सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सूरत के सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चेयर: सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो, वो सब मैंने एक कागज पर लिख लिए। फिर उसे धन्यवाद किया और फोन काट दिया।फिर मैंने उस वेबसाइट पर जाकर काफी वीडियो डाउनलोड किये जिनमें अलग अलग पोज़ से चुदाई चल रही थी। और कुछ लेस्बियन वीडियो डाउनलोड किये जो चाची को पसंद आएंगे, और कुछ देसी वीडियो भी।दूसरे दिन मैंने घर में कोई नहीं देख कर चाची को सारे वीडियो दिखाये जो चाची को बहुत ज्यादा पसंद आये.

सेक्सी गरम मसाला

वास्तव में कोई भी लड़की उसे देख लेती थी, तो वो उसी पल नितिन की दीवानी हो जाती थी. पुराने जमाने की सेक्सी मूवीअब तुम मेरे जैसे अपने से दस साल बड़े इंसान के साथ तो वो सब करोगी नहीं … तुमको अपनी ही उम्र के साथ वाले के साथ करना है, सो मुझे कुछ बुरा नहीं लगेगा.

इस बार मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके कंधों को कस कर पकड़ा और अंधा-धुंध धक्के लगाने लगा. सेक्सी पिक्चर जबरदस्ती करने वालीमेरे बोलते ही मौसी ने अपना हाथ हटा लिया और अपने साड़ी में पौंछने लगीं.

अंगूठा उनकी मखमली और चिकनी चूत में आगे पीछे करते हुए मुझे बहुत मजा आ रहा था.सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो: वो तो बस अपने मजे में मस्त थे।ससुर जी ने सुमीना यानि अपनी बेटी की चूत में अपनी पूरी जीभ घुसा रखी थी और बड़े ही मजे उसे खा जाने वाले तरीके चाट रहे थे.

मैंने प्रतिभा से पूछा- और तुम्हारे और वैभव के बीच का क्या माजरा है?तो प्रतिभा ने बताया- खुशी तुमसे बात करने के बाद मुझसे तुम्हारे बारे में बात करके मन हल्का करती थी.मैंने भाभी की चूत को देखा, वाह क्या गोरी चूत थी, एकदम मस्त पकौड़ा सी फूली हुई गोरी बुर मेरे सामने खुली पड़ी थी.

एचडी सेक्सी हिंदी चुदाई - सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो

मैंने कई मिनट तक उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसा और काटा, जिससे उसके दोनों चुचे सुर्ख लाल हो गए थी और कहीं कहीं लव बाईट भी बन गए थे.करीब 5-7 मिनट की मेहनत के बाद मौसी ने एकाएक मेरा हाथ अपनी चूत पर दबा कर पकड़ लिया और एक धीमी आह के साथ उनकी चूत बह गयी.

मैं व्याकुल होकर बोली- आह … अंकल … बहुत अच्छा … लग रहा है … और अन्दर घुसाऽऽऽओ आप अपनी … जीभ. सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो करीब 10-12 मिनट बाद मौसी आईं और बिना कुछ बोले ही मेरी बगल में लेट गईं.

झड़ने के कारण दोनों निढाल हो गए थे, इसलिए वे दोनों थोड़ा सुस्ताने लगे.

सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो?

मैं प्रशिक्षण केंद्र के अन्दर पहुंचा, तो वहां करीब तीस लड़के और लड़कियां एक साथ बैठे हुए थे. वो पागलों की तरह मेरे जिस्म के हर हिस्से पर चुंबन की बरसात करने लगी. चलिये इस कहानी का मजा लीजिये, सोनल के ही शब्दों में।दोस्तो, मैं सोनल पात्रा हूं और मैं 28 साल की सेक्सी औरत हूं.

उसने मेरी आंखों में देखकर आंखों में ही पूछा- क्या?मैंने फिर कहा- रश्मि. मेरी उंगलियाँ उसकी चिकनी और सफाचट चूत को केवल सहला रही थीं। अब बाल का नामोनिशान नहीं था उसकी चूत पर. अपनी उंगली को मैंने उसकी पैन्टी में फंसाया और झटके में उसके दोनों कपड़ों को नीचे कर दिया और हल्के से उस प्रारम्भिक जगह को चूमा जहां से शुभ्रा की चूत शुरू होती थी.

ये सुनकर मैं भी बहुत खुश हो गयी और मैंने भी उसको कहा- मैं भी तुमको प्रेम करती हूँ. हम लोग जब भी फ्री रहते हैं, तो एक दूसरे से अपने अपने बॉयफ्रेंड की बातें करते हैं. सर अब सहन नहीं हो रहा … बुझा दो मेरी चुत की आग, अपने लंड के पानी से!”यस नीतू … तुम्हें चोद चोद कर तुम्हारी चुत की आग शांत कर दूंगा.

बारिश इतनी तेज हो गई थी कि छत पर बारिश का पानी जमा होने लगा और देखते ही देखते छत तालाब बन चुका था. मैंने कहा- तो फिर इधर आइये!और सोफे पर बैठने का इशारा किया, वो बैठ गई तो मैं भी उसके बगल में बैठ गया और बोला- आपने कह तो कह तो दिया कि बेझिझक कह दूं लेकिन मैं कह नहीं पाऊँगा, बाकी आप खुद समझदार हैं.

पांच मिनट तक किसिंग करने के बाद मनीषा ने उठने का इशारा किया और बोली- मनोज आ जायेगा, हमें उठ जाना चाहिए.

बस एक दूसरे के मुँह में मुँह डाल कर एक दूसरे की जीभ को चूसने का भरपूर प्रयास करने लगे.

मैंने कहा- अगर आप सभी को ठीक लगे तो इस राउंड में सभी लड़कियों की गांड में लंड डाले जाएँ?मुस्कान बोली- नहीं यार, दर्द होगा और मज़ा भी नहीं आयेगा. कई साल पहले मेरी एक हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदीरसीली चूत में मेरा लवड़ाअन्तर्वासना पर आई थी. ऐसे आज तक किसी ने चूत मेरी क्या … किसी की भी चूत, किसी ने भी नहीं चाटी होगी, जैसे वंश चाट रहा था.

उसने मुझे फिर से सब बताया कि मेरे पापा एक वहशी चोदू किस्म के मर्द हैं. मगर ऐसा करने से रकुल के लिए उत्तेजना और सरप्राइज़ का मजा खत्म हो जायेगा. साली जी का चुदने से प्रथम स्खलन हो रहा था और उनके मुख से अस्पष्ट सी आवाजें आने लगीं थीं.

”अंशु अभी इसकी प्यास बुझा दे, बाद में हम दोनों मिल के इसे नहला देंगे.

मैं तेल की शीशी अलमारी से निकाल कर दोनों हाथों से उसके चूतड़ों पर तेल मलने लगा. पर अंकल जी, आप तो ऑफिस जाओगे न?”नहीं, मैंने एक सप्ताह की छुट्टी ले ली है. उसके साथ के मजे तो मैं कभी भी लिख सकता हूँ, लेकिन आज मैं आपके सामने मेरी साले की पत्नी यानि की मेरी सहलज के साथ हुई रसीली घटना बताने जा रहा हूँ.

उसी समय उसकी इस आदत ने मुझको गरमा दिया था और उसके साथ सेक्स करने को उत्तेजित कर दिया था. माणिक मुझसे पूछने लगा कि तुम्हारी सहेली का कोई ब्वॉयफ्रेंड है और उसके बाद वो मेरे बारे में भी पूछने लगा कि मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड है. ऐसा लग रहा था, उसकी बुर मेरे लंड को औऱ अन्दर तक खींच रही थी और मैंने अपनी पूरी जान अपने लंड के रास्ते उसकी बुर में जैसे लबालब भर दी.

मेरी बात सुनकर राधिका मेरी ओर देखने लगी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा ताकि सोनल उसके चूतड़ों पर चपत लगा सके.

शलाका का मुंह मेरी तरफ था और उसकी चूचियां मेरी छाती पर आकर दब गई थीं. तब मैंने एक हाथ शलाका की चूचियों के अंदर डाल दिया और उसकी संतरे जैसी चूचियों को सहलाने लगा.

सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो जब वो तौलिया ले के पास आया, तो मैंने देखा कि उसका लंड पूरा टाइट हो चुका था. हम इस पोज में करीब 20 मिनट तक चुदते रहे, फिर मैं झड़ गया और हमने ब्रेक लेकर थोड़ा खाना खाया।खाना खाने के बाद चाची बेड पर लेट गई, मैं भी चाची के पीछे लेट गया। मैंने चाची की पैंटी उतारकर लंड चाची की चुत में डाल दिया और कंचन चाची के सामने लेट कर उनकी चूचियाँ चूसने लगी.

सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो ये देख कर नम्रता बड़ी खुश हुई और फिर उसके बाद कुप्पी को गोल-गोल घुमाते हुए उसने कुप्पी के लम्बे भाग को पूरा अन्दर पेल दिया. पर शीना पूरी तरह से झड़ने के बाद बुरी तरह थक चुकी थी और उसमें थोड़ी भी हिम्मत नहीं थी कि वह खुद चार्ज ले सके और अपने आप मेरा लौड़ा अपनी गांड में घुसा कर उछल कूद कर सके.

बेबी रानी का सिर मेरे कंधे पर था और गुड्डी रानी का सिर मेरी बाज़ू से सटा हुआ था.

सेक्सी पिक्चर फुल एचडी मूवी

फिर मैंने उसे पकड़ा और उसे अपने गोद में बैठा दिया और उसे किस करते हुए उसके कपड़े उतारने लगा. मैंने उसके लंड को मुँह से बाहर निकाला और थॉमस का सारा पानी को धीरे धीरे गटक लिया. साली जी भी मेरे धक्कों से ताल से ताल मिलाती हुईं अपनी चूत उठा उठा कर मुझे दे रहीं थीं.

मैंने अपना एक हाथ लंड के ऊपर रखा जैसे मैं अनजाने में उसे सैट कर रहा हूँ और दूसरे हाथ से चीनी का डिब्बा भाभी की तरफ करके बोला- ये पकड़ लो. मगर जो मज़ा उसके छूने में था, वो मुझे खुद हाथ से करने में नहीं आ रहा था।अगले दिन मैं कॉलेज गई, उससे मिली भी … हम दोनों अब और भी करीब आ गए थे। कॉलेज में भी जब कहीं मौका मिलता हम एक दूसरे को किस करते, वो मेरे मम्मे बहुत दबाता। बल्कि एक बार तो मैंने उसके ज़ोर देने पर उसे अपने मम्मे बाहर निकाल कर भी दिखाये. ईइय … अंकल … कुछ भी … ”ईस्स्स क्यों? … बड़ा मस्त टेस्ट है … तुम्हें चाहिए क्या?” उन्होंने उंगली मेरी तरफ घुमाते हुए कहा.

डॉक्टर- ठीक है, कोई बात नहीं, इसका अब यही इलाज है कि आप इस लड़की के साथ नर्मी से पेश आएं और सौरभ को अपने घर पर ही रखें.

कुछ ही देर में कमरे की लाइट बंद हो गई और वह लड़की नीचे आकर बाहर खड़ी हो गई और बार-बार मेरी बालकोनी की तरफ देखने लगी. राधिका अपनी चूत में उंगली कर रही थी, वो बोली- ओके … सबसे पहले किसकी सील खोलोगे, अपनी बहन का या अपनी साली की?मैं- किसी की भी खोल दूंगा. उसने एक पल रुक कर लम्बी सांस ली और बोली- आह … सर … मुझे आपका लंड बिना बुरके के ही क़ुबूल है … क़ुबूल है … क़ुबूल है.

मैंने शिखा के होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और लंड को और ज्यादा अंदर पेल दिया. लेकिन वो बहुत ही कड़क स्वभाव की थी, हर किसी से बहस करना और झगड़ना उसकी हॉबी थी. जब मेरा लंड उसकी चूत से बार-बार छूता रहा तो मुझे खुद पर कंट्रोल करना भारी हो गया और मैं उसे बेड पर लेकर गिर गया.

बदले में मुझे भी कुछ मिलना चाहिए कि नहीं?मैं समझ गयी थी कि उसे क्या चाहिए था. वसुन्धरा जी …”राज … एक मिनट! आप मुझे बिना ‘जी’ के नहीं बुला सकते? मैं भी तो आप को बिना ‘जी’ के बुला रहीं हूँ.

दोस्तों मैं तो रोज रात को उसके चूतड़ों को याद करके मुठ मार कर सोता था. लेकिन आज सुबह से ही वो भी काफी खुश दिखाई दे रही थी, खुश तो मैं भी था. मेरा नाम जिग्नेश है और में गुजरात के एक शहर में अपने पापा के साथ रहता हूं.

इसका गला भी इतना खुला हुआ था कि उसमें से मेरे मम्मों की क्लीवेज साफ़ दिख रही थी.

जब भी मैं उसके आधे से ज्यादा स्तन को अपने मुँह में भर कर गांड उठाता था … तो वो मजे से और भी ज्यादा सिहर उठती थी. मैंने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा करके लंड सैट किया और अपना लंड उसकी बुर पर फिराने लगा. मेरे पिताजी तो काम करके आते ही खाना खाकर सो जाते हैं क्योंकि वो काफ़ी मेहनत का काम करते हैं और उनकी उम्र भी हो चुकी है.

देर हो जाने हाइवे से दो तीन किलोमीटर दूर घर सुनसान रास्ता होने के कारण बहू ने मंजू को हमारे साथ ही चलने को बोला. हम दोनों ने एक दूसरे से खुशी का राज जानना चाहा, तो दोनों ने ही खाली पीरियड में बताने को कह दिया.

मैं 6:15 फीट का इंसान और वह कुछ 5:15 फीट की एक नाजुक सी औरत … वो मेरे शरीर के नीचे धीरे-धीरे दब रही थी. चाची कामुक स्वर में बोलीं- चल ठीक है … आज तेरी चुदाई की गुरु बन जाती हूँ. थोड़ा बहुत ब्राउनिश कलर के साथ उसकी चूत की पुत्तियां भी ऐसी लग रही थीं कि जैसे कि कच्ची सब्जियों के बीच दो कलियां फंसी हों.

दिया कुमारी की लव स्टोरी

मैं भी चुदाई करते हुए कभी एक हाठ से चाची की चूचियों को दबाता था।अब मैंने नई पोज़ बनाई जिसमें चाची को लेटे हुए ही रहने दिया और मैं चाची का एक पैर उठाकर दोनों पैरों के बीच बैठकर चुदाई करने लगा.

”क्यों?”वो बोली उसे यह सब बिल्कुल अच्छा नहीं लगता?”नखरे करती होगी साली!”आज पहली बार नताशा के मुंह से मैंने गाली सुनी थी।जबरदस्ती ठोक देते साली को?”अरे नहीं … मेरा मानना है प्रेम संबंधों में कभी इतना रयूड (कठोर-अभद्र) नहीं होना चाहिए. वो आई, तो मैंने दरवाज़ा बंद कर दिया और उसको मेरी बांहों में भर लिया. मैं नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को पकड़ कर चुत में सैट करने लगी.

पापा और चाचा बाहर काम पर गये हुए थे और माँ कहीं रिश्तेदारी में गयी हुई थी. पर बर्दाश्त नहीं कर पायी, तो उंगली से खुजली मिटाने की कोशिश कर रही थी. हिजरा की सेक्सी पिक्चरकाफी देर से मैं धक्के पे धक्के मारता जा रहा था, जिसकी वजह से कमर में दर्द होने लगा.

हम लोगों का खाना खत्म होते होते मामा भी बाहर से आ गये और सीधा अपने कमरे में चले गये।सब कुछ समेटने के बाद मामी भी कमरे की तरफ जाते हुए बोली- देखो अब चुपचाप जाकर अपनी पढ़ाई कर लो, आपस में लड़ना मत, हम लोग मामी की बात सुनकर अपने-अपने कमरे में चले गये।करीब आधे घंटे के बाद जब मामा-मामी के कमरे की लाईट बन्द हो गयी तो शुभ्रा मेरे कमरे में आ गयी और बोली- आओ तुम्हें एक नजारा दिखाती हूं. जैसा कि मैंने बताया कि मैं जिस दिन घर में अकेली रहती हूँ, तो वो रात को मेरे घर रुक जाती है.

मैंने निहारिका से कहा कि मतलब तेरे पति ने तुझको प्रेग्नेंट कर दिया है और अब वो तुमको कई महीने नहीं चोदेगा. इसके बाद वंश ने मुझसे बोला कि मम्मी आप रियली बहुत सुन्दर लग रही हो. उन्होंने दोनों गिलासों में शराब डाली, फिर बोले- चल मेरे और अपने पैग वाले गिलास में मूत.

वो दोनों एक स्वर में बोलीं- बना लिया जूली के साथ सुहाग दिन आमिर मियाँ! जहाँ जाते हो हसीनाओं को अपने बीवी बना लेते हो. एक दिन अंकल ने मुझे अकेले में पूछा भी- क्यों नीतू … सब ठीक है ना?उनकी आवाज से ही पता चल रहा था कि वो भी टेंशन में हैं. उत्तेजना में मैंने मोनी की कमर को एक हाथ से पकड़ लिया और थोड़ा तेजी के साथ धक्के लगाने लगा.

अंकल के हाथ हटते ही मैंने जोर की सांस ली और अंकल के ऊपर चिल्लाने लगी- अंकल … आप बहुत बुरे हो … मुझे कितना दर्द हो रहा है.

सफर जारी था मस्ती लेते हुए!मैंने अपना मोबाईल निकाला इशारा करके उसका नंबर माँगा. मेरा खाना पीना कैसे होगा, इसको लेकर अम्मी के लिए ये काफी चिंता का विषय बन गया था.

कस के लिपटने के बाद भी कटि प्रदेश से ऊपर का शरीर आपस में स्लिप होता था. मैंने उसे बोला- बिल्कुल भाई तू चिन्ता मत कर, मैं सब सैट कर दूंगा, तू आराम से जा और बाकी मेरे ऊपर छोड़ दे. मैंने अपनी अम्मी को उस कामवाली की याद दिलाई, जो कि हमारे घर काम करती थी.

इसके बाद जब भी मौका मिलता पिंकी और नीता दोनों एक साथ चुद लिया करती थीं. हम तीनों लटक कर एक दूर से उलटे घूम कर चूत में पेंच की तरह लण्ड को कस और ढीला कर रहे थे. फिर उन्होंने कहा- आज तू अपनी चूची बाहर निकाल, ब्रा की जगह सीधे उसी पर माल गिरा देता हूँ.

सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो साथ ही साढ़े छह इंच लम्बे मस्त लंड का मालिक हूँ … और सेक्स में बहुत देर तक एक्टिव रहता हूँ. अब आगे …शाम को सात बजे के करीब मेरी नींद खुली तो मैं देख कर डर गया कि कहीं दीदी वापस न आ गई हो.

डीजे की मशीन

उस दिन मैं उसकी गांड भी मारना चाहता था मगर शिखा इसके लिए तैयार नहीं थी. इसमें से उसके निप्पल बाहर आ जा रहे थे और चूत को ढंके हुए थे, पर गांड के हिस्सा खुला हुआ था. ऊँची आवाज़ में सी सी सी हाय हाय करते हुए कुतिया ने ज़ोर से अपने नितम्ब उचकाकर चरम आनंद का पूरा लुत्फ़ लेने की कोशिश की.

कहानी पढ़ने से थोड़ा बहुत मुझे समझ में आ गया था कि लड़की को कैसे उत्तेजित किया जाता है. उनकी तरफ से कोई ऐतराज ना पाते हुए मैं भाभी की गांड को धीरे धीरे सहलाने लगा था. शुगर की सेक्सी वीडियोनील देख कर बोली- काफी कस कर चुदाई की है तुमने सारा की! पूरा समझने के लिए मुझे पूरी चुदाई की कहानी तफ्सील से सुनाओ आमिर!मैंने कैसे दिलिया और सारा को कल रात और आज सुबह चोदा, पूरी तफ्सील से सुना दिया.

सोनल की पीठ पर चढ़ने के दौरान ही मेरा खड़ा लंड उसकी गांड की दरार को टच कर रहा था.

फिर अचानक बोली- शरद तुम भी घोड़े के स्टाईल से घुटने के बल होकर अपनी गांड उठा लो. सेक्सी हिंदी कहानी के पहले भाग में आप ने पढ़ा कि मैं फोन पर आशीष के साथ चुदाई की बातों में लगी हुई थी और इधर मेरे जीजा मेरी चूत चाटने के बाद ऊपर की ओर बढ़ आये थे.

थोड़ी देर उन्होंने घर का काम किया और फिर थोड़ा टीवी देखने के बाद 12:30 बजे तो उन्होंने कहा- मैं खाना लगाती हूँ. मुझे झक मार कर विनीता को मना करना पड़ा और अपनी पत्नी के साथ वो दो दिन बिताने पड़े. उसकी चूत के आस-पास से धार बाहर निकल रही थी, तब तक आधी कुप्पी खाली हो चुकी थी.

मैंने ही अब उन दोनों को अपने से अलग किया और हम तीनों एक-दूसरे के साथ उसी मस्ती में नहाए … जिस मस्ती और प्यार में हम तीनों चुदाई कर रहे थे.

” यह बोलकर अंकल ने मेरी टांगें और फैला दीं और एक जोर का धक्का दे दिया. मैंने अपनी कहानी के पिछले भागों में बताया कि कैसे मैंने अपने बेटे को पटाया और उसके साथ अय्याशी की. दूसरी धार उनकी मूंछों और होंठों पर, तीसरी धार केवल होंठों के नीचे ही पहुंची.

सेक्स वीडियो चुदाई वीडियो सेक्सीआप लोग तो जानते ही हो कि अगर सरकारी काम कहीं भी करवाने जाओ तो बिना रिश्वत के तो कोई काम होने से रहा. मेरे कूल्हे को जोर से काटते हुए बोली- मजा तो बहुत है।तो मैं बोला- हाँ बहन की लौड़ी, अगली बार मैं तुझे बताऊंगा कि कितना मजा है। साली इतनी जोर से कहीं काटते हैं क्या?शुभ्रा- सॉरी यार!कहते हुए उसने मेरे कूल्हे को फैलाया और जैसे ही उसकी गीली जीभ मेरी गीली गांड से लगी तो मुंह से निकला- उफ्फ…क्या बताऊं दोस्तो, पूरे जिस्म में जैसे 11000 किलोवॉट का करंट दौड़ने लगा.

मराठी घोड़ा

उसने 5 मिनट तक मेरे संतरे जैसे होंठों को चूसा और सारी लिपस्टिक व लिप लाइनर छुड़ा डाली. उसके चूतड़ ऐसे लग रहे थे जैसे 2 बलून्स आपस में रगड़ खा रहे हों।मैं सारे शॉपिंग बैग्स लिए उसके पीछे-पीछे चल रहा था। वो लिफ्ट तक पहुंची तब तक मैं उसके साथ हो लिया। हमारा अपार्टमेंट 5 मंजिला था. बताओ मैं क्या करूं? इसीलिए मैं इस दुविधा में हूं और तुम्हारी मदद चाहता हूं.

तो वो बोली- अर्पित प्लीज आज मैं तुम्हें पा के बहुत खुश हूँ, आज मुझे मत रोको मुझे और शैम्पेन पीनी है, चलो और ले के आएं. फिर अपना तना हुआ लौड़ा उसके छेद पर लगाया और उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए अपना लंड उसकी गांड में घुसा दिया. दीपाली- ले मैंने भी पैर खोल दिए, अब क्या करेगा?मैं- तेरी झांटें और चुत को सहला रहा हूँ.

तभी रास्ते में रुमित ने कार की पिछली सीट पर भार्गव और तुषार के सामने ही मुझे नंगी करके चोदा. मैंने हल्के से वसुन्धरा को अपने साथ लगाया और उसके बाएं कान में अपनी गर्म सांस छोड़ते हुए उसके कान की लौ को अपनी जीभ से हल्के से छुआ, जिसके जबाव में वसुन्धरा ने मेरे दाएं कंधे पर जोर से काट लिया. मैंने कुछ धक्के मारे तो हम दोनों उम्म्ह… अहह… हय… याह… चिल्लाने लगे.

मैं शुभ्रा से चिपक गया और उचक-उचक कर देखने के चक्कर में लंड उसकी गांड से बार-बार टकरा रहा था. उस दिन के बाद मैं टेंशन से अंकल के सामने जाने से भी कतरा रही थी, पर कुछ भी करो, ये सब इतनी जल्दी नहीं भुलाया जा सकता है.

मैंने उसकी लंड चुसाई से आनंद में आकर अपनी आंखों को बंद कर लिया और उसके सिर को अपने लंड की तरफ धकेलने लगा.

एक अनुभवी आदमी मेरी मनोदशा समझ गया था कि मुझे चुदने से पहले अपनी झांटों का जंगल साफ़ करना होगा, इसलिए मैं आज नहीं चुद रही थी. सेक्सी वीडियो एचडी वीडियो डाउनलोडिंगथोड़ी देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी गांड उठाकर मेरा साथ देने लगी. एक्सएक्स सेक्सी वीडियोसइसके बाद राहुल ने मुझे दुकान के पिछले गेट से बाहर निकाला और आगे जा कर शटर उठा दिया. नम्रता- लेकिन तुम पहली बार मेरे घर आए हो, कम से कम एक गिलास पानी पी लो, उसके बाद अपना काम करना शुरू करना.

वो रमेश की ओर बेसब्री और कामुक अंदाज़ से उसको पीछे आते देख रही थी।वो बोली- डैड, इस रंडी की गांड मारने के लिए तेल लगा लो! नहीं तो दुखेगा।रमेश- तेरी गांड पहले से ही खुली हुई है साली रंडी.

वो बोली कि वो मौसी के पास जा रही है और मुझे उनको छोड़ने जाना है।मैंने यह बात शुभ्रा को बताई तो बोली- चल कोई बात नहीं, अभी मम्मी नहाने जायेगी और फिर तैयार होगी तो कम से कम 30-40 मिनट तो लग ही जायेंगे, तब तक हम लोगों के पास मौका है।तभी मामी की आवाज आयी- लल्ला, मैं नहाने जा रही हूं. संकोचवश मैंने कहा- जी ठीक है, आप जैसा कहेंगे मैं वैसा करने के लिए तैयार हूं. आह्ह ऊऊ … अंदर गिराओगे ना अपना गाढ़ा मुठ? अपनी रंडी बेटी को दे दोगे ना अपना मीठा मुठ डैडी? अपना ताजा ताजा मुठ मुझे पिला दो डैडी … आह्ह मैं बहुत प्यासी हूं.

फिर भी अगर आपके लिए मैं कुछ कर सकता हूँ तो बेझिझक बताइये?”वसुन्धरा फिर से ज़ोर से मुझ से लिपट गयी और मेरे कान में फुसफुसाई- राज!हूँ … !”मत जाओ. काफी देर से मैं धक्के पे धक्के मारता जा रहा था, जिसकी वजह से कमर में दर्द होने लगा. बाहर से तल्ख़, ठंडी, कठोर वसुन्धरा के अंदर अनछुये एहसासों का, प्यार की प्यासी भावनाओं का एक धधकता हुआ ज्वालामुखी छुपा हुआ था.

मद्रासी पिक्चर सेक्सी वीडियो

चढ़ती जवानी में जीजा का लंड भोगने के बाद 20 साल की उम्र में मेरी शादी हो गई थी. वो घर आते ही मुझे अकेला पाते ही किसी न किसी बहाने से वो मुझे छेड़ता था. नेहा एकदम सुबक गई और बोली- हाय कितना अच्छा प्यार करते हो?मैंने नेहा से पूछा- क्या रोहित प्यार नहीं करता?नेहा कहने लगी- राज, रोहित तो मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती है, उसकी बात करके मूड खराब मत करो.

मुझे नहीं पता था कि उनकी पत्नी कब आएँगी और इधर भैया मुझसे बात कर रहे थे और मैं भी हंस-हंस कर उनसे बात कर रही थी.

मेरे पिताजी तो काम करके आते ही खाना खाकर सो जाते हैं क्योंकि वो काफ़ी मेहनत का काम करते हैं और उनकी उम्र भी हो चुकी है.

पहले मैंने चुंबन करने वाली को बांहों में भर लिया और बिस्तर पर लिटाते हुए उसके चेहरे पर नजर गड़ा कर आंखें खोलीं, तो मेरी बांहों में प्रतिभा ही थी, जिसे देखते ही पहली नजर में ही मैंने ख्वाब बुनने शुरू कर दिए थे. मैं- जब उसने पहली बार तुम्हारी चूची छुई थी, तो तुमको कैसा लगा था?मीता- बहुत अजीब सा लगा था … पर अच्छा भी लगा था. गधा और लेडीज की सेक्सीजैसे ही मैंने जीजा का लंड मुंह में लिया तो वो उछलने लगे और बोले- आह्ह … ऐसे तो तुम्हारी दीदी भी नहीं करती है.

घुटनों पर बैठ कर वो मेरी दोनों टांगों को चौड़ी करके मेरी बालों वाली चूत को ध्यान से देखने लगा. जहां नितम्बों की गोलाई ख़त्म होती है, वहाँ जहां गुदा और योनि के बीच की जगह पर वसुन्धरा की पेंटी में वसुन्धरा की चुनरी का सितारा अटका हुआ था. इतनी बात सुनते ही प्रियंका बोली- तू अपनी चूत चुदा ले पहले साली! आज के लिए मैंने तुझे अपना चोदू यार गिफ्ट किया हुआ है.

अंदर जाते ही उसने मुझसे पूछा- क्या पिओगे?मैंने कहा- आज तो दूध पीने का मन कर रहा है. फिर मैंने उसे पकड़ा और उसे अपने गोद में बैठा दिया और उसे किस करते हुए उसके कपड़े उतारने लगा.

मुझे अब लगने लगा था कि मेरा लंड जांघिया को फाड़कर बाहर आने की कोशिश कर रहा है.

मैं मदहोशी से बेहोशी की ट्रिप पर निकल चुका था और अनिल भैया मेरे हाथ पैरों को पकड़ कर मुझे होश में लाने की कोशिश कर रहे थे. इस पर उस दुकानदार ने पूछा- क्या हुआ मैडम … आप पूरी बात तो बताएं?मैंने उसे अपनी बात बताई. दीदी बोली- मैं एक बात कहूं, तुम बुरा तो नहीं मानोगी ना!मैं बोली- अरे बोलो न … मैं भला बुरा क्यों मानूंगी.

तुळजापूर सेक्सी मैंने बाएं हाथ से वसुन्धरा को अपने साथ सटा लिया और अपने बाएं कंधे पर उसका सर टिका कर पीछे से अपना दायां हाथ उसके सर पर फेरने लगा. बेडरूम मैं जाकर उन्होंने मुझे बेड के नजदीक खड़ा किया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रखकर चूमने लगे, उनका लुंगी में खड़ा हो रहा लंड मेरे पेट पर चुभने लगा था.

उन्होंने गांड चटाई का जो चरम सुख मुझे दिया … उसे याद करके मेरी गांड आज भी उस दिन के लिए मुझे दुआएं देती है. थोड़ी देर में भाभी पानी लेकर आईं और इस बार वे बड़ी कामुक नज़रों से मुझे देख रही थीं. राधिका घोड़ी बन गई और सोनल ने अपनी भाभी के पीछे जाकर उसके दोनों चूतड़ों पर जोर से एक एक चपत मार दी, जिससे राधिका सिहर उठी.

इंडियन सेक्स वीडियो फुल एचडी

ये तो मेरे साथ खड़े लंड पर धोखा था, तो मैंने उन्हें फिर से दबोच लिया और उनके मम्मों को मसलने लगा. मेरी नौकरानी को इस बात का पता भी नहीं चलता था कि मैं अपने बॉयफ्रेंड को अपने घर बुलाकर चुदवाती हूँ. इतना चोदूंगा कि अपनी माँ को याद करोगी।उसने एक जोर का धक्का मारा और पूरा लण्ड एक साथ रिया की कसी हुई गाँड में उतर गया।रिया ने हालांकि गाँड बहुत मरवाई थी, मगर इतना मोटा तगड़ा लौड़ा ले रही थी इसलिए उसकी चीख निकल गयी। वो लगभग रोते हुए बोली- डैड आराम से तो पेलते, कहीं गांड फट जाती तो?रमेश- तुमको अब पता चला ना कि कैसा लगता है गाँड में लण्ड घुसता है तो। अब तो घुस गया.

तो उसके लिए उसमें इतना दम कहाँ है? ओह … प्रेम! उसका नाम लेकर मेरा मूड अब खराब मत करो. फिर उसने मेरी तरफ देखा और मेरी आंखों में लंड की प्यास देखते हुए उसने एक बमपिलाट झटका दे मारा.

मैं खीझ कर मौसी के मम्मे को और जोर से मसलने और दबाने लगा जिससे शायद मौसी को दर्द होने लगा.

मगर साथ ही इस बात का भी ध्यान था कि मोनी को भी तृप्त करना बहुत जरूरी है. आप लोगों को तो पता ही है कि गांव में लोग अक्सर जल्दी खाना खा पीकर सो जाते हैं. मैंने नींद का बहाना छोड़ उसकी ओर देखा, तो पाया कि उसकी आंखें लाल और अधखुली वासना की वजह से हो रही हैं.

मैंने किसी तरह उसे चोदने की कोशिश की लेकिन जब नहीं हो पाया तो हम वहां से निकल पड़े।बाहर निकलने के बाद अनिता ने बताया कि उसके घर वाले बाहर गये हुए हैं. जब सारा उसकी जीभ को अपनी जीभ से चूसती थी तो चूत लण्ड को अंदर खींचने लगती थी जैसे चूत लण्ड को चूस रही हो. इसीलिए मैंने तुमसे बिना पूछे ही तुम्हारा पूरा बीज अपने अन्दर ले लिया.

पांच सात मिनट बाद उनका लण्ड मेरे मुंह में फूलने लगा तो मैं समझ गयी कि क्या होने वाला है; लण्ड से रस का फव्वारा छूट कर मेरे मुंह में भर गया जिसे मैं निगल गयी.

सेक्सी चोदी चोदा बीएफ वीडियो: 15 मिनट तक हमारी चुदाई चलती रही। कभी मैं बसंती के ऊपर हो जाता था तो कभी बसंती मेरे ऊपर हो जाती थी. भाभी बोली- क्या मैं आज रात को तुम्हारे कमरे में सो सकती हूँ? मुझे अपने रूम में बहुत डर लग रहा है.

जैसे ही वसुन्धरा अपना बैग लेकर कार से उतरी तो मैंने कहा- अच्छा … वसुन्धरा जी!क्या मतलब?”मैं चलता हूँ वसुन्धरा जी! मैंने बहुत दूर जाना है. थोड़ी देर बाद भाभी के घर में मुकेश जाता हुआ दिखा, मुझे समझ आ गया कि भाभी ने मुझे घर क्यों भेज दिया था. मैं रिसीव करने नहीं गया … तो काफी डांट पड़ेगी … और अगर वे घर पहुंच गए … तो मैं क्या करूंगा.

दीदी के बूब्स देखने की वजह से मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था और पैंट में बम्बू बन गया था.

कहते हुए एक बार फिर मैं मुठ मारने लगा।शुभ्रा- ओके बाबा, अब तुम जैसा चाहो, वादा … मैं मना नहीं करूंगी. इस बार उसका पूरा लंड मेरी चूत में चला गया और वो अपना लंड मेरी चूत डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. मीता- थैंक्स … आप किसी को बोलोगे तो नहीं ना!मैं- नहीं … इस उम्र में ऐसा होता है.