सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ

छवि स्रोत,पोर्न हिंदी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

मेरे को सेक्सी दिखाओ: सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ, उस वक्त वहां पर इक्का दुक्का लोग ही थे और उनमें से भी कई तो प्रेमी जोड़े ही थे।हम दोनों एक तरफ एक पेड़ के नीचे जाकर बैठ गये.

पूनम सेक्स

उसके मुंह से बार बार एक ही शब्द निकल रहा था- आई लव यू हैप्पी … आई लव यू जान!मैं भी उसके चूचों के ऊपर लेटा हुआ बहुत राहत महसूस कर रहा था. ત્રિપલ એક્સ એચડી વીડીયોहोटल रूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि भाभी ने अपनी सहेली को होटल के कमरे में बुला लिया.

हालांकि मैं इस समय दूसरी कहानी लिख रहा था, लेकिन जब इस कहानी को आगे बढ़ाने के लिए ढेरों मेल आने लगे, तो मैं इसी सेक्स कहानी को आगे लिखने बैठ गया. नंगी वीडियो दिखाएंमैं झट से उसके लंड के ऊपर चुत फंसा कर चढ़ गई और अपनी गांड उठा उठा कर उसका लंड अब अपने अन्दर तक लेने लगी.

मैंने अपने दोनों पैरों को फैला कर उसकी टांगों के आजू बाजू रख दिया और अपनी चुचियों को अभिषेक के मुँह पर ले जाकर हाथ बढ़ा कर अपनी साड़ी उठा कर वापस आ गयी.सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ: मेरी मां ने ये बात सुनी तो उन्होंने सनी से बोला- तूने किस किस को मेरी फ़ोटो दिखाई है?उसने बोला- आंटी, निशु और सुनील को.

मैंने दोनों के गिलास में दो दो पैग बना कर एक गिलास विमला के हाथ में दे दिया.उसकी फिगर तो अभी भी ऐसी थी कि कोई भी उसे नजर भर कर देख लेगा, तो उसका लंड खड़ा हो जाए.

सेक्सी वीडियो पंजाबी सेक्स - सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ

उसी के चक्कर में मैं खुद एक सप्ताह से मुठ मारकर अपने लंड को तोड़ रहा था.बाहर एक बार उन्होंने इधर उधर देखा और मेन दरवाजा बाहर से बंद करके पीछे से अन्दर आकर अपने रूम में चली गईं.

मैंने इस तरह कमली को सैट किया और उसकी गांड पर ठीक से थूक कर लंड को सैट कर दिया. सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ हालांकि पिंकी को खराब लगता, पर जब रवि मुँह फुलाता, तो पिंकी उसकी बात मान लेती.

शायरा भी उस समय शायद खाना बना रही थी या खाना खा रही थी, मुझे नहीं पता.

सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ?

मैंने कविता को उठाया नहीं … और जब तक मैं नहा धोकर तैयार हुई, कविता भी उठ गयी. मैंने फिर थोड़ा हटकर संजू को फोन किया कि बेबी इसको कहीं भी कोई चुत नहीं मिली … बेचारा रो रहा है. मैं- दोस्त होते ही हैं हंसाने के लिए … और तुम ना, हंसते हुए और भी खूबसूरत लगती हो.

फिर उसका एक हाथ मेरी जैकेट के अन्दर घुस गया और वो मेरे मोटे मम्मों को मसलने लगा. ये मेरा पहली बार था लेकिन मैं विक्की को इतना पसंद करती थी कि मैंने अपने आप को उसके हवाले कर दिया था. वैसे शायरा की हंसी तो बता रही थी कि मेरे उस लैटर ने अपना काम‌ कर दिया था.

उसके बाद उसने अलमारी से मेरे लिए आरामदायक कपड़े निकाले और मेरी तरफ बढ़ा दिये. फिर अब जब वो मोबाइल रखने लगा तो मैं बोली- अरे … एक दो फोटो अपने साथ भी निकालो न! अब मैं तुम्हारी गर्ल फ्रेंड मानसी जितनी सेक्सी तो नहीं हूँ … लेकिन फिर भी. अब वो पागलों की तरह उसके मुँह, नाक, गाल, गले से होती हुई उसके सीने पर मुँह टिकाकर उसके निप्पलों को अपनी जीभ से छेड़ते हुए चूसने लगी.

मैं समझ गयी थी कि इतनी देर में बिस्तर गीला तो होना ही था … और वो भी इस गर्मजोशी में कैसे न होता. वो दारू के नशे में किसी को भी बोल सकता था, इसलिए मैंने उसे हाथ ही नहीं रखने दिया.

मैंने मादक आवाज निकल रही थी- उफ्फ आह आह चोदो मुझे … और ज़ोर से उफ्फ उफ्फ … फ़क मी … आह फाड़ दो मेरी चूत.

उस दिन भी मैं निकली और स्कूल के पास पहुंचते ही बारिश बहुत तेज़ हो गयी.

मोहित- हां बोलो, क्या कहना चाहती थी तुम?मैं- यार मोहित, पहले ये बताओ कि आज मैं कैसी लग रही हूँ. जबकि मुझे कोई नहीं देख सकता था बल्कि मेरे इस तरह से सीढ़ी पर बैठने का कोई सोच भी नहीं सकता था. कुछ ही पलों बाद ट्विंकल का दर्द कम होने लगा और उसने मस्ती से अपनी आंखें बंद कर लीं.

अगर किसी तकनीकी वजह से ऊपर वाला लिंक काम नहीं कर रहा तो आप मुझेइस लिंक पर भी कॉन्टेक्ट कर सकते हैं. [emailprotected]सेक्सी इंडियन वाइफ स्टोरी का अगला भाग:पतिव्रता बीवी की चुदाई दोस्त के बड़े लंड से करायी- 3. जब मैं उसको छोड़ने नासिक गया तो स्लीपर बस में केबिन बन्द करके भी हमने चलती हुई बस में चुदाई का मजा लिया।दोस्तो, चलती हुई स्लीपर बस में चुदाई करने का भी अपना एक मजा है।इस तरह मैंने अपर्णा की हिंदी सेक्सी चुत की चुदाई की। उसको भी मेरे साथ वो तीन दिन गुजार कर बहुत अच्छा लगा.

मेरी गांड में थूक कर उसने लंड का सुपारा लगाया और धीरे धीरे करके गांड में लंड पेलने लगा.

मैंने उसकी आंखें पौंछते हुए पूछा- क्या हुआ जानम, तुम रो क्यों रही हो?तो वो बोली- जानू मैं रो नहीं रही हूं, ये तो खुशी के आंसू हैं. कभी दूसरे हाथ से दूसरे मम्मे को भींचते, तो कभी उसी निप्पल को मसल देते. प्यारे दोस्तो, हर किसी की जिन्दगी में कुछ ऐसे पल होते हैं जो उनको हमेशा याद रहते हैं.

मुझे साफ़ दिख रहा था कि कविता थक चुकी है … मगर उसमें जोश बहुत ज्यादा था, मानो उसने हार न मानने की जिद पकड़ ली हो. मैं शायरा को हर एक धक्के का मज़ा दे रहा था, तो अपने हर एक धक्का का मजा भी ले रहा था. मैं आँख बंद किये हुए उसकी चुदाई से मिलने वाला मजा ले रही थी।फिर वो रुका और अपने पैरों से मेरी जाँघों को दबा लिया और अपने शरीर का वजन मुझ पर डाल दिया.

तीसरे दिन हिम्मत करके मैं शीतल की मम्मी के सामने गया … तो उन्होंने मेरे साथ ऐसे सामान्य व्यवहार किया मानो कुछ हुआ ही ना हो.

मैं- ज़्यादा सोचो मत, तुम प्रेमी बनाओगी … तो भी मैं यही रहूँगा और दोस्त बनाओगी, तो भी मैं तुम्हारे साथ रहूंगा. वो भी अपनी टांगें मेरी कमर में बांध कर मेरे लंड पर चुत सैट करके लटक गई.

सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ क्योंकि वो भी टुन्न था और मेरे साथ मुझे छोड़ने जाने से अच्छा था कि मैं टैक्सी से ही चला जाऊं. कुछ देर के बाद चुदते हुए मोना के मुंह से मस्त कामुक सिसकारियां निकलने लगीं.

सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ वो बोली- हां जैसे कि आपका!मैंने हंस कर बोला कि किसी किसी का मुझसे भी बड़ा हो सकता है, लेकिन बहुत ही कम लोगों का. ब्रा उतरते ही मेरे नींबू उसके चेहरे के सामने झूल गये और वो जैसे अवाक् रह गया.

मैं किसी भी वक्त स्खलित हो सकता था इसलिए मैं उसके चूचों को जोर से भींचकर पूरा जोर लगाकर लंड को आगे पीछे कर रहा था.

हॉट सेक्सी चुदाई की वीडियो

पंकज ने एक दो बार साँस लेने के लिए चेहरा हटाना चाहा तो भी सुमन ने लगभग ज़बर्दस्ती उसे जकड़ कर अपनी चूत में घुसाए ही रही. पहले तो वो बोलीं- मैं एक गृहिणी हूँ कोई पोर्नस्टार नहीं, जो ऐसी फोटो हमेशा अपने साथ रखूं. मुझसे रहा नहीं गया तो मैं उठा और चाचा जी की लुंगी की तरफ देखा।मैंने धीरे से उनकी लुंगी हटाई तो उनकी लाल लंगोट में कसा लंड मेरे सामने दिख गया.

जब वो दोनों स्टेशन पर पहुंची, तो मैं उनके पैर छूने के लिए झुक रहा था. अनामिका फोन में मुझे देख कर बोली- हां जीजू मैंने ही इसे बोला था कि जीजू को फोन लगा दे. साथ ही मेरे द्वारा लिखी इस ब्यूटीफुल वाइफ सेक्स कहानी का एक और भागमैंने अपनी पतिवत्रा बीवी को जवान लड़के से चुदवायाको भी आप लोगों ने पसंद किया और आप सभी के हजारों की तादाद में ईमेल भी आए.

मैं अभी भी शायरा के ऊपर ही लेटा हुआ था और मेरा लंड अभी भी उसकी चुत की गर्मी ले रहा था.

एसी को फुल पर करने से कमरा एकदम ठंडा हो गया था मगर हमारे जिस्म अब भी जल रहे थे. वो- बच्चा आगे आ गया या जानबूझकर फायदा उठा रहा है?मैं- तुम हमेशा ऐसा ही क्यों सोचती हो, मैं तो हम‌ भीगे ना‌‌ … इसलिए थोड़ा तेज चला रहा था … और अचानक से बच्चा आगे आ गया. कभी नाईट सूट में तो कभी जीन्स शर्ट में भेजा करती थी।हमें एक दूसरे से बातें करने की और ऐसे ही फ़ोन में लगे रहने की आदत सी हो गयी थी.

फिर मैंने उसके मम्मों को छोड़कर नीचे आकर उसके चिकने पेट पर किस और लिक किया. हालांकि इस बीच डॉक्टर ने न तो मेरे चूतड़ों को टच किया और न ही चूत पर अपने हाथ फेरे. उसका हाथ मेरे लंड पर आ गया मैंने अपनी पैंट का एक पायंचा उतार कर नंगा लंड उसके हाथ में दे दिया.

मैंने एक उंगली को चार पांच बार अन्दर बाहर किया तो उसकी टांगें खुल गईं. नैना और मैं दोनों ही सफर से थके थे, तो हमने अपने अपने कमरों में जाना ही मुनासिब समझा.

न्यासा के ऐसा बोलने पर मैं और सन्नी जल्दी से अन्दर आ गए और दरवाजा बंद कर उसके कमरे के काउच पर बैठ गए. वह उछल पड़ी और साथ ही एक उंगली चूत के अंदर डाल दी और वह सिसकारी लेने लगी. [emailprotected]अन्तर्वासना भाभी की सेक्स कहानी का अगला भाग:प्यासी नशीली भाभी की चुदाई की कहानी- 2.

फिर उन्होंने मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह अपने मुँह में ले लिया और बड़ी बेरहमी से घुप्प-घुप्प की आवाजों के साथ चूसने लगीं.

मैंने पहले वाली सेक्स कहानी में भी आपको लिखा था कि मीना बुआ ने मुझे किसी से शेयर नहीं करना चाहा था. मैंने बड़ा सा बाईट काटा और उनको अपने मुँह से मुँह लगा कर खिलाने लगा. वो लंड को फिर से चूसने लगी।अफसाना ये देखकर मुस्कराते हुए उठी और अपनी मैक्सी पहन कर चली गयी.

क्योंकि पत्नी के मरने के बाद पहले अपनी साली, सलहज और आजकल महाराजिन को चोद कर ही गुजारा कर रहा था. और उनकी चुत चाटने में भी मुझे वो टेस्ट नहीं आता है; वो साफ सफाई में ध्यान नहीं देती हैं.

जैसे ही मैं भाभी की चूत के पास गया, तो मेरा लंड पूरा टाइट हो चुका था और भाभी की चूत में घुस जाने के लिए बेचैन था. [emailprotected]ऑफिस सेक्स स्टोरी का अगला भाग:बॉयफ्रेंड के बॉस ने मुझे चोद डाला- 2. इसके बाद तकरीबन 15 मिनट और रुकी फिर गाड़ी भर जाने के बाद ड्राइवर ने गाड़ी आगे निकाली.

மலையாளம் ஆண்ட்டி செஸ் விதேஒஸ்

हालांकि कंडोम चिकनाई युक्त था अपर तब भी मैंने उसके ऊपर थोड़ा सा थूक और लगा लिया.

किस करते हुए ही उसने एक कंडोम निकाला और मुझे नीचे लिटाया- चॉकलेट चलेगा?मेरे हां कहते ही उसने मेरे गालों को पिचकाया और कंडोम को मेरे होंठों पर रख दिया. रवि बोला- तुम ये वादा करो कि अनिल के साथ हम दोनों मस्ती करेंगे, तुम साथ दोगी. मैंने कहा- साफ़ साफ़ बोलो न चाची मैं तो आपकी हरा तरह की सेवा करने को राजी हूँ.

उनकी गर्दन और कान के ऊपर किस करने लगा और कान की लौ को अपने दांतों से दबाते हुए कट्टू करने लगा. चाचा जी बोले- ऐसे करेगी, तो कैसे मजा आएगा … शुरू शुरू में अजीब लगता है, बाद में तो तू लपक कर लंड चूसा करेगी रंडियों की तरह. ভিডিও সেক্স ফিল্মऔर वैसे भी आज के जमाने में एक से एक बढ़कर चीज उपलब्ध हैं, तो क्यों ना लाइफ के मजे लिए जाएं.

रात की के सलाह है?चाची बोली- बावला हो रहा है के? रात न त बुरा हाल कर देगा तु! डर लागै है मनै त!मैं बोला- र लागता तो चुत ना देती तु!चाची बोली- रात न जब सही टाइम होगा तब बता दुंगी. तो वो बोलीं- अभी नहीं, घर में कुछ मेहमान हैं … तो शायद मैं अच्छे से ना कर पाऊं.

वो मुझे पूरी रफ्तार से चोदने लगा और मैं भी उससे पूरी उत्तेजना में चुद रही थी. पंकज के लंड को उसने तब तक अपने मुँह में लिए हुए चूसना जारी रखा जब तक कि वीर्य का एक एक कतरा निकलता रहा. मैं- देखो अब तुम्हारी दोस्ती के चक्कर में क्या क्या करना पड़ रहा है, अगर प्रेमी होता … तो तुम्हें कहीं बाहर लेकर जाता और हम किसी अच्छे से होटल में कैण्डल लाईट डिनर कर रहे होते.

अभिषेक ने मेरे हाथ से साड़ी को ले लिया और पीछे से लेकर एक बार आगे तक घुमाया और साड़ी लपेट कर वो एक स्टूल पर बैठ गया और उसकी प्लेट बनाने लगा. तुम मुझ पर विश्वास करके तो देखो।मेरा ये कहना हुआ ही था कि उसने अपनी आँखें बंद कर ली।बस मैं जान गया कि अब ये विरोध नहीं करेगी. सबसे ज्यादा आनन्द तो एक क्रॉसी को तब आता है, जब कोई उसकी गांड को अपनी जीभ से कुरेदता है और वही मजा इस वक्त मुझे मिल रहा था.

आज जब उसका ये रूप सामने आया तो इतना मज़ा आ रहा था कि एक बार पहले ही झड़ने के बाद भी मेरा अपना लंड दोबारा फटने को तैयार था.

पार्टनर अगर दिल से प्यार करने वाला मिल जाए … तो बेड टूट जाते हैं और पार्टनर अगर जानवर बन कर प्यार करने वाला मिल जाए, तो चुत फटनी तय समझो. उसके निप्पल अब एकदम कड़क हो गए थे जिन्हें प्रियंका बारी बारी से दोनों को चूसने में लगी थी.

5 इंच का लन्ड देख कर उनकी आंखें फट गईं और बोली- ये तो सच मे मेरी फाड़ देगा. उसके साथ प्यार करके जो सुकून मुझे आज मिला था, उसकी मैं कभी कल्पना भी नहीं कर सकता था. शायरा को सांसें लेने की अब ज़्यादा ज़रूरत थी … इसलिए मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से आज़ाद कर दिया, पर उसके मम्मों को मैं अभी भी दबाता रहा.

पहले तो उसने मेरी गांड के छेद को खूब बढ़िया से चाट कर एकदम गीला कर दिया. प्रिया भाभी मुझे मुंबई आने के लिए टिकट भी बुक कराने के लिए कई बार कह चुकी हैं … पर काम के चलते अभी तक मैं उनसे मिलने जा ही ना सका. फिर मैंने कुछ विराम देकर एक धक्का लगाया तो पूरा लन्ड उनकी चूत में सेट हो गया.

सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ कभी उसके उरोज़ों से दूध पीता तो कभी निप्पलों को चूसता।वो भी मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी चूत में जोर जोर के धक्के लगवा रही थी. मैंने उनकी पैंटी को उतारा और नीचे बैठ कर देखा तो क्या गुलाबी चूत थी यारो … उसकी चूत को पहली बार देखने का वो नजारा आज भी मुझे वैसे ही याद है.

सेक्सी फिल्म ब्लू पिक्चर दिखाइए

न्यासा के मम्मों के बीच का क्लीवेज इतना गहरा था कि लग रहा था कि ये दो ऊंचे पहाड़ों की बीच की घाटी है. मैंने बिन्नी की स्कर्ट को पीछे से उठाकर अपने लण्ड को उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी भरी हुई गाँड में फिट कर दिया. जैसे ही मैंने भाभी के चुचे छुए, तो भाभी उठ कर बैठ गयी और उन्होंने अपना टॉप उतार दिया.

तो मुझे सबके साथ एक एक बार डांस करने को बोला गया, जिसको मैंने मान लिया और बेड से नीचे आ कर खड़ी हो गयी. नई चुत की एडल्ट हिंदी कहानी में पढ़ें कि मैंने अपने साले की बड़ी बेटी की मदद से उसकी छोटी बहन की चूत चुदाई का जुगाड़ किया. নিউ পর্ন ভিডিওमैंने पूछा- क्यों मौसा का कितना बड़ा है?वो हंस कर बोलीं- तेरे मौसा का लंड तेरे लंड से तो काफी छोटा है.

मैंने मौसी को विश्राम करने देने के लिए छोड़ दिया और अनु को कुतिया बनने के लिए बोला.

वो सोच सी में पड़ गयी और कुछ पल बाद सोचकर बोली- तुम चलो न … मैं आ तो रही हूं थोड़ी देर में!मैं बोला- अरे यार … पासवर्ड तो बता दे. मैंने उसके बालों को खींचा और कहा- अब तुम्हारी मालकिन को तुम्हारी जरूरत है.

वो हंसने लगी और बोली- सच में जितना सोचा था … तुम उससे ज्यादा बड़े खिलाड़ी हो. वो रोज़ मिलने वाले लोगों के लंड से चुद चुद कर मैं बहुत बोर हो चुकी थी. थोड़ी देर में रवि आ गया और कर्नल साहब और रीमा जी टीना और चिंटू को लेकर ऊपर चले गए.

मैं उसकी टांगों को हवा में ऊपर उठाकर खुद उसकी टांगों के बीच में आ गया और मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चूत पर रख दिया.

लग रहा था कि लंड उसके कच्छे को फाड़कर ही बाहर निकल आयेगा और मेरी जांघ में छेद कर देगा. फुदकते फुदकते गिनती पंचानबे, छियानबे पर पहुंची तो मैं चौकन्ना हो गया. मैं नीचे लेट गया और मोना ने अपने हाथों से पकड़ कर मेरा लंड अपनी चूत में सेट किया.

बूब्स सेक्सजैसा कि मैंने बताया कि मैं शादी से पहले एक छोटे शहर में रहती थी, तो शादी के बाद पति के साथ बड़े शहर आ गयी. वो मेरे निप्पलों के चारों ओर जीभ फिरा रहा था और मेरी चूत गीली हो गयी थी.

इंडिया सेक्सी वीडियो सॉन्ग

विमला का भावहीन चेहरा देख कर मैं बोला- विमला तुम जब तक चाहोगी … तब तक मैं इसी अस्पताल में रुकूंगा. उसने मेरे लौड़े को देखा और मुझसे नजरें मिलाते हुए मेरे लौड़े को पकड़ कर मेरे लौड़े पर एक जीभ फिरा दी. तुम ये उम्मीद मत करना कि मैं सिर्फ तुम्हें ही टाइम दूंगा क्योंकि मुझे पता है शादीशुदा औरतें मुझे इतना टाइम नहीं दे सकतीं.

उनका दूसरा हाथ मेरे लंड पर चला गया और वो जींस के ऊपर से ही मेरे लंड की साइज़ का जायज़ा लेने लगीं. आफ़िया भाभी मुझसे पूछने लगीं- आप पहली बार आते समय गेट पर क्यों रुक गए थे?तो मैंने उनसे कहा- मैं आपकी सुंदरता में इतना खो गया था कि मुझे कुछ होश ही नहीं रहा. तभी पंकज ने मुझसे पूछा- कहीं अनिल गुस्सा तो नहीं होगा?मैंने अपनी टांग उसपर फेंकते हुए कहा- गुस्सा क्यूँ होंगे … वही तो मुझे भी मनाकर ले कर आए हैं और तुम्हें भी बुलाया है मेरी चुदाई करने के लिए.

उसने बताया- उसको आज सुबह ही निकाल दिया गया … क्योंकि वो कल रात भर दारू पीकर होटल से कहीं गायब था. फिर मैंने उसको लिटाया और उसकी टांगें खोलकर अपने लंड का सुपारा उसकी चूत में लगा दिया. मैंने एक बार नजर भर कर उसकी जवानी को देखा और अगले ही पल उसी कमसिन बुर में जीभ डाल कर चुत चूसने लगा.

मैं थोड़ी देर पास पड़ी कुर्सी पर यूं ही नंगी बैठी रही और डॉक्टर को एकटक देखने लगी. मैं- अब मैं इन्हें कहां ले जाऊं!वो- वापस कर दो या तुम अपने पास रखो.

उनका जवाब आया- हां, मैंने तुम्हारा फोटो देख रखा है … तो क्या तुम मुझे भोगना चाहोगे?मैं चाहता था कि बात लंबी जाए, लेकिन उन्होंने पहले ही अपनी कामना जाहिर कर दी.

गाँव में चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं छुट्टियों में ननिहाल गया तो पता लगा कि मामा मामी का ख्याल नहीं रखते, काम करने वाली औरतों की चुदाई में रहते हैं. सेक्स भाभी का सेक्सउसने मुझे बेड पर धक्का दिया और मेरे ऊपर बैठ कर मेरे होंठ चूसने लगी. मां बेटे की चुदाई वीडियो हिंदीहमारे शरीर चिपके होने की वजह से मैं अपनी गर्म सांसें उसकी गर्दन पर छोड़ने लगा।महिलाओं को उत्तेजित करने का यह सबसे सरल तरीका है।थोड़ी ही देर में उसके ऊपर नीचे होते बूब्स मुझे दिखे. खैर … मैं उंगली को उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगा और वो सिसकारियां लेने लगी.

शायरा की चुत के साथ साथ मैंने उसके दिल में भी अपने लिए जगह बना ली थी.

उसने मेरे कान में कहा- चाची, इतनी तेज आवाज करोगी तो बाहर कोई सुन लेगा. वाइफ स्वैप स्टोरी के पिछले भागदो जोड़ों की अदल बदल चुदाई देखीमें आपने पढ़ा था कि दो कपल के साथ मैं अकेला मर्द था. मैंने उससे मजाक करते हुए पूछा- मेरे नम्बर का क्या अचार डालोगी?वो आंख दबा कर बोली- नम्बर तो दो … फिर देखना, कौन क्या डालता है.

खैर … अब शायद मानवेन्द्र के श्रीमान का भी दही निकलने वाला था, जिसने मेरी गांड में इतनी देर तक मशीन चलायी थी. उन्होंने मुझे बिस्तर पे उल्टा लिटा दिया और मेरी दोनों टांगें चौड़ी कर दी।चाचा ने एक बार फिर अपने फनफनाये लंड पे थूक लगाया; वे मेरी गांड पे अपना लंड रगड़ने लगे और धीरे धीरे लंड गांड में घुसाने लगे।मैं इतना उत्तेजित था कि गांड उचका उचका कर चाचा जी की मदद करने लगा अपनी गांड मरवाने में!चाचा जी बहुत अनुभवी थे. मेरे लंड को अपने हाथ से चूत में सेट किया और लंड को अंदर तक घुसवा कर उस पर उछलने लगी.

ब्लू सेक्सी सेक्सी ब्लू ब्लू सेक्सी

मेरी ऐसी हालत देख कर कविता ने कहा- बस थोड़ी देर में तुम स्वर्ग में भ्रमण करने लगोगी. उसकी चीख और आंसू एक साथ निकल पड़े।मैंने लंड को रोक दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा और गले को चूमने लगा।धीरे धीरे उसकी चूत में दर्द कम हुआ तो मैंने लंड को चलाना शुरू कर दिया।अब वो भी पूरी गरम हो गई थी. अजय ने गिलास का सिप भरते ही मनीषा की ओर देखा तो मनीषा ने आँख मार दी.

अब दोस्त के‌ लिए इतना भी नहीं करोगी!वो- बाकी सब ठीक है … पर ये नहीं.

शायद इसकी वजह ये थी कि काफी समय से मेरा अपने पति के साथ सेक्स न करना था और उसके मजबूत हाथों के दबाव से भी कुछ मज़ा आने लगा था.

वो अपनी फूली हुई गांड दिखाते हुए बोली- देखो मैंने कितनी मेहनत करी है. कमरे बस हम तीनों की ‘स्स्स्स आह्ह …’ की आवाजें ही सुनाई दे रहीं थीं. हिंदी ब्लू फिल्म ब्लूइस वजह से अब मेरी भी मादक सिसकारियां निकलने लगीं- उफ्फ आह … ओह्ह फक!कुछ देर तक मेरी चूत चोदने के बाद उसने अपना सारा माल मेरी चूत में ही गिरा दिया और मेरे चूचों पर अपना मुँह रख कर निढाल लेट गया.

अब आगे की स्कूल सेक्स की हिंदी कहानी:मैंने अभिषेक का हाथ की-बोर्ड पर रख दिया. मैं समझ गया था कि आगे जो वो बोलने वाली थी, वो सोनू की नामर्दी के बारे में था. वो मुझे इतनी बुरी तरह से घूर घूरकर देख रही थी, जैसे कि वो मुझे अभी खा जाएगी.

मां ने मुँह खोल दिया और मैंने अपना लंड चुत से निकाला और मां के मुँह में दे दिया. उसके बाद चाचा जी अक्सर हमारे घर आने लगे और हमने कई बार सेक्स किया।बाद में जब उनकी शादी हो गयी तब उनका मेरे से मिलना काम हो गया.

ऐसे ही अस्मिता हर बार मेरे सामने एक कॉलेज गर्ल की तरह रहती … और घर पर एक इंडियन हाउस वाइफ की तरह बनी रहती.

वो मुँह बनाती हुई बोली- पता नहीं क्या कह रहे हो … मुझे तो बस स्कूटी चलाना सीखना है. पहले ब्रेकफास्ट, फिर लंच और अब डिनर, सच में मेरी तो निकल ही पड़ी थी. तुझे जो भी करना हो, कर लेना लेकिन अभी बड़ी आग लगी है, प्लीज़ पहले तू अपना मेरे अन्दर डाल दे.

ट्रिपल सेक्सी वीडियो ओपन अनामिका अपनी उंगली प्रियंका की गांड में घुसाते हुए बोली- साली कमीनी … तेरी गांड तो एकदम खुली हुई है … साली बड़े प्यार से मेरी उंगली अन्दर तक घुस गयी है. गर्ल्स लेस्बियन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एक लड़की अपनी सहेली की चूत चुदाई अपने यार से करवाना चाह रही थी.

गांड भी बाकी दिनों से ज्यादा मटक रही थी और साड़ी भी ऐसी बांधी थी कि पतली कमर के मुझे भरपूर दर्शन हो सकें. उन्होंने कहा- कोई नहीं मैं दर्द की दवा दे दूंगा, उससे दर्द कम हो जाएगा. ये कहते हुए मैंने उसको एक थप्पड़ मार दिया और बोली- ये मुझे इंतजार करवाने के लिए।नील एकदम से स्तब्ध हो गया और सुन्न सा पड़ गया.

ক্সক্সক্স

मैं उसके गालों पर अपनी उंगलियां फेरने लगा, जिससे वो मदहोश होती जा रही थी. होटल में चुदाई का प्रोग्राम फिक्स होने के बाद मैंने मेडिकल की दुकान से सारा जरूरी सामान ले लिया और ओयो होटल में एक एसी कमरा बुक करवा लिया. मेरा तो पहला सेक्स था इसलिए मैं तो उसकी चूत को बस रौंदने में लगा हुआ था.

तब मेरी पहली चुदाई के बाद सुरभि मैम बाथरूम में थीं, मैंने उनको बुला लिया था. थोड़ी देर तक चाचा जी मेरे ऊपर ऐसे ही लेटे रहे। उनका लंड मेरी गांड में ही था।फिर बाद में उन्होंने मेरी गांड से अपना लंड निकाला और मुझे सीने से लगा लिया.

वो मुझे मेरे होंठों पर चूमने लगा और मेरे बूब्स की घुण्डियों को दबाने लगा.

उसके बाद मैंने अपने कपड़े बदले और फिर एक सिगरेट जला ली ताकि मैं सहज महसूस कर सकूं. एक तरफ लंड अन्दर जाकर फड़फड़ा रहा था, तो चूत भी उछाल मार-मार कर लंड को अपने में समा लेने की भरपूर कोशिश कर रही थी. प्रियंका अपने दूसरे हाथ को भी उसकी गांड में फेरने लगी और अपनी इंडेक्स फिंगर को उसकी गांड के छेद में हल्के दबाव के साथ डालने लगी.

चुत में लंड की कहानी में पढ़ें कि मैं शिमला जाकर अपने लिए कोई जानदार लंड तलाश रही थी. धीरे धीरे जब शादी पुरानी होती गयी तो जिन्दगी से वो रस भी धीरे धीरे कम होने लगा. मैंने बाथरूम में जाकर स्नान किया और हल्का सा नाश्ता लेकर कमल के साथ उसकी दुकान आ पहुंचा.

मुझे चुदवाते हुए अभी पन्द्रह मिनट हुए होंगे जिसमें मैंने अपना पानी एक बार छोड़ दिया था.

सेक्सी बीएफ बढ़िया बीएफ: मैंने अपनी रफ्तार राजधानी एक्सप्रेस के जैसे बढ़ा दी थी क्योंकि मेरा भी होने वाला था. मेरी बहन की चूत पानी छोड़ चुकी थी और उसमें से अजीब सी गंध आ रही थी.

असलम भाई ने एक दिन अपने मन की बात बताते हुए कहा कि सलीम भाई लौडों की गांड मारते थे. मैंने जैसे ही मां की चुत में हाथ लगाया, वो दर्द के मारे चीख उठीं- क्या कर रहा है मां के लौड़े … साले चोद चोद कर चुत सुजा कर ला कर दी. मैंने पूछा कि और लौडों ने भी आपकी मारी होगी!तब वे बोले- वह मोहल्ला ही ऐसा था, उधर हर नमकीन लौंडे की गांड मारी गई थी.

इसी तरह 10 मिनट तक क़िस करने के बाद मैं भाभी के शरीर पर किस करने लगा.

इसलिए कुछ देर तो हम ऐसे एक दूसरे के बदन की गर्मी को ही फील करते रहे, फिर शायरा के मुँह को मैंने अपने मुँह से बंद कर दिया. जब मैं उसकी बताई जगह पर पहुंचा तो वह पहले से ही मेरा इंतजार कर रहा था।मैं थोड़ा घबरा रहा था. उस दिन मेरे फ्लेट में मैं अकेला ही था और मेरे दोस्त अपने घर गए हुए थे।वो मेरे साथ आने के लिए मान गयी.