अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,इंडियन किन्नर बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

से एक्स एक्स एक्स: अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो, मेरा लंड रुचिका की चूत की पूरी गहराई तक चोट कर रहा था, उसकी चूत पूरी तरह से पानी पानी हुई पड़ी थी, उसका पानी मेरे ट्टटों को भिगो रहा था.

हिंदी बीएफ ब्लू एचडी

‘मेरी आपा भाबी माँ, गुलफाम कली, गुलफाम कली ही एक ऐसी है जो इस प्रॉब्लम का हल ढूँढ सकती है. 2021 का भोजपुरी बीएफमैं इससे क्या बोल रही हूँ! और ये मुझसे क्या पूछ रही है।मैंने कहा- सैक्स नन्न्न्नहीं तो.

मैंने उन आंटी को बेड पर कपड़े उतार कर लिटा दिया और पूरे जोश के साथ मुंह से उनकी चूत पर टूट पड़ा. सुहागरात वाली बीएफ सुहागरात वाली बीएफउस दिन के बाद हम थोड़ी ज्यादा बातें करने लगे, एक दूसरे की सीक्रेट्स बताने लागे और एक अच्छी दोस्ती निभाने लगे.

अचानक से वो दोनों हंसने लगे और एक ने कहा- भागती कहाँ है जाने-मन… थोड़ा सा प्यार हमें भी दे दे!यह गे सेक्स स्टोरी जारी रहेगी.अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो: तो याद है उस दिन तो तू मेरे सामने नंगी होने में कैसे शर्मा रही थी और आज मॉंटी के सामने आराम से नंगी घूम रही है.

उसकी सांसें मेरी गर्दन पर गरम-गरम महसूस हो रहीं थीं। खटिया बुरी तरह से ‘चूं.बस सुधीर ने ये मंज़र देखा और उसके अन्दर के इंसान ने उसको आवाज़ दी कि खामखां बेचारी को रुला दिया, जो बात है बता दे इसको.

लेडीस वाला सेक्सी बीएफ - अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो

जब मैंने सरप्राइज के बारे में पूछा तो वो टाल गई, बस अपनी कसमें दे दे कर आने को कहती रही.उसने खेल करना शुरू कर दिया था, एक बार गांड मारता, फिर चूत में घुसेड़ देता… शायद उसे इसमें मजा आ रहा था… न सिर्फ उसको, बल्कि मेरी जानेमन को भी… क्योंकि वो भी पूरे उत्साह के साथ अपने पिछवाड़े को उभार-उभार कर स्वान को अपना लंड उसके छेदों में बदलवाने में पूरी मदद कर रही थी.

फिर चंगेज़ ने अपने लंड को बाहर निकाला तो गर्ल फ्रेंड को थोड़ा सा विश्राम देते हुए रुस्लान ने भी अपना बाहर निकाल लिया और चंगेज़ नीचे की ओर झुक कर मेरी प्राणप्यारी पत्नि की चूत को चाटने लगा. अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो सुलेखा के पीछे खड़ी होकर रीना रानी बोली- ये क्या हो रहा है मम्मी… क्या कर रही हो तुम?सुलेखा को काटो तो खून नहीं.

चलो आज क्या पढ़ाओगे?संजय- पहले कपड़े तो पहन ले, ऐसे नंगी ही पढ़ाई करेगी क्या?पूजा- हाँ आज ऐसे ही करूँगी और आपकी गोदी में बैठ के करूँगी.

अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो?

अब उसने सुपारे को बुर पर सैट किया थोड़ा सा बुर में फँसा कर वो पूजा पर चढ़ गया और उसके होंठों को कस के अपने होंठों में दबा दिया. थोड़ी देर में डॉक्टर का फ़ोन आया जिससे हमें पता चला कि उसे एडवांस स्टेज पे मलेरिया है जिसका ट्रीटमेंट लंबा चल सकता है तथा मुझे उनके साथ रूकने को कहा. छोड़ ना …’ वो बुदबुदा रही थी लेकिन मैं कहाँ सुनने वाला था। मेरे होंठ उसके रसीले गालों का मजा ले रहे थे। मैं पहले तो हल्के हल्के चूम रहा था मगर अबकी बार धीरे से… बहुत धीरे से मैंने उसके गाल पर काट लिया.

मोना बार-बार घड़ी की तरफ़ देख रही थी उसको बेसब्री से सुधीर का इन्तजार था। उसने ब्लैक कलर की नाइटी पहन रखी थी और अन्दर वाइट ब्रा पैंटी का सैट बाहर से ही झलक रहा था। चूँकि नाइटी जालीदार थी तो उसमें से आसानी से पता लग रहा था कि उसने अन्दर सफेद ब्रा-पेंटी पहनी है। इस वक्त मोना ने अपने बाल भी खुले रखे थे. गालियाँ सुन कर मुझे और जोश आ गया तो मैंने और सोनी को जोर-जोर चोदना शुरू कर दिया।कुछ देर बाद हम दोनों झड़ गए।इस तरह हम रोज़ चुदाई करने लगे।आप लोगों को कैसी लगी मेरी ब्रदर एंड सिस्टर सेक्स स्टोरी. ’‘मैडम आप सोई नहीं हैं, आप सो जाईये मैं सब देख लूँगा!’‘सुबह से तबीयत सही नहीं है इसलिए नींद नहीं आ रही है!’‘जा जाकर एक ठंडी बीयर ले आ!’‘क्या कह रही हो मैडम?’‘क्यों कुछ गलत कह दिया क्या… जा कर लेकर आ!’मैं नीचे जा कर थोड़ी दूर पर दूकान से एक बीयर की बोतल ले आया.

मेरा लंड उसकी चूत से बिल्कुल बाहर आ रहा था और फिर वो हर बार अन्दर भी जा रहा था. उसके माथे पे पसीने की बूंदें आ गईं और उसको कुछ समझ ही नहीं आया अब वो करे तो क्या करे, कैसे मॉंटी को पता लग गया. मैंने वैसा ही किया, नहा कर बाहर आया और खुली छत पर कुर्सी ले के बैठ गया.

अच्छे से स्खलित होने के बाद स्नेहा के भुज बंधन, उसका बाहूपाश ढीला पड़ गया और वो शिथिल होकर रह गई. आप सभी का धन्यवाद करता हूँ कि आपने मेरी कहानियों को पढ़ कर मुझे बहुत प्यार दिया.

रफीक बोला- यार क्यों झूठ बोलते हो? दूसरा कौन है लंड वाला?मोहन बोला- मैंने आपको बताया तो था राजेश भाई के बारे में… वो आये हैं आज और आज हम तीनों ही सुबह से घर में नँगे हैं और चुदाई का मजा ले रहे हैं.

ससुर जी चले गये और मैंने फूफा जी को बेड पर लिटा दिया, मगर उनको लिटाते वक़्त मुझे उनको सामने से पकड़ना पड़ा और उस वक़्त फूफा जी की छाती मेरे दोनों चूचों से एकदम से सटी हुई थी और उनका लंड भी मेरी चूत के बिल्कुल सामने था.

ऊपर से ठण्ड के मौसम का असर भी होने लगा था, हम दोनों ने बैठे बैठे एक ही कम्बल ओढ़ लिया था, लाइट भी बंद कर नाईट लैंप जला लिया. और आपकी बहन आवाज़ सुन कर आ जाएगी, फिर हम उसको भी चोद देंगे।मैं तो पूरी तरह से डर गई कि ये तो ज़बरदस्ती करने पर आ गए।तब तक दूसरे वाले ने भी अपने पूरे कपड़े निकाल दिए। उसका लंड भी पहले वाले के जितना ही लंबा था। वो लंड को हाथ में पकड़ कर आगे को आया और मेरे मुँह में लंड को टच करने लगा।तो मैंने मन में सोचा कि चुदना मुझे 100% है ही. मैं मैडम की चूत को अन्दर तक जाकर चाट रहा था, उससे वो अब पूरी गर्म हो गई और अपने पैरों को भींच रही थी- आह्ह्ह… आःह्ह्ह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह्ह… की आवाजें स्पष्ट सुनाई दे रही थी.

गुलशन ने अनिता को बेड पे लिटा दिया और अंडरवियर को छोड़कर अपने सारे कपड़े निकाल दिए. ‘देखो, मैं तुम्हें डांट तो नहीं रही, मगर फिर भी मैं पूछना चाहती हूँ कि तुम ऐसा कैसे कर सकते हो? वो तुम्हारी बहन है. गौरव ने मेरी गांड में केवल दस बारह मिनट से ही लंड डाला था, लेकिन टाईट गांड में रगड़ खाकर लंड घुसने की वजह से उस तेइस साल के लड़के का और टिक पाना मुश्किल हो गया.

मैंने रफीक को बताया कि इसकी बहन सबीना बेचारी 6 महीने बिना चुदाई के रहेगी तो कहीं बाहर चुदवाने जायेगी तो बदनामी होगी तो इसने मुझे उस से सम्बन्ध बनाने को कहा और ये भी अपनी बहन की चुदाई के जलवे देखना चाहता है इसलिए ये कैमरे हर जगह छिपाकर लगवा दिए.

पहले सारे कपड़े निकाल दे फिर देख तुझे कैसे मज़ा देता हूँ।पूजा- सारे कपड़े क्यों मामू. !मैंने कहा- ऐसा मत करो।उसने कहा- क्यों? तुम्हें बुरा लग गया क्या?मैंने कहा- बुरा तो नहीं लगा लेकिन जब मैं ऐसा करने लगूंगा ना तो तुम्हें बहुत बुरा लगेगा।उसने कहा- नहीं ऐसी बात नहीं है।मैंने कहा- फिर ठीक है. फिर 3 दिन बाद जब मैं वापिस चंडीगढ़ आ गया, पर मेरे मन में बस शालू के जिस्म का ही ख्याल आ रहा था कि कब मैं शालू के जिस्म को हाथ लगा सकूंगा.

मुझे दर्द तो हो रहा था मगर मजा भी आ रहा था।भैया ने अब अपनी स्पीड बढ़ा दी और अपने लंड को जोर-जोर से और जल्दी-जल्दी अन्दर-बाहर करने लगे। अब मुझे भी मजा आने लगा।थोड़ी देर बाद भैया बोले- प्रमिला मेरे लंड का रस निकलने वाला है. पीटर ने मुझे कुतिया की तरह खड़ा किया और बीना किसी वार्निंग सीधा अपना लंड मेरी गांड के छेद में डाला। मैं जोर से चीख उठी ‘आआआह्ह ह्ह्ह्ह आआईईई… मार डाला मादरचोद ने… उफ्फ्फ निकाल उसे कुत्ते!मेरा बदन पसीना पसीना हो गया, दर्द के मारे मेरी पेशानी पे बल पड़ गए. उधर मैडम सिसिया रही थीं- उम्म… ऊं… ऊं… आई… ई ई सी… सी उफ़… उफ़ हाई… मजा आ रहा है!मैडम को अब चुदाई का भुत सवार हो गया था उसको चुदाई में खूब मजा आ रहा था, वो लगातार बड़बड़ाए जा रही थीं- ‘ऊइई… उफ्फ… हईही… जोर से अशोक… और जोर से… बहुत मजा आ रहा है.

तभी नीचे लेटे हुए रुस्लान ने अपना भारी-भरकम लंड आराम फरमा चुकी गांड में घुसेड़ दिया और ऊपर से चंगेज़ ने इस बार अपने द्वारा चुसी हुई चूत को निशाना बना लिया.

आज तुम्हारे लिए चाय मैं बनाता हूँ।मोना की समझ के बाहर बात थी कि गोपाल उस पर इतना मेहरबान कैसे हो गया और उसने इतना गुस्सा किया मगर गोपाल कुछ नहीं बोला। इसकी कुछ तो वजह है. जैसे ही वो मेरी नज़रों के सामने आई, मैं तो उसकी खूबसूरती में खो गया.

अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो सो उसको धकापेल चोदने लगा। उसे चोदते वक़्त उसकी चुत से क्या मस्त रसीली ‘फॅक फॅक फॅक फॅक. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पूजा की छोटी सी बुर संजय का मोटा लंड सहन नहीं कर पाई और वो चिल्ला पड़ी.

अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो पूरा झड़ने के बाद तीन पतियों की बीवी ने किलो भर का लंड अपने मुंह में लेकर चाटना शुरू कर दिया और जब तक वो सिकुड़ कर बिल्कुल छोटा नहीं हो गया, उसे सहलाती-पुचकारती रही. मैडम कपड़े बदल कर बाहर आई, बोली- क्या है अशोक?मैं- मैडम वो एक मरीज आया है.

मैंने उसके लंड को पकड़ कर रगड़ना जारी रखा और लगभग 2 किलोमीटर के बाद बाइक ने सीधे जाखोद खेड़ा का रोड छोड़कर दाहिने हाथ की तरफ नेवली खुर्द गांव की तरफ कट मार दिया और हम रात के अंधेरे में सुनसान गांव की तरफ अंधेरे में गुम हो गए.

भोजपुरिया बीएफ वीडियो सेक्सी

उस कोने की तरफ ही बैडरूम का दरवाजा है हम दोनों की उधर से पीठ थी और न जाने कब जमीला ने सबीना को बुला लिया और दोनों दरवाजे से रफीक की गांड चुदाई देख रही थी. अब मैं जान बूझ कर उसके सामने ढीला टोप पहनने लग गई और मौका मिलते ही उसके सामने इस तरह झुक जाती कि उसे मेरे बूब्स नज़र आ जायें. नीतू एकदम से लंड को टच करने से घबरा गई थी मगर गोपाल पर तो वासना सवार हो गई थी, उसने नीतू का हाथ पकड़ लिया.

अनिता- हाँ वो तो सही है मगर इसको देख कर खुश होने की क्या वजह थी?गुलशन- अरे पागल… किस्मत से ही ऐसा लंड किसी को मिलता है… तेरा नशेड़ी बाप उसको चुदाई का सुख नहीं दे पाता था, वो प्यासी थी. वह मेरे लंड को जोर-जोर से चाटे जा रही थी और कह रही थी- दो साल के बाद मुझे लंड चाटने को मिला है, आज तो खूब चाटूंगी. वो मासूम अबोध किशोरी सी मुझसे चिपक गई और अपनी अंगुली से मेरी छाती पर जैसे कुछ लिखती रही.

नताशा एंड्रयू के मुंह की तरफ अपनी कमर करके अमेरिकन लंड के ऊपर अपनी चंचल गांड रख कर बैठ गई.

अब आप जाओ मैं अभी फ्रेश होकर आती हूँ।जॉय वापस बाहर चला गया और फ्लॉरा वॉशरूम चली गई और 15 मिनट में रेडी होकर नाश्ते के लिए आ गई।अब यहाँ कुछ नहीं बचा तो सीधे कॉलेज चलते हैं वहाँ शायद कुछ मिल जाए।साहिल और वीरू बैठे बात कर रहे थे तभी वहाँ संजय भी आ गया।साहिल- अरे यार, कहाँ तू आजकल गायब रहता है. सुमित ने उसके दोनों बोबे पकड़ कर दबा दिये और एक निपल को मुँह में लेकर चूसने लगा. मेरे लंड ने आजाद होकर खुश होते हुए हवा में उछाल मारी और मैं स्नेहा के सामने जा खड़ा हुआ.

मॉंटी- दीदी देखो, मेरा कितना रस निकला है और आपका भी बहुत निकला है?मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस देसी चूत की कहानी पर सभ्य कमेंट्स कर सकते हैं. जब कुछ देर बाद उसकी चुत में लंड एड्जस्ट हुआ तो उसकी चुत में करंट पैदा होने लगा और उसको थोड़ा मज़ा आने लगा. जैसे जैसे फूफा जी का लंड टाइट होता जा रहा था, फूफा जी का नशा भी कम हो रहा था.

फिर भाभी को अपनी बांहों में जकड़ कर उनके रसीले मदमस्त मम्मों को दबाते हुए उन पर किस करने लगा. ये ग़लत है प्लीज़।मैंने उन्हें नहीं छोड़ा और उन्हें टाइट पकड़ कर किस करने लगा। एक मिनट के बाद थोड़ा रिप्लाइ देकर वो फिर से अलग हो गईं।मैं- आंटी अब तो हमने किस कर लिए हैं.

जॉन जल्दी से उठा और फ्लॉरा की एक लॉलीपॉप ले आया, फिर उसके मुँह में लॉलीपॉप दिया और जैसा उसने सोचा था, वही हुआ. संदीप और राजू ने एक साथ एक तेज झटका दिया और उन दोनों के लंड आधी लंबाई तक मेरी गांड में उतर गए. आप जैसा कहोगे मैं वैसा ही करूँगी।तभी भैया ने अपने लंड की पिचकारी मारते हुए अपने लंड का रस मेरे मुँह में ही छोड़ दिया और मैंने भैया का सारा रस पी लिया। मुझे अच्छा तो नहीं लगा मगर मैं सारा लंड रस पी गई।भैया अब निढाल होकर मेरे ही ऊपर गिर पड़े.

वो बस कुछ पूछने ही वाली थी कि काका ने खुद उसके सवाल का जवाब दे दिया।काका- ज़्यादा सोच मत बहू रानी.

तुम बोलो तो अभी तुम्हारे घर पहुंचा दूँ?मैं बोली- मज़ाक अच्छा है!पर वो माना नहीं, मुझे तुरंत मिलने बुलाया, मैं भी घर पर खाली थी तो उससे मिलने चली गई!हम जिस पार्क में मिलते थे, वहीं मिले और फिर आकाश ने मुझसे कोई बात करे बिना ही मेरे जाते ही मेरे हाथ में पचास हज़ार रुपये पकड़ा दिए और कहा- जब तुम्हें टाइम मिले, मुझे बता देना. तभी सामने से स्वान ने आकर अपना डिल्डो मेरी वाइफ के मुंह में घुसेड़ दिया. वो सुन लेंगे बस चुप करके देख और मज़ा ले।मोना बड़े प्यार से काका का लंड चूस रही थी और काका उसके चूचे सहलाते हुए उससे गंदी बातें बोल रहे थे क्योंकि काका को पता लग गया था कि राधा ऊपर आ गई है।काका- हय मोना रानी.

फूफा जी का एक हाथ मेरे गले में था और दूसरा हवा में लटक रहा था, जब में उनको बेड के ऊपर लिटाने लगी तो उनका वजन ज़्यादा होने के कारण संभाल नहीं पाई और खुद भी उनके ऊपर ही गिर गई. उफ्फ इसे देख कर तो लंड टाइट हो गया।सामने से एक 20 साल की बहुत ब्यूटीफुल लड़की आ रही थी, उसने रेड टी-शर्ट और ब्लू जींस पहनी हुई थी आँखों पर काला चश्मा.

उसके 9 इंच लौड़े का टोपा प्रीकम से सना हुआ था और लंड उसकी पैंट के जिप के बीच से निकल कर किसी मोटे सांप की तरफ आसामान की तरफ सलामी दे रहा था. अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाओं को नमस्कार!मैं रसिया बालम आप पाठकों के लिये अपनी नई कहानी लाया हूँ. मनोज ने टेबल पर पड़ी डाइनिंग शीट उठाई और गद्दों पे बिछा दी, उस पर सभी ने बर्तन रख दिए, वो चाय की केतली, नाश्ता लेकर आईं थी.

सील पैक लड़कियों की बीएफ

शायद वे पहले से ही चुत की शेविंग करके आई थीं। मामाजी ने चूत को चाट-चाट कर गीली कर दी थी। मामाजी मॉम के चूत पर जितना अपना लंड रगड़ रहे थे, उतनी ही मॉम बेकाबू होती जा रही थीं। फिर मामाजी ने अपना लंड मॉम के चूत में घुसेड़ दिया। मॉम के मुँह से जोर से आवाज निकल गई- आआह्ह्ह्ह.

ऋतु मचल पड़ी और उसके मुंह से सिसकारी फूट पड़ी- आआह… म्म्म्म ममम… जोऊऊर… से ए ए… आआहहह!मेरी लम्बी जीभ ऋतु की चूत कुरेदने में लग गई. उसके फिगर में अगर सबसे मस्त चीज़ थी तो वो उसके बूब्स थे करीब 36 साइज़ था और उसकी गांड बिल्कुल गोल मस्त लगती थी, उसे देखकर ही लंड सलामी देने लग जाता था. और जोर से चूत मसलिए, चूत फाड़ दीजिए।मामा रुक गए थे और मेरे लंड देखने से पहले ही उन्होंने लंड को अंडरवियर में छुपा लिया ताकि मैं मोटा लंड देखकर डर ना जाऊं या फिर मामा जल्दीबाजी में झड़ ना जाएं।मामा ने फिर मेरा टॉप उतार दिया। अब मैं केवल पेंटी और स्पोर्ट ब्रा में थी। मेरी चूचियां छोटी-छोटी थीं.

पर प्रॉब्लम ये थी कि जाएं कहाँ। फिर हमने खंडवा रोड जाने का निश्चय किया।मैंने अमन से कहा- हम दोनों पीछे बैठते हैं।‘अरे नहीं इस कमीने का पूरा ध्यान हमारी तरफ रहेगा और एक्सीडेंट कर देगा, अपन आगे ही बैठते हैं।’मैं दोनों के बीच में बैठा था। राहुल ड्राइव कर रहा था। कोई 20 मिनट में हमने बायपास क्रॉस कर दिया था। जैसे ही थोड़ा सुनसान रोड हुआ. मैंने रास्ते में आकाश को कहीं देखा नहीं, मुझे लगा कि आकाश ने मेरा पीछा छोड़ दिया, मैं घर आई और जब मेरे पति घर पर आये तो मैंने उन्हें सारी बात बता दी. देहाती बीएफ भोजपुरी सेक्सी’‘तुम्हारे चूतड़ भी बहुत मस्त हैं… इन्हें सहलाने में कितना मजा आ रहा है.

शायद उसके मन में यही चल रहा होगा कि भभूति जी भी उनके सुडौल एवं मुलायम स्तनों को दबायेंगे, चूसेंगे, उसकी निप्पल को काटेंगे, जैसे हर बार लड्डू के भैया करते हैं. और फिर बात टालते हुए दूसरी बात छेड़ दी- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- हाँ है।भाभी- उसको कभी प्यार किया है?मैं- हाँ बहुत बार.

वो शायद मेरे चेहरे से मेरी हालत का अंदाज़ा लगा सकती थी और इसलिए मुझे तड़पा रही थी. इसी के साथ एंड्रयू ने अपना लंड स्वान द्वारा खाली की गई गांड में घुसेड़ दिया. चाची ने आश्चर्य से बोली- हाँ रे अशोक, ये तो सच में, अरे बाप रे…!चाची और आगे देखने लगी.

पहले तो मुझे कुछ दिखाई ही नहीं दिया पर जब गौर से देखा तो हैरान रह गया क्योंकि ऋतु की बुर मेरी आँखों के बिलकुल सामने थी. तो मैं बोला- जानू, इनको मैं साफ़ कर सकता था पर मैं तुमसे साफ़ करवाने के मूड में हूँ।कोमल मोहन से बोली- जाओ आप अपना शेविंग किट लाओ, इनको साफ़ कर देती हूँ, मुझे अच्छी नहीं लग रही।मोहन अपना शेविंग किट ले आया। कोमल ने शेविंग क्रीम योगिराज के चारों तरफ लगाई और शेविंग ब्रश से झाग बनाने लगी बीच बीच में योगिराज के ऊपर भी ब्रश घुमा देती तो योगिराज भी पूरा सफेद हो गया. मैं इतना अधिक उत्तेजित हो गया था कि अपनी हथेलियाँ नताशा की चूत के ऊपर टिका कर जोर-2 से उसकी गांड में धक्के लगाने लगा.

शायद वे पहले से ही चुत की शेविंग करके आई थीं। मामाजी ने चूत को चाट-चाट कर गीली कर दी थी। मामाजी मॉम के चूत पर जितना अपना लंड रगड़ रहे थे, उतनी ही मॉम बेकाबू होती जा रही थीं। फिर मामाजी ने अपना लंड मॉम के चूत में घुसेड़ दिया। मॉम के मुँह से जोर से आवाज निकल गई- आआह्ह्ह्ह.

बाथरूम में शावर का पानी भी जमीला की गांड से होता हुआ मुँह पर आ रहा था. थोड़ी देर बाद मुझे लगा, कि सब कुछ करने देगी तो मैं उसके बूब्स को दबाने लगा.

मेरी चूत तो पहले से ही गीली थी इस लिए लंड का 4 इंच का मोटा सुपारा मेरी चूत के दोनों होंठ खोलता हुआ अंदर घुस गया. मैं अपने पूरे जोश से उसको चोदने लगा, उसको चोदते समय अचानक मेरे ध्यान आज की फ्लाइट की एयर होस्टेस पर आ गया जिसे देख कर मेरे मन प्लान में बन गया था. कब से तड़प रही थी इस सुख के लिए आज तृप्त हुई जा के… लेकिन आपने मेरे भीतर ही भर दिया न अपना रस, मैं प्रेगनेंट हो गई तो?’ वो शिकायत भरे स्वर में बोली.

आखिरकार राजे का खज़ाना खाली हो गया, लौड़ा मुरझा गया और फिसल के चूत के बाहर आ गया, जिसका पता मुझे चूत में खालीपन सा प्रतीत होने पर चला. नहीं तो नहीं!मॉंटी- उस रात अपने मेरे साथ क्या किया था, जो सुबह अपने आप मेरी आँख खुली. कितना दर्द हो रहा है।संजय- अरे आज ठीक से चुदवा ले, सारा दर्द हवा हो जाएगा। फिर तू रोज मज़ा लेना.

अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो जब मैं स्कूल में पढ़ता था तब मेरा एक बेस्ट फ्रैण्ड था और वो बहुत ही बिगड़ा हुआ और चुदक्कड़ था और मुझसे हर वक़्त सेक्सी बातें करता रहता!उसकी गली में एक लड़की रहती थी, वो उसे रोज़ चोदता और वो मुझे भी बोलता था कि एक बार सेक्स करके देख… कितना मज़ा आता है मालूम चल जाएगा!लेकिन मैं नहीं चाहता था कि मैं शादी से पहले किसी के साथ सेक्स करूँ… ना ही मैंने कभी मुठ मारी थी, मैं बहुत शरीफ लड़का था. अचानक हुए इस हमले से मैं पूरी तरह से हिल गई और ‘आआईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… भोसड़ी के मार डाला मादरचोद आआह्ह ह्ह्ह…’ ही बोल पाई.

बीएफ फिल्म सारी वाली

फिर एक दो और झटकों के साथ फूफा जी ने अपना सारा माल मेरी चूत में भर दिया और आखिरी झटका तो उनका ऐसा था कि उनका लंड गोटियों समेत मुझे अपनी चूत में घुसा महसूस हो रहा था. कुछ देर बाद मुझे आवाज सुनाई दी, मैंने आँखें खोली तो देखा कि मरीज के साथ जो महिला आई थी, वो मुझे जगा रही है. उस कोने की तरफ ही बैडरूम का दरवाजा है हम दोनों की उधर से पीठ थी और न जाने कब जमीला ने सबीना को बुला लिया और दोनों दरवाजे से रफीक की गांड चुदाई देख रही थी.

चाची के जाने के बाद मैंने अपने कपड़े बदले और थोड़ी देर आराम करने के लिए बिस्तर पर लेट गया और कब नींद आ गई पता ही नहीं चला. कहीं ऐसा ना हो कि मैं ख्याली पुलाव पकाता रहूं और वो सिर्फ फ़ोन पर ही सेक्स करके खुश हो रही हो. बीएफ एचडी वीडियो बीएफ एचडी वीडियोतो अभी जैसे मुँह बंद किया वहां भी आप मेरे मुँह को बंद कर देते।संजय- ऐसे तुझे समझ नहीं आएगा.

खैर अब क्या कर सकते थे, मैंने उसको थॅंक्स बोला और वहाँ से अपने घर चला आया, लेकिन हूँ तो मैं भी हरामी… जानबूझ कर उसके घर के सामने हॉर्न बजा कर निकलता था.

दबाया और चाटा। निशा भाभी की साँसें तेज़ हो गईं। मैं उनके बोबों को चूमते हुए नीचे की तरफ आया और उनकी नाभि पर ज़ुबान फिराने लगा। वो इससे मदहोश हो गईं और उनका जिस्म अकड़ गया, वो अपनी जांघें मसलने लगीं। मैंने भाभी की सलवार का नाड़ा खींचा. मामा के घर में एक ही बाथरूम है, मैं नहाने के लिए जैसे ही बाथरूम में घुसा, वहाँ मामा मामी की पेंटी टंगी थी, मैंमामी की पेंटीहाथ में लेकर चाटने लगा, फिर कपड़े उतार और उनकी पेंटी में मुठ मारने लगा.

उसको डर लगता है इसलिए।काफ़ी सोच-विचार के बाद हेमा ने ‘हाँ’ कह दी और टीना ने कमरे में जाकर सुमन को सब समझा दिया।सुमन- दीदी आप भी ना. इस दौरान मेरा और उसका रोज़ फ़ोन पर सेक्स हुआ और फिर वो दिन आया जिसका मुझे बेसब्री से इंतज़ार था. जैसे ही मैंने उसकी पैंटी को हाथ लगाया, उसने तुरंत मेरा हाथ बाहर निकाल दिया और बस करने लगी.

क्या तुम मेरी इच्छा पूरी कर सकते हो?मैंने पूछा- वो कैसे?आंटी ने एकदम से चुदक्कड़ों टाइप भाषा इस्तेमाल करते हुए कहा- मेरी गांड चूस कर.

उसने मुझे पीछे से गले लगा लिया।वे बोली- ठीक है मैं तैयार हूँ।दीदी की चुदाई की यह हिंदी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और जोर-जोर से चूमने लगा। मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और मैं खूब जोर से उसे चूस रहा था। फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुँह के अन्दर डाल दी, पहले तो उसने मना किया. अब तेरी बुर में लौड़ा डालने का टाइम आ गया है समझी मेरी जान!संजय वापस बिस्तर पे आया तो टी-शर्ट के साथ पानी की बोतल भी उठा लाया और बोतल को साइड में रख कर टी-शर्ट को पूजा की गांड के नीचे लगा कर पूजा के पैरों को मोड़ दिया, अब संजय के सामने पूजा की बुर थी और बस एक तगड़े झटके लगने भर की देर थी. नीतू पहले जहाँ खड़ी थी, अब भी वहीं खड़ी रही, जिसे देख कर मोना को उस पर बड़ा प्यार आया और वो उसके पास जाकर बैठ गई.

बीएफ वीडियो में ब्लू पिक्चरऔर मेरा लंड उसकी पेंटी के ऊपर से उसकी चुत को टच करने लगा था।सच में मुझे तो बहुत मजा आ रहा था, मैंने उसकी पीठ सहलाते हुए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए. कुछ मिनट उसको मज़ा भी दे दे, तेरा क्या बिगड़ जाएगा। फिर तुझे असली मज़ा तो मैं दे ही दूँगा।राजू- मान जाओ ना भाभी जी.

http:/देवर और भाभी के हिंदी बीएफ

वो उठा और किचन से पानी पीकर लौट रहा था कि उसने देखा ऋषिका के रूम की लाइट जल रही है… हालाँकि लाइट हल्की थी, पर रूटीन में ऋषिका रूम की लाइट बंद कर के सोती थी. पर कहते हैं ना किचुदाई की आगलगी हो तो चूत अपने लिए लंड का इंतज़ाम खुद ही कर लेती है और ये सब बहुत ही आसान है आज के वक्त में एक चूत के लिए. में सेक्स करते देखा, तभी से मेरे लंड में कुछ कुछ होने लगा था, इसलिए मैंने हाँ कर दी.

तो यहाँ से भी अंकल आंटी और काम वाली बाई सब साथ गए हैं। मैंने कहा मुझे मामू के साथ खेलना है तो मैं यहीं रुक गई।संजय- और आर्यन नहीं रुका ऐसे तो वो मुझसे बहुत चिपकता है?पूजा- उसने तो बहुत ज़िद की मगर उसको बुखार है ना. और थोड़ी देर बाद जमीला- आहहहहह…उम्म्म…साले अब फाड़ ना जोर जोर से अब कहाँ गया तेरा जोश ह्म्म्म…ओहहहहह…अब चोद फाड़ साली को बहूत आग लगी है साली फुद्दी में. जब अभिनव ने मुझसे उस घटना में मिले अनुभव को अन्तर्वासना के श्रोताओं के साथ साझा करने का अनुरोध किया तब मैंने उसे उस घटना को एक रचना के रूप में लिख कर भेजने के लिए कहा.

मोना के शब्दकोष में इतनी गहराई नहीं है कि आपका वर्णन भली भांति कर सके. देखना उसको भी पसंद आ जाएँगे और दूसरी बात उसका बैग एयरपोर्ट पर खो गया इसी लिए ये सब करना पड़ रहा है। समझी. फिर थोड़ी देर बाद दोनों नंगी ही चादर के अन्दर घुस गई और अपनी लाइट बंद कर दी.

इधर मैंने पीटर को अपने पास खींचा और अपने होंठ उसके होंठों पे रख दिए. तभी अंशिका और रुचिका कमरे के अंदर दाखिल हुईं, अंशिका ने एक बड़ा सा केक उठाया हुआ था, शायद रुचिका और मनोज ने पहले ही ये लाकर फ्रिज में रखा हो, रुचिका के हाथ में एक ट्रे थी, रुचिका ने ट्रे टेबल पर रखी और अंशिका ने केक टेबल पर रख दिया.

आपको ऐसी बात कहते शर्म नहीं आती?मैंने कहा- जब पूछने वाले को शर्म ही नहीं.

उन लोगों द्वारा स्पष्ट विचार प्रकट करने के लिए मैं उनका बहुत धन्यवाद एवम् आभार प्रकट करता हूँ और कहना चाहता हूँ कि किसी इंसान के जीवन में बड़ी घटनाओं के साथ कुछ छोटी घटनाएँ होती रहती हैं. ससुर और बहू की बीएफ वीडियोफिर मैंने उसकी चूत में एक उंगली डाल दी, ‘उईई ईई…’ कर वो मुझसे लिपट गई और वो मुझसे लिपटी रही, मैं खड़े खड़े ही उनकी चूत में उंगली करता रहा. भूमिका चावला सेक्सी बीएफइस प्रक्रिया में एंड्रयू का लंड पूरा तो नहीं, लेकिन आधा-अधूरा गोरी रुसी लड़की की गांड के अन्दर-बाहर होने लगा. मैंने अपने एक हाथ से लंड को नीचे से पकड़ा हुआ था और धीरे धीरे उस पर वजन डाले जा रही थी और वो मोटा भयंकर लंड भी मेरी चूत को फाड़ता हुआ अंदर घुसता जा रहा था.

इसको तू चाहे तो फ्लॉरा की तरह कब का तैयार करके चोद सकता है, मगर तूने ये टास्क-वास्क का क्या नया चक्कर चलाया.

दो विकराल लंडों से मेरी बीवी की गांड फटी जा रही थी, यह देख कर पोर्न डायरेक्टर ने इशारा किया और नीचे लेटे हुए चंगेज़ ने अपना लंड बाहर निकाल लिया. पर ऋतु की वासना की आग इतनी भड़की हुई थी कि उसने उसका मुंह पकड़ कर सीधे अपनी बुर पर लगा दिया. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको यह कहानी? अपने विचार आप मुझे[emailprotected]पर भेज सकते हैं.

लगता है संदीप ने इन दोनों को भी मुझे अपने लंड चुसवाने के लिए पहले ही बुलाया हुआ है। मैंने सोचा- हिमांशु, अब तो तू भगवान भरोसे है… रात को ना तो कोई साधन है और ना दूर-दूर तक कोई आदमी…संदीप जाकर उनके पास बैठ गया और उसने भी अपनी शर्ट निकाल दी और बनियान भी… संदीप का बदन बनावट में उन दोनों से दोगुना भारी था… उसकी छाती उठी हुई और डोले भी काफी मोटे और मजबूत थे. मैडम ज़ोर से चिल्लाई- मैं मरगईई ईई जररा धीरे करो ओऊ ऊऊ…मैं बोला- अभी तो आधा ही डाला है. मैंने मुड़ कर रोने जैसी सूरत बना कर राहुल को देखा… उसने तुंरत ही लंड निकल लिया.

देहाती गांव बीएफ

अब तक तो मेरी किरण से यह बात छेड़ने की हिम्मत ही नहीं हुई थी लेकिन अब हिम्मत आ गई है. मेरी मामी की उम्र 30 साल है और क्या लगती हैं वो… उनका फिगर 34-32-36 का है. पर मैं कहाँ मानने वाला था। मैंने उसकी चुत को खाना चालू कर दिया। मैं तेज-तेज से उसकी चुत को दांतों से काटने लगा। वो पागल हुई जा रही थीं और सिसकारियाँ लेती जा रही थीं- आ.

‘साले कुत्ते ये क्या कर रहा है, रुक क्यों गया ययय?’ चाची चिल्लाई मुझ पर.

फिर चंगेज़ ने अपने लंड को बाहर निकाला तो गर्ल फ्रेंड को थोड़ा सा विश्राम देते हुए रुस्लान ने भी अपना बाहर निकाल लिया और चंगेज़ नीचे की ओर झुक कर मेरी प्राणप्यारी पत्नि की चूत को चाटने लगा.

वो अपने मुंह में आये रस को पी गई और फिर अपने चेहरे पर लगे हुए वीर्य को भी अपने हाथों से इकट्ठा करके चाट गई. अब आगे:सुबह उठ कर तैयार हुआ, दीदी ने मेरी ओर देख कर आँख मारी, फिर जाते समय माँ से छुप कर बोली- क्यों छोटू कैसे हो?और हंसने लगी. बीएफ सेक्सी पिक्चर चाहिए वीडियो मेंपता नहीं अम्मा की बात सुन कर मुझे उन दोनों पर क्यों तरस आ गया और मैंने उन्हें कह दिया- ठीक है अम्मा, ऐसा करो, आप आज ही अपना और माला का सभी सामान ले कर यहाँ आ जाओ.

जैसे ही मैंने उसका कुर्ता उतारा, अंदर का नजारा देख कर मैं पूरी तरह पागल हो गया. सुमित ‘आह, आह, मज़ा आ गया, उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद, साली बहुत मस्त है तू तो’ और न जाने क्या क्या बकता हुआ उसे चोदे जा रहा था. काका तो इस वक्त रेस के घोड़े बने हुए थे और मोना हर बार चीख कर रह जाती।करीब 15 मिनट तक चुदाई चलती रही। अब मोना की चुत में लंड बराबर फिट हो गया था और उसको अब बड़ा मज़ा आ रहा था।मोना- आह.

इसके बाद मैं दो उंगली कोमल की चूत में और अंगूठा कोमल की गान्ड के छेद में घुसा के तेल मालिश करने लगा और एक हाथ से उसकी जांघों और पिडली की भी मालिश करने लगा. वहीं बस स्टैंड की साइड में कुछ झाड़ियाँ थीं जहाँ पर बस अड्डे की हल्की हल्की रोशनी आ रही थी, वो जाकर वहाँ पर पेशाब करने लगा और ठीक उसके साथ ही मैं भी जाकर खड़ा हो गया.

दोनों अन्दर चले गए फ्लॉरा अपनी मॉम के रूम वाले बाथरूम में चली गई और जॉन बाहर कॉमन बाथरूम में चला गया.

अब बस ऐसे ही मुझे चोदते रहना और मज़े देते रहना।काका- अरे तू चिंता काहे करती है, ये लंड हमेशा तेरे लिए खड़ा रहेगा। अब चल तुझे मेरी बहू की गांड मारकर दिखाता हूँ, उसके बाद तेरी चुत को फिर से चोदूंगा।राधा- ठीक है मेरे काका स्वामी. ऋतु उसकी बुर नीचे से ऊपर तक चाट रही थी और फिर अपनी जीभ से उसकी बुर कुरेदने लगी. और यह बोल कर मैं वहां से आ गया।अब मैं भाभी से बात नहीं कर रहा था और दो दिन निकल चुके थे तो शाम के टाइम भाभी का मेरे पास फ़ोन आया और बोली- मेरे रूम में आओ।मैं काफी गुस्से में था तो मैं जाकर बोला- अब क्या काम है?भाभी बोली- क्या बात है तुम मुझसे बात क्यों नहीं करते?तो मैंने साफ़ साफ़ बोल दिया कि आपने मेरे साथ ठीक नहीं किया।भाभी बोली- तुझे क्या चाहिए?मैंने बोल दिया- मुझे तो आपकी सेवा चाहिए.

डॉक्टर नर्स बीएफ सब ठीक है तुम सुनाओ और टीना आज भी नहीं आई क्या?सुमन- नहीं वो कल आएगी. मैंने भी जवाबी हमला करते हुए चाची की पेंटी में हाथ डाल दिया, चाची की चूत एकदम सफाचट थी.

ये मुझे बाद में समझ आया।फ्लॉरा- आप वापस क्यों नहीं गईं? एक बार ट्राइ करतीं. तू… इतनी सुबह… और यो के हाल बना रखा है… या बुशट कुकर पाट गी(ये शर्ट कैसे फट गई)उसके होठों से मेरा नाम निकलते ही मेरी पलकों में बंधी आंसुओं की झड़ी चेहरे पर धार बनकर मेरी फटी-शर्ट को भिगोने लगी. मैं बस मानसी से साथ प्रेम की अठखेलियाँ खेलना चाहता है, उसको महसूस करना चाहता था, उसको भोगना चाहता था.

भोजपुरी बीएफ देवर भाभी

मैंने चुपचाप रवि की उस ब्लैक फ्रेंची को किस किया, उसको एक दो बार फिर से सूंघा और बड़े ही प्यार से फोल्ड करते हुए प्यार से अपने बैग में रख ली और बैग को संभाल कर घर में एक सुरक्षित जगह पर रख दिया ताकि कोई मेरे बैग में हाथ न मारे और रवि द्वारा छोड़े गए मेरे लिए बेशकीमती तोहफों को किसी और के हाथ न लगें. एक बार तो मेरी जान हलक में आ गई कि आज मर ही जाऊंगी, इस साले बुड्ढे का बड़ा लंड तो मेरी चुत का भुरता बना देगा. पानी में भीगने के कारण उसके गीले कच्छे में उसका लंबा मोटा लंड दाएं से बाएं और बाएं से दाएं डोलता हुआ अगल से दिखाई दे रहा था.

और ये कुँवारी चुत मेरे को कहाँ मिलती? अच्छा है ये कुत्ता ऐसा निकला।राजू- काका आप भी ना मेरा मजाक बना रहे हो। मैं पहले ऐसा नहीं था। अभी 2 साल से ही ऐसा हुआ हूँ, पता है मैं दिन में 5 बार मुठ मारता था। बस इस गंदी आदत ने मुझे ऐसा बना दिया।राधा- देवर जी, मेरे नसीब में तो पति का सुख नहीं था मगर आपकी शादी होगी तो उस बेचारी का क्या होगा उसको तो पति मिलकर भी तड़प होगी।काका- अरे ऐसे कैसे तड़पने देंगे उसको. मेरी चूत में दर्द के साथ जलन भी हो रही थी और मुझसे उठा भी नहीं जा रहा था.

तो वो बोला- कितने चाहियें?मैं बोली- कितने दे सकते हो?तो वो बोला- दस हज़ार… बस तुम एक बार मिल लो!फिर मैंने कहा- बस, तुम्हारी नज़र में मेरी इतनी कीमत है?वो बोला- नहीं, तुम तो यार लाखों में हो.

आंटी की चुत में धक्के लगाए।फिर आंटी की चुत में ही मेरा पानी निकल गया. धीरे-धीरे वो भी शान्त होने लगी, अब शायद चाची को अच्छा लगने लगा था और मेरा साथ देने लगी, बोली- अशोक अच्छा हुआ, तू नहीं रुका, अब मुझे बहुत मजा आ रहा है, अब चोद मुझे और जोर से चोद मुझे… आह ईई सच में गांड मराने में भी मजा आ रहा है. ‘थैंक्यू दोस्त, कि तुमने मुझे आज इतनी हसीं लड़की के साथ प्यार करने का मौका दिया…’ स्वान ने गंभीर होकर मेरा कृतज्ञता ज्ञापन करने की कोशिश की.

सुधीर- आपके घर तो आ जाऊंगा मगर आपको दिक्कत होगी और शायद गोपाल को भी ये बात अच्छी ना लगे. फिर पापा ने मुझे और शालू को बहुत डांट लगाई और मुझे चंडीगढ़ स्टडी करने भेज दिया. अब आप जान ही गए कि चुदक्कड़ तो मैं पहले से ही थी लेकिन शादी के बाद बहुत बंधन हो गया.

वो मेरे खड़े-पड़े लंड पर ऊपर से नीचे तक फुर्ती से चूत को रगड़ने लगी और चूत का दाना लंड पर घिस घिस कर अपनी कमर और तेज तेज स्पीड से चलाने लगी मैं समझ गया की अब ये झड़ने पे आ गई है.

अनुष्का शर्मा का बीएफ वीडियो: वो अपने मुंह से मादक आवाज़ें निकाल रही थी- आआह आआहहह हम्म्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर आहहह… और ज़ोर से ऊऊऊऊ आ… ईईई…उसकी ऐसी मादक आवाज़ें मुझे और दीवाना बना रही थीं. मैंने भी अपना मुंह उसकी बुर पर टिका दिया और उसके निचले अधरों का रसपान करने लगा.

वो मानती तो ठीक नहीं ज़बरदस्ती करके ले आता। बस वो पागल सा हो गया था, इसी कारण मेरी उससे कम पटने लगी थी।मोना- अच्छा ये बात है. तभी एक चोर आंटी का पर्स लेकर भागने लगा, आंटी एकदम जोर से चिल्ला उठी, आंटी की चीख सुन कर मैं उस चोर के पीछे भागा और उससे लड़ कर उनका पर्स लेकर आ गया. यही सोचकर सबने फ्लॉरा की चुत बख्श दी। उसके बाद सबने एक राउंड बियर का लगाया और अपने-अपने घर चले गए। इधर संजय ने टीना और फ्लॉरा को घर छोड़ा और फिर अपने घर वापस आ गया।दोस्तो, वैसे तो संजय अक्सर बियर पीकर जाता था मगर तब तक सब सो चुके होते थे.

ऐसा करते-करते लगभग 10 मिनट बीत चुके थे लेकिन मुझे हैरानी इस बात पर थी कि एक बार भी लड़की ने उस लड़के के लंड की तरफ नहीं देखा और ना ही उसे छूने की कोशिश की जबकि लड़के का लंड पूरा तनकर साइड में झटके मार रहा था.

मुझे 2000 रूपये भी दिए उसने!और मैं जब हॉस्टल से घर आता था तो उसको चोदता था और जब पैसे की जरूरत पड़ती थी तो वो मुझे दे देती थी. अब उसका दोस्त खड़ा हुआ और मेरे मुँह में लंड डाल के लंड चुसवाने लगा. आसिफ अंकल ने पीछे से अपना हाथ मेरे कंधों पे रख लिया, मैं बस अपनी नजरें झुकाकर खड़ी रही.