चीन का बीएफ

छवि स्रोत,पड़ोस वाली भाभी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली बीएफ ब्लू: चीन का बीएफ, आंटी- झूठे, तुमने कल जब फोन किया तो मैं यहीं पर थी, जब मेरा बेटा तुमसे बात कर रहा था.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो मां और बेटे की

’फिर हम दोनों एक साथ झड़ गए और धीरे-धीरे शिथिल होते हुए अलग हो गए।इसके बाद मैंने दीदी से थोड़ी इधर-उधर की बातें की कि उनको कैसा लगा।दीदी बोली- अब और कौन से स्टाइल बाकी है?दोस्तो, सुरभि दीदी को नए नए आसनों में चुदने की बड़ी इच्छा थी. भोलेनाथ सेक्सीपोर्न मूवीज से लेकर वाइब्रेटर तक सब का वो खुल कर इस्तेमाल करती थीं और दोनों ने आपस में यह वादा किया था कि जिसकी भी शादी पहले हो जाएगी उसके पति से पहला सेक्स दूसरी करेगी… इंजीनियरिंग की पढ़ाई ख़त्म होते ही साराह की शादी विवेक से तय हो गई जो एक एमएनसी में जीएम था.

बाइक अंधेरी सड़क पर दौड़ती जा रही थी और संदीप के लंड में तूफान उछाले मार रहा था. कुत्ते के साथ सेक्सी विडियोबस करता जा और फिर भूल जाईयो कि क्या हुआ था।मैं चुपचाप खड़ा रहा।फिर उन्होंने कहा- तू मेरी सलवार का नाड़ा खोल।मैंने खोल दिया और फिर उन्होंने कहा- मेरी कुरती को भी उतार और ब्रा का हुक खोल दे।मैंने उनकी कुरती उतार दी और फिर जैसे ही पीछे की साइड से ब्रा का हुक खोलने लगा.

जो अपने पति से संतुष्ट नहीं थी। उसका पति हमेशा अपने काम में व्यस्त रहता था। दुशाली ने कुछ घूमा भी नहीं था.चीन का बीएफ: हम एक ही सोसाइटी में रहते थे और हमारे परिवार भी बड़े थे इसलिए हम लोग कोई जल्दबाज़ी नहीं कर सकते थे.

अँधेरा हो चुका था… आस-पास ना कोई था और ना कुछ था तो मम्मी ने कहा- यश, कुछ दूर तक मेरे साथ ऐसे ही नंगा होके चल ना!तो यश ने कहा- ठीक है.मैं अधनंगी थी और अपने स्तनों को देखने लगी… फिर मैंने रोहन की तरफ देखते हुए उसे कहा- रोहन, बहुत शरारती हो गया है तू?और फिर हम दोनों हँसने लगे।हम दोनों अभी भी गीले थे… रोहन मेरे पास आया और मेरे मम्मों पर एक चुम्मी देते हुए मेरी पैंटी को भी उतार दिया… मेरी नाइटी, ब्रा और पैंटी वही जमीन पर पड़ी हुई थी… मैं बिल्कुल नंगी रोहन के सामने खड़ी थी और फिर रोहन टॉवल लेकर मेरे नंगे शरीर को पौंछने लगा.

सेक्सी लड़की सेक्सी लड़का - चीन का बीएफ

मेरे मम्मी पापा उनके पापा को चाचाजी बोलने लगे और उस हिसाब से मैं उनको अंकल, आँटी और दादाजी कहने लगी.पिछले तेरह माह से मैं बिना विवाह किये भी एक शादी शुदा पुरुष की तरह जीवन जी रहा हूँ और माला विवाहित होने के बावजूद भी एक पर-पुरुष के साथ जीवन व्यतीत कर रही है.

राजे ने झपट के मुझे अपने पास घसीटा और मेरे मुंह से मुंह चिपका दिया. चीन का बीएफ तू कॉलेज जा तुझे देर हो रही होगी।सुमन- अरे आपको नाराज़ छोड़कर कैसे चली जाऊं.

फ्लॉरा सुन लेगी जाओ बाहर, मैं नाश्ता लगा देती हूँ।जॉय- अरे ये फ्लॉरा आज उठी नहीं क्या.

चीन का बीएफ?

वो पूरी ताकत पूरी जोश के साथ मेरे साथ सेक्स करते हैं और उनकी इसी बात पर आज तक मैंने उनके सिवाए किसी और को मेरी लाईफ में नहीं आने दिया। मेरी सहेलियां मुझे हमेशा कहती थीं कि तुम बॉयफ्रेंड बना लो, पर मैं जब भी उनके बारे में सोचती हूँ तो मुझे ये करने का दिल नहीं मानता। सच कहूँ दीप आय एम सॉरी आज मैं बहुत सोच कर आई थी कि तुम्हें अपने साथ. अब उसकी चूत पे बची थी सिर्फ एक काले रंग की पेंटी और ऊपर मम्मों पे वाईट रंग की ब्रा. उसकी लप लप लप करती हुई रस बहाती हुई चूत मानो लौड़े को न्योता दे रहे थी.

मेरे शौहर ने कहा- एक बार में इतनी बड़ी रंडी बन गई हो?मैंने कहा- अब देखना मेरा रंडीपना…फिर हम घर चले आये. तीसरी और सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि मेरी मान प्रतिष्ठा मोहल्ले में बहुत अच्छी थी अतः मैं किसी भी तरह की कोई भी रिस्क लेने के खिलाफ था या स्थिति में ही नहीं था तो मैं स्नेहा का चक्षु चोदन करके और उसे ख्यालों में लाकर अपनी बीवी को चोद चोद कर या मुठ मार कर ही खुश था. रामू काका ने अपने गिलास से गीता को एक घूंट पिलाई और बोले- ये जो गीता है न जय, साली बहुत प्यासी है लंड की, अगर इसका बस चले न तो साली सारी रात चुदाई करवा कर भी इसका पेट न भरे.

मैं धीरे से रूम में घुसा तो देखा कि बिमलेश लाल साड़ी में ही बेड पर लेटी थी।मुझे देख कर बिमलेश मुस्कुराई और मुझे नमस्ते बोला और पेट के बल लेट गई. उसकी शादी एक अच्छे लड़के से हुई, वो यहीं मुंबई में ही एक बैंक में जॉब करता था। धीरे-धीरे वक़्त गुज़रता रहा। आरती माँ बनी. बात भी ठीक है, बिना जीवनसाथी के क्या रहना… सिर्फ सेक्स सब कुछ नहीं होता.

एक बार मॉल में कुछ लड़के मुझे छेड़ रहे थे तब ऋषि ने मुझे उनसे बचाया था और हॉस्टल तक छोड़ा था. उन्हें देख कर अजय को मस्ती आ गई, उसने रिसोर्ट की हेल्प डेस्क से चारों के लिए स्विमिंग कोस्ट्यूम इशू कराये और चारों कपड़े बदल कर स्विमिंग पूल में उतर गए.

अपने टीचर और उनकी बीवी की चुदाई देखने के बाद कोमल के साथ लैस्बियन सैक्स के दूसरे दिन सुबह उठ कर मैंने कोमल को और कोमल ने मुझे थैंक्स कहा, फिर मैंने कोमल को रात की प्लानिंग समझा दी.

इतनी सी पीकर भी आउट हो जाते हो।मैं उठ कर बैठ गया, तभी संदीप मेरे पास आया और उसने मुझे गले से लगा कर कहा- दीप आई लव यू.

लगता था कि आज तो ये सख्त हुए चूचे थोड़े तो मुलायम हो ही जायेंगे, निप्पल भी हवस की तेज़ी में ऐंठ गए थे जैसे राजे का लौड़ा ऐंठा हुआ मेरी चूत की खबर ले रहा था. तूने ऐसा क्या किया कि तेरे चूचे इतने बड़े-बड़े हो गए।मैंने कहा- क्या करूँ, रोज अपने हाथों से इनको खूब दबाया है. मैंने उसकी जिप की तरफ देखा तो उसका लंड भी अब जाग चुका था और वो उसको अपने हाथ से सहला रहा था.

और कहानी भी अपने नाम के मुताबिक नहीं चल रही है तो दोस्तों सब्र करो. ये तुम्हारी योनि के ऊपर उगे रेशमी मुलायम बाल, और सिर्फ एक लकीर जैसी योनि की दरार मुझे पागल बना रही है. पर वो थके हुए आते हैं तो भी मुझे खुश रखने के लिए अपनी थकान दिखाते भी नहीं हैं। ऐसे लगता है कि वो सेक्स के बाद भी पूरे जोश हैं। मेरे कितना भी कहने पर वो एक ही बात कहते हैं कि जब भी तुम्हारे पास आता हूँ तो तुझे देखकर मेरी पूरी थकान चली जाती है। ये कहते हुए पूरी रात मेरे से इधर-उधर की बात करते हैं।मैं ये देखकर हैरान हो जाती हूँ कि इतना प्यार वो मुझे करते हैं। सच कह रही हूँ दीप.

पिछले एक वर्ष से माला ही मेरा एवम् घर का सारा काम करती है और अपने बालक के साथ मेरे ही साथ रहती एवम् सोती है.

लेडी इनकम टैक्स ऑफिसर ऑफिसर को चोदा-1अब तक आपने इस चुदाई की कहानी में पढ़ा कि मैडम मुझसे मालिश करवाने लगी थी और मैं उसके नंगे बदन पर अपना हाथ फेर रहा था।अब आगे. मैं दुशाली को गोद में उठा कर उसके रूम में ले गया और उसकी साड़ी और पेटीकोट को उतार दिया। नीचे वो काली पेंटी पहने हुई थी. जैसे ही मैंने कमरे के अन्दर जाकर मामी को ऐसे सजते सवंरते देखा तो आशिक लंड की प्यास जागने लगी जिसे मामी ने अपनी कातिल अदाओं से और भड़का दिया.

इतना अधिक चूसा कि दोनों मम्मों को बिल्कुल लाल कर दिया।यह हिंदी चुदाई कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!अब वो जोर-जोर से साँसें ले रही थी। मैं जींस के ऊपर से ही उसकी चुत को रगड़ रहा था। कुछ पल बाद मैंने उसकी जीन्स भी उतार दी।हय. तो वो बोलीं- पहले पैंटी के ऊपर से ही चाट।मैं चाटने लगा और थोड़ी ही देर में उनकी पैंटी पूरी गीली हो गई. अभी भी वहीं थे। मोना ने सोचा कि काका के अलावा तो यहाँ कोई है भी नहीं.

तो चलो आज सारी कमी दूर कर देता हूँ।इतना कहकर गोपाल ने मोना को गोद में उठा लिया और सामने के कमरे में ले जाकर बिस्तर पर लेटा दिया।गोपाल ने अंडरवियर को छोड़कर सारे कपड़े निकाल कर फेंक दिए और खुद बिस्तर पर मोना के ऊपर चढ़ गया।मोना तो जैसे कामवासना में जल रही थी.

एक तो रवि का जाना और ऊपर से बीती रात की घटना ने मुझे अंदर से तोड़ दिया. मैंने उसको बोला- होटल चलें कुछ देर के लिए?पहले तो उसने मना किया कि उसको टाइम पर घर पहुँचना है.

चीन का बीएफ स्तन चूसने और उन्हें मसलने उनसे खेलने का ऐसा आनन्द जीवन में मुझे इससे पहले कभी नहीं मिला था. मैंने फिर पूछा तो वो बोलीं- सॉरी मैंने तुमको इस बारे में नहीं बताया.

चीन का बीएफ ऐसे फ़ौरन थोड़े ही वो खड़ा हो जाएगा।सुमन- क्यों दीदी ऐसा क्यों होता है. उसको तलाक देना चाहता था। पता है तेरी बहन मरने जा रही थी। मैंने उसे बचाया और उससे कारण पूछा, तब उसने अपनी कहानी मुझे सुनाई और मैंने उसको यकीन दिलाया कि उसको जल्दी बच्चा हो जाएगा.

तब मेरी बीवी ने कहा- लंड को थोड़ा गीला करो!तो मैं अपना लंड बीवी मुंह के पास ले गया, वो मेरा लंड मुंह में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी और गीला कर दिया.

सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म नंगी

जांच के बाद डॉक्टरों ने यह भी बताया की माला बिल्कुल स्वस्थ है और उसमें कोई कमी नहीं है तथा वह किसी भी स्वस्थ पुरुष से सामान्य सम्भोग करके गर्भवती हो सकती है. मैंने तो पहले से दीवार से पाँव टिकाए थे सो मैंने धक्के तेज़ कर दिए। मेरी ठुकाई की रफ़्तार तेजी पकड़ने लगी थी। मैं भी उसकी चुत पर अपना लंड पटकने लगा।‘छट. तो ख़ुशी से फूली ना समाई। वो वाकयी में एक तगड़ा लंड था।संजय- मेरी जान ऐसे पकड़ के ही खुश होगी.

पहले तो मैंने भी थोड़ा अचकचा कर बैठाया मगर बाद में मैंने उसकी कमर पकड़ कर उसको अपनी गोद में सेट कर लिया. थोड़ी देर बाद रेशमा की तरफ देखा तो वो घूर घूर कर हमारी तरफ ही देख रही थी. काफी देर तक मम्मी ऐसा ही करती रही, उसके बाद मम्मी नीचे झुकी और यश के लंड को अपने मुख में ले लिया.

धीरे धीरे भाई इतना गर्म हो चुका था कि उससे रहा नहीं गया, उसने अपना लंड मेरे मुंह से निकाला और धीरे धीरे मेरी चूत की ओर आने लगा.

तूने देखा तो नहीं मगर कुछ सुना तो होगा, कोई बात या अजीब सी आवाज़?सुमन- हाँ दीदी याद आया. जून महीने की शुरुआत में गर्मियों वाले दिन थे।हम दोनों काम निपटा कर जब लौटने लगे. थक गए थे। दोनों खटिया पर चित्त होके सो गए।दस मिनट बाद जब चैन की सांस आई तो मैंने फोन निकाल कर टाइम देखा तो सुबह के पौने पांच बज चुके थे।मैंने कमला को किस किया और बोला- सुबह हो गई है, अब हमें अपने पहले वाले बिस्तर पर चलना चाहिए।कमला बोली- ठीक है.

शाम का समय हो रहा था और लंबे सफर के बाद मुझे काफी थकान महसूस हो रही थी, मैंने बस अड्डे पर बने एक स्टॉल पर जाकर चाय बनवा ली. मेरे बॉस दुकान के मालिक मुझे छोटू बुलाते थे, उनकी उम्र करीब 36 या 37 साल थी. हालाँकि उनके साथ कोच भी अलग जेट स्की पर था तो उसने हॉर्न बजाकर उन्हें धीमे चलने की चेतावनी दी, विवेक ने स्पीड धीमी तो करी पर वो कोच से हट कर दूर चलाने लगा.

मैं आंटी के पेट को चाट रहा था और धीरे धीरे उनकी झाँटों को चाटने लगा, आंटी मस्ती में आवाजे निकाल कर हिल रही थी. उसके बाद क्या था… मुझे भाभी की रजामंदी मिल गई, मैंने अपनी आंखें खोली और भाभी के होंठों से होंठ मिला दिए.

वो बोली- उठ गये आप भैया?तो मैंने कहा- हाँ!और वो चली गई वापिस अपने रूम में. समझी!सुमन- वो तो निकाल दूँ मगर उसके बाद जो करना है वो सोच कर ही डर लग रहा है. फिर रयान ने उसे नीचे पलटा और उसकी टांगें ऊपर करके चौड़ी कर दी और घुसेड़ दिया उसकीचूत में लंड… अब तो बेड पर वो घमासान हुआ कि शायद आवाज नीचे उसके माँ बाप तक भी पहुँच गई होगी.

यहाँ शहर में कौन किस को जानता है, जिसकी फ्री चुदाई मिलती है, मार! बहनचोद एक से एक चुदक्कड़ रहती हैं इस सोसाईटी में… कम से कम 20 औरतों को तो मैं जानता हूँ जो अपने पति के अलावा और मर्दों से चुदवाती हैं.

मैंने भी उसके लंड को अपने स्तनों के बीच दबा दिया, सुन्दर ने एक दो बार हिलाया और लंड से वीर्य छलक पड़ा. उसके मुँह से तेज़ आवाज़ निकली। कुछ देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने तेज़ रफ़्तार के साथ उसको चोदना चालू किया। हम दोनों की साँसें भी उतनी ही तेज़ी से चल रही थीं।दस मिनट की उस तेज़ रफ़्तार की चुदाई के बाद मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसके चूतड़ों में से लौड़े को छेद में डाला।करीब 10 मिनट इस स्टाइल से चोदने के बाद हम दोनों झड़ गए और हमने थोड़ा सा आराम किया. कोई बात नहीं मुझे चोदोगे क्या?पहले तो मैं एकदम से घबरा गया कि यह क्या बोल रहे हैं। फिर मैंने भी सोचा कि इसी के लिए तो हम दोस्त बने हैं तो मैंने ‘हाँ’ बोल दिया।फिर मैंने पूछा- लेकिन हम ये सब करेंगे कहाँ?तो अंकल बोले- मेरा रूम सुबह 10 बजे तक खाली रहता है.

सचिन ने करीब दस मिनट तक अपनी जीभ से मेरी बुर अंदर बाहर से चाट ली थी. वो वो भाभीजी, आपके बाल बहुत सुंदर हैं।मोना समझ गई कि लड़का शर्मा रहा है और ऐसे में ये उसकी आग शांत नहीं कर पाएगा.

तब हमलोग एक-दूसरे से चिपक कर सोने लगे।उन दिनों मैं अपनी झांटें साफ नहीं करती थी. बहुत ध्यान रखता है, पर क्या इतनी नजदीकी ठीक है?उसकी बात सुन कर रयान हंस पड़ा… बोला- कोई बात नहीं, वो रोमियो है तुम उसकी जूलिएट बन जाओ… कुछ भी करो, बस रोओ मत खुश रहो…निष्ठा बोली- कल को बाद ज्यादा बढ़ गई तो?तो रयान बोला- मुझे मालूम है कि तुम भागोगी नहीं उसके साथ… और भाग भी गईं तो लौट आओगी क्योंकि तुम जानती हो हम दोनों एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते. निष्ठा को उसने फोन कर दिया था, रात को 10 बजे वो घर पहुँच कर सबके साथ डिनर करके, गप्पबाजी करके वो अपने रूम में पहुँचा.

सेक्सी मराठी मराठी सेक्स

मगर समझदार बहुत है, चल तू घर जा और हाँ वो सामने अलमारी से तेरी चड्डी निकाल के बैग में डाल कर ले जाना.

मेरा नाम जय है, मैं गुजरात से हूँ, 25 साल का हूँ, मेरी हाईट 5’8″ है, मैं दिखने में गोरा हूँ, पतला हूँ, लुक वाइज़ सेक्सी तो नहीं हूँ, तभी मुझसे कोई लड़की दोस्ती नहीं करती थी. मुझे तो उनकी उंगलियों से ही मजा आने लगा। अब उन्होंने तीनों उंगलियां दो-तीन बार घुमाईं और हाथ निकाल लिया। अब उन्होंने अपने मशहूर लंड पर क्रीम मली. इतनी सी पीकर भी आउट हो जाते हो।मैं उठ कर बैठ गया, तभी संदीप मेरे पास आया और उसने मुझे गले से लगा कर कहा- दीप आई लव यू.

स्वाति मुझे अपने पति से भी मिला चुकी थी क्योंकि हम दोनों अच्छे दोस्तों की तरह ही थे, कभी किसी के मन में कुछ गलत नहीं था. मैं उसकी शर्ट के बटन खोल कर उसकी चुची मसलने लगा, उसे अच्छा लग रहा था, मजा आ रहा था, वो मुझे किस करने लगी और लंड बाहर निकाल कर सहलाने लगी. सेक्सी वीडियो इंडिया डॉट कॉमपिंकी ने अपनी जाँघों को भी सिकोड़ने की कोशिश की मगर मेरा एक पैर उसकी दोनों जाँघों के बीच फंसा हुआ था इसलिये वो असफल हो गई.

इसमें शरीर का कोई भी भाग छूटना नहीं चाहिए और आयिल का अंश अन्दर तक जाने से ही जादू का असर रोम-रोम से निकल सकता है।मेरा तीर निशाने पर लगा और मैडम ने वो ही कहा जो मैं चाहता था।मैडम ने कहा- शायद मैं खुद से सही ना कर सकूँ, इसलिए जब इतना किया है तो मेरा ये काम भी तुम ही कर दो अयान. मगर काका के लंड का जोश तो वैसा का वैसा ही था। अब मोना को लंड की चोट बर्दाश्त नहीं हो रही थी.

साराह ने ऐसा दिखाया कि उसने कुछ देखा नहीं है और जोर से विवेक को आवाज दी. मुझे मेल जरूर भेजें। आपकी मुस्कान ही आपकी प्यारी सोफिया की जान है।[emailprotected]सोफिया मंसूरी की सभी कहानियाँ. मैंने अपने दोनों हाथ उसके कंधे पर रखे और उसकी ब्रा की स्ट्रेप को नीचे की तरफ सरका दिया.

उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरी चुत चुदाई की सेक्सी कहानी पसंद आई होगी. और वो दोबारा कभी मुझे चोदने नहीं देगी।तो मैंने उसके पैर अपने कंधे पर लिए और किस करते-करते जोर का झटका दे मारा तो मेरा आधे से ज़्यादा लंड चुत में घुस गया और चुत की झिल्ली फट गई. राजू एक घुटने के बल बैठ कर बेल्ट में लिपटे लंड को मेरी बीवी के मुंह में घुसेड़-2 कर खेलने लगा, तो मैंने भी छेद बदला और खुद की पोजीशन भी… अब मैं घुटनों के बल बैठा राजू का लंड चूसती अपनी बीवी की बायीं टांग आसमान में उठा कर उसकी गांड मारने लगा.

बोली- ठीक है, आप दोनों आराम से निकलो…फिर क्या मेरी तो लाटरी लग गई… बाथरूम के अंदर गया तो सुजाता वैसे ही पड़ी थी… उसको बोला- मीटिंग आठ बजे है… तो अपने पास अभी दो घंटे हैं… क्या चाहती हो अभी तुम?बोली- मुझे दो नंबर को जाना है अभी…मैं बोला- कुछ नया अनुभव करने का क्या?मैं बोला- रुको…मैं बेडरूम में गया और वहाँ से कंडोम लेकर आया.

अब भाई बस लंड मेरी चूत पे रखने ही वाला था कि मेरा मादरचोद बॉयफ्रेंड का फोन आ गया. उसके मुकाबले दर्द भी मजा देने लगा।मैं डर गया कि बंदा झड़ न जाए, मैंने कहा- थोड़ा रूक जा।वह बोला- क्यों गांड दर्द करने लगी क्या? तुम्हीं तैयार थे.

वो अपने पैर पूरे खोल करके मुझे और चुत के पास खींच रही थी। मैं भी इस मूमेंट को पूरा एंजाय कर रहा था।कुछ मिनट बाद उसने कहा- अब मत रुको अपना लंड पेल दो. संजय जीभ की नोक से चुत को कुरेदने लगा। अब पूजा की चूत रिसने लगी थी, उसमें से पानी बाहर आने लगा था।संजय ने मौका देख कर अपनी उंगली पर थूक लगाया और चुत की फाँकों को फैला कर उंगली अन्दर करने लगा।पूजा- आआह. बस्सस… अब बहुत हो तो गया… बस्सस…’पिंकी की जांघों की पकड़ भी अब कुछ हल्की होती जा रही थी और धीरे धीरे मेरी‌ उंगलियाँ पिंकी की जाँघों के बीच जगह बना‌कर नीचे की ‌तरफ बढ़ती जा‌ रही थी, तब तक‌ पिंकी की योनि‌ भी काम रस से लबालब हो गई‌। मैंने फिर से पिंकी के होंठों को मुँह में भर लिया और हल्के हल्के उन्हें चूसना शुरू कर दिया.

मैं और मिताली फ्लॅट की तरफ गये और लिफ्ट में घुसे तो उसने कहा- आज कुछ ज़्यादा ही हैण्डसम दिख रहे हो!मैंने कहा- तुम भी कुछ कम सेक्सी नहीं हो!हम उसके घर में गये, वहाँ उसने मुझे टेबल दिया और बोली- ऊपर चढ़ जाओ, वो सामान का बॉक्स अलमारी के ऊपर है. फिर चची आकर मेरी बगल में लेट गई और अपनी चूत पर हाथ फिरा रही थी, उनको समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करें! उनकी चूत इतनी प्यासी हो रही थी कि कुछ भी मिलेगा, उसे वो अपनी प्यासी फुदी में घुसा लें. तुम कहो तो बात करूँ?मैंने मना कर दिया लेकिन अब रोज़ चुदाई के वक़्त वो ये सब कहते और मैं कुछ नहीं कहती.

चीन का बीएफ मुझे बहुत डर लग रहा है। इसके बाद में क्या करना है वो तुझे बताने की जरूरत नहीं है और हाँ दो-तीन दिन उसको सेक्स नहीं करने देना और शनिवार को नाइट को सेक्स करना. अब सहन नहीं हो पा रहा है।पर गुप्ता जी को तो मानो कोहिनूर का हीरा मिला हुआ था, वो चुत चूसते जा रहे थे।संजू गिड़गिड़ाई- छोड़ दीजिए, अब पेशाब निकल जाएगी.

नसे इंडिया

मगर मुझे एक बात हर वक़्त दिल में रहती कि जो हम दोनों के बीच हुआ उसकी वजह से स्वाति और उसके पति के बीच कुछ प्रॉब्लम ना हो!इसलिए मैंने स्वाति से थोड़ा दूरी बढ़ाना शुरु कर दिया… उसके बाद मैंने उसके साथ ये सब नहीं किया. फिर उसने मेरा लंड मुँह में लॉलीपॉप की तरह चूसना शुरू किया। मैं उसके बोबे दबा रहा था।फिर मैंने उसको अचानक से खड़ा किया और कहा- देख आज थोड़ा वाइल्ड गेम रहेगा. डॉक्टर को दिखाने के बाद हमने एक रेस्तरां में खाना खाया और फिर मैंने चची को होटल छोड़ा और बोला- मैं कल सुबह आऊँगा!तो चची डर कर बोली- नहीं, तुम यहीं रूको… मुझे इधर का कुछ मालूम नहीं है!उनकी बेटी भी सो गई थी.

वो नहीं बताना चाहो तो मत बताओ लेकिन इतना तो बता दो कि अपने इस अंग से खेलते खेलते तुम्हें लास्ट में कैसा फील हुआ था? जैसे उस वीडियो में उस लड़की की योनि से रस की फुहारें छूटती हैं वैसी ही पिचकारियाँ तुम्हारी चूत से भी …सॉरी चूत नहीं तुम्हारी योनी से भी निकली थीं?’मैंने चूत शब्द जानबूझ कर कहा था. विवेक पूल की सीढ़ी पर बैठ गया तो रूबी ने उसका लंड अपने मुँह में ले लिया. सेक्सी गजबथोड़ी देर बाद वो साथ देने लगी तो मुझको ज्यादा मजा आने लगा, मैं उनको गोदी में उठा कर, वहीं फोल्डिंग पड़ा था, उस पर लिटा दिया और दरवाज़ा बंद करके आकर ब्लाऊज खोल कर ब्रा ऊपर सरका कर उनके निप्पल को चूसने लगा था, बीच बीछ में उनके होंठों का रस पीने लगा.

अबकी बार वो दोनों चौंक गए, मैं हँसने लगा तो वो थोड़ा नोर्मल हो गए!‘अबे तू मेरे बचपन का दोस्त है.

सिर्फ़ 7 इंच का ही है।इतना कह कर मैंने फाइनल शॉट मारा पूरा लंड भाभी की चुत में जड़ तक पेल दिया।भाभी की चुत की हालत पंचर हो गई. मेरी चुदाई की कहानी कैसी लग रही है मुझे मेल जरूर कीजिएगा।[emailprotected]कहानी जारी है।.

जीजू अंदर आये मैंने उन्हें बैठने के लिए कहा और चाय बनाने के लिए किचन में चली गई. तो सभी मुझे काफी सहयोग करते थे। अब मैं काफी कुछ सीख चुकी थी।एक दिन दफ्तर में फोन आया कि कुछ लोग नदी से बिना इजाजत के रेत ले जा रहे थे।यह सुनकर दीपक और चंदन जाने लगे।चंदन ने मुझसे कहा- सोफी तुम भी चलोगी. ‘तो ये भी देखा होगा कि उन लोगों ने बहुत इलाज किया होगा लेकिन मुहाँसे दूर नहीं हुए होंगे लेकिन जैसे ही उनकी शादी हुई होगी, मुहाँसे गायब हो गये होंगे और चेहरा फूल सा खिल गया होगा.

मैंने पूछा- आप और मौसाजी किस पोजीशन में सेक्स करती हो?वो एक बार तो शरमाई, फिर धीरे से बोली- उससे क्या फर्क पड़ता है?मैंने कहा- आप शरमाती रहिये, मैं नहीं बताऊंगा ऎसे कुछ भी!तब उन्होंने कहा कि वो तो हमेशा डॉगी स्टाइल में करते हैं.

मैंने उसको टायर पँचर का बहाना बताने को कहा और बोला- कुछ देर के लिए चलते हैं. मेरे पति ने मुझसे पूछा- अब तबीयत ठीक हो गई?मैंने उनसे कहा- बात बाद में… पहले जो कर रहे हो, वो करो!वो मेरे मोम्मे चूसने लगे, मैं भी चुदाई के नशे में थी पर जो मजा कल आ रहाँ था, वैसा मजा नहीं आ रहा था. उसने कहा- यहाँ भी गुदगुदी हो रही है, तू एक काम कर मेरी जांघों पर हाथ रख ले.

गंदी बातों के साथ सेक्सी वीडियोऐसा रोल प्ले करके मेरे साथ मजे लो।मैं उन्हें बेडरूम में ले गया और उन्हें खड़ा रहने को कहा।मैं नीचे बैठ गया और उनसे बोला- मेम, मैं एक बिगड़ा हुआ लड़का हूँ और अपना होमवर्क करके नहीं आया हूँ. जब मुझे होश आया तो एक पल कि मुझे लगा कि सपना था पर पास में बैग देख कर समझ आया कि सपना नहीं यह सच था कि मैंने अपनी फीस के 1 लाख 30 हज़ार गुमा दिए थे.

सेक्सी खून वाली वीडियो

मेरा नाम जय है, मैं गुजरात से हूँ, 25 साल का हूँ, मेरी हाईट 5’8″ है, मैं दिखने में गोरा हूँ, पतला हूँ, लुक वाइज़ सेक्सी तो नहीं हूँ, तभी मुझसे कोई लड़की दोस्ती नहीं करती थी. मैंने ब्रा के उपर से ही उसके मम्मों को किस किया और कहा- वाओ, ये मस्त कबूतर तो अभी से बाहर निकलने को उतावले हैं. कर रहा था। फिर थक कर ढीली करके टांगें चौड़ी करके रह गया। उसके झटके गांड फाड़ू हो गए.

वो भी माँ के रूम में सोते और हम दोनों को फिर बाहर सोना पड़ता।जब कोई नहीं होता तो मम्मी हर वीक में एक बार चुदवाने के लिए खुद भगत के पास जाती थीं। अगर माँ नहीं जाती. वो बोले- नहीं, तुम भी मेरे साथ पीओ!मैं मना कर दिया पर वो ज़िद किये जा रहे थे- तुम दारू मत पीना, बियर पी लेना, बियर पीने से कुछ नहीं होगा!मैं बोली- चाहे दारू हो या बियर… मैंने कुछ नहीं पीनी!पर वो ज़िद पर अड़े थे!मैं मन ही मन सोच रही थी कि आज कुछ तो गड़बड़ है नहीं तो ये इतनी ज़िद कभी नहीं करते और आज मुझे बियर पिला रहे हैं. ’ करने लगी। लंड का वेग इतना तेज था कि मेरी बीवी की गांड गुप्ता जी के पेड़ू से सटते हुए पूरी छितरा जा रही थी और संजू की चूचियां पूरे वेग से हिचकोले खा रही थीं।वो दृश्य बड़ा ही कामुक था।संजू रिरयाते हुए बोली- आह.

मैंने थोड़ी वेसलीन अपने लंड पर लगाई और मानसी के पैरों के बीच में जा बैठा. कपड़ों से आजाद होते ही रोहन का लण्ड फनफनाने लगा।पूल में झड़ने की वजह से रोहन की चड्डी और उसका लण्ड दोनों ही उसके वीर्य से लथपथ थे. और कहानी भी अपने नाम के मुताबिक नहीं चल रही है तो दोस्तों सब्र करो.

थोड़ी देर बाद मेरी नज़र एक आदमी पर पड़ी, वो दिखने में तो पतला सा था पर स्मार्ट था. आंटी- झूठे, तुमने कल जब फोन किया तो मैं यहीं पर थी, जब मेरा बेटा तुमसे बात कर रहा था.

‘आअह्ह्ह आह आह आह आह ये ये ये यस यस यस ओह्ह्ह आआह्ह…’हालाँकि यह उसका पहली बार था, फिर भी वो अपनी पहली कोशिश में ही सफल रही शायद पोर्न फिल्म से सीखा था.

मैं तुझे कितने मज़े देता हूँ।काका की बात सुनकर मोना के होंठों पे एक मुस्कान आ गई। वो धीरे से काका के सीने से चिपक गई और लंड को सहलाने लगी। काका का लंड भी शायद इसी चाहत में था. ब्लू पिक्चर कुत्ता वाली सेक्सीरास्ते में हम तीनों हंसी मजाक करते हुए गए, पहले तो हमने चिंटू का काम पूरा किया उसके बाद हम दोनों उसके बाद एक घर गए जो चिंटू का ही है जहाँ हम दोनों अक्सर आते रहते हैं. इंग्लैंड की नंगी सेक्सी वीडियोपीस डालो…ऑडियो सेक्स स्टोरी-ऑडियो सेक्स स्टोरी- श्वेता और शब्दिता ब्यूटी पार्लर में लेस्बियन सेक्ससेक्सी लड़कियों की आवाज में सेक्सी बातचीत का मजा लें!मैंने तुरन्त निप्पल को कस के काटा और फिर अपने दाँत चूची में गाड़ दिये. पता नहीं रात को मेरी गांड का क्या हाल होने वाला है।मोना नीचे बैठ गई और काका के लंड को चूसने लगी। अब इसे इन दोनों की किस्मत कहो या कहानी की ज़रूरत.

धीरे धीरे भाई इतना गर्म हो चुका था कि उससे रहा नहीं गया, उसने अपना लंड मेरे मुंह से निकाला और धीरे धीरे मेरी चूत की ओर आने लगा.

! आह आह उई मर गई… मज़ा… आ… सी सी सी उई!सुनीता मेरे लंड से चुद रही थी और मजा ले रही थी. पर सभी फोटो बिना चेहरे के थे और आखिरी एक फोटो में बिमलेश का लाल साड़ी में फुल फोटो था चेहरे के साथ में…मेरा तो योगीराज बिमलेश की चूचियों और चूत को देख के तनाव में आ गया, जिसको मैंने दो बार मुठ मारकर शांत किया. सुल्लू रानी ने अपने को थोड़ा और आगे सरकाया, उसका मुंह बिल्कुल मेरे मुंह पर आ गया.

वो फूली हुई थी तो वो बोले- तुम्हारी चूत आज कुछ अलग सी लग रही है?तो मैं एकदम से डर गई कि अब क्या बोलूँ? तभी मैंने कहा- चुदने के लिये तैयार है, तुम बस अपना लंड निकाल कर डाल दो!वो बोले- नहीं, पहले मैं चाट कर रस पिऊंगा फिर डालूँगा!मैं अब कुछ बोल ही नहीं पाई कि क्या करें, बस जो होना है वो होगा. थोड़ी देर बाद उसने अपना पानी मेरी गांड पे छोड़ दिया और फिर बेड पे जाकर सो गया. मैंने उसको पूछा कि कहाँ तक छोड़ दूँ, तो उसने कहा- जहाँ भी कोई ऑटो दिख जाए, मुझे वहाँ ड्रॉप कर दीजिएगा।मैंने कहा- ठीक है!मैं गाड़ी चलाने लगा, वो भी शायद उसी रास्ते में कहीं आगे रहती थी जिस पर मेरा घर था। हम लोग चलते चलते मेरे घर के पास पहुँच गए लेकिन कोई ऑटो नहीं मिला.

कुत्ते बिल्ली की सेक्सी

मैं हैरान हो गया, मैंने पूछा- क्यों आ रहे हो?तो चची ने कहा- लड़की को डॉक्टर के पास दिखाना है. रीना रानी ने चिढ़ के कहा- राजे सुन… जब तक ये देखेगी नहीं इसकी समझदानी में कुछ न आने वाला… तू बैठ नीचे, मैं इसे दिखाती हूँ तू कैसे स्वर्ण अमृत पीता है… वैसे मुझे आ नहीं रही है फिर भी 4-5 बूंदें तो निकल ही आएंगी. मैं उठ के बैठ गई और बोली- राज जी, तुम इतनी गालियाँ क्यों देते हो?राजे दहाड़ा- चुप रह हराम की ज़नी रंडी… बहनचोद मेरे बेडरूम में गालियाँ देना लाज़िमी है… तू भी सीख ले रंडी अपनी चुदक्कड़ बहन जूसी रानी से… और हाँ ये राज जी राज जी बोलना बंद कर दे इसी पल से, जैसे जूसी रानी मुझे राजे बोलती वैसे ही तू भी राजे बोल.

आप मुझको ज़रूर बताना। अपनी दीदी को चोदा चुदाई की कहानी पर मुझको आपके जबाव का इंतजार रहगा।[emailprotected].

ये सब बातें क्यों कर रहा है?मैं बोला- बुआ आपका स्पर्श बहुत मस्त था.

जब पोर्न मूवी खत्म हो गई तो साहिल मेरी तरफ देखने लगे, मैं समझ गई कि वे क्या चाहते हैं?तभी साहिल बोले- सुहाना, तुम्हें इसी तरह मेरे साथ मजा लेना होगा।मैं उस मूवी के देखकर एक बार झड़ चुकी थी, फिर भी मेरे पूरे जिस्म में आग लगी थी, मैंने साहिल को अपनी सहमति दे दी. आंटी ने सारी पहनी हुई थी, वो बड़ी सेक्सी लग रही थी, मैं आज उन्हें किसी भी कीमत पर चोदना कहता था. सेक्सी हीरोइन नेममैं रीना के कहे अनुसार फर्श पर घुटनों के बल बैठ गया और रीना रानी बेड पर ठीक मेरे सामने आकर उकड़ूँ बैठ गई.

मगर ये जानना बहुत ज़रूरी है। उन दोनों के बीच सम्बन्ध कैसे हैं आज से तू रोज रात उनके कमरे में कान लगा कर सुनेगी। वो क्या बातें करते हैं, उनके बीच सेक्स होता है या नहीं, एक दिन नहीं. धीरे धीरे हम दोनों ही मूड में आने लग गए थे, मैंने उस कोऊपर किया और उसके साड़ी के पल्लू हटाने लगा. तू मेरा दोस्त है तुझे क्या मैं मना करता?’‘एक दोस्त अगर अपने दोस्त की पत्नी को चोदना चाहे तो इसमें बुराई ही क्या है.

भाभी थोड़ी पीछे हुई और चूतड़ हिलाते हुए मेरे हाथ पकड़ कर अपने चुचों पर रख दिये।मैं उनके चुचे दबाते हुए उनके गालों को चूमने लगा. मैं काफ़ी ज़्यादा उत्तेज़ित हो गई थी।फिर थोड़ी देर बाद उस डिलीवरी बॉय का व्हाटसैप पर लव मैसेज आया। फिर उसके बाद एक मैसेज और आया कि जानू आप कब फ्री हो?मैंने कोई उत्तर नहीं दिया। फिर उसने मुझे कॉल किया तो मैंने कट कर दी। फिर उसका मैसेज आया कि बेबी मैसेज में बात करो.

तभी मेरे पति बोले- तुम उठना नहीं और अपनी साड़ी गांड से पूरी उठा दो!तब मैं उनकी सारी बात समझ गई कि जो काम शादी में नहीं हुआ वो मेरे पति आज रोड पर करेंगे.

पर अटक गए क्या हुआ था कल?संजय- अरे कुछ नहीं वो कल हमने थोड़ी ड्रिंक की थी. उनको देख कर मैं और ज़ोर से लंड चूसने लगी, अपनी गांड को लंड पर पटकने लगी. इतना सख़्त हो गया कि पेंट को फाड़कर बाहर आने को बेताब था।अन्दर फ्लॉरा ने जालीदार ब्लू पेंटी पहनी थी.

मीणा का सेक्सी वीडियो इतने में मैंने अपना लड उसकी चूत पर रखा और धक्का मारा लेकिन चूत काफी टाइम से चुदी नहीं थी और गीली भी थी इसलिए मुझे मेरा लंड डालने में बहुत मशक्कत करनी पड़ी।और जैसे ही दो चार धक्कों के बाद मेरा आधा लंड अंदर गया तो वो चीख पड़ी, उसकी आँखों से आंसू निकलने लगे. तुम ऐसा कुछ प्लान बनाओ जिससे तुम उसकी बहन को चोद सको और वो तुम्हारी बहन चोद सके।इस बात पर हम दोनों खुल कर हंस दिए।फिर मैंने दीदी को बोला- तुम नींद की गोलियां रात को दूध में मिला कर मॉम-डैड को दे देना और फिर उसको घर में बुला लेना।यह सुन कर दीदी खुश हो गईं।वो बोलीं- लेकिन तुम उसके घर कैसे जाओगे?मैंने बोला- मैं आज नहीं जाऊँगा मेरा कुछ और प्लान है.

हमारी नताशा मजे के साथ कमर मटकाती हुई अपनी चुदक्कड़ गांड के छेद को स्वान के हैट जैसे टोपे पर रख कर नीचे को दबाते हुए बैठने लगी. लंड दुबारा पहले जैसा कठोर, और ताकतवर हो चुका था, और उत्तेजना के आवेश में कमरे की छत की तरफ झटके मार रहा था. आज तो मेरी सारी प्यास मिट जाएगी। ओह अजय, तुम्हारा तो मेरे ब्वॉयफ्रेंड जैसा है.

हिंदी सेक्सी धोती वाली

उसके बाद ही ये सब होगा।भाभी चली गईं।उसी दिन दोपहर को भैया मुझसे मिलने आए. तभी पूरे गांव की लाइट भी चली गई।‘अब मैं अपना काम खत्म नहीं कर सकती!’ मैंने नाराज होते हुए कहा. ऑफिस की लड़की की जबरदस्त चुदाई के बाद…दार्जीलिंग में मस्त चुदाई भरा हनीमूनआपने मुझे खूब ईमेल और सुझाव भेजे, जिनका मैं धन्यवाद करता हूँ.

सेक्स की देवी थोड़ा सा कुनमुनाई लेकिन उसने अपने मुंह से एंड्रयू का झड़ चुका लंड बाहर नहीं निकलने दिया जो अब फिर से कठोरता लेना शुरू कर रहा था. आंटी ने भी टाँगों से मेरी निक्कर निकाल कर अपनी टांग से मेरे लंड को सहलाने लगी.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आप लोगों को अपनी ज़िंदगी के पहली बुर की चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी बताना चाहता हूँ कि कैसे मैंने अपनी ममेरी बहन की बुर की चुदाई की.

मैंने आँखें बंद करके उसकी सलवार उतार कर एक तरफ फेंक दी और उसके दोनों घुटने पकड़ कर पेट की तरफ मोड़ कर जांघें दायें बाएं फैला दीं. मेरे मुख से यह बात सुनकर ज़ोर से हँसने लगती और मुझसे कहती- तू बहुत बदमाश हो गया है. मैंने अब थोड़ा स्पीड से दो तीन झटके लगाए और अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया और मैंने आगे से उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और किस करने लगा.

उसने मेरे मुँह में पेलना शुरू किया।मुझे धीरे-धीरे मज़ा आने लगा, एक तो लंड की खुश्बू, वो भी बिना धुला हुआ लंड और साथ ही इतना तगड़ा लंड। मैंने लंड को हलक तक लेने की कोशिश की और जोर-जोर से चूसना शुरू कर दिया।रमीज़- शाबाश गांडू, तुझे हमने पहली नज़र में सही पहचाना था कि तू हमारे काम का ही बंदा है।मैंने अपनी वेस्ट उतार दी. ऐसे जल्दबाज़ी में काम बिगड़ सकता है। टीना तुम सुनो शाम को मैं तुम्हें एक बुक दूँगा, उसके हिसाब से ही तुम सुमन को टास्क दोगी, अपनी तरफ़ से कोई एक्सट्रा काम ना करना. मगर ये सुधीर से मिलकर क्या होगा तुझे नहीं लगता उससे मिलने की कोई जरूरत नहीं है?मोना- नहीं मीना उससे मिलना ही होगा.

वो भी अपने पति को फुल मज़ा देगी।अपनी बहू की बात सुनकर काका मुस्कुराने लगे और मोना को अपनी बांहों में भर लिया।मोना की अन्तर्वासना अब दोबारा जाग गई थी, वो लंड को अब मुँह में लेकर चूसने लगी थी। उधर काका भी अब गर्म हो गए थे- आह.

चीन का बीएफ: ‘हाँ… रोहिणी तुम्हारी बहुत तारीफ कर रही थी और फिर मीटिंग रूम में तुम्हें देखने के बाद और जो तुमने मेरे साथ किया, बस मुझे तुम्हें पास से देखने की इच्छा हुई तो मैंने तुम्हें बुला लिया. मना किसने किया है, तू मेरा बेस्ट फ्रेंड है।मैं- ठीक है लेकिन ज़्यादा टाइट्ली करूँगा.

तो बताऊंगा।मैं गुजरात का रहने वाला हूँ। कई सालों से मैं अन्तर्वासना का पाठक रहा हूँ और इसकी कामुक कहानियां पढ़कर बहुत हस्तमैथुन भी किया है।मैं अभी 26 साल का हूँ। करीब एक साल पहले मुझे आंटी मिली, जिसके साथ की चुदाई की कहानी आप सभी को बताने जा रहा हूँ।वो कामिनी जी मेरे घर के पास रहती थीं. पर अब तक नाकाम ही रहा।फिर मेरी नज़र मेरी छोटी बहन नीलू पर पड़ी। नीलू दिखने में मस्त है. दोस्तो, यहाँ अब हमारे मतलब का कुछ नहीं, तो चलो वापस मोना के पास वहाँ शायद कुछ मिल जाए।गोपाल जब वापस आया तो मोना ने अपना मूड बदल लिया था और उसको सॉरी भी कहा। बस फिर क्या था दोनों ने जल्दी से पैकिंग की और गाँव के लिए निकल गए।दोस्तो, मैं आपको बता दूँ गोपाल के घर में उसके माँ-बाप के अलावा एक चाचा और चाची हैं, जिनकी कोई औलाद नहीं है और गोपाल भी इकलौता ही है.

मैं समझी नहीं?टीना- देख सुमन अब तू बड़ी हो गई है और अच्छा बुरा सब समझती है। आज तेरे पापा आएं तो उनको एक अच्छी सी हग करना और उनसे मीठी-मीठी बातें करना और दूसरी बात आज से तुझे उनकी जासूसी भी करनी होगी।सुमन- पापा से प्यार से पेश तो आ जाऊंगी मगर जासूसी कैसी करनी होगी?टीना- तुझे सुनकर बुरा लगेगा.

भाभी भी नहीं सोई थी, वो अपने मोबइल में कुछ कर रही थी। उन्होंने पिंक कलर की नेट वाली नाइटी पहन रखी थी. अब मैंने बिमलेश को मेरी टांगों के बीच में अधलेटी किया हुआ था और हमारा मुंह लैपटॉप की तरफ था। हिम्मत को हमारा साइड व्यू दिख रहा था।मैंने धीरे धीरे बूब्स को दबाते हुए ब्रा की स्ट्रिप खोल कर ब्रा एक साइड में उछाल दी और अब एक हाथ से बूब्स दबाते हुए और दूसरे हाथ को पैंटी के ऊपर से बिमलेश की रसीली मुनिया को सहलाया तो पाया कि बिमलेश की मुनिया तो पहले ही रस निकाल कर गीली हो चुकी है. मैं कहाँ भाभी की कुछ सुनने वाला था, मैं तो एकदम मूड में था।इसी बीच भाभी ने भी 69 में होकर मेरे लंड को खूब चूसा।भाभी बोल रही थीं- जानू पेल भी दो ना अपना हथियार.