बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट गफ एंड बफ वीडियो: बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म, इधर वो मुझसे आईडी पर खुलने लगी थी और हम दोनों सेक्स पर भी खुल कर बात करने लगे थे.

सेक्सी वीडियो बाल

मैंने तेज झटके देने शुरू कर दिए, तो उसने भी अपनी टांगें हवा में उठा दीं और उसकी मस्ती भरी आवाजें निकलने लगी थीं. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो खपाखपतो वो पहले शरमा गई लेकिन मैंने जिद की तो उसने अपनी ब्रा भी निकाल दी.

वह अपनी लड़की के लिए लड़का देख रहा था।तो मेरे पिताजी ने अपने दोस्त से संपर्क किया।लड़की इसी शहर में नौकरी करती थी. छोटी लड़कियों की जबरदस्ती सेक्सी वीडियोतभी शैंकी ने मुझे बातों में लगा लिया और मैंने उससे कहा कि जान मुझे डर लग रहा है.

मैंने सर हिलाया और अपने लंड को चड्डी से आजाद करके उसके ऊपर 69 की पोजीशन में आ गया.बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म: नवीन बोला- डरो मत, मैंने व्हिस्की की बोतल मंगाई है, धीरज जा … ले ले.

शमा ने मेरी आंखों में झांकते हुए कहा- हां, मुझे तो किस करनी बहुत अच्छी तरह से आती है लेकिन कभी की नहीं.वो किस्सा क्या था और कैसे घटा था, उसे दूसरी सेक्स कहानी में लिखूंगा.

रीति रिवाज सेक्सी - बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म

उसने अपनी पैंट खोल कर उतार दी और मुझे अपनी जांघों के बीच रगड़ने लगा.मेरी मॉम- अह्ह्ह उहह सीईईई अह्ह उहह अहह अहह विकी चोदो मजा आ रहा है … आह मैं तेरी रंडी हूँ … आह मेरी चुत फाड़ दो अह्ह्ह्, आज से पहले मुझे कभी इतना मजा नहीं आया … तुम जब भी चाहो मुझे चोद सकते हो … अहह्ह फाड़ दो मेरी चुत को.

उसने अपने गालों पर हाथ रखा और आंखें फैलाते हुए कहा- हायल्ला … इतना बड़ा और मोटा!मैंने लंड हिलाया और उससे पूछा- पहले वाला कितना बड़ा था?उसने बताया कि इससे काफी छोटा था. बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म उसने वासना भरे स्वर में कहा- क्यों निकाल लिया?मैंने उससे कहा- अब बिस्तर पर चलो बाबू … तुम्हारी आज ढंग से चुदाई होगी.

फिर मैंने धीरे धीरे कल्पना भाभी से फोन पर लम्बी बात करनी शुरू की कि अमित के रिलेशन किस किस से हैं और वो कितनी लड़कियों या भाभियों के साथ सेक्स करता है.

बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म?

पर मेरे बार बार कहने पर वो लंड अपने मुँह में लेने के लिए तैयार हो गई. उसका हाथ अम्मी की पैंट के अन्दर था और अम्मी का हाथ जगप्रीत की जांघ पर था. फिर मैंने उसे एक से एक सेक्सी मॉडल्स की कामुक फ़ोटो दिखाई जिन्हें वो बड़े ध्यान से देख रही थी.

दोस्तो, मैं रोहित एक बार फिर से आपको कमसिन शिवानी की चुत चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. इस बीच मेरे दोस्त का कॉल आ गया था, तो हमारा मिलने का प्लान बन गया था. सासू मां ने कुछ देर सोच कर कहा- दामाद जी … आज रात आपके कमरे में … या मेरे कमरे में!मैं समझ गया कि सासू मां किस बारे में बात कर रही हैं.

उसकी आवाजों से न मधु उसकी गांड मारना छोड़ रही थी और न मैं उसकी चुत चोदना छोड़ रहा था. ’यह कहते हुए माधवी अपना हाथ भिड़े के हाथ से छुड़ाने लगी और फिर से अपना कुर्ता पहनने की कोशिश करने लगी. मेरी बीवी अपनी छोटी बहन कविता और अपनी भाभी भारती के साथ रसोई का काम देखने लगी.

फिर दूसरे दिन शाम अंकल को नाईट ड्यूटी पर जाना था तो उन्होंने मेरी मम्मी को बोल दिया कि वो कशिश का ख्याल रखें. हम दोनों अपनी अपनी कमर को तेजी से चलाने लगे और ताबड़तोड़ चुदाई की थप थप थप थप आवाज कमरे में भरने लगी.

मैं एक अल्ट्रासाउंड के लिए भी लिख रहा हूँ, वो करवा के उसकी रिपोर्ट ले आओ ताकि बीमारी का सही से पता लग सके.

इस बार वो वाशरूम में जाने लगीं और कटाक्ष करती हुई बोलीं- हां मुझे मालूम है, मगर फिर से गर्म भी किया जा सकता है.

दोस्तो, मैं कबीर पटेल, आप मेरी सेक्स कहानी में भिड़े और माधवी की चुदाई का मजा ले रहे थे. तो क्यों ना हम दोनों एक दूसरे के सामने ही मुठ मारें … जिससे तुझे भी मजा आएगा और मुझे भी. गोरे गोरे गाल, रसीले होंठ, बड़े बड़े चुचे … बिल्कुल किसी बॉल की तरह गोल और सामने को तने हुए.

घर आकर वो मेरे सामने ही कपड़े बदलने लगी थीं और ब्रा पैंटी में मेरे सामने थीं. उसने देखा कि भिड़े का ध्यान उसकी तरफ बिल्कुल भी नहीं पड़ा था, वो बस प्रेस करने और टीवी देखने में बिजी था. मैंने पूछा- वो कैसे?वो बोली- दरअसल मेरे पति से मेरा तलाक हो गया है.

मैं आगे बढ़ कर उसके होंठ चूमने के लिए उसका चेहरा अपने हाथों में लेने लगा तो उसने मेरे दोनों हाथ पकड़ लिए और हंसते हुए बोली- हां जी, बोलिये आपने मुझे क्या करने के लिए बुलाया यहाँ?तो मैंने बिना कुछ बोले फिर से उसे पकड़ा और उसके होंठ चूमते हुए उसके टॉप के ऊपर से उसके चूचे दबाने लगा.

मैंने मधु की चुत से लंड निकाला और रेखा को बेड पर पटक कर अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया. एक रात की बात है, जब मैं पेशाब करने के लिए उठा तो मैंने देखा चाची के कमरे की ऊपर वाली खिड़की खुली हुई है. मुझे दीदी की ऐसी हरकतें देखकर हरा सिग्नल कुछ ज्यादा ही हरा दिखने लगा था.

जब वो मुझे और मेरे ससुर को कॉफ़ी देने लगी तो हम दोनों ने मना कर दिया. वो अहमदाबाद से कॉलेज में पढ़ने के लिए राजकोट आई थी और हॉस्टल में रह कर पढ़ाई कर रही थी. मैं भी मुठ मार कर उनके कमरे की बाहर से कुंडी खोल कर अपने कमरे में चला गया और सो गया.

फिर हम सो गए।दो दिन बाद मैं और मोहिनी वापस अपने शहर, जहां हम काम करते थे आ गये.

अम्मी दर्द से कराह गईं- अह्ह उम्मम जगप्रीतह … प्लीज मुझे छोड़ दो मेरी गांड मत मारो प्लीज!शायद पापा ने कभी अम्मी की गांड नहीं मारी थी … मगर जगप्रीत कैसे छोड़ सकता था. उसकी चूत का पानी बड़ा ही स्वादिष्ट था और मुझे भी अपने वासना का भूत सा सवार हो गया था.

बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म अब आगे गरम औरत की गांड मारी:वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी, जैसे उसे बहुत दिनों बाद लंड चूसने को मिला हो. मैं उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके बड़े-बड़े मम्मों को दबा रहा था और साथ में उन्हें किस भी कर रहा था.

बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म मैंने भी विकी से मॉम के साथ नीचे जाने का कहा तो वो भी मेरे साथ नीचे आ गया. उसकी आंह ऊंह अब भी आ रही थी मगर मैं पूरे ताव में आकर शिवानी को पेलने में लगा था.

मैंने भी हंसते हुए कहा- काश!दीदी मेरे मुँह से काश सुनकर बोलीं- हट बदतमीज.

बीएफ बिहारी देसी

धीरे धीरे दिनेश चाचा जी का हाथ मेरी जांघों पर आ गया और वो मुझे सहलाने लगे. उनके होंठ मेरे होंठों से जुड़ चुके थे और अब मैंने भी आंटी का मजा लेना शुरू कर दिया था. शिवानी- हां बोलो, यहां क्यों बुलाया मुझे?मैं- मामीजी ने बताया होगा ना तुम्हें.

वो अपने हाथ को मेरे सर पर दबाती हुई मुझे अपनी चुत में अन्दर की तरफ खींच रही थीं. उसने फोन की रोशनी देखी और वो इधर उधर देखती हुई उठ कर मेरे करीब आकर लेट गई. फिर मैंने धीरे धीरे अपनी बहन के चूचे दबाने शुरू किए, वो तो मानो जन्नती सुख लेने लगी थी.

आपको मेरी ये इंडियन विलेज़ सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं.

उसी समय मेरा पिस्टन उसकी चूत में राजधानी की स्पीड से अन्दर बाहर होने लगा. फिर वो अपने घुटनों पर बैठ गई और उसने मेरी फ्रेंची को खींच कर उतार दिया. भिड़े ने अब माधवी के मुँह को चोदने की गति और भी बढ़ा दी थी, यहां तक कि माधवी के लिए सांस लेना भी मुश्किल होता जा रहा था.

हम दोनों ने अपने लंड निकाले और मेघना को अपने सामने घुटनों के बल बिठा लिया. थोड़ी देर बाद उसने मेरा हाथ ढीला छोड़ा तो मैंने अपना हाथ निकाला और उसके बोबों की तरफ बढ़ाने लगा. स्वाति भी मस्ती में अपने चूचे दबवा और चुसवा रही थी और आवाज निकाल रही थी- ओह … आह … और … करो … प्लीज़ भैया!ऐसा बोलते बोलते स्वाति मेरा सिर अपने चूचे पर दबाए जा रही थी.

सुबह वापस मैंने शिवानी को स्कूल जाते टाइम ऊपर से लेकर नीचे तक ताड़कर देखा. लगता था कि तुम मेरी चूत फाड़ ही डालोगे।विजय बोला- फाड़ तो देता पर फिर तुम संजीव को क्या जवाब देतीं। बस इसी तरह चोरी छिपे हम मजे लेते रहें.

धीरे धीरे मेरी इस हरकत के जवाब में मैम की चूत लंड के लिए जगह बनाते हुए थोड़ा थोड़ा खुलनी शुरू हो गयी थी. मैं- क्यों!वह बोली- आपको मेरी चुत देखनी है ना!मैंने कहा- हां मुझे देखनी है. इस बार वो फिर से चिल्लाई लेकिन इस बार मैंने मुँह से ही उसकी आवाज दबा दी और उसको करीब 10-15 धक्के मार दिए.

मैंने चाय देते हुए कहा- मोहिनी जी, आपको सुन्दर लड़किया पसंद हैं?मोहिनी बोली- और रतन जी, आपको जवान लड़के पसंद हैं?हम दोनों हंसने लगे.

मैंने अब भाभी की चुत में अपनी जीभ नुकीली करके चूसना और चाटना शुरू कर दिया था. पीछे हाथ ले जाकर मैंने उसके टॉप की चैन खोल दी और उसने उसी वक्त अपने हाथ ऊपर कर दिए. उसके धक्के हर पल तेज़ हो रहे थे जिसका मतलब था कि वो झड़ने के करीब थी.

मैं सामने ड्रेसिंग टेबल पर रखा सरसों का तेल ले आया और उसकी गांड में डाल दिया. मैंने दोबारा ऊपर उसकी ओर देखा तो वो वासना से मेरी तरफ़ ही देख रही थी.

आज नफीसा आंटी की गांड में अलग ही मजा आ रहा था; मैं लंड को अन्दर तक पेल रहा था. मालिश के बाद मैंने उसे पीठ के बल लेटने को कहा।मोहिनी के स्तन ज़्यादा बड़े नहीं थे, तम्बू की तरह तने हुए थे. मेरी दीदी चीख पड़ीं- आआहह मम्मी मर गई!राजेश जी ने झट से दीदी के होंठ चूसना शुरू कर दिया और उनकी आवाज को दबा दिया.

ब्लू मूवी मूवी

उमैय्या अब भी कुछ नहीं बोली, तो मैंने सोचा कि ये तो पूरी गर्म हो गयी लगती है.

अब मैंने सबसे पहले चाची की रसीली चूची पर हमला किया और उसे जोर जोर से दबाने लगा. मैंने उसको उसके घर छोड़ दिया और घूमने जाने का प्रोग्राम कैंसल करके हम दोनों ने मूवी देखने का प्लान बनाया. फ़िर उन्होंने हाथों से लंड को चुत के छेद में सैट किया और आंखों से इशारा किया कि पेलो.

दोस्तो, मेरी अन्तर्वासना की कहानी के अगले भाग में मैं आपको आगे दीदी की चूत चुदाई की बात लिखूंगा. पापा मम्मी से कह रहे थे- आज हम दोनों को अपने बेटे को इसी कमरे में सोने देना चाहिए. सेक्सी वीडियो देसी घरेलूउनके कूल्हे बाहर होने के कारण उनकी गांड अभी भी बहुत कामुक दिखती है.

उधर भाबी की नजरें भी मेरे लोअर में कैद मेरे फूलते हुए लंड पर टिकी हुई थीं. सच में यारो नई खिलाड़ी के गर्मागर्म जिस्म की बात ही कुछ अलग होती है.

अपने दूसरे हाथ को उसकी गर्दन से होते हुए उसके सर को अपनी ओर दबाने लगा, जिससे उसके होंठ मेरे होंठों से चिपक गए और हम दोनों डीपली किस करने लगे. मैंने उसे फिर से पकड़ कर पूरा लौड़े पर दबा दिया और उसे लंड पर बैठे रहने दिया. मेरी मॉम विकी से मिलने के लिए ऊपर उसके कमरे में जाने लगीं, तो मैं भी पीछे पीछे चला गया.

छोटा कमरा होने के नाते भाभी, दुकान के सामने बने रसोईघर में कपड़े उतारने लगी. वैसे तो ये सफ़र पिछले महीने शुरू हुआ था मगर इस सफ़र की शुरूआत एक साल पहले ही हो चुकी थी, जिसका अंदाज़ा मुझे भी नहीं था. कुछ देर बाद मम्मी आईं और उन्होंने कहा कि मुस्कान आज यहीं इसी रूम में सोएगी.

मॉम को गाली दी तो वो भी गाली देने लगीं- माँ के लौड़े साले … जल्दी से लंड चुत में पेल दे हरामी.

हां, मेरी मौसी भरे पूरे शरीर की मालकिन हैं और इस उम्र में भी उनका पेट भी एकदम सपाट है. मैंने पूछा- आप किधर से हो?उसने अपने बारे में बताना शुरू किया- मेरा नाम शाजिया है और मैं इधर मेरठ में अपने एक रिश्तेदार के घर आयी थी.

बस मैंने विशाल को बुला लिया।मेरी बहन उससे मिलकर खुश हो गयी। उसके शौहर से मैं मिल ही चुकी थी।रात को हम सबने पहले तो शराब पी और फिर विशाल का लण्ड बहन रमैया को पकड़ा दिया और उसने अपने शौहर का लण्ड मुझे पकड़ा दिया।फिर विशाल ने मेरे सामने ही मेरी मौसी की जवान बेटी रमैया की बुर खूब मस्ती से चोदी. आंटी मुझसे लिपट गईं और बोलीं- राज तुम मुझे ऐसे ही चोदोगे, मेरी प्यास बुझाओगे!मैंने कहा- ठीक है, लेकिन सलीम को पता नहीं चलना चाहिए. पापा ने अपने लंड को मम्मी की दोनों टांगें फैलाकर पापा ने अपने लंड को सैट किया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड मम्मी की चुत में ठांस दिया.

घर में मेरी उपस्थिति में भी वो अपने आशिक को बुला लेती थी और उससे चुदकर अपनी प्यास बुझा लेती थी. मैंने कहा- फिर?वो- फिर डॉक्टर ने टॉवल में ही दूसरा हाथ डालकर स्टिक को पकड़ लिया और एक हाथ को मेरी अनछुई चूत पर फिराने लगा. उनका फिगर 38-28-40 बहुत ही कामुक था और मम्मी कुछ ज्यादा ही बोल्ड थीं.

बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म वहां पहुंच कर मेरे मन में यही बात बार बार आ रही थी कि शैंकी का लंड न जाने कितना बड़ा होगा. मेरी मॉम- क्या तुम अब मेरी गांड मारने वाले हो?विकी- हां सुनीता … तुम्हारी गांड तो मैं तू जबसे आयी है, तभी से मारना चाहता था.

बीएफ प्राइसxxx

मां झुंझलाती हुई बोलीं- अरे उसका दूध छातियों में ही बच रहा है, बच्चे को पिलाने के बाद भी जब ऐसा होता है, तो इसका इलाज डॉक्टर के पास नहीं होता है. अब तो वो और ज्यादा मस्त हो गई थी और उसकी मादक सीत्कारें और अधिक बढ़ गई थीं- आंह आह मसल दे मेरे दूध भाई … आह पूरा जड़ तक पेल दे मेरी चुत में अपना लंड भाई … आंह आह जोर जोर से चोद दो मुझे भैया … आह मजा आ रहा है!मधु की तेज आवाजों के कारण रेखा और पूजा भी अब तक जाग चुकी थीं. जेनी ने छुट्टी में कहीं घूमने का प्रस्ताव दिया।उन्होंने कहा- मोहिनी तुम मेरे साथ चलो.

उसकी गांड भी साथ देती सी दिखी … तो मैंने फिर से एक जोरदार धक्का दे मारा और इसी के साथ मैंने अपना पूरा लंड लक्की की चूत में पेल दिया. मैं चुपके से उसके पीछे गया और उसको बांहों में भर कर उसकी गर्दन पर एक चुम्मी ली. राधा पिक्चर सेक्सीमैंने कहा- ठीक है मामा ख्याल तो मैं ऐसे रखूंगा कि आप भी मामी का इतना ख्याल नहीं रखते होंगे.

वो कोई प्रतिक्रिया नहीं कर रही थी तो मैं उसके लोअर को नीचे करने लगा.

लक्की अब तक तीन बार पानी छोड़ चुकी थी और अब उससे मेरा लंड सहन नहीं हो रहा था. गहरे लाल रंग की लिपस्टिक लगायी, आई ब्रो वगैरह लगाकर अपने चेहरे को और चमकाया.

जैसे-जैसे हम आगे बढ़ रहे थे … वैसे वैसे ही बारिश और तेज होती जा रही थी. चुत चिकनी होने के कारण उसका पूरा लंड एक ही बार में मॉम की चुत में घुसता चला गया. चुदाई के बाद हम दोनों ने कपड़े सही किए और एक दूसरे की बांहों में सो गए.

अपने एक हाथ की दो उंगलियां खुद के मुँह में और दूसरे हाथ की दो उंगलियां अपनी चुत में डालकर मेरे सामने खेलने लगीं.

मुझे उसके बड़े बड़े मम्मों को खोल कर देखना था क्योंकि जब से मैं उसको देखने गया था, तब से उसके चूचे ही मेरी पहली पसंद थे. मगर उस समय सब बाथरूम भरे थे, तो फिर हम दोनों एक रेडीमेड कपड़ों के शोरूम में घुस गए और उधर ट्रायल रूम में घुस कर कपड़े ट्राई करने लगे. तो उसने मुझसे कहा- देखो मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था, मगर अनजाने में मैंने तुम्हारी अम्मी को देखा.

बिलो बिलो सेक्सीवहां मैंने भाभी को चुदाई का मजा कैसे दिया?दोस्तो, मैं आपको अपनी देसी भाभी सेक्स कहानी में लॉकडाउन खुलने के बाद एक दुकानवाली भाभी की चूत चुदाई की भूख मिटाने वाली सेक्स कहानी में फिर से स्वागत करता हूँ. आंटी मेरे इरादे समझ गई और बोली- राज नहीं नहीं!मैंने कहा- क्या नहीं?वो बोली- तुम तो जानते ही हो!मैंने अनजान बनते हुए पूछा- क्या? मैंने तो आपसे कुछ कहा नहीं … कुछ मांगा नहीं!वो बोली- राज, तुम्हारे इरादे मैं समझ गई हूँ लेकिन ऐसा नहीं हो सकता!मैंने कहा- ठीक है तो रहने दो.

आंटी जी की बीएफ

तुझे अभी जरूरत हो तो मैं उन्हें बुलवा लूं!शिवानी- नहीं पापा, मैं ठीक हूँ. मैंने प्रीति को मजाक करते हुए कहा- काँग्रेट्स प्रीति … तुमने बताया नहीं कि तुम्हारी शादी होने जा रही है. चाचा जी ने कमरे में मुझे बिस्तर का किनारा पकड़ कर डॉगी पोज़ में लिया और पीछे दे अपना लंड मेरी गांड में सैट करके एक जोर का झटका दे दिया.

हम एक दूसरे के बिल्कुल बग़ल में बैठे थे तो मैं सीधा उसकी तरफ़ नहीं देख पा रहा था. उसके चूचे बाहर आने को बेताब थे।मैंने उसे पलंग पर लिटाते हुए कहा- जानेमन … सेक्स का असली मजा बात करने से … गंदी गालियां देने से और खुल कर चुदाई करने से आता है।उसने मेरे सिर पर एक टपली मारी और बोली- मेरे चोदू राजा … आज तेरी रानी की बरसों की प्यास बुझा दे … बहुत तरसी हूं मैं!मैं बोला- हां मेरी रानी … तेरा यह राजा तेरी सारी प्यास बुझाना जानता है. तो मैंने पूछा- तूने पहले अपनी गांड में भी कुछ डाला है क्या?वो बोली- हां भैया … मैंने अपनी गांड में उंगली से लेकर मूली तक डाली है.

जब उसने मेरे लंड को पूरी तरह मुँह में लेकर चूसना शुरू किया तो ऐसा लग रहा था कि लंड को खा ही जाएगी. मैं उसी समय उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी जो बाद में उसने एक्सेप्ट कर ली. इस बाइक की पीछे वाली सीट थोड़ी उठी हुई थी, जिस कारण से उनका मेरी तरफ ऊपर को आना स्वाभाविक था.

साई को थोड़ा गुस्सा आ गया और बोला- जाने दो, आगे से कीमती माल को खराब मत करना. बीच बीच में मैं उसको किस भी कर रहा था, उसके रसभरे मम्मों को भी दबा रहा था.

मैंने उनसे पूछा- कोई क्रीम वगैरा है क्या आपके पास?उसके पास कोल्ड क्रीम थी.

मोहन ने मेरी माँग में सिंदूर लगा दिया।फिर दोनों ने शादी की खुशी में एक एक पैग पीया और हल्का खाना खाया. सेक्सी वीडियो बीपी ब्लू वीडियोकुछ पल बाद राजेश जी ने दीदी की ब्रा को उनके जिस्म से हटा कर दूर फैंक दिया. वीडियो सेक्सी देखने कीआंटी बोलीं- ओके … तुम करके दिखाओ मैं तुम्हें वो दूंगी, जो तुमने सोचा ही नहीं होगा. मैंने उनके आंसू पौंछ दिए और उनको दिलासा देते हुए कहा- सब ठीक हो जाएगा भाभी … किसी दूसरे अच्छे डॉक्टर को दिखा लीजिए.

दोस्तो, हमारा रिश्ता 2020 तक चला, फिर भाभी को कोरोना हो गया … जिसकी वजह से उनकी जान चली गयी.

मेरे हर झटके में आंटी भी अपनी गांड पीछे करके साथ देतीं, जिससे मजा कई गुना बढ़ रहा था. मैं अपने दोस्तों के साथ घूमने तो निकल गया था लेकिन आज मुझे उनके साथ मन ही नहीं लग रहा था. मैंने बात करते करते अपना हाथ उसकी गांड की तरफ़ बढ़ाया और धीरे से गांड की एक साइड पर रख दिया.

फिर तुम अचानक अपने हाथ को अपनी पजामे में ले जाकर अपने लंड को पकड़कर ज़ोर से ऊपर नीचे करके हिलाने लगे. ‘सोनू बेटा, तुम जैसा सोच रही हो, वैसा बिल्कुल कुछ भी नहीं हो रहा है. मैं अक्सर सपना को स्कूल की छुट्टी के बाद ऑटो का इंतज़ार करते देखा करता था.

चूची मसाज

मुझे गांड मरवाने में बहुत मज़ा आया, मुझे अब महसूस हुआ कि गांड मारने में उतना मज़ा नहीं आया था जितना अब मरवाने में आया।विनोद के माता पिता नौकरी करते थे. मैंने तुरंत ही उसके लौड़े को गले तक उतार लिया और उसे मज़े देने लगा. भिखारी मस्त हो गया था तो मॉम घोड़ी बनते हुए उससे बोलीं- चलो अब फिर से पीछे वाले उसी छेद में ये लंड डालो … मगर अब धीरे धीरे डालना … ठीक है, तुझे मिठाई खाने दूंगी.

विकी- सुनीता डार्लिंग, क्या तुमने अभी तक मामा के लंड के अलावा कभी किसी और से भी चुदवाया है?मेरी मॉम- नहीं विकी … आज मैं पहली बार किसी और मर्द की गोद में बैठी हूँ … आह्ह.

मेरा लंड सांप की तरह फुंफकार मारने लगा और वो अपने बिल में जाने के लिए बेताब हो चला था.

फिर उसका हाथ पकड़कर कहा- मुझसे शादी करने के लिए तुम्हारा अभारी हूं. फिर मैंने कुछ देर बाद मामी की चूत में अपना मूसल लंड घुसा दिया और मामी को उठा उठा कर चोदने लगा. सेक्सी तमिल सेक्समैम जैसे ही थोड़ा इत्मीनान से हुईं ये सोच कर कि अब धक्के थोड़ा रुक कर लगेंगे, उन्होंने अन्दर से चूत थोड़ी ढीली करनी शुरू कर दी.

पेलो चोदो मुझे … और कसके चोद चोद मेरी चुत का भोसड़ा बना दो … आह मेरी जान आज तो मजा आ गया. चुत के अन्दर रस भरा हुआ था और उनकी फांकों के बीच में दाना एकदम कड़क दिख रहा था. उनको शारीरिक भूख सताने लगी थी … पर शर्म व संकोच के कारण दीदी किसी दूसरे के साथ संबंध नहीं बना पा रही थीं.

भाभी मुझसे बोली- बाबू मेरी लिपस्टिक जब तक खत्म ना हो … तब तक मुझे चूसते रहो. मगर इधर गांव में रायता फैला हुआ था विवाद बढ़ गया था, तो मैं गांव में ही रुक गया.

धीरे करो न!ये सुनते ही मैंने भाबी को बालों से पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और कहा- तुझे बड़ा मजा आता है ना, ऐसे रंडी की तरह अपनी गांड और चुत पराए मर्द को दिखाने में … मैं बस तुझे तेरी जगह बता रहा था.

फिर एक दिन मैं दोपहर में नफीसा आंटी के घर गया तो वो घर में अकेली थीं. मान लीजिए सोनू ने यह सब कहीं बाहर से सीखा, या कहीं बाहर ही ट्राय भी किया तो? इसी लिए कह रही हूं … आप मामले की गंभीरता को समझिए और उसे हमारी चुदाई देखने दीजिए. उनका एक बेटा भी था, जो बोर्डिंग स्कूल में पढ़ता था और वो वहीं रहता था.

लैंड बॉसी सेक्सी पिक्चर फिर मैंने उसकी चूत से मुंह हटा कर अपनी चार उंगलियों से उसकी चूत पर 2-3 हल्की चपत लगाई और जैसे ही उसकी चूत पर दोबारा जीभ लगाई, उसने फिर से मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाया और एक लंबी सिसकारी उम्मह करके एक बार फिर झड़ गयी. वो बड़ी बोल्ड निकली उसने आते ही मुझे जोर से गले लगा लिया और चूमती हुई बोली- बाबू, आई लव यू.

अगली रात को मैं फिर से जल्दी सोने का नाटक करके सो गया और इंतजार करने लगा कि कब उनकी चुदाई का प्रोग्राम शुरू होगा. मैं उनके निप्पल को कई बार दांतों से पकड़ कर खींच देता, तो दीदी की मादक आह निकल जाती थी. तभी मम्मी की आवाज आई, वो पापा से बोल रही थीं- यार, मुझे प्रेशर आया है, मुझे अभी ही जाना होगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ चोदा चोदी

कुछ पल बाद मैंने उसके बालों को सहलाते हुए उससे कुछ बात करना शुरू कर दी. इसलिए ये मैंने मैं बातों बातों में मैंने दूसरे दिन उससे कहा कि मैं कनफेशन करता हूँ कि मैंने काफ़ी लड़कियों के साथ सेक्स किया है और इसके अलावा तीन आंटी के साथ भी मेरे शारीरिक रिश्ते रहे थे. कुछ देर बाद जीजा जी ने भाभी की चूत से अपना लंड निकाला और भाभी को पास पड़े बेड पर चलने को बोला.

मैंने देखा जब भी राइड अंधेरे से गुजरती थी, तो आंटी अपना हाथ मेरे लंड के पास ले आती थीं और लंड को छू लेती थीं, फिर वापस हाथ को पीछे कर लेती थीं. मगर उस समय सब बाथरूम भरे थे, तो फिर हम दोनों एक रेडीमेड कपड़ों के शोरूम में घुस गए और उधर ट्रायल रूम में घुस कर कपड़े ट्राई करने लगे.

मैं भाभी की डिटेल आपको बाद में देता हूँ, पहले मैं अपने बारे में बता देता हूँ.

स्वाति ने भी कुछ देर में खाना खत्म किया और करीब एक घंटे बाद मेरे कमरे में आई. तभी मैंने पाया कि दीदी ने बहुत खुश होकर अपनी कमर को हिला दिया, जिससे मेरा लंड उनकी गांड में और अच्छे से सैट हो गया. अब नवरात्र आ गई, हमारे मोहल्ले में नवरात्र बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है.

दीदी थोड़ा और मेरी तरफ को खिसक आईं ताकि मैं आसानी से उनकी चूची दबा सकूं. आपको यह हॉट सेक्सी भाभी कहानी कैसी लग रही है? प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें. फिर वो अपने घुटनों पर बैठ गई और उसने मेरी फ्रेंची को खींच कर उतार दिया.

वो मान गई और अपनी जींस और टी-शर्ट उतार कर बेड पर बैठ कर फ़िल्म देखने लगी.

बीएफ फिल्में हिंदी फिल्म: उसकी आंखों में चुदास थी और अपनी चुत उठा कर मुझे चुदाई का मूक आमंत्रण दे रही थी. बल्कि इसे दूसरे शब्दों में कहूँ कि घर का मामला घर में ही सुलझ गया है.

अब मुझे भाभी की चुदाई की सनक सवार हो गयी थी, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कैसे भाभी को चोदूं. गांड चुदाई सेक्स स्टोरी मेरी गांड में पहली बार मेरे भाई के लंड घुसने की है. वो खुद पर कंट्रोल करके धीरे धीरे मूत रहा था ताकि मैं पूरा मूत पीता जाऊं.

[emailprotected]मेरी वाइफ की चूत की कहानी का अगला भाग:पत्नी को गोवा में अफ्रीकन लौड़े से चुदवाया- 2.

लेकिन शिवानी की कोशिश के चक्कर में मेरा लंड तो उसकी चूत के लिए तड़प रहा था. इसके बाद मैंने भाभी को कई बार चोदा; उनकी गांड भी मारी और उनसे लंड भी चुसवाया. तभी अम्मी मुझसे मिलने दिल्ली आईं और उन्होंने अपनी बात कहते हुए मुझसे कहा कि वो अब यहीं मेरे पास रहेंगी.