बीएफ किया

छवि स्रोत,तिरंगा फिल्म दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

परिवार सेक्स वीडियो: बीएफ किया, रसखलन होने से पहले तक हम दोनों ही इसी अवस्था में एक-दूसरे को चोद रहे थे.

करीना की सेक्सी

वो जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … ओह्ह … याह्ह … ईई … ऊईई … करते हुए वो पागल सी हो गयी. मियां खलीफा वीडियोये मेरा आजमाया हुआ नुस्खा है, मैंने बहुत सी कुंवारी चूत और गांड मारने के बाद उनको यह सब दिया था, तो उनको बिल्कुल भी दर्द नहीं हुआ.

कुछ देर बाद ड्राइवर बोला- आप लोग उठ जाइए … चाय वगैरह ले लीजिए या जिसको कुछ खाना हो खा ले. દેશી ગુજરાતીअब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा को दोस्ती और प्रेम के बीच का अर्थ समझा रहा था.

मैंने उस लड़के के साथ कैसे मजे लिये?हैलो फ्रेंड्स, मैं सिमरन फिर से आ गयी हूं अपनी एक और गंदी सेक्स कहानी लेकर। अगर आप लोगों ने मेरी पिछली कहानियां नहीं पढ़ी हैं तो मैं बता दूं कि मैं एक इंडियन गर्ल हूं.बीएफ किया: अब हमारे पास एक पूरा दिन बच गया था वहां पर घूमने फिरने और मस्ती करने के लिए.

[emailprotected]लड़की की गांड की कहानी का अगला भाग:महिला मित्र की कुंवारी गांड मारी- 2.इतने में मैं गर्म दूध में हल्दी डालकर तैयार कर लाया और साथ में पेन किलर दवाई भी प्लेट में रख दी.

पाकिस्तानी सुहागरात - बीएफ किया

हमने अगले महीने की तारीख फिक्स की और सारा प्रोग्राम मेरे ही दोस्त के होटल में फिक्स किया गया, जिससे उनकी प्राइवेसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचे और सब आराम से हो जाए.प्रियंका बोली- अरे आप देखते जाओ … अभी तो आपके मोटे लम्बे लंड को बहुत सी चूत के दर्शन करने हैं.

दूसरे शब्दों में कहें तो वो उत्तेजना में घिरी हुई डर रही थी कि कहीं किसी भी वजह से खड़े लंड की जगह गर्म चूत पर धोखा तो नहीं हो जाएगा. बीएफ किया ये वाली किस उस पार्क में की गयी किस से कहीं ज्यादा लम्बी थी।फिर जब हम हांफने लगे तो दोनों अलग हुए।मैंने मीनू के कपड़े उतारने शुरू कर दिये.

इतना सुनते ही वो खुश होकर बोली- क्या सच में?मैंने कहा- बिल्कुल सच … डॉक्टर ने अनुमति दे दी है कि जब तक इच्छा हो, तब तक आप यहां रुक सकते हैं.

बीएफ किया?

इस बार उनका कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला तो मैंने फिर से चूचे को उंगलियों से दबाया मगर इस बार मैंने उंगलियां उनके चूचे पर ही रहने दीं।अब थोड़ी देर मैं उँगलियों से ये हरकत करता रहा. उसकी बातों से मुझे पता चला कि उसका पति उसे ज्यादा भाव नहीं देता है … खाली दिखावा करता है. वो मेरे ऊपर आकर मेरे कान में बोलीं- आज से पहले मैं ऐसी कभी नहीं चुदी … तू सच में बहुत मस्त मर्द है.

उसकी मादक आह निकलने लगी और वो मेरा सर दबा कर अपने दूध चुसवाने का मजा लेने लगी. ये सब बात करते हुए भाभी से अंजान से बात करने वाला डर और झिझक खत्म हो गई थी. ये सब कह कर प्रियंका मेरे होंठों को चूसने लगी और मेरे साबुन लगे लंड को अपने हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगी.

मैंने फिर पूछा- क्या तुम रोहन की दोस्ती से खुश हो? क्या रोहन तुम्हें वह सब कुछ दे पाता है जो तुम्हें चाहिए … मुझे नहीं लगता कि वह तुम जैसी हसीन और जवान लड़की को संभाल पाता होगा?बिन्नी बार बार मेरी तरफ नजरें उठा उठा कर देखती रही और मेरी बातें सुनती रही. जैसे ही मैंने प्रियंका की गांड में उंगली की, उसने मीठी सिसकारी भरते हुए अपनी चूत उठा दी और मेरा सर पकड़ कर अपनी चुत में घुसेड़ना चाहा. इससे पहले मोहित कुछ बोलता सामने से आती हुयी संध्या बोली- बिल्कुल बहन जी जैसी.

फिर रवि ने पिंकी से पूछा- क्या अनिल ने तुम्हारे मम्मे पिक्चर हॉल में दबाए थे?पिंकी बोली कि वो कोशिश तो कर रहा था … पर मैंने लिफ्ट नहीं दी. जैसे-जैसे चूत पर से बाल हट रहे थे, पाव रोटी की तरह फूली हुयी गुलाबी चूत मेरी नजरों के सामने आती जा रही थी.

आदमी- अगर मैं आपको सस्ते में दिला दूं तो!मैं- ये तो बहुत अच्छी बात होगी.

अब जब मुझे चूत की सख्त जरूरत थी तो सोचा कि क्यों न मौसी की लड़की की चूत चुदाई करने की कोशिश करूं.

अगले दस मिनट बाद न्यासा का मेल आते ही मैंने उसको वीडियो कॉल पर आने को कहा. वो- तुम फिर शुरू हो गए!मैं- क्या करूं तुम्हें देखते ही बस तारीफ करने का दिल करता है. मेरा खुद का एक सेक्स क्लब है, जिसमें मैं ओर मेरा दोस्त सन्नी सेक्स सर्विस देते हैं.

फिर कुछ देर के बाद दर्द कम हो गया और उनका लंड मेरी चूत में जो घर्षण कर रहा था, उससे मुझे मजा आने लगा. ”नीरव के मुंह से एक शब्द नहीं निकल रहा था और वो शर्म से गर्दन झुकाए खड़ा था. उसका मेरे नितम्बों को दबाना मुझे अत्यधिक उत्तेजित कर रहा था।मुझसे और सहा नहीं गया और मैंने दोबारा उसे चूमना शुरु कर दिया।उसने भी मेरा फिर से पूरा साथ दिया और जीभ को मेरी जीभ से मिला दिया।किस करते हुए ही मैंने अपना हाथ उसके सीने पर रखा और उसकी शर्ट के बटन खोलने लगी। सारे बटन खोलने के बाद मैंने उसकी शर्ट को नीचे उतार फेंका।अब वो ऊपर से नंगा हो गया। उसकी छाती काफी आकर्षित करने वाली थी.

उसने अपने पैर डेजी की गोद में रख लिए और बोली- ये जो भी सीन हो रहा है ये केवल हम तीनों के बीच में ही रहे तो ठीक है.

मैंने बिन्नी को सीधा किया और 69 की पोजीशन में आ कर उसकी चूत को चाटने लगा. फिर उसने भी अपना माल मेरी चूत के मुँह पर छोड़ दिया और हम दोनों कुछ देर तक वैसे ही नंगे लेटे रहे. वो ऐसे लंड चूस रही थी मानो उसे जन्नत की कुल्फी चूसने को मिल गयी हो.

दूसरी बार उसने मुझे बहुत देर तक अलग अलग पोजीशन में चोदा।शाम को मां पापा के आने से पहले तक उसने मुझे तीन बार चोदा और मेरी चूत सूज गयी पूरी. उसकी चूत गीली हो जाने की वजह से अब साली ठप ठप ठप की आवाज़ भी आने लगी थी. मैंने कहा- हाँ हाँ … अभी हंस लो … मगर नीचे वाले मोटे औजार ने आपको रुला न दिया तो मेरा भी नाम सैम नहीं.

ऐसा लग रहा था मानो किसी ने मेरे गर्मी से झुलसते जिस्म पर बर्फ की धार बौछार कर दी हो.

मां की इस बात पर मुझे शक हुआ और मैंने उनसे पूछा- इसका क्या मतलब हुआ मां … क्या आप पहले भी किसी और से चुद चुकी हैं. फिर अपने हाथ को आगे नौशीन के पेट पर लाकर उसे हल्का सा पीछे खींचकर उसके शरीर को मेरे शरीर से बिल्कुल चिपका लिया।मैट्रो में भीड़ होने के कारण लोगों का ध्यान हम पर नहीं था.

बीएफ किया जब उन्होंने मुझसे चोदने के लिए कहा, तो मैंने तुरंत उनकी नाइटी निकाल कर फेंक दी. कुछ देर उसके मोम्मे चूसने के बाद, मैंने उसका शॉर्ट भी उतार दिया और उसे पूरी नंगी कर दिया.

बीएफ किया चुदने के बाद कौन सी औरत की आग कम होती है … उल्टा तूने मुझे मेरे कॉलेज के दिन याद करवा दिए. इस बार उसने मेरे मम्मों पर अपने हाथ चलाना शुरू किया और साथ ही मेरी सहेली (मेरी चूत) पर भी अपनी उंगलियां चला रहा था.

उनको होंठ अभी भी मेरे होंठों से हटे नहीं थे और मैं उनके साथ बेड की ओर धकी चली जा रही थी.

बीएफ अंग्रेजी बीएफ बीएफ

हेतल ने मुझे गले लगा लिया और मुझे किस करके बोली- ओह्ह … अरमान कितना अच्छा हुआ कि तुम यहां आ गये. मैं उनकी इस बात से हंस पड़ा और भाभी भी मुक्त हंसी हंसते हुए खिलखिला दीं. तुम बताओ हिना, पहले कैसे पसंद करोगी?एक एक करके! कहते वक्त वह कुछ शर्मा सी गयी थी।तुम लोग साईड में हो बे.

वो बोला- सॉरी मैम! अंदर आने से पहले मुझे दरवाजा नॉक कर लेना चाहिए था. कई बार वो मुझसे कहा करती थी कि उसको भी एक अच्छे हैंडसम लड़के को बॉयफ्रेंड बनाना है. जितना दर्द होना था … वो बस हो गया, अब थोड़ी देर रूको … सब ठीक हो जाएगा.

मगर मेरे पति नीरव इस मामले बिल्कुल फुद्दू थे, उनको जरा भी ज्ञान नहीं था कि औरत को क्या चाहिए होता है और उसको कैसे खुश रखा जाता है.

लेकिन मैंने साफ मना कर दिया था कि अब तो सीधा पंकज ही चोदेगा तुम्हें पहले. जब उन्होंने देखा कि मैंने उनका मजाक नहीं उड़ाया और औरों को उनके किस्से नहीं बताए, तो वे पूरी तरह से खुल गए. सफ़ेद शर्ट और काली पैंट में भरे भरे कूल्हे और आगे मर्द की पहचान वाला उठा हुआ उभार.

उसने मेरे कंधे से होते हुए गर्दन और फिर मेरे कानों को चूमा और उन्हें चूसने लगा. उसके कपड़ों से लग रहा था जैसे जॉब से लौट रही हो।उसकी सफेद शर्ट और ब्लैक पैंट में से उसका सुडौल बदन कपड़े फाड़कर बाहर आने को हो रहा था। उसकी शर्ट 36 साईज के बूब्स पर ऐसे कसी हुई थी कि उनके बीच से हवा भी पास न हो सके. बल्कि उनके एक‌ दोस्त के रिश्तेदार के घर मुझे एक कमरा किराये पर दिलवा दिया.

कुछ देर के बाद उसने मेरे बालों को रिहा करके मुझे गिरते हुए पानी मैं अपना लौड़ा चूसने दिया. सारा सारा दिन मैं भाभी के कमरे में उनके साथ लूडो ओर कैरम खेलता रहता जिससे घर वालों को भी कोई ऐतराज नहीं था.

अभी मैं ये सब सोच ही रही थी कि उसने फिर मुझसे बोला- हैलो मैडम … कहां खो गईं … चलो ना!ये बोल कर वो ज़िद करने लगा. मैंने भाभी की ओर तिरछी नजर से देखा तो वह मेरे ही मोबाइल में देख रही थी. जैसे जैसे मैं उसके लंड को चूस रही थी वो मेरी चूत को और जोर से चाटने लगता था.

आज से करीब दो साल पहले जब मैं डॉक्टर की परीक्षा के लिए जयपुर में रह कर तैयारी कर रहा था, तो मेरी एक लड़की से बात होने लगी.

इस पर राजू चाचा ने अपना लंड मसलते हुए कहा कि संध्या डार्लिंग मेरा कुछ चक्कर चलाओ ना … जिससे मैं भाभी को पेल सकूं. बगल में ही मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा और मैंने मीनू को अपने कंधे से सटा रखा था. मैं इन्तजार कर रहा था मीना चाची का!दोपहर को जैसे ही वो आयी, मैं झट से कमरे से बाहर निकला.

मैंने कहा- क्या करते हैं कपल?वो बोली- सेक्स भी करते हैं और भी काफी कुछ करते हैं. मैंने लंड से चुदाई की की रफ्तार बढ़ा दी और टाइट चूत के अंदर-बाहर करने लगा.

बीच बीच में वो मेरी चुत को अपने दांतों से काट लेता था, जिससे मैं एकदम से चिहुंक उठती और बोल देती- आह क्या कर रहा है बहनचोद … काट मत कमीने सिर्फ चाट. मैं मेरी बहन की गांड देख उत्तेजित हो जाता था, उसकी काल्पनिक चुदाई कर देता था. राजू चाचा ने संध्या चाची को सीधा किया और उनके ऊपर चढ़ कर अपना लंड चूत पर लगा दिया.

लड़की देसी बीएफ

मैं उसके पैर फैला कर बीच में बैठ गया और अपने छह इंच के सीधे खड़े लंड को उसकी चूत के मुँह पर रगड़ने लगा.

उसे बड़ा लंड खाना था तो मैंने अपने बड़े लंड वाले दोस्त को अपने घर बुलाया. उसकी चूत में एक उंगली देकर मैंने तेजी से अंदर बाहर करनी शुरू कर दी।वो मेरे कपड़े खींचने लगी. अब वो गांड चलाने लगी और झटकों का जबाव देने लगी। मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुसकर बाहर आ रहा था.

अगर आने भी लगी तो मैं एकदम से चादर ओढ़कर लेट जाऊंगा और तू टीशर्ट नीचे कर लियो. मगर शायरा की चुदाई मैं दिल से कर रहा था इसलिए आखिरी धक्के भी मैं बड़े ही प्यार के साथ धीरे धीरे ही मार रहा था. सेक्सी स्प्रेनंगी लड़की की सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मैंने मेरे साथ आयी लड़की को नंगी करके अपने दोनों दोस्तों को अंदर बुला लिया.

मैं भी बिल्कुल खो गई थी और सनी का सर पकड़कर अपनी चुत में दबा रही थी. उसके बाद मैं उसको होंठों पर एक किस करके उठ गई और फ्रेश होकर मैंने मानसी को जगाया.

मैंने राजेश को मात्र इतना ही कहा कि इस कॉटेज वार्ड में एक आदमी ऐसा रखना कि मेरा कोई काम हो, तो वो बिना सवाल जबाव के पूरा कर दे. वो- इसका ग़लत मतलब तो नहीं है ना?मैं- नहीं, अगर हमें ग़लती करनी हो तो एक दूसरे से सहमति से करेंगे. हम बार में कोने में बैठे थे, वहां रोशनी बहुत कम मात्रा में आ रही थी.

तो उन्होंने बताया कि उन्हें एक बार बहुत ही वाइल्ड सेक्स करने का मन है, जिसमें कोई मजबूत मर्द उन्हें एकदम रगड़ कर चोदे और उनकी हर इच्छा को पूरी कर दे. करीब 30-28-32 साइज़ का होगा। मुझे उसकी गांड बहुत ज्यादा पसंद आयी थी।एक दिन मुझे किरण का फोन आया और वो मुझे बताने लगी कि सर्दी लगने के कारण उसकी तबियत खराब हो गयी है और वो डॉक्टर के पास जाना चाहती है. आपको ये सेक्स विथ कॉलेज गर्लफ्रेंड कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपनी राय जरूर नीचे कमेंट्स बॉक्स में छोड़ें.

उससे शायद ही कोई ऐसा शहर बाकी बचा हो, जहां वो गया हो … और वहां के रेड लाईट एरिया में जाकर किसी रंडी को नहीं चोदा हो.

वैसे तो शायरा किसी को अपने घर नहीं बुलाती थी … लेकिन मेरे लिए अब कोई रोक-टोक नहीं थी. आगे क्या हुआ, इसको मैं अपनी इस वासना स्टोरी इन हिंदी के अगले भाग में लिखूंगी.

मैंने कहा- हां, यही लिखा है, तुम नहीं खुला रखोगे क्या?वो बोला- यार … ये कैसी बातें कर रही है, मैं रख तो लूंगा लेकिन किसी ने देख लिया तो?मैं बोली- तुम्हारे ऊपर कोई बात नहीं आयेगी. मैंने कई मिनट तक उसकी चूत चाटी और फिर उसके ऊपर आकर अपने शॉर्ट्स नीचे कर लिये. हमारी चुदाई की आवाजें और संजू की कामुक सीत्कार भरी ध्वनियां विक्रम को साफ़ सुनाई दे रही थीं.

उसके बालों का बार बार उसके चेहरे पर आना और एक हाथ से उसका उन्हें संवारना. कुछ ही देर के बाद मेरे पति अपनी क्रिकेट किट के साथ रूम में दाखिल हुए. मैं उसकी बात से संतुष्ट हो गया था कि जैल का बेजा इस्तेमाल तो मैं करने जा रहा था.

बीएफ किया मैं बिन्नी के पीछे हाथ ले जाकर उसके चूतड़ों को सहलाता और भींचता रहा. ऐसा लग रहा था कि जैसे लंड की जगह वो पंकज के सिर को ही अपनी भूखी रसीली और बुरी तरह पनियाई हुई चूत में घुसा लेगी।थोड़ी देर में ही जब पंकज छटपटाने लगा, तब जाकर उसने उसके सिर से अपनी जाँघे हटाईं.

बुजुर्गों की बीएफ

उसने धीरे से मेरे पैरों को छुआ और फिर जब मेरी कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो वो धीरे धीरे मेरे पूरे शरीर को सहलाने लगा. इस बीच वो मुझसे वीडियो कॉल करते टाइम सेक्सी आवाजें निकाल कर लगभग अपना पूरा नंगा जिस्म दिखाती रही. प्रियंका उसे सब बताने लगी कि जीजू आयशा के ब्वॉयफ्रेंड हैं … और उन्होंने मुझको और आयशा को साथ में ही चोदा था.

अनु मुस्करा हाथ से सीने पर ठोकते हुए बोली- इसको कहते है चुदाई करने वाला मर्द … मौसी. मैंने अपनी एक उंगली भाभी की चूत में डाली और जीभ घुमा घुमाकर उसे चूसता रहा. गणपती व्हिडिओ डाऊनलोडमैं महिला मित्रों को कुछ और भी बता दूं कि ये क्लब हम केवल सेक्स के मज़े और नए माल को चोदने के लिए चलाते हैं.

अब मुझे दूसरी तरफ पलट दिया और मेरी गर्दन और पीठ को चूमता हुआ मेरे चूतड़ों को चूमने लगा.

मेरी पिछली सेक्स कहानीबहू के तन की प्यास का इलाजके लिए आप लोगों ने मुझे बहुत ही खूबसूरत-खूबसूरत मेल किए, जिसके लिए मैं आप सभी को धन्यवाद करता हूं. वैसे भी मैंने उसके सभी अंगों को चूस चाटकर उसे पूरी तरह से चुदासी कर दिया था.

भाभी मुझसे काफी घुल गई थी और मुझसे आज अपने करीबी जैसा व्यवहार कर रही थी. रात को चुदाई करते समय मैंने दीपा को भड़काया भी कि क्यों न हम कोई दोस्त और उसकी बीवी के साथ सेक्स करें. लग रहा था कि लंड उसके कच्छे को फाड़कर ही बाहर निकल आयेगा और मेरी जांघ में छेद कर देगा.

प्रिया ने दोनों से आइसक्रीम शेयर की तो फिर तो मनीषा ने भी अजय की आइसक्रीम से खा लिया.

मैं- दोस्त तो होते ही है सर खाने को!वो- तुमसे दोस्ती किए दो दिन नहीं हुए हैं और तुम तो ऐसे बात कर रहे हो, जैसे की मुझे सालों से जानते हो. मैं- पर कहां?वो- कहीं भी … या फिर तुम्हारी उस दोस्त को गिफ्ट कर देना. अब मैं उसकी चूचियां मसल रहा था बीच बीच में उसकी चुत में उंगली कर रहा था.

जेन यूट्यूब डाउनलोडरमैंने उसे ध्यान से देखा, उसने एक लाईट पिंक कलर की साड़ी पहनी हुई थी. जब उसने डिल्डो से मुंह हटाया तो वो उसकी लार में पूरा सन कर चमक उठा था.

साड़ी वाली बीएफ दिखाइए

मैं कैसे उसके करीब हुआ और उसको पटाकर कैसे उसकी चूत मारी?कैसे हो दोस्तो? मेरा नाम सैम (समीर शेख) है।मैं गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 22 साल, कद 6 फीट और लंड का साइज़ 7. मैं नीरू से बोला- जानम, तुम दर्द की चिंता छोड़ दो … मैं बहुत आराम से तुम्हारी गांड को चिकनी करके मारूँगा. मेरी मां का मन नौकरानी की ओर से खट्टा हो गया और उसने उस दिन के बाद से उस जवान नौकरानी की चूत की चिंता छोड़ दी.

शायद उसका हज़्बेंड नामर्द हो, तभी तो उसको इतना सा लंड अन्दर जाने से ही दर्द हो रहा था. ये मेरा आजमाया हुआ नुस्खा है, मैंने बहुत सी कुंवारी चूत और गांड मारने के बाद उनको यह सब दिया था, तो उनको बिल्कुल भी दर्द नहीं हुआ. सुबह जो मैं घर से लाल लिपिस्टिक लायी थी, उससे पहले मैंने अपने होंठ खूब लाल कर लिए, इसके बाद मैंने अपनी स्कर्ट और ऊपर चढ़ा कर बांध लिया और अभिषेक के आने का इंतज़ार करने लगी.

उसका लंड जो कि सात इंच का था और अपना फन फैलाए खड़ा, मेरी चूत को डंसने के लिए रेडी था. उधर चाचा जी भी अब झड़ने को हो गए और बोले- आहह … आहह … सुहानी मैं गया … आह … आहह. वो भी मेरा साथ देने लगी और मैं उसकी चूचियों को जोर जोर से दबाता रहा.

मैंने उनका चुम्बन लिया- नहीं असलम भाई … आपने सलीम भाई की याद दिला दी. प्याज काटने से मेरी आंखों में अब आंसू आ रहे थे इसलिए मेरी हालत खराब हो रही थी.

’डॉक्टर की बात से मैं संतुष्ट होकर वापिस घर आ गयी और शीशे के सामने खड़े होकर डॉक्टर के एक-एक स्पर्श का अनुभव करने लगी.

मैंने पूछा- क्यों मौसा का कितना बड़ा है?वो हंस कर बोलीं- तेरे मौसा का लंड तेरे लंड से तो काफी छोटा है. चोदा चोदी सॉन्गअब मैंने सोच लिया था कि इसकी इसी चोरी का फायदा उठाकर मैं इसको बाथरूम में चोदूंगा. चोदी चोदा हिंदी मेंलेकिन रोहिणी, निशि और मुझे दारू की जरूरत ज्यादा पड़ने वाली थी, तो हमने एक एक पैग और लगा लिया. अब मैंने उसे अपने लंड पर बैठने के लिए बोला, लेकिन जैसे ही उसने मेरे लंड को अपनी चूत में डालने की कोशिश की, तो लंड चुत के अन्दर ही नहीं गया.

उसके ऐसा बोलने पर मैं उसके पास आ गया और उसके हाथ और जांघें सहलाने लगा.

वो- तुम दूसरों जैसे क्यों नहीं हो?मैं- दूसरों के जैसा होता, तो मैं तुम्हें इतना प्यार नहीं करता. दोस्तो उस टाइम जो खुशी मिल रही थी उसे मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता कुछ ही देर बाद ट्विंकल का शरीर अकड़ गया और मैं बड़ी कामुक सीत्कार करते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गई. हम तीनों ने उसके गर्म गोश्त का मजा कैसे लिया?मेरी नंगी लड़की की सेक्सी कहानी के पिछले भागमज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 3में आपने पढ़ा कि मैं मेरे साथ सिर्फ सेक्स के मकसद से आयी एक बुर्कानशीं लड़की को नंगी कर चुका था.

हम दोनों दस मिनट तक यूं ही एक दूसरे से नंगे ही चिपक कर चूमाचाटी करते रहे. तुमने जो एक बार किया, वो बार बार भी कर सकते थे और मैं तुम्हें रोक भी नहीं पाती. तीसरे दिन हिम्मत करके मैं शीतल की मम्मी के सामने गया … तो उन्होंने मेरे साथ ऐसे सामान्य व्यवहार किया मानो कुछ हुआ ही ना हो.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी 2021

साथ ही एक हाथ ऊपर ले जाकर उसके दोनों निप्पलों को बारी बारी से मसलने लगी. उसकी नजर एक बार मेरी चूचियों पर जाती तो फिर एक बार मेरे चेहरे पर।उसके कच्छे में मुझे उसका लंड तनाव में आता हुआ दिखने लगा था. मैंने होंठ आगे किए, तो मौसी ने प्रत्युत्तर में होंठों को अपने मुँह में लेकर जीभ से जीभ मिला कर चूसना शुरू कर दिया.

भाभी के मस्त गोल गोल चूतड़ों में मैं अपना लन्ड रगड़ने लगा और उनकी चूचियों को दबाने लगा.

मेरी पिछली सेक्स कहानीबहू के तन की प्यास का इलाजके लिए आप लोगों ने मुझे बहुत ही खूबसूरत-खूबसूरत मेल किए, जिसके लिए मैं आप सभी को धन्यवाद करता हूं.

उसने मेरी टांगें खुलवा दी थी और वो उनके बीच में था जिससे उसका लंड मेरी चूत पर नीचे ही नीचे टकरा रहा था. मैंने तो बहुत बार चूत चोदी थी लेकिन उसने अभी तक किसी के साथ सेक्स नहीं किया था. गणपति आरती मराठी डाउनलोडचौथे दिन मामा बोले- मेरे लिए खाना लेते आ घर से … और तू वहीं खा लेना.

वापस आते आते हम सभी को रात हो गयी थी और मुझे काफी थकान भी हो गयी थी. वो जोर-जोर से बोलने लगी- अहा भाई चोदो मुझे … आह फाड़ दो मेरी बुर को … हां भाई बहुत मजा आ रहा है … ऐसे ही करते रहो. मैं- वैसे क्या मैं जान सकता हूँ कि तुमने इतनी जल्दी इरादा कैसे बदल दिया?वो- तुम कितने सच्चे हो ये समझ गयी.

मैं स्कूटी लेकर झट से बाजार आ गया और एक मेडीकल स्टोर से सैनेटरी पैड के एक साथ ही दस पैकेट खरीद लिए. मैंने मौका देखा और हाथ पर थूक लेकर लंड के टोपा पर लगा कर मौसी की गांड में सटा दिया.

हेतल बोली- अन्नू, ये जब तक यहां है, इसको हमारे साथ ही चुदाई करने दे प्लीज!अन्नू बोली- हां, क्यों नहीं, जरूर.

ये बस उतनी ही बड़ी हैं कि कोई मेरे होंठों को चूमना भी चाहे, तो उसे अपने मुँह में मेरे बाल महसूस न हों. मैंने जैसे ही अपनी समीज को पहने के लिए उठाई, तो उसने मुझे पहनने के लिए मना किया और बोला कि अब आप अपनी पजामी और पैन्टी को उतारकर सामने की दीवार पर पीठ को मेरी तरफ करके खड़ी हो जाएं. भाभी भी पता नहीं क्यों काफी खुश थीं, वो मेरी तरफ देख देख कर स्माइल कर रही थीं, शायद उनको मेरा खड़ा होता लंड दिख गया होगा.

रिकॉर्डर फटाफट वहीं पर फोटोग्राफर और क्रिएटिव डायरेक्टर भी उसका इंतजार करते करते परेशान हो चुके थे कि कब वो आए और शूटिंग शुरू हो. मैंने प्यार से उसके नीचे के होंठ को अपने होंठों में दबा लिया और चूसने लगा.

उनके चेहरे के हावभाव से साफ़ लग रहा था कि वो मुझे जी भरके मारना चाहती हैं. लेकिन मैं हैरान तो यह सोचकर हूँ कि सलोनी इण्टरमीडिएट में है, मैं समझता था कि कक्षा हाई स्कूल में होगी, कितने साल की है, सलोनी?दो महीने पहले ही उसका जन्मदिन था, 18 साल से अधिक की हो गई है. उसको चुप देख … और बात आगे बढ़ती न देखकर … मैंने बिन्नी से कहा- तुम्हें किसी स्ट्रॉन्ग लड़के से फ़्रेण्डशिप करनी चाहिए थी जो तुम्हारी जवानी की जरूरतों को पूरा करता?बिन्नी चुपचाप मेरी ओर देखती रही.

एक्ससी बीएफ

मैं बोला- क्या तुम्हारे एथलिटिक फिगर का राज यही है? या फिर तुम जिम में जाकर भी लौड़े खड़े कर देती हो?रोजी- हां, जब मैं जिम में वर्क आउट करती हूं तो जवान लड़के मेरी तरफ लार टपकाते रहते हैं. मैं चिल्लाई- उठा उसे रंडी की औलाद!अपने कांपते हाथों से उसने फिर वो पैंटी उठाई. मैं बोला- देख यार … अगर तू ऐसे ही बुझे मन से करेगी तो कुछ मजा नहीं आयेगा.

मैंने दरवाजा नॉक किया, तो दरवाजा खुला हुआ थामैंने आश्चर्य के साथ अन्दर प्रवेश किया, तो पूरा कमरा भीनी भीनी खुशबू से महक रहा था. मैं- फिर तो मुझे खुशी है कि मैं आपके साथ यह सेक्स चैट सेशन कर रहा हूं।जब मैं शनाया से बात कर रहा था तब मैं भी साथ-साथ लंड की मुठ मार रहा था.

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा की चुत चोद रहा था और कुछ सोच भी रहा था.

मैं जब भी अपने सुहागरात वाले किस्से को याद करती हूं तो मेरा रोम-रोम आनंदित होता है और मैं चाहती हूं कि मेरी हर रात उसी रात जैसी हो।हर लड़की का सपना ऐसा ही होता है कि उसको उसके पति से ऐसा ही प्यार मिले।तो दोस्तो, अब आपको मैं अपनी सुहागरात में लिये चलती हूं. मैंने उसे दूध देखते हुए कहा- हां अब तो स्पीड वाले आइटम चलाने का समय है. अरे बातों बातों में मैं तो भूल ही गया, मैं तुम्हारे लिए ये उस दिन वाली टेबलेट भी लाया था.

मैंने उसके होंठों को होंठों से कस कर पकड़ कर लंड को जोर से धक्का दे दिया. मैंने कहा- वह तो तुम्हारे ऊपर डिपेंड करता है … अगर तुम खुलकर साथ दोगी और एक दूसरे को समझने में थोड़ा टाइम लगाओगी … तो मजा भी खूब आएगा. शायरा के गाल पर मैं थप्पड़ कैसे मार सकता था, मगर फिर भी मजाक के लिए मैंने अपना एक हाथ उठा लिया, जिससे डर के मारे उसने अपनी आंखें बंद कर लीं.

धोखा कैसे दे दूं!प्रियंका- अरे चुदक्कड़ चूत लंड किसका है … ये नहीं देखती, बस उसको प्यास बुझाने के लिए एक मस्त लंड चाहिए होता है … और फिर क्या जीजू आयशा के साथ रिलेशन में नहीं हैं.

बीएफ किया: खड़े खड़े मैंने बिन्नी को उसकी गर्दन और पीछे से गालों पर किस किये तो बिन्नी एकदम मेरी बांहों में कटे पेड़ की तरह समा गई. मैंने उस विज्ञापन पर क्लिक किया तो मैं सीधा शनाया की प्रोफाइल पर पहुंच गया जोदिल्ली सेक्स चैट की वेबसाइटपर बनी हुई थी.

वापस आते आते हम सभी को रात हो गयी थी और मुझे काफी थकान भी हो गयी थी. मैं धीरे से उसके पास गया औऱ उसके मुँह पर हाथ रख कर उसे जगाया ताकि वो अचानक से किसी अजनबी को देख कर चिल्ला न दे. दूसरे ही पल उस कार वाली घटना को सोचकर अपने आप को शांत करने की कोशिश करता.

पूरा छह फीट दो इंच लंबा-चौड़ा, काफी हैंडसम, ब्लैक जींस और हाफ टी-शर्ट में था.

[emailprotected][emailprotected]हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:सेक्सी हॉट माल दिखने के चक्कर में चुत चुदवा ली- 3. मैं तो उसके घर से आ गया मगर मेरे जाने के बाद भी शायरा सोचती रह गयी. चुप करो … और ये प्यार-व्यार सिर्फ फिल्मों में होता है … या रोमांस की उपन्यासों में और पहले ही आपको बता दूं जनाब कि मुझे प्यार नाम के शब्द से ही नफरत है.