सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी ब्लू फिल्म मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

कटरीना सेक्सी फोटो: सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो, फ़ोन पर तो मैं कम ही बात करता था, पर व्हाट्सैप पर दिन भर उनके साथ ही रहता था.

चाची की चूत की फोटो

मैंने झोंक में कह दिया कि अगर भारत जीत गया तो आप मुझे 100 किस देना. एक्स+एक्स+एक्सआहा… मेरे लिए कितना सुखद क्षण था, जिसके लिए मैं तड़प रहा था, वह मेरे लिए तड़प रही है।दोस्तो, यकीन मानो भगवान सबकी सुनता है.

थोड़ी देर होंठ चूसकर मैंने कहा- जान… तेरी चूत है या अँधा कुआं… बहनचोद इतनी ढेर सारी मलाई और ऊपर से ढेर सारा लावा… सब का सब लील गई. कुंवारी चूत दिखाओदो तीन साल में एक बार। कुछ मुख़्तसर वक़्त के लिये।”ऐसी बात नहीं।” वह एकदम बुझे और हल्के स्वर में बोली जैसे खुद से हार रही हो।मेरी बात होती है आरिफ से.

वो चुत पर मेरे मुँह को देखते हुए ही कहने लगी- ये क्या कर रहे हो विराट.सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो: मैंने भाभी को अपनी तरफ़ खींचा और बांहों में लेकर उनके होंठों को चूसने लगा.

मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज दिनेश मुझे छोड़ दो, मैं तेरे पैर पड़ती हूं मुझे इस हरामी चाचा और मनोहर से बचा लो, ये दोनों मुझे आज चोद कर मार डालेंगे.इससे पहले मैं जब स्कूल के आखिरी साल में था, तब मॉम पापा के साथ ही सोता था.

सेक्सी वीडियो रंडी का - सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो

उसके अलावा ना जाने कितनी भाभी और आंटी और वर्किंग लड़कियां मुझसे चुद रही हैं.कुछ ही देर की चुदाई में उसकी चूत रसीली हो गई जिससे लंड ने चूत में सटासट अन्दर बाहर होना शुरू कर दिया.

यह कहानी लगभग आठ साल पहले की है, जब मैं अपनी पढ़ाई करने के लिए घर से बाहर निकला और किराए के एक मकान में रहने लगा. सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो टॉस करने के बाद जिसका नंबर सबसे पहले आया, वो उसको अपने पास खींच कर बेड पर ले गया और अपना खड़ा हुआ लंड उसकी चुत में एक ही झटके में डाल कर चुत में अन्दर बाहर करने लग गया.

” चेतना बोली।सॉरी, आज मेरे ही घर में बहुत काम है, और वो काम उसे ही करने हैं.

सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो?

एक पैर रखने के बाद मैंने अपना एक हाथ भी उसकी 24 इंच कमर पर रख कर उसको अपनी तरफ उसको मोड़ लिया. जब मुझे मॉम नहीं दिखाई दीं, तो मैंने ध्यान दिया कि बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आ रही थी. इस बीच उसके हाथ मेरे बालों को लगातार सहला रहे थे, मेरा एक हाथ उसके बालों को!तब हम लोग एक दूसरे से अलग हुए और एक दूसरे की तरफ मुस्करा कर देखने लगे.

तभी मम्मी आयी तो उन दोनों ने मम्मी को प्रणाम किया! मैंने भी सबसे हाथ मिलाया. तभी मेरे दिमाग़ में एक आईडिया आया, मैंने कुछ सोचा कि क्यों ना मैं घर पर ही रुक जाऊं. और तभी आरुषि ने कराहते हुए कहा- उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज़ संचित, निकाल लो, बहुत दर्द हो रहा है.

मेरा कमरा फर्स्ट फ्लोर पे था और मेरे कमरे के बगल वाले कमरे में एक परिवार रहता था. दिनेश शरारत करने लगा, मेरा लंड पकड़ लिया, पैन्ट में से निकाल लिया, हाथ से सड़का मारने लगा. उसके बाद मैंने आरुषि की गांड को साफ किया और आरुषि ने मेरे लंड को अपने होंठों से… फिर वो मुझसे चिपक गई, और हम दोनों नंगे ही कब नींद के आगोश में चले गये, हमें पता ही नहीं चला.

तुम मेरा किसी तरह से पानी निकाल देना, तब मैं संतुष्ट होने के बाद नहीं चोदूँगा. भाभी ने हंसते हुए कहा- अब तुम पैंटी पहनोगे?मैंने पैंटी को अपने नाक के पास लाकर सूंघते हुए कहा- अब आप चाहे जो समझ लें.

अंकल अब जब भी आते तो पहले मुझे ही चोदते थे, मेरे लिए ही तोहफे लाते थे तो मेरी माँ अब मुझसे जलने लगी थी, मुझे अपनी सौत मानने लगी थी.

मैं अब कैसे चुप रहता तो बोल दिया- उसे जरूरी काम से कंपनी ने लंदन भेजा हुआ है.

फिर जब उसने अपने लंड को बाहर निकाला तो मैंने देखा के उस पर खून लगा हुआ था. उसने देर न करते हुए अपनी उंगलियों को पद्मिनी की पेंटी पर ठीक चूत के पास फेरा. अब मुझे उम्मीद हो चली थी कि सोनिया की चूत अब मेरे लंड से ज्यादा दूर नहीं है.

जैसे ही मुझे लगा कि उनका खेल हो गया है, मैं घर के बाहर निकल गया और अपने घर से देखने लगा. वो शीशा के सामने जा कर उसको ठीक करने के बाद मुझ से बोली- हां अब बताओ… साथ ही बोली- यार प्राइवेट ऑफिस है ना… यहाँ बॉस को खुश रखना पड़ता है. बापू बोला- जब लड़की पहली बार चुदती है, तो उसकी चूत से थोड़ा सा ख़ून निकलता है.

उसने दस बीस शॉट मारे तो मेरी चुत को सुकून मिल गया और मैं उससे चुदवाने लगी.

उसने सलवार-कुर्ता पहन रखा था, मैंने उसका कुर्ता उठा कर अपना हाथ उसके नंगे पेट पर रख दिया और हल्के हल्के सहलाने लगा. उसका फिगर मामूली सा हैवी साइज़ था, गदराया हुआ बदन जैसा कि बच्चा होने के बाद लड़की का हो जाता है, और उसका वही साइज़ मुझे सेक्सी लग रहा था. मैंने उनको देख कर अगले 5 मिनट में लंड को चुदाई के लिए तैयार किया और उसकी बेटी की चुत पर रख कर डाल दिया.

मैं उसके मुलायम नितम्ब सहला रहा था और उसके शरीर में बार बार एक तेज़ झुरझुरी आ रही थी. भाभी ने जैसे ही ये जाना कि मैं लंड से कुंवारा हूँ तो वे जरा खिल सी गईं और बोलीं- ठीक है. मैं बैठ गई और उसके बाद हम दोनों कितनी देर तक बातें करते रहे। करीब 11 बजे मैं अपने कमरे में आई। मगर मेरी चूत तो पानी पे पानी छोड़ रही थी। रूम में आते ही मैंने अपनी नाईटी उतार फेंकी और नंगी ही बेड पे जा लेटी, अपनी उंगली चूत में डाली और चाचाजी चाचाजी करती हुई ने पानी छोड़ा।कहानी जारी रहेगी.

यहाँ मैं आपको बताना चाहूँगा, कि मैंने हाल ही में अपने फ्लैट में कैपिटल रिपेयर करवाई थी और हाई ग्रेड सीमेंट के साथ री ग्राउटिंग भी, खास तौर पर अपने घर को साउंड प्रूफ करने के लिए! क्योंकि पहले जब सेक्स के समय नताशा चिल्लाती थी तो उसकी आवाज किसी रेल के इंजन की तरह सारे घर में गूंजती थी और अवश्य ही पड़ोसियों को भी सुनाई देती थी.

मेरे फ्रेंड ने मेरी वाइफ की दोनों टांगों को खोल क्रर अपने हाथों से मेरी वाइफ को अपने ऊपर उठा लिया और रंजीत से बोला कि अपना भी लंड इसकी चुत में डालो. इन सुन्दर, मुलायम, रेशमी हाथ पांव चूसूंगा तो कितना आनंद आएगा, यह मैं कल्पना कर कर के बेहाल हो रहा था.

सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो मैंने उसकी तरफ लालसा भरी निगाहों से देखा और अश्शीलता से पैन्ट के अंदर खड़े अपने लंड पर हाथ फेर कर पूछा- क्या हुआ है आपको… आप तो अच्छी भली लग रही हो?वो अपनी चूचियों को खुजाते हुए बोली- पहले आप कसम खाओ कि किसी को नहीं बताओगे. फ़िर मैंने उनसे लंड चूसने के लिए कह दिया, वो पहले तो मना करने लगीं.

सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो और तो और खुद भी जब दिल करता है लड़की लेकर आते हैं चोदने के लिए। साली हमारी मम्मी भी लंड की प्यासी है साली और ऊपर से पापा भी अलग अलग चुत के दीवाने।इतना सुनते ही मैंने शिवानी की स्कर्ट और टॉप उतर दी और खुद पूरा नंगा हो गया।शिवानी- भैया, मैंने बहुत सी ब्लू फिल्म देखी हैं, उसमें लंड को चूसते हैं मैं भी आपका चूसूंगी. वो मेरे होंठों को चूसने लगा और बोला- ले साली कुतिया वन्द्या, बहुत चिल्ला रही है और चिल्ला और रो मादरचोदी वन्द्या, क्या माल है तू, इतनी टाइट चूत तो एक सील पैक लड़की की नहीं होती है.

हाँ आपके लिए कुछ लाना हो तो बता दो?मैंने कहा- बेटी, मेरे लिए कुछ नहीं लाना, तुम अपने लिए सेक्सी सेक्सी नाइटी ब्रा चड्डी जरूर ले आना.

सेक्सी रोमांस विडियो

उनके घर चोरी न हो जाए, इसीलिए मुझे उनके घर पर सोने का आग्रह किया गया. और आप जाओगे कहां?मैं बोला कि किसी रेस्टोरेंट या और कहीं उसका इन्तजार करूँगा. मैं भी वहां से निकल पड़ा, लेकिन तभी उसका फोन आया कि उसने खाना नहीं खाया था और होटल में 11 बजे के बाद डिनर नहीं मिलता है, तुम मुझे डिनर करवाने ले चलो.

मैं- वैशाली जग जाएगी वो हम दोनों को गलत समझेगी!कामिनी- गलत क्या समझेगी?मैं- यही कि हम भाई बहन हो कर कुछ गलत सलत कर रहे हैं. दीदी ने बैग उठा लिया तो जीजा ने दीदी को अपनी गोद में उठाया और कमरे को चल दिए. फिर जब मैडम मुझे मिलीं तो पूछने लगीं- कैसा रहा?मैं बोला- जबर्दस्त!तो वो बोलीं- कुछ और धूम धड़ाका करना है?तो मैंने कहा- नहीं, बहुत हो चुका!तब वो बोलीं- पके हुए खाने को ना नहीं कहते!तो मैं बोला- अभी पेट भरा हुआ है, कहीं अपच हो गई तो! इसलिए पहले इसे पच जाने दो।चूँकि रात बहुत हो चुकी थी तो मैं घर जाकर सो गया.

मैंने अभिलाषा के सामने के शर्ट के बटन खोल दिए और उसके मम्मे बाहर निकाल दिए.

ये सोचते हुए मैंने कहा- सोनिया जी, आप क्लिनिक पर ही बता देतीं कि ये बात है. वे उसे हैरान देख कर बोले- मेरा थोड़ा बड़ा है पर दूसरे को तकलीफ न हो इसका ख्याल रखता हूं।वे खड़े खड़े ही मेरी मारते रहे, मैं मस्ती से आंख बन्द किये चूतड़ हिलाहिला कर गांड मरवा रहा था।जीजाजी बोले- इस बार तो मजे ले रहे हो, उस बार तो तुम बहुत फड़फड़ाए थे. इसके बाद वो मेरे गले में किस करने लगीं, साथ में मेरी छाती पर भी हाथ फेरने लगीं.

उसने पहले वाले के हाथों को पीछे कर दिया और खुद गीता के मम्मों पर टूट पड़ा. फिर लालजी मेरी पूरी गांड को मस्ती से चाटता रहा और वो मेरी गांड के छेद में अन्दर तक जीभ घुसाए दे रहा था. इसके कुछ देर मैंने चाची को चुदाई की पोजीशन में लिटाया और उनकी चुत में लंड पेल कर उनकी मस्त चुदाई की और 20 मिनट बाद उनकी चुत में ही झड़ गया.

उसने दूसरी शादी कर ली लेकिन अब भी जब हमें मौका मिलता है, तो हम फिर से सेक्स कर लेते हैं. हम ऐसे ही किस करते रहे चिपके रहे, कुछ देर बाद मैं अपनी रज़ाई में आ कर सो गया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग: मुख चोदन कहानी:दूध वाला राजकुमार-5. ”फिर जोर लगाते हुए भाईजान ने अपना पूरा मूसल लंड मेरी चुत के अन्दर डाल दिया और मेरी चूचियों को एक मिनट तक चूसा. मेरे फ्रेंड ने मेरी वाइफ की दोनों टांगों को खोल क्रर अपने हाथों से मेरी वाइफ को अपने ऊपर उठा लिया और रंजीत से बोला कि अपना भी लंड इसकी चुत में डालो.

वो आदमी भाभी की चुदाई कर रहा था और भाभी भी बड़े मज़े से चुदवा रही थीं.

अभिलाषा जब खड़ी हुई तो वह टाँगें चौड़ी करके बाथरूम जाने लगी, वीर्य उसकी टांगों व पटों पर से होता हुआ बाथरूम तक फर्श पर टपकता हुआ गया. वो बोली- भैया, मुझे और मम्मी हम दोनों को बच्चा टिका दो!शीतल ने भी हामी भरी और मैं बिना लौड़ा निकाले ही सो गया शिवानी के ऊपर!इस तरह से हम सबको बदन में शांति मिली और सब लोग बेसुध होकर सो गए!यह कहानी आपको कैसी लगी? मुझे मेल करें![emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी मम्मी रंडी निकली-5. मैंने बताया- अभी तीन साल बाद विदेश से घर वापिस आया हूँ, कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

वकील से एफिडेविट बनवाया, चालान बनवाया और जनसुविधा केंद्र में उसे पास कराने में आधे दिन से ज्यादा निकल गया। खाना वहीं बाहर फुटपाथ पे खाया. वो मुझे मस्त और नशीली निगाहों से देखते हुए बोली- अंगूर पसंद आए?मैंने कहा- हां बेहद.

मैं बोली- लाल जी आज मैं तुम्हारी दुल्हन बन ही रही हूं, फिर अगर तुम्हें इतनी खुशी मिलेगी तो हम ऐसा खेल रोज खेल लिया करेंगे. तुम्हें और क्या अच्छा लगता है?मैंने कहा- तुम सारी की सारी मुझे अच्छी लगती हो. कभी कभी मैं ही अंकल को कहा देती- अंकल, आज आप मम्मी को पहले चोद दीजिये.

खुल्लम खुल्ला ओपन सेक्सी

वो नमकीन सा टेस्ट मैं कभी नहीं भूल सकता, आज भी वो टेस्ट मुझे याद है.

वो मेरे होंठों को चूसने लगा और बोला- ले साली कुतिया वन्द्या, बहुत चिल्ला रही है और चिल्ला और रो मादरचोदी वन्द्या, क्या माल है तू, इतनी टाइट चूत तो एक सील पैक लड़की की नहीं होती है. उनकी मदमस्त जवानी को देखकर एक पल के लिए तो मैं भी भूल गया था कि ये मेरी मॉम हैं. जब वो दारू पी रहा था तो उसने सुना कि कुछ लोग पद्मिनी की बातें कर रहे थे.

फिर मुझसे किस बात की शरम है? जब रात को लड़के नंगी करवा के चूत को खोल खोल कर देखेंगे तब अगर ज़रा भी शरम की तो पैसे भी नहीं देंगे और गांड पर लात मार कर बाहर का रास्ता दिखा देंगे. वो अभी भी दर्द से चिल्ला रही थीं- साले कुत्ते फाड़ दी मेरी चूत…आठ दस धक्कों के बाद भाभी को भी मज़ा आने लगा. झारखंडी सेक्सउसकी चुत से और उसके मुँह के पानी से लंड गीला हो चुका था, तो ज़्यादा रगड़ने से लंड ने वहीं उसकी चुत पर ही पानी छोड़ दिया.

वो कुछ नहीं बोली तो मैं अपनी कोहनी से उसकी चूची को ओर जोर से दबाता हुआ अपनी स्टोरी पढ़ने लगा. बापू से रहा नहीं गया और उसने कहा- तू कब इतनी खूबसूरत और जवान हो गयी, मुझको पता ही नहीं चला, इतने सालों से मेरे बगल में सोती है, तो और मैं आज तुझको ऐसे देख रहा हूँ.

मैंने अपने लंड पर थोड़ी वैसलीन लगाई और सोनिया की दोनों टांगें ऊपर उठाकर चुत के छेद पर लंड सैट करके जोरदार धक्का लगा दिया. इसी तरह पता नहीं कब 3 महीने निकल गए पता ही नहीं चला और भैया की शादी का दिन आ गया।शादी की पूरी तैयारी बहुत अच्छे से की थी, बहुत से कामों की ज़िम्मेदारी मुझे दी गयी थी। आलीशान फार्म हाउस बुक किया गया था जिसमें शादी होनी थी. किस से बात करनी है?मैं बोला- मैं राहुल बोल रहा हूँ, मुझे आपका नम्बर मेरे फ्रेंड से मिला है.

मैं समझ गया कि इसका मतलब यह है कि वो मेरा लंड अपनी चूत के अन्दर नहीं लेना चाहती है. मैंने महसूस किया कि भाभी जाते हुए बड़ी इठला कर गांड मटकाते हुए गई थीं. ”साले भेड़िये… बोलती हूँ न अब छोड़ भी दे… नहीं तो दर्द की गोली लेनी पड़ेगी… जिस दिन मैंने तुझे पहली बार देखा ना तुम्हारी शादी में उसी वक़्त जूसी से जल भुन के मैं तो फुंक गई थी.

अभी वो नाच ही रही थी कि एक लड़के ने उसको पीछे से जा कर उसे धर दबोचा और उसके मम्मों को बुरी तरह से दबा दिया.

उसकी जवान कड़क चुची आह… कसम कोई हिज़ड़ा ही होगा जिसका लण्ड खड़ा ना हो जाए मेरी नंगी बहू को देख कर!मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसकी एक चुची क़ो चूसना चालू किया तो पूजा भी जाग गई- पापा क्या हुआ? आपका लंड तो फिर से मूसल जैसा कड़क हो गया. फिर धीरे से उनके मम्मों पर रख दिया और उन्हें ब्लाउज के ऊपर से ही सहलाने लगा.

उसके गांड उछाल कर लंड लेने से मुझे ऐसा लग रहा था, मानो सोनिया की चूत मेरे लंड के साथ मेरे अंडकोष भी अपनी चूत में भर लेगी. उसने कुछ नीचे गिरा दिया और उठाने का बहाना करते हुए कुछ ज्यादा ही झुक कर मुझे अपनी लगभग आधे से अधिक चूचों की झलक दिखाई और कहा- मुझे खुद भी ज्यादा ध्यान रखना है ताकि आपके इलाज से मुझे चैन मिल जाए. मैंने मौका देख कर उन्हें बोल दिया कि क्या इस काम मैं आपकी कोई मदद कर सकता हूँ?तो उन्होंने कहा- आप क्या कर सकते हैं?मैंने कहा- आप कह कर तो देखिए.

यह सुन कर वो मुस्कुराया और फिर से बहुत जोर से मेरे होंठों को चाटने लगा. मैंने अपनी इन दोनों बहनों को पहली बार इस हालत में नहीं देखा था जब हम काफी छोटे छोटे थे, तब हम तीनों साथ साथ नंगे नहाते थे. करीब 20 मिनट तक मैं कभी उनका दांया बूब चूसता रहा था कभी बांया…अब तक भाबी पूरी गरम हो चुकी थीं.

सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो राज इतना करो कि मैं उस दिन देखी मधु की चुदाई भूल जाऊँ… उस दिन तुम दोनों की चुदाई देख मुझे भी इच्छा होने लगी, उस दिन मधु को चोद रहे थे… मैं उस दिन कितना तड़पी हूं… आहह आमम्म इइइइइ…कुछ ही देर में मैं झड़ चुकी थी, मैं राज से बोली- बस बस और नहीं राज… मैं हो चुकी हूं!लेकिन वो और स्पीड से लंड मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगा. रात तो दस बजे मैं पूरी नंगी हो कर अपने रूम में बैठी थी और बिंदु अपने साथ जगत को लाई.

सेक्सी वीडियो बताओ वीडियो बताओ

कुछ देर सहलाने के बाद मैंने अपनी उंगली उसकी चुत में डाल दी, लेकिन उसने नाराज होकर उंगली बाहर निकलवा दी. फिर उसके मम्मों को ज्यादा न ताड़ते हुए मैंने उसकी पैंटी की ओर हाथ बढ़ाया और उसे नीचे कर दी. मैंने मुस्कराते हुए कहा- फूफा जी क्या करूँ, आपका लंड है ही ऐसा… मेरी चूत आपके लंड की दीवानी हो गयी है और चाहती है कि ऐसा लंड रोज उसके अंदर घुसे.

फिर मैं सोचने लगा कि मेरी बहू पूजा को ऐसा करने की क्यों आवश्यकता पड़ी. जैसे ही मैं पहुंचा, भाबी ने दूर से ही मुझे देख कर इशारा करते हुए अन्दर बुला लिया. सेकस विङीयोहर बार झड़ने के साथ वो मेरी पीठ पर नाखून चुभो देती और मेरे होंठ खाने लगती.

वह गलती से लग गयी थी।” उसकी आवाज़ से ऐसा लगा जैसे हिचक रही हो, घबरा रही हो।जबकि इस गलती को मैं उससे बेहतर महसूस कर सकता था। उससे बेहतर समझ सकता था। मैंने पूरी शालीनता के साथ जवाब दिया- जी मैं समझ सकता हूँ।क्या?” वो कुछ चौंक सी गयी।बस यही.

मगर डॉक्टर को चैकअप करने के लिए अभी कुछ दिन तो निकालो वरना उसे भी क्या पता लगेगा कि तुम्हें बच्चा होने वाला है. उसने कहा- मैं घर से निकल चुकी हूँमैं उसका इंतज़ार करने लगा और अपने लंड को हाथ में लेकर उससे बातें करने लगा कि आज उसे चूत का पानी मिलेगा.

लगता है यह दोनों लौड़ाखोर बहनों की खासियत है कि चुदाई हुई और इन्हें नींद आयी. भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आहा ह्ह्ह्ह आह्ह ह्ह्ह ऊह्ह्ह ह्ह… ये बहुत बड़ा है. लेकिन भैया ने उन्हें नहीं छोड़ा, आखिर वो भी तो भैया के जाल में फंसी हुई थी।भैया उनके स्तन दबा रहे थे और भाभी अपना सिर इधर-उधर हिला रही थी।भाभी की सील टूट चुकी थी.

वहाँ से मैंने उनको फोन किया कि मैं आ गया हूं, आप कहाँ हो!वो बोले- 5 मिनट रुको, मैं आता हूं.

उन्होंने मुझे और निशा को इस हालत में देखा, तो वो उल्टे पाँव चली गईं. उसने कहा- थैंक्स … अब जल्दी सेनाश्ता कर लीजिए तब तक मैं चेंज करके आती हूं यहबोल कर वो चेंज करने चली आई मैं नाश्ता करने लगा।मैं नाश्ता कर चुका था और प्रिया जी का इन्तजार करने लगा. और फिर शीतल ने शुरू से लेकर अभी तक की पूरी कहानी उन्हें सुना दी!हमारी सच्चाई सुनके सब हक्के-बक्के रह गए.

हॉट सेक्सी बीपी वीडियोलेकिन जैसा मैंने आपको बताया कि चाची को गर्मी बहुत लगती है, इसलिए वो कहने लगीं कि मैं तो ऊपर छत पर ही लेटूँगी चाहे मच्छर काटें या कुछ भी हो… गर्मी मुझसे बर्दाश्त नहीं होती. लेकिन वायदा करो कि अब कभी दोबारा ऐसा नहीं होगा, तो ही मैं किसी को नहीं बताऊंगी.

सेक्सी पिक्चर मराठी गावठी

मैंने स्माइल दी तो मॉम ने अपने हाथ से मेरे लंड पे आइसक्रीम लगाई और लंड चूसने लगीं. जब वह सांसें ले रही थी सोते वक़्त, उसकी तंग चोली में पद्मिनी एकदम जबरदस्त सेक्सी, गरम माल जैसी दिख रही थी. उसके बाद वो बाथरूम में घुस गई और कुछ देर बाद ही अचानक से उसकी आवाज आई.

वापस आकर देखता हूँ कि उन्होंने अपने हाथों में मेरा सेक्स टॉय पकड़ रखा है. उसने मुझे झांटें देखते हुए देखा और वो शर्मा कर जल्दी से चाय रखकर चली गयी. एक मुसीबत की मारी लड़की के दिल पर क्या गुजरती है, इसके बारे में शायद ही किसी ने सोचा होगा.

तब चाची बोलीं- अबे यार, कितने फट्टू हो तुम…तो मैं बोला- मतलब?मतलब ये कि तुम्हारी मामी ने तुमसे कुछ भी उल्टा सीधा झूठ बोला और तुम सच समझ बैठे?”तो मैं बोला- डिटेल में बताएंगीं?तब मामी बोली- अबे मूर्ख मैंने झूठ कहा था कि पिछले दरवाजी की चाबी मेरे पास है और तूने सच मानकर सब बक दिया. उधर दीदी ने गिलास निकाल कर रखे और जीजा को नंगा देखा तो वो खुद भी पूरी नंगी हो गईं. उसका हाथ मेरी चूत पर पड़ा ही नहीं बल्कि वहाँ पर फिरना भी शुरू हो गया.

मेरे फ्रेंड ने एक बात और बोली कि भाभी जो मेरा फ्रेंड है वो सरदार है. उन दोनों ने एक दूसरे की चूत और लंड को चूसना शुरू कर दिया और फिर उस आदमी ने भी मनोरमा के मम्मों का बुरा हाल करना शुरू कर दिया.

अब सोनिया मेरे सीने पे दोनों हाथ रख कर मेरे लौड़े पे उछल रही थी और ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह ओह यस.

मेरे पुरुष मित्रों को मेरे किसी आग्रह की जरुरत नहीं पड़ेगी क्योंकि हम अपने लण्ड के साथ हमेशा तैयार रहते हैं … मित्रों, वाकया है ही कुछ ऐसा|मेरी पहली कहानी प्रकाशित होने के बाद मुझे कई मेल्स आये जिनमे एक मेल मेरे ही शहर यानि इलाहाबाद से एक 32 वर्षीया महिला सुकन्या जायसवाल जी का था. सेक्स ब्लू पिक्चर वीडियो में दिखाएंबिल्कुल न घबरायें, ये तो दिल का काम है, आपको मजा न आये तो सारी मेहनत बेकार!यह ठीक है कि उनका लंड बड़ा था पर मैं उतना ही मस्त देवेश के लंड का मजा ले चुका था, दतिया में उस्ताद से मरवा चुका था।अब वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे, उन्होंने अपना तेल से लिपटा लंड मेरी गांड पर टिकाया और धक्का दिया, उन्होंने सुपारा अंदर पेला, मैं आ आ आ करने लगा. सेक्स सेक्स वालामेरी गीली चूत से अन्तर्वासना के सभी पाठको को आपकी प्रभा का सेक्स भरा नमस्कार!दोस्तो, अपने मेरी पिछली कहानीमाँ बेटा सेक्स: बेटे ने मेरी हवस मिटाईको इतना पसंद किया उसके लिए आप सभी का अपने जिस्म से शुक्रिया अदा करती हूँ. मैं चाहता था कि भाभी जब एकदम चरम पे पहुंच जाएं, तो मैं अपना लंड उनकी चूत में डालूँ.

मतलब राशिद से थोड़ी कम ही थी और इस बात से जहां मुझे थोड़ी मायूसी हुई, वहीं अहाना को शायद ज्यादा खराब लगा था।लेकिन उसने हमारी मायूसी पर कोई ध्यान दिये बगैर दो बाल्टी पानी गैलरी में उड़ेल दिया और उसमें फिसल गया।फिर अहाना ने पहल की.

उन्होंने कुछ नहीं कहा, मैंने तुरंत कहा कि वो आफिस में लैपटॉप की जरूरत पड़ेगी, अगर आपको जरूरत न हो तो लैपटॉप. अब उन्होंने खुद अपने हाथों से मेरे लंड को छेद पे सैट किया और बोला- अब करो. उसने मुझे देख लिया था हाथ हिला कर उसने इशारा किया, मैं उसके पास गया और हाथ मिलाया.

बापू चाय लेकर आया तो पद्मिनी आइने के सामने खड़ी आँखों में काजल लगा रही थी. अपने साथ उसको बिठा कर बोला- यार, अपने पूरे कपड़े उतार दो, यहाँ पर कपड़ों का कोई काम नहीं है. कितना मज़ा आ रहा है मेरी परी आह…बापू को उस तरह से मज़ा लेते हुए पद्मिनी ने कभी नहीं देखा था, तो उसने सोचा कि वह अपने बापू को इतना मज़ा दे रही है तो क्यों न अपने बापू को और खुश करे.

सेक्सी बफ देवर भाभी की

अब मैं उसकी चुत उसकी नाइटी के ऊपर से ही चाटने लगा जिससे उसके बदन में बिजली सी दौड़ गई. मैं कहाँ सुनने वाला था, मैं तो भाभी की गांड में लंड डाले जा रहा था. ये हमारी मम्मी कम और रंडी ज्यादा है!और इतना कहकर उसने उसके बाल पकड़े और साड़ी खोल दी!शीतल बोली- तुम लोग बातें करो, मैं कपड़े चेंज कर के आती हूँ.

तब मैंने बिना देर किए उसकी बुर पर अपना लंड सेट किया और एक धक्का मारा, वो बहुत ज़ोर से चिल्लाई.

रमेश नंगा हुआ और बाथरूम में घुस गया- हाय सेक्सी बेबी!और उसने पूजा को अपनी बांहों में जकड़ लिया.

एक बार फिर मैं लव आप सभी प्यारे पाठकों का स्वागत करता हूँ अपनी कहानी ‘काजल की चुदाई’ के अंतिम भाग में।कामवासना से भरपूर इस कहानी के पिछले भागकाजल की चुदाई: दूध वाला राजकुमार-7इस अब तक आपने पढ़ा कि रत्नेश भैया से किये वादे के अनुसार मैंने उन्हें बिल्डिंग वाली लड़की काजल से मिलवाया और चुदाई के लिए जगह का भी इंतज़ाम किया. ?मैंने उनके कान में दादा जी के लंड को सैट करने का मास्टर प्लान बताया तो मॉम की चुत खिल उठी. ववव क्सक्सक्स वीडियोसअशोक अपने लंड से मेरी चुत का हलवा बना रहा था और उसका फ्रेंड मेरी चूचियां के बीच में अपना लंड रख बूब फकिंग कर रहा था.

अभी यह पूरी टाइट है और मैं अपने दोस्त को टाइट चुत का मज़ा दिलवाना चाहता हूँ. मेरा गर्म गर्म लेस चूत में जाते ही रेखा रानी फिर से झड़ी और एक दम से मेरे ऊपर गिर पड़ी. वो मेरे होंठों को चूसने लगा और बोला- ले साली कुतिया वन्द्या, बहुत चिल्ला रही है और चिल्ला और रो मादरचोदी वन्द्या, क्या माल है तू, इतनी टाइट चूत तो एक सील पैक लड़की की नहीं होती है.

तब मैं बोली- ठीक है पीयूष, पर अभी मेरा बहुत दिल कर रहा है… बस 5 मिनट के लिए आ जाओ या इंतजार करो. मैं आंटी के गालों को चूमने लगा मैंने कहा- नहीं आंटी, मत जाओ प्लीज़, मत जाओ! मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, मैं आपको बहुत सारा प्यार करूंगा.

मेरा पानी एक बार और निकला और वो दोनों अपने मुँह पर मलते हुए बोलीं कि उन्होंने नेट पर पढ़ा है कि औरत की खूबसूरती इससे और दोगुनी हो जाती है.

एक दिन मैंने उनसे उनकी फोटो मांग ली तो सुकन्या जी बोलीं- फोटो की क्या जरुरत है, मैं तो आपसे मिलने का सोच रही हूँ. भले ही मेरी उनसे बहुत जमती थी और मैं हमेशा उनसे मज़ाक करता रहता था, लेकिन तब भी मैं उनके बारे में ग़लत नहीं सोचता था. बात करीब डेढ़ साल पहले की है, मैं जहां ट्यूशन पढ़ने जाता था वहां मैंने नेहा नाम की एक लड़की को पटाया.

हिंदी ब्लू सेक्सी वीडियो मैंने जैसा पोर्न वीडियो में देखा था, उसी तरह से चूसना शुरू कर दिया. मोटे लंड के कारण उसको दर्द होने लगा था, जिसका पता मुझे तब चला जब देखा उसकी आँखों में आंसू आ गए.

मुझे नहीं पता कि तबस्सुम ने उससे क्या कहा, मगर उसका उत्तर था- हां हां बिल्कुल जितना हो सकेगा, पक्का करूँगा. थोड़ी देर बाद फिर मेरा लंड खड़ा हुआ तो मैंने उनकी पैंटी खींच कर फाड़ दी. और तब वह नताशा को उसकी बगल पर लिटा कर उसकी कमर के पीछे चिपक कर लेट गया और अपने लंड से उसकी गांड के छेद को कुरेदने लगा.

ब्लू फिल्म सेक्सी बंगाली में

मैं उनके दरवाजे तक पहुँच कर बोला- क्या हुआ?चाची ने मुझे अन्दर बुलाया. तुम्हारे दूध को पकड़ सकता हूँ?उसने कहा कि तुम पकड़े हुए ही हो और कैसे पकड़ना है?मैंने कहा- मतलब मैं इनको देख सकता हूँ. वार्डन ने मुझे मेरा कमरा दिखाया तो मैं वहां गया और अपना जो भी सामान लाया था, वो वहां रख कर सो गया.

चाचा एक प्राइवेट नौकरी करते हैं, चाची जी घर पर रहती हैं और उनकी एक 3 साल की बेटी है. शादी के दौरान खाला ने मेरे साथ खूब अपनी सेल्फ़ियाँ ली और मुझसे पूछा कि मेरी कितनी गर्लफ्रेंड हैं.

मैंने उसके मम्मों को अपनी हथेली में भरा और मसलते हुए चुदाई का मजा लेना शुरू कर दिया.

यह बात मैंने इसलिए सोची थी क्योंकि मैं एक टीचर था और मेरे टच में बहुत सी लौंडियाँ आती रहती थीं. मैं बाथरूम में घुस गया, गर्म पानी से नहाया, अपना लण्ड अच्छी तरह से साफ किया। लण्ड की झांटें मैं पहले ही साफ करके आया था।नहा के मैं बाहर निकला तो देखा प्रिया सूट सलवार में थी। उसका फिगर 34 32 34 था, बहुत गोरी थी. आज भी उनसे फोन पर बात होती है, पर उनसे मिलने का दोबारा मौका नहीं मिला.

मैंने रात को अपने पति को फोन किया कि जो तुम ने करना था, सो कर लिया. रंजीत के लंड का टोपा बहुत मोटा था, वो मेरी वाइफ के मुँह में पूरा नहीं आया, तो वो ऊपर से ही जीभ से चाटने लगी. मैंने भी ज्यादा ध्यान नहीं दिया और गेट बंद करने के बाद हम दोनों एक दूसरे की बांहों में लिपट कर सो गए.

मम्मी लगातार सैंडल से बियर चाट रही थी!अब मैं उठा और शिवानी को अपनी गोदी में बिठा लिया और मम्मी को कहा- प्रभा रांड अब तू उठ के बैठ जा!मैंने अपनी बहन शिवानी की पैंटी उतर दी और मम्मी को कहा- तेरी जवान बेटी की पैंटी है, इसे सूंघ और चाट अच्छे से!इतना कहते ही शीतल ने अंजलि की चड्डी भी उतार दी और मम्मी को दे दी और दोनों चड्डी में बियर उड़ेल दी.

सुहागरात सेक्सी बीएफ वीडियो: साली इतनी छोटी उम्र में न जाने कितने बड़े बड़े लंड से चुदवा चुकी है कि मेरा लंड आराम से घुस रहा है. फूल से नाज़ुक किन्तु अकड़े हुए चूचुक अपने इधर उधर पाकर लौड़े की तो ऐश लग गई.

मैंने भी हामी भर दी और यही फाइनल हो गया!अब मम्मी और शीतल दोनों बहुत ही ज्यादा सेक्सी कपड़े पहनने लगे थे और मम्मी को कभी भी मैं चोदने लगता था जब मेरा या शीतल का मन करता! शीतल ने 8 इंच का डिलडो मंगवा लिया था जिससे वो मम्मी की गांड और चूत मारती थी!एक बार हम सबने बाहर घूमने का प्लान किया तो सब लोग तैयार होने लगे! शीतल ने जीन्स और टॉप पहन लिया. मेरी इस नजर को वो भी भरपूर एन्जॉय कर रही थी और बिना मुझे टोके वो मेरी तरफ अपने हुस्न का दीदार कराती रही. फिर मैंने भी भाबी की पेंटी उतार दी और उनकी टांगें पकड़ कर सीधा लिटाते हुए उनकी चुत चाटने लगा.

फिर थोड़ी देर बाद वो झड़ गई, पर मैं अभी भी नहीं थका था और वैसे ही झटके लगाए जा रहा था.

मैंने पूछा- क्या?तो बोली- कभी किसी और लड़की या औरत के साथ रिलेशन मत बनाना. उसने ये कहा तो मैं भी जल्दी-जल्दी चोदने लगा और तभी बाथरूम का दरवाजा बजा. दिनों दिन मैं अपनी हरकतों को बढ़ाने लगा क्योंकि उन्होंने शुरू शुरू में तो थोड़ा विरोध किया लेकिन धीरे धीरे उनका विरोध कम हो गया और मेरी हिम्मत दिन ब दिन बढ़ती गयी.