बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म

छवि स्रोत,ব্লু ফিল্ম অ্যাডাল্ট ভিডিও

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ छुडाई हिंदी में: बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म, उस दिन से मुझमें तुम्हारे साथ सेक्स करने की इच्छा हुई और काम्या पर दुःख आया कि उसने कैरियर के लिए इतना अच्छा पति छोड़ दिया.

सेक्सी लड़कियों के वॉलपेपर

मेरे पति तो सिर्फ मेरी साड़ी उठा कर अपना लंड निकाल कर चूत में धक्के मारते, अपनी धार मारते और सो जाते थे. हिंदी में ब्लू पिक्चर दीजिएअंकल ने मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार मेरी घुटनों में पैर के पास खिसक के आ गई.

मैंने आँखों पर हाथ रख लिया और आँखें खोलकर देखने की कोशिश की पर अंधेरे की वजह से कुछ ठीक से दिखा नहीं. ब्लू सेक्सी सेक्सी फिल्ममेरा लंड किसी मशीन की तरह उसकी चूत के अंदर और बाहर तेजी के साथ जा रहा था.

मैंने जीन्स के अन्दर कुछ नहीं पहना, परफ्यूम लगाया और सोचा चलो कुछ करते हैं.बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म: जाते ही मिसेज रॉय ने मुझे चूम लिया और बोलीं- यार जब अकेले हो, तो मुझे बोल दिया करो … कितनी अकेली हूँ आजकल.

मैं उसके पीछे आ गया, तो मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चूत में डाला और चोदने लगा.मैंने फिर उनको किस करना चालू कर दिया और अपने दोनों हाथों से उनके दोनों मम्मों को दबाने लगा.

नंगी फिल्म देखनी - बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म

थोड़ी ही देर में हम पार्किंग में पहुंच गए, तब उस महिला ने मुझे लिफ्ट के पास जाकर इंतजार करने को बोला.फिर वो वहीं से फॉर्म भर कर वापस हमारे पास आ जाएगा और यहीं रह कर पढ़ाई करेगा.

मैंने दोनों को अपने से चिपका लिया और कहा- यह मेरे लिये एक सरप्राईज़ ही था कि औरत इतनी लम्बी धार मार सकती है. बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म मैंने आंटी के बालों को पकड़ लिया और एक हाथ गांड पर रख कर लंड को चूत में धकेलने लगा.

इस समय गाड़ी में बैठते ही वो मुझसे बस इतना ही बोल पाई- जीजू, जल्दी चलिए … यहां से निकलिए.

बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म?

उनकी बातों से मुझे फील हो रहा था कि ये आराम से फंस जाएगी, बस थोड़े खर्चे करने पड़ेंगे. एक मर्द स्टीव के साथ कभी कभी ऑफिस की गाड़ी शेयर करती थी, तो उससे थोड़ा ज़्यादा समय बातचीत हो जाती थी. बोलिये न रीना जी?” उसने फिर पूछा- अगर आप नहीं चाहतीं तो कोई बात नहीं.

यह बोलते बोलते मेरे लंड ने लम्बी पिचकारियों के साथ अपना गाढ़ा माल उनके मुँह में उगल दिया. ऐसे लोगों की बांहों में उनकी टांगों के नीचे होगी, तुझे ऐसे मस्त लोगों से मिलवाऊंगा कि तू कायल हो जाएगी उन मर्दों के लंड की … अभी सब मैं बहुत जल्दी में कर रहा हूं, नहीं तो तुझे चोदने से पहले एक बोतल दारू पीता, फिर तुझे हाथ लगाता. लगभग 15 मिनट के बाद वह बाथरूम से बाहर निकल कर आई और मेरी नजर उस पर गई तो मैं उसे देखता ही रह गया.

सुषी ने मुझे रिमी के बारे में बताया कि वह यहाँ पर अकेली ही रहती है. बीस मिनट तक धकापेल चुदाई हुई और वो मेरी बांहों में दो बार सिमट कर निढाल हुई. उस दिन दोपहर को जब मैं खाना बना रही थी, तब मयूर किचन में आया और उसने मुझे पीछे से कस के पकड़ लिया.

ऐसा कहकर उसकी लड़की अपने पापा के पास गई और अपने पापा का लंड मसलने लगी और अपने मुँह में अपने पापा का लंड लेने लगी. बचा यह महेश, तो यह अपना लंड या तो इस वन्द्या के हाथों में और या इसके दोनों दूधों के बीच में डालकर रगड़ लेगा.

मैं- मुझे साथ जाना है?कुछ रिप्लाय नहीं आया, मैं इस मैसेज का रिप्लाय का बेसब्री से इंतजार कर रहा था.

पर मैं क्या कर सकती थी … कभी वो मेरे चेहरे पर अपने हाथ से हल्के से चांटा मारता, कभी मुझे जकड़ कर चूसने लगता.

मैं नहीं झुकी तो उन्होंने मेरे को दबाकर झुकाया और अपनी पैंट की जिप के पास की सख्त चीज को मेरी सलवार के ऊपर से ही पिछवाड़े पर जहां मेरी गांड है, उस पर फिट करके रगड़ने लगे. पीछे बैठे होंगे” पीऊन ने कहा।मैंने अंदर जाकर देखा तो दोनों ऑफिस में पीछे सोफे पर साथ-साथ बैठे कुछ पढ़ रहे थे. हम काफी देर तक बातें करते रहते थे, उस दौरान मेरा बॉयफ्रेंड मुझे किस भी करता था.

जब वो यहाँ गांव आते हैं तब उनके लंड पर बैठकर खेलती हूँ।मेरी देवर भाभी सेक्स की इस कहानी के बारे में आप अपने विचार मुझे मेल आई-डी पर भेज सकते हैं। आपकी प्यारी भाभी।[emailprotected]. मैं ये देख कर हैरान रह गया कि उसकी मनी (कामरस) भी बिल्कुल मेरी मनी की तरह गाढ़ी थी. मोहल्ले के लड़के बच्चे भी नहीं दिख रहे थे, मुझे लगता है जिनके घर पास में थे, वही वहां बच गए थे.

सो उसने जब मुझसे सम्भोग की अभिलाषा व्यक्त की, तो थोड़ा सोच कर मैंने भी हाँ कर दी और उसे अपने घर में चुपके से आने को कहा.

मैंने बारी बारी उसके दोनों चूचे चूसे और उनको दबा दबा कर काटता भी रहा. ऐसे ही एक बरसाती रात में वो मेरे साथ ही मेरे कमरे में रह गई थी क्योंकि उसका पति अपनी पहली पत्नी को लेकर ससुराल गया हुआ था. मैंने उसे दो पल बाद किस किया और पूछा- मैं कैसा लगा?वो मुस्कराने लगी और मेरे लंड को पकड़ कर बोली- यार, अब इसका दम देखना है.

जैसे ही भाभी को मनोहर के लंड में तनाव महसूस हुआ उसने मनोहर के लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. निहारिका के साथ हुई नई घटनाओं की जानकारी मैं आपको समय-समय पर देता रहूंगा. वैसे जब हस्बैंड बाहर के देश में जॉब करते हैं तो घर में सुख-सुविधाओं का होना कोई हैरानी की बात नहीं थी मेरे लिए.

वह फिर से कराहने लगी, कहने लगी- भैया तुमने मेरी गांड तो फाड़ ही दी है, अब क्या चूत भी फाड़ने वाले हो?मैंने कहा- बस बहन, आज तुझे इतना मज़ा दूंगा कि तू मुझे हमेशा याद रखेगी.

ऊपर से मैं हमेशा टाइट कपड़े पहनती हूँ, जिससे मेरे कटावदार एंड और अधिक सेक्सी लगते हैं. उसने खुद को ढीला छोड़ दिया और अपने मम्मों को मसलवाने का मजा लेने लगी.

बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म मुझे जब भी मौका मिलता, मैं मैसेज कर देता, लेकिन साला रिप्लाई आने का नाम नहीं था. आअअह्ह … बस जल्दी … करो … ओओ … ह्ह … मैंने उसके सिर को अपने लंड पर दबा दिया और मेरे पूरा बदन ऐंठने लगा.

बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म स्स … और ज़ोर से … चूसो … रॉकी मसल डालो मेरे दोनों चुचे … आह … कितने सालों से ब्रा मैं क़ैद थे …”मैंने जल्दी से अपने आपको नंगा किया और मेरा सात इंच का मोटा विकराल लंड उसके हाथों में थमा दिया. रात के वक्त सास-ससुर खाना खाकर सोने चले गए और मैं तथा भाभी सब काम खत्म करके अपने बेडरूम में सोने चले गए.

एक दिन मैं दोपहर को उठी, तो देखा चाचा कमरे से बाहर गए हैं और बाकी के सब लोग अपने काम से बाहर गए थे.

सेक्सी किन्नर का वीडियो

मैं उसे देखकर सहम गई क्योंकि वह बहुत ही दिखने में हृष्ट पुष्ट था, जैसे पहलवान होते हैं. धीरे धीरे मैं अपने हाथ को उसकी कमर से नीचे उसके चूतड़ों तक ले गया और उसके चूतड़ों को दबाने लगा. उतने में अंकल का कॉल आया-आज मत आना … आज बहुत पानी बरस रहा है, सब रास्ते बन्द हैं.

दोनों लंड सुजाता के गले तक जा रहे थे और सुजाता के मुँह से पानी निकल रहा था. मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हें तकलीफ़ हो रही है?उसने दबी सी आवाज में कहा- आप अपना काम कर लो. कुछ ही देर में रिशु ने मिशिका की चूचियों को अपने मुंह में ले लिया और उनको चूसने लगा.

निहारिका कभी मेरे लंड को चूसने लगती तो कभी उसको हाथ में लेकर मुट्ठ मारने लगती.

अब मुझे लग रहा था कि इसकी बुर पूरी तरह से लंड लेने के लिए बेकरार है. ऐसे में वह भी बेचारा खुद पर कब तक काबू रख पाता? यह उसके लिए बड़ी समस्या बन गई थी. हमारे फ्लैट से थोड़ी ही दूर उसका घर था, तो कभी कभार हम सुपरमार्केट में भी मिल जाते थे.

उसने बिल्कुल आराम से मेरी चूत पर हाथ रख कर अपने लंड को अपने हाथों से पकड़ कर मेरी चूत में पूरी तरह फिट करके अपना लौड़ा मेरी चूत में डाल दिया. वे बोले- चल अब मैं तुम्हें पकड़ने आ रहा हूँ, तू जल्दी से भाग कर बचना. इसके कुछ देर बाद आंटी ने मेरी पेंट निकाल दी और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी.

ऊपर 32 इंच के मस्त चुचे, बीच में 26 की कमर और नीचे 38 की मखमली गांड. निकालो … प्लीज़ … छोड़ दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… दर्द हो रहा है … अइया …’ जैसी दर्द भरी आवाजें निकालती रही, मगर मैं उसकी चूत को सहलाता रहा और अपने लंड को उसकी गांड में पूरा डाल कर लेटा रहा.

यह बात उन दिनों की है जब मेरा दोस्त पूनम को लेकर मेरे कमरे पर आता था. ज़रीना अब काफ़ी हद तक गर्म हो चुकी थी, वह चुदवाने को बेक़रार थी, उसने मुझसे कहा- अब करते क्यों नहीं, जल्दी करो, अब नहीं रहा जा रहा. मेरे लंड से जोरदार चुदाई के बाद कुछ ही देर में सुषी झड़ गई और मैं भी उसके झड़ने के बाद चार-पांच धक्कों के बाद झड़ गया.

मैंने उसमें इंटरनेट रिचार्ज भी करवा लिया ताकि मुझे बार-बार मेल चेक करने के लिए साइबर कैफे पर न जाना पड़े.

सात आठ मिनट लंड चूसने के बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गांड पर थूक लगाकर अपना लंड टिकाया और एक जोरदार धक्का लगा दिया, जिससे उसका काफी लंड अन्दर चला गया. वह इतनी ज़ोर से दबा रही थी कि मैं सही तरीके सांस भी नहीं ले पा रहा था. उसने मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया और मेरी चूत की खुजली को बड़े मस्त तरीके से शांत किया.

मेरा मन बार बार उनकी चूत को चाटने का कर रहा था, परन्तु उनकी बड़ी बड़ी गोरी चूचियां और उन चुचियों पर बड़े बड़े काले निप्पल मुझे बार बार अपनी ओर बुला लेते थे. मैंने भाभी की सुंदरता की खूब तारीफ की और कहा- हेमा भाभी तो आपके मुकाबले में कुछ भी नहीं है, उसके पट मैंने देखे हैं.

आरती ने कहा सच सच बोलो तुम्हें कोई ऐतराज़ तो नहीं होगा ना की अगर में इस का लंड ले लूँ तो. तभी उसने मेरे मुँह को जिस हाथ से दबाया हुआ था, जिससे मैं चिल्लाऊं नहीं … उस हाथ को मुँह से हटा लिया. मैंने रिमी से वॉशरूम का रास्ता पूछा और वहाँ पर अंदर जाकर खुद को संभालने की कोशिश करने लगा.

चोदा चोदी वीडियो सेक्सी बीएफ

वैसे क्या निकालूँ?कल्पना- अपना वो …कल्पना को छेड़ने के लिए मैंने फिर से पूछा- मेरे लंड की बात कर रही हो क्या?उन्होंने हल्की सी स्माइल के साथ ‘हां कहा.

फिर उसने एकदम से चड्डी को उतार दिया और लंड जाकर उसके मुँह पर लगा तो उसने अपना मुँह हटा लिया और देखने लगी. कॉलेज में आते आते महीने में एक दो प्रपोजल तो मिल ही जाते रहे, पर मैंने कभी भी किसी का प्रपोजल एक्सेप्ट नहीं किया. मैंने नोट किया जब मेरा लंड उसकी चूत से टच करके ऊपर को उठता था तो उसकी चूत के रस से लंड की टोपी के साथ एक तार सी बन जाती.

वो मानो पागल हो गयी थी और मुँह से ‘आय यस स्श्ह इह्ह उऔऔ इह्ह उऔ ऊया औ उहिही उहू. उसका सर कुर्सी में टकरा जा रहा था, तब भी पर वह मुझे पकड़े हुए मेरी चूत को चाटे जा रहा था. ಎಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋमम्मी पापा दोनों एक दूसरे को चूम चाट रहे थे और तरह-तरह की आवाजें निकाल रहे थे.

एक दिन मैं दोपहर को उठी, तो देखा चाचा कमरे से बाहर गए हैं और बाकी के सब लोग अपने काम से बाहर गए थे. सर भी हैरान हो गए कि पहली चुदाई में ही मैं किसी एक्सपर्ट की तरह चुदवा रही थी। वो समझ गए कि ये आगे चलकर मस्त रंडी की तरह चुदक्कड़ निकलेगी.

दरवाजा बंद होते ही वो मुझ पर टूट पड़ी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी. एग्जाम हाल में एग्जाम देने से ज़्यादा मेरा दिमाग़ भाभी को चोदने में लग रहा था. मेरा पड़ोसी लौंडा मेरे पीछे आ गया और मेरी गर्दन को किस करते हुए मेरी चूची को दबाने लगा.

मेरा मन कर रहा था कि फिर से एक बार इस वासना के तालाब में पापा के लंड के साथ डुबकी लगा लूँ. गर्मी भी लग रही है, आप दोनों एक काम करो, सलवार कमीज़ रहने दो और साड़ी ब्लाउज उतार कर आराम से बैठो, यहां किसी को आना तो है नहीं, फिर बेवजह हिचक कैसी. इस तरह उसकी चूत मेरे लंड से छूने लगी और उसका चेहरा मेरे चेहरे के सामने था.

मैंने उसकी पैन्ट में लंड के पास देखा, तो उधर मुझे लगभग 9 से 10 इंच का कड़ा लंड का उभार नज़र आ रहा था.

उसके धक्के से मैं हिल जाती, तो बीस साल वाला लड़का मेरी नीचे को झुकती चूत को चाटने लगता. मिसेज रॉय के ऐसा करते ही कुछ फ्रेंड्स को बड़ा अजीब सा लगा और वे मेरी तरफ आश्चर्य से देखने लगीं.

मैंने उसको बताया कि मुझे भी उसी के घर के आगे की तरफ जाना है रास्ते में। वह अपने घर उतर जाएगी और मैं आगे चला जाऊंगा. रिशु इधर-उधर देखते हुए मिशिका के मुंह में लंड को अंदर बाहर कर रहा था. फिर वो कुतिया की तरह बिस्तर पर पोजीशन बना कर बोलीं- आ मेरे कुत्ते, अपनी इस कुतिया की चूत को अपने लंड से निहाल कर दे, आ मेरे लाल.

सोनम की मम्मी मेरे बाल पकड़ कर बोली- देखो कैसे कुतिया नंगी पड़ी अपनी गांड मरवा रही थी, छिनाल कहीं की. हम दोनों ने ठान लिया है कि जब तक हम दोनों की शादी नहीं होगी, तब तक मैं उसे चोदता रहूँगा. हम सबने थोड़ी देर वहीं होटल के गार्डन में बात की और फिर सब शाम का मिलने का बोल कर, कुछ देर आराम करने के लिए अपने अपने रूम में चल दिए.

बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म ये भी आपको बताया ही होगा दूसरों की इज्जत उछालने में तो पूरे तिवारी परिवार की पुरानी आदत है. वर्षा बोली- दीदी किशोर को दिन में क्यों घर पर बुलाया था?मैं कुछ ना बोल ना सकी, मुझे गहरा सदमा लगा था.

प्रियंका के सेक्सी

वो कलप कर बोली- थोड़ा दर्द होता तो मैं सह लेती, पर तुमने तो मेरी जान ही निकाल दी, थोड़ा धीरे चोदो, बुर भी तुम्हारी है और मैं भी तुम्हारी ही हूँ, एक रात में ही सारी जान निकाल दोगे, तो बाकी दो चार रातों तक चुदवाने के लायक भी नहीं रहूँगी, फ़िर अपना लंड पकड़ कर बैठे रहना. घर पर आकर मैंने कपड़े बदले और हॉल में सोफे पर आकर बैठ गया तो मेरी नज़रों के सामने राधिका आंटी की दिनभर की हरकतें आने लगीं और मैं उत्तेजित होने लगा. ये लोग बता रहे थे कि तेरी मां भी बहुत बड़ी वाली रंडी रह चुकी है, पर अभी उसमें मुझे कुछ दम नहीं दिखा.

दो दिन बाद मैंने भाभी के बाथरूम का नल ख़राब कर दिया ताकि भाभी मेरे बाथरूम में नहाने के लिए आए और मैं उनको नहाते हुए देख सकूँ. कौशल्या और गर्म हो गयी- आह्ह आअह्ह हम्म …फिर उसने मेरी धोती खोली और मेरे लंड को बड़े प्यार से चूसने लगी. चुदाई चुदाई वीडियोसुजाता के मन में पता नहीं क्या आया, वो बोलने लगी- रमेश जी आपका हक है … आप जो चाहोगे, मैं आज आपके लिए वो करूँगी.

उसकी चूत अच्छी खासी टाइट थी, कई महीने से चुदी नहीं थी, शायद इसीलिए मुंदी सी थी.

मैंने दूध पिया और कुछ ड्राई फ्रूट खाए, गर्म दूध पीने के बाद मेरे अंदर फिर जोश पैदा हो गया, मैंने भाभी को उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया और प्यार करने लगा. उनमें से एक का नाम था श्वेता था वो उनतीस साल की गदराई हुई मदमस्त जवानी थी.

मेरे लंड से जोरदार चुदाई के बाद कुछ ही देर में सुषी झड़ गई और मैं भी उसके झड़ने के बाद चार-पांच धक्कों के बाद झड़ गया. फिर उसने मुझे काफी बार लंड बाहर निकालने का बोला, पर मुझ पर उसका कोई फर्क नहीं पड़ा. दोस्तो, आपको मेरी पहली कहानीवाइफ की चुदाई इनकम टैक्स ऑफिसर सेइतनी पसंद आई, इसके लिए बहुत धन्यवाद.

अभी किसी को कुछ दिखाई नहीं दे रहा है, इस बात का फायदा उठा ले, जब लाइट आएगी तो उठ जाना.

उसे भी मेरी गरम सांसें अपने कान पर महसूस होने लगीं और वो भी कुछ अजीब सा बिहेव करने लगी. आंटी की उन मादक सिसकारियों और उनके चिल्लाने के कारण मैं भी ताव में आ गया था. मगर न जाने क्या हुआ, पैर उठाकर कपड़े उतारते वक्त प्रशांत का टावेल सरक कर नीचे जा गिरा.

हिंदी ब्लू फिल्म नईमैं अपने खड़े लंड को छिपाने के लिए एक तरफ घूम गया तो मामी ने पूछा- क्या बात हो गई मेरे प्यारे हैरी?मैंने कहा- आप मुझे मेरे प्यारे हैरी क्यों कह रही हो?मामी ने कहा- तुम मेरे एकलौते भान्जे जो हो. लेकिन मेरा अभी बाकी था … मैं चुदाई में लगा रहा और करीब दस मिनट के बाद मैंने लंड बाहर निकाला और कंडोम हटा कर लंड का माल उसके मम्मों पर मेरा माल गिरा दिया.

देहाती हिंदी सेक्सी ब्लू फिल्म

मैंने उसका लोअर उसके घुटने तक सरका दिया और फिर उसकी पैंटी की इलास्टिक को अपने दांतों से पकड़ कर नीचे खींचने लगा. मैंने पीछे हाथ ले जाकर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और बिना ब्लाउज़ उतारे उसकी ब्रा निकाल दी. मैंने अजय को देख अपने होंठ काटते हुए होंठों पर जुबान फेरी और उसे अपनी तरफ बुलाया.

माँ ने मुझे उनका फोन नम्बर दे दिया था ताकि मैं उनसे फोन पर बात कर सकूँ. उसके इस तरह से लंड घिसने से मुझे बड़ी कामुकता और व्याकुलता का अहसास हुआ जा रहा था. फिर मैंने कहा कि आपको मेरा लंड देखना है, तो आप पहले अपनी चूत दिखाओ.

आंटी और उसकी चूत आज तेरी है सौरभ … तेरा जो मन करे तू कर … निचोड़ सौरभ. उस हफ्ते में मुझे और एक बार चान्स मिला मैंने दीदी के साथ सेक्स किया. दोनों को आपस में खुलने भर की ही तो देर थी, नीना की चुदाई का प्लेटफार्म उसके सामने था.

और पीछे से तो कुंवारी थी, उसकी गांड का तो उद्घाटन भी मैंने ही किया. इस दौरान मेरा बायाँ हाथ उसके बालों पे था, जिससे मैंने उसकी गर्दन को पीछे को खींची हुई थी.

सच में कितनी सुन्दर लग रही थी वो, बस उसके चेहरे पर हल्का सा डर का भाव था, साथ ही उसके चेहरे पर मिलन को लेकर हल्की सी मुस्कराहट भी थी.

तभी एकदम से एक मिनट बाद ही जगत अंकल के लंड का पूरा रस मेरे मुँह में पिचकारी की तरह आने लगा. नंगी नहाती हुई वीडियोवैसे मैं पढ़ाई मैं ज्यादा तेज तो नहीं हूँ पर औरों के मुकाबले होशियार हूँ। मैंने उसे एग्जाम में मदद की और फिर हमारी दोस्ती गहरी होती गयी।उस साल मेरी किस्मत भी मेरे साथ थी क्योंकि इत्तेफाक से वो भी मेरे ही प्रक्टिकल ग्रुप में थी। मैं उसे मदद करने के बहाने उसे छू लेता, कभी उसके हाथ से मैं अपना हाथ टकरा देता तो कभी उसकी गांड के पास अपना लंड सेट कर देता. चुदाई की वीडियो चुदाई की वीडियोअब मुझे चुदना था लेकिन मुझे उसके तरह से सेक्स करने के बारे में ज्यादा कुछ नहीं मालूम था, तो मैं हमेशा उससे सेक्स के बारे में कुछ न कुछ पूछती रहती थी. मैं खड़ा ज़रीना का चेहरा देखता रहा, दर्द के मारे वो तड़प रही थी, पर संतुष्टि के भाव थे.

मेरी रानी अब मैं रोज तुम्हें ऐसे ही चोदूँगा, मैं भी सालों बाद चुदाई के मजे ले रहा हूँ … वो भी तुम जैसी गुद गुद और रसीली औरत से … आज से तुम मेरी पत्नी हो.

फिर मेरी पीठ ठोक कर बोली- शाबाश मेरे लाल। आज तू मर्द बन गया है। और मेरी बात याद रखना, तू एक दिन इतनी औरतों को चोदेगा, जितनी किसी ने सोची भी नहीं होंगी।मैं तो कुछ भी बोलने, या करने की हालत में नहीं था. करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उनकी चूत के अन्दर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. ‘आपके दोस्तों के साथ कार्यक्रम कैसा था … आपको देख के मज़ा आया?’‘तू मस्त चीज़ है, कमाल कर दिया.

मुझे भी मेरे रूम में छोड़ दिया गया … अब मैं सिर्फ और सिर्फ हितेश का इंतजार कर रही थी कि कब वो आए और हम दो जिस्म एक जान हो जाएं. उसने एक बार मेरे तने हुए लौड़े को पैंट के ऊपर से ही सहला दिया तो मेरे लंड ने एक जोर का झटका देकर अपना तनाव और ज्यादा बढ़ा लिया. बस मैंने उसको बोल दिया कि देखो धारा मैंने जब से तुमको पहली बार देखा था … तब से तुम मुझे पसंद आ गई हो और तुमसे शादी करना चाहता था, लेकिन जब मुझको पता चला कि हमारे बीच में दस साल का फासला है … तब मुझे बहुत ज़्यादा दुख हुआ और इसी वजह से मैं तुमसे शादी तो नहीं कर सकता, लेकिन एक बात का पक्का यकीन दिला सकता हूँ कि मैं तुम्हें इतना प्यार करूँगा कि तुम अपने पिछले सारे सभी दुख भूल जाओगी.

बीएफ सुहागरात की

उसका शाम को रिप्लाई आया- बस रहने दो … तुम बस फेंकते रहो, भला कौन थप्पड़ मरवा के गांड लाल कराये अपनी. इस बीच हम रोजाना तो नहीं लेकिन कभी कभी थोड़ी मस्ती आपस में कर लेती थी।एक दिन हमने रात को फिर मस्ती करने का प्लॉन बनाया। बहुत दिन से पति से दूर होने के कारण मैंने भी उसको हां बोल दिया लेकिन उस रात उसने कुछ नहीं किया बस घूम फिर कर आने के बाद चुपचाप ही सो गई. ये सोचकर सर गर्म हो गए और ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगे।फिर मैं चिल्लाई- हाय … सर मैं तो गइइइई … आऽऽऽहहह उफ़्फ़ …और मैंने कामुक सिसकारियों के साथ ही अपनी चूत का पानी छोड़ दिया।सर के मोटे लंड का घर्षण मेरी चूत में जब हो रहा था तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं उनके इस लंड से चुदती ही रहूं.

मैंने उसके लिए कमरे का दरवाजा खोला और उसको बाय बोल कर विदा कर दिया.

वो मादक स्वर में अपने हाथ से अपनी एक चूची पकड़ कर मेरे तरफ करते हुए बोली- ले चूस इसको.

असली एहसास तो मुझको हमारे हनीमून पे मिला, जहां उन्होंने मेरे एक एक अंग को भरपूर रूप से तृप्त किया और मेरे हर छिद्र का भेदन किया. गीता की चुचियां बहुत मस्त थीं और अब तक के खेल में उसकी निप्पल भी टाइट हो गये थे. ब्लू पिक्चर हिंदी में भेजोमैंने उसका एक पैर अपने हाथ में पकड़ कर ऊपर उठा लिया ताकि उसकी चूत सही पोजीशन में आ जाए.

एकता ने दराज में से एक कंडोम निकाला और मेरे लंड पर दोनों मिल कर चढ़ाने लगीं. मैं अभी और मज़ा लेना चाहता था, मैंने उनको लंड चूसने को कहा, पहले तो उन्होंने मना कर दिया लेकिन जब मैंने कहा कि आप चूसोगी तो ये और भी बड़ा हो जाएगा तो वो राज़ी हो गयी. जब मदन की मां मुझसे बात कर रही थीं तो, उनकी सांसों से साफ शराब की महक आ रही थी, शायद उन्होंने अपनी पार्टी में पी हो.

लेकिन मेरे शौहर के जाने के बाद मेरी जिंदगी में काफी बदलाव आ गया था. उस दिन क्रिसमस थी और कुछ बच्चों और मुहल्ले के लड़कों ने क्रिसमस का आयोजन किया था.

आंटी गर्म होने लगी और मेरे होंठों को चूसने में अपना पूरा सहयोग देने लगी.

निहारिका के साथ हुई नई घटनाओं की जानकारी मैं आपको समय-समय पर देता रहूंगा. एक दिन उसने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्ल फ़्रेंड नहीं है क्या?तो मैंने भी बोल दिया कि आज तक मुझे पसंद आ जाए, वैसी कोई मिली नहीं है. मैं घूम कर गीता के पीछे आ गया और उसकी दोनों चुचियां दबाते हुए उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

காமசூத்ரா செக்ஸ் வீடியோ मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मेरी चूत की खुजली को मिटाने में उसका लंड बड़ा ही मस्त मजा दे रहा था. अंकल ने मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार मेरी घुटनों में पैर के पास खिसक के आ गई.

मम्मी ने जब ये सब देखा तो उन्हें थोड़ा अजीब लगा, क्योंकि इससे पहले मैं कभी भी घर के लिए सब्जियां नहीं खरीदी थीं. फिर मैंने अपने लंड के टोपे को गांड के गुलाबी छेद पर लगा के जोर से अन्दर डालने लगा, तो उसने मुझे रोक दिया, बोली- दर्द हो रहा है रहने दो. मैंने सोनू से कहा- मैंने कब कहा है कि करना है? तुम इतनी क्यों घबरा रही हो? क्या तुमने पहले कभी किसी आदमी का लंड नहीं देखा है?उसने बताया कि उसने लंड देखा है.

एक्स बीपी बीपी

वह बोला- तो आपको क्या दिखाई दे रहा है मेरे अंदर?मैंने कहा- आपको देख कर कोई भी महिला आपसे दोस्ती करने के लिए तैयार हो सकती है. वैसे क्या निकालूँ?कल्पना- अपना वो …कल्पना को छेड़ने के लिए मैंने फिर से पूछा- मेरे लंड की बात कर रही हो क्या?उन्होंने हल्की सी स्माइल के साथ ‘हां कहा. वो कहने लगीं- ये सब क्या बोल रहे हो?मैंने उनसे कहा- मुझे चोदते वक्त गालियां देना अच्छा लगता है.

ऐसे झटके मारेगा तो चूत के चिथड़े उड़ जाएंगे। मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ कमीने, धीरे-धीरे नहीं कर सकता है क्या?मैंने कहा- सॉरी डार्लिंग, मुझे पता नहीं था कि तुम झेल नहीं पाओगी, अब धीरे-धीरे चोदूँगा।फिर मैं थोड़ा स्लो हो गया और धीरे-धीरे करने लगा थोड़ी देर बाद मैंने स्पीड बढ़ा दी. लगभग दस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गई। पर मैं अभी नही झड़ा था, फिर मैं भी कुछ देर के बाद झड़ने वाला था तो मैंने पूछा- कहाँ निकालूं?तो उसने बाहर निकालने को बोला.

इतने में ही नीचे से कब उसका हाथ मेरी लोअर पर जाकर मेरे लंड को टटोलने लगा मुझे इसकी खबर भी नहीं लगी.

अब तक की कहानी में आपने पढ़ा कि मैंने सलोनी का विश्वास जीत कर उसके जिस्म के साथ खेलना शुरू कर दिया. वो भी कुतिया की तरह अपनी गांड उठा उठा कर मेरे लंड का मज़ा ले रही थीं. पिंक कलर की ब्रा में क़ैद उसके सफेद रूई के दोनों गोले इतने कसे दिख रहे थे, जैसे ब्रा को तोड़कर बाहर आने को तड़प रहे हों.

मेरी सहेली तो अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाती रहती है और साली जब वो मुझे ओनी चुदाई के बारे में मुझे बताती है, तो मैं भी उसकी चुदाई की बातें सुनकर किसी से चुदवाने को आतुर हो जाती थी. हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए किस कर रहे थे, तभी होटल का वेटर दरवाजा खटखटाने लगा. आप लोगों के अच्छे कमेंट्स मिले, तो इसके बाद मैं एक और कहानी बताऊंगा कि कैसे मैंने एक शादीशुदा औरत की चुदाई की.

मैं कुछ नहीं बोल पाया तो आंटी ने ही बोल दिया- अच्छा हुआ सौरभ तू आ गया, मैं तो तेरे पास ही आने वाली थी रात के खाने के बारे में पूछने के लिए.

बीएफ फिल्म चोदा चोदी फिल्म: उस रात मैंने उसे तीन बार चोदा फिर सुबह चार बजे अंधेरे में ही उसके घर से निकल कर अपने घर वापस आ गया. तभी मेरे सामने उस आदमी ने अपने कपड़े निकले और मुझे खींच कर चोदना चालू किया.

बाद में भैया ने मुझे सीधा किया और अपना मूसल लंड मेरी चुत में डालने लगे. जरीना रोती हुई बोली- तुमने तो मार ही डालने का इरादा कर रखा है क्या? आराम आराम से नहीं कर सकते क्या? या यह कोई रबड़ का खिलौना है कि जैसे मर्जी वैसे तोड़ मरोड़ दिया?पर मैं बोला- मेरी इसमें क्या गलती है, तुम्हारी बुर है ही इतनी छोटी सी. थोड़ी देर बाद शिल्पा उस शोरूम से निकली और सीधे मेरी गाड़ी में आकर बैठ गई.

कुछ पलों में उसने अपनी पैंट की जिप बंद की और पलट कर मेरी तरफ बढ़ने लगा.

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि मैं किसी दूसरे आदमी से दूसरी बार ही चुद रही थी. कई बार सोचा कह दूँ; लेकिन एक बार कोमल ने ही पूछ लिया उसने कहा- भैया, आजकल आप अपसेट से लग रहे हो, क्या हुआ?मैं- बस यूँ ही मन नहीं लगता आजकल. मैंने सोचा कि क्या हो गया है आजकल की चूतों को? किसी को लंड लेने के लिए चुल नहीं मचती है.