ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ ओपन ब्लू पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

ಇಂಡಿಯನ್ ಸೆಕ್ಸಿ ಫಿಲಂ: ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ, कहानी के पिछले भागमेरा भाई भी मेरी चूत का शौकीन हैमें आपने पढ़ा कि मैंने हर शनिवार कालगर्ल का काम करने का तय कर लिया था.

भाभी जी का बीएफ वीडियो

यह हॉट सिस्टर चुदाई कहानी तब की है, जब मेरी बहन ने खूब लंड पेलवा पेलवा कर अपनी चूचियां मस्त करवा ली थीं. सेक्सी बीएफ व्हिडिओ मूव्हीउसे 5 मिनट किस करने के बाद मैंने उससे पूछा- मेरे साथ मजा आ रहा है?वो हंस कर हां में सर हिलाने लगी.

रश्मि ने उसी वक्त अपने हाथ को मेरी जांघ पर आगे ले जाकर मेरे लंड पर फिराया और बोली- मुझे ये चाहिए. सेक्सी फुल एचडी में बीएफदीप्ति के मम्मों को सहलाते हुए मेरी उत्तेजना बहुत ज्यादा बढ़ गई थी.

आज मैं पहली बार उसे इतने पास से देखूंगी, उसका हाथ पकड़कर बातें करूंगी.ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ: मैंने कॉपी जमा की और एक बार उसकी तरफ देख कर आंख मारी और मैं कैंटीन पर उसका इंतज़ार करने लगा.

एक दिन मेम का फोन आया और उन्होंने मुझसे कहा- मुझको कुछ पैसों की ज़रूरत है, क्या कुछ हो सकता है?मैंने कहा- मेरे पास तो नहीं है.क्या तुम मेरे सामने अपने कपड़े नहीं निकाल सकती!मैंने अपनी जींस पैंट को निकालते हुए पैंटी भी निकाल दी.

एक घंटा के बीएफ - ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ

उन्होंने कहा- तुम बाहर नौकरी करते हो, वही हो न!मैंने कहा- हां, अभी ये कोविड के कारण वर्क फ्रॉम होम चल रहा है.मैंने अलग अलग पोजीशन में कजिन सिस्टर सेक्स का मजा लिया जिसमें से एक दो पोजीशन उससे नहीं हो पा रही थीं.

मेरे टांग बुआ के चूतड़ों के ऊपर होने के कारण मेरा लंड बुआ की गांड की दरार में पूरी तरह फिट हो गया था. ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ ऊपर पीठ पर केवल एक ही चीज़ थी जो उसके हाथों में बार बार अटक रही थी और वो थी ब्रा स्ट्रैप.

जितना कल रात तुमने मुझे तड़पाया था उतना तो मानव ने फर्स्ट नाईट को भी नहीं तड़पाया था.

ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ?

बाहर ही आनन्द भी मिल गया, हम दोनों ने हाथ मिलाकर एक दूसरे का अभिवादन किया. ऑफिस आकर सबसे पहले मैंने आनन्द को फोन मिलाया- आनन्द जी आप फैक्ट्री पहुंच गए?उधर से आनन्द की आवाज आई- हां सर, मैं इधर पहुंच गया हूँ. हम दोनों इस जोरदार चुदाई से बहुत थक गए थे तो अपने अपने कपड़े पहन कर सो गए.

अचानक एक लड़की कमरे में आ गई तो मैंने हडबड़ा कर अपना हाथ पैंट में से निकाला और मोबाइल बंद कर दिया. मगर थे सब तगड़े शरीर वाले!तब मुझे सुनील की वो बात याद आ गयी जब उसने बोला था कि उसके दोस्त बहुत बड़े किस्म के चोदू हैं, वो हर लड़की की हालत ख़राब कर देते हैं. हम दोनों मेरे कमरे से बाहर आ गए क्योंकि अब भईया का भी ऑफिस से घर आने का समय हो गया था.

मैडम की उम्र का तो नहीं पता है पर वो बिजनेस करती हैं, काफी मॉडर्न कपड़े पहनती हैं, तो उनकी उम्र मुझसे भी कम लगती हैं. अब चाचा जोर जोर से झटके मारने लगे जिससे फिर से पट पट की आवाज आने लगी. चाचा मम्मी की चुत का रस चाटते हुए कहने लगे- ओह मेरी गुलबदन, तुम्हारी चुत से निकलता हुआ ये नमकीन पानी तुम्हारे जैसा ही नशीला है मेरी जान … मजा आ गया.

एक सुबह उसने अपनी सहेली को बोला- मुझसे बात नहीं हो पाई, अब क्या करूं. अब मैं मन ही मन खुश हुआ तो मोनिका ने भी शरारत के साथ आंख मारकर मुझे देखा.

ये मुझे भी नहीं मालूम था इसलिए मोनिका की बात सुनकर मुझे बड़ा अजीब सा लगा.

वो बोला- तो आज ये मेहरबानी मेरे ऊपर क्यों?मैंने कहा- अबे यार क्या बताऊं, साला लॉकडाउन चल रहा है.

उसने मेरी दोनों टांगों को फैला दिया और ऊपर आकर चूत में लन्ड लगाकर जोर से धक्का दिया. मैंने तुरंत आगे बढ़ कर भाभी के ब्लाउज के दो हुक खोल दिए और पीछे से उनकी पीठ को अपने हाथों से सहलाने लगा. उसके बाद हमने कैसे उसके घर सेक्स किया, उसके बारे किसी और दिन लिखूँगा.

जल्द ही मिलूँगा और बताऊंगा कि भाभी के घोड़ी बनकर चुदने के प्रस्ताव को कैसे इसी उत्साह और जोश के साथ पूरा किया. उधर अशोक का हाल भी खराब हो चुका था, वो तो रानी साहिबा को अब पूरा पाना चाहता था. हम दोनों ने दो मिनट तक किस किया और दीप्ति को अलविदा कहकर मैं अपनी कार में बैठकर निकल गया.

उसकी चूत को चाट चाट कर मैंने उसको झड़ने के करीब ला दिया था और वह मेरे बाल पकड़ कर सर चूत में दबा कर चिल्ला रही थी.

बुआ बोलीं- तुम झूठ बोल रहे हो, पूरा गांव मुझे देख कर गर्म होता है और तुम बोलते हो कि मुझे देखा ही नहीं. अब कोमल दीदी की शादी के दिन नजदीक आ रहे थे तो मेरी बेचैनी बढ़ती जा रही थी. फिर अपनी बियर को मग में डाला और चियर्स बोल कर हम दोनों ने सिप लेना शुरू कर दिया.

लेकिन बाद में मैं अपनी पढ़ाई खत्म करके मुंबई नौकरी के लिए आ गया था. हालांकि मैंने अपने बायफ़्रेंड का लंड पब्लिक प्लेस में बहुत बार चूसा है लेकिन आज थोड़ा डर लग रहा था. मैंने मना किया कि मैं नहीं पीती हालाँकि हास्टेल में सब ट्राइ किया था.

उसे अपनी आंखों में मिहीन की नशे में उन्मत्त आंखें वासना से तप्त दिखीं.

अगर कुछ काम है तो बता दो, मैं बता दूंगा।वो बोली- नहीं उन्हीं से काम था।मैं बोला- ठीक है!वो बोली- फोन में क्या करता रहता है सारा दिन?मैंने कहा- कुछ नहीं. फिर हमने अपने खजाने का डब्बा खोला, जिसमें सेक्स टॉय और वाइब्रेटर रखे हुए थे.

ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ मैंने पास जाकर देखा कि एक बाइक वाले ने एक बच्चे को टक्कर मार दी थी. मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चोदने लगा।अब मैंने पीछे से पकड़ कर उसकी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया और झटके पे झटके लगाने लगा।पूरा कमरा चुदाई की आवाज से गूंज उठा था और थप्प थप्प थप्प आह आहह की आवाज तेज होने लगी थी।अब मैं बिस्तर पर लेट गया और चाची अपनी गांड में लंड लगाकर बैठ गई और लंड अंदर चला गया.

ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ फिर हम दोनों घोड़ी की पोज़ में आईं और दोनों ने एक एक साइड से अपनी चूत में लंड डाल लिया. मोनिका- हां दीदी, जीजा जी फास्ट भी बहुत हैं, घर जाते ही सुहागरात मना दी और इतनी जल्दी बच्चा भी हो गया.

इसकी रसीली सेक्स कहानी पढ़कर मैंने भी सोचा कि क्यों ना मैं भी अपनी सच्ची सेक्स स्टोरी आप लोगों के साथ साझा करूं.

सेक्सी वीडियो कुछ नहीं

प्रियंका- आहह मजा आ रहा है यार … अन्दर डाल न!मैंने अपनी दो उंगलियां गीली करके प्रियंका की चूत में डाल दीं और ऊपर से जीभ भी चलाने लगी. उस्ताद जी बोले- चूत में लेगी मेरा माल या मुँह में?मैंने कहा- मुँह में. मैं- क्यों पहले भी किसी का पकड़ कर देखा है क्या?मीना- नहीं जीजू, अभी तक तो बस मोबाइल में ही वीडियो में देखा है.

मुझे नाचती हुई देखकर पम्मी और राजेश मेरे पास आ गये और मेरे साथ नाचने लगे. मैंने मम्मी की जांघों के ऊपर हाथ फेरना शुरू किया और धीरे धीरे मैंने उनकी चूत पर हाथ फेर दिया. हम बस खाना खाकर रात को टहलने और थोड़ी बहुत मस्ती करने निकलते थे क्योंकि ऊपर के माले पर सुंदर सुंदर नर्स रुकी हुई थीं और हम सभी लौंडे नर्सों को देखने के लिए निकलते थे.

अपनी जॉब की वजह से मैं मुंबई में अकेला रहता हूं और मेरी फैमिली एक छोटे से शहर में रहती है.

तभी दीदी की बेटी ने रोना शुरू कर दिया तो दीदी ने लंड छोड़ दिया और अपनी बेटी को गोद में उठा कर उसे चुप कराने लगीं. मेरा थोड़ा सा लंड चूत में घुस गया और दीप्ति की आवाज निकल गई ‘आह मर गई … धीरे. और फिर ऐसे ही मैं अपनी साली से फोन पर बातें करने लगा। बातों बातों में उसकी सहेलियों के बारे में उससे पूछने लगा.

मैंने उसके गाल को अपने दोनों हाथों से दबाया और कहा- मादरचोद, अभी भी तू वैसे ही अनाड़ी जैसी चूस रही है. उसे अपनी आंखों में मिहीन की नशे में उन्मत्त आंखें वासना से तप्त दिखीं. मैंने आंटी की चूत चाटना शुरू कर दिया और दोनों हाथों से बूब्स को दबा रहा था।अब सुनीता मदहोश हो चुकी थी, वे सिर्फ सिसकारियां और आहें भर रही थी- आ आआउ उउउ ईईई ईईई खा ले मेरी चूत … गोलू आआ आउउउह!मैंने अब देर न करते हुए 69 की पोजीशन ली, उनने भी मेरा लण्ड चूसना शुरू कर दिया.

मम्मी हंस कर बोलीं- तुम इसकी फ़िक्र मत करो, मैंने अनमोल के जन्म के बाद ही ऑपरेशन करवाकर अपना गर्भशाय (बच्चेदानी) निकलवा लिया था. मैं लेकिन कहां मानने वाला था … मैंने फिर से अपना लंड बाहर करके एक और जोरदार स्ट्रोक दे मारा.

अमित से मेरी खुल कर बात हुई तो वह भी बोला कि हम लोग भी वाइफ स्वैपिंग करना चाहते हैं. हमने वो नकली लंड अपनी चूत के इतना अन्दर ले लिया था कि हमारी गांड भी एक दूसरे से टच होने लगी मानो बीच में कुछ बचा ही नहीं हो. थोड़ी देर बाद ममता कुक्कू को लेकर आयी तो मैं उसे देख कर दंग रह गया देखकर.

मैंने फोन काट दिया और उसी वक्त मैंने आनन्द को अपने केबिन में बुलाया.

एक तो वो 20 साल का चिकना लौंडा था, तो समझ सकते हैं कि कितना कड़क माल वाला होगा. गली के बाहर आकर बोली- मैं स्कूटी घर में खड़ी करके आऊंगी, तुम तब तक घर में मेरा वेट करो और गेट बंद मत करना … मैं खुद अन्दर आ जाऊंगी. मैंने उससे कहा- यार मीना, तुझे क्या लेना था, चल अभी चलते हैं … वरना 8 तक कुछ नहीं मिलेगा.

तब तक वह मूत कर खड़ी हो गई थीं, दीदी ने अपनी पैंटी को ऊपर किया और साड़ी को नीचे करके हाथ धोकर पानी भरने लगीं. उसकी आवाज से मैं और रोमांचित होता गया और मेरे धक्कों की स्पीड बढ़ती गई.

पूरे रूम में उसकी गांड से लंड के गोटे लगने से थप थप की मधुर आवाज आ रही थी. कहानी के पिछले भागभतीजे की पत्नी की चूत चोद दीमें आपने पढ़ा किअब आगे बहू ससुर सेक्स कहानी:वो कमरे से बाहर मटक कर चल दी।पर मेरे दिमाग में और कुछ था।उसके निकलते ही मैं बाहर टहलने के लिये गया और कोई करीब 10 मिनट बाद फिर वापिस लौटा. उसने एक छोटी सी गुलाबी रंग की वही प्रिंटेड चड्डी पहन रखी थी जो मैंने उसे गिफ्ट में दी थी.

सेक्सी व्हिएडो

ज्योति गर्म होने लगी और उसके चुचे ऊपर नीचे होने लगे, उसकी चूत से प्रीकम आने लगा.

दूसरा हाथ मैंने उसकी गर्दन में डाला और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके जैसे ही झटका मारा, लंड फिसल गया. ये नशा मुझे पिछली बार से ज्यादा घर लग रहा था क्योंकि जब मैं बेहोश हुआ था तभी अंकित ने मुझे 2 पैग और पिला दिए. अब उसने मेरे गाउन का फीता खोला और मेरे बदन से गाउन को खींच दिया, जिससे वो फट गया.

फिर मैंने और भैया ने दारू पी, उसके बाद खाना हुआ और हम दोनों बाहर आकर सिगरेट पीने लगे. सुबह जब मैं उठा तो दीदी उठ चुकी थीं और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चली गयी थीं. बीएफ चोदने वाली मूवीबिना अन्तर्वासना की कहानी पढ़े मेरी सुबह नहीं होती और न ही रात में नींद आती है.

वो मुझसे सेट हुई और मैंने उसकी बुर की सील तोड़ी!दोस्तो, मैं आपका प्यारा डेविड अपने सभी पाठकों का स्वागत करता हूँ. आनन्द अब मेरे ऑफिस से निकल कर फैक्ट्री के दूसरे हिस्से में चला गया था.

मैंने उससे पूछा- राहुल, क्या तुमको मेरी चुत चाटने में मजा आ रहा था?राहुल- हां भाभी, मुझे आपनी चुत चाटने का बड़ा दिल कर रहा है. उसने कुछ देर के लिए खुद को रोक लिया, उसने लंड चूत से बाहर निकाल लिया. हम थोड़ी घनी झाड़ियों के अन्दर गए और उसने मुझको एक धौल लगाते हुए कहा- साले अब तू मेरी रंडी है समझा! मैं जो बोलूंगा, तू करेगा.

घर पर दीदी के अलावा उनके 2 बच्चे हैं जो अभी बहुत छोटे हैं; एक 6 साल है तो दूसरा 4 साल का. दीप्ति किसी अप्सरा की तरह खूबसूरत और हॉट थी, ऊपर से मदमस्त जिस्म वाली औरत थी. मैंने बाथरूम में देखा कि मेरी ब्रा और पैंटी अलग से ऊपर की तरफ पड़ी हुई थी, जबकि मैंने दोनों को बाकी कपड़ों के नीचे रखा हुआ था.

सुबह जब हमारी नींद खुली तो फिर से एक बार चुदाई का मजा लिया और कपड़े पहन कर बैठ गए.

चाचा- नहीं … म्मम्म … नहीं … आह आज पहली बार मिली हो … इतनी आसानी से नहीं छोडूंगा तुमको. पुसी लिक से सुहानी दीदी बहुत कांप रही थी और मुझे लगातार गालियां दे रही थी.

मैं तुरंत वहां से निकला और बाहर एक मेडीकल स्टोर से कंडोम का पैकेट लेकर होटल आ गया. सच में जितनी दीप्ति स्टाइलिश और हॉट थी, उसका घर भी उतना ही आलीशान था. मैंने भैया से बोला- ये लड़की क्यों देख रही है?भैया बोले- साले चूतिया, भूल गया, यही तो थी.

मैं उसके ऊपर वाला होंठ चूस रहा था और वो मेरे नीचे वाला होंठ दबाए हुई थी. अ न्यू Xxx कहानी में पढ़ें कि शादी के कुछ साल बाद सेक्स लाइफ नीरस होने लगती है. ये महसूस करते ही उसने अचानक से पैर ब्रेक पर रख दिया और झटके में गाड़ी रुक गई.

ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ आपको भाभी की जबरदस्त चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताना न भूलें, धन्यवाद. वहां कोई नहीं था पर मुझे शक हुआ कि कोई था।फिर एक दिन सुनीता घर में गिर गई तो उनके पैर के पंजे में सूजन थी, पीठ और कमर में चोट के कारण दर्द था.

सेक्सी वीडियो एचडी एचडी एचडी एचडी

ये आज तक कभी नहीं हुआ था कि मुठ मारने के बाद इतनी जल्दी मेरा लंड फिर से तैयार हो गया हो. बहू रानी ने अपनी साड़ी और पेटीकोट खोल दिया और बोली- तभी तो तेरे लंड से चुदाने यहां तीरथ पर आई हूं बहन के लौड़े, चूत की पूजा थोड़ी करवाने आई हूं. वो अपनी गांड और कसी हुई चड्डी दिखाती नीचे झुक गई और चाची के बच्चे को उठाने लगी.

चूत को चाटते हुए मैंने एक उंगली भी उसकी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा. मीना- क्या जीजू … मुझे अभी आपने ठीक से देखने भी नहीं दिया और बोल रहे हो कि सोना है. बीएफ सेक्सी हिंदी मूवी वीडियोअब हम दोनों इसी तरह से अलग अलग मर्दों से और औरतों से चुदाई का मजा लेने लगे हैं.

मैं दुकान पर गया, वहां से कोल्डड्रिंक चिप्स और एक बड़ी वाली डेरी मिल्क चॉकलेट खरीद लाया.

मैंने समझ लिया था कि ये काम मेरे मामा का है मगर मेरी उससे बात करने में गांड फटती थी तो कैसे कहूँ, ये समझ ही नहीं आ रहा था. उन्हें पटाकर चोदने का ख्याल तो मन में था, पर ये अभी दूर की कौड़ी थी.

लेकिन झटका इससे बड़ा मेरे पीछे था, मेरी बुआ मेरी गर्लफ्रेंड की सब बातें सुन रही थीं. पांच मिनट बाद भाभी अपने कमरे का दरवाजा बंद करके मेरे कमरे में आ गईं. पांच मिनट बाद वो गांड हिलाती हुई मस्त होने लगी- आह आह उह बहुत बड़ा है तेरा … गधे जैसा लंड है.

मम्मी- तुम नहीं जानते एक विधवा औरत के लिए एक रात काटना कितना मुश्किल हो जाता है.

मुझे कुछ सूझ ही नहीं रहा था, तब मैंने वॉशरूम जाकर अपना दूध निकालने का फैसला किया. बड़ी मुश्किल से मैंने अपनी 6 साल की शादीशुदा जिंदगी में एक या दो बार अपने पति का लंड चूसा होगा, वो भी मुझे अच्छा नहीं लगा तो उन्होंने भी जोर नहीं दिया और मेरा लंड चूसने का टेस्ट ही नहीं बना. किस करते वक़्त मैंने अपने हाथों का जादू उसके चूचों पर दिखाना शुरू कर दिया.

यूपी की बीएफ मूवीमैं- अभी बोलो न, क्या काम है?अनन्या- वो तो कल ही बताऊंगी, बस तुम कल सुबह जाना मत कहीं. ‘गप … गप … गप्प … गप …’मैं लंड चुत में अन्दर बाहर करने लगा और अंजलि मजे से गांड उठा कर चुदवा रही थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी फुल

अब आगे की कहानी :जैसे ही मेरी निद्रा भंग हुई, मुझे महसूस हुआ कि ये तो एक प्यारा सपना था. Xxx यंग सिस्टर सेक्स कहानी मेरी छोटी बहन की चुदाई की तब की है जब वो शादी के बाद पहली बार मायके आई. डॉक्टर ने मुस्कुरा कर कहा- नीचे कहां?मेरी पत्नी ने शर्मा कर कहा- उधर चूत में.

’मैं हंसा और वो अपनी चूत पर रख कर अपने आप अन्दर घुसाने का काम करने लगी. दीदी ने कहा- भैया मुझे मजा तो आ रहा है … लेकिन ये कुछ गलत नहीं हो रहा है?मैंने कहा- अरे यार दीदी इसमें कुछ भी गलत नहीं है. वो अपनी आंखें बंद करके डॉक्टर की उंगली को अपनी चुत में लेकर मजा ले रही थी.

वहाँ उसका नाम कन्फर्म करने के बाद मैंने उसका नंबर यह सोचकर सेव किया कि व्हाट्सप्प DP में उसका फोटो देखने को मिलेगा. जब मेरी बहन घर आई तो उसने इस वाकिये को अपनी डायरी में लिखा, जो आज मेरे हाथ लग गई और मैंने आपको उसकी ग्रुप सेक्स की कहानी को आपके सामने पेश कर दिया. और Xxx यंग सिस्टर सेक्स का मौका जल्द ही मिल गया जब ज्योति की पहली बार ससुराल से विदाई हुई और वो घर आ गयी।घर आने के बाद जब पहली बार उसे देखा तो वो और भी खिल गयी गयी थी.

चाची ने कपड़े से मेरे लंड को और अपनी चूत को साफ़ किया।तब चाची ने अपने कपड़े पहने और मुझे मेरे कपड़े दिए।चाची ने पास रखा घास का गट्ठर उठाया और घर के लिए निकल पड़ी।थोड़ी देर बाद मैंने अपने कपड़े पहने और घूमते घूमते घर आ गया।दोस्तो, उसके बाद मैंने चाची को घर और खेत में कई बार चोदा।मेरी खेत में चुदाई कहानी पसंद तो आई ही होगी. उन्होंने पहले मुझे गौर से देखा, फिर एक प्यारी सी स्माइल देकर थैंक्यू कहा.

फिर वो पूछने लगी- खाना खाया?मैंने बताया और वो इसी तरह की बात करती रही.

रानी के मुँह से हल्की सी चीख निकलने को हो गई पर दूसरे लड़के का लंड रानी के मुँह में होने के कारण उसकी आवाज बाहर नहीं निकल पाई. बीएफ घचाघचअब मेरी समझ में आ गया था कि भाभी उतनी शरीफ नहीं हैं, जितनी दिखती हैं. बीएफ ब्लू वीडियो हिंदीफिर वो उसकी मिनी को नीचे करके उसको वापस रूम में ले आया; मीरा को बेड पेर लेटा दिया और वो सब बातें करने लगे. हालांकि मैंने अपने बायफ़्रेंड का लंड पब्लिक प्लेस में बहुत बार चूसा है लेकिन आज थोड़ा डर लग रहा था.

ये घटना मेरे साथ मामा के लड़के यानि मेरे ममेरे भैया की ससुराल में हुई थी.

मगर मेरे रुकने को लेकर तुम अपनी बड़ी आपा से क्या कहोगी?वो बोली- वो सब मैं देख लूंगी. आज की बात उस बहन की चुदाई की बात है जिसके मैं शादी से पहले ही ऊपर ऊपर से मजे ले चुका हूं लेकिन उसकी चुदाई का मौका नहीं मिला. नमस्कार दोस्तो, मैं आप सबकी रंडी माया, जैसा नाम है, वैसी ही मेरी करतूतें हैं.

उसके बाद पापा ने चूत से मुँह हटाया और लंड पर थोड़ी क्रीम और थूक लगाया और चूत पर सैट कर कर धीरे धीरे दबाने लगे. मैं उनके लाल लाल होंठों को अपने काले होंठों से पागलों की तरह चूसने लगा और अपनी जीभ से भी उसके मुख की गहराई को नाप रहा था।उन्हें मैं पागलों की तरह से किस करने लगा और नीचे मेरा लिंग दाइशा की योनि से टकराने लगा।योनि से रगड़ खाने का आभास होते ही एक ही झटके में मैंने अपना लन्ड दाइशा की चूत में दबा दिया. वो बोली- मुझे कुछ सामान लेने मार्केट जाना है … तो आप मुझे कल ऑफिस जाने से पहले कुछ पैसे दे देना.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो मूवी फिल्म

हुआ यूं कि जब लॉकडाउन लगा तो उस वक्त मेरी पत्नी अपने मायके गई हुई थी. फिर अंकल मेरे ऊपर आ गए और टांगों को फैला कर अपना लंड मेरी चूत की फांकों में घिसने लगे. मैंने नैना की नजर से नजर मिलाई तो उसके चेहरे को भी पसीनों की बूंदों ने घेर लिया था.

मेरी तरह दीप्ति भी उत्तेजित हो चुकी थी इसलिए वो भी मेरा साथ खुल कर दे रही थी.

अब आप लोगों को ये बता दूं कि मम्मी का मुझे भेजने के पीछे केवल एक कारण था कि पापा दीदी के साथ कुछ ऐसा वैसा न करें.

मॉम बोलीं- वैसे तेरे पापा मेरे साथ सेक्स नहीं करते हैं, तो मुझे भी अपनी भूख मिटाने की जरूरत पड़ती है. लोगों को चुदाई के पहले किए गए फोरप्ले का समय चुदाई का भाग ही नहीं लगता है. बीएफ सेक्सी वीडियो कार्टूनवो बोली- पर ये इतना मोटा है मेरे मुँह में जाएगा कैसे?मैंने कहा- ये सब छेदों में चला जाता है यही तो इसकी खासियत है.

कुछ देर बाद मामा ने फिर से एक बार मेरी बुर में लंड डाल कर मुझे चोदा. विशु लोअर ऊपर करने लगा लेकिन मैंने उसे रोक दिया और देर ना करते हुए फ़ौरन उसका लंड अपने हाथ में पकड़ लिया. अब मैं बार बार ब्रेक मारने लगा था तो भाभी को भी मजा आने लगा और वो भी मुझसे एकदम से चिपक कर बैठ गईं.

जब ज्योति उठी तो देखा बेडशीट पर खून लगा था और उसकी चूत सूजी हुई थी. पूरी योनि एकदम सफाचट थी पाव रोटी की तरह फूली हुई जैसे अनचुदी लड़कियों की होती है.

नैना- आनन्द जी, आप क्या कहीं जा रहे हैं?मन ही मन कहीं ना कहीं नैना आनन्द के जाने से खुश थी.

मैं उम्मीद करता हूँ कि जैसे आपने मेरी पिछली कहानीमेरी बीवी दूसरी बार अपने यार से कैसे चुदीको प्यार दिया था, उतना ही प्यार आप मेरी इस कहानी को देंगे. तुम्हारा पहली बार है … तो थोड़ा दर्द भी होगा, पर यह ठीक भी तुरंत हो जाएगा. ऐसे ही बात करते करते अचानक से लव बोला- सेक्स करोगी?मैंने पूछा- ये क्या होता है?वो बोला- ये जो भी होता है, बहुत मजेदार होता है … तुम्हें मजा आ जाएगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो जंगल में शाम को जब मैं घर आया तो मीना अपने घर पर वीडियो कॉल पर बात कर रही थी. वो मादक आवाजें निकालती रही जिससे माहौल ज्यादा ही रोमांचक लग रहा था.

इसलिए मैंने सोचा क्यों न आपके साथ थोड़ी बातें करके थोड़ा आपका मूड अच्छा कर दिया जाए. मैं जोश में आ गया और अपने लंड की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से गपागप गपागप अंदर बाहर करने लगा।अब मैंने चाची को घोड़ी बना दिया और उसकी गान्ड में और लंड में थूक लगाया और गांड़ के सुराख को उंगली से खोल दिया।मैंने लंड को चाची की गांड के छेद पर रख कर झटका लगाया. बात आगे कैसे बढ़ी?दोस्तो, यह मेरी पहली स्टोरी है, शायद आपको अच्छी लगे.

हद सेक्सी पोर्न

मैंने भी लंड पेलते हुए कहने लगा- हां अम्मी, मुझसे आपका दुःख देखा नहीं जाता था. मैंने कहा- सॉरी यार … अब तक तो मैंने तेरी चुत का भोसड़ा बना दिया होता. जब मैं उनके पास गया तो उन्होंने कहना शुरू कर दिया- तूने ये रात शराब के नशे में मुझसे क्या करवा दिया.

तभी बुआ बोलीं- राज मुझे आज तुमसे एक काम है, बोलो करोगे?मैंने कहा- हां बोलो न … क्या करना है?बुआ बोलीं- मेरी एक सहेली है उसे तुमसे दिल्ली के एक ऑफिस में कुछ काम करवाना है. मैंने उनके बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि वो यू पी के एक गांव से हैं और अभी करीब एक साल पहले वो अपने पति के साथ दिल्ली शिफ्ट हुई हैं.

दोस्तो, मेरा नाम परम सिंह है और मेरा कद 5 फुट 6 इंच है, रंग गोरा है और मैं अच्छी सूरत का धनी हूँ.

वो बोली- खुद से खड़े होने में तो दिक्कत हो रही है, मालिश कैसे करूंगी!मैंने कहा- किसी से करवा लेना. आह क्या गजब की चूचियां थीं भाभी की!मैंने दोनों मम्मों को भरपूर नजरों से देखा, फिर एक चूची को अपने मुँह में लेकर पीने लगा. वो- तुमको गुस्सा नहीं आया?मैं- नहीं, जल्दी करो नहीं तो वह लोग आ जाएंगे.

X फॅमिली की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक घर में कुक का काम करता था. नीता बिलकुल उसके साथ उसके कंधे पर हाथ रख कर खड़ी अपने पति को दूसरी औरत को चोदते हुए देख रह थी. इसमें कहानी में आप पढ़ेंगे कि मेरी विधवा मम्मी का पुनर्विवाह उनसे उम्र में 5 साल छोटे मेरे चाचा के साथ हो जाता है.

उसके बाद जो मैंने उसको अलग अलग पोज में उसकी बजाई, तो वो आह आह कर उठी.

ब्लू फिल्म एचडी में बीएफ: मैंने उसकी गर्दन के बाद गाल को, होंठों को चूमा और उसकी एक चूची पर अपना मुँह रख दिया. कई बार तो वो मुझे अपने ऑफिस में बुला कर भी मेरी चुदाई कर दिया करते थे.

हम काफी देर तक चुदाई करते रहे और झड़ने के बाद जब मैं मोनिका के ऊपर लेट गया तब कोमल दीदी ने आवाज दी. अब्दुल हंस कर बोला- साली ये लंड है … आज तेरी चुत और गांड में घुस कर तहलका मचाएगा. इसलिए मैं दीप्ति के दर्द को अनसुना करके उसकी चूत में लंड पेले जा रहा था.

कैसे अपने नाम जैसी कोमल और सुंदर कोमल दीदी ने मुझे सेक्स करना सिखाया और अपनी चूत के साथ साथ दो और चूत को चोदने का मौका दिया.

फिर मैंने उसे ऊपर का कमरा दिखा दिया।अब अजय हमारे साथ हमारे घर में रहने लगा. रूम में जाते ही मेम में कहा- आमिर तुम मेरी मदद करोगे?मैंने कहा- आप बताओ न!मैडम ने कहा- मैं बहुत अकेली महसूस करती हूँ. मेरे मन में कुछ करने का विचार आया और मैंने उसकी चूचियों पर हाथ रख दिया.