सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के

छवि स्रोत,डॉक्टर एंड पेशेंट सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

जिओवीडियोकॉल सेक्सी फोटो: सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के, बस वो छुप कर सब कुछ देखता रहता और अपनी बहन के जिस्म के नज़ारे एंजाय करता था।एक रोज़ मैंने जाहिरा को अपनी एक टी-शर्ट निकाल कर दी कि इसे पहन लो। बहुत इसरार करने की बाद जब उसने वो शर्ट पहनी.

पंजाबी क्सक्सक्स सेक्सी वीडियो

दूसरा मैदान तेरा इंतज़ार कर रहा है।उसने ऐसा बोल कर अपनी चूत की ओर इशारा किया।आंटी की चूत कब से पानी टपका रही थी. लड़की को चोदते सेक्सीतो सब किए-कराए पर पानी फिर जाएगा।तो वो मेरे और करीब आई और मुस्कुराते हुए मुझे बाँहों में भरकर मेरे होंठों पर चुम्बन देते हुए बोली- जान तेरे लिए तो अब मैं अपना सब कुछ हारने को तैयार हूँ.

तो मैं देखता ही रह गया। जींस और टॉप में वो एकदम मस्त माल लग रही थी।उसको देख कर ही मेरा लण्ड खड़ा हो गया. सेक्सी रंडी बाजार वीडियोममता की गाण्ड को पेलता रहा और ममता कराहती रही।अब लौड़ा गाण्ड में अपनी जगह बराबर बना चुका था। ममता को थोड़ा दर्द कम हो गया था.

’अब लग रहा था कि मैं भी झड़ जाऊँगा, मैंने भी अपने धक्के तेज कर दिए और नीचे से नीलम भी जोर-जोर से धक्के देने लगी, उसने एकाएक मुझे अपने बाँहों में जोर से जकड़ लिया और वो झड़ने लगी।मैं भी अंतिम कगार पर था.सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के: एक-दूजे को बड़े प्यार से छूते थे और हमारी मोहब्बत ज्यादातर आँखों से ही ब्यान होती थी।वो खिलकर जवान और खूबसूरत हो गई थी.

इतना प्रकाश भर था कि हम बस एक-दूसरे को महसूस कर सकते थे।रास्ते में मैं उसकी कार में शराब ख़त्म कर चुका था.।उस वक़्त मेरे मुँह से केवल ‘वाह’ के अलावा कुछ नहीं निकला।मैं अपने आपको बहुत ही खुशनसीब मान रहा था और सपने की तरह उसे देख रहा था कि अचानक उसने ही मुझे नींद से जगाया।अब आप सोच रहे होंगे कि मैंने उसे और उसने मुझे पहचाना कैसे?अरे इस आधुनिक युग में सब कुछ हो सकता है.

हिंदी सुपर सेक्सी व्हिडिओ - सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के

जिनका पति मर चुका है और उसका एक बेटा और एक बेटी है।उसका बेटा अनिल, मेरा दोस्त है और वो बिल्कुल लड़कियों जैसा दिखता है। अनिल की उम्र यही कोई 23 साल की है और उसकी बहन अनीला 20 साल की है।दोनों भाई-बहन बहुत शानदार दिखते हैं। मिसेज कुकरेजा भी काफ़ी प्रभावशाली औरत हैं।बेशक अनिल की उम्र 23 साल की हो चुकी है.मगर पुनीत ने इसको भी अपने रंग में ढाल लिया है। कभी-कभी ये भी पुनीत के साथ रंगरेलियाँ मना लेता है। वैसे रॉनी के पापा के देहांत के बाद संजय खन्ना ने ही इसको संभाला है। अब ये दोनों साथ ही रहते हैं। बाकी के बारे में बाद में बता दूँगी। इसकी भी उम्र लगभग 20 साल की ही है और बाकी सब भी पुनीत जैसा ही है।चलिए आगे चलते हैं.

इस बीच आंटी ने अपना घाघरा भी निकाल दिया था और वो अपनी दोनों जाँघों के बीच तौलिया रगड़ रही थी।मैंने खुशबू की तरफ देखा और पूछा- देखो. सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के टीना की जिंदगी सिर्फ तू ही बचा सकती है।रोमा ने नीरज को एक जोरदार थप्पड़ मारा और आँखें लाल करके बोली- अब यहाँ एक मिनट भी रुका.

तो एक दिन दोपहर में कुरसी पर बैठ कर एक फिल्म देख रहा था। चाची जी घर की सफाई कर रही थीं।थोड़ी देर में वो मेरे पास आईं और मेरे पीछे एक अलमारी थी.

सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के?

मगर मेरा दिल था कि तेरी गाण्ड मारने के समय में जंगली बन जाऊँ और तेरी गाण्ड को फाड़ दूँ।दोस्तो, उम्मीद है कि आप को मेरी कहानी पसंद आ रही होगी. लेकिन उसका हाथ काफ़ी देर तक वापिस नहीं आया था।शायद वो अपने भाई के लंड को फील कर रही थी।फिर उसने अपना हाथ वापिस आगे किया और मेरे पेट पर रख कर मुझे हिलाते हुए आवाज़ देने लगी- भाभी. लंड का सुपारा अपनी जुबान से चाट कर और भी मस्त कर देती हैं।मैंने भी एक गोरी मेम को अपने देसी लंड के रॉकेट पर सैर करवाने की सोची। मैंने सोचा क्यों ना मैं भी एक बार किसी गोरी मेम की गाण्ड मारूं?क्यों ना उसकी चूत का अवलोकन किया जाए और तुलना करके देखा जाए कि गोरी मेम की चूत.

और जैसे ही सामने देखा तो सामने भाभी के भीगे हुए कपड़े पड़े थे। मैंने साड़ी उठाई तो नीचे ब्रा-पैन्टी भी पड़ी थी। मेरी धड़कनें तेज हो गईं।मैंने पहले ब्रा उठाई और उस पर लेबल देखा 36 सी. ताकि वो ईज़ी फील करे और किसी प्रेशर या ज़बरदस्ती की वजह से कोई भी काम ना करे।यही वजह थी कि कॉलेज के माहौल और मेरे सपोर्ट की वजह से वो काफ़ी हद तक खुल चुकी थी।सुबह सबके जाने के बाद मैंने कपड़े धो कर बाहर बरामदे में सूखने के लिए लटका दिए थे। बारिश का मौसम हो रहा था. मीरा बाथरूम चली गई और राधे रसोई में घी लाने चला गया।उसने घी को हल्का गर्म किया और कमरे में ले आया।दोस्तो, उम्मीद है कि आप को मेरी कहानी पसंद आ रही होगी.

’ की आवाज़ सुनकर मुझे और भी मज़ा आने लगा था।अब करीब और 5 मिनट के बाद वो फिर से झड़ गई और मैं भी अब गिरने ही वाला था।मैंने पूछा- कहाँ गिराऊँ. जो लंड को अन्दर जाने से रोक रही थी।तभी अचानक मॉम उठ गईं और धीरे से लड़खड़ाते हुए स्वर में बोलीं- आप अभी आ रहे हैं. मैंने अपने लंड को पूरी ताक़त और जोश के साथ चूत का भोग करवाया ताकि लंड की तमन्ना पूरी हो सके और मेरा लौड़ा.

पर शायद पहली बार किसी नंगी लड़की का अपने सामने मुलायम बदन देख सबके साथ यही होता है।मैंने हार नहीं मानी और इस बार बाथरूम में जाकर ‘सू. मैंने अपने सुपारे पर अपना थूक लगाया और एक और बार कोशिश करने लगा। मेरे लंड का सुपारा इस बार एक इंच ही अन्दर गया होगा कि ये क्या.

’ वो ये बहुत ही कामुकता से बोल रही थीं।मेरे इस काम से वो इतनी उत्तेजित हो गई थीं कि दस मिनट बाद वो झड़ गईं और मैंने उनका पूरा पानी पी लिया। जब उनके रस की अंतिम बूँद निकल रही थीं.

पर उसे गर्लफ्रेंड नहीं बनाना चाहता था।मुझे किसी अच्छी लड़की को गर्ल-फ्रेण्ड बनाना था। एक महीना बीत गया.

और हम दोनों की एक क्लास में मुलाकात हुई थी।जैसे कि मेरी आदत है कि मैं लड़कियों से बातें करते समय माहौल इतना अच्छा बना देता हूँ कि वो हंसे बिना नहीं रह पातीं. इतनी देर में वो एक बार और झड़ चुकी थी। मैंने उसकी बुर को अच्छी तरह साफ किया और उस पर हल्का सा सेंट लगा दिया और उसको चूम लिया।मेरे होंठ उसके योनि प्रदेश में लगते ही उसके मुँह से ‘सीईई… ईईई. ’ कहने लगी।वो अपना हाथ मेरे बालों में फ़िराने लगी। मैं 15 मिनट तक उसकी चूत चाटता रहा।अब मैंने अपना लन्ड उसके हाथ में दे दिया और वो मेरे लन्ड को सहलाने लगी। मैं उसके पैरों के बीच में आ गया और अपना लन्ड उसकी चूत के ऊपर रगड़ने लगा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसके बाद मैंने अपने लन्ड को हल्के से धक्का लगाया तो मेरा सुपाड़ा उसकी चूत में घुस गया।प्रिया चिल्ला उठी- उई माँ.

मैंने उसकी ब्रा की स्ट्रेप्स उसके कन्धों से नीचे खींच दिए और उसके साथ ही उसकी शर्ट की डोरियाँ भी नीचे उतार दीं।एकदम से जाहिरा की दोनों चूचियों मेरी नज़रों की सामने बिल्कुल से नंगी हो गईं।जाहिरा ने फ़ौरन से ही अपनी चूचियों पर अपने दोनों हाथ रख दिए और बोली- भाभिइ. सो उनके सामान को बोगी से बाहर निकाला।दो कुली आ गए और वो हमारा सामान टैक्सी तक ले जाने लगे।बाकी सब कुली के साथ-साथ चलने लगी और मैं आस-पास की भीड़ में जैसे खो सा गया।आज मेरा दिल बड़े जोर से धड़क रहा था. तो एकदम एक शैतानी ख्याल मेरे दिमाग में कूदा और मैं हौले से मुस्करा कर चुप होकर खामोश ही रह गई।वो ही हुआ कि थोड़ी देर में बारिश शुरू हो गई.

मैं दवाई ले लूँगी)अब अमन मेरे ऊपर आ गया। मेरे होंठों में अपने होंठ लिए।मैंने नीचे हाथ करके उसका लंड अपनी चूत पर सैट किया। अमन ने धीरे से धक्का लगाया और मेरी गीली चूत में उसका लंड घुस गया।मेरे मुँह से सिसकारी निकलने लगी.

साथ ही अन्तर्वासना को मेरी पहली कहानी को दीर्घकालीन बहुलोकप्रिय रसभरी कहानियों के संग्रह में शामिल करने के लिए बहुत धन्यवाद।मेरा नाम प्रेम है. और पूजा पूरी तरह खुल गए थे।तब भाभी ने एक दिन कैरम खेलते हुए मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ लिया. तुमने आज तक किसी को नहीं चोदा है? लाओ मैं तेरे लण्ड को अपनी बुर के छेद पर लगाती हूँ।उसने ऐसा ही किया और मुझे धक्का लगाने को कहा.

ताकि थोड़ी सी सिकाई भी की जा सके।फैजान भी अपनी बहन के पैर में मोच आने की वजह से बहुत ही परेशान था। इसलिए फ़ौरन ही रसोई में चला गया।जाहिरा के पैर के ऊपर मूव लगाने के बाद मैंने उसकी सलवार को थोड़ा ऊपर घुटनों की तरफ से उठाया. मैंने तुरंत वादा कर दिया।उसने अपने दोनों हाथ हवा में ऊपर उठा लिए और आँख बंद करते हुए बोली- उतार दीजिये ये सूट. वो चौंकते हुए बोली- तुम?उसने तत्काल चैट ऑफ कर दी।तो मैं नंगा ही उठा और उसके कमरे में चला गया और लाइट जला दी।वो बोली- तुम जाओ यहाँ से.

मैं रात में दोस्तों के साथ छत पर बैठा था, चार दोस्त साथ मिलकर देसी दारू पी रहे थे और एक अंग्रेजी फिल्म यानि पोर्न फिल्म देख रहे थे, उस फिल्म में एक अंग्रेज लड़की को दो लड़के चोद रहे थे।एक दोस्त बोला- अरे यार ये अंग्रेज लौंडियाँ बड़ी बेकार सी होती हैं.

पर वो ना मानी। दूसरे दिन मैंने उसके बेटे से फूल भिजवाए और दूसरे दिन में कहीं नहीं गया।भले वो मुझसे गुस्सा थी पर तब भी मुझमे कुछ आत्मविश्वास जाग गया था। मैं उसके घर आया. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !आप सब इस कहानी के बारे में अपने ख्यालात इस कहानी के सम्पादक की ईमेल तक भेज सकते हैं।अभी वाकिया बदस्तूर है।[emailprotected].

सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के लेकिन वो कहती कुछ नहीं थी।जेबा के चाचा दुबई में नौकरी करते थे तो चाची थोड़ी चिड़चिड़ी स्वाभाव की हो गई थी।गर्मी के दिन थे, मुझे उसके पापा से जरूरी काम था तो मैं उसके घर गया. मोनिका एक पल के लिए हिचकी तो मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी ओर खीचते हुए उसके पति से ज़रा बेशर्मी दिखाते हुए कहा- क्यों.

सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के यहाँ मेरे लिए एक चौंका देने वाला काम हो चुका था।उसकी जींस की चैन खुली हुई थी और उसका लौड़ा पैन्ट से बाहर लहरा रहा था। मैंने फिर उसके चेहरे की ओर देखा. मेरा पूरा शरीर दर्द दे रहा है। कमर और चूत बहुत दर्द कर रहा है।मैंने उसे एक दर्द निवारक गोली दी और बोला- बस में आराम से सो जाना।हम घर पहुँच गए.

क्या आप मेरे मोबाइल को रिचार्ज करा देंगे?मैंने मुस्कुरा कर हामी भरी।उन्होंने पैसे और नंबर मुझे दिया और कहा- फुल टॉक वैल्यू वाला रिचार्ज कराना.

मां और बेटे का जबरदस्ती सेक्सी वीडियो

मैं और मेरी बड़ी बहन उर्मिला हैं। मेरी बहन का उम्र 26 साल है और उनकी शादी हो गई है और अब तो उनको एक बच्चा भी है।बात आज से 2 साल पहले की है जब मैं 20 साल का था। बच्चा होने के बाद दीदी हमारे घर रहने के लिए आईं।मुझे खीर बहुत पसंद है, एक दिन मुझे खीर खाने का बड़ा मन था लेकिन घर में दूध नहीं होने के कारण मुझे खीर नहीं मिली।मैं उदास हो गया. मैंने अपने लौड़े को निकाल कर उनके मुँह में डाल दिया।वो उसे एकदम लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं। तभी मेरा माल उनके मुँह में निकल गया और उन्होंने उल्टी कर दी।मैं उनको गोद में उठा कर बाथरूम में ले गया और उनके साथ नहाने लगा।मेरा लंड फिर से टाइट हो गया. जब तृषा मुझे गुदगुदी लगा रही थी और मैं हंसते-हंसते पागल हुआ जा रहा था। मैं हाथ जोड़ कर उससे मुझे छोड़ने की मिन्नत कर रहा था.

जिससे दिल को बहुत ख़ुशी होती है।तो दोस्तों वक्त ख़राब न करते हुए मुद्दे पर आते हैं।मेरी पिछली कहानी ‘पिया गया परदेस. मैंने थोड़ी देर अंग्रेजी में बात करके उसे हिमालय की खूबसूरती दिखाने के लिए राज़ी किया। हक़ीकत में तो मैं उसकी सुडौल जवानी की खूबसूरती का नज़ारा लेना चाहता था।‘वॉट इज युअर नेम?’‘एन्ना. क्योंकि चूत पहले से ही इतनी रसीली थी और आंटी एक चुदक्कड़ रंडी थी।मेरा लंड उसकी चूत की गर्मी और दोनों चूत की दीवारों से गिरते पानी को महसूस कर रहा था।अब मैं अपनी पूरे जोश से उसकी चुदाई कर रहा था.

उसकी आवाजें तेज होने लगीं।उसकी मादक आवाजें मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं। अब मैं उसकी चूत में तेज-तेज धक्के मारने लगा। मैंने उसे चोदने की स्पीड बढा दी। वह अब और भी जोर से चीखने चिल्लाने लगी, उसके मुँह से ‘आह हह.

उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी थी। वो अपने मम्मे खुद दबाने लगी थी।नीरज- अब मैंने तुम्हारी पैन्टी भी निकाल दी. उसने मेरा लण्ड पकड़ कर मुँह में ले लिया और खूब जोर से मुँह में अन्दर-बाहर करने लगी।थोड़ी देर में बोली- अब मेरे से रहा नहीं जाता. कब से तुम्हारा इंतज़ार कर रही हूँ।जब रोमा नीरज से लिपटी तो उसको शराब की बदबू आई।रोमा- ये क्या जानू, तुमने शराब पी रखी है?नीरज- अरे नहीं जान वो कुछ पुराने दोस्त मिल गए थे.

’ करने वाशरूम में चली गई थी।राहुल ने आगे बढ़कर मेरा हाथ पकड़ा और एक कागज़ पकड़ा दिया। मैं कुछ समझती तब तक वो चला गया।रिचा आई और मुझे ‘शुक्रिया’ कह कर चली गई।कागज़ पर एक नंबर लिखा था. ताकि वो थोड़ी सामान्य हो जाए और आहिस्ता-आहिस्ता इस नई ड्रेसिंग की आदी हो सके। अगर तुमने कोई ऐसी-वैसी बात की. आज मैं आपको अपनी कहानी बता रहा हूँ।घटना आज से 7 साल पुरानी है।मेरा एक दोस्त 2 दिन घर में अकेला था इसलिए मैं उस दोस्त के घर गया था। हम दोनों बातें कर रहे थे.

अन्तर्वासना के सभी पाठक मित्रों जलगांव ब्वॉय का नमस्कार!मैं आप सब का बहुत आभारी हूँ कि आपने मेरी पहली कहानी ‘धोबी घाट पर माँ और मैं’ को इतना अधिक पसंद किया कि मैं खुद अचंभा कर रहा हूँ और अभी तक मुझे ईमेल आ रहे हैं।ख़ास करके मुझे लगा कि इस कहानी के लिए सिर्फ लड़के मेल करेंगे. वहा फिर से वही सीन था कि कपल्स एक-दूसरे को किस कर रहे थे।हम भी एक अच्छी सी जगह जाकर बैठ गए और बातें करने लगे।बातें करते हुए उसने पूछा- ये सब प्यार कर रहे हैं.

यह घटना अभी 2 हफ्ते पुरानी है जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ।हमारे घर के पास में एक पड़ोसी रहते हैं वहाँ एक आंटी हैं. जो उनके मुँह से बाहर आकर उनकी चूचियों पर भी गिरने लगा।अब मैं और भाभी एक-दूसरे की बाँहों में ही लेट गए। भाभी अब शांत थीं. उसकी मदमस्त उठी हुई गाण्ड देख कर राधे का लौड़ा तन गया।राधे चुपचाप बिस्तर के पास गया अपना अंडरवियर निकाला और लौड़े को सहलाते हुए मुस्कुराने लगा.

जिसके कारण प्रिया उदास ही रहती है।प्रिया की भरपूर जवानी को देख कर कम से कम 45-50 लोग उस पर लाइन मार चुके थे.

लगभग 2 घंटे बाद मैं उठा और बाथरूम में खुद को साफ किया और सुमन को भी नहलाया।बाथरूम में नहाते हुए भी उसको एक बार चोदा।इसके बाद हम कई बार मिले और मैंने उसे खूब चोदा।दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी. यहाँ तक की सोते-सोते भी ‘उसी’ के बारे में सोचता रहता है।यह बात करके वे दोनों हँसने लग गईं।मैंने भी कमेन्ट मार दिया- आंटी. पर कोई जबाव नहीं आया।अगली सुबह उसका ‘गुड मॉर्निंग’ का मैसेज आया।मैंने भी जबाव दिया और पूछा- कल ऑफलाइन क्यों हो गई थी?बोली- हबी आ गए थे।तो मैंने कहा- ओके.

फिर हम नहा कर बाहर आ गए और हमने बैठ कर आइसक्रीम खाई।मैंने एक बात नोट की कि शिवानी ठीक से चल नहीं पा रही थी. मैं अपने लंड को साफ़ करने के लिए उठा तभी सावी ने मुझे फिर से अपनी तरफ खींच लिया।उसने मुझसे अपनी चूचियों पर मेरा हाथ रखवाया और अपनी एक जांघ मेरे ऊपर चढ़ा दी।सावी- क्यों सैंया जी कैसा लगा?मैं निरुत्तर था.

तो वो उसको जरा ढीली थी और उसके चूतड़ों को भी कवर कर रही थी। लेकिन उससे नीचे उसकी जाँघों को बिल्कुल भी नहीं ढक रही थी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसने मेरे कहने पर नीचे लेग्गी पहन ली, उसकी चुस्त लैगी में फंसे हुए उसके चूतड़ों को तो मेरी शर्ट ने कवर कर लिया थी. उसने गैस बंद की और पलटकर मुझे बाँहों में ले कर मेरे होंठों को चूसने लगी, उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. फिर मैंने फ़ोन कट कर दिया और खाना खा कर सो गया।अगले दिन मैंने मम्मी से कहा- मैं दोस्त के घर पढ़ने जा रहा हूँ.

बिहारी सेक्सी पिक्चर साड़ी वाली

मैंने उनके होंठो में होंठ डाले और उन्हें चूसने लगा।वो एकदम से पीछे हुए कहने लगी- ये तो मैंने नहीं सिखाया था.

मैं भी उनके बालों में अपने हाथ डाल कर उनका मुँह अपने लण्ड पर आगे-पीछे करने लगा।फिर मैंने उनकी ब्रा में अपना लण्ड घुसा दिया और उनकी चूचियाँ चोदने लगा, भाभी भी मेरे पेट पर किस कर रही थीं।अब मैंने भाभी के दोनों कबूतरों को उनकी ब्रा में से आजाद कर दिया और उनके गुलाबी निप्पलों को चूसने लगा।मैंने उनके मस्त निप्पलों को अपने होंठों से दबा लिया और प्यार से चूसने लगा. क्या बस पूछा है।मैंने क्या- करना क्या है उसका?वो बोली- मुझे उसका कुछ नहीं करना है तुमसे करवाना है।‘क्या करवाना है. अगर यूँ ही आवाज़ करते रहे और माँ ने सुन लिया तो जरूर गड़बड़ हो जाएगी।उसके इतना बोलते ही मैंने उसके कोमल बदन को अपनी बाँहों में जकड़ लिया और उसके होंठों से अपने होंठों को जोड़कर उसकी मीठी जवानी को चूसने लगा.

फिर उसकी चूचियों को चूस-चूस कर उसे एकदम चुदासा और गरम कर दिया। मैंने एक चूची को अपने मुँह में और एक को हाथ से मसला. भैया भी साथ हैं।मैं जोर-जोर से हँसने लगी और फिर उसके कान में बोली- उस दिन से भी तो अपने भैया की ही लाई हुई ब्रा पहन रही है ना. सेक्सी मालिश चुदाईतेरा दर्द कम हो जाएगा।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और मालिश के बहाने से उसकी कमर और पेट पर हाथ फिराने लगा। धीरे-धीरे दोनों दवाइयों ने भी काम करना शुरू कर दिया था।दर्द कम होने लगा और व चुदास की खुमारी बढ़ने लगी, मेरे हाथों का स्पर्श उसे पागल कर रहा था।उसकी कल रात की देखी ब्लू-फिल्म.

तो कोई नहीं बोला।फिर मैंने दोबारा आवाज़ लगाई तो ज़ेबा की आवाज आई- क्या है।मैंने देखा वो बाथरूम से बोल रही थी। दोस्तों उनके बाथरूम में दरवाज़ा न होकर गेट पर सिर्फ पर्दा लगाया हुआ था।तो वो अपनी गर्दन थोड़ी सी बाहर निकाल कर मुझसे बात कर रही थी। मैं उसको देखकर मुस्कुराया. फिर मैंने एक बार लौड़ा बाहर निकाल कर उसकी चूत साफ़ की और फिर चुदाई शुरू कर दी।थोड़ी देर बाद उसको भी मजा आने लगा और वो भी अपनी गाण्ड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी। लगभग 10 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं झड़ गया और इसी बीच वो भी दो बार झड़ चुकी थी।फिर हम लेट गए और एक-दूसरे को चूमने लगे। मैं उसके चूचे चूस रहा था.

तभी से मुझे चुदाई की कहानियाँ पढ़ने का शौक लग गया था।यहाँ अन्तर्वासना पर मैंने काफ़ी सारी सेक्सी कहानियाँ पढ़ी हैं। मुझे भी कुछ कहना है इसलिए. मैंने अक्सर देखा है कि जब वो पोंछा आदि लगाती हैं या किसी दिन बिना ब्रा के होती हैं तो बार-बार नाईटी ठीक करके अपनी चूचियाँ एड्जस्ट करती रहती हैं।अब मैं मुख्य घटना पर आता हूँ. दोस्तो आगे की बात अगली कहानी में!कहानी कैसे लगी मुझे जरूर बताना, आपकी राय का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected].

उस दौरान मेरे फ़ोन पर एक एस एम एस आया- हाऊ आर यू?मुझे लगा- पता नहीं कौन होगा?मैंने भी पूछा- हू आर यू?तब धीरे से उसने रिप्लाई दिया- मैं दिव्या हूँ. आपकी बहन आज से सिर्फ़ आपकी है।मैं भी पद्मा दीदी की बात सुन कर जोश में आ गया और अपनी दीदी के होंठों को चूमने लगा। उसके होंठों पर जीभ फेरते हुए उसके नंगे जिस्म से लिपटने लगा। हमारे जिस्म जल रहे थे. क्या करता है।मैं चुपचाप खामोशी से आँख बंद करके पड़ी रही। वो मेरी रानों पर हाथ फेर रहा था। नीचे घुटनों से ले कर ऊपर रानों के ऊपरी हिस्से तक.

मैं एक कंप्यूटर इंजीनियर हूँ।मैं अन्तर्वासना वेबसाइट को बहुत समय से पढ़ रहा हूँ। मैं आपको अपने दिल में बसी एक सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ। यह मेरी पहली कहानी है इसलिए लिखने में अगर कोई गलती हो जाए तो क्षमा कर दीजिएगा।बात उस समय की है जब मेरे सम्बन्ध मेरी पत्नी से ठीक नहीं थे। मैं बहुत परेशान रहता था। उस वक्त मैं किसी ऐसे साथी की तलाश में था.

हटो एयेए।नीरा ने रोमा की जाँघें पकड़ लीं और ज़ोर-ज़ोर से चूत चाटने लगा। रोमा उत्तेजना के चरम पर थी… किसी भी पल उसकी चूत का जवालामुखी फटने वाला था। वो कमर को हिला-हिला कर मज़ा लेने लगी और आख़िर वो पल आ गया, रोमा की चूत ने अपना पहला कामरस छोड़ना शुरू कर दिया. ऐसा लग रहा था मैं जन्नत में जाने लगा।मेरा लण्ड पूरी 8 इंच का हो चुका था और नसें उभरने लगी थीं। उसने मेरे गरम गरम लण्ड को पकड़ा और पहले किस किया.

और रजनी तुम्हारे साथ रह जाएगी।यह सुन कर मुझे बहुत अजीब लगा।मेरे पूछने पर शिवानी ने बताया- पापा की तबियत ख़राब है. लेकिन अबकी से मेरे धक्के चालू थे और फिर 4-5 मिनट में उसने भी चूतड़ उछालते हुए नीचे से धक्के देना शुरू किए।अब उसकी चूत से पानी निकलने लगा था और लंड को भी अन्दर-बाहर होने मे सहूलियत हो रही थी।मैं उसे अब ज़ोर से चोदने लगा. मैं- इस भीड़ को खुद से अलग लोगों की आदत नहीं है। सुना है यहाँ टिकने के लिए इसी भीड़ का हिस्सा बनना पड़ता है।वो- बातें आप बहुत अच्छी कर लेते हो।मैं- आपको मेरी बातें अच्छी लगती है और यहाँ कुछ लोग ऐसे भी हैं.

अब हमारा बेटा सुपरस्टार बन गया है। कम से कम खुश तो हो जाओ।मुझे सबसे अलग करते हुए मुझे शांत करने लग गए।मैंने अपने जज्बातों को किसी तरह काबू में किया। अब सब मुझे घेर कर बैठ गए थे। मैंने सबको देखा. थोड़ी देर में वो शान्त हो गई।फिर मैंने उसके होंठ पर होंठ रखे और एक बार फिर ज़ोर से धक्का मारा। मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत को चीरता हुआ समा गया।वो मुझसे अलग होने की लिए छटपटाने लगी. उसी वक्त उसका लंड खड़ा हो जाए।मैं उनको चोदने का ख्बाव बहुत पहले से देख रहा था। मुझे तो बस किसी मौके के मिलने का इंतज़ार था।मेरा यह सपना पूरा हुआ.

सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के क्योंकि वो थी ही बहुत हॉट एंड सेक्सी।वो मेरे दोस्त की बहन की ननद भी लगती थी। इस बहाने उससे मजाक हो जाता था।एक दिन वो मेरे घर आई हुई थी और उस समय मेरे घर में कोई नहीं था. पर मस्त और प्यारे-प्यारे थे। उसकी चूत भी दिखी जो एकदम साफ़ थी और एक बाल भी नहीं था।वो मूतने लगी और मैंने अपना लौड़ा हिलाना शुरू कर दिया। उसके मूतने तक मैं झड़ चुका था.

सेक्सी क्लिप गुजराती

तो वो गरम हो रहा था, उसने मौका मिलते ही मुझे अपने पास खींच लिया और मेरे गालों को चूमने लगा।मैंने अपना हाथ उसकी पजामे के ऊपर से उसके लण्ड पर रखा और बोली- क्या बात है. जाहिरा ने फ़ौरन ही आगे बढ़ कर मुझे पीछे से हग कर लिया और अपनी बाँहें मेरे गले में डाल कर पीछे से अपना मुँह आगे लाते हुए मेरे गाल को किस किया और बोली- मैं अपनी प्यारी सी भाभी को कैसे नाराज़ कर सकती हूँ. ।उस वक़्त मेरे मुँह से केवल ‘वाह’ के अलावा कुछ नहीं निकला।मैं अपने आपको बहुत ही खुशनसीब मान रहा था और सपने की तरह उसे देख रहा था कि अचानक उसने ही मुझे नींद से जगाया।अब आप सोच रहे होंगे कि मैंने उसे और उसने मुझे पहचाना कैसे?अरे इस आधुनिक युग में सब कुछ हो सकता है.

मैं तैयार हो कर आती हूँ।ये कहकर वो अपने कमरे में चली गई।मैं अकेला बैठा सोच रहा था कि इतनी हसीन लड़की और आज तक चुदी नहीं?थोड़ी देर इंतजार के बाद आख़िर अन्दर से आवाज़ आई- आ जाइए राज. बस थोड़ी देर किस कर दो।रोमा मान गई तो नीरज ने अपना लौड़ा उसके मुँह के पास कर दिया।रोमा बेमन से सुपाड़े को चुम्बन करने लगी। अपनी जीभ से हल्के उसको चाटने लगी।नीरज- आह. इंडिया सेक्सी इंडिया सेक्सी व्हिडिओमिल गया, वो राधे के सीने से चिपक गई और लौड़े को सहलाने लगी।राधे- क्या हुआ जानेमन चूत की आग मिटी नहीं क्या.

अब टीना सिर्फ़ ब्रा और पैन्टी में एकदम सीधी सोई हुई थी। उसके 30″ के मम्मे पिंक ब्रा में से नीरज को आवाज़ दे रहे थे.

!जाहिरा शर्मा कर बोली- क्या मतलब भाभी?मैं- अरे तेरे जैसे खूबसूरत लड़की जिसको अपने नीचे लिटाने को मिलेगी. लेकिन मैंने दोनों ब्रा बाहर निकाल लीं और फैजान की तरफ बढ़ा दीं।फैजान ने दोनों ब्रा मेरे हाथ से लीं और देखने लगा.

तो बोली- गर्ल-फ्रेंड इसलिए तो होती है।मैंने उनके चेहरे की तरफ देखा तो वो बोली- क्या हुआ?तो मैंने कहा- कुछ नहीं. पूरी रसोई में मेरी जाँघों और भाभी के चूतड़ों के भिड़ने की आवाज़ गूँज रही थी। करीब 7-8 मिनट की लगातार चुदाई के बाद मैं ज़ोर से चीखा और भाभी के अन्दर ही झड़ गया।कुछ पलों बाद मैंने अपना लौड़ा भाभी की चूत से खींचा और हांफता हुआ मैं नंगा ही बाहर सोफे पर जाकर बैठ गया।थोड़ी देर बाद भाभी नाश्ता लेकर आ गईं।मैंने और भाभी ने नाश्ता किया।मैं- आपने किससे पूछ कर दुबारा टॉप पहना है? इसकी सज़ा मिलेगी. ताकि जाहिरा बिस्तर पर आराम से लेट सके और कुछ दिमाग की उलझन से मुक्त हो सके।थोड़ी देर बाद मैं बाथरूम से बाहर निकली तो जाहिरा अपनी ही वाली तरफ को लेटी हुई थी। मैंने बिस्तर के क़रीब आकर उसे आगे को होने को कहा.

देखा तो मेरे लंड के टोपे की चमड़ी पीछे को चली गई थी और मेरी सील टूटने के कारण थोड़ा खून निकल रहा था।तो सोना बोल पड़ी- प्लीज़ शिव डाल दो.

उसे ही टेस्ट कर रही हूँ।मेरी बात सुन कर जाहिरा के चेहरे पर शर्मीली सी मुस्कराहट फैल गई और उसने दोबारा से अपनी आँखें बंद कर लीं। मैंने भी आहिस्ता आहिस्ता उसी गीली उंगली से उसके होंठों को सहलाना शुरू कर दिया और जाहिरा को खुद उसकी अपनी चूत का पानी टेस्ट करवाने लगी।आप सब इस कहानी के बारे में अपने ख्यालात इस कहानी के सम्पादक की ईमेल तक भेज सकते हैं।अभी वाकिया बदस्तूर है।[emailprotected]. जितना कहा बस उतना ही करना।मैंने कहा- ठीक है।इमुझे नहीं बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि भाभी यह बात सीरियसली बोल रही हैं।किन्तु ठीक रात को 9 बजते ही भाभी की कॉल आई और वो कहने लगीं- मैंने अपने पति को बहाना बनाकर शहर के बाहर भेज दिया है. मेरे हाथ उसके बालों में पहुँच गए।अचानक उसने पैंटी सरका कर अपनी लपलपाती जीभ मेरी चूत के ऊपरी हिस्से पर रख दी, मेरी तो जैसे जान ही निकल गई।अमन ने एक साथ मेरी पैंटी फाड़ कर अलग कर दी और अपनी एक उंगली चूत में अन्दर डालकर ऊपरी हिस्से को जीभ से चाटने लगा।फिर उसने ऊँगली बाहर निकाल कर अपनी जीभ अन्दर डाल दी।अमन बहुत मस्त तरह से चूत चाट रहा था। मेरा मन था कि वो हटे ही ना.

रिक्शा सेक्सी वीडियोमैंने ‘हाँ’ कर दी।मैं रात को घर पर पापा को बोलकर बुआजी के घर आ गया और भाभी के कमरे में आ कर लेट गया।थोड़ी देर बाद भाभी भी अपने कमरे में खाना खाकर आ गईं और कमरे में मेरी तरफ पीठ करके लेट गईं।मैं भी थोड़ी देर लेटा रहा। थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि भाभी सो गई हैं. मगर आज राधे ढाबे से थोड़ा दूर नीरज का इन्तजार कर रहा था।मीरा- ये आया क्यों नहीं अभी तक?राधे- अरे आ जाएगा.

हार्ड सेक्सी पोर्न वीडियो

फिर भी वो तेज़ी से हाथ चलाती रहीं और उन्होंने मेरा पूरा पानी निकाल दिया।फिर उन्होंने खड़ी होकर फव्वारा चला दिया. मैं समझ गया कि अब वो भी मज़ा ले रही है और गरम हो गई है, मैंने पूरी चूची को मुँह में लेने की कोशिश की।फिर निप्पल के अरोला के साथ मुँह में जैसे पूरा आम ले लिया हो।दूसरी तरफ की चूची को मैं सहला रहा था और उसके निप्पल को उंगली से मसल रहा था। ये सिलसिला एक-एक कर दोनों चूचियों के साथ कर रहा था।कभी मैं हल्के से काट लेता. लेकिन फिर वासना ने उस पर काबू पा लिया।मैंने कमीज़ भी उतार दी और कमरे का दरवाजा बंद करने के लिए बढ़ा।‘नहीं मेरे प्यारे भैया.

और अब तो मैं रोज़ ही उनके आने से पहले ही स्कूल के पास पहुँच कर उनका इन्तजार करने लगा था।कई बार मैंने उनसे बात करनी चाही. लेकिन मैंने अपनी भावनाओं पर काबू किया और उसके घर के अन्दर गया।उसने बैठने के लिए बोला और खुद पानी लाने चली गई। जब पानी लेकर आई तो मैंने पानी पिया और उसे अपने पास ही बिठा लिया।अब मैंने उसे वहीं पर चुम्बन करना शुरू कर दिया और कम से कम 10 मिनट तक लम्बा चुम्बन किया होगा। जैसे ही मैं उसकी चूत में उंगली डालने लगा. मैंने हाथों से उसके मुँह को बंद किया और थोड़ी देर रुक गया।फिर मैं अपने चूतड़ों को हिला कर धीरे धीरे धक्के देने लगा। अब मेरा आधा लंड उसकी बुर में घुस चुका था और वो दर्द से तड़फ रही थी- निकाल लो प्लीज.

मानो कोई उसे मुझसे जबरदस्ती दूर ले जा रहा हो। मैं अब तक इसी उम्मीद में था कि शायद वो मेरी हो जाए।तृषा ने मेरे माथे को चूमते हुए कहा- आज मेरे पास ही रह जाओ न. मीरा ने जीभ से लौड़े को चाट कर एकदम साफ कर दिया। अब दोनों बिस्तर पर सीधे लेटे हुए लंबी साँसें लेने लगे. बस तभी एक ट्रक स्पीड से वहाँ से गुजरा और नीरज को उड़ाता हुआ निकल गया।राधे तो बस देखता ही रह गया कि अचानक ये क्या हुआ। वो ज़ोर से चिल्लाया.

पर लौड़ा फिसल कर ऊपर को चला गया।फिर मैंने चूत पर सैट करके ज़ोर से धक्का मारा। अबकी बार लण्ड चूत में आधा चला गया।वो इतनी ज़ोर से चिल्लाई कि. मैं मन ही मन सोच रहा था कि ये तो आसानी से पट जाएगी।कुछ देर बाद मैं फोन रख कर सो गया और नींद खुली तो दिल्ली पहुँच चुका था।दोस्तो.

कहीं और चलते हैं।फिर मैं उसे लेकर एक होटल में गया।कमरे में अन्दर आते ही उसने मेरे होंठ चूसने चालू कर दिए। मैं भी उसका साथ दे रहा था। दस मिनट तक हम दोनों खड़े-खड़े ही एक-दूसरे के होंठों का रसपान करते रहे।फिर मैंने उसे धीरे से बिस्तर पर लिटाया और उसके होंठ चूसने लगा। हम काफ़ी गर्म हो चुके थे।उसने मुझसे कहा- क्या होंठ चूसने आए थे.

अब तो मैं मोनिका को तुम्हारे सामने चोद भी सकता हूँ न?मोनिका एकदम से सकुचा गई थी और उसका गांडू पति मेरे सामने सर झुकाए बैठा रहा।उसने सर झुकाए हुए ही कहा- प्लीज़ मुझे जलील मत करो आप मोनिका के साथ ‘सब कुछ’ कर सकते हैं. ब्लू फिल्म सेक्सी फोटोसतो मुझे उसकी आँखें सुर्ख होती हुई नज़र आईं। मैंने नीचे को झुक कर हिम्मत करते हुए अपने होंठ उसके होंठों पर रखे और एक बोसा ले लिया।जाहिरा मुस्कराई और बोली- भाभी क्या है. ब्लू फिल्म सेक्सी ठोकामुझे बताना पड़ा, जबकि मैं नहीं चाहता था कि उन्हें बताऊँ कि आज उन्होंने क्या किया है।पर मुझे न चाहकर भी उनके बार-बार पूछने पर बताना पड़ा कि मैं जब उठा तो चूत के नीचे इतना गीला पाया कि जैसे अपने सुसू ही कर दी हो. तभी निहारिका ने अपने दुपट्टे को हटाया और गहरे गले वाले कुरते से आधे झांकते हुए मम्मों को और उठाते हुए मुझसे कहा- चोदेगा मुझे?मैंने आव देखा न ताव और उसको दबोच लिया.

मैं इसे पहली बार इंटरनेट पर डाल रहा हूँ।मैं बाहर से यहाँ अजमेर में अपनी पढ़ाई पूरी करने आया था। दिखने में मैं किसी हीरो से कम नहीं था, मुझे लड़कियों से ज्यादा भाभियां अच्छी लगती थीं।मैं यहाँ किराये के मकान में बिल्कुल अकेला रहता था.

तभी ज़ेबा ने मुझे तुम्हारे बारे में बताया था। फिर हम दोनों ही मौके की तलाश में थे और ऊपर वाले ने आज हमारी सुन ली।मैं बोला- कोई बात नहीं. मैं कैसे झेलूँगी?मैं बस मुस्कुराता रहा और अपना लौड़ा हिलाता रहा।वो कहने लगी- मेरी चूत तो इतना मोटा लंड नहीं सह पाएगी. तो मैंने एक और जोर का धक्का लगाया तो पूरा का पूरा लण्ड गीली चूत में गहराई तक उतर गया।अब मैंने धीरे-धीरे आगे-पीछे करना शुरू किया.

मैं जल्दी उठा और नीलम से कहा- मैं जाने वाला हूँ।नीलम ने मुझे पकड़ लिया और कहा- आओ एक बार और हो जाए।मैंने कहा- नहीं मेरी गाड़ी का टाइम हो रहा है।उसने कहा- कोई बात नहीं. ? मुझे क्यों नंगी कर दिया?आप सब इस कहानी के बारे में अपने ख्यालात इस कहानी के सम्पादक की ईमेल तक भेज सकते हैं।अभी वाकिया बदस्तूर है।[emailprotected]. वो मिल कर ही हो सकती है।मैंने पूछा- तुम मेरी मदद क्यों करना चाहते हो?तो उसने कहा- क्योंकि इसमें मेरा भी कुछ फायदा है।मैंने उससे उसका पता लेकर टाइम ले लिया.

गावठी सेक्सी एचडी व्हिडिओ

तो अपनी सग़ी बहन के लिए किस हद तक जा सकती है।कुछ दिन में जाहिरा अब घर में लेग्गी और जीन्स पहनने की आदी हो गई और बहुत रिलेक्स होकर घर में डोलती फिरती थी। उसके भाई फैजान की तो मजे हो गए थे. वो उठ कर रसोई में गई और तेल लेकर आई। उसने मेरे लंड पर तेल लगा दिया फिर चित्त हो कर उसने चूत फैला ली और बोली- अबी. और मैंने भी उसको सब बताया।टीना- क्या बताया भाई?आयुष ने राधे और मीरा के बारे में बताया और ये भी बताया कि मीरा घर जाकर राधे को नहीं बताएगी.

प्लीज थोड़ा रूको। मुझे अब दर्द हो रहा है।मैंने लण्ड को चूत में ही रहने दिया और उनकी चूचियां मसलने लगा। थोड़ी देर में जब वो थोड़ा नार्मल हो गई.

पर मैंने उसे कसके पकड़ रखा था।मैंने झुक कर उसके चूचों को पकड़ लिया और जोर-जोर से उसकी चूत पर लंड रगड़ता रहा.

कुछ हो गया तो?मैंने उससे बोला- कुछ नहीं होगा।और मैंने कन्डोम का पैकेट निकाल कर उसके सामने रख दिया।उस पर बने हुए फोटो को देख कर वो बोली- आप बहुत गंदे हो. वो कैसे हम छुपते-छिपाते मिलते थे। हमने एक साथ ना जाने कितने ही लम्हे गुज़ारे थे। हमारे घरों की छत एक साथ लगी हुई थीं. चाइना सेक्सी बीपीयहाँ तक कि सौतेली माँ और बेटे के गंदे सेक्स की हरकतों का भी वर्णन था।सब कहानियाँ पढ़ने पर ऐसा लग रहा था कि मस्तराम जी अप्राकृतिक संबंधों को ज़ोर दे रहे थे और उनका समर्थन कर रहे थे।सेक्स कला का खुला वर्णन गंदे शब्दों के साथ काफ़ी दिलचस्पी से किया गया था। औरत की गुप्त बातें जैसे माहवारी.

जाहिरा ड्रेस चेंज करने की कहना चाहती थी लेकिन कह ना पाई और खामोशी से मेरे साथ हमारे बेडरूम में आ गई।हम दोनों कमरे में आए तो फैजान सो रहा था. कैसे खेलते हैं।तो भाभी बोलीं- अक्षय इसे भी सिखा देना।अब भाभी सेक्स के लिए जिद करने लगीं और रोने लगीं।तब मैं बोला- अच्छा ठीक है बाबा. अब मैंने अपना हाथ फैजान के हाथ के ऊपर रखा और आहिस्ता-आहिस्ता उसके हाथ को जाहिरा की चूची के ऊपर फेरने लगी।यह खेल मैं ज्यादा देर तक ना खेल सकी क्योंकि एक बार फिर मेरी आँख लग गई।सुबह जब मेरी आँख खुली तो उस वक़्त फैजान ने दूसरी तरफ करवट ली हुई थी और मैं उसकी कमर के साथ उसी की तरफ मुँह करके उससे चिपक कर लेटी हुई थी.

मैं वाशरूम से अभी आता हूँ।मैं जानबूझ कर अपना पर्स उसको पकड़ा दिया और वाशरूम चला गया।जो मैंने सोचा था उसने भी वही किया। उसने मेरा पर्स खोल कर देखा. लेकिन हाथ बँधे होने के कारण वो कुछ कर नहीं पा रही थीं।फिर मैं एक लंबा सा स्केल ले आया और उससे उनकी गाण्ड पर ज़ोर-ज़ोर से मारने लगा, उन्हें दर्द होने लगा.

उसके दो बच्चे थे और वो दिल्ली में अकेली रहती थी। उसके हसबैंड कोलकता में रहते थे।फिर मैंने उनको अपना नंबर दिया। दो दिन बाद उनका कॉल आया और हमारी बातें शुरू हो गईं।उन्होंने बताया- उन्हें ‘वाइल्ड सेक्स’ बहुत पसंद है.

मैं उसे खड़ा भी करूँगी और बड़ा भी कर दूँगी।ऐसा बोल कर उसने कन्डोम निकाल लिया और मेरे मुरझाए हुए लंड को चूसने लगी।आंटी सोफे पर बैठी और मेरे मुँह से मुँह मिलाकर अपनी वासना का इकरार करने लगी।मैं दोनों तरफ से मजे लेने लगा और कुछ ही देर में मेरा लंड भी मज़े के लिए उठ खड़ा हुआ।खुशबू अब बेसब्र हो चुकी थी. लेकिन मैंने धक्के मारना शुरू किए और भाभी की गाण्ड मारने लगा।भाभी और मैं दोनों बुरी तरह चिल्ला रहे थे। थोड़ी देर में मैं झड़ गया और कन्डोम हटा कर भाभी के बगल में लेट गया।मैंने भाभी को एक आखिरी चुम्बन किया और भाभी को बाँहों में भरके सो गया।मैं सुबह उठा तो भाभी उठ चुकी थीं। मैंने कपड़े पहने और नीचे गया. मुझे तुम्हारे फोन का इंतज़ार रहेगा।फिर थोड़ी देर बात करने के बाद उसने फोन काट दिया।कुछ दिन ऐसे ही गुजरे.

हिंदी आवाज वाला सेक्सी स्तन सहलाता रहा और अपने लौड़े को धीरे-धीरे हिलाता भी रहा।इस तरह मैंने पूरा लण्ड अनीता की चूत में फंसा दिया।घर के सारे लोग सोए हुए थे और मैं उसकी चूत का उद्घाटन कर चुका था. मैंने दे दी।इसी तरह धीरे-धीरे हम एक-दूसरे के बहुत अच्छे दोस्त बन गए।अब बारी आई फोन नम्बर साझा करने की.

मैंने उसे जोर से बिस्तर में पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ गया।अब मैंने अपने होंठ उसके होंठों से चिपका दिए और उसे चुम्बन करने लगा। मैं उसकी गर्दन पे किस करने लगा. वक़्त आने पर इसके बारे में भी बताऊँगी। अभी तो मीरा और रोमा पर ही ध्यान दो कि इनकी किश्ती किनारे लगती है या डूब जाती है।रोमा चलती जा रही थी और उसने नीरज को फ़ोन किया कि वो स्कूल के पास उसको लेने आ जाए।जब तक नीरज आता है. मैं मस्त हो उठा वो एक शानदार रंडी थी। पूरी रात जोर-ज़ोर से चुदाई का जादू चला। मैंने शबाना को सारी रात उठा-उठा कर चोदा।अब सुबह के 5 बज चुके थे कि तभी मंजीत का फोन आया।‘सुभान भाई सॉरी.

कुंवारी लड़की का सेक्सी वीडियो दिखाइए

मेरा लौड़ा तो एकदम पूरा सख्त हो गया।भाभी अन्दर आईं और सीढ़ियाँ चढ़ कर ऊपर जाने लगीं।मैं भी पीछे-पीछे चल दिया. क्यों पूछ रही हो आप यह?मैंने उसे आँख मारी और बोली- इसलिए पूछ रही हूँ कि तेरे भैया ने तुझे तो तंग नहीं किया रात को?मेरी बात सुनते ही जाहिरा के चेहरे का रंग ही उड़ गया और उसकी आँखें फैल गईं।फिर वो बोली- भाभी भला मुझे भैया क्यों तंग करेंगे?मैं मुस्कराई और उसके गोरे-गोरे चिकने लाल होते हुए गाल पर एक चुटकी लेते हुए बोली- इसलिए तो मैंने तुझे दरम्यान में अपनी जगह पर सुलाया था. ’फिर मैं लौड़े को चूत में सैट करके धक्के लगाने लगा और कुछ ही देर में मैं पूरी स्पीड में धक्के मारने लगा।अब वो भी अब मजे ले कर अपनी गाण्ड उठा-उठा कर चुदवाने लगीं।वे चुदाई की मस्ती में बोल भी रही थीं- और तेज़.

देसी काली चूत के दर्शन पाते ही चोदने को मतवाला हो जाता है।पर जब बात गोरी मेम की चूत का भोग लगाने की हो. मेरी तरफ ऑफिस में घूर-घूर कर देखने वाले को आज भगवान ने मेरे ही सामने बिना कपड़ों का खड़ा कर दिया…नयना- हा हा हा हा.

जहाँ मैंने मामी को खड़े-खड़े गोद में उठाए हुए चोदा।ऐसे रस भरे कारनामे कई बार और कई दिनों तक चलते रहे।आज भी मुझे मामी के साथ बिताए वे पल खूब मजा देते हैं।आपको कहानी कैसी लगी.

तो पढ़ रहा हूँ।लेकिन बातों-बातों में मैं भूल गया कि अन्दर लैपटॉप पर पॉर्न मूवी चलती छोड़ आया हूँ।जैसे ही दीदी ने कमरे में प्रवेश किया और मेरा लैपटॉप देखा तो मैं डर गया. उस छेद से मैं उन्हें देख रहा था कि दीदी क्या करती हैं।जब वो कमरे में आईं और उन्होंने लाइट ऑन की तो उनकी नज़र मेरे तने हुए लण्ड पर पड़ी। मेरा लण्ड उनको देख कर पूरा तन चुका था और उनको सलामी दे रहा था।एक मिनट देखने के बाद वो कमरे से जाने लगीं. समय से पहले ही पहुँच गया।जैसा कि उसने मुझे बताया कि वो गुलाबी टी-शर्ट और नीला जींस पहन कर आएगी और बगीचे में एक पेड़ के नीचे मेरा इंतजार करेगी।अब चूंकि मैं वक्त से पहले पहुँच गया था.

और मैंने उसे अपने पास खींच लिया।दोस्तो, मैं वास्तव में बुद्धू ही था जो समझ ही नहीं पाया था कि आज यह अपना सब कुछ मुझ पर लुटाने वाली है।अब आगे. तो फिर धीरे-धीरे करते हुए अपना लंड आगे-पीछे करने लगा।अब उसे मजा मिलने लगने लगा था ज्यों ही उसके चूतड़ उछले मैंने और एक जोरदार शॉट लगा दिया।वो कराहते हुए बोली- उई. मीरा स्कूल चली गई और ममता अपने काम में लग गई।करीब 9 बजे राधे घर आया तो ममता उसको देख कर मुस्कुराई।राधे- अरे वाह.

जिनको सुन कर पद्मा का रंग लाल होने लगा।मनाली पहुँच कर अनिल बोला- आशु तुम साथ वाले कमरे में ही सो जाओ और मैं अभी अपनी बीवी की चूत चुदाई के मज़े लेता हूँ।उसकी बात सुन कर पद्मा शर्म से लाल हो उठी।शराब पी होने की वजह से अनिल का लंड जो थोड़ा बहुत खड़ा होता था.

सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन के: मुझे लगा था कि मैं तृषा और उसके परिवार वालों को मना लूँगा। तृषा की प्यार भरी बातें उसका मेरे करीब आना. और कहाँ?मैं उठकर बाथरूम की तरफ गया, देखा कि दरवाजा खुला था, मैं अन्दर गया तो देखा कि भाभी पैंटी के ऊपर पेटीकोट पहन कर मेरी तरफ पीठ करके खड़ी थीं।ऊपर उन्होंने काले रंग की ब्रा पहन रखी थी जिसका हुक खुला था, भाभी बोलीं- निखिल मेरी ब्रा का हुक लगा दो प्लीज.

तो वो गहरी नींद में थी। मैंने आहिस्ता से उसे करवट दी तो वो घूम कर बिस्तर पर मेरी वाली जगह पर अपने भाई फैजान के क़रीब आ गई।मैं मुस्कराई और जाहिरा को अपनी जगह पर करके खुद उसकी वाली जगह पर लेट गई।अब मुझे सोना नहीं था बल्कि आगे जो होने वाला था. आंटी ने बोला- क्या बोला तूने?मंजू आंटी और उनकी सहेली निशी की काम पिपासा ने मुझे इस चूत चुदाई के खेल में कहाँ तक भोगा, उसकी यह मदमस्त कहानी आपके चूतों और लौड़ों को बेहद रस देने वाली है।मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए और मुझे अपने प्यार से लबरेज कमेंट्स जरूर दीजिएगा।नमस्कार दोस्तो. और मेरा आधा लण्ड उनकी गाण्ड में घुस गया।मैंने ब्रेक इतनी जोर से मारा था कि उनका पूरा ध्यान गाड़ी में था और मेरा लण्ड उनकी गाण्ड में था।थोड़ी देर बाद फिर से वैसे ही किया और अब पूरा लण्ड उनकी गाण्ड में था.

किसका फ़ोन है?ममता गई और फ़ोन उठाया तो दिलीप जी का फ़ोन था और वो राधा से बात करना चाहते थे।ममता ने राधे को बताया और वो पापा से बात करने चला गया या गई।कुछ देर बात करने के बाद राधे के चेहरे पर अलग ही भाव आ गए.

फिर से मैंने उनके हाथ बाँध दिए और फिर से उसी तरीके से उनकी गाण्ड मारने लगा।आधे घंटे के बाद मैं जब झड़ने वाला था. तो मैं देखता ही रह गया। जींस और टॉप में वो एकदम मस्त माल लग रही थी।उसको देख कर ही मेरा लण्ड खड़ा हो गया. बिल्कुल उठे हुए थे।मैंने ध्यान से देखा कि उनकी चूत के पास हल्के-हल्के रेशमी झांटें थीं। शायद वे अपनी चूत को महीने में एकाध बार ही समय देती थीं.