एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बिहार का बीएफ समाचार

तस्वीर का शीर्षक ,

4g सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म, अब मेरी चूत भी हल्की गीली हो चली थी और पहले जैसा कुछ भी दर्द नहीं हो रहा था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ शॉट

यह मेरी सच्ची सेक्स कहानी है जो मैंने अन्तर्वासना पर आपके सामने पेश की. चोदा चोदी बीएफ वीडियो सेक्सीतो मैं समझ गई कि मुझे ही कुछ करना पड़ेगा, अपने बाप से चुदने के लिए मुझे अपना रंडीपना दिखाना ही पड़ेगा.

संजना- जब तुमने जान कहा न … तो तुम्हारी आवाज में इतनी कशिश थी कि मुझे तुमसे प्यार हो गया है. बीएफ वीडियो एचडी में फुलउसने सब्जी का काम बंद किया तो मैंने उसे अपने घर के काम के लिए रख लिया.

इन दोनों के लंड के लिए दोनों छेद एकदम फिट थे और वो दोनों ये फील भी कर रहे थे कि सपना एकदम टाइट आइटम है.एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म: एक दिन मेरा बागपत जाना हुआ तो मैंने उसको फोन किया कि मैं बागपत आया हूँ.

इससे अदिति सीत्कारने लगी और अपना दूसरा हाथ मेरे हाथ पर रखकर बोली- हर्षद, इस दाने को मत मसलो, नहीं तो मैं अभी ही झड़ जाऊंगी.वो मेरे ऊपर भूखी कुतिया सी झपटने लगी थीं, मुझे एक तरह से नौंच खसोट रही थीं.

बीएफ व्हिडिओ दाखवा - एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म

वो लड़खड़ाती हुई पीछे गिरने ही लगी थी कि मैंने तुरंत उसे थामते हुए उसे कमर से पकड़कर अपनी तरह खींचा जिस कारण मेरा लंड उसकी चूत के ऊपर जा लगा.लॉकडाउन से पहले हमने वहां काम शुरू किया था पर अगस्त तक काम रोकना भी पड़ गया.

उसके होंठ कभी मेरे नीचे के होंठ को, कभी ऊपर के होंठ को हल्के दबाव के साथ चूस रहे थे. एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म अब मैंने एक हाथ की उंगलियों से उसकी गीली गर्म चूत की फांकें दोनों तरफ फैला दिया.

काफी देर तक मैंने उसके दोनों दूध को बहुत बुरी तरह से चूसा और दबाया जिससे उसके दोनों दूध लाल टमाटर की तरह दिखने लगे.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म?

फिर जैसे ही वो नॉर्मल सी हुई, मैंने धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू कर दिया. उसने मुझे अन्दर ले जाकर कुछ सैट दिखाए, जिनमें से मैंने एक पीले रंग की ब्रा पैंटी ले ली. अब नहीं रहा जाता मुझसे … आह अपना मूसल जैसा लंड पेल दो मेरी चूत में!मैंने कहा- हां देविका … मेरा लंड जरा मोटा है.

उसका माल मेरी टांगों से होता हुआ बाहर निकल कर मेरे पैरों के नीचे तक बह गया था. कुछ ही देर में उत्तेजना चरम पर पहुंच गई थी और मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था. मैंने शॉवर बंद किया और तौलिया लेने के लिए जरा आगे बढ़ा ही था कि बाथरूम का दरवाजा अन्दर की तरफ खुला.

वो बोलीं- आप क्या कर रहे थे मेरे साथ?मैं थोड़ा घबरा कर बोला- भाभी मुझे भी नशा सा हो गया था, फिर आपकी बात सुनकर कुछ जज्बाती हो गया था. तभी देविका मेरे ऊपर चढ़ गयी और अपनी दोनों मुलायम जांघों में मेरा लंड जकड़ लिया, साथ में अपने पैर लंबे करके मेरे पैरों को सटा लिया. जब से मैंने इस साईट को पढ़ना शुरू किया, तब से लेकर आज तक साईट में बहुत चीजें बदली हैं पर एक चीज नहीं बदली.

अर्चना दीदी अपने भाई का आठ इंच का मूसल लंड गटक कर बेसुध हो गई थीं और कराहती हुई रोने लगी थी. लंड का ये रूप देखकर वो सोचने लगी कि इस अशोक लीलेंड टाइप के ट्रक की पार्किंग मेरी छोटी सी चूत में कैसे हो पाएगी?मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?तो उसने बोला- कुछ नहीं.

पहले तो वो नखरे कर रही थी पर …साथियो, मैं चन्दन सिंह!मेरी पिछली कहानीबहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेलामें आपने मेरी बहन की विधवा जेठानी नंदा की चुदाई की घटनाएँ पढ़ी.

चूंकि इतनी देर में मैडम की चूत एक बार झड़ गई थी जिससे वह काफी थक गयी थीं … लेकिन तब भी मेरे काम में मुझे सहयोग कर रही थीं.

सोनाली बोली- मेरी शादी के बाद अभी तक मेरी चूत से जितना चुतरस मेरे पति ने नहीं निकाला, उतना तो तुमने कल रात और अभी इतना सारा चुतरस निकाला है हर्षद. उनके पति ने ही मुझे अपने घर बुलाया था और शरारत भी उन्होंने शुरू की थी. हॉट इंडियन भाभी की चुदाई कहानी सब्जी बेचने वाली एक सेक्सी लेडी की है.

तब वो डॉगी स्टाइल में हो गयी और कहने लगी- मैंने सुना है डॉगी स्टाइल में गांड मरवाने में कम दर्द होता है. सरिता हंसती हुई मुझसे मेरे कान में बोली- हर्षद … मेरी दीदी से बचके रहना. छोटी कमर और गदरायी हुई बाहर को निकली हुई गोल मटोल छत्तीस इंच की गांड देखकर मेरा लंड तनाव में आने लगा था.

उधर मैंने अनुषा के लिए लिया हुआ सब सामान रखा और एक सिगरेट पी कर कुछ देर बाद घर आ गया.

आधे दिल की आकार के कान और उनमें छोटी छोटी बालियां, लंबी गर्दन और उसमें एक पतली चैन. वो ‘आहह आह हहह और जोर से और ज़ोर से …’ चिल्ला चिल्ला कर मस्ती में चुदवा रही थीं. कुछ देर बाद भाभी ने भैया के लंड को थोड़ी देर के लिए मुँह में लिया और उसके बाद वो लंड पर बैठ कर उछलने लगीं.

मेरा एक हाथ उसकी कमर पर चल रहा था और जीभ ने गर्दन और उसके होंठों का बुरा हाल कर रखा था. फ़लक ने मेरे लंड को मुँह से बाहर निकाल दिया और वो उत्तेजना अमे बड़बड़ाती हुई बोलने लगी थी ‘आह अगम मैं आ रही हूँ … आंह मर गई … आह …’फिर जैसे ही उसने झड़ना शुरू किया तो उसने तेजी से पूरे लंड को मुँह में भर लिया और इतनी तेजी से चूसने लगी कि मुझको लगा, जैसे ये मेरे लंड को ही उखाड़ कर अलग कर देगी. शायद बहुत समय से उसने सेक्स नहीं किया था और उसे इस बात का अहसास नहीं था कि मैं आज ही उसकी चुत में हाथ लगा दूंगा.

इसी क्रम में अचानक से मेरी पेशाब झर झर करती हुई निकल गई और वह अमृत की तरह सब कुछ पी गया.

आप इमेजिन ही कर सकते हैंवो वहीं अपने किचन के पास खड़ी हुई थी, साड़ी का पल्लू नीचे गिरा कर हाथ दोनों उठा कर अंगड़ाई ले रही थी. तभी पीछे से आवाज आयी- अरे सुनिए मेमसाब!मैं जैसे ही पीछे मुड़ी तो देखा वह हमारे दरवाज़े के अन्दर पहुंच चुका था और उसने अपनी धोती जानबूझ कर गिरा दी.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म मैं जवान हूँ तो अपनी जवानी कायम रखूंगी और जवानी तब कायम रहेगी जब मैं पराये मर्दों से चुदवाऊंगी. वो बोली- सर कुछ सामान पहुंचाने के लिए स्टाफ का लड़का है, वो अभी सामने वाले हॉस्पिटल में सामान देने गया है.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म कुछ ही देर में भाभी की चूत रो पड़ी और भाभी की मदमस्त आहें निकलने लगीं. मॉम- आह आह चोद दे मेरी जान … मेरे यार … पेल दे अपना लौड़ा अपनी मॉम की चूत में!उसकी बाईं जांघ और दाईं चूची के काले तिल का मैं दीवाना हूं.

उसने अपनी टांगों से मेरी कमर को जकड़ कर मुझे अपनी ऊपर खींच लिया और कराहती हुई बोली- ओह हर्षद, अब मैं झड़ने वाली हूँ.

बीएफ सेक्सी डब्लू डब्लू डॉट कॉम

वो बोली- उनको ये सब करते शर्म नहीं आई होगी?मैं बोला- इसमें शर्म की क्या बात है?ये सुन कर वो कुछ बोली नहीं. शायद आंटी ने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी जिस वजह से उनके हिलते हुए चूचे और कड़क निप्पल मुझे कामोत्तेजित कर रहे थे. तकरीबन आधा घंटा से ऊपर चली इस डबल चुदाई के बाद मेरी चूत दो बार झड़ गई थी.

मैंने अंकल से थोड़ा हट कर कप उठाया तो अंकल ने धीरे से कहा- थोड़ा और खौलाओ न!मैंने उनका इशारा समझ लिया था. तो मैंने उसे अपनी गोद में उठाया, उसने एक हाथ से मेरी गर्दन को पकड़ लिया और अपने दोनों पैरों से मेरी कमर के आसपास कुंडली मार ली. मैंने उसकी चूत मैं टोपा फंसाया और लेट कर उसके हाथों को अपने हाथ में पकड़ लिया.

जब वो भैसों के काम से अपने घर से निकल कर हमारे घर के सामने वाले कमरे पर आती थी तो मैं उसी टाइम घर के बाहर बैठ जाता था.

फ्रेंड्स, मैं आपकी रंगीली पूनम पांडेय एक बार फिर से चुदाई कहानी का मजा देने के लिए हाजिर हूँ. नंदा ने अपना गिलास खाली करके मुझे देते हुए कहा- चलो अब बाहर चल कर कुछ नाश्ता कर लेते हैं. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है देसी भाभी की चूत चुदाई की … मुझे उम्मीद है कि आप लोग इसे पसंद करेंगे.

वैसे तो मैं बहुत बार चुद चुकी हूँ मगर मेरी फुद्दी में हमेशा खुजली मची रहती. तब मैंने पूछा- क्या तुमको ज्यादा चोट लग गई है?वो बोली- हां … पीछे कमर के पास दर्द हो रहा है. यह देख कर कालू बोलने लगा- वाह मुनिया क्या बात है तुम्हारी चूत तो आग के साथ साथ अमृत भी उगल रही है.

सोफे की तरफ मेरी पीठ थी और मैंने झुककर तौलिया उठाया, उसके बाद मैंने एक उंगली से अपनी चड्डी को ठीक की, जो कि मेरी गांड के दरार पर घुस गई थी. मैंने लंड सहलाते हुए पूछा- अब तुम मेरे निजी सामान के बारे में अपनी राय बताओ.

वो और जोर से आवाज निकाल रही थी।थोड़ी देर बाद दीदी ने मुझसे पूछा- सेक्स करोगे मेरे साथ?ये सुनकर तो मुझे और पसीना आने लगा, मैं चुप रहा।दीदी ने अपना लोवर उतार दिया और मुझे भी उतारने को कहा. मैंने पलट कर अञ्जलि को देखा, तो उसने मुस्कुराते हुए नज़रें नीची कर लीं और अपने पैर के अंगूठे से फर्श कुरेदने लगी. नीता मादक सिसकारियां लेते हुए मेरी गांड पर अपने हाथ रखकर दबाने लगी थी.

मैंने आंखें खोलकर देखा तो सोनाली बेड से नीचे उतरकर अपनी नाईटी निकाल रही थी.

कुछ देर ऐसे ही उसके मुँह को चोदने के बाद मैंने उसके मुँह पर 3 बार थूक कर इशारा किया कि मेरा होने वाला है. हम दोनों ही थक चुके थे, तो ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में कुछ मिनट लेटे रहे. डांस करना और गाना गाना भी लड़कियां सीख जातीं हैं जैसा कि इस शहर का कल्चर है.

वो मेरी मुँह से चुदाई शब्द सुनकर मेरी तरफ देखने लगी और फिर हंस कर अपने होंठ काटने लगी. उसने एक मनमोहिनी मुस्कान के साथ मुझे चाबी दी और बोली- आपकी चाबी?मैंने बोला- जी मेरी चाभी नहीं, नीचे वाले फ्लैट की चाबी.

[emailprotected]स्कूल स्टूडेंट सेक्स लाइफ का अगला भाग:मेरे गांडू जीवन के कुछ यादगार पल- 2. उनका पेटीकोट भीगा हुआ था, वो शायद पौंछा लगा रही थीं जिसकी वजह से वो बेड के नीचे घुस सी गई थीं. सोनाली कामुक सिसकारियां लेती हुई बोली- आंह हर्षद, पहली बार इस तरह कोई मेरे निपल्स चूस रहा है.

बीएफ 16 साल का

मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और उनकी जीभ को चाटना और चूसना शुरू कर दिया.

ये कहते हुए उसने तौलिया खींच लिया और अपने मुलायम हाथों में मेरा लंड लेकर बोली- बाप रे … कितना लंबा और मोटा है तुम्हारा हर्षद. हम दोनों की सांसें तेज हो गयीं।फिर मैं धीरे धीरे उसके कपड़े उतारने लगा और उसके बदन को चूमने लगा।उस दिन वो टाइट कुर्ती और सलवार में थी. अञ्जलि ने भी अपने बालों को बल देते हुए घुमाया और अपना जूड़ा कस कर बांधने के बाद, वहीं रखे हुए, वॉटर प्रूफ हेड कवर से अपने बालों को ढक लिया.

उस पोजीशन में हम दोनों ने 5 मिनट तक चुदाई की और फिर सविता अलग हो गई. मेरे झड़ जाने के लगभग 5 मिनट के बाद उसने दुबारा से लंड चूसना शुरू कर दिया. जोधपुरी बीएफसोफे की तरफ मेरी पीठ थी और मैंने झुककर तौलिया उठाया, उसके बाद मैंने एक उंगली से अपनी चड्डी को ठीक की, जो कि मेरी गांड के दरार पर घुस गई थी.

सोनाली बोली- वो कैसे?मै सोनाली के ऊपर सीधा लेट गया और उसके कान में कहा- बताता हूँ सब. दोस्तो, कैसे हो आप लोग!मैं अनिता शर्मा एक बार फिर अपनी गर्म Xxx कहानी लेकर हाजिर हूँ.

हम दोनों ने उस दिन एक बार और चुदाई का मजा लिया फिर मैं अपने घर आ गया. मेरी गर्म वीर्य के पिचकारी अहसास होते ही सोनाली की चूत ने अपना लावा छोड़ दिया था. ये मेरी जिन्दगी का पहला अवसर था जब मैंने अपनी रिश्ते की कुंवारी बहन की सीलतोड़ चुदाई की थी.

जिस्म की आग तो मेरे अन्दर भी लगी हुई थी और मैंने भी उनको जलाना शुरू कर दिया और मैं जानबूझकर उनके सामने झुककर काम करने लगी, जिससे मेरे बड़े बड़े गोरे दूध उनको नजर आए. बीच बीच में मैं उसके गालों और होंठों को चूमता जा रहा था और वो भी अपनी जीभ निकाल कर मेरे मुँह में डाल रही थी. चूंकि मम्मी की गांड पहले से खुली हुई थी, इसीलिए मैं जोर जोर से धक्के देने लगा था.

कुछ मिनट बाद मास्टर का लंड फारिग हो गया और उसने पूरा माल भाभी की गांड के अन्दर गिरा दिया.

मैंने सोचा कि अगर इसे दिक्क्त होती, तो ये हाथ लगाते ही चीखने चिल्लाने लगती. पापा जब तक कुछ समझ पाते, उसने एक पल में ही पापा के लंड को अपनी चूत में समा लिया और आंह आंह मर गई करती हुई ऐसा जताने लगी जैसे इतना मोटा पहली बार लिया हो.

राजस्थानी सेक्स कहानी के पहले भागगोरी भाभी को नंगी देखने की लालसामें अभी तक मैंने आप लोगों को बताया था पहली बार किसी ने मुझे एक दो दिन के लिए नहीं, बल्कि पूरे एक सप्ताह के लिए बुलाया था. मोनिका भी अपने बेडरूम में चली गयी और उसने मुझे फोन करके पूछा- क्या हुआ भाभी?मैं बोली- तुम सोने का नाटक करो, वो ज़रूर आएगा और नहीं आया तो मैं उसके पास चली जाऊंगी. तभी मैंने पास में घोड़े बेच कर सो रहे सुमंत और महंत को जोरदार लातें मार दीं.

चूतिया हस्बैंड से सेक्स की परमिशन मिलने के बाद मैं उठी और दरवाज़ा खोल दिया. मैं मस्त होकर आवाज निकालने लगी- उफ मादरचोद … और मार थप्पड़ … आज मैं तेरे लिए एक रंडी हूँ … उफ साले मार!बलदेव- ले मेरी कुतिया, साली रंडी भैन की लवड़ी. वे हमारे घर कम ही आते हैं पर फिर भी मेरी थोड़ी बहुत दोस्ती हो गई थी अंकल से। मैं उनके साथ बैठ कर वाइन भी पी लेती थी लेकिन कभी इसके आगे नहीं बढ़ी।मैंने सिर्फ एक मैक्सी पहन ली.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म पापा ने पीछे से अपना लंड एक झटके से चूत में डाल दिया और मजे लेने लगे. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और धीरे से कहा- ज्यादा हल्ला नहीं करो, कोई आ जाएगा.

यूपी के बीएफ पिक्चर

उन्होंने मुझसे कहा- मैं एक सप्ताह के अन्दर फाइल में जरूरी कागजों पूरा करके दुबारा से अप्लाई करूंगी. कुछ देर में मम्मी ‘आहह हह …’ करती हुई पापा के मुँह को जोर से अपनी चूत में दबाने लगीं. मैंने कहा- गलती मेरी है, मुझे कुंडी लगानी चाहिए थी, लेकिन मुझे लगा कि यहां तो मैं अकेला ही तो हूँ, इसलिए नहीं लगाई कुंडी.

जब मौसी ने मेरे कंबल को अपनी तरफ खींचा और अन्दर से पकड़कर सही करने लगीं. बाहर जोरों से बारिश हो रही थी और ठंडी हवा की लहरें खिड़की से आकर हम दोनों के नंगे जिस्मों को और कामुक बना रही थीं. बीएफ पेशाब करने वालीपापा ने पीछे से अपना लंड एक झटके से चूत में डाल दिया और मजे लेने लगे.

मैंने उसको घर छोड़ते हुए पूछा- जानेमन, अबचूत की सवारीकब कराओगी?जवाब में वो बोलीं- बहुत जल्द ही मेरे राजा.

उसको अंदाज नहीं था कि उसके पीछे से डलने वाला हथियार कौन से ब्रांड का है. छठे दिन उन्होंने मेरे घर वालों को बताया- मेरे पति की रिपोर्ट अब नेगटिव आ गई है.

पर मेरी फूटी किस्मत कि हड़बड़ी में मेरा पैर फिसल गया और मैं वहीं बैठक के सामने गिर पड़ी. मेरे नंगे होते ही सुमैत्री ने झट से मेरा लंड अपने हाथों में ले लिया और बोली- ओह जानू … तुम्हारी सुमैत्री की चूत तुम्हारे लंड के लिए कितनी प्यासी है. चाची के बाद जब मैं मम्मी से गले लग कर मिला तो मेरा लंड मेरी मम्मी की चूत के पास ही लग रहा था.

समय की नजाकत को समझते हुए दोस्त ने और मेरी पत्नी ने सब बन्द कर दिया.

उसे आनन्द मिलने लगा और उसने अपने नितम्बों को ऊपर-नीचे करना शुरू कर दिया. चूंकि हम दोनों मस्ती कर रहे थे तो शायद भाभी का ध्यान इस बात पर नहीं गया. अमन- चाची, तेल कहां तक लगाना है?मैं- मेरी सारी टांगें दुखती हैं इसलिये सारी टांगों पर ही तेल लगा दो.

रवीना टंडन का बीएफ वीडियोआज जो कहानी मैं आप लोगों के साथ साझा करने जा रही हूं, यह पूरी तरह से सत्य घटना है और अभी 2020 की ही है. फिर मैंने भाभी की टांगों को फैलाया और उनकी चूत को चाटना चालू कर दिया.

बीएफ बीएफ गाना

ये सुन कर मेरे अन्दर भी जोश आ गया और मैंने अपने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी. मेरे पति मुझे बहुत प्यार करते हैं और हमारी सेक्स लाइफ भी बहुत अच्छी है. भाभी की उम्र 38 साल जरूर थी लेकिन वो बहुत ही जवान और सेक्सी भाभी थीं.

मैं भी एक टाइट टीशर्ट और नीचे चड्डा पहन कर ही गया था ताकि आसानी हो. करीब 20 मिनट नहाने के बाद मैं चड्डी और ब्रा पहनी और अपनी चड्डी को और ऊपर की ओर सिकोड़ ली, जिससे कि मेरे बड़े बड़े चूतड़ चड्डी के बाहर निकल आए. वैसे मुकेश उसे कई महीनों से चोद रहा था तो वो गदराये बदन की मालकिन बन गयी थी.

फिर खाना खाने के बाद जब हम दोनों बेड पर आए तो दोनों से ही रहा नहीं जा रहा था. चंडीगढ़ पढ़ाई के लिए आया तो मकान मालकिन से दोस्ती के बाद सेक्स का मजा मिला मुझे!जब मैं करीब बीस साल का था, उस वक्त मैं बारहवीं उत्तीर्ण करके घर से बाहर रहने के लिए चला गया. एक हाथ से लंड और दूसरे हाथ से मेरे टट्टे सहलाते हुए रेशमा की जीभ मेरे सुपारे की जबरदस्त तरीके से मालिश करने लगी.

इसे ज़ोर ज़ोर से दबाओ मेरी जान … मुझे अपनी पत्नी बना लो … उम्मम अहहह. अगले दिन मेरे शौहर ने मुझे हमल रोकने की दवा लाकर दी क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि मेरे पेट में किसी गैर मर्द का बच्चा आये.

मैं कुछ पल बाद उसके हाथ को अपने लंड पर ले गया लेकिन उसने हाथ हटा लिया.

हम दोनों ने कैसे फटाफट चुदाई का मजा लिया?साथियो, मैं आपका दोस्त हर्षद मोटे आपके लंड चूत में आग लगाने के लिए पुन: हाजिर हूँ. ऑल इंडिया बीएफमैंने कहा- यार, अभी तो मैंने अपने लंड का आधे का आधा भी अन्दर नहीं घुसाया है और तुम ऐसे कर रही हो. मियां खलीफा का बीएफ वीडियोअब आगे Xxx गांड चुदाई कहानी:उस दूसरे बाबा ने मेरी गांड के छेद में खूब सारा थूक भर दिया और अपना लंड का टोपा मेरी गांड के छेद पर रख दिया. फिर वो वक़्त आया, जब मैंने अपने लंड को एक ज़ोर का झटका मारकर उनकी चूत में प्रवेश करा दिया.

वो जोर जोर से अपनी मामी को चोदने लगा और गाली देने लगा- साली हरामिन … चूत चुदवानी थी … तो नाटक क्यों किया.

मैं- तभी आप उनको मटका कर चलती थीं न!वो- नहीं, ऐसी बात नहीं … खुद ही वो हिलते हिलते पता नहीं कैसे इतने बड़े हो गए!मुझको लगा कि लोहा गर्म है. अपने सिर फ़टे को उसकी चूत पर दबाते हुए उसके रसीले खूबसूरत लबों के भरे प्याले को अपने होंठों से अभी थामा ही था कि तभी मेरे फ़ोन की घंटी बजी और सारे काममय ख्याल की तन्द्रा भंग हो गई. मैंने कहा- हां हां, कह तो दिया है कि वहीं नंगी होकर मेरे पापा के लंड से चुद लेना … उनके साथ रंडी की तरह खुल कर हमबिस्तर हो जाना.

हम दोनों इतने उत्तेजित हो गए थे कि हमें यह भी ध्यान ना रहा कि हमने दरवाज़ा खुला ही छोड़ दिया था. मैंने रूम में आते ही अपने कपड़े निकालकर रख दिए और पूरा नंगा हो गया था. बहुत समय से मैं अपनी इस ओरल सेक्स पोर्न स्टोरी को लिखना चाहता था, पर कभी समय ही नहीं निकल पाया.

सेक्सी बीएफ बिहारी चुदाई

पतली कमर पर गोल गोल कटोरे जैसे भारी चूतड़ और चिकनी मोटी मोटी कदली जैसी जांघों को बीच पावरोटी की तरह फूली और सुनहरे रोएंदार गुलाबी बुर अपना जलवा बिखेर रही थी. हॉट स्टूडेंट पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लासमेट मुझे अपने घर ले गयी. मैं अपने हाथों में उसका लंड लेकर हिलाने लगी।और मेरे लम्बे सीधे बाल उसकी जांघों और लंड के आस पास थे। जिनसे उसको गुदगुदी सी महसूस होने लगी.

हम दोनों ही थक चुके थे, तो ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में कुछ मिनट लेटे रहे.

मैं समझ गया कि भाभी चूत चुदाने के लिए बिल्कुल तैयार हैं, बस मुझको भाभी के पास लंड लेकर जाना है.

वो बाहर निकली, उनके निकलने के बाद में बाहर आया और दोनों साथ सीढ़ियां चढ़ते हुए साथ में ऊपर चलने लगे. मैंने सुमैत्री को अपनी बांहों में भर लिया और उसकी पीठ को सहलाने लगा. इंडियन बीएफ पिक्चर एचडीफिर वो अपना एक हाथ नीचे ले जाकर मेरे पेटीकोट के अन्दर डालने लगे लेकिन मैंने उनका हाथ पकड़ लिया.

सोनाली मेरे पास आकर झुककर चाय देने लगी तो मैंने उसके स्तन देखकर कहा- मस्त हैं. मैंने कहा- ठीक है, कुछ खाने को भी लाना है क्या?वो बोली- हां अंगूर ले आना. फिर उन्होंने माँ के पेटिकोट का नाड़ा खोला जिससे उनका पेटीकोट नीचे गिर गया.

मैंने उसे अपने सीने से चिपका लिया और सविता ने भी मुझे कस कर जकड़ लिया. सोनाली ने झड़ते ही मुझे अपने ऊपर चिपका लिया और साथ में अपने दोनों पैरों से मेरी गांड को कस लिया, मेरे लंड का दबाव वो अपनी चूत पर बनाए रही.

उसकी चूत देखने से ऐसा लग ही नहीं रहा था कि वो किसी भारत की लड़की की चूत है.

शब्बो थोड़ी सी झुककर मालिश कर रही थी तो उसके चूचे वीरू के लौड़े पर दब रहे थे. अब मैं नीचे आ गया और वो मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर मेरे ऊपर बैठ गई. दोस्तो, लम्बी मेहनत के बाद जब मुझे सरकारी विद्यालय में एक अध्यापक की नौकरी मिली तो ऐसे लगा जैसे मेरा बचपन का ख्वाब पूरा हो गया है.

लड़कों वाला बीएफ मैंने उनकी तरफ खिसकते हुए कहा- आप ऐसा क्यों बोलती हो? आप तो बहुत अच्छी हो, जिसने आपको छोड़ा, किस्मत तो उसकी खराब है. तीनों चूत वालियों को नंगी देखने के बाद हम सब अपनी अपनी लड़की को लेकर अलग अलग कमरे में चले गए.

क्या मैं कल तुमसे मिलने की उम्मीद कर सकता हूँ?उसने कहा- कल की कह नहीं सकती. पेशे से मैं एक कॉल बॉय हूँ, मैं कॉलेज गर्ल, हाउस वाइफ, भाभियों और आंटियों के जिस्म की प्यास बुझाने का काम करता हूँ. उसने मेरे पूरे शरीर को चूमते हुए मुझे अपना लंड चुसाया और मुझे घोड़ी बना कर सुबह की शुरूआत चुदाई से कर दी.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी

जब मैंने धक्का देकर सुपारा अन्दर किया तो वह मुँह तो बना रहा था पर उसने आवाज नहीं निकाली; चुपचाप लंड ले लिया. कुछ ही देर में ललिता भाभी अपनी गांड को मस्ती से लौड़े पर पटकने लगीं और कहने लगीं- आहहह आहहह … राज कितना अन्दर तक जा रहा है, सच में मेरी प्यास बुझ गई है. Xxx चूत की कहानी मेरे पति के भतीजे से मेरी चूत की चुदाई की है, मेरी वासना की पूर्ति की है.

मिहिका बोली- तो फैर के इरादा है!मैं बोला- मेरा तो नेक इरादा है, तुम बताओ. ’‘सर जवाब नहीं दिया आपने?’‘यार तुझको देख कर तो पूरे कॉलेज का खड़ा हो जाता है.

अब मैंने तनिक भी देर करना उचित नहीं समझा और अपने खूँटे जैसे खड़े सात इंच लम्बे लंड को बाहर निकाल कर उसकी बुर के मुहाने पर रख दिया.

स्नेहा- क्या मतलब है तुम्हारा?मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके सामने ही हिलाने लगा. फर्स्ट नाईट Xxx कहानी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपनी कुंवारी दुल्हन की नाजुक चूत को सुहागरात में अपने लंड से फाड़ा. नीचे संगमरमर की तरह तराशी हुई गहरी नाभि के साथ लचकती कमर … आह क्या कहने थे.

उसके मुँह से इतना साहित्यपूर्ण प्रवचन सुना तो मेरे होंठों पर मुस्कान आ गई. मेरे भैया जयपुर में एक बड़ी कम्पनी में काम करते हैं इसलिए उनका घर आना काफी कम ही होता है. ऐसा क्या जादू कर दिया आपने उन पर?जब वो मुझसे चिपकी हुई थी तो मेरा लंड फुंफकारने लगा.

मेरा लंड इतना बड़ा था कि वह पूरा लंड अपने मुँह के अन्दर नहीं ले पा रही थीं.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ फिल्म: मेरी इस हरकत से नीता चौंककर बोली- हर्षद, ये क्या कर रहे हो, अभी तक तुम्हारा दिल नहीं भरा क्या?मैंने उसके कंधे पर अपना सर रखते हुए उसके गाल को चूमकर कहा- नहीं भरा नीता. कुछ ही पलों में मेरा समूचा लंड चाची की चूत में खो गया और चाची अपनी चूचियां मेरे सीने पर झुलाने लगीं.

उसे आनन्द मिलने लगा और उसने अपने नितम्बों को ऊपर-नीचे करना शुरू कर दिया. लेकिन सुमैत्री मेरे लंड को अभी भी मस्ती से सहन नहीं कर पा रही थी और आहें भर रही थी ‘आअह उफ्फ …’मैं नीचे हाथ डालकर उसकी चुत का दाना रगड़ने लगा. जब हमने पहली बार एक दूसरे के होंठ चूसे और जब मैंने उसे पब के टॉयलेट में ले जाकर लंड चुसवाया, तब से अब तक वो मुझसे कभी दूर नहीं हुई थी.

वो मोटी महिला जब मेरे घर पर आ गई तो मैंने उसके बच्चों के लिए दूध वगैरह का इन्तजाम किया.

‘आअहह हह हम्म्म्म अम्म्मीईई …’उसकी करहाने की आवाजें सुनकर मैं रेशमा से बोला- साली रंडी, इतना क्यों चिल्ला रही है कुतिया, कहीं बाहरवालों ने सुन लिया तो पूरी ट्रेन छोड़कर यहीं तेरा चुदाई का सिनेमा देखने आ जाएंगे. पानी का गिलास ख़ाली कर ही रहा था कि तभी साबिरा की अम्मी का मोबाइल बजा. मैं अपने घुटनों के बल आ गई और जोर जोर से उसके लंड को मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी.