बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स

छवि स्रोत,बड़ी मम्मी को चोदा

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी फिल्में सेक्स: बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स, कुछ देर बाद उन्होंने कहा कि तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो … अब तक कितनी चुत चोद चुके हो?मैंने कहा कि मैंने चुदाई की शिक्षा अपनी बड़ी मां से ली है, जिनको मैंने सबसे पहले जंगल में पेला था.

लड़की की तस्वीर दिखाओ

जब भी उसकी जीभ मेरे लंड के टोपे पर लगती थी तो मैं एकदम से सिसकार उठता था. पेशाब करते हुएएक बार मेरी चूतफाड़ चुदाई कर दो तो मेरी चूत की खुजली शांत हो जायेगी.

2 इंची लण्ड खड़ा होने लगा।बातचीत के दौरान ये भी पता चला कि सभी लोग काम पर गए हैं और लड़की पढ़ने।मैंने रात वाली बात पूछा तो उन्होंने बताया कि ये अक्सर होता रहता है। वे मेरे साथ नहीं सोते. सील पैक एक्स एक्स एक्सअब मैं तेरे मुँह में माल छोड़ने वाला हूँ।इतना बोलकर सर ने एक बार मेरे मुँह में कस कर अपनी गांड दबाई और झटका लेते हुए अपना सारा माल मेरे गले में उड़ेल दिया.

मेरे पिताजी के दोस्त की एक बेटी थी और मेरे पिताजी चाह रहे थे कि मेरी शादी उनके दोस्त की बेटी के साथ हो जाये.बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स: अब राहुल ने अपने लौड़े को जहां तक अन्दर गया, वहीं तक रहने दिया और मेरे होंठों, मेरे बोबों मेरे चूचुकों को चूसने लगा.

वो मेरे लंड से मिला आनंद बर्दाश्त नहीं कर पाई और एक बार फिर से झड़ गयी.फिर मैंने अपना अंडरवियर भी खींच दिया और हम दोनों अब पूरे के पूरे नंगे हो गये.

पाकिस्तान में जाट कितने हैं - बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स

स्तनों की चोटी के ऊपर तने काले काले चूचक स्पष्ट आकृति में उभरे हुए थे.मैं इसके लिए आपको भूतकाल में ले जाती हूं क्योंकि जो मैंने अपनी मां के बारे में सुना था वो आपको भी बताना जरूरी है.

मैं भी उसको जोर जोर से चूसते हुए उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहला रहा था. बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स मुखिया- आह असली बात तो तुझे अब समझ आई आह … चल इसको ऊपर से नीचे अच्छी तरह रगड़ ताकि मुझे सुकून मिले.

बहरहाल जैसे तैसे मिन्नतें करके मैंने नमन को मना लिया को वो शादी के दिन कुछ ही घंटों के लिए जैसे भी हो आ जाये और चाहे तो वरमाला के बाद वापिस चला जाये.

बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स?

धीरे धीरे करके मैं मस्तीखोर बन गया और स्कूल में मेरा नाम सभी के बीच शैतान बच्चा के रूप में फैलने लगा. बीच बीच में उसकी चूचियों को भी चूस कर फिर से ऊपर आ जाता था और फिर से होंठों को चूसने लगता था. उसने मुझे भड़काते हुए कहा- जीजू, अब तो आप धकापेल चोद लो … आपमें जितना दम है, चोदो.

फिर मैंने कहा- समीक्षा यदि दर्द हो तो मुझे बता देना, लेकिन चिल्लाना मत … नहीं तो तेरी दीदी जाग जाएगी. वो चुत चटवाते समय पूरी वासना में खो जाती थी … क्योंकि मैं चूत चाटता ही ऐसे हूँ. मुझे असलियत और सपने में फर्क पता ही नहीं चला और मैं बड़ी भाभी के निप्पल को चूसता चला गया.

मैं भी अपनी हवस की पूरी भड़ास उसकी चूत में निकाल रहा था और उसको जोश में ठोक रहा था. सुरेश की बात सुनकर गीता घबरा गई क्योंकि वो तो जानती थी कि ये सब चुदाई के कारण हो रहा है. अब तो ये हो गया था कि हफ्ते में एक बार मुझे प्रिंसिपल अपने ऑफिस में बुलातीं और मुझे चेतावनी देतीं.

अभी मैं नीला की मस्ती के मजे ले ही रह था, तभी उसने मेरे कानों के पास आकर कहा- अब देख भड़वे … असली मजा किसे कहते हैं. नीचे से ऊपर की तरफ ओर लंड के सुपारे ने मेरी चुत में आग सी लगा दी थी.

हम तीनों पैर फैलाये हुए पड़े थे और पीठ बेड के सिरहाने की ओर दीवार से लगी हुई थी.

विलेज गर्ल की चूत कहानी में पढ़ें कि कैसे गाँव के मुखिया ने एक जवान कुंवारी लड़की की चुदाई करने के लिए ताना बाना बुना और उसे नंगी करके उसके गर्म जिस्म का मजा लिया.

वो रणजीत का लंड को देख कर बोल पड़ी- आह क्या मस्त लंड खड़ा है आपका, आज तो मैं इसको कच्चा ही खा जाऊंगी. मैंने सोचा कि अब चूत के छेद के लिए कहीं दूसरी जगह ही नज़र मारनी पड़ेगी। जैसा कि आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा था कि मेरे चार मामा हैं। चार में से तीन तो एक साथ रहते हैं जबकि एक मामा अलग रहते हैं. कई बार सुबह जब मैं सोकर उठता था तो मेरा लंड मेरे पजामे में तना हुआ होता था.

उस समय के मीठे दर्द से मैं भी उसे ज़ोर से अपने दांतों से उसके होंठ पर काट देता. तो अब जब कभी कभी मैं दिल्ली जाता हूं, तो भाभी से मुलाक़ात होती है और सारी यादें ताज़ा हो जाती हैं. इसके आगे की सेक्स कहानी मैं आपको अगले भाग में बताऊंगा कि उनकी सहेलियां क्यों आयी थीं … और उस रात बुआ के साथ क्या हुआ.

चचा का लंड लुंगी में उठा हुआ था और वो कोई बात सुनने के मूड में नहीं था.

अब मैंने अपनी उंगली को धीरे-धीरे उसकी चूत में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और साथ ही उसकी दोनों चूचियों को बारी बारी से दबाने लगा. जैसे ही मैं झड़ने वाला था, मैंने उसके मुँह में अपना लंड ठांस दिया और उसके मुँह को चोदने लगा. उनकी उमर को देख कर कोई सोच भी नहीं सकता था कि वो किसी भी प्यासी चुदासी कामिनी की चूत की प्यास इस उमर में बुझा सकते हैं, उसे पूर्णतया तृप्त कर सकते हैं.

[emailprotected]मस्त जवानी की सेक्स कहानी का अगला भाग:पति ने मुझे मेरे बॉस से चुदवा दिया- 3. वो जल्दी से मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लन्ड को पकड़कर अपनी चूत में सेट कर लिया. वो मेरे हाथ को उनकी चूत में से बाहर निकालने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने पूरे ज़ोर के साथ उनकी चूत पर कब्जा जमा लिया था। अब मैं उनको पकड़कर चूत में उंगली अंदर बाहर करने लगा।मौके को देखते हुए मैंने मेरा पजामा और टीशर्ट खोल दी। अब मैं सिर्फ अंडरवियर में ही था। अंडरवियर में मेरा मूसल जैसा लंड अकड़ चुका था.

गरिमा बोली- एक बार में कैसे?साक्षी सुनीता के पास गई और सुनीता से बोली- चल सिर के ऊपर हाथ उठा!इसके जवाब में सुनीता ने कुछ नहीं कहा.

उसके बाद मैं तुंरत किचन में आ गया, जहां पर भाभी बेक्रफास्ट बना रही थीं. अरे बेटा होटल में चलने की कौन कह रहा है तुझसे?”तो?”बेटा, यहां से थोड़ी दूर पास के गाँव में हमारा फार्म हाउस है.

बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स मेरी तरफ देखते हुए उसने अपने लंड को हिलाया और लुंगी में डाल लिया और बोला- हां, यहीं काम करता है. वो कराहने लगी और मैं उसके होंठों को चूमते हुए उसकी चूत में धक्के लगाने लगा.

बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स उसकी चीखें निकलने लगीं और कुछ ही पल के बाद मेरे लंड का लावा भाबी की चूत में गिरने लगा. उसने फिर बट प्लग को मां के मुंह से निकाला और उसकी गांड पर दबाते हुए उसके छेद में पूरा डाल दिया.

मैं भाभी की बातों को अनसुना करते हुए बस जोरों से उनकी चुत को पेले जा रहा था.

बीएफ सेक्स वीडियो एक्स एक्स एक्स

सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी. समधी जी बोले- कल रात तुमने मुझे खुश कर दिया … आज भी मुझे मजा दे दो. मुखिया- कुत्ता है तू साला … अब ये मुसीबत तूने पाली है, इसका समाधान भी तू ही कर.

मैं पैंटी को मुँह में दबा कर मुठ मारता था, उससे लाख दर्जे सीधे चुत की चुसाई में मजा आ रहा था. काफी देर तक ऐसा करते करते मैंने मौसी की साड़ी को ऊपर उठाया और अपना एक हाथ सीधे उनकी चूत पर रख दिया. मैं जितना ज्यादा चीखती, वो उतना ही स्पीड में मेरी गांड में लंड पेलने लगता.

उसके बाद मैं मार्केट गया और वहां से सोनिया और बंगाली भाभी के लिए कुछ गिफ्ट ले लिया.

जब मेरा लंड रॉड की तरह टाइट हो गया, तब मैंने उसे नीला के मुँह से निकाल कर उसे जोरदार किस किया. सुरेश- ये राका कौन है?मीता- हे हे बाबूजी … आप नहीं जानते उसके बारे में! राका इस गांव के ज़मींदार का बेटा था … बड़ा ही कमीना था लड़कियों के साथ ज़बरदस्ती करता था. फिर हमने सर को चाय पानी कराया और उसके बाद मैं खाना बनाने में व्यस्त हो गयी.

अगर आपको इस एडल्ट सेक्सी चैट में मज़ा आए, तो फिर हम लोग आगे की सोचेंगे कि क्या करना है. तुझे दर्द हो तो तकिए या बेडशीट को मुँह में डाल लेना, समझ गया ना?मैंने डरते हुए हां कहा और धीरे करने का अनुरोध किया. भाभी ने भी इधर उधर देखा और जल्दी से वो कागज़ उठा कर अपने ब्लाउज में खोंस लिया.

रूचि के मम्मों को दबाते समय शायद राहुल को याद आ गई थी कि वो कुछ ज्यादा ही आगे बढ़ रहा है. नीचे से उसने ब्रा-पैंटी या पेटीकोट कुछ नहीं पहना था इसलिए साड़ी उतारते ही वो पूरी की पूरी नंगी हो गयी.

फिर इकबाल सिंह ने मेरी गांड में पानी छोड़ दिया और धीरज ने मेरी चूत में लंड खाली कर दिया. क्या बताऊँ दोस्तो, क्या मस्त हुमक हुमक के चोदते हैं पांडेय सर … जब अपना पूरा लौड़ा बाहर निकाल कर सट्ट से पूरी ताकत से अंदर पेलते तो मैं चिहुंक उठती. मेरी मदमस्त कर देने वाली सेक्स कहानी को लेकर मुझे अपने मेल लिखना न भूलना कि इस सेक्स कहानी में आपको कितना मजा आया!आपकी पिंकी सेन[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 12.

यह सब बताते हुए वह काफी दुखी हो गयी तो मैंने उसे दिलासा देते हुए समझाया कि यह तो सब किस्मत के हाथ में होता है.

लेकिन मैं इसके लिए तैयार थी क्योंकि मेरा पति मुझे बहुत कष्ट दे रहा था. शाम को बाहर खाना खाकर मैंने दोस्त से तेज अल्कोहल वाली 6 बियर ले लीं. मैंने उसको वहीं पकड़ लिया और पीछे से हाथ आगे ले जाकर उसकी चूचियों को दबोच लिया और पीछे से उसकी गांड पर लंड लगा लिया.

ज़रूर आज कोई बहुत उलझे हुए हैं ये सोच कर वो चुपचाप मुनिया के साथ अपने घर चली गई. मोनिषा ने मुझे सोते देखा, तो उसने मेरा हाथ अपनी पैन्टी से निकाला और वो भी सो गई.

मैंने उसको एक साइड लिटा कर उसके होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया और उसकी चूत पर उंगलियों से सहलाने लगा. यदि आपको ट्रेन सेक्स कहानी पसंद आयी हो तो मैं आपके लिए आने वाले समय में भी कईरियल लाइफ एक्सपीरियंसलेकर आऊंगा. मैं- भाभी, आप किसी को बताओगी क्या?रुक्मणी- मैं क्यों बताऊंगी?मैं- मैं तो बताने से रहा.

इंडियन एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ

मैंने उसके गालों पर थपथपाया और कहा- तू ही तो कह रही थी साली रंडी कि चोद लो.

मेरा लंड काफी देर खड़ा हुआ था लेकिन अब अपनी सेक्सी बीवी को ब्रा और पैंटी में देख कर मेरे लंड में जोर जोर के झटके लगने लगे थे. मैं भी नाश्ता खत्म करके अपने कमरे में आ गया, क्योंकि मेरा फोन बज रहा था. इसके लिए जब गर्मियों की छुट्टियों हुईं, तब मैंने मेरी घरवाली और बच्चों को उनके मामा के घर भेज दिया.

शायद उसका दर्द अब कम हो गया था। अब उसे दर्द कम और मजा ज्यादा आने लगा था।करीब 20 मिनट तक जोरदार चुदाई चली. भाभी के दोनों मस्त चुचे चूसकर मेरे मन में उनकी चुदाई की इच्छा जागने लगी. गांड में लंड कैसे डालते हैंरोज रात को सोने से पहले मेरी योनि मुझे तंग करती और मैं उसे उंगली से रगड़ मसल कर जैसे तैसे समझा बुझा कर शांत करती रहती.

मगर मैं देख रहा था कि मेरी अम्मी को धीरज के 6 इंच के लंड से कोई असर ही नहीं हो रहा था. अब मेरा लंड बेकाबू हो गया था और आंटी की चूत में सुपरफास्ट ट्रेन के जैसे दौड़ने लगा। थोड़ी देर बाद मेरे लौड़े ने तेज़ पिचकारी छोड़ दी और अंदर चूत में वीर्य भर गया था.

भाभी ने एक लम्बी सी कामुक आह्ह … भरी और फिर अपनी चूचियों को अपने हाथों से ही दबाने लगा. भाभी को एक ज़ोरदार झटका देते हुए मैंने उनके हाथों को पेटीकोट पर से हटा दिया। अब उनकी पकड़ ढीली पड़ते ही मैंने तुरंत प्रभाव से मेरा हाथ पेटीकोट में घुसा दिया। मैं एक हाथ से भाभी के हाथों को पकड़े हुए था और मेरा दूसरा हाथ पेटीकोट में घुस चुका था. निशा भाभी की चूत चोदने के बाद मैं मेरे मामाजी के यहां आ गया था।यहां आने के बाद मैंने सरिता मामी की चूत का भरपूर आनंद लिया लेकिन अब मामीजी चूत नहीं दे रही थी। अब वो चूत देने में बहुत नखरे दिखा रही थी.

मैंने उनसे कहा- ठीक तो बताइए क्या बात करना है?उन्होंने मुझसे कहा- फोन पर बात नहीं हो सकेगी, आप रायपुर आ जाओ और अकेले ही आना. फिर उसके एग्जाम खत्म होने के बाद मैंने उससे बाहर मिलने का प्लान बनाया और हमने एक होटल बुक किया. फिर सिमरन ने अपने पापा को बताया कि फैमिली बहुत अच्छी है, आप मेरी चिंता न करें … और हां पापा आप लोग संभल कर जाईएगा क्योंकि आज कर्फ्यू है और यही सब न्यूज़ में दिखा रहे हैं कि कोरोना बीमारी की वजह से 3 दिन तक सब बन्द है.

अब तक आपने न्यूड भाभी देसी बूब कहानी के पहले भागमामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 1में जाना कि किस तरह मैंने पूजा भाभी को पटाने के लिए कोशिश की.

इन दो दिनों में रुक्मणी भाभी मुझसे काफी घुल मिल गयी थीं, मुझसे हंसी मज़ाक करने लगी थीं. उसका लंड मेरी गांड में आधा घुस गया और मेरे मुंह से आह्ह … निकल गयी.

उसने भी बोल दिया- साले चुतियों, भैन के लौड़ों … आ जाओ मैं भी खेल ही लेती हूँ चुदाई का खेल. फिर मैंने भाभी के एक दूध को मुँह में ले लिया जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया. मेरा मन करने लगा था कि मैं हॉट सेक्सी मॉम को नंगी होते हुए देखूं लेकिन मेरी ऐसा करने की हिम्मत नहीं हो रही थी.

जब वो पोंछा लगाने आई तो मैं सतर्क हो गया कि आज भी कुछ नजारा देखने के लिए मिलेगा. प्रेम रोग हॉट लव स्टोरी में पढ़ें कि कॉलेज में वैलेंटाइन-डे पर एक लड़के ने एक मस्त सुंदर लड़की के समक्ष प्रेम प्रकट किया तो … उस लड़की ने क्या किया?ये स्टोरी एक सेक्स स्टोरी के साथ साथ एक लव स्टोरी भी है. मैं वासना में बड़बड़ा रही थी- आह चोदिए समधी जी … आह अपनी बीवी समझ कर चोदिए राजा जी … आह … और … तेज आह … धक्के मारिए.

बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स प्रिय पाठको, आपको एक संस्कारी लड़की की गर्म जवानी की कहानी में मजा तो आ रहा है ना?[emailprotected]लड़की की गर्म जवानी की कहानी का अगला भाग:अब और न तरसूंगी- 3. उन्होंने अपनी अलमारी खोली और ट्रांसपेरेंट ब्रा निकाली, फिर टी-शर्ट.

बीएफ वीडियो सॉन्ग यूट्यूब वीडियो

अब हरी की जीभ अपना कमाल दिखा रही थी और सुमन की चुत को कुरेदने लगी थी. मगर अब मेरे लंड के लिए चित्रा भाभी की चुत ही एक मात्र छेद था, जो आज मेरे लंड को सुकून देने वाला था. मैंने पूछा- किस चीज की?भाभी हंस दीं और बोलीं- क्या समझ नहीं आया कि मुझे किस चीज की जरूरत है?मैंने कहा- मैं समझ तो गया हूँ, लेकिन आप अपने मुँह से साफ़ कहोगी, तो मुझे अच्छा लगेगा.

जब भी मैं मुठ मारता था तो मेरे ख्यालों और कल्पनाओं में सबसे पहले चाची का ही चेहरा आता था. मैंने ब्रा नहीं पहनी थी, तो मेरे दोनों मम्मे नंगे होकर उनकी आंखों में वासना दिखाने लगे. कामुकता कामपहले मैं चूत के दाने को रगड़ता हूँ, फिर उसकी फांकों को फैला कर किस करता हूँ और पूरी चूत में जीभ घुमा कर काटते हुए चुत को मजा देता हूँ.

तभी तो रघु के सामने उसकी पत्नी को चोद दिया, वो भी ऐसी कयामत माल को, जो सिर्फ़ नसीब से मिलती है.

सेक्स लव स्टोरी इन हिंदी के पिछले भागमैं तेरा तू मेरी- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि रूचि और राहुल एक दूसरे के नजदीक आ गए थे. फिर मैंने धीरे से उसके पेट पर से हाथ उठाया और उसकी छाती पर रख दिया.

मैं फिर से उस पल का मजा लेने के लिए वहीं दरवाजे के बाहर खड़ा होकर मुठ मारने लगा. मैंने उन्हें घोड़ी बना कर उनकी गांड पर साबुन लगाया और अपने लंड पर भी काफी सारा साबुन लगा लिया. अब मेरे लौड़े ने अपनी सख्ती बढ़ा दी और दो चार तेज झटकों के बाद मेरे लंड ने वीर्य की पिचकारी छोड़ दी.

पांच मिनट बाद अब मेरा लन्ड पानी छोड़ने वाला था। थोड़ी ही देर में मेरे लन्ड ने पानी उनकी चूत में ही छोड़ दिया.

मैंने भी कह दिया- चिंता मत करो भाभी, आपकी मर्जी के बिना कुछ नहीं करूंगा. मैंने उसे बताया कि मैं होटल स्टाफ से हूँ और ये मेरी दूर की रिश्तेदार है. मुखिया- लेकिन वो जाग गया, तो क्या होगा!सुमन- आप भी ना बहुत सवाल करते हो.

काजल अग्रवाल का सेक्सबलराम- अच्छा ऐसी बात है … तो यार एक कली को तो मैं अभी ही देख कर आ रहा हूँ. तो गुस्सा तो मुझे आज भी आया, पर मुझे पता था कि ये गुस्सा कहां निकालना है … और कैसे निकालना है.

हिंदी मीडियम बीएफ

इसके बाद मेरी अम्मी ने किस किस से कैसे चुदाई करवाई, वो सब अगली इंडियन रंडी सेक्स स्टोरी में लिखूंगा, आप मुझे मेल भेजना न भूलें. उनका कन्धा पकड़ कर उनके होंठों को चूसने के लिए मैंने अपने होंठों को आगे बढ़ाया तो मौसी ने होंठ हटाकर अपना गाल मेरे आगे कर दिया. जब राजेश भी नहीं मिल रहा था तो मैं लंड की मुट्ठ मारकर ही काम चला रहा था.

अब उसकी उत्तेजना चरम पर आ गई- आह उह बाबूजी … मेरी चुत में कुछ हो रहा है आह … और ज़ोर से चाटो आ उउऊँह. उसके बाद जब कासिब तेरी चूत की सील तोड़ कर तेरी चुदाई करेगा, तब तुझे भी दिलकश जैसे मजा आएगा. मैं हूं न तेरे लिए!ये बोलकर भाभी ने सोनिया का हाथ पकड़ा और अपनी चूत पर रखवा दिया.

अब आगे की जेठ और बहू की चुदाई की स्टोरी:ससुर ने पीछे मुड़ अपनी बहू का दायां हाथ पकड़ कर अपने लन्ड को उसके कोमल हाथ में थमा दिया. मैंने उसके होंठों पर उंगली रख कर कहा- श्श्श्श… बाहर आवाज चली जायेगी. मेरी गांड चुदाई की कहानी आपको पसंद आ रही है? तो अपने विचार मुझे बताते रहें.

जबकि मुझे इन बातों से अरुचि होती थी अतः मेरी ट्यूनिंग किसी लड़की से कभी बन ही नहीं पाई. इसी तरह मैंने जोर से उसको पेलना जारी रखा और लगभग चौदह-पंद्रह मिनट बाद पसीने से मेरा पूरा बदन तर हो गया.

हैलो फ्रेंड्स, मैं पिंकी सेन आपको अपनी सेक्स कहानी के इस पहले एपिसोड के तीसरे भाग का मजा देने आ गई हूँ.

मैं एकदम चुप था, मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि साला अकेले में मेरी कौन सी परीक्षा होने वाली है और वो भी पांच दिन तक चलेगी. चूत में लंड कैसे घुसता हैमगर फिर सोचा कि अगर सोनू इस बीच आ गये तो कहेंगे कि अकेले ही शुरू हो गयी. लैंड का टोपाप्रिया की चूत चाटने के कारण अब वो अपनी उत्तेजना की चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी. उससे चला नहीं जा रहा था।हैंगओवर का असर अभी भी सिर में चढ़ा हुआ था। मैंने होटल में नींबू पानी मंगाकर उसे पिलाया और उसके होस्टल के लिए ओला कैब बुक की। उसके फोन से मैंने उसकी सहेली का नंबर लेकर कॉल करके उसकी तबियत खराब होने की बात बता दी।फिर हम कैब से निकल गये.

दूसरे दिन प्लान के मुताबिक वो बस स्टैंड पर आई पर आज भी वो आधा घंटे देर से आ गई.

लेकिन पास के गांव से यहां क्यों आए हो … और जब तुम्हें सारी बीमारी का पता है, तो मेरे पास क्यों आए हो?रवि- अब आप सब समझ गए हो, तो मैं साफ साफ बता देता हूँ. अब उससे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, तो बोली कि अब तो डाल दो!मैं बोला- क्या डाल दूं?अंकिता समझ गई और इठला कर बोली- अपना लंड मेरे पुसी में डाल दो. मैं कंपनी में ही उनसे चुदवाने की प्लानिंग सोचने लगी लेकिन ऑफिस में चुदाई होना संभव नहीं था.

वो आँख बंद करके सिसकारी लेने लगा- उह्ह … आह्ह … स्स् … आह्ह … हाय … चूस … मेरी जान … और चूस।कुछ देर चूसने चाटने के बाद मैंने अपनी गांड को उसके मुंह पर रख दिया और वो मेरी गांड को चाटने लगा. अब भाभी भी कहने लगीं- और कुछ न करो … नहीं तो किसी ने देख लिया, तो आफत हो जाएगी. मुखिया- आ गया तू … क्या हुआ वहां?कालू- आप अन्दर चलो मैं सब बताता हूँ.

बीएफ हिंदी बीएफ सेक्सी हिंदी

जब तक मेरी चूत फट न जाये, खून से लथपथ न हो जाये और मैं बेहोश न हो जाऊं तब तक मुझे पेलते रहना. हम दोनों एक दूसरे को प्यार करने लगे थे, तो मैं कोई परीक्षा देने को तैयार था. अपने से पंद्रह साल छोटे भतीजे को याद भी नहीं किया उन्होंने।फिर चाचा ने उसका ब्लाऊज़ खोलकर दोनों फूले बूब्स के चूचकों को अपनी कठोर उंगलियों से मसल दिया.

उसने फिर बट प्लग को मां के मुंह से निकाला और उसकी गांड पर दबाते हुए उसके छेद में पूरा डाल दिया.

तो मैंने पूछ लिया- कोई ब्वॉयफ्रेंड बना लिया है क्या?दिव्या हंसी और बोली- ना रे बाबा, मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है.

उसने तीन-चार चोपे मेरे लंड पर मारे और फिर लंड को वापस अंडरवियर में घुसाने लगी. तब आदिल बोला- चल तुझे भी साफ करते हैं पानी से!उसने पेपर नेप्किन दिये और कहा- चल कार से निकल!मैंने कहा- क्यों?तो उसने कहा- वहीं तो पानी से नहलाने वाले हैं।मैंने कहा- ठीक है।मैं उतरी और वो दोनों भी उतरे और आदिल ने कहा- चल नीचे बैठ जा।मैं बैठ गई और आदिल मेरे सामने आकर खड़ा हो गया और बोला- आंखें बन्द कर और मुंह खोल!उसकी बात का मतलब मैं समझी नहीं. खिचड़ी कब है 2022मैं समझ गया था कि अब्बू अब अम्मी का ब्लाउज़ उतार कर उन्हें पूरी नंगी कर देंगे.

सुमन जल्दी से घोड़ी बन गई और हरी ने लंड को चुत पर टिका कर ज़ोर से झटका दे मारा. उसने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- पहले थी. मैं थोड़ी देर रुका, लंड थोड़ा बाहर निकाला और दूसरा झटका देकर अपना पूरा लंड गांड में पेल दिया.

आंटी ने लंड के टोपे पर चूमा और मेरा कामरस में सना सुपारा अपने मुंह में भर लिया. तुम संकोच मत करो इसको लेकर। वैसे भी तुम जैसे जवान लड़के के साथ तो कोई भी औरत मनोरंजन के लिए तैयार हो जायेगी.

अचानक उसके तो स्वर ही बदल गए; उसने तो गालियाँ देना शुरू कर दिया- साला कैसा हरामखोर है तू, जवान लड़की अकेली होटल के रूम में है और साला तू चोद ही नहीं रहा है? मर्द है या नहीं?ये सुन कर मुझे गुस्सा आ गया.

मैं इतनी कसकर दबा रहा था कि उसकी चूचियों में खून उतर आया और गोरी चूचियां एकदम से लाल हो गयीं. अब तक आपने न्यूड भाभी देसी बूब कहानी के पहले भागमामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 1में जाना कि किस तरह मैंने पूजा भाभी को पटाने के लिए कोशिश की. शीशे में अपनी योनि देख कर मैं मन ही यह सोच के लजा उठती कि इसी के भीतर मेरे पति का लिंग प्रवेश करेगा, मेरी सील टूटेगी, मुझे दर्द सहना पड़ेगा फिर मज़ा भी मिलेगा और नमन कितने खुश होंगे मेरी योनि की सील तोड़ कर.

बेवकूफ गूगल वो गांड मारने के नाम से डर तो रही थी, पर उसे ये भी पता था कि अब मैं उसे छोड़ने वाला नहीं हूँ … और न ही उसकी गांड को मेरा लंड छोड़ने वाला है. छोटा सा तो गांव है हमारा … कौन गायब है … ये पता लगाना क्या मुश्किल है?शिवनाथ- मालिक, पूरा गांव छान लिया हमने … कोई गायब नहीं हुआ है.

नमस्कार मित्रो, मेरा नाम रोहित है। मैं 22 साल का हूं। मेरा लन्ड 7 इंच का है जो किसी भी चूत की गहराई को नापता हुआ चूत की बखिया उधेड़ सकता है। मुझे अपने लंड पर बहुत भरोसा है और उसको मैं आजमा भी चुका हूं. इस सबमें एक बात ऐसी थी, जिसने मुझे अब तक नहीं छुआ था और वो था सेक्स. कुछ देर बाद जब मेरी आंखें खुलीं, तो देखा कि भाभी आंखें बंद करके अपना नंगा बदन मेरी बांहों में दिए हुए हैं.

उत्तराखंड बीएफ

वो मुझे चाहती थी और मैं उसे चाहता था मगर हम दोनों के बीच में हमारा स्टेटस आ रहा था. जब मामी पूरी तरह से तड़प गयी तो मैंने उनकी चूत से उंगली को बाहर निकाल लिया और चाट लिया. हम दोनों किस करने लगे और मैं भाभी के मम्मों को कसके दबाने और चूसने लगा.

रोल प्ले सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जब मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं बनी तो मैंने अपनी ममेरी बहन पर ही कोशिश करने की सोची. मेरे देवर ने पहली बार उन दोनों को पार्क में चूमा-चाटी करते हुए पकड़ा था.

मैं भी एकदम निर्लज्ज होकर जिंदगी का असली मजा लेने को तैयार हो गयी।फिर मैंने दूसरे कमरे में आकर पेटीकोट भी उतार दिया.

मुझसे ये बर्दाश्त नहीं हुआ और मैं जोर जोर से कमर हिलाकर उसके अंगूठे से चुदने लगा. मेरे देखते देखते ही उसका बदन अकड़ने लगा और उसकी चूत का पानी निकल गया. कुछ देर बाद उन्होंने कहा कि तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो … अब तक कितनी चुत चोद चुके हो?मैंने कहा कि मैंने चुदाई की शिक्षा अपनी बड़ी मां से ली है, जिनको मैंने सबसे पहले जंगल में पेला था.

यह बात भाभी ने मुझे तीन महीने पहले बताई थी … और उसके बाद क्या हुआ, वो आपको इस सेक्स कहानी में आगे पता चल जाएगा. फिर ससुर ने अपने हाथों से साबुन बहू को पकड़ाया और बहू उनकी पीठ पर साबुन लगाने लगी. मेरा लन्ड मामी की चूत में घुसने के लिए बेकरार था। काफी देर तक मैं उनके पपीते जैसे चूचों को दबाता रहा और फिर उनके पेट की ओर बढ़ा और पेटीकोट तक पहुंच गया.

लंड अन्दर घुसा तो अम्मी को चैन मिल गया मगर धीरज की दर्द से आह निकल गई.

बीएफ वीडियो चुदाई सेक्स: दोनों गिलास में बियर डालते हुए उसने कहा- पहली बार पी रहे तुम, इसलिए नाक बंद करके घूंट लेना. कई लड़कियों के तो बॉय फ्रेंड्स भी थे जिनके साथ वो यौन क्रीड़ा करके आनंदित होती रहती थीं.

मैं सोच में पड़ गया कि समीक्षा शायद सो रही है मगर जानबूझ कर कुछ कह नहीं रही है. तुम शाम में उनको बस स्टॉप से घर ले आना … और हां जब भी उनको जरूरत हो, तो हेल्प कर देना, मुझे ऑफिस में काम है. तू चिंता मत कर … और क्या पता तुझसे खुश होकर मैं तेरे बापू का कर्ज़ा भी माफ़ कर दूं.

मगर चुदाई का जो मजा उस दिन मुझे मिला उसके अहसास को शब्दों में बता पाना मुश्किल है.

कुछ देर तक अपने लंड से ही उसकी बुर को सहलाने के बाद मैंने एक धक्का मारा तो मेरा लंड 2 इंच तक उसकी बुर में चला गया. मैं अपने लिए चाय बनाकर भाभी के पास सोफे पर जाकर बैठ गया और उनको ऐसे ही घूरने लगा. मैंने उसके पैर खोले और बीच में आकर तुरन्त जीभ उसकी टाइट चूत पर लगा दी और जल्दी-जल्दी उसकी चूत पर रगड़ने लगा। वो पागल सी हो गई.