बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,फोटो फुल एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स कॉम मराठी: बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर, उसकी गांड थी ही इतनी सुंदर … मुझे चूत से ज्यादा उसकी गांड देखकर मजा आ रहा था.

बैटरी टॉर्च

पूजा जैसे ही ड्रेसिंग टेबल के शीशे में अपनी नंगी चूत को देखा तो झट से अपने हाथों से अपनी चूत को ढक लिया और बोली- ओह डार्लिंग, क्या कर रहे हो? मुझे शरम आ रही है. सनी देओल की सेक्सफिर सतीश बोला- हम शादी के दिन तेरे लिए बारात तरफ से शामिल होकर आएंगे.

उसने बताया कि लगभग दो महीने पहले घर पर कोई नहीं था तो प्रशान्त ने चोदने की कोशिश की थी लेकिन जैसे ही उसने लंड अन्दर डाला था मैं चीख पड़ी थी और रोने लगी थी. लक्ष्मी सेक्सी वीडियोमैं सारी रात सोचता रहा कि कैसे बताऊंगा, शुरू कहां से करूँगा, कैसे करूँगा.

उस कमरे में एक किंग साइज बेड था, उस पर ही हम तीनों आराम से सो सकते थे.बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर: इस बात को देख कर थोड़ी देर मेम कुछ नहीं बोलीं … फिर बोलीं- वैसे क्या अच्छा लगता है … मेरे फिगर में?अब वो मुझसे बात करने के लिए मेरे बगल में बैठ चुकी थीं.

जब पूरी चूत साफ़ कर दी तो बोली- जाओ, इसे धोकर आओ और शीशे में देखना कि चूत कैसे लगती है.मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और उसका नंगा शरीर सहलाते हुए उसके कपड़े निकाल कर नंगी कर दिया.

संभोग कैसे होता है - बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर

चाची माल छोड़ने के साथ ही चिल्लाए जा रही थीं- ठेल ठेल कर चोद … आह … साले … मार दिया!मैं अपना लंड चाची की पानी छोड़ती हुई चूत में जोर जोर से ठेलने लगा.उनकी अचानक से हुई इस हरकत से मैं थोड़ा घबरा गई और बोली- सर यह आप क्या कह रहे हैं?उन्होंने मुझे बांहों में कसते हुए कहा- गीता, तुझे देख पागल हो जाता हूँ.

बोली- तो बताओ न कि क्या क्या करोगे?मुझे समझ आ गई कि पट्ठी चूत की खुजली से भारी परेशान है और साफ़ साफ़ जानना चाहती है कि मैं इसको चोदूँगा या नहीं. बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर जूस तो पी के जा!यह कहते हुए रिया भाभी ने मुझे हाथ पकड़ कर रोका और उन्होंने मुझे ‘ले, संतरा जूस पी ले.

फिर वो बोली- बहुत समय हो गया है, तुम्हें भूख लग रही होगी, चलो अपना गिलास खाली करते हैं और खाना खा लेते हैं.

बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर?

अब हम लोग सब थक चुके थे, लेकिन सोनाली की चुदाई बाकी थी … तो मैं उसे किस करने लगा और उसकी चूची दबाने लगा. मेरे एक हाथ में हिना भाभी की पेंटी थी, दूसरा हाथ लंड पर लगा था और मेरी नज़रें अर्जुन की तरह मछली की आंख पर लगी थीं. इस सेक्स कहानी के पहले भागपेंटर बाबू: आई लव यू-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने बिस्तर में नंगा उल्टा पड़ा अन्तर्वासना पर गर्मागर्म कहानी पढ़ते हुए बिस्तर को ही चोद रहा था.

माइक ने आगे बताया कि उसने अलग अलग देशों की करीब करीब 200 महिलाओं के साथ संभोग किया होगा. वो मेरे सुपारे को जीभ से चाट रही थी, आंडों को मुँह में लेकर चूसते हुए मुझे काम का पूरा सुख देने में लगी हुई थी. उसने बिल्कुल नयी गुलाबी रंग की ही ब्रा पैंटी पहनी थी जो शायद आज ही पहनने के लिए ही ख़रीदी थी।मैंने उसको गोदी में उठा कर डबलबैड पर लिटा दिया.

फिर कुछ देर बाद उसने मेरे लंड को चड्डी की कैद से आजाद करते हुए हाथ में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने पूछा कि दवाई के कितने पैसे हुए?वो बोली- अब तबियत कैसी है?मैंने कहा- बहुत अच्छी है. दमदार लंड का मालिक अपने सामने नंगी पड़ी मस्त लड़की को देखकर भी संयम रख ले तो उसमें कोई बात है.

पहले तो बोली कि पागल है क्या … फिर मेरे ज़ोर देने पर दीदी बोली- दिलवा तो दूँ, पर ये कैसे होगा?मैंने कहा कि शाम को तुम शॉपिंग जाओ और मुझे घर छोड़ दो. बहुत मस्त फंसी हुई चूत है जब लंड डालोगे तो आप भी मान जाओगे कि मैं क्या मस्त माल लाई हूं आपके लिए!यह कहते हुए नीरू ने मेरा लोअर और अंडरवियर उतार दिया और मेरा लंड पकड़ कर मुंह में लेकर चूसने लगी.

ये सब मेरे लिए भाभी ने भी देर रात तक पढ़ाई की बात कह कर आसान बना दिया.

यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, अगर मुझसे कोई गलती लिखने में हुई हो तो मुझे माफ कर देना। अन्त में अन्तर्वासना की सभी चूतों को मेरे खड़े लंड का सलाम।आप सभी को मेरी कहानी जैसी भी लगी हो, कृपया मुझे मेल करके जरूर बतायें। मैंने अपनी गोपनीयता बनाये रखने के लिए यह दूसरी इमेल आईडी बनाई है।[emailprotected]धन्यवाद.

मैंने उसकी बगल में हाथ ले जा कर उसका दायां वाला स्तन सहलाते हुए पूछा. थोड़ी देर ऐसे ही चिपके रहने के बाद मैंने उसकी पीठ पर हाथ फेरना चालू किया और धीरे धीरे उसकी टी-शर्ट को ऊपर करता गया. उसने बाहर के लिए कदम रखा और वहीं से उसको अपनी गोद में उठाया, वो भी मुझे देख कर बड़े प्यार से लपक कर मुझसे लिपट कर मेरी गोद में चढ़ गई.

सुलेखा भाभी ने मुझे इतनी जोरों से अपनी चुत पर दबा लिया था कि मेरा दम सा घुटने लगा था. मैं- नहीं चाची … आपकी चूत की कसम खा कर कहता हूँ … आपको चोदना नहीं छोडूंगा. मगर पीछे बिस्तर पर मुनीर और तारा एक दूसरे के साथ गुत्थम गुत्था हो रही थी.

तो थोड़ा वह भी आ जाएंगे तो कोई बात नहीं!अंकित ने तुरंत फोन लगाना शुरू कर दिया.

उफ्फ क्या कीमती नगीना है तेरा …”यह कह कर मैंने उसके लंड पर जीभ फेरी तो उसने मेरा सर दबा दिया. उसकी हरकतें बता रही थीं कि वो बहुत ही ज्यादा उत्तेजित और जोश में थी. उससे बातें करके मैं अपने कमरे में आ गयी और सोचने लगी कि यार लड़का तो मुझ पर मरता है, मुझसे मोहब्बत भी करता है, मेरे लिए सब कुछ करता है, मुझे खुश करने के लिए बहाने ढूंढता है.

एक लड़की ने उस लीडर लड़की को मेरी तरफ इशारा करते हुए कहा कि इसके चूचे सबसे ज्यादा सख्त हैं. जैसे कोई करंट आ मेरी नाभि से होकर योनि तक चला गया और मैंने भी माइक के धक्कों के साथ अपनी कमर उचकानी शुरू कर दी. आज घर पर बोल दो कि ऑफिस से लेट आओगी, मैं तुमको किसी से मिलवा दूँगी.

उधर मेरी भाभी चुदासी हो चुकी थीं और बाथरूम से निकल कर अपनी चुदास दिखा रही थीं.

करीब बीस मिनट तक मेरी गांड पे चांटे मारते हुए गांड मरवा के मुझे थोड़ी सी भी शांति नहीं मिली, उलटे चुदवाने की आग और धधक गयी. उधर मेरी उंगली पहले की तरह ही अपना काम जारी रखे हुए थी, उसे मैं कभी आगे पीछे चलाता और कभी गोल गोल घुमाता जा रहा था.

बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर मेरी चूत और गांड दोनों जगह ऐसी आग लगी, ऐसा कुछ हुआ कि बता नहीं सकती. फिर हम लोग मॉल से निकल कर बाहर आये तो मुझे याद आया कि अभी कम्मो को गोलगप्पे खिलवाना तो रह ही गया.

बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर माइक ने खुद को रोका और जितना लिंग अन्दर घुसा था, उतने लिंग से ही मुझे फिर से हल्के हल्के धक्के देने लगा. क्योंकि हर कोई कुछ न कुछ लेकर ही मिलने आता था इसलिए तेरी मौसी खुश रहती थी.

हम दोनों ने हग किया और दो मिनट यूं ही चूमा चाटी के बाद वो मुझसे अलग हो गई.

सेक्सी मूवी बीपी सेक्सी

दोस्तो, मुझे रिप्लाई देकर बताएं कि मेरी इस हिंदी सेक्स स्टोरी के बारे में आपको क्या लगा. माँ सब्जियों में रखे बैंगन और मूलियों को बड़े ही ध्यान से देख रही थी. मैंने सबसे पहले अपनी एक उंगली को उनकी बुर में डाली और अन्दर-बाहर करने लगा.

मैं जा रही हूँ … मम्मी आने वाली होंगी, इसलिए तुम‌ भी‌ अब‌ अपने‌ कपड़े‌ पहन‌ लो. मैं नयी नयी शहर में आयी थी तो मुझे शहर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी. सुशीला कुछ समझे उससे पहले वो मेरे ऊपर झुक चुकी थी और दीपक का लंड उसकी गाण्ड में तीन इंच तक घुस चुका था.

मैं अब वापस अपने कमरे में आ गया और सुलेखा भाभी भी अपने कमरे में चली गईं.

इधर वो मेरे पास सट कर बैठी थीं, जिससे उनकी जांघ मेरी जांघ से सटी हुई थी. हमने बातें शुरू कर दी, हंसी मजाक शुरू हो चुकी थी, मेरी पत्नी मेरे पास बैठी थी बातों बातों में फिर खुलकर बातें होने लगी. नेहा ने रवि से कुछ नहीं कहा, लेकिन उसकी बात से वो कुछ सहमत सी दिखी.

मैं चूमता हुआ उसकी पैंटी को थोड़ा खिसका के उसकी वैस्ट लाइन पे किस करने लगा। फिर मैंने पैंटी के ऊपर से उसकी पुसी पे किस किया तो नीता ज़ोर से कसमसाई. दिल तो हुआ कि जाकर उनके आंसू पोंछ दूँ और अपनी बांहों में ले लूँ, मगर मजबूर था. दूसरी तरफ से रूसी भाषा में आवाज आई तो पता चला कि बोलने वाला उसका कोई बचपन का सहपाठी था.

फिर यूं ही थोड़ी देर चूसते चूसते रुका और मुझसे बोला- क्या मैं आपकी ब्रा खोल दूँ?मैंने हां में बस अपना सर हिलाया, तो उसने मेरी ब्रा खोल दी और वहीं नीचे फेंक दी. उस दिन के बाद से मैं रवि की बहन को उसके सामने ही नंगा करके रोज़ चोद देता.

और साथ में यह भी बोला कि मुझे नीचे सेक्यूरिटी के पास उनके घर का नंबर नहीं बताना है और एक दूसरे घर का नंबर बोलने को बोला. पर उसने एक दिन अपनी बड़ी बहन का जिक्र कर दिया, जिससे मेरे दिल में फिर से उसकी यादें ताजा हो गयी. फिर इसके बाद हम लोगों ने काफी समय तक साथ में घूमने के बाद एक ही रेस्ट हाउस में रहने का विचार किया और हम दोस्तों ने दो कमरे और उन दोनों ने एक कमरा बुक कर लिए.

मैं भी उसके लौड़े को अपने गले तक लेकर अपना मुँह अपने ही बेटे से छिनाल के जैसे चुदवा रही थी.

अंग्रेज से चुद कर वो अंग्रेजी में ही बोली- आई फील लाइक ए न्यू वूमेन. सुशीला- क्या एक ही कमरा?मैं- हाँ …सुशीला गुस्से से- एक ही कमरे में हम तीनों कैसे रहेंगे … पराये मरद के साथ तो मैं नहीं रह सकती. जैसे ही मैंने धक्का मारा, तो भाभी ने भी नीचे से उसी समय अपने कूल्हे उचका कर मेरा साथ दिया.

आते वक्त किसी काम से मैं रुक गया था। शायद मुझे सुसु लगी थी, मैं झाड़ियों में मूतने चला गया. हम दोनों बहनें अक्सर अपने कमरे में एक दूसरी की चूत से चूत रगड़ती थीं.

पूजा की बातों को सुन कर मैंने उसको अपनी गोद में लिटा लिया और दोनों हाथों से उसकी चूची पकड़ कर जैसे आम निचोड़ा जाता है, उसकी एक चूची को दबाने लगा और दूसरी चूची को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा. देवेन्द्र ने मेरे छोटे छोटे निप्पलों को मुँह में भर कर चूसा तो मैं मदहोश, पागल सी होने लगी और मैंने उसके लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया. मैं आप सबको सेक्स क्लब में चुदाई की अपनी रियल स्टोरी बताने जा रही हूं, यह कुछ महीनों पहले की ही बात है.

सेक्सी स्कूल गर्ल सेक्सी वीडियो

मैंने देखा कि उसके बाद भी वो लोग काफी देर तक मम्मी के पास बैठे रहे और बातें करते रहे.

फिर उसने कहा- चूत के अन्दर ऐसे ही डाल दूँ?मैंने अपने सर हां में हिला कर उसे हरी झंडी दिखा दी. हम दोनों को ही अब होश नहीं रह गया था और सुलेखा भाभी की तड़प तो इस चुम्बन से ही प्रतीत हो रही थी. मजाक धीरे-धीरे सेक्स की ओर बढ़ती जा रही थी और मुझे भी माहौल अच्छा लगने लगा.

मैंने भाभी की बुर से लंड निकाल कर उनको उल्टा करके उनकी गांड में लंड डाल दिया. वो मुझे अपने बेडरूम में लेकर गयी और वो सीधे मेरे ऊपर आके मुझे पागलों की तरह किस करने लगी. विडमेट वीडियोमैं- आप नाराज भी हो सकते हैं!धर्मेन्द्र- प्रोमिस बाबा नहीं होऊंगा नाराज, बोलो?मैंने संक्षेप में धर्मेन्द्र को अपनी ख्वाहिश बताई.

खिड़की के उस पार एक साया दिखाई दिया … वो साया मुझे किसी औरत के जैसा लगा. मयूरी- आह… आ… माँ… आह… मुझे बहुत… मजा आ रहा है मेरे बहनचोद भाइयो… तुम मुझे स्वर्ग की सैर करा रहे हो.

मुनीर की टांगें तारा के मुँह की तरफ थीं और चेहरा उसकी योनि की तरफ था. अब हमारे तपते हुए लंडों को चलने के लिए ज्यादा जगह मिल जाने से, हम लंडों को घुमा-घुमा कर अपनी बीवी की गांड में ठूंसने लग गए. दोस्तो, सही बतलाऊं तो सविता का शरीर बिल्कुल सफेद संगमरमर की तरह नीचे से ऊपर तक … सुडौल जांघें … बहुत मस्त बूब्स बिल्कुल गोलाई लिए हुए सेब के आकार के!सविता के कपड़े उतारने के बाद नीरू खुद भी नंगी हो गई और मेरे कपड़े उतार कर मुझे भी बिल्कुल नंगा कर दिया.

ये लोग इतना क्यों हंस रहे हैं?तो उसने भी हंस कर कहा- आज आपके बायोलॉजी का टर्न है ना!मैंने कहा- तो इसमें हंसने की क्या बात है. मेरा मन फिर मोबाइल की ओर गया, तो देखा तारा कैमरे की तरफ खड़ी होकर अपनी योनि मुझे दिखा रही थी. फिर मेरी छुट्टियां खत्म होने को थीं, इसलिए मुझे वापस अपने घर आना पड़ा.

उसने आंखों से कुछ इशारा भी किया और श्यामा उठ कर उस डीवीडी को लिए दूसरे कमरे में चली गई और फिर जल्दी से वापिस भी आ गई.

अब्दुल उधर से जो भी बोले हों, सुनील ने उत्तर में बोला- अरे फोटो भेजने की जरूरत नहीं अब्दुल भाई … आज तक अपन ने जितने भी आइटम बुलवाए हैं … उनमें से सबसे टॉप की है. सतीश बोला- तेरी चूत बहुत गर्म है … ऐसा क्यों?मैं बोली- मुझे नहीं पता है कि क्यों चूत इतनी ज्यादा गर्म रहती है.

बिल्कुल कोरे कागज सी सफेद उसकी गोरी गोरी व बड़ी बड़ी चूचियां और उन पर किशमिश के दाने के जैसे गुलाबी निप्पल को देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया था. एक शनिवार के दिन मैंने छुट्टी ली हुई थी और घर बैठे आराम करने का मन बनाया था. मैं डैड की बात भी नहीं टाल सकता था क्योंकि भाभी इस हालत में नहीं थीं और अगर वे जाने की बात करतीं, तो डैड को अच्छा नहीं लगता.

मैंने इतना सुनते ही अपना लंड अपने पजामे से निकाल कर उसके हाथ में दे दिया. मेरी सुन्दर, ब्लोंड पत्नि खड़ी हो गई और बड़ी खिड़की के सामने खड़ी होकर स्ट्रिपटीज़ डांस करने लगी. थोड़ी देर ऐसे ही चिपके रहने के बाद मैंने उसकी पीठ पर हाथ फेरना चालू किया और धीरे धीरे उसकी टी-शर्ट को ऊपर करता गया.

बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर अब धीरे धीरे मैं उसे चोदना चाहता था पर मौका नहीं मिल रहा था, पर वो घड़ी आ ही गई, जिसका मुझे बेसब्री से इन्तजार था. आज मैंने उससे कहा तो उसने कहा- आज तुम अपना लंड मेरी चुत में धीरे से अन्दर डालना.

इनका चोपड़ा का सेक्सी फिल्म

अब तो इतना खुला खेल चलने लगा था कि मैं नेहा को रवि के सामने ही चादर के अन्दर चोद देता और रवि को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था कि मैं नेहा को चोद रहा हूँ. मुनीर हम हिंदुस्तानी औरतों से कुछ ज्यादा अलग नहीं थी, केवल उसकी शक्ल चीनी लोगों की तरह थी. मैंने भाभी के ऊपर आकर अपने लम्बे लंड को उनकी बुर की फांकों पर रखा और एक धक्का दे मारा.

नीचे वाले अंकल ने अपनी जीभ मेरी चूत में जोर से घुसा दी तो मेरे मुँह से अपने आप ऊंहहह की आवाज निकल गई और मुँह खुल गया, उसी वक्त उन अंकल ने अपना लौड़ा मेरे मुँह में अन्दर डाल दिया. मैंने उनकी चूत को किस किया और उनकी चूत को जीभ से ऊपर से नीचे तक चाटा. మరాఠీ సెక్స్तो हिमांशु ने हाथ बढ़ाया, दोनों ने साथ मिलाकर आपस में में ताली ठोकी और कहा- यार हम दोनों बहुत लकी लड़के हैं, जो हीरोइन से भी सुंदर एक लड़की हमसे वो चुदवाने आई है.

इतना काम करने के बीच में हम दोनों ने एक दूसरे से एक भी शब्द नहीं बोला था.

पहला सेमेस्टर जल्द ही खत्म हो गया और मुझे हर सबजेक्ट में बढ़िया मार्क्स मिले थे, सिवाय बायोलॉजी, जिसके वजह से मेरे रिजल्ट बिगड़ गया था. थोड़ा चाटने के बाद बोली- कितनी गीली हो चुकी है तुम्हारी योनि, भीतर से पानी रिस रहा है, अब समझ आया कि मर्द क्यों तुम्हें चाहते हैं.

मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाल लिया और अपना सारा माल उसके ऊपर ही गिरा दिया. तारा माइक के सीने को चूमती हुई नीचे झुक गयी और घुटनों के बल बैठ कर माइक के लिंग को उसके पैंट के ऊपर से ही चूमने और सहलाने लगी. उसने मुझसे पूछा- भाई बताओ … मेरी गलती कहां थी, मैंने तो खाने के बारे में पूछा था.

शीतल- अच्छा…मयूरी- अच्छा माँ?शीतल- हाँ?मयूरी- एक बात पूछूं?शीतल- हाँ पूछो.

पर उसने पहली बार किसी हिंदुस्तानी लड़की के साथ संभोग किया और उसे बहुत फर्क लगा. तो राज अंकल बोले- सोनू तुम तो बहुत गर्म हो चुकी हो तुम्हारी चूत बह रही है. लगातार एक करंट सी मेरी योनि से होता हुआ बच्चेदानी के रास्ते मेरी नाभि तक जा रहा था.

सेक्सी पतिवो अपने हाथों से मेरा लंड सहला रही थी और मैं उसके मम्मों को चूस रहा था. मैंने दिमाग लगाया और एक नए सिम कार्ड से उस नम्बर से व्हाट्सअप शुरू किया और उसे हाय कहकर भेजा.

व्यापार सेक्सी वीडियो

तो मैंने उससे पूछा- पहले चूत और गांड किससे मरवाई थी?कविता ने घबरा कर मेरी तरफ देखा और बोली- आपके बड़े भाई से. वो आइसक्रीम खा रही थी तो मैंने सोचा कि अगर ये मिल गयी तो इसे लंड भी ऐसे ही चुसवाऊँगा।तभी मेरे दोस्त आ गये और बोले- यार हमें तो बस दारू पीनी है, हमारी पार्टी कहाँ है?मैं उनको बाहर ले गया और बोतलें दी. चूत की सुराख में ऊपर से ही मेरी चूत की जो क्लिट है, उस पर वो अपनी जीभ को जोर जोर से अन्दर बाहर करके रगड़ने लगा.

अधीर हुए दीमा ने नताशा की गांड से निकाल कर उंगली उसके मुंह के सामने की तो मेरी छरहरे बदन वाली ब्लॉन्ड पत्नी ने उसे पूरा चाट दिया!फिर दीमा वापस अपनी सोफ चेयर पर लौट आया. वो बोली- मेरे पास ब्रा की दुकान नहीं है … जो मैं बदल बदल कर पहन लूँगी … अब तुम्हें ही बाजार जाकर मेरे लिए ब्रा लानी होगी. मैंने ऑनलाइन एक हॉट पेंट सफ़ेद रंग की मंगवाई थी, वो और एक लाल रंग का टॉप बिल्कुल पतले कपड़े का.

तो मेरी मम्मी ने कहा- दीदी नहीं हैं, ये तो तेरी दीदी की सास किरण जी हैं. मैंने स्टीव को कहा- आ जा, मेरी बीवी की फूल जैसी चूत को स्वीकार कर और अपने लंड से इसका भेदन कर. जीजू अगले दिन चले गए और उसके बाद हम दोनों लोग आज तक संपर्क में हैं.

उसने शहद की बोतल लेकर मेरे लंड पर शहद डाला और मेरा लंड लॉलीपॉप जैसे चूसने लगी. फिर उसने अपनी अंडरवियर निकाली और अपना बड़ा सा लंड मेरी चूत पर सैट किया और सीधा मेरे ऊपर आ गया.

उस दिन मेरा दिल नहीं लग रहा था इसलिये मुझे खाना खाने की भी इच्छा नहीं हो रही थी.

मैं अपने घर बाथरूम में अक्सर अपनी नंगी जवानी देख, अपने स्तनों को दबाती सहलाती रोंएदार चूत के गुलाबी होंठों को छेड़ लेती. ओपन सेक्सी हीरोइनजैसे ही मेरा काम होने वाला होता, मैं रुक जाता और उनको चूमने लग जाता. देवर भाभी सेक्सी रोमांसएक दिन मुझे किसी काम से लखनऊ जाना था तो मैं घर के पास से स्टेशन जाने के लिए एक टेम्पो में बैठा. मुझे अब मज़ा आने लगा था, मैंने कहा- और जोर से मेरे राज़ा … फाड़ दो इस चूत को.

रेवती को आराम देने के मकसद से मैं अब रेवती के ऊपर लंड को उसकी चूत में डाले हुए ही लेट गया और उसके होंठों को चूमने लगा.

तब उन्होंने लंड को थूक से गीला किया और उंगलियों से चूत की फांकों को फैला कर अपना सुपाड़ा सैट कर दिया, फिर मेरे दोनों कंधों पर हाथ टिकाए, मेरे होंठ मुँह में भर सर ने झटका दे मारा. कॉफी खत्म होने के साथ ही मैंने उससे बोला- आओ मैं तुम्हें अपना बेडरूम दिखा दूँ. बेबी बोली- ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि क्योंकि मैंने अपने अन्दर अभी तक इतना बड़ा नहीं लिया था.

यह देख कर वो बोली- मुझे पता था कि तुमको जब चूत का असली मज़ा मिलेगा तो तुम्हारी यही हालत होगी. सही मौका जानकर मैंने अब धीरे अपने दोनों हाथों को उसके उसके लोवर व पेंटी में फंसा लिया और दोनों को ही एक साथ पकड़ कर उतारने लगा. ठरक में तैरते इंसान के मुँह के आगे एक गर्मागर्म लौड़ा हो तो क्यों ना वो आगे होकर उस गर्म लौड़े को मुँह में चूसने लगेगा! मेरा भी वही हाल था, मैंने छोटे के बड़े से लौड़े को मेरे मुँह के सीमित गतिविधि करते हुए चूसना शुरू कर दिया.

सेक्सी लंड दिखाएं

ये बात रिया भाभी ने अपनी चूत दिखाते हुए सभी के सामने बिंदास कही, जिसे सुनकर मयूरी भाभी भी हंस पड़ीं और उन्होंने कहा- गांडू को झांटें वाली चूत पसंद है, वाह. मैंने देखा कि वहीं पर भाभी की दो सहेलियां मयूरी और एकता भी बैठी थीं. मैंने तभी आंटी की चूत में, एक साथ दो उंगली डाल दीं और जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

मैं बोला- इसमें थैंक्स क्यों … आप हो ही सुन्दर, जिसे देख कर किसी के भी मुँह से तारीफ निकल जाए.

मैंने अपना चेहरा उसकी चूत पर झुकाया और एक लम्बी साँस भर कर वहां की सुगंध ली.

फिर मेरे मन में मेरी माँ के ही ख्याल आना शुरू हो गए क्योंकि उसमें जिस तरह की औरत का ज़िक्र किया गया था, मेरी माँ बिल्कुल वैसी ही थी. हम दोनों लोग सेक्स करते करते अब चरम पर आ गए थे और हम दोनों का पानी निकलने को होने लगा था. आलिया के सेक्सउधर मेरे पिछवाड़े में समाली अंकल ने आकर, मेरे कूल्हों को अपने हाथों से पकड़ा और सहलाने लगे.

वो बेबी को मुझसे लेकर बेड पर जाकर शर्ट के ऊपर से ही दूध पिलाने लगी. मैंने कहा- मैं क्यों?उसने कहा- क्योंकि मैं आपसे मोहब्बत करता हूँ ना. हम वैसे ही वहीं ढेर हो गये। मैं … मेरे ऊपर सुशीला … उसके ऊपर दीपक!थोडी देर बाद मैं बोला- उठ मादरचोद साली रंडी … अच्छा गद्दा पाया है। मैं नीचे दब रहा हूँ।दीपक ने आहिस्ते से लंड को निकाला सुशीला की गाण्ड से और ढेर हो गया बेड पर … बोला- साली मेरी कमसिन नर्सों से तो ज्यादा ये साली गर्म है.

तभी भाभी ने मेरा बाजू पकड़ कर अपनी ओर खींचा, मैं उनके ऊपर ही गिर पड़ा और फिर से पहले वाले काम में जुट गया. मयूरी- माँ… बात को समझो… वो दोनों भी आपको चोदना चाहते हैं… घर की बात घर में रहेगी बस… पापा तो दिन भर बाहर रहते हैं… किसी को कुछ पता नहीं चलेगा कभी… और अगर पापा को पता चल भी गया किसी तरह से तो वो क्या कर सकते हैं… किसी को बाहर बता तो सकते नहीं… वैसे उनको कभी पता ही नहीं चलेगा… कुछ नहीं होगा माँ!शीतल- नहीं मयूरी… तेरे पापा को अगर पता चल गया तो गज़ब हो जायेगा.

फोन का कैरी बैग और सामान के बैग कम्मो ने पिछली सीट पर रख दिए और मुझसे सट कर बैठ गयी और मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया.

सुशीला- इसका मासिक दो महीने से बंद है।दीपक- ठीक है, इसकी मैं कुछ जांच करता हूँ. बस दोनों ने एक साथ बड़ी जोर से ताकत से मेरी गांड में और चूत में लंड का धक्का मारा और पूरी ताकत से अपने लंड घुसाने लगे. मेरा भी अब मन कर रहा है, किसी और से चुदवाने का … लेकिन मुझे डर है कि कहीं किसी ने मुझे पहचान लिया तो क्या होगा?रीना बोली- इसकी टेंशन ना ले तू … तुझे कोई भी नहीं पहचानेगा.

सेक्सी वीडियो भेज दीजिए वो खुद को अलग करना चाहता था, पर मैंने अपनी पहाड़ियों को उसके चौड़े सीने से चिपका दिया. अब मौका देख मेरी पत्नी ने मेरा लंड अपनी चूत से बाहर खींचा और नीरू को बेड के कोने पर डॉगी स्टाइल में बेड के कोने पर झुकने को कहा.

चूतड़ों के गुंदाज मांस को मुठ्ठी में भर पकड़ कर धक्के लगाने शुरू कर दिए. यही सब सोचते हुए मैं बेबी के पास गया, जहां वो कुछ लड़कियों के साथ बातें कर रही थी. चाची अपने दोनों हाथों से चाचा के चूतड़ों को पकड़ कर जोर जोर से भींचने लगीं.

सेक्सी ब्लू फिल्म मुंबई की

इसी लिए मैं आप से प्यार करती हूँ।मैं बोला- नीता, मैं भी तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और आज तुम्हें बहुत प्यार करना चाहता हूँ।वो बोली- मैं तो आपकी ही हूँ जी! जो चाहे … करो … मैं तो तुम्हें दिल से अपना मान चुकी हूँ. तब राज अंकल बोले- फोन लगा शायद बात बन जाए, उनको भी क्या है, जब 65 साल के हैं. क्योंकि मुझे बायोलॉजी में बहुत ही कम मार्क्स मिले थे, जिसकी वजह से मेरे ओवरआल परसेंटेज ज्यादा नहीं आए थे.

उसकी रोकने की हालत थी ही नहीं … मैं बस चूत के ऊपर का दाना सहलाता रहा और वो झड़ गई. माइक ने अपना हल्का वजन तारा के ऊपर रख दिया और दोनों हाथों के बल झुक तारा की टांगों के बीच योनि के और करीब हो गया.

अशोक द्वारा घर के सभी लोगों के आपसी चुदाई के रिश्तों का पर्दाफाश करने के बाद सब सदमे में थे.

नहीं मेरा दिल नहीं लगता गांव में, इसलिये मैं नहीं गयी, मम्मी तुम्हें डॉक्टर से दवा ले आने के लिये कह रही हैं. तीन चार बार कोशिश करने के बाद जब प्रिया ने कोई जवाब नहीं दिया तो थक कर मैं वापस अपने कमरे में आ गया. अपनी लिपस्टिक वगैरह सब लगाकर, जिनकी शादी हो रही थी … उन दीदी का परफ्यूम भी लगा लिया और जल्दी तैयार होकर बाहर आ गई.

उसकी आँखें बंद हो गयी थी और मुँह से आह आह की आवाज़ निकल रही थी।तभी वो आंखें बंद किये ही बोली- सुनो जी, तुम अंदर ही करना! मैं तुम्हें पूरी तरह पाना चाहती हूँ आज की रात … क्या पता इसके बाद ये मौका न मिले।इतना सुनते ही मेरी एक्साईटमेंट भी चरम पे पहुँच गयी और मैं उसे लव यू बोलता हुआ तेज़ी से चोदने लगा. जब उन्होंने मेरे लंड को देखा तो कहा- ओह्ह … ये कितना बड़ा लंड है … इतना बड़ा लंड मैंने आज तक नहीं देखा. महेश ने बोला- फिर अब्दुल और रमीज दोनों आएंगे, कह दो अगर खाली हों, तो आ जाएं … अपन ने पहले ही उनको बोल दिया था कि कनका से माल बुलाया है.

मैं उस टाइम एम बी बी एस की पढ़ाई भी कर रहा था और घर पर ही 11 वीं और 12 वीं क्लास के स्टूडेंट्स को टयूशन भी देता था.

बीएफ पिक्चर भेजिए बीएफ पिक्चर: मैंने उस पर भरोसा करके उसे आपके प्रेग्नेंट होने की पूरी बात न बताते हुए, एक इशारे में समझाई, लेकिन उसने वो बात मॉम को बता दी. फिर उसकी आंखें अपनी नग्नी सुन्दरता को देखकर चमक उठीं और वो शरमाना छोड़ धीरे धीरे मुस्कुराने लगी.

नाभि में मेरी नुकीली जीभ के स्पर्श से वो एकदम से चिहुंक उठी और अपने दोनों हाथ से मेरे सिर को पकड़ लिया. हम सेक्स में अलग अलग खेल खेलते, लेकिन सेक्स में ज्यादा से ज्यादा मैं अपना लंड उसकी चूत पर रख कर रगड़ता था, अन्दर नहीं डालता था. तभी मेरे दिल में प्रिया का ख्याल आ गया, रंग के मामले में तो दोनों बहनें समान ही थीं मगर नेहा की चूचियां प्रिया से काफी बड़ी, भरी हुई और मस्त थीं‌.

पर आज ईश्वर ने ये मौका दिया है… चलो… दोनों भाई पक्का बहनचोद बन जाते हैं… और उसकी चूत के चीथड़े उड़ाते हैं.

मेरी जेठानी, देवरानी और ननद भी अभी तक प्यासी हैं, जब उन्हें मैं बताऊँगी कि तुम तो बहुत बड़े वाले चोदू इंसान हो. सब कान खोल कर सुन लो, जो मैं करने के लिए बोलूं, वो उसी वक़्त होना चाहिए. फिर बोला कि जो सच था वो मैंने बोला कि आप बहुत अच्छी है आपके पति बहुत अच्छे हैं.