देवर की बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,पागलों की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो नंगी सीन सेक्सी: देवर की बीएफ सेक्सी, मैंने लंड को बाहर पूरा खींचा और एक ही बार में घुसा दिया, इस तरह चार बार किया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो गुजराती

लेकिन फिर पता नहीं उसे क्या हुआ कि उसने मुझे धक्का दे दिया और वहां से हट गई, वो छत की तरफ गई, मैं भी सीढ़ियाँ चढ़ के ऊपर गया. सेक्सी वीडियो दीजिए अभीअब वैसे तो मैं अपनी तारीफ खुद क्या करूँ मगर मेरे करीबी मुझे सेक्सी बेब कहते है और मैं हूँ भी वैसी ही।मेरा नाम निकिता है, उम्र 24 साल, 5’8″ कद, लम्बी सेक्सी टाँगें, 34-28-36 की पटाका मूरत हूँ मैं.

इसके साथ ही उसका मादक अंगड़ाई लेते हुए सिसकना और उसकी आँखों में चढ़ता हुआसेक्स का खुमारमुझे पागल बना रहा था. सेक्सी फिल्म ब्लू में सेक्सी फिल्मपांच मिनट तक हम लोग ऐसे ही पड़े रहे, फिर जब थोड़ी सांस आई तो मैंने उससे पूछा- मजा आया?वह बोली- बहुत!मैंने कहा- तूने बहुत शोर मचाया, कहीं तेरा बेटा जाग जाता तो अपनी रंडी माँ को चुदते देख कर उसे कैसा लगता?वह बोली- तेरा लंड जब मेरे अंदर गया तो फिर मुझसे रुका ना गया.

मैं उसको सांत्वना देते हुए बोला- किसी भी हाल में अपनी दोस्ती यूँ ही बनी रहेगी जैसी है, पर शायद मैं ही कुछ ज्यादा उम्मीद लगा बैठा.देवर की बीएफ सेक्सी: कुछ समय के बाद बात करते हुए वो अपनी जगह से आगे बढ़ते हुए रेलिंग से नीचे झांकते हुए कुछ देखने लगा जिससे उसका लंड पूरी तरह से मेरे हाथ से टच हो गया और मेरा हाथ उसके लंड और रेलिंग के पाइप के बीच में दब गया.

मैं उनके पैरों की तरफ आया, धीरे से साड़ी को उठाया और जैसे ही मैं साड़ी ऊपर खिसकाने लगा, चाची ने करवट बदल ली.डिल्डो को तो बहुत मज़े से पकड़े हुए थी अब असली कैसा होता है वो भी देख ले ना.

पहली रात का सेक्सी वीडियो - देवर की बीएफ सेक्सी

मैं फिर से निढाल होने लगी, मगर पण्डित जी ने मेरे चूतड़ों को उठा उठा कर चोदना जारी रखा.मुझे दीदी की चूत तो नहीं दिखी पर उनकी गांड की बड़ी बड़ी गोलाइयाँ मेरी आँखों के आगे नाचने लगी.

वह बोली- कहाँ?मैंने कहा- ट्रेन आने में अभी वक्त है, चलिए थोड़ा जहाँ कोई ना हो वहाँ चलते हैं. देवर की बीएफ सेक्सी क्या तुम्हें मेरी चुत की गर्मी महसूस नहीं हो रही?फ्लॉरा के खुले शब्दों को सुनकर अतुल एकदम से घबरा गया और उसकी बातों से उसका लंड और अकड़ने लगा.

कभी उसने मुझे उस टेबल पर लेटा दिया और लंड को अपनी चूत के अन्दर लेकर उछल कूद मचाने लगी, तो कभी दीवार पर हाथ का सहारा लेकर पीछे से चुत में लंड को लिया.

देवर की बीएफ सेक्सी?

मैं थोड़ा और गिड़गिड़ाया और बोला- चाची मैं, मैं… मुझे माफ कर दीजिए चाची… आप माँ को नहीं बताना. आप पता बता दें, मैं वहीं आता हूँ।भाई साहब- नहीं, अभी चलें। मैं कार लाया हूँ।मैं- मैं सुकांत के साथ आता हूँ, डाक्टर साहब आ ही रहे होंगे रास्ते में हैं।भाई साहब सुकांत की ओर चेहरा घुमा कर- अपने पास दो गाड़ी हैं। एक में तुम सब लोग पहुंचो।फिर मेरी ओर मुड़ कर बोले- इन सबको अपना मेकअप करना है. हालांकि चाची के बेटे की उम्र 4 साल ही थी, पर फिर भी उसके सामने ये सब करना गलत तो था ही.

उसकी आवाज से मैं पहचानता हूं कि वो मेरी इकलौती बहूरानी अदिति थी जो मुझे अपना पति समझ के सम्भोग करने के लिए उकसाती है, मुझसे लिपटती है, मेरा लंड चूसने लगती है. मैं धीरे से बेड के पास बैठ गया और धीरे से हाथ उनकी चिकनी टांगों पे रख दिया और धीरे-धीरे सहलाने लगा. उस कमरे की लोकेशन ऐसी थी कि उसका एक गेट बाहर खुलता था, एक ड्राइंग रूम में, तथा एक अटैच्ड बाथ रूम था जो सुमन के कमरे के साथ कॉमन था.

क्यों मज़ा आया देख कर या नहीं?फ्लॉरा- भाई ये जान कर तो मेरा दिमाग़ चकरा गया. उसने मुझे चूत से लंड निकालने के लिये कहा, मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया, वो उठी और मेरे लंड से निरोध निकालते हुए बोली, तेरे लंड ने मेरा तीन बार पानी छुड़ा दिया है, मैं इस लंड का पानी पीने को बेताब हूँ. com/teen-girls/bahan-ki-jwan-beti-ki-bur-chudai-ki-lalsa-part-1/बुर की चुदाई की आवाजों से गूंज उठा था.

तो ये बता अगर साफ सुथरा लंड सामने होगा तब चूस लेगी ना?सुमन- क्या दीदी. नीतू भी रोने का नाटक करने लगी, मोना ने उसको चुप करवाया और कमरे से बाहर भेज दिया और खुद उसके पीछे चली गई ताकि गोपाल को लगे उसको चुप करने गई होगी.

मैंने उसके दोनों कपड़े निकाल कर उसे बिल्कुल नंगी कर दिया और खुद भी पैंट और अंडरवियर निकाल दिया.

दाएं हाथ से उसने मेरी पैंट टहोक कर उसकी जिप खोलते हुए मेरा खड़ा लंड स्वतन्त्र कर दिया.

चेहरा गोल और फूला हुआ था, बाल ऊपर की तरफ बनाये हुए थे और कान में एक बाली पहन रखी थी जो उसे एक सेक्सी लुक दे रही थी. अक्सर मौसी मेरे लंड की मालिश करती, और उसे खींच खींच कर और लंबा करती. तभी रूबी ने मुझे इशारा किया और बोली- आप ठीक कह रहे हो, जाओ बैडरूम में बैठो, वैशाली को ले जाओ.

अभी शाम के 5 बजे थे, तो हम सबने सलाह की कि अभी नहीं करेंगे, पहले सिर्फ एंजॉय करेंगे, ठोकाठाकी रात को डिनर के बाद ही करेंगे. मैं तो अपनी चूत चटवाते समय सिर्फ मादक सीत्कारें ही भर रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं एक बिन पानी मछली की तरह बिस्तर पर मचलती रही. सुमन अब तक जो भी कर रही थी, ये उसके लिए आसान नहीं था मगर वो हिम्मत करके सब कर रही थी.

और जोर से…आख़िर एक लंबी सिसकारी के साथ उसकी चुत का बाँध टूट गया और उसका चुतरस मेरे मुँह में आ गया.

अब मैं इसी उधेड़बुन में था कि क्या किया जाये और नया लौड़ा कहाँ से ढूंढा जाये. उसके होश उड़ गए। उसने सोचा था कि आज की रात चुत मिलेगी मगर मोना तो पलटी मार गई।सुधीर- सॉरी सॉरी व्व. मैं बोला- सॉरी मैडम मुझे पता नहीं था कि आप बाथरूम में हो?तो वो बोली- आज जो हुआ किसी को बताया तो नहीं?मैं बोला- मैं क्यों बताऊंगा?तो वो बोली- अच्छा चलो कोई बात नहीं और हाँ.

बैंक के कर्मचारी उन्हें जानते थे, सबने कहा कि बहुत ही सज्जन व्यक्ति हैं. जो कमर से उसकी गांड का चढ़ाव था… क्या कहूं दोस्तो… और फिर उसकी नाजुक मुलायम चौड़ी गांड के ऊपर से मेरा हाथ जब गुजरा तो यूं लगा कि इसको अभी पकड़ लूं, उसको दबा दूँ लेकिन मैंने अपने आप पर काबू पाया, सोचा यह तो मेरी हो कर ही रहेगी, इतनी जल्दी किस बात की!फिर इसके आगे कुछ खास नहीं हुआ और हम लोग ट्रेन में बैठ गए. थोड़ी देर उसने लंड को देखा फिर अपने हाथों से पकड़ा और उसे प्यार से सहलाने लगी और अगले ही पल घप से उसने लंड को मुँह में ले लिया.

यह नौकरी एक बहुउपयोगी बिल्डिंग में मिली थी, जिसका मुख्य काम घरेलू और औरतों की सभी चीजें डायरेक्ट उनके घर में सप्लाई करना था.

आरती के जाने के बाद उसकी चुचियों को याद करके उस दिन मैंने 4 बार मुठ मारी और फिर सो गया. भाभी मेरी जींस का बटन खोलने लगीं … तो मैं भी उनकी सलवार का नाड़ा खोलने लगा.

देवर की बीएफ सेक्सी ”मैं टीशर्ट के ऊपर से ही उसकी गर्दन और क्लीवेज पे किस कर रहा था और नाभि को सहला रहा था. रानी भी अपनी बाहें मेरे गले में पहना कर मेरे चुम्बन का जवाब देने लगी.

देवर की बीएफ सेक्सी अब मैं मामा जी के लंड को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी थी, बीच बीच में मैं मामा जी के लंड में दाँत चुभो देती थी तो मामा जी के मुँह से आहह निकल जाती थी. मैंने कपड़े पहने और सविता को बस ब्रा पेंटी पहनने दी- जानू आज ऐसे ही चलो.

जैसे ही उसने मेरे दाने पर हाथ लगाया तो मुझे जैसे करंट सा लगा और मेरा पानी निकल गया, पहली बार किसी ने उस जगह को छुआ था.

मारवाड़ी फुल सेक्सी चुदाई

शहज़ाद मेरे बूब्स से खेल और चूस रहा था, जब बहुत देर उसने और कुछ नहीं किया तो मैंने उसका एक हाथ पकड़ कर थोड़ा नीचे किया. उसकी सेक्सी वाइफ ऋतु किसी और से चुद रही थी और राहुल अपना लंड हिला हिला के मजा ले रहा था. सास संगीता ने अपनी टांगों से जमाई की क़मर को जकड़ रखा था, उनके मुँह से चीख निकल रही थी मगर टांगों की जकड़न चन्दन की क़मर को अपनी चूत की तरफ खींच रही थी.

मुझे काफ़ी मज़ा आया अब मुझे अगले दिन का इंतजार था कि मैं भीचाची की चूतचाटूं. इन्हीं दिनों एक दिन हमारे घर की लाइट चली गई और अगले दिन मेरा पहला पेपर था, तो चाचा बोले कि तू उधर जाकर पढ़ ले. मैं उसके मस्त लंड को जीन्स के ऊपर से ही सहलाने लगा और मैंने अपना मुँह उसके लंड पर पैंट के ऊपर से ही रख दिया.

पूजा के होंठ काफी गर्म थे और उसकी जीभ मेरे मुंह के अन्दर जाकर मेरी जीभ को चाटने लगी.

तब जगा तू… क्यों सुमन कुछ याद आया तुझे?सुमन- हाँ दीदी, सब कुछ याद आ गया. मेरा निकाह 22 साल की उम्र में ही हो गया था और वो भी मुझसे 10 साल बड़े आदमी से. उस समय मेरा डर तो काफी कम हो चुका था किन्तु मुझे बहुत आत्मग्लानि हो रही थी.

आजकल की लेडीज दुपट्टा तो डालती नहीं, ऊपर से ब्रा भी स्टाइलिश पहनती हैं जिसमें उनके मम्मों का आकार प्रकार अत्यंत लुभावना होकर उभरता है, अपर बर्थ्स का ये सबसे बड़ा प्लस पॉइंट है कि आप चाहो तो आराम से किसी हसीना के मस्त मस्त मम्मों का दीदार करते हुए आराम से चादर के नीचे लंड को हिला हिला के मुठ मार सकते हो कोई देखने वाला टोकने वाला नहीं. राहुल ने मौका देख मुझे इशारा किया कि मैं ऋतु को कमर से कस कर पकड़ लूँ ताकि वो हिल न सके!मैं जानता था कि राहुल ऋतु की गांड मारना चाहता है और ऋतु को इसमें दर्द होगा. आज एक नहीं दो महिलाएं भी दवा खाकर आ जातीं, तो मैं उन्हें संतुष्ट कर सकता था.

उसके चूचे साफ नज़र आ रहे थे और वो जानबूझ कर अतुल के ठीक सामने बैठी थी. कुछ देर शहर में घूमेंगे और फिर शाम को मूवी देखने के बाद डिनर बाहर करेंगे.

थोड़ी देर में मैं पूजा की गांड में ही झड़ गया और पूजा की बगल में लेट गया, पूजा को किस करने लगा. नवीन ने मेरे मन में एक बात कूट-कूट कर भर दी है कि अलग लिंग का अलग मजा!मैं वही मजा लेना चाहती हूँ!खैर, एक दिन ऐसा ही हुआ कि मनोज हमारे यहाँ दो दिन के लिए आया. मैंने कहा- हाँ हमें तो माँगना ही पड़ेगा तू तो बिना मांगे ही ले लेता है.

मैं एक ही सपना देखा करता था कि काश इस लड़की के साथ मैं सेक्स कर रहा हूँ.

फिर जुलाई में उसका बर्थ-डे था, तो मैंने उसको गिफ्ट करने के लिए एक ड्रेस खरीद ली. मैंने कहा- नहीं भाभी, मैं आपके सिवाय किसी और की चूत में अपना लंड नहीं दूंगा. अब तुम अपना हथियार भी तो निकालो।और मेरा लंड … ऐसा लग रहा था कि फट जाएगा.

मैंने उसे ‘किस’ किया और वह बाय कह कर जाते हुए बोल गई कि सांय 8 बजे के बाद फोन पर बात करेंगे. जब वो मुझे रोटी दे रही थी तो उसकी बाजू पे एक निशान था शायद वो सुमित ने आपने दांतों से काटा होगा.

मैं थोड़ी देर रुका और जब उसे मज़ा आने लगा, तो वो नीचे से झटके लगाने लगी. इन दोनों में जब सेक्स की बातचीत होने लगी तो सविता भाभी ने अपने जीवन की रंगीनियों की परत खोलनी शुरू कर दी. फिर चुद जाने के बाद अगले दिन जब वो राज खुल ही गया था कि मैंने, उसके ससुर ने ही उसे चोदा था, उसके बाद भी वो मुझसे कई बार चुदी थी.

बिहार का सेक्सी वीडियो देना

सुमन- हाँ पापा, मैं कोशिश करूंगी कि आपको कभी सूखा ना रहना पड़े लेकिन माँ के आने के बाद हम कैसे करेंगे?पापा- जैसे अभी कर रहे हैं.

चल जल्दी निकाल कपड़े!टीना की भारी आवाज़ से मॉंटी डर गया उसने 2 मिनट भी नहीं लगाए और नंगा होकर बेड पर अपने पैर सिकोड़ कर बैठ गया. वो पूरा दिन अकेली बोर होती रहती है।तो मैंने बोला- हाँ ये तो है, पर मैं क्या कर सकता हूँ?राजेश ने बोला- कुछ नहीं, अगर तुम बुरा नहीं मानो तो तुमसे एक रिक्वेस्ट है।मैंने बोला- हाँ बताओ. मोना- अच्छा मैं यहाँ तुम्हारी जान बचाने के चक्कर में लगी हूँ और तुम्हें मजे की पड़ी हुई है?गोपाल- अरे प्लीज़ यार ग़लत मत समझो.

अचानक से जय ने बूब्स पीते हुए मेरी गांड पर हाथ फेरा तो ध्यान आया कि मैंने तो अभी पैंट उतारी ही नहीं है. तो मेरे प्यारे देवर जी, तुम रोज ही आ जाना और अपनी भाभी को चोद लेना।दोनों काफ़ी देर तक सेक्सी बातें करते रहे। फिर सुधीर मोना के ऊपर आ गया और एक बार फिर चुसाई का खेल शुरू हो गया।मोना- आह अब मत तड़पाओ. मालिश करके सेक्सीमैं कहीं और दुनिया में खो सी गई थी कि अचानक से मामा ने जोर से धक्का मार दिया, मामा का मोटा लंबा लंड मेरी चूत को चीरते हुए पूरा अन्दर घुस गया.

उसने कहा- कल तुम अनजान बन कर मेरे घर आना और कमरा किराये पर लेने की बात करना. ’पापा ने अपनी रफ्तार बढ़ा दी, नीचे से मैं अपने चूतड़ों को हवा में उछाल रही थी कि तभी मेरी चुत से कुछ निकलने को हुआ.

लूडो बोर्ड को हमने सेंटर टेबल पर रखा और खेलने को तैयार हो गए!लेडीज फर्स्ट… पहली बारी आई नताशा की!नताशा ने पहिया घुमाया और जाकर रुका लाल रंग के गोले पर. बहुत दोस्तो को शुरू से लगता था कि गोपाल और मोना का सुमन से कोई रिश्ता होगा. वो दोनों भी कुछ मिनट में झड़ गये और फिर से मेरे मुंह और चूत में वीर्य की वर्षा हो गयी.

फ्लॉरा- मेरे बिल में बहुत गर्मी है, अंकल आपका अजगर उस गर्मी को सह पाएगा क्या? कहीं अन्दर जाते ही पिघल ना जाए, फिर तो मेरी तड़प और ज़्यादा बढ़ जाएगी. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि संजय ने पूजा की कमसिन चुत में काफी अन्दर तक लंड पेल दिया था और अन्दर-बाहर करने लगा था. मैं उनकी चूत को चूसते चूसते इस तरह हो गया कि 69 पोजीशन में आ गया अब उनका जादू शुरू हो गया।उन्होंने मेरे लंड को पहले सहलाया, उसके बाद उस पर पता नहीं कुछ लगाया, शायद शहद ही होगा.

कुछ देर बाद भाभी बोलीं- तुम्हारे हाथों में तो जादू है, मेरे सर का दर्द एकदम गायब हो गया.

!इस बार हेमा की आवाज़ में कड़कपन था, जिससे सुमन थोड़ी डर गई और वहाँ से चुपचाप अपने कमरे में चली गई. मैंने अपने लंड पर ढेर सारा थूक लगा लिया, वो कुछ तो नेहा के थूक से पहले ही गीला था, फिर मैंने अपने लंड को चूत पर सेट करते हुए एक ज़ोर का धक्का लगाया.

फिर मैंने लंड उसकी चुत में थोड़ा और अन्दर डाला तो खून निकालने लगा वो चिल्लाने लगी. पापा बोले- सुमि क्या हुआ?मैं बोली- पापा आपकी पेंट में सांप है, जल्दी से पेंट निकाल दो. मोना और नीतू ने रात का खाना खाया उसके बाद कमरे में दोनों बिस्तर पर लेटी हुई थीं.

अचानक से मोना के तेवर बदल गए उसकी बोली में कड़कपन की जगह मिठास आ गई, जिसे देख कर गोपाल भी टेंशन में आ गया. हम जैसे ही पानी में उतरे, रिया को राजीव, मॉन्टी और राहुल ने घेर लिया और मनीष और यश ने मुझे अपनी ओर खींच लिया. स्कर्ट्स मेरी पसंद की ड्रेस, जिसमें से चुत का जल्दी काम लग जाता है.

देवर की बीएफ सेक्सी आख़िर वो एक शरीफ बच्ची है।टीना के बार-बार कहने पर सुमन मॉंटी के पास जाकर बैठ गई और उसकी कैप्री को नीचे खिसका दिया. यार मैं भी तो यहीं हूँ।फ्लॉरा- नहीं यार मैं नहीं कर सकती।टीना- अच्छा जाने दे.

गांव की सेक्सी वीडियो भाभी

मैं सोने की कोशिश कर रही थी पर अब नींद नहीं आ रही थी और मूवी वाले दिन की बातें याद आने लगी. हम पांच दोस्त हैं, हम सबका दिल आ गया दोनों पे! तुम दोनों बहुत सेक्सी हो यार!रिया और मुझे अच्छा खासा झटका लगा. वो रोने लगी, अपने होंठ मुझसे छुड़वा कर बोली- प्लीज विक्रम, मुझे छोड़ मुझे नहीं करना यह सब…मैं मर जाऊँगी.

मैंने कहा- क्या तुम मुझे प्यार नहीं करती?तो वो बोली- ऐसी बात नहीं है. वेतन अच्छा था, दो दिन कंपनी के रेस्ट हाउस में रहने के बाद मैं अपने किराये के घर में शिफ्ट हो गई. प्यासी जवानी सेक्सी पिक्चरजैसे ही लण्ड का टोपा सबीना की गांड के छल्ले में घुसा, सबीना की चीख निकल गई.

”हाँ, मन तो चोदने का है पर धीरे धीरे… कुछ कपड़े पहन लो ताकि मैं खुद एक एक कर के तुम्हारे कपड़े उतारूँ, तुम्हे नंगी करूं, फिर तुम्हारी चूत चोदूं!”तो मैं अपने कपड़े पहन कर आती हूँ.

बस मौका मिलना चाहिए फिर नहीं देखते कि सामने कौन की चुत है।संजय- क्या बात कर रही है साली पूरा लंड ले सकती है. महफ़िल के बाद डिनर पर हम बैठे तो शहज़ाद सर ने अपनी कुर्सी मेरे साथ रखी ताकि कोई न कोई बात होती रहे.

चाची- मेरी बच्चेदानी भर दी… उईई ईई!फिर उसने मुझे बोली- साला, कितना निकाल रहा है कण्ट्रोल कर!मैंने चाची के कान में कहा- नहीं होता… ईई?वो मुस्कुराने लगी. दोस्तो, मैं पहली बार कोई चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ, उम्मीद है कि आप लोगों को पसंद आएगी. डॉक्टर ने बताया कि इनकी काफी ब्लॉकेज है और ओपन हार्ट सर्जरी करनी पड़ेगी.

एक दिन संडे का दिन था, सुबह के 7 बजे होंगे, मैं उठा और सीधे बाथरूम में सूसू करने चला गया लेकिन जल्दबाजी में दरवाजा लॉक करना भूल गया.

जब रीना को विनय से प्यार हुआ, तो उसे कविता का ख्याल आया कि बिना उसके कविता कैसे रहेगी. चाची के मोटे मोटे चुचे बिल्कुल नंगे थे और चाचा के सर से टकरा रहे थे। मैंने इतने बड़े चुचे पहली बार देखे थे… मेरे मुंह से आउउ” निकल गया। ऋतु जो मेरे आगे खड़ी हुई थी उसने मेरी तरफ देखा और मुस्कुरा दी और बोली- वाह… आरती चाची की ब्रेस्ट कितनी बड़ी और सुंदर है. उसके बाद हमारी नॉर्मल बात हुई और उसने मुझसे शादी की पिक्स माँगे जो मैंने उनको भेज दिए.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी मूवी अमेरिका’ की आवाज निकली और फिर चुप हो गई, पर अब भी वो मेरा साथ नहीं दे रही थी. अन्त में उसने एकदम चिल्लाकर कहा- मैं गई, उम्म्ह… अहह… हय… याह…और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया.

सेक्सी बीपी वीडियो आंटी

गाड़ी में जाने के बाद मैंने उनसे पूछा- मेरा रुकने का इंतजाम कहां है?तो उन्होंने बोला- जब मैंने आपको बुलाया है तो सारा इंतजाम मेरा होगा. नेहा की गांड से खेलने के बाद मैंने उसका टॉप उतरवाया और बिस्तर पर पीठ के बल लेटा दिया, उसके ऊपर चढ़ गया और बूब्स के बीच में लौड़ा रख के बूब्स चोदने लगा. मेरा लंड एक ही झटके में ही सरसराता हुआ अन्दर चला गया, क्योंकि लंड गीला था.

हालांकि सुमन ने कभी चुदाई नहीं की थी मगर एक बार चुत रगड़ते टाइम उसकी उंगली जरा सी अन्दर घुस गई थी बस उसी पल से उसको अहसास हुआ कि ये छोटी सी उंगली से इतना दर्द हुआ तो लंड से कितना होगा और यही डर धीरे-धीरे उसको चुदाई के खिलाफ कर चुका था. ‘जी हाँ, तिवारीजी, न्यूड!’ मैं उस अहसास को शब्दों में बयाँ नहीं कर सकती कि नग्न अवस्था में सोने का अहसास कितना सुखद होता है. हमने थ्री सम चुदाई का तय किया, दिन फिक्स किया और मिलने का प्रोग्राम बना लिया.

सुमन ने फिर खुजने के बहाने से अबकी बार अपने पजामे में हाथ डाल दिया और उसे थोड़ा नीचे कर दिया यानि पजामे को बस दो इंच और नीचे करती तो उसकी चुत का दीदार उसके पापा को हो जाता. रमेश चुची के ऊपर अपनी जीभ फेरने लगा, उसके निप्पल को बारी बारी से चूस रहा था और एक हाथ से उसकी पैंटी के ऊपर से रगड़ भी रहा था. उसने ना में सिर हिलाते हुए मुझे घूर के देखा और बोली- इतने भाव क्यों खा रहा था दोबारा मिलने में?मैं- सिर्फ तेरी कसम की वजह से मिलने आया हूँ वरना नहीं आने वाला था.

मालूम है ना कि किसी लंड से कोरी चूत तक नहीं फटती, फिर आपकी तो बच्चे तक जन्म चुकी है. उसने तो सिचुयेशन संभालने के लिए ऐसे ही पूछा था और पूजा समझ नहीं पाई- क्या हुआ मामू आप हंस क्यों रहे हो.

अब तो पूजा बस अपनी चूत चटवाने का मजा लेने लगी और योगी उसके निप्पल चूसने लगा.

बहुत कोशिश करने के बाद मैं किसी तरह से मामा की बाहों से निकल पाई और भाग कर किचन चली गयी और ज़ोर से बोली- आप रूम में बैठो, मैं चाय बना कर लाती हूँ. हिंदी पिक्चर फिल्म सेक्सी वीडियो हिंदीमैं आपकी नाइटी खोलता हूँ।भाभी भी मान गईं और उन्होंने मेरी शर्ट को खोल दिया और साथ ही साथ मेरे पैंट और चड्डी को भी उतार दिया।उसके बाद मैंने नाइटी खोली।ओह माय गॉड. देसी हिंदी सेक्सी बीपी वीडियोमैं भी मामा के लंड को मसलने लगी, लंड एकदम लोहे की रॉड जैसा कड़ा हो गया था. वो बात जाने दो उसके बाद होश संभालने के बाद भी तो कुछ किया होगा?फ्लॉरा- हाँ यार, पहले तो पता नहीं था मगर बाद में तो तुम जानती ही हो मज़ा आने लगता है।टीना- हाँ यार, ऐसा मज़ा आता है कि सब मज़े उसके सामने फीके होते हैं।फ्लॉरा- मज़ा तो मैंने भी बहुत किया मगर एक साल से ये सब बंद हो गया।टीना- क्यों यार क्या हुआ कि पूरा एक साल निकाल दिया.

मगर साथ ही अपनी चुत पर जो मज़े का अहसास मिल रहा था, उससे वो बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो गई.

अब उसकी स्पीड थोड़ी कम हुई, उसने पूरा लौड़ा बाहर खींच के झट से अंदर डालना शुरू किया।जैसे तैसे मैंने कहा- पीटर, चलो बेड पे चलते हैं. उन्होंने आज रात को अशोक के लंड में आग लगाने का पूरा प्रोग्राम बना लिया था. मुझे काफ़ी मज़ा आया अब मुझे अगले दिन का इंतजार था कि मैं भीचाची की चूतचाटूं.

सबीना जमीला की चूत में उंगली करने लगी और थोड़ी देर बाद सबीना घुटनों के बल बैठ गई. क्योंकि उन्हें आईसीयू में दाखिल किया गया था और हमारे लिए कमरा नहीं था. नीतू के छोटे-छोटे चूचे और कुंवारी चुत देख कर गोपाल अपना संतुलन खो बैठा.

सेक्सी फिल्म बढ़िया बढ़िया वाली

कुछ पल बाद उन्होंने मुझसे कहा- क्या हम अब शुरू कर सकते हैं?मैंने ‘हाँ’ बोला तो वो तौलिया लेने के लिए कमरे में चली गईं. फिर क्या पता वो मेरा स्पर्म ही दें या नहीं? क्या पता एक बार में गर्भ धारण होगा भी या नहीं?मैंने उसे बताया कि जब आदमी और औरत फ्री सेक्स करते हैं तो लेडी सेक्स के मजे से हार्मोन छोड़ती है जो प्रेग्नेंसी में हेल्प करते हैं. ‘फिर?’फिर तुमने पूछा कि क्या मुझे ऊपर चढ़ कर चुदाई करवाना बहुत पसंद है.

इतने में भैया बोले- देखता क्या है, साले चोद ले अपनी भाभी को!इतना सुनते ही मैं सीधा भाभी के नंगे शरीर पर टूट पड़ा और उनकी चूत को चाटने लगा.

ज़रा सा निकल गया होगा।पूजा- नहीं मामू ज़्यादा निकाला, मेरी चड्डी पूरी खराब हो गई और पेट पे भी गीला-गीला हो गया।संजय- अरे कुछ नहीं हुआ आ इधर आ मुझे दिखा।संजय ने पास से अपनी टी-शर्ट उठाई और पूजा की टी-शर्ट को ऊपर करके उसके पेट और जाँघ से अपना वीर्य साफ किया। फिर उसकी नज़र पैंटी पे गई जो आगे से गीली हो रही थी।संजय- अरे अरे ये चड्डी तो गीली हो गई.

मुझे एक सेक्स डॉल मिल गई थी और मैं जानता था कि वो एक दिन सेक्स क्वीन बनेगी और वो मेरी होगी. रमेश ने भी काफी दिनों से चुदाई का मजा नहीं लिया था और 18 साल की सरिता को इस अवस्था में पाकर उसे चोदने का मन बना रहा था. 16 साल की लड़की सेक्सी वीडियो हिंदी मेंरीना को उसकी एक बचपन की सहेली कविता का सपोर्ट है जो उसी शहर में रहती है और बैंक का जॉब करती है.

रास्ते में मैंने उनसे नाम पूछा तो एक ने अपना नाम प्रिया और एक ने नेहा बताया. मैंने लंड को मेरे गुलाबी होंठों के बीच पकड़ लिया और अपने गले की गहराइयों को नापने लगी. ’मुझे नंगा करके सविता बोली- तुम्हारा तो लंड पेंट में परेशान हो रहा था.

रिया तो मेरी उम्मीद से भी ज्यादा चुदक्कड़ निकली, जब देखो तो उसके सर पे सेक्स का भूत चढ़ा रहता. अब मेरे हाथ उसके मुलायम दूध की थैलियों यानि उसके मम्मों पर जम गए थे.

रुचिका और नेहा ने सभी को काफी सर्व की और खुद भी काफी का कप लेकर हमारे बीच आकर बैठ गईं, सुलेखा को मैंने पहले ही अपने पास बिठा लिया था जब हम अरमान को छेड़ रहे थे, तो हमें देख कर नेहा बोली- ओह इधर ये जनाब जी, फिर सुलेखा को पास लिए बैठे हैं.

फिर मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू किया और उनकी चुची को दबाने लगा. राहुल के जाने के बाद मैंने ऋतु से बात करने की कोशिश की, उसने सही से जवाब नहीं दिया. उसने आगे बढ़कर अपने होंठ मेरे होटों पे रखे और हम दोनों एक लम्बे किस में खो गयी.

सेक्सी बीपी साडीवाली व्हिडिओ मैं कुछ देर वहीं खड़ा रहा और फिर मैंने अपने मोबाइल पर हथेली रख कर हल्का सा उजाला किया. फिर उसने मेरी तरफ देखकर कहा- निकी, एक काम करते हैं!मैंने कहा- क्या, बोल?फिर उसने नजर घुमा कर खिड़की से बाहर देखते हुए कहा- जब हम घर पहुंचेंगे तो तू अपने बैडरूम में सोना, मैं और पीटर मेरे रूम में सोएंगे.

अब उससे सिर्फ बात होती है क्यूंकि वो भी अपने पति के साथ आउट ऑफ़ इंडिया चली गयी है. मैंने एक हाथ से अपना लंड पकड़ा और चूत के मुहाने पर सैट करने लगा, तभी चाची ने मुझे रोक दिया और धक्का देकर मुझे अपने ऊपर से हटा दिया. ये कल शाम की ट्रेन से बैठ जायेंगे; और सुन मैं इनके साथ तेरे लिए दही बड़े भी भेज रही हूं इमली की चटनी के साथ, तेरे को बहुत पसंद हैं ना!पत्नी जी के इतना कहते ही बहूरानी की हंसी की धीमी खनक मेरे कानों में पड़ी.

भाभी की चुदाई करने वाली सेक्सी

मेरे टी-शर्ट उतारते ही वो मुझ पर ऐसे झपटी कि मुझे अपना बनियान उतारने का मौका नहीं मिला और उसको फाड़ते हुए उसने मेरी छाती पे उभरी घुंडियों को बारी बारी से चूसना और काटना शुरू कर दिया. मुझे लगा कि शायद और लड़कों की तरह यह भी मुझ से लड़कियों के नंबर माँगने की कोशिश करेगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं था, उसने मुझे अपनी माँ को चोदने का मौका दिया. मैंने पूछा- वैशाली क्या तेरे घऱ पर कोई नहीं है?तो बोली- हाँ सब लोग शादी के लिए गाँव गए हैं, मैं अकेली हूँ.

अब क्यों चुप बैठी है क्या हो गया तुझे?संजय की आवाज़ सुनकर टीना का ध्यान टूटा ही नहीं, वो तो उसी कमरे में पहुँच गई थी. कोई आपको मुझसे काम हो तो जरूर बताना क्योंकि मैं लता और हेमा भाभी के भी काम करता हूँ.

5 मिनट बाद रफीक ने कंडोम उतारकर अपना लण्ड जमीला के मुँह में और मैंने जैसे ही लण्ड बाहर निकाला तो खुद सबीना ने कंडोम निकाल कर फेंक दिया और मस्ताना को चूसने लगी.

अनुराधा- आज नहीं मूड भैया…मैं- नखरे मत कर रांड…अनुराधा- ना…वो मुझे छेड़ कर भागने लगी. तिवारी यह जानने के लिए उत्सुक था कि इन दो दिनों में अनीता और उनकी उस लेस्बियन सहेली ने क्या गुल खिलाये होंगे. मैं बहुत तेज़ी के साथ उसको चोद रहा था और माँ अपने चूतड़ों को नचा-नचा कर आगे-पीछे की तरफ धकेलते हुए मेरे लंड को अपनी चूत में लेते हुए सिसिया रही थी- ओह चोद मेरे राजा… मेरे लाल उईई क्यों योऊ ऊउउऊ अपने लंड… और ज़ोर से चोद… ओह… मेरे चुदक्कड़ बालम, सीईईई… हरामजादे बेटा… और ज़ोर से पेल मेरी चूत को… ओह ओह… सीईई… बहनचोद… मेरा अब निकल रहा… हाईई…ईईई ओह सीईई.

जब किसी को आपके लंड से चुद कर खुशियाँ मिलतीं है तो ऐसी खुशियाँ मैं हर एक असंतुष्ट महिला या लड़की को देना चाहूंगा. देखो तुम भी ऐसे सो जाना!”इसको डर नहीं लगता?”अरे डर कैसा? मनोज ने चोदा होगा तो रात को ऐसे ही आकर सो गई. कहीं तू अपने पापा से चुदवाने के चक्कर में तो नहीं है ना?सुमन- छी: छी: दीदी आप कैसी बातें कर रही हो.

मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कन्धों पर उठा लिया और उसकी पकोड़ा सी चूत पर मेरे हथोड़े से वार करता रहा.

देवर की बीएफ सेक्सी: इसके साथ ही उसका मादक अंगड़ाई लेते हुए सिसकना और उसकी आँखों में चढ़ता हुआसेक्स का खुमारमुझे पागल बना रहा था. मैंने रजनी के चूचों को कस कर दबाया और उसके होठों पर एक मस्त किस किया.

इस समय मेरी भार्या मस्ती में घूघूघू… की आवाजें निकालते अमरीकी मेहमान का तना हुआ मोटा लंड चूसने में लगी हुई थी. अबकी बार दीदी ने मेरे ओवर पर पानी डाला तो मैंने उन पर पूरी बाल्टी ही डाल दी. जैसे-जैसे मेरा हाथ उसके हाथ के नीचे दबा हुआ उसके लंड पर रगड़ खा रहा था.

जल्दी ही उसके लंड ने जवाब दे दिया और इतना रस फेंका, जिससे पूजा की चुत का कोना-कोना भर गया.

सविता के विवाह के समय उनकी कुछ अन्तरंग सहेलियां मजाक कर रही थीं कि सविता जैसी लड़की को एक लंड से कैसे संतुष्टि मिलेगी. अब मैंने उसे चूमते हुए उसकी नेक पर किस किया और चाटने लगा, वो अपने मम्मों को ऊपर कर रही थी. मैंने उसको देखा और उसे उसके कंधों से उठा कर ऊपर उठाया और कस के गले लगा लिया.