरी चूत ढीली पड़ जाये.

एक्स एक्स फिल्में वीडियोभगवान ने जाने क्यों मेरे बदन में सेक्स की प्यास औसत से कुछ ज्यादा ही दे रखी है. तो वे बोलीं- तो तुम यहाँ पर आए क्यों?मैं बोला- एक काम करो, लगे हाथ दर्शन कर लो और पाँच बजे की ट्रेन से वापस चलते हैं.

देहाती लेडीस सेक्सी

मैंने उसको मनाने की कोशिश करते हुए कहा- देख, पहले मेरी बात तो सुन ले. तो मुझे मेरी सालियों ने घेर लिया और मुझसे मेरी पहली चुदाई की कहानी सुनाने को कहने लगी. फिर हम दोनों ने एक दूसरे को साबुन लगाकर अच्छे से मलने के बाद फिर शॉवर के नीचे नहाने लगे.

मैंने मुस्कराहट के साथ हैलो कहा और उन्होंने भी मुस्कराहट दे कर रिप्लाई दिया. उनके बड़े लंड से मेरी तो जैसे साँस ही रुक गई … इतना मोटा और लम्बा लंड था कि मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था. पानी निकलने के बाद मौसी मुझे धक्के लगाने का इशारा करके मेज़ पर एकदम चित लेट गईं.

वो चूत को किस करने लगा और बोला- अमीषा तेरी चूत की खुशबू तो बहुत मस्त है. मैंने उनको कहा- मैं बच्चा नहीं हूँ, दुनियादारी बहुत अच्छे तरीक़े से जानता हूँ. इसलिये मैं भी अब शौच आदि से निवृत्त होने के लिये बाथरूम में घुस गया। अब जब तक मैं नहा-धोकर तैयार हुआ तब तक मोनी ने खाना बना लिया था.

हम दोनों में धीरे-धीरे दोस्ती हो गई लेकिन कुछ दिन के बाद उसने वह जॉब छोड़ दी और वह दूसरे शहर में चली गयी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:ज़िम वाले लड़के के साथ दोबारा सेक्स का मजा लिया-2.

बुआ की नजर सीधे मेरे खड़े लंड पर गयी और वो पांच मिनट तक ऐसे ही देखती रहीं.

!!अस्तु!!!इति श्री पुरानी-कथा पुराण!ख़ुशगवार अहसासों के जादुई रेशमी स्पर्श के बाद, हक़ीक़त की ख़ुरदरी सच्चाइयों का सामना करना वाकई में बहुत ही बेचैनी भरा होता है लेकिन इन सब के बीच जिंदगी मुतवातर अपने रास्ते पर आगे बढ़ती रहती है, मेरी भी बढ़ रही थी. इंग्लिश फुक्किंगअगर तुझे एक मर्द से शांति न मिले तो हम सब मिल कर तेरी चूत को चोद देंगे. चाची चुदाई वीडियोबेबी गोरखपुर में बीकॉम में पढ़ती है और कॉलेज में एक हफ्ते की छुट्टी के कारण यहां आई है. खड़े लंड पर धोखा हो गया था … मुझे घर आकर मुठ मारना पड़ा, तब जाके शांति मिली.

मैं बिस्तर पे उल्टा लेट गया और वो बड़े ही प्यार से मेरी कमर दबाने लगे और मुझे गुदगुदी करने लगे.

फिल्म के गर्मागर्म सीन देखते हुए हम दोनों ही वासना की आग में जलने लगे थे. मुझे लगता था कि उसकी तेज आवाजें आसपास के नजदीक फ्लैट तक सुनाई पड़ी होंगी. मैं किसी का मोटा लंड अपनी चूत में डलवाकर अपनी चूत चुदवाना चाहती थी.

मैंने उसकी ओर देखा, सोनल ने कपड़े पहन लिये थे, लेकिन फिर भी उसका नग्न बदन दिख रहा था. क्योंकि मैंने आज तक किसी अन्य धर्म की महिला की मसाज नहीं की थी, इसलिए मैं उसको देखता ही रह गया. मौसी बोली- अन्दर मत निकलना, बाहर दूर को ही निकालना अपना माल, वरना साड़ी खराब हो जाएगी.

सेक्सी अंग्रेजी पिक्चर सेक्सी

वैसे अभी एक राउंड और हो जाए तुम्हारी अम्मी की बातें करके लंड पूरा टाइट हो गया है. मैडम के पापा इंडियन आर्मी में ब्रिगेडियर थे और गुजरात में पोस्टेड थे. मैंने उनकी टांगों को पकड़ा और एक ही झटके मैं उनकी चूत के अंदर पूरा समा दिया.

मैंने नम्रता को गोद में उठाया और पलंग पर पटककर उसके बगल में लेटते हुए उसके निप्पल को मुँह में भर लिया और चूची को मसलने लगा.

अभी मैं लंड चूस ही रही थी कि पीछे से अजय हाथ में सिगरेट लेकर आया और बोला- साली कुतिया मादरचोदी … आराम से लंड खा … एक और भी लंड है तेरी गांड फाड़ने के लिए.

पर एक बात थी कि खाना बनाने की तैयारियों के बीच वो मुझसे चिपकती, फिर पलटी मार के अपनी पीठ को मेरे सीने से चिपकाती और फिर मुझे पीछे से पकड़ लेती. मैं- हां तभी तो जब तक पूरा चाटकर साफ नहीं कर लेता, तब तक तुम्हारी चूत को छोड़ता नहीं हूं. xxx दिखाएंमामी जी की नाइटी कुछ ज्यादा ही ढीली ढाली थी और उसका गला काफी गहरा था, जिससे उनके मम्मों की दूधिया घाटी मुझे गर्म कर रही थी.

अक्सर मैं पूरी नंगी हो जाती और पापा के उतारे हुए पसीने की गंध वाले कपड़े पहन कर रात में सोना मुझे बहुत भाता था. मैं उसकी और सहूलियत के लिये पेट के बल लेट गया, अब नम्रता मेरे कूल्हे को अपनी पूरी ताकत लगाकर मसल रही थी. तू अब तक कहाँ था, सोनू? सोनू मेरे राजा, अन्दर बाहर करना शुरू कर और आज अपनी आंटी को चोद दे.

फिर मैंने उससे बोलना ठीक समझा और एक दिन मैं उससे बात करने के लिए ऑफिस जल्दी आ गया. जब ताऊ जी ने अच्छी तरह से बुआ की चूत पर तेल मल दिया तो वो उठ कर खड़े हो गये.

इससे पहले मां कुछ कहती मैंने राहुल से कहा- राहुल, तू मां को घर छोड़ कर आ जा, हम तब तक यहीं रुकते हैं.

अधिकतर अंकल अपने बेटे को देने के चक्कर में मेरे मम्मों को छू लेते, कभी कभी मेरे हाथ को छू लेते, उनका यूँ मुझे हाथ लगाना … मुझे जरा अजीब लगता, पर हल्की सी मन में गुदगुदी भी कर जाता था. कैसा लंड है राज का। तुमने उसको तुम्हारी चूत चुदाई के लिए उकसाया कैसे?हेतल ने मानसी को राज की कहानी सुनानी शुरू की:राज पर मेरी नजर बहुत पहले से थी. पति- यार तुमने आज सेक्सी आवाज के साथ मुझे उत्तेजित कर दिया, मुझे भी आज तुमने आज सड़का मारने के लिए मजबूर कर दिया.

सेक्सी वीडियोxxxxx मैं बोली- तू भी तो मादरचोद नौसीखिया नहीं दिख रहा है … सच सच बता भोसड़ी के इसके पहले तूने किस किस को चोदा है?वंश मेरी चूत में अपने मूसल की ठोकर देता हुआ बोला- मेरी छिनाल मम्मी … हफ्ते में एक दो कॉलगर्ल्स को चोदे बिना तो मेरी आग ही शांत नहीं होती है. अपनी अपनी जीभ निकाल के एक दूसरे की जीभ चूमते रहो और चुदाई का मज़ा लेते हुए अपने पार्टनर के चेहरे पर आते हुए मधुर आनंद के भाव देखते देखते प्यार की बातें फुसफुसाते रहो.

हम दोनों बहुत देर से एक दूसरे से बात कर रहे थे और अब तो हम लोग एक दूसरे से घुल मिल गए थे. हम दोनों का पानी छूटने लगा और फिर वो अपने कपड़े पहन कर सो गई और मैं अपने घर आ गया. अक्सर बड़े लंड से बेहतर छोटे लंड ही होते हैं। चुदाई में ओरल, फॉर प्ले जितना ज्यादा होगा उतना आनन्द आयेगा। अत: जो है उसमें ही आनंद प्राप्ति की इच्छाशक्ति बढाएं और सेक्स का आनन्द लें। बड़ा लंड नाइजरिया, अफ्रीकन, वेस्टइंडीज की तरफ के लोगों का होता है लेकिन वहाँ की लड़कियाँ उनके साथ सेक्स करने में सन्तुष्ट नहीं होती हैं। कभी गूगल पर जरूर पढ़ना उनके आर्टिकल्स, आपको हकीकत खुद ही पता लग जायेगी.

नंगी पिक्चर सेक्सी सेक्सी

आंटी ने सिगरेट का कश लेते हुए बताया कि उसके हंसबेंड 2 साल में एक बार घर आते हैं, वो भी सिर्फ 7 दिन के लिए आते हैं. तभी हमारी नज़रें आपस में मिली और मैंने उसे सेक्सी से अन्दाज़ में एक स्माइल दे दी और अपनी मोटी गांड को जींस में मटकाती हुई उसके सामने से चली गयी. बुआ इतनी मस्ती से चुद रही थी कि किसी बुड्ढे का लंड भी उनकी चुदाई को देखकर जोश में आ जाये.

मैंने डरते डरते उनके लण्ड की तरफ देखा; उनका लण्ड मुझे देख कर धीरे धीरे उछल सा रहा था और उसकी चमड़ी थोड़ी सी पीछे खिंच गयी थी जिससे उनके सुपारे का छेद दिख रहा था. मेरे ऑफिस में मेरी सहेलियों ने मेल एस्कोर्ट को बुला कर मुझे अलग-अलग मर्दों से चूत चुदवाने का चस्का लगा दिया था.

ऐसा चोदू मर्द मुझे मिल गया था जिसकी चुदाई पाकर कोई बांझ भी बच्चा जन दे.

वो बार बार अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल रहा था और उसके बाद अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था. उसने मेरे ब्लाउज और ब्रा निकाल दिए और एक मम्मे को अपने मुँह में ले कर काटने और चूसने लगा. मेरे भैया को ये बात पता भी नहीं थी कि उनका एक दोस्त उनसे मिलने आता है तो मुझे देखता रहता है.

ऐसे करते हीं मैंने देखा कि आज बुआ ने पेंटी नहीं पहनी थी और उनकी बिना झांटों वाली चिकनी चूत मेरे सामने थी. मैंने वसुन्धरा को ब्यूटी-पार्लर के गेट पर उतारा और उसको जैसे ही आप तैयार हो जायें, मुझे सैल पर कॉल कर दें, मैं आप को लेने आ जाऊंगा. पांच बजे के करीब माँ भी घर पर आ गई और हम दोनों साथ में बैठ कर टीवी देखने लगे.

मैंने उसे सहारा दिया, तो वो खड़ी तो गई लेकिन वो ठीक से चल नहीं पा रही थी.

न्यू बीएफ चुदाई: मुझे कुछ शक हुआ, तो मैंने चाँद की चांदनी रात में देखा कि उनका भाई भी मेरी चूची दबा रहा था. मेरा 2 इंच लंड उसके मुँह में चला गया और उसने डरकर तुरन्त मुँह से लंड को बाहर निकाल दिया.

मैं अपनी गांड मटकाती हुई ‘आअहह ऊऊऊह उउइइ माँ … मजा आ रहा है … उई भाई जोर से और जोर से चोद आआहहह भाई … तेरे लंड की चोट मेरी बच्चेदानी पर पड़ रही है … आआह्ह्ह भाई चोदो और जोर से … आअह्ह्ह ऊऊओह आअह्ह्ह बहनचोद … चोद दे अपनी रंडी बहन को आआहहह …इसी चुदाई के बीच में मैंने एक बार और अपना रस छोड़ दिया और भाई मुझे फुल स्पीड से चोदता रहा. खड़े लंड पर धोखा हो गया था … मुझे घर आकर मुठ मारना पड़ा, तब जाके शांति मिली. उसने मुझे बताया है कि अब उसकी एक साथ तीन उंगलियां गांड में जाने लगी हैं.

वे शूज पहनने लगीं, इससे उनका जिस्म मुझे टच कर रहा था और उनकी खुशबू मुझे मदहोश कर रही थी.

उस रात और दो बार मैंने मामी को अलग अलग पोज में चोदा और एक बार उनको अपना वीर्य भी पिलाया, जो उन्होंने मेरे बहुत कहने पर पिया. फिर हम दोनों अलग हुए और जल्दी से मैंने अपने अध-सोये लंड को अपने अंडरवियर में वापस से अंदर डाला और चेन बंद करके दरवाजे के बाहर झांका. मुझे देखकर उठ कर खड़ी हो गयी और घर में जाने का मेन गेट खोल के मुझे भीतर आने का इशारा किया.