और बेटे की बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ जबरदस्ती वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी हॉट सेक्स: और बेटे की बीएफ, प्लीज़ टीना बुरा मत मानना मगर तुम संजय की गर्लफ्रेंड हो किसी और की?टीना- गर्लफ्रेंड तो मैं संजय की हूँ मगर हम सब अच्छे दोस्त भी हैं तो सभी मेरे ब्वॉयफ्रेंड हैं.

नेपाली नेपाली बीएफ

मैं धीरे से मामा के कान बोली- आपकी झांट के बाल बड़े बड़े हो गये हैं साफ कर लीजिएगा. जर्मनी के बीएफपर मैं चुप रहा।सविता मेरे पास आई और बोली- दिव्या तुमसे बात करना चाहती है।सविता वहाँ से दूर चली गई.

फिर मैंने डॉक्टर को बेड पर लिटा कर उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और ताबड़तोड़ चुदाई में जुट गया. बांग्ला बीएफ फिल्म वीडियोगुलशन- ये क्या है अनिता… तुम ऐसे करोगी तो मुझे लगेगा तुम ये सब मजबूरी में कर रही हो… ख़ुशी से नहीं.

चाची के जाने के बाद मैंने अपने कपड़े बदले और थोड़ी देर आराम करने के लिए बिस्तर पर लेट गया और कब नींद आ गई पता ही नहीं चला.और बेटे की बीएफ: मैं पहले ही बता चुकी हूँ कि उसने यह शर्त रख दी थी कि जब वो मेरे साथ हो तब सुमित सिर्फ देखेगा, न तो छुएगा और न ही नज़दीक आने की चेष्टा करेगा.

चौड़ी सड़कें, वाहनों की भीड़, सजीधजी दुकानें, सड़क की साइड में फल, चाट वालों के ठेले.कहकर उसने मेरे थूक से सना हुआ अपना लौड़ा हाथ से हिलाना शुरु कर दिया और मुझे वहीं अपने सामने बिठाए रखा… उसके हाथ की स्पीड बहुत तेज थी, वो इस्स आह… इस्स आह… करता हुआ अपना लंड अपने हाथ में भरकर तेज तेज मेरी नाक के सामने मुट्ठ मार रहा था.

बीएफ सेक्सी ओपन करो - और बेटे की बीएफ

मेरे लंड ने आजाद होकर खुश होते हुए हवा में उछाल मारी और मैं स्नेहा के सामने जा खड़ा हुआ.मैं आपका ही इन्तजार कर रही थी।सुधीर तो किसी कठपुतली की तरह मोना के पीछे-पीछे खिंचा चला गया। उधर मोना भी बहुत तेज थी.

ऊषा आंटी से भी ज्यादा चुदवाने को तैयार हूँ… मेरा अंग-अंग लंड के लिए तड़प रहा है. और बेटे की बीएफ वो बोला- तू एक काम कर, यहाँ बैठ पहले आराम से… शांत हो जा… मैं ज़रा भैंसों को बाहर खदेड़ कर लाता हूँ.

पूरा फर्निशड मकान कहाँ मिलता रयान को… वो ऑफिस मैं बैठा सोच ही रहा था कि कोई एक बेडरूम का किराया शेयर कर ले तो बात बन जाए!तभी ऋषिका केबिन में आई, वो बोली कि उसे तो कोई ऐसी जगह नहीं मिल पा रही जहाँ सिंगल बेड रूम और किचन हो.

और बेटे की बीएफ?

बस फिर क्या था, मैं उठा और उसे कहा- चारपाई पकड़ और किचन में चल!और फिर हम दोनों चारपाई किचन में ले गये. मैंने धीरे से धक्का लगा कर अपना पूरा लिंग उनकी योनि में डाल दिया और नीचे झुक कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूमने लगा. इस पर ललचाए रुस्लान ने अपने भसंड लंड से चंगेज़ के लंड से ठसाठस भारी नताशा की गांड को कुरेदना चालू कर दिया!सारे क्रू मेम्बर्स सांसें रोक कर फिर से डबल एनल एक्शन का इंतजार करने लगे.

इस बार बाथरूम में माला के नग्न शरीर के भरपूर दीदार हो जाने के कारण मेरा लिंग तन कर खड़ा हो गया था जिसे ना तो मैंने छिपाने की और ना ही दबाने की चेष्टा करी. फिर मैंने मैडम का कुरता और पजामा उतार दिया, मैडम ने तो अन्दर ब्रा पैन्टी पहनी ही नहीं थी. मैं भी बहुत तेजी से ऊपर सीढ़ियों पर चढ़ रहा और सीढ़ियों के कोने में हम दोनों आमने-सामने टकरा गए.

फिर मैं मजाक करता रहता हूँ, लिबरल हूँ और लड़के साले लड़की जैसे जान छड़कते हैं। मैं कहता हूँ तू हैंडसम है तो है।रूममेट- सर मैं कैसे मानूं?वो ये कह कर मुस्कराने लगा।मैं तब कुछ समझा. टीना की बात सुमन के पल्ले नहीं पड़ी कि इस बात का पीरियड से क्या लेना-देना. एक दिन मेरे एक पक्के दोस्त राकेश ने कहा- क्यों ना हम सब लोग किसी रंडी को चोद कर आयें, ताकि थोड़ा रिलैक्स हो जायें।मैंने भी कभी किसी रंडी को नहीं चोदा था क्योंकि मैं उस लायक नहीं हूँ, मेरा लंड कह लो या लुल्ली बस मूतने के काम आती है.

पर अब बताऊं तो उनका फिगर 34-30-36 का था। कुल मिला कर वो सेक्सी व आकर्षित करने वाली माल थीं। उनके एक 3 महीने का लड़का भी था।जैसा मैंने बताया कि मैं रवि के साथ ही खेलता था. हम सभी ने हंसी मज़ाक करते हुए हल्का फुल्का नाश्ता किया तो जैसे ही रुचिका और अंशिका बर्तन लेकर नीचे जाने लगीं, रुचिका कहने लगी- आज का प्लान हम फीमेल बनायेंगी.

अब हम बहुत करीब थे। मेरे होंठों से उसके होंठ एक उंगली के दूरी पर थे। मैंने उनके फेस की तरफ अपना फेस आगे बढ़ाया, उनका बर्फ वाला हाथ मेरे छाती पर मुझे पीछे धकेलने लगा, लेकिन मैंने झट से उनको मेरी तरफ खींचा और किस करना शुरू कर दिया। उन्होंने कुछ सेकेंड रिप्लाइ दिया और मुझे जोर से पीछे धकेल कर उठ गईं।‘ये ग़लत है.

फूफा जी अब भी बेहोश थे मगर वो नशे की हालत में ही अपनी टाँगों को ऐसे अक़ड़ा रहे थे जैसे उनको भी महसूस हो रहा हो कि उनका लंड किसी चूत में घुस रहा है.

उसने मेल कॉन्वर्सेशन में सब कुछ उगलवा लिया। वो अपने कॉलेज के लड़कों से चुदवाती थी. फिर अचानक वह बोली- पहले एक बार तुम अपना लंड मेरी चूत में पेल दो, मुझसे रुका नहीं जा रहा. दूसरी बार में मजा आएगा।मैंने बोझिल आँखों से पता नहीं किस झोंक में कह दिया कि आंटी दूसरी बार तो आपकी बेटी को चोदूंगा।आंटी मेरी बात सुनकर हंसने लगीं और बोलीं- ठीक है, मेरे साथ ही उसको भी चोद लेना.

वो ग्रॅजुयेशन कंप्लीट कर चुकी थीं और शादी के लिए उनके घर वाले लड़का ढूँढ रहे थे. अन्दर से खारे कसैले अमृत का स्वाद…मेरी लालची जीभ कुँवारी कच्ची योनि का रस चाटते चाटते अमृत कूप में घुस गई और पिंकी ‘उह्ह्ह्ह… आहाह्ह्ह. जब मैं तीसरे दिन सायं को गया तो डॉक्टर आंटी ने मुझे स्ट्रेचर पर लिटा लिया और मेरा लंड पैंट से निकाल कर बोली- अब जख्म बिलकुल ठीक हो गया है.

वो देखने में बिल्कुल सीधी-साधी लगती थी पर उसके नैन नक्श बहुत तीखे थे.

’ करके मादक सिस्करियाँ भरने लगतीं, जिससे मेरा जोश और बढ़ता जा रहा था. ये सोच कर वो सीधी लेट गई और मॉंटी को उसने कहा कि वो उसकी पूरी बॉडी पे हाथ घुमाए. फिर दीदी ने मुँह घुमा कर मेरे लंड को देखा और बोली- ओह माय लव, सच में तुमने मुझे बहुत सुख दिया.

रोहित ने मुझे और रोहन ने आयेशा को पकड़ रखा था अमन हम दोनों के पीछे जाकर हमारी गांड सहलाने लगा. मुझे देखने दे कि अन्दर खुजा-खुजा कर तूने क्या हाल किया हुआ है।मॉंटी- नहीं दीदी, ऐसे ही तेल लगा दो, मुझे शर्म आती है। मैं आपके सामने पूरा नंगा नहीं हो सकता।टीना- ओये होये. क्या शानदार नजारा था…एंड्रयू का भारी भरकम लंड मेरी जीवनसंगिनी की बच्चेदानी को चोदने में लगा हुआ था, मेरा छोटा लंड उसकी गांड में किसी पिस्टन की तरह घुस-निकल रहा था, तो स्वान के गर्दभ लंड ने मेरी छोटी सी गुड़िया का मुंह फाड़ कर रख दिया था.

इस उम्र में आपसे ये सब नहीं हो पाएगा।वो बोलते कि अरे आजमा के देख लीजिएगा पुराना चावल हूँ।और हम लोग हंसने लगते थे।तो अब मैं संजना को उससे चुदवाने के लिए प्लानिंग को अंजाम देने के लिए व्यवस्था करने लगा।एक दिन आफिस के बाद मैंने उससे कहा- चलिए एक मूवी देखने चलते हैं। वहाँ के लोकल हॉल में उस समय ‘जिस्म-2’ फिल्म लगी हुई थी।फिल्म देखने के बाद वो बोले- जय यार कोई व्यवस्था करवाइए ना.

तू सुना क्या हाल है तेरे और कॉलेज में सब ठीक है ना?फ्लॉरा- हाँ पापा सब ठीक है. शायद पैर में मोच है या कुछ और है।अब चुदाई करवा कर आई है ऐसा तो कोई सोचेगा नहीं.

और बेटे की बीएफ फिर एक रोज डॉक्टर ने मुझे 2 बजे दोपहर को लंच टाइम में अपने घर बुलाया. पर चूत का दर्द कब पलक झपकते मज़े में बदल जाता है, ये तो हर वो चूत वाली आंटी या भाभी जानती ही है जो लंड के अच्छे से मजे ले चुकी हैं.

और बेटे की बीएफ मेरी लंबाई 5 फुट 7 इंच है।दोस्तो, ये घटना 2010 की है, मैं कम्पटीशन एग्जाम देने अम्बाला से दिल्ली जा रहा था। जब अम्बाला कैंट बस अड्डे से बस में बैठा तो रात के 11:30 हो रहे थे. मैं बोला- क्या रफीक को पता है कि तुम भी घर में हो?तो जमीला बोली- नहीं उनको पता नहीं है और इसलिए तो मैंने कहा कि आज दिनभर इतना मजेदार होगा की पूरी जिंदगी नहीं भूलोगे.

!मित्रो, आपसे एक इल्तिजा है कि आप मेरी सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें.

लैंड हिलाने वाली सेक्सी

तू… इतनी सुबह… और यो के हाल बना रखा है… या बुशट कुकर पाट गी(ये शर्ट कैसे फट गई)उसके होठों से मेरा नाम निकलते ही मेरी पलकों में बंधी आंसुओं की झड़ी चेहरे पर धार बनकर मेरी फटी-शर्ट को भिगोने लगी. अब चाची जोरों से चिल्ला रही थी- आअहह आहह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… अशोक आययई ह्ह्ह्ह मेरे ग्ग्ग्ग गांड में सूऊ सुर सू सूऊ सुरसुराहट हो रही आह है… रुक मत और ज़ोर से पेल ईई ईई आहह…‘मज़ा आ रहा हैं चाची?’ मैं बोला. पूरा लंड अन्दर-बाहर होते ही मुझे भी जलन और दर्द होने लगी थी लेकिन मजा भी आ रहा था क्योंकि ये मेरे पहली बार का सेक्स था.

उनकी ब्रा बहुत मस्त थी बिल्कुल मुलायम!थोड़ी देर बाद मामा मामी आ गए, रात को खाना खाया और सो गए. माला के नग्न शरीर के ऊपर से फिसलती हुई पानी की बूँदें ऐसे लग रही थी जैसे सूर्य उदय के समय पेड़ एवम् पौधों की पत्तियों पर से मोती जैसी ओस की बूँदें फिसलती हैं. जैसे ही हल्का सा धक्का लगाया तो लंड फ़िसल गया क्योंकि वो कुंवारी थी और उसकी चूत टाइट थी इसलिए मेरा लंड घुस नहीं पा रहा था.

अब बोला ना तो साले को यहीं मारूँगा, मेरे बीच कोई बोले मुझे बिल्कुल पसंद नहीं है।संजय का ये रूप देख कर सुमन घबरा गई। अब उसकी भी आगे कुछ बोलने की हिम्मत नहीं हुई, वो चुपचाप वहीं खड़ी रही।टीना- कूल यार.

बीच-बीच में वो जोर के झटके मार कर पूरे लंड को मेरी बहन के अन्दर-बाहर करने लगा. थोड़ी देर चुत चूसने के बाद संजय ने अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया और ज़बरदस्त चुदाई करने लगा. रात 11:30 का समय होगा, मुझे अक्षिमा के फ़ोन से मेसेज आया- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- बाबा, मैं गोवा में नहीं हूँ, तुम्हारे सामने वाले रूम में ही तो हूँ.

मैंने कुछ सेकेन्ड्स बाद देखा तो लड़की ने उसके लंड पर हाथ रखा हुआ है और लड़के की टांगें पहले की अपेक्षा थोड़ी फैल गईं थी और हवस के कारण उसके होंठ खुले हुए थे. मैं चाहता था कि सुमित जल्दी से फारिग हो ताकि मैं कीकू को चोदने का मज़ा ले सकूँ. और फिर वो एक झटके के साथ झड़ने लगी और उसकी बुर में से एक लावा सा बहकर बाहर आने लगा.

ऋतु ने पूछा- अरे भाई, किस बात का वेट कर रहे हो… तुम ये करना भी चाहते हो या नहीं?मैं- मुझे लगा तुम मुझे पहले पैसे दोगी. अच्छा साफ खिला हुआ रंग था, गहरे काले बहुत लम्बे बाल, बड़ी बड़ी आँखें.

तो आकाश बोला- ठीक है, कल तुम वहीं मिलना जहाँ मिलते हैं!अगले दिन मेरे पति जाते ही मैं भी आकाश से मिलने चल दी, जब आकाश से मिली तो वो एकदम तैयार होकर आया था. मैंने पूछा- क्या मेरा लिंग तुम्हारे पति के लिंग से अधिक बड़ा है?उसने कहा- जी हाँ, आपका बहुत ज्यादा बड़ा है. पर बहुत सी लड़कियाँ ऐसी थी जो छोटी छोटी निकर पहन कर आई थी, अमीरी के नाम पर सिर्फ नंगापन, क्या इनके साथ आने वाले लड़कों को गर्मी नहीं लग रही थी जो जीन्स पहन कर आए थे और ये निकर पहन कर दिखा रही थी कि उनको गर्मी ज़्यादा लगती है, या फिर उनमें गर्मी ज़्यादा है.

मैं अपनी उंगली उसकी चूत के अन्दर डाल करआगे-पीछे करने लगा!वो अब नियंत्रण से बाहर हो गई थी, वो आआह्ह्ह ह्ह ऊऊऊ ऊओह्ह्ह करते हुए चिल्लाने लगी- घुसाना है तो अपना लंड घुसा! इस उंगली से क्यों सहला रहा है?एकाएक उसने मेरे लंड को पकड़ लिया.

!मैं इतना बोल कर भाभी पर फिर से टूट पड़ा- घोड़ी बनोगी?वो उठीं और उन्होंने पहले मेरे लंड को जी भर के चूसा. मेरे ऊपर चढ़ कर जोर-जोर से मेरे होंठ चूसने लगे। मामा ऐसे चूस रहे थे जैसे मेरे होंठ खा जाएँगे। साथ ही साथ मामा मेरी चूत भी जोर-जोर से सहलाने लगे।मेरी चूत इतनी छोटी थी कि केवल मामा का एक ही उंगली से सहला पा रहे थे।मैं बार-बार मामा से बोल रही थी- अह. ऋतु अपने एक हाथ से पूजा की चूत का दाना मसल रही थी और मैं पूजा की रसीली चूत को साफ़ करने में लग गया.

’ करके सिसकारियाँ भरने लगीं और जल्द ही उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया. मैंने भी वाश बेसन में अपने लंड को धोया और रश्मि ने अपनी चूत साफ़ की.

तुम उसकी इंक्वायरी करो।मोना- हाँ शुरू में तो बहुत ज़बरदस्त चुदाई करता था मगर अब सच में उसका मन भर गया है मगर मैं क्या करूँ आख़िर वो मेरा पति है. कोई हमें देख रहा है क्या?वो आँख मूँदे हुए ही धीरे से बोली- हाँ, वो साला ठरकी बुढ़ऊ हमारी चुदाई देख रहा है।मेरा तो जैसे रोम-रोम फैन्टेसी से भर गया और मैं उसको और जोर से चोदने लगा।अब मैं बोला- बताओ डार्लिंग कैसे देख रहा है वो?वो बोली- साला छुप कर देख रहा है और मुझे देख कर मुँह से लार टपका रहा है।‘और क्या कर रहा है वो डार्लिंग. आकाश मुझे सीधा बेडरूम में ले गया और जाते ही मुझे पीछे से पकड़ कर मेरे गले पर किस करने लगा.

सेक्सी वीडियो नौकरानी और मालिक

अब मैं सोचने लगा… ये खुद ही मुझे अपने लंड को हाथ में लेने के लिए कह रहा है… एक बार देखूं तो सही कैसा लगता है इतना बड़ा लंड हाथ में लेकर…उसने कहा- चल थोड़ा और अंधेरे में चलते हैं, यहाँ कोई न कोई देख लेगा.

मगर पूजा की बुर इतनी टाइट थी कि संजय को बहुत ताक़त लगानी पड़ रही थी. अब मामा जी का लंड पूरी तरह से गीला हो चुका था, अब मामा लंड मेरे मुँह से निकाल कर नीचे उतर गये. कुछ देर ऐसे ही हम दोनों ने उनकी चूतें चूसीं, और फिर जब रुचिका की चूत ने पहला फव्वारा छोड़ा तो मैंने अपनी जीभ को पूरी तरह उसकी चूत के अंदर डाल दिया और एक उंगली भी साथ ही उसकी चूत में उतार दी.

आज साइन्स ने बहुत तरक्की कर ली है, सब ठीक हो जाएगा, बस तू एक बार शहर जाकर दिखा आ।राजू- सच्ची. अब मैं कभी उसकी पीठ सहलाता और कभी उसके और नाज़ुक अंगों पे हल्का सा स्पर्श करता जिससे रुचिका सिहर सी जाती और अपनी चूची को मेरे मुंह में और कस देती, मैं भी उसकी चूची पे जीभ के स्पर्श से सहला सहला कर मज़ा देता. बीएफ सेक्सी वीडियो दिखा दोआखिरकार मैंने बुरा सा मुंह बनाते हुए, उस पर अहसान दिखाते हुए कहा- ठीक है, तू मेरा पति है सिर्फ और सिर्फ इसी लिए तेरी बात तो माननी पड़ेगी!फिर तुरंत ही यह सवाल उठा कि मुझे चोदने के लिए मर्द को कहाँ ढूंढा जाए.

पर फिर भी मैं पहल नहीं करना चाह रहा था, मैंने कहा- दोस्ती से बड़ा कोई रिश्ता नहीं होता पगली!मेरा यह बोलना हुआ कि उसने मुझे हग कर लिया और मेरे कान में कहा- तो फिर आज मुझे अपनी दोस्ती का गिफ्ट नहीं दोगे?‘दोस्ती में कौन सा गिफ्ट देते हैं?’ मैंने भी धीरे से उसके कान में कहा ही था कि उसने मेरे आगे आकर आँखों में आँखें डाल कर कहा- बेबी मुझे तुमसे प्यार चाहिए. तुझे दिखाने के लिए ही तो ये सब यहाँ चल रहा है और वो सेक्सी बातें तेरे लिए ही हो रही हैं।ये सुनकर राधा एकदम चौंक गई मगर राजू ने उसे सारी बात बताई तो उसको भी समझ में आ गया कि ये सब इनकी मिली-भगत है।राधा- तुझे जरा भी लाज-शर्म नहीं आई.

वहीं पेशाब करते हैं, तब से पता है। मेरे सब फ्रेंड भी यही कहते हैं कि तेरी सबसे बड़ी है और मोटी भी है।टीना- अच्छा ये बात है. मैं ना चाहते हुए भी फूफा जी के ऊपर से उठी और बाहर देखा तो ससुर जी अपने कमरे में जा चुके थे. तुम्हारे भैया तो कभी भी मेरी चुत नहीं चूसते। अभी तो बहुत दिनों से उन्होंने मुझे चोदा भी नहीं है।करीब दस मिनट तक मैंने उनकी चुत को चूसा, फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए। अब मैं भाभी से बोला- मेरा लंड भी अपने मुँह में लीजिए।वो मना कर रही थीं.

माला ने मेरे होंठों का स्वागत उन पर अपने होंठों का दबाव डालते हुए किया और उन्हें चूसते हुए अपनी जीभ को मेरे मुंह डाल दी. 30 पर तुमको लेने आऊंगा, बिमलेश तुम्हारे लिए आज साउथ इंडियन खाना बनायेगी, कह रही थी।फिर वो जॉब पे चला गया. मैं- काश! सबीना भी होती और मेरे टट्टे चाटती चूसती तो तुम उसकी चूत चूसते कितना मजा आता.

कभी फ्लॉरा कीचड़ में जोर से पैर मारती और जॉन को गंदा करती, तो कभी जॉन ऐसा करता.

इसमें कन्फ्यूजन कैसा?फ्लॉरा- नो नो अभी तुमने कहा था सबने मिलकर मस्ती का प्रोग्राम बनाया था. एकनाजुक सी जवान लड़कीदो मजबूत सांडों के बीच में फंसी थी, यह बात और है कि वो लड़की खुद ये चाहती थी.

तुझे एक कार्य करना पड़ेगा, उसके बाद तेरा कुंडली दोष चला जाएगा और तेरे पति की आयु लंबी हो जाएगी।मोना- बताओ बाबा. मैं उन सभी पाठकों का भी बहुत आभारी हूँ जिन्होंने मेरी उपरोक्त रचना को पढ़ने के बाद अपने मूल्यवान समय में से कुछ कपल निकाल कर उस पर अपने विचार लिख कर भेजे. मुझे विश्वास है कि मेरी यह दास्तान आप लोगों के लण्ड और चूत से पानी की नदियाँ बहा देगी.

मुझे भी टेस्ट करना है।इतना सुनना था कि संजय की बांछें खिल गईं उसको अगला कदम साफ़ दिखने लगा था।आपको मजा आ रहा है न. लेकिन फिर मैंने खुद को तसल्ली दी ‘अभी थोड़ी देर में भागता आएगा कमीना, कुत्ते की तरह दुम टांगों में दबाये… तू फ़िक्र न कर मोना, हरामज़ादा दो मिनट में तुझे मनाएगा भी और राजे की सब शर्तें मानेगा भी… तू राजे से जीवन भर चुदियो दिल खोल के और सुमित के सामने भी और सुमित के पीछे भी चुदियो!’जैसा मैंने सोचा था बिल्कुल वैसा ही हुआ. पहले तो वह थोड़ा कसमसाई फिर जब लंड अच्छी तरह चूत में फिट हो गया तो अपनी गांड हिलाने लगी.

और बेटे की बीएफ मैं जमीला की चुचियों में मुँह देकर और जमीला मेरा मस्ताना पकड़ कर सो गए. अब मैं सोचने लगा कि माँ को कैसे बाहर भेजू ताकि सीमा दीदी को चोद सकूं.

बाप सेक्सी विडिओ हिंदी

आपके साथ सोऊंगी तो अच्छी नींद आएगी। फिर आपके साथ मस्ती करने का आज मेरा मन भी बहुत कर रहा है। एक बार आपकी फुन्नी दिखाओ ना मुझे!संजय- अरे बदमाश कहीं की. और जैसे उसने कहा था, मैं प्लेटफोर्म से बाहर निकला और एक खाली ऑटो वाले से स्नेहा की बात कराई और बैठ कर निकल लिया. ’‘ये का बात कर रहे है आप सक्सेना जी? हमारे लड्डू के भैया ऐसे बिल्कुल नाही हैं.

दोस्तो, कैसा चल रहा है? आनन्द ले रहे हैं मेरी चुदाई स्टोरी का…आज की चुदाई स्टोरी रयान की है जिसकी शादी अभी दो साल पहले ही हुई है, उसकी बीवी निष्ठा बहुत स्मार्ट और सेक्सी है. आज तुम्हारे लिए चाय मैं बनाता हूँ।मोना की समझ के बाहर बात थी कि गोपाल उस पर इतना मेहरबान कैसे हो गया और उसने इतना गुस्सा किया मगर गोपाल कुछ नहीं बोला। इसकी कुछ तो वजह है. गांड मारने वाली बीएफ दिखाओनहीं तो रंडी, तुझे पता ही है मैं किसी भी चूत को कभी छोड़ता हूँ क्या!तब तो रीना रानी कुछ नहीं बोली.

मैं अभी खिला आती हूँ।’ मैंने खाना पकड़ा और उनके मकान की ओर चली गई।शाम को 7 बजे थे.

लंड सबका खड़ा होता है, ख़ासकर जब कोई उसे इतने प्यार से सहलाए।मॉंटी की लुल्ली भी अकड़ने लगी और जल्दी ही वो एक लंड बन गई. तब चाची मेरे ऊपर आ गई और मेरे लिंग को अपनी योनि के अंदर डाल कर उछल उछल कर संसर्ग करने लगी.

हम जैसे ही उठे तो देखा हमारे पास सुलेखा और मनोज भी हमें और अरमान को झड़ते हुए देखकर बर्दाश्त नहीं कर पाए, शायद सुलेखा ने भी मनोज का लंड अपने होंठों में लेकर झड़वा दिया था. अगले दिन सुबह मेरी नींद जल्दी ही खुल गई और मैंने जब छेद से ऋतु के रूम में देखा तो वहाँ अँधेरा था. रीना रानी ने करीब 3 वर्ष पहले मुझसे अपनी नथ खुलवाई थी और तब से वो सैकड़ों बार चुद चुकी है.

!’मैंने भाभी के होंठों पर अपने होंठ रख कर किस करना स्टार्ट कर दिया.

मैं तुरन्त अपना पायजामा उतार कर एक पल में बिस्तर पर कूद पड़ी और उसका पायजामा नीचे खींच दिया. हर बार चुदाई में मामा जी एक अलग सा अहसास दिला रहे थेमैं गर्म हो गयी थी, मेरी चूत से पानी निकलने लगा था, मैं बड़बड़ाने सी लगी थी- मामा जी, जल्दी से चोदिये, अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. सेक्स की बातें वो कभी छेड़ती भी तो मैं ‘हाँ हूँ…’ करके बात ख़त्म कर देता था.

सेक्सी बीएफ फिल्म बढ़िया वालीइस क्लीनिक में सारी लेडीज़ पेशेंट ही आती थी, जिनमें गर्भवती, बच्चे न होने वाली और अन्य डिप्रेशन आदि की शिकार. ऐसा कुछ नहीं होगा ओके अब चलो।ये तो गए, उधर संजय और पूजा को भी रेस्ट मिल गया था तो आओ वहाँ देख लो अब वो क्या करता है।पूजा- मामू ये चुदाई तो बहुत अच्छा खेल है.

वीडियो सेक्सी हिंदी वीडियो एचडी

मैं- मैं तुझे बहुत प्यार करता हूँ मानसी पर मैं तेरे ताने नहीं सुन सकता. जब वो टीना को चोद कर वापस घर आया था। उसका लंड फिर खड़ा हो गया था तब उसने पूजा की चड्डी पर मुठ मारी थी, तब कहीं उसको सुकून आया था।पूजा- मामू बताओ ना. मैं पहले ही बता चुकी हूँ कि उसने यह शर्त रख दी थी कि जब वो मेरे साथ हो तब सुमित सिर्फ देखेगा, न तो छुएगा और न ही नज़दीक आने की चेष्टा करेगा.

अपनी फैमिली के साथ तो मुझे मामा-मामी दोनों ही बहुत प्यार से रखते थे।मुझमें सेक्स के प्रति रूचि शुरू से ही थी जब मामी मेरे को नहलाती थीं, तो मैं उनके मोटे-मोटे चूचों पर पानी डाल देता था. सुमित ने उसके दोनों बोबे पकड़ कर दबा दिये और एक निपल को मुँह में लेकर चूसने लगा. मैं तो खुद चुदक्कड़ बन गया था, मैं भाम्प गया कि शायद मैडम चुदना चाहती थी.

तब मेरा एक हाथ उसकी चूची पर आ गया था, एकदम नरम और ऐसी कि हथेली में समा ही नहीं रही थी. फिर उसने मोना से कहा कि अभी बहुत अर्जेंट काम आ गया, मैं आपको कल बता दूँगा. तभी मेरे दिमाग़ में एक प्लान आया मैंने उससे कहा कि अगर वो मुझे सेक्स करने देगी तो ही मैं वीडियो डिलीट करूँगा.

उसके बदन के अहसास से मैं सारा दुख भूलकर उसके लाल-लाल होठों की मुस्कान में खो गया… कभी उसके होठों को देखता तो कभी उसकी मोटी मोटी काली नशीली आँखों में… उसके हाथ मेरी गांड पर धीरे-धीरे फिरने लगे जैसे रात भर चुदी गांड को मलहम लगा रहा हो. मेरे पास सिवाए उसके हिसाब से चलने के कोई और चारा नहीं था पर मैं एक बार पक्का करना चाहता था कि मैं और वो एक ही स्तर पर हैं या नहीं.

मैंने मनोज से पूछा- क्यों आज क्या प्रोग्राम है फिर, कैसे कैसे प्लान किया है?मनोज बोला- हमने क्या प्लान करना है, अब सभी आ गये, आप बनाओ प्लान कैसे क्या करना है.

पतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्ना-3अब तक आपने मेरी इस बीवी की चुदाई सेक्स स्टोरी में पढ़ा कि मैं अपनी सेक्सी देसी बीवी को एक बूढ़े से चुदवाने की सोचने लगा था और मुझे मेरे ऑफिस के एक बुजुर्ग कर्मी गुप्ता जी का ख्याल आया, जो मेरे ऑफिस में सहायक अभियंता के पद पर हैं।अब आगे. सेक्सी बीएफ बीएफ ब्लू पिक्चरबल्ब की रोशनी में आधा सोया हुआ लंड भी काफी मोटा और जबरदस्त लग रहा था जिसको चूत में लेने के लिए कोई भी लड़की तैयार हो जाए… इतना सेक्सी लंड कभी कभी देखने को मिलता है. हिंदी बीएफ फिल्म फुल एचडी मेंऑफिस की छुट्टी होने के कारण मैं पूरा दिन घर पर आराम करता रहा और माला दिन भर रोजाना की तरह घर के काम में व्यस्त रही. थोड़ी देर बाद मेरे लंड ने पैन्ट में ही पानी छोड़ दिया और हमारी किस ख़त्म हुई.

हम दोनों ने निष्कर्ष निकाला कि हम अपने दोस्तों से बात करेंगे और देखेंगे कि क्या हो सकता है.

बस ये काका ही तुझे संतुष्ट कर सकते हैं। अब देर मत कर, चल आज अपनी सारी इच्छा पूरी कर ले. ’ करके सिसकारियाँ भरने लगीं और जल्द ही उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया. स्कूल ड्रेस में देखकर कितने जाने मुझे बोले कि स्कूल से छिपकर यहाँ बैठी है, क्या मेरा मजाक भी बनाया.

पता नहीं ये कैसे अन्दर चला गया वैसे इसे अन्दर डालने से क्या होता है. इसका मतलब ये नहीं कि मैं अपनी लिमिट्स क्रॉस करूँ ओके?संजय- भड़क मत. एक पल के लिए तो मेरा मन हुआ कि ऐसे ही लेटी रहूं और फूफा जी के लंड पर अपनी चूत रगड़ दूं.

मोटी जनानी का सेक्सी

ऊपर चढ़े हुए रुस्लान का लंड तेज धक्कों के साथ मेरी बीवी की गांड को चोद रहा था लेकिन नीचे लेते हुए चंगेज़ का लंड सिर्फ टुकर-२ चुदाई ही कर सकने में समर्थ था. फ्लॉरा एकदम घबरा गई और जॉन को ढूँढने लगी, उस वक़्त जॉन किचन में नाश्ता बना रहा था. गुरुकृपा के पास ही एक होटल में हमने 2 कमरे ले लिए जो एक दूसरे के सामने थे, एक कमरे में मेरा सामान रख कर हम दूसरे कमरे में एक दूसरे से बातें करने लगे.

मैंने देखा तो पाया कि मेरी बहन ने अपनी चुत के बालों को साफ़ कर लिया था.

मीना- अब वो तेरी मर्ज़ी है तू इसे क्या दिलाती है, चल मुझे बाहर तक छोड़ दे.

वो चिहुक उठा… ‘हाँ…और गुसो… अन्दर तक घुसो…’मैंने लंड को उसकी गांड में पूरा घुसा दिया और फिर अन्दर बाहर करने लगी. यह कह कर वो मुझे किस करने लगा तब मैंने उससे कहा- छोड़ो यार, कोई देख लेगा. बीएफ चुदाई वाली चलने वालीप्लीज़ टीना बुरा मत मानना मगर तुम संजय की गर्लफ्रेंड हो किसी और की?टीना- गर्लफ्रेंड तो मैं संजय की हूँ मगर हम सब अच्छे दोस्त भी हैं तो सभी मेरे ब्वॉयफ्रेंड हैं.

मेरा डर दूर करने के लिए मेरी सहेली ने दो लंड अपने हाथ में पकड़े और मेरी चूत से रगड़ने लगी और एक लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. इस वक्त तक सूरज भी ढल गया था, दिन की हल्की हल्की रोशनी बस में आ रही थी. मुझे जाना भी होगा।मोना- अरे बात तो बताई ही नहीं और जाने की बात करने लगे और वैसे भी कौन सा आपकी वाइफ आपका वेट कर रही है। चले जाना आराम से.

उनकी बात सुन कर पापा ने कहा- ठीक है, अगर ऐसी बात है तो तुम लोग चले जाओ लेकिन पिता जी और माता जी को कुछ दिनों के लिए यहीं छोड़ जाओ. पर एक बार बकार्डी की कोल्ड ड्रिंक कभी पी थी तो सोचा लिम्का शिमका से उतना इम्प्रेशन नहीं पड़ेगा जितना बकार्डी से!मैं नहीं जानती थी कि बकार्डी की हार्ड ड्रिंक भी आती है.

वो मेरे सामने बैठी और बोली- मेरे पास डिल्डो सिर्फ एक वजह से है क्योंकि मेरे पास ये चीज असली में नहीं है.

मैंने भी इसका जवाब इसी तरह दिया, मैं तो इस पहल का इंतजार ही कर रही थी. उस टाइम तो मैं एकदम नंगी रहती थी, तब अपने मना क्यों नहीं किया मुझे? बोलो?जॉय- मेरी जान वो हमारी मजबूरी थी मगर अब तो वेसा कुछ नहीं है, तो प्लीज़ अब अपनी ये आदत सुधार ले. तब तक संजय ने भी कपड़े निकाल लिए थे और वो खड़ा ही रहा ताकि पूजा आराम से उसके लंड को चूस सके.

सनी लियोन पोर्न बीएफ पर मेरा बेटा जाकर पलंग पर लेट गया, बोला- मैंने कूलर के आगे सोऊंगा, बीएड पर मुझे गरमी लगती है, डबल बेड पर आप चाचू के साथ सो जाओ. ऐसा तो शायद ही आपने कहीं देखा या सुना होगा मगर यहाँ ये सब कुछ नोनवेज हो रहा है तो ज़रूर इसके पीछे कोई वजह होगी.

मगर अब मेरे में थोड़ी भी ताकत नहीं थी कि मैं उसे साफ़ करती।एक दूसरे की बाहों में हम कब सोये, ये हमें मालूम ही नहीं पड़ा. लड़की हवस में पागल हो गई और कमर अपनी सीट से लगाकर आँख बंद करके आराम की मुद्रा में बैठ गई. मुझे खुद से चिपकाया और लंड का जोरदार धक्का दिया। अब उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में अन्दर हो गया था। मेरी फिर अनचाहे में चीख निकल गई.

hot सेक्सी chudai

पर जल्दी ही अपना लंड निकाल कर उसकी चूत को ढूँढने लग गया कि अगर इसके मुँह में ही लगा रहा तो इसी में मेरा माल निकल जाएगा और फिर दुबारा मौक़ा कब लगेगा. रात को जब सभी डिनर कर रहे थे तो ऋतु ने सारी बातें मेरे कान में बता दी. सुबह मैं अचानक जब नींद खुली तो मैंने कमरे में कुछ आवाज सुनीं, मैंने फिर से अन्दर देखा तो देखा कि वो टीवी को चालू कर रहा था.

मैं तुम्हें कपड़े ही पहनने न दूं और दिन रात तुम्हारी देसी चुत मारता रहूं. !गुलशन ने अनिता के होंठों को अपने होंठों से लॉक किया और जोर से कमर को पीछे लेके एक धक्का मार दिया.

मैंने देखा कि एक कमसिन लड़की एक बड़ी उम्र के आदमी से सेक्स कर रही थी। पहले तो वो लड़की आदमी की लंड चूस रही थी। फिर मामा ने वीडियो को आगे बढ़ा दिया.

उसने मरीज को देख कर उसे दवा लिख दी, मरीज को भर्ती कर उसे ग्लूकोस चढ़ाने की लिए बोली. मैं तेरा पापा हूँ तू समझती क्यों नहीं मेरी बात को?फ्लॉरा- पापा मेरी शर्म अपने ही खोली है. उसे मैं शब्दों में ब्यान नहीं कर सकता।अन्दर से अजीब तरह का खिंचाव महसूस कर रहा था, जो मुझे बहुत आनंदित कर रहा था।मैंने लौड़े को कुछ देर ऐसे ही अन्दर पड़े रहने दिया और उसको अन्दर से महसूस करने लगा।उधर भाभी ज़ोर-ज़ोर से अपनी चूतड़ों को उठा-उठा धक्के दिए जा रही थी। अब मैं भी उसके धक्कों में साथ देने लगा।उसके मुँह से अजीब सी आवाज़ आ रही थीं.

मैंने देखा कि फूफा जी अब भी वैसे ही पड़े हैं जैसे मैं लिटा कर गई थी. फिर मैंने उनकी दूसरी टांग भी उठा कर कंधे पर रख ली और उन पर थोड़ा झुक कर अपनी पूरी ताक़त से उसकी चुत मारने लगा। इस बार चुदाई का साउंड ज़्यादा तेज़ था. बाद में मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और पीछे से लंड डालकर चोदने लगा और फट.

फिर मुझे ऐसा लगा जैसे मुझे कोई करंट लगा हो, मैं बिल्कुल हल्का हो कर हवा में उड़ गया हूँ, और इस दौरान मौसी ने इतनी ज़ोर से मेरे लुल्ले की चमड़ी पीछे को खींची कि वो टूट गई, और मेरे लुल्ले से खून बह निकला.

और बेटे की बीएफ: कुछ देर बाद मुझे आवाज सुनाई दी, मैंने आँखें खोली तो देखा कि मरीज के साथ जो महिला आई थी, वो मुझे जगा रही है. शायद वो चुदने को तैयार थी।अब उससे मेरी बात होने लगी।फिर वो एक दिन हमारे घर में रहने आ गई क्योंकि उसकी मम्मी बाहर गई हुई थीं और शायद वो इस मौके पर मुझसे चुदना चाहती थी।मेरे घर में भी कोई नहीं था तो मैं मौके का पूरा फायदा उठाना चाहता था लेकिन मेरी मजबूरी थी क्योंकि मुझे खेत पर काम करने जाना था।तो मैंने उससे कहा- आप यहीं बैठो, मैं खेत से होकर आता हूँ।वो कहने लगी- नहीं.

मानसी अब मेरे से मिलने को बहुत बेचैन हो गई और बोली- तो कहीं और मिल लेंगे पर तू मेरे से मिलने आ पहले, किसी पार्क में मिल लेंगे या कहीं मॉल में. बहन ने जीजा जी से पूछा- कब जाना है?जीजा जी ने बताया कि उनको शनिवार को एक दिन के लिए जाना है. वो नीचे नीचे सरका कर मेरे साथ आधी लेटी सी हो गईं। फिर वे बर्फ का दूसरा टुकड़ा लेकर मसाज करने लगीं।इस वक्त वो मेरे काफ़ी करीब थीं.

ये सोच कर कि आज तो मॉंटी के होंठों से उसको अलग ही मज़ा मिलने वाला है.

अपने रूम में पहुँचते ही गुलफाम कली ने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और अपनी साड़ी को खोलने लगी, अंगूरी और सक्सेना दोनों उसकी ओर देखते रहे. इस दौरान मैंने उसे अलग अलग तरह के आसनों में चोदा और उसे लंड चूसना भी सिखाया. मैंने जब आँख खोली तो देखा कि मामा आज मुझसे पहले ही जाग गये थे और मेरी चुची सहला रहे थे.