बीएफ सेक्स वाली हिंदी

छवि स्रोत,एचडी सेक्सी वीडियो सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फोटो बीपी: बीएफ सेक्स वाली हिंदी, वो दो मिनट बाद दीवार के पास आयी और बोली- मरवावगा कती! (मरवाएगा तू तो बिल्कुल)धीरे से मैंने कहा- नहीं, तू मर गई तो मेरा क्या होगा … बस एक किस दे दे और फिर मैं चला जाऊंगा.

साड़ी में हिंदी सेक्सी वीडियो

उसी समय सास ने मुझे देख लिया और वो समझ गईं कि मैं उनके मम्मों को देख रहा हूँ. डब्लू सेक्सी मराठीमैंने सबसे पहले अंशिका को अपने पास बुलाया और उसके मम्मों को किस किया, उसके निप्पलों को चूसना शुरू कर दिया.

मगर जब कंडक्टर ने मुझे टिकट और बाकी के पैसे वापस दिए … तो उनको अपने पर्स में रखने के लिए मैंने ऊपर जो बस का जो पाईप पकड़ा हुआ था, उसे छोड़ दिया और दोनों हाथों से पैसे व टिकट को अपने पर्स में रखने लगा. जिम सेक्सी पिक्चरआज तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा कमीनी रांड … साली बहुत प्यासी थी तेरी चुत … आह इसकी सारी प्यास मिटा दूंगा … ले चुदक्कड़ आज तेरी मॉम ना चोद दी तो कहना.

सोनाली की चीख और आँसू एक साथ निकल रहे थे।सौरभ बेरहमी से गांड चुदाई कर रहा था, उसे बहुत मजा आ रहा था। मैं और मालविका चुदाई देख रहे थे.बीएफ सेक्स वाली हिंदी: अब अनिल ने अपनी एक उंगली गांड की दरार में सरकानी शुरू की और इधर अपनी जीभ को और अन्दर किया.

अब मैंने इस बात पर खास ध्यान देना शुरू कर दिया कि मेरे कपड़ों पर ये दाग कहां से आते हैं भला?उस रात को मैं साफ कपड़े पहन कर सोई.वो एक पल मुझे देखने के बाद बोलीं- तुम्हारी मम्मी का फ़ोन आया है … लो बात कर लो.

सेक्सी वाला भोजपुरी वीडियो - बीएफ सेक्स वाली हिंदी

तब दीदी ने मुझसे बोली- अर्णव, जल्दी से श्वेता के घर जाओ और आंटी को बुलाकर लाओ.दर्द और जलन की वजह से मेरा हाल बुरा हो चुका था, आंख से आंसू आ गए थे.

”उपिन्दर अब एक हाथ से चूची दबा रहा था दूसरे से चूत सहलाने लगा।मम्मी पूरी गर्म- क्या सोच रहे थे?देखिए शादी देर रात को खत्म होगी फिर 3-4 घण्टे बाद विदाई और अगली रात को सुहागरात। ऐसा करते हैं … हम एक नई रस्म करते हैं. बीएफ सेक्स वाली हिंदी सुनील ने सिगरेट सुलगाई और एक मनोज को दी तो मनोज ने अपनी सिगरेट पीते पीते एक बार पीछे दीपा को दे दी.

उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और मीना ने मेरी पीठ को नाखूनों से नोंच डाला.

बीएफ सेक्स वाली हिंदी?

उसने गुलाबी कच्छी पहनी थी।जब वो पिशाब करके आने लगी तो मैं भी मूतने लगा. कई बार लड़कियां मेरी ओर ध्यान देती हैं और कई बार स्माइल भी दे दिया करती हैं. उसकी निप्पल पूरी तरह से तन चुकी थी। मीना तो मज़े में पागल हो चुकी थी। मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूचियों पर दबा रही थी।मैं भी मीना को पूरी तरह गर्म करना चाहता था ताकि मैं उसकी चूत में उंगली डाल कर उसकी चूत को लन्ड डालने के क़ाबिल बना दूं।मीना गर्म होने लगी थी और सिसकारियां लिये जा रही थी- आह्ह … ओ … ओ … ओह्ह … अमित … बहुत मजा आ रहा है … बस ऐसे ही करते रहो.

मेरे मन में कब से खलबली मच रही थी कि कब शाम हो।तभी मेरे बेटे का फोन आया, उसने बताया कि वो निकल गया है।मैंने बाथरूम में जाकर सूरज को फोन किया और उसे आज रात आने को कह दिया।उसके बाद मैं वहाँ से निकली और रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाया।फिर शॉपिंग करने लगी. साली ने पूछा- क्या हुआ, किसका फोन था?मैंने कह दिया- मेरे मित्र का मुंबई से फोन आया था. तो मैंने सोचा कि यार मुझे भी कोई नहीं मिल रहा है तो क्यूं न इन अंकल को ही इस्तेमाल किया जाये!फिर मैंने उन्हें सोचकर बताने को कहा और मैं चली गयी.

कुछ देर बाद थोड़ा धीरे से मैंने कहा- दीदी अगर मैं सच कहूं, तो मुझे इस बारे में कुछ भी अनुभव नहीं था. फिर मैंने चुत चाटना छोड़ा, तो उन्होंने मेरा लंड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने उनको बोल दिया कि मैंने भी कोरोना जांच करवाई है। लेकिन अब मुझे बुखार नहीं है मेरी तबीयत ठीक है.

अगले दिन हम लोग बाइक से जा रहे थे और वो मेरे से बिल्कुल चिपक कर बैठी हुई थी. एक दिन मैंने बहुत हिम्मत करके उसके नाम एक लव लैटर लिखा और अपने रूम पार्टनर को देकर बोला- यार, इस लैटर को उसे दे देना … और अगर वो पूछे कि ये क्या है, तो बोल देना तुम्हें नहीं पता है.

आपको देसी लड़की सेक्स स्टोरी को पढ़ कर कैसा लगा, आप कमेंट और मेल करके बताएं.

फिर मैं अपने एक हाथ के अंगूठे पर थूक लगा कर उसकी गांड के छेद को सहलाने लगा.

मैंने उसके दूध दबाए और बोला- ये तो बस शुरूआत है, जब तुम्हारी प्यारी चूत में मेरा लंड जाएगा न … तो तुम्हें इससे भी ज्यादा मजा आएगा. फिर मैंने लकड़ी की छड़ी उठाई और उसकी जांघों के अंदरूनी हिस्से पर मारने लगी. थोड़ी देर में बस रवाना हो गई और मैं अपने ईयरफ़ोन लगा कर ऑनलाइन मूवी देखने लगा.

उसने खुद से मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत के छेद पर लगा दिया और बोली कि अब इसे तुम मेरी चूत के अन्दर डाल दो. बहुत ही कामुक नजारा चल रहा था वो … जिसे देख मेरे खाली हाथ को भी अब एक काम सूझ गया. वो बोला- फिर चाची?मैं- फिर कभी कभी मैं अपने पति से चुदवा भी लेती, मगर ज्यादातर बार सिर्फ हस्त मैथुन और वाइब्रेटर से ही मज़े लेना पसंद करती हूँ.

बाकी बाद में!इतना बोलकर मैं उनसे दूर हट गयी और दूर जाकर मुस्कुराने लगी.

उस दिन भाभी हमारे घर आई और मेरी मम्मी से बोली- आज मेरे पति घर नहीं आएंगे, अगर आपको कोई एतराज ना हो, तो राहुल आज मेरे घर सो जाएगा. उसका वीर्य निकलने वाला था, फिर भी उसने मेरे मुँह से अपना लिंग बाहर नहीं निकाला. उसके साथ रहने से रोहित को खाना नहीं बनाना पड़ता था और भी बहुत से काम नहीं करने पड़ते थे.

वो मस्ती में गालियां देने लगी, रेखा बोली- आंह मादरचोद … कसके चोद साले … आज दिखा दे अपने लंड का जलवा … आह मैं झड़ने वाली हूँ और जोर से चोद मेरे राजा. रात में उसने पूछा- मेडिसिन लेनी कैसे है?मैंने बोला- पहले अपनी पिक सेंड करो … तो बताऊंगा. थोड़ी देर बाद मैं फिर से लेट गया और आशा को अपने मुंह पे बिठा कर अपनी जीभ से उसकी चूत चोदने लगा.

मगर इसकी उम्मीद मुझे कम ही लग रही थी क्योंकि लड़की की उम्र उस वक्त 20 वर्ष थी और मैं 41 वर्ष का और एक बच्चे का पिता था.

मेरे हाथ में बोतल थी और मेरा सोया हुआ सांप मेरी टांगों के बीच में लटक रहा था. थोड़ी देर बाद रंगोली और रोहित दोनों ऊपर आए, तो मैंने रोहित को किसी बहाने से कमरे में भेज दिया.

बीएफ सेक्स वाली हिंदी जिसके बीच में बस एक ट्रैफिक सिग्नल ही आता है और उसके बाद सीधा कॉलेज का गेट आ जाता है. उसके बाद …हैलो भाइयो और चुलबुली चुत वालियो, आज मैं आपके सामने अपनी एक और सेक्स कहानी पेश कर रहा हूँ.

बीएफ सेक्स वाली हिंदी मगर इस बार उसकी आंखों में उत्तेजना के लाल डोरे तैरते मुझे साफ नजर आ रहे थे, इसलिए मैंने शायरा के चहरे को पकड़े पकड़े ही अब अपना मुँह थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा दिया. शायरा भी मेरे कहते ही उल्टा लेट गयी, जिससे मैंने अब पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया.

अब आगे की बीवी को चुदवाया कहानी :मेरा काम हो जाने के बाद मैं फिर से सोफ़े पर आकर बैठ गया और पंकज ने सुमन को जाँघों से हटा कर अपनी गोद में बिठा लिया था।उसका लंड सुमन की चूत के ठीक बीचोंबीच था और दोनों लिप किस कर रहे थे।तभी सुमन ने अपनी गाँड थोड़ी सी ऊपर उठा ली और पंकज के गले में अपने हाथों को लपेट कर अपनी एक चूची उसके मुँह में दे दी.

बुर चोदने वाला हिंदी सेक्सी

उसी तेज बारिश में अभिषेक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी चुचियां दबाने लगा और मुझे किस करने लगा. वैसे शायरा की चुत थी भी इतनी प्यारी कि चूत को देखते ही मेरे मुँह से पानी आ रहा था. वो बोली- अभी मेरे बूब्स और दबाओ न प्लीज़ … और बताओ मुझे कब चोदोगे?मैंने उसके टॉप को ऊपर किया और ब्रा हटाकर एक मम्मे के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबा लिया.

पर जब उनको मौका मिले, चाहे वो मेरे घर में हो या बाहर कहीं भी, तब वो भी मेरे जिस्म के अंगों को सहला देते थे।हमें कोई अच्छा मौका नहीं मिल रहा था।ऐसे ही हम लगभग 2 महीने तक एक दूसरे का मज़ा लेते रहे। मेरे घर पे हर बार कोई न कोई रहता ही थी। उनके घर पे भी उनकी फॅमिली थी. तभी वहां पर दो लड़के आ गए और उन दोनों ने मॉम और आंटी से चिपक कर डांस करना शुरू कर दिया. वो बोली- अब भी हाथ से ही करेगा क्या? मैं कितने दिन से इस पल के इंतजार में थी.

वो भी गर्म आहें भरने लगीं- उफ्फ आह्ह्हह!मैंने सास को सीधा करके अपने सीने से लगाया और उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगा.

मैं उसके पास गया, मैंने उसको कहा- आप मुझे जानती हैं क्या?उसने कहा- सर, मैं आपकी कम्पनी में इंटरव्यू देने के लिए आई थी … मैंने आपको वहाँ देखा था. मुझको पता था कि उसकी पहली बार है, तो उसे शांति से चोदना पड़ेगा, वर्ना उसे बहुत दर्द होगा. मुझे देखते ही दादी ने मालू से कहा- तुम दोनों बेडरूम में चलो, मैं चाय बना कर लाती हूँ.

उन दुकान वालों ने शायरा को मेरे साथ आते हुए देखा तो था ही … इसलिए वो मुझे व शायरा को गर्लफ्रेंड ब्वायफ्रेंड समझ रहे थे. धीरे धीरे चूत की आग और ज्यादा बढ़ती चली गयी जो अब बर्दाश्त करना भी नामुमकिन सा लगने लगा. उसे शायद अपनी बुर पर बाल रखना पसंद नहीं था, इसलिए इलाका एकदम साफ था.

मेरी इच्छा थी कि मैं लड़की की चूत पर चॉकलेट लगा कर उसकी चूत को चाटूं. दो दिनों बाद जब अनन्या जाने लगी, तो वो मुझसे बोली- भाबी, आपकी बहुत याद आएगी.

दिन में जल्दी ही एग्जाम था, तो एग्जाम देने के बाद अजमेर घूमने निकल गया. मीरा भाभी ने बताया कि सीमा अचानक हाथ पैर मारती है और बेहोश हो जाती है. अभिषेक कभी मुझे स्कूल के बाथरूम में चोद देता … और कभी कंप्यूटर रूम में मेरी गांड बजा देता.

मैं अपने कौमार्य को रिश्ते में बेटा लगने वाले एक जवान लड़के से भंग करवाने जा रही थी.

इस बात को लेकर मेरी और शालया की बहुत सी बात होने लगीं और न जाने कब हम दोनों में प्यार हो गया, पता ही चला. पेशे से मैं फिजियोथेरेपिस्ट हूँ और पिछले 5 वर्ष से सिर्फ महिलाओं के शरीर की मसाज करके उनको खुश करता हूँ. मुकेश- भोसड़ा चोदी साली, मां को बुला रही है … भूल गई क्या उसने भी मेरे ससुर से इसी तरह चुदवाया था … वो अपनी विशालकाय गांड उठा उठा कर चुदी थी, तभी तू रंडी पैदा हुई थी साली.

”बढ़िया!”शाम हुई, दोनों आये। उपिन्दर पैंट शर्ट में और मम्मी नई जीन्स और टॉप में!दोनों कपड़े एकदम टाइट … और टॉप तो बस ब्रा से थोड़ा ही बड़ा था। कमर, नाभि और पीठ का नीचे का हिस्सा नंगा और सारे उभार चमकते हुए।आते ही मम्मी बोली- सच मज़ा आ गया कल रात और आज दिन भर और फिर ये शॉपिंग। मुझे लग रहा है मैं एकदम जवान हो गयी हूँ. मेरा हाथ उसके घुटनों के बीच से होते हुए उसकी जांघों के जोड़ तक चला गया.

रूकने की अपेक्षा भीगते हुए घर पहुंचना बेहतर समझकर मैंने बाइक की रफ्तार बढ़ाई तो रेखा ने अपने दोनों हाथों से मेरी कमर को घेर लिया. उसके बाद हम दो मिनट शांत रहे और फिर तूफान थमते ही वहां से भागने की जल्दी मच गयी. यह बोलकर रिचा ने मेरे लंड को मेरे पैंट के ऊपर से पकड़ लिया और उसे मसलने लगी.

दादाजी का सेक्सी

आप लोगों को तो पता ही होगा कि रायपुर से थोड़ी दूरी पर ही गंगरेल डैम है.

थोड़ी देर बाद सांसों के सामान्य होने के बाद मैंने उसकी तरफ चेहरा उठाकर देखा, वो भी मेरी नजरों में नजर मिलाकर मुस्कुराने लगा. सब्जी वगैरह खरीदने के बाद मेरा दोस्त मुझे लेकर उसकी दुकान पर ले गया. मेरी पिछली सेक्स कहानीपंजाबी लंड से शहर में जिस्म की आग बुझाईमें आप लोगों ने पढ़ा होगा कि कैसे मैंने अपने पति के मैनेजर के साथ अपने जिस्म की प्यास बुझाई, उसके दोस्त के साथ किस तरह ग्रुप में चुदाई की।दोस्तो, अगर आपने मेरी पिछली सेक्स कहानी अच्छे से पढ़ी होगी तो आपको पता होगा कि मैंने और सुखविन्दर ने किस तरह चुदाई का पूरा मजा लिया.

फिर मैंने पूछा- बियर पियोगी?रेखा बोली- हां बियर लेकर आना … पिए हुए बहुत दिन हो गए. वीर्य की एक एक बूंद निचुड़ जाने तक मैं धक्के मार मारकर उसकी गांड का भुर्ता बनाता रहा. जीजा साली की सेक्सी कॉमेडीजब भी मेरे पति मुझे चोदते तो मुझसे उसी आदमी को अपने ऊपर चढ़ा हुआ सिच कर चुदाई का मजा लेने को कहते थे.

दोपहर में खाना खाते वक्त पापा और मामा जी ने तय किया कि आज शाम को ही मम्मी को लेकर दिल्ली निकालना है. फिर बात आगे बढ़ते बढ़ते सब फिक्स हुआ और हमारी शादी मंदिर से करने का फैसला लिया गया.

देसी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी में पढ़ें कि मैं किराये के कमरे में रहता था. उसने मेरी गर्दन को पकड़ कर मेरे मुँह को अपने दोनों मम्मों के बीच खींच लिया और मेरे मुँह को दबाने लगी. उन्होंने मुझसे पूछा- किस तरफ जाओगे?मैंने अपने घर की लोकेशन बताई, तो उन्होंने कहा- आओ तुम्हें 5 किलो मीटर तक तो लिफ्ट दे देती हूं, मैं भी उसी तरफ जा रही हूं.

मैंने बहुत मना किया फिर भी उसने अपनी मामा की लड़की को मोमोज लेने के लिए दुकान पर भेज दिया।अब पूरे घर में सिर्फ मैं और रोहित थे. अपने लण्ड का सुपारा रेखा की चूत के मुखद्वार पर सेट करके मैंने धक्का मारा तो पहले धक्के में आधा और दूसरे में पूरा लण्ड रेखा की गुफा में समा गया. इतनी मीठी सिसकारियां!इतनी मीठी आहें!इन पर तो जान भी वार दूं तो कम है!कुछ देर बाद ज़ारा ने मेरे कंधों से मुझे नीचे धकेला.

फिर शुक्रवार की शाम को उसका फ़ोन आया- कल मिल सकते हो?उसकी तरफ से मिलने की सुनकर मेरी तो जैसे मन की मुराद ही पूरी हो गयी हो.

फिर रोहित मेरी तरफ बढ़ा और अपना लिंग चुसाने के लिए मेरे होंटों के आगे कर दिया. मेरा मन कर रहा था कि अभी पति के पास जाकर उनसे लिपट जाऊं और उनकी गोद में बैठ जाऊं नंगी होकर … लेकिन पति की तबीयत सही नहीं थी और वह अलग रूम में क्वॉरेंटाइन हो गए.

थोड़ी देर बाद मैं साइड में लेट गया और अपनी सांसें नियंत्रित करने लगा. उसकी जांघें जैसे खुद ही फैल सी गयीं और उसने मेरे हाथ को अपनी चूत पर पूरी पकड़ बनाने के लिए जैसे रास्ता दे दिया. वो रोज मेरे पति के जाने के बाद आता और योगा करवाने के बहाने मेरे बदन को हर जगह से छूने की कोशिश करता.

चुंबन के वजह से उसका लंड और विशालकाय हो गया था और उसे मैं पूरा महसूस कर पा रही थी. हम दोनों के तीसरे राउंड की चुदाई के लिए हम दोनों फिर से तैयार हो गए थे. वह लंड निकाल कर सुपारा चाटते हुए बोली- जब मुँह में इतनी मुश्किल से जा रहा है … तो चूत में कैसे जाएगा?प्रीति को काफी डर लग रहा था क्योंकि लंड काफी लम्बा और मोटा था.

बीएफ सेक्स वाली हिंदी ये मेरे लिए एक खास बात थी कि मेरी कुंवारी चुत को भी कुंवारा लंड चोदने के लिए मिला था. वो लंड चूसने में इतनी एक्सपर्ट थी कि 6 – 7 मिनट में ही मुझे लगा मेरा निकलने वाला है.

सेक्सी वीडियो अंग्रेजी डॉट कॉम

ये कहते हुये मैंने उसका हाथ पकड़कर लंड पर रख दिया!वो पैंट के ऊपर से ही लंड सहलाने लगी और मैं उसे किस करने लगा. मुझसे जो भी जुड़े हैं या मैं जिनसे भी मिला हूं, मैं उनकी गोपनीयता भंग नहीं कर सकता हूँ. मैं दोनों बगलों को चूसने और अच्छे से सूंघने के बाद थोड़ा नीचे आया और उसके पेट पर किस करने लगा.

चाची चीखते हुए चुदाई के मज़े ले रही थीं- आआह ऊऊम्म … और ज़ोर से कर, मुझे पूरी तरह से शांत कर दे … आह. ऐसा कहते हुए वो संजू के पैर दबाने लगा और पैर में दो तीन किस भी ले ली. गाना के साथ में सेक्सीउन्होंने मुझसे एक रिक्वेस्ट की थी कि उनकी एक सेक्स कहानी को मैं अन्तर्वासना के लिए लिख कर भेजूं.

हम दोनों ने ही अब पूरी जी-जान लगा कर चुदाई करना शुरू कर दी थी, जिससे मेरी और शायरा की सांसें अब फूल गयी थीं.

उसने मुझे रंगे हाथ तो नहीं पकड़ा लेकिन विवेक को मेरे रूम से निकलते देख लिया. एक दिन रात में मुझे नींद नहीं आ रही थी और मेरे बेड पर ही मेरे साथ और भाई लोग भी लेटे थे.

सीमा की टाँगें अपने कंधों पर रखकर मैंने अपना लण्ड उसकी चूत में पेला तो उसकी बच्चेदानी के मुँह तक पहुंच गया. क्या करूं बेटी … तुम्हारे जिस्म को देखकर यह कम्बख्त फिर से खड़ा हो गया है. भाभी मुझसे आंख के इशारे से पूछने लगीं कि मैंने रोका क्यों?तो मैंने उनसे बोला कि मेरी जान को कपड़े मैं ही पहनाऊंगा.

पर उसने मेरी झक्की खोल दी- हां जी, इससे बड़ा मेरे एक दोस्त या साथी कह लीजिए, उसका है.

रामू भाभी के उन रसीले मम्मों पर झपट पड़ा और उन्हें चूसने लगा, अपने एक हाथ से एक दूध भींचने लगा. मेरे दोस्त की सिस्टर की चुदाई कहानी पर मुझे अपना फीडबैक देने के लिए कृपया ईमेल ज़रूर करें, ताकि कहानियों का ये दौर, अन्तर्वासना की चुदाई की कहानी वाले पोर्टल पर … आपके लिए यूँ ही चलता रहे. घुटनों के बल खड़े होकर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रेखा के इण्डिया गेट पर रखा और लण्ड को अन्दर सरकाते सरकाते मैं रेखा पर लेट गया और उसकी चूचियां चाटने लगा.

सेक्सी भोसड़ी की चुदाईओरल सेक्स (किसी का लौड़ा मुँह में ले कर चूसना) … ये मैं पहली बार कर रही थी, तो मुझे शुरू में थोड़ी दिक्कत हुई … लेकिन मैंने पोर्न वीडियो में देखा था कि लंड को कैसे चूसा जाता है. वो रोज मेरे पति के जाने के बाद आता और योगा करवाने के बहाने मेरे बदन को हर जगह से छूने की कोशिश करता.

एक्स एक्स वीडियो बीपी सेक्सी

पहले मैं मौनी पर ध्यान नहीं देता था क्योंकि मेरी कई गर्लफ्रेंड थीं और मेरे यार दोस्त भी बहुत थे. तभी अमित की आवाज आई- राजवीर जी, अगर आप फ्रेश हो गए हो तो आईये; आपका इंतजार हो रहा है. राहुल मेरे ही कमरे में मेरी ही बीवी के साथ सेक्स का मज़ा ले रहा था … तो उसको इसकी कीमत तो चुकानी ही पड़ेगी.

शायरा भी मेरे कहते ही उल्टा लेट गयी, जिससे मैंने अब पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया. न जाने कितने प्लान बनाए और कितनी बार मैं और कितनी बार लूसी भी प्रेग्नेंट हुई. इसके अलावा आप सब से निवेदन है कि कहानी पूरी पढ़िये और अंत में मैंने आप सब पाठकों के लिए एक संदेश भी दिया है तो उसे भी जरूर पढ़ें, ज्यादा बड़ा नहीं है संदेश … पर हाँ कहानी कुछ लोगों को लंबी लग सकती है.

रियल सेक्स स्टोरी के पिछले भाग में मैंने आपको बताया कि मेरे भाई ने अपनी गर्लफ्रेंड यानि की मेरे चाचा की लड़की की चूत चुदाई के साथ मेरी भी चूत और गांड की चुदाई की. तो मैं मुस्कुराकर बोली- कोई बात नहीं अंकल।मेरी इस बात पर वो थोड़ा रिलैक्स हुए और स्माइल करने लगे. मगर इसकी उम्मीद मुझे कम ही लग रही थी क्योंकि लड़की की उम्र उस वक्त 20 वर्ष थी और मैं 41 वर्ष का और एक बच्चे का पिता था.

फिर क्या था … मैंने उसी डिल्डो को चुत में अन्दर तक घुसाने की कोशिश की. पहले जब मैं सिगरेट पीती थी तो उस समय मुश्ताक ज्यादा चिपटा चिपटाई नहीं करता था पर अब तो हाल ये है कि दो दिन से कपड़े पहने ही नहीं हैं.

फिर अपने हाथ से मुठ मारते हुए वे अपना माल मेरे ऊपर गिराने की तैयारी में थे.

हल्का सा ही लंड उसकी चुत में घुसा था कि उसकी चीख निकल गयी, आंखें फट गईं. सेक्सी वीडियो अच्छा वाला चाहिएवो बोली- क्या सोच रहे हो?मैंने बोला- गाड़ी यहीं अंधेरे में साइड लगा रहा हूँ. कुंवारी लड़की सेक्सी फिल्मवहां पहुंचने पर हमने गाड़ी एक तरफ लगाई … और गाड़ी से उतर कर सुनसान जगह पर चले गए. मैंने न्यासा की गांड पर लंड लगाया और ज़ोर देकर धीरे धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा.

आप इस कहानी को संयोग समझ सकते हैं जो मेरी पहली कहानीचुलबुली चुदासी भाभी से वीडियो सेक्स चैट और चुदाईसे ही थोड़ा मिलती जुलती है लेकिन घटना एकदम अलग है। मेरी जिंदगी में अब तक तीन बार चुदाई वाली घटना घटित हुई है।मेरे साथ हुई घटनाएं एकदम सच हैं.

इसमें एक नकली डंडे जैसा आइटम है … जो असली लंड का क्लोन है, इसे हाथ में लेकर अपनी चूत पर रख कर घिस. सर बोले- मुझे तुम्हारे चूचे बहुत अच्छे लगे … क्या तुम इस बार मुझे अपने मम्मों के बीच में लंड रख कर चोदने दोगी. ” कहकर मैंने गौरी के गालों को थपथपाया। लगता है गौरी आज गौरी का मूड बहुत खराब है।नाश्ता करते समय मैंने गौरी द्वारा बनाए पराठों की तारीफ़ करते हुए पूछा- गौरी तुम्हें थोड़ा अच्छा तो नहीं लगेगा पर एक बात पूछूं?क्या?”वो… दरअसल उस दिन उस लड़के ने तुम्हारे साथ किया क्या था?” मुझे लगा गौरी आनाकानी करेगी।मुझे इसी बात का तो दुःख है.

राहुल जिस तरह से शिल्पा को चोद रहा था, उससे ऐसा लग रहा था कि शिल्पा मानो उसके लिए कोई रखैल है और शिल्पा कमीनी भी बड़े मजे से बिना कोई डर के चुदवा रही थी. मेरी गदराई पीठ को सहलाते हुए वे बोले- मुस्कान, कसम से जब से तुमको पहली बार देखा था, तब से तुमको पाना चाहता था. अब वो मेरे सर को पकड़ कर अपना पूरा लंड मेरे गले के अन्दर तक ठूंस ठूंस कर चुसाने के बाद वो झड़ने लगा.

हिंदी सेक्सी पिक्चर दाई

मैं अब फुल मस्ती में आ गया था और भाभी के गुलाबी होंठों को चूमते हुए उसके एक भरे हुए दूध को सहलाने लगा, जिससे वो फिर से गर्म होने लगी थीं. उसके बाद लूसी और शिवम छत वाले रूम में चले गये और मैं तथा विवेक पीछे वाले रूम में चले गये. अब जो करना होगा करेंगे।”उसकी तरफ से मुझे अब पूरी छूट मिल चुकी थी; अब मुझे किसी बात का डर नहीं था।मुझे अपनी जिंदगी में एक बेहद ही खूबसूरत जवान और सेक्सी लड़की मिल चुकी थी।अब मैं उसका पूरा मजा लेना चाहता था; उसे हर तरह से चोदना चाहता था।वो अब मेरी थी।उस रात मैंने केवल एक बार ही उसकी चुदाई की क्योंकि रात ज्यादा हो चुकी थी.

अब मैं ऐसे नहीं कर सकती थी क्योंकि अगर मैं नहीं मिलती तो फिर वो जरूर पूछता.

अगले दिन मैं दोनों को एक अच्छे से शोरूम में ले गया और दोनों को उनकी पसंद की जींस और टॉप दिला दिया.

पंजाबी लड़की की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे यार का बॉस एक पंजाबी लड़की को यानि मुझे बिहारी समझ कर चोदने जा रहा था. फिर उसकी उंगली ने मेरी गांड की दरार में से पैंटी हटाई और उसकी उंगली मेरी गांड के छेद में घुसने की कोशिश करने लगी. सेक्सी चुदाई वीडियो रोमांटिकमैं विजय से बोली- हाँ विजय, मुझे पता है तुम्हारा दिल मेरे लिए धड़क रहा है!ऐसा कह कर मैंने उसके गाल पर एक किस कर दिया और उठ कर खड़ी हो गई।जैसे ही मैं खड़ी हुई विजय ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मैं उसकी तरफ घूमी तो उसने एक झटके से मेरे हाथ को खींच कर मुझे अपने ऊपर गिरा लिया.

डॉक्टर ने बोला- मेडम आपकी जांच रिपोर्ट 2 दिन बाद आएगी, आपके फ़ोन पर पॉजिटिव या नेगिटिव रिपोर्ट का मैसेज आ जाएगा. थोड़ी देर तक श्रेया से बात न होने पर उन्होंने पूछा- कहां व्यस्त हो गए?मैंने कहा- दोस्त से बात कर रहा था. तभी पंकज ने पूरा दम लगा कर अगले एक ही धक्के में अपना पूरा लंड जड़ तक सुमन की पनियायी हुई चूत में घुसा दिया।सुमन पंकज के इस भीषण लंड प्रहार को नहीं झेल पायी और वो निढाल होकर पंकज की छाती पर पड़ गयी।वो उस समय भी अपनी मस्त गाँड को घुमाते हुए पंकज के लंड को जकड़ कर अपनी चूत से लंड को रिड़क रही थी.

नंगा होने के बाद जब मैं रजाई में घुसा तो साली ने लंड को हाथ में पकड़ कर कहा- अरे बाप रे! इतना बड़ा! इतना मोटा. मेरा हाथ अब उनकी कमर और पेट के बजाये उनकी टांगों पर था और उनके घुटनों के ऊपर की त्वचा को सहला रहा था.

चूँकि रोहित तो पहले से ही रह रहा था, अब उसकी ममेरी बहन अकेली अलग रहती तो उसने साथ में रहना ठीक समझा और दोनों साथ में रहने लगे।रोहित के साथ में एक दोस्त भी रहता था.

खाने के बाद रात में उसने कहा कि चलो मैं तुम्हें तुम्हारे होटल में ड्राप कर देती हूँ. आप तो जानते ही हैं कि जब 18 साल के बाद की जवानी उभरकर आती है तो चेहरे पर अलग ही नूर होता है. जब मेरा उतरा हुआ चेहरा देखा तो उसने फिर खुद ही मेरा लंड पकड़ लिया और मुंह में लेकर चूसने लगी.

नागपुर वाली सेक्सी वीडियो वो बोली- झूठ! एक भी नहीं है तो काम कैसे चलाता है तू अपना?मैं बोला- मुठ मार लेता हूं. मैं छू कर देखना चाह रही थी, पर डॉक्टर ने मेरा हाथ पकड़ लिया और एक बार फिर लंड को चूत के अन्दर उतनी ही बेरहमी से घुसेड़ दिया.

कमरे की खिड़कियों पर पर्दे होने के कारण कमरे में अंधेरा था लेकिन ऐसा अंधेरा भी नहीं था कि कुछ दिखाई न दे. मुझे अपना लण्ड ताड़ते हुए देखकर विजय बोला- मैंने सुमन दीदी को तुमसे दोस्ती करने के लिए पूछा था लेकिन तुमने सुमन दीदी को कोई रिप्लाई नहीं दिया?मैं बोली- तुम्हें दोस्ती मुझसे करनी थी या अपने दीदी से? अगर मुझसे दोस्ती करनी थी तो मुझसे पूछते! सुमन भाभी को क्यों पूछा?! और मैं उनको रिप्लाई क्यों दूं?विजय मेरा एक हाथ अपने दोनों हाथों तो मैं लेकर तपाक से बोला- तो ठीक है, तुमको ही पूछ लेता हूं. करीब एक घंटे बाद मीरा आई और आते ही मेरा लोअर नीचे खिसकाकर मेरा लण्ड चूसने लगी.

सेक्सी चुदाई खपाखप खपाखप

वो अपने दूध मसलवाते हुए नशीली आवाज में बोली- तो अभी ही डाल दो ना अपना लंड … प्लीज. और फ़ोन भी नहीं लग रहा।वंदना मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और बोली- कोई बात नहीं, मैं चलती हूँ तुम्हारे साथ, मेरे प्यारे जीजू आप ऐसे उदास अच्छे नहीं लगते।वैसे भी मैं दीदी को बता कर तो आयी नहीं हूं।मैं- तो चलो फिर बैठो गाड़ी में, चलें फिर पहाड़ों की सैर करने।वंदना- मेरा तो मन आज किसी और चीज़ पे सैर करने को हो रहा है. मेरी घुंडियों को चूसते हुए वो कभी कभी उन पर अपने दांतों से काट भी देती, तो मैं चिहुंक उठता.

दस मिनट तक लेटा रहा और जब वो शान्त हो गयी तो मैंने उसको प्यार से चूमा और धीरे धीरे लंड को चलाने लगा. एक दिन अचानक वो कहने लगी- भैया मुझे नकली लगाकर देखना है कि कैसा लगता है?मैंने उसकी तरफ हैरानी से देखा.

इससे पता चल रहा था कि पायल अपनी अन्तर्वासना के सागर में डुबकियां लगा रही थी.

फिर एक गोली अनीता के गिलास में भी डाल कर चम्मच से गोली को घोल दिया. मैं बोला- आज तुमने पहली दफा अपनी गांड में लंड लिया है और तुम्हारी गांड की सील भी आज ही टूटी है. उसके बाद एक चपरासी उनको बुलाने आया, शायद प्रिंसीपल उनको किसी काम से बुला रहे थे.

इस सबसे ज्यादा बुरा यह हुआ कि रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण गोपाल का कमर से नीचे का शरीर निष्क्रिय हो गया. अंकल धीरे धीरे मॉम के बदन को चूसने लगे और उनकी पैंटी के ऊपर से चुत को सूंघने लगे. यही हुआ भी … भाभी ने फांकों में सुपारे को महसूस किया, तो उसे अन्दर आने का रास्ता दे दिया.

अब मुझे परेशानी यह थी कि आगे कैसे बढ़ा जाए … क्योंकि मुझे चुदाई की इच्छा तो जरूर थी, पर डर भी लग रहा था.

बीएफ सेक्स वाली हिंदी: राज- मतलब तुम्हें मज़ा आया न?न्यासा- मेरी हर एक हड्डी अभी दर्द कर रही है और मेरी चुत का पानी पूरे महीने में जितना गिरता है, उतना तो तुम दोनों ने दो बार में ही निकाल दिया. इस शादी से उसके परिवार के लोग भी काफी खुश थे और मैं भी बहुत खुश था कि सुधा के जैसी लड़की मेरे जीवन में आई.

उईई आह्ह्ह्ह पिता जी … अपना लंड डाल दो ना … अपनी बेटी की चूत में!” ज्योति ने इस बार अपने चूतडों को उछाल कर ज़ोर से सिसकारी भरते हुए सारी शर्म को त्याग दिया. उनका अंग प्रदर्शन करना और मेरा उनका दीदार करना।फिर एक दिन मैं अपने घर में टी. वो भी मेरी तरफ देख रही थी और जोरों से हांफ रही थी, पर मेरे अब ऐसे देखने से शायरा ने अपनी आंखें बंद कर लीं.

उसने 12वीं के बाद पढ़ाई बंद कर दी थी और अब वह घर का काम ही संभाल रही थी.

बिना देर किये मैं अपने घुटनों पर आ गयी और उनके लौड़ों को बाहर निकाल लिया. मेरी ये चालाकी देख शायरा के चेहरे पर भी फिर से मुस्कान आ गयी मगर उसने अब कुछ कहा नहीं. ’ की आवाज़ तो मेरा चूत मारने का मज़ा और भी बढ़ा रही थी, इसलिए मैं भी और जोरों से शायरा की चुत को बजाने लगा.