बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ पाठवा

तस्वीर का शीर्षक ,

హీరోయిన్ సెక్స్: बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी, मम्मी ने मुझे बहन को लाने उसके ससुराल भेजा, ताकि वो कुछ दिन दादाजी के साथ रह ले.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश पंजाबी

अब मेरे दिमाग में एक प्लान चल रहा था कि मैं कल ही मधु को चोद दूंगा और अगले दस दिन तक मधु को रगड़ रगड़ के चोदता रहूंगा. जादू वाला बीएफफिर जब से हमने नए घर में रहना शुरू किया, तो हमारे में ज्यादा बोलचाल नहीं थी.

विक्रम- फिर तुम चली गयी? इतनी बड़ी बात मुझे बतानी नहीं समझी?रीना- मुझे कुछ समझ नहीं आया, क्या करूँ … या ना करूँ! मैंने पता नहीं क्यों हाँ बोल दिया और चली भी गयी. इंदौर की बीएफये देख कर मेरे चेहरे पर कुटिल मुस्कान आ गई और मैंने उसे घूरते हुए एक बार नजरें उसके ब्लाउज के अन्दर कैद चुचियों पर डालीं.

राहुल ने मुस्कुराते हुए अबकी बार एक हाथ उसकी चूत के ऊपर रख दिया तो हँसते हुए सीमा खड़ी हो गयी.बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी: फिर मैंने भाभी की चूत पर लंड को सेट किया और उसकी चूत में अपना मूसल लंड घुसा दिया तो भाभी चीख पड़ी- आह्ह रामू … फाड़ दी तूने मेरी चूत, आह्ह्ह। बाहर निकाल अपने सांड जैसे लंड को।लेकिन मैंने भाभी की चूत से लंड नहीं निकाला और पूरा लंड भाभी की चूत में उतार कर उसकी चुदाई करने लगा.

इस साल बोर्ड के एग्जाम होने थे तो पढ़ाई का दबाव भी बढ़ने लगा था, मैं हमेशा ही फर्स्ट डिवीज़न पास होती आई थी तो मुझे अपना स्टेटस मेंटेन करने की भी फ़िक्र थी; पर इस निगोड़ी चूत का क्या करूं जो मुझे परेशान किये रहती थी, मेरी अटेंशन को बुक्स से हटा कर बुर की ओर धकेलती रहती थी.आधा लंड अन्दर जाते ही वो जोर से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उई माँ मर गई … यश बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है.

बीएफ वीडियो हिंदी की - बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी

नम्रता ने मेरे यह शब्द सुनते ही मेरे लंड पर अपना शिकंजा कस लिया और खेलने लगी.जल्दी से अब मेरी चूत में अपना लंड डालो, मेरी चूत और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर पा रही है.

मेरी इस प्रेम कहानी में कैसे हम दोनों ने आपस में शारीरिक सम्बन्ध बनाए. बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी उसके बाद मैंने मौसी की पैंटी को खींच निकाला और उनके ऊपर सवार हो गया.

और करन ने मुझे अपनी बांहों में ज़ोर से जकड़ लिया।हमारे जिस्म एक दूसरे के संपर्क में आते ही और गर्म होने लगे और हम वासना की मदहोशी में खोने लगे.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी?

मौसी के कोई औलाद नहीं थी इसलिए वो हम भाई-बहनों को अपनी ही औलाद की तरह मानती थी. वह कंपनी में सिखाने के लिए आई थी। बेहद खूबसूरत जिस्म की मालकिन थी। उसने अपने बाल जरूर कलर किये हुए थे मगर उसके चेहरे पर हमेशा एक मुस्कान छाई रहती थी. वह तेजी के साथ मेरी चूत को चोदने लगा और मेरे मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगीं.

हां बताओ तलाक क्यों हुआ?मैं बोला- जिससे मेरी शादी हुई थी, वो किसी और से प्यार करती थी, ये बात उसने मुझे पहली रात ही बता दी थी. सुबह 5 बजे उठने के बाद मैंने उसके नंगे बदन को खूब सहलाया और उसके लंड और टट्टों से खेलने लगी. मेरी मां की हलचल की वजह से अंकल भी उठ गए।मेरी मां उठ कर खड़ी हो गई.

बाहर मौसम और अधिक रौद्र रूप इख्तियार कर चुका था, आसमान पर काले बादलों की सेना ने आसमान में धीरे-धीरे स्थायी किलेबंदी कर ली थी, लगता था कि आज शाम ही बारिश आएगी. उसकी चूत पानी छोड़ने लगी थी जिसका स्वाद मुझे अपने मुंह में महसूस हो रहा था. मामा बड़े लाड़ से मेरी चादर में घुसा और चुपचाप लेट कर मुझे सिर्फ सहलाता रहा.

हम लोग कॉफी शॉप में चले गये और वहां जाकर मैंने तीन कॉफी ऑर्डर कर दी. लेकिन चाची ने ये सब नजरअंदाज करते हुए मुझसे ठीक से बात की … तो मेरी टेंशन थोड़ी कम हुई.

मैंने कहा- चूसो इसे!इस पर वो बोली- ठीक है, लेकिन ज़्यादा नहीं!मैंने कहा- हाँ!और उसने मेरे लंड का चिकनापन अपनी साड़ी से साफ किया और मुँह में लेने लगी.

मैंने कहा- फिर?रश्मि- मधु और उसका पति राहुल दोनों ही बहुत परेशान है.

चूंकि मैं पहले से ही चुदासी हो चुकी थी तो मैंने उसका कोई विरोध नहीं किया. असली कहानी यहीं से शुरू होती है क्योंकि मेरी बुआ जी की लड़की बचपन से ही मेरी दोस्त रही है. उनके घर पर केवल एक ही कमरा था जहाँ वो और में सो रहे थे। लेकिन दोनों में से किसी को नींद नहीं आ रही थी। उन्होंने बात शुरू की और वहाँ आने का कारण पूछा।बात करते-करते वो मेरी गर्लफ्रैंड के बारे में बात करने लगी और अपने बोरिंग हस्बेंड के बारे में बताने लगी। मुझे उस समय ये पहली बार लगा कि शायद वो मुझ से कुछ और भी चाहती है।धीरे-धीरे वो मुझसे खुलने की कोशिश कर रही थी.

फिर मैंने लंड को चूसने के लिए कहा, वो थोड़ा ना-नुकर करने के बाद लंड चूसने लगी. मैंने काफी देर सोच कर उसे हाँ कह दिया।अब रीना ने एक प्रमुख ऑनलाइन रोजगार साइट पे आवदेन शुरू कर दिए। तभी एक सप्ताह बाद रीना मुझे बताया कि एक प्रमुख प्राइवेट कंपनी ने उसे इंटरव्यू के लिए बुलाया है।मैंने खुश होते हुए कहा- यह तो बहुत अच्छी बात है. मैंने मना करते हुए कहा- आपने जो मुझे मज़ा दिया, मेरे लिए वही बहुत है.

इस सेक्स कहानी के पहले भागमैडम ने जिगोलो बनने का रास्ता दिखाया-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे साथ काम करने वाली श्वेता मैडम के साथ मेरी काफी नजदीकी बढ़ चुकी थी.

फिर हम दोनों ने बातें करनी शुरू की, तो उसने फिर से वही सब बताया कि वो जोधपुर में जॉब करके टाइम पास करती है. मैं कुतिया बनी आंटी के पीछे आया और चुत रस से भीगी आंटी की चुत और गांड को अपनी जीभ से चाटने लगा. आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह … की आवाजें दोनों के ही मुंह से निकलने लगीं.

मेरी ज़ेहनी हालत की बाबत वसुंधरा को सब कुछ ठीक-ठीक पता था और वो मेरी हालत पर मन ही मन आनंदित हो रही थी. अबकी बार उसने थोड़ा ज्यादा सा थूक लगाया और ज़ोर से लंड मेरी गांड में घुसा दिया. रेलवे स्टेशन जा कर पार्किंग में गाडी पार्क करके ट्रेन का इंतज़ार करने लगा.

मैं घर पर अधिकतर नंगी ही रहती हूँ या फिर ब्रा और पैंटी में रहती हूँ.

इसी बीच नम्रता ने अपनी उंगली पर बहुत सारा थूक उड़ेला और फिर अपने चूत की मालिश उसी थूक से करने लगी. उसकी मस्त गांड पर मैं मरता था, उसकी जानलेवा 36-28-38 की फिगर देखकर तो मुर्दे के लंड में जान आ जाए.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी फिर उसने उठ कर सुइट के मिनी फ्रिज से एक बोतल निकाली, जो शैम्पेन की थी. अब मुझे हल्का-हल्का दर्द होने लगा था क्योंकि उसका लंड बहुत ही मोटा था और उसकी स्पीड बहुत ही तेज थी.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी मैडम की उत्तेजना पे ज्यादा ध्यान ना देते हुए मैं लगातार कमर चला रहा था. अब आगे की कहानी का मजा लें!पढ़ाई खत्म हो गयी … उपिंदर कहीं और चला गया … धीरे धीरे उन सब बातों की यादें धूसर हो गयी।मैं नौकरी करने लगा, फिर से अजय बन गया। फिर कोई उपिंदर जैसा नहीं मिला।घर वालों ने मेरे लिए लड़की देखनी शुरू कर दी। शादी करने में मेरी कुछ खास रूचि तो नहीं थी पर सोचा ठीक है जो हो रहा है.

फिर मैं बोला- जान एक बात पूछूँ?वो बोलीं- जी हां पूछो …मैं पूछा- कॉलेज में जब आप स्टूडेंट थीं, तब आपने कितने लंड लिए थे?रेशमा बोलीं- दो के लंड लिए हैं.

बाल कैसे बढ़ेगा

अब दीदी मुझे बोलने लगी- रॉकी प्लीज़ अब सहा नहीं जा रहा है … जल्दी से अपनी दीदी की चूत को अपने लंड से भर दो और अपनी दीदी की चूत को चोद दो. 15 मिनट तक अपने लंड को चुसवाने के बाद उसने अपने लंड को मेरे मुंह से बाहर निकाल दिया और नीचे मेरी पैंटी की तरफ बढ़ गया. फिर एक दिन मैंने सोचा कि मुझे अपने जीवन की घटना भी अंतर्वासना पर आप लोगों के साथ शेयर करनी चाहिए.

मैंने भी उसके सामने मुस्कुराते हुई द्विअर्थी बाण छोड़ा और बोली- तुम मेरी गाड़ी के इंजन में अपना नया ऑयल डाल दो. फिर मैंने उससे पूछ ही लिया- तुम्हारी सेक्स लाइफ कैसी चल रही है?उसने बताया कि मेरे हस्बैंड को सेक्स में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं है और वो सेक्स सिर्फ ड्यूटी के तौर पर करते हैं. मैंने विक्की के लंड को थोड़ी देर के लिए हिलाया और लंड को किस किया और लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी.

विक्की के लेटते ही मैंने विक्की की तरफ पीठ करके उसके लंड पर चूत रख दी और पूरा लंड अन्दर डलवा लिया.

वो बोली- चलें?मैंने गाड़ी आगे बढ़ा दी और दस मिनट में हम दोनों फ्लैट पे पहुंच गए. मैं बिना देर किए उन पर टूट पड़ा और उनमें से एक को मुँह में लेकर चूसने लगा. नाइटी पहन कर मैं बाथरूम से बाहर निकली और मेरे बाहर निकलते ही उसने मेरी तरफ देखा.

पर मैं हैंडसम इतना था कि मुझे मेरे दोस्त इमरान हाशमी कह कर ही पुकारते थे. कुछ दिल्ली में, कुछ रोहतक में … लेकिन गांव की इस चुत की बात ही सबसे अलग थी, क्योंकि बहुत मेहनत से जो मिली थी. वह एक बार में अपना पूरा लौड़ा बाहर निकाल कर एक बार में अंदर कर देते जिससे मेरी मां पूरी कांप जाती।कुछ देर की इस मस्त चुदाई के बाद रमेश अंकल की स्पीड बढ़ गई और देखते ही देखते उन्होंने अपना गाढ़ा माल मेरी मां की चूत में भर दिया.

सभी हम दोनों माँ बेटे को देख रहे थे, पर उन्हें लग रहा था कि हम कपल हैं. मेरे कहने पर उसने स्पीड बढ़ाई जिससे दोनों लोग जोश में आ गये लेकिन वो ज्यादा देर तक स्पीड मेन्टेन नहीं कर पाई.

… अच्छा एक काम करते हैं, अभी ऊपर चलते है, छुप कर देखते हैं, अगर कोई हुआ तो नीचे वापस आ जाएंगे, नहीं तो फिर थोड़ा खुली छत का मजा लेंगे. कहानी के दूसरे भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बहन मानसी अपनी चूत में डिल्डो लेकर मजा ले रही थी. इतना सुनकर मैं जोश में आ गया और अपनी जीभ उसके मुँह में पूरी डालकर लिपकिस करने लगा और दोनों हाथों से उसके चुचों को दबाने लगा.

मेरी ज़ेहनी हालत की बाबत वसुंधरा को सब कुछ ठीक-ठीक पता था और वो मेरी हालत पर मन ही मन आनंदित हो रही थी.

उसने जाते समय आधा ही गेट बंद किया और वह भी धीरे-धीरे थोड़ा खुल गया. भाभी गांड उठाते हुए बोल रही थी- आह डाल दो पूरा … मेरी चुत में आआह … फाड़ दो मेरी चुत को … आह राज प्लीज़ जल्दी डालो … आआह. लेकिन मैं भी बहुत हरामी था, मैं वहां छोड़कर उसके स्तनों पर आ गया और वहां हलचल शुरु कर दी.

फिर एक ही बार में उसके पूरे बदन को अपनी नजरों के स्कैनर से स्कैन कर लिया. फिर वो बिल्कुल फ्रेंड की तरह बात करने लगी। मुझे अंदाजा भी नहीं था कि वो मुझसे इतनी खुल कर बातें करेगी.

फिर उसने मुझे बेड पर उल्टा लिटा दिया, अब इस स्थिति में मेरे पैर बेड से नीचे लटके हुए थे. गर्दन दुखने लगी तो मैंने उसे ढीला छोड़ दिया और वीर्य निकलने के बाद की उस शांति को महसूस करते हुए मैंने पूरे शरीर को ढीला छोड़ दिया. चूत चाटने के बाद मैं उठा और पैंटी को फिर से उसके मुँह में ठूंस दिया.

जस्टिस सेक्सी वीडियो

मैंने हस्तमैथुन के लिए बोला, तो वो ख़ुद ही जिप खोलके लंड को सहलाने लग गईं.

एक बार तो सोनू ने उसे चूसने से मना करते हुए बाहर निकाल दिया लेकिन मैंने उससे कहा कि उसकी चूत को भी तो मैंने दो बार शांत किया है. करीब 10 मिनट तक उसकी चूचियों को मसलने के बाद छोड़ा उसे तो अब तक वे एकदम लाल हो चुकी थी. लगभग 15 मिनट धक्के लगाने के बाद चाची ने अपने पैरों से मेरी कमर जकड़ ली और कहने लगीं- मेरा होने वाला है.

उसने महसूस किया कि संगीता को आराम मिल रहा है और उसने आँखें बंद कर रखी थीं. वो बोली- क्या हुआ … रुक क्यों गए?मैंने ना में सिर हिलाया और अपनी तरफ खींच के उससे फिर से प्यार से किस करने लगा. बहु ससुर बीएफमेरे बाहर निकलने के बाद काजल ने एक बार मेरी तरफ देखा और फिर नजर फेर ली.

जिसके कारण मैं किसी भी कॉलेज में दाखिला‌ नहीं ले सका।अब मैंने जब कहीं दाखिला तो लिया नहीं था इसलिये मैं अपने दोस्तों के साथ ही टाइम पास करता रहता था. … बहुत बड़े चोदू हो तुम … मुझे तो उम्मीद ही नहीं थी कि तुम ऐसी चुदाई करोगे कि एक ही बार में मेरी हालत खराब कर दोगे.

उसका दूसरा हाथ मेरी जीन्स को खोलने में लगा था, लेकिन मेरी बेल्ट उससे शायद खुल नहीं पा रही थी. क्या तुम मुझे कॉलेज से पिक कर सकते हो?मैंने उसे हां बोला और कार लेकर अपनी अदिति को लेने निकल गया. वो उधर दर्द से चिल्ला रही थी, पर उसके होंठों को मैंने मेरे मुँह में भर रखे थे, इसलिये उसकी आवाज दब कर रह गयी.

उनके कमरे में जाते ही मैं कमरे से बाहर आकर उनके कमरे में छुप कर देखने लगा. तुम शादी से पहले मुझे ऐसे ही अपना मुट्ठ पिलाते रहोगे ना?मैंने कहा- हां, जैसा तुम कहो. उसके जाने के बाद मैं सोचने लगा कि कहीं यह घर में सबको बता तो नहीं देगा कि मैं गांडू हूँ? इतनी ही देर में कमल वापस आ गया.

मैं सोच रहा था कि मधु मेरे लंड के नीचे रोज ही होनी चाहिए, वो मुझसे डेली चुदे … वो भी सभी की मंजूरी से.

काफी देर तक उसकी रसीली चूचियों को चूसने के बाद मैंने उसे नीचे बिठाया और मेरी पैन्ट की जिप खोल दी।पैंट की चेन खोलने के बाद मैंने उससे कहा- निकाल लो अब बाहर मेरा हथियार और वही करो जो तुम उस दिन उस लड़के के साथ कर रही थी।उसने मेरी पैंट की खुली हुई चेन के अंदर अपना हाथ डाल दिया, मेरा लौड़ा पहले से ही तना हुआ था. अदिति की हंसी … दोस्तो क्या बताऊं … जैसे पायल क़े घुंघरू की आवाज़ हो, उसकी हंसी को तो मैं ता-उम्र सुनता रहूँ.

मैंने उसका नाड़ा खोल दिया और उसकी चुत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. वो पूछने लगी- कितना टाइम लगेगा?मैंने कहा- अभी कहाँ!तो बोली- फिर बेडरूम में चलो. जैसे ही भाभी ने मेरे कॅप्री को देखा, तुरंत मेरे लंड को कॅप्री के ऊपर से ही पकड़ कर बोला- तुम भी इसको उतार फ्री होकर मेरी मालिश करो.

मेरे आते ही उसने मुझे गोद में उठा लिया और जिम के दूसरे रूम में ले गया. उसका फिगर देख कर मुझे अपने आप पर शर्म आ रही थी कि मैं कैसा और वो कैसी।मेरे सोचते सोचते ही वो मुझसे लिपट गयी और मुझे किस करने लगी. ऐसे ही रहा करो, अच्छा लगता है।और बोली- बेटा, मैं दो दिन के लिए कानपुर जा रही हूँ, घर का ध्यान रखना.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी पेशाब की तेज़ और गर्म धार छूट गई, पेशाब के साथ साथ बॉस का वीर्य भी बाहर आ रहा था, गर्म गर्म पेशाब मेरी जांघों से होता हुआ नीचे गिर रहा था. अंकल बोले- अभी तेरी अम्मी आने वाली है, वो मेरे लिए नाश्ता लेकर आएगी.

मां बेटे का सेक्सी चुदाई वीडियो

खैर … मैंने अपने एक जानने वाले को बोला कि कोई काम वाली हो, तो बताना. लेकिन अब मैं भी जवान था और इतना समझने लगा था कि सामने वाला इन्सान आप में कुछ रुचि ले रहा है तो जरूर उसके मन में कुछ न कुछ बात होगी. मैंने बगल के टेबल पे रखी नारियल के तेल की शीशी उठाई और उसको उसकी गांड पे धार लगा कर तेल डाल दिया.

उस दिन से उसके बाद वह जब-जब नहाता, मैं रोज उसे खिड़की से झांक कर देखता. एक ठाकुर की चुदाई का ऐसा मजा दूंगा तुझे कि तू अपनी सारी चुदास भूल जायेगी मेरी रंडी. हिंदी सेक्सी बीएफ ब्लू हिंदीमैंने आज थोड़ी हिम्मत की और जैसे ही थोड़ा पास जा कर देखने की कोशिश की कि उतने में ही भाबी ने करवट ले ली.

बात उस समय की है जब मैंने अपनी पहचान वाले एक आदमी से बात करके अपने लिए एक जॉब ढूंढ़ ली थी जो कि एक टीचर की जॉब थी। उस कंपनी में बाहर से भी लोग आते थे और वहां के वर्कर को सिखाना हमारा काम था। कुछ लड़कियां भी आती थीं सीखने के लिए और सिखाने के लिए भी आती थीं।मुझे वहां काम करते हुए 2 महीने बीत गए थे पर कुछ मज़ा नहीं आ रहा था। तभी वहाँ पर एक लड़की आई जिसका नाम सुचिता (बदला हुआ) था और वो मुम्बई से आई थी.

कुछ भी गलत महसूस नहीं हुआ, बल्कि ऐसा करके मुझे उसे खुश करने का दिल किया. मैंने कहा- अपने होठों पर लिपस्टिक की तरह लंड को घुमाओ!और उसने बड़े प्यार से लंड को अपने पूरे होंठों पर लिपस्टिक की तरह घुमाया और वापिस मुँह में ले लिया.

मैं यहां आप लोगों को अपने बारे में बता दूँ कि मैं दिखने में बहुत ही औसत टाइप का लड़का हूँ और मेरा रंग भी थोड़ा सा सांवला टाइप का है. मैं डॉगी स्टाइल में उसके ऊपर आ गयी और विक्की मेरे पीछे आकर मेरी चूत को चाटने लगा. बाहर मौसम और अधिक रौद्र रूप इख्तियार कर चुका था, आसमान पर काले बादलों की सेना ने आसमान में धीरे-धीरे स्थायी किलेबंदी कर ली थी, लगता था कि आज शाम ही बारिश आएगी.

मैंने देखा कि वहाँ पर और कोई नहीं है, सिर्फ मैडम हैं जो एक जालीदार नाईटी में खड़ी हैं.

सच बताऊँ … मेरे और उसके चेहरे में थोड़ा सा भी गैप नहीं रह गया था, मेरे और उसके होंठ आमने सामने थे पर सटे नहीं थे।उसको इतना पास पाकर मेरी साँसें तेज होने लगी और शायद उसका भी यही हाल था. तो उसने मना कर दिया मगर मैंने बाइक की रफ्तार बढ़ा दी और एक सुनसान जगह की ओर मोड़ दिया. मैंने उसका निचला होंठ अपने होंठों में ले लिया और चूसने लगा और वो मेरा ऊपर का होंठ चूसने लगी.

हिंदी सेक्सी ब्लू बीएफ वीडियोवो बोली- चलें?मैंने गाड़ी आगे बढ़ा दी और दस मिनट में हम दोनों फ्लैट पे पहुंच गए. उसने मेरी टीशर्ट पहले ही निकाल दी थी, अब मेरा अंडरवेयर भी नीचे कर दिया.

श्रुति हसन सेक्सी वीडियो

वो चाहे सूट पहनतीं या साड़ी, आधे चूचे हमेशा बाहर ही दिखाई देते रहते थे. चूंकि मेरी वसुन्धरा की ओर अर्धपीठ थी इसलिए मेरा काम-ध्वज अभी वसुन्धरा की पकड़ में नहीं था. उसकी चूत की गुफा में बहुत अंधेरा था मगर उसको चाट कर जो नमकीन स्वाद आया उसका मजा भी अलग ही था.

तभी उसने अचानक से एक ज़ोर का झटका मारा और आधे से ज्यादा लंड मेरे अन्दर घुसा दिया. हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करते करते बहुत गर्म हो जाते थे और उनका लंड टाइट हो जाता था, जिसको मैं महसूस करती थी. अब एक दिन मैं मौसी की चूत चोदता और फिर दूसरे दिन मानसी मेरे कमरे में आकर मुझसे चूत और गांड चुदवाने पहुंच जाती थी.

तभी मैंने एक कागज पर मेरा फोन नम्बर लिख के भाभी की छत पर फेंक दिया. मैं दूसरे दिन सुषमा के घर गई, तो थोड़ा बन ठन कर गई, ताकि उसके पति की नजर मुझपे पड़े. अगली बस आई, तो ये तो पहले वाली से भी ज्यादा भरी थी, लेकिन टाइम ज्यादा हो जाने की वजह से हम दोनों बस में चढ़ गए.

मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से दबाते हुए ज़ोर से काट लिया … वो चिल्लाने लगीं. मैं जोर लगाकर उनकी पकड़ से आजाद हुई और दरवाजा खोल कर बाहर भागी, पीछे मुड़कर देखा तो अंकल उस उंगली को मुँह में डाल कर चाट रहे थे.

भोला बोला- देख साले, आज तुझे भी हिरोइन जैसी मस्त आइटम का मजा मिल रहा है.

कुछ देर बाद उसके नर्म होंठ मेरे गालों को छू कर निकल गए और अपनी लिपस्टिक का निशान छोड़ गए. सेक्सी बीएफ भेजो एचडीउसी दिन मैंने सोच लिया था कि किसी न किसी तरह अपने इस सेक्सी जवान भाई के लंड तक पहुंचना है. सनी लियोन एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवीउसकी भी चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने पूछा- दर्द क्यों?तो वो बोली- बाबू साल भर बाद चुद रही हूँ … पति तो छूता भी नहीं है. इस चुदाई से हम दोनों काफी थक गए थे, तो मैं उसके ऊपर ही गिर गया और हम दोनों को कब नींद आ गयी, पता ही नहीं चला.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने मुझे ऊंचे पहाड़ से फेंक दिया हो और मैं हवा में हूँ.

जिसके कारण मैं किसी भी कॉलेज में दाखिला‌ नहीं ले सका।अब मैंने जब कहीं दाखिला तो लिया नहीं था इसलिये मैं अपने दोस्तों के साथ ही टाइम पास करता रहता था. एक दिन मैं दिन में ऐसे ही सोया हुआ विचार कर रहा था कि मेरे पुराने स्कूल व कॉलेज के समय के दोस्तों को फ़ेसबुक पर ढूंढा जाए. मैं एक हाथ से उसकी चुची दबा रहा था, दूसरे हाथ से उसकी जांघ को सहला रहा था.

उन्होंने प्यार से एक चांटा मेरे गाल पे लगा दिया और मेरी गर्दन में हाथ डाल कर मुझे अपने और भी करीब खींच लिया. उनके करवट लेने से मेरी गांड फट के हाथ में आ गई और मैं हड़बड़ाहट से बाहर निकलने की कोशिश करने लगा, जिससे दरवाजे के पास टेबल पर रखा ग्लास गिर गया. वो बोली- तुमको जितने पैसे चाहिये, बोलो … मैं दे दूँगी, पर मैं तेरे साथ कुछ नहीं कर सकती.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो नंगी चुदाई

उसका लंड मेरी नीचे वाली जांघ से थोड़ा सा ऊपर मुझे टच हो गया और मैंने महसूस किया कि उसका लंड तना हुआ है. फिर उसने उसी टेबिल पर लेटकर अपनी दोनों टांगों को हवा में उठा लिया और एक हाथ की उंगली चूत में चालू कर दी. मैंने उसके लिए भी पैग बनाया और हम दोनों चियर्स बोल कर पैग पीने लगे.

मैंने अपना लिंग भाभी की योनि पर लगाकर एक धक्का लगाया … पर लिंग फिसलकर ऊपर की तरफ निकल गया.

आह … मर गई … कल रात ही तो किया था यार … अब बाहर भी निकालो … जलन हो रही है.

मेरा घर ऊंचाई पर है, तो वहां से पूरा गांव रोशनी में जगमगाता दिखाई देता है. लंड की नस-तोड़ रगड़ाई को चलते हुए जब तीन-चार मिनट गुजर गये तो मेरे अंदर से एक ऐसा भाव उठा कि कुछ बहुत ही जोर से बाहर निकल कर आने वाला है. देहाती सेक्सी बीएफ कुंवारी लड़कीआंटी भी हांफते हुए जोर जोर से सांसें लेते हुए वहीं नीचे कारपेट पर लेट गईं.

हम लोग कभी कभी वीडियो चैट भी करने लगे थे, लेकिन अब तक सेक्स को लेकर कभी ऐसी वैसी बातें नहीं हुई थीं. शाम तक मैं उसी के साथ रहा और बाद मैं मैं घर से निकल कर काम पर वापस आ गया. मैं फिर भी खुश हूँ तेरे लिए, तू मेरा इतना सा काम नहीं कर सकती?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ? हर्षिल का लंड पकड़ के तेरी चूत में तो नहीं डाल सकती ना!उसने कहा- जैसे मैंने उसे तेरी सील तोड़ने के लिए सेट किया था, ऐसे ही तू मेरा करवा दे बस एक बार।मैंने सोचा कि तन्वी ने मेरी इतनी मदद की है, शादी में भी मेरी सेटिंग करने में मदद की तो मुझे भी अपनी सहेली की मदद करनी चाहिए.

शायद उनका लंड भी मुझे इस तरह से मस्ती में चुदाई करवाते हुए देख कर दोबारा से चोदने के लिए जिद करने लगा था. मैं बोला- और जो कल दोपहर में आया था वो?मामी बोलीं- वो मेरे सहेली मनीषा के पति का दोस्त है अमित.

वह मुझे जैसे रंडी समझ कर मेरे मुंह में धक्के लगा रहा था और मेरा दम घुटने लगा था.

मेरा लंड जो कुछ देर पहले तक तना हुआ था अब वो एकदम से सिकुड़ते हुए चूहा बन गया. क्या तुम मुझे कॉलेज से पिक कर सकते हो?मैंने उसे हां बोला और कार लेकर अपनी अदिति को लेने निकल गया. कुछ देर के बाद ताऊ जी ने कोमल के मुँह से लंड को निकाल दिया और उसे लेटने के लिए बोला.

कुत्ता लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ कुछ पल में वो एकदम नंगा उसके सामने हो जाता है।परीशा एकटक अपने पापा के लंड को देखने लगती है. मैं खड़े लंड को छुपाने की कोशिश करता रहा, पर इतना बड़ा लंड टी-शर्ट से नहीं छुप सका.

तब तक मेरी बीवी ने अपने कपड़े ठीक कर लिए थे और वो सोने की नौटंकी कर रही थी. नीचे जाते ही मैं जल्दी से टॉयलेट में घुस गया और भाबी के नाम की मुठ मारने लगा. अब अंकल ने अपनी पकड़ ढीली कर दी, मुझे उनकी तरफ घूमते हुए उन्होंने अपने हाथ मेरी कूल्हों पर रखे और मुझे अपनी तरफ खींचा.

மலையாளம் செஸ் போட்டோ

वो बोली- जान … अब डाल दो अपने लण्ड को मेरी चूत में … अब और नहीं सहा जा रहा।मैंने भी रुकना उचित नहीं समझा. मेरे साथ भी शर्म के कारण ऐसा हुआ था, ज़ुबान ही नहीं खुलती पहली बार तो … लेकिन तुम हां कर दो यार … लड़का शरीफ है. मैंने जल्दी से ज़िप खोलते हुए अपने फड़फड़ाते हुए लंड को बाहर निकाला.

मां ने अपने कपड़े ठीक किए और दोनों बातें करने लगे।वह आदमी अब मेरी मां के कंधे पर हाथ रखकर उसे सहलाते हुए उनसे पूछने लगा- पूजा, और कितने दिन तड़पाओगी, अब तो मुझे अपनी चूत का मजा दे दो. संगीता ने पहले तो एक प्यारी सी मुस्कुराहट से राहुल का स्वागत किया और कहा- चाय तैयार है.

बीच में आनन्द का फोन भी आया कि ज्योति सहेली के यहां कहीं जा रही है.

”थोड़ी देर में मम्मी आ गयी।मालिनी आज दिन में आराम कर लो, शाम को तुम दोनों को एक पार्टी में जाना है. ऋतु ने अपनी चूत को एक कपड़े से साफ किया और फिर अपनी गांड को भी साफ किया. मैंने उसकी मर्दाना छाती को अपने मम्मों से रगड़ कर एक अजीब सा सुख पाया.

कई बार काम करते हुए जब वह झुकती थी तो उसके बूब्स बाहर आ जाते थे जिनको चोरी छिपे मैं देखा करता था। उसके चूचों को देख कर मन करता था उनको अभी बाहर निकाल लूँ और अपने हाथों में लेकर जोर से दबाऊं और फिर उनको इतनी जोर से चूसूं कि उनमें से दूध निकल आये. शादी के क्या कारण रहे ये तो मैं यहां पर नहीं बता सकता हूं लेकिन मेरी कहानी जहां से शुरू हुई वो आपको जरूर बता देता हूँ।जब मैंने उसको पहली बार देखा तो वो देखने में कुछ खास नहीं लगी थी मुझे. उनकी वैसे तो 5 बच्चे थे, पर उनकी एक लड़की, जो लगभग 18 साल की गदराये शरीर की मालकिन थी, वो बहुत मस्त माल थी.

फिर जल्दी से नीचे आकर उसकी पैंटी को भी नीचे करके पूरी पैंटी उतार दी.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी: मैं उसकी जांघों को थूक लगा लगा के चूस रहा था और ज्योति का पूरा बदन अकड़ रहा था. उसके बाद जब कभी भी मौका मिलता है मैं और मेरी सेक्सी चाची चुदाई के खूब मजे लेते हैं.

दीक्षा बहुत ही मादक सिसकारियां ले रही थी, जो मुझे और मदहोश कर रही थीं. मैंने कहा- ये क्या कर रहे हैं अंकल?कुछ नहीं, साइज चेक करने के लिए ऑर्डिनरी क्वालिटी लाया था, अब इसी साइज में अच्छी क्वालिटी ला दूंगा. फिर मैं किस करते करते वापस लंड तक आया और बोला- आज की रात आप मुझ पर बिल्कुल दया मत करना, मेरी गांड फाड़ दो, चोद दो मुझे.

मैंने आपको इतनी बारिश में बुलाया, पर मेरे पास दूसरा कोई ऑप्शन ही नहीं था।”अरे! नहीं नहीं मेडम, इट्स ओके, और वैसे भी कस्टमर को जरूरत के समय सर्विस देना तो तो हमारा काम है। आप गाड़ी का बोनट खोलिए ना मैं देखता हूं प्रॉब्लम कहां पर है।”मैंने कहा- ओके!और वह गाड़ी के आगे बोनट की तरफ गया और बोनट खोल कर देखने लगा, बाहर हल्का हल्का अंधेरा होने लगा था और मुझे जल्दी से जल्दी अपने पीहर पहुँचना था.

मैं उनकी आंखों से आंखें नहीं मिला सकी और अपनी आंखें बंद कर कर उनके लंड को अपने आप ही हिलाने लगी. अंकल ने दरवाजे की तरफ देख कर पूछा- कौन है वहां?मैं सदमे में वहीं खड़ी रह गई. ताऊ जी ने अपने लंड को कोमल की गांड से निकाल लिया और उसके ऊपर से हट गए.