सेक्सी बीएफ सनी लियोनी

छवि स्रोत,सेक्सी लगाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बीएफ बीएफ वाला बीएफ: सेक्सी बीएफ सनी लियोनी, एक दिन की बात है, जब मैं रोजाना की तरह अपनी क्लास खत्म करके आ रहा था.

जिम हिन्दी xxx वीडियो हिन्दी में

यह कह कर मैं उसका पजामा यूं ही खींच कर नीचे करने लगा लेकिन वो नीचे नहीं हो पा रहा था. सेक्सी फिल्म ब्लू फिल्म सेक्सी फिल्मभले ही मेरी उनसे बहुत जमती थी और मैं हमेशा उनसे मज़ाक करता रहता था, लेकिन तब भी मैं उनके बारे में ग़लत नहीं सोचता था.

उसके मुंह से चीख निकल गई जिसे मोटी ने उसके मुंह पर अपना एक चूचा देकर कम किया. बीपी पिक्चर दाखवामेरे एक हाथ से मैंने उनकी मैक्सी को जाँघों तक ऊपर उठा दिया और हाथ फेरने लगा.

अब तो मुझे भी खुद पर नियंत्रण रख पाना मुश्किल हो गया था और मैं जैसे उस पर टूट पड़ा और पागलों की तरह उसे चूमने चाटने लगा.सेक्सी बीएफ सनी लियोनी: फिर उन्होंने पेंटी धीरे धीरे नीचे की और उसे अपनी टांगों से पूरी बाहर निकाल दी.

अभिलाषा कहने लगी- मुझे विश्वास नहीं होता कि इतनी छोटी लड़की, इतने बड़े लंड के साथ आराम से चुदी होगी.यहाँ दोस्त कम और दुश्मन ज़्यादा मिलते हैं फिर तुम्हारे तो बहुत से खास दोस्त हैं, जो काम बनते हुए भी बिगाड़ना चाहेंगे.

राजस्थानी भाभी के सेक्सी - सेक्सी बीएफ सनी लियोनी

अगले दिन सुबह सुबह भाभी के पति का कॉल आया और उन्होंने बताया कि वो आज और नहीं आएंगे.अति उत्तेजना की स्थिति में दीदी ने मेरे होंठों को काट लिया और कुछ ही देर में उसका पानी निकल गया.

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…मैं मुम्बई में पढ़ता था, एक बार मैं ट्रेन से मुंबई से कानपुर लौटा तो चुपचाप घर में आ गया. सेक्सी बीएफ सनी लियोनी हर बार जब लंड घुसने वाला होता था, तो पद्मिनी अपनी कमर हिला देती और लंड एक तरफ हो जाता.

फिर मैंने अपना लंड निकाल कर सबा के मुँह के सामने हिलाया तो वो समझ गई और उसने मेरे लंड को आने मुँह में ले लिया और कुल्फी की तरह लंड चूसने और चाटने लगी.

सेक्सी बीएफ सनी लियोनी?

जैसे कोई मस्ती भरी सनसनाहट पूरे जिस्म में दौड़ गयी हो।जबकि अहाना ने दोनों हाथ नीचे करके सलवार का जारबंद खोल दिया और मुझे कंधों से दबाते हुए पीठ के बल लिटा दिया और मेरी पैंटी में उंगलियां फंसाते उसे यूँ नीचे किया कि सलवार समेत उतरती चली गयी।अब हम दोनों बहनें एक जैसी अवस्था में थीं. और वहाँ से कल्याण के लिए फ़ास्ट ट्रेन पकड़ी तो ट्रेन में चढ़ते ही किसी ने मेरा लन्ड पकड़ा. अब वो मेरी पत्नी की तरह पेश आती है और मेरी सारी जरूरतों को पूरा करती है.

अब तो उनको भी भरोसा इतना हो गया था कि मैं जब भी पिक मांगता तब ही मुझे पिक मिल जाती थी. हम एक दूसरे को तब तक चूमते और चाटते रहे, जब तक हमने एक दूसरे को स्खलित नहीं कर दिया. अब शराब सिगरेट और सुंदरियों की चूत का जलवा मेरे सामने जन्नत का नजारा पेश कर रहा था.

कुछ देर आराम के बाद मैंने बिना उनके कहे अपना लिंग उनकी योनि में डाला और कार्यक्रम दोबारा शुरू किया लेकिन इस बार सब मजे से सही सही हो गया।जब मैं वापिस आने लगा तो उन्होंने मुझे थैंक्स बोला और कुछ पैसे दिए. मैंने लंड ठेलते हुए पूछा- भाभी भैया आपको चोदते नहीं हैं क्या, आपकी चूत तो काफ़ी टाइट है. और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी.

हर झटके पे उनकी हिचकी सी निकलती, लेकिन फिर भी वो मुझे देखे जातीं और मैं उन्हें. लेकिन मुझे यह सही नहीं लगा क्योंकि मेरा पुत्र ही शादी योग्य हो रहा है तो मैंने अपनी दूसरी शादी का विचार पहली बार में ही रद्द कर दिया और मैंने तय किया कि मैं अपने बेटे का विवाह करूंगा.

मैं अंदर चला गया और उनका एक पैर को बाथरूम में बनी सेल्फ़ के ऊपर रख दिया और नीचे बैठ कर उनकी साबुन वाली चूत को धो कर चाटने लगा और अपनी पूरी जीभ उसमें डाल दी.

रानी का मुंह रस से लबालब था, लौड़ा अंदर बाहर होता तो सड़प… सड़प… सड़प की आवाज़ें निकलती थीं.

मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागफ़ेसबुक पे पटा कर चंडीगढ़ में चोदा-1में आपने पढ़ा कि फेसबुक पर मेरी दोस्ती एक लड़की से हुई, बात आगे बढ़ी और मिलने तक पहुंची, मिलने के बाद सेक्स तक पहुंची और आखिर हम दोनों पहुँच गए होटल के कमरे में!अब आगे:और फिर आरुषि ने मुझे अपने ऊपर खींचते हुए दोबारा से मेरे होंठ जकड़ लिए अपने होंठों में और आँखों ही आँखों में मेरे ऊपर आने की इच्छा जताई. मेरी सेक्सी भाभी की उम्र 25 साल और लम्बाई 5 फुट 5 इंच है, भाभी दूध की तरह गोरी हैं, उनकी ब्रा का नम्बर 34 था और पैंटी का 32 जो कि मुझे बाद में पता चला था जब मैंने ब्रा पैंटी छत पर सूखती हुई देखी थी।भैया भाभी के स्तन ब्रा के ऊपर से दबा रहे थे भाभी धीरे-धीरे विरोध कर रहीं थीं और सिसकारियाँ भी ले रहीं थीं. मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और पूरी नंगी होकर फूफा जी के बिस्तर में उनके साथ जाकर लेट गयी.

मैं बिल्कुल निढाल हो कर बिस्तर पर फैल गया और अपनी सांसों को काबू पाने की चेष्टा करने लगा. रात में 2-3 बजे तक भी फोन चैट हुआ करती, जिसमें कभी कभी सेक्सी बातें भी हुआ करती थीं. केबल पर टाइटैनिक मूवी आ रही जो कि मेरी पसंदीदा मूवी है, तो हम टाइटैनिक मूवी देखने लगे.

वो एकदम से चिल्लाई और उसने मेरे होंठों से होंठ लगा कर किस करने लगी.

जैसे ही मैंने ज्योति की चूत के दाने पर अपनी जीभ लगाई, तो ज्योति ऐसे उछली, जैसे उसे 1000 वाट का करंट लगा हो. मेरी बहन की चुदाई की सेक्स स्टोरी के पिछले भागमौसी की चुदासी बेटी की चुदाई की कहानी-2में आपने पढ़ा कि मेरी बहन मेरे साथ सेट हो गयी थी, अब हमें खुल कर चुदाई करने के लिए मौका चाहिए था. वो अपनी टाँगें थोड़ी मोड़ कर फैला कर लेट गयी, मैं उसकी गोरी चिकनी टांगों के बीच में आया और अपना लंड उसकी चूत पर रख कर रगड़ने लगा.

अलका चिहुंक उठी… मेरी गर्दन छोड़ के मुंह अलग किया और ज़ोर से सीत्कार भरी. अब कुछ नज़र नहीं आ रहा था, बस बाप के चूतड़ हिल हिल कर आगे पीछे हो रहे थे. उन्होंने पैर से ही मेरे बॉक्सर को नीचे कर दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं.

इस तरह से पूरी रात बिता कर जब सुबह उन लड़कों ने कहा- अब चलो वरना कोई पहचान लेगा.

जैसे ही मनोहर की जीभ मेरी जांघों में चलने लगी, मैं पूरी की पूरी मदहोश होने लगी. मैंने मौका देखते ही एक जोर का प्रहार उसकी चुत में किया वो एक बार चीखी उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह… और शांत लेट गयी!वो समझ चुकी थी कि अब देर हो चुकी है, उसने किसी गैर मर्द का लन्ड अपनी चुत में घुसवा दिया है अब या तो अफसोस करो या मज़ा… उसने मज़ा चुना और मेरा साथ देने लगी!अब वो मस्ती में चुद रही थी, उसके नाखून मेरी पीठ को चीर रहे थे जो इस बात के भी गवाह थे कि वो किस कदर आनन्द के सागर में गोते लगा रही है.

सेक्सी बीएफ सनी लियोनी अब मैं धीरे धीरे उसके दोनों मम्मों के दूध को पीने लगा और मजा लेने लगा. लेकिन मैंने उनकी बातों पर ध्यान ना देकर धक्के लगाना शुरू किया, मेरे प्रत्येक जोरदार धक्के पर उनकी चीख स्वाभाविक थी ही… साथ में कुछ आंसू थे, वो अलग!तो मैंने धक्कों की रफ़्तार थोड़ी कम कर दी.

सेक्सी बीएफ सनी लियोनी इससे ज्योति को बहुत तेज दर्द हुआ लेकिन काजल दीदी के होंठों में होंठ फँसे होने के कारण उसकी चीख नहीं निकल सकी. मैं जानता था कि सोनिया मुझे रात को क्यों बुला रही है, मगर मैंने अनजान बनते हुए सोनिया से कहा- क्यों कोई काम है क्या आपा?तो उसने बताया कि वो रात को ही बताएगी.

मुझे यह जान के बहुत खुशी हुई और आप सबने जो मुझे मेल किये, सबके मेल का भी बहुत बहुत शुक्रिया। आप सब के इसी सहयोग से अब मैं अपनी एक और नई और सच्ची कहानी के साथ हाज़िर हुआ हूं। मुझे पूरी आशा है कि मेरी यह कहानी भी आपक सब पाठकों को पसंद आयेगी.

પતિ પત્ની સેકસ

तभी मेरा मुठ निकला और इतना तेज गति से निकला कि उसकी बेटी मेरे सामने थी, उसकी चुची पर पिचकारी लगी. मैं तो देखते ही घबरा गया कि इतना मोटा ओर बड़ा लंड दीदी कैसे अपनी चूत में लेती होंगी. ये सुनकर मेरी वाइफ बोली- नहीं उनका नहीं, कोई तुम्हारा फ्रेंड हो जिसका लंड भी तुम्हारे जैसा लंबा मोटा हो तो उसको बुला लो.

सब लोग हंसने लगे।मैंने अंदर से अपने आपको बहुत छोटा महसूस किया। सौभाग्य से मेरे लिंग का दिमाग कुछ अलग ही चल रहा था, उसे पता था कि जब एक कामुक स्त्री छूकर प्यार करती है तो कैसे जवाब देना है, तुरंत ही वो पूरी तरह से खड़ा हो गया, और मैडम से हाथों के झटके मारने लगा।मुझे नहीं पता कि तुम लोगों को ऐसा क्यों लगता है कि यह समलैंगिक है. फूफा जी का हाथ भी मेरी कमर पर आ गया और वो भी मेरे चुम्बन का साथ देने लगे और मेरी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे. पहले तो मैंने मना कर दिया, लेकिन बाद में सोचा इतने दिनों कोई लड़की नहीं पटी है, अब जब खुद पट रही है तो क्यों छोड़ू.

मैंने भाभी के होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और फिर से एक ज़ोर का धक्का मारा.

चूंकि मुझे बुखार था, मैं ढीली पड़ती जा रही थी मगर वो छोड़ ही नहीं रहा था. थोड़ी देर बाद आपका लन्ड झड़ गया और आप सो गए और मैं सारी रात तड़फती रही अपनी चूत रगड़ती रही. मेरी कोशिश हालाँकि कामयाब नहीं हो सकी क्योंकि चूत के अन्दर पहले से ही आर्थर का ताकतवर लंड उछल-कूद मचाए हुए था.

उनकी सलवार समीज चुस्त थी, तो शरीर की सारी बनावट साफ साफ समझ में आ रही थी. अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेहद खूबसूरत और हसीन कामवाली पिंकी मेरे साथ ही सोने लगी. दो घंटे बाद उठ कर मैंने उनसे कहा- अब से अब घर में या तो पूरी नंगी रहोगी या सिर्फ पेंटी में रहोगी और जब बाहर जाओगी तो बिना पेंटी के ही जाओगी.

मैंने बिना देर किए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और ब्रा को अलग कर दिया. मेरा नाम रिशु है मैं जब स्कूल में पढ़ता था, उस समय से ही मुझे देसी औरतों की सेक्स वीडियो और अन्तर्वासना पर उनकी चुदाई की कहानी पढ़ने का बड़ा शौक लग गया था.

मैंने उनकी आँखें अपने हाथों से बंद कर दीं क्योंकि अब मेरे लिए ही आँखें खोले रखना मुमकिन नहीं था. मुझे ऐसा लगा कि ये बहुत जोर से चिल्लाने वाली है तो मैंने उसके लिप लॉक कर दिए थे, अब तक मेरा आधा लन्ड अंदर जा चुका था और वो रो रही थी, तो थोड़ा टाइम रुका और उसके बूब्स के साथ खेलने लगा. आंटी ने मेरा सर पकड़ लिया और प्यार से मेरे बालों को सहलाते हुए बोली- ओह ह प्रशांत! यह सब करना जरूरी है क्या बस जल्दी से जो करना है कर के चोद दे.

दस मिनट तक ऐसे किस करने और उसके बूब्स दबाने के बाद मैंने मेरा हाथ उसके पैंटी के अंदर डाल दिया और आगे पीछे करने लगा जिससे वो और गर्म हो चुकी थी.

मैं अंदर चला गया और उनका एक पैर को बाथरूम में बनी सेल्फ़ के ऊपर रख दिया और नीचे बैठ कर उनकी साबुन वाली चूत को धो कर चाटने लगा और अपनी पूरी जीभ उसमें डाल दी. तब जाकर पीयूष बोला- ठीक है जैसा तुम बोलो, मेरा भी तुम्हें देख कर बहुत मन करने लगा है. धीरे-धीरे जो जवानी आप आरिफ मियां के पीछे फूँक डालेंगी, वह फिर कभी वापस नहीं आनी और आरिफ भाई का क्या है, वे तो सब मज़े ले ही रहे हैं.

मेरे जीजा ने मेरी दीदी को घुटनों के बल बिठा कर उसके मुँह में अपना लौड़ा दे दिया. मैं जल्दी से किसी से दोस्ती नहीं करता और अगर करता हूँ तो दिल से निभाता हूँ.

मेरी सेक्सी कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहन और भी को सेक्स करते देखा तो वे दोनों मुझे समझाने लगे कि वे क्या कर रहे थे. मुझे जब दर्द होता था तो मैं उसको बोल देती थी कि मेरी चूत में दर्द हो रहा है तो वो लंड निकाल कर मेरी चूत को चाटने लगता था और जब मेरी चूत का दर्द खत्म हो जाता था, तो वो मुझे दुबारा चोदने में लग जाता था. अन्तर्वासना के सभी पाठको को मेरा नमस्कार!यह कहानी मेरे और मेरी मौसी के बीच शुरू हुए चुदाई के सफ़र की है।यह मेरी पहली कहानी है अतः कोई गलती हो तो माफ़ करें।दोस्तो, मेरा नाम राहुल (बदला हुआ) है, मैं कानपुर का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 22 साल है, मेरी लम्बाई 5.

पंजाबी बीएफ सेक्सी

कुछ जोरदार झटकों के साथ हमारा दोनों का एक साथ ही निकला और हम ऐसे ही पड़े रहे.

भाभी ने कुछ देर मुझको देखा और फिर मुझको देखते देखते ही उखड़े साँसों में बोलीं- आई अम्मी. मेरी तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गयी हो, मैंने भी हां बोल दिया और मैं माँ और बेटी के बीच वाली सीट पर बैठ गया. उनकी जांघों को मैंने क्रास करके अपने हाथों से पकड़ लिया और अपना मुँह पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत में घुसेड़ दिया.

दो दिन बाद उसने मुझे फिर से मिलने के लिए बुलाया और कहा- कुछ ले कर आना!उसके कहने का मतलब था ‘कंडोम…’ मगर खुल कर नहीं कहा उसने. फिर अपना हाथ मेरे नंगी जांघों से चलाते हुए मेरी पैंटी की इलास्टिक खींचकर अन्दर घुसा दिया. সানি লিওনের ভিডিও সেক্সিयह कोई खास बात नहीं थी। घर के बाकी लोग ऊपर कम ही आते थे, बस कभी मैं या सना ही ऊपर टहलते थे।एक फिल्म दिखाऊं तुझे?” उसने गौर से मेरी आँखों में झांकते हुए कहा।कैसी फिल्म?” मैं उलझन से उसे देखने लगी।उसने हाथ में पकड़े मोबाइल जो कि एन सेवेंटी था, पर कोई फिल्म लगा कर मुझे पकड़ा दी।अंधेरे में कोई फिल्म थी शायद.

हमने कपड़े पहने और हम कमरे के बाहर खुली जगह में बैठे। तब तक पांच साढ़े पांच बजे होंगे, जीजाजी बोले- अभी टाइम है, आपको नाश्ता मंगाते हैं, अब तो कई गाड़ियां हैं. भाभी की चुत भी इतनी अधिक रसीली हो चुकी थी कि भाभी ने दांतों पर दांत दबाए और लंड को लील लिया.

वहां जाते हुए जूसी रानी ने फिर से मेरी बांह पर चुटकी काट कर फुसफुसाते हुए कहा- ये क्या बदमाशी कर रहा था तू… हैं? बहनचोद आराम से फोटो नहीं खिंचवा सकता था?मैंने कहा- डार्लिंग जूसी रानी, तेरे साथ तो हर वक़्त ऐसी बदमाशी करने का मन करता रहता है, तो बोल क्या करूँ?चुप रह कमीने… लोग देख लेते तो क्या सोचते… कुछ तो ध्यान रखा कर कि कहाँ है, किसके सामने है!”मैंने कहा- जूसी रानी…. शबाना का फिगर 32-26-32 का था, जिसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए और रंग ऐसा, जैसे कि बॉलीवुड की पुरानी तारिका सायरा बानो दूध से नहाकर आई हो. मैं उसकी चुत चाटने लगा तो वो बोली- ये क्या कर रहे हो?मैं बोला- यही तो असली चुदाई का मजा है.

कुछ देर तक ऐसे ही हमारी सामान्य सी बातचीत होने लगी और हम पार्क के एक किनारे पर रखी बेंच पर बैठ गए. अब मैंने उनका एक हाथ अपने लंड पर रख दिया, जिसे वो अंडरवियर के ऊपर से ही सहलाने लगीं. तब मैंने बिना देर किए उसकी बुर पर अपना लंड सेट किया और एक धक्का मारा, वो बहुत ज़ोर से चिल्लाई.

वो दस मिनट बाद आई, उस समय उसकी लिपस्टिक होंठों से ऐसे हो चुकी थी कि किसी ने उसको बुरी तरह से चूमा चाटा है.

लगभग 5 मिनट तक चूत के आस पास मसाज करता रहा क्योंकि चूत के आस-पास मसाज करने से औरतों को बहुत सुकून मिलता है और उन्हें मजा भी आता है. अब तक की इस हिंदी में चुदाई की कहानी में आपने जाना था कि बाप अपनी बेटी से अपने लंड की मुठ मरवा रहा था, उसे मर्द के लंड की मुठ मारना सिखा रहा था.

रजिया को यकीन नहीं कि ऐसा होता है, इसे करके ही दिखा देते हैं।”ठीक है।”उसने झट से कुर्ता उतारा, ब्रेसरी तो रात में पहनती ही नहीं थी और फिर झुक कर सलवार और पैंटी भी उतार दी।हाय. फिर दूसरा बोला- हम दोनों को आपकी चुत मारनी है, अगर आपने मना किया तो हम ये वीडियो नेट पर डाल देंगे. इस पर प्रकाशित स्टोरीज पढ़कर अपनी एक स्टोरी आप लोगों के सामने पेश करने का मुझे भी मन हो रहा है.

मेरी कॉलगर्ल बनने की गाथा आपको कैसी लग रही है? आप मुझे मेल करें![emailprotected]कॉलगर्ल की कहानी जारी है. दस मिनट लंड चुसाने के बाद मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी टाँगें खोल कर उसकी चुत को फैला दिया. भाभी साड़ी के ऊपर से ही मेरा सर दबा कर तेज तेज सिसकारी भरने लगीं- आह ओऊऊऊ ओह आआआह और तेज…उनकी गर्मी बढ़ रही थी.

सेक्सी बीएफ सनी लियोनी डॉली भी उठ कर एकता को किस करने लगी और एकता के हिप्स पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी. फिर उसने लिंग को लार से भी चिकना किया ही होगा।वह योनि की कसी दीवारों पर दबाव डालता अंदर तक धंस गया और दीवारें चरमरा कर रह गयीं। दर्द हो रहा था, यह अपनी जगह सच था लेकिन दिमाग पर चढ़ा नशा इतना गहरा था कि दर्द पर हावी हुआ जा रहा था।फिर वह खुद भी लद गया मुझपे और उसने अहाना को हटा दिया.

लड़की चूत वाली

दीदी- साले हरामी, सीधे सीधे क्यों नहीं कहता कि तुझे दूसरी चुत चोदने की चुल्ल हो रही है. मेरे चूतड़ बहुत गोल और बाहर को निकले हुए हैं जिनको देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये. मगर तुम उसको अनसुना करके बोलना कि पैसे दिए हैं तो पूरा मज़ा लेंगे ही.

सब लोग ग्रुप फोटो के लिए फोटोग्राफर की सुझाई हुई जगह पर इकट्ठे होने लगे. तब चाची बोलीं- अबे यार, कितने फट्टू हो तुम…तो मैं बोला- मतलब?मतलब ये कि तुम्हारी मामी ने तुमसे कुछ भी उल्टा सीधा झूठ बोला और तुम सच समझ बैठे?”तो मैं बोला- डिटेल में बताएंगीं?तब मामी बोली- अबे मूर्ख मैंने झूठ कहा था कि पिछले दरवाजी की चाबी मेरे पास है और तूने सच मानकर सब बक दिया. ब्लू पिक्चर सेक्सी दिखाइएफिर मैं बुधवार को घर से जल्दी निकल गया क्योंकि उसका शहर थोड़ा दूर था.

वो दस मिनट बाद आई, उस समय उसकी लिपस्टिक होंठों से ऐसे हो चुकी थी कि किसी ने उसको बुरी तरह से चूमा चाटा है.

मैं देखने में हैंडसम हूँ, लेकिन फिर भी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. मैं बिल्कुल सिमट के चिपक गई थी कि तभी लालजी ने अपनी उंगली मेरी चूत में डाल दी.

जाहिरी तौर पर तो वह एकदम मेरे जैसी ही थी। बहनें होने की वजह से यह समानता तो होनी ही थी। क्या वह अंदर से भी मेरे जैसी ही थी?अब तुम देखो. उन सभी के जाने के बाद मैंने सोचा कि आज बुआ से बोल ही दूँगा कि मैं उनको प्यार करता हूँ. जूसीरानी… कौन देखता… या तो शादीशुदा मर्द देखते तो उनको भी अकल आ जाती कि अपनी पत्नियों को कैसे प्यार करना चाहिए… अगर शादीशुदा लड़कियां देखती तो वो अपने पतियों को डांटती कि कमीने ऐसे प्यार किया जाता है… और अगर कुंवारे लड़के या लड़कियां देख लेती तो उनको पता चल जाता कि कैसे इश्क़ लड़ाना चाहिए… इसमें प्रॉब्लम क्या है सबके फायदे का दृश्य होता न.

मैंने भाभी को सीधा किया और बेड से नीचे खड़े खड़े उनकी टांगों को अपने कंधे पर रखा और अपना लण्ड उनकी सुलगती चूत के अंदर डाल दिया और लगा धक्के पर धक्का मारने.

अब मैं ज़ोर ज़ोर से उनके मम्मों को दबाने लगा और उनके निप्पलों को चूसने लगा. दरअसल, इससे मैं कुछ खुली हुई हूँ तो मैंने बता दिया कि यहीं इकट्ठे सोते हैं. हम लोगों का परिवार शहर में गाँव से आकर बसा था, वहाँ मेरे पड़ोस में भी एक परिवार कहीं से आकर बस गया था.

चुड़ै दिखाओ चुदाईराज शॉट पे शॉट मारता चला गया और मधु उस जोरदार चुदाई का मजा लेने लगी. कैसे समझाऊं, किसे समझाऊं कि जब मर्द पास नहीं होता तो कैसा महसूस होता है उसकी जवान बीवी को।”बहुत सी औरतें इसका इलाज ढूंढ लेती हैं.

सेक्सी सीन बीएफ

दीदी मुझे मुक्का मारते हुए बोली- साले, मेरी चूत में बहुत दर्द हो रहा था. जिस पर अंजलि भी सिसकारी भरने लगी!तभी शीतल ने शिवानी की स्कर्ट उठा कर बियर उड़ेल दी जिससे शिवानी की पैंटी गीली हो गयी और मुझे बोली- भैया, अब आगे बढ़ो और पूरी पैंटी चाटो!मैंने शिवानी की स्कर्ट उठा कर उसकी चूत पैंटी के ऊपर से चाटनी शुरू कर दी. वो बोली- नहीं यार ऐसी कोई बात नहीं है, अब मैं तुम्हें हर रोज़ तो तंग नहीं कर सकती ना.

मेरे लंड में खून दौड़ने लगा और वो जल्द ही कठोर हो गया; कुछ सेकंड्स में वो पत्थर की तरह कठोर हो गया और नताशा के मुंह के भीतर ही टनटनाने लगा. तभी मेरे दिमाग़ में एक आईडिया आया, मैंने कुछ सोचा कि क्यों ना मैं घर पर ही रुक जाऊं. जिस प्रकार पति/पुरुष के दिल का रास्ता उसकी जीभ से होकर गुजरता है उसी प्रकार पत्नी/महिला की चूत का रास्ता उसके रसीले होंठों से गुजरता है!स्त्री के होंठ अगर प्यार से और बढ़िया अंदाज में चूसे जायें तो उसे उत्तेजित करने के लिए उतना ही काफी है, मंजू का हाल भी कुछ ऐसा ही था, वो खुद को समर्पित कर देना चाहती थी!मैंने उसके होंठों का रसपान जारी रखा और एक हाथ उसके लोवर में डाल दिया.

हमारी बातें चल ही रही थीं, तभी मैंने अचानक से भाभी से पूछा- आपने अभी तक कोई बच्चे के बारे में क्यों नहीं सोचा. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:सास विहीन घर की बहू की लघु आत्मकथा-4. सुकन्या ने होटल में जाने से मना कर दिया था कुछ व्यक्तिगत कारणों से, मैंने ज्यादा दबाव नहीं डाला इसलिए जगह का चुनाव थोड़ा मुश्किल हो रहा था.

तीसरे लड़के मेरे दोस्त को देख कर पूछने लगी- इसे क्या हुआ? ये लंगड़ा कर क्यों चल रहा है?तब मैंने मजाक से कहा- रास्ते में हम लोगों का एक्सीडेंट हो गया था तो उसे चोट लग गयी है. पहले तो उसने ना नुकुर की लेकिन मेरे जोर देने पर वो मान ही गई और मैंने उसका टीशर्ट उतार दिया। उसकी अर्धविकसित गोलाइयाँ देख कर मेरा मुंह खुला का खुला रह गया था। कम रोशनी में अर्धनग्न अवस्था में वो कमाल लग रही थी.

ये मेरी पहली चुदाई थी तो मैं इसके हर पल को एंजॉय करना चाहता था और सबसे बड़ी बात, भाभी जिस खुशी से इतने महीने से महरूम थीं, वो खुशी भी मैं उन्हें देना चाहता था.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं मर गई… साले भोंसड़ी के… आराम से नहीं घुसा सकता था…इस तरह से अब मेरी पुत्रवधू मुझे खुल कर गालियाँ दे दे कर चुद रही थी. आदिवासी सेकसतो कोई खास परेशानी हुई भी नहीं।हम फिर फिसलने लगे लेकिन अब अहाना जीत जाती थी सिंगल शरीर के कारण।फिर पीठ के बल हो कर उल्टी फिसलन हुई।इसके बाद उसने एक अजीब खेल किया कि गैलरी के अंतिम सिरे पर मुझे और अहाना को बारी-बारी इस तरह टिका दे कि हमारी दोनों टांगे आखिरी हद तक फैल जायें और उसे हमारी एकदम खुली पुसी दिखती रहे. सेक्स सेक्स चुदाई वीडियोमैंने बेड के नीचे खड़े हो कर उसकी चिकनी गाण्ड और चूतड़ों पर प्यार से हाथ फिराया, उसकी चूचियों को पकड़ कर मसला और अपनी उँगलियों से चूत को खोला, उसमें लण्ड का सुपारा रखा, धीरे से जोर लगा कर अन्दर किया तो आधा लण्ड अन्दर चला गया. इस पोज़ में वो बड़े तगड़े तगड़े धक्के मार सकती थी और वैसा ही कर रही थी.

अब मैंने अपना लंड उसकी गांड पे रखा और थोड़ा सा अन्दर डाला तो वो हल्के से चीख उठी और बोली- नहीं.

आपको मेरी सेक्सी कहानी कैसी लग रही है, मुझे इमेल करके अपने विचार मुझ तक अवश्य पहुंचायें!धन्यवाद. क्या मुझे घर के बाकी लोगों को बुलाना चाहिये?लेकिन इससे ज्यादा मुझ पर यह उत्कंठा भारी पड़ रही थी कि आखिर पहले या अब ये भाई बहन नंगे होकर क्या रहे थे?इस कशमकश में कम से कम इतना वक्त तो गुजर गया कि राशिद अपनी लोअर पहनता बाहर निकल आया और बाहर अकेले मुझे देख ऐसा लगा जैसे उसकी जान में जान आई हो।तुम यहां क्या कर रही हो?” उसने धीरे से मेरा हाथ पकड़ते हुए कहा।अहाना को ढूंढ रही थी, पर तुम लोग कर क्या रहे थे. वो अभी किशोरावस्था में थी, लेकिन देखने में पूरी भरी हुई जवान कचौड़ी सी फूली 18 साल से कम नहीं दिखती थी.

फिर कुछ दिन ऐसे ही बीत गए लेकिन मेरी चुत मारने की कसक बहुत बढ़ गई थी. जैसे ही उससे आँखें चार हुईं, मुझे फ़ौरनमालूम हो गया कि इस क़यामत को चोदना तो पड़ेगा ही, वर्ना चैन नहीं मिलेगा. मैं अंदर चला गया और उनका एक पैर को बाथरूम में बनी सेल्फ़ के ऊपर रख दिया और नीचे बैठ कर उनकी साबुन वाली चूत को धो कर चाटने लगा और अपनी पूरी जीभ उसमें डाल दी.

डब्ल्यूडब्ल्यूई का सेक्स

फिर चुत को खोला और अपनी उंगली की, मगर ध्यान उसका मेरी चूत के मटर पर था. शादी के दौरान खाला ने मेरे साथ खूब अपनी सेल्फ़ियाँ ली और मुझसे पूछा कि मेरी कितनी गर्लफ्रेंड हैं. जिस ऑफिस से पासपोर्ट बन कर आया था, वहाँ के किसी आदमी ने मुझे चोद रखा था, तो उसको पता लग गया और उसने उस दलाल को भी इस बारे में बता दिया.

मुझे कुछ नहीं पता था इसलिए मैंने पहली बार में ही 3 उंगलियां एक साथ डाल दी.

फिर वो कमरे में जाकर अपने बच्चे को पानी पिलाकर अच्छे से सुलाकर आ गई.

और कुछ दिनों के बाद मुझे पता चला कि यह लड़की ऐसे ही लड़कों के साथ टाइम पास करती है. मैं उसे जल्दी से उसके होटल छोड़ने निकल गया, रास्ते में हमने किस किए. एक्स पोर्नवो मुझे कुत्ते कुतिया की चुदाई के बाद दोनों की चुत लंड फंसने के सीन के बारे में बताता हुआ डरा रहा था.

आआआ… फट गई! आआआआ… ओओओओओ… मर गई! प्लीज निकाल लो…”आर्थर ने घबरा कर अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो नताशा कराहते हुए बोली- ओओओ ओओओह… कितना भयंकर धक्का था! ऐसे तो मेरी छोटी सी गांड ही फट जाएगी!! तुम प्लीज बस मेरी चूत में ही डालो…बस डार्लिंग! इतने में ही फट गई… तुम तो कह रही थी, कि तुम रिया सन से भी अच्छी तरह कर सकती हो?” आर्थर ने होंठों पर ब्य्यंग पूर्ण मुस्कान के साथ कहा. सभी लोग रात में टीवी देखते तो वो उस वक्त वे मेरे बेड पर आ कर बैठ जाती थीं. तो मैंने कहा- एक दिन में एक ही कहा था मैंने!तो वो बोलीं- कम से कम कप्तान को तो इतनी रियायत होनी चाहिए!तो मैं बोला- ठीक है… लेकिन ये पहली और आखिरी बार होना चाहिए!और मैंने सुकून के साथ उसके और अपने कपड़े उतारे और हमने एक दूसरे को चूमना चाटना शुरू किया.

अब तक आपने भाई बहन की चुदाई की कहानी ले पहले भागट्रेन में भाई ने बहन की चुत को चोदा-1में जाना था कि मेरे भाईजान से चुदने के लिए मैं खुल चुकी थी और मैंने उनको कह दिया था कि मुझे चोद दीजिए. भाभी- अगर तुम्हारे भैया जी को यह पता चल गया तो?मैं- अरे भाभी इस कि बात तो केवल आपको और मेरे को ही पता रहेगी और अपन दोनों पागल नहीं है जो भैया को ये बात बताएंगे.

तब वो दोनों अफसोस करने लगी तब तीसरे दोस्त ने कहा- नहीं नहीं, कोई एक्सीडेंट नहीं हुआ, ये मेरे बचपन से है.

मैंने भी बिना देर किए लेटे हुए ही अपनी टी शर्ट उतार फेंकी उसने अपना सर मेरे सीने में दबा लिया और मेरा चेस्ट छूने लगी. मैं नीचे बैठा और उनकी साड़ी के अन्दर घुस कर उनकी पेंटी निकाली और चूत को चाटने लगा. वह खामखाह में अपनी मुनिया थोड़े रगड़ रहा था।” इस बार अहाना ने कहा।लल… लेकिन तब पूछा था तो क्यों नहीं बताया था।”क्योंकि तब ठीक से समझा नहीं सकती थी.

सेक्सी बफ वीडियो देहाती अब हमेशा ही उसका ध्यान मेरे पजामे पर रहता और वो मेरे खड़े लौड़े को देखती रहती. तभी दरवाजा खुला और माधुरी केवल एक तौलिया में बाहर निकली, उसे देखते ही मेरे को पसीना आ गया.

इसके पहले कि वो संभल पाती मैंने उसके मुंह से मुंह चिपका दिया एवं अपने होंठों के बीच से जीभ निकाल के उसके होंठों पर फिराने लगा. भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आहा ह्ह्ह्ह आह्ह ह्ह्ह ऊह्ह्ह ह्ह… ये बहुत बड़ा है. उससे ज्यादा ही कड़क साबित होगा।”मैं अपने तौर पर विरोध करती तो रही लेकिन खुद से जानती थी कि विरोध का कोई मतलब ही नहीं था। दोनों से हमारा समान रिश्ता था और उससे ज्यादा कोई बात ही नहीं थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी एचडी बीएफ

आपको पता था भाभी पीरियड से हैं तो आप चूत तक हाथ नहीं लेकर गए और धोखे में मेरे पूरे जवान और कुंवारे बदन को मसलते रहे. उसकी जवान कड़क चुची आह… कसम कोई हिज़ड़ा ही होगा जिसका लण्ड खड़ा ना हो जाए मेरी नंगी बहू को देख कर!मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसकी एक चुची क़ो चूसना चालू किया तो पूजा भी जाग गई- पापा क्या हुआ? आपका लंड तो फिर से मूसल जैसा कड़क हो गया. यहाँ मैं आपको बताना चाहूँगा, कि मैंने हाल ही में अपने फ्लैट में कैपिटल रिपेयर करवाई थी और हाई ग्रेड सीमेंट के साथ री ग्राउटिंग भी, खास तौर पर अपने घर को साउंड प्रूफ करने के लिए! क्योंकि पहले जब सेक्स के समय नताशा चिल्लाती थी तो उसकी आवाज किसी रेल के इंजन की तरह सारे घर में गूंजती थी और अवश्य ही पड़ोसियों को भी सुनाई देती थी.

राशिद चोदे तो ठीक और हम कहें तो दिमाग खराब है। वह रंडियों वाले आसन हैं सब इसमें. जैसे ही मैंने मैडम के नितम्बों पर हाथ रखा… यकीन मानिए दोस्तो, उससे चिकनी चीज आज तक मैंने नहीं देखी थी.

वे मुस्कुराए, उन्होंने मेरे चूतड़ों पर हाथ फेरते हुए कहा- केवल अंडरवियर में सर्दी नहीं लगेगी?मैंने कहा- पर रजाई में होंगे!वे फिर मेरे चूतड़ इसी बहाने टटोलते बोले- कपड़ा बहुत पतला है।फिर चूतड़ों में हाथ घुसा दिया- हां, पर ठंडे तो ज्यादा नहीं हैं।मेरा सीना सहलाने लगे- ज्यादा सर्दी आपको नहीं लगती?फिर हम दोनों लेट गए.

क्या आज आप खेत में नहीं जाओगे?उसके एकदम से उठने के कारण बापू पद्मिनी के आगे घुटनों पर आ गया और जल्दी से उसकी कमर पर दोनों बाँहों को लपेटे हुए, कुछ कमर पर, बाँहों का कुछ हिस्सा पद्मिनी के चूतड़ों पर था. अभी मेरा पानी निकलना बाकी था… मैंने उनको घोड़ी बनने के लिए कहा… और पीछे से चोदने लगा… और 20 मिनट बाद मेरा होने आया था. मेरे लिये उसका इतना इशारा तो काफी था, मैं भी अब जोर से उसके रशीले होंठों को चूसने लगा, साथ ही मैं अपना एक हाथ अब उसकी कसी हुई गोलाइयों पर भी ले आया.

वो टिफिन लेकर किचन में गईं तो अंकल के ड्यूटी जाने और बच्चों के स्कूल चले जाने के कारण, घर में उनको अकेली देख मेरा साहस बढ़ गया. उसके मुंह से गर्म गर्म साँसें हाँफते हुए मेरे घुटनों को भी गरम कर रही थीं. मैंने पहले तो उन पर ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं अपने काम में ही बहुत व्यस्त रहता था.

जब उसने मेरी चुत को पूरा लाल कर दिया, तब उसने अपनी ज़ुबान मेरी चूत में हिलानी शुरू कर दी.

सेक्सी बीएफ सनी लियोनी: अब अपने मन में पद्मिनी बोली- हाय राम… बापू तो शुरू हो गया… मैं क्या करूँ अब… चलो देखती हूँ कि कहाँ तक उसकी पहुँच होती है. फिर मैंने उसको पूरे बदन को किस किया पैर पर, उसके घुटनों पे, उसके पैरों की उंगली से लेकर पूरे बदन पर चूमा.

फिर जब उस ने मेरी अंडरवियर को धीमे से नीचे खींचा तो मेरा लंड स्प्रिंग की टेंशन की तरह उछल कर 90 डिग्री पर खड़ा हो गया. उस रात को मैं ये देख कर अपने कमरे में आया और सोचा कि बहन को लौड़े की ज़रूरत है, मुझे घर पर हो रहे रोज़ के कलेश को भी खत्म करना था, तो मैंने सोचा कि बहन की चुत की खुजली मिटानी पड़ेगी. अब मैं धीरे धीरे उसके दोनों मम्मों के दूध को पीने लगा और मजा लेने लगा.

तो वह ब्रा पहनने के बाद मेरी तरफ मुड़ी और उसकी छोटी सी ब्रा में कैद चूचियां मुझे दिखाई देने लगीं.

चाची ने हंसते हुए लंड को मुँह में ले लिया और मेरे अण्डकोष सहलाते हुए लंड चूसने लगीं. उस लड़के ने मेरी स्कीम के तहत कोल्ड ड्रिंक के नाम पर उसे शराब मिला कर पिला दी. मैंने नीचे से उसकी साड़ी और पेटीकोट को खोल कर निकाल दिया और उसकी लाल रंग की पेंटी को भी निकाल कर अलग कर दी.