बीएफ देसी बिहारी

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर बताइए

तस्वीर का शीर्षक ,

जनकपुर नेपाल: बीएफ देसी बिहारी, पुलिस सेक्स की कहानी पर किसी भी प्रकार की राय देने के लिए मेरे मेल पर संपर्क करें.

संदेश मे सेक्सी वीडियो

मैंने हाथ ऊपर ले जाकर उसकी चड्डी को किनारे किया और उसकी चूत में उंगली करने लगा. ब्लू सेक्सी फुल एचडी हिंदीवो लंड चूस कर पीने लगीं और जैसे ही रस निकला, वो एक ही बार में वो सारा वीर्य पी गईं.

सोनल ज़िन्दगी के मजे लेना चाहती थी इसलिए उसने अपना एक ब्वॉयफ्रेंड बना लिया था. सेक्स बीएफ एचडीचाची ने फोन पर चाचा को एक किस देकर फोन काट दिया और अब वो मेरे पास आ गईं.

अब अंकल ने मुझे बेड के किनारे घोड़ी बनाया और एक ही झटके में पूरा महाकाय लौड़ा पेल दिया.बीएफ देसी बिहारी: मेरी आंख की पट्टी निकाल कर हटा देते, मुझे जमीन पर कुत्ते की तरह चलाते, मेरे चूतड़ों पर छड़ी मारते.

उसकी कामुक सिस्कारियां और तेज तेज निकलने लगी थीं- आह आह मम्मी आह मेरी चूत फ़टी जा रही है … उह उह!बस यही सब कहती हुई वो ढीली पड़ गई और उसकी चूत झड़ गईं.सामूहिक चुदाई का वीडियो देखकर, कई बार विक्रम, सुनील, अनिल, मोहन ने मेरी सामूहिक चुदाई का प्रस्ताव रखा.

सेक्सी वीडियो डॉक्टर ने - बीएफ देसी बिहारी

फिर हवलदार बोला- देख रंडी घुस गया ना!अरुणिमा की मरी कुतिया सी आवाज आई- भैया कबसे चुद रही हूँ.अंकल ने गाली देते हुए मेरी साड़ी खींच ली- हाँ भैन की लौड़ी, आज तेरी चूत का भोसड़ा नहीं बनाया तो कहना.

मैंने कुछ देर बाद उसकी चूत से लंड निकाला और उससे घोड़ी बनने को कहा. बीएफ देसी बिहारी मैंने कारण पूछा तो उसने बताया कि बगल से काकी घर में आ गई हैं और इधर मिलना सम्भव नहीं है.

मैं भांग के नशे में मदमस्त थी पर देख पा रही थी कि आसपास क्या हो रहा है।दोनों ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया.

बीएफ देसी बिहारी?

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी:ब्यूटीपार्लर वाली की रगड़ कर चूत चुदाई. अब वो मेरे बिल्कुल गोद में ही थी, उसकी जांघों का स्पर्श मुझे पागल बना रहा था. मैं अपने कपड़े लेकर जल्दी जल्दी में उठा और आसिफा के कमरे में भाग गया.

ये सुनते ही मैंने कहा- क्या कह रही हो, फहीमा जैसी खतरनाक औरत … तुम्हें पता भी है, वो पास भी नहीं आने देती है. वो दोनों नहा कर तैयार हुए थे।मैंने कहा- हैलो डीयर, कैसे हो आप दोनों? अब कुछ खाने या पीने को मंगा लें?तो रोहित बोला- अरे भाई, खा पी तो बहुत लिया. मैं ख़ामोशी से बाहर आ गया और एक चाय के दुकान पर बैठ कर एक घंटा टाइम पास किया.

मैंने कहा- फिर तू बता कि कैसे गांड मारेंगे?रिया ने कहा कि मेरी एक सहेली के पास डिल्डो है. अब आगे आंटी फक़ स्टोरी:फिर एक दिन आसिफा की अम्मी ने आसिफा के फोन पर मेरे संदेश पढ़ लिए और वो भड़क उठीं. मैंने कहा- पति माना है न तो बच्चा भी ले लो न!वो हंस दी और बोली- अभीजवानी का मजालेने का समय है मेरे राजा!मैंने ओके कह दिया.

वो बहुत प्यार से लंड को ऊपर नीचे करती जा रही थी और मैं उसे देखे जा रहा था. नेहा बुरी तरह थक चुकी थी तो वो बस लाश की तरह पड़ी थी और मोहित बस उसे ठोकने में लगा हुआ था.

मैं अब सिर्फ कच्छे में था और वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में बैठी थी.

मैंने उससे कह दिया कि उसके और उसके साथी के चोदने का भी वीडियो चलेगा मुझे.

फिर उसने खुद नीचे जाकर मेरी चूत सहलानी शुरू कर दी, फिर उसने मेरी चूत में अपना मुँह लगा दिया और मेरी चूत चाटनी शुरू कर दी. कुछ समय के बाद रोमा थक गई तो मैंने उसे लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़कर पैरों को हवा में करके उसे चोदना शुरू कर दिया. नहीं तो बाद में उनको पता चलेगा तो वो मुझे ही बोलेंगे कि आपने हमें बताया नहीं.

वो वासना के दरिया में गोते लगाने लगी और बोली- अब अन्दर डालो … प्लीज कुछ करो. बाकी तीन लोग पास आकर उनको देखने लगे और बोलने लगे कि लगा नहीं था कि ये कॉलेज की छोरी सी दिखने वाली लड़की, इस हद तक लंड ले सकती है, विश्वास नहीं होता. कुछ मिनट के बाद जब आइसक्रीम की ठंडक से मामी कुछ नॉर्मल हुईं, तब उनकी कसमसाहट कुछ कम हुई.

वो लम्बी सांस लेकर बोली- साली बहनचोद रंडी, चूतिया है क्या? मादरचोद मेरी चूत फट गयी.

फिर मैं जाकर बिस्तर पर लेट गयी और मैंने फिर से वो काली पट्टी अपनी आंखों पर बांध ली. सीधे सीधे चुदाई करने में जो मजा नहीं आता है जो छिपी हुई हरकतों से शुरू होने में आता है. अब ये तुम्हारी जिम्मेदारी है … तुम इस मोटी भाभी की टाइट चुत की चुदाई करके इसका भोसड़ा बना दो.

कैसी मदद भाभी?इस पर वह खुला निमंत्रण देते हुए बोलीं- मैं तुम पर बहुत विश्वास करती हूं और मेरा तुम्हारे साथ संबंध बनाना सुरक्षित भी रहेगा. कुछ पल बाद संजना मेरे लंड पर कूदने लगी और मैं संजना के थिरकते मम्मों को मसलने लगा. भाभी अपनी चूत में अब अपनी उंगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी थी.

लगभग 5 मिनट बाद मोहित नेहा की चूत में ही झड़ गया और नेहा के ऊपर लेट गया.

चाची बोलीं- तुम एक दिन में इतना कैसे होशियार हो गए!मैं तारीफ़ सुनकर खुश हो गया कि मैं एक चूत की मालकिन को सुख दे पाने में कामयाब हो रहा हूँ. ये दोस्त Xxx राज़ मेरे और सुलेमान के बीच हमेशा हमेशा के लिए बना हुआ है.

बीएफ देसी बिहारी हम सब लड़कियों की टांगें हवा में उठी थीं और सबकी चुदाई एक लयबद्ध तरीके से हो रही थी. फिर मैंने उससे कहा- यदि तुम्हें और कुछ समझना हो तो शाम को मैं फ्री रहती हूँ.

बीएफ देसी बिहारी खैर … मैंने चूचि से नीचे उसके नाभि के आस पास में चाटते हुए उसकी नाभि में अपनी जीभ डाल दी. लंड चूत के अन्दर डाल के मैंने संजना से कहा- जान, अब तुम मेरे लंड पर मूतो.

इसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि मैं अंकल के साथ उनके घर में ही दारू पार्टी करने लगा.

राजस्थानी राजस्थानी सेक्सी

मैंने कहा- मोटी गांड वाली औरतों को दर्द नहीं होता बल्कि गांड मरवाने में मजा आता है. तभी मंजू दौड़ती हुई आई और मुझे उठाने लगी लेकिन मैं जख्मी होने का नाटक करते हुए उसके ऊपर पूरी तरह से चिपक गया. वो मेरे लंड से चूत हटा कर अलग हुईं और मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं.

जब भी मुझे वक्त मिलता तो मैं कोशिश करने लगा कि विमल भैया से उनकी उदासी का कारण पूछ लूं. इस बार गुरबचन जी और दो और लोग साइड में खड़े होकर सिगरेट पी रहे थे और बाकी दो लोग एक साथ अरुणिमा की चूत और गांड चोद रहे थे. वो भी चुदाई का आनन्द लेने लगीं और बोलने लगीं- सच में बहुत मजा आ रहा है.

’मैंने कहा- कितनी मोटी चीज ली है अभी तक?वो सकपका गई और धीरे से बोली- हॉस्टल में सहेलियों के साथ कैंडिल ले लेती थी.

तो मैंने सोचा कि एक बार ये भी कोशिश करके देखते हैं कि कैसे लगता है. उसकी बात से मैं खिलखिला कर उसके सामने अपनी बेतकल्लुफी जाहिर की और वो भी बस मेरी इस बेतकल्लुफी से भरे ठहाकों को देखता रहा. अब रंजीता पूरी तरह से माहिर हो चुकी थी कि उसे कैसे और क्या करना है.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम मदन है और आपका इस सेक्स ज्ञानवर्द्धक लेख में स्वागत है।मित्रो, 6 वर्षों तक मैंने एक नामचीन सेक्सओलोजिस्ट के यहां सहायक के तौर पर काम किया है. अन्दर घुसते ही उसने किधर भी नहीं देखा और बस मुझे जोर जोर से किस करने लगी. मैंने उससे कहा- देखो फहीमा, मुझे इस तरह किसी पर मूतना पसंद नहीं है.

मैंने अपना लंड उनकी चूत से निकाला और अपनी तीन उंगली डाल के चूत चोदने लगा ताकि उनको पता ना लगे कि मैं क्या करने वाला हूँ. उसके झड़ जाने के 5 मिनट बाद मैंने भी अपना माल उसके पेट पर निकाल दिया और हम दोनों संतुष्ट हो गए.

पहले मैंने उसको जोर से होंठों पर किस किया और हल्के से नीचे से उसकी चूत में धक्का दे मारा. सुलेमान पूछ रहा था कि मुझे बच्चा क्यों नहीं हुआ? हज़्बेंड मीहांक कैसे हैं?मैं पूछ रही थी कि उसकी बीवी में क्या कमियां हैं. सविता भाभी वीडियो की 18वीं कड़ी में भाभी प्राइवेट ट्यूटर के रूप में हैं.

दोस्तो, इस भाई बहन के बीच की दूरियां कब खत्म हो गईं और उनके बीच सेक्स का सैलाब कैसे उमड़ा, ये सब मैं आपको पबर्टी एंड इन्फेचुएशन कहानी के अगले भाग में लिखूँगा.

फिर नवीन को देश से बाहर विदेश जाना पड़ा क्योंकि उधर उसे जॉब मिल गयी थी. अभी तक पिछले भागकहानी लेखक को सेक्स के लिए बुलायामें आपने पढ़ा था कि किस तरह से मेरी और सुरेंद्र जी की दोस्ती हुई और वो मुझसे मिलने के लिए 700 किलोमीटर दूर से मेरे घर आए. उस लड़के ने मेरी चूत में जोर जोर से जीभ घुसानी शुरू कर दी और अपनी जीभ से मेरी चूत चोदने लगा.

मैंने कहा- देख, वैसे तो मैंने कभी गिने नहीं मगर हां, अंदाजे से बताऊं तो लगभग 30 या 35 के आसपास लिए होंगे. उसके बाद मॉम ने अपने मुँह की लार मेरे मुँह में वापस डाल दी और चुदाई की पोजीशन में आ गईं.

मैं बातों बातों में अब उन्हें कुछ ज्यादा टच करने लगा था और भाभी भी इसका बुरा नहीं मानती थीं. उधर फहीमा ने अपनी चूत से बह रहे मेरे वीर्य को उंगलियों पर लेकर चाटने लगी और उसने घूमकर मेरे लटके हुए लौड़े को चूस चूसकर साफ कर दिया. उसे हमेशा से देर तक सोने की आदत थी तो मैं उसे ऐसे ही नंगी बिस्तर पर छोड़कर घर की साफ़ सफाई करने लगी.

राजस्थानी सेक्सी कहानियां

एक दिन मुझे अचानक रोहित का फोन आया- हम दो दिन तक किसी काम के लिए चंडीगढ़ आ रहे हैं.

अब मैंने अपनी फेसबुक फ्रेंड के दोनों हाथों को पकड़ लिया और उसको अपने पास लाकर उसके होंठों को अपने होंठों से जोड़ कर उसे चूमने लगा. कुछ देर उसे रगड़ कर खुद को गर्म किया और अलग हट कर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए. उसकी मम्मी उसी शहर में सरकारी नौकरी करती थीं लेकिन उनका तलाक हो चुका था.

’उसके दोनों पैर और चूतड़ ऐसे कांप रहे थे, जैसे उनमें करेंट लग रहा हो. कुछ देर यूं ही चुदाई के बाद उसने मुझे एक झटके में उठाया और दीवार से टिका कर घोड़ी बना दिया. लड़की की वॉलपेपरमैं अपनी फाइल का काम पूरा भूल गया और गली के मोड़ पर एक चाय दुकान में जाकर बैठ गया.

यह वर्जिन सिस्टर फक़ स्टोरी मेरे और मेरे मामा की लड़की साक्षी के बीच में हुई चुदाई की कहानी है. यह बात रोमा आंटी को नहीं मालूम थी, पर हां उन्हें कुछ अंदेशा था कि हम दोनों के बीच बहुत कुछ गहरा है.

मेरे लौड़े की नसें फूलने लगी थीं और इसका अहसास फहीमा को भी हो गया था … मगर उसने लौड़े को निकालने के बजाए, वो और जोर जोर से लौड़े को चूसने लगी. फिर उसने आयेशा को उठाया जो कि अभी तक नंगी पड़ी थी और उसको उठाकर किस करना शुरू कर दिया. उसके स्तनों ने ब्रा पर इतना दबाव बनाया हुआ था कि उसकी ब्रा पीठ में धंसी हुई थी.

उसके बाद दोनों एक दूसरे पर लेटे लेटे हांफने लगे और एक दूसरे किस करते रहे. हवलदार बोला- साली रंडी, लूंगा तो मैं दोनों ही … और कैसे नहीं जाएगा, मैं भी देखता हूँ. जब मैं पूरी तरह से गर्म हो गई तो मैंने उन्हें रुकने का इशारा किया क्योंकि अगर वो ऐसे ही चूत चाटते रहते तो मैं झड़ जाती.

उसकी सेक्स चैट में ये भी लिखा था कि मेरे जीजू दीदी को रात में चार चार घंटे चोदते हैं, मैं उन दोनों की चुदाई अक्सर देखती हूं.

वो अपनी आंखें बंद करके सिसकारी लेती हुई मेरे हाथों से अपने चूचियों को दबवाने लगी. उन्होंने नीके रंग की साड़ी पहनी हुई थी जिसमें वो पूरी अप्सरा बन कर आई थीं.

हैदराबाद से गुंटूर यह 5 घंटे का सफर मुझे जैसे कि पांच सदियों जैसा लग रहा था. मैंने लंड के टोपे पर थोड़ा थूक लगाया और उसकी चूत के छेद पर टिका दिया. मैं करीब दस जोरदार धक्के के साथ आनन्द भरी आवाज के साथ उनकी चूत में ही स्खलित होने लगा, मैंने चार पांच पिचकारियों में अपना सारा पानी आंटी की चूत में निकाल दिया.

मैं उसके दूध और बदन को सहला रहा था और कविता मेरा लंड जोर जोर से आगे पीछे कर रही थी. मगर वो लंड पुलकित का था, तो मोहित ने मेरे चूतड़ पर थप्पड़ मारकर कहा- साली, आज तेरी हार्डकोर चुदाई होगी. दोस्तो, इस भाई बहन के बीच की दूरियां कब खत्म हो गईं और उनके बीच सेक्स का सैलाब कैसे उमड़ा, ये सब मैं आपको पबर्टी एंड इन्फेचुएशन कहानी के अगले भाग में लिखूँगा.

बीएफ देसी बिहारी दोस्तो, मेरा नाम हेमन्त है और मैं गांव में रहने वाला एक सीधा-साधा लड़का हूं. मैं अभी चंडीगढ़ में रहता हूं लेकिन ऑफिस दिल्ली होने की वजह से मेरी कंपनी ने मुझे दिल्ली में एक फ्लैट दे रखा था.

लड़कों को कैसे पटाना चाहिए

मैंने भी शराब के नशे में अपने धक्के तेज कर दिए और दोनों लोग उसकी चुदाई करने लगे. उसने नाइटी को ऐसे पहना था कि जिसमें नाइटी के ऊपर से उसके चूचियों के अंगूर साफ उभरे हुए दिख रहे थे. हम दोनों ही एक दूसरे को चूमने चाटने लगे और एक दूसरे के बदन को सहलाने लगे.

संजना के मुँह से आह निकला पर मैं अब संजना की गांड बहुत तेजी से चोदने लगा. फिर जैसे ही वो सीन हटा, हम दोनों एक दूसरे को देखने लगीं और मुस्कुरा दीं. सेक्सी बीएफ एचडी इंग्लिशफिर वो मेरी चूत छूती हुई बोली- यार तेरी चूत में जब मोम गिराया था तो कैसा लगा था?मैंने कहा- याद मत दिला.

दोस्तो, मैं आपकी फेहमिना इकबाल अपनी सेक्स कहानी के अगले भाग में फिर से मजा देने के लिए हाजिर हूँ.

’मुझे विश्वास नहीं हुआ कि वो अपनी गांड चुदवाने के लिए इतनी आसानी से मान जाएगी. रिया ने पैंटी पहनी हुई थी तो मैंने पीछे से जाकर उसकी पैंटी को उतार दिया.

मेरी अम्मी मान गईं और बाबा से बोलीं- ऐसा करना जरूरी है, तो मैं भोग देने को तैयार हूँ. मैं धीरे धीरे उसकी पीठ को चूमता हुआ उसकी गांड की दरार के पास पहुंचा. जवानी आते ही लड़का लड़की एक दूसरे की ओर आकर्षित होना शुरू हो जाते हैं चाहे समाज इसे हेय दृष्टि से देखता हो.

मैंने देखा तो उसने अपनी ऊपर की टी-शर्ट निकाल दी थी और बस एक स्पोर्ट ब्रा में ही गाड़ी धोने में लगी थी.

उसके पैर मुश्किल से फ्लोर को छू रहे थे और उसके दोनों टखनों को बांस की डेढ़ फ़ीट के बल्ली के दोनों कोनों पर बांधा गया था. बस ये अच्छी बात थी कि वो मेरे साथ चैट करती थी और मेरी बात से गुस्सा नहीं होती थी. शुरुआती धक्कों में नेहा को थोड़ा सा दर्द हुआ लेकिन उसके बाद नेहा ने लंड के मजे लेना शुरू कर दिया.

బాయ్స్ టు బాయ్స్ సెక్స్ వీడియోస్उसने फिर से पूछा- बताओ न क्या हुआ आपको?तभी मैंने फिर से रोना शुरू कर दिया. क्योंकि मैं जानती हूँ कि मर्दों की कामुक निगाहें सबसे पहले लड़कियों के मम्मों पर ही पड़ती हैं.

मारवाड़ी ओपन

उसने एक मंजी हुए खिलाड़िन की तरह मेरे लंड के सुपारे को गप्प से मुँह में लपक लिया. अब विकास ने अपनी बहन के मुँह को तेजी से चोदने की सोची और उसके सर पर बनी बाल की चोटी को पकड़कर अपनी बहन का मुख चोदन करने लगा. नेहा ने कहा- बहनचोद अगर तेरे पास ये डिल्डो थे तो तूने हमारी चूत में वो घोड़े के लंड जैसे डिल्डो क्यों डाले?मैंने नेहा को किस करते हुए कहा- यार तू लड़की है, तू ये 6 इंच के डिल्डो कब से लेने लगी.

मुझे कुछ समझ नहीं आया कि आख़िर हुआ क्या?इस घटना के बाद ऐसा लग रहा था कि पहले के मुक़ाबले अब वो पार्टी में ज़्यादा खुश दिख रही थीं. उनके चेहरे पर गुस्सा था लेकिन जैसे ही अन्दर गया उनके आंसू आने को थे. उसका यह रिप्लाई देख कर मैं भी थोड़ा खुल गया और हम अब सेक्स की भी बातें करने लगे थे.

मैं भाभी के दूध छोड़ कर उनसे पूछने लगा- क्यों भाभी, आपका पिंकी भाभी से भी चलता है क्या?भाभी मुस्करा कर बोलीं- हां, हम दोनों पहले साथ में एक दूसरी की में उंगली करके मजा किया करती थी. मैंने- छोटे बड़े होने की बात नहीं होती है भाभी … बात एक दूसरे को संतुष्ट करने की होती है. लंड लेते समय वो फिर से चिल्लाने को हुई मगर इस बार मेरे मुँह का ढक्कन उसके मुँह पर लगा था.

मैं अभी चंडीगढ़ में रहता हूं लेकिन ऑफिस दिल्ली होने की वजह से मेरी कंपनी ने मुझे दिल्ली में एक फ्लैट दे रखा था. बुआ के साथ बैड सेक्स रिलेशन बनाये भतीजी के पति ने … और इसमें मदद की खुद भतीजी ने … उसने अपनी बुआ को नंगी करके अपने पति के सामने परोस दिया.

मैंने हम सबके नाम की पर्ची बनाई और बोला- ये चार नाम लड़कियों के हैं और ये चार नाम लड़कों के.

ज्योति- ऐसा क्या है मेरी आवाज़ में?मैं- एकदम लंड खड़ा कर देती है आपकी आवाज़!जैसे कि मैंने बताया हम पहले से ही बहुत खुल चुके थे और ऐसे लंड चूत शब्द का इस्तेमाल बहुत आसानी से एक दूसरे के साथ करते थे और फ़ोन सेक्स भी कर लेते थे. अंग्रेजी चोदा चोदी वीडियोमेरी प्रेमिका से मेरा ब्रेकअप हो चुका था पर उसकी मां से कभी कभी मेरी बात हो जाया करती थी. ठाकुर सेक्सी बीएफमैं भी अन्दर से सब समझ रहा था कि मेरी बीवी कितनी बड़ी चुदासी रांड हो गई है. मैं आशा करता हूँ कि आप लोगो को यह डाईवोर्सी भाभी की चुदाई कहानी अच्छी लगी होगी.

सोमवार शाम को चाची आईं, तो मैंने बोला- चाची, रिचार्ज का पैसा दे रही हो या इंतजार करवाओगी?चाची बोलीं- इतनी जल्दी तू पैसा लेने आ भी गया?मैंने कहा- वो बापू को काम था तो आना पड़ा.

अपनी चाल चल कर मैंने अपना हाथ उसकी जांघ से कुछ ऊपर पैंटी के करीब रखा और उंगली से उसकी चूत को सहलाया. मम्मी के मम्मों का मस्त नजारा देखकर पापा बहुत उत्तेजित होने लगे थे और उनकी आंखों में वासना साफ़ दिखने लगी. भाभी ने उठने का प्रयास करते हुए कहा- यह क्या कर रहे हो?मैंने उन्हें दबाते हुए कहा- भाभी, बस एक बार एक बार कर लेने दो, जिंदगी में दोबारा कभी नहीं कहूँगा.

मैंने ध्यान ही नहीं दिया कि मेरी एक गोटी उसके पाले में जा पहुंची और कट गई. मेरा मानना है कि पाठक वर्ग एकदम साधारण है और इन कहानियों को पढ़ कर दिग्भ्रमित होता है, ढेरों फंतासियां बुनता है और अनैतिकता के साथ साथ अपराध के रास्ते पर चल निकलता है. अगले दिन सुबह मैंने अरुणिमा से कहा कि विश्वेश्वर जी को उसकी कुछ नंगी फोटो और वीडियो चाहिए.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो पंजाबी

ये कहकर आयेशा हंसने लगी तो मोहित ने कहा- यार, क्यूं अभी से गांड फाड़ रही है हमारी?यह कहकर मोहित ने आयेशा के चूतड़ पर थप्पड़ मार दिया. ” वह पलट कर बोली।ठीक है, जैसा तुम चाहो।” मैंने सारी शर्तें मान ली।उसके बाद वह चली गयी।रात को खाना वाना खाकर मैं अपने कमरे में बैठा रूपा का इंतजार कर रहा था।करीब दो घंटे बाद रूपा आयी।चले?” उसके आते ही मैं उठ खड़ा हुआ।पट्टी बांधनी है. मैं बेडरूम में जाकर लेट गया और तीस मिनट बाद आकर देखा कि एक तो जा चुका था, पर दो मर्द अरुणिमा को खड़ा करके उसकी चूत और गांड एक साथ चोद रहे थे.

थोड़ी देर तक वो ऐसे ही लेटी हुई मेरी चूत का रस अपने बॉयफ्रेंड के लंड को पिलाती रही.

पिछले भागअनाड़ी लंड और खिलाड़ी चूत का समागममें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं चाची के ऊपर चढ़ा हुआ था और वो मुझे चोदना सिखा रही थीं.

विकास ने अपनी बहन से कहा- पहली बार है तुम्हारा … हल्का दर्द होगा, बर्दाश्त कर लोगी ना?नेहा बोली- तुम्हारे लिए मैं कोई भी दर्द बर्दाश्त करने को तैयार हूँ. ब्रा उतरेगी तो स्तन नंगे हो जाएंगे और जींस उतरती है तो प्राइवेट पार्ट को खतरा. इंडियन भाभी चुदाई वीडियोथोड़ी देर तक एक एक करके दोनों चूचियां चूसने और काटने के बाद मैं उसकी नाभि तक आ पहुंचा और मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाल दी.

हालांकि विश्वेश्वर जी ने मुझे घर पर रहने को बोला था पर मेरा अरुणिमा को अकेले वहां छोड़ने का मन नहीं था. मामी को अपनीचूत के अन्दर गर्म मालमहसूस हुआ तो वो भी लम्बी लम्बी सांसें लेती हुई वीर्य को चूत में जज्ब करने लगीं. मैंने जैसे ही अन्दर जाने को कदम बढ़ाया, वहां बैठे हवलदार ने डपटा- कहां चले जा रहा है.

उसने मुझसे पूछा- क्या मैं अन्दर आ सकती हूं?मैंने उसको अन्दर आने को बोला. गजब की गोरी गांड थी उसकी!मैं थोड़ा सा झुका और उसके लोवर के बीच से देखने की कोशिश की तो अन्दर उसकी चड्डी तक दिख रही थी.

चौधरी जी बात करते करते मेरे एक चूचे पर हाथ फेर रहे थे और मेरा बदन सहला रहे थे.

एक दिन मैंने उससे उसकी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो बोला- भैया मैंने ट्राई तो बहुत किया लेकिन अब तक कोई बनी नहीं. मैंने कभी नापा तो नहीं था पर उस वक्त भाभी के हाथ में नहीं आ रहा था. उसने मुझे थैंक्यू बोला और मैंने भी मुस्कुराते हुए सिर हिलाकर जवाब दिया.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो गाना इस बात पर रोमा आंटी ने मुझे बहुत ही प्यारी सी नजर से देखा और बोलीं- अच्छा बच्चू, मुझ पर लाइन मार रहे हो?मैं थोड़ा शर्मा गया. आपको मेरी ये पोर्न स्टार सेक्स कहानी कैसी लग रही है, प्लीज मेल करें.

उसकी चूत मेरे चाटने से पहले ही गीली थी, एक ही धक्के में मेरा 6 इंच का लंड उसकी बुर में समा गया और उसके मुँह से एक चीख निकली. मैंने पूछा- बोल भाभी … तेरी सुहागरात कैसे मनी?वो बोली- उस दिन पीरियड चल रहा था. क्या बात है … आज तो एक ही बार में मेरी बहन लंड लेने में एक्सपर्ट हो गई!”विनी हंसने लगी और बोली- लगता है भाई तुमने भी मुझे पोर्न स्टार बनाने का ठान लिया है.

स्कुल सेक्सी

मैंने सुलेमान को अन्दर लिया और बाथरूम के पास खींचती हुई ले गई, उधर टंगा तौलिया मैंने उसे पकड़ा दिया. मैंने बोला- पैसे नहीं … कुछ और दो!उसने पूछा- कुछ और क्या?मैंने कहा- तेरी गांड भी मारूंगा. लगभग दस मिनट बाद भाभी खुद चल कर मेरे कमरे में आईं और मेरे बिस्तर पर बैठ गईं.

भाभी बस ये देख कर अपनी चूत सहला रही थीं और खुद भी पिंकी भाभी के ऊपर लेट गईं. मेरी मॉम की हाइट 4 फुट 9 इंच है और उनके काले रंग के बाल एकदम घुंघराले हैं.

मैं- अरे भाभी, मैं इतना जालिम थोड़ी हूँ, जो अपनी प्यारी भाभी को कष्ट दूंगा.

यह उसी की गलती के कारण हुआ था क्योंकि उसने जल्दबाज़ी में गलत टच कर दिया. मेरी इस प्रणयक्रीड़ा से वो सातवें आसमान पर थी और उसकी मादक आवाजें ‘आहह आआआ उउहह. मम्मी के मम्मों का मस्त नजारा देखकर पापा बहुत उत्तेजित होने लगे थे और उनकी आंखों में वासना साफ़ दिखने लगी.

अरुणिमा बिना बहस किए उसके लंड को चूत में लेकर किसी प्रोफेशनल पोर्न स्टार की तरह उसके लंड पर उछलने लगी. मेरा नंगा जिस्म देखकर नेहा ने कहा- यार लग नहीं रहा है कि तू इतनी चुदी हुई माल है. मैं गले में पट्टा, जिस पर रस्सी बंधी होती, पहनकर, सिर्फ ब्रा पैंटी में आंख पर पट्टी बांधकर, घुटने के बल एक तकिये पर खड़ी चौधरी जी के आने का इंतजार करती.

लंड चूत के अन्दर डाल के मैंने संजना से कहा- जान, अब तुम मेरे लंड पर मूतो.

बीएफ देसी बिहारी: मेरा चेहरा दीपक के सीने से चिपका था और दीपक के हाथ मेरी कमर थामे मुझे स्थिर रखे हुए थे ताकि वो आराम से मेरी चूत बजा पाएं।तभी पूल कर्मचारी आ गया. उसने किसी और से बात करना बंद कर दिया था और अब जब जब उसका मन करता, मेरे बगल में लेट जाती.

हम सब गाड़ी से उतर कर अन्दर जाने लगे, तो अमित का हाथ मेरी गांड पर जम गया था. मैंने उसे बताया कि मेरे पास एक फ्लैट खाली है उसमें मैं अपने दोस्तो के साथ कभी कभी जाता रहता हूँ. उसकी आवाज सुनकर वो मेरे पास ले आई और मेरे बगल में लेटा कर मेरी चूची को मुँह में ले लिया और उसे पीने लगा.

मैंने कहा- कमरे में चलें क्या?भाभी- किस लिए?मैंने कहा- एक बार फिर से जोरा-जोरी हो जाए.

बिग लंड की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी बहुत सेक्सी है, मैं उसे अन्य मर्दों से सेक्स का मजा दिलवाना चाहता रहा हूँ. इस बार प्रिया खुद अपनी टांगें चौड़ी कर दीं और मेरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक उतर गया. पहले मेरी चूत की आग शांत कर!यह सुनते ही आयेशा ने मुझे गले लगा लिया और मुझे किस करने लगी.