वीडियो बीएफ देसी बीएफ

छवि स्रोत,सरस्वती का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बड़े लिंग वाला बीएफ: वीडियो बीएफ देसी बीएफ, मैं चुपचाप सर के लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी। मैं चाहती थी कि वो जल्दी-जल्दी मुझे फ्री कर दें। लेकिन सर ने मेरे मुंह को ही चोदना शुरु कर दिया.

प्रियंका चोपड़ा के सेक्सी चुदाई

मैं खड़े-खड़े लता भाभी को कभी सामने से बांहों में लेकर उनके चूतड़ों को सहलाता तो कभी उनके चूतड़ों की तरफ अपना लंड लगाकर आगे से उनके मम्मों को भींचने लगता. पंजाबी भाभी सेक्सी पिक्चरदोस्तो, हम एक संयुक्त परिवार में रहते हैं और मेरे परिवार में मुझे मिलाकर 25 लोग हैं.

तभी वहां से मौसी निकल कर बोलीं- भाई बहन में क्या खुसुर फुसुर चल रही है. सेक्सी फोटो लड़की लड़कीमुझे अभी भी लगता है कि वो भी मेरे साथ किये गए सेक्स के बारे में रोज़ सोचती होगी। अभी भी जब वो मायके वापस आती है तो मैं उसे चोदने की कोशिश में लगा रहता हूँ पर अभी तक सही मौका नहीं बन पाया है।मैं पूरी कोशिश में हूँ कि जैसे ही निहारिका दीदी के साथ चुदाई का सीन बनेगा मैं आप सबको जरूर बताऊंगा.

एक दिन…‘कामिनी तुझे याद है, उस दिन मैंने प्रोमोशन का ज़िक्र किया था.वीडियो बीएफ देसी बीएफ: इतना सुनकर चौबे जी तो एक बारगी सफ़ेद हो गए, परन्तु दोनों लड़कियों के माँ बाप ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

फ़िर मैंने वाणी के कान में कहा कि इस गीता को बीच में लेकर कसके मसलते हैं.अगर दो-तीन सेकेण्ड भी वह ऐसा और कर देती तो मेरा वीर्य उसके सिर के बालों को नहला देता.

इंडियन भाभी की सेक्सी चुदाई वीडियो - वीडियो बीएफ देसी बीएफ

तभी मैंने आंटी की चूत के मुंह पर लंड रखा और उनके मुंह में अपना मुंह लगाकर चूमने लगा.लगभग 25 मिनट तक उसकी चूत और गांड को पेलने बाद भी लंड लोहे की रॉड जैसे खड़ा था.

चूँकि घर पर मैं था, तो किसी को भाभी के घर पर रुकने से कोई ऐतराज़ नहीं हुआ. वीडियो बीएफ देसी बीएफ प्रिया ने भी ऐसे किया और उसने मेरी जींस में से मेरी निक्कर में हाथ डाल कर मेरे नितंबों को ज़ोर ज़ोर से मसलना चालू कर दिया.

मीशा ने मेरा लंड अपने मुलायम हाथों से पकड़ लिया और उसे फील करने लगी.

वीडियो बीएफ देसी बीएफ?

मम्मी ने जब भाभी से मेरे लिए खाना आदि का कहा, तो मेरे भी दिमाग में बस भाभी को चोदने के ख्याल आने लग गए. अब तो मेरी हर रात जान बंगालिन रानी की चूत और गांड का बाजा बजाने में निकलने लगी. सलोनी- कुछ मत बोलो … बस मुझे अपना बना लो!कह कर उसने अपने पैर हवा में उठा लिए, जितना वो फैला सकती थी, उतने पैर उसने फैला लिए.

वो वीडियो कॉल पर कहने लगी कि मेरा पति गांड मारने का शौकीन है और उसका लंड छोटा होने से, अब मेरी गांड की खुजली खत्म ही नहीं होती है. उसके बाद रिशु ने जब दूसरा धक्का मारा तो मिशिका की चूत में पूरा का पूरा लंड उतर गया. कमला- आप यहीं रहते हो? क्या करते हो? जीजा जी दोस्त हैं क्या आपके?मैं- हां यहीं रहता हूँ.

वो मुझसे पूछने लगा- सर आप मदन से इतने घुल मिल कैसे गए?तो मैंने कहा- तू ज्यादा दिमाग मत लगाया कर … और मैंने कहा था न कि अन्तर्वासना पढ़. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड को किसी गर्म लावे की कढ़ाई में डाल दिया गया हो. मैं भी अपने दोनों हाथ से प्रमिला की कमर को पकड़ कर नीचे जोर लगाने लगा और मुँह से एकता की चुत को चाटने लगा.

उसने बताया कि वो अपनी कामेच्छा को अपनी उंगली से शांत कर लेती थी और कभी कभी मूलीमैथुन से भी खुद को शांत किया था. मैंने सोचा शायद दिन भर की भाग दौड़ और रस्मों की वजह से शायद थक कर हितेश कहीं भी सो गए होंगे, पर वो मुझे कहीं नहीं दिखा.

अब मैंने उसका सिर पकड़ कर लंड मुँह में अन्दर बाहर करने लगा और 7-8 मिनट बाद मैं भी उसके ही मुँह में ही झड़ गया.

पन्द्रह मिनट की भयंकर चुदाई के बाद मेरा टाइम छूटने का होने वाला था.

दिल करता है यह अनंत तक चलता रहे। बस यूँ ही वह मर्द बना, मुझ पर छाया मुझे भचीड़-भचीड़ कर गचागच चोदता रहे और मैं सिसकार-सिसकार कर उसका हौसला बढ़ाते, नीचे से कमर उचका-उचका कर चुदवाती रहूं।और काश … यह सिलसिला कभी न थमे।लेकिन कभी तो थमना ही था. मगर इससे पहले तो सुषी ने मेरे लंड को बिना कंडोम के ही अपनी चूत में ले लिया था. उतने में अंकल का कॉल आया-आज मत आना … आज बहुत पानी बरस रहा है, सब रास्ते बन्द हैं.

एक दिन मैं रोज की तरह दिल्ली से सोनीपत आया और पैदल मामा के घर जा रहा था. भाभी ने मेरे सिर के बालों को पकड़ा और अपनी चूत में मेरे होंठों को रगड़वाने लगी. उन्होंने ये भी बताया कि पीरियड से ये पता चलता है कि अब लड़की बच्चे पैदा करने के लिए तैयार है.

पापा ने मुझे धक्का मारा, मैं नीचे फर्श पे गिर गई और उन्होंने मुझे भी लाठी से खूब मारा.

शीशी को एक तरफ फेंक कर मैंने तीसरी बार पूरा जोर का झटका मारा तो लंड उसकी चूत में घुस गया. अगले तीन दिनों तक आरती हमारे यहाँ रही और इन तीनों दिन ही आरती को अशोक ने दबा दबा कर चोदा. भाभी ने मेरे लंड को जोर से दबाते हुए कहा- आज मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती हूँ, मेरे पति मुझको सेक्स का मजा नहीं दे पाते हैं.

फिर अपनी एक टांग उठा कर उसने खुद ही मेरा लंड अपनी चुत में घुसा लिया और धक्के मारने लगी. जब जब उसका लिंग थोड़ा जोर मार उचकता, तो मेरी कामना जग जाती कि अब ये तैयार हो रहा. यहां तो वैसे ही तरसी हुई चूत में आग लगी हुई थी। डर लगा कि नया लड़का है, कहीं उतावलेपन में फिर जल्दी न झड़ जाये तो यह सोच कर उठ गयी और नीचे हो कर उसके लंड को चूत से सटाया और उस पर बैठती चली गयी। एकदम गीली चूत थी और लंड भी गीला.

आंटी ने नीचे बैठते ही मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे तने हुए लंड को किस किया और फिर उसको अपने हाथों से सहलाने लगी.

भाभी ने पहले तो लंड चूसने से मना किया लेकिन बाद में मान गईं और फिर पूरे रूम में गप गप्प उनके थूक और मेरे लौड़े की आवाज़ गूंज रही थी. जबकि मुझे अब तक ये पक्का नहीं था कि ये कोई भाभी ही है क्योंकि मैंने उसे अभी तक देखा ही नहीं था.

वीडियो बीएफ देसी बीएफ जैसे चूत से कोई बहुत गर्म गर्म पिचकारी से निकलने को हो और मुझे इसका अहसास भी हुआ. एक दिन मेरे मामा ने मुझे कोचिंग करने के लिए बोला तो मैं भी हां बोल दिया.

वीडियो बीएफ देसी बीएफ मुझे दबाने में बहुत मजा आ रहा था। फिर मैंने धीरे से उसके गाउन के बटन खोल दिए और ब्रा के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा। फिर ब्रा (जो कि रेड कलर की थी) को ऊपर करके बूब्स को बाहर निकाला और दबाने लगा। उसके निप्पल को धीरे से घुमाने लगा। फिर एक को मुँह में ले कर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से छेड़ने लगा. मेरे अचानक से आने से वो हड़बड़ा गयी और जल्दी से नाइटी पहनकर मेरी ओर घूमकर पूछा- तुम यहाँ कैसे?मैं बोला- मेरे कपड़े रिंकी की बैग में पड़े हैं, उन्हें ही लेने आया हूँ.

यह देख के मेरा दिल एकदम खुश हो गया कि पहली बार किसी की ब्रा पे मेरा नाम लिखा गया था.

லோக் செக்ஸ் வீடியோ

मैंने कमीज को थोड़ा नाभि के ऊपर कर लिया और अपनी सलवार का नाड़ा भी खोल दिया, जिससे मेरी पेंटी की सिरा भी आसानी से दिख रहा था. उसने गहरे गले की कुरती पहनी थी … और टाइट ब्रा थी, फिर भी इतने बड़े बूब्स को ढक पाना मुश्किल था. अब आगे:सोनू पूछने लगी- नाराज़ हो गए क्या?मैंने कहा- नहीं सोनू! फ्रेंडशिप वह होती है जिसमें दोनों की सहमति हो और मेरा यह उसूल है कि मैं कभी भी ज्यादती नहीं करता.

मेरी चूत को चोदते हुए वो कहे जा रहा था- आह साली रांड, तेरी गांड भी बहुत मस्त है. मैं अपना लंड अपनी कजिन की कुंवारी बुर में लंड घुसेड़ कर कुछ देर ऐसे ही रुक गया. मिशिका रिशु के बदन से चिपकी हुई थी और उसने नीचे से रिशु के लंड को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया.

फिर मैंने अपने लंड से कंडोम निकाल दिया और एकता को प्रमिला के ऊपर डॉगी स्टाइल में सैट कर दिया.

अब तो मैं वासना के अंतिम छोर में पहुंच गई थी और रोके से भी मेरी सिसकारियां नहीं रुक रही थीं. उसके बाद जब भाभी को होश आया, तो भाभी ने मुझे धक्का दिया और दूर कर दिया. अगले कदम पर थोड़ी देर बाद प्रशांत ने नीना को एक झटके से अपनी गोद में लेकर खुशी के मारे आंगन के कई चक्कर काट डाले.

वो बोलीं- क्या ढूंढ रहे हैं?पापा गुस्से में बोले- अपनी बिटिया अब घर पर भी यार बुला कर चुदाने लगी है. मैंने कोमल के सामने बात तो छेड़ दी थी मगर फिर वह भी मेरे पीछे ही पड़ गई थी क्योंकि हम दोनों में बहुत अच्छी बनती थी. मैं खुद कई औरतों को जानती हूं, जो ऐसा करती हैं और कुछ लड़कियां, जो अभी 20 की भी नहीं हुई हैं, वो भी चुदवा रही हैं.

आखिर शिखा ने ऐसे बिहेव क्यों किया आज?रात को जब दस बजे का टाइम हो गया तो दीदी की आवाज आई कि खाना रेडी हो गया है. वे दोनों ये बातें ही कर रही थीं … तभी मैं नीचे झुक के उनकी गांड पे अपनी जुबान से लिकिंग करने लगा.

मैंने एक हाथ से उनकी साड़ी और पेटीकोट निकाल फेंका और चड्डी के ऊपर से चूत को स्पर्श किया. मेरे अज़ीज़ दोस्तो, मेरी इस गर्म सेक्स कथा के पिछले भागबीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-3में आपने पढ़ा कि मैं काम के सिलसिले में हैदराबाद गया था, वहां एक रात अचानक मेरी तबीयत खराब हो गयी. मुझे मेरी योनि में उसका लिंग फिसलता हुआ बहुत मजा दे रहा था और मैं उत्तेजना की शिखर पर बढ़ती हुई आगे चली जा रही थी.

उसने मेरे गांड के छेद से अपनी उंगली निकाल दी और अपनी जीभ को नुकीली करके मेरी गांड में डालने लगा और चाटने लगा.

मैं पढ़ने जाती, तो टीचर या लड़के और खासतौर से बड़ी उम्र के आदमी मुझे देखते, उनकी प्यासी नजरें मुझे अलग ही दिखने लगती थीं. लेकिन मैंने कहा- अब मेरा तो खड़ा हो चुका है, इसे तो छुटवाना ही नहीं है. वैसे हमारी वॉट्सएप्प पर रोज बातें होती थीं और हम खुल कर सम्भोग संबंधी बातें भी करते थे.

लखनऊ जाने एक बुरा नतीजा ये रहा कि मोहल्ले वाले और जानकारों ने जीना बदहाल कर दिया, ताने, दुनिया भर के सवाल और ना जाने क्या क्या. और अगर मैं किसी तरह उसको यह बात बता दूँ तो क्या वह भी मुझे अपनाएगी.

पेलते हुए ही मैंने ऐसे ही उसे पूछ लिया कि साली रंडी एक बार में पूरा लौड़ा निगल गयी. कुछ देर बाद मैं अपना लंड उसकी चूत की दरार पर ऊपर से नीचे घिसने लगा. जो सपना मेरा था ऋतु के साथ एनल सेक्स करने का, उसकी गांड मारने का … वो तो पूरा ना हो सका … पर उस टैक्स ऑफीसर रवि ने वो कर दिया.

खेसारी लाल की बेटी का फोटो

उनके मोटे लम्बे लंड को देख देख मेरी तो सलवार में मानो आग सी लगने लगी हो.

मामा ऑफिस जा चुके थे और मामी भी किसी काम से बाहर जा रही थी जो 2-3 घंटे बाद ही आने वाली थी. इतने में मेरी टांगों को अपने हाथों से निहाल नीचे चौड़ा करने लगा और फिर बिल्कुल मेरे नीचे आकर मेरी चूत में अपनी जीभ को लगा दिया. मैंने उसी पॉजीशन में भाभी की टांगों को अपने कंधों पर उठा लिया और धकाधक चुदाई जारी रखी.

मैं जोर से चिल्लाने लगी, पर कार बंद थी … इसलिए आवाज बाहर नहीं निकली … न किसी को सुनाई दी. मैं मुंबई में अपने घर में जहां रहता हूँ, वहां हम सात साल पहले आए थे. सील टूटने का सेक्सी वीडियोनामित बोला- बेडरूम क्यों … यहीं आओ सोफे में, हम भी तो है … हमारे लौड़े में भी तो आग लगी हुई है.

उसके बाद मैंने अपने दोनों हाथ उसकी दोनों चुचियों पे रखे और जोर जोर से दबाने लगा. अब जब इतनी सारी जनसंख्या बाहर के दूसरे राज्यों से आकर रहेगी तो यहां की एक ही हांडी (मटकी) में पकने वाली खिचड़ी का स्वाद कैसा होगा इसका अंदाजा तो आप भी लगा ही सकते हैं.

बात खत्म करने के पश्चात मैं बिस्तर से उठी और अपनी छुपाई हुई संदूकची बाहर निकाली. मेरा हाथ उसके ऊपर ही रखा हुआ था। मैं थोड़ा डर गया लेकिन मैंने हाथ नहीं हटाया।थोड़ी देर रुकने के बाद मैं फिर हरकत करने लगा। अब तक तो मेरा बाबूराव 7″ हो गया था और उसकी जाँघों को छू रहा था। फिर उसने करवट बदली और मेरी तरफ चेहरा कर लिया. तुझे कुछ चोट लगी क्या?मैं बोली- नहीं दीदी, पता नहीं अन्दर क्या हो रहा है.

लगभग 20 मिनट तक उसने मेरी चूत की चुदाई की और फिर उसके लंड के धक्के और ज्यादा तेज हो गए. मैंने उस ऐप पर प्रोफाइल में अपने लंड की पिक्चर लगा रखी थी, तो काफी लड़कियों ने मुझसे रिक्वेस्ट भेजी थी कि मैं उनको मेरा लंड दिखाऊं, उनमें से काफी सारी तो गुजरात से बाहर कहीं दूर की थीं, पर दो रिक्वेस्ट हमारे गुजरात की ही थीं. चुदाई की गर्मी बढ़ी तो चुदाई की स्पीड तेज हो गई और दसेक मिनट की धकापेल चुदाई के बाद कुछ तेज शॉट्स के बाद उसने अपने लंड का सारा वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया.

धीरे से निहारिका के कान के पास अपने होंठों को ले गया और मैंने उससे पलंग पर चलने को कहा.

सुजाता के मन में पता नहीं क्या आया, वो बोलने लगी- रमेश जी आपका हक है … आप जो चाहोगे, मैं आज आपके लिए वो करूँगी. उसके बाद उसने फिर से अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

जब उसने कमरे की लाईट जलाई तो मैं दंग रह गई, दीवारों पर जगह जगह गंदे गंदे शब्दों के प्रिन्ट और बहुत सारी उसकी और हमारी कम्पयूटर से एडिट की गई नग्न फोटो लगी थी. भाभी ने बताया कि उन्होंने किस तरह दूधवाले को पटाया और कितनों का लंड लिया. इसी तरह से हम दोनों लोग चुदाई करते करते पूरी मस्ती से एन्जॉय कर रहे थे.

तब मैंने नीरू से कहा- बहन, मैं तेरी गांड मारना चाहता हूँ लेकिन उसमें तुझे थोड़ा सा दर्द होगा. उसकी बुर से पानी निकलने लगा था और चेहरे पर पसीना आने लगा था, गले से घुटी-घुटी आह निकलने लगी थी. नीना की चूत में अपना लंड डालने से पहले वह बहुत कुछ कर लेना चाह रहा था, मगर हमारे बेडरूम में, जहां नीना हर रोज मेरे साथ चुदाई किया करती थी.

वीडियो बीएफ देसी बीएफ कैब में उसकी चूची दबाने में इतना मजा नहीं आ रहा था जितना अब मुझे आने लगा. वो बड़ी तन्मयता से मेरे लंड को चूस रही थी, साथ ही मेरी गोटियों को भी सहलाते हुए पूरा मजा दे रही थी.

खेसारी लाल का सेक्सी गाना

जैसे ही पैंटी अलग हुई और बॉस की आंखें जब मेरी बीवी की चूत पर पड़ीं तो बॉस देखता ही रह गया. केवल डॉली और अन्नू की सेवा ही करते रहोगे क्या?मैंने कहा- ऐसी बात नहीं है, वो दोनों मुझे छोड़ती ही नहीं, बस और कुछ नहीं वरना … आप जैसी लेडी के हुस्न का दीदार कौन नहीं करना चाहेगा. फिर अंडरवियर को नीचे करते ही उसका 7 इंच का फनफनाता हुआ लंड मेरे सामने आ गया.

मैंने पलट कर उसके मुँह में फिर से अपना लिंग घुसा कर उसके मुँह की ही चुदाई करने लगा और और उसके निप्पल को रगड़ता रहा. मेरे घर में जब भी कभी कुछ अच्छा बनता है, तो मैं उसके रूम पर जाकर उसको दे देती हूँ और वो बड़े स्वाद से खा लेता है. पूरी सेक्सी नंगी पिक्चरसासू माँ ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मेरे सर पर हाथ फिराते हुए बोली- मेरी पूरी बात सुन ले बेटा, उसके बाद तू जो कहेगी, वही होगा.

अजय ने अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया और पीछे से सुनील जी ने जोर से झटका मार दिया.

मेरी चूची को चूस कर और मेरे निप्पल्स को बाईट करके वो मुझे चोद रहा था. मैं सोचने लगा कि मुझे यह अचानक से हो क्या रहा है?कुछ ही पल बाद मुझे याद आया कि सुषी ने जो टेबलेट मुझे दी थी यह उसी का असर हो सकता है.

उसका लिंग कुछ ही पलों में पूरा मेरी योनि के भीतर चला गया, क्योंकि मेरी योनि पहले से बहुत गीली थी. फिर बहुत सारा थूक मेरी गांड के छेद में लगाकर मुझसे बोले कि सोनू तेरी गांड चोद दूं?मैं बोली- हां अंकल, आपको कभी मना करूंगी. धीरे-धीरे मैंने उसकी टांगों को खोला और देखा कि उसकी चूत का छेद इतना छोटा था कि उसमें मेरी एक उंगली ही जा सकती थी.

आज अपने लंड का पूरा जलवा उसको दिखा कर ज़रा भी सांस ना लेने देना ताकि सुबह उसे लंगड़ा के चलना पड़े.

वो बोली- कहां खो गए?मैं- आप में …ये मैंने कह तो दिया, लेकिन एक ही पल मुझे झटका लगा कि ये मैंने क्या किया. उसने मेरी बात सुन कुछ देर तो तेज़ धक्के रफ्तार से मारे, पर जल्द ही वो ढीला पड़ने लगा. सबके सब ज्यादातर हम लड़कियों की तरफ घूरने में लगे थे, इशारे करने लगे और सीटी मारने लगे.

पुराना सेक्सी वीडियो चाहिएमैंने देखा था बाहर एक ट्यूबवेल है और वहीं एक हौदी भी बनी हुई है, वहाँ चलते हैं, पानी में करेंगे. उसने कहा- तो क्या पहली बार किसी औरत के साथ सेक्स करने जा रहे हो?मैंने कहा- नहीं, सेक्स तो पहले भी काफी बार कर चुका हूँ लेकिन पहली कस्टमर तो आप ही बनी हो.

लड़की पटाने वाली दवा

उसके बाद मैंने धीरे से भाभी की चूत में लंड को डाल दिया और भाभी ने मेरे कंधे को नोच लिया. मेरे लंड की सारी चमड़ी पीछे हटा कर मेरे लंड का सारा टोपा बाहर निकाल दिया। मैं दर्द से तड़प उठा और उठ बैठा. मैं 21 साल का एक युवक हूँ। मैं महाराष्ट्र के धुले डिस्ट्रिक्ट मैं रहता हूँ। मैं दिखने में सामान्य हूँ और पतला हूँ पर जिम जाने की वजह से मेरी बॉडी टोंड है।यह कहानी तब की है जब मैं 12 क्लास पास करके कॉलेज में आया था। हमारे कॉलेज में यों तो कई सुंदर लड़कियाँ हैं पर उनमें से जिस लड़की की तरफ मेरा ध्यान गया उसका नाम था अंजलि(नाम बदल हुआ)।अंजलि दिखने में एकदम गोरी, उसकी हाइट 5.

साथ ही मैं उसकी कोमल मुलायम चूचियों को दबाते हुए उसके होठों के रस को भी पीता जा रहा था. फिर राहुल ने कहा- अमित, तुम इसके मुंह को चोदो, मैं इसकी चूत चोदता हूँ. हम लोग दूधवाले के पास गए तो वो मुस्कराकर बोला- मेमसाब आइए न!जहां पर उसका गैस चूल्हा रखा हुआ था वो मुझे वहां पर ले गया.

मैं तो और भी पागल होके उसके कबूतरों को चूसने लगा, उसकी चूचियों को काटने लगा. जब उसे दर्द कम महसूस हुआ तो वो अपनी चूत को आगे करने लगी और अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ाने लगी. तभी वहां से मौसी निकल कर बोलीं- भाई बहन में क्या खुसुर फुसुर चल रही है.

तभी मैंने देखा कि वो सामने से आ रही है और मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी. तब अंकित अन्दर आया और आके बोला- क्या है?मैं बोली- यार मुझे बहुत तकलीफ हो रही है और मुझसे चलते नहीं बन रहा है, मेरी इस हालत से किसी को कुछ पता ना चल जाए.

मैं बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से डालो … बहुत दर्द हो रहा है.

मेरी उमर 23 साल की है और मेरे लंड का साइज़ भी मेरी उमर के हिसाब से ज़्यादा है. कॉलेज सेक्सी चूतलंडखोरी चूतों को मस्त लंड मिल रहे थे इसलिए सब खुश थे और लंड भी कभी इस चूत में तो कभी उस चूत में लंड डाल डाल कर मज़े कर रहे थे. सेक्सी अंग्रेजों की सेक्सी वीडियोघर पर कोई ना होने के कारण मैं और भाभी, भाभी के कमरे में ही सो रहे थे. सुषी ने मुझे रिमी के बारे में बताया कि वह यहाँ पर अकेली ही रहती है.

मुझे न जाने क्यों एक बात समझ आ गई थी कि इसकी चूत को सबसे बाद में चूमूंगा.

उन्होंने तुरन्त बोला- क्यों?मैंने सहज में बोला- ऐसे ही देखूं तो सही. एक बार उसने मेरे निप्पल को खींचते हुए काटा, जिससे एकदम से मेरे मुँह से मीठी कराह निकल गई. दीदी ने बोला- ओके मैसेज वर्ड कौन सा?मैंने कहा- क्विक फक … इसका QF रख लेते हैं.

वो खुद अपने हाथ से उसे खड़ा करने की कोशिश कर रहा था, पर इतनी जल्दी उसका कैसे खड़ा होता. मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, इसलिए कमरे में बड़ी तेज आवाज ‘फच्च फच्च फक फक घप घप घचघच …’ गूँज रही थी. आज से पहले मर्दों की मैंने सुनी थी और आज पहली बार कोई मर्द मेरी सुन रहा था.

घोडा वाला सेक्सी

इसके बाद उसने मेरे होंठों के बीच सिगरेट फंसा दी मैंने एक लम्बा कश खींचा तो मुझे खांसी आ गई. उसी कहानी का अनुभव आप सबके साथ बांटने का प्रयास कर रहा हूँ।दोस्तो, आपको बता दूँ कि इस कहानी में कुछ भी काल्पनिक नहीं है, बस गोपनीयता के लिए नाम बदल दिए गए हैं. वो बोली- कुछ बोलोगे नहीं?मैंने कहा- मुझे जॉब मिली है और आप मेरी मालकिन हैं.

मैं चमोत्कर्ष पे पहुंची या नहीं, मुझे मज़ा आया या नहीं … इन बातों का उसका कोई लेना देना नहीं है.

मैंने भाभी जी से पूछा- भाभी जी, कोई काम था?उन्होंने कहा- काम तो था, परन्तु तुम तो दूसरे ही काम में लगे हुए थे.

उसने मेरी कुर्ती को उतरवा दिया और मेरी ब्रा में कैद मेरे उरोज उछल कर बाहर छलक पड़े. हम दोनों की ऑफिस की गाड़ी भी वही थी, पर हमारे बीच एक सन्नाटा सा रहने लगा. छमिया सेक्सी फिल्मकुछ देर उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई अभिलाषा फिर से जागृत हो गई और उसे देख कर मेरी चाहत मुझे काण्ड कर देने पर आतुर कर देने लगी.

राहुल के पास मैंने सामान रख दिया और राहुल से बोली- राहुल मैं अभी आती हूँ. बस उनके कहते ही मुझे लगा, जैसे बदन से मेरी जान मेरे लंड के रास्ते बाहर निकल रही है। मैंने एक झटके से अपना लंड अपनी मॉम की चूत से निकाला और जैसे ही लंड बाहर निकला एक गाढ़े सफ़ेद पानी की धार बड़े ज़ोर से बाहर को निकली और मॉम के मुंह तक जा गिरी. मैंने उसके लिंग की चमड़ी खोल कर पूरा खींचना शुरू कर दिया, सुपारे से लेकर नीचे तक का हिस्सा खोल दिया और ऊपर जीभ फिराने लगी.

अब मेरा भी रस निकलने वाला था, मैंने भाभी की चूत में ही माल छोड़ दिया और भाभी के ऊपर ही गिर गया. स्टीव ने अपनी तरफ से फिर भी सब कुछ फिर से सामान्य रखने की कोशिश की, कुछ हद तक कामयाब भी रहा.

क्रीम लेकर आने के बाद उसने मेरी वाइफ से बोला- डार्लिंग, लास्ट टाइम तुमने ब्रा और पेंटी में रैंप शो किया था … इस बार फ्लोर पे कॅट्वाक करके दिखाओ प्लीज़ … एकदम कॅट्वाक माने बिल्ली की तरह चल कर दिखाना, न कि किसी मॉडल की तरह … समझ गई ना!ऋतु क्रीम को सोफे पे रख के घूम गयी.

मेरी गुलाबी चूत से बहुत पानी निकल रहा था और मेरी चूत एकदम गीली हो गयी थी. मदन की मां- अगर आप बुरा ना माने तो एक एक जाम हो जाए, वैसे भी इतनी दूर बाइक से आते आते आपकी तो उतर भी गई होगी. मैं राहुल के सिर को अपनी चूत पर दबाते हुए अपना पानी छोड़ने लगी और अपनी चूत को झटकों के साथ राहुल के मुँह पर रगड़ना शुरू कर दिया।मैंने सिसकारते हुए अपना सारा पानी राहुल के मुंह में छोड़ दिया.

घोडा का सेक्सी पिक्चर बाद में पता चला कि पहली वाली तो मेरे घर से केवल 25 किलोमीटर दूर ही रहती थी. अमित का एक हाथ मेरी कुर्ती के अंदर सरक गया और सुरक्षा कवच के अंदर गंतव्य स्थान पर पहुंच कर उसने मेरे उरोजों को सहलाना शुरू कर दिया.

उसने मेरी पैंट का हुक खोल दिया और मेरे अंडरवियर की पट्टी वाली जगह पर एक हल्का सा किस कर दिया. वो जब भी अपने टाइट जिम वाले कपड़े पहन कर निकलती थी, तब उसका पूरा फिगर साफ़-साफ़ दिखता था. मेरे बिल्कुल सामने वाले मकान में एक बड़ा सा परिवार रहता था, जिसमें अंकल आंटी अपने दोनों बेटे एवं एक बेटी के साथ रहते थे.

एक अच्छे ब्रांड की विशेषता

मेरी चूत से इतनी जोर की फच फच की आवाज आने लगी कि कोई कमरे के बाहर हो तो उसे भी सुनाई दे जाती. लड़का देखने में काफी अच्छा था और यह पता लगने के बाद भी कि मैं एक लड़का हूँ, जब मैंने उससे मिलने की रिक्वेस्ट की तो वह आसानी से मान भी गया. फिर मैंने धीरे से लंड के अगले भाग को हल्का से गांड में पुश किया, लंड थोड़ा सा अन्दर चला गया.

निहाल की हिम्मत बढ़ती जा रही थी तो उसने अपनी हाथ की हरकत को और तेज कर दिया. कप रखकर वो पलटीं, तो उनके खुले नंगे कंधे, कांपते होंठ और लुंगी से बाहर आने को बेताब दोनों चुचियों को देखकर आकाश की बात याद आ गयी.

केवल डॉली और अन्नू की सेवा ही करते रहोगे क्या?मैंने कहा- ऐसी बात नहीं है, वो दोनों मुझे छोड़ती ही नहीं, बस और कुछ नहीं वरना … आप जैसी लेडी के हुस्न का दीदार कौन नहीं करना चाहेगा.

रात के वक्त सास-ससुर खाना खाकर सोने चले गए और मैं तथा भाभी सब काम खत्म करके अपने बेडरूम में सोने चले गए. दिन में कभी कभार हमारी थोड़ी बहुत बात हो जाती, पर ज्यादातर समय वो मुझसे दूर ही भागते. इशारा समझकर प्रशांत ने अपना अंडरवियर ही नहीं बल्कि बनियान को भी निकाल फेंका.

चूंकि उसने अपना मुँह पिल्लो में दबाया हुआ था, इसलिए आवाज़ चिल्लाने की नहीं हो रही थी. अंकित बोला कि आज तुम कयामत लग रही हो बहुत मस्त दुल्हन से भी सुंदर सबसे सुंदर सेक्सी लग रही हो. मैं बिल्कुल सन्न थी … मुझे कुछ भी पता नहीं था कि मैं क्या बोलूं … क्या रिएक्शन दूं.

तेरे पास तगड़ा लंड ज़रूर है, लेकिन जिगर नहीं कि मुझे पाने की पहल कर सके.

वीडियो बीएफ देसी बीएफ: इसके बाद मैं करवट बदलते हुए उनके करीब को हो गया और उनको पीछे से हग कर लिया. ”क्यों नहीं मेरी रोसोगुल्ला … तुम हो ही इतनी रसीली … बस अपने मरियल पति को घर से दूर रखना बाकी सारी कमी मैं पूरी कर दूँगा.

सरदारजी का लिंग अभी तक मेरी योनि में था और मुझे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे कोई साँप दम तोड़ता है, वैसे ही अकड़न ढीली कर रहा. उसने मेरा लंड मुँह बाहर निकाला और बोली- क्यों पता लगा … तड़फ कैसी होती है?उसने हंसते हुए फिर से मेरे लंड को मुँह में ले लिया. यह देख उसने अपना लण्ड मुझे मेरे हाथ में दे दिया। मैं भी जोश में आ गयी और लण्ड को पूरे जोर से दबा कर मसलने लगी।हम दोनों एक-दूसरे के शरीर से खेलने लगे। कभी वो मुझे चूमते, कभी मैं उन्हें.

इसके बाद वो मेरी तरफ देखते हुए बोला- तू बता वन्द्या … मैं कैसा लगा?मैं उसे चूमते हुए बोली- आप भी बहुत मस्त हो … आपका लंड भी बहुत बड़ा और मोटा है.

इधर सुनील जी ने भी मेरी पैंटी भी उतार दी और मेरी फुद्दी पर जुबान फेर दी. जब मुझे महसूस हुआ कि उसका एक हाथ मेरी जांघ पर आ चुका है तो मेरा लंड मेरी पैंट में खड़ा होकर तन गया. मन बहुत बेचैन हो रहा था, इस बीच मेरी बहू ने पूछा- क्या हुआ पापा जी तबियत ठीक है ना … आपको इतना पसीना क्यों आ रहा है?नहीं नहीं बेटा, बस आज इवनिंग वाक कर के थोड़ा थक गया हूँ, उम्र होती जा रही है ना.