देवर की बीएफ

छवि स्रोत,बच्चा पैदा होने वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बालाजी के भजन राजस्थानी: देवर की बीएफ, दरवाजा बंद करते हुए मुझे पीछे से पकड़ा, अंकल मेरी गर्दन पर पीछे से किस करने लगे और अपना लंड मेरे कूल्हों पर घिसने लगे.

लड़की के सेक्सी बीएफ वीडियो

मेरा एक हाथ उनके मम्मों पे जम गया और दूसरा हाथ उनकी पैंटी में घुसने की कोशिश करने लगा. सेक्सी बीएफ हीरोइन कीमैं विक्की के ऊपर ही लेट गयी और कुछ देर बाद विक्की का लंड सिकुड़ कर बाहर आ गया.

मैं सिर्फ अंडरवियर में रह गया और मैंने अपना 6 इंच का खड़ा हुआ लंड परवीन के हाथ में दे दिया. जापानी लड़कियों का बीएफकोमल बोली- ताऊजी, आप मुझे नंगी क्यों कर रहे हो?लेकिन उसकी बात का असर ताऊ जी पर कुछ भी नहीं पड़ रहा था.

मैंने चाची के मुंह पर हाथ रख दिया ताकि उनकी आवाज घर के बाहर न जा सके.देवर की बीएफ: मैंने लंड का सुपारा उसकी चूत की फांकों में घिसा और उसके दोनों दूध को पकड़ कर लंड उसकी चूत में रगड़ने लगा था.

अब कभी मैं उनकी टांगें उठा उठा के पेलता … तो कभी चुम्मी लेकर चुदाई करता.फिर 2013 के अंत में एक बार हम दोनों सक्रेबल गेम खेल रहे थे तो मैंने अक्षर लेकर उसे ‘आई लव यू …’ लिखकर दे दिया.

काले लंड वाली बीएफ - देवर की बीएफ

फिर मैंने उसके टॉप को उतरवा दिया और उसकी ब्रा को निकलवा कर उसके सेब जैसे बूब्स को नंगा कर दिया.मैंने देखा कि हमारी सीट सबसे ऊपर वाली लाइन में थी, जिसमें हम दोनों के अलावा कोई नहीं था.

मुझे देख कर लगा कि भाभी शायद मुझे दिखाने के लिए जानबूझ कर पहन के आई थी. देवर की बीएफ मगर समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं इसको छिपाने के लिए!मैंने सुमिना की तरफ देखा तो वो अपने फोन में लगी हुई थी.

”मोहरे जैसी कोई बात नहीं वसुन्धरा जी! सभी, आप के मम्मी-पापा और मैं भी, मैं खुद भी चाहता हूँ कि आप एक खुशहाल और भरी-पूरी जिंदगी जियें.

देवर की बीएफ?

मैंने पूछा- नम्रता डर तो नहीं लग रहा है?नम्रता बोली- जानू, सुहागरात की फीलिंग आ रही है, जब मेरे पति मेरी चूत को चोदने के लिये मुझे तैयार कर रहे थे और मेरा दिल बहुत तेज-तेज धड़क रहा था और …तभी फक से सुपारा अन्दर चला गया और नम्रता के गले से चीख बाहर आ गई. जैसे ही दीदी ने मूतना चालू किया, मैंने मुँह खोल कर पूरा मूत पी लिया. मेरी चूत को सहलाते हुए उसने पूछा- तुम्हें भी ऐसे दर्द का मजा लेना है क्या?मैं उसकी बात सुनकर हँस पड़ी.

अब उसे चुदवाने का भूत चढ़ा था तो वापिस एक बार उसने मेरे लंड को अपने मुँह से सहलाना शुरू किया और इस बार तो वो लंड के साथ साथ गोटे भी चूसने लगी. अब कॉफ़ी की जलन तो कम हो गयी थी पर अंदर काम ज्वाला भड़क गयी थी, राहुल के हाथों में रजनी के बड़े बड़े मम्मे थे. वो बोली- राज तुम दिल से तैयार तो हो न … मेरे लिए सब कुछ कर रहे हो! आई लव यू माय डार्लिंग.

मेरे हर धक्के के साथ उसकी तेज स्वर में ;गूं गूं हम्म गूं उम्म्म …’ की आवाज निकल रही थी. अगर मैं किसी फिल्मी हिरोइन से उसकी तुलना करूं तो वो बिल्कुल श्रद्धा कपूर के जैसी दिखती है. यह कहानी मेरी और मेरी देसी पड़ोसन की है, जिसको मैंने सैट करके चोदा था.

ज्यादा उत्तेजना के कारण जल्दी ही स्खलित होने का भी भय था इसलिए धीरे-धीरे ही आनंद लेने की कोशिश कर रहा था. उसके साथ मेरे सेक्स सम्बन्ध कैसे बने और इसमें मेरी सहेली की क्या भूमिका रही, इस सबके बारे में मैं खुल कर अगले भाग में लिखूंगी.

फिर ताऊ जी ने तेल के डिब्बे से तेल निकाल कर पहले कोमल की चूत को तेल से पूरी तरह से भिगो दिया.

मानो अभी भी हम दोनों एक दूसरे के अन्दर समा जाने की तमन्ना रखते हों.

मेरी जांघों पर बैठती हुई वो मेरे लंड को अपनी चूत में सेट करने लगी और लंड को अपनी चूत पर लगाकर उछलने लगी. माय गॉड … कसम से क्या माल लग रही थी वो … मैं उसे नीचे से लेकर ऊपर तक देखता ही रहा गया. अब कभी उसका हाथ ऐसी वैसी जगह लग जाता तो रीमा बस हंस कर कह देती- सब समझ रही हूँ … तुम फीस वसूल कर रहे हो.

मैंने बार से दो वोडका आर्डर की और खाना ऑर्डर करके सीमा का वेट करने लगा. मैंने उन एक सालों में जो मज़े किए, जो प्यार मुझे मिला, वो दिन मैं कभी भूल नहीं सकता. मैं भी सीमा भाबी के सामने खुल कर चुदाई भरे शब्द इस्तेमाल करता हुआ बात करने लगा, जिससे भाबी गर्म हो जाएं.

मैं नहाकर आती हूं।मैं बाथरूम के सामने ही कुर्सी लगा कर बैठ गया।भाभी- अरे यहां क्यों बैठे हो? बरामदे में बैठो न?मैंने कहा- भाभी आप नहा लो न। नहलाने तो आप दे नहीं रही हो। तुम्हें नहाते हुए ही देख लूं।हट बेशर्म!” भाभी ने झेंपते हुए जवाब दिया।मैं- भाभी प्लीज़, बहुत दिन हो गए हैं किसी को नहाते हुए नहीं देखा। तुमसे दूर तो बैठा हूँ.

मैंने दरवाजा खटखटाया, तो उसने अन्दर से आवाज दी- कौन?मैंने कहा- मैं हूँ. यात्रा के दिन जब मैं निश्चित समय पर बस में चढ़ा तो मैंने एक सरसरी निगाह से सारे यात्रियों को देखा और मेरी नज़र मेरी सलहज पर गई. मैंने उसको बोला- आज सेक्स की तुम्हारी हर ख्वाहिश को मैं पूरी कर दूंगा, लेकिन तुमको मेरा कहना मानते हुए शर्माना पूरा छोड़ना होगा.

शायद हम दोनों ने मिल कर उसको इतना गर्म कर दिया था कि वो रस से भरी हुई थी. शादी के बाद मैं कभी उससे नहीं मिला, हालांकि मेरे पास उसका कॉल आया था. दोस्तो, मेरा नाम रितिका सैनी है और जो कहानी मैं आपको बताने जा रही हूँ उस वक्त मैं बाहरवीं कक्षा की छात्रा थी। मेरा फिगर बिल्कुल मस्त है जिसे देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए।अपनी फीगर के बारे में आपको एक आइडिया दे देती हूँ.

कामवर्धक दवा ने अपना पूरा असर किया था मौसी की चुदास पर इसलिए मौसी बस मेरे लंड से चुद कर शांत होना चाह रही थी.

मैं क्या मतलब निकालूंगा तुमसे! क्या तुम अपनी जवानी को यूं ही बेकार करना चाहती हो? अगर तुम मुझसे नाराज हो तो सॉरी. मैंने कभी भी उसे चुदाई की नजर से देखा ही नहीं था और कभी उसके नाम की मुठ भी नहीं मारी थी.

देवर की बीएफ आपको सच बताऊं तो पता नहीं क्या हो रहा था मुझे, मुझे मधु में अपना प्यार अपना सुख चैन सब नजर आ रहा था. वो हर धक्के के साथ मस्त हो रही थी, उसकी ‘आह आह … आहह ओह हम्मम फ़क फ़क हम्म.

देवर की बीएफ मैं मुस्कान और शिशिर को अपने घर खाने पर बुलाती थी, तो शिशिर मेरे से बात करने के बहाने किचन में आ जाते थे और मेरी चूची को दबा देते थे. अजय ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर दोनों ही गांड चुदाई का मजा लेने लगे.

मैंने निहारिका को विक्की के सामने झुका दिया और विक्की का लंड पकड़ कर पीछे से निहारिका की चूत के छेद पर लंड लगा दिया.

नंगी सेक्सी चोदी चोदा

पर डॉली से मेरी दोस्ती चलती रही और मैं जब भी उसके घर जाती, हम दोनों उसके कमरे में बंद हो जाते और पूरे नंगे होकर एक दूसरे में अंगों से खेलते, चूत से चूत घिसते रगड़ते मुट्ठी में भर भर के भींचते. जबकि उसके पति के लंड को तो उसको ही हाथों से हिला हिला कर खड़ा करना पड़ता है. मेरी ज़ेहनी हालत की बाबत वसुंधरा को सब कुछ ठीक-ठीक पता था और वो मेरी हालत पर मन ही मन आनंदित हो रही थी.

क्यूं तड़पा रहे हो मुझे मेरे जानू … मगर भाभी की चूत में उंगली करके मैं भाभी को तड़पाने का आनंद लेता रहा. मेरा ऐसा एक भी अंग नहीं बचा होगा, जिसको मेरे लाड़ले बेटे ने ना चाटा हो. इस वजह से उनकी पीठ से लेकर कमर तक हिस्सा पीछे से पूरी तरह से नंगा दिख रहा था.

इतना कहकर अंकल ने मुझे बांहों में लेकर पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया.

जिन लोगों ने पिछले भाग को नहीं पढ़ा, पहले वो पढ़ लें और कहानी को पढ़कर लंड हिलाएं, चुत चोदें. फ्लैट के अंदर आते ही सीमा राहुल चिपट गए और फिर तो उनके बढ़ते कदम बेड पर ले जाकर ही रुके. मेरे मुंह में तो पहले से ही पानी आ रहा था इसलिए मैंने उसके लंड को अपने मुख में भर लिया और उसको पूरे मजे के साथ चूसने लगी.

आज भी जब मुझे कभी अपने दोस्त की याद आती है, तो मैं उसे फोन पर बातें कर लिया करता हूं. क्यूं तड़पा रहे हो मुझे मेरे जानू … मगर भाभी की चूत में उंगली करके मैं भाभी को तड़पाने का आनंद लेता रहा. उस दिन प्लान के मुताबिक रात में मानसी और मैंने मौसी के दूध में कामवर्धक दवा मिलाने का मसौदा तैयार कर लिया था.

कुछ देर के बाद उसने मेरे मुंह को चोदते हुए अपने लंड का पानी मेरे मुंह में ही निकाल दिया. राधिका ने विजयी मुस्कान के साथ कहा- मैं चाहती हूँ सोनल कि अब तुम राज की जांघ पर बैठकर राज को किस करो.

दीक्षा इस तरह मेरे बांहों में थी कि उसकी बड़ी-बड़ी चूचियां मेरी छाती से बिल्कुल चिपक गयी थीं. मैं समझ गया कि कौसर जान को बड़े लंड का मजा मिल गया है और अब्बू को कसी जवान चूत का … अब से ये दोनों चुदाई का मौक़ा तलाश करते रहेंगे और मौक़ा मिलते ही चोदमचोद का खेल खेलेंगे. जैसे किसी प्यासे को ढेर सारा पानी मिल जाये तो उसे समझ नहीं आता कि पिये या नहाये!बस यही हाल मेरा था.

वो पूरा नीचे तक लिंग महाराज मुँह में लेती और फिर ऊपर आते वक्त मेरे लिंग के टोपे को जोर से चूसती.

वसुन्धरा”हुँ …”जानती हो … मेरे दोनों हाथों में क्या हैं?” मैंने शरारत भरे लहज़े में पूछा. आह्ह … रेखा … सक इट… (चूसो इसे) … ओह बेबी … उफ्फ … तुम तो बहुत अच्छे से लंड चूसती हो. फिर मैंने लंड को चूसने के लिए कहा, वो थोड़ा ना-नुकर करने के बाद लंड चूसने लगी.

मैंने उसे सीधा किया और देर न करते हुए उसके गुलाब की पंखुड़ी से होंठों पर अपने होंठों रख दिए और उनका रस पीने लगा. जबकि भाभी को पता भी नहीं था कि मैंने चुपके से भाभी की सेक्सी चुदाई की बातें सुन ली हैं.

बारी-बारी से उसके तने हुए निप्पलों को अपने दातों से काटता हुआ चूसने लगा. करीब 5 मिनट तक किस करने के बाद मैंने उठकर उन्हें अपनी ओर खींच लिया. 10 मिनट बाद मेरे बॉस ने अपने लंड का पूरा पानी मेरी चूत में छोड़ दिया.

सेक्सी भोजपुरी देसी

करीब 10:00 बजे हमें रूम में जाना था, लेकिन ये बात मैंने ज्योति को नहीं बताई थी.

मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे किसी सुलगती, जलती भट्ठी में मैंने अपना लौड़ा दे दिया हो. दिवाली के लिए भाभी को मायके जाना था। भैया ने उन्हें मायके ले जाने का काम मुझे सौंपा था क्योंकि भैया को छुट्टी नहीं मिल सकी।जब हम लोग रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो वहां पर काफी भीड़ थी। मैं भाभी के पीछे रिज़र्वेशन के लिए लाइन में खड़ा हुआ था. मैं भी बोल रही थी- हां चोदो … और जोर से चोदो … चोदते रहो … मेरी चूत को आज भोसड़ा बना दो.

जैसा कि मैंने आपको बताया कि मैंने अपने सगे बेटे को अपनी ओर आकर्षित किया और फिर हम शिमला गए. मैं जानता था कि रेखा खुलकर सेक्स नहीं करेगी, फिर भी वो जैसा प्यार कर रही थी, वो ही बहुत था. बीएफ सेक्सी स्टोरियांये उस रिसॉर्ट की तरफ से रुकने वाले मेहमानों के लिए उपहार होती थी या ये उस रिसॉर्ट की तरफ से रुकने वाले मेहमानों के लिए उपहार होती थी या ज्योति ने रूम सर्विस से मंगवाई थी.

मेरी भतीजी की चुदाई की सेक्सी स्टोरीभतीजी की कच्ची जवानी-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी भतीजी नैना ने मुझे सोता हुआ समझ कर मेरे लंड से खेलना शुरू कर दिया था. मेरी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी होने के बाद मुझे कहीं भी नौकरी नहीं मिली … तो मैं घर चला गया.

वैसे तो सुबह उठने पर लौड़ा अपने तनाव के चरम बिंदु पर होता है पर कुछ समय बाद सब ठीक हो जाता है. तेजी से मेरा हाथ लंड की मुट्ठ मार रहा था और दूसरे हाथ में आंटी की पेंटी पकड़े हुए उसको मैंने नाक से लगाया हुआ था. बिना सोचे-समझे मैंने आंटी की पेंटी को लंड के नीचे करके उसी पर अपना वीर्य गिरा दिया.

लेकिन जैसे ही ताऊ जी अपने लंड को थोड़ा और अन्दर करने के लिए एक जोर का झटका मारा, तो कोमल पूरी तरह से सिहर उठी. जबकि भाभी को पता भी नहीं था कि मैंने चुपके से भाभी की सेक्सी चुदाई की बातें सुन ली हैं. ” मैंने उसे याद दिलाते हुए कहा।जब वह जान गयी कि अब उसका राज़ खुल चुका है तो उसका चेहरा उतर गया और वो डर गयी। लेकिन वो कुछ कहे इतने में मैंने उससे कहा- देखो तुम डरो मत, मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा।कंचन ने मेरी तरफ अविश्वास की नजरों से देखा.

क्या तुम मुझे कॉलेज से पिक कर सकते हो?मैंने उसे हां बोला और कार लेकर अपनी अदिति को लेने निकल गया.

इतना कहने के साथ ही नम्रता भी अन्दर घुस गयी और ब्रश करने लगी, इधर मैं भी बैठ गया और पड़-पड़ की आवाज के साथ-साथ मल बाहर आने लगा. वो भी मेरे को अपनी बांहों में भींच कर कभी इधर मुँह करके मुझे चूसे और कभी उधर मुँह करके मेरी जीभ से जीभ लड़ाने में लग गई.

आज मैं इस चूत को फाड़ डालूंगा सोनल …भाभी- हां, अपनी चुदक्कड़ भाभी को चोद दे रोमी. जैसा कि मैंने ऊपर बताया कि यह कहानी मेरी और मेरी साली मोनिषा जो शादीशुदा है, उसके बीच में हुई थी. मैंने उससे बेवकूफी भरा सवाल पूछ लिया कि आप ही ट्रक ड्राइवर हो?वो बोला- ड्राइवर सीट पर तो मैं ही बैठा हूँ, तो शायद मैं ही ड्राइवर हूँ.

इसी बीच मैंने अपने लिए दो रूम का फ्लैट किराये पे ले लिया था और घर से अपनी कार भी ड्राइवर से मंगवा ली थी. मेरे लंड का साइज़ 2 इंच मोटा और 7 इंच लम्बा है, जिससे मैंने बहुत सी अपनी गर्लफ्रेंड्स, भाभियों आदि की चूत की प्यास बुझाई है. उसने मेरी शर्ट उतार कर मेरी गर्दन पर किस किया और फिर मेरी छाती के निप्पलों को चूसने लगी.

देवर की बीएफ अगले पल उसने मुझे बिस्तर जो कि जमीन पर ही एक गद्दी डाली थी, उसपे लेटा दिया. राहुल के लिए यह पहला अनुभव था जब किसी ने उसका लंड खाली किया हो और वो ही उसको पी गयी हो.

सेक्सी व्हिडिओ बायांचे

नम्रता ने अपनी टांग को मेरी कमर पर रख कर मुझसे और कस कर चिपकने लगी. उसे देख कर मेरे मन में विचार आया कि आज से सुमन को अपने वश में रखूँगा. वह अपने लंड को मेरे मुंह के पास लेकर आ गया और मेरे होंठों के करीब लाकर उसको उछालने लगा.

उसके साथ रहने वाला कोई भी नहीं सोच सकता था कि इसने किसी से अब चुदाई करवा ली होगी, या ये किसी की गर्लफ्रेंड बनेगी. वो कभी मेरे जांघों पर किस कर रही थी और कभी लंड पर उंगलियां चला रही थी. रानी चटर्जी के सेक्सी बीएफथोड़ी देर में ही डॉली की थकावट दूर हो गई तो मैंने लेटे लेटे ही ट्रेन स्टार्ट की.

वो कपड़े चेंज करना चाहती थी लेकिन जल्दी के कारण उसने ऊपर का टॉप ही चेंज किया और नीचे जिम वाली ट्रैक पैंट ही पहने रही.

अदिति बोली- वाओ … तुम बहुत अच्छे हो और मुझे तुम्हारे तलाक शुदा होने से कोई फर्क नहीं पड़ता. इसी आसन में चोदते समय यदि लड़की की टांगें अपने कंधे पर रख ली जायें तो क्या कहने.

अम्मी के चूचे तो जैसे दूध में नहाये हुए थे, बहुत ही गोरे और मोटे चुचे थे. जीतू का लंड खड़ा हो गया था और मेरी चूत को चाटने के बाद वो अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ रहा था. फिर मैंने अचानक उसकी चुत से लंड निकाला और उसकी चुत पर अपना मुँह लगाकर उसे चूसने और चाटने लगा.

वैसे भी मुझे बाद में पता लगा कि आग तो दोनों तरफ ही लगी हुई थी, इसलिए चुदाई तो होनी ही थी.

निहारिका उठ कपड़े पहनने लगी, तो मैंने उसे मना कर दिया कि रहने दे यहां कौन आएगा. भैया की शादी हो जाने के बाद जब हम लोग घर पर आये तो पता चला कि वो आज रात हमारे साथ ही सोने वाली थी. चूंकि मुझे देर हो रही थी, तो मैंने सोचा कि ये बाथरूम से देर से निकलेगा, तो मैंने नहाना अभी कैंसल कर देता हूँ.

बिहारी बीएफ साड़ी मेंइस तरह से पूरे दस मिनट तक अजय ने स्पीड में मेरी बीवी ऋतु की गांड चोदी और फिर वो एकदम से ठहरता चला गया. मैंने पूछा- क्या दोनों के एक साथ लिए थे?वो बोलीं- नहीं यार … एक पहले ब्वॉयफ्रेंड बना कर उसने अपने घर पर मुझे पेला था और उसके बाद कॉलेज में ही छत के ऊपर एक साल उससे मजे लिए थे.

गांव वाली लड़कियों का सेक्सी वीडियो

चूंकि वो दिल्ली में है और मैं जयपुर में इसलिए ज्यादा चुदाई हो नहीं पाती है लेकिन जब भी होती है मैं उसकी चूत की प्यास मस्त तरीके से बुझाता हूँ. वो बोलीं- मैंने जबसे तुम्हारे कड़क लंड पे नज़र डाली है, मैं भी तुम्हारे लंड को लेने को बेताब हूँ. मैं और तेरे ससुर जी दोनों कल शाम को ही तुम्हारे घर आ जाते हैं।अगले दिन जब मेरी सास और ससुर जी दोनों घर पर आए तो मैंने सासू मां से बोला- मम्मी, मुझे कुणाल की बहू के लिए पोशाक और कुणाल के लिए अपने घर की तरफ से कुछ कपड़े और सामान लेना है तो आप मेरे साथ मार्केट चलो.

जोधपुर वापस आने के बाद भी हमें जब भी मौका मिलता, हम कभी उनके रूम पर या मेरे रूम में दो जिस्म एक जान हो जाते थे. लेकिन मामा की जिद के सामने माँ ने फिर हथियार डाल दिए और उनकी मांग पर मुझे मामा के घर भेज दिया. यह बात सुनकर मुझे मन ही मन खुशी हो रही थी लेकिन फिर भी मैंने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

मैं चिल्लाने को हुई तो मामा ने लंड बाहर निकाल लिया और मुझे समझाने लगे कि इससे कोई नुकसान नहीं होता. अंकल बोले- फिर आज मैं सारी रात यहीं बैठा रहूँगा, चाहे इस ठंड में मैं बीमार ही क्यों न हो जाऊं. पहले ही पैग में उसने ऐसा मुंह बनाया जैसे करेले का स्वाद चख लिया हो.

जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालूं?तो उसने मुंह में ही निकालने का इशारा कर दिया. ट्रेन का टिकट एग्जाम के एक दिन पहले का करवाया था ताकि जयपुर में समय पर पहुंच सकें और सेंटर तक पहुँचने में कोई समस्या न हो.

इतना कहकर मैं अपने शरीर को अकड़ा रहा था ताकि मैं लंड को माल छोड़ने से रोक सकूं.

वापिस मैंने उसकी साड़ी उठाई और लंड को एक धक्के में चुत के अंदर डाल दिया. पोलीस सेक्सी बीएफमेरा लंड सिकुड़ कर बाहर आने लगा, तो परवीन की कली से फूल बन चुकी चूत से मेरा और परवीन का रज और वीर्य निकल रहा था. हिजड़ों की बीएफ सेक्सी वीडियोऔर तो और इस बार वो अपनी हथेलियों को मेरी जांघों पर कस कस कर रगड़ रही थी और लंड को उमेठ रही थी. फिर वो धीरे-धीरे उसके बूब्स को चूमते हुए नीचे उसके पेट पर किस करता हुआ उसकी नाभि तक पहुंच गया था.

इस साल कुम्भ मेले के दौरान मेरी विधवा सलहज शान्ति ने पहले से टिकट बुक करवा रखा था, जिसके बारे में मुझे बाद में पता चला.

मगर पिछली बार इतना सब कुछ हो जाने के बाद मैं ज्यादा देर तक उससे दूर नहीं रह सका. रास्ते में सुमन ने बताया- आज रात को 11 बजे तक घर में सभी सो जायेंगे तब मैं आपको पापा के फ़ोन से कॉल करुँगी, आप आ जाना. कुछ देर बाद वह पीछे को हुआ और मेरी दोनों गोरी गोरी रानों को हाथों में अलग अलग पकड़ कर झटके के चिपकी हुई रानों को खोलकर मुझे आगे को खींचा, तो मैं हांफती सी सोफ़ा पर चित्त हो गई.

अंदर आने के बाद मैं मेन डोर बंद कर दिया और उसके बाद उसको अपने बेडरूम में ले गयी. मैं बस उसके साथ आज सेक्स करना ही चाहता था किसी भी हालत में। पुष्पिका ने मेरा हाथ छुड़ाने की कोशिश की तो मैं कुर्सी से उठा और अपने हाथों से उसके गालों को पकड़ लिया. वैसे तो मैं कई लड़कियों को चोद चुका हूँ, पर दीक्षा मुझे ज्यादा मस्त लगी.

करिष्मा की सेक्सी

उसके मुँह से अब सिसकारी निकलने लगी थी और बोल रही थी- और जोर से चोदो मुझे! अपनी रंडी की तरह चोदो! बहुत दिनों बाद इतने लम्बे टाइम तक चोदने वाला मिला है, चोदो!और मैं भी जंगली की तरह चोदने लगा. उसके बाद मेरी बीवी राधिका खेल जीती और इस बार टास्क पूरा करने की बारी मेरी बहन की थी. शुभम जी बोले- जब भी तुम्हें देखता था … तो मेरा लंड तुझे सलामी देने लगता था.

अतः मैं अपने प्लान का शुभारंभ करते हुए रीना को हमारे शयनकक्ष में लेकर गया। रीना ने बहुत उत्तेजित करने वाली नाइटी पहन रखी थी जिसे कि मैंने उतरवा दिया और कहा- मेरे पास इससे भी ज्यादा कुछ नया है।रीना को पता नहीं था कि मैं क्या करने वाला हूं।मैंने उससे उसकी नाइटी खोलने की गुजारिश की.

जब अंदर की हवस जागी तो नजरों ने उसके शरीर का माप लेना शुरू कर दिया.

लंड घुसते ही उसकी एक चीख निकल गई उम्म्ह… अहह… हय… याह… उस चीख के साथ ही मैंने बचा हुआ लंड भी अन्दर कर दिया. मैंने कहा- मैं आते ही बंटी जी से चिपक जाता, उनके गालों पे किस करता, फिर उनके होंठों पर किस करता और अपना हाथ उनके लंड तक पंहुचा देता … फिर धीरे धीरे उसको सहलाने लगता. सेक्सी बीएफ एचडी बिहारीजब मैंने देखा कि अभी उसका मन नहीं कर रहा है कि मैं उसके लंड को अपने मुंह से बाहर निकालूँ तो मैंने उसके सिकुड़े हुए लंड पर फिर से जीभ चलाना शुरू कर दिया.

उसने हंस कर पूछा कि मुझसे क्या काम है?मैंने उसे कुछ नहीं बताया, बस इतना कहा कि कल रुक जाना. सोसायटी अच्छी थी, तो रोज शाम को आंखें गर्म करने के लिए चुपचाप लड़कियों का चक्षुचोदन करता. वो बिल्कुल पागल सी हो गयी थी … अपनी गांड उठा कर मुझसे चूत रगड़वा रही थी.

उसने बताया कि उसका ब्वॉयफ्रेंड अचानक जॉब छोड़ कर दूसरे शहर में चला गया है. मैंने तमाम लड़कियों औरतों को चोदा था लेकिन हाथी का बच्चा पहली बार चोद रहा था.

मैंने कहा कि दीदी जंगल में रुकना खतरनाक हो सकता है, आगे कोई सुरक्षित जगह देखते हैं.

बात आज से लगभग एक साल पहले की है, सर्दी अपने पूरे चरम पर थी, मेरे पीहर में कोई शादी का प्रोग्राम था, मम्मी पापा का फ़ोन आया और बताया कि मेरे चाचा की लड़के की शादी बारह दिसम्बर को तय हो गई है और मुझे और मेरे पति को बच्चो सहित चार पांच दिन पहले आने के लिए बोला. ये मेरा पहली बार था, तो मुझे चूत का स्वाद थोड़ा अजीब सा लगा, पर काफी मजा आया. आह क्या बताऊं एक कमसिन मुलायम हल्के गोल्डन रोयें वाली एक मुनिया ने मुस्कुरा कर मुझे देखा.

ट्रेन बीएफ मुझे आराम पड़ता देख अंकल जी ने आहिस्ता आहिस्ता मुझे चोदना शुरू किया. लेटे लेटे ट्रेन चलाने में मजा नहीं आ रहा था, मैं उठा, एक एक करके अपनी टांगें सीधी कीं और डॉली को उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया और उससे कहा- अब तुम करो.

जब वो जाने को उठी तब मुझे उसके पूरी जिस्म का मुयायना करने का अवसर मिला. जबकि मैं एक शर्मीला लड़का हूँ तथा महिलाओं या लड़कियों से बात करने में काफी असहज महसूस करता था. फिर उसने मुझे अपनी तरफ खींचते हुए मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो मोटी औरत

मैंने फ़ौरन खुद को वसुन्धरा की पकड़ से छुड़वाया और अपने बदन पर जॉकी को छोड़ कर बाकी के सारे कपड़ों को जल्दी से तिलांजलि दी और मुड़ कर वसुन्धरा का रुख किया. मेरा काम ही ये था कि बस खाया पिया और अपनी गर्लफ्रेंड के साथ फोन पर लग गया. अपने आपको फिट रखने के लिए मैं रोज अपनी सहेलियों के साथ पार्क में जाकर टहलती हूँ.

किसी भी समय, किसी भी स्थान पर, किसी भी आसन में बेबी मजे से चुदवाती थी. मेरी नंगी छाती पर उसके नंगे चूचे अब टच हुए तो सेक्स की आग और भड़क गई.

सी … मर गयी मैं … ओह … सी … सी … सी … ईं … ईं … ई!मैंने फ़ौरन सर उठा कर वसुन्धरा की आँखों में झाँका!इतनी सर्दी में भी माथे पर पसीने की बूंदें, आँखों में एक इल्तज़ा, थरथराते होंठ, आने वाले पलों वाले पहले अभिसार की परिकल्पना में रह रह कर सिहरता शरीर, जिंदगी भर ओढ़े शर्मो-हया के परदे अपने प्यार पर एक-एक कर के कुर्बान होते देखना.

मैंने उसको बताया- मुझे जब भी मेरी चॉइस की लड़की मिलेगी, तो मैं अगले दिन ही शादी कर लूंगा. आधा लंड अन्दर जाते ही वो जोर से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उई माँ मर गई … यश बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है. सभी को मैं दिल से धन्यवाद करती हूं, बस इसी तरह आपका स्नेह और प्यार मिलता रहे.

उसकी इस बात से मैंने उससे पूछा कि क्या आपने जीजा जी के अलावा और भी लंड लिए हैं. उसे देखकर जी नहीं भर रहा था लेकिन बेशर्म होकर बहन के सामने ताड़ तो नहीं सकता था उसकी सहेली को इसलिए फोन का बहाना बनाया हुआ था. अंकल बोले- शादी तो मैं कर लेता, मगर जो आएगी, वो आप जैसा इतना अच्छा खाना कहां बना पाएगी.

अजय उसके गोरे पेट और उसकी नाभि को घूर रहा था जैसे कि उसको अभी चाट लेगा.

देवर की बीएफ: तो भाभी बोलीं- वही होगा भोसड़ी का … तुम रुको मत … क्योंकि वो तो मादरचोद पूरे नशे में धुत्त रहेगा … उसे कुछ भी पता नहीं चलेगा. मेरे सिर की तरफ आया और मेरा एक हाथ अपने हाथ से पकड़ कर अपना लंड मेरे हाथ में दे दिया.

तब तक सब लोग सो जाते थे, लेकिन मुझे मोबाइल चलाने की वजह से मैं जगा रहता था. मैं देख रहा था कि उन्होंने मुझे लण्ड सहलाते हुए देख लिया।वो बोली- नहीं मैं खुद कर लूंगी. वहां जाते ही मैंने उसको दीवार के सहारे लगा दिया और उसको चूमना चालू कर दिया.

मौसी ने मेरी जांघों पर अपने हाथ रखे हुए अपने शरीर के भार को संभाला हुआ था.

मधु- राज जी ऐसे न बात कीजिये, मुझे आपसे प्यार हो रहा है और मेरा प्यार आपके लिए इतना गहरा है कि दुनिया में कोई किसी को इतना प्यार नहीं कर पाएगा. तभी सुमन भाभी बोलीं- आज न जाने क्यों मेरे पांव में बड़ा दर्द हो रहा है. अब मैं उनके ऑफिस मैं घुस चुका था और मैंने उन्हें बताया कि मेरे स्कूल सर्टिफिकेट में स्पेलिंग मिस्टेक है, वो बदलवाना है.