सपना भाभी का बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो xxxxxxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

सिंगारदानी डिजाइन: सपना भाभी का बीएफ, हम दोनों रोज मिलते थे, हंसी मजाक करते और आपस की कुछ बातें एक दूसरे से साझा कर लेते थे.

मारवाड़ी लुगाया की सेक्सी वीडियो

पीछे से सुनील भी उससे चिपटा तो दीपा ने अपना एक हाथ पीछे करके सुनील का लंड पकड़ लिया. एक्स वीडियो पंजाबी सेक्सी वीडियोमैं- सर मुझे बाथरूम में ले जाकर ही लंड बाहर निकालना, नहीं तो पूरा बाहर गिरेगा और मुझे साफ करना पड़ेगा.

मेरे फ्रेंड ने मुझे रूम की चाभी दी और मेरे कान में बोला कि कुछ खाने और पीने का सामान मैंने अन्दर रख दिया है … साथ में कंडोम भी अन्दर दराज में पड़े हैं. ब्लूटूथ सेक्सी फोटो सेक्सी फोटोइसके बाद उसने मेरे घर पर काफी बार आकर मेरी चुदाई की, मुझे उसके साथ बहुत मज़ा आता था.

एक दिन ऐसे ही उससे बातें करते करते उसने मुझसे पूछा- आपका वो छोटा सा है, तो आपको बुरा नहीं लगता?मैं इस बात पर उसको कुछ बोल नहीं पाया और बस ऐसे ही जवाब दे दिया कि इसमें बुरा लगना जैसा क्या है.सपना भाभी का बीएफ: ये कहते हुए मैंने अपना लंड गांड से निकाल कर खूबसूरत गीली चूत में घुसा दिया.

तभी उसने मेरे लन्ड को ऐसे मुँह में लिया मानो खा जाने को आतुर हो!‘आह …’ मेरे मुँह से सिसकारियाँ सुन उसने मेरी जाँघों को सहलाना शुरू कर दिया और गपागप लन्ड मुँह में लेने लगा.अंशु बोली- घर जा के मैं और उपिन्दर तुझे तेरी पसंद के सारे मज़े देंगे.

सेक्सी वीडियो देहाती शादी वाला - सपना भाभी का बीएफ

उन्हें वाशरूम में घुसे 5-7 मिनट हो गए थे … कोई भी समझ सकता था कि अंदर क्या हो रहा होगा.चूंकि उसकी गांड बहुत टाइट थी तो इस वजह से मैं भी पंद्रह मिनट में ही झड़ गया.

सोनिया- काटो ना मेरी चूचियों और निप्पल्स को अपने दांतों से जोर जोर से जानू. सपना भाभी का बीएफ मैं अपने दोनों हाथों से अपनी गांड को उठा रही थी और सुहास के लंड पर जोर जोर से उछल रही थी.

चाची की बॉडी अकड़ रही थी … मतलब चाची अब झड़ने वाली थीं कुछ ही पलों में चाची झड़ गईं और मैं चाची का सारा पानी पी गया.

सपना भाभी का बीएफ?

इतनी तेज चुसाई करने लगी कि ऐसे लगा जैसे मेरे अंदर से कुछ खींच कर बाहर निकाल रही हो. मैं नित्या की चूत चाट कर साफ़ कर रहा था।फिर थोड़ी देर बाद नित्या और निधि ने अपनी अपनी जगह बदल ली। अब मैं निधि की चूत चाटने लगा और नित्या मेरा लंड मुंह में लेकर मेरा लंड खड़ा कर रही थी।जब मेरा लंड खड़ा हुआ तो निधि की चूत में लंड लगा कर जोर से झटका मारा. तकिया के कारण भाभी की गांड उठाने की गति ज़रा कम थी, पर चूत के उठे होने के कारण मेरा लंड पूरा अन्दर तक जा रहा था, जिसका वो पूरा आनन्द ले रही थीं.

उन्होंने उसी समय मेरी माँ को कॉल किया और बाद में मुझसे कहा- मुझे चेंज करना है. साथ ही चूत एक बार झड़ चुकी थी, तो मुझे उसे फिर से चुदाई के लिए तैयार भी करना था. उसके बाद उन्होंने मेरी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और मैं गर्म हो गई.

अब हम दोनों को जब भी मौका मिलता है, तो किसी होटल में जाकर सेक्स कर लेते हैं. उस दिन की पार्टी के बाद हम दोनों एक दूसरे से और ज्यादा करीब आ गए थे. विनय पीछे से मेरी चूचियों को पकड़ कर जोर जोर से मसल रहा था और धीरे धीरे मेरी गांड मार रहा था.

इस तरह हम दोनों में बड़े ही कम समय में एक दोस्ताना रवैया बन गया था, जोकि एक परफेक्ट सेक्स के लिए बहुत जरूरी होता है. सुहास ने मुझे फिर से बेड पर लेटा दिया और मेरी चुत पर अपना लंड सैट करके मेरी चुत में अपना लंड डालने लगा.

आपकी मोना डार्लिंग[emailprotected]कहानी का अगला भाग:माँ बेटी दोनों एक ही लंड से चुदीं-2.

फिर वो फव्वारे की तरह झड़ गईं और दीदी की चुत से ढेर सारा पानी निकल गया.

लेकिन अब मुझे सच में गुस्सा आ रहा था कि हम सेक्स कर पायेंगे भी या नहीं. मैंने उसको बोला- अमन?और जैसे ही वो मेरी आँखों पर से हाथ हटा कर मेरे सामने आया तो मुझे झटका लगा. भल्ल भल्ल करता हुआ ढेर सा गर्म लावा लंड से गोली की रफ़्तार से छूटा और बेबी रानी का मुंह भर गया.

उसके होंठ चूसने में इतने मस्त थे कि मैं सचमुच उसकी जवानी में खो सा गया था. वो झट से राजी हो गया … क्योंकि जब वो अजमेर आता है, तो मैं भी उसे किसी लौंडिया को चोदने के लिए उसको अपना रूम दे देता हूं. गुड्डी कुछ न बोली और जैसा मैंने कहा था वो बिस्तर पर एक साइड को सरक गयी.

मैं बहुत दिन से तुझे चोदने के चक्कर में था, आज मौका मिला है तो पानी निकाल कर ही दम लूंगा.

अब ज्योति की बड़ी बड़ी चूचियाँ बिस्तर पर टिकी हुई थीं और चूतड़ हवा में लहरा रहे थे. उसने अंडरवियर पहना हुआ था और पूरा भीगा था, बोला- प्रॉमिस कोई बदमाशी नहीं करेंगे, बस तुम साथ आ जाओ. मैंने भाभी के होंठों का रसपान करते हुए, उनकी कठोर हो चली चुचियों को जी भर कर चूमा.

अमित ने भी मौके की नजाकत को देखते हुए मुझे नीचे लेट जाने को कहा और पूजा को ऊपर से चढ़ने को इशारा किया. बाद में हम मयूर के कमरे में चले गए उसने कमरा एकदम बहुत ही अच्छी तरह से सजा रखा था. अंकित का लिंग उसके पति से ज्यादा बेहतर था और अंकित की कम उम्र ने उसमे चार चाँद लगा दिए थे.

उम्मम्मह स्स्स्सस दर्द हो रहा है उम्म्म्मह …”Teacher Sexसर का लंड धीरे धीरे मेरी चूत के अंदर जा रहा था.

कुछ देर तक पैसेंजर ट्रेन चलाने के बाद सुहास ने मुझे राजधानी एक्प्रेस की चोदना चालू कर दिया था. तनाव तो पहले भी आ रहा था लेकिन जैसे ही वो पलटी उसकी चूचियों को देख कर लंड एकदम से टाइट हो गया.

सपना भाभी का बीएफ सोनिया- आह्ह्ह आह्हह आह्ह्ह … जानू, अपने लंड को और तेज तेज आगे पीछे करके उसकी आवाज सुनाओ ना मुझे. मैं- पकड़ा गया था … मतलब?वॉयलेट- वो कोई दूसरी लड़की के साथ उसके बैडरूम में पकड़ा गया.

सपना भाभी का बीएफ वो मुझे अब ज़ोर से पकड़ कर मेरे सीने पर काटने लगीं और ज़ोर से चीख कर झड़ने लगीं. बिन पानी की तरफ हॉट भाभी तड़पने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उनके मुँह से गालियों का अम्बार लग गया- आह बहन के लौड़े मैं कोई रंडी हूँ … जो इस तरह लौड़ा पेल दिया … धीरे चोद मादरचोद.

कोई 8-10 मिनट तक धक्के मारने के बाद मैं बहुत ज्यादा थक गया था, तो मैंने उसकी गांड में पानी छोड़ दिया.

देसी एक्स एक्स एक्स

मैंने भी टांगें खोल दी, मैंने लेगी के अंदर कुछ पहना नहीं था तो वो मेरी नंगी चूत देखकर पागल हो गया. दोनों बहनें सिसकारियां ले ले कर एक दूसरे की चूत चाट रही थी क्योंकि दोनों ही पहली बार किसी औरत से चूत चटवा रही थी तो दोनों ही एक साथ झड़ गयी. वैसे मन तो था कि प्रपोजल स्वीकार लिया जाए, पर प्रपोज करने वाले हमें पसंद नहीं आए.

उसकी मासूमियत ने शबनम की इच्छाओं को और बढ़ा दिया था, क्योंकि ना केवल एक जवान और खूबसूरत लड़का था बल्कि उसका व्यवहार भी बाक़ी लड़कों से अलग था. इस तरह मुझे मेरे दोस्त के द्वारा ही धीरे धीरे सेक्स का पता लगने लगा. उस वक्त मेरे मन में आया कि अब खाना क्या खाऊं … सामने इतना लाजबाव बदन है, अब तो मेरा मन मामी के लाजवाब बदन का ही भोग लगाने को करने लगा.

वो बोलने लगी- इईईईई माँ आह बचाओ … रहने दो … यार नहीं जाएगा … ये मेरी गांड फाड़ देगा … प्लीज़ … मत करो.

मैंने उससे कान में पूछा- कहां निकालूं?उसने अन्दर ही निकलने को बोला- मैं तुम्हारा बीज अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूं. मैंने खुद से बुदबुदाते हुए बोला कि ये मैं क्या कर रही हूं … एक लड़की की छुअन से मैं कैसे उत्तेजित हो रही हूं. कुछ ही देर में हम दोनों एकदम बेकाबू हो गए थे और एक दूसरे को किस करते हुए चुदाई कर रहे थे.

अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं होता, आप जितनी जल्दी मेरा काम करवा दो, आपकी मेहरबानी होगी. अब बॉस ने अपना लंड पकड़ लिया और मेरे मुँह में मूतना शुरू कर दिया, जिसे मैं पी रही थी. उसे खुद पर हैरानी हो रही थी कि वह अपने ससुर के क़रीब आते ही इतनी गर्म क्यों हो जाती है कि उसे अपने ससुर की हर हरकत मजा देने लगती है।बहू तुम बस मेरी एक बात का जवाब दो, जब मैं तुम्हें छूता हूँ तो तुम्हें कैसा महसूस होता है?” महेश ने भी अपनी बहू के पास जाकर बैठते हुए कहा।पिता जी, यह कैसा सवाल है?” नीलम ने शरमाते हुए कहा।बेटी, जो मैं पूछ रहा हूँ उसका जवाब दो.

प्रतीक थोड़ी देर सोचते हुए बोला- ठीक है मैं तुम्हारी मयूर से शादी कराऊंगा. आज एक राउंड हो जाए?मैंने सोचा कि पहले एक बार राज से बात कर लेता हूं कि कहां है.

मेरे हाथ उसकी कमर पर घूम रहे थे और उसके जिस्म में सेक्स की जो गर्मी भर चुकी थी वो उसकी चूत से भांप बन कर मुझे साफ-साफ बाहर आती हुई महसूस हो रही थी. वो खाने के लिए साथ में पार्सल लाया था, उसने मुझे ऑफर किया, मैंने भी ज्यादा कुछ खाया नहीं था इसलिए उसको हाँ कह दिया।रात के करीब नौ बजे होंगे, वो मेरी बर्थ पे आया और मैंने भी बैठ के उसके लिए थोड़ी जगह कर दी. क्योंकि हम पार्क में काफी अन्दर घुस कर बैठे हुए थे … इस बात से सबा भी निश्चिंत होकर मेरे साथ लगी हुई थी.

अभय ने मेरी चूत में लंड को पेल दिया और विवेक ने पीछे से मेरी गांड में लंड को डाल दिया था.

अभी तो बस ये सोच रही थी कि इनको किसी तरह अपनी चुदी हुई चूत से दूर रखना है. थोड़ी देर तक दीदी की चुत चाटने के बाद साकेत भैया उठ कर बैठ गए और उन्होंने दीदी को भी उठा कर बैठा दिया. दरवाजा खोलते ही वो मेरे ऊपर आकर गिरने लगे तो मैंने उनको संभाला और फिर उनको अंधर करके दरवाजा बंद कर दिया.

मैं भी अपनी एक उंगली दीदी की चुत में डाल कर आगे पीछे कर रहा था और उन चुत का पानी, जो मेरी उंगली पर लग जाता था, वो उंगली उनके मुँह में दे कर उन्हें ही चुसा रहा था. इस वक्त भाभी चुदास से भर उठी थीं और उनके मुँह से एक ही बात निकल रही थी- आह फक मी … फ्क्क करन … फक मी … भोसड़ी वाले ने छह महीने से मुझे चोदा नहीं है … मेरी चूत प्यासी है, इसमें अपना लौड़ा डालकर मुझे जी भर कर चोद दो … आज मेरी प्यास बुझा दो करन.

अब तो हम दोनों जॉब की वजह से अलग हो गए हैं, लेकिन छुट्टियों में हम दोनों किसी न किसी जगह घूमने जाते हैं और गांड चुदाई का मज़ा लेते हैं. इतना कह के रानी पलंग पे टांगे चौड़ी करके, पैर फर्श पे टिका के बैठ गई. अब ज्योति की चूत उसके बाप के सामने थी- लीजिए पिताजी, अब मेरी चूत आपके हवाले है.

सेक्सी बीपी पिक्चर हिंदी

पता नहीं चार साल में ही इतना बड़ा कैसे हो गया।मैंने कहा- इतने दिन कहाँ थे?वो कहने लगा- हॉस्टल में।मुझे मेरे मायके का जान पहचान का कोई मिल गया था इसलिए अब सफर का मजा आने वाला था.

अपने कंधे पर टांगों को रखने के बाद उसने फिर से मेरी चूत में लंड को डाल दिया और तेजी के साथ मेरी चूत की चुदाई करने लगा. मगर मैंने वो पैसे नहीं चुराये थे बल्कि किसी और लड़के ने चुरा लिये थे. दोस्तो, मुझे ऐसा लग रहा था कि किसी ने पिछवाड़े में कोई आग का गोला रख दिया हो.

” और मेरे से लिपट गयी।हाँ शैली अब न कपड़ों पे सिलवटें पड़ने का खतरा है, न लिपस्टिक बिगड़ने का!”मैंने अपनी बहन शैली का लहंगा ऊपर उठाया और उसकी पैंटी उतार दी, फिर चिकनी चूत पे एक भरपूर चुम्बन लिया।क्या दीदी बस एक चुम्मी?”मेरी बहना, नई नई दुल्हन, सुबह तेरी विदाई होगी और उसके बाद रात को तेरी सुहागरात की चुदाई होगी और अभी विदाई से पहले भी एक रस्म होगी. लगभग 5 मिनट तक रीमा के मुँह को चोदने के बाद राहुल के लंड का पूरा वीर्य रीमा के मुँह में गिर गया. सेक्सी फिल्म मूवी एक्स एक्स एक्सकोई दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने लेट कर चाची को मेरे ऊपर उछल उछल कर लंड लेने को बोला.

मेरे मुंह से होटल सुनकर वो चौंक गया क्योंकि पहले भी उसने कई बार मुझे होटल चलने को कहा था मगर मैं हमेशा मना कर देती थी. दरअसल ये क्रीम का कमाल था जो कि बवासीर वाले डॉक्टर मरीज की गांड में उंगली डालने से पहले लगा कर गांड में होने वाले दर्द को खत्म कर देते हैं और मरीज की गांड का सही से चैकअप हो जाता है.

जब उसके होंठ भाभी के पेट को चूम रहे थे तो भाभी की आंखें बंद हो गईं थीं. मुझे जब होश आया तो मैंने उसकी गांड से लंड को बाहर खींचा और देखा तो मेरे लंड पर खून लगा हुआ था. ” नीलम ने अपने ससुर को जवाब देते हुए कहा।बेटी जब तुम्हें मेरा छूना अच्छा लगता है, मेरे क़रीब आने को दिल करता है तो फिर तुम्हें किस चीज़ की चिंता है.

मेरा पानी छूटने के बाद मैं तो इतना मजा नहीं ले पा रहा था लेकिन उसकी चूत में उंगली जा रही थी तो उसको बहुत मजा मिल रहा था. हम इस वक्त एक दूसरे की सांसों को महसूस कर रहे थे और धकापेल चुदाई कर रहे थे. मेरी बहन तो पहले से ही तैयार थीं … तो उन्होंने कोई आनाकानी नहीं की और हमारा साथ देने के लिए तैयार हो गईं.

ऐसे ही मेरे 12वीं क्लास के एग्जाम हो गए लेकिन उसने कभी मुझसे कुछ नहीं कहा.

जब उसकी चूचियां मेरी पीठ पर स्पर्श होने लगीं तो फिर मेरे अंदर भी हलचल सी मचने लगी. तो अमन बोला- यार बताओ अब क्या करें?क्योंकि मेरी बुर में आग लगी थी तो मैंने अमन को कहा- कोई होटल ले लो.

मैंने ध्यान से देखा कि उनमें से एक लड़की तो मेरे पड़ोस की ही थी, उसका नाम अलका था. वो बहुत जोर से मेरी चूत में जीभ को चला रहे थे और फिर थोड़ा और नीचे खिसका के एक साथ दो उंगली मेरी चूत में डालने लगे. हालाँकि राहुल ने नायरा से साफ़ कह दिया- अगर छूट मिल रही है तो कोई गारंटी नहीं है कि क्या हो जाए … क्योंकि मर्द जात तो मर्द जात ही रहेगी.

जैसे जैसे वो मेरे पास आ रहा था, वैसे वैसे मेरी दिल की धड़कनें तेज़ हो रही थीं. मुझे एक फ़ाइल के चक्कर में ब्यावर जाना जरूरी था तो मैंने बस से जाना फाइनल किया. फोन में पोर्न वीडियो देख कर मैं लंड को सहला रहा था कि अचानक से बुआ मेरे रूम में आ गयी.

सपना भाभी का बीएफ फिर मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर रखा, उसकी चूत से पेशाब और चूत रस की एक मिश्रित सी सुगंध आई और मुझमें ये रस सूंघते ही मुझमें एक एनर्जी आ गयी. मोसी मुझसे बोलीं- तुम्हारे मौसा मुझे कभी इतना प्यार नहीं करते … सच में तुमने मुझे खुश कर दिया.

सक्सी वेदिओ

हिसाब करने के बाद सीनियर लीडर ने कहा कि हमारे पास कुछ पैसे बचे हैं, इनका हम जैसे चाहे उपयोग कर सकते हैं. मैं तो मन ही मन कह रही थी कि खाना तो खाऊंगी ही … लेकिन साथ में अपनी चूत को शान का लंड भी खिलाऊंगी. बाथरूम में जाकर उसने फव्वारा चालू कर दिया और पानी का तापमान सैट किया.

जिस दिन से उसकी बहन ने मुझे बताया था कि उसकी बहन की शादी उसी गांव में हो रही है उसी दिन से मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था. प्रिन्स के धक्के तेज हो गये, नीता जल्दी जल्दी 3-4 बार झड़ती चली गई पर प्रिन्स का नहीं हो रहा था. इंडिया सेक्सी व्हिडीओ दिखाइएमेरी तो भाभी के साथ मस्त चुदाई चल ही रही थी, दिन भी अच्छे से गुजर रहे थे.

चारों ने आपस में ये भी वादा किया कि मर्दों को आज की ड्रेस नहीं दिखायेंगी.

मैंने अपना लंड का सिरा पूरा बाहर निकाला और वापस एक ज़ोर लगा कर अपना आधा लंड उसकी गांड में घुसेड़ दिया. मेरा ऐसा करने का कभी मन नहीं था मगर माहौल ही कुछ ऐसा बना कि ये सब हो गया।दोस्तो, आगे की रीयल सेक्स कहानी अब सुखविन्दर की हिसाब से पढ़िए।दोस्तो, मैं मुस्कान को अगल कमरे में छोड़ पूजा के पास आ गया और कमरे का दरवाजा बंद कर पूजा के पास गया.

जब हम पहले दिन कॉलेज कैंपस में पहुंचे, तब सबकी निगाहें हम तीनों पर ही आकर रूक जाती थीं. पूजा- राज हटो, मेरे दर्द हो रहा है सश्सस आह …मैं एक जिंदा लाश सा उसके जिस्म के ऊपर से तस से मस न हुआ. इसलिए क्योंकि मेरी पिछली कहानीपति के दोस्त ने मातृत्व का सुख दियाको आप सबने बहुत ही प्रेम दिया.

तभी नेहा ने फिर आगे बोला- विराट तो है ऊपर … उसी से चूत शांत कर ले न.

थोड़ी देर में चोदते चोदते राहुल का पानी निकलने वाला था, तो उसने अपना लंड निकाल कर रीमा के मुँह में लगा दिया और पूरा पानी उसके मुँह में ही निकाल दिया. दीपा ने अपनी चूत तो उसके मुंह पर रख दी और सुनील का अपनी ओर खींच कर उसका बरमूडा नीचे खींचा और लंड को आज़ाद किया. इस तरह से फिर उनके पूरे यौवन भरे नंगे जिस्म के दीदार होंगे और फिर चुदाई शुरू हो जाएगी.

सेक्सी वीडियो एक नंबर कीमेरी मोसी का फिगर एकदम भरा हुआ और मादकता से भरपूर है कि कोई भी उन्हें देखे तो चोदना चाहेगा. इसके बाद मैं सीधे अपने रूम पर ही जाता हूँ … आप टेंशन नहीं लो … हां अगर भैया के आने का डर है … तो मैं चला जाता हूँ.

कन्या सेक्स

उनकी चूचियों और भाभी के सेक्सी जिस्म को देख कर मैंने दरवाजे और दीवार को सान दिया था. अब जब भी चाची कहीं बाहर जाते … तो हम चाची भतीजा बहुत चुदाई करते हैं. सबा ने बहुत मज़े के साथ लंड अपने होंठों में दबाया और मेरी आंखों में आंखें डाल कर लंड चूसने लगी.

मैंने भी उसे गालियां बकते हुए चिल्लाना शुरू कर दिया- आह सुहास मादरचोद … साले गांड फाड़ कर ही दम लेगा क्या. अंदर बेड पर जाकर में सीधे लेट गई और उनके बॉस ने सीधे मेरी पेंटी और ब्रा मेरे शरीर से अलग कर दी. हिन्दी सेक्स स्टोरी टाइप करते ही सबसे ऊपर एक साइट का नाम आया, जिसमें लिखा था अंतर्वासना.

तभी मैंने अपने धक्के ज़ोर से लगाने शुरू कर दिए और अपने लंड का सारा लावा उसकी गांड के अन्दर ही छोड़ दिया. मैंने उसकी गांड में सीधे लंड डालने की बजाय उसको दूसरे तरीके से उत्तेजित करना था. मैं आप लोगों को एक बात बताना चाहूँगा कि मुझे चुत से ज्यादा गांड मारना ज्यादा अच्छी लगती थी.

” (मुझे किसी बाजारू रंडी की तरह चोदो)मैं इतनी उत्तेजित हो गयी थी कि जल्द ही झड़ने को हो गयी. दोस्तो और बाकी छोटे लंड वालो, आपको कैसी लगी मेरे छोटे लंड की प्यास बुझाने की दास्तान … मुझे मेल करके जरूर बताएं.

उन्होंने मेरी चूत में ऊपर की ओर लंड को धकेलते हुए दोनों तरफ से बेड की चादर को पकड़ लिया और एकदम से मेरी चूत में पापा के लंड से वीर्य की पिचकारी मेरी चूत में लगती हुई मुझे महसूस होने लगी.

वो अभी भी बड़बड़ा रही थी- स्लट, व्हेर इज माय स्लट?चल सो जा … तू बहुत नशे में है. सेक्सी 90 साल कीमैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैं हमेशा यहां पर सेक्स कहानियां पढ़ता हूँ. cinema सेक्सी वीडियोजो लोग कोलकाता में रहते हैं, वो लोग इस जगह के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं कि ये जगह कितनी बड़ी है. परी मैम अपने चूतड़ों को उठा कर मेरे लंड को अपनी चुत में लेने की नाकाम कोशिश कर रही थीं.

इस वक्त भाभी चुदास से भर उठी थीं और उनके मुँह से एक ही बात निकल रही थी- आह फक मी … फ्क्क करन … फक मी … भोसड़ी वाले ने छह महीने से मुझे चोदा नहीं है … मेरी चूत प्यासी है, इसमें अपना लौड़ा डालकर मुझे जी भर कर चोद दो … आज मेरी प्यास बुझा दो करन.

उधर स्पष्ट नजर आती लंड की उभरी नसें दिख रही थीं, तो इधर भी चूत पनियाने लगी थी. आशीष के बारे में मां को बताते हुए मैंने याद दिलाया- मां, आशीष वही कोटेदार की बहन का बेटा है. उसने उस दिन वही ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मैंने अपने लंड का माल निकाला था.

विक्की- नहीं … कोई नहीं देखेगा, तुम मेरे लिए इतना नहीं कर सकती हो?मैं- अच्छा ठीक है … मैं तुम्हें रेडी होकर कॉल करती हूं. एक घंटे बाद वापिस चाची कब आ गईं और आते ही उन्होंने मुझे बांहों में भर लिया और एक हाथ से मेरे लंड पर रगड़ने लगीं … इतना सब कब हो गया, मुझे कुछ भी होश नहीं था. ”अब महेश ने पूरा लंड बाहर निकाल कर ज्योति की चूत में पेलना शुरू कर दिया.

देहाती चुदाई हिंदी

इस कहानी के बारे में अपनी राय देने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज करें. मगर रात में मुझे महसूस हुआ कि मेरे भाई का हाथ मेरी जांघ पर रखा हुआ है. सोनिया- तुम्हारे साथ बात करना बहुत अच्छा लग रहा है रोहन … मेरे साथ होने के लिए शुक्रिया.

अभिजीत को वहीं छोड़ हम दोनों किचन में जा कर खाने का इन्तजाम करने लगे।सुखविन्दर ने कहा- खाना अभी रहने दो, कुछ देर से ले जाना, अभी कुछ दारू का सुरूर चढ़ने दो।उसने 3 ग्लास बर्फ सोडा और शराब लिए और हम दोनों बैडरूम में आ गए।मैंने कहा- मैं तो पीती नहीं हूँ, आप लोग इसका मजा लीजिये.

उसके बाद मैंने पैंटी के ऊपर से उसकी चुत को अपने नाक की नोक से मसला.

मैं पूरे मज़े लेकर सबा की चुत में जीभ डाल कर उसका पूरा रस निचोड़ लेना चाहता था. कुछ देर बाद मासी सो गईं, पर मुझे नींद नहीं आ रही थी … क्योंकि मुझे मेरे अन्दर का जानवर सोने नहीं दे रहा था. ब्लू फिल्म सेक्सी बुर चुदाईकह कर मधुर हंसने लगी।मुझे कुछ समझ नहीं आया। पता नहीं मधुर क्या बताना चाह रही है।फिर पता है सानिया ने क्या बोला?”क्या?”वह बोली- दीदी … आप मुझे भी अपने पास यही रख लो। मैं रोज घर का सारा काम भी कर दूँगी और रात को आपके पैर भी दबा दिया करुँगी.

उसके करीब 20 दिन के बाद तुम सतना में अपनी बुआ के घर सिद्धार्थनगर बढैया में मुझे ले गये. सर बोले- ज़रा घर की ओर जा रहा हूँ मैं!अरे … पर ये घर क्यों?” मैं अंदर ही अंदर खुश होती हुई लेकिन ऊपर से हैरानी दिखाती हुई बोली. अगर अभी से अपना पानी खत्म कर दोगे, तो अपनी पत्नी को क्या दोगे?चाची के मुँह से ये बात सुनते ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, जिसे चाची ने देख लिया था.

मैंने अभी ये सब देख ही रहा था कि उसने मुझसे कहा- मेरे पति साथ में आने वाले थे लेकिन उनकी अचानक से मीटिंग आ गयी, इस वजह से मैं अकेले सफर कर रही हूँ. मुझे तो मानो उड़ने के लिए सारा आसमान मिल गया था और मैं लंड चुसाई का मजा ले रहा था.

ये तो तब मालूम पड़ा, जब भाभी की भाभी ने उन्हें कहा और मुझसे बात करने को मुझे बुलाया.

हॉट सेक्सी देसी गर्ल की चूत पर लंड को रख कर मैंने एक शॉट मारा लेकिन लंड फिसल गया. अब मेरी माँ मेरी राजदार हो गई थीं और इसके बाद से चुदाई का खेल मैं अपनी माँ के साथ ही किसी न किसी लंड के साथ खेलने लगी थी. जिस दिन से उसकी बहन ने मुझे बताया था कि उसकी बहन की शादी उसी गांव में हो रही है उसी दिन से मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था.

लड़की लंड वाली सेक्सी वो आहें भरने लगीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह …मोसी की चुदासी आवाजें निकलने लगीं, तो मैंने उनकी पैंटी निकाल फेंकी. मैंने उस आंटी के निप्पल को अपने हाथ में पकड़ कर मसल दिया तो वो मेरे लंड को पकड़ने लगी.

मैंने उंगली वापस बाहर निकाली और उनकी चुत के पानी से गीली करके वापस गांड में डाल दी. उसी रात की बात है कि जब मैं खेतों में पेशाब करने के लिए गई थी तो दो लड़कों ने मेरी चूत को अपने हाथ से छेड़ दिया था. कोमल की वजह से हमें भी पार्टी में शामिल होने का ऑफ़र मिला और हमने झिझकते हुए हां कह दिया.

सैक्स वीडीयो

हमने नंगे ही पेग पी कर सिगरेट खत्म की और एक दूसरे को चूम कर नंगे ही सो गए. सच में बहुत देर से रूका हुआ रस था क्योंकि खाली करने में रानी को काफी वक़्त लगा. सर बहुत खुश थे- ओह मेघा … क्या चूत है तेरी!स्स्स्स स्स्ससर … बहुत मजा आ रहा है … तेज तेज कीजिये! उम्मम्मह म्मम!”सर ने तेज तेज धक्के लगाने शुरू कर दिए.

जो पाठक नये हैं उनकी जानकारी के लिए एक बार मैं अपनी पूर्वप्रकाशित रचनाओं से आप लोगों को अवगत कराने के लिए उनका नाम बता देता हूं. तुम भी ले लो।मेरे मन में पता नहीं क्या आया कि मैंने मजाक और वासना के वशीभूत होकर अपनी बीवी की ब्रा को निकाल दिया.

इतना सा हमला करके मैंने लंड को फिर से उसकी गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया.

मैंने उसको पानी का गिलास भर कर दिया और वो गोली खाने के लिए कह दिया. उसने मेरी चुत में 2-3 झटकों में ही अपना पूरा लंड पेल दिया और धक्के लगाने लगा. मुश्ताक का इलेक्ट्रॉनिक्स का शोरूम है, वो रात को देर से ही घर आ पाता है पर आने के बाद सुबह 11 बजे तक बहुत रंगीन जिन्दगी जीता है.

प्रिन्स एक औसत कद काठी का साधारण लड़का था किंतु बात करने में वो इतना कुशल था कि थोड़ी ही देर में हम लोगों से ऐसा घुल मिल गया कि वो कोई बाहरी व्यक्ति नहीं, बल्कि परिवार का सदस्य हो. उनका एक हाथ मेरे दूध को सहला रहा था और दूसरा हाथ मेरी जाँघों को!धीरे धीरे वो मेरे ऊपर आ गए और उनके सीने से मेरे दोनों दूध दब गए. मैं बोली- मगर तुम पहले की तरह वैसे ही दोबारा मुझे छोड़ने की बात मत करना.

जैसे ही मैंने गिलास नीचे रखा, उन्होंने मुझे पकड़ कर फिर से एक किस कर दी.

सपना भाभी का बीएफ: अब आगे:मैंने दरवाजा खोला तो नीरू अंदर आयी और सामान टेबल पर रखती हुई बोली- उफ्फ … बाहर तो बहुत गर्मी है. ऐसा लग रहा था कि उसका लौड़ा उसके अंडरवियर को फाड़ कर बाहर आने के लिए बेताब हो रहा था.

हम भी अपने लिए ऐसा ही कोई एकांत सा स्थान ढूंढने के लिए दूर तक निकल गए. वरना आज मैं आसानी से आपके लंड से अपनी गांड चुदाई का मजा ले रही होती. इतना सा हमला करके मैंने लंड को फिर से उसकी गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया.

वो मेरे बाजू सट कर बैठी थी और हमारी जांघें एक दूसरे से सटी हुई थीं.

फिर उन्होंने मेरे कंधे पर से ड्रेस को उतारना शुरू किया और धीरे-धीरे सारी ड्रेस को मेरे बदन से अलग कर दिया. और फिर मेरी चूत में से फच्च … फच्च … कर के एक फव्वारा छूट गया और 2-3 फव्वारे और छोड़ती हुई एकदम ढीली पड़ गयी और बेड पे सीधी होके हाथ आगे फैला के लेटती चली गयी।उधर सचिन भी मेरी लबालब भरी चूत में फच्च फच्च करते हुए आखिरी झटके मारने लगा और एकदम से उचक के अपना वीर्य मेरी चूत में भरता हुआ मेरी कमर पे ही निढाल होकर गिर गया। फिर वो लंड निकाल के मेरे बगल में आकर गिर गया. उस टाइम ना तो मेरे पास फ़ोन होता था और सेक्स फिल्म देखना तो बहुत दूर की बात थी.