सेक्स की बीएफ

छवि स्रोत,चलने वाला वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एन बीएफ: सेक्स की बीएफ, इतना कहते हुए मैंने अलका को अपने लंड पर झुका दिया और अलका को लंड चूसने का इशारा किया.

हिंदी बीएफ एचडी सेक्सी फिल्म

वो इस वक्त इतनी गर्म हो गई थी कि उसने अपने नाख़ून मेरे बदन पर गड़ा दिए और एक लंबी आह … के साथ वो झड़ कर मेरी बांहों में सिमट कर रह गयी. बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदीफिर हम खाना खाकर बर्तन साफ करने लगे और वो चारों सोफे पर बैठकर टीवी देखती रहीं.

अंकल बोले- चलो अब तुम मेरे कपड़े उतार दो और मैं तुम्हारे कपड़े उतारता हूँ. ब्लू फिल्म देसी बीएफउसने मुझसे कहा- मैं भी यहां क्या करूंगा? मैं भी आपके साथ किचन में ही चलता हूं.

फिर मैं तेरे होंठ से होंठ लगाऊंगा और तू शैम्पेन मेरे मुंह में टपका दियो.सेक्स की बीएफ: उसने पूरा लंड अन्दर किया और मुझे चूमते हुए मेरी चूचियों को मसलने लगा.

उस दिन मैंने अपने मोटे और लम्बे लंड से इस कदर चुदाई की थी कि उसकी चुत फट कर गड्डा बन गई थी.मैंने भी वहां ज्यादा देर रुकना सही नहीं समझा और गाड़ी को फिर से एक्सप्रेस-वे पर डाल दिया.

कुत्ता आदमी का बीएफ - सेक्स की बीएफ

फिर स्वीटी आंटी ने मुझे पीछे से मेरे कमर से होती हुई मेरे छाती पर हाथ रखा दिया और जोरों से मुझे थाम लिया.मैं चिल्ला रही थी, पर वो और ज़ोर ज़ोर से लंड को मेरी कोमल सी गांड में घुसाए जा रहे थे.

मैं भी यही सोच कर वहां उसे अपना पल्लू इधर उधर कर अपने चूचों के नजारे दिखाती रहती थी कि ये मुझे पकड़ कर बेरहमी से चोद दे और मुझे संतुष्टि मिल जाए. सेक्स की बीएफ मैंने उनकी गांड ज़ोर से दबा दी, तो उन्होंने हाथ पीछे करके मेरे लंड को पकड़ लिया और लंड को बड़ी बेदर्दी से हिलाने लगीं.

मैंने भी हँस कर जवाब दिया- अगर पहले मिली होती तो शायद में ही तुम्हारा दोस्त बन चुका होता, वो भी अच्छे वाला.

सेक्स की बीएफ?

वो मुझे देख कर मुस्कुराई और अपनी साड़ी के ऊपर से अपनी चूत दबा कर बोली- बहुत दुख रही है. अब आगे:अब दूसरे दिन मेरा भाई आदी घर पर ही था, तब उसका दोस्त राहुल आया. फिर वो खनखनाती हंसी से बोली- अरे आप तो जा रहे थे न अपने घर … जाइए न … चलिए मैं भी चलती हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उससे कहा- अब आप सीधे हो जाइए और अपनी पैंटी उतार दीजिए. मैं नीचे लेट गया, वो मेरे ऊपर आ गई और धीरे-धीरे मेरे लंड पर बैठने लगी. रेड लिंगरी स्टाइल ब्रा पेंटी में परमीत को देखकर सभी के लंड में भयानक तनाव आ गया.

मैंने लण्ड निकला और उसको कुतिया बना दिया और उसका सर नर्म पिलो पर दबा दिया. फिर भी तुम कुछ नहीं कर रहे? कहीं तुम्हें मुझसे प्यार तो नहीं हो गया?मैंने उसे कुछ नहीं कहा. चूत की चुसाई करते हुए मैंने उसकी गांड के छेद को भी सहलाना शुरू कर दिया.

मैंने एक बार मुस्कान को थोड़ा ऊपर उठाया और फिर दुबारा उसे अपने लंड पर बिठा लिया जिससे मेरा लौड़ा अच्छे से दुबारा उसकी गांड में चला गया।सीमा ने मोनू को इशारा किया और मोनू के लंड को भी अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. फिर उसने एक उंगली से मेरी योनि को सहलाया मेरी साड़ी हाथों से छूट गयी.

अब मैंने अपना लंड सीमा की चूत में डाला और सतीश ने उसकी गांड में!जैसे ही हमने सीमा की चूत और गांड में अपने लौड़ों से झटके लगाना शुरू किया तो सीमा बोली- अह सी सी … रवि अब बिना रुके मेरी चूत और गांड की बहन चोद दो सालो! अब मुझे बहुत मज़ा लेना है.

आह … ह … ह … ह … ह … !!!”वसुंधरा सिहर उठी जैसे करंट की कोई लहर वसुंधरा के जिस्म में से गुजर गयी हो.

मेरी कहानी के बारे में सभी पाठक अपने विचार और इच्छाएँ मुझे मेल कर सकते हैं. ऊपर से मेरे मुंह में उसकी चूचियां थीं और नीचे से उसकी चूत पर मेरा हाथ था. उसके लंड का छेद भी बड़ा सा खुला हुआ था, जिस पर मैंने जीभ की नोक फिराई.

इसके बाद उसके दोनों हाथ साइड में बांध कर उसके ऊपर बैठ गई और उसे किस करने लगी. उनके दूध से भी सफेद गोरे गोरे चूचे जो क्लीवेज में दिख रहे थे, देख कर मेरा तो दिल ज़ोर ज़ोर से धड़‍कने लगा. अब उसके चुचे मेरी साइड से दब रहे थे, जिस कारण मेरा लंड फिर खड़ा हो गया.

अब मैंने अपना लंड सीमा की चूत में डाला और सतीश ने उसकी गांड में!जैसे ही हमने सीमा की चूत और गांड में अपने लौड़ों से झटके लगाना शुरू किया तो सीमा बोली- अह सी सी … रवि अब बिना रुके मेरी चूत और गांड की बहन चोद दो सालो! अब मुझे बहुत मज़ा लेना है.

वो चुदाई की मस्ती से फारिग होकर मेरे और नीतू की तरफ देख कर शर्मा गयी और अपना चेहरा हाथों में छुपा लिया. और उनकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया जिससे चाची की चूत और उभर के ऊपर आ गई. मैं धीरे धीरे से उनकी पैंटी नीचे लाने लगा और मेरे सामने उनकी शेव की हुई चूत आने लगी.

‌आशना- क्यों अब क्या करना है? चुदने दोगे तुम मुझे या नहीं?‌अजहर- यार मैं कुछ अलग करने की सोच रहा हूँ. न चाहते हुए भी मैंने हम दोनों का खाना पैक किया … और उनके घर चली गई. मुस्कान के मुख से मजेदार सिसकारियाँ निकल रही थी- उफ्फ … उई अह्ह्ह्ह अ … हह अहह … सी … सी मज़ा आ रहा है!और वो बहुत जोर जोर से सिसक भी रही थी.

मेरे शरीर में सनसनाहट होने लगी और मैं सोचने लगी कि मैं कैसे नंगी होकर खेत में झुकी हुई थी.

मैंने कहा- मेरी फ्रेंड तैयार है, आप लोग उसके साथ पार्टी कर लीजिये। मुझे जरूरी काम है, मैं जा रही हूँ।वो दोनों लड़के तन्वी को घूर के देखने लगे. वो पंजाबन लड़की कम्पनी से वापस जाने के लिए बस का इंतज़ार कर रही थी.

सेक्स की बीएफ नताशा भी चुदने के लिए पूरी तरह से मूड में थी, इसलिए उसको इसका कोई असर नहीं हुआ. कुछ ही देर में मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया, जिसको उसने थोड़े विरोध के बाद सहलाना शुरू कर दिया.

सेक्स की बीएफ एक फिल्म एक्ट्रेस सी लड़की जब खुद ही चुदने को कह रही हो, तो आप समझो कि लड़के पर क्या बीतती है. बाबू क्या चूची पीते हैं … पूरी की पूरी चूची मुँह में घुसेड़ कर चूस रहे थे.

मुझे तो अब खुद ही कपड़ों से परेशानी होने लगी थी, सो मैंने कपड़े निकाल कर सोफे पर रख दिए.

ஆண்டிமுலை

मैं आपका दोस्त संजू आर्यन, एक बार फिर से एक नई और सच्ची चुदाई की कहानी के साथ हाजिर हूं. उसने एक भी बूँद नीचे नहीं गिरने दी बल्कि राजन के लंड को चाट कर साफ़ कर दिया. बीच बीच में ही मैं उनकी चूत में उंगली करता रहा और अपनी जीभ से उनकी चूत को चोदता रहा.

मैंने झुक कर बहुत नरमी से वसुंधरा के तने हुए बायें निप्पल को अपनी जीभ से छुआ. कुणाल ने अब उसके दोनों मम्मों को जोर जोर से मसलना शुरू किया और धक्के भी बढ़ा दिए. ये बोलकर वो चली गयी।फिर अगले दिन भी हम दोनों मौका देखकर स्टोर रूम में चली गयी.

यहां पर मैं अपनी निजी जानकारी नहीं दे पाऊंगा लेकिन अपने जीवन के बारे में कुछ विचार और एक घटना साझा करना चाहूंगा.

राज से प्रीति के बारे में पूछता रहता था तो राज बोलता था कि प्रीति एकदम सही है और अपनी पढ़ाई में लगी रहती है. परमीत के शरीर पर तो कम ही कपड़े थे, फिर भी संजय ने उन्हें उतरवा कर ब्रा पेंटी में ला दिया. बाइसेप्स और ट्राइसेप्स करने के दौरान उसने लगातार अपना लंड उस लड़की की गांड पर सटाये रखा.

परमीत उन सबके शोरगुल के बीच कुछ बता पाने में फ्री महसूस नहीं कर रही थी. दोस्तो, कैसे हो आप सब लोग!आपने मेरी पिछली कहानीदो जवान बहनें और साथ में भाभीपढ़ी होंगी. दोस्तो, मेरी पिछली कहानीमेरी फ़ुफ़ेरी बहन की शादीसे आगे इस सेक्स कहानी का मजा लीजिए.

मैंने उनकी एक चूची के निप्पल को अपनी दो उंगलियों में दबाते हुए जोर से मसल दिया, जिससे चाची के मुँह से कराह निकल गई और उनका मुँह खुल गया. उसका सोया हुआ लंड जो फ्रेंची और लंगोट के नीचे था, उसकी शेप किसी 6 इंच के मीडियम साइज के लम्बे बैंगन के समान एक तरफ निकली हुई दिखाई दे रही थी.

जीजा जी- क्या हुआ साले साहब अपनी दीदी की याद आ गई?मैंने मजाक करते हुए कहा- मेरे पास आपकी बहन चुदने को बेकरार है. अंशी (मेरी गर्लफ्रेंड) की सहेली को हमारे बारे में सब पता था कि हम दोनों चुदाई करते हैं. मुझे किसी तरह से भैया को भी दो तीन दिन के लिए घर से दूर रखने का प्लान बनाना था.

तभी उनकी नज़र शीशे पर पड़ी जिसमें मेरे चेहरा थोड़ा सा दिखाई दे रहा था.

दोस्तो, मैं मुस्कान अपनी एक नई कहानी के साथ एक बार फिर से आप लोगों के सामने पेश हूँ।मेरी पिछली कहानीजवान लड़की की सेक्स कहानीआप लोगों ने बहुत पसंद किया उसके लिए आप लोगों का धन्यवाद।मुझे आप लोगों के बहुत सारे मेल मिले. ये सोचकर मैं जैसे ही फ्लैट पहुंचा, तो देखता हूँ कि दूध वाला रोहित भी अभी तुरंत दूध लेकर आया था. ऐसी ही जंग, जिसमें परमीत ने चुनौती देते हुए प्रतिद्वंदियों से अपना लोहा मनवाया.

तभी संजय ने परमीत का हाथ पकड़ लिया और कहा- अरे यार, तुम कब से पुराने ख्यालातों वाली बन गईं. यहां तक कि मैं एक बार 2 महीने की प्रेग्नेंट भी हो गई थी, फिर मैंने अबॉर्शन करा लिया था।जब मेरा कॉलेज टाइम खत्म हुआ तो मम्मी पापा ने फिर मेरी शादी कर दी.

इसमें आप जानेंगे कि कैसे भाभी का अपने मकान मालिक से सेक्स का रिश्ता शुरू हुआ. वो बोला- साली बड़ी मस्त चुदाई करती है … चल अब कुतिया बन जा और पीछे से ले. उधर अक्षय ने उठकर सरीना को वही घोड़ी बनाकर उसकी चूत में लन्ड डाल दिया और जोर जोर से झटके देने लगा.

हिंदी सेक्सी वीडियो गांव की औरतों की

रजत के लंड का सुपारा कत्थई रंग का हो चुका था और उसका भयानक स्वरूप देखकर ही मेरी गांड फटने लगी थी.

उसके बाद सुहास मेरी साड़ी से बाहर आ गया और अब उसने मेरे सीने से मेरा पल्लू गिरा दिया. ??मेरी मासूम आवाज पर सब हंस पड़े और परमीत कहने लगी- नहीं जानेमन, वो तो सिर्फ बच्चों का खेल था … जवानी का खेल हो और दर्द ना हो तो मजा ही क्या!उसकी बातों से सभी सहमत और अवगत थे … क्योंकि दीदी तो पुरानी खिलाड़ी थी हीं और परमीत ने कल रात मजा चख लिया था. उसके मम्मों के ऊपर डार्क काले कड़क निप्पल उन पर चार चांद लगा रहे थे.

फूफा जी, अब चोदिये न!” आखिर जब उसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो सोनम ने कहा. हमारे पैरों की तरफ़ प्रियंका और मोनू भी आपस में किस करते हुए सुस्ताने लगे. बीएफ हिंदी जंगल वालीमुझे इतना मजा आ रहा था कि पूछो मत!प्रीति बड़बड़ाते हुए कह रही थी- आह आह … राआजा चोद कर फाड़ दो अपनी इस कुतिया चूत को! आह आंआंआं चोओदो अंह!मैं बहुत बुरी तरह से प्रीति की चुदाई में डूबा था.

ममता उठी और वाशरूम में जाकर कुल्ला कर के आई और फ्रॉक पहन कर बोली- मैं कॉफ़ी बना कर लाती हूं. उफ्फ्फ … वो अहसास आज भी जिन्दा है मेरे जहन में!”मैंने उसकी पैंट के बटन खोल दिए और पीछे हाथ डाल कर पैंटी के ऊपर से उसके चूतड़ों को मसलने लगा.

कुछ समय बाद उसकी आंख खुली और मेरा हाथ अपनी जांघों पर देखा, पर वो कुछ ना बोली. इस अवस्था में लंड की रगड़ से मुझे ज्यादा सुकून प्राप्त हो रहा था और मैं अपने हिसाब से स्पीड का गेयर भी चेंज कर सकती थी. जिससे उनके मजेदार चुचे, सेक्सी पेट और कमर मुझ पर महसूस होने शुरू हो गए.

मेरे मुँह से निकला- अरे आप!इतना कहकर जोर से बाथरूम की ओर भागी और तुरंत ही तौलिया लपेट लिया. लेकिन उसकी कसमसाहट इतनी अधिक थी कि यदि मैं उसको जकड़े हुए न होता, तो वो मुझसे छूट जाती. उस वक्त मैं सिर्फ़ फ्रेंची पहने हुए लेटा था और अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़ रहा था.

संजय ने फिर बात सुधारते हुए कहा- ये जिगोलो रजत है और ये उसका साथी जिगोलो हसन है.

दो मिनट ही हुए थे कि भैया ने मेरे मुंह से लंड को निकाल दिया और दिव्या को झुकाने लगे. ”चल बैठ!” और मुझे बाइक पे बिठा के वो मेरे पीछे बैठ गया।बाइक चल पड़ी और पीछे वाले ने मेरी चूचियाँ पकड़ ली और दबाने लगा।भाई, आज तो मस्त चीज़ हाथ लगी है.

मुझे अब ऐसा लग रहा था कि मेरा लोन पास हो गया है और मुझे जल्दी ही मार्जिन मनी जमा करनी है. ’जैसी मेरी लंबी चीख से हाल गूंज उठा, पर रजत की बेरहमी पर कोई बदलाव नहीं आया. ऋतु दीदी की उजले रंग की ब्रा और ब्लू कलर की पैंटी मुझे साफ दिख रही थी.

विशाल ने मुझे मेरी कमर से पकड़ लिया था इसलिए उसकी पकड़ से छूट पाना काफी मुश्किल था. करीब पांच मिनट बाद मैंने दीदी को घुमाकर उनकी ब्रा को निकाल दिया और दीदी के कातिलाना मम्मों को पीछे से दबाने लगा, जिससे दीदी सीत्कार करने लगीं. कह कर सिल्क ने मेरे होंठों से अपना होंठ जोड़ दिया और फिर एक लम्बा स्मूच!और यह शुरुआत थी एक नए सफर की … एक नए शरीर के मिलन की!मेरे हाथ उसके गुंदाज चूतड़ों या यह कहिये कि गांड पे आ गए उसको जोर से मसल दिया.

सेक्स की बीएफ तो देखने सुनने दो, इसमें क्या है?अविनाश- आलिया रहने दो, यह अभी तुम्हारी बात नहीं मानेंगे. धीरे धीरे मैं उससे चिपकने लगा तो उसने करवट ले ली। मैंने उसके बाल हटा के उसकी पीठ पर किश किया और कान पे भी!वो गर्म होने लगी.

लो बीपी ट्रीटमेंट

बस यहां कुछ देर के लिए रुकेगी।मेरी तो चूत में पेशाब भरा पड़ा था, बस रुकते ही मैं मुकेश को देखते हुए झट से नीचे उतर गई और ढाबे वाले टॉयलेट पूछा. यूँ कहना चाहिए कि चुदाई के लिए रानी के मुंह में भर भर के पानी आ रहा था. और वो कुतिया मुझे छेड़े ही जा रही थी- क्या कर रही थीं गीत डार्लिंग … ज्यादा थक गई हो क्या?ऐसे ऐसे कई दो अर्थी बातों से वो मुझे परेशान कर रही थी.

मैंने उस लड़के से कहा- ये आप क्या बकवास बातें कर रहे हो!इतना कहते ही उसने मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. संजू जैसे जैसे नीरज के लंड पर उछलती, उसकी चुचियां ऊपर नीचे हिल रही थी और उसकी गांड भी ऊपर नीचे हिलते हुए मस्त लग रही थी. सेक्सी बीएफ चुदाई ब्लू फिल्ममिताली- अह … साले … और कितना तड़पाओगे … ये हथौड़े जैसा लंड घुसा कर फाड़ दो मेरी चूत को … आह!उसी पल मैंने एक जोर का झटका मारा और पूरा लंड एक ही झटके में चूत के अन्दर पेल दिया.

जिस मोहल्ले में मैंने किराये का मकान लिया था, वो करीब 20-25 मकानों का मुहल्ला था.

बेबी रानी बोली- मुझे पता है क्या करना है … किसी एक कहानी में तूने ऐसे ही दारू पी थी, माँ के लौड़े. इस सिलसिले में उसे कई बार शहर से बाहर भी जाना पड़ता था इसलिए उसके घर पर बाहर जाने के लिए कोई रोक नहीं थी.

अब वो धीरे धीरे खुल रहा था और मैं भी अब उसे उकसा रही थी- और कब देखा है?आदी- काफी बार देखा हूँ. मैं डर गयी कि इतना लम्बा और मोटा लंड मेरी गांड के छोटे से छेद में कैसे जायेगा! तभी रमेश ने अपनी जेब से मेरी ब्रा और पैंटी को निकाला और मेरे मुंह में ठूंस दिया. जीजू भी तैयार होकर आ गए और चाय नाश्ता करके बोले- आज मैं 3 बजे दो हफ्ते के लिए काम से बाहर जाने वाला हूँ.

अब सुरभि मेरे सामने काले रंग की चमकदार ब्रा और काले रंग की पैन्टी में थी.

इसकी पहली मंजिल पर एक परिवार रहता था, जो पांच लोगों का औसत सा परिवार था. मैंने अपने कपड़े निकाले और सिर्फ अंडरवियर पहनकर पानी में छलांग लगा दी और मस्ती करने लगा. कुछ ही देर में नशे का आलम हो गया और हम एक दूसरे पर भूखे भेड़ियों की तरह टूट पड़े.

फ्री बीएफ सेक्सकरीब एक घंटे तक हम सभी स्कूबा डाइविंग का आनन्द लिया और वापस हम हमारे रिसॉर्ट में आ गए और कपड़े चेंज कर लिए. उसका लंड चूसने के लिए तो मैं भी बेताब थी, पर संजय परमीत के तीनों छेदों को एक साथ लंड देने का अपना वादा पूरा कर रहा था.

బీఫ్ ఇంగ్లీష్

उन्होंने कहा- हां मुझे पता है, लेकिन तू आज ऐसी बात क्यों कर रहा है. !! ” एक तीखी सिसकारी के साथ वसुंधरा ने उत्तेजना-वश मेरे बाएं कंधे पर अपने दांत गड़ा दिए. अगर मैं पहले स्खलित ना हुई होती, तो उत्तेजना से लबरेज होकर मैंने संजय के लंड के कामप्रसाद को ग्रहण कर लिया होता.

मुझे डर था कहीं वो अपना मन न बदल लें।प्रीति:अलमारी पर रखे पुराने गद्दे को उसने नीचे उतारा। उसे जमीन पर बिछा दिया और मुझे गद्दे पर आने का इशारा किया। मैं पीठ के बल लेट गयी। वो मेरे ऊपर आ गया।गद्दे पर आते ही वो मेरे ऊपर टूट पड़ा. हमें आश्चर्य हुआ तो हमने पूछा कि तेरी रिश्ते की साली है क्या?तो तेरे जीजा ने बोला कि नहीं, वह मेरी सगी साली है. फिर भैया ने जल्दी से दीदी को सीधा लेटा कर उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया.

संजय ने अपने हाथों से एक स्तन के जड़ को दबाया, जिससे केक लगा भाग और चूचुक ऊपर को उठ आया और संजय ने उसे मुँह में भर लिया. जब दिल करे चढ़ जाना अपनी रंडी के ऊपर!उसके मुँह से ऐसी बातें सुन कर मुझे और जोश आ गया. इसे भांप कर परमीत ने डिल्डो को थोड़ा बाहर खींचा और पूरा जोर लगा कर चूत की गहराईयों में तब तक पेला, जब तक डिल्डो में बना कृत्रिम अंडकोश मेरे शानदार गोरे मांसल नितंबों से ना टकरा गया.

फिर धीरे धीरे उसकी चूत पर आ गया तो प्रतीक्षा और संयोगिता को मेरे लंड और पोते चूसने में दिक्कत होने लगी।मैंने उन तीनों को बोला- मैं सीधा पीठ के बल सीधा लेट जाता हूँ जिससे प्रतीक्षा और संयोगिता को मेरे लंड और पोते चूसने में कोई तकलीफ नहीं होगी. मैंने एक ऑटो वाले को रोका और अपना एडमिट कार्ड दिखा कर उसी स्कूल चलने को बोला।मेरे मन में अभी भी उसी आंटी का ख्याल ही बार बार आ रहा था कि जल्दी से शाम हो फिर शायद मेरी ख्वाहिश मुकम्मल हो जाए.

आपको ये कहानी कैसी लगी, बताइएगा जरूर … अभी मैं गुरुग्राम में रहता हूँ.

मैं उसकी टांगों के बीच में आ गया और उसकी चुत पर अपना लंड रख कर अन्दर डालने लगा. सेक्सी चुदाई बीएफ सेक्सी चुदाईमैं- दीदी जीजा जी कहीं दिख नहीं रहे?दीदी- वो जरूरी काम से ऑफिस चले गए हैं. बीएफ सेक्सी दिवालीलेकिन बेरहम रजत ने लंड जड़ तक पहुंचाने के बाद थोड़ी दरियादिली दिखाई और ठहर गया. फिर मैंने अपना हाथ उसकी कच्छी के ऊपर से ही उसकी चूत पर फेरना चालू कर दिया.

इसमें कोई शक नहीं कि सिल्क एक साधारण, पर सुलझी हुई महिला थी, वक़्त ने उसको काफी परिपक्व बना दिया था.

एक बार तो उसने अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को दबा भी दिया मगर फिर साथ ही सॉरी भी बोल दिया. वो बेचारा यंत्रवत व्यवहार करने लगा और अब मैं, परमीत और संजय मिलकर उनकी मुजरा स्टाइल के नृत्य पर तालियां बजाने लगे. और उसने मेरे घुटनों पे हाथ रखा और दूसरे हाथ से अपना लंड मेरी चूत पे सेट किया और कहा- तैयार हो जाओ, इस बार मत रोकना।मैंने कहा- ठीक है.

मैंने उसकी गर्लफ्रेंड आमिना को फोन किया और बोल दिया कि गलती से नम्बर लग गया. वो सब पढ़ कर मैंने कहा- यार, कविता तो लिख दूंगा, लेकिन मेरा इनाम कहां है?उसने पहली बार पूरे चेहरे वाली अपनी एक तस्वीर भेजी, जिसे मैंने देखा, तो देखते ही रह गया … और साथ ही उसने लिख भेजा कि ये बातें किसी को मत बताना. मैंने बेबीरानी के कंधे पकड़ के उसको सीधा बिठाया और उसको उछाल उछाल के चोदना शुरू किया.

सेक्सी चुदाई सेक्सी व्हिडिओ

फिर आंख मारते हुए बड़े आराम से उसके लंड को मुँह में अन्दर ले लिया और चूसने लगी. तभी नीरज ने भी अपना वीर्य का फव्वारा संजू के मुँह में डाल दिया, जिसे संजू पूरा पी गई. कहानी के बारे में अपने विचार मुझे बताने के लिए नीचे दिये गये मेल पर मैसेज करें.

वसुंधरा के होंठ काम-प्रत्याशा में धीरे-धीरे थिरक रहे थे जिन्हें वसुंधरा बार-बार अपनी जीभ से नम कर रही थी, काली कजरारी आँखों में बेहिसाब ख़ुशी, बेइंतहा प्यार और कुछ-कुछ डर के अहसास छलके जा रहे थे.

कोई एक डेढ़ मिनट बाद जब मेरा पानी छूटा, तो उसकी पिचकारी सीधी आशा की जीभ पर गिरी … और मेरा कुछ माल नीतू के हाथों पर भी लग गया, जिसे नीतू ने आशा के मम्मों पर लगा दिया.

वैसे क्या हुआ?अविनाश- वो आलिया कल रात राज चित्रा को चोदने के लिए आया था. उसने मेरे सर को पकड़कर घुमाया, तो मैंने स्वतः ही उसके सुपारे पर जीभ फिरा दी. बीएफ वीडियो बहन भाई कीफिर मैंने उनके बालों में हाथ फेरना शुरू किया और उनके कान पर मैंने प्यार से अपनी जीभ फेर दी.

पहले मेरा नौकरी करने का कोई मन नहीं था, पर कुछ मजबूरियों की वजह से करनी पड़ी. कुछ दिन बाद मेरे बोर्ड के एग्जाम भी पास आ रहे थे, तो मैंने भी प्रियंका को मनाना छोड़ा और अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने लगा. वहां पर काउन्टर पर खड़ी एक लड़की ने हमें रूम की चाबी दे दी और हम सभी अपने कमरे में चले गए.

मैंने कहा- क्या पका रहा हूँ?आंटी ने मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए कहा- अभी बताती हूँ चिकने. ”तू मेरा माल है, जबसे तुझे देखा है तेरी लेने को तरसता था। आज मौका मिला है.

तभी मैंने नीरज को कुछ इशारा किया, नीरज ने संजू की गांड के नीचे दो तकिया लगा दिए.

वो बंद आँखों से मुझसे बोली- बहुत बेशर्म हो, ये सब किधर से सीखा?लड़कियों में न जाने ये बात कहाँ से आ जाती है कि वो अपने मर्द से यही जानने की कोशिश करती रहती हैं कि ये सब कहाँ से सीखा. साथ में जीभ से चूत के दाने को सहलाते रहे, चूसते रहे, हल्के होंठों से दबाते भी रहे. एक दिन शुक्रवार शाम को उसने मुझे कॉल किया- आज मेरे घर में मेरे अलावा कोई नहीं है, आप आ सकते हो.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में एचडी अब मेरा बेइमान मन खुद पर कब तक काबू कर पाता, तो उसने भी अपने मतलब की चीज ढूंढनी चाही. कई बार चुदाई के बाद हम दोनों में ही इतनी ताकत नहीं बची थी कि उठा जा सके.

मैंने लंड सहलाते हुए आंख मारते हुए कहा- तो देर किस बात की है?दीदी ने मुस्कुराते मेरे सामने घुटने के बल बैठकर मेरा पेन्ट और निक्कर निकाल दिया. मैंने शरारती लहजे में पूछा- मैम लेडीज मसल्स ही सॉफ्ट होंगी ना?डॉक्टर ने हंसते हुए कहा- सुमन तुम्हारा हसबैंड बहुत फनी है. वो भी गांड चुदवाने में इतनी मदहोश हो गयी थीं कि उनको पता ही नहीं चल रहा था कि क्या हो रहा है.

सेक्सी मोना

मैं उनका सिर पकड़ के लंड को उनके मुंह में अंदर तक डाल रहा था और उन्हें कह रहा था- चाची चूस मेरा लंड … और तेज चूस!चाची भी जोर जोर से मेरा लंड चूस रही थी. सभी मंदिर भव्य और आकर्षक बने हुए हैं, आसपास घूमने बैठने लायक व्यवस्था की गई है, सुरक्षा इंतजाम भी तगड़े होते हैं. स्वीटी आंटी मुस्कुराते हुए बोलीं- अच्छा मुझमें ऐसा क्या है, जो तुमसे बर्दाश्त नहीं हुआ?अब स्वीटी आंटी धीरे धीरे लाइन पर आ गई थीं.

सिल्क- वैसे जितने शरीफ तुम दिखते हो, उतने हो नहीं! तुम बिस्तर पे जानवर बन जाते हो. मैं अन्दर गई और आदी को शहद की बोतल देते हुए इशारे से बोली- जाओ … इसको टपका कर लंड चूस लेना.

इधर मैं सेक्स के नए नए पैतरों का जीवंत अहसास करते हुए आंखें मूंदे लेटी थी, उधर दीदी और मनु भी एक दूसरे के ऊपर उल्टे होकर एक दूसरे की चूत चाट रहे थे.

इस पर अनिषा बोली- ठीक है, मैं बैग तैयार रखती हूँ … आप घर कितने बजे तक आओगे?जीजू बोले- मैं दो बजे तक आ जाउंगा. अब मैं और जोर से उसके लंड पर अपनी गांड को धकेलने लगी और उसके साथ ही अपने बूब्स को भी दबाने लगी. उसकी हाईट हम लोगों से थोड़ी कम थी, पर उसके सीने के उभार, पैरों की गुंदाज पिंडलियां, मांसल शरीर, फूले हुए गाल … उसका सब कुछ काफी आकर्षक था.

इसके बाद आलिया, दीदी के ऊपर सवार हो गई और वो दोनों लेस्बियन किस करने लगीं. हमने दीदी की दोहरी चुदाई की सोची और मैं बिस्तर से उठकर पतले डिल्डो में क्रीम लगा लाई. परंतु रोहित अब संजू की साड़ी और पेटीकोट में अपना मुँह घुसाकर उसकी जांघों तक घुस कर चाटने लगा.

आज दिन भर के इंतजार और तड़फ के बाद रात एक बजे के आस-पास जब सब लोग लगभग लगभग सो चुके थे.

सेक्स की बीएफ: वसुंधरा ने तत्काल अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मेरे लिंग का अपनी योनि के मुख पर स्वागत किया. मैं अपनी चूत को मसलते हुए इतनी चुदासी हो जाती हूं कि मन करने लगता है कि मेरे बदन में जितने भी छेद हैं उन सब में मैं लंड डलवा लूं.

स्वीटी आंटी ने शरमाते और मुस्कुराते हुए बोला कि बस बस … बहुत हो गई मेरी तारीफ. रवीना ने रवि को भी बेड पर ही बैठने को कहा … हालांकि दोनों को ही संकोच हो रहा था, पर मजबूरी थी. मैंने अलका को इशारा किया, जिसको वो पलक झपकते ही समझ गयी और उसने अपनी सलवार अपने पैरों से अलग कर, मेरी गोद में बैठने की जगह बना ली.

मुझे पूरा भरोसा है कि मैंने रूपाली की चूत में अपना बीज डाल दिया है.

तुम बताओ शीला के साथ कब सुहागरात मना रहे हो?राज बोला- मैंने तो बहुत बार शीला के साथ सुहागरात मनायी है. फिर वो उठी और उसने अपनी नाईटी उतार दी और पूरी नग्न अवस्था में आ गई. मैंने दीदी की पीठ पर हाथ ले जाकर उनकी ब्रा का हुक खोला और ब्रा उतार दी.